Video

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782
Advertisement

राजनीति

शिवपुरी। शिवपुरी जिले की पोहरी व करैरा विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस ने करैरा में तो अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है लेकिन पोहरी को लेकर पार्टी नेता दुविधा में बताए जा रहे हैं। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि पोहरी में जातिगत आधार पर यहां पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस नेता यह निर्णय नहीं कर पा रहे कि यहां पर ब्राह्मण उम्मीदवार उतारा जाए या धाकड़ जाति के उम्मीदवार पर हाथ आमजाया जाए। इस फैसले को लेकर कांग्रेस में मंथन का दौर चल रहा है और अभी तक पोहरी में कांग्रेस उम्मीदवार की घोषणा लटकी पड़ी है।    बताया जाता है कि कांग्रेस के नेता में पोहरी को लेकर दो मत सामने आए हैं। एक मत है कि यहां पर धाकड़ जाति के ही उम्मीदवार को मैदान में उतारा जाए जिससे भाजपा के संभावित धाकड़ उम्मीदवार सुरेश धाकड़ (राठखेड़ा) को उनके वोट बैंक से ही पछाड़ा जा सके। वहीं पार्टी के कुछ रणनीतिकारों का मत है कि यहां पर ब्राह्मण वर्ग के नेता को प्रत्याशी बनाया जाए। वैसे पोहरी में सबसे ज्यादा धाकड़ वोट बैंक ही है। इस जाति के यहां पर 40 हजार के आसपास वोटर हैं। ऐसे में दो धाकड़ उम्मीदवार होंगे तो दोनों ओर से वोट कटेंगे। वहीं ब्राह्मण वोटर की संख्या 15 हजार के आसपास है। ऐसे में किसी ब्राह्मण को मैदान में उतारा जाता है तो वोटों को धुर्वीकरण होगा इसका लाभ सीधे तौर पर भाजपा के संभावित उम्मीदवार और धाकड़ जाति से जुड़े सुरेश धाकड़ को होगा। इसलिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में मंथन का दौर चल रहा है।    प्रभारी की अहम रहेगी भूमिका-    पोहरी सीट के लिए कांग्रेस की ओर से प्रभारी बनाए गए पार्टी के उपाध्यक्ष व वरिष्ठ नेता राजकुमार पटेल की यहां पर टिकट आवंटन में महत्वपूर्ण भूमिका बताई जा रही है। धाकड़ जाति के होने के कारण ही कांग्रेस ने यहां पर इन्हें प्रभारी बनाकर भेजा। इसके अलावा अपनी जाति के तमाम लोगों से इन्होंने बात भी की है। सूत्रों का कहना है कि यह अपनी ही जाति के और अपने रिश्तेदार प्रद्युम्मन वर्मा को टिकट दिलाने के पक्ष में हैं।    हरिबल्लभ और प्रद्युम्मन रेस में-    पोहरी सीट के लिए कांग्रेस से उम्मीदवार के तौर पर दो नाम प्रमुखता से चल रहे हैं। इनमें ब्राह्मण उम्मीदवार के तौर पर हरिबल्लभ शुक्ला और धाकड़ जाति से प्रद्युम्मन वर्मा का नाम रेस में है। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने तो यहां तक बताया है कि पार्टी के सर्वे में भी इन दोनों के नाम ही प्रमुखता से सामने आए हैं। आने वाले समय में जिस एक प्रत्याशी का फैसला होगा वह इन दो नामों में से ही एक होगा। वैसे हरिबल्लभ शुक्ला की ग्वालियर में राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह से मुलाकात के बाद यह अटकलें जोरों पर हैं कि उनका टिकट फाइनल हो गया है।  अब हरिबल्लभ और प्रद्युम्मन में से किसको को टिकट मिलता है इसकी अधिकृत घोषणा का इंतजार है।

Kolar News

Kolar News 23 September 2020

भोपाल। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने केन्द्र सरकार द्वारा संसद में पारित कृषि संबंधी कानूनों को लेकर कहा है कि एमएसपी घोषित करना ही पर्याप्त नहीं है। किसानों को उनकी फसलों का एमएसपी मिलना भी चाहिए। पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने बुधवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि केन्द्र की भाजपा सरकार जब कह रही है कि वह न तो मंडी व्यवस्था खत्म करना चाहती है और न ही एमएसपी खत्म करने का उसका कोई इरादा है तो फिर वह धक्के शाही से बिना मतविभाजन के इन किसान विरोधी बिलों को क्यों पास करवा रही है?   माकपा राज्य सचिव ने कहा कि सरकार की धोखाधड़ी का सबूत यही है कि वह इन कानूनों को तो संसद में तानाशाही तरीके से पारित करवा रही है, मगर मंडी व्यवस्था और एमएसपी के लिए सिर्फ जुबानी आश्चासन दे रही है। सरकार द्वारा हाल में रबी की फसलों के लिए एमएसपी की घोषणा के बारे में उन्होंने कहा कि सिर्फ एमएसपी घोषित कर देना पर्याप्त नहीं है, बल्कि यह सुनिश्चित करना भी जरूरी है कि किसानों को उनकी फसल की घोषित एमएसपी मिलना चाहिए। किसानों की लूट की एक वजह यह भी है कि एमएसपी घोषित होने के बाद भी किसानों की फसल उससे कम दाम पर मंडियों में खरीदी जा रही है। सरकार किसानों की नहीं, बल्कि कारपोरेट घरानों के मुनाफे सुनिश्चित करने की जल्दबाजी में है।    जसविंदर सिंह ने कहा कि जिस गेहूं का सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रुपये प्रति क्विंटल घोषित किया है, वह किसानों को 1500 रुपये तक बेचना पड़ रहा है। इसी प्रकार पिछले साल जो धान 2400 रुपये प्रति क्विंटल बिक रहा था, इस बार किसानों को 1300 रुपये में बेचना पड़ रहा है। बाजरे का समर्थन मूल्य भले ही 2150 रुपये हो, मगर किसान 1100-1200 रुपये में अपना बाजरा बेचने को मजबूर हैं।   उन्होंने कहा कि हाल ही में रबी की फसलों के लिए घोषित एमएसपी किसी भी सूरत में पर्याप्त नहीं है। सरकार जब दावा कर रही है कि उसने स्वामीनाथन आयोग के आधार पर फसल पर 50 प्रतिशत अतिरिक्त जोडक़र मूल्य निर्धारित किया है तो वह झूठ बोल रही है। गेहूं की लागत 1467 रुपये प्रति क्विंटल आंकी गई है, इसके अनुसार समर्थन मूल्य 2200 रुपये होना चाहिये जबकि 1975 रुपये प्रति क्विंटल घोषित किया गया है। इसमें किसानों को 275 रुपये प्रति क्विंटल का नुकसान है। इसी प्रकार अन्य फसलों का हाल है।   माकपा ने कृषि संबंधी कानूनों के विरोध में देशभर में हो रहे किसान आंदोलन का समर्थन किया है, साथ ही मोदी सरकार से इन कानूनों को वापस लेने की मांग की है।

Kolar News

Kolar News 23 September 2020

भोपाल। मछुआ कल्याण और मत्स्य विकास मंत्री तुलसीराम सिलावट की अध्यक्षता में मंगलवार को मप्र मत्स्य महासंघ की 24 वी वार्षिक बैठक में सामूहिक अनुमोदन से आगामी वर्ष के लिए 12 हजार मैट्रिक टन मछली उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। इस वर्ष संघ को 9 करोड से अधिक की शुद्ध आय प्राप्त हुई है। शासन 6 रुपए प्रति किलो के मान से 3 करोड़ 18 लाख की रॉयल्टी भी दी गई है।   मंत्री तुलसी राम सिलावट ने कहा कि आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के लिए विभाग और मत्स्य महासंघ की भूमिका महत्वपूर्ण हैं मछुआ महासंघ के सदस्यों के  जीवन में सामाजिक आर्थिक बदलाव लाने के लिए संघ प्रभावी भूमिका निभा सकता है। सहकार के बिना उद्धार संभव नहीं है। इसके लिए सामूहिक रुप से प्रयास किये जाने चाहिये। सिलावट ने कहा कि मत्स्य उत्पादन बढ़ाने के लिये नई तकनीकों का प्रयोग करें, इसके लिए मछुआ संघ के सदस्यों को ज्यादा मछली उत्पादन करने वाले  प्रदेशो में प्रशिक्षण के लिए भेजा जाए। वैज्ञानिक तकनीकों का प्रयोग कर प्रदेश में मत्स्य उत्पादन बढ़ाया जाये।   मंत्री सिलावट ने कहा कि मछुआ संघ के सदस्यों के बच्चों की पढ़ाई पर विशेष ध्यान दें और उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिये स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगाए जाये। उन्होंने कहा कि कृषि की तुलना में मछली उत्पादन व्यवसाय से अधिक लाभ कमाया जा सकता है। अधिक से अधिक लोग इस व्यवसाय से जुड़ेंगे तो उनका जीवन स्तर बेहतर होगा। महासंघ की सभा मे बताया गया कि 1 हजार हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में मध्यंम और बड़े तालाब में आधुनिक तकनीक का प्रयोग शुरू किया गया है।

Kolar News

Kolar News 22 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश विधानसभा की रिक्त 28 सीटों पर होने वाले उपचुनावों को लेकर जहां राजनीतिक घमासान जारी है तो वहीं अब कम्प्यूटर बाबा भी संतों के साथ उपचुनाव के मैदान में कूद पड़े हैं। उन्होंने मंगलवार को कांग्रेस के समर्थन में मंदसौर से लोकतंत्र बचाओ यात्रा की शुरुआत की है। इस यात्रा में बड़ी संख्या में साधु-संत शामिल हैं, जो उपचुनाव वाले क्षेत्रों में पहुंचेंगे और लोगों से भाजपा उम्मीदवारों को हराने की अपील करेंगे।   कम्प्यूटर बाबा मंगलवार सुबह इंदौर स्थित आश्रम से संतों के साथ मंदसौर रवाना हुए और यहां से उन्होंने अपनी लोकतंत्र बचाओ यात्रा की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत में उपचुनाव को धर्म और अधर्म की लड़ाई बताते हुए कहा कि उनकी यह यात्रा उन 25 विधानसभा क्षेत्रों में पहुंचेगी, जहां के कांग्रेस विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में पहुंचकर हम चौपाल कार्यक्रम करेंगे और जनता से अपील करेंगे कि जिन गद्दारों ने आपके वोट को बेचकर आपको छला है, उन्हें वोट न दें।   कंप्यूटर बाबा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाते हुए कहा कि जनता का विश्वास आप पर नहीं था, इसीलिए आपकी सरकार को जनता ने उखाड़ फेंका था और कांग्रेस को पांच साल दिये थे, लेकिन आपने और आपके साथियों ने लोकतंत्र की हत्या कर सरकार बनाई। आपको पांच साल इंतजार करना था। यदि आपको इतना इंतजार नहीं करना था तो चुनाव लडक़र आना था। इस प्रकार की जो गद्दारी हुई है। अब धर्म और अधर्म की लड़ाई है, हम इसी को लडऩे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं जनता, राजनेताओं और राजनीतिक विशेषज्ञों से पूछना चाहूंगा कि लोकतंत्र को बचाना हमारा कर्तव्य है या नहीं। हम किसी से यह नहीं कह रहे हैं कि वो किसे वोट दें। कांग्रेस के विधायकों ने गद्दारी कर कमलनाथ सरकार को गिराया और शिवराज सरकार में मंत्री बन गए। विधायक पद छोडऩे के बाद भी ये खरीद-फरोख्त कर सरकार में आ गए।    कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि देश का संविधान जिंदा रहे, लोकतंत्र की रक्षा हो। जिन्होंने खुद को बेचकर मतदाता को धोखा दिया है, अब हम उनके खिलाफ यह यात्रा निकाल रहे हैं। हम सैकड़ों संतों के साथ उपचुनाव वाले क्षेत्रों में पहुंचकर ऐसे बिकाऊ नेताओं को हराने की अपील करेंगे।

Kolar News

Kolar News 22 September 2020

भोपाल। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने सभी कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को मतदान केंद्रों के युक्तियुक्त करण के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार  मतदान केंद्र में मतदाताओं की संख्या अधिकतम 1000 रखी जाए। मतदान केंद्रों के युक्तिकरण की कार्यवाही 5 अक्टूबर 2020 तक अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए गए हैं।   उक्‍त जानकारी देते हुए जनसंपर्क अधिकारी राजेश पाण्डेय ने मंगलवार को बताया कि आयुक्‍त सिंह ने कहा है कि स्थानीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए 1000 से अधिक मतदाताओं की संख्या वाले मतदान केंद्रों का युक्तियुक्तकरण इस प्रकार किया जाए कि मतदान केंद्रों में मतदाताओं की संख्या असमान नहीं हो। 

Kolar News

Kolar News 22 September 2020

ग्वालियर। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सोमवार को शहर के वार्ड 10 में सडकों के भूमि पूजन के अवसर पर कहा कि नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिये सरकार कटिबद्ध है। क्षेत्र के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जायेगी। गंदे पानी की समस्या हो चाहे सड़क व सीवर की सभी कार्य तेजी से कराये जा रह हैं। इस अवसर पर भाजपा जिला मण्डल अध्यक्ष प्रयाग तोमर, पार्षद शशी शर्मा, मनमोहन पारासर, आरडी सोलंकी, शैलेन्द्र सिंह सहित गणमान्य नागरिकों के साथ-साथ विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।    ऊर्जा मंत्री ने वार्ड 10 में संतोष मिश्रा के मकान से आईटीआई कॉलेज तक का सीसी रोड एवं नाली निर्माण लागत 3 लाख 95 हजार रुपये, मिथलेश वाली गली में सीसीरोड व नाली निर्माण 1 लाख 10 हजार रुपये एवं सार्वजनिक धर्मशाला वाल गली मे मंगलेश्वर तिराहे तक सीसी रोड व नाली निर्माण कार्य लागत 3 लाख 58 हजार रुपये का भूमि पूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इन सड़कों के बन जाने से आम जनों को आवागमन की बेहतर सुविधाएं उपलब्ध होंगी। आम जनों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिये निरंतर कार्य कराए जा रहे हैं।    तोमर ने कहा कि फूलबाग से ट्रीपल आइटीएम तक एलीवेटेड सडक बनाई जायेगी जिससे क्षेत्र का चहुंमुखी विकास होगा। युवाओं के खेलने के लिए खेल स्टेडियम बनाया जा रहा है। गरीबों के हित को ध्यान में रखते हुए पात्र हितग्राहियों को पात्रता पर्ची वितरित की जा रही है। सिविल अस्पताल को सुव्यवस्थित बनाया जा रहा है इसके बनने से इलाज के लिए आपको जेएएच नही जाना पड़ेगा। आम जनों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिये बड़ी संख्या में विकास कार्यों को मंजूरी प्रदान की गई है। सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। इसके साथ ही शहर में अमृत परियोजना के तहत सीवर और पानी की समस्या के निदान के लिए तेजी के साथ कार्य किए जा रहे हैं। आने वाले दिनों में ग्वालियर की तस्वीर बदली-बदली नजर आयेगी। ग्वालियर के विकास के लिए पैसे की कमी नही आने दी जायेगी।

Kolar News

Kolar News 21 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की पंद्रहवीं विधानसभा का सातवां सत्र सोमवार, 21 सितम्बर को आयोजित होने जा रहा है। विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने रविवार को विधानसभा भवन पहुंचकर सत्र की तैयारियों का जायजा लिया तथा अधिकारियों को कोविड-19 के मद्देनजर समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये। इस दौरान प्रोटेम स्पीकर शर्मा के साथ कांग्रेस विधायक दल के मुख्य सचेतक डॉ. गोविन्द सिंह तथा विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह उपस्थित थे।    प्रोटेम स्पीकर शर्मा ने बताया कि कोविड-19 महामारी के संक्रमण को देखते हुये इस बार विधानसभा के सदस्य वर्चुअल माध्यम (ऑनलाइन) से अपने जिले के एनआईसी सेंटर द्वारा भी कार्यवाही में भाग ले सकते हैं। हर जिले में इसके लिए एनआईसी कार्यालय में व्यवस्था की गई है।   विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने बताया कि सत्र की अधिसूचना जारी होने से अब तक विधानसभा सचिवालय में कुल 750 प्रश्नों की सूचनाएं प्राप्त हुई हैं, जबकि ध्यानाकर्षण की 138, स्थगन प्रस्ताव की 03 तथा शून्यकाल की 30 सूचनाएं प्राप्त हुई हैं। शासकीय विधेयकों की भी 15 सूचनाएं विधानसभा सचिवालय को मिली हैं।   उन्होंने बताया कि वर्तमान में देश में व्याप्त कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुये विधानसभा अध्यक्ष द्वारा निर्देश दिये गये हैं कि सचिवालय परिसर में आगन्तुक सामूहिक रूप से एकत्र न हों तथा उपयुक्त मास्क पहनकर ही परिसर में प्रवेश करें। इसके साथ ही अवश्यकतानुसार सेनेटाइजर का उपयोग करना भी सुनिश्चित करें।

Kolar News

Kolar News 20 September 2020

मंदसौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनता ही मेरी जिन्दगी है। मैं जनता के बिना नहीं रह सकता। मेरा प्रयास यही होता है कि सदैव आमजन के बीच पहुँचकर उनके साथ जुड़ाव बनाए रखूं, उनकी तकलीफों को दूर करने के जतन लगातार करता रहूँ। यह मेरी पहली प्राथमिकता है। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने रविवार को मंदसौर जिले के सीतामऊ एवं सुवासरा में विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण करते हुए कही।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि किसानों के खातों में प्रत्येक वर्ष एक निश्चित राशि जमा की जाए, इसके लिए पृथक योजना तैयार की जा रही है। कोई भी गरीब व्यक्ति राशन से वंचित नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को फसल बीमा की राशि का पूरा भुगतान किया जाएगा। आवश्यक विकास कार्य निर्बाध रूप से जारी रहेंगे। विभिन्न सेवाओं में भर्ती के लिए परीक्षाओं का आयोजन जल्द ही होगा। चौहान ने कहा कि कोरोना काल में प्रत्येक नागरिक को बचाव के पूरे प्रयास करने हैं। अपने और अन्य सभी के स्वास्थ्य की रक्षा का हमारा संयुक्त दायित्व है।   369 करोड़ के विकास कार्यों के भूमि-पूजन और लोकार्पण मुख्यमंत्री ने सीतामऊ क्षेत्र में 350 करोड़ के निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण किया। उन्‍होंने सुवासरा क्षेत्र में 14 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित होने वाले खेत-तालाब और 5 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले काकड़ तालाब का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने मंदसौर जिले के 5 हजार हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं में 22 करोड़ रूपए की राशि प्रदान की। इन योजनाओं में स्ट्रीट वेण्डर्स, स्व-सहायता समूह, लाड़ली लक्ष्मी, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, आजीविका मिशन, मुख्यमंत्री जनकल्याण, संबल योजना आदि शामिल है।   15 वर्ष के विकास कार्यों की प्रदर्शनी मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों द्वारा गत 15 वर्ष में किए गए जन-कल्याणकारी कार्यों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। साथ ही प्रदर्शनी में संयोजित चित्रों की सराहना की।

Kolar News

Kolar News 20 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के पिताजी अमर सिंह के निधन पर गहरा दुख जताया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए परिजनों के प्रति शोक संवेदनाएं व्यक्त की है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर अपने शोक संदेश में कहा है कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा के पिताजी श्री अमर सिंह जी के दुखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे। गौरतलब है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के पिताजी अमर सिंह का शनिवार देर रात को निधन को गया था। वे 93 वर्ष के थे और बीते 14 सितम्बर की शाम को उनती तबियत बिगडऩे के बाद उन्हें जयारोग्य अस्पताल के सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में भर्ती कराया गया था। वे कोरोना संक्रमित पाए गए थे और डॉक्टरों की देखरेख में उनका इलाज चल रहा था, लेकिन शनिवार देर रात हालत बिगडऩे के बाद उनका निधन हो गया। 

Kolar News

Kolar News 20 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश कांग्रेस की गुटबाज़ी एक बार फिर सामने आ गयी है। इस पंक्ति में मध्यप्रदेश कांग्रेस जन जागृति मंच इंदौर ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कमलनाथ पर ज़िम्मेदारी कम करने के आह्वान के साथ जीतू पटवारी को अध्यक्ष बनाने की माँग की है।    इस पत्र की प्रतिलिपि राहुल गांधी को भी भेजी गयी है। पत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हस्ताक्षर भी हैं। ग़ौरतलब है कि कुछ दिनों पहले जीतू पटवारी के नाम पर एक पोस्टर लगाया गया था जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। ऐसे में इस पत्र के सामने आने के बाद एक बार फिर सियासी माहौल गर्म हो गया है। हालांकि कांग्रेस प्रवक्ताओं से जब इस पत्र के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस पर प्रतिक्रिया देने से साफ मना कर दिया।    उधर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि ‘गुटबाज़ी के दलदल में फँसी कांग्रेस पूरी तरह लाचार दिख रही है, उसे किस ओर जाना है नहीं पता, ऐसे में इन पत्रों का कोई मतलब नहीं है, उनकी हार उनके सामने साफ साफ दिख रही है।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश कांग्रेस की गुटबाज़ी एक बार फिर सामने आ गयी है। इस पंक्ति में मध्यप्रदेश कांग्रेस जन जागृति मंच इंदौर ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कमलनाथ पर ज़िम्मेदारी कम करने के आह्वान के साथ जीतू पटवारी को अध्यक्ष बनाने की माँग की है।    इस पत्र की प्रतिलिपि राहुल गांधी को भी भेजी गयी है। पत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हस्ताक्षर भी हैं। ग़ौरतलब है कि कुछ दिनों पहले जीतू पटवारी के नाम पर एक पोस्टर लगाया गया था जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। ऐसे में इस पत्र के सामने आने के बाद एक बार फिर सियासी माहौल गर्म हो गया है। हालांकि कांग्रेस प्रवक्ताओं से जब इस पत्र के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस पर प्रतिक्रिया देने से साफ मना कर दिया।    उधर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि ‘गुटबाज़ी के दलदल में फँसी कांग्रेस पूरी तरह लाचार दिख रही है, उसे किस ओर जाना है नहीं पता, ऐसे में इन पत्रों का कोई मतलब नहीं है, उनकी हार उनके सामने साफ साफ दिख रही है।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 13 हजार स्व-सहायता समूहों से जुड़े एक लाख 30 हजार से अधिक जरूरतमंद ग्रामीण परिवारों को एक ही दिन में लगभग 200 करोड़ रुपये का ऋण वितरित करेंगे। इस ऋण वितरण के लिये रविवार, 20 सितम्बर को वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित किया गया है। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया एवं राज्य मंत्री रामखिलावन पटेल वीडियो कॉन्फ्रेन्स के माध्यम से जुड़े रहेंगे।   जनसम्पर्क अधिकारी आरएस मीणा ने शुक्रवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री स्व-सहायता समूहों को राशि आवंटित कर दमोह, देवास तथा शिवपुरी जिलों के हितग्राहियों से वीडियो कॉन्फ्रेन्स के माध्यम से संवाद करेंगे।   उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा प्राय: प्रतिमाह इस तरह के समूह बैंक ऋण शिविर आयोजित कर प्रदेश के दस लाख ग्रामीण परिवारों की आर्थिक स्थिति सुधारने का प्रयास किया जा रहा है। राज्य सरकार ने स्व-सहायता समूहों को सरलता से ऋण उपलब्ध कराने के उद्देश्य से बैंकों के साथ व्यापक समन्वय स्थापित किया है। मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले निर्धन परिवारों की महिला सदस्यों को स्व-सहायता समूहों से जोड़ कर उनके सामाजिक, आर्थिक सशक्तिकरण के लिये सतत प्रयत्नशील है। ऋण वितरण के सम्बंध में महसूस किया गया है कि बैंकिंग सेवाओं की दस्तावेजी सहित अन्य औपचारिकताएं पूरी करने में गरीब परिवारों को कठिनाई होती है। विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसी कठिनाई अधिक देखी गयी है। कई बार जटिल प्रक्रिया की वजह से अनेक पात्र परिवार लाभ प्राप्त करने से वंचित रह जाते हैं।   प्रदेश शासन ने स्व-सहायता समूहों के बैंक ऋण प्रकरण सॉफ्टवेयर के माध्यम से प्रस्तुत करने की पारदर्शी प्रक्रिया बनायी है। साथ ही इसकी सघन निगरानी भी की जा रही है। प्रदेश में स्व-सहायता समूहों के वार्षिक ऋण वितरण का लक्ष्य बढ़ाकर 1400 करोड़ किया गया है। आजीविका मिशन के माध्यम से प्रदेश में अब तक 33 लाख से अधिक ग्रामीण परिवारों को स्व-सहायता समूहों से जोड़ कर लगभग 1523 करोड रूपये बैंक ऋण के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की गयी है।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

उज्जैन। स्कूल फीस के मुद्दे पर कोई हल निकालने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री से मिलने की कोशिश कर रहे पालक शुक्रवार सुबह देवास रोड पर जमा हो गए। पालकों के हाथों में तख्तियां थीं, जिन पर नारे लिखे हुए थे। प्रशासन ने जब इन्हें रोकने की कोशिश की, तो पालकों ने जमकर हंगामा किया।     जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार सुबह उज्जैन पहुंचे। एयरपोर्ट से वे सीधे किसानों की फसल बीमे की राशि वितरित करने के लिए कार्यक्रम स्थल पहुंचे। सीएम के आने की सूचना मिलते ही स्कूल फीस को लेकर परेशान पालक सड़क पर आ गए। बड़ी संख्या में पालक देवास रोड पर खड़े हो गए और सीएम से मिलने की मांग करने लगे। फीस के मुद्दे पर कोई हल निकालने के लिए ये पालक सीएम से मिलकर ज्ञापन देना चाह रहे थे। प्रशासन ने इन्हें रोका तो ये आक्रोशित हो गए। इसके बाद ये देवास रोड पर एकत्रित हो गए और जमकर हंगामा किया। नारेबाजी कर रहे पालकों को प्रशासन ने समझाया, लेकिन वे अपनी मांग पर अड़े रहे। इस पर प्रशासन ने 14 पालकों को सीएम से मिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद पालक शांत हुए। पालकों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में स्कूल की फीस कहां से जमा करें। स्कूल वाले फीस के लिए दबाव बना रहे हैं। जब स्कूल ही नहीं लगी है तो फिर फीस क्यों वसूली जा रही है। फीस में हमें किसी प्रकार की छूट नहीं दी जा रही है।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और भाजपा के चार बार विधायक रह चुके रमाकांत तिवारी (80 वर्ष) का गुरुवार की शाम निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार थे और रीवा जिले के चाकघाट स्थित अपने निजी आवास पर आखिरी सांस ली। उनके निधन पर भाजपा समेत कांग्रेस नेता भी श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहे हैं। मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह ने रमाकांत तिवारी के निधन पर गहरा दुख जताया है।   मप्र सरकार के पूर्व मंत्री रमाकांत तिवारी के निधन पर विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह "राहुल भइया" ने गहरा शोक व्यक्त किया है। अजय सिंह ने रमाकांत तिवारी को विन्ध्य क्षेत्र की जनता की आवाज बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने राजनैतिक जीवन में हमेशा गरीबों और मजलूमों के लिये संघर्ष किया। विधानसभा में विधायक एवं सरकार में मंत्री के रूप में वो जनता के हितों के लड़ते रहे। उनके निधन से विन्ध्य की जनता ने एक जननेता खो दिया है। अजय सिंह ने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में हम सब उनके साथ हैं।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान आदि फसलों की समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीदी के लिए उत्कृष्ट व्यवस्थाएं की जाएं। इस बार मध्यप्रदेश ने गेहूँ उपार्जन में पूरे देश में आदर्श स्थापित किया है, खरीफ फसलों के उपार्जन में भी किसी प्रकार की कोई कमी न रहे। किसानों को अपनी फसलों को समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए पर्याप्त समय दिया जाए। साथ ही कोविड संकट के चलते खरीदी केन्द्रों पर सभी आवश्यक सावधानियां सुनिश्चित की जाएं।मुख्यमंत्री ने गुरुवार को यह निर्देश खरीफ उपार्जन संबंधी समीक्षा बैठक में दिए। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, कृषि उत्पादन आयुक्त केके सिंह, प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई, प्रमुख सचिव अजीत केसरी, प्रमुख सचिव मनोज गोविल, मार्कफेड के प्रबंध संचालक पी.नरहरि आदि उपस्थित थे।किसानों का पंजीयन प्रारंभ, 15 अक्टूबर तक चलेगामुख्यमंत्री ने बताया ‍कि धान, ज्वार एवं बाजरा की समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए इस वर्ष अभी तक 1395 पंजीयन केन्द्र बनाए गए हैं। इन पर पंजीयन का कार्य प्रारंभ हो गया है जो 15 अक्टूबर तक चलेगा। पंजीयन के प्रारंभिक दो दिन में 9 हजार 142 किसानों ने अपना पंजीयन कराया है। गत वर्ष 975 उपार्जन केन्द्र बनाए गए थे, जिनकी संख्या बढ़ाकर इस बार 1500 की जा रही है। कॉटन के लिए पंजीयन का कार्य कॉटन कार्पोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा प्रारंभ कर दिया गया है।75 हजार एम.टी. ज्वार एवं बाजरा की संभावित खरीदी का लक्ष्यइस खरीफ विपणन वर्ष में प्रदेश में 75 हजार एम.टी. ज्वार एवं बाजरा की समर्थन मूल्य पर संभावित खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। इसमें 60 हजार मीट्रिक टन बाजरा तथा 15 हजार मीट्रिक टन ज्वार के उपार्जन का लक्ष्य संभावित है। इस संबंध में भारत सरकार से अनुमति प्राप्त कर ली गई है। इस बार ज्वार का समर्थन मूल्य 2620 रुपये प्रति क्विंटल तथा बाजरे का समर्थन मूल्य 2150 रुपये प्रति क्विंटल रखा गया है। गत वर्ष यह क्रमश: 2550 रुपये तथा 2000 रुपये प्रति क्विंटल था। ज्वार का बोया गया रकबा 1.13 लाख हेक्टेयर तथा बाजरा का बोया रकबा 3.73 लाख हेक्टेयर है।40 लाख एम.टी. धान खरीदी का संभावित लक्ष्यखरीफ विपणन वर्ष में प्रदेश में 40 लाख एम.टी. धान की संभावित खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। धान का समर्थन मूल्य इस बार 1868 रुपये प्रति क्विंटल है, जो गत वर्ष 1825 रुपये था। इस बार प्रदेश में धान का बोया गया रकबा 34.25 लाख हेक्टेयर है। धान के उपार्जन की संभावित अवधि 01 नवम्बर से 15 फरवरी तक होगी।इस बार धान के लिए पी.पी. बैग्स की भी अनुमतिकोरोना काल में जूट बारदानों की कमी के चलते इस बार धान उपार्जन के लिए पीपी बैग्स की अनुमति भी दी गई है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि पर्याप्त पीपी बैग्स की व्यवस्था होनी चाहिए, जिससे खरीदी कार्य में विलंब न हो। उन्होंने भंडारण की भी पर्याप्त व्यवस्था किए जाने के निर्देश भी दिए। इस संबंध में कैब निर्माण आदि का कार्य अभी से प्रारंभ कर दिया जाए।धान का उपार्जन नागरिक आपूर्ति निगम तथा विपणन संघ द्वाराइस बार प्रदेश के 19 जिलों में धान का उपार्जन मध्यप्रदेश नागरिक आपूर्ति निगम तथा 33 जिलों में मध्यप्रदेश विपणन संघ द्वारा किया जाएगा। इसी प्रकार मोटे अनाज का उपार्जन सभी जिलों में मध्यप्रदेश राज्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा किया जाएगा। बारदाने की व्यवस्था नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा की जाएगी।

Kolar News

Kolar News 17 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के आगामी 21 सितम्बर से होने वाले आगामी सत्र की तैयारियों के संबंध में प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक गुरुवार को विधानसभा में संपन्न हुई। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा एवं विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह द्वारा बैठक में उपस्थित संभागीय कमिश्नर कविंद्र कियावत एवं आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं संजय गोयल सहित भोपाल शहर दक्षिण के पुलिस अधीक्षक, एडीएम एवं नगर निगम के अधिकारियों एवं राजधानी परियोजना प्रशासन के अमले की मौजूदगी में आगामी सत्र में व्यवस्थाओं की समीक्षा की गई।   प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने तैयारियों के संबंध में निर्देश दिये कि सदस्यों के भोपाल स्थित निवास पर सेनेटाइजर, मास्क एवं फेस-शील्ड के साथ मेडिकल किट की व्यवस्था की जाए, जिससे सदस्य सदन में कोविड-19 के मापदण्ड के अनुसार प्रवेश कर सकें। साथ ही सदस्यों की सुविधा के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा विधानसभा परिसर स्थित एलोपैथिक चिकित्सालय में रैपिड कोरोना टेस्ट की व्यवस्था आज से प्रारंभ की जाए। आगामी सत्र अवधि में दर्शक दीर्घा में प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। सदस्यों के निज सहायक, सुरक्षाकर्मी का भवन क्षेत्र में आना वर्जित रहेगा। सोशल डिस्टेंसिंग की दृष्टि से आवश्यकता अनुसार दीर्घाओं में मंत्रियों/सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की जाए।   विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने बताया कि सदस्यों, सचिवालय अमले के लिए परिसर में प्रवेश करते समय सांची द्वार के समीप स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक दल से सेनेटाइजर के पश्चात थर्मल स्क्रीनिंग एवं आक्सीजन स्तर के परीक्षण कराने की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा की दृष्टि से सदस्यों के अलावा किसी भी व्यक्ति को प्रवेश की अनुमति नहीं रहेगी। साथ ही विधानसभा सचिवालय के सदन से संबंधित जुड़े अमले को ही प्रवेश होगा।   प्रोटेम स्पीकर ने संभागीय स्वास्थ्य आयुक्त, पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये कि संक्रमण के संबंध में केन्द्र तथा राज्य के जारी निर्देशों का पूर्ण पालन हो तथा सभा भवन, विधायक विश्राम गृह व समीप के स्थलों को बैठक प्रारंभ होने के दो दिवस पूर्व से प्रतिदिन सेनेटाइज कराया जाए।

Kolar News

Kolar News 17 September 2020

भोपाल। प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को पुलिस लाइन दतिया में मुख्यमंत्री पुलिस आवास योजना के तहत् 19 करोड़ की लागत से निर्मित पुलिस अधिकारियों के 24 एवं आरक्षकों के 96 नवीन आवास भवनों का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग के जवानों की आवास संबंधी समस्याओं का निराकरण करने के लिये पूरे प्रदेश में आवास निर्मित किये जायेंगे। डॉ. मिश्रा ने कहा कि आज दतिया में नवीन आवासों का लोकार्पण करते हुए अत्यधिक प्रसन्नता हो रही है।   मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि पुलिस जवानों को अब आवास संबंधी किसी प्रकार की परेशानी नहीं आयेगी। एक वर्ष में सभी जवानों को आवास उपलब्ध कराये जायेंगे।  दतिया पुलिस लाइन में निर्मित बहु-मंजिला आवास में बच्चों के लिए लाइब्रेरी की व्यवस्था रहेगी। लायब्रेरी में महापुरूषों के जीवन पर केन्द्रित पुस्तकें भी रखी जायेगी, जिससे बच्चे महापुरूषों के जीवन से प्रेरणा लेकर संस्कारवान बन सकें।   पुलिस महानिरीक्षक मनोज शर्मा ने कार्यक्रम में कहा कि गृह मंत्री डॉ. मिश्रा द्वारा पुलिस अधिकारियों, जवानों के परिवारों की चिंता कर इनके कल्याण के लिए विभिन्न कार्य किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दतिया जिला प्रदेश का पहला जिला है, जहां पुलिस अधिकारियों एवं जवानों के लिए सर्वाधिक आवासों के निर्माण के साथ-साथ 40 लाख की लागत का सुपर मार्केट एवं 20 लाख की लागत के जिम की सुविधा भी प्रदाय की गई है।

Kolar News

Kolar News 16 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को भोपाल के समन्वय भवन में राज्यस्तरीय अन्न उत्सव का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मुरैना की जिल्लो खान, उज्जैन के लक्ष्मण मण्डलौइ, इंदौर के राधेश्याम तथा छतरपुर जिले की कस्तूरी बाई से संवाद किया।   सिलेंडर मिला मकान मिला अब राशन भी मिल रहा है   बानमौर मुरैना की जिल्लो खान ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्हें दो साल पहले प्रधानमंत्री आवास योजना से पक्का मकान मिल गया था। उसके बाद सिलेंडर एवं रसोई गैस मिली और अब सस्ता राशन भी मिल गया है। उन्हें 1 रुपये किलो में 50 किलो गेहूँ एवं चावल मिले हैं तथा नमक एवं केरोसिन भी मिला है। इसके अलावा उन्हें 50 किलो नि:शुल्क राशन एवं प्रति सदस्य 1 किलो दाल भी हर महीने मिल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अपने बच्चों को खूब पढ़ाएं तथा आगे बढ़ाएं। सरकार हर तरीके से उनकी मदद करेगी   मंत्री जी इनका अच्छे से अच्छा इलाज कराएं   अंबोदिया जिला उज्जैन के हितग्राही लक्ष्मण मंडलोई ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके परिवार में 5 सदस्य हैं, उन्हें पात्रता पर्ची मिल गई है तथा 25 किलो गेहूं चावल एवं नमक भी प्राप्त हो गए हैं। वे कुछ दिनों पहले एक दुर्घटना में दिव्यांग हो गए थे। अत: अब कोई कामकाज नहीं कर पाते हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उज्जैन से शामिल हुए उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव से कहा कि मंत्री जी आप इनका अच्छे से अच्छा इलाज कराएं। लक्ष्मण मंडलोई के बेटे सौरभ मंडलोई ने मुख्यमंत्री से कहा कि मामा जी आपकी योजनाएं बहुत अच्छी हैं, मेरी फीस माफ हो गई है तथा छात्रवृत्ति मिल रही है। मैं आगे एमबीए करना चाहता हूँ। मुख्यमंत्री ने कहा कि उसे शिक्षा में पूरी मदद प्रदेश सरकार द्वारा दी जाएगी।   मामा जी आज मैं बहुत खुश हूँ   इंदौर जिले के भवन निर्माण श्रमिक राधेश्याम ने मुख्यमंत्री से कहा कि उन्हें आज 25 किलो गेहूँ चावल तथा नमक एक रुपए की दर पर मिल गया है। इसके साथ ही उन्हें हर महीने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का राशन भी निशुल्क मिल रहा है। उनके बच्चों की फीस सरकार भर रही है, उनका बिजली का बिल भी माफ हो गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री चौहान को धन्यवाद देते हुए कहा कि 'मामा जी आज मैं बहुत खुश हूँ'।   आपके चेहरे पर हरदम मुस्कुराहट रहे   छतरपुर जिले के बड़ा मलहरा की कस्तूरी बाई ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का जीवन यापन करती हैं। उनके 5 बच्चे हैं। उन्हें आज 30 किलो गेहूँ, चावल तथा नमक एक रुपए किलो की दर पर मिल गया है। इसके अलावा 30 किलो गेहूँ चावल तथा 6 किलो दाल भी नि:शुल्क मिल गई है। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप खुश रहें, आपके चेहरे पर हरदम मुस्कुराहट रहे, यही उनकी कामना एवं प्रयास हैं।

Kolar News

Kolar News 16 September 2020

इंदौर/ भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बुधवार को जारी अपने एक बयान में प्रदेश के भोपाल व इंदौर को महानगर क्षेत्र ( मेट्रोपॉलिटन एरिया) में बदलने के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि पूर्व के कमलनाथ सरकार के इंदौर शहर के प्रस्तावित प्लानिंग एरिया को कम कर शहर के सुनियोजित विकास के साथ शिवराज सरकार ने बड़ा धोखा किया है।   सलूजा ने बताया कि शिवराज सरकार के प्रस्ताव के मुताबिक मेट्रोपॉलिटन अथॉरिटी के प्लानिंग एरिया में इंदौर शहर का 1200 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल ही शामिल होगा और इसमें सिर्फ महूँ- पीथमपुर ही शामिल होंगे। वही कमलनाथ सरकार ने मेट्रोपॉलिटन अथॉरिटी के प्लानिंग एरिया में इंदौर के 2000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल को शामिल करने का निर्णय लिया था। इसमें महू-पीथमपुर के साथ-साथ देवास और उज्जैन को भी शामिल किया था, इसके पीछे बढ़ती आबादी को देखते हुए, आगामी वर्ष 2050 तक की विकास योजना की प्लानिंग हो सके। शहर का सम्पूर्ण, सर्वांगीण,चहुमुखी विकास हो सके। उन्होंने कहा कि अब सिर्फ महूँ-पीथमपुर  को ही शामिल करने से इस जोन का तो बेहतर विकास होगा लेकिन उज्जैन रोड और धार रोड विकसित नहीं हो पाएंगे। कमलनाथ सरकार ने पूरे उज्जैन शहर तक व देवास को प्लानिंग एरिया में जोड़ा था, जिससे आगामी 25 वर्ष तक बढ़ती आबादी को देखते हुए इंदौर के सुनियोजित विकास को लेकर काम किया जा सके।   सलूजा ने कहा कि मेट्रोपॉलिटन अथॉरिटी के प्लानिंग एरिया में यदि उज्जैन रोड और धार रोड को नहीं लिया गया, तो यह क्षेत्र अविकसित रह जाएगा और हमारे इंदौर शहर का विकास एक अपाहिज की भाँति होगा। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने सांवेर व शिप्रा को भी मेट्रोपॉलिटिन अथॉरिटी में शामिल नहीं कर यहाँ की जनता के साथ भी धोखा किया है। सांवेर की जनता के साथ यह धोखा है और कांग्रेस आगामी उपचुनाव में इसे मुद्दा बनाएगी, साथ ही कांग्रेस इस लड़ाई को भी लड़ेगी कि पूर्व की कमलनाथ सरकार के प्रस्ताव के मुताबिक ही प्लानिंग एरिया के क्षेत्रफल को बढ़ाकर 2000 वर्ग किमी करते हुए इसमें उज्जैन रोड, धार रोड व देवास तक के एरिया को शामिल किया जाये, जिससे संपूर्ण इंदौर का सर्वांगीण, सुनियोजित विकास हो सके।

Kolar News

Kolar News 16 September 2020

भोपाल। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा है कि राज्य सरकार कोविड नियंत्रण के लिये स्पेशल ट्रेनिंग प्रोग्राम चलायेगी। इसमें इंटर्न, मेडिकल स्टूडेंट, प्रायवेट प्रेक्टिसनर्स, आयुष डॉक्टर और नर्सिंग स्टूडेंट को शामिल किया जायेगा। मंत्री सारंग मंगलवार को मंत्रालय में भोपाल में कोरोना नियंत्रण एवं व्यवस्थाओं के संबंध में बैठक ले रहे थे।उन्होंने कहा कि लगभग 22 प्रायवेट अस्पताल कोविड का इलाज प्रारंभ कर चुके हैं। आवश्यकता को देखते हुए अन्य निजी अस्पतालों को भी कोविड सेंटर बनाया जाये। अस्पतालों में आईसीएमआर की गाइड-लाइन के अनुरूप उपचार उपलब्ध कराने के दिशा-निर्देश प्रसारित किये जा रहे हैं। ऑक्सीजन सप्लाई की स्थिति पर नजर रखी जा रही है। नये अस्पतालों को शामिल करते समय देखा जाये कि निर्बाध ऑक्सीजन सप्लाई व्यवस्था हो।मंत्री सारंग ने कहा कि आयुष्मान योजना के तहत इनपेनल्ड 61 अस्पतालों की टोटल क्षमता 5894 में से 1184 बेड कोविड के लिये समर्पित किये जाने के लिये चिन्हांकित किये गये हैं। हर अस्पताल के साथ जिला प्रशासन के प्रतिनिधियों को समन्वय के लिये रखा जायेगा। उन्होंने हमीदिया अस्पताल में शीघ्र ही 50 बेड शुरू करने को कहा और आगामी व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये। श्री सारंग ने टी.बी. अस्पताल में 10 बेड का आईसीयू प्रारंभ करने के साथ इसमें क्षमता बढ़ाने को भी कहा। उन्होंने हमीदिया अस्पताल की साख बेहतर बनाने के लिये आस्था अभियान चलाने के निर्देश दिये।मंत्री सारंग ने कहा कि जूनियर डॉक्टर्स के संक्रमित होने पर उनके कोविड उपचार के लिये रि-इन्वेस्टमेंट मोड पर जीवन-रक्षक दवाइयाँ उपलब्ध कराई जायेंगी। उन्होंने गाँधी मेडिकल कॉलेज में सुव्यवस्थित केंटीन और रिक्रियेशन सेंटर बनाने के निर्देश दिये। वर्तमान में कोविड उपचार के लिये शासकीय एम्स, जीएमसी, जे.पी. हॉस्पिटल, कस्तूरबा हॉस्पिटल और मिलेट्री हॉस्पिटल के साथ अधिग्रहित अस्पतालों में चिरायु, जे.के. अस्पताल सहित पीपुल्स, बंसल, आरकेडीएफ, भोपाल केयर हॉस्पिटल, केयर मल्टी स्पेशियलिटी, निर्मल प्रेम मूर्ति हॉस्पिटल, करोंद मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल और एबीएम हॉस्पिटल उपलब्ध हैं।बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया, डीन डॉ. जीतेन्द्र शुक्ला, सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी, हमीदिया अधीक्षक डॉ. आई.डी. चौरसिया और टी.बी. अस्पताल अधीक्षक डॉ. अरुण श्रीवास्तव उपस्थित थे। मंत्री सारंग ने बैठक के पूर्व भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास विभाग की समीक्षा भी की।

Kolar News

Kolar News 15 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मंत्रि-परिषद की बैठक हुई, जिसमें प्रदेश के हित में कई अहम निर्णय लिये गए। मंत्रि-परिषद ने ग्वालियर में देश के पहले नि:शक्त बालक-बालिकाओं के लिये स्टेडियम बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। इसके साथ बैठक में भोपाल-इंदौर में मेट्रोपोलिटन एरिया गठित करने का निर्णय लिया।   बता दें कि ग्वालियर में देश का पहला दिव्यांग खेल स्टेडियम बनाने के प्रस्ताव को केन्द्र सरकार पहले ही मंजूरी दे चुकी है। मंगलवार को शिवराज मंत्रि-परिषद ने नि:शक्त बालक-बालिकाओं के लिए ग्वालियर में स्टेडियम निर्माण के लिये 7.902 हेक्टेयर भूमि आवंटित करने संबंधी प्रस्ताव का अनुमोदन प्रदान किया। इस स्टेडियम के लिए शहर के ट्रिपल आईटीएम के सामने बनने वाले इस स्टेडियम में एक आउटडोर एथलेटिक्स स्टेडियम, इनडोर स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स, बेसमेंट पार्किंग सुविधा, जलीय केंद्र में 2 स्विमिंग पूल, एक कवर पूल और एक आउटडोर पूल, कक्षाओं के साथ उच्च निष्पादन केंद्र, चिकित्सा सुविधाएं, खेल विज्ञान केंद्र, एथलीटों के लिए छात्रावास की सुविधा, सुलभ लॉकर्स, भोजन, मनोरंजक सुविधाएं और प्रशासनिक ब्लॉक सहित सहायता सुविधाएं उपलब्ध होंगी।   वहीं, मंत्रि-परिषद ने भोपाल व इंदौर शहर में मेट्रो रेल परियोजना के क्रियान्वयन के लिए मेट्रोपोलिटन एरिया (महानगर क्षेत्र) गठित करने का निर्णय लिया। भोपाल महानगर क्षेत्र में भोपाल निवेश क्षेत्र तथा मंडीदीप निवेश क्षेत्र सम्मिलित होंगे। इंदौर महानगर क्षेत्र में महू निवेश क्षेत्र तथा पीथमपुर निवेश क्षेत्र को जोड़ा गया है।   इंदौर-पीथमपुर इन्वेस्टमेंट रीजन में नवीन औद्योगिक क्षेत्र विकसित होंगे   मंत्रि-परिषद ने इंदौर-पीथमपुर इन्वेस्टमेंट रीजन में नवीन औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने संबंधी परियोजना को अनुमोदन प्रदान किया। परियोजना के अंतर्गत पीथमपुर औद्योगिक निवेश सेक्टर 4 तथा 5 को 586.70 हेक्टेयर भूमि पर 550 करोड़ रूपये की लागत से दो चरणों में विकसित किया जाएगा।     बल्क ड्रग पार्क को स्वीकृति   मंत्रि-परिषद ने प्रदेश में बल्क ड्रग पार्क की स्थापना के प्रस्ताव को भी स्वीकृति प्रदान की। रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय भारत सरकार की बल्क ड्रग पार्क प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत स्थापित होने वाले इस पार्क में आने वाली फार्मा इकाईयों को योजना के अनुरूप विशेष वित्तीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।   बाबई-मोहसा मे बनेगा मेडिकल डिवाइस पार्क   प्रदेश में मेडिकल डिवाइस पार्क की स्थापना के प्रस्ताव को भी मंत्रि-परिषद् द्वारा अनुमोदन प्रदान किया गया। भारत सरकार के रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय की प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत विकसित होने वाले इस पार्क में आने वाली विनिर्माण इकाइयों को योजना के अनुरूप विशेष वित्तीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। होशंगाबाद जिले के बाबई-मोहसा में यह पार्क स्थापित होगा।    4 हजार 404 गांवों में घरेलू नल कनेक्शन    मंत्रि-परिषद ने 6 हजार 111 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली दस समूह जल प्रदाय योजनाओं को प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की। मध्यप्रदेश जल निगम द्वारा क्रियान्वित होने वाली इन योजनाओं से प्रदेश के 8 जिलों धार, देवास, गुना, शिवपुरी, अशोक नगर, सागर, सिंगरौली तथा आगर के 4 हजार 404 गांवों में घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से प्रत्येक घर को पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।   मंत्रि-परिषद द्वारा जेरा मध्यम सिंचाई परियोजना के लिए 170 करोड़ 8 लाख रुपये की  प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई। सागर जिले के जैसीनगर विकासखण्ड में बनने वाली इस परियोजना से 5 हजार 400 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई क्षमता विकसित होगी।   अटल भू-जल योजना स्वीकृत   मंत्रि-परिषद की बैठक में अटल भू-जल योजना के क्रियान्वयन के लिए 314 करोड़ 54 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई। योजना के अंतर्गत बुन्देलखण्ड अंचल के 6 जिलों क्रमश: सागर, दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना तथा निवाड़ी के 9 विकासखण्ड क्रमश: सागर, पथरिया, छतरपुर, नौगांव, राजनगर, बल्देवगढ़, निवाड़ी, पलेरा एवं अजयगढ़ की 678 ग्राम पंचायतों के क्षेत्र के भू-जल स्तर में सुधार होगा।   बैठक में मंत्रि-परिषद् द्वारा मध्यप्रदेश माल और सेवा कर (संशोधन) विधेयक 2020 तथा मध्यप्रदेश कराधान अधिनियमों की पुरानी बकाया राशि का समाधान विधेयक 2020 का अनुमोदन किया गया।

Kolar News

Kolar News 15 September 2020

गुना। बमौरी विधानसभा क्षेत्र के लगभग 10 हजार लोगों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है। पंचायत मंत्री महैन्द्र सिंह सिसौदिया एवं भाजपा जिलाध्यक्ष गजेन्द्र सिकरवार ने उन्हें सदस्यता ग्रहण कराई। राजनीतिक लिहाज से कांग्रेस के लिए यह एक बड़ा झटका माना जा रहा है। भाजपा जिलाध्यक्ष सिकरवार ने बताया कि सोमवार को एक निजी कॉलेज परिसर में भाजपा का सदस्यता अभियान आयोजित किया गया था।  जिसमें बमौरी विधानसभा क्षेत्र के हजारों लोग शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान लोगों ने भाजपा की रीति-नीति और पंचायत ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया के द्वारा क्षेत्र में कराए जा रहे विकास को देखते हुए पार्टी की सदस्यता ली। उल्लेखनीय है कि इतनी बड़ी संख्या में जिले में पहली बार सदस्यता हुई है। इस दौरान विभिन्न वर्गों के लोग शामिल हुए हैं।    हम विकास के साथ जुड़ रहे हैं पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने आए लोगों ने बातचीत के दौरान कहा कि भाजपा की सदस्यता वह  विकास के लिए ले रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,  सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, और पंचायत ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया द्वारा क्षेत्र में विकास कराया जा रहा है। इससे पहले भी भाजपा ने क्षेत्र के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी। इसी विश्वास से हम भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं।    विकास की जिम्मेदारी मेरे ऊपर इस मौके पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने ग्रामीणों से  बातचीत कर कहा कि आप जिस विश्वास से पार्टी से जुड़े हो, आपके विश्वास पर कभी आंच नहीं आएगी। आप पार्टी में आ गए हैं अब क्षेत्र के विकास की जिम्मेदारी हमारे पार्टी के नेता और मेरे ऊपर है। चाहे क्षेत्र में सिंचाई के लिए तालाब की बात हो या गांव-गांव बिजली पहुंचाने की, अथवा हर गांव से सडक़ जोडऩे की, यह काम हम करेंगे। इस दौरान ग्रामीणों ने सिसौदिया को अपनी समस्याएं बताईं, जिनका उन्होंने निराकरण किया। इस मौके पर चुनाव संचालक हरिसिंह यादव, अरविंद गुप्ता, आलोक विजयवर्गीय, महेश रघुवंशी, विकास जैन, संतोष धाकड़, श्रवण धाकड़, हरवीर सिंह आदि मौजूद थे। 

Kolar News

Kolar News 14 September 2020

गुना। बमौरी उपचुनाव को लेकर भलें ही कांग्रेस सहित अन्य दलों की सक्रियता बहुत ज्यादा सतही तौर पर देखने को नहीं मिल रही है, किन्तू  भाजपा चुनाव को लेकर काफी गंभीर रुप में सामने आ रही है। यहीं कारण है कि  चुनाव प्रचार में लगातार उसके द्वारा ताकत झोंकने का सिलसिला जारी बना हुआ है। जहां पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं भाजपा से संभावित उम्मीद्वार महैन्द्र सिंह सिसौदिया क्षेत्र में तूफानी दौरे कर रहे है तो भाजपाजन भी लगातार क्षेत्र में पहुंचकर मतदाताओं से संपर्क कर उन्हे भाजपा की रीति-नीति से अवगत कराकर भाजपा के पक्ष में मतदान करने का आग्रह कर रहे है। इसके साथ ही पार्टी के प्रादेशिक और राष्ट्रीय पदाधिकारियों भी बमौरी में दस्तक देकर चुनावी सरगर्मी को बढ़ाने के साथ ही माहौल को पूरी तरह भाजपा के पक्ष में करने का प्रयास कर रहे है। हाल ही में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं प्रदेशाध्यक्ष बीडी शर्मा ने गुना का दौरा कर भाजपाजनों की बैठक ली थी तो अब फिर भाजपा के चार दिग्गज यहां अपनी आमद दर्ज कराने जा रहे है। इनमें 21 सितंबर को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बमौरी आएंगे। इस दौरान उनके साथ केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी रहेंगे। इससे पहले 17 सितंबर को उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव का भी गुना आमगम होने जा रहा है। भाजपा के पक्ष में लेंगे सभा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का 21 सितंबर को बमौरी आगमन होने जा रहा है। उनके साथ केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी होंगे। तीनों नेता भाजपा कार्यकर्ताओं में उपचुनाव को लेकर जोश भरने का कार्य करेंगे। इसके साथ ही इस दौरान बमौरी में एक चुनावी सभा का आयोजन भी किया जाएगा। जिसमें भाजपा के पक्ष में जनसमर्थन जुटाने का प्रयास किया जाएगा। अपने नेताओं के दौरे को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में जबर्रदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। जहां उनके स्वागत की जोरदार तैयारियां की जा रहीं है तो पार्टी स्तर पर बैठकें कर दौरे को लेकर रणनीति भी तैयार की जा रही है। चूंकि दौरा मुख्यमंत्री का भी है, इसलिए प्रशासनिक तंत्र भी अपने को चुस्त-दुरुस्त करने में लगा हुआ है। सभा आयोजन को लेकर स्थल का चयन सहित अन्य तैयारियां की जा रहीं है। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने इसके लिए अधिकारियों की बैठक लेकर उन्हे दिशा-निर्देशित  किया है।  भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे उच्च शिक्षा मंत्री  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं राज्यसभा ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे से पहले प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव का गुना आगमन होने जा रहा है यादव 17 सितंबर को गुना आएंगे। भाजपा जिला सोशल मीडिया प्रभारी विकास जैन नखराली ने बताया कि यादव उस दौरान प्रात: 9 बजे गुना सर्किट हाउस आगमन पर भाजपा कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे। बैठक में उपचुनाव को लेकर तैयारियों एवं स्थिति की जानकारी ली जाएगी। यादव इसके बाद 10 बजे गुना जिले के समस्त महाविद्यालयों के प्रचार्य के साथ बैठक करने के बाद एक होटल मेें सामजिक बैठक में भी भाग लेंगे। इसके बाद यादव अशोकनगर के लिए रवाना हो जाएंगे।  तोमर, वीडी भर चुके है कार्यकर्ताओं में जोश इन दौरे से पहले केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी तोमर का भी गुना आगमन हो चुका है। दोनों नेताओं का यह दौरा काफी सफल रहा था और जिस उद्देश्य को लेकर वह आए थे, वह भी अब पूरा होता दिख रहा है। गौरतलब है कि नेताद्वय ने अपने दौरे के दौरान गुना-अशोकनगर जिले की उपचुनाव वाली विधानसभाओं बमौरी, अशोकनगर और मुंगावली के कार्यकर्ताओं की बैठक ली थी। इस दौरान जहां नेताद्वय ने कार्यकर्ताओं में समन्यव स्थापित किया था तो उपचुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं में जोश भरने में भी दोनों नेता सफल हुए थे। इसके साथ ही तोमर ने कार्यकर्ताओं से समस्याएं सुनने के साथ  उनसे सुझाव भी आमंत्रित किए थे। 

Kolar News

Kolar News 14 September 2020

अनूपपुर। अनूपपुर विधानसभा उपचुनाव की दुंदुभि बज चुकी है। दोनों प्रमुख राजनैतिक दल भाजपा तथा कांग्रेस के उम्मीदवारों के चेहरे स्पष्ट हो चुके हैं। कमलनाथ सरकार को गिराने में सहायक बने बिसाहूलाल सिंह यहां भाजपा के उम्मीदवार होंगे, जबकि कांग्रेस ने अपने पुराने कार्यकर्ता जिला पंचायत सदस्य विश्वनाथ सिंह पर भरोसा जताया है।   चाल-चरित्र, चेहरे पर भारी   पार्टी के कुछ नेताओं के चाल, चरित्र ने विधानसभा चुनाव में भाजपा के चेहरे को खतरे में डाल दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गत सात सितम्बर को अनूपपुर आगमन के पहले तथा उसके बाद कुछ नेताओं की कुटिल चाल को प्रदेश भाजपा, स्वयं मुख्यमंत्री, कार्यकर्ताओं, मीडिया, राजनैतिक विश्लेषकों तथा प्रबुद्ध जनता ने भांप लिया है। बिसाहूलाल को भी यह अहसास हो गया है कि सुबह से देर रात तक उनके इर्द गिर्द घेरा बनाकर जमे रहने वाले कुछ नेताओं की खराब छवि उन पर भारी पड़ सकती है। ये नेता पूर्व विधायक तथा मंत्री के बीच गहरी खाई खोदने की साजिश पर काम कर रहे हैं। जिलाध्यक्ष और पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष बिसाहूलाल को रामलाल से अलग रखकर चुनाव को अपने अनुकूल संचालित करना चाहते हैं।    प्रदेश उपाध्यक्ष के विरुद्ध अनुशासनहीनता   मुख्यमंत्री के कार्यक्रम से रौतेल को बाहर रखना इसी योजना का हिस्सा था। पूर्व विधायक भाजपा के मूल नेताओं तथा अपनी उपेक्षा से इतने नाराज थे कि कार्यकर्ताओं के बीच जा बैठे। यहाँ पार्टी में विरोधी खेमा बिसाहूलाल से अलग रखने में सफल तो रहा लेकिन कार्यकर्ताओं, जनता में नाराजगी फैल गई। पूर्व विधायक समर्थकों की बड़ी संख्या व कार्यकर्ताओं की बड़ी फौज है। बिसाहूलाल से उन्हें अलग रखने में ही कुछ नेताओं का हित सध सकता है। किन्तु अनूपपुर विधानसभा उपचुनाव में बिसाहूलाल तथा रामलाल की एकजुटता से जीत आसान हो सकती है। भाजपा के अनुशासन तथा नैतिकता की तब धज्जियां उड़ीं जब मुख्यमंत्री के वापस जाते ही पूर्व नपा अध्यक्ष ने अपनी ही पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष के विरुद्ध पत्रकार वार्ता कर उन पर आरोपों की झड़ी लगा दी।   जिलाध्यक्ष बचा लो या विधानसभा   जिलाध्यक्ष के संदिग्ध आचरण, कार्यप्रणाली के विरुद्ध नौ मंडल अध्यक्षों ने प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर उन्हें तत्काल हटाने की मांग की है। इस मांग पर वे आज भी अड़े हुए हैं। दो महामंत्रियों ने शिकायत की है कि जिलाध्यक्ष तथा कोषाध्यक्ष ने चेक से भुगतान ना करके लाखों रुपये अपने नाम पर नकद निकाल कर वित्तीय अनियमितता की है। जिलाध्यक्ष पर तमाम अवैध कार्यों मे लिप्त होने, पार्टी में गुटबाजी को फूट की हद तक ले जाने, प्रदेश उपाध्यक्ष को निरन्तर अपमानित करने के संगीन आरोप हैं। 12 सितम्बर को संभागीय संगठन मंत्री श्याम महाजन की उपस्थिति में पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष सहित 28 पदाधिकारियों-कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष को तत्काल हटाने की मांग करते हुए सामूहिक स्तीफा दे दिया।

Kolar News

Kolar News 13 September 2020

भोपाल। प्रदेश में किसान बीमा के नाम पर भाजपा की सरकार रोज नई-नई बातें कर रही है। लेकिन तथ्य यह है कि आज भी प्रधानमंत्री फसल बीमा के पोर्टल पर लगभग 7 हजार गांव की न तो अधिसूचित फसल दर्ज है और न ही गांव का नाम दर्ज हैं। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने बैतूल जिले की समितियों के शिकायती पत्र जारी करते हुए कहा है कि कृषि मंत्री कमल पटेल रोज अपनी झूठी बाहवाही करते रहते हैं लेकिन उन्हें यह भी अंदाजा नहीं है कि उनके पड़ोसी जिले में सैकड़ों गांव की अधिसूचित फसल पोर्टल पर दर्ज ही नहीं है। क्या कमल पटेल बताएंगे कि ऐसी अवस्था में किसानों को किस तरह उनके बीमे के दावे दिए जाएंगे ?   भूपेन्द्र गुप्ता ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा है कि जिस तरह से बीमा कंपनी को तय करने में शिवराज सरकार ने चार चार टेंडर किये। उसके बाद भी तय समय सीमा में बीमा कंपनी ही तय नहीं कर पाई। 28 अगस्त को बीमा कंपनी का नाम तय हुआ इसलिए मजबूरी में केंद्र सरकार से गिड़गिड़ा कर 31 तारीख तक अवधि बड़वानी पड़ी। जब कांग्रेस ने यह मामला उठाया कि एक ही दिन में बीमा कैसे होगा तो केवल 5 जिलों का 1 सप्ताह तक बढ़ाने की घोषणा की गई। गुप्ता ने आरोप लगाया कि जब अंतिम तारीख गुजरे दो हफ्ते  हो चुके है तब मध्य प्रदेश सरकार बेसुध पड़ी है कि उसके पोर्टल पर किसानों की अधिसूचित फसल और गांव के नाम भी इंद्राज नहीं हो पा रहे हैं। किसानों की बीमा कंपनियों द्वारा किये जाने वाले  डॉक्यूमेंटेशन का सारा लोड बैंकों पर डाल दिया गया है लगभग 40लाख किसानों के डॉक्यूमेंटेशन के खर्चे से बीमा कंपनी को बचाकर लगभग 5 करोड का फायदा पहुंचाया गया है। जबकि यह बजन बैंकों पर डाल दिया गया है जिन्हें मजबूरी में समय सीमा के अंदर दस्तावेजी करण करना पड़ रहा है। गुप्ता ने मांग की कि सरकार तत्काल पोर्टल पर गांव एवं अधिसूचित फसलों के इंद्राज होने तक बीमा अवधि खुली रखने का निर्देश पारित करे एवं बीमा कंपनी से भी इसकी घोषणा करवाए। अन्यथा हजारों गांव के लाखों किसान फसल नष्ट होने की अवस्था में बीमा दावे से वंचित रह सकते हैं।   उन्होंने बताया कि बैतूल के भीमपुर धावला बाड़े गांव छिंदखेड़ा आदि ग्रामों की अधिसूचित फसलें पोर्टल  पर ना होने की लिखित शिकायतें सहकारी समितियों ने की हैं। उन्होंने यह भी बताया कि लीड बैंक द्वारा भी इस तरह की शिकायत शासन स्तर पर किए जाने के बावजूद इनका निराकरण नहीं किया गया है। यह किसान हितैषी सरकार का दो मुहांपन है।

Kolar News

Kolar News 13 September 2020

भोपाल। दो जून की रोटी और सिर पर अपना छत, हर एक आम आदमी का सपना होता है। पर अक्सर गरीबों का यह सपना पूरा नहीं हो पाता। लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र की भाजपा सरकार की जनहितकारी योजनाओं से गरीबों का यह पूरा होता नजर आ रहा है। इसी तारतम्य में यह लाभ सागर जिले की सुरखी विधानसभा क्षेत्र के गरीबों को भी मिला है। शनिवार को सुरखी विधानसभा क्षेत्र के ओरिया में रहने वाली रानी विश्वकर्मा को जब अपने सपने का आशियाना मिला तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। रानी की खुशी उस समय और बढ़ गई जब ग्राम ओरिया में प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत गृह प्रवेश कार्यक्रम में  रानी विश्वकर्मा पति चंद्रभान को गृह प्रवेश कराने स्वयं प्रदेश के परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत शामिल हुए।   ग्राम ओरिया में प्रधानमंत्री आवास योजना के गृह प्रवेश कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ने ग्रामवासियों से कहा कि उनके क्षेत्र की सारी समस्याएं जल्द ही समाप्त हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने हर गरीब के लिए पक्का घर देने का निश्चय किया है । परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने अपने संबोधन में ग्रामीणों द्वारा की गई मांग पर कहा कि गांव में मंगल भवन बनेगा जिसके लिए 10 लाख रुपए उन्होंने स्वीकृत की है । साथ ही 80 फुट का सीसी रोड जानकी रमण मंदिर के यहां तथा हनुमान मंदिर के लिए 1.50 लाख रुपए स्वीकृत किए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि गांव ओरिया के सभी लोगों का जिनका नाम पहले गरीबी रेखा से कट चुका था उनका नाम गरीबी रेखा में जोड़ा जाए। इस गांव के लगभग 160 लोगों का नाम गरीबी रेखा से कट चुका था। तहसीलदार तथा एसडीएम को निर्देशित करते हुए श्री राजपूत ने इस कार्य को तत्काल करने के लिए कहा। राजपूत ने गांव में नल जल योजना के लिए 35 लाख दिए साथ ही पिछले लंबे समय से गांव में तालाब निर्माण को लेकर ग्रामीणों की मांग आ रही थी, जिस पर राजपूत ने आश्वासन दिया कि तालाब जल्द बनेगा तथा अधिकारियों को निर्देशित किया कि जैसा ग्रामवासी चाहते हैं उस तरह का तालाब विभाग उन्हें बना कर दें ताकि ग्राम वासियों को इसका लाभ मिल सके। कार्यक्रम में यह रहे मौजूद :-ग्राम ओरिया में हुकुम सिंह, मनोज रवि, सरपंच रमेश दुबे, मंगल सिंह, चंदन सिंह, रामराज सिंह, देवेंद्र सिंह वकील साहब,  रवि लंबरदार, योगेश सिंह गोलू पडऱई, संतोष सिंह, इंद्र कुमार सेन, बुंदेल सिंह, अरविंद त्रिपाठी सहित कई ग्रामीण शामिल हुए।    इन्होंने ली भाजपा की सदस्यता :-राजस्व एवं परिवार मंत्री गोविंद सिंह ने गजेंद्र सिंह, गजेंद्र सिंह, रमेश दुबे, भरत सिंह ठाकुर, मंसाराम, रामराज जनपद सदस्य, गोविंद सिंह, नेकराम अहिरवार, राजा बाबू, राम जी उप पूर्व सरपंच को भाजपा में शामिल होने की बधाई देते हुए गमछा पहनाकर उनका सम्मान किया।

Kolar News

Kolar News 12 September 2020

भोपाल। प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए 21 सितम्बर से स्कूल खोले जाने के निर्णय का विरोध शुरू हो गया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने इस निर्णय की आलोचना करते हुए कहा है कि शिवराज सरकार ऐसा करके बच्चों को कोरोना के दावानल में धकेल रही है।पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने शिक्षा विभाग और शिवराज सरकार को 21 सितंबर से नौवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोलने पर निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि  प्रदेश में कोरोना महामारी तथा संक्रमण की स्थिति बेहद गंभीर हो गई है, मामले कम होने की जगह बढ़ते ही जा रहे हैं।  सभी शहरों में किसी भी तरह की गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है और ना ही सरकार इसका पालन करवा रही है।  ऐसे में स्कूलों को खोलना तथा विद्यार्थियों का स्कूलों में जाना खतरे से खाली नहीं है।  वर्मा ने अपने ट्वीट करके कहा है कि अब मामा को भांजे-भांजीयों की चिंता नहीं हो रही, मासूम बच्चों को कोरोना के दावानल में झोंकने का कुत्सित प्रयास कर रही है शिवराज सरकार।वर्मा ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए किसी भी स्थिति में अभी स्कूलों को प्रारंभ नहीं किया जाना चाहिए, बच्चे अपने घर पर रहकर ही ऑनलाइन माध्यम से आने वाले कुछ महीने पढ़ाई करें तथा घर से बाहर ना निकलें,  यही बच्चों के हित में होगा। वर्मा ने नीट परीक्षा को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा है कि जो लोग देश बेच रहे हैं उन्होंने लगता है अपनी बुद्धि भी बेच दी।  उन्होंने कहा कि पिछले 6 महीनों से विद्यार्थी पूरी तरह से कोरोना के डर से सहमे हुए हैं,  साथ ही इस माहौल में उनकी तैयारी भी अच्छे से नहीं हो पाई लेकिन केंद्र सरकार परीक्षाएं कराने पर उतारू है। 

Kolar News

Kolar News 12 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना से नेता भी नहीं बच पा रहे हैं। अब दमोह जिले की पथरिया विधानसभा से बसपा विधायक रामबाई सिंह परिहार भी कोरोना संक्रमित हो गई हैं। उन्होंने भोपाल में अपनी कोरोना की जांच कराई थी, जो पॉजिटिव आई है। इसके बाद वे भोपाल में ही एकांतवास हो गई हैं। विधायक रामबाई ने शनिवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी कर इसकी जानकारी दी।    उन्होंने वीडियो में बताया कि बीते गुरुवार को उनकी तबियत खराब होने के बाद उन्होंने कोरोना जांच के लिए अपना सैम्पल दिया था। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, इसलिए जो भी लोग उनके संपर्क में आए हों, वे अपनी जांच जरूर करा लें। वीडियो में उन्होंने यह भी कहा है कि वे अभी पूरी तरह स्वस्थ हैं, लेकिन उन्हें अपनी चिंता नहीं है बल्कि अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों और किसानों की चिंता है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी अपील की है कि जिन कि सानों की फसलें खराब हुई हैं उन्हें शीघ्र मुआवजा दिया जाए।  

Kolar News

Kolar News 12 September 2020

गुना। जिले की सबसे चर्चित बमौरी विधानसभा में एक बार फिर कन्हैयालाल अग्रवाल और महैन्द्र सिंह सिसौदिया संजू  चुनावी मैदान में आमने-सामने हो सकते हैं। ऐसी संभावना शुक्रवार को कांग्रेस से कन्हैयालाल अग्रवाल के नाम पर मुहर लगने के बाद और प्रबल हुई है। हालांकि भाजपा से अभी संजू के नाम की औपचारिक घोषणा होना शेष है। अगर यह होती है, जैसा की होना काफी पहले से ही लगभग तय ही है तो यह चौथी बार होगा, जब बमौरी विधानसभा में यह दोनों नेता आमने-सामने होकर एक-दूसरे के खिलाफ ताल ठोकेंगे। गौरतलब है कि वर्ष 2008 से जब से बमौरी का विधानसभा के रूप में जन्म हुआ है, तब से यह दोनों नेता यहां से एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। इस बार भी यह रिकॉर्ड कायम रहने की संभावना है। इससे फिलहाल ऐसा कहा जा सकता है कि इन दोनों दिग्गज नेताओं के बिना बमौरी की राजनीति अधूरी है। बहरहाल इन दिनों दोनों नेताओं के क्षेत्र में तूफानी दौरे चल रहे हैं। जिसने यहां चुनावी सरगर्मी चरम पकड़ने लगी है। इस सरगर्मी के बीच बमौरी के मौसम का मिजाज बता रहा है कि मुकाबला जबर्रदस्त होने के आसार है।    दो बार कांग्रेस तो एक बार भाजपा की हुई बमौरी  चुनावी दावेदारों में हर नेता की थोड़ी-थोड़ी पकड़ में रहने वाली बमौरी विधानसभा का जन्म 2008 में हुआ था। विधानसभा गुना से टूटकर बनी थी और तब से लेकर अब तक 12 सालों में यहां तीन चुनाव हो चुके हैं। जिसमें दो बार कांग्रेस तो एक बार भाजपा को जीत मिली है। तीनंो चुनाव में यहां से कन्हैयालाल अग्रवाल और महैन्द्र सिंह सिसौदिया जरुर लड़े है। वर्ष 2008 के चुनाव मेंं भाजपा प्रत्याशी के रुप में कन्हैयालाल अग्रवाल ने कांग्रेस प्रत्याशी महैन्द्र सिंह सिसौदिया को हराया तो वर्ष 2013 के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के रुप में महैन्द्र सिंह सिसौदिया ने भाजपा उम्मीद्वार कन्हैयालाल अग्रवाल को हराकर अपनी हार का बदला ले लिया। इसके अगले चुनाव वर्ष 2018 में कन्हैयालाल को  भाजपा से उम्मीद्वारी नहीं मिली तो उन्होने निर्दलीय मैदान में ताल ठंोकी। कांग्रेस ने लगातार तीसरी बार महैन्द्र सिंह सिसौदिया पर ही भरोसा व्यक्त किया।भाजपा से उम्मीद्वार ब्रजमोहन सिंह आजाद रहे। चुनाव में लगातार दूसरी  बार महैन्द्र सिंह सिसौदिया को जीत मिली।    आदिवासी, सहरिया समाज और किरार-धाकड़ समाज का बाहुल्य  बमौरी में आदिवासी, सहरिया समाज और किरार-धाकड़ समाज का बाहुल्य है।  यहां जाति की राजनीति नहीं चलती है। यह इससे भी समझा जा सकता है कि सिर्फ एक बार भाजपा ने ही वर्ष 2018 के चुनाव में यहां के किरार समुदाय के ब्रजमोहन सिंह किरार को प्रत्याशी बनाया था। इसके सिवाए कभी दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों भाजपा और कांग्रेस ने यहां से इन समाजों के व्यक्ति को प्रत्याशी नहीं बनाया है। अन्य राजनीतिक दलों ने भी जाति के आधार पर प्रत्याशी चयन करने में गंभीरता नहीं दिखाई है। इतना ही नहीं,  जो तीन विधायक अब तक यहां से रहे है, भाजपा से कन्हैयालाल अग्रवाल और कांग्रेस से महैन्द्र सिंह सिसौदिया तो उनके समाज के मतदाता यहां नाम मात्र के है।  बमौरी में लोधा, लोधी समाज, ब्राह्मण समाज, खटीक समाज भी थोड़ा, बहुत है।    छह चुनाव लड़ चुके है कन्हैयालाल  कन्हैयालाल अग्रवाल का जन्म 28 अगस्त 1948 को गुना में हुआ था। रामेश्वर दयाल अग्रवाल के पुत्र  कन्हैयालाल अग्रवाल बी.ई.(मैकेनिकल) शिक्षित है।  कन्हैयालाल अग्रवाल विद्यालयीन छात्र संघ के सचिव एवं अभियांत्रिकी महाविद्यालय की छात्र परिषद के अध्यक्ष रहे हैं। वर्ष 1988 से 1998 तक आप जनता दल गुना के जिलाध्यक्ष एवं अन्य पदों पर कार्यरत रहे। अब तक वह छह चुनाव लड़ चुके है। जिसमें पहला चुनाव वह गुना विधानसभा से जनता दल से लड़े और हार गए। फिर दूसरा चुनाव वर्ष 2000 ( उपचुनाव) में गुना विधानसभा भाजपा से लड़े, फिर हार गए। इसके बाद वर्ष 2003 के चुनाव के चुनाव में भाजपा ने उन्हे फिर इसी विधानसभा से प्रत्याशी बनाया। यह चुनाव वह जीत गए और पहली बार विधायक बने। इसके बाद वर्ष 2008 के चुनाव में गुना विधानसभा से अलग हुई बमौरी विधानसभा से भाजपा ने फिर उन्हे उम्मीद्वारी सौपी। जिसमें लगातार दूसरी बार उन्होने जीत का स्वाद चखा। इसके साथ ही भाजपा ने इस बार उन्हे बड़ी जिम्मेदारी देते हुए मंत्री बनाते हुए सामान्य प्रशासन जैसा मजबूत और बड़ा विभाग सौपा। इतना ही नहीं, वर्ष 2013 के चुनाव में लगातार चौथी बार भाजपा ने केएल पर भरोसा जताते हुए उन्हे प्रत्याशी बनाया। हालांकि इस बार केएल चुनाव हार गए।  वर्ष 2018 का चुनाव वह निर्दलीय बमौरी से लड़े, किन्तू हार गए।  इस बार कांग्रेस से उम्मीद्वारी मिलने पर उन्होने कहा कि जनता झूठ और बेईमानी का पर्दाफाश करेगी। धोखेबाज और गद्दारंो के जाल में जनता फंसने वाली नहीं है। वह जवाब देने तैयार है।    कांग्रेस की सदस्यता लेने के साथ ही पक्का हो गया था टिकट पूर्व राज्य मंत्री कन्हैयालाल अग्रवाल की कांग्रेस से उम्मीद्वारी कतई चौंकाने वाले रूप में सामने नहीं आई है। यह तभी तय हो गया था। जब करीब डेढ़ माह पहले 23 जुलाई को उन्होने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी। हालांकि इससे काफी पहले से ही वह कांग्रेस के संपर्क में बने हुए थे और यह खुद उन्होने भी माना था कि वह कांग्रेस से उम्मीद्वारी के रुप में दावेदारी कर रहे है। हालांकि बीच-बीच में कुछ नाम उछलते भी रहे, किन्तु उनका कोई पुख्ता आधार नहीं था।

Kolar News

Kolar News 11 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष और कालापीपल से कांग्रेस के विधायक कुणाल चौधरी ने मध्य प्रदेश की सरकार पर एक बार फिर माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगया है। कुणाल चौधरी ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा कि एक बार फिर राइस मिल्स को चालू करने की इजाजत दे दी है। इन्हीं राइस मिलर्स की मिल्स से आम जनता को जहरीले चावल बांटे गए थे। जोकि इतने खराब थे कि उन्हें जानवरों को खाने के लिए नहीं दिया जा सकता था।   अपने बयान में कुणाल चौधरी ने कहा है कि सरकार को जहरीले चावल देने वालों के खिलाफ कार्यवाई करनी चाहिए थी, मगर अब सरकार उनकी मदद में जुट गई है। सभी मिल्स को खोल दिया गया और उनके कटे हुए बिजली के कनेक्शन को भी जोडऩे का काम किया जा रहा है। कुणाल चौधरी ने माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही नहीं करने पर सरकार को सडक़ पर उतने की चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर सरकार इन माफियाओं पर कार्यवाई नहीं करती है तो मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस और पूरी कांग्रेस पार्टी सडक़ों पर उतरकर सरकार के इन मंसूबों के खिलाफ जमकर विरोध-प्रदर्शन करेगी।

Kolar News

Kolar News 11 September 2020

भोपाल। प्रदेश की सभी मंडी समितियों के कर्मचारी अब मंडी बोर्ड के कर्मचारी होंगे। सेवानिवृत होने वाले कर्मचारियों की पेंशन की टेंशन भी खत्म। आरक्षित निधि में 200 करोड़ रुपए का फण्ड पेंशन के लिए रहेगा। यह निर्णय कृषि मंत्री कमल पटेल की अध्यक्षता में गुरुवार को मध्यप्रदेश राज्य कॄषि विपणन बोर्ड की 135वीं बैठक में लिया गया। इस दौरान मंडी बोर्ड के कर्मचारियों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।   कृषि मंत्री पटेल ने बोर्ड की बैठक में प्रदेश की सभी मंडी समितियों के कर्मचारियों को मंडी बोर्ड के कर्मचारी बनाए जाने की स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने इसके लिये आवश्यक औपचारिकताओं को पूर्ण करने के लिए समग्र प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। पटेल ने कहा किसी भी मंडी समिति के कर्मचारी को अब सेवानिवृत्ति पश्चात पेंशन की टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। मण्डी बोर्ड में आरक्षित निधि में 200 करोड़ रुपये की राशि का फण्ड सुरक्षित रखा जायेगा। इससे सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को आजीवन पेंशन मिलती रहेगी। पटेल ने कहा कि राज्य सरकार कर्मचारियों की चिंताओं से भली-भाँति वाकिफ है। मण्डी के कर्मचारी बेहतर कार्य करते रहें, किसी प्रकार की चिंता न करें।   मण्डियों को बाजार की प्रतिस्पर्धा में लाने के लिये स्मार्ट मण्डियों के रूप में विकसित किया जायेगा। इससे मण्डियों की आय में वृद्धि होगी। स्मार्ट मण्डियाँ बनने से किसान भी लाभान्वित होंगे। बैठक में प्रमुख सचिव कृषि अजीत केसरी के सुझाव पर मंत्री पटेल ने मण्डी समिति के सदस्यों से मण्डियों को उत्कृष्ट बनाने और प्रतिस्पर्धा में बने रहने के लिये उपयुक्त सुझाव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने मण्डियों की आय में गिरावट आने पर भी चिंता व्यक्त करते हुए सुधारों के लिये आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिये। इसके लिये समिति सदस्यों से सुझाव भी आमंत्रित किये।   मण्डी में खरीदी की जिम्मेदारी मण्डियों की कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि मण्डी प्रांगण के भीतर किसानों से होने वाली खरीदी एवं भुगतान की जिम्मेदारी मण्डियों की है। उन्होंने कहा कि मण्डी में अपनी उपज को विक्रय करने के बाद किसानों को भुगतान के लिये अनावश्यक रूप से परेशान न होना पड़े, इसके लिये सभी आवश्यक प्रबंध किये जायें। किसानों को लंबित भुगतान करने के लिये खरीदी करने वाले व्यापारियों और जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारियों से भी वसूली करने के लिये कड़े कदम उठाये जायें।   बैठक में प्रबंध संचालक मण्डी बोर्ड संदीप यादव, उप सचिव एवं प्रभारी संचालक प्रीति मैथिली, अपर संचालक केदार सिंह और अपर संचालक अमर सेंगर मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News 10 September 2020

भोपाल। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने प्रदेश की शिवराज सरकार पर वेयर हाउस मालिकों के साथ शोषण करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि भाजपा की जो केंद्र सरकार निजी वेयर हाउस बनाने के लिए 33 प्रतिशत सब्सिडी और तीन प्रतिशत ब्याज में छूट दे रही है, उसी पार्टी की मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार वेयर हाउस मालिकों का शोषण कर रही है। आज वे सडक़ पर आने की कगार पर हैं। अजय सिंह ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि सरकार की षड्यंत्रकारी नीतियों और निर्देशों के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के सभी छोटे छोटे भंडार मालिक कोरोना संक्रमण काल में पूरी तरह टूट जाएंगे। महीनों से उनका किराये का भुगतान लंबित पड़ा है। इनके गोदामों में जनवरी से हजारों क्विंटल धान रखी है। अब यह धान काफी सूख गई है और सुखात प्रतिशत पाँच से छ: तक आ गया है, लेकिन शासन ने केवल दो प्रतिशत की सुखात छूट दी है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार निजी वेयर हाउस मालिकों को सुखात छूट बढ़ाकर पाँच- छ: प्रतिशत नहीं देगी तो वे बंद होने की स्थिति में आ जायेंगे। वे बैंक से एनपीए घोषित हो जाएँगे। इस संबंध में उनके संघ ने पीएस से मिलकर शासन को ज्ञापन भी दिया है। मेरी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह से मांग है कि कम से कम पाँच प्रतिशत सुखात छूट निजी वेयर हाउस मालिकों को दें। इसके अलावा अजय सिंह ने आरोप लगाया है कि वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के तत्कालीन एम डी अविनाश लवानिया ने विगत 25 मई को अनाज के भंडारण के लिए एक अव्यवहारिक आदेश पूरे प्रदेश के लिए जारी किया था। उन्होंने प्राथमिकता क्रम बनाते हुये निर्देश दिये थे कि उपार्जन का अन्न पहले साइलो कैप में रखा जाये। उसके बाद सरकारी गोदामों में रखा जाये और क्षमता समाप्त होने के बाद निजी गोदामों अनाज का भंडार किया जाये। जबकि होना यह चाहिए था कि पहले सरकारी और फिर निजी गोदामों में अनाज का भंडार किया जाये और तीसरे क्रम पर साइलो कैप में अनाज रखा जाये। यह इसलिए क्योंकि साइलो कैप में खुले में रखा ऊपर का तीस प्रतिशत अनाज बरसात के समय नमी से खराब होकर सड़ जाता है। अजयसिंह ने कहा कि यहीं से भ्रष्टाचार का खेल शुरू होता है। अनाज को पूरा खराब होना बताकर सस्ते में व्यापारियों को बेच दिया जाता है। यही अनाज प्रोसेस होकर पीडीएस के माध्यम से गरीबों में बंट जाता है। यह सब भाजपा सरकार के संरक्षण में कूटरचित योजना के तहत किया जा रहा है। पता नहीं अविनाश लवानिया ने यह दोषपूर्ण निर्देश किस मंत्री के कहने पर जारी किए थे। वैसे तथाकथित मंत्री से उनकी रिश्तेदारी जगजाहिर है। अजयसिंह ने इस पूरे प्रकरण की जांच की मांग मुख्यमंत्री शिवराजसिंह से करते हुये कहा है कि खरीफ फसल की आवक से पहले भंडारण का यह दोषपूर्ण आदेश जनहित में तत्काल निरस्त किया जाये। साथ ही निजी भंडारगृह मालिकों को धान पर सुखात छूट पाँच या छ: प्रतिशत देते हुये उन्हें महीनों से लंबित किराए का भुगतान तत्काल किया जाये।

Kolar News

Kolar News 10 September 2020

भोपाल। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान इन दिनों ग्वालियर- चंबल अंचल के दौरे पर हैं। इस दौरान 11 सितंबर को मुख्यमंत्री पोहरी, भांडेर और डबरा के प्रवास पर रहेंगे।   प्रदेश भाजपा कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान 11 सितम्बर को दोपहर 12.30 बजे शिवपुरी पहुंचेंगे। यहां एक समारोह में मुख्यमंत्री जिले के पोहरी में 278.23 करोड़ के कार्यो का भूमिपूजन और 9.57 करोड़ के कार्यो का लोकार्पण करेंगे। दोपहर 3 बजे दतिया जिले के भांडेर में 42.8 करोड़ के कार्यो का भूमिपूजन और 16.64 करोड़ के कार्यो का लोकार्पण करेंगे। शाम 5.30 बजे ग्वालियर जिले के डबरा में 72.30 करोड़ के कार्यो का भूमिपूजन और 76.52 करोड़ के कार्यो का भूमिपूजन करेंगे। शाम 7.30 बजे डबरा से ग्वालियर होते हुए भोपाल पहुंचेंगे।

Kolar News

Kolar News 10 September 2020

भोपाल। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को धरातल पर सफलता पूर्वक लाने के लिए विभिन्न पहलुओं के अमलीकरण में शासकीय और निजी विश्वविद्यालय मार्ग दर्शक की भूमिका में आगे आयें। विश्वविद्यालय रोजगार परक शिक्षा का स्वरुप, पाठ्यक्रम निर्माण, शोधों को प्रयोग शाला से व्यवहारिकता की जमीन पर लाने, शैक्षणिक गुणवत्ता, प्राथमिक और माध्यमिक स्तर की शिक्षा पद्धति, इटर्नशिप, क्रेडिट स्कोर, शिक्षक प्रशिक्षण जैसे विभिन्न पहलुओं पर विषयवार समूह बनाकर चिंतन मनन करें। उन्होंने यह बातें मंगलवार को राजभवन में शासकीय विश्वविद्यालयों की अकादमिक गतिविधियों की समीक्षा के दौरान वीडियों कांफ्रेस में कुलपतियों को संबोधित करते हुए कही।    इस अवसर पर उच्चशिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, बरकतउल्ला एवं देवी अहिल्या शासकीय विश्व विद्यालयों के कुलपति मौजूद थे।राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने क्षेत्र ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सफल क्रियान्वयन के पहले 5 वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह नीति की सफलता का आधार है। इसमें भी आंगनवाड़ी के पहले 3 वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण है। आंगनवाड़ी में शिशु के लालन-पालन की पद्धति और प्रणाली कैसी हो कि बच्चे सुनकर, खिलौने से खेल कर सीख सकें। अनुशासन, सम्मान, स्वच्छता, करुणा, सेवा, स्नेह और भातृत्व के संस्कार उनमें बस जाए। इसी तरह प्राथमिक शिक्षा में कहानी, प्रसंग, विषयों का निर्धारण और शिक्षक प्रशिक्षण की व्यवस्थाओं के विकास में दिशा दर्शन जरुरी है। माध्यमिक स्तर पर इटर्नशिप जैसी व्यवस्था किस तरह क्रियान्वित की जाये। उसका स्वरूप कैसे निर्धारित किया जाए। ऐसे अनेक आयामों पर विचार विमर्श सफल क्रियान्वयन के लिए जरुरी है। क्रियान्वयन की रुपरेखा पर व्यापक स्तर पर विश्वविद्यालय परिसंवाद करें। जहॉं भी जो भी अच्छा है, उसे प्राप्त कर एकीकृत करें। क्रियान्वयन पथ को आलोकित करें।उन्होंने कहा कि उच्चशिक्षा के क्षेत्र में नवाचारी सोच की रीति नीति के साथ कार्य किया जाए। प्रत्येक विश्वविद्यालय उसकी विशेषज्ञता के आधार पर नीति के आयामों को चिन्हित करें। क्रियान्वयन कार्य का स्वरूप और खाका तैयार करें। औद्योगिक क्षेत्रों के विश्वविद्यालय रोजगार परक शिक्षा के शिक्षण-प्रशिक्षण संबंधी आवश्यकताओं का सर्वेक्षण और अनुसंधान कर पाठ्यक्रमों का चयन और निर्माण करें। इसी तरह अन्य विश्वविद्यालय भी विशेषज्ञता क्षेत्र का निर्धारण कर, राष्ट्रीय शिक्षा नीति के हर पहलू और आयाम के सफल क्रियान्वयन की कार्य योजना बनाएं। उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर वेबिनार की श्रंखला चलाए जाने की जरूरत बताई। शिक्षकों को एक वर्ष में ऑनलाइन पाठ्यक्रम स्वयं का कोई एक कोर्स करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वरोजगार प्रशिक्षण कार्यक्रमों के प्रतिभागियों को स्वरोजगार स्थापना में वित्तीय संस्थानों के साथ समन्वय करवाने में सहयोग के लिए कहा। सभी कुलपतियों को नैक ग्रेडिंग के लिए अनिवार्यत: आवेदन के निर्देश दिए। श्रीमती पटेल ने विश्वविद्यालयों द्वारा गोद लिए गए ग्रामों में प्रधानमंत्री के जन्म दिवस पर स्वच्छता कार्यक्रम और टी बी रोगी बच्चों के पोषण का दायित्व लेने तथा सभी विश्वविद्यालयों में 100 पौधों के रोपण की पहल के लिए कहा।इस अवसर पर प्रमुख सचिव उच्चशिक्षा अनुपम राजन द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए आगामी 3 वर्षों की कार्य योजना का प्रस्तुतिकरण भी किया गया।

Kolar News

Kolar News 8 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बाढ़ प्रभावितों को सरकार की ओर से बाढ़ से हुए नुकसान की पूरी भरपाई की जाएगी। नष्ट हुई फसलों की बीमा राशि एवं मुआवजा मिलेगा। टूटे हुए मकानों को दोबारा बनवाया जाएगा तथा अनाज, घरेलू सामान आदि के नुकसान की भी आर.बी.सी 6/4 के प्रावधानों अनुसार भरपाई की जाएगी। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि किसी भी बात की चिंता न करें, सरकार पूरी तरह आपके साथ है। शिवराज 'मामा' किसी की आँख में आंसू नहीं आने देगा।   मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को सीहोर जिले के बाढ़ग्रस्त ग्रामों निनौर, जहाजपुरा, आवलीघाट, नहलाई, सलवनपुर आदि का दौरा किया। इस मौके पर सांसद रमाकांत भार्गव, कलेक्टर अजय गुप्ता आदि मौजूद रहे।   मकान नष्ट होने पर मिलेंगे एक लाख 32 हजार मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जिन व्यक्तियों के मकान बाढ़ से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं, उन्हें आरबीसी 6/4 के तहत एक लाख रूपए की राशि, मनरेगा के अंतर्गत मजदूरी की 20 हजार रुपये तथा शौचालय निर्माण के लिए 12 हजार रुपये की राशि इस प्रकार एक लाख 32 हजार की राशि प्रदान की जाए।   50-50 किलो नि:शुल्क गेहूँ मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक बाढ़ प्रभावित को 50-50 किलो नि:शुल्क गेहूँ उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा 5-5 किलो खाद्यान्न नवम्बर माह तक नि:शुल्क मिलेगा। खाद्यान्न सुरक्षा योजना का 1 रूपये किलो की दर पर 5-5 किलो प्रति व्यक्ति उचित मूल्य राशन भी हर गरीब को उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित करें कि हर गरीब की पात्रता पर्ची बन जाए तथा उसे राशन मिल जाए।   शीघ्र करवाएं सर्वे पूर्ण मुख्यमंत्री चौहान ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के सर्वे का कार्य शीघ्र पूरा कर, प्रभावितों को मुआवजा दिलाया जाए। जिन किसानों के खेतों को नुकसान हुआ है तथा गोशाला शेड टूट गए हैं उनके खेतों में सुधार के लिए तथा गोशाला शेड दोबारा बनवाने के लिए मनरेगा योजना से सहायता दी जाए। खेतों में सुधार कार्यों के लिए 3 लाख 80 हजार रुपये तक तथा गोशाला शेड के पुनर्निमाण के लिए 70 हजार से 1 लाख रुपये तक सहायता दिए जाने का प्रावधान है।

Kolar News

Kolar News 8 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा और कांग्र्रेस की तैयारियां तेज हो गई है। सीएम शिवराज उपचुनाव वाले विधानसभा क्षेत्रों के दौरे कर रहे है और जनता को रिझाने की कोशिश में जुट गए है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ भी उपचुनाव के प्रचार के लिए ग्वालियर जाने वाले थे, लेकिन उनका दौरा रद्द हो गया है। इस बीच आज मंगलवार को कमलनाथ दो दिवसीय दिल्ली दौरे पर जा रहे हैं। दिल्ली दौरे पर कमलनाथ पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर उपचुनाव को लेकर चर्चा करेंगे। इसके अलावा कमलनाथ प्रत्याशियों के चयन पर भी आलाकमान से चर्चा करेंगे। दिल्ली रवाना होने से पहले कमलनाथ भाजपा नेता सतीश सिकरवार को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करवाऐंगे। सतीश सिकरवार 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी थे, वे आज कांग्रेस का दामन थाम रहे हैं। वहीं खबर ये भी है कि चंबल के दो पूर्व मंत्री भी कांग्रेस के संपर्क में हैं। 9 से 20 सितंबर तक मप्र दौरे पर सिंधियावहीं दूसरी ओर राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया 9 से 20 सितंबर तक मध्यप्रदेश दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वे 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में प्रत्याशियों के लिए वे प्रचार करेंगे। सिंधिया इस दौरान कांग्रेस के कुछ नेताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाएंगे।

Kolar News

Kolar News 8 September 2020

भोपाल। पिछड़ा वर्ग कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रामखेलावन पटेल ने कहा है कि राज्य शासन की मंशा है कि पिछड़ा वर्ग के लोगों के सामाजिक एवं शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों को प्रोत्साहित किया जाये। इनके प्रोत्साहन के लिये राज्य सरकार ने पुरस्कार भी घोषित किये हैं। उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार प्रतिवर्ष चयनित व्यक्तियों को समय पर मिले, विभाग को इस दिशा में प्रभावी प्रयास करना चाहिये। यह बात राज्य मंत्री पटेल ने सोमवार को मंत्रालय में वर्ष 2017-18 के लिये गठित ज्यूरी को संबोधित करते हुए कही। ज्यूरी द्वारा रामजी महाजन पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार, महात्मा ज्योतिबा फुले एवं सावित्रीबाई फुले पुरस्कार के नामांकितों पर चर्चा की गई।    बैठक में सचिव पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण एम.के. अग्रवाल ने बताया कि विभाग द्वारा दिया जाने वाला स्व. रामजी महाजन स्मृति पुरस्कार पिछड़े वर्ग के उत्थान एवं विकास के लिये उत्कृष्ट कार्य करने वाले 16 समाज-सेवियों को दिया जाता है। इनमें 8 पुरुष और 8 महिलाएँ होती हैं। महात्मा ज्योतिबा फुले पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार प्रदेश के एक पुरुष समाज-सेवी को दिया जाता है, जिसके द्वारा पिछड़े वर्गों में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों, अंधविश्वास को दूर करने, सामाजिक समरसता एवं समाजिक संगठन को सुदृढ़ करने के लिये कार्य किया हो। सावित्रीबाई फुले पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार प्रदेश की एक ऐसी महिला समाज-सेवी को दिया जाता है, जिसके द्वारा पिछड़े वर्ग की शिक्षा एवं महिलाओं की स्थिति के उत्थान के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया हो। ज्यूरी के सदस्यों ने दिये जाने वाले पुरस्कार के संबंध में अपने विचार रखे। ज्यूरी की बैठक में सदस्य विधायक रामलल्लू वैश्य और विधायक राकेश गिरी भी मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News 7 September 2020

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीते 6 वर्षों के कार्यकाल में देश ने विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की हैं। देश के वैज्ञानिकों द्वारा किए जा रहे अनुसंधान और विकास कार्यों के बल पर देश सशक्त और आत्मनिर्भर बनने की राह पर बढ़ चला है। देश के हर नागरिक को अब यह विश्वास हो गया है कि मोदी जी के नेतृत्व में देश जल्दी ही एक वैश्विक महाशक्ति बनेगा। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भारत के हाइपरसोनिक क्लब में शामिल होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कही।    प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने उड़ीसा के कलाम द्वीप से हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डिमान्सट्रेटर व्हीकल के सफल परीक्षण पर प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, डीआरडीओ के वैज्ञानिकों व तकनीशियनों एवं देश की जनता को बधाई दी है। इस सफल परीक्षण को एक बड़ी उपलब्धि बताते हुए शर्मा ने कहा कि इस सफलता के साथ ही देश हाइपरसोनिक क्लब में शामिल हो गया है और अमेरिका, रूस तथा चीन के बाद इस क्लब का चौथा सदस्य बन गया है। उन्होंने कहा कि एचएसटीडीवी का सफल परीक्षण रक्षा तकनीक के क्षेत्र में एक बड़ी छलांग है। इसी के आधार पर भारत भविष्य में हाइपरसोनिक मिसाइलों का विकास कर सकेगा, जो क्षमता दुनिया के गिनती के देशों के पास ही है। शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी की प्रेरणा से देश में अनुसंधान और विकास कार्यों में एक क्रांति का सूत्रपात हुआ है और रक्षा सहित सभी क्षेत्रों में देश तेजी से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है।

Kolar News

Kolar News 7 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में किसानों की आत्महत्या के मामले में राजनीति तेज हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ इन दिनों लगातार प्रदेश में किसान आत्महत्या मामले को लेकर सरकार पर हमला बोल रहे हैं। कमलनाथ सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार पर किसानों को मुआवजा नहीं देने का आरोप लगाते हुए इसे किसान आत्महत्या का प्रमुख कारण बता रहे हैं। सोमवार को एक बार फिर कमलनाथ ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। कमलनाथ ने सोमवार को ट्वीट कर प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए कहा ‘प्रदेश में अतिवर्षा व बाढ़ से फसल खराब होने से, मुआवजे के अभाव में किसान भाइयों का आत्महत्या का दौर निरंतर जारी है। सिहोर, निवाड़ी, विदिशा, छिन्दवाड़ा के बाद अब देवास जिले के खातेगाँव व सिवनी जिले के बंडोल में भी किसान भाइयों ने फसल खराब होने पर, मुआवजे के अभाव में आत्महत्या की। आखिर नींद से कब जागेगी सरकार ? गौरतलब है कि इससे पहले रविवार को भी कमलनाथ ने ट्वीट कर किसान आत्महत्या मामले पर चिंता जताते हुए सरकार पर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि प्रदेश में अतिवर्षा व बाढ़ से फसल खराब होने से किसान भाइयों का आत्महत्या का दौर निरंतर जारी। सिहोर, निवाड़ी, विदिशा के बाद अब छिन्दवाड़ा में भी एक किसान ने फसल खराब होने पर, मुआवज़े के अभाव में की आत्महत्या। सरकार की तरफ से फसल खराब होने पर अभी तक कोई मुआवजा प्रदान नहीं, कोई राहत नहीं, मुख्यमंत्री का बाढ़ पर्यटन जारी, झूठे भाषण, झूठी घोषणाएँ जारी, प्रभावितों को अभी तक कुछ राहत नहीं। सीहोर के मृतक किसान को तो पूरी सरकार मानसिक रोगी बताने में लगी रही, अब इन अन्य मृत किसानो की मौत को लेकर सरकार क्या कहेगी? आखिर कब सच्चाई स्वीकारेगी?  

Kolar News

Kolar News 7 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनाव साधारण चुनाव नहीं है। यह चुनाव मध्यप्रदेश के विकास को नई दिशा देंगे, क्योंकि क्षेत्र के विकास की दृष्टि से और मध्यप्रदेश के भविष्य के लिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार जरूरी है। भाजपा और विकास एक दूसरे के पर्याय है। प्रदेश में शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में विकास को साकार करने वाली सरकार है। यह सरकार और भी मजबूती के साथ काम करें इसके लिए कार्यकर्ताओं को परिश्रम की पराकाष्ठा करना है। यह बात केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने शनिवार को शिवपुरी में पोहरी और शिवपुरी विधानसभा के प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक में कही।   मनभेद और मतभेद को भुलाकर एक उद्देश्य के लिए जुटें   केन्द्रीय मंत्री तोमर ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह चुनाव इस क्षेत्र की तस्वीर और तकदीर बदलने का चुनाव है। आज तक जो भी चुनाव हुए है उन सभी चुनावों से यह चुनाव अलग है क्योंकि पिछले चुनाव में जो हमारे सामने थे, आज वही हमारे साथी है। इस कारण हम में असहजता का भाव आ सकता है, लेकिन हमें एक बड़े उद्देश्य को ध्यान में रखकर असहजता को सहजता में बदलना होगा। उन्होंने कहा कि मन भेद और मतभेद को भुलाकर एक उद्देश्य के लिए जुटेंगे तो हमारी जीत विराट होगी। मध्यप्रदेश को नई ऊंचाइयां प्रदान करने के लिए हमें प्राणपण के साथ जुटना है।   यह चुनाव सरकार बनाने का नहीं मजबूत करने का चुनाव है   उन्होंने कहा कि पहले चुनाव होते थे तो मध्यप्रदेश में सरकार बनाना है, इस उद्देश्य से चुनाव होते थे, लेकिन यह चुनाव मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार बनाने का नहीं बल्कि सरकार को और मजबूत करने का चुनाव है।  पिछले चुनाव में भाजपा को जिस बूथ से वोट नहीं मिले थे, वहां किस तरह से भाजपा को वोट मिले, इस कार्ययोजना पर माइक्रो मैनेजमेंट के साथ काम करें। हर मतदान केन्द्र का विश्लेषण कर वोट मिले, इसके लिए काम करें। उन्होंने कहा कि पोहरी का बड़ा परिवार भाजपा में शामिल हुआ है, जिससे हमारी ताकत बढ़ी है। इस के साथ हम जीत के प्रति आश्वस्त हैं, लेकिन हमें पूरे प्राणपण के साथ चुनावी समर में उतरना है।    भ्रम में न आए कार्यकर्ता, हर एक सीट हमारे लिए महत्वपूर्ण : विष्णुदत्त शर्मा   कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं के सम्मान के लिए पार्टी और हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सदैव तत्पर हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भ्रम फैलायेगी, झूठ का वातावरण तैयार करेगी, लेकिन कार्यकर्ताओं को किसी प्रकार के भ्रम में आने की जरूरत नहीं है, हमारे लिए एक-एक सीट महत्वपूर्ण है। चुनाव जीतने की जो कार्ययोजना बनाई है, उसे मूर्त रूप देने का काम हर कार्यकर्ताओं को करना है। हमें यह चुनाव प्रचंड बहुमत के साथ जीतना है। भाजपा का कार्यकर्ता ही हमारी ताकत है। कार्यकर्ताओं की अथक मेहनत से ही चुनाव में विजय सुनिश्चित होगी।   कांग्रेस ने हमारे विचार और संगठनों पर किया हमला   उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मात्र 15 महीने में ही पूरे मध्यप्रदेश को भ्रष्टाचार में डूबो दिया। कांग्रेस ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर फर्जी एफआईआर कर दी। आपातकाल के समय जो लोग जेल में रहे थे उनको भाजपा सरकार पेंशन देती थी, उन मीसाबंदियों की पेंशन कमलनाथ ने बंद कर दी थी। कमलनाथ ने भाजपा के विचार और संगठनों पर वैचारिक हमला किया था। आज कांग्रेस नेतृत्व विहीन है। देश और प्रदेश में कांग्रेस के पास अब कार्यकर्ता नहीं बचे है। उन्होंने कहा कि भाजपा के कार्यो और कांग्रेस के छल कपट को जनता के बीच पहुंचाने का काम  कार्यकर्ताओं को करना है। कार्यकर्ता जीत का संकल्प लेकर बूथ की ओर जाएं और इस क्षेत्र के विकास के लिए भारतीय जनता पार्टी को ऐतिहासिक मतों से विजयी बनाएं।

Kolar News

Kolar News 5 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संकट काल के दौरान गरीबों को घटिया चावल वितरण के मामले में राजनीति चरम पर है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस चर्चित चावल घोटाले  मामले में सख्त कदम उठाते हुए आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) से जांच कराने के आदेश कर दिए हैं, लेकिन इसको लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर हमलावर है। इसी क्रम में अब पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने मामले की जांच सीबीआई से कराने और जांच का दायरा भी बढ़ाने की मांग की है।   पूर्व सीएम कमनलाथ ने शनिवार को सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा है कि - ‘चावल घोटाला सिर्फ बालाघाट और मंडला जिले तक ही सीमित नहीं है। यह कई जिलों तक फैला हुआ है और इसके तार ऊपर तक जुड़े हुए हैं। उन्होंने इस मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच की मांग करते हुए कहा कि इसका दायरा भी दो जिलों से बढ़ाया जाए। उनका कहना है कि इसकी जांच को सीमित कर इस घोटाले को दबाने का काम किया जा रहा है।’   बता दें कि कोरोना काल में लागू लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में गरीबों को मुफ्त चावल का वितरण किया गया था। केन्द्रीय सरकार के दल द्वारा प्रदेश में वितरित किये गए चावल के नमूने लिये थे और जांच में पाया गया कि यह चावल जानवरों के खाने लायक भी नहीं था। तीन दिन पहले आई रिपोर्ट के बाद इस मामले में नौ अधिकारियों को निलंबित किया गया और मंडला-बालागाट जिले की 18 से अधिक राइस मिलों को सील कर दिया और उनके मालिकों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है। वहीं, मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच ईओडब्ल्यू को सौंप दी है। इसके बाद भी कांग्रेस लगातार सवाल उठा रही है। दरअसल, मध्यप्रदेश में आगामी दिनों में विधानसभा की 27 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं, ऐसे में इस मामले को लेकर जमकर सियासत हो रही है।

Kolar News

Kolar News 5 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में चावल घोटाले को लेकर बयानबाजी लगातार जारी है। कांग्रेस घोटाले को लेकर सरकार पर जमकर हमले बोल रही है। कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने कहा है कि घोटाले के तार जितने लंबे फैलते जा रहे हैं भारतीय जनता पार्टी और उसकी सरकार का काला चेहरा उजागर होता जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी का राशन माफिया जिनके पास राशन की दुकानें हैं, जानवरों के खाने योग्य चावल की रीसाइक्लिंग को दस साल से अंजाम देता रहा है। गुप्ता ने दावा किया कि चावल रीसाइकिल किया गया और आरोप लगाया कि इसमें ऊपर तक शीरा पहुंच रहा होगा।   कांग्रेस नेता भूपेंद्र गुप्ता ने शनिवार को एक बयान जारी कर बताया कि 2016 में रतलाम और मंदसौर जिले में घटिया चावल बांटने की शिकायत हुई थी किंतु तत्कालीन शिवराज सरकार ने जांच करने की बजाय घोटाले बाजों को आशीर्वाद दिया। इसके बाद 2017 में मक्सी और उज्जैन जिले में सड़े चावल की सप्लाई की शिकायतें हुई लेकिन घोषणा होने के बाद भी जांच नहीं की गई। इसके कहा कि इसी तरह  2020 में भी अप्रैल महीने शिवपुरी भोपाल, सागर, भिंड में शिकायतें ठंडे बस्ते में दबा दी गई। गुप्ता ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार एवं उनके अध्यक्ष झूठ बोलकर इस कांड को अब दवा नहीं पाएंगे। गुप्ता ने जांच रिपोर्ट का एक और पन्ना जारी करते हुए यह सिद्ध किया की जो खाद्यान्न सप्लाई किया गया वह 3 साल पुरानी बोरियों में पैक था और जिस ग्रेड का माल सप्लाई किया गया उसकी तस्वीरें ही आदमी को विकसित करने के लिए काफी हैं।   कांग्रेस नेता गुप्ता ने गर्रा ओपन कैप से सीएमआरके लिए दिए गए धान की तस्वीरें जारी करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी और मुख्यमंत्री खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह आईने के सामने इन तस्वीरों को रखकर विचार करें कि भगवान के सामने वेस्पा आपका क्या जवाब देंगे। क्या ऐसा अनाज कोई व्यक्ति खुली आंखें रखकर गरीबों के खाने के लिए दे सकता है। एक पूरा का पूरा प्रशासनिक गिरोह इस घिनौने काम को अंजाम दे रहा है और सरकार इन काली करतूतों को छुपाने के लिए इंटेलिजेंस इनपुट की झूठी बातें कर रही है। गुप्ता ने सरकार से इंटेलिजेंस इनपुट सार्वजनिक करने की मांग की ताकि झूठ का भी जनता के सामने फैसला हो सके।

Kolar News

Kolar News 5 September 2020

गुना। राघौगढ़ शहर की समस्याओं एवं विभिन्न मुद्दों को लेकर नगर पालिका में आयोजित बैठक में पूर्व नगरीय विकास एवं आवास मंत्री विधायक जयवर्धन सिंह ने स्मैक के धंधे पर चिंता व्यक्त करते हुए पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के बीच कहा कि स्मैक पर सख्त कार्यवाही करें, ताकि युवा पीढ़ी बर्बादी से बच सकें। इस दौरान उन्होंने प्रधान मंत्री आवास योजना एवं जलावर्धन योजना की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।    नगर पालिका राघौगढ़-विजयपुर सभागृह में शुक्रवार को विकास कार्यों सहित शहर में संचालित योजनाओं की समीक्षा बैठक के दौरान पूर्व नगरीय विकास एवं आवास मंत्री विधायक जयवर्धन सिंह ने राघौगढ़ नगर पलिका क्षेत्र में प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत  स्वीकृत आवासों की जानकारी ली। इस बीच उपस्थित पार्षदों द्वारा आवास योजना की तीसरी किस्त नहीं मिलने की समस्या रखी।    इस दौरान सीएमओ हरीश श्रीवास्तव  ने योजना में स्वीकृत हुए 5702 आवासों की जानकारी देते हुए कहा कि जिन आवासों की दूसरी किस्त मिल चुकी है। उन सारे आवासों की जियो टेक कर चुके हैं। भोपाल से  राशि स्वीकृत होने के बाद उनके खातों मे राशि पहुंचा दी जाएगी, जबकि जिले में सबसे ज्यादा आवास राघौगढ़ नगर पालिका में स्वीकृत हुए हैं। बैठक के दौरान विधायक सिंह ने नगरीय क्षेत्र की जलावर्धन योजना की समीक्षा करते हुए योजना की प्रगति की जानकारी ली। इस बीच कार्यरत कंपनी के अधिकारियों ने तेजी से काम चलने एवं समय अवधि  तक कार्य पूर्ण करने का आश्वासन दिया। जबकि पार्षदों द्वारा बिछाई गई पाइप लाइन के ऊपर सडक़ रिपेयरिंग की मांग उठाई।    स्मैक से कई परिवार बर्वाद   बैठक के दौरान स्मैक का मुद्दा भी सामने आया, जब पूर्व नगरीय विकास एवं आवास मंत्री विधायक जयवर्धन सिंह से पिछले दिनों कई महिलाओं ने स्मैक से कई परिवार बर्वाद होने की शिकायत करते हुए स्मैक का धंधा बंद करने की आवाज उठाई थी। इस दौरान विधायक सिंह ने एसडीओपी एवं नगर निरीक्षक से कहा की स्मैक के धंधे पर सख्त कार्यवाही की जाए। बैठक के दौरान एसडीएम अक्षय कुमार एसडीओपी बीपी तिवारी मुख्य नपा अधिकारी हरीश श्रीवास्तव सहित अध्यक्ष प्रतिनिधि महेन्द्र शर्मा एवं सभी पार्षद मौजूद थे।

Kolar News

Kolar News 4 September 2020

भोपाल। कोरोना संकटकाल में प्रदेश में साइबर क्राइम में इजाफा हो रहा है। यहां अधिकारियों-नेताओं की फर्डी आई बनाकर लोगों से पैसे मांगने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अब प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभाकी लोकेन्द्र पाराशर के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर पैसे मांगने के मामला सामने आया है। इसकी जानकारी उन्होंने स्वयं ट्वीट के माध्यम से दी है।   भाजपा मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर ने शुक्रवार सुबह ट्वीट कर लोगों को सावधान रहने की सलाह देते हुए कहा है कि -‘ मेरे नाम से किसी ने फेसबुक पर एक फर्जी आईडी बनाई है। वह कुछ लोगों से पैसे की मांग कर रहा है। मैं इसकी शिकायत पुलिस में करने जा रहा हूं। कोई भी इसे मेरी आईडी समझकर झांसे में न आए और किसी भी प्रकार का पैसा किसी को ट्रांसफर न करें। फर्जी आईडी के स्क्रीनशॉट भी संलग्न है।’   बता दें कि इस तरह के मामले प्रदेश में लगातार सामने आ रहे हैं। इससे पहले उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह, निवाड़ी विधायक अनिल जैन के अलावा सिवनी और रीवा जिले में भी फर्जी फेसबुक आईडी के माध्यम से पैसे मांगने के मामले सामने आए थे।

Kolar News

Kolar News 4 September 2020

भोपाल। घटिया चावल मामले में प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। एक तरफ सीएम शिवराज ने सख्त रवैया अपनाया है। सीएम ने संबंधित विभाग को जांच के निर्देश दिए हैं और दोषियों पर कठोर कार्यवाही के निर्देश दिए है। वहीं कांग्रेस भी लगातार आरोप लगा रही है। पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह ने भी प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए पूरे मामले में बड़े घोटाले की आशंका जताई है। साथ ही उन्होंने पूरे मामले में सीबीआई जांच की मांग दोहराई है। पूर्व नेताप्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश की भोली-भाली और गरीब जनता को सड़े और पशुआहार में उपयोग वाले चावल को बांटे जाने के आपराधिक प्रकरण की जांच सी.बी.आई.से कराने की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से दोबारा मांग की है। उन्होंने एक बयान जारी कर कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना काल को अवसर में बदलने जो घटिया काम गरीबों के साथ किया गया है उसकी शिकायत वे राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से करेंगे। जनता के स्वास्थ्य के साथ किये गये इस खिलवाड़ के कारण प्रदेश की राष्ट्रीय स्तर पर बदनामी हुई है। अजय सिंह ने कहा इतने बड़े प्रकरण में केवल एक अधिकारी को सस्पेंड कर और अन्य से दो संविदा कर्मियों को नौकरी से निकालकर शिवराज सिंह ने लोगों की आंखों में धूल झोंकने का ही काम किया है। मैने पांच दिन पहले विगत 30 अगस्त को मीडिया के माध्यम से इस पूरे प्रकरण को उजागर करते हुए सी.बी.आई. जांच की मांग की थी। केन्द्र सरकार विगत 23 जुलाई से मध्य प्रदेश सरकार को लगातार लिख रही है कि गधे, घोड़ों,भेड़, बकरियों और मुर्गियों को खिलाने लायक इस चावल को बांटने पर तत्काल रोक लगाई जाये। आश्चर्य है कि शिवराज सिंह ने इस पत्र पर षडयंत्रपूर्वक कोई कार्यवाही नही की। उल्टे तथाकथित 37 लाख नये गरीबों को यह चावल बांटने के लिए समारोह पूर्व पर्ची बांटने का निर्देश सभी कलेक्टरों और पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों को पत्र भेजकर दिया है। सिंह ने कहा कि यह प्रकरण केवल बालाघाट या मंडला का नहीं है। पूरे प्रदेश में यह चावल बांटने के लिए भेजा जाता है। सरकार हर साल लगभग 50 लाख क्विंटल धान का उपार्जन करती है। यह धान कटनी, मंडला, बालाघाट, सिवनी आदि जिलों की मिलों में चांवल निकालने के लिए भेजा जाता है और उससे प्राप्त चांवल को प्रदेश के गरीबों में बांटा जाता है। लेकिन सरकार की मिलीभगत से अच्छा चावल तो बाजार में बेच दिया गया और यूपी, बिहार आदि से रिसाइकिल्ड किया हुआ पशुओं के खाने वाला सस्ता चांवल खरीद कर उचित मूल्य की दुकानों में सप्लाई कर दिया गया। यह चावल धान से भी कम दर एक हजार रूपये प्रति क्विंटल पर मिल जाता है । उन्होंने कहा कि जनता को धोखा देने वाले इस कृत्य में बहुत बड़े घपले की बू आ रही है। यह घपला व्यापम कांड, सिंहस्थ घोटाला, ई-टेंडर का घपला, डम्पर कांड, अवैध उत्खनन आदि घोटालों से बड़ा हो सकता है। इसलिए मैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गरीब मजदूरों को बांटे गये घटिया चांवल कांड की सी.बी.आई.जांच की मांग दोहरा कर रहा हॅू ताकि राष्ट्रीय स्तर के इस प्रकरण की वास्तविकता सामने आ सके। मेरी यह भी मांग है कि जब तक जांच पूरी नही हो जाती तब तक 37 लाख नये गरीबों में चावल न बांटा जाये। केवल गेंहू - दाल का वितरण किया जाये।

Kolar News

Kolar News 4 September 2020

भोपाल। सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा कि कृषि व ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सहकारिता आन्दोलन की प्रमुख भूमिका है। उन्होंने सहकारिता विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे सहकारिता से सम्बधित शासन की योजनाओं को पारदर्शिता के साथ प्रभावी रूप से मैदानी स्तर पर क्रियान्वयन सुनिश्चित करायें ताकि हितग्राहियों को शासन की योजनाओं का लाभ मिल सकें। मत्री डॉ. भदौरिया ने यह भी कहा कि आगामी शनिवार, 5 सितंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सहकारिता विभाग की गतिविधियों व योजनाओं की विस्तार से समीक्षा करेंगे।   मंत्री डॉ. भदौरिया ने गुरुवार को बताया कि समीक्षा बैठक में आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत कृषि अधोसंरचना कोष के उपयोग एवं नाबार्ड की योजनाओं के संबंध में विशेष रूप से चर्चा की जायेगी। इसके अलावा पीएम किसान के पात्र किसानों को जारी केसीसी में ऋण वितरण, पशुपालक कृषकों को कार्यशील पूँजी हेतु साख सीमा, खरीफ 2020 में फसल ऋण वितरण, कृषि ऋणों की वसूली, एपेक्स बैंक यूटिलिटी पोर्टल पर फसल ऋण वितरण में कृषकवार ऋण वितरण एवं वसूली की जानकारी, रबी 2020-21 हेतु उर्वरकों का अग्रिम भण्डारण, खरीफ 2020 फसल बीमा प्रीमियम प्रेषण के अलावा उपार्जन से संबंधित विभिन्न बिन्दुओं पर समीक्षा भी करेंगी।   वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में संस्थाओं के वित्तीय पत्रकों की प्राप्ति एवं धारा 56 के तहत जारी नोटिस, अंकेक्षण की प्रगति, अंकेक्षण शुल्क की वसूली, अंकेक्षण आपत्तियों के निराकरण के लिए लेखा समितियों की बैठकों, प्राथमिक कृषि साख संस्थाओं के नियमित एवं लंबित अंकेक्षण, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक एवं नागरिक बैंकों के वर्ष 2019-20 के वैधानिक अंकेक्षण, शहरी साख सहकारी समितियों के निरीक्षण की प्रगति, मल्टी स्टेट को-ऑपरेटिव सोसायटी के संबंध में आरबीआई से प्राप्त शिकायतों के जाँच प्रतिवेदन प्रेषित करने, नवीन गठित सहकारी संस्थाओं की अंशपूँजी सहायता राशि की वसूली सहित अन्य बिन्दुओं पर भी चर्चा कर समीक्षा की जायेगी।

Kolar News

Kolar News 3 September 2020

भोपाल। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि कोरोना के सक्रिय केस प्रदेश में बढ़ रहे हैं। लगातार कोरोना की महामारी फेल रही है जबकि सरकार अपना दायित्व निभाने के बजाए जनता पर छोड़ रही हैं। बालाघाट और मंडला में गरीबों को घटिया चावल बांटने के मामले में पीसी शर्मा ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बीच में भारी भ्रष्टाचार चल रहा है। जो चावल पशु नहीं खा सकते वह जनता को परसों जा रहा है। इसका टेस्ट स्वयं केंद्र सरकार ने कराया है। उन्होंने कहा कि नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहू लाल साहू को पूरे मामले की कोई जानकारी नहीं, इसलिए हम कहते है कि उनको पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंत्री क्यों नही बनाया था। भाजपा बोल रही है कि चावल हमने खरीदे है तो उस समय भी मंत्री वही थे, जो अब चले गए है। यह वही लोग है जो या तो बन गए या बन नही पाएं। मृतक किसान के परिजनों को उचित मुआवजा मिलेसीहोर में हुई किसान आत्महत्या पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि किसान पुत्र को सीखा कर झूठा बयान दिलवाया गया है। उन्होंने कहा कि मृतक किसान की पूरी फसल का सर्वे करवा कर उचित मुआवजा देना चाहिए। वहीं विधानसभा सत्र को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि हम बिजली और किसानों के मुद्दों को उठाएंगे। हम इन्ही बातों को विधानसभा में रखने जा रहे हैं। जनता सिखाएगी सबकहनीट्रेप मामले की आरोपी के साथ जेेल में जेलर की फोटो वायरल होने पर पीसी शर्मा ने कहा कि हनी ट्रेप मामले का खुलासा कांग्रेस में जमाने में हुआ था। उसमें सभी आरोपियों को जेल में बंद कर दिया गया था। लेकिन अब भाजपा के जमाने में जेल बैठकर महिला से बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में जितने भी स्तर के कर्म है एक के बाद एक होते जा रहे हैं। निश्चित तौर पर उपचुनाव में जनता इसका सबक भाजपा को सिखाएगी।

Kolar News

Kolar News 3 September 2020

उज्जैन/नईदिल्ली। महाकालेश्वर मंदिर में शिवलिंग के क्षरण के मामले को लेकर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया। इस फैसले में पंचामृत पूजन पर रोक के साथ ज्योतिर्लिंग को घिसने और रगड़ने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। इसके साथ महाकाल मंदिर प्रबंध समिति को आदेश दिया गया है कि मंदिर समिति क्षरण रोकने के उपायों को तत्काल लागू करे। कोर्ट ने कहा कि एक्सपर्ट कमेटी के सुझावों को अमल में लाएं।    प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2013 में उज्जैन की सारिका गुरु नामक महिला ने महाकाल मंदिर में शिवलिंग क्षरण को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। बाद में यह केस सुप्रीम कोर्ट चला गया था।  तभी से लगातार सुनवाई चल रही थी। उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह की मानें तो शुरुआती जानकारी के अनुसार अभी फैसले की कुछ बातें पता चल सकी हैं। फैसले की जा बातें पता चल सकी हैं, उनके अनुसार अब आम श्रद्धालु पंचामृत अभिषेक नहीं करा पाएंगे। शासकीय पूजन में ही पंचामृत पूजन हो सकेगा। श्रद्धालु केवल दूध और जल ही चढ़ा पाएंगे। शिवलिंग को घिसना और रगड़ना भी प्रतिबंधित कर दिया गया है।   कैसे होती है पंचामृत पूजन पंचामृत पूजन में दूध, दही, घी, शक्कर और फलों का रस मिलाकर पंचामृत तैयार किया जाता है। इसके बाद पंचामृत को शिवलिंग पर रगड़ कर पूजन अभिषेक किया जाता है। कई बार श्रद्धालु दर्शन के दौरान दूध और जल चढ़ाते वक्त शिवलिंग पर हाथ रगड़ते हैं। इससे पहले भी क्षरण रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए महाकाल मंदिर समिति ने कई उपाय किए थे।

Kolar News

Kolar News 1 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बाढ़ आपदा की इस घड़ी में सरकार पूरी तरह बाढ़ प्रभावितों के साथ है। बाढ़ प्रभावित हर व्यक्ति को फसल, मकान, सामान आदि के नुकसान का भरपूर मुआवजा दिलवाया जाएगा। कोरोना संकट के चलते प्रदेश की वित्तीय स्थिति खराब है परन्तु बाढ़ राहत कार्य तथा जनता की मदद में राशि की बिल्कुल भी कमी नहीं आने देंगे। आप धैर्य रखें, बिल्कुल चिंता न करें आपका 'मामा' हर समय आपके साथ है। प्रशासन आपको हरसंभव मदद देने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा।   मुख्यमंत्री चौहान मंगलवार को बाढ़ राहत कार्यों का जायजा लेने देवास जिले के नेमावर पहुंचे। उन्होंने वहां बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों एवं वार्डों में घूमकर बाढ़ से हुए नुकसान को देखा तथा प्रभावितों से बातचीत कर उन्हें आश्वस्त किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि भोजन, स्वच्छ जल, दवाइयां आदि की आपूर्ति में कोई कमी नहीं रहे। साथ ही निरंतर साफ-सफाई, बिजली आपूर्ति, नालों व सड़कों से गाद निकालना, मृत जानवरों को हटाना आदि कार्य भी किए जाए। पेयजल स्त्रोतों के शुद्धीकरण एवं मौसमी बीमारियों की रोकथाम एवं उपचार पर विशेष ध्यान दिया जाए। कोरोना के मद्देनजर राहत शिविरों में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि का पालन भी सुनिश्चित किया जाए।   5 दिन में दूसरी बार खातेगांव दौरा मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मुझे निरंतर आपकी चिंता रहती है। नर्मदा नदी के किनारे होने से यहां बाढ़ का खतरा हमेशा बना रहता है। में गत 5 दिनों में दूसरी बार खातेगांव-नेमावर क्षेत्र में आया हूँ। पहले आपकी फसलों की नुकसान का जायजा लेने तथा अब आपको सहायता पहुंचाने। आप निश्चिंत रहें, संकट की इस घड़ी में सरकार आपको हरसंभव सहायता देगी।   फ्लाई ओव्हर के लिए केन्द्रीय मंत्री से करेंगे बातचीत मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि नेमावर क्षेत्र में एक और फ्लाई ओव्हर के लिए केन्द्रीय भूतल, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से बातचीत करेंगे। साथ ही फसल बीमा करवाने की तिथि 4-5 दिन और बढ़ाए जाने के लिए भी केन्द्र सरकार से अनुरोध करेंगे। अभी इसकी अंतिम तिथि 31 अगस्त थी। बहुत से किसान इस तिथि तक अपना बीमा नहीं करवा पाए हैं।   3 सितम्बर से मिलेगा उचित मूल्य राशन मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 3 सितम्बर से सरकार प्रदेश के छूटे हुए सभी 36 लाख गरीबों को 1 रूपए किलो की दर से 5-5 किलो गेहूँ, चावल, नमक प्रति व्यक्ति प्रति परिवार तथा 5-5 किलो नि:शुल्क राशन इस प्रकार प्रति व्यक्ति 10-10 किलो राशन प्रदान करने जा रही है। हमारा संकल्प है कि 'गरीब की थाली, कभी न रहे खाली'।   राहत राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आपदा ग्रस्त व्यक्तियों को आर्थिक सहायता राशि के स्वीकृति पत्र वितरित किये। मकान व खाद्यान्न छति के लिए नेमावर निवासी सूरज बाई पति जगदीश, सिरालियारेवातीर निवासी रमेश पिता श्यामलाल, भंवर सिंह पिता जस्सू, मोहनलाल पिता चुन्नीलाल तथा मिर्जापुर निवासी रासत खां पिता कालू को 95-95 हजार रूपये की आर्थिक सहायता राशि के स्वीकृति पत्र प्रदान किये। दुकान के सामान की क्षति होने से नेमावर निवासी कृष्णकांत पिता नर्मदा प्रसाद शर्मा, राकेश व्यास पिता कमल किशोर, बसंत राठौर पिता सुंदरलाला, उपकार पिता बंशीधर तथा शरद पिता जुगल किशोर को 12-12 हजार रुपये राशि के स्वीकृति-पत्र वितरित किये गये।    इस अवसर पर किसान कल्याण एवं कृषि मंत्री कमल पटेल, विधायक आशीष शर्मा, उज्जैन संभाग कमिश्नर आनंद कुमार शर्मा, पुलिस महानिरीक्षक राकेश गुप्ता आदि उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 1 September 2020

ग्वालियर। भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्रस्टों की संपत्ति की जांच लिए मप्र हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में लगी एक जनहित याचिका पर मंगलवार को सुनवाई हुई। इस दौरान याचिकाकर्ता द्वारा मामले में केन्द्र शासन के साथ ही तत्कालीन एसडीएम को भी पार्टी बनाने की मांग की। अदालत ने आवेदन को रिकॉर्ड में ले लिया है। अब मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी।   दरअसल, ग्वालियर निवासी ऋषभ भदौरिया ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्रस्टों के नाम की गई संपत्तियों की जांच के लिए हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में एक जनहित याचिका दायर की है। याचिकाकर्ता ने संपत्तियों को शासकीय बताते हुए जांच और संपत्तियों का नामांतरण निरस्त करने की मांग की है। मंगलवार को हाईकोर्ट की युगल पीठ में याचिका पर सुनवाई हुई। इस दौरान याचिकाकर्ता द्वारा तर्क दिया कि आजादी के वक्त केंद्र शासन के साथ एक कोविनेंट साइन हुआ था, उसमें राजाओं ने अपने पास जो संपत्तियां रखी थीं, उन संपत्तियों का उल्लेख कोविनेंट था। सिंधिया रियासत के साथ भी एक कोविनेंट साइन हुआ था, इसलिए इस मामले में केंद्र शासन को इस मामले में पार्टी बनाया जाए।    प्रशासन ने सिंधिया के ट्रस्ट के नाम जो संपत्तियां की है, उनका उल्लेख कोविनेंट है या नहीं, इसका ब्योरा मंगवाने के लिए भी याचिकाकर्ता द्वारा मांग की गई, साथ ही पिछली कांग्रेस सरकार के समय नामांतरण करने वाले एसडीएम अनिल बनवारिया को भी इसमे में पार्टी बनाया जाए, क्योंकि उन्होंने महलगांव व ललितपुर हलके के सर्वे नंबरों का नामांतरण किया था। अनिल बनवारिया से भी जवाब मांगा जाए। सुनवाई की दौरान शासन की ओर से पैरवी कर रहे अतिरिक्त महाधिवक्ता एमपीएस रघुवंशी ने अदलात से याचिकाकर्ता के आवेदन का जवाब देने के लिए दो सप्ताह का समय मांगा। अदालत ने याचिकाकर्ता के आवेदन को रिकॉर्ड पर ले लिया है और अतिरिक्त महाधिकत्ता रघुवंशी को अपना जवाब पेश करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया गया है। अब मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी।

Kolar News

Kolar News 1 September 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर गत सप्ताह हुई अतिवर्षा से प्रभावित हुए जनजीवन को सामान्य बनाने के संबंध में वीडियो कान्फ्रेंस कर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने प्रमुख रूप से राजस्व, जल संसाधन, स्वास्थ्य, नर्मदा घाटी विकास, नगरीय प्रशासन, ऊर्जा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, कृषि, लोक निर्माण और गृह विभाग के अधिकारियों से बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के प्रयासों की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट के समय में प्रशासन द्वारा आम जनता के साथ खड़े रहकर उनकी तकलीफें दूर करने के प्रतिबद्ध प्रयास हों। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि फसलों, सडक़ों, पेयजल स्त्रोतों, मकानों आदि की क्षति का आकलन कर शीघ्र रिपोर्ट तैयार की जाए। प्रदेश में अतिवर्षा से हुई क्षति की जानकारी भारत सरकार को भेजी जाएगी।   केन्द्रीय मंत्री तोमर से की चर्चा   मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर को प्रदेश में हुई फसलों की क्षति से अवगत कराया गया है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश को अतिरिक्त सहायता का आग्रह भी किया जाएगा।   क्षति के प्रारंभिक आकलन के निर्देश   मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ और अतिवर्षा से पेयजल स्त्रोतों को भी क्षति पहुंची है। आमजन के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए शुद्ध पेयजल का प्रदाय प्राथमिकता से किया जाए। उन्होंने कहा कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को तत्परता से यह कार्य पूर्ण करना है। उन्होंने कृषि फसलों की स्थिति की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने सोयाबीन की क्षति का विस्तृत आकलन करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही राजस्व विभाग को संपत्ति के नुकसान के आकलन, ऊर्जा विभाग को ट्रांसफार्मर खराब होने की शिकायतों के निराकरण के निर्देश भी दिए गए।   निरंतर सजग रहे प्रशासन   मुख्यमंत्री ने कहा कि निरंतर सजगता की आवश्यकता है। जल संसाधन और नर्मदा घाटी विकास विभाग को सरोवरों, जलाशयों की स्थिति पर नजर रखते हुए बांधों के गेट खोलने संबंधी सूचनाएं यथा समय आमजन को देने के लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने राहत शिविर में रहने वालों को गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को निर्देश दिए कि अतिवर्षा से अन्य रोग फैलने की आशंका पर नजर रखते हुए आवश्यक एहतियाती कदम उठाए जाएं।   बैठक में जानकारी दी गई कि गांधी सागर जलाशय सहित, इंदिरा सागर, ओंकारेश्वर और अन्य जलाशयों का जलस्तर पहले से कम है। होशंगाबाद में सेठानी घाट पर नर्मदा नदी खतरे के निशान से पानी पांच फीट नीचे है। जलस्तर निरंतर कम हो रहा है। निचली बस्तियों में रहने वाले लोगों की सुरक्षा का कार्य तत्परता से किया गया है। इस कार्य पर निरंतर नजर रखी जा रही है। बैठक में संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 31 August 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले भाजपा और कांग्रेस सदस्यता अभियान चला रही है। भाजपा ने तीन दिनों तक ग्वालियर में सदस्यता अभियान चलाया। जवाब में कांग्रेस ने भी महासदस्यता अभियान शुरु किया है। इसी क्रम में प्रदेश में आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। आप पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के समक्ष भोपाल में उनके निवास पर ग्वालियर चंबल एवं सागर संभाग के आप पार्टी के पदाधिकारी अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए।   पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आप पार्टी के सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं का स्वागत करते हुए कहा कि आज प्रदेश में लोकतंत्र विरोधी ताकतों का मुकाबला करने के लिए जरूरी है कि समान विचारधारा के लोग एकजुट होकर सच्चाई के साथ खड़े हो। आप सभी लोगों का कांग्रेस परिवार में स्वागत है। कांगे्रस में शामिल होने वालों में प्रमुख रूप से आप पार्टी के प्रदेश संगठन सचिव और संस्थापक सदस्य हिमांशु कुलश्रेष्ठ के साथ युवा इकाई के प्रदेश सचिव जयवीर सिंह सोमवंशी, चंबल संभाग के उपाध्यक्ष सत्येंद्र सिंह तोमर, सोमेश शर्मा, संभागीय सचिव शुभम गुप्ता, भिंड जिला युवा इकाई के अध्यक्ष विकास शर्मा, ग्वालियर महिला विंग की जिला अध्यक्ष सुशीला आर्य, जिला सह सचिव ग्वालियर मंडी सागर संभाग की युवा इकाई के अध्यक्ष केश कुमार राजपूत, शिवपुरी के युवा इकाई की नगर अध्यक्ष, जिला कार्यसमिति के सदस्य पंकज मंडल, अध्यक्ष आकाश कुशवाहा, अंकित कुशवाह, रवि कुशवाहा, हिमांशु तिवारी, नवनीत सिंह, सुमित अग्रवाल, भिंड के लाल चंद कुशवाहा, भागचंद सिंह, रामदास मंडल मंत्री, बड़ा मलहरा छतरपुर, राघव शर्मा, ब्लॉक अध्यक्ष सिंह लोधी एवं किसान संगठन अध्यक्ष जगदीश सिंह सहित सैकड़ों कार्यकर्ता है।

Kolar News

Kolar News 31 August 2020

भोपाल। कांग्रेस विधायक और युवक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान वे कोरोना महामारी और नीट और जेईई मेन के एंट्रेंस एग्जाम को लेकर सरकार पर जमकर बरसें। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार इस कोरोना महामारी के दौरान डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी गाइडलाइन की अवहेलना करने और देश के भविष्य के जीवन को भी खतरे में डालने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को उपदेश देने के बजाय छात्रों के मन की बात सुननी चाहिए। ऐसा माना जा रहा है कि सितंबर में कोरोना वायरस के मामले और बढ़ सकते हैं, ऐसी स्थिति में परीक्षाएं कैसे कराई जा सकती हैं?  केंद सरकार द्वारा मेडिकल और इंजीनियरिंग यूजी प्रवेश परीक्षाएं नीट और जेईई मेन के एंट्रेंस एग्जाम करने को लेकर कुणाल चौधरी ने विरोध जताते हुए कहा कि जब पूरे देश में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में परीक्षाओं का आयोजन केंद्र सरकार की हठधर्मिता है। लाखों विद्यार्थियों को देश भर के सेंटरों पर जाना पड़े और इस दौरान उनके साथ उनके माता-पिता या कोई परिजन भी होगा। ऐसे में उन सभी परीक्षार्थियों और उनके परिजनों को संक्रमण का खतरा है और बच्चों के जीवन से खिलवाड़ कांग्रेस पार्टी बिकुल भी बर्दाश्त नहीं करेगी। कुणाल चौधरी ने चार बड़े मुद्दे गिनाते हुए कहा कि एक तो सुरक्षा और स्वास्थ्य है दूसरा- इस पूरे मामले की सुरक्षित परिवहन व्यवस्था कैसे होगी? तीसरा- वो संतुलित तौर-तरीके जिससे कि आप दोनों उद्देश्य उपलब्ध कर सकें, स्वास्थ्य का भी और शिक्षा का भी और चौथा, कि वो कौन से अनिवार्य नीति, नियम होंगे, जिनके आधार पर आप ये सब कर पाएंगे।   कुणाल चौधरी ने कहा कि सरकार भूल रही है कि देश में 0 से बढक़र आज 34 लाख कोरोना मरीज हो गए हैं। देश में, हर रोज 60- 70 हजार नए कोरोना मरीज सामने आ रहे है। इस दौरान नीट के लिए साढ़े 16 लाख और जेईई के लिए साढ़े 9 लाख परीक्षार्थी जो लगभग 27 लाख परीक्षार्थियों हैं। इन परीक्षार्थियों और उनके परिवार जनों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। देश मे जहाँ 34 लाख कोरोना संक्रमित है और 60 हजार की मृत्यु हो चुकी है। उन्होंने कहा की जेईई के लिए मात्र 660 सेंटर हैं, लगभग साढ़े 9 लाख लोगों के लिए 1400 या 1500 लोग प्रति सेंटर का बंटवारा किया गया है। जबकि नीट के लिए  450 लोग लगभग प्रति सेंटर हैं। अब एक तरफ आप बात करते हैं सामाजिक दूरी की और दूसरी तरफ इस प्रकार की डेंसिटी की, 1500 और 450। परीक्षा अप्रैल से स्थगित हुई जून में, जून से अब सितंबर और इस वक्त सिर्फ जल्दबाजी में तारीखें दी गई हैं। अचानक एक फरमान आ गया कि अगस्त में 1 सितंबर से एक परीक्षा शुरु होगी और 13 सितंबर से दूसरी आखिर इतने कम समय में 27 लाख के करीब बच्चे कैसे अपना सामंजस्य बना पाएंगे।उन्होंने ने आगे कहा कि भारत में लगभग 1 हजार यूनिवर्सिटीज़ हैं, जिनमे कम से कम 3 लाख प्रोफेशर्स होंगे, और सरकार कह रही है - 150 प्रोफेशर्स कि बात मान लो। बाकी जो 2 लाख 98 हजार से ज्यादा प्रोफेशर्स हैं, उनकी क्यों नही सुन रही सरकार? 150 की संख्या ज्यादा बड़ी है या 2 लाख 98 हजार??   कुणाल चौधरी ने कहा कि जेईई और नीट परीक्षार्थियों के भविष्य के लिए सबसे कठिन और महत्वपूर्ण परीक्षा है, जिससे उनका भविष्य तय होगा और ऐसी परिस्तिथियों में बिना पूरी तैयारी से परीक्षा देना बच्चों के लिए और भी कठिन होगा। कुणाल चौधरी ने कहा कि कोई भी नहीं चाहता कि बच्चों का साल बर्बाद हो जाये, लेकिन सरकार को कोरोना महामारी के चलते इस वर्ष जो परीक्षार्थी है उनके लिए विशेष शिड्यूल बनाना चाहिए। जिसे जो साल बर्बाद हुआ है वह पूर्ण हो जाये। कुणाल चौधरी ने कहा कि अदालत का मकसद भविष्य सवांरना है और सरकार को इसकी जि़म्मेदारी लेना चाहिए। सरकार को रास्ता निकलना चाहिए साल भी बर्बाद ना हो और परीक्षार्थियों को सुरक्षित परीक्षा देने का  मौका भी मिले।   कुणाल चौधरी ने कहा कि परीक्षार्थियों से कोविड का अंडरटेकिंग भरवाया जा रहा है, जिसमें उन्हें अलग-अलग निर्देश दिए जा रहे हैं। कोरोना के लिए क्या-क्या करना इस बारे में भी बार-बार वेबसाइट पर निर्देश मिल रहे हैं। कुणाल चौधरी ने कहा कि बच्चे पढ़ाई पर ध्यान दें या दिनभर वेबसाइट देखें? उन्होंने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वैश्विक महामारी में जो परीक्षार्थी कोरोना से ग्रस्त होंगे या क्वारंटाइन होंगे तो वह परीक्षा से वंचित रहेंगे? इस महामारी से बीमार होने में उन बच्चों का कोई दोष नहीं है? आखिर इन बच्चों के भविष्य का फिर क्या होगा? जो बच्चे मंहगा परिवहन का खर्च नहीं उठा पायेंगे,वे क्या करेंगे या तो शासन हर जिले में परीक्षा केन्द्र खोले या उड़ीसा सरकार जैसे मुफ्त परिवहन की व्यवस्था करे।   कोरोना का दंश झेल चुके प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष व विधयक कुणाल चौधरी ने चिंता जताते हुए कहा सभी सेंटर पर थर्मल स्कैनिंग की जाएगी, लेकिन टेंपरेचर गन से कोई फ़ायदा नहीं है। क्योंकि कोविड़ एक ऐसी बीमारी है जो सिर्फ टेंपरेचर के आधार पर नहीं चलती है, इसकी शुरुआत होने तक से कम से कम 48 घंटे तक तो मालूम भी नहीं पड़ता है कहीं पर और टेंपरेचर के अलावा कई ऐसे सिम्टमस होते हैं, खुद कोविड़ नोन सिम्टोमेटिक होती है। तो टेंपरेचर गन से कहते हैं आप कि हमने सुरक्षा चक्र बना दिया है और आज बहुत सारे लोग सिर्फ ग्रामीण ही नहीं, अधिकतर गांवों से हैं, लेकिन ना शहर, ना ग्रामीण, अर्बन भी हैं, सेमी अर्बन भी हैं, टायर टू टायर थ्री शहरों के भी हैं। उन्होंने ने कहा कि हमारे रेलवे बाकि वाहन 33 से 50 प्रतिशत की कपैसिटी से चल रहे हैं और उसमें सरकार आवागमन के लिए बच्चों को बाध्य कर रही है।   कुणाल चौधरी ने कहा कि देश में लोग बेमौत मर रहे हैं और सरकार एक एग्जाम बचाने के लिए पूरी ताकत क्यों लगा रही है ? लोग जिंदा रहेंगे तो अगले साल फिर एग्जाम दे देंगे। मोदी जी एग्जाम के पीछे इसलिए पड़े हैं ताकि आर्थिक बर्बादी और बेरोजगारी से जनता का ध्यान भटकाया जाए और सरकारी मीडिया - "रिया और .... ये एग्जाम क्यों नही हो रिया दिखाती रहे।

Kolar News

Kolar News 31 August 2020

  मुरैना। मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनावों को लेकर अब कुछ ही समय शेष बचा है। जिसके चलते भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल अपनी तैयारियों में जुट गए हैं। उपचुनाव की तैयारियों को लेकर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा रविवार से दो दिवसीय ग्वालियर, मुरैना एवं भिण्ड जिले के प्रवास पर हैं। ऐसे में भाजपा नेता अपनी चुनावी रणनीति में शनिदेव का आशीर्वाद भी पाने की कोशिश कर रही है। रविवार को जिले में स्थित प्राचीन शनि मंदिर पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पहुंचकर पूजा अर्चना की और भगवान का आशीर्वाद लिया।    केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शनिवार रात दिल्ली से पहले ग्वालियर पहुंचे। इसके बाद रविवार सुबह वे ग्वालियर से मुरैना स्थित शनि देव मंदिर पहुंचे, जहां पर उन्होंने लगभग एक घंटे तक पूजा-अर्चना की, इस दौरान उनके साथ मुरैना कलेक्टर अनुराग वर्मा, नगर निगम के सभापति अनिल गोयल सहित पूर्व विधायक भी मौजूद रहे। केन्द्रीय मंत्री तोमर रविवार को प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा के साथ मिलकर जिले की पांचों विधानसभाओं में चुनावों की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक करने वाले हैं, उससे ठीक पहले शनिवार को वह शनि मंदिर पहुंचे और उन्होंने पूजा अर्चना कर शनिदेव का आशीर्वाद लिया।   गौरतलब है कि दो दिवसीय प्रवास के दौरान प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा एवं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर विधानसभाओं प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठकों को संबोधित करेंगे। 30 अगस्त रविवार को दोनों राजनेता मुरैना में प्रात: 11 बजे अम्बाह, दोपहर 12.30 बजे दिमनी, दोपहर 2 बजे जौरा, दोपहर 3.30 बजे सुमावली एवं सायं 5 बजे मुरैना विधानसभा की बैठक में कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। सभी बैठकें मुरैना के होटल कंसाना ग्रैंड में आयोजित होगी।   इसके बाद 31 अगस्त सोमवार को प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा एवं केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर प्रात: 11 बजे ग्वालियर से मालनपुर, भिण्ड के लिए प्रस्थान करेंगे। नेताद्वय मालनपुर भिंड पहुँचकर होटल मनहर में दोपहर 12 बजे गोहद और 2 बजे मेहगांव विधानसभा के प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक में भाग लेंगे। बैठक के पश्चात नेताद्वय ग्वालियर के लिए प्रस्थान करेंगे। ग्वालियर पहुँचकर वीडी शर्मा एवं केन्द्रीय मंत्री तोमर दोपहर 3.30 बजे होटल तानसेन में डबरा विधानसभा के प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक में भाग लेंगे।  

Kolar News

Kolar News 30 August 2020

सागर। मौसम की खराबी और तेज वर्षा के कारण मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का शनिवार को होने वाला राहतगढ़ का दौरा निरस्त हो गया। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द्र राजपूत ने शनिवार को राहतगढ़ तहसील के ग्राम चद्रपुरा, गढ़ाघाट और झिला का भ्रमण किया। उन्होंने खेतों में जाकर सोयाबीन व उड़द की फसलें देखी और किसानों से मिले। राजस्व मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि खराब हुई सोयाबीन और उड़द की फसलों का सर्वे करें।   उन्होंने कहा कि अफलन और पीला मोजिक रोग से प्रभावित फसलों का शीघ्रता से सर्वे कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें, जिससे किसानों का राहत राशि दी जा सके। इस अवसर पर कलेक्टर दीपक सिंह, पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, जिला पचायत सीईओ इच्छित गढ़पाले, एसडीएम, कृषि उप संचालक एके नेमा, कृषि वैज्ञानिक यादव और ग्रामीण मौजूद थे।    ग्राम झिला में आयोजित कार्यक्रम में किसानों को संबोधित करते हुये राजस्व मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसान के बेटे हैं, इसलिये वे किसानों का दुख, दर्द समझते हैं। उन्होंने फसलों के खराब होने के संबंध में मुख्यमंत्री को बताया था। इस पर मुख्यमंत्री स्वयं राहतगढ़ आकर ग्रामों की फसलों को देखना चाहते थे। परन्तु मौसम की खराबी के कारण उनका राहतगढ़ का दौरा निरस्त हो गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोयाबीन और उड़द की खराब हुई फसलों का सर्वे किया जायेगा और राहत राशि किसानों को दी जायेगी। राजस्व मंत्री ने कहा कि सोयाबीन लगातार खराब हो रहा है ऐसी स्थिति में किसान मक्का, ज्वार, धान या अन्य खरीफ फसलों पर भी ध्यान दें।   कार्यकम में कलेक्टर दीपक सिंह ने कहा कि कृषि और राजस्व विभाग की संयुक्त टीम द्वारा फसलों का सर्वें किया जायेगा। प्रभावित होने वाली फसलों के लिये आरबीसी ६-४ के तहत राहत राशि दी जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बीमा कराने की अंतिम तिथि ३१ अगस्त है। जिन किसानों ने अभी तक फसलों का बीमा नहीं कराया है, वे फसलों का बीमा करा लें। उन्होंने कहा कि सोयाबीन लगातार खराब हो रहा है ऐसी स्थिति में किसान मक्का, ज्वार, धान या अन्य खरीफ फसलों पर भी ध्यान दें।   कृषि वैज्ञानिक यादव ने सोयाबीन अफलन होने के बारे में विस्तार से किसानों को बताया। उन्होंने पीला मोजिक रोग के विषय में भी किसानों को जानकारी दी।

Kolar News

Kolar News 29 August 2020

भोपाल। प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में एक परिवार के पांच सदस्यों द्वारा सामूहिक आत्महत्या किए जाने पर राजनीति गर्मा  गई है। एक दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस पर सवाल उठाए थे, वहीं शनिवार को कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे सज्जनसिंह वर्मा ने इस पर सवाल उठाते हुए टीकमगढ़ जाने की बात कही है।   पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा के कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार वर्मा 31 अगस्त,  सोमवार को हेलीकॉप्टर द्वारा टीकमगढ़ पहुंचेंगे। वे यहां पीड़ित परिवार तथा उनके रिश्तेदारों से मुलाकात करेंगे। गौरतलब है कि टीकमगढ़ में एक ही परिवार के पांच सदस्यों की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार सभी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है, जबकि कांग्रेस ने इस पूरे मामले में भाजपा सरकार को घेरा है। पूर्व मंत्री वर्मा ने कहा कि पुलिस इस मामले में ढुलमुल रवैया अपना रही है। उनका कहना है कि इस मामले की जांच  हत्या के एंगल से भी की जाना चाहिए,  क्योंकि सभी लोग फांसी पर लटके थे तो उनके पैर जमीन पर ही कैसे थे?

Kolar News

Kolar News 29 August 2020

भोपाल। देश हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस मनाता है। यह दिन हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को नमन किया है।   मुख्यमंत्री ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि -‘हॉकी के असाधारण खिलाड़ी, मेजर ध्यानचंद की जयंती राष्ट्रीय खेल दिवस पर चरणों में कोटिश: नमन। मेरे बच्चों, हॉकी के जादूगर को श्रद्धांजलि देना है तो तुम भी खेलो और स्वयं स्वस्थ रहकर स्वस्थ प्रदेश व स्वस्थ भारत का निर्माण करो।’

Kolar News

Kolar News 29 August 2020

भिण्ड। प्रदेश के सहकारिता एवं लोकसेवा प्रबंधन विभाग के मंत्री अरविंद भदौरिया ने गुरुवार को एक करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सकराया (अटेर) हाईस्कूल का वर्चुअल लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ज्ञान आधारित व्यक्तियों से ज्ञान आधारित समाज का निर्माण होता है। जिससे जिला, प्रदेश एवं देश का सम्पूर्ण रूप से विकास होगा।   कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोकार्पण कार्यक्रम का वर्चूअल आयोजन किया गया। मंत्री भदौरिया सर्किट हाउस भिण्ड से लोकार्पण कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से शामिल हुए। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी हरिभुवन सिंह तोमर, प्रिन्ट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया के प्रतिनिधि, शिक्षा विभाग का अमला एवं जनप्रतिनिधि तथा ग्रामीणजन उपस्थित थे।   सहकारिता मंत्री भदौरिया ने कार्यक्रम को वर्चुअल रूप से संबोधित करते हुए कहा कि आज इस हाईस्कूल का लोकार्पण हो रहा है। इससे सकराया के बच्चों को शिक्षा के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हम प्रयास कर शीघ्र ही हाईस्कूल से हायर सेकेण्डरी स्कूल करायेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण समक्ष में उपस्थित न होकर वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। उन्होंने सभी सकराया वासियों को एवं शिक्षा विभाग को बधाई दी।   नकली खाद-बीज भंडारण, विक्रय करने वालों पर हो कठोर कार्यवाही   सहकारिता मंत्री अरविन्द भदौरिया ने गुरुवार को सर्किट हाउस में जिला अधिकारियों के साथ बैठक लेकर अधिकारियों को नकली खाद-बीज भंडारण, विक्रय करने वालों पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने खाद की किल्लत ना हो एवं वितरण ठीक ढंग से हो इसके लिए संबंधित अधिकारियों को इसका विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिए।  बैठक में कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत, एसडीएम ओएन सिंह, अभिषेक चौरसिया, माइनिंग अधिकारी भदकारिया, लोक सेवा प्रबंधक भानू प्रजापति, पुलिस के आला अधिकारी अन्य अधिकारी मौजूद थे। मंत्री भदौरिया ने चंबल प्रोग्रेस वे को लेकर कलेक्टर एवं एसडीएम चौरसिया से प्रोग्रेस वे के संवंध में जानकरी प्राप्त की। एसडीएम ने बताया कि प्रोग्रेस वे हेतु अटेर क्षेत्र में 250 हेक्टेयर जमीन चिन्हित कर ली गई है तथा आगे की कार्यवाही जारी है। मंत्री भदौरिया ने माइनिंग अधिकारी भदकारिया को निर्देश दिए कि रेत के अवैध उत्खनन, भंडारण एवं परिवहन करने वालों पर सख्त कार्यवाही करें। अवैध उत्खनन, भंडारण एवं परिवहन पूर्णरूप से रोका जाए एवं संबंधितों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाए।

Kolar News

Kolar News 27 August 2020

उज्जैन। अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य और कांग्रेस नेत्री नूरी खान को फोन पर धमकी देना भाजपा नेता को महंगा पड़ा। पुलिस ने भाजपा नेता शाकिर के मोबाइल नंबर के आधार पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। नानाखेड़ा थाना पुलिस ने शिकायत मिलने के आधार पर बुधवार देर रात प्रकरण दर्ज किया है। आरोपी की तलाश की जा रही है।   नानाखेड़ा पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार नूरी खान 24 अगस्त को बदनावर दौरे पर गई थी। इसके बाद सोशल मीडिया से बीजेपी नेता और कांग्रेसी नेत्री के बीच विवाद शुरू हुआ था जिसके बाद उन्हें फोन लगाकर जान से मारने की धमकी तक दी गई है। नानाखेड़ा थाना पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद देर रात अपराध पंजीबद्ध कर लिया। मध्य प्रदेश में उपचुनाव की तैयारियों के बीच सियासी घमासान मचा हुआ है। इसी दौरान उज्जैन की कांग्रेस नेत्री नूरी खान ने बदनावर के बीजेपी नेता के खिलाफ मोबाइल पर धमकी देने का अपराध दर्ज कराया है।

Kolar News

Kolar News 27 August 2020

शिवपुरी। शिवपुरी जिले के पोहरी के पूर्व विधायक और मध्यप्रदेश शासन के राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा के लापता भांजे की 2 दिन बाद लाश मिली है। पुलिस सूत्रों ने बताया है कि अनिल धाकड़ उम्र 28 साल निवासी ग्राम पुरा छर्च अपने घर से 2 दिन से गायब था। आज देर रात्रि उनकी लाश कड़वानी के जंगल मे मिली है। यहां बता दे कि अनिल 2 दिन से अपने घर से गायब था।    यह पोहरी के पूर्व विधायक सुरेश राठखेड़ा का भांजा था। अभी लॉक डाउन के दौरान उनके बहनोई वृजमोहन धाकड़ की भी सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। बुधवार को पूरे दिन से पुलिस ने चैकिंग अभियान चलाकर युवक को ख़ोजा था परंतु सफलता हाथ नही लगी। उसके बाद देर रात्रि उनकी लाश मिली है। पोहरी एसडीओपी निरंजन राजपूत ने बताया है कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। लाश जंगल में दो दिन पुरानी है, हमने एफएसएल टीम को मौके पर बुलाकर जांच करवाई है। पीएम करा रहे है इसके बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

Kolar News

Kolar News 27 August 2020

भोपाल। प्रदेश के कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने बुधवार को भोपाल जिले में बारिश और कीट से फसलों को हुए नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि तत्काल सर्वे प्रारंभ कर किसानों को हर संभव मुआवजा उपलब्ध करवाया जाए। मंत्री कमल पटेल ने बैरसिया विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम परवलिया सडक़ और रातीबढ़ में फसलों का निरीक्षण किया। इस अवसर पर बैरसिया विधायक विष्णु खत्री, स्थानीय जनप्रतिनिधि, संभागीय संयुक्त कृषि संचालक बीएल बिलैया सहित कृषक उपस्थित थे।    कृषि मंत्री पटेल ने अफलन फसलों को हुई क्षति पर किसानों को समझाते हुए कहा कि वे चिंता न करें। प्रदेश सरकार किसानों की सरकार है और आपके साथ हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा आवेदन की तिथि को 31 अगस्त तक बढ़ाया गया है।    मंत्री पटेल ने ग्राम पंचायत तारा सेवनिया में ग्राम चौपाल में किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि प्राकृतिक आपदा से फसलों को हुए नुकसान से किसानों को अब कहीं जाना नहीं पड़ेगा। गाँव में ही अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, आरआई और पटवारी सहित कृषि विभाग के अधिकारी-कर्मचारी फसलों का भौतिक सर्वे करेंगे। फसलों का आंकलन बेहतर तरीके से होगा। इस काम में पारदर्शिता लाई गई है। उन्होंने कहा कि आरआई, पटवारी सर्वे कर पंच-सरपंच के हस्ताक्षर से सर्वे की एक प्रतिलिपि संबंधित किसान को भी देंगे।   कृषि मंत्री ने कहा कि अब मंडियों को भी स्मार्ट मंडी के तर्ज पर विकसित किया जायेगा। अब मंडियों में सर्व सुविधायुक्त वातावरण होगा। किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा कई योजनाएं संचालित की जा रही है। किसानों को फसलों का उचित मूल्य प्राप्त हो इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा बेहतर प्रयास किये जा रहे हैं।    कृषि मंत्री ने किया 63.89 लाख रुपये की लागत की सडक़ का भूमि पूजन    इस दौरान मंत्री पटेल ने ग्राम पंचायत- तारासेवानिया में मनरेगा योजनांतर्गत स्वीकृत सुदूर संडक़ निर्माण, ग्रेबल रोड निर्माण, जोगबर्री से पिपलिया छपरबंद तक 28.89 लाख रुपये लागत से 2 किमी सडक़ निर्माण और ग्रेबल रोड निर्माण तारासेवनिया से जोगबर्री तक 35 लाख रुपये की लागत से 2.60 किमी सडक़ निर्माण का भूमि पूजन किया। उन्होंने कहा कि ग्रेबल मार्ग निर्माण होने से तारा सेवनिया एवं पिपलिया छपरबंद के ग्राम वासियों और किसानों को अन्य ग्रामों तक जाने के लिए आवागमन की सुविधा उपलब्ध होगी।  

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

शिवपुरी। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे और कमलनाथ सरकार में नगरीय प्रशासन मंत्री रहे कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने आरोप लगाया कि जो विधायक कांग्रेस छोड़कर गए हैं, उन्होंने 35-35 करोड़ रुपये लिए हैं।    बुधवार को शिवपुरी के दौरे पर आए कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने कहा कि जो विधायक बिके हैं, उनके कारण अब कोरोना संकटकाल में उपचुनाव के दौरान लोगों को वोट डालने के लिए लाइन में लगना होगा, इसलिए अब जनता को इनसे हिसाब लेने की जरूरत है।   पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने कोरोना काल में चुनाव के लिए कांग्रेस से भाजपा में गए विधायकों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि लोग 35-35 करोड़ में बिक गए। इसलिए जनता को इनके क्षेत्र में कोरोना काल मे मतदान के लिए लाइन में लगना होगा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शिवपुरी में जयवर्धन ने कहा कि अब परिस्थितियां बदल गईं हैं, आप के लिए हम हर समय तैयार हैं।

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। उन्होंने कोरोना काल के दौरान जेईई और नीट परीक्षाओं के आयोजन के दौरान कोरोना संक्रमण फैलने को लेकर मुख्यमंत्री को चेताया है। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने अपने पत्र में मुख्यमंत्री ने अनुरोध किया कि कोरॉना जैसी इन विषम परिस्थितियों में आयोजित होने जा रही ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन यानी जेईई मेन और नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट यानी नीट एग्जाम की परीक्षाएं आयोजित न करवाये।   जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आग्रह किया है कि मध्य प्रदेश सरकार इन परीक्षाओं को रद्द करने की माँग करते हुए केंद्र सरकार को पत्र लिखें। क्योंकि कोरोना संक्रमण जिस तरह प्रदेश में लगातार बढ़ रहा है इन परिस्थियों में यह परीक्षाएं आयोजित करवाना जानबूझ कर युवाओं और विद्यार्थीयों की जान को जोखिम में डालने जैसा होगा। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखे पत्र में कोविड-19 के खतरों से अवगत करवाते हुए इस महामारी से युवाओं एवं विद्यार्थीयों की रक्षा हेतु जेईई और नीट की परीक्षाओं को रद्द करने की बात भी कही है।   उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि कोविड-19 के चलते विश्व ही नहीं हमारा देश और प्रदेश इस महामारी से जूझ रहा है। यह किसी से छुपा नहीं है कि मार्च माह में आपने प्रदेश की सत्ता सम्हाली है, उस समय कोरोना संक्रमण की शुरूआत हो चुकी थी। जिसे नियंत्रण करने की पूरी जिम्मेदारी प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी और मुख्यमंत्री सहित पूरी सरकार की बनती थी। लेकिन कोरोना पर काबू पाने की तमाम कोशिशों के बावजूद भी इस पर आज तक नियंत्रण नहीं पाया जा सका है। आप स्वयं भी इससे अछूते नहीं रहे और सिर्फ आप ही नहीं बल्कि राज्य सरकार के कई मंत्रिगण और विधायकों सहित राजनीतिक पार्टीयों के कार्यकर्ता और नेता भी विगत दिनों कोरोना की चपेट में आए है। उन्होंने आगे अपने पत्र में कहा है कि देश में कोरोना का यह प्रकोप दिन पर दिन लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे वक्त में आपके नेतृत्व में ग्वालियर-चंबल संभाग में तीन दिवसीय भाजपा का सदस्यता अभियान चलाया गया। जिसमें कोविड-19 के लिए जारी की गई गाइड लाइन का खुलकर मखौल उड़ाया गया और केंद्र सरकार तथा सुप्रीम कोर्ट के नियमों का जमकर उलंघन किया गया। जिसका परिणाम यह हुआ कि कार्यक्रम में उपस्थित 36 से ज्यादा नेता और कार्यकर्ता कोरोना संक्रमित पाए गए है।   पूर्व मंत्री पटवारी ने उनकी इस माँग को राजनीतिक दृष्टि से न लेने की बात भी अपने पत्र में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखी है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध करते हुए लिखा कि जेईई और नीट की परीक्षाओं को रद्द कर कोरोना संक्रमण से युवाओं और विद्यार्थीयों के स्वास्थ्य से होने वाले खिलवाड़ से उन्हें बचाया जा सकता है। इसे राजनीतिक दृष्टि से परे प्रदेश की जनता के हित में किए गए निवेदन के रूप में देखकर इस पर निर्णय लें।

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

भोपाल। केन्द्रीय सडक़ परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को मध्यप्रदेश की 11 हजार 427 करोड़ की लागत से 1361 किमी लम्बाई की 45 सडक़ परियोजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण किया गया। इस वर्चुअल लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम में केन्द्रीय नरेन्द्र सिंह तोमर, थावरचंद गेहलोत, प्रहलाद पटेल और डॉ. वीके सिंह भी शामिल हुए।    कार्यक्रम में केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण, पंचायतराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि नितिन गडकरी नवीन कल्पनाओं को साकार करने के लिए जाने जाते हैं। मुम्बई-पुणे एक्सप्रेस हाईवे का ऐतिहासिक कार्य सम्पन्न होने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल जी ने उनसे ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सडक़ों का निर्माण का आग्रह किया था। गडकरी जी ने सडक़ निर्माण क्षेत्र में अद्भुत कार्य कर दिखाया है। मध्यप्रदेश के चम्बल क्षेत्र को बीहड़ से अलग पहचान दिलवाने के लिए प्रोग्रेस-वे की मंजूरी, धार्मिक स्थान शनिचरा के निकट मार्गों के विकास और पूरे प्रदेश के लिए नवीन सडक़ निर्माण परियोजनाओं की स्वीकृति में गडकरी जी का महत्वपूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ है। यही नहीं मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन के महत्वपूर्ण कार्य का श्रेय भी गडकरी जी को है।   कार्यक्रम में केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा मध्यप्रदेश में सडक़ निर्माण की यह श्रंखला समृद्धि बढ़ाने में सहायक होगी। केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद पटेल ने कहा कि छतरपुर, सागर सहित प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में सडक़ों की मंजूरी से लाभान्वित क्षेत्रों की तस्वीर बदल रही है। केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने कहा कि सडक़ों के मामले में मध्यप्रदेश को केन्द्रीय सडक़ परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय का भरपूर सहयोग मिलना प्रसन्नता की बात है।   केन्द्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय राज्यमंत्री डॉ. वीके सिंह ने कहा कि आज मध्यप्रदेश की 26 सडक़ निर्माण योजनाओं के लोकार्पण और 19 योजनाओं के शिलान्यास का यह क्षण हर्षदायी है। गत 6 वर्ष में प्रदेश में एन.एच. सडक़ों की 69 किमी लंबाई बढ़ जाना एक उपलब्धि है।    मध्यप्रदेश के लोक निर्माण और कुटीर ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि प्रदेश के बुंदेलखंड और विंध्य अंचल के पिछड़े इलाकों के साथ ही सम्पूर्ण प्रदेश में नई सडक़ों से विकास को नई दिशा मिलेगी। सडक़ों के उन्नयन से, घुमावदार सडक़ों के सुधार और संकरे पुल-पुलियों को चौड़ा किए जाने से आमजन को सुविधा मिल रही है। ओरछा और खजुराहो जैसे पर्यटन स्थलों का नए स्वरूप में विकास हो रहा है, जो आने वाले समय में देशी-विदेशी पर्यटकों के साथ ही स्थानीय व्यक्तियों के लिए भी लाभकारी होगा।   वर्चुअल कार्यक्रम में परियोजना क्षेत्र से जुड़े मध्यप्रदेश के मंत्री, सांसद एवं विधायक भी अलग-अलग स्थानों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल हुए। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, लोक निर्माण विभाग के सचिव और भारत सरकार के सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अधिकारी भी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 25 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। यहां जनप्रतिनिधि भी इसकी चपेट में आने से नहीं बच पा रहे हैं। अब राजगढ़ जिले के ब्यावरा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद उन्हें भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार जारी है। इसकी जानकारी उन्होंने स्वयं मंगलवार को सोशल मीडिया के माध्यम से दी है।    बता दें कि कुछ दिन पहले कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी की पत्नी और उनकी बेटी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद उन्होंने अपनी जांच कराई। मंगलवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है। उन्होंने अपने सम्पर्क में आने वाले लोगों से घरेलू एकांतवास होने और कोरोना जांच कराने की अपील की है।

Kolar News

Kolar News 25 August 2020

ग्वालियर। भाजपा द्वारा कोरोना काल में चलाए गए महासदस्यता अभियान के विरोध में मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री अशोक शर्मा के नेतृत्व में सद्बुद्धि यज्ञ का आयोजन किया गया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेताओं को सद्बुद्धि देने के लिए ईश्वर से कामना की गई।   कांग्रेस नेताओं द्वारा मंगलवार को सुबह फूलबाग मैदान को गंगाजल से शुद्ध किया गया एवं सद्बुद्धि यज्ञ के माध्यम से भाजपा नेताओं को सद्बुद्धि देने की कामना की गई। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने देश-प्रदेश में कोरोना के प्रकोप को कम करने लिए भी ईश्वर से प्रार्थना की। कार्यक्रम में पूर्व अध्यक्ष चंद्रमोहन नागोरी, कार्यवाहक अध्यक्ष महाराज सिंह पटेल, यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मितेन्द्र सिंह, युथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष हेवरन कंसाना, नेता प्रतिपक्ष कृष्णाराव दीक्षित आदि सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।   बता दें कि ग्वालियर में भाजपा द्वारा तीन दिवसीय महासदस्यता अभियान का आयोजन किया गया था। सोमवार को इसका समापन हुआ। भाजपा द्वारा दावा किया गया है कि इस दौरान साढ़े सात  हजार से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा की सदस्यता ली गई।

Kolar News

Kolar News 25 August 2020

भोपाल। संस्कृति, पर्यटन और आध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर ने सोमवार को ''एक भारत श्रेष्ठ भारत: देखो अपना नॉर्थ ईस्ट'' के तहत 24 से 29 अगस्त तक होने वाली छ: दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार/व्याख्यान माला का मणिपुर की राज्यपाल डॉ. नजमा हेपतुल्ला के साथ शुभारंभ किया। ठाकुर ने कहा कि मध्यप्रदेश के छात्र-छात्राओं का अध्ययन-दल पूर्वोत्तर के राज्यों में भेजा जायेगा। दल वहां की संस्कृति, परम्परा, खान-पान, रीति-रिवाज,ऐतिहासिक धरोहर आदि का अध्ययन करने के साथ पूर्वोत्तर के लोगों को अपने राज्य की संस्कृति से भी परिचित करायेगा। देश में पहली बार मध्यप्रदेश की डॉ. भीमराव अम्बेडकर यूर्निवसिटी ऑफ सोशल सांइसेस महू द्वारा ''एक भारत श्रेष्ठ भारत'' योजना में उक्त वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। ठाकुर ने कहा कि छात्र-शक्ति देश का मेरूदण्ड और भविष्य है। सुदूर पूर्वोत्तर राज्यों की संस्कृति के अध्ययन से विविध संस्कृतियों वाली भारतीय एकता और अखण्डता मजबूत होने के साथ इन राज्यों के छात्र-छात्राओं के बीच एक आत्मीय संबंध भी सुदृढ़ होगा। राज्यपाल डॉ.नजमा हेपतुल्ला ने कहा कि 8 सिस्टर्स कहे जाने वाले पूर्वोत्तर राज्य भारत का सबसे खूबसूरत हिस्सा हैं। जैव-विविधता से भरपूर इन राज्यों में पर्यटन की असीम संभावनाएं है। यहाँ की विशेष संस्कृति और परम्परायें अपने आप में अनोखी हैं। उन्होंने राज्य की सामाजिक-आर्थिक जानकारी देने के साथ इन राज्यों की भारत के लिये म्यामार, भूटान, नेपाल आदि से इंटर बार्डर महत्ता के बारे में भी बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय की उप कुलपति प्रोफेसर आशा शुक्ला ने की। आईसीसीआर नई दिल्ली की पूर्व निदेशक डॉ. नीरू मिश्रा ने सभी आठ पूर्वोत्तर राज्यों की अद्भुत प्राकृतिक सुषमा और विशेषताओं पर आधारित नयनाभिराम प्रस्तुतीकरण दिया। उल्लेखनीय है कि ''एक भारत श्रेष्ठ भारत'' का उद्देश्य भारत के विभिन्न राज्यों के विद्यार्थियों को एक-दूसरे की संस्कृति और परम्पराओं का व्यावहारिक अनुभव कराते हुए राष्ट्र की अनेकता में एकता के सूत्र को सुदृढ़ करना है। मध्यप्रदेश के साथ नागालैंड और मणिपुर राज्य को जोड़ा गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योजना का शुभारंभ 31 अक्टूबर 2015 को सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर किया था।

Kolar News

Kolar News 24 August 2020

इंदौर। इंदौर में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ी सौगात मिलने वाली है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आगामी 27 अगस्त को इस सर्व सुविधा युक्त सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण करेंगे। इंदौर में 500 से अधिक बिस्तरों की क्षमता वाले अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाओं से युक्त सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है। हॉस्पिटल के निर्माण में 237 करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च की गई है। यह जानकारी प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट द्वारा सोमवार को इस हॉस्पिटल के निरीक्षण के दौरान दी गई। सिलावट ने सांसद शंकर लालवानी, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, इंदौर विकास प्राधिकरण के सीईओ विवेक श्रोत्रिय के साथ इस हॉस्पिटल का निरीक्षण किया।   निरीक्षण के दौरान उन्होंने हॉस्पिटल के विभिन्न वार्डों को देखा। हॉस्पिटल में उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं का जायजा भी लिया। मंत्री सिलावट ने कहा कि यह हॉस्पिटल अपने नाम के अनुरूप विभिन्न स्पेशलिटी वाला रहेगा। स्वास्थ्य के क्षेत्र में इंदौर सहित प्रदेश के अन्य क्षेत्रों के जरूरतमंदों के लिये बड़ी सौगात होगा। इस हॉस्पिटल में एक ही छत के नीचे चिकित्सा की विभिन्न सुविधाएं एक साथ मिलेंगी। उन्होंने कहा कि इंदौर शिक्षा के साथ ही स्वास्थ्य का भी बढ़ा हब है। स्वास्थ्य हर नागरिकों का अधिकार है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कुशल नेतृत्व में स्वास्थ्य सुविधाओं का तेजी से विस्तार हो रहा है।   सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि यह हॉस्पिटल ऐसे समय में तैयार हुआ है, जब इस तरह के हॉस्पिटल की बड़ी जरूरत है। यह वर्तमान समय की आवश्यकता को पूरा करेगा। कोरोना से निपटने के लिये किेये जा रहे प्रयासों में भी बड़ा मददगार होगा।  कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि यह अस्पताल पूर्ण रुप से तैयार हो गया है। शीघ्र ही शुरु हो रहा है। अभी वर्तमान में इस अस्पताल में कोरोना के इलाज को प्रारंभ किया जा रहा है। अस्पताल के 100 आईसीयू बेड को भी कोरोना के इलाज के लिये उपयोग में लाया जायेगा। इस अस्पताल के शुरु होने से कोविड के इलाज में बहुत मदद मिलेगी।   ऐसा है नया हॉस्पिटल हॉस्पिटल दस मंजिला है। इसमें बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर शामिल है। यह हॉस्पिटल अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त रहेगा। इसमें अत्याधुनिक सुविधाओं वाले छ: आईसीयू और 10 ऑपरेशन थियेटर होंगे। हॉस्पिटल में नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी, ह्दय शल्य क्रिया, बायपास, ह्दय रोग संबंधी अन्य उपचार, न्यूरोलॉजी, न्यूरो सर्जरी आदि की विशेष व्यवस्था रहेगी। यहां अंग प्रत्यारोपण की सुविधा भी होगी। यहां सभाकक्ष, लाईब्रेरी, क्लास रूम, कैन्टिन, कैफेटेरिया, आदि भी रहेंगे। बताया गया कि यह हॉस्पिटल 237 करोड़ रुपये की लागत से बना है। इसमें  मुख्य रूप से हॉस्पिटल के सिविल वर्क में लगभग 140 करोड़ रुपये तथा  उपकरण और अन्य सुविधाओं के विकास में 66 करोड़ रुपये खर्च किये गये है। शेष राशि अन्य कार्यों में खर्च हुई है। यह हॉस्पिटल 500 से अधिक बिस्तरों की क्षमता वाला है।

Kolar News

Kolar News 24 August 2020

भोपाल। भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की आज सोमवार को पहली पुण्यतिथि है। ठीक एक साल पहले आज ही के दिन उन्होंने दुनिया को अलविदा कहा था। जेटली की पहली पुण्यतिथि पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने उन्हें स्मरण कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी है।    मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अरुण जेटली को पुण्यतिथि पर नमन कर श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘आज के ही दिन अरुण जेटली जी के रूप में हमने देश के लिए समर्पित एक सपूत, योग्य नेता और गुणी साथी को खो दिया था; जिनके अभूतपूर्व तथ्यों और तर्कों को सुनकर लोग अवाक रह जाते थे। उन्हें सदैव एक सफल वित्त मंत्री, कुशल वक्ता व मित्रता निभाने वाले व्यक्ति के रूप में याद किया जायेगा। एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘कैंसर जैसी असाध्य बीमारी होने के बावजूद स्व.जेटली जी की जिंदादिली कम न हुई। उनके ठहाके और काम कभी नहीं रुके। अंतिम सांस तक कर्म करने वाले योद्धा के असमय दुनिया छोडक़र जाने से जो शून्य उत्पन्न हुआ है, वह कभी न भर सकेगा। उनकी पुण्यतिथि पर चरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने ट्वीट में कहा ‘भाजपा के वरिष्ठ नेता, कुशल संगठक, विख्यात अधिवक्ता, पूर्व केंद्रीय मंत्री 'पद्म विभूषण' स्व श्री अरुण जेटली जी की प्रथम पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि।   भाजपा राष्ट्रीय महासिचव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में कहा ‘हमारे पथ प्रदर्शक एवं प्रेरणास्रोत पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री 'पद्म विभूषण' स्व.श्री अरुण जेटली जी की पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि। 

Kolar News

Kolar News 24 August 2020

दतिया।बिजली वोल्टेज की समस्‍या को देखते हुए यह सौगात हमने 35 ग्रामों के ग्रामवासियों की परेशानियों को देखकर दी है। इससे उदगवां फीडर से संबधित सभी 35 ग्रामों के लोगों को अब बिजली बिल जमा करने एवं कोई भी समस्या होने पर दतिया नहीं जाना पड़ेगा। इस फीडर एवं कार्यालय के बन जाने से सभी ग्रामवासियों को बार-बार दतिया जाने की परेशानी दूर हो जाएगी। इस फीडर से समान वोल्टेज मिलेगी एवं बिजली बिल तथा ट्रांसफार्मर खराब होने के कारण बदलने की समस्या भी इसी कार्यालय से हल होगी।    यह बात शनिवार को प्रदेश के गृहमंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने ग्राम उदगवां में एक करोड़ की लागत के बनने वाले 33 केवी फीडर एवं नवीन वितरण केन्द्र कनिष्ठ यंत्री कार्यालय का शुभारंभ करते हुए कही।    इसके बाद उन्होंनें वृदावन धाम में मुख्यमंत्री कामगार सेतु स्ट्रीट वेण्डर लोन योजना का शुभारंभ किया एवं 220 लोगों केा 10-10 हजार रूपये राषि की चेक वितरित किए और कहा कि हमारी सरकार ने गरीबों की सहायता करने हेतु बिना ब्याज लिए कामकाज करने के लिए  मुख्यमंत्री कामगार सेतु स्ट्रीट वेण्डर लोन की नई योजना प्रारंभ की है। जिससे हर गरीब इंसान इस लोन से कोई भी व्यवसाय कर सकता है और उसे किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं देना पड़ेगा।  उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति इस लोन केा समय पर समान किस्तों में अदा कर देता है, बैंक उसे दोबारा 20 हजार रूपये राशि का बिना ब्याज के लोन देगी। वहीं मंत्री डा.. नरोत्तम मिश्र 23 अगस्त को दतिया पहुंचेंगे, जहां पर कई विकास कार्यों का और उद्घाटन करेंगे

Kolar News

Kolar News 22 August 2020

ग्‍वालियर। आज कांग्रेस नेता कांग्रेस का साथ छोड़ने वालों को गद्दार बोल रहे हैं। कांग्रेस की नीतियों से परेशान होकर कई नेताओं ने पहले भी पार्टी छोड़ी है, लेकिन जब भी कांग्रेस के नेता पार्टी छोड़ते हैं, तो ये उन्हें बदनाम करने में लग जाते हैं।    यह बात शनिवार को ग्‍वालियर में आयोजित सदस्यता ग्रहण समारोह में उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस उसके नेता कमलनाथ जवाब दें कि क्या 1923 में कांग्रेस छोड़ स्वराज पार्टी बनाने वाले पं. मोतीलाल नेहरू गद्दार थें? क्या नेताजी सुभाष चंद्र बोस गद्दार थे? क्या चौधरी चरण सिंह, बीजू पटनायक, बाबू जगजीवनराम, एन.डी. तिवारी, ममता बनर्जी, शरद पवार, जगन्नाथ मिश्र जैसे सभी नेता गद्दार थे? चौहान ने कहा कि सिंधिया जी और उनके साथियों ने कांग्रेस सरकार को जनता से किये वादे पूरे नहीं करने की सजा दी। गद्दार तो कमलनाथ हैं,  जिन्होंने जनता से गद्दारी की।    मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ कहते हैं कि हमें धोखा मिला,  लेकिन असल में धोखा तो कमलनाथ जी ने जनता के साथ कियास। उन्होंने चुनाव के पहले किसानों, युवाओं, प्रदेश की जनता से बड़े-बड़े वादे किए, लेकिन अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया। कमलनाथ ने प्रदेश की जनता की पीठ में छुरा घोंपने का काम किया। उन्होंने भाजपा शामिल हुए कार्यकर्ताओं का स्वागत करते हुए कहा कि जिस तरह दूध में मिलकर शक्कर एक हो जाती है, उसी तरह आप भाजपा में मिलकर एक हो गये हैं। भाजपा पार्टी नहीं परिवार है और आज से आप इस परिवार के सदस्य हैं। हम मिलकर ग्वालियर और पूरे प्रदेश के विकास के लिए काम करेंगे।   प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने ग्वालियर की धरती को प्रणाम करते हुए कहा कि इसी धरती पर हमारे नेता पं. दीनदयाल उपाध्याय ने एकात्म मानवतावाद का बीज रोपा था। यह अटलजी का शहर है और राजमाता सिंधिया से लेकर कुशाभाऊ ठाकरे जी तक की यात्रा यहीं से शुरू हुई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जब-जब प्रदेश को दुरावस्था की ओर ले जाने वाली सरकार काबिज हुई, उसे उखाड़ फेंकने का आंदोलन यहीं से शुरू हुआ। इसी ग्वालियर की धरती से राजमाता सिंधिया जी ने डी.पी.मिश्रा के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार को उखाड़ फेंका था और कमलनाथ सरकार को उखाड़ फेंकने की शुरुआत भी यहीं से हुई ।  श्री शर्मा ने कहा कि भाजपा दुनिया का सबसे बड़ी पार्टी है, एक वैचारिक और कार्यकर्ता आधारित दल है।   शर्मा ने कहा कि 2018 के चुनाव में ग्वालियर में सिंधिया जी के नेतृत्व में कांग्रेस ने अधिकांश सीटें जीती थीं। इस नाते मुख्यमंत्री भी सिंधिया जी को बनना था, लेकिन कांग्रेस ने झूठ बोलकर, छलकपट से सरकार बना ली और कमलनाथ मुख्यमंत्री बन गए। बाद में सिंधिया जी और उनके साथियों ने प्रदेश को दुरावस्था की तरफ ले जाने वाली कमलनाथ सरकार को उखाड़ फेंका।    केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने भाजपा में शामिल कार्यकर्ताओं का स्वागत किया और उन्हें शुभकमनाएं दीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आज जो परिस्थितियां हैं, उनके सूत्रधार ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस की सरकार अपने वादे से नहीं मुकरती, जनता से विमुख न होती, वल्लभभवन को कमीशन भवन न बनाती, तो सिंधिया जी को कांग्रेस छोड़ने की जरूरत ही नहीं पड़ती। तोमर ने कहा कि जो अच्छे जनप्रतिनिधि होते हैं, वे जनता के प्रति अपनी जवाबदेही समझते हैं और जब उन्हें लगता है कि जनता को छला जा रहा है, तो वे अपने पद को ठोकर मारने में भी देर नहीं करते। यही सिंधिया जी ने किया और आज प्रदेश में शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार सफलतापूर्वक चल रही है।    उन्‍होंने कहा कि 2003 से पूर्व प्रदेश में बंटाढार सरकार थी, जिसने प्रदेश को अंधेरा दिया था, सड़कों पर गड्ढे दिये थे। विकास के लिए पैसों का रोना रोने वाली दिग्विजयसिंह की सरकार ने जिला सरकारों का गठन कर दिया था, ताकि कोई भोपाल आकर पैसे न मांगे।   वहीं पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने समारोह में सम्बोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ज्योतिरादित्य सिंधिया के सहयोग से बनी है। सिंधिंया जी ने ग्वालियर-चंबल संभाग से प्रदेश को कांग्रेस मुक्त बनाने की शुरूआत की है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस के राज में जनता त्रस्त थी। चारों तरफ हाहाकार था। प्रदेश में कोरोना पैर पसार रहा था और कमलनाथ सरकार सो रही थी। लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने जनता को राहत देने का काम किया है। बीते 15 वर्षों में भाजपा सरकार ने गरीबों सहित प्रदेश के हर वर्ग के लिए उल्लेखनीय काम किया है। झा ने नवागत कार्यकर्ताओं का स्वागत करते हुए कहा कि अब हम सब एक परिवार के हो गये हैं और परिवार भाव से ही भारतीय जनता पार्टी को आगे बढ़ाएंगे।

Kolar News

Kolar News 22 August 2020

भोपाल। मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भोपाल स्थित मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय के प्रबन्धन की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि कोरोना के कारण अधूरे रह गये चार महीने के कोर्स को पूरा करने के लिए अनुरोध करने वाले छात्रों की न्यायसंगत मांग को मानने के बजाय उन्हें निष्कासित किया जाना सर्वथा अनुचित और निंदनीय है।   उन्होंने कहा कि नाट्य विधा दूसरे स्कूली पाठ्यक्रम की तरह नहीं है जिसमें छात्रों को जनरल प्रमोशन देकर अगली  कक्षा में भेज दिया जाए। नाट्य विद्यालय का तो कोर्स ही एक साल का होता है जिसे 15 जुलाई 2020 को कोर्स समाप्त होना था लेकिन कोरोना की वजह से 16 मार्च को ही क्लासेज बंद कर दी गईं। सभी छात्र इस उम्मीद में थे कि हमारी चार महीने की जो क्लासेज हैं, वो बाद में लगेंगी, लेकिन अचानक यह बताया गया कि इस साल के छात्रों को जनरल प्रमोशन दिया जा रहा है। नाट्य विद्यालय द्वारा वर्तमान सत्र के छात्रों को जनरल प्रमोशन देकर नए सत्र के लिए आवेदन आमंत्रित किये जाने से इन छात्रों में भारी निराशा और असंतोष है क्योंकि उन्हें नाट्य विधा के एक साल के कोर्स में से चार महीने के प्रशिक्षण से उन्हें वंचित किया जा रहा है और उनका भविष्य अंधकारमय हो गया है।   अजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश के कला जगत की पहचान पूरी दुनिया में है और इस प्रदेश में  हमेशा कलाकारों को सम्मान मिला है। कला को प्रोत्साहित करने के लिए कई कला पुरस्कार मध्यप्रदेश में आरंभ हुए लेकिन नाट्य कलाकारों के साथ अडिय़ल रवैया अपनाते हुए उनके हितों पर कुठाराघात किया जाना गंभीर चिंता की बात है।   पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह इस मामले में तत्काल कार्यवाही करने की मांग करते हुए कहा है कि वे कलाकारों के प्रति संवेदनशील रवैया अपनाते हुए निष्कासित छात्रों की वापसी और बचे हुए चार महीने के कोर्स को पूरा कराने के लिए हस्तक्षेप करें।

Kolar News

Kolar News 22 August 2020

भोपाल। भोपाल और इंदौर में फेथ ग्रुप पर आयकर विभाग की कार्रवाई जारी है। राजधानी भोपाल में ही करीब आधा दर्जन ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की गई। वही इस पूरे मामले में अब राजनीति भी शुरू हो गई है। फेथ ग्रुप के मालिक राघवेंद्र सिंह तोमर के कनेक्शन भाजपा सरकार में मंत्री अरविंद भदौरिया से बताए जा रहे हैं। जिसके बाद अब कांग्रेस की तरफ से बयानबाजी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता अरविंद सिंह भदौरिया को मंत्री पद से हटाए जाने की मांग कर रहे हैं।   कांग्रेस मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने शुक्रवार को पत्रकार वार्ता कर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भोपाल में दो प्रमुख बिल्डर राघवेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गुप्ता पर पड़े आयकर छापों के बाद जिस प्रकार से करोड़ों की बेनामी संपत्ति व करोड़ों की काली कमाई की बातें सामने आ रही है, उससे यह साफ रूप से स्पष्ट हो रहा है कि प्रदेश के मंत्रियों व बड़े अफसरों की भ्रष्टाचार की काली कमाई कहीं ना कहीं इनके यहां पर निवेश की गई थी। सभी जानते हैं कि मंत्री अरविंद भदौरिया के फेथ बिल्डर के मालिक राघवेंद्र सिंह तोमर से क्या संबंध है?   ऽ    यह वही राघवेंद्र सिंह तोमर हैं जिनका नाम व्यापम घोटाले के प्रीपीजी मामले में सामने आया था, बाद में इन्हें सरकारी गवाह बना लिया गया ?ऽ    यह वही राघवेंद्र तोमर है जो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान की गाड़ी चलाते थे उनकी यह तस्वीर उस समय वायरल भी हुई थी।ऽ    यह वही राघवेंद्र सिंह तोमर हैं जिनके बारे में मंत्री अरविंद भदौरिया ने खुले रुप से बयान जारी कर चुका रहा था कि वे उनके छोटे भाई हैं और कांग्रेस सरकार पर तमाम आरोप लगाए थे।ऽ    यह वही राघवेंद्र तोमर है जिनके क्रिकेट एकेडमी में मंत्री अरविंद भदौरिया साइकिल चलाते हुए घूमते नजर आते हैं।ऽ    यह वही राघवेंद्र तोमर है जिनकी अकैडमी में मंत्री जी क्वारेंटाइन हुए थे।ऽ    यह वही राघवेंद्र तोमर है जिनके नाम पर पंजीकृत गाडिय़ों का उपयोग मंत्री भदोरिया ने कई बार सार्वजनिक रूप से किया, जिसके प्रमाण भी मौजूद है। ऽ    यह वही राघवेंद्र तोमर है जिनकी पहुंच सत्ता के शीर्ष पर थी और भाजपा सरकार में वर्तमान में चल रहे ट्रांसफर उद्योग में भी इनकी भूमिका की बातें समय-समय पर सामने आती रही है। कई वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी उनके करीबी रिश्तेदार हैं। उनकी महत्वपूर्ण पोस्टिंग में इनकी भूमिका की बात सामने आती रही हैं। ऽ    यह वही राघवेंद्र तोमर है जिनके बारे में कांग्रेस को यह जानकारी लगी थी कि प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त और कांगे्रस सरकार के तख्तापलट में जो काली कमाई का उपयोग हुआ है, उसमें बड़ी भूमिका इन्हीं की है। वर्तमान के आयकर छापे कहीं ना कहीं उस काली कमाई की पुष्टि भी कर रहे हैं और कांग्रेस सरकार के तख्तापलट में राघवेंद्र तोमर की भूमिका और काली कमाई की ओर इशारा भी कर रहे हैं। कांग्रेस ने भाजपा से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या कारण है इतने बड़े आयकर छापों के बाद भाजपा और उसके जिम्मेदार तमाम नेता मौन धारण किए हुए हैं, कुछ बोलने को तैयार नहीं है? मंत्री अरविंद भदौरिया कह रहे हैं कि मैं सिर्फ राघवेन्द्र तोमर को पहचानता हूं, मेरा उनसे कोई रिश्ता नहीं है। जबकि उनके निकट संबंध व रिश्ते के कई प्रमाण मौजूद हैं और वह किसी से छुपे नहीं है।   कांगे्रस ने मुख्यमंत्री से मांग करते हुए कहा है कि इन सब बातों को सामने आने के बाद तत्काल मंत्री अरविंद भदौरिया को मंत्रिमंडल से बाहर किया जाए और कई और भी मंत्रियों का भ्रष्टाचार की काली कमाई उक्त बिल्डर के वहां निवेश के रूप में लगाई गई है, यह बातें भी सामने आ रही है, इन सारी बातों की सरकार अपने स्तर पर जांच कराएं और जिन जिन मंत्रियों के निकट रिश्ते उक्त बिल्डर से है, उन सभी मंत्रियों की सरकार अपने स्तर पर जांच कराएं और जांच होने तक उन मंत्रियों को मंत्रिमंडल से बाहर करें।   कांग्रस का यह भी कहना है कि यह पूरा मामला ग्वालियर - चम्बल क्षेत्र के भाजपा के अंतर्कलह व गुटबाज़ी से भी जुड़ा हुआ है। एक दूसरे को निबटाने का खेल शुरू हो चुका है। खरीद- फरोख्त की राशि में हुआ बड़ा गोलमाल भी इसके पीछे बताया जा रहा है।  

Kolar News

Kolar News 21 August 2020

भोपाल। शहर में गुरुवार शाम हुई बारिश जहां कई लोगों के लिए परेशानी लेकर आई, तो कुछ लोगों ने कई दिनों बाद हुई झमाझम बारिश का लुत्फ भी उठाया। पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भी अपने निवास पर भींगते हुए बारिश का लुत्फ उठाया। उन्होंने इसकी फोटो भी ट्विटर पर शेयर की है।    प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भोपाल में गुरुवार शाम को हुई तेज बारिश का लुत्फ उठाया। उन्होंने बारिश के समय का एक फोटो ट्विटर पर शेयर किया है और प्रदेश में अच्छी बारिश तथा खुशहाली की कामना की है। उन्होंने लिखा है-  हवा, पानी यह प्रकृति के महत्वपूर्ण अंग हैं फिर तो यह मेघों से बरसा हुआ पानी था जिसने अपने आशीर्वाद से हमको सराबोर कर दिया। अच्छा पानी बरसे, अच्छी खेती हो, मध्यप्रदेश खुशहाल रहे। इस बीच में मेरे बहुत लंबे प्रवास रहे जहां बहुत उमस थी। आज जब जोर से पानी बरसा तो हमारे छत के पाइप से गिर रहे पानी एवं खुले आकाश से आ रही बौछार में मैंने एवं बेटी नित्या ने बौछारों में स्नान करने का आनंद लिया ईश्वर को धन्यवाद दिया।

Kolar News

Kolar News 21 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर लगातार चौथी बार देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस उपलब्धि के लिए शहर के नागरिकों को बधाई देते हुए कहा है कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में इंदौर ने देश के 4242 शहरों को पीछे छोडक़र न केवल इतिहसा रचा है, बल्कि स्वच्छता के मामले में देश व प्रदेश का मान भी बढ़ाया है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि -‘इंदौर ने देश के साथ ही मध्यप्रदेश का भी मान बढ़ाया है। स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में मध्यप्रदेश के इंदौर को चौथी बार देश के सबसे स्वच्छ शहर का खिताब मिला। इंदौर ने देश के 4242 शहरों को पीछे छोडक़र इतिहास रचा है। यह करिश्मा शहर की जनता के सहयोग के बिना संभव नहीं था। मैं इंदौर समेत सभी प्रदेशवासियों को बधाई देता हूं और भरोसा दिलाता हूूं कि हम साथ-साथ ऐसे ही चलेंगे और स्वच्छ के साथ समृद्ध मध्यप्रदेश का सपना भी पूरा करेंगे।’   उन्होंने लिखा है कि - ‘इंदौर को देश का सबसे स्वच्छ शहर का सम्मान प्राप्त करने के लिए बहुत-बहुत बधाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी और केन्द्रीय मंत्री हरदीप पुरी जी के स्वच्छता के संकल्प को पूरा करने के लिए हम सब मध्यप्रदेशवासी संकल्पित हैं। शुभेच्छाओं के लिए आभार!’ उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि - ‘आज मध्यप्रदेश के लिए गर्व और प्रसन्नता का क्षण है। स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में देश के सबसे स्वच्छ शहर में प्रथम स्थान के सम्मान के लिए इंदौरवासियों, अधिकारियों एवं स्वच्छता योद्धाओं को बधाई। इस प्रोत्साहन और सम्मान के लिए यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का हृदय से आभार!’   गृह मंत्री ने भी दी बधाई   वहीं, प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर को चौथी बार स्वच्छता का खिताब मिलने पर सभी इंदौरवासियों को बधाई को दी है। उन्होंने ट्वीट किया है कि -‘सभी इंदौरवासियों को बधाई। एक बार फिर स्वच्छता का सिरमौर बनकर आप सबने साबित किया है कि साफ-सफाई इंदौर की सभ्यता और संस्कृति का अभिन्न अंग है। इस गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए इंदौर के सम्माननीय नागरिकों, सफाईकर्मियों, अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को शुभकामनाएं।’

Kolar News

Kolar News 20 August 2020

भोपाल। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती पर आज गुरुवार को पूरा देश उन्हें याद कर रहा है। कांग्रेस नेता राजीव गांधी को स्मरण कर उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। इस अवसर पर मप्र के पर्व सीएम और कांग्रेस राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने उन्हें नमन किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘राजीव गॉंधी जयंती पर हम उन्हें स्मरण करते हैं। काश वे आज हमारे बीच होते! उनकी स्मृति में सादर नमन।   इस मौके पर दिग्विजय सिंह भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने कांग्रेस और भाजपा की नीतियों में अंतर बताते हुए भाजपा पर नफऱत और झूठ फैला कर देश में अशांति फैलाने का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘जब राजीव जी भारत में कम्प्यूटर ला रहे थे तब भाजपा यह कह कर विरोध कर रही थी कि उसके आने से हमारे लोग बेरोजगार हो जायेंगे। लेकिन हुआ क्या? करोड़ों लोगों को रोजगार मिला। और अब मोदी जी/भाजपा की गलत नीतियों के कारण करोड़ों लोगों की नौकरियाँ चली गयी और लोग बेरोजगार हो गए।   आगे अपने ट्वीट में उन्होंने कहा ‘यही फर्क़़ है भाजपा और कांग्रेस की सोच में और नीतियों में। कॉंग्रेस देश में प्रेम सद्भाव सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चल कर शांति स्थापित कर निर्माण करती हैं जब कि भाजपा नफऱत कटुता झूठ फैला कर देश में अशांति फैलाती है। अशांति से विध्वंस होता है और शांति से निर्माण होता है।

Kolar News

Kolar News 20 August 2020

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने नष्ट सोयाबीन फसलों का तत्काल सर्वे करवा कर किसानों को राहत राशि देने की मांग की है। उन्होंने सीएम शिवराज को पत्र के माध्यम से मांग करते हुए कहा है कि यह सही वक्त है जब कांग्रेस द्वारा की गयी कर्ज माफ़ी की प्रक्रिया तत्काल शुरू की जाये ताकि, किसानों के नुक्सान की पूरी भरपाई हो सके।   कमलनाथ ने अपने पत्र में कहा कि सीहोर, देवास, हरदा, होशंगाबाद सहित प्रदेश के सोयाबीन उत्पादक जिलों में पीला मोजेक रोग एवं तना छेदक मक्खी के कारण किसानों की सोयाबीन की फसल पूरी तरह नष्ट हो गयी है। इसके कारण किसान जिन्होंने कर्ज लेकर सोयाबीन की फसल उगाई थी उनके सामने संकट खड़ा हो गया है। यह संकट इसलिये भी अधिक गंभीर है क्यूंकि हमारे प्रदेश के किसान कोरोना महामारी के काल में उपज की बिक्री न होने और फसल का उचित मूल्य न मिल पाने से पहले से ही परेशान था। उन्होंने कहा कि किसानों का हितैषी बनने का दावा करने वाली भाजपा सरकार ने विकट परिस्थितियों में भी अब तक किसानों को कोई राहत प्रदान नहीं की है, ना ही इस दिशा में कोई प्रयास किये जा रहे हैं।   पूर्व मुख्यमंत्री ने सीएम शिवराज को पूर्व की घोषणा की याद दिलाते हुए कहा कि इसके पूर्व भी मुख्यमंत्री ने उड़द एवं मूंग को भी समर्थन मूल्य पर खरीदी करने की घोषणा की थी, लेकिन आदतानुसार यह घोषणा भी पूरी नहीं की गयी। समय पर मक्का खरीदी न होने के कारण मक्का किसानों को समर्थन मूल्य का लाभ भी नहीं मिल पाया। स्पष्ट है कि भाजपा सरकार की नीयत और नीति किसानों के प्रति असंवेदनशील है। कमलनाथ ने कहा की कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों के कर्ज माफ़ करने के लिये शुरू की गयी जय किसान फसल ऋण माफ़ी योजना भी भाजपा ने सरकार में आने के बाद बंद कर दी। उन्होंने कहा की इस संकट के समय में सरकार को चाहिए की वह कर्ज माफ़ी की प्रक्रिया फिर से शुरू करे और जून 2020 से शुरू होने वाले तीसरे चरण के कर्ज माफ़ी की प्रक्रिया प्रारंभ करें। उन्होंने फसल बीमा का लाभ भी किसानों को अविलम्ब देने की मांग की। 

Kolar News

Kolar News 20 August 2020

भोपाल। मप्र के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने बुधवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित इस पत्रकार वार्ता में पूर्व मंत्री प्रदेश और केन्द्र सरकार पर जमकर बरसे। इस दौरान उन्होंने युवाओं, बेरोजगारी और अतिथि शिक्षकों के मामले को लेकर सरकार पर चौतरफा हमला बोला।   पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने प्रदेश सरकार पर झूठे सपने दिखाने का आरोप लगाते हुए कहा कि पहले कानून लायें फिर सपने दिखायें। 2करोड़ लोगों को हर साल नौकरी का वादा करके मोदी सरकार 16 करोड़ लोगों की नौकरी खतम कर चुकी है। वर्मा ने कहा कि प्रदेश में शिक्षकों की क्या स्थिति है, लगातार अपनी छोटी-छोटी मांगों को लेकर प्रदेश के सत्तर हजार से अधिक अतिथि शिक्षक सरकार के विरोध में प्रदर्शन तथा आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन प्रदेश की अपरिपक्व शिवराज सरकार इस दिशा में कोई ठोस निर्णय नहीं ले पा रही है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में शिक्षकों की स्थिति अत्यंत खराब हो गई है कोरोना महामारी के चलते शिक्षकों को अपना पेट भरने तक की समस्या खड़ी हो गई है। महंगाई, बेरोजगारी, आर्थिक मंदी के चलते हमारे प्रदेश में बच्चों का भविष्य बनाने वाले शिक्षकों का क्या कसूर है? उनको किस बात की सजा शिवराज सरकार दे रही है? यदि सरकार अन्य कर्मचारियों को वेतन दे सकती है तो अतिथि शिक्षकों को क्यों नहीं?प्रदेश की नींव में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले शिक्षकों की प्रदेश में यह दशा होगी ऐसी कल्पना कभी नहीं की थी।   सरकार पर तंज कसते हुए सज्जन सिंह ने कहा कि आगामी 5 सितंबर को देश शिक्षक दिवस के रूप में मनाएगा लेकिन हमारे प्रदेश में सत्तर हजार से अधिक अतिथि शिक्षक अपनी मांगों को लेकर प्रदेश में प्रदर्शन तथा आंदोलन करेंगे। यह प्रदेश के इतिहास में शर्मनाक दिन होगा, जो सरकार शिक्षकों का पेट नहीं भर सकती उसे शर्म से डूब मरना चाहिये। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि मैं प्रदेश सरकार से निवेदन करता हूँ कि वह अतिशीघ्र इस विषय पर संज्ञान ले और 5 सितंबर शिक्षकों के सम्मान के दिवस के रूप में ही पूरे प्रदेश में मनाया जाए ना कि शिक्षकों के आक्रोश को झेल कर प्रदेश शर्मसार हो।

Kolar News

Kolar News 19 August 2020

भोपाल । यह पहला मौका होगा जब इंग्लैण्ड की प्रख्यात रिसर्च यूनिवर्सिटी लौघ्बोरौघ और प्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण विभाग के मध्य स्पोर्ट्स साइंस रिसर्च के लिये अनुबंध किया जायेगा। खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा है कि जल्द ही भोपाल के बरखेड़ा नाथू स्थित खेल विभाग से आवंटित भूमि पर विश्व-स्तरीय स्पोर्ट्स साइंस सेंटर बनाया जायेगा।   खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया मंगलवार को टी.टी. नगर स्टेडियम में स्पोर्ट्स परफार्मेंस और इन्ज्युरी प्रिवेनशन तथा हाई परफार्मेंस लीडरशिप प्रोग्राम में वेबिनार के माध्यम से शामिल हुई। वेबिनार में संचालक खेल एवं युवा कल्याण डॉ. पवन कुमार जैन, इंग्लैण्ड के लौघ्बोरौघ विश्वविद्यालय के डॉ. मार्क किंग तथा पेटे एल्वे, प्रख्यात ओलम्पियन शूटर अभिनव बिन्द्रा तथा एल्मस फाउण्डेशन के इमरान, स्पोर्ट्स साइंटिंस्ट तथा सभी खेलों के प्रशिक्षक शामिल हुए।   खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि वर्तमान में प्रशिक्षकों को अपनी खेल की समझ की सीमाओं को चुनौती देना होगा। अपनी विधा में वे अनुसंधान करें। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों के प्रदर्शन को बेहतर बनाने की जिम्मेदारी प्रशिक्षकों की होती है। इसके लिये उन्हें नई आधुनिक तकनीकों को जानना होगा। बेहतर प्रदर्शन के लिये महत्वपूर्ण कारक की पहचान करें। खिलाड़ियों की इन्ज्यूरी के कारण और बचाव को समझने के लिये स्पोर्ट्स साइंस को समझना आवश्यक है। इन्ज्यूरी मेकेनिज्म को जानना जरूरी है। खेल मंत्री ने कहा कि प्रदेश की खेल अकादमियाँ सिर्फ अकादमी नहीं थे, अकादमी ऑफ एक्सेलेंस हैं। प्रशिक्षकों को उत्कृष्ट खिलाड़ियों की पहचान होना महत्वपूर्ण है। उत्कृष्टता ही जीत का मंत्र है। उन्होंने कहा है कि कोविड महामारी ने जहाँ एक तरफ हमें अपने घरों में रुकने को मजबूर किया है, वहीं इस दौरान आधुनिक तकनीक को हमारी दिनचर्या में शामिल भी किया है। इसका पूरा फायदा प्रशिक्षकों को लेना चाहिये। सारी जानकारी आज वर्चुअल वर्ल्ड में उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया के प्रख्यात लौघ्बोरौघ विश्वविद्यालय के साथ जुड़ना हमारा सौभाग्य है।   वेबिनार में लौघ्बोरौघ विश्वविद्यालय के डॉ. मार्क किंग ने कहा कि प्रशिक्षक और खिलाड़ी के बीच साझेदारी का संबंध होना चाहिये। वर्तमान में प्रशिक्षकों को खिलाड़ियों के इन्ज्युरी मेकेनिज्म को पूर्ण रूप से समझने की जरूरत है।

Kolar News

Kolar News 18 August 2020

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा की गई प्रदेश के युवाओं को ही सरकारी नौकरियां देने की घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान की घोषणा से प्रदेश के युवाओं में अपार उत्साह है।   प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने मुख्यमंत्री की इस घोषणा के लिए प्रदेश के युवाओं को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि आज भाजपा की सरकार ने मध्यप्रदेश के युवाओं को ही सरकारी नौकरियां देने का जो फैसला किया है, वह ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के संसाधनों पर पहला हक मध्यप्रदेश के लोगों का ही है और प्रदेश सरकार के फैसले ने इस पर मोहर लगा दी है। शर्मा ने इस संबंध में कानून में किए जाने वाले संशोधन के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री एवं कैबिनेट को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि इस फैसले से प्रदेश के युवाओं को शासकीय क्षेत्र में रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध होंगे।

Kolar News

Kolar News 18 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की तीनों वामपंथी पार्टियों माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और सीपीआई (एमएल) ने प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के एजेंडे को लागू करने का आरोप लगाया है। माकपा के राज्य सचिव जसविंदर सिंह, भाकपा के राज्य सचिव अरविन्द श्रीवास्तव और सीपीआई (एमएल) के राज्य सचिव गुरुदत्त शर्मा ने मंगलवार को जारी अपने संयुक्त बयान में कहा है कि सौदेबाजी से सत्ता में आई भाजपा की शिवराज सिंह चौहान सरकार एक ओर साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण का एजेंडा लागू कर रही है तो वहीं दूसरी ओर कारपोरेट घरानों के हितों को लागू करने वाली जनविरोधी नीतियों को अमल में ला रही है।    वामपंथी दलों ने कहा है कि जब प्रदेश में कोरोना फैल रहा था, तब भाजपा सत्ता हथियाने में लगी थी। जब कोरोना की महामारी बढ़ रही थी, तब प्रदेश में न कोई मंत्रिमंडल था और न स्वास्थ्य मंत्री। भाजपा सरकार की इस दिशाहीनता के कारण ही प्रदेश में मरीजों की संख्या 50 हजार के करीब पहुंच गई है, जबकि एक हजार से अधिक लोगों की मृत्यु हो गई है।   वामपंथी दलों ने कहा है कि यह सरकार पूरी तरह दिशाहीन है। चार माह में यह सरकार साढ़े पांच हजार करोड़ का कर्ज बाजार से महंगी दरों से उठा चुकी है। इसकी दिशाहीनता का इससे बड़ा सबूत यह है कि यह सरकार बिना बजट के चल रही है। इस सरकार ने पहले ही दिन सिंधिया की सम्पत्ति को लेकर चलने वाले सारे मुकदमों को वापस लेकर सौदेबाजी का खुलासा किया है। कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले पूर्व विधायकों को न केवल अपना प्रत्याशी घोषित किया है, बल्कि 14 को तो मंत्री भी बना दिया।   वामपंथी दलों का कहना है कि यह सरकार एक ओर जनविरोधी नीतियों को लागू कर रही है, दूसरी ओर कोरोना का बहाना बनाकर धारा 144 के तहत जुलूस, प्रदर्शन, सभा पर प्रतिबंध लगाकर प्रतिरोध की आवाज को दबा रही है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला तो इस हद तक है कि सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने पर ही पुलिस मुकदमे दर्ज हो रहे हैं। श्रमिकों और कर्मचारियों का रोजगार खत्म हो गया है। निजी शिक्षण संस्थायें, गारमेंट्स उद्योग, परिवहन में रोजगार ठप हंै। महिला, दलित और आदिवासी उत्पीडऩ चरम पर है। इन सारे सवालों को लेकर वामपंथी दल आने वाले दिनों में व्यापक अभियान चलायेंगे और इसके लिए वामपंथी, धर्मनिरपेक्ष दलों और संगठनों को एकजुट करेंगे।

Kolar News

Kolar News 18 August 2020

भोपाल। स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इन्दर सिंह परमार ने सोमवार को मंत्रालय में शिक्षकों के लिये ऑनलाइन मानसिक स्वास्थ्य कोर्स श्रंखला का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि विश्‍व के साथ ही देश-प्रदेश कोरोना संकटकाल से लम्बे समय जूझ रहा है। ऐसे में मनोदशा का विचलित होना स्वभाविक है। विद्यार्थियों के मन में अपनी शिक्षा एवं भविष्य को लेकर चिन्ता होना स्वभाविक है। ऐसी विकट परिस्थितियों में भी शिक्षा विभाग बच्चों की पढ़ाई को नियमित बनाने एवं उनकी समस्याओं का समाधान करने के लिये कई नवाचार कर रहा है। इसी क्रम में शिक्षकों के लिये ऑनलाइन मानसिक स्वास्थ्य कोर्स शुरू किया जा रहा है। इससे शिक्षक तनाव और चिंता के वातावरण में भी बच्चों का दृष्टिकोण सकारात्मक बनाकर पढ़ाई कराने के साथ-साथ उनकी चिंताओं एवं समस्याओं का भी निराकरण हो सकेगा।    मंत्री परमार ने कहा कि यह कोर्स शिक्षकों को लिये और अधिक सक्षम एवं कौशलयुक्त बनायेगा। उन्हें आशा है कि शिक्षक इस कोर्स को करने के बाद वातावरण को सामान्य बनाने के लिये कारगर प्रयास करेंगे। मंत्री परमार ने कहा कि यह कोर्स चिंता, तनाव एवं अवसाद से उबारने में कारगर साबित होगा एवं शिक्षक अधिक से अधिक विद्यार्थियों तक इसका लाभ पहुँचायेंगे।   प्रमुख सचिव रश्मि अरूण शमी ने कहा कि कोविड संकटकाल में मानसिक रूप से स्वस्थ रहना और जरूरी हो गया है। इस समय मानसिक समस्याएँ बढ़ रही हैं बच्चे भी अपने भविष्य को लेकर भय और चिंता से ग्रस्त हैं। बच्चों को इस मन:स्थिति से उबारने के लिये शिक्षक को और अधिक कौशलयुक्त होना होगा इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर यह कोर्स प्रारंभ किया गया है। उन्होंने बताया कि यह कोर्स पहली से 12वीं तक के सभी शिक्षकों के लिये होगा। श्रीमती शमी ने बताया कि भारत सरकार के मनोदर्पण पोर्टल पर भी इस विषय से संबंधित मॉड्यूल एवं टूल्स हैं शिक्षक उससे भी लाभ ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि यह कोर्स दीक्षा एप पर उपलब्ध होगा।   आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत ने मानसिक स्वास्थ्य कोर्स श्रंखला के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह कोर्स दीक्षा एप पर 17 अगस्त से शुरू हो रहा है। यह कोर्स सभी कक्षाओं के शासकीय शिक्षकों के लिये उपलब्ध रहेगा। सीएम राईज डिजिटल शिक्षक प्रशिक्षण के तहत 17 अगस्त से 10 सितम्बर तक 7 सेशन्स में मानसिक स्वास्थ्य के संबंध में विस्तृत प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसमें मानसिक स्वास्थ्य परिचय एवं भावनाओं का प्रबंधन, सोच में परिवर्तन एवं क्रोध प्रबंधन, मन की व्यायाम शाला, बच्चों का मानसिक स्वास्थ्य, संवाद, भावनाओं का प्रबंधन एवं सहिष्णुता, क्रोध प्रबंधन, सफलता-असफलता, स्वयं की पहचान और जिन्दगी की ओर विषयों पर प्रशिक्षण दिया जायेगा।

Kolar News

Kolar News 17 August 2020

भोपाल/ इंदौर। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा सरकार के मंत्रियों पर कोरोना की गाईडलाइन का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने प्रदेश के जलसंसाधन मंत्री तुलसी सिलावट पर कोरोना के प्रोटोकाल व गाइडलाइन के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा कि मंत्री सिलावट कोरोना से संक्रमित होकर अरविंदो अस्पताल में भर्ती थे, वे दो दिन पूर्व 14 अगस्त को ही अस्पताल से वे डिस्चार्ज हुए हैं।   सलूजा ने कहा कि रविवार 16 अगस्त को उन्होंने इंदौर में रेसीडेंसी कोठी में अधिकारियों की कोरोना की समीक्षा व जागरूकता के विषय पर बैठक आहूत की। जबकि कोरोना की गाइडलाइन के अनुसार व आईसीएमआर द्वारा तय मापदंड अनुसार उन्हें डिस्चार्ज होने के बाद नियमानुसार 7 दिन होम आईसोलेशन में रहना था लेकिन वे दो दिन बाद ही बैठक ले रहे है। ऐसा कर वे कोरोना की गाइडलाइन व नियमो का मजाक उड़ा रहे हैं। इस हिसाब से तो कोरोना को लेकर जागरूकता की सबसे ज़्यादा आवश्यकता खुद मंत्री सिलावट को ही है।   सलूजा ने कहा कि जबकि हर कोरोना संक्रमित आम व्यक्ति अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद इस नियम का पालन करता है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज से लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा व अन्य कोरोना से संक्रमित मंत्रीगण, विधायकों ने भी इस नियम का पालन किया है। शायद मंत्री सिलावट ने यह इसलिये किया है कि एक दिन बाद ही उनके नेता सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का इंदौर- उज्जैन का दौरा कार्यक्रम है, वो उनके साथ इस दौरे में रहना चाहते है, इसलिये उन्होंने एक दिन पूर्व ही नियमों का उल्लंघन कर दिया।   सलूजा ने कहा कि इसके पूर्व भी मंत्री सिलावट ने भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज से मुलाक़ात की थी और मुख्यमंत्री जब कोरोना पॉजिटिव निकले थे, तब उनकी अपील के बावजूद भी उन्होंने अपनी कोरोना की जाँच देरी से करवायी और रिपोर्ट आने तक भी साँवेर में हज़ारों लोगों से मिलते रहे। ऐसा करकर उन्होंने कई लोगों की जान को ख़तरे में डाला और अभी भी होम आईसोलेशन में रहने की बजाय जिस प्रकार से वे बाहर घुम रहे हैं, कई लोगों की सुरक्षा व स्वास्थ्य को वे लेकर ख़तरा पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कई मंत्रीगण इसी प्रकार कोरोना के प्रोटोकाल का मजाक उड़ा रहे हैं। मुख्यमंत्री की अपील व निर्देशों का उन पर कोई असर नहीं है। ऐसे मंत्रियो को मुख्यमंत्री को तत्काल मंत्रिमंडल से बाहर कर देना चाहिये।

Kolar News

Kolar News 17 August 2020

भोपाल। मप्र में होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले कांग्रेस लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से भाजपा को घेरने की कोशिशों में जुटी हुई है। हालांकि सोशल मीडिया की पोस्ट के चलते कांग्रेस नेताओं पर एफआईआर भी दर्ज हुई है। वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा और आएसएस पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने ट्वीट कर एक विदेशी अखबार में छपी खबर का हवाला देते हुए भाजपा और आरएसएस पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये दोनों संगठन भारत में फेसबुक और व्हाट्सएप को कंट्रोल करते हैं। राहुल गांधी के बयान का पूर्व सीएम और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय ङ्क्षसह ने समर्थन किया है। साथ ही उन्होंने फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग को पक्षपाती रवैया बदलने की सलाह दी है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा ‘राहुल जी ने सही कहा है। फ़ेसबुक को अपना रवैया बदलना चाहिए। देश में नफऱत और धर्म पर भडक़ाने वाले बयानों को फ़ेसबुक पोस्ट होने देती है जो कि उसकी मान्यताओं और घोषित नीति के विपरीत है। मार्क जक़रबर्ग साहब को इस विषय में अपना पक्षपाती रवैया बदलना चाहिए।   वहीं एक अन्य ट्वीट कर दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘भाजपा अब घबराई हुई जब कॉंग्रेस से ग़द्दारी कर भाजपा में गये लोगों का जनता तिरस्कार कर मोहल्लों और गाँवों में नहीं घुसने दे रही है और भाजपा को सोशल मीडिया पर फेक न्यूज़ का समर्थन नहीं मिलने पर शिवराज और महाराज दोनों चिंतित हैं। चंबल का पानी क्रांतिकारी है ग़द्दारों को सबक़ सिखाएगी। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि शिवराज जी इसका मतलब यह नहीं है कि हमारे सोशल मीडिया के योद्धाओं को आप पुलिस पर दबाव डाल कर झूठे प्रकरणों में फँसाएँ। आपने हमारे कई युवाओं को फर्जी मामलों में जेल भेजा है। यहाँ तक मुझ पर भी एफआईआर दर्ज की गई लेकिन एक समान प्रकरण में जब मैंने आपके खिलाफ़ शिकायत की तो आज तक एफआईआर दर्ज नहीं हुई। आपकी पुलिस ने जीतू पटवारी पर भी एफआईआर दर्ज की लेकिन कॉंग्रेस की शिकायत पर एफआईआर दर्ज नहीं की गई। यह दोहरा मापदंड नहीं चलेगा। यह मत भूलिए कुर्सी किसी की सगी नहीं होती।

Kolar News

Kolar News 17 August 2020

आगरमालवा। मध्यप्रदेश के आगरमालवा जिले में कल गिरफ्तार किये गये  उत्तरप्रदेश के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा को शनिवार को तनोडिया थाना पुलिस ने यूपी पुलिस को सौंप दिया है। यूपी पुलिस उन्हें लेकर भदोही के लिए रवाना हो गई है।    आगर मालवा के पुलिस अधीक्षक राकेश सगर ने बताया कि उत्तरप्रदेश पुलिस ने पत्र भेजकर निषाद पार्टी के विधायक पर अपराध दर्ज होने की जानकारी दी थी और गिरफ्तारी में सहयोग करने को कहा था। इसी के आधार पर विधायक विजय मिश्रा को शुक्रवार को जिले के तनोडिय़ा थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया था। वे उज्जैन से महाकाल मंदिर में दर्शन करने के बाद राजस्थान की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान उन्हें हिरासत में लिया गया। इसके बाद विधायक को सख्त सुरक्षा प्रबंध के बीच रखा गया और यूपी पुलिस को उनकी गिरफ्तारी की सूचना दी गई। उत्तरप्रदेश में विधायक मिश्रा के खिलाफ अनेक गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं।   उन्होंने बताया कि विधायक विजय मिश्रा को ले जाने के लिए भदोही पुलिस का दल शनिवार सुबह तनोडिय़ा पुलिस चौकी पहुंचा। इसके बाद विधायक मिश्रा को न्यायाधीश के समक्ष पेश किया गया, जहां से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद विधायक मिश्रा को यूपी पुलिस को सौंपा गया। इसके बाद यूपी पुलिस उन्हें लेकर भदोही के लिए रवाना हो गयी। एसपी राकेश सगर ने बताया था कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने इसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया था।   जानकारी के मुताबिक, शनिवार सुबह विधायक मिश्रा के सैकड़ों समर्थक तनोडिय़ा पुलिस चौकी पहुंचे और यूपी पुलिस को सौंपने का विरोध किया। समर्थकों का कहना था कि यूपी पुलिस उनका एनकाउंटर कर सकती है। इसीलिए उन्होंने मप्र पुलिस की सुरक्षा में उन्हें सुरक्षित यूपी पहुंचाने की मांग भी की।

Kolar News

Kolar News 15 August 2020

इंदौर। प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी राम सिलावट कोरोना को परास्त कर शुक्रवार को अपने घर लौट गए हैं। उन्होंने अरबिंदो अस्पताल के कोविड केयर से छुट्टी मिल गई है। इस अवसर पर उन्होंने कहा है कि वे अब और अधिक ऊर्जा के साथ काम करेंगे।   अरबिंदो अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी राजीव कुमार ने बताया कि गुरुवार रात जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी। शुक्रवार को वे कैबिनेट की वर्चुअल मीटिंग में अस्पताल से ही शामिल हुए। इसके बाद दोपहर करीब एक बजे उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया।   दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद सिलावट ने भी अपना कोरोना टेस्ट करवाया था, जिसके बाद उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद वे अरबिंदो अस्पताल में भर्ती  हुए थे, जहां करीब 17 दिन तक चले उपचार के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया। इस अवसर पर उन्होंने डॉक्टरों का आभार मानते हुए कहा कि अब अधिक ऊर्जा के साथ कोविड -19 का पालन करते हुए सांवेर की जनता की सेवा करूंगा।

Kolar News

Kolar News 14 August 2020

भोपाल। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शुक्रवार को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर प्रदेश की जनता को स्वतंत्रता दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए संबोधित किया। अपने संबोधन में कमलनाथ ने स्वतंत्रता दिवस के बहाने उपचुनाव से पहले जनता को साधने का प्रयास किया। उन्होंने अपने संबोधन में प्रदेश की जनता से कहा कि लोकतंत्र और संविधान को मजबूत करने के लिये आज सभी लोगों को एकजुट होना होगा। उन्होंने नागरिकों का आव्हान किया की वे सच्चाई को पहचानें और सच्चाई का साथ देने का संकल्प लें।   पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि 17 दिसम्बर 2018 को शपथ और 20 मार्च 2020 को इस्तीफा देने के बीच उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में सिर्फ 15 माह ही काम करने का समय मिला। इतने अल्प समय में उनकी सरकार ने बड़े फैसले लिये इसमें सबसे महत्वपूर्ण प्रदेश के 27 लाख किसानों का कर्ज पहले और दूसरे चरण में माफ़ किया। तीसरे चरण में 1 जून 2020 से लगभग 5 लाख किसानों की कर्ज माफ़ी का प्रावधान किया। प्रदेश का नौजवानों का भविष्य सुरक्षित रखने के लिये उद्योग जगत का निवेश के लिये विश्वास बनाने का प्रयास किया। मेरा मानना है की निवेश तभी प्रोत्साहित होता है जब विश्वास का माहौल हो, निवेश बढऩे से नौजवानों को रोजगार मिलता हैं और आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ती है।   अपने संबोधन में आगे कमलनाथ ने कहा मध्यप्रदेश की एक नयी पहचान और प्रोफाइल बने इसके लिये एक नयी शुरुआत की। हमारे प्रदेश की पहचान माफिया और मिलावटखोर बन गए थे, इनके खिलाफ मेरी सरकार ने सख्ती से अभियान चलाया। पंद्रह माह की अपनी उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कमलनाथ ने कहा की आम उपभोक्ताओं को सौ रुपयों में सौ यूनिट बिजली, किसानों को सिंचाई पंप लगाने और बिजली कनेक्शन की राशि कम करने, कन्या विवाह की राशि बढाकर 51 हजार रुपए करने और बुजुर्गों की पेंशन राशि 300 रुपये से बढ़ाकर 600 रुपये करने का निर्णय लिया जिसका लोगों को लाभ भी मिला है।   उन्होंने कहा की गौमाता के संरक्षण और सुरक्षा के लिये पूरे प्रदेश में गौशालाओं के निर्माण की शुरुआत की। देश भर में सबसे ज्यादा गौशाला हमारे प्रदेश में बनी हैं। कर्मचारियों के हित में महंगाई भत्ता बढ़ाने और स्वास्थ्य बीमा जैसे निर्णय लिये, आध्यात्म विभाग का गठन कर राम-वन-गमन-पथ योजना, उज्जैन में बाबा महाकाल मंदिर, ओम्कारेश्वर मंदिर के विकास की योजना और राशि स्वीकृत की। मध्यप्रदेश की जीवन रेखा नर्मदा तथा शिप्रा नदी के संरक्षण का अभियान शुरू किया।   कमलनाथ ने कहा कि आज इस अवसर पर मैं कोरोना महामारी के संकट के इस समय में उन कोरोना वारियर्स को सेल्यूट करता हूँ, जो अपनी जान जोखिम में डाल प्रदेश की जनता की सेवा व सुरक्षा का दायित्व बखूबी निभा रहे है। कोरोना के इस संकट काल में हम प्रदेशवासियो के साथ खड़े है। उन्होंने कहा कि मेरा सपना है की मध्यप्रदेश की एक विशेष पहचान बने, हमारा प्रदेश समृद्ध और विकसित हो। मेरी सरकार ने प्रदेश और जनता के हित में जो योजनायें शुरू की थी वे अधूरी हैं। खुशहाली लाने का दौर जो हमने शुरू किया था वह रुक गया है। मेरे सपनों का मध्यप्रदेश, एक नया मध्यप्रदेश बनाने का मैं आज पुन: संकल्प लेता हूँ।   अपने संबोधन में भाजपा पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि बाबा साहब अम्बेडकर ने जब संविधान बनाया। उन्होंने एक नैतिक एवं सैद्धांतिक राजनीति अपने देश में होगी उसके अनुसार प्रावधान रखेद्य आज संविधान कितने खतरे में है यह चित्र आपके सामने है ? उन्होंने कहा कि हर साल 15 अगस्त  हम सभी के लिये एक नयी प्रेरणा और चुनौती लेकर आता है। हमें इस बार लोकतंत्र और संविधान को मजबूत बनाने के लिये एकजुट होकर आगे आना होगा। आज प्रदेश की तस्वीर आपके सामने है आज के दिन हम संकल्प लें कि हम सच्चाई को पहचानते हुए सच्चाई का साथ देंगे।

Kolar News

Kolar News 14 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने 74वें स्वाधीनता दिवस पर प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।   उन्होंने प्रदेशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि स्वतंत्रता दिवस हमें उन बलिदानियों की याद दिलाता है, जिन्होंने देश की स्वाधीनता के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है। हमें उन्हीं अमर सेनानियों और राष्ट्र नेताओं के सपनों को साकार करने के लिए अपने आप में राष्ट्रीयता की भावना को जागृत करना होगा।   प्रोटेम स्पीकर शर्मा ने अपने संदेश में कहा है कि इस अवसर पर हमें आपसी प्रेम, भाईचारे और परस्पर सहयोग की भावना के साथ मिल-जुल कर देश की एकता एवं अखंडता अक्षुण्ण रखने का संकल्प लेना होगा, ताकि हम देश को प्रगति के पथ पर आगे ले जा सकें।     विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर करेंगे ध्वजारोहण     मध्यप्रदेश विधानसभा सचिवालय में स्वाधीनता दिवस (15 अगस्त) को प्रात: 08:00 बजे ध्वजारोहण होगा। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा विधानसभा सचिवालय प्रांगण में ध्वजारोहण करेंगे तथा परेड की सलामी लेंगे। विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह विधायक विश्राम गृह परिसर में ध्वजारोहण करेंगे। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विधानसभा भवन को आकर्षक रोशनी से सजाया गया है।

Kolar News

Kolar News 14 August 2020

भोपाल। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने कहा कि 37 लाख लोगों को इस माह के अंत तक नि:शुल्क राशन पर्ची उपलब्ध करवाई जायेगी। राशन पर्ची नहीं होने के कारण ये लोग शासन की योजना का लाभ नहीं उठा पा रहे थे।    खाद्य मंत्री ने गुरुवार को विभागीय समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप प्रदेश में अगले माह से सभी को राशन उपलब्ध करवाया जायेगा। राशन पर्ची बनाने का काम इस माह के अंत तक पूर्ण कर लिया जायेगा। सभी कलेक्टर्स को इस संबंध में निर्देशित किया गया है कि वे इस कार्य को 31 अगस्त तक आवश्यक रूप से पूरा कर लें, जिससे अगले माह से हितग्राहियों को राशन पर्ची के आधार पर राशन उपलब्ध करवाया जा सके।   खाद्य मंत्री सिंह ने बताया कि वन नेशन-वन राशन कार्ड योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश का श्रमिक यदि प्रदेश के बाहर काम करना चाहता है तो उसे प्रदेश के बाहर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जायेगा।इसके लिए उसे संबंधित जिले के कलेक्टर कार्यालय में अपना पंजीकरण कराना होगा, जिससे उसे वांछित स्थान पर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा सके।   बैठक में संचालक खाद्य तरूण पिथोड़े ने बताया कि विभाग वेयर हाऊस के निर्माण के संबंध में अशासकीय व्यक्ति को विभागीय एक्सपर्ट उपलब्ध करवाने की व्यवस्था करेगा। इस सुविधा का लाभ संबंधित व्यक्ति अथवा संस्था एक निश्चित शुल्क जमाकर ले सकेगी। वेयर हाऊस के क्षेत्र में काम करने वालों को मदद मिलेगी। विभागीय बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य फैज़ अहमद किदवई, संचालक खाद्य तरूण पिथोड़े एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

Kolar News

Kolar News 13 August 2020

राजगढ़। पिछले कुछ माह से नगरपालिका और स्थानीय प्रशासन नागरिकों की समस्याओं के प्रति असंवेदनशील रवैया अपनाए हुए है, जिससे आमजन हताहत है। भाजपा नेता रवि बड़ोने ने गुरुवार को तथ्यात्मक रुप से जानकारी देते हुए कलेक्टर नीरज कुमार सिंह को आमजन की समस्याओं से अवगत कराया।    इनमें मध्यप्रदेश और राजस्थान के संगम राजगढ़ चौराहे पर ड्रेनेज के उचित प्रबंध के अभाव में बारिश के दौरान आमजन और यात्रियों को जूझना पड़ता है, चौराहे पर स्थित अंडरब्रिज में दो फीट तक पानी भरा रहता है, ऐसे में हरवर्ग के लोगों को परेशानी हो रही है, इस समस्या पर नगरपालिका और स्थानीय प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है, यद्यपि सड़क मप्र.सड़क विकास निगम द्वारा निर्मित की गई, लेकिन जल निकासी को लेकर नपा और स्थानीय प्रशासन कोई भी गंभीर नहीं है। वहीं जिम्मेदारों ने कोरोना के नाम पर नगर की 10 हजार से अधिक आबादी को पिछले दो माह से 12 घंटे के लिए कैद कर रखा है, आपात स्थिति में बुजुर्गों को इस कैदखाने से निकालने में परिजनों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिसमें कई चोटिल भी हुए है।   भाजपा नेता ने बताया कि अगर प्रशासन सामाजिक दूरी की बात करे तो जिन स्थानों पर बेरीकेट्स लगाए गए हैं, वह मार्ग संकुचित है, जिनमें निकलने वालों की भीड़ निर्देशों का माखौल उड़ाती नजर आती है। प्रशासन द्वारा जिन मार्गाें को प्रतिबंधित किया है, वहां जरुरत की दुकानें है, ऐसे में हररोज आमजन को इस मार्ग से गुजरना ही पड़ता है, लेकिन प्रशासन हठधर्मिता दिखाते हुए असंवेदनशील रुख अपनाए हुए है। ऐसी दशा में इन मार्गों में कचरा वाहन नही पहुंच रहे, जिससे चहुंओर गंदगी के ढ़ेर लगे नजर आते है। नगर में जब जनप्रतिनिधियों के रुप में व्यवस्थाओं का संचालन किया जाता था तब तक बेहतर था, लेकिन वर्तमान में प्रशासक के तौर पर आमजन पर अंकुश लगाने के अलावा कोई कार्य नही किया जा रहा है। इन समस्याओं के अलावा गंदगी, पेयजल की समस्याओं से आमजन पीड़ित है।

Kolar News

Kolar News 13 August 2020

भोपाल। भारतीय वैज्ञानिक विक्रम अंबालाल साराभाई की आज बुधवार को 101 वीं जंयती है। 12 अगस्त 1919 को अहमदाबाद में जन्में विक्रम साराभाई ने भारत को अंतरिक्ष तक पहुंचाया। उन्हें आज पूरा देश याद कर रहा है। उनको भारत के स्पेस प्रोग्राम का जनक माना जाता है। उन्होंने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की स्थापना की थी। विक्रम साराभाई की जयंती पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी है।   मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विक्रम साराभाई को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक डॉ. विक्रम साराभाई की जयंती पर कोटिश: नमन। डॉ.साराभाई मां भारती के गुणी सपूत और महान स्वप्नद्रष्टा थे। आपने अनेक लोगों को स्वप्न देखना और उसे साकार करना सिखाया। भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम की सफलता इसका जीवंत प्रमाण है। आपको सादर प्रणाम!   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा ‘अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में भारत को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले प्रसिद्ध भौतिक वैज्ञानिक डॉ. विक्रम साराभाई जी की जयंती पर शत् शत् नमन।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में कहा ‘भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान के संस्थापक, भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान के जनक, पद्म भूषण, पद्म विभूषण से सम्मानित डॉ. विक्रम साराभाई जी की जयंती पर कोटि-कोटि नमन।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने संदेश में कहा ‘भारत को अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय नक्शे पर स्थापित करने वाले स्वप्नद्रष्टा और महान वैज्ञानिक डॉ. विक्रम साराभाई की जयंती पर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि।   भाजपा सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट कर कहा ‘भारत के प्रमुख वैज्ञानिक तथा भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक स्व. श्री विक्रम साराभाई को उनकी जयंती पर सादर नमन। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा ‘अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में भारत को अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर पहचान दिलाने वाले भारत के प्रमुख वैज्ञानिक, पद्म भूषण एवं पद्म विभूषण डॉ. विक्रम साराभाई जी की जयंती पर सादर नमन। 

Kolar News

Kolar News 12 August 2020

भोपाल। आज यानि बुधवार को प्रदेश समेत पूरे देश में कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जा रही है। जन्माष्टमी हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है, लेकिन कोरोना के कारण इस बार लोग मंदिर में दर्शन नहीं कर पाएंगे। भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 11 अगस्त को ही लग जाएगी, लेकिन 12 अगस्त को सूर्योदय की तिथि मनाने के कारण जन्माष्टमी 12 अगस्त को भी मनाई जा रही है। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने प्रदेशवासियों को जन्माष्टमी की शुभकामनाएं देते हुए खुशहाली की कामना की है।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा ‘ॐ कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। प्रणत: क्लेशनाशाय गोविंदाय नमो नम:। श्रीकृष्णजन्माष्टमी की आपको आत्मीय बधाई! इस पावन पर्व पर कान्हा को प्रणाम और यही प्रार्थना कि हे प्रभु देश एवं दुनिया पर अपने आशीर्वाद की मंगल वर्षा कीजिए। रोग, शोक से मुक्त कीजिए, सबका मंगल कीजिए। श्रीकृष्णजन्माष्टमी की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं! एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘आइये, हम सभी भगवान श्री कृष्ण द्वारा बताए गए कर्मयोग, भक्तियोग और ज्ञानयोग को आत्मसात कर अपना जीवन देश की सेवा और गरीब के कल्याण के लिए समर्पित करते हुए सार्थक करें।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने शुभकामना संदेश में कहा ‘सभी देशवासियों को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने जन्माष्टमी पर्व पर शुभकामनाएं दी है। साथ ही उन्होंने श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवा। भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव कृष्णजन्माष्टमी के अवसर पर श्री पितरेश्वर मंदिर पर बाल गोपाल का अभिषेक किया।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने शुभकामना संदेश में कहा ‘भगवद गीता के माध्यम से पृथ्वीलोक पर अपनी ईश्वरीय वाणी में दुनिया को जीवन का सार और आधार समझाने वाले भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी पर सभी को बधाई। आपके और आपके परिजनों पर हमेशा श्रीकृष्ण की कृपा बनी रहे।

Kolar News

Kolar News 12 August 2020

भोपाल। भोपाल की पूर्व महापौर, गोविन्दपुरा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय बाबूलाल गौर की पुत्रवधु कृष्णा गौर की माता जी का निधन हो गया। बुधवार को सुबह 11 बजे इंदौर के काछी मोहल्ला स्थित विश्राम घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया। यह जानकारी उन्होंने स्वयं ट्वीट के माध्यम से दी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनकी माताजी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि - ‘पूजनीय माताजी के निधन के समाचार से दु:ख हुआ, उनके चरणों में श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। दु:ख की इस घड़ी में मैं परिवार के साथ हूं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति और परिजनों को यह गहन दु:ख सहने की शक्ति दें। ॐ शांति!’

Kolar News

Kolar News 12 August 2020

मुरैना। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री ऐंदल सिंह कंषाना सुमावली विधानसभा में तो निरंतर भ्रमण कर लोगों की समस्याओं को दूर कर ही रहे हैं. साथ ही वह भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से भी उनके घर जाकर मेल मुलाकात कर रहे हैं। पिछले दिनों वह जहां सुमावली के पूर्व विधायक गजराज सिंह सिकरवार से मिलने उनके निवास पर पहुंचे थे। वहीं मंगलवार को उन्होंने मुरैना के पूर्व विधायक परशुराम मुदगल से मुलाकात की है।   मुरैना के पूर्व विधायक परशुराम मुदगल से मिलने पीएचई मंत्री ऐंदल सिंह कंषाना उनके घर पहुंचे। इस अवसर पर परशुराम मुदगल ने मंत्री ऐंदल सिंह को पकड़ी बांधकर उनका स्वागत किया। इस मौके पर मुदगल ने मंत्री कंषाना का स्वागत किया। पीएचई मंत्री ऐंदल सिंह कंषाना भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मंडल अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह यादव के निवास पर भी पहुंचे। यहां पर भी मंत्री कंषाना का भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया।

Kolar News

Kolar News 11 August 2020

भोपाल। गृह एवं जेल मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को कोरोना समीक्षा बैठक के दौरान ग्वालियर के कोविड वार्ड में विगत तीन दिनों से किसी भी वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी द्वारा भ्रमण नहीं करने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि पिछले तीन दिनों में ग्वालियर के कोरोना वार्ड में जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन अथवा मेडिकल कॉलेज के डीन द्वारा मरीजो की चिकित्सा व्यवस्था का जायजा नहीं लेना आपत्तिजनक होकर लापरवाही दर्शाता हैं। डॉ. मिश्रा ने कलेक्टर ग्वालियर को वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों का नियमित भ्रमण सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।   जेलों में चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाई जाएं   गृह एवं जेल मंत्री डॉ. मिश्रा ने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान से कहा कि जेलों में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए चिकित्सा सुविधाओं में विस्तार किया जाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की समस्त जेलों में रेंडमली कोरोना की टेस्टिंग कराया जाना जरूरी हैं। इससे जेलों में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकेगा साथ ही कोरोना की चेन को तोड़ने में भी मदद मिल सकेगी। डॉ. मिश्रा ने बन्दियों को जेलों से अस्पताल में शिफ्ट करने से पूर्व सभी आवश्यक जाँच करते हुए सावधानी बरतने को कहा हैं। डॉ. मिश्रा ने कोरोना समीक्षा बैठक मे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से अनुरोध किया कि महानिदेशक जेल को ग्वालियर जेल के भ्रमण के निर्देश प्रसारित करें।

Kolar News

Kolar News 11 August 2020

  भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को प्रदेश के किसानों को यूरिया की समुचित उपलब्धता कराने को लेकर व यूरिया की कालाबाज़ारी रोकने को लेकर पत्र लिखा है। साथ ही उन्होंने मांग की है कि किसानों को समय रहते सही कीमतों में यूरिया उपलब्ध करवाया जाए।   कमलनाथ ने अपने पत्र में कहा है कि आपकों विदित होगा कि प्रदेश में खरीफ फसलों की बुआई संपन्न हो चुकी है। एवं वर्तमान में किसान भाईयों को यूरिया की अत्यधिक आवश्यकता है। परंतु संपूर्ण प्रदेश में यूरिया की आपूर्ति अत्यंत न्यून है एवं किसाना भाईयों को आवश्यकता के समय यूरिया उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। जिलों में किसानों को आवश्यकता के अनुरूप यूरिया का वितरण नहीं किया जा रहा है। कमलनाथ ने कहा कि सहकारी समितियों के माध्यम से यूरिया की उपलब्धता सुलभता से न होने के कारण किसान भाईयों को निजी विक्रेताओं से अधिक कीमत पर यूरिया क्रय करना पड़ रहा है। सेन्ट्रल लॉक से ही नगद विक्रय होने के कारण किसान भाईयों को 25- 30 किमी दूर तक खाद लेने जाना पड़ रहा है और किसान भाई परेशान हो रहे है। इससे यूरिया की कालाबाजारी को भी बढ़ावा मिल रहा है। यूरिया की अनुपलब्धता के कारण संपूर्ण प्रदेश के किसानों में रोष व्याप्त है और सरकार के प्रयास गंभीर प्रतीत नहीं हो रहे हैं। यह स्थिति अत्यंत चिंतनीय है।   कमलनाथ ने आगे अपने पत्र में कहा है कि अत: आपसे अनुरोध है कि विषय की गंभीरता का संज्ञान लेते हुए प्रदेश के किसान भाईयों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद उपलब्ध हो इस हेतु उच्च स्तरीय प्रयास करें एवं जिलों में यूरिया के वितरण की व्यवस्था में समुचित सुधार हेतु आवश्यक कड़े निर्देश प्रदान करें, जिससे प्रदेश के किसान बंधुओं को समय पर एवं पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद मिले ताकि वे भरपूर पैदावार कर सकें।  

Kolar News

Kolar News 11 August 2020

भोपाल/निवाड़ी। मध्यप्रदेश में कोरोना संकट के बीच साइबर क्राइम में तेजी से इजाफा हो रहा है। बदमाशों द्वारा फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लोगों से रुपयों की मांग की जा रही है। ऐसा ही मामला अब निवाड़ी जिले में सामने आया है। यहां के विधायक अनिल जैन की फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर लोगों से पैसों की मांग की जा रही है। इसकी जानकारी लगते ही विधायक जैन ने थाने में प्रकरण दर्ज कराया है।   निवाड़ी थाना प्रभारी नरेन्द्र जैन के मुताबिक, विधायक अनिल जैन द्वारा रविवार देर रात शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि अज्ञात बदमाश द्वारा फेसबुक पर उनकी फर्जी आईडी बनाई और उनके नाम से लोगों को पैसों की मांग करते हुए संदेश भेजे जा रहे हैं। मैसेज में पेटीएम एकाउंट का नम्बर भी दिया गया है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले को साइबर सेल को सौंप दिया है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।    प्रदेश में फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर पैसों की मांग करने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले सिवनी जिले में एक सप्ताह पूर्व ही सिवनी तहसीलदार की फर्जी फेसबुक आईजी के माध्यम से एक पत्रकार से पैसों की मांग की गई थी। वहीं, 15 दिन पूर्व उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह की फर्जी फेसबुक आईडी का मामला भी सामने आए थे। इससे पहले रीवा जिले के देवतालाब क्षेत्र से भाजपा विधायक गिरीश गौतम के साथ ही यह घटना घट चुकी है। इन सभी मामलों में अभी तक आरोपितों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

Kolar News

Kolar News 10 August 2020

  भोपाल। एक निजी कंपनी द्वारा रेलवे के 5284 पदों पर नियुक्ति का विज्ञापन देकर पांच राज्यों के अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे थे। रेल मंत्रालय द्वारा इस भर्ती को फर्जी बताया है। मध्यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने रेलवे के इस फर्जी भर्ती मामले की जांच की मांग की है।    दिग्विजय सिंह ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि - ‘कोरोना संकट काल में हर कोई इस आपदा में अवसर निकाल कर लोगों को ठग रहे हैं। रेल मंत्रालय को तत्काल इसकी जांच के आदेश देकर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करना चाहिए। और जो युवा ठगे गए हैं, उन्हें उनकी राशि वापस करवाना चाहिए।’ दिग्विजय सिंह ने देवाशीष जरारिया के उस ट्वीट को भी साझा किया है, जिसमें उन्होंने यह मामला उठाया था। उन्होंने इस मामले को उजागर करने के लिए देवाशीष को बधाई दी है।  

Kolar News

Kolar News 10 August 2020

भोपाल। कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे वरिष्ठ कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा एक बार फिर भाजपा पर जमकर बरसे हैं। प्रदेश की शिवराज सरकार पर किसानों के नाम पर घडिय़ाली आंसू रोने का आरोप लगाते हुए उन्होंने जमकर आरोप लगाए। साथ ही यह भी कहा कि एक दिन भाजपा के चेहरे से झूठ का नकाब जरूर उतरेगा।   पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने रविवार को मीडिया से बातचीत करते हुए अनाज की कालाबाजारी को लेकर पूर्व मंत्री ने भाजपा को जमकर घेरा। उन्होंने सागर, देवास जिले में भारी मात्रा में पीडीएस का गेहूँ फिर चावल पकड़ाए जाने की घटना को लेकर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा के नेता कालाबाजारी ने माहिर है। गऱीब के मुँह/पेट का निवाला छीनते हुए शर्म आना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरा दुर्भाग्य कि देवास में गेहूँ, चावल पकड़ा रहा है। ये अंधेर भाजपा के शासनकाल में हो रही है और एसपी, कलेक्टर सो रहे हैं।   पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि लेकिन एक दिन आएगा जब भाजपा के चेहरे से नकाब उतरेगा। सागर में मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के इलाके से 8 ट्रक पकड़ाए थे, पूरे मप्र को शिवराज सिंह चौहान ने कालाबाजारी का अड्डा बना दिया है और किसानों के नाम पर झूठे घडिय़ाली आंसू बहाते रहते है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि हमारी मांग है कि हमने 22 लाख किसानों का कर्जा माफ किया था, बाकी के किसानों का अब तुम माफ करो। नहीं तो 2 महीने बाद तुम्हारी सत्ता जाएगी, हम फिर आकर माफ करेंगे।  

Kolar News

Kolar News 9 August 2020

भोपाल। भारत छोड़ो आंदोलन के वर्षगांठ पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के निवास पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान कमलनाथ ने स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान किया।   कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा कि हम एकत्र हुए है उनको याद करने के लिए जिनके बलिदान के चलते हम यहां खड़े है। महात्मा गांधी ने भारत छोड़ो आंदोलन का बिगुल बजाया था। इस आंदोलन में सभी समाज ओर वर्ग के लोग जुड़े उनके बलिदान से ब्रिटिश हुकूमत को उखाड़ फेंका था। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने इस मौके पर सभी स्वतंत्रा सेनानियों को स्मरण करते हुए कहा कि आज हम अपने संविधान की रक्षा कैसे करे ये याद रखना होगा। हमारा संविधान ने सभी वर्गों का हित किया था। कमलनाथ ने कहा कि आज चुनौती है कि हम किस प्रकार का देश चाहते है, हमारे संविधान देने वालो ने कभी नही सोचा था कि इतनी गिरावट आएगी। नौजवानों को अब सोचना होगा कि हमारा भारत कैसा हो।

Kolar News

Kolar News 9 August 2020

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने युवा कांग्रेस के स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने भारतीय युवा कांग्रेस की मुहिम ‘रोजगार दो’ का समर्थन करते हुए कहा है कि देश भाषण से नहीं, रोजगार से चलेगा। देश युवाओं का भविष्य संवारने से बचेगा।   वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने रविवार को भारतीय युवक कांग्रेस कमेटी के स्थापना दिवस पर ट्वीट पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने वादा किया था कि हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देंगे। लोगों को रोजगार तो मिला नहीं, लेकिन उन्होंने लोगों को बेरोजगार जरूर कर दिया। पहले नोटबंदी और फिर जीएसटी ने लोगों को बेरोजगार किया। इतना ही नहीं, कोरोना से लडऩे के लिए उन्होंने जो रास्ता अपनाया, उससे और ज्यादा लोग बेरोजगार हुए। आज उद्योग, व्यवसाय, धंधे चौपट हैं और लोगों को रोजगाद देने की बजाय नौकरी से निकाला जा रहा है।   उन्होंने भारतीय युवक कांग्रेस द्वारा चलाये जा रहे हेश टैग रोजगार दो अभियान का समर्थन करते हुए लोगों से अपील की है कि वे भी इस अभियान से जुड़ें। आज के समय में रोजगार हमारी प्राथमिकता होना चाहिए। मुझे उम्मीद है कि आप सभी लोग इससे जुड़ेंगे।

Kolar News

Kolar News 9 August 2020

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा सरकार द्वारा कांग्रेस की सरकार के फैसलों के लिए मंत्री समूह गठित किए जाने पर निशाना साधा है। प्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि शिवराज सरकार बार-बार मंत्री समूह गठित करके अपनी कमियों को छुपा रही है और हंसी की पात्र बन रही है।    प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने एक बयान जारी कर शिवराज सरकार द्वारा पिछली कांग्रेस सरकार के फैसलों की समीक्षा के लिए मंत्री समूह गठित करने की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि इससे ऐसा प्रतीत होता है कि कमलनाथ सरकार के जन कल्याणकारी फैसलों से शिवराज सरकार डर गई है और घबराहट में लिए गए ऐसे अव्यवहारिक निर्णय से सरकार हंसी की पात्र बन गई है। उन्होंने कहा कि अनैतिक रूप से बनाए गए मंत्री अब संवैधानिक रूप से नियुक्त पूर्व कांग्रेसी मंत्रियों के फैसलों की जांच करेंगे। उन्होंने प्रश्न किया है कि मंत्रियों की पहली कमेटी की रिपोर्ट उजागर क्यों नहीं की जा रही? ऐसा लगता है कि पहली समिति ने अनजाने में ही व्यापम कांड, सिंहस्थ घोटाला, वृक्षारोपण फर्जीवाड़ा, ई टेंडर घोटाला, डंपर कांड, किसानों पर गोली चालन, नर्मदा यात्रा आदि तमाम घटनाओं की जांच तो नहीं कर ली। उन्होंने कहा कि विधायक चुने बिना मंत्री बनाए गए कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों की रगों में भाजपा का खून अभी तक नहीं दौड़ पा रहा है,  इसीलिये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को दोबारा मंत्रियों की कमेटी बनाना पड़ी है । गुप्ता ने कहा कि कमेटी के सदस्य राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत अब अपने पूर्व सरकार में लिये फैसलों की समीक्षा किस हैसियत से करेंगे? पुरानी कमेटी के सदस्य मंत्री तुलसी सिलावट भी क्या अपने फैसलों की समीक्षा खुद ही करेंगे? यह शिवराज सिंह को स्पष्ट करना चाहिए।

Kolar News

Kolar News 8 August 2020

दतिया। आमतौर पर चौक- चौराहों पर पुलिस चेकिंग के दौरान आम आदमी की पुलिस से बहस होते तो सभी ने कई बार देखा है। मप्र के दतिया में शनिवार को कुछ ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला, लेकिन इस बार पुलिस से बहस आम आदमी की नहीं बल्कि सेंवड़ा से कांग्रेस विधायक घनश्याम की हो गई। यहां सडक़ पर वाहन चेकिंग कर रहे पुलिसकर्मियों को देखकर कांग्रेस विधायक भडक़ गए और ड्यूटी पर तैनात ट्रैफिक पुलिस प्रभारी को फटकार लगा दी।   दरअसल रोजाना की तरह जिले की सेवड़ा दतिया रोड पर न्यू बायपास के पास पुलिस चेकिंग कर रही थी। इस दौरान अचानक से कांग्रेस विधायक घनश्याम सिंह वहां पहुंच गए और फिर पुलिस कर्मियों से बहस कर बैठते हैं। विधायक के तेवर देख ट्रैफिक पुलिस भी सकते में आ गई। विधायक घनश्याम सिंह ने पुलिस पर उनकी विधानसभा के लोगों को परेशान करने का आरोप भी लगाया। विधायक को वाहन चेकिंग से इतनी आपत्ति थी कि उन्होने पुलिस वालों को वहां से चेकिंग हटाने और चले जाने तक के लिए कह दिया। विधायक घनश्याम सिंह पुलिसकर्मियों से कहने लगे कि पूरे जिले में चेकिंग करो केवल मेरी विधानसभा में ही क्यो लोगों को परेशान कर रहे हो।

Kolar News

Kolar News 8 August 2020

भोपाल। कोरोना संकट काल में मध्य प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका भी कोरोना योद्धा की भूमिका निभा रही है। ऐसी स्थिति में प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को पिछले चार माह से आधे मानदेय पर गुजारा करना पड़ रहा है। प्रदेश सरकार से अतिरिक्त मानदेय का बजट न मिलने के कारण, कार्यकर्ताओं को केवल केन्द्र सरकार से मिलने वाले मानदेय से गुजारा करना पड़ रहा है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं का मानदेय अटकने के मामले में कांग्रेस आक्रामण हो गई है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने सरकार पर निशाना साधते हुए तत्काल सरकार से मानदेय उपलब्ध कराने की मांग की है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय कटौती पर सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि ये कैसी सरकार? कोरोना की भीषण महामारी में अपनी जान जोखिम में डाल घर- घर जाकर कोरोना योद्धा की की भूमिका निभा रही आँगनवाडी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को पिछले चार माह से आधा मानदेय ही दिया जा रहा है। राज्य की भाजपा सरकार मानदेय में शामिल अपने अंश को नहीं मिला रही है। रक्षाबंधन पर्व पर भी पूरा मानदेय नहीं दिया गया।   कमलनाथ ने कहा कि इनकी सेवाओं को देखते हुए तो इनको अलग से भी प्रोत्साहन राशि दी जाना चाहिये, लेकिन खुद को मामा कहलाने वाले बहनों को संकट की इस घड़ी में पूरा मानदेय तक नहीं दे रहें। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि मैं सरकार से माँग करता हूँ कि तत्काल सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं को उनका पिछले चार माह का बाक़ी मानदेय प्रदान किया जाए।

Kolar News

Kolar News 6 August 2020

शिवपुरी। वरिष्ठ भाजपा नेता और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछोर में स्थापित बाबा साहब डॉ भीम राव अम्बेडकर की प्रतिमा के खंडन की तीव्र शब्दों में भर्त्सना की है। साथ ही उन्होंने शिवपुरी जिला प्रशासन को निर्देश दिया है कि जिन आसामाजिक तत्वों ने इस घटना को अंजाम दिया है, उन्हें चिन्हित करके उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।   सिंधिया ने गुरुवार को जारी अपने वक्तव्य में कहा कि जिन बाबा साहब अम्बेडकर ने हमारे देश का संविधान तैयार किया, उनके प्रति पूरे देश की अगाध श्रद्धा है, ऐसी घटनाओं से मन को आघात एवं पीड़ा पहुँचती है, प्रयास हो कि भविष्य में इस प्रकार की घटनाएं घटित न हों। सिंधिया ने शिवपुरी जि़ला प्रशासन को ये भी निर्देश दिया है कि बाबा साहब की प्रतिमा को तुरंत दुरुस्त कराकर पुराने स्वरूप में पूरी गरिमा के सम्मान के साथ स्थापित किया जाए।

Kolar News

Kolar News 6 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजदानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां अब कोरोना के 157 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या आठ हजार के पार पहुंच गई है। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री तुलसीराम सिलावट की बहन की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इसके बाद मंत्री का बंगला सील कर दिया गया है। इससे पहले मंत्री सिलावट स्वयं संक्रमित पाए गए थे और उनका इंदौर के अरविंदों अस्पताल में उपचार जारी है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएमजी मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 2060 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 157 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इन 157 नये मामलों के साथ जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 8014 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 325 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि अब तक इंदौर में 5729 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1960 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   बता दें कि गत दिनों मंत्री तुलसीराम सिलावट कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद उन्हें अरविंदो अस्पताल में भर्ती किया गया था और उनके परिजनों के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेजे गए थे। इसके बाद उनकी पत्नी और बेटे भी संक्रमित पाए गए थे। अब उनकी बहन की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मंत्री का बंगला सील कर दिया गया है और वहां पुलिस बल तैनात कर आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। मंत्री सिलावट का उपचार अरबिंदो अस्पताल में जारी है। डॉ. रवि डोसी ने बताया कि मंत्री की तबीयत पहले से बेहतर है। उनकी बहन भी संक्रमित हुई हैं, लेकिन उनमें कम लक्षण है।

Kolar News

Kolar News 6 August 2020

भोपाल। अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के भूमिपूजन के पावन अवसर को देखते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने बुधवार शाम को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के मुख्यद्वार पर भगवान श्री राम की तस्वीर के सामने दीप प्रज्वलित कर दीपोत्सव का शुभारम्भ किया। उन्होंने इस अवसर पर आरती कर, भगवान श्रीराम का पूजन किया।इस पवित्र अवसर को देखते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के निर्देश पर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय को भव्य तरीके से सजाया गया। रंगारंग आतिशबाजी इस अवसर पर की गयी। पूरे कार्यालय को रंगबिरंगी रोशनी से सजाया गया। साथ ही बैंड की धुन पर मधुर संगीतमय भजनों की प्रस्तुति होती रही। पूरा कांग्रेस कार्यालय जय-जय श्रीराम के नारों से गूंजता रहा। पूरे कार्यालय के भवन पर दीप जलाकर दीपोत्सव मनाकर खुशी व हर्ष जाहिर की गयी।   इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचैरी, नर्मदा प्रसाद प्रजापति, सज्जन वर्मा, विजयलक्ष्मी साधो, चंद्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, राजीव सिंह, भूपेन्द्र गुप्ता, मांडवी चौहान, राजकुमार पटेल, अभय दुबे, जे.पी. धनोपिया, रवि सक्सेना, दुर्गेश शर्मा, विवेक त्रिपाठी सहित अनेक कांगे्रसजन उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 5 August 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा कोविड-19 की प्रदेश में स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के नागरिकों को इलाज के लिए प्रदेश के बाहर न जाना पड़े ऐसी व्यवस्था करना आवश्यक है। स्वास्थ्य के मामले में प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जिला चिकित्सालयों, चिकित्सा महाविद्यालयों और उनसे संबद्ध चिकित्सालयों की स्थिति में सुधार के लिए अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में मानव संसाधन तथा तकनीकी संसाधनों की कमी को दूर कर इस प्रकार की व्यवस्था स्थापित करने की आवश्यकता है कि प्रदेश के लोगों को संपूर्ण उपचार प्रदेश में ही मिल सके। इसके लिए विभागीय कैडर में आवश्यक सुधार सहित अन्य कमियों को भी समय-सीमा में दूर किया जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यालयों तथा संस्थाओं में विशेष सावधानी की आवश्यकता है। यहां एक व्यक्ति में संक्रमण होने से कई व्यक्ति प्रभावित होते हैं। उन्होंने निर्देश दिए कि कार्यालयों में कोरोना से बचाव के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों में लापरवाही करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कोरोना की स्थिति से निपटने के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान आरंभ करने की आवश्यकता भी बतायी। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के ग्रामीण बाजारों में आरंभ किए गए जागरूकता अभियान की जानकारी ली।हर एक प्रकरण एक चुनौतीमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण का बढ़ता हर एक प्रकरण खतरे की घंटी और चुनौती है। इसके प्रति पूरी सावधानी और सतर्कता आवश्यक है। निजी अस्पतालों को भी यह निर्देश दिए जाएं कि उनके यहां आने वाले मरीजों में कोरोना के लक्षण दिखने पर उन्हें तत्काल कोविड केयर सेंटर अथवा उपयुक्त डेडीकेटेड सेंटर में रैफर किया जाए। प्रदेश में रेपिड एंटीजन टेस्ट बढ़ाने के लिए आवश्यक व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए।होम आयसोलेशन को प्रोत्साहित किया जाएमुख्यमंत्री ने कहा कि आईसीएमआर की अद्यतन गाईड लाइन का पालन सुनिश्चित करते हुए प्रदेश में होम आयसोलेशन तथा क्वारेंटाइन को प्रोत्साहित किया जाए। ऐसे व्यक्तियों की प्रभावी मॉनीटरिंग एप तथा अन्य माध्यमों से सुनिश्चित की जाए।रीवा तथा झाबुआ की समीक्षामुख्यमंत्री ने रीवा तथा झाबुआ की स्थिति की समीक्षा के दौरान टेस्टिंग तथा कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाने के निर्देश दिए। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि केवल अत्यावश्यक परिस्थितियों में ही झाबुआ से बाहर यात्रा की अनुमति दी जाए। मंत्री डॉ. चौधरी ने रीवा में जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता भी बतायी।रिकवरी रेट में हुआ सुधारअपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश के रिकवरी रेट में लगातार सुधार हो रहा है। वर्तमान में यह 72.9 प्रतिशत है। प्रदेश में वर्तमान में 8 हजार 741 एक्टिव केस हें तथा अब तक 26 हजार 64 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। वीडियो कान्फ्रेंस में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस तथा अन्य अधिकारियों ने भाग लिया।

Kolar News

Kolar News 5 August 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि सोशल डिस्टेसिंग अर्थात दो-गज की दूरी का ध्यान रखने, सदैव मास्क का उपयोग करने और साबुन या सेनेटाईजर से बार-बार हाथ धोने के नियमों का पालन कर स्वयं की कोरोना से रक्षा करें। इन उपायों से कोरोना किसी के पास फटक नहीं सकता। किसी भी तरह की लापरवाही न बरतें। मुख्यमंत्री चौहान ने समस्त कोरोना वॉरियर्स को धन्यवाद दिया जो दिन रात रोगियों की सेवा कर रहे हैं।   मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को भोपाल के चिरायु अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद आमजन के नाम संदेश में कहा कि कोरोना के लक्षण दिखते ही जांच अवश्य करवायें। वायरस से प्रभावित होने की बात छिपाई नहीं जाना चाहिए। इससे व्यक्ति स्वयं, अपने परिजन और आसपास के लोगों के लिए संकट का कारण बन सकता है। कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। समय पर उपचार से कोरोना को पराजित किया जा सकता है। यह लाइलाज बीमारी नहीं है। साथ ही यह भी प्रयास करें कि कोरोना हो ही नहीं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वे स्वयं कोरोना योद्धा हैं। इस बीमारी से बाहर निकल कर आए हैं। अनुभव के आधार पर यही कहना आवश्यक लगता है कि घबराने की आवश्यकता नहीं। सरकार ने इलाज की सभी व्यवस्थाएं की हैं, लेकिन कोशिश यह हो कि इलाज की नौबत ही न आए।   बाजारों में भीड़ न बढ़ायें, आयोजन न करें मुख्यमंत्री चौहान ने अपील की कि फिलहाल कोई बड़े आयोजन न किए जाएं। भीड़ भरी शादियाँ भी न हों। बाजारों में भीड़ न बढ़ाएं। भीड़ इकट्ठी होगी तो यह संकट को निमंत्रण देने जैसा होगा। अपने आपको बचाईये। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वे अस्पताल से भी प्रदेश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। प्रतिदिन पूरे प्रदेश की समीक्षा होती है। इस बीमारी को समाप्त करने में आमजन का सहयोग आवश्यक है। मजबूत संकल्प के साथ सावधानियां रखते हुए हम लड़ेगें और जीतेंगे, प्रदेश जीतेगा-देश भी जीतेगा।

Kolar News

Kolar News 5 August 2020

भोपाल। प्रभु श्रीराम के भक्त हनुमान जी अपनी शरण में आए हर व्यक्ति का उद्धार करने में पूर्णत समर्थ हैं, लेकिन कांग्रेस ने पूरे राम मंदिर आंदोलन के दौरान जो पाप किए हैं, उनसे हनुमान चालीसा पाठ भी मुक्ति नहीं दिला सकेगा। इस पाप से मुक्ति के लिए कांग्रेस पार्टी और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को राम लला और देश-प्रदेश की जनता से सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए, जिसकी भावनाओं को कांग्रेस ने लगातार ठेस पहुंचाई है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व सांसद आलोक संजर ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के हनुमान चालीसा पाठ पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।   आलोक संजर ने कहा कि पूरे राम जन्मभूमि आंदोलन के दौरान कांग्रेस पार्टी और उसके नेताओं का रवैया कैसा रहा है, पूरा देश जानता है। अल्पसंख्यक वोट बैंक हथियाने की कोशिश में कांग्रेस पार्टी लगातार राम जन्मभूमि आंदोलन का विरोध करती रही। तथ्यों और प्रमाणों की उपेक्षा करके कांग्रेस ने देश की बहुसंख्यक आबादी की भावनाओं को चोट पहुंचाई। अपने राजनीतिक फायदे के लिए कांग्रेस ने मुलायम सिंह यादव की पार्टी से गठबंधन किया, जिसने निहत्थे कारसेवकों पर गोलियां चलवाई थीं। देश की शीर्ष अदालत में कांग्रेस पार्टी की तत्कालीन मुखिया ने एफिडेविट देकर भगवान राम को काल्पनिक बताकर उनके अस्तित्व पर ही सवाल खड़े कर दिये। कांग्रेस की सरकार ने राम सेतु को ध्वस्त करने की योजना बनाई। एक तरफ जब देश की जनता न्यायालय में चल रहे प्रकरण पर फैसले का टकटकी लगाए इंतजार कर रही थी, तब कांग्रेस के लोग देश की शीर्ष अदालत से जल्द सुनवाई न करने का आग्रह कर रहे थे। कांग्रेस पार्टी ने राम मंदिर के विरोध में वकीलों का पूरा पैनल सुप्रीम कोर्ट में खड़ा दिया था। संजर ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को देश-प्रदेश की जनता के सामने यह स्पष्ट करना चाहिए कि कांग्रेस का असली चेहरा कौन सा है? प्रभु श्रीराम के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस असली थी या ये हनुमान चालीसा पाठ करने वाली कांग्रेस असली है।   आलोक संजर ने कहा कि कमलनाथ बताएं या न बताएं देश की जनता कांग्रेस के असली चेहरे को पहचान गई है और अब वे हनुमान चालीसा पढ़ें या कुछ और करें, जनता उनके धोखे में नहीं आने वाली।

Kolar News

Kolar News 4 August 2020

भोपाल। भगवान श्रीराम भक्त मंडल के प्रदेश संयोजक दुर्गेश केसवानी एवं संरक्षक महेश शर्मा के नेतृत्व में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण की खुशी में रामभक्त एवं युवाओं ने मंगलवार को अपने- अपने हाथों पर श्रीराम भगवान के टेटू बनवाकर जय श्रीराम के नारे लगाये।   मंडल के प्रदेश संयोजक दुर्गेश केसवानी ने कहा कि कई शताब्दियों की प्रतिक्षा अब पूरी हो रही है। व्रत फलित हो रहे हैं और संकल्प सिद्ध हो रहा है। करोडों हिन्दुओं के आस्था के प्रतिक भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर का सिलन्यास होने जा रहा है, इसको लेकर भोपाल ही नही पूरे देश उत्साह का वातावरण है। 500 वर्ष पुरानी मांग अब पूरी होने जा रही है। संरक्षक महेश शर्मा ने कहा कि भगवान श्रीराम आस्था और विश्वास का केन्द्र है। इस ऐतिहासिक क्षण पर भोपाल के युवा भी प्रतिकात्मक रूप से टेटू के माध्यम से शामिल हो रहे हैं। अवध में राजा राम भगवान को भव्य मंदिर का सिलन्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कर रहे यह ऐतिहासिक क्षण है।

Kolar News

Kolar News 4 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमित होने के बाद भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं। सोमवार को उन्होंने अस्पताल में ही रक्षाबंधन का पर्व मनाया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में ही राखी बंधवाई। उन्हें अस्पताल में पदस्थ कोरोना योद्धा बहन सरोज और कैबिनेट मंत्री अरविंद भदौरिया की पत्नी ने राखी बांधी। इस दौरान उन्होंने अपनी बहन से फोन पर बात भी की और उन्हें रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री ने यह बातें सोशल मीडिया के माध्यम से साझा की हैं।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ट्वीट के माध्यम से कहा है कि अज जिन बहनों से नहीं मिल सका, उन सब को भी रक्षाबंधन की शुभकामनाएं! अगला रक्षाबंधन हम धूमधाम से मनायेंगे।’   उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि -‘बहन अर्चना ने आज अस्पताल में मुझे राखी बांधने का अनुरोध किया, वह मप्र सरकार में सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया की धर्म पत्नी हैं, जो स्वयं भी कोरोना पॉजीटिव हैं और अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हैं। मैं मेरी बहन के शीघ्र स्वस्थ होने और मंगलमय जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं।’   वहीं, दूसरे ट्वीट में मुख्यमंत्री ने लिखा है कि -‘रक्षाबंधन के पावन अवसर पर अस्पताल में मेरे वॉर्ड में पदस्थ कोरोना योद्धा, बहन सरोज ने बड़े स्नेह से मुझे राखी बांधी। ईश्वर से उनके सुखद और मंगलमय जीवन की कामना करता हूं। मेरा यह जीवन बहनों के कल्याण और मध्यप्रदेश के उत्थान के लिए समर्पित है।’   उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा कि -‘आज बहन शशि ने फोन पर ही राखी के पावन त्यौहार की शुभकामनाएं दी। बहन और भाई का पवित्र बंधन और स्नेह ऐसा होता है कि जब आज हम नहीं मिल सके, तो दोनों फोन पर ही भावुक हो गये। बहन शशि और प्रदेश की सभी बहनों को रक्षा बंधन की बहुत-बहुत बधाई!’   उन्होंने एक दोहा ट्वीट करते हुए कहा है कि -‘मन से मन का मेल ही, राखी का त्यौहार। मिले स्नेह को स्नेह का, नित स्नेहिल उपहार।’ मुख्यमंत्री ने अगले ट्वीट में लिखा है कि -‘देश के प्रहरियों और कोरोना योद्धाओं को रक्षा बंधन की कोटि-कोटि बधाई! कोरोना काल में आप जो अभूतपूर्व सेवा कर रहे हैं, उसके लिए देश सदैव ऋणी रहेगा। आप भी अपनी राखी भेजिए।’

Kolar News

Kolar News 3 August 2020

भोपाल। कोरोना संकट के बीच प्रदेशभर में सोमवार को रक्षाबंधन का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। पर्व को लेकर लोगों में उत्साह देखने को मिल रहा है। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को रक्षाबंधन के अवसर पर बधाई दी है।   मुख्यमंत्री ने सोमवार सुबह ट्वीट किया है कि - 'स्नेह पर्व रक्षाबंधन की आपको आत्मीय बधाई। बहनों के मान, सम्मान, गौरव की रक्षा के अपने वचन को हर भाई पूरा करें। कोरोना काल में घर पर रहकर त्योहार मनाएं, ताकि हर भाई-बहन स्वस्थ और दीर्घायु रहें। आज रक्षाबंधन के पर्व पर पहली बार मैं, अपनी बहनों से दूर हूं, लेकिन भावनात्मक रूप से, अपने हृदय से, अपनी बहनों के ही पास हूं। बहनों, मैं सदैव आपके कल्याण और समृद्धि के लिए कार्य करता रहूं, यही आशीर्वाद अपने भाई को दें।'

Kolar News

Kolar News 3 August 2020

भोपाल। भोपाल के चिरायु अस्पताल में कोरोना संक्रमण का उपचार करा रहे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने शनिवार को जिला अध्यक्षों एवं पार्टी पदाधिकारियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की। इस दौरान उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली हमारी प्रदेश सरकार ने हाल ही में अपने 100 दिन पूरे किए हैं। इसी तरह हमारी केंद्र सरकार ने भी अपने दूसरे कार्यकाल का पहला साल कुछ दिनों पहले ही पूरा किया है। सोशल मीडिया के प्रभारी यह ध्यान रखें कि उन्हें दोनों ही सरकारों के कार्यों को निचले स्तर तक पहुंचाना है। यह सुनिश्चित करें कि केंद्र और राज्य सरकारों की उपलब्धियां और जनहित के काम जनता तक पहुंच सकें। इस वर्चुअल मीटिंग को प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने भी संबोधित किया।भाजपा प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि कोरोना संकट तेजी से अपने पैर पसार रहा है। ऐसी स्थिति में सभी जिलाध्यक्ष और पदाधिकारी यह ध्यान रखें कि उनके जिले में कोई भी जनप्रतिनिधि या पदाधिकारी 14 अगस्त तक किसी भी तरह का सार्वजनिक आयोजन न करें और न ही ऐसे कार्यक्रमों में भाग लें। मुख्यमंत्री शिवराज जी ने इसके लिए सभी से आह्वान किया है और यह सुनिश्चित करना हमारी भी जिम्मेदारी है। कोरोना संकट को देखते हुए सभी कार्यकर्ता और पदाधिकारी पर्याप्त सावधानी रखें और जो भी कार्यकर्ता पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आए हैं, वे सभी अपना टेस्ट करा लें।जल्दी पूरे करें पुराने लंबित कामउन्होंने कहा कि सभी जिलाध्यक्ष और पदाधिकारी यह ध्यान रखें कि जो भी काम लंबित हैं उन्हें जल्द से जल्द पूरा किया जाए। सभी जिला अध्यक्ष अपने-अपने जिलों से कम से कम पांच ऐसे लोगों के नामों की सूची तैयार करें जो पढ़े लिखे हों, बुद्धिजीवी हों और प्रतिष्ठित हों। ये लोग डॉक्टर, इंजीनियर, वकील,  प्रोफेसर, सीए आदि हो सकते हैं।  सभी जिलों से वरिष्ठ और समर्पित कार्यकर्ताओं की सूची भी तैयार की जाए और प्रदेश कार्यसमिति के लिए भी नाम भेजे जाएं। सभी मोर्चा, प्रकोष्ठ और प्रकल्पों के प्रदेश पदाधिकारियों के लिए भी जिलों से नाम भेजे जाएं। उन्होंने कहा कि आजीवन सहयोग निधि का काम अब हमें समाप्त करना है,  इसलिए सभी जिलाध्यक्ष यह ध्यान दें कि जल्द से जल्द आजीवन सहयोग निधि का पूरा हिसाब किताब प्रदेश कार्यालय पहुंच जाए। उन्होंने कोबिड-19  संकट के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए सामाजिक कार्यों की ई-बुक के काम को भी जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।प्रदेश कार्यालय भेजें मंडल स्तर तक किए गए कार्यक्रमों की जानकारी: भगतवर्चुअल मीटिंग में प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने जिला अध्यक्षों एवं पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि शिवराज सरकार के 100 दिन पूरे होने पर प्रत्येक जिले में 100 कार्यक्रम किया जाना तय हुआ था। सभी जिलाध्यक्ष जल्द यह जानकारी प्रदेश कार्यालय को भेजें कि उनके जिले और मंडलों में कितने-कितने और क्या-क्या कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं, उनमें कितने लोग शामिल हुए। सभी जिला अध्यक्ष और संभागीय संगठन महामंत्री मिलकर यह सुनिश्चित करें कि मंडल कार्यसमितियों के गठन का काम जल्द पूरा हो जाए। उन्होंने कहा कि मंडल कार्यसमितियों के गठन के लिए संभागीय संगठन मंत्री एक मंडल प्रभारी की नियुक्ति करेंगे तथा एक प्रभारी की नियुक्ति जिला अध्यक्ष करेंगे। इसके अलावा पिछले मंडल चुनाव में निर्वाचन अधिकारी रहे कार्यकर्ता को भी इस समिति में शामिल किया जाए। यह तीनों लोग मिलकर मंडल समितियों का कार्य जल्द निपटा लें। भगत ने सभी कार्यकर्ताओं को स्वस्थ रहने के लिए शुभकामनाएं दीं तथा उनसे कोरोना संकट के इस दौर में अपनी और परिवार की सेहत के लिए सतर्कता बरतने का आह्वान किया।

Kolar News

Kolar News 1 August 2020

भोपाल। मप्र की प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ईदुज्जुहा (ईद) के पर्व पर प्रदेश के सभी मुस्लिम भाई-बहनों को मुबारकबाद दी है।राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि ईदुज्जुहा का त्यौहार त्याग और बलिदान का महत्व बताता है। प्रेम और इंसानियत का प्रतीक है। इंसानियत और भाईचारे का संदेश देता है। उन्होंने कहा है कि शांति, सद्भाव और एकता के साथ कोरोना संक्रमण को देखते हुए अपनी और परिवार की सुरक्षा का ध्यान रखते हुये पर्व मनाए और सुरक्षित रहें।वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि - ‘मेरे सभी मुस्लिम भाई-बहनों को ईद-उल-अजहा की बहुत-बहुत मुबारकबाद। त्यौहार सानंद मनाएं, लेकिन कोरोना से सावधान रहें। साफ-सफाई का ध्यान रखें और घरों में ही नमाज अता करें। बधाई, शुभकामनाएं।’

Kolar News

Kolar News 1 August 2020

भोपाल। मप्र में विधानसभा उपचुनाव से पहले भाजपा और कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है। भाजपा नेता सरकार बचाने के लिए और कांग्रेस दोबारा सत्ता में आने के लिए खूब बयानबाजी कर रहे हैं। इस बीच सोशल मीडिया के माध्यम से हमेशा सरकार की कमियां गिनाने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने सीएम शिवराज के एक फैसले की तारीफ करते हुए उसका स्वागत किया है। हालांकि सीएम के एक अन्य फैसले पर तन्खा ने तंज भी कसा है।   दरअसल प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीएम शिवराज ने 1 से 14 अगस्त तक किल कोरोना अभियान पार्ट 2 चलाने के आदेश दिए हैं। इस दौरान कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 14 अगस्त सभी मंत्रियों, विधायकों और सांसदों को किसी प्रकार के सार्वजनिक एवं राजनैनितक कार्यक्रम दौरा करने पर रोक लगाई है। सीएम शिवराज के इस फैसले का विवेक तन्खा ने स्वागत किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘मप्र सीएम ने लगाया पोलिटिकल रैलीज़ एवम पोलिटिकल इवेंट्स पे प्रतिबंध। बहुत शानदार निर्णय @ChouhanShivraj और @drnarottammisra करोना काल का आप की सरकार का सबसे उत्तम फ़ैसला। करने वाले भी आप थे और रोकने वाले भी आप है और दुखद परिणाम भी अधिकतर आप लोगों पे है। सुरक्षित रहें।   एक अन्य ट्वीट कर कसा तंजइसके अलावा विवेक तन्खा ने एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज के उस निर्देश पर तंज कसा है जिसमें उन्होंने मास्क नहीं पहनने पर मंत्रियों व विधायकों पर कार्यवाही करने की बात कही है। तन्खा ने ट्वीट कर कहा ‘सीएम साहिब आप ऐसी घोषणाएँ क्यों करते है जो आप कभी पूरा नहीं कर सकते। क्या आप प्रदेश के ग्रह मंत्री @drnarottammisra जी, जो कभी मास्क लगाए नहीं दिखे, उन पर कार्यवाही की कल्पना भी कर सकते है । कुछ समझदार लोग मास्क नहीं लगाना अपनी पहचान समझते है  

Kolar News

Kolar News 31 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने नगरीय निकायों का खजाना भरने के लिए नई समिति बनाई है। यह समिति 15 अगस्त को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी, जिसके बाद विभाग इस संबंध में आगे निर्णय लेगा।   मंत्री भूपेंद्र सिंह ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि लोकल स्तर पर निकायों आर्थिक रूप से मजबूत किया जाएगा। उन्होंने कोरोना संकट में सफाई कर्मचारियों द्वारा दी गई सेवाओं के लिए तारीफ करते हुए कहा कि सफाई कर्मचारियों ने पूरी प्रतिबद्धता के साथ अपने काम को अंजाम दिया। नगरीय निकायों के सभी कर्मचारियों की जितनी भी तारीफ की जाए कम है। मेट्रो रेल को लेकर चल रहे काम पर उन्होंने कहा कि मेट्रों का काम जल्द ही धरातल पर लोगों को दिखाई देगी। वहीं केवलारी को नगर पंचायत की श्रेणी में शामिल करने को लेकर कहा कि स्थानीय लोगों से विचार विमर्श करके विभाग अंतिम निर्णय लेगा।

Kolar News

Kolar News 30 July 2020

भोपाल। फ्रांस से आए पांच अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल बुधवार को भारत पहुंच गए और उन्हें विधिवत भारतीय वायुसेना में शामिल कर लिया गया है। कांग्रेस पार्टी राफेल डील को लेकर लगातार मोदी सरकार पर सवाल उठाते हुए निशाना साधती रही है, लेकिन मप्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी ने राफेल को भारतीय वायुसेना के लिए शुभ संकेत बताया है।वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि - ‘'राजनीति में प्रतिस्पर्धा होती है, शत्रुता नहीं। इसी भाव से हमारे आदरणीय कमलनाथजी व मैंने सीएम शिवराज सिंह चौहान व वीडी शर्मा जी के स्वस्थ होने की कामना की है। मैंने राफेल को भी भारतीय वायुसेना के लिए शुभ संकेत माना है।'बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमित होने के बाद चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं, जहां उनका उपचार जारी है। वहीं, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं और वे भी चिरायु अस्पताल में अपना उपचार करा रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 30 July 2020

अनूपपुर। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने बुधवार को ग्राम छोहरी में 3 करोड़ 39 लाख से अधिक लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अब छोहरी का कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहेगा। शासन द्वारा पुन: सर्वे किया जा रहा है, जिसमें अपात्रों का नाम हटाकर सभी पात्र शामिल किए जाएँगे। सभी जरूरतमंदों को राशन मिलेगा।   उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए पात्रता पर्ची न होने पर भी जरूरतमंदो को गरीब कल्याण अन्न योजनांतर्गत राशन उपलब्ध कराया जाएगा। वन नेशन वन राशन कार्ड स्कीम अंतर्गत स्थानीय निवासियों को बाहर कार्य हेतु जाने पर अन्य जिलों एवं राज्यों में भी यहां के राशन कार्ड के आधार पर पात्रतानुसार राशन उपलब्ध कराया जाएगा। जल जीवन मिशन अंतर्गत 2024 तक अनूपपुर सहित प्रदेश के हर ग्राम हर घर तक नल जल कनेक्शन पहुँचाया जाएगा। अब पानी लाने हेतु माताओं,बहनो, बहू, बेटियों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। खाद्य मंत्री 1 करोड़ 43 लाख लागत की आवर्धन नल जल योजना की अधारशिला रखते हुए कहा छोहरी ग्राम के 355 घरों में 6 माह के अंदर हर घर तक पहुँचेगा नल जल से पानी पहुंचेगा। इस दौरान कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिंद नागदेवे, मध्यप्रदेश राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष नरेंद्र मरावी, विंध्य विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष रामदास पुरी, पूर्व नपा अध्यक्ष पसान रामअवध सिंह सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि, विभागीय अधिकारी एवं आमजन उपस्थित रहे।कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी संतोष साल्वे ने बताया कि आवर्धन नल जल योजना का कार्य 6 माह के अंदर 1 करोड़ 43 लाख की लागत से पूर्ण किया जाएगा। योजना से ग्राम छोहरी के 355 घरों में नल जल कनेक्शन पहुँचाया जाएगा। योजनांतर्गत 03 नलकूप, उच्च स्तरीय पानी टंकी क्षमता 125 कि.ली.(40 फिट ऊँचाई), सम्पवेल क्षमता 20 कि.ली. एवं पाईप लाईन विस्तार 13635 मीटर का कार्य किया जाएगा। साथ ही 2 वर्षों तक संचालन/संधारण का कार्य भी विभाग द्वारा किया जाएगा। इसके पश्चात योजना संचालन का दायित्व ग्राम पंचायत को दिया जाएगा।1 करोड़ 8 लाख लागत के केज कल्चर का लोकार्पणखाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने 1 करोड़ 8 लाख की लागत से स्थापित किए गए केज कल्चर का लोकार्पण किया। इससे 36 आदिवासी परिवार प्रत्यक्ष रूप से लाभान्वित होंगे। केज ग्राम छोहरी, दैखल एवं जमुना बस्ती (लतार डैम) में स्थापित किए गए हैं। इनका संचालन आदिवासी मछुआ सहकारी समिति जमुना बस्ती, सीता महिला स्वसहायता समूह दैखल, बजरंग महिला स्वसहायता समूह दैखल, पावनी आदिवासी मछुआ स्वसहायता समूह छोहरी द्वारा किया जाएगा। कार्यक्रम में खाद्य मंत्री ने समिति के सदस्यों को मत्स्य जाल का भी वितरण किया गया।

Kolar News

Kolar News 29 July 2020

भोपाल। वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा कि बाघों की संख्या के मामले में देश भर में मध्यप्रदेश पहले स्थान पर है। वर्ष 2018 की बाघ जनगणना के अनुसार मध्यप्रदेश में 526 बाघ हैं जिनमें सर्वाधिक बाघ बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में हैं। मध्यप्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने से प्रदेश का गौरव बढ़ा है। आगामी बाघ जनगणना में भी सर्वाधिक बाघ मध्यप्रदेश में ही होंगे। हमें वन्य प्राणियों की सुरक्षा के लिए दृढ़-संकल्पित होगा। उक्‍त बातें मंत्री शाह ने बुधवार को राजधानी भोपाल के वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर वर्चुअल प्लेटफार्म पर आयोजित हुए राज्य स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।   ऑनलाइन आयोजित कार्यक्रम में वन मंत्री ने कहा कि पन्ना राष्ट्रीय उद्यान में बाघों के पुर्नस्थापित के प्रयास बेहतर वन्य प्राणी प्रबंधन का उत्कृष्ट उदाहरण है। इसके लिये उन्होंने तत्कालीन क्षेत्र संचालक श्रीनिवास मूर्ति को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे कर्मठ अधिकारी को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार देने की पहल की जाना चाहिये। शाह ने इस सिलसिले में प्रमुख सचिव वन से आवश्यक कदम उठाने को कहा।   वन्य प्राणियों से संबंधित वृत्तचित्र और अन्य प्रकाशन का हुआ विमोचन वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने वन्य प्राणियों से संबंधित वृत्तचित्र, पुस्तिकाओं और पोस्टर का विमोचन किया तथा मध्यप्रदेश टाइगर फॉउंडेशन सोसायटी द्वारा पिछले तीन माह के दौरान आयोजित क्विज प्रतियोगिता में गुरूग्राम की शेफाली शुक्ला को प्रथम स्थान प्राप्त करने पर 7 हजार रुपये की राशि का पुरस्कार और प्रमाण-पत्र भी जारी किया। वन मंत्री ने वन विहार राष्ट्रीय उद्यान पर केन्द्रित फेसबुक लिंक भी विधिवत् जारी की।   प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) एस.के. मण्डल ने प्रदेश के वन्य प्राणी प्रबंधन की दिशा में किए जा रहे प्रयासों और उपलब्धियों की जानकारी दी।   इस अवसर पर प्रमुख सचिव वन अशोक वर्णवाल, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख राजेश श्रीवास्तव और अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। वन विहार राष्ट्रीय उद्यान की क्षेत्र संचालक श्रीमती कमोलिका मोहंता ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया।

Kolar News

Kolar News 29 July 2020

भोपाल। प्रदेश के किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने कहा है कि प्रदेश को जल्द ही डेढ़ लाख मैट्रिक टन यूरिया और मिलेगा। उन्होंने मंगलवार को बताया कि केन्द्रीय उर्वरक एवं रसायन राज्य मंत्री मनसूख मंडाविया ने दूरभाष पर की गयी चर्चा में आश्वस्त किया है कि मध्यप्रदेश को आगामी एक सप्ताह में यूरिया की अतिरिक्त खेप प्राप्त हो जायेगी।कृषि मंत्री पटेल ने बताया कि खरीफ फसलों की बुआई को दृष्टिगत रखते हुए, प्रदेश में डेढ़ लाख टन यूरिया की मांग में वृद्धि हुई है। किसानों को यूरिया की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये केन्द्रीय राज्य मंत्री से हुई चर्चा में मंजूरी प्राप्त हो गयी है। उन्होंने केन्द्रीय राज्य मंत्री मंडाविया को यूरिया की कालाबाजारी करने वाले लोगों के विरूद्ध प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही सख्त कार्रवाई से भी अवगत कराया।

Kolar News

Kolar News 28 July 2020

भोपाल। हेपेटाइटिस संक्रामक बीमारी है। दुनियाभर में हर साल लाखों लोगों की इस बीमारी से जान चली जाती है और आज भी लाखों लोग इस बीमारी से लड़ रहे हैं। विश्वभर में हर वर्ष 28 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य हेपेटाइटिस के बारे में लोगों को जागरूक बनाना तथा इसके रोकथाम, निदान और उपचार को प्रोत्साहित करना है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विश्व हेपेटाइटिस दिवस पर प्रदेश के नागरिकों से इस बीमारी से जागरूक रहने की अपील की है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को ट्वीट किया है कि - ‘हेपेटाइटिस एक जानलेवा रोग है, लेकिन सही समय पर परीक्षण और उपचार से अनमोल जिंदगियों को बचाया जा सकता है। आइये, जागृति की ज्योत जलाएं। ‘वल्र्ड हेपेटाइटिस डे’ के महान उद्देश्यों को पूरा करने में सहयोगी बनें। स्वयं जागरुक रहें और दूसरों को जागरुक कर मानव धर्म निभायें।’

Kolar News

Kolar News 28 July 2020

भोपाल। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की मध्यप्रदेश इकाई ने राज्य की विभिन्न राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में पदक जीतने वाले छात्रों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि दुगना करने और इसे तुरंत जारी करने की मांग की है। इस संबंध में पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को एक पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र के माध्यम से कहा है कि लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा स्कूली छात्रों की होने वाली राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में पदक प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए प्रोत्साहन राशि का प्रावधान है। वर्तमान में यह राशि 1.40 करोड़ रुपये है, लेकिन पिछले तीन सालों से बच्चों को प्रोत्साहन राशि का भुगतान नहीं हुआ है। जसविंदर सिंह ने बताया है कि स्टेट गेम्स फैडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित की जाने वाली प्रतियोगिताओं में स्वर्ण पदक जीतने वाले छात्र को 10 हजार रुपये, रजत पदक जीतने वाले छात्र को 7500 रुपये और कांस्य पदक जीतने वाले छात्र को पांच हजार रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाती है। माकपा नेता ने पत्र में यह भी कहा है कि वर्तमान में 685 पदक विजेताओं को सरकार की ओर से मिलने वाली करीब 54 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि नहीं मिली है। उन्होंने मांग की है कि जब 1.40 करोड़ का प्रावधान है तो प्रोत्साहन राशि को भी दुगना किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हम अपनी भावी पीढ़ी से आशा करते हैं कि वह भविष्य में हमारे प्रदेश और देश का नाम रौशन करे तो हमें उन्हें प्रोत्साहन भी करना होगा। तीन साल से प्रोत्साहन राशि का न मिलना खेलों और खिलाडिय़ों के प्रति सरकार की उदासीनता को ही उजागर करता है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि तुरंत प्रोत्साहन राशि जारी करने के साथ ही इसे दुगनी की जाए।

Kolar News

Kolar News 27 July 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश में कोरोना कहर बनकर टूटा है। आम आदमी से लेकर राजनेता तक संक्रमित होने से खुद को बचा नही पा रहे हैं। मप्र के राजनेता भी लगातार कोरोना का शिकार हो रहे हैं। शनिवार सुबह मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है। जिसके बाद उन्होंने चिरायु अस्पताल में भर्ती होकर ईलाज कराने का निर्णय लिया है। वहीं अब इंदौर से भाजपा सांसद शंकर लालवानी के घर में भी कोरोना ने एंट्री ले ली है।   सांसद शंकर लालवानी के भाई, भाई की पत्नी और बच्ची भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। सांसद लालवानी अपने भाई के घर के नजदीक ही रहते हैं। इसके बाद अब उन्हें भी घरेलू एकांतवास में जाना पड़ सकता है। शनिवा सुबह भी सांसद एक सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल थे। इससे पहले सीएम शिवराज से चार दिन पहले लालवानी ने मुलाकात भी की थी।

Kolar News

Kolar News 25 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए है। शनिवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने खुद ट्वीट कर अपने पॉजिटिव पाए जाने की जानकारी दी और ईलाज के लिए चिरायु अस्पताल में भर्ती हुए है। सीएम शिवराज के कोरोना संक्रमित होने की खबर मिलते ही पक्ष और विपक्ष के नेता उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं। लेकिन पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के ट्वीट ने सियासत गर्मा दी है।   दरअसल दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज के कोरोना संक्रमित होने की खबर मिलने पर उनकी कुशलछेम के बहाने उन पर तंज कसा था। भाजपा ने दिग्विजय के ट्वीट पर पलटवार किया है। भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने दिग्विजय सिंह को ट्वीट कर जवाब देते हुए लिखा कि सीएम के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद राजनीति हो रही। जो यह शर्मनाक है। दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज के कोरोना पॉजिटिव आने पर उनकी आलोचना कर रहे हैं। कोविड से कई जाने माने चिकित्सक भी सेवा कार्य करते हुए संक्रमित हो गए, शिवराजजी भी एक कोरोना योद्धा की तरह मैदान में डटे रहे हैं। वे जनताजनार्दन की कृपा से फिर जल्द सेवा में जुटेंगे।   गौरतलब है कि दिग्विजय ने अपने ट्वीट में लिख था कि दुख है सीएम शिवराज कोरोना संक्रमक पाया गए। ईश्वर आपको शीघ्र स्वस्थ करें। आगे लिखा कि आपको सोशल डिस्टंसिंग का ख्याल रखना था जो आपने नहीं रखा। मुझ पर तो भोपाल पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली थी, आप पर कैसे करते। आगे अपना ख्याल रखें।

Kolar News

Kolar News 25 July 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के कोरोना पॉजीटिव पाए जाने पर प्रदेश के भाजपा नेताओं ने उन्हें शुभकामनाएं दी हैं और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।   मुख्यमंत्री चौहान शनिवार सुबह कोरोना पॉजीटिव पाए गए। उन्होंने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। इसके बाद प्रदेश के कई भाजपा नेताओं ने ट्विटर पर उनके स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वी.डी.शर्मा ने लिखा कि आप शीघ्र स्वस्थ होकर प्रदेश की जनता की सेवा के लिए वापस लौटें, यही प्रार्थना है। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा है कि आपके पॉजीटिव पाए जाने का समाचार सुनकर दुख हुआ, आप शीघ्र स्वस्थ हों और प्रदेश की सेवा करें। वहीं, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने लिखा है कि मुख्यमंत्री जी चिरायु अस्पताल में रहेंगे। उनकी इच्छाशक्ति प्रबल रही है और रहेगी। वे जल्द ही स्वस्थ होकर जनसेवा के काम में पूर्ण मनोयोग से जुटेंगे। @vdsharmabjpईश्वर से प्रार्थना है कि आप जल्द ही ठीक होकर प्रदेश की जनता की सेवा के लिए वापस लौटें।@KailashOnlineReplying to @ChouhanShivrajये जानकर दुःख हुआ कि आप #Covid19 पॉजेटिव हो गए। ईश्वर से कामना है कि आप शीघ्र स्वस्थ हों और प्रदेश की सेवा करें।@LokendraParasarमाननीय मुख्यमंत्री @ChouhanShivraj जी उपचार हेतु चिरायु अस्पताल में रहेंगे ।उनकी इच्छाशक्ति प्रबल है, सदैव प्रबल रहेगी । वे शीघ्र स्वस्थ होकर पुनः जनसेवा के कार्य में पूर्ण मनोयोग से जुटेंगे, ऐसा विश्वास है। ईश्वर उन्हें द्रुतगति से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करें।

Kolar News

Kolar News 25 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के सदस्यों के लिए शीघ्र ही सर्व-सुविधा युक्त नवीन विश्राम गृह का निर्माण कराया जायेगा। यह बात विधानसभा के सामयकि अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने शुक्रवार को भोपाल में नये विश्राम गृह के स्थल अवलोकन के दौरान कही।दरअसल, विधानसभा अध्यक्ष रामेश्वर ने शुक्रवार को विधायक विश्राम गृह परिसर में विधायकों के लिये पुराना पारिवारिक खण्ड एवं खण्ड क्रमांक-एक के स्थल पर बनाये जाने वाले नये विश्राम गृह के स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने उन्होंने उल्लेख किया कि इस संबंध में सभी दलों से चर्चा की जायेगी तथा अधिकारियों को शीघ्र निर्माण से संबंधित कार्यवाही करने के निर्देश दिये।उल्लेखनीय है कि नवीन विश्राम गृह की कार्य योजना विगत दस वर्षों से स्थल चयन न होने के कारण लंबित थी। नवीन विश्राम गृह पांच माले के होंगे, जिसके प्रथम चरण में 102 फ्लैट बनाये जायेंगे। स्थल निरीक्षण के दौरान विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह, एप्को की चीफ आर्किटेक्ट संध्या व्यास तथा राजधानी परियोजना प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 24 July 2020

भोपाल। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा के सत्ता में आते ही खाद की कालाबाजारी बढ़ जाती है। पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने शुक्रवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि जब खरीफ की फसल की बोवनी के लिए खाद और बीज की जरूरत है, तब मध्यप्रदेश का किसान खाद और बीज की कालाबाजारी और इसके साथ ही नकली खादों और बीजों के गोरखधंधे से लुट रहा है। शिवराज सिंह चौहान सरकार की चुप्पी से साफ है कि वह किसानों की बजाय किसानों को लूटने वाले गिरोह के साथ है।उन्होंने कहा कि केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने पहले ही 50 किलो वाले यूरिया बैग को 45 किलो का कर दिया था। अब राज्य सरकार द्वारा खाद की समुच्चित व्यवस्था न कर, खाद की कालाबाजारी के रास्ते खोल दिए हैं। अब 266 रुपये वाला यूरिया 550 रुपये में बिक रहा है। इतना ही नहीं 311 रुपये वाला सुपर 400 रुपये, 775 रुपये वाला पोटाश 900 रुपये और 1150 रुपये वाला डीएपी 1250 से लेकर 1400 रुपये तक में बिक रहा है। माकपा नेता ने कहा है कि भाजपा के सत्ता में आते ही खाद और बीज की कालाबाजारी का बढऩा और नकली खादों के कारोबार का फलना-फूलना साबित करता है कि भाजपा सरकार कालाबाजारियों के साथ है। जसविंदर सिंह ने कहा है कि कृषि मंत्री खुद ही स्वीकार कर रहे हैं कि मानसून आने से पहले तक सरकार ने केवल आवश्यकता से आधी मात्रा में ही खाद की उपलब्ध कराई है। सरकार अब भी हाथ पर हाथ धरे बैठी है। इससे साबित करता है कि यह कालाबाजारी राजनीतिक संरक्षण में प्रशासन और कालाबाजारियों की सांठगांठ से हो रही है। माकपा ने राज्य सरकार से मांग की है कि तुरंत कालाबाजारी पर रोक लगाई जाए और किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध कराया जाए।

Kolar News

Kolar News 24 July 2020

भोपाल। क्लस्टर आधारित एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन परियोजनाएं फिर से शुरू करने पर विचार करें। इस संबंध में जल्द रिपोर्ट दें। यह निर्देश नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) की समीक्षा के दौरान दिये। उन्‍होंने कहा कि ठोस अपशिष्ट प्रबंधन यूनिट लगाने में नगरीय निकाय पर कोई व्यय भार नहीं आयेगा। यूनिट लगाने के लिये कुल लागत का 35 प्रतिशत केन्द्र सरकार, 23.3 प्रतिशत राज्य सरकार और शेष राशि यूनिट लगाने वाला जन निजी भागीदार देगा।   नगरीय निकाय बढ़ायें आय नगरीय विकास एवं आवास मंत्री सिंह ने कहा कि नगरीय निकाय केवल सरकारी अनुदान पर ही नहीं चल सकते। उन्हें आय के साधन बढ़ाने होंगे। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के अध्यक्ष, कमिश्नर और मुख्य नगर पालिका अधिकारियों से निकाय की आय बढ़ाने के संबंध में प्रस्ताव लें। इन प्रस्तावों का अध्ययन कर तुलनात्मक चार्ट तैयार करें, जिससे आगामी कार्यवाही की जा सके। स्टाम्प ड्यूटी पर निकायों का शेयर प्रतिमाह मिलना चाहिये। मंत्री सिंह ने कहा कि खाली जमीन के मॉनीटाइजेशन पर भी विचार कर सकते हैं। विकास कार्यों के लिये निकाय द्वारा लोन लेने के प्रावधानों का भी परीक्षण किया जाये।   मंत्री सिंह ने स्वच्छता मिशन की समीक्षा के दौरान राज्य और केन्द्र सरकार द्वारा आवंटित राशि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि शेष राशि प्राप्त करने के लिये तत्काल प्रस्ताव तैयार करें। आयुक्त नगरीय प्रशासन और विकास निकुंज कुमार श्रीवास्तव ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत चल रहे कार्यों की जानकारी ली। बैठक में नगर निगम आयुक्त भोपाल भी उपस्थित रहे।

Kolar News

Kolar News 24 July 2020

भोपाल। सीहोर के दिव्यांग जूडो खिलाडिय़ों ने गुरुवार को भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पर पहुंचकर उनसे मुलाकात की और उन्हें अपनी उपलब्धियों से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि ब्लांड जूडो खिलाड़ी पूनम शर्मा और नीरज शर्मा ने सरदार नगर सीहोर से निकलकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जूडो में उपलब्धियां अर्जित की हैं। पूनम शर्मा ने ब्लाइंड जूडो में 2018 और 2019 में कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप और एशियन चैंपियनशिप में प्रतिनिधित्व किया। उन्हें सात अंतरराष्ट्रीय और तीन राष्ट्रीय मेडल प्राप्त हुए हैं। दोनों भाई-बहन भोपाल में रहकर अध्ययन कर रहे हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ब्लाइंड जूडो में प्रदेश का नाम रोशन करने वाले दोनों खिलाडिय़ों के जज्बे की सराहना करते हुए उन्हें अर्जित उपलब्धियों के लिए बधाई दी।

Kolar News

Kolar News 23 July 2020

भोपाल। कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने प्रदेश सरकार द्वारा त्यौहार के समय लॉकडाउन लगाए जाने के विरोध में आंदोलन की चेतावनी दी है। अब उनके इस आंदोलन का पूर्व मंत्री और कांग्रेस वरिष्ठ विधायक पीसी शर्मा ने समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में कोरोना की स्थिति बहुत खराब है और सरकार बिना किसी तरह की तैयारी के लॉकडाउन लगा रही है।   पीसी शर्मा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि शिवराज सरकार कोरोना नियंत्रण में बुरी तरह फेल हो गई है और अब फिर 10 दिन का लॉकडाउन लगाया जा रहा है। लॉकडाउन के पहले गरीबों को राशन मिल जाये, बिजली के बिल कम किये जायें। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश कम्युनिटी स्प्रेड की ओर बढ़ रहा है। भाजपा की रैलियों से कोरोना राज्य में फैल रहा है। ईद और राखी के त्योहारों को देखते हुए धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से बातकर कर कोई फैसला लिया जाए और ईद व राखी के लिए विस्तृत गाइडलाइंस बनाये। आरिफ मसूद का समर्थन करते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि आरिफ मसूद या कोई भी कांग्रेस नेता मैदान में उतरेगा तो हम भी साथ रहेंगे।   शिवराज कैबिनेट में मंत्री अरविंद भदौरिया के कोरोना पॉजिटिव होने पर पीसी शर्मा ने कहा, ''अरविंद भदौरिया शीघ्र स्वास्थ्य हों। उनसे संपर्क में आए सभी लोगों, नेताओं का टेस्ट हो। नेता राजनीतिक शिष्टाचार में रहें। वहीं उपचुनाव को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस 26 सीटों के लिए मिनी वचन पत्र लांच करेगी। इनमें क्षेत्र की समस्याओं से जुड़े मुद्दे होंगे। अतिथि विद्वानों की समस्या का समाधान और किसानों की कर्जमाफी हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार की सच्चाई खुद किसान बताएंगे, जिन किसानों का कर्ज माफ हुआ वो वीडियो जारी कर हकीकत बताएंगे। 

Kolar News

Kolar News 23 July 2020

ग्वालियर। भोपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए सरकार ने राजधानी में 24 जुलाई से टोटल लॉकडाउन का निर्णय लिया है। सरकार के इस फैसले के विरोध में कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद खुलकर सामने आए हैं और त्यौहार के समय लॉकडाउन का विरोध करते हुए सरकार को आंदोलन की चेतावनी दी है। वहीं अब विधायक आरिफ मसूद ने सरकार द्वारा फैसला वापस लेने की मांग की है। साथ ही इस फैसले के विरोध में काले झंडे लगाकर विरोध प्रदर्शन करेगी।   विधायक आरिफ मसूद ने गुरुवार को पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा त्यौहारों पर लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। इस संबंध में मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से दूरभाष पर मेरी चर्चा हुई है, बकरा ईद पर होने वाली कुर्बानी में किसी भी प्रकार की बाधा ना आए। इस पर यदि आज शाम 04:00 बजे तक कोई निर्णय नहीं लिया जाता, तो कल दुकानदार, व्यापारी और आमजन प्रमुख चौराहों और घरों पर काले झंडे लगा कर सरकार के त्यौहारों पर लॉकडाउन के फैसले का विरोध करेगी। विधायक आरिफ मसूद ने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार बिना सोचे समझे फैसले ले रही है। जो जनविरोधी है, आम जनता तीन महीनों से आर्थिक तंगी से जुझ रही है और सरकार लगातार लॉकडाउन लगा रही है। उन्होंने कहा कि धार्मिक त्यौहारों पर लोगों की आस्था जुड़ी है और सरकार लगातार सभी धर्म के लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रही है। त्यौहारों पर लगातार लॉकडाउन लगा रही है इससे छोटे व्यापारियों को काफी नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व रमजान और ईद तक लॉकडाउन लगा रहा, इस कारण व्यपारियों को भारी नुकसान हुआ था। अब फिर बकरा ईद और रक्षाबंधन के मौके पर लॉकडाउन लगाया जा रहा है, जिससे फिर आम जनता और व्यापारी भाईयों को इस की वजह से नुकसान होगा।   विधायक आरिफ मसूद ने सरकार पर कोरोना की लड़ाई में पूरी तरह फेल होने का आरोप लगाते हुए कहा कि स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह ठप पड़ी हैं, लेकिन सरकार और भाजपा नेताओं को उप चुनाव की चिंता है। उन्होंने कहा कि इनके नेता भीड़ इकट्ठा कर के कार्यक्रम कर रहे हैं, सरकार को त्यौहारों पर ही लॉकडाउन दिखाई दे रहा है। भाजपा नेताओं और मंत्रियों द्वारा भीड़ इकट्ठा करने पर क्यों दिखाई नही दे रहा है ? विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि सरकार को मजदूरों और गरीबों की चिंता नही है, क्योंकि लॉकडाउन की वजह से गरीबों को फिर परेशानी का सामना करना पड़ेगा। त्यौहारों पर लॉकडाउन लगाने का फैसला सरकार को वापस लेना चाहिए।

Kolar News

Kolar News 23 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। जिसके चलते राजधानी के चिन्हित क्षेत्रों को बुधवार से टोटल लॉकडाउन शुरू हो गया, जो आगामी 26 जुलाई तक रहेगा। वहीं अब बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। भोपाल में शुक्रवार से 10 दिन का लॉकडाउन लगाया जा रहा है। कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बात के निर्देश दिए है। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राजधानी में लॉक डाउन को लेकर जानकारी देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि 24 जुलाई की रात 8 बजे से राजधानी में 10 दिन तक लॉक डाउन रहेगा। इस दौरान मेडिकल सेवा, दूध की दुकान, सरकारी राशन की दुकान, सब्जी के ठेले और इंडस्ट्री खुली रहेंगी। उन्होंने कहा कि जो भोपाल के बाहर हैं वो लॉकडाउन के पहले वापस आ सकते हैं। 24 जुलाई शुक्रवार रात आठ बजे से 10 दिन के लिए पूरा भोपाल लॉक डाउन रहेगा। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सभी सरकारी राशन की दुकानों के संचालकों से कहा है कि वह 23 और 24 जुलाई को 2 दिन में राशन बांट दें। भोपाल आना और जाना दोनों प्रतिबंधित रहेगा, आवागमन के लिए पूर्व की तरह ही पास जारी किए जाएंगे। गृहमंत्री ने लोगों से अपील की है कि अगले दो दिनों में जो भी जरुरत का सामान हो वह खरीद कर रख लें। सरकार की अगली कैबिनेट की बैठक भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी। सीएम ने ट्वीट कर की अपीलवहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लॉकडाउन की जानकारी साझा करते हुए लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा भोपाल में कोविड 19 संक्रमण की स्थिति और नागरिकों के हित को देखते हुए हमने 24 जुलाई रात 8 बजे से 10 दिन तक लॉकडाउन करने का निर्णय लिया है। इस दौरान फल-सब्ज़ी, दवाई, दूध सहित आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति निर्बाध जारी रहेगी। मेरा अनुरोध है कि सभी नियमों का पालन करें, सावधानी बरतें।

Kolar News

Kolar News 22 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में उपचुनाव के पहले वादों और आश्वासन का दौर शुरु हो गया है। दोबारा सत्ता हासिल करने की आस लगा कर बैठी कांग्रेस ने एक बार फिर बड़ी घोषणा की है। कांग्रेस ने अतिथि शिक्षकों को नियमित करने का भरोसा दिया है। दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने ट्वीट कर ऐलान किया है। उन्होंने ट्वीट कर अतिथि शिक्षकों को भरोसा दिलाया है। पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने मध्यप्रदेश के अतिथि शिक्षकों को माननीय कमलनाथ जी का बड़ा वचन। पुन: सरकार में वापसी करते ही पहली कैबिनेट बैठक में अतिथि शिक्षकों को करेंगे नियमित। गौरतलब है कि मप्र में 25 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं। ऐसे में वोट बढ़ाने के लिए राजनीतिक दल एक बार फिर जनता के बीच बड़े वादे लेकर जा रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 22 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का मंगलवार सुबह निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार थे और लखनऊ के मेदांता अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने आज सुबह अंतिम सांसे ली। आज शाम लखनऊ में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। लालजी टंडन के निधन पर मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा समेत मंत्रिमंडल के सदस्यों ने दुख जताया है और दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने शोक संदेश में कहा ‘मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टण्डन जी के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। परमपिता परमात्मा से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें एवं परिजनों को इस दुख की घड़ी में संबल और परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें। उन्होंने कहा कि श्रीलाल जी टंडन जी से हमेशा पितृवत स्नेह मिलता रहा। मध्यप्रदेश के राज्यपाल बनकर आने के पहले से भी उनके सान्निध्य का सौभाग्य मिला था। चाहे कोई भी विषय हो, उनकी पकड़ अदभुत थी। वो अपने आप में एक लाइब्रेरी थे। विनम्र श्रद्धांजलि।   लोक निर्माण विभाग मंत्री गोपाल भार्गव ने राज्यपाल लालजी टंडन के निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा ‘मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टंडन जी के निधन का दु:खद समाचार मिला। श्री टंडन जी के निधन पर शोक व्यक्त करता हूँ। सभासद से संसद और संसद से राजभवन का सफर तय करने वाले श्री टंडनजी की पहचान एक बेबाक राजनेता के रूप में होती थी। मुझे हमेशा आदरणीय लालजी टंडन का मार्गदर्शन मिलता रहा। भाजपा के विकास और विस्तार में उनका योगदान अतुलनीय है। उनके निधन से हमने कुशल राजनेता ओर मार्गदर्शक खो दिया है। कुशल संगठक और प्रशासक श्रद्धेय टंडन जी के निधन से भारतीय राजनीति के एक अध्याय का अवसान हुआ है। ईश्वर दिवंगत की आत्मा को अपने श्रीचरणो में स्थान दें और शोक संतृप्त परिवार पर जो वज्रपात हुआ है उसे सहन करने की शक्ति प्रदान करे।   प्रदेश के कृषि मंत्री  कमल पटेल ने महामहिम राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल लालजी टण्डन के निधन का दुखद समाचार मिला। श्री टंडन का जाना एक अपूरणीय क्षति है, जिसकी कभी  पूर्ति न होगी । ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दे एवं परिजनों को इस दुख की घड़ी में संबल और परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।   चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर गहन शोक व्यक्त किया है। सारंग ने उन्हें नमन करते हुये अपने शोक संदेश में कहा है कि हमने एक जमीनी कुशल राजनेता खोया है। उनकी कमी हमेशा खलेगी।   आयुष (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री रामकिशोर कावरे ने मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर शोक व्यक्त किया है। कावरे ने उन्हें श्रद्धाजंलि देते हुए कहा है कि अनुभवी राजनेता के जाने से देश और प्रदेश को क्षति हुई है, उनके अनुभवों से हमेशा विकास का मार्गदर्शन मिला।

Kolar News

Kolar News 21 July 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्यपाल श्रद्धेय लालजी टंडन के अवसान का दु:खद समाचार आज प्रात: मिला। वे जीवनभर राष्ट्र सेवा में संलग्न रहे। उनका योगदान सदैव याद किया जायेगा। श्री टंडन सार्वजनिक जीवन में शुचिता के प्रतीक थे। मध्यप्रदेश में राज्यपाल के रूप में उन्होंने हमेशा जनहित में मार्गदर्शन और प्रेरणा दी। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश में उनके सुझाए नवाचार को हम सबने देखा है। उन्होंने राजभवन में न सिर्फ गौशाला का संचालन करवाया, बल्कि वे स्वयं यह कहते भी थे कि मैं इस प्रयोग को सफल करके बताऊंगा। वे आने वाले प्रत्येक अतिथि का हृदय से सत्कार करते थे।  राजनीति में आपसी सौहार्द और संबंधों को हमेशा उन्होंने वरीयता दी। हमेशा उनकी सोच यही थी कि राजनीति सेवा का माध्यम है। दल कोई भी हो लेकिन सभी को मिलजुल कर राष्ट्र की सेवा करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 12 अप्रैल 1935 को जन्मे लालजी टंडन ने सात दशकों की सुदीर्घ समाज सेवा का सार्वजनिक जीवन बड़ी जीवंतता से जीया। उन्होंने समाज के सभी वर्गों से गहरा तादात्म्य स्थापित किया। सबको साथ लेकर चलने और अजातशत्रु रहकर समाजहित में कार्य करने की अटूट आत्मशक्ति उनके व्यक्तित्व में समाहित थी। निरंतर क्रियाशील रहने के कारण ही जन कल्याणकारी कार्यों की बड़ी लम्बी श्रृखंला उनके खाते में है। वे उन चंद जन नेताओं में रहे। जिन्होंने राष्ट्र सेवा और नैतिक मूल्यों की साधना राजनीति के माध्यम से की और अन्त्योदय की भारतीय अवधारणा को साकार किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक जीवन की ऐसी उदात्त, व्यापक और तपी हुई पृष्ठभूमि के साथ विधान परिषद में जब वर्ष 1978 में टंडन जी पहुँचे थे तो वहॉं भी उन्होंने अपनी छाप छोड़ी और संसदीय मर्यादाओं को नयी ऊॅंचाइयॉं दी। उत्तरप्रदेश विधान परिषद के दो बार सदस्य रहने के अलावा उन्होंने वहॉँ नेता सदन की भी भूमिका निभायी। विधान सभा के लिए तीन बार चुने गये। वहॉं नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में उन्होंने बताया कि विरोध के स्वर कैसे होने चाहिए और शालीन रहकर भी सरकार को जन-आवाज सुनने के लिए किस प्रकार बाध्य किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तरप्रदेश के वरिष्ठ मंत्री के रूप में तो टंडन जी का हर कदम प्रगति की एक नयी दास्तान बनता चला गया और नये-नये कीर्तिमान रचे जाने लगे। पांच बार मंत्री के रूप में पदभार ग्रहण करने के साथ उन्होंने उर्जा, आवास, नगर विकास, जल संसाधन जैसे भारी भरकम विभाग संभाले। अपने प्रशासनिक कौशल, दूरदृष्टि और दृढ़संकल्प से टंडन जी ने उत्तरप्रदेश के करोड़ों नागरिकों को सीधा लाभ पहुंचाया। इन विभागों की दशा और दिशा बदल दी।मुख्यमंत्री ने कहा कि  मंत्री के रूप में श्री टंडन  द्वारा किये गये सुधार और बदलाव अविस्मरणीय है। अन्त्योदय की भारतीय अवधारणा को साकार करने के लिए दबे-कुचले और वंचित वर्ग के लिए उस समय जो योजनाएं टंडन जी के नेतृत्व में बनायी गयीं, वे राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित हुईं। पांच रूपये, दस रूपये और पंद्रह रूपये रोज पर दबे-कुचले तबके को मकान का मालिकाना हक दिलाने की स्वप्निल योजना उन्होंने साकार की थी। यही नहीं  आवास के साथ एक फलदार वृक्ष और एक दुधारू पशु देने की योजना टंडन जी की बहुआयामी सोच का परिणाम थी। उन्होंने गरीबी-उन्मूलन के लिए बड़े पैमाने पर जमीनी कार्य हुए। सामुदायिक केंद्र बने, रैन बसेरे बने, मलिन बस्तियों का कायाकल्प हुआ। मथुरा-वृंदावन की खारे पानी की बड़ी समस्या का समाधान हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक-कल्याण के लिए  कार्य करने की उनकी प्रवृति के चलते उन्होंने ऐतिहासिक कार्य किये। उत्तरप्रदेश में पहली बार गोवध निषेध अधिनियम बना। हरिद्वार में पॉंच किलोमीटर लंबा घाट जनसहयोग से बनवाना उनकी विलक्षण सोच का नतीजा था। हरिद्वार में कुंभ के लिए इतनी मूलभूत सुविधाओं का विकास उन्होंने करा दिया कि अब वहॉं कुंभ के आयोजन में बहुत कुछ नया नहीं करना पड़ता है। अयोध्या मामलों के प्रभारी के रूप में श्रीराम जन्मभूमि न्यास को 42 एकड़ जमीन सौंपने का काम जिस तत्परता और संकल्पबद्धता से टंडन जी ने किया, उसकी दूसरी मिसाल नहीं मिलती। मुख्यमंत्री ने कहा कि टंडन जी के जीवन में असंभव को संभव बनाने का सिलसिला कभी थमा नहीं। वर्ष 2003 में उनके द्वारा एक साथ 1001 योजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास विश्व रिकार्ड के रूप में लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज किया गया। इसके अलावा लाल जी टंडन जी की सबसे बड़ी विशेषता यह भी  थी कि राजनेता बनने पर भी उन्होंने समाजसेवक के अपने रूप को बनाये रखा। इसीलिए उन्हें साम्प्रदायिक एकता के प्रतीक और मानवता के लाड़ले सपूत के रूप में सदैव देखा गया। लखनऊ में होली के शालीन जुलूस की प्राचीन परम्परा को टंडन जी ने पुनर्जीवित किया। सार्वजनिक कवि सम्मेलन की परम्परा कायम की और उसमें जीवंतता से हमेशा मौजूद रहे। जयप्रकाश नारायण के समग्र क्रांति आंदोलन की लखनऊ में कमान संभाली। इमरजेंसी में जेल गये, भारी प्रताडऩा सही। ओजस्वी वक्ता के रूप में अपनी पहचान बनायी। इसलिए से  सर्वप्रिय बने। यह  श्री टंडन की सबसे बड़ी पूंजी थी। इसके बल पर वर्ष 2009 में टंडन जी लखनऊ से सांसद बने और अटल जी की विरासत को विस्तार दिया। पंडित दीनदयाल उपाध्याय और लोहिया जी जैसे प्रखर चिंतक, भारत रत्न नाना जी देशमुख, अटल बिहारी वाजपेयी और जयप्रकाश नारायण जैसे महान नेताओं से टंडन जी के अत्यंत निकट के पारिवारिक संबंध रहे। ऐसे लोगों के दीर्घ सानिध्य से टंडन जी अनुभव समृद्ध बनते चले गये। मध्यप्रदेश में 29 जुलाई 2019 को उन्होंने कार्यभार संभाला था। उनके कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने ही वाला था। हमें उनके मार्गदर्शन का लाभ और भी मिलता लेकिन विधि के विधान से ऐसा नहीं हो सका। कर्मयोगी टंडन जी ने मध्यप्रदेश के राज्यपाल के रूप में अपनी सम्पूर्ण सामर्थ्य-शक्ति को उच्चशिक्षा के क्षेत्र में कायाकल्प के लिए लगा दिया था। मध्यप्रदेश में उनके इस कार्यकाल को भी सदैव याद रखा जाएगा।

Kolar News

Kolar News 21 July 2020

भोपाल, 21 जुलाई। मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का मंगलवार सुबह निधन हो गया। वे 85 साल के थे और लंबे समय से बीमार थे। लखनऊ के मेदांता अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था, जहां उन्होंने आज अंतिम सांस ली। उनके निधन पर सीएम शिवराज ने गहरा दुख जताया है और मप्र में पांच दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।   सीएम शिवराज ने आज सुबह 11 बजे मंत्रिमंडल की अहम बैठक बुलाई थी। बैठक से पहले सीएम शिवराज और उनके मंत्रिमंडल ने दिवंगत राज्यपाल लालजी टंडन को श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि देने के पश्चात कैबिनेट बैठक को स्थगित कर दिया गया है। शिवराज की कैबिनेट बैठक अब बुधवार को सुबह 11 बजे होगी। सीएम शिवराज ने राज्यपाल लालजी टंडन के निधन को राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति बताया। उन्होंने कहा कि वे लखनऊ जाकर लालजी टंडन के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें श्रद्धांजलि दूंगा। शिवराज कैबिनेट ने राज्यपाल लालजी को श्रद्धांजलि देते हुए मध्यप्रदेश में पांच दिन के राजकीय शोक का ऐलान किया है। सभी शासकीय कार्यालय आज बंद रहेंगे। सीएम शिवराज और मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, स्व. लालजी टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित करने लखनऊ रवाना हो गए हैं।

Kolar News

Kolar News 21 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संकट के बीच राज्य सरकार अब आर्थिक तंगहाली के दौर से भी गुजरने लगी है। कोरोना के खिलाफ जंग और राज्य की आर्थिक जरूरतों की पूर्ति के लिए सरकार आगामी मानसून सत्र में अनुपूरक बजट पारित कराने वाली थी, लेकिन गत दिनों सर्वदलीय बैठक में विधानसभा का मानसून सत्र स्थगित कर दिया। अब कर्ज और आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रही राज्य सरकार मप्र सरकार लेखानुदान के बजाय वित्तीय वर्ष 2020-21 का पूर्ण बजट ही अध्यादेश के माध्यम से पारित कराएगी। यह लगभग दो लाख करोड़ रुपये का हो सकता है। वित्त विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।बताया जा रहा है कि वर्तमान आर्थिक हालातों के चलते सरकार कई विभागों के बजट में कटौती, जबकि कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग के बजट में बढ़ोतरी की जा सकती है। बता दें कि विधानसभा के मानसून सत्र में अनुपूरक बजट पारित किया जाना था। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण सत्र स्थगित करना पड़ा है। ऐसे में सरकार को आर्थिक जरूरतों की पूर्ति के लिए अध्यादेश से बजट लाने की तैयारी कर रही है। बीते चार महीने में यह दूसरा मौका है, जब राज्य सरकार विधानसभा से पूर्ण बजट पारित नहीं करा पाई है।गौरतलब है कि मार्च 2020 में राजनीतिक कारणों से बजट पारित नहीं हुआ और सरकार को एक लाख 6600 करोड़ का लेखानुदान लाकर अपने खर्चे चलाना पड़े, जबकि अब कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण ऐन वक्त पर विधानसभा सत्र स्थगित करना पड़ा। अनुमान लगाया जा रहा था कि सरकार दोबारा लेखानुदान लाएगी, लेकिन ऐसा नहीं है। सरकार पूर्ण बजट लाने की तैयारी में है। इसमें मार्च में लाए गए लेखानुदान की राशि एक लाख 6600 करोड़ रुपये मर्ज रहेगी। वित्त विभाग इसकी तैयारी में जुट गया है। बताया जा रहा है कि 31 जुलाई से पहले बजट प्रदेश के प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से अनुमोदित कराया जाएगा, जबकि नवम्बर-दिसम्बर में संभावित शीतकालीन सत्र में विधानसभा से अनुमोदन लिया जाएगा। प्रदेश में ऐसे बहुत कम अवसर आए हैं, जब अध्यादेश के जरिए पूर्व बजट लाया गया हो। इससे पहले मार्च 2020 में कमलनाथ सरकार ने दो लाख 40 हजार करोड़ के लगभग बजट की तैयारी की थी, क्योंकि पिछले वित्तीय वर्ष में शिवराज सरकार ने दो लाख 33 हजार 605 करोड़ रुपये का बजट विधानसभा में प्रस्तुत किया था।इधर, जानकारी सामने आ रही है कि शराब, रेत सहित अन्य खनिजों से मिलने वाले राजस्व में कटौती होने से सरकार का गणित गड़बड़ा गया है। इसका असर बजट पर भी दिखाई देगा। सरकार कोरोना संक्रमण के रोकथाम की तैयारी और उससे जुड़े अन्य कार्यों के लिए ज्यादा बजट देगी। स्वास्थ्य विभाग के बजट में भी बढ़ोतरी होने की संभावना है, क्योंकि कोरोना से जुड़े अन्य कार्यों के लिए भी इस विभाग को ज्यादा बजट दिया जाएगा। वहीं अन्य विभागों के बजट में कटौती हो सकती है। इसमें खासकर वे योजनाएं प्रभावित होंगी, जो कम लोगों को प्रभावित करती हों। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि  लॉकडाउन अवधि में दुकान बंद रहने से शराब ठेकेदारों ने 3605 में से 1700 से ज्यादा दुकानें छोड़ दी थीं, जिससे राज्य सरकार की आदमनी भी प्रभावित हुई। वित्त विभाग फिलहाल पूर्ण बजट लाने की तैयारियों में जुटा है। हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि कब तक यह बजट आएगा।

Kolar News

Kolar News 19 July 2020

मुरैना। भाजपा में शामिल होने के बाद से ही कांग्रेस राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर निशाने साध रही है। इतना ही नहीं अब कांग्रेस नेता खुलकर सामने से सिंधिया पर कई गंभीर आरोप भी लगा रहे हैं। सिंधिया पर लग रहे आरोपों पर मुख्यमंत्री शिवराज के पीएचई मंत्री ऐदल सिंह कंसाना ने पलटवार किया है। उन्होंने सिंधिया की तुलना सोने से करते हुए कहा है कि सोने पर कभी काई नहीं लगती है।    मंत्री कंसाना ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सिंधिया पर आरोप लगाना सोने पर काई लगाने के समान है। लेकिन इस सच की तरह कि जिस तरह सोने पर कभी काई नहीं लगती वैसे ही ज्योतिरादित्य सिंधिया पर किसी तरह की आरोप लगाने से कुछ नहीं होगा।मंत्री कंसाना यही नहीं रुके, उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जब सिंधिया कांग्रेस में थे तो कोई कांग्रेसी बोलता नहीं था, अब आरोप लगा रहे हैं।   उन्होंने आरोप लगाने वाले कांग्रेसियों पर सवाल साधते हुए पूछा कि, जब यही सिंधिया कांग्रेस में थे तब उन पर कोई आरोप क्यों नहीं लगाए, अब भाजपा में हैं तो आरोप लगा रहे हैं, अब कांग्रेस में कुछ बचा नहीं है। राजस्थान में कांग्रेस में मचे सियासी घमासान पर प्रतिक्रिया देते हुए मंत्री कंसाना ने कहा कि कांग्रेस पूरे देश में युवा नेतृत्व को खत्म करना चाहती है। जिसके चलते मध्यप्रदेश में पहले सिंधिया को पार्टी से बाहर होने के लिए मजबूर किया गया। वहीं अब राजस्थान में सचिन पायलट के साथ किया जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 19 July 2020

रतलाम, 17 जुलाई (हि.स.)।  प्रदेश के उद्योग मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगाव का शुक्रवार को स्वागत पूर्व विधायक मथुरालाल डामर के साथ  बिरमावल ग्राम पंचायत प्रधान कन्हैयालाल मालवीय ,रमेश गिरी गोस्वामी, सतीश चंद्र अग्रवाल, बाबूलाल पांचाल, जगदीश डामर रतलाम,धार ,झाबुआ पाटीदार समाज के अध्यक्ष ईश्वर लाल पाटीदार आदि ने उनके गृह निवास सन्दला जाकर किया, साथ ही मंत्री जी को कवलका माताजी दर्शन कर गांव में फ्रूट, नीम्बू, अमरूद ,बेर आदि का उद्योग लगाने का ज्ञापन दिया।    इसके पूर्व मंत्रीजी ने बदनावर में बताया कि मध्यप्रदेश में बिजली,पानी एवं प्रचुर मात्रा में जमीन उपलब्ध है। उद्योगों के लिए यही चीजे सबसे महत्वपूर्ण है। मेरी कई उद्योगपतियों से बातचीत चल रही है, शीघ्र ही फूड प्रोसेसिंग पर आधारित उद्योग बड़े पैमाने पर प्रदेश में लगना शुरू होंगे। किसी भी उद्योगपति को फैक्ट्री लगाने में कोई अड़चन नहीं आना चाहिए, इस संबंध में अफसरों को भी निर्देशित किया गया है।    

Kolar News

Kolar News 17 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा की रिक्त 25 सीटों के लिए चल रही उपचुनाव की तैयारियों की बीच शुक्रवार को कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा है। पार्टी की नेपानगर विधानसभा सीट से विधायक सुमित्रा कास्डेकर ने विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया है। बताया जा रहा है कि सुमित्रा देवी भी भाजपा में शामिल हो सकती हैं। मध्यप्रदेश में इन दिनों उपचुनावों की तैयारियों में दो ही प्रमुख पार्टियां भाजपा और कांग्रेस जोर-शोर से तैयारियों में जुटी हुई हैं। इसी बीच नेपानगर से कांग्रेस की विधायक सुमित्रा देवी कास्डेकर ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने शुक्रवार को अपना त्याग पत्र विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को सौंपा। विधानसभा के उपचुनावों की तैयारियों के बीच कांग्रेस को एक सप्ताह के भीतर ही यह दूसरा झटका लगा है। इससे पहले बीते रविवार को छतरपुर जिले की बड़ा मलहरा सीट से कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने भी विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें भाजपा की सदस्यता ग्रहण कराने के बाद उन्हें नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष नियुक्त कर कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दे दिया था। बताया जा रहा है कि सुमित्रा देवी भी भाजपा में शामिल हो सकती हैं।गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में पिछले 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए सपा-बसपा और निर्दलीयों के समर्थन से कमलनाथ के नेतृत्व में सरकार बनाई थी, लेकिन इस साल फरवरी-मार्च के महीने में राजनीतिक उथल-पुथल हुई और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ उनके समर्थक कांग्रेस के 22 विधायक विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए। इससे कमलनाथ गिर गई और शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में चौथी बार भाजपा की सरकार बन गई। अब तक कांग्रेस के 24 विधायक विधानसभा से इस्तीफा दे चुके हैं और दो सीटें पहले से ही रिक्त हैं। इस प्रकार अब प्रदेश में विधानसभा की कुल 26 सीटें खाली हो गई हैं, जिन पर आने वाले दिनों में उपचुनाव होने हैं।

Kolar News

Kolar News 17 July 2020

गुना।  जो लोग कांग्रेस सरकार में सड़क़ों पर उतरने की बात कहते थे, वह अब कहां है? राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर परोक्ष रुप से निशाना साधने वाला यह सवाल शुक्रवार को पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने उठाया।   जगनपुर चक की घटना को लेकर पत्रकारों से बातचीत में जयवर्धन ने कहा कि दलित परिवार के साथ जिस तरह पुलिस ने बर्बरता दिखाई, वह निंदनीय है और यह सिर्फ भाजपा शासनकाल में ही हो सकता है। जेवी ने कहा कि मामले में कलेक्टर, एसपी के साथ पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है, किन्तु इस घटना में और भी कई लोग शामिल थे, जिन पर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की गई है।   उन्होंने भाजपा के पूर्व विधायक राजेन्द्र सलूजा की शिकायत को आधार बनाते हुए कहा कि सीधे तौर पर जिम्मेदार राजस्व अधिकारियों पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं हुई? जिस परिवार के साथ जुल्म हुआ है, वह किसान परिवार था, गरीब परिवार था जो लगभग 2 साल से वहां खेती कर रहा था।  हैरानी की बात तो यह है कि जिस गब्बू पारदी का कब्जा उस जगह पर था. उस पर प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की है। उल्टा दलित परिवार के राजकुमार अहिरवार और उसके परिजनों पर प्रकरण दर्ज कर लिया गया।   क्या भाजपा गुना को मंदसौर बनाना चाहती है : बाला बच्चन   पूर्व गृहमंत्री  बाला बच्चन ने सवाल उठाया कि क्या भाजपा गुना को मंदसौर बनाना चाहती है? उसे इस सवाल का जवाब देना ही होगा। फूल सिंह बरैया ने कहा कि भाजपा का यह अंतिम पायदान है। इसके बाद भाजपा नजर नहीं आएगी। विभा पटेल ने कहा कि किसान परिवार के साथ बर्बरता की गई है। लाठियों से मारपीट करने के साथ ही महिलाओं के कपड़े तक फाड़े गए।  विभा पटेल ने आरोप लगाया कि भाजपा समाज में विघटन पैदा कर रही है।    9 सूत्रीय मांग पत्र भाजपा सरकार को भेजा    जगनपुर घटना की जांच के लिए शुक्रवार को कांग्रेस द्वारा गठित जांच दल गुना आया। सात सदस्यीय इस जांच ने पहले कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर कांग्रेसियों से घटना की जानकारी ली। इसके बाद जगनपुर पहुँचकर टीम ने पीडि़त दंपत्ति के परिजनों के साथ ही अन्यों से चर्चा की और वस्तु स्थिति से रुबरु होने का प्रयास किया। इसका बाद टीम जिला अस्पताल पहुंची और पीडि़त दंपत्ति से मुलाकात की। जांच दल ने बताया कि पूरी रिपोर्ट हाईकमान को सौपी जाएगी। फिलहाल 9 सूत्रीय मांग पत्र भाजपा सरकार को भेजा जा रहा है। इसके साथ ही जांच दल ने मांग की, कि जांच हाईकोर्ट के सिटिंग न्यायाधीश से कराई जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।   आप का धरना आज   जगनपुर की घटना को लेकर आप भी मैदान में है। बीते रोज ज्ञापन सौपने के बाद शुक्रवार को पार्टी पदाधिकारियों ने पत्रकारों से चर्चा की। इस दौरान उन्होने जानकारी दी कि आप कल 18 जुलाई को शास्त्री पार्क पर धरना देगी। इस दौरान नेताओं  ने सवाल उठाया कि जब उक्त जमीन पर अतिक्रमण हो रहा था तो प्रशासन क्या कर रहा था? और जब जमीन से कब्जा हटा दिया गया था तो फिर से कब्जा कैसे हो गया? नेताओं का कहना रहा कि वह अतिक्रमण के पक्ष में नहीं है, किन्तु अतिक्रमणकारियों को संरक्षण देने का काम शासन-प्रशासन ही कर रहा है।

Kolar News

Kolar News 17 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। भोपाल और इंदौर में स्थिति अधिक खराब है। कोरोना संक्रमण के मामलों पर रोक लगाने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। वहीं विपक्ष कोरोना पर रोकथाम में सरकार को पूरी तरह से विफल बता रहा है। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार का ध्यान विभाग बांटने में है कोरोना रोकथाम में नहीं।   पीसी शर्मा ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कोरोना के मामले पर कहा कि पूरे देश में हालत बद से बदतर होती जा रही है और सरकार पूरी तरह से फैल रही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि लगातार रोज केस बढ़ रहे हैं और सरकार उन पर अंकुश नहीं लगा पा रही है। जिसका मुख्य कारण भाजपा सरकार बनाने में लगी रही और मंत्रियों को विभाग बांटने में लगी रही, कोरोना की तरफ ध्यान ही नहीं दिया। भोपाल में कथित पत्रकार प्यारे मियां के मामले पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि निश्चित तौर पर सरकार को कड़ा एक्शन लेना चाहिए और इनसे जुड़े जो भी लोगों के नाम सामने आ रहे हैं उन पर भी कड़ी कार्यवाही होना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित अन्य मंत्रियों के साथ आरोपित कथित पत्रकार प्यारे मियां के फोटो को लेकर उन्होंने कहा कि वह एक पत्रकार भी था, जिस नाते कई लोगों के साथ फोटो हो सकते हैं। लेकिन इस मामले में भाजपा नेताओं की भूमिका ज्यादा लग रही है, सभी के नाम उजागर होना चाहिए।   कमलनाथ हमारे नेतापूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के नेता प्रतिपक्ष बनने को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि हम पहले दिन से ही कह रहे हैं कि वही नेता प्रतिपक्ष होंगे और वही प्रदेश अध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा कि जो विधायक प्रद्युमन सिंह लोधी भाजपा में गया वह भी पहले रो-रो कर यही कहता था कि वही अध्यक्ष रहे और वही नेता प्रतिपक्ष बने। पीसी शर्मा ने कहा कि कमलनाथ हमारे नेता है और उन्हीं के नेतृत्व में हम सभी 24 विधानसभा के उपचुनाव जीतेंगे और फिर से कमलनाथ मुख्यमंत्री बनेंगे।   बंगला खाली कराना द्वेषपूर्ण कार्रवाईइस दौरान प्रदेश सरकार द्वारा बंगले खाली कराने को लेकर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा की सरकार द्वेषपूर्ण कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारी जब सरकार थी तो हमने तो भाजपा के पूर्व मंत्रियों से कभी बंगले खाली नहीं कराए थे। कई पूर्व मंत्री बंगलों में रह रहे थे।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

भोपाल। कोरोना संकट के बीच मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने राज्य के बीमा अस्पतालों में डॉक्टर नहीं होने का मुद्दा उठाते हुए रिक्त पदों पर विशेषज्ञों की भर्ती करने की मांग की है। पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने बुधवार को मीडिया को जारी बयान में कहा है कि प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अब तक कोरोना गांवों और कस्बों में फैल रहा है, लेकिन प्रदेश सरकार मेहनतकशों और उनके परिजनों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा रही है।माकपा नेता ने कहा है कि भोपाल, ग्वालियर, उज्जैन, नागदा, इंदौर, देवास के बीमा अस्पतालों में विशेषज्ञों के 73 पद स्वीकृत हैं, लेकिन वर्तमान में इन 73 में से 54 पद रिक्त पड़े हुए हैं। पहले इन अस्पतालों के लिए पार्ट टाइम विशेषज्ञों की व्यवस्था की जाती थी, लेकिन इस साल सरकार स्वयं को सुरक्षित करने, मंत्रिमंडल के गठन और विभागों के बंटवारे में इतना उलझी हुई है कि पार्ट टाइम विशेषज्ञों की व्यवस्था भी नहीं हुई है, जबकि कोरोना के कारण श्रमिकों का स्वास्थ्य पहले की तुलना में अधिक खतरे में है। उन्होंने कहा कि इन अस्पतालों में कारखानों व अन्य संस्थानों में काम करने वाले श्रमिकों- कर्मचारियों और उनके परिजनों का इलाज होता है। ग्वालियर जैसे शहर में जहां बीमा अस्पताल में विशेषज्ञों के 10 पद स्वीकृत हैं, वहां आर्थोपेडिक, एनेस्थिसिया, पीडियाट्रिक,पैथोलाँजी, गायनिक स्पेशलिस्ट के पद रिक्त पड़े हुए हैं। श्रमिकों के लिए उपलब्ध इन स्वास्थ्य सेवाओं को भाजपा सरकार ने लगातार जर्जर किया है। वर्ष 2008 से विभाग में डीपीसी नहीं हुई है, जिससे लगातार रिक्त होते पदों पर नई नियुक्तियां नहीं हो पा रही हैं। माकपा राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने सरकार से मांग की  है कि बीमा अस्पतालों में रिक्त पदों को भर कर श्रमिकों के जीवन की सुरक्षा की जाए, साथ ही बीमा अस्पतालों को आधुनिक स्वास्थ्य उपकरणों से सुसज्जित किया जाए।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

शिवपुरी। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर एक बार फिर से निशाना साधा है। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कांग्रेस छोड़ने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने दुश्मनों से हाथ मिला लिया। मंगलवार को शिवपुरी पहुंचे दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिस पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को क्या-क्या नहीं कहा। उनको लोकसभा चुनाव हराया और हारने के बाद उसी पार्टी में चले गए जिसने उन्हें हराया। यह तो दुश्मन से हाथ मिलाना हो गया। यह क्या औचित्य है।   उन्होंने कहा कि आज तक मैं इस बारे में समझ नहीं पाया हूं। जिस दुश्मन से आप लड़ रहे हो और आप उसी के पाले में जाकर बैठ जाओ। यह मुझे उनसे उम्मीद नहीं थी। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह मंगलवार को शिवपुरी दौरे पर आए थे। इस दौरान वह जिले के खोड़ में पहुंचे और यहां पर प्रोफेसर एपीएस चौहान के निधन पर शोक संवेदनाएं व्यक्त कीं।    रन्नौद में दिग्विजय सिंह के हाय-हाय के नारे लगाए भाजपा कार्यकर्ताओं ने-  शिवपुरी दौरे के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को रन्नौद में भाजपा कार्यकर्ताओं ने हाय-हाय के नारे लगाए। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिग्विजय सिंह के काफिले को रोकने के प्रयास किया। भाजपा कार्यकर्ताओं हाय-हाय के बैनर हाथ में लिए हुए थे। पुलिस जवानों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को रोका और पूर्व सीएम की कारों का काफिला आगे बढ़ गया।    प्रो एपीएस चौहान को दी श्रद्धांजलि - पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने मंगलवार को ग्राम खोड पहुँचकर प्रो एपीएस चौहान के आकस्मिक निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की। इस दौरान पूर्व सीएम दिग्गी राजा के साथ पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह, केपी सिंह, चंदेरी विधायक गोपाल सिंह सहित बुंदेलखंड के अनेक पुरानी रियासतों के लोग मंगलवार को खोड पहुँचे। दिग्विजय सिंह ने प्रो चौहान को एक डायनेमिक व्यक्तित्व का धनी बताया और कहा कि उनके जाने से उन्हें निजी क्षति हुई है जो कभी पूर्ण नही हो सकती है। इस अवसर पर प्रो चौहान की पत्नी मंजू सिंह, भाई अरुण प्रताप सिंह को पूर्व मुख्यमंत्री ने ढांढस बंधाया।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

भोपाल। वरिष्ठ भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार सुबह उमा भारती से मिलने उनके निवास पहुंचे थे। यहां मीडिया से बाचतीत करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और कांग्रेस की 15 महीने की सरकार को भ्रष्टाचारी बताते हुए कहा कि 90 दिन में शांत था क्योंकि कोरोना का प्रकोप था, लेकिन अब मैदान में उतरा हूं और कांग्रेस को जवाब दूंगा। सिंधिया के इस बयान पर पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने पलटवार किया है। उन्होंने सिंधिया पर सवाल दागते हुए पूछा है कि जब जरुरत थी तब वे कहा थे।   पीसी शर्मा मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए सिंधिया पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि सिंधिया पहले भाजपा के व्यापमं औऱ सिंहस्थ घोटाले की ही जांच करा लें। पता लग जायेगा कौन कितना  भ्रष्टाचारी है। 90 दिन बाद मैदान में उतरने के सिंधिया के बयान पर उन्होंने कहा कि जब जरूरत थी तब सिंधिया जी कहा थे। उस समय दिग्विजय सिंह मैदान में थे, गरीबों की मदद कर रहे थे। कांग्रेस कार्यकर्ता जनता की मदद कर रहे थे।   वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों पर एक बार फिर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि सरकार कोरोना के मुद्दे पर फैल हुई है। प्रदेश में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है और सरकार चुनाव की तैयारी में लगी है।

Kolar News

Kolar News 14 July 2020

धार। मध्यप्रदेश में भाजपा की एक ओर विधायक कोरोना संक्रमित पाई गई है। धार विधानसभा क्षेत्र से विधायक नीना वर्मा की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आरसी पनिका ने विधायक के संक्रमित होने की पुष्टि की है। इससे पहले भाजपा को दो विधायक और भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी संक्रमित हो चुके हैं। बता दें कि भाजपा विधायक नीना वर्मा के पति पूर्व केन्द्रीय मंत्री विक्रम वर्मा गत दिनों कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद उनके सम्पर्क में आने वाले लोगों के सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे। जिनमें पूर्व केन्द्रीय मंत्री विक्रम वर्मा के गनमैन और ड्रायवर समेत सात लोग पॉजिटिव आए थे, लेकिन उनकी पत्नी नीना वर्मा की रिपोर्ट निगेटिव आई थी, लेकिन बाद में दोबारा उनका सेम्पल लेकर जांच के लिए भेजा गया। धार सीएमएचओ डॉ. पनिका ने बताया कि सोमवार की रात विधायक नीना वर्मा की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। हालांकि, उनका स्वास्थ्य बेहतर है, लेकिन इसके बाद उनके सम्पर्क में आने वालों को लोगों को घरेलू एकांतवास में किया गया है और उनके घर को सील कर सेम्पल लिये जा रहे हैं। परिवार के अन्य सदस्यों के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। इससे पहले भाजपा के ओमप्रकाश सकलेचा और रीवा राजघराने के दिव्यराज सिंह भी कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। वहीं, कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी भी संक्रमित हो चुके हैं।

Kolar News

Kolar News 14 July 2020

भोपाल।  मध्य प्रदेश शिवराज कैबिनेट के मंत्रियों को विभागों का बंटवारा हो गया है। जल्द ही सभी मंत्री अपने विभागों का पद ग्रहण कर लेंगे। मंत्रियों को विभाग का आबंटन होने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नई जिम्मेदारी मिलने पर बधाई दी है।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर सभी साथियों को विभागों की जिम्मेदारी मिलने पर शुभकामनाएं दी है। साथ ही उन्होंने सभी मंत्रियों के साथ सेवाभाव से काम करते हुए मप्र को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने का संकल्प भी दोहराया है। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा ‘प्रदेश मंत्रिमंडल में साथियों को मिली विभागों की नई जिम्मेदारी के लिए बधाई और शुभकामनाएं! हम सब संकल्प लें कि प्रदेश के उत्थान और जनकल्याण के लिए परिश्रम की पराकाष्ठा करेंगे। प्रदेश को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के संकल्प को साथ मिलकर पूरा करेंगे।   एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री @narendramodi के नेतृत्व में हम सभी साथी सेवा के पवित्र ध्येयों को प्राप्त करने में जुट जायें। आइये, संकल्प लें कि नया मध्यप्रदेश बनाकर हम सब प्रधानमंत्री जी के सपनों के भारत के निर्माण के स्वप्न को साकार करेंगे।

Kolar News

Kolar News 13 July 2020

भोपाल। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने राज्य सरकार पर रोजगार के अवसर खत्म करने का आरोप लगाया है। पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि सरकार की अपनी नीतियों की वजह से प्रदेश की कई प्रतियोगी परीक्षाएं और विभिन्न सरकारी विभागों में होने वाली भर्तियों की परीक्षाएं पिछले दो साल से नहीं हुई हैं। इससे प्रदेश के लाखों युवा बिना परीक्षा में बैठे ही ओवरएज हो गए हैं। सरकार इन युवओं को उस गुनाह की सजा दे रही है, जो उन्होंने नहीं किया है।माकपा राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने सीएम को लिखे पत्र में कहा है कि अक्टूबर-2019 में विधानसभा में दी गई जानकारी के अनुसार ही प्रदेश में शिक्षित बेरोजगारों की संख्या 27 लाख 79 हजार 725 है। यह युवा अपनी प्रतिभा और ऊर्जा को प्रदेश की प्रगति में लगाना चाहते हैं, लेकिन सरकार उनके लिए रोजगार के नए अवसर मुहैया कराने की बजाय रोजगार के मौजूदा अवसरों को भी खत्म करती जा रही है।उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि एमपीएसआई की परीक्षा के लिए अधिकतम आयु सीमा 28 वर्ष है, मगर पिछले दो साल से यह परीक्षा नहीं हुई है। इस परीक्षा की तैयारी में लगे लाखों युवा परीक्षा में बैठने का अवसर पाए बगैर ही निर्धारित आयु सीमा को पार कर गए हैं। इसी प्रकार यूपीएसई की परीक्षा भी नहीं हुई है। कोरोना के चलते यह कब होगी, कहा भी नहीं जा सकता। इस परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए भी यह आयु सीमा की समस्या खड़ी होगी। इसी प्रकार बैंकिंग क्षेत्र की परीक्षाएं भी स्थगित हैं। आज के समाचार पत्रों के अनुसार पीपीटी, पीएटी, प्री वेटरनिटी, डिप्लोमा इन एनीमल हंसबेंड्री सहित कई परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। माकपा नेता ने कहा है कि उनकी पार्टी कोरोना की महामारी के दौरान परीक्षाएं करवा कर युवाओं के जीवन को जोखिम में नहीं डालना चाहती, मगर चाहती है कि सरकार युवाओं को उस गुनाह की सजा न दी जाए, जो उन्होंने किया ही नहीं है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि वह पहलकर युवाओं को अश्वस्त करें कि परीक्षा न होने से ओवरएज होने वाले युवाओं के साथ अन्याय नहीं करेगी और उन्हें अपना भविष्य संवारने का अवसर जरूर देगी।

Kolar News

Kolar News 13 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में चले लंबे सियासी घमासान के बाद शिवराज मंत्रिमंडल के मंत्रियों को विभागों का बंटवारा हो गया है। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने सिंधिया समर्थकों का खास ध्यान रखा है और राजस्व, परिवहन, स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, ऊर्जा जैसे अहम विभाग उनके हिस्से में आए है। विभागों के बंटवारे को लेकर पर्व सीएम और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा है कि परिवहन और राजस्व विभाग में सिंधिया जी की इतनी रुचि क्यों है? समझदार लोग समझते हैं।   दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर विभागों के बंटवारे को लेकर सरकार पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा है कि ‘आखिर 11 दिनों के ‘वर्कआउट’ के बाद लूट का बँटवारा हो गया। परिवहन, राजस्व जलसंसाधन आदि गये भगोड़ों को और एक्साइज शहरी विकास गये भाजपा को। देखते हैं 3 महीने की अंतरिम सरकार कितना अपना भला करती है और कितना जनता का। यह भी देखना है इस अंतरिम मंत्रिमंडल की कितनी बात अधिकारी मानते हैं।   एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने सिंधिया पर तंज कसते हुए कहा कि ‘परिवहन और राजस्व विभाग में सिंधिया जी की इतनी रुचि क्यों है? समझदार लोग समझते हैं। मध्यप्रदेश मंत्रीमंडल में विभागों के बँटवारे को लेकर पूरी भाजपा दिल्ली से लेकर भोपाल में "वर्कआउट" चल रहा है। यह मंत्रीमंडल के बँटवारे का झगड़ा नहीं है यह "लूट" के बँटवारे का झगड़ा है। परिवहन, एक्साइज़, राजस्व्  शहरी विकास आदि  सिंधिया जी नहीं छोडऩा चाहेंगे। क्यों? समझ जाओगे!

Kolar News

Kolar News 13 July 2020

भोपाल। यूपी के कुख्यात बदमाश विकास दुबे की महाकाल मंदिर से गिरफ्तारी के बाद अब कांग्रेस महाकाल मंदिर के शंखद्वार का शुद्धिकरण करेगी। पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा उज्जैन जाकर शंखद्वार का शुद्धिकरण करेंगे। वरिष्ठ भाजपा विधायक पीसी शर्मा ने भी सज्जन सिंह का समर्थन किया है।   पीसी शर्मा ने भी महाकाल मंदिर के शुद्धिकरण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि कांग्रेस ने कभी भी धर्म को राजनीति से नहीं जोड़ा। धर्म आस्था का विषय है, धर्मों पर विवाद भाजपा ने छेड़ा है। उन्होंने कहा कि विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर में दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को सरेंडर करने के लिए चुना गया, इसलिए महाकाल मंदिर का शुद्धिकरण जरूरी है, सावन का महीना भी है इसलिए शुद्धिकरण ज़रूरी है। पीसी शर्मा ने कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही नहीं बल्कि पूर्व सीएम उमा भारती ने भी इस पर सवाल खड़े किए हैं। विकास दुबे को जिनका संरक्षण मिला, पूछताछ के बाद उसका एनकाउंटर होना था। वहीं शिवराज के ग्वालियर दौरे पर तंज कसते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि जबसे उन्होंने शपथ ली है कोरोना पैर पसार रहा है। एमपी में कोरोना का नहीं विकास का एनकाउंटर हुआ है, शिवराज का दौरा कोरोना के लिए नहीं चुनाव के लिए है, सरकार कोरोना मामले में फेल हुई है। तुलसी सिलावट के कलंक वाले बयान पर उन्होंने कहा कि सभी दल-बदलने वाले नेताओं के जहन में वही बात हैं जो जुबान पर आया, नींद में उठाकर पूछेंगे तो भी यही बात सामने आएगी।

Kolar News

Kolar News 11 July 2020

इंदौर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में आत्मनिर्भर भारत अभियान न केवल कोविड-19 महामारी संकट से लडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, बल्कि एक आधुनिक भारत की पहचान भी बन रहा है। एक तरफ जहां आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत एमएसएमई के कल्याण के लिये 16 योजनाएं लागू की गई हैं, वहीं दूसरी ओर गरीबों, दलितों, श्रमिकों और किसानों के लिये भी कई कदम उठाए जा रहे हैं, जिससे हर क्षेत्र में विकास की एक नई कहानी लिखी जा रही है। ‘वोकल फॉर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ का यह अभियान देश को हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाएगा। यह स्थानीय उद्यमियों और व्यवसायों को सशक्त बनाएगा। यह बातें इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने शनिवार को मीडिया से बातचीत में कही।सांसद लालवानी ने इंदौर भाजपा कार्यालय पर आयोजित पत्रकार-वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि आत्मनिर्भर भारत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी का विजन है, जो भारत वर्ष को हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने का मार्ग प्रशस्त करता है। उन्होंने 12 मई को देश की कुल जीडीपी के लगभग 10 प्रतिशत के बराबर 20 लाख करोड़ रुपये से अधिक के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की थी, जिसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 13 मई से 17 मई के बीच लगातार पांच दिनों में विस्तार से हर क्षेत्र के लिये अलग-अलग घोषणा की। यह न केवल कोविड-19 के खिलाफ निर्णायक लड़ाई में भारत को आगे रखे हुए है, बल्कि आधुनिक भारत की पहचान भी बना रहा है। इस पैकेज में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा उठाये गये राहत उपायों के अलावे 1.70 लाख करोड़ रुपये की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना भी शामिल है। इस घोषणा के डेढ़ महीने में ही मोदी सरकार एक आत्मनिर्भर भारत अभियान के विचार को पूरी तरह से जमीन पर लाने के लिये काफी आगे बढ़ी है और अब इसके सकारात्मक प्रभाव भी धरातल पर दिखने लगे हैं।उन्होंने कहा कि कोरोना संकट की वजह से देशभर में चौथे चरण के लॉकडाउन की घोषणा से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने जब राष्ट्र के नाम संदेश दिया तो उन्होंने ‘वोकल फॉर लोकल’ की वकालत की। देश की अर्थव्यवस्था को यदि कोरोना संकट से लड़ते हुए भी मजबूत और आत्मनिर्भर बनाए रखना है तो इसका संकल्प हर एक देशवासी को वोकल फॉर लोकल को अपनाने के रूप में ही लेना पड़ेगा, इसके तहत स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा दिया जा रहा है। इससे स्थानीय उत्पादों के गुणवत्ता में सुधार तो आयेगा ही, साथ ही स्थानीय उद्योगों को भी लाभ होगा, देश ही अर्थव्यवस्था भी सुदृढ होगी और भारत आत्मनिर्भर भी होगा।सांसद लालवानी ने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि हम इंदौर से अंतरराष्ट्रीय कार्गो शुरू करने जा रहे हैं। अब निर्यात करने के लिये हमारे उद्योगपतियों को दिल्ली-मुंबई नहीं जाना पड़ेगा। माताओं-बहनों को आगामी रक्षाबंधन के लिये राखी निर्माण करने के कार्य में प्रशिक्षण दिया गया। शहर के मध्य में सांसद राखी ब्रिकी केन्द्र खोला जायेगा। इससे जो इनकम होगी, वह उन्हीं माताओं और बहनों को ही बांट दी जायेगी। उन्होंने शहर में बढ़ती कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर नगरवासियों से अपील की कि आप सब सावधानी रखते हुए दो गज की दूरी का पालन करते हुए कोरोना से सुरक्षा के लिये मास्क का उपयोग अवश्य करें। पत्रकारवार्ता में नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा, मीडिया प्रभारी देवकीनंदन तिवारी एवं युवा मोर्चा अध्यक्ष मनस्वी पाटीदार भी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 11 July 2020

भोपाल। उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद सियासी घमासान तेज हो गया है। कांग्रेस लगातार मामले पर सवाल उठा रही है और सीबीआई जांच की मांग कर रही है। अब मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने यूपी के कुख्यात गैंगेस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर मामले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जिस प्रकार से देश का पूरा मीडिया और जनता यह अनुमान लगा रही थी उससे साफ लग रहा था कि यह होना ही था और वह हुआ भी।   अजय सिंह ने शुक्रवार को जारी अपने एक बयान में कहा कि सवाल इस बात का नही है कि विकास दुबे का एनकाउंटर क्यों हुआ, सवाल इस बात का है कि इस एनकाउंटर के बाद वो चेहरे कैसे बेनकाब होंगे जो विकास को संरक्षण देते थे। उन्होंने कहा कि किसी भी रा’य सरकार के लिये इससे बड़ी शर्मनाक बात और क्या हो सकती है कि 8 पुलिस कर्मियों का नरसंहार करके कोई अपराधी अपने रा’य की सीमा को पार कर जाता है और दूसरे रा’य में बड़े ही आराम से टहलता हुआ पाया जाता है।   अजय सिंह ने पूरे घटनाक्रम पर सवाल उठाते हुए कहा कि विकास मप्र की सीमा में कैसे आया और उसने अपने आपको बड़े ही नाटकीय ढंग से कैसे सुपुर्द कराया ये ऐसे सवाल हैं जो न केवल अनुत्तरित हैं बल्कि उनका जबाब हर व्यक्ति चाहता है। अजय सिंह ने साफ कहा कि विकास दुबे की तथाकथित गिरफ्तारी से लेकर उसके एनकाउंटर तक की सीबीआई जांच आवश्यक है जिससे इस पूरे मामले की स‘चाई सामने आ सके। उन्होंने कहा कि विकास दुबे को संरक्षण देने वाले किसी भी व्यक्ति को नही बख्शा जाना चाहिए चाहे वह किसी भी दल से सम्बंधित क्यों न हो ।

Kolar News

Kolar News 10 July 2020

भोपाल। यूपी के कुख्यात अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर पर लगातार राजनीतिक प्रतिक्रिया सामने आ रही है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी एनकाउंटर को लेकर ट्वीट किया है, साथ ही कई सवाल भी खड़े किए हैं।   कमलनाथ ने शुक्रवार को ट्वीट कर विकास दुबे एनकाउंटर पर सवाल खड़े किए हैं। साथ ही उन्होंने सरकार से कुछ सवालों के जवाब भी मांगे है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भगवान महाकाल कभी किसी पापी को बख्शते नहीं, यह मैंने कल भी कहा था और आज फिर दोहरा रहा हूँ कि महाकाल की नजऱों से कोई भी पापी नहीं बचेगा। कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे का अंत हुआ लेकिन कई सवाल आज भी अनुरत्तरित है।   जैसे - 1 जिस दुर्दांत अपराधी को पुलिस की 40 टीमें खोज रही हो वो इनामी बदमाश सुरक्षित यूपी रजिस्टर्ड कार से उज्जैन तक कैसे पहुँच गया?2 वो उज्जैन कितने दिन रहा, किसके संरक्षण में रहा?3 उसके साथ कितने साथी थे, वो कहाँ है?4 महाकाल मंदिर में वो कैसे बेख़ौफ़ टहलता रहा, उसकी मंदिर की तस्वीरें किसने वायरल की?5 सावन का माह चल रहा है, महाकाल मंदिर हाई अलर्ट पर है। ऐसे में इतना दुर्दांत अपराधी महाकाल मंदिर की सुरक्षा को कैसे भेद कर मंदिर में आसानी से प्रवेश पा गया? यह तो सुरक्षा व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह है?6 इतना दुर्दांत अपराधी ख़ुद अपना परिचय देकर इतनी आसानी से सरेंडर कैसे कर गया?7 इतने बड़े अपराधी की जानकारी लगने के बाद इसे पकडऩे आयी पुलिस के पास सुरक्षा की दृष्टि से हथियार तक नहीं ?8 सावन मास के बावजूद एक दिन पूर्व पुलिस अधिकारियों का अचानक तबादला ? 9  आखिर कौन सा ऐसा राजनैतिक संरक्षण उसे प्राप्त था, जिसके कारण यह सब इतनी आसानी से संभव हुआ?   आगे उन्होंने अपने ट्वीट में सरकार से जवाब मांगते हुए कहा कि इन सवालों का सच सामने आना ही चाहिये क्योंकि इस घटना ने हमारे प्रदेश को देश भर में एक बार फिर शर्मशार किया है। सरकार इन सवालों का जवाब दे।

Kolar News

Kolar News 10 July 2020

भोपाल। विकास दुबे एनकाउंटर के बाद अब इस पूरे मामले पर राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियां उत्तर प्रदेश और मप्र की भाजपा सरकार पर सवाल उठा रही हैं। विपक्ष का आरोप है कि बड़े राजनीतिक पदों पर बैठे लोगों को बचाने के लिए एनकाउंटर कर दिया गया। मप्र के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने भी विकास दुबे एनकाउंटर को संदेहास्पद बताते हुए इसकी सीबीआई जांच की मांग की है।   पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए विकास दुबे एनकाउंटर पर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा है कि लोगों के नाम उजागर न हो इसलिए एनकाउंटर किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि महाकाल मंदिर से विकास दुबे को पकडऩे के बाद उसे उज्जैन कोर्ट में क्यों पेश नहीं किया गया और यूपी पुलिस को सौंप दिया।   पीसी शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश और मप्र के प्रभावशाली लोगों के संबंध विकास दुबे के साथ थे, इसलिए उसका एनकाउंटर करवा दिया गया। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि विकास दुबे एन्काउन्टर की सीबीआई जांच होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि मप्र के उज्जैन तक विकास दुबे कैसे पहुँचा इसकी भी जांच हो। उत्तरप्रदेश - मध्यप्रदेश के नेताओं के विकास दुबे से सम्बंध थे। पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने भी विकास दुबे के सरेंडर पर सवाल खड़े किए है। सरेंडर करने वाला पुलिस पर गोली क्यों चलाएगा, ये पूरा मामला शुरू से संदिग्ध है।

Kolar News

Kolar News 10 July 2020

भोपाल। उत्तर प्रदेश के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे की उज्जैन महाकाल मंदिर से गिरफ्तारी के बाद अब राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है। एक तरफ जहां भाजपा सरकार अपनी पीठ ठोंकने में लगी है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने आरोपित की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए गंभीर आरोप लगाए है। इसी क्रम में पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने यूपी के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी पर बड़ा बयान दिया है। उनके मुताबिक ये शरण और सरेंडर का खेल है।    पीसी शर्मा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि ये तो महाकाल का प्रभाव था, जो इतना बड़ा आरोपी उज्जैन से गिरफ्तार हुआ है। कल ही खबर आ रही थी कि वह झांसी बार्डर से मध्य प्रदेश की सीमा में घुसा है। मध्य प्रदेश इस तरह के गैंगस्टरों के लिए चारागाह बन गया है। अपराध करके अपराधी शरण लेने के लिए मप्र आ जाते हैं। कानून व्यवस्था प्रदेश में बिल्कुल धवस्त हो गई है।   गृह मंत्री के बयान पर पलटवार करते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश में अपराधियों को तो पुलिस पकड़ नहीं पाती, ये खेल शरण और सरेंडर का है जिसने शरण दी होगी उसने ही सरेंडर कराया है। इसके अलावा भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि विकास दुबे के संबंध मप्र और उत्तर प्रदेश के भाजपा नेताओं से रहे हैं। इसलिए वो मप्र आया था। विकास ने इतने सालों में जितने अपराध किए हैं। इन सबकी जांच हो कि कौन-कौन इसमें शामिल रहा है।

Kolar News

Kolar News 9 July 2020

भोपाल। हिंदी फिल्मी इंडस्ट्री में सूरमा भोपाली के नाम से मशहूर अभिनेता जगदीप का बुधवार रात निधन हो गया। जगदीप 81 साल के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। मशहूद हास्य अभिनेता जगदीप का मप्र से पुराना नाता था। उनका जन्म मप्र के दतिया में 29 मार्च 1939 को हुआ था। उनके निधन पर सिनेमा जगत के साथ ही राजनीति जगत की हस्तयिों ने भी श्रद्धांजलि दी है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जगदीप को उनके सूरमा भोपाली वाले अंदाज में श्रद्धासुमन अर्पित किए हैं।   मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी जगदीप के निधन पर काफी दुखी नजर आए। उन्होंने सूरमा भोपाली के अंदाज में ही उन्हें ट्विटर के जरिए श्रद्धांजलि दी। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर लिखा ‘अमा सूरमा भाई! आज तो पूरा भोपाल और हर एक भोपाली भी उदास है। मैंने कई भाई, याद बहुते ही आओगे। अलविदा सूरमा भाई!   एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज ने कहा ‘फिल्म ‘अफ़साना’ में बाल कलाकार के रूप में अपने फि़ल्मी कैरियर की शुरुआत कर ‘शोले’, ‘अन्दाज अपना अपना’ समेत 400 से अधिक फि़ल्मों में हमारा दिल जीतने वाले सय्यद इश्तियाक अहमद जाफरी उर्फ जगदीप जी आज हमारे बीच नहीं रहे। बस एक बात कहना चाहूँगा ‘आपका नाम सूरमा भोपाली एसे ही नहीं था’।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी अभिनेता जगदीप के निधन पर दुख जताते हुए उनको श्रद्धांजलि देते हुए कहा ‘दतिया की माटी में जन्में, अपने हास्य अभिनय से कलाप्रेमियों के बीच सशक्त छाप छोडक़र, "सूरमा भोपाली" जैसे चरित्र को अमर करने वाले सिने अभिनेता जगदीप जी के निधन का समाचार सुनकर स्तब्ध हूँ। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।

Kolar News

Kolar News 9 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में शिवराज मंत्रीमंडल विस्तार के बाद सात दिन बीत चुके हैं। लेकिन अभी तक मंत्रियों को विभाग आवंटित नहीं हुए है। वहीं बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सारे विभाग मुख्यमंत्री में निहित होते हैं। मैं सारे विभागों का मंत्री हूँ और सब काम सुचारू चल रहे हैं। मुख्यमंत्री के इस बयान को हास्यास्पद बताते हुए पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से सवाल किया है कि जब सभी विभागों के मंत्री आप है तो कैबिनेट कि क्या जरूरत है।   उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल शपथ के बाद सात दिन बीत गए हैं, लेकिन अभी भी माथापच्ची चालू है। कही खबर आती है कि विधानसभा की सदस्यता खोकर मंत्री बने लोगों को मलाईदार विभाग चाहिए तो कभी शिव विष पी रहे है। क्या कथित विभीषण और उनके समर्थकों ने मलाई खाने के लिए ही भाजपा की सदस्यता ली थी ? या फिर सडक़ों पर उतकर जनता की सेवा करने के लिये।   विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसते हुए कहा कि सीएम शिवराज इतने लाचार तो आप कभी नहीं थे आखिर ऐसी क्या मजबूरी है कि सारा विष आप ही पी रहे है। अब तो आपके पार्टी के नेता भी खुलकर बोलने लगे हैं। क्या आपके साथ अजय विश्नोई और कैलाश विजवर्गीय भी विषपान कर रहे है। विश्नोई ने तो कहा है कि हमारे नेता की बेइज्जती से कार्यकर्ता नाराज न हो जाए, नुकसान हो जाएगा। तो क्या आपकी पार्टी में शामिल हुए आपके मुताबिक आऊटसोस्र्ड विभीषण और उनके समर्थक अभी तक आपके पार्टी के नेता और कार्यकर्ता नहीं बने है। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि शिवराज जी आप सरकार के मुखिया है कम से कम संवैधानिक नियमों का तो पालन करते आपने अपने मंत्रिमंडल में आऊटसोस्र्ड विभीषण के दवाब के चलते असंवैधानिक तरीके से विधानसभा के सदस्यों की संख्या को दर किनार करते हुए रेवड़ीयों की तरह मंत्रिपद बांट दिए। और विभागों के बंटवारे में उलझे हुए हैं।

Kolar News

Kolar News 9 July 2020

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश के मूंग और मक्का उत्पादक किसानों से उनकी उपज समर्थन मूल्य पर खरीदी करने की मांग की है। कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिख कर कहा है कि उचित भाव न मिलने से प्रदेश का किसान परेशान है।   कमलनाथ ने बुधवार को अपने पत्र में कहा है कि मक्के के मुल्य में पिछले दिनों निरंतर गिरावट आयी है। आज बाजार में मक्का उत्पादक किसान 800 से 900 रुपये क्विंटल पर अपनी उपज बेचने को मजबूर है इससे उनको लागत भी नही मिल पा रही है। मूंग उपज किसानों के सामने यही संकट है। उन्होंने मुख्यमंत्री को याद दिलाया की इसके पूर्व भी इस संबंध में पत्र लिखा था और मूंग मक्का उत्पादक किसानों के सामने उत्पन्न संकट की ओर ध्यान आकर्षित किया था, परन्तु आज तक इसके कोई सकारात्मक परिणाम सामने नही आये हैं।   पूर्व मुख्यमंत्री ने सरकार से कहा है कि वे किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए तत्काल मक्का एवं मूंग उपज के लिये समर्थन मूल्य घोषित करें ताकि किसान भाईयों को उनकी उपज का उचित मूल्य प्राप्त हो सके।

Kolar News

Kolar News 8 July 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले दल बदल की राजनीति भी तेज हो गई है। उपचुनाव से पहले कांग्रेस की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन बड़ी संख्या में कार्यकर्ता कांग्रेस को छोडक़र भाजपा का दामन थाम रहे हैं। इस बीच इंदौर में भी कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। यहां मंत्री तुलसी सिलावट की मौजूदगी में 60 कार्यकर्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ली है।   रेसीडेंसी कोठी पर बुधवार को आयोजित कार्यक्रम में कई कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हुए हैं। भाजपाम में शामिल होने वाले 60 कांग्रेस कार्यकर्ताओं में कांग्रेस के पूर्व सरपंच और उपसरपंच भी शामिल हैं। जलसंसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने सभी कांग्रेसियों को भाजपा की सदस्यता दिलाई। इस दौरान मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि कांग्रेस सरकार में किसी भी किसान का 2 लाख तक का कर्जा माफ नहीं हुआ है। कांग्रेस सरकार को पूरा मौका दिया गया, लेकिन 10 दिन नही बल्कि 10 महीने से ज्यादा सरकार चली, फिर भी कर्ज माफ नहीं किया गया।    वहीं गोपाल भार्गव के बयान पर कहा कि मंत्रियों के विभाग का बंटवारा मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। गौरतलब है कि गोपाल भार्गव ने मंत्री मंडल में विभागों के बंटवारे पर उलझन पर सिंधिया समर्थकों की तरफ इशारा करते हुए बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि विभाग का बंटवारा कोई साधु- महात्मा की जमात नहीं है, सब की महत्वाकांक्षा होती है। वहीं सिंधिया गुट के मंत्रियों को लेकर गोपाल भार्गव ने कहा वह अपने दल के नेतृत्व से चर्चा कर चाहते हैं कि अच्छा विभाग मिले। इसी में विलंब हो रहा है।

Kolar News

Kolar News 8 July 2020

भोपाल। राज्य शासन द्वारा नगरीय निकायों के कर आदि पर 22 मार्च से 15 जून 2020 तक के देय अधिभार (सरचार्ज) को माफ कर दिया गया है। ऐसे नागरिक, जो 31 जुलाई 2020 तक नगरीय निकायों के कर जमा करेंगे, उनके लॉकडाउन अवधि को अधिभार की गणना में नहीं लिया जायेगा।   गौरतलब है कि नोवल कोरोना वायरस की महामारी के कारण लॉकडाउन लागू होने के कारण आम नागरिक नगरीय निकायों के विभिन्न कर जैसे सम्पत्ति कर, जल कर/जल उपभोक्ता प्रभार आदि का भुगतान नहीं कर पाये हैं। इससे करों आदि पर अधिभार देय हो गये हैं। इसलिये राज्य सरकार द्वारा आम नागरिकों के हित में अधिभार माफ करने का निर्णय लिया गया है।   सभी नगर निगम आयुक्तों और मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को वर्ष 2019-20 के संपत्ति कर एवं जल कर पर अधिभार न लेते हुए 31 जुलाई तक अधिक से अधिक कर संग्रह करने के निर्देश दिये गये हैं।

Kolar News

Kolar News 7 July 2020

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने विभाग वितरण को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा के टाइगर मुख्यमंत्री पांच दिन बाद भी विभागों का वितरण नहीं कर पाये। सौदेबाजी से बनाई गई सरकार के सामने टाइगर की हालत भीगी बिल्ली के समान हो गई है।   पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह मंगलवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा कि मध्यप्रदेश का दुर्भाग्य है कि उससे पहले दो माह तक एक भी मंत्री नहीं मिला। तीन माह बाद बमुश्किल हुए मंत्रिमंडल का विस्तार के बाद अब पांच दिन से हमारे टाइगर दर-दर भटक रहे हैं लेकिन मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दो दिन तक दिल्ली में दर-दर भटकने के बाद भी विभागों के वितरण का फैसला न हो पाना शर्मनाक है। मध्यप्रदेश के इतिहास में पहली बार हुआ है कि मंत्रिमंडल गठन से लेकर विभागों के वितरण में सौदेबाजी चल रही है।

Kolar News

Kolar News 7 July 2020

भोपाल। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने मंगलवार को अशोकनगर विधानसभा की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में हो रहे उपचुनाव किसी दल का चुनाव न होकर, कार्यकर्ताओं के स्वाभिमान, सम्मान और मध्यप्रदेश के विकास के चुनाव है। यह चुनाव गरीबों के हितों का चुनाव है। रैली को राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, सांसद केपी सिंह यादव एवं जजपालसिंह जज्जी ने भी संबोधित किया।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि इन चुनावों में एक तरफ वह दल है, जिसने 15 महीने में मध्यप्रदेश को तबाह और बर्बाद किया। वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश को बचाने और विकास की ओर अग्रसर करने वाले लोग हैं। कमलनाथ सरकार ने झूठ और प्रपंच कर जनता को भ्रमित किया और इसी कारण 15 महीने में ही उन्हें सत्ता से जनता ने बेदखल कर दिया। प्रदेश में शिवराज सरकार ने 100 दिन में गांव, गरीब, किसान और कोरोना संकट से जूझ रहे लोगों को संबल दिया है।   जिन्होंने भाजपा को चुनौती दी, हमें उनको जवाब देना है   शर्मा ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने गरीबों की सारी योजनाएं बंद कर दीं थी। कमलनाथ की सरकार ने गरीबो के हक को छीना। प्रदेश में कोरोना फैलता रहा और कमलनाथ सरकार कोरोना को छोडक़र आईफा अवार्ड की तैयारियों में लगी रही। बाद में शिवराज सरकार ने महामारी से लड़ाई की व्यवस्थाएं कीं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा संगठन को टारगेट करने की बात कही है। मैं उनके चैलेंज को स्वीकार करता हूं और भाजपा का कार्यकर्ता कांग्रेस को इन उपचुनावों में मुंहतोड़ जवाब देकर उन्हें जनता की अदालत में बेनकाब करेगा। यह सरकार प्रदेश को बचाने के लिए बनी है, वर्ना कमलनाथ सरकार गरीबों को और उनके हकों को निगल जाती। भाजपा के संगठन को कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता सिंधिया ने अपनी मेहनत से सींचा है, ये संगठन कमजोर नहीं बहुत ताकतवर है। कमलनाथ जी आपको भाजपा के कार्यकर्ता सभी 24 विधानसभाओं में जवाब देंगे।   भ्रम फैला रहे हैं कांग्रेस के नेता   प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस के नेता झूठ और भ्रम फैला रहे हैं। इन्हें भाजपा के कार्यकर्ता कठोरता से जवाब दें। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है, यहां कार्यकर्ताओं की मेहनत और परिश्रम से ही विजयश्री मिलती है। कांग्रेस के नेता भाजपा कार्यकर्ताओं को हल्के में न लें। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आव्हान करते हुए कहा कि आप घनघोर परिश्रम करें जिससे सभी सीटों पर कांग्रेस की जमानत जब्त हो जाए।   ऐतिहासिक मतों से भाजपा की होगी विजयी: केपी यादव   रैली में क्षेत्रीय सांसद केपी यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश विकास की ओर अग्रसर हुआ है। मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के रूप में हमें एक संवेदनशील नेतृत्व मिला है। कांग्रेस ने वादाखिलाफी करके जनता पर अत्याचार किए, उन अत्याचारों का जवाब कार्यकर्ता देंगे। हम एकजुट होकर कांग्रेस को बेनकाब करेंगे। जनसमर्थन भाजपा के साथ है और भाजपा ऐतिहासिक मतों से विजयी होगी।   सरकार-सरकार में फर्क होता है : जज्जी   वहीं, अशोकनगर के पूर्व विधायक जजपाल जज्जी ने कहा कि 15 महीनों में अशोकनगर के विकास के लिए मैंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से कई बार निवेदन किया, लेकिन उन्होंने सरकार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने का हमेशा बहाना किया। प्रदेश में कहीं भी विकास कार्य नहीं होते थे, सारी योजनाएं सिर्फ छिंदवाड़ा में क्रियान्वित होती थीं। 15 महीने में कमलनाथ सरकार के काम देखें हैं, वहां न विकास, न विजन होता था। लेकिन इन 100 दिनों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अशोकनगर की जनता को विकास की कई सौगातें दी हैं। विकास का यह क्रम निरंतर जारी रहे, इसके लिए भाजपा को विजयी बनाएं।

Kolar News

Kolar News 7 July 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को अपने नई दिल्ली प्रवास के दौरान केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मुलाकात कर मध्यप्रदेश के बासमती चावल को जी.आई. टैग दिलवाने का आग्रह किया। मुलाकात के दौरान सीएम शिवराज ने बताया कि प्रदेश में बासमती चावल का उत्पादन 13 जिलों में किया जाता है और इससे प्रदेश के लगभग 80 हजार किसान जुड़े हुए हैं। किसानों के हित और चावल की गुणवत्ता को देखते हुए मध्यप्रदेश के बासमती चावल को जीआई टैग देना उचित होगा।    मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश का चावल यहां के किसानों द्वारा विदेशों में भी निर्यात किया जाता है, जिससे लगभग तीन हजार करोड़ की विदेशी मुद्रा प्रतिवर्ष आती है। मध्यप्रदेश के 13 जिलों में मुरैना, भिंड, ग्वालियर, श्योपुर, दतिया, शिवपुरी, गुना, विदिशा, रायसेन, सीहोर, होशंगाबाद, जबलपुर और नरसिंहपुर में उत्पादित होने वाले चावल को बासमती टैग न दिये जाने से किसानों को जो लाभ मिलना चाहिए वह अभी नहीं मिल पा रहा है।     केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने मुख्यमंत्री चौहान के आग्रह पर केन्द्र सरकार द्वारा उक्त संदर्भ में हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया। 

Kolar News

Kolar News 6 July 2020

भोपाल। मप्र विधानसभा की 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों में तैयारियां तेज हो गई है। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बैठकों कर रणनीति तैयार कर रहे हैं।  कांग्रेस में चल रही बैठकों पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसते हुए बयान दिया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि सब एयर-कंडिशन कमरों में काम करते हैं, जनता के बीच नहीं जाते। उन्होंने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि 24 सीटों पर कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ही नहीं घूमे हैं तो स्थिति कैसे बता पाएंगे।   वहीं अब गृहमंत्री के बयान पर पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने पलटवार किया है। उन्होंने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि एयर कंडीशन रूम के बैठक करने लायक हलात नहीं बचे है, बिजली के दाम इतने बढ़ गए हैं, इसलिए बैठक सामान्य कमरे में ही हो रही है। बैठक के बारे में जानकारी देते हुए पीसी शर्मा ने बताया कि पार्टी के प्रभारी मुकुल वासनिक के साथ बैठक सार्थक साबित हुई है। उपचुनाव की तैयारी को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने अपनी सरकार में किसानों का कर्ज माफ किया, सस्ती बिजली दी, सभी नेता जनता के बीच के रहकर काम करते आये हैं, युवाओं को रोजगार देने के प्रयास किया, मंदिरों के पुजारियों को मनोदय बढ़ाकर दिया। उन्होंने कहा कि 15 साल में भाजपा कभी महाकालेश्वर, ओम्कारेश्वर का विकास नहीं कर पाई, लेकिन हमने किया। मेट्रो परियोजना लेकर आए। इन सब मुद्दों को लेकर कांग्रेस जनता के बीच जाएगी और इन्ही सब के नाम पर जनता कांग्रेस को वोट देगी। उन्होंने कहा कि हम भाजपा की तरह वर्चुअल नहीं बल्कि एक्चुअल रैली करेंगे।   सिंधिया के आगे सब नतमस्तकपीसी शर्मा ने विभागों के बंटवारे में हो रही देरी पर कहा कि सब दिल्ली से तय हो रहा है, सिंधिया के सामने सब नकमस्तक हैं। उन्होंने कहा कि 14 मंत्री विधायक नहीं है और उन्हें मंत्री बना दिया गया है। यह सब कुछ भाजपा हार के डर से कर रही है।

Kolar News

Kolar News 6 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में इन दिनों विभागों के बंटवारे को लेकर सरगर्मी तेज है। मंत्रिमंडल विस्तार होने के चार दिन बाद भी विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है। बताया जा रहा है कि सिंधिया खेमे के मंत्री अहम पद चाहते हैं जिसे लेकर सीएम शिवराज को बातचीत करने दिल्ली आलाकमान के पास जाना पड़ा। वहीं कांग्रेस भी लगातार निशाने साध रही है। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता तो यह आरोप तक लगा चुके हैं कि सिंधिया समर्थक किसी भी मंत्री को राजस्व विभाग न सौंपा जाए क्योंकि सिंधिया सरकारी जमीनों पर कब्जा करते हैं।   गोविंद सिंह के आरोपों पर गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है। सोमवार का मीडिया से बातचीत करते हुए मंत्री मिश्रा ने कहा कि गोविंद सिंह जब मंत्री बने थे तक वे खुद अपना विभाग तय नहीं कर पाए थे, वो भाजपा को सलाह  कैसे दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा में किस को, कौन से विभाग दिये जायें ये गोविंन्द सिंह नहीं तय कर सकते। वहीं विभागों कि बंटवारे को लेकर चल रही खींचतान पर मंत्री मिश्रा ने कहा कि विभागों को लेकर कोई खींचातानी नहीं है, ज़रूरी समय लगता है। उन्होंने कहा कि भाजपा में सबसे चर्चा होती है, सबको साथ लेकर चलते हैं। यह सीएम का विशेष अधिकार है, वो अपने विवेक से निर्णय करेंगे। कांग्रेस में उपचुनाव को लेकर चल रही बैठकों पर तंज कसते हुए मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सब एयर-कंडिशन कमरों में काम करते हैं, जनता के बीच नहीं जाते। उन्होंने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि24 सीटों पर कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ही नहीं घूमे हैं तो स्थिति कैसे बता पाएंगे।

Kolar News

Kolar News 6 July 2020

भोपाल। किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने गुरु पूर्णिमा के अवसर पर रव‍िवार को प्रदेशवासियों को बधाई दी। उन्होंने भोपाल स्थित रिवेरा टाउन सोसायटी में पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर प्रदेश सरकार के नवनियुक्त राज्य मंत्री राम खिलावन पटेल, रिवेरा टाउन सोसायटी के अध्यक्ष डॉक्टर अजय मेहता भी मौजूद रहे।   नवनियुक्त मंत्री को शॉल-श्रीफल भेंट किया किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल से उनके निवास पर सौजन्य भेंट करने पहुंचे नवनियुक्त राज्य मंत्री राम खिलावन पटेल का कृषि मंत्री ने शाल-श्रीफल भेंट कर स्वागत  किया।

Kolar News

Kolar News 5 July 2020

दतिया। प्रदेश के गृह एवं लोक स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने रविवार को अपने दतिया प्रवास के दौरान स्थानीय कस्तूरी गार्डन में कोरोना वीरो का सम्मान किया। डॉ. मिश्रा ने एन.सी.सी. कैडेट्स, एन.एस.एस. कैडेट्स एवं लॉकडाउन के समय ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों की दिन-रात सेवा कर उन्हें खाना, चाय, पानी उपलब्ध कराने वाले समाजसेवियों, शहर में आवारा घूमने वाले जानवरों को चारा, भोजन उपलब्ध कराने वाले समाजसेवियों का शॉल एवं माला से सम्मान किया।   वहीं, डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने नगर में मामा के डेरा के पास जरूरतमंद परिवारों को राहत के रूप में राशन सामग्री बांटी। इस मौके पर उन्होंने जरूरतमंद परिवारों से बात कर उनके हालचाल भी जाने। इसके पूर्व डॉ. मिश्रा ने स्थानीय उनाव रोड स्थित रामराजा पैलेस का फीता काटकर लोकार्पण किया एवं लोगों के सैनिटाइजर से हाथ धुलवाए।   कोरोना वीरों के सम्मान के अवसर पर डॉ. मिश्रा ने कहा कि लॉकडाउन में अपनी जान की परवाह किए बिना ड्यूटी में तैनात रहे लोगों की सेवा करना बहुत सराहनीय कार्य रहा है और लॉकडाउन पूरी तरीके से सफल रहा। जिसकी वजह से हमारे यहां कोरोना की स्थिति बहुत कम है। स मौके पर कलेक्टर रोहित सिंह, पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर, सुरेंद्र बुधौलिया, प्रदीप अग्रवाल, आशाराम अहिरवार, विपिन गोस्वामी, प्रशांत ढेगुला, दिलीप बाल्मीकि, राकेश पटवारी, जीतेश खरे, जगमोहन गेड़ा, अतुल भूरे चौधरी, राजू त्यागी, विजय झंडा गुरु, राजू गुगोरिया, सतीश यादव, जीतू कमरिया, कालीचरण कुशवाह, मुकेश यादव, मनमोहन तिवारी, गौरव पटेल, बृजमोहन यादव, परसराम शर्मा, आकाश भार्गव, सत्यम पंडा, कुमकुम रावत, नेहा रजक, मनोज द्विवेदी सहित मौजूद रहे।   डॉ. मिश्रा ने गायों को खिलाया चारा   अपने प्रवास के दौरान गृह एवं लोक स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा गौशाला में पहुंचे, जहां उन्होंने अपने हाथों से गायों को चारा खिलाया। 

Kolar News

Kolar News 5 July 2020

मंदसौर। मध्य प्रदेश की सियासत में इन दिनों में टाइगर की खूब चर्चा हो रही है। कांग्रेस लगातार भाजपा से सवाल पूछ रही है कि असली टाइगर कौन है, और दो टाइगर एक पार्टी में कैसे रह सकते हैं। टाइगर पर चल रही बहस में अब मंत्री हरदीप सिंह डंग ने भी एंट्री ले ली है। डंग ने कहा है कि भाजपा में दो टाइगर है और कांग्रेस को बोलने का कोई अधिकार नहीं है।   दरअसल मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद मंत्री हरदीप सिंह डंग रविवार को मंदसौर प्रवास पर पहुंचे। यहां उन्होंने भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन किए। इसके बाद मंत्री डंग ने भाजपा कार्यालय में संगठन और भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में मंत्री डंग ने टाइगर जिंदा है, बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भाजपा में अब दो टाइगर हैं, जो जिगर वाले हैं और वे सत्ता में वापसी पर अपना जिगर दिखा चुके हैं। कांग्रे पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस को बोलने का कोई अधिकार नहीं है। बातों ही बातों में हरदीप सिंह डंग ने खुद को बाजीगर बताते हुए कहा कि आप जानते हैं कि सरकार कि पलटी किसने मारी है।   इसके अलावा उन्होंने कहा कि मंदसौर जिला कृषि आधारित क्षेत्र है, लिहाजा उनकी पहली प्राथमिकता जिले के किसानों की समस्या को हल करना और सिंचाई के लिए बेहतर संसाधन उपलब्ध कराना है, ताकि प्रदेश का किसान समृद्ध और खेती उन्नत हो सके। दो लाख की कर्ज माफी मामले में मंत्री हरदीप सिंह डंग अपने कांग्रेस कार्यकाल में किए वायदे से पलटते नजर आए। पत्रकारों के दो लाख कर्ज माफी वाले सवाल पर मंत्री डंग ने कहा कि यह वादा उन्होंने नहीं कांग्रेस ने किया था, उसकी सजा भी कांग्रेस भुगतेगी ।

Kolar News

Kolar News 5 July 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 10वीं बोर्ड परीक्षा में सफल हुए बच्चों को बधाई देते हुए भिंड के अभिनव शर्मा को प्रथम, गुना के लक्षदीप धाकड़ को द्वितीय और प्रियांश रघुवंशी को प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त करने पर विशेष बधाई दी।   मुख्यमंत्री चौहान ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एम.पी. बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में यदि अपेक्षा अनुरूप किसी विद्यार्थी का परिणाम न आया हो, वह असफल हुआ हो तो भी दु:खी और निराश होने की जरूरत नहीं है। जीवन में अभी और भी बहुत मौके मिलेंगे। कई परीक्षाओं में अपनी क्षमता का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा, जिसमे ये विद्यार्थी भी विजयी होंगे, मेरा आशीर्वाद सदैव साथ है।

Kolar News

Kolar News 4 July 2020

भोपाल। मप्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभाग बंटवारे को लेकर मामला अटक गया है। भाजपा के मंत्री और सिंधिया खेमे के मंत्रियों को विभाग दिए जाने को लेकर खींचतान चल रही है। इस बीच पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि भाजपा को डर है कि कही सिंधिया खेमे के विधायक पलटी न मारें इसलिए उन्हें मलाईदार विभाग दिए जा रहे हैं।   पीसी शर्मा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए विभागों के बंटवारे को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि शिवराज सरकार में विभाग की रस्साकसी चल रही है, दल-बदलकर सत्ता परिवर्तन किया गया है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि विधायक पलटी न मारें इसलिए सिंधिया खेमे को मलाईदार विभाग दिए जा रहे हैं। इसके अलावा पीसी शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि 14 मंत्री विधायक भी नहीं है, जिनके ऊपर मामले दर्ज हैं। लेकिन अब सत्ता में आने के बाद इनके खिलाफ मामले दर्ज भी नहीं हो सकेंगे। इकोनॉमिक अपराधों की फेहरिस्त अब देखने को मिलेगी, कोरोना की तरफ किसी का ध्यान नहीं है।   शराब के कारण हो रही हिंसाराजधानी भोपाल में नशे के लिए पैसे देने से मना करने पर हुए इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के डबल मर्डर पर पीसी शर्मा ने कहा कि शराब के चलते हिंसा हुई है। सरकार शराब की दुकानें प्राथमिकता से चल रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना में लोगों के काम-धंधे बन्द हुए हैं। लोगों को भारी नुकसान हुआ है, सहायता राशि के पैसे लोगों को नहीं मिले हैं।   भाजपा की वर्चुअल रैली पर साधा निशानापीसी शर्मा ने भाजपा की वर्चुअल रैली में 4 डी को लेकर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि 4 डी अब भाजपा में है, प्रदेश में डर का माहौल बना हुआ है। भाजपा 24 सीटों पर हारने की कगार पर है। उन्होंने बताया कि रविवार को मुकुल वासनिक भोपाल आ रहे हैं। चुनाव प्रभारियों के साथ बैठक होगी, पूर्व मंत्रियों को विधानसभा की जि़म्मेदारी सौंपी गई है।

Kolar News

Kolar News 4 July 2020

उज्जैन। कांग्रेस से भाजपा में आए हरदीप सिंह डंग मंत्री पद की शपथ के बाद पहुंचे बाबा महाकाल के दर्शन करने कांग्रेस से भाजपा में आए हरदीप सिंह डंग को मंत्री पद की जिम्मेदारी मिलने के बाद वे विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर पहुंचे ।यहां उन्होंने कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए नंदीहाल से ही बाबा के दर्शन किए। महाकाल मंदिर के पंडित महेश पुजारी ने उन्हें बाबा को चढ़ा हुआ वस्त्र उड़ाया। मीडिया से चर्चा में हरदीप सिंह डंग ने कहा कि वह बड़े किस्मत वाले होते हैं जिन्हें बाबा महाकाल का दर्शन करने का अवसर मिलता है । मेरी पढ़ाई उज्जैन में हुई है इसलिए मुझे उज्जैन से लगाव है। मैंने बाबा से प्रार्थना की है कि देश व प्रदेश का विकास हो , अमन चैन बना रहे, भारतीय सैनिकों का मनोबल बढ़े चीन और पाकिस्तान से डटकर मुकाबला करें।दिग्विजय सिंह व कमलनाथ पर कहा कि अब इन लोगों के पास बोलने के सिवा कुछ नहीं बचा है ।मंत्रालय को लेकर कहा कि मुझे जो जवाबदारी मिलेगी मैं उसे बखूबी निभाउंगा, जो शीर्ष नेतृत्व चाहेगा वही होगा। महाकाल मंदिर में मंत्री हरदीप सिंह डंग के साथ भाजपा नेता ईकबाल सिंह गाँधी, भानु भदौरिया, विशाल राजोरिया मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News 4 July 2020

भोपाल। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस  प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सार्वजनिक परिवहन को लेकर चल रहे गतिरोध को तत्काल समाप्त कर आम जनता को राहत देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक परिवहन शुरू ना होने से प्रदेश की लाखों जनता विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र की जनता बेहद परेशान है। कमलनाथ ने गुरुवार को इस संबंध में एक पत्र मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखा है।   कमलनाथ ने पत्र में कहा कि अनलॉक डाउन के बाद प्रदेश में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को क्रमबद्ध तरीके से शुरू करने का निर्णय लिया गया था। प्रदेश में 22000 से अधिक बस संचालकों द्वारा 35000 बसों का संचालन किया जाता है। इनमें प्रतिदिन लगभग 50 लाख नागरिक सफर करते हैं। शासन के निर्णय के बाद सार्वजनिक महत्व की अत्यंत अनिवार्य सुविधा शुरू ना होने से प्रदेश का नागरिक दिन प्रतिदिन असुविधाओं का सामना कर रहा है।   कमलनाथ ने आगे अपने पत्र में कहा कि मुझे ज्ञात हुआ है कि परिवहन व्यावसायियों द्वारा अपनी समस्याओं को लेकर शासन के समक्ष अपना पक्ष रखा है। इस पर आज तक कोई निर्णय न होने के कारण परिवहन व्यवस्था बहाल नही हो सकी है। कोरोना सक्रमण काल में व्यापार व्यवसाय को भारी नुकसान पहुंचा है जिसमें परिवहन व्यवसाई भी शामिल है। एक और सरकार राहत देने का दावा कर रही है दूसरी ओर परिवहन व्यवसायियों की वाजिब समस्याओं पर शासन व्यवहारिक दृष्टिकोण से विचार नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि शासन के निर्णय के अनुसार 50 प्रतिशत सवारी ले जाने का प्रावधान होने के कारण परिवहन व्यवसायियों को नुकसान तो होगा ही, इसके साथ ही पिछले दिनों डीजल के दामों में हुई रिकार्ड भारी वृद्धि से परिवहन व्यवस्था को सुचारू बनाये रखने में असफल होंगे। जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ेगा।   पूर्व मुख्यमंत्री ने मांग करते हुए कहा कि राज्य सरकार तत्काल जनहित के इस महत्वपूर्ण मामले पर सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ विचार कर परिवहन व्यवसायियों को राहत प्रदान करें और आम जनता की इस महत्वपूर्ण सुविधा को तत्काल बहाल करवाये।

Kolar News

Kolar News 2 July 2020

इंदौर। शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार पर पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने निशाना साधा है। उन्होंने कैबिनेट विस्तार पर तंज कसते हुए शिवराज सरकार को अतिक्रमण की सरकार करार दिया। साथ ही जीतू पटवारी ने कहा है कि कैबिनेट में जय चन्द्रों और बिकाऊ को महत्व दिया जा रहा है।   पटवारी ने सिंधिया समर्थको को मंत्री बनाना गलत बताया उनकी माने तो ये कब वापस बिक जाए क्या पता। जीतू ने सीएम शिवराज को दवाब की राजनीति में फंसा हुआ बताया। जीतू पटवारी ने एक बयान में कहा कि सौ दिन बाद प्रदेश में मंत्रिमंडल का गठन हो रहा है और 14 मंत्री ऐसे लोग बनाए गए है जो वर्तमान में विधायक नहीं है। इसका मतलब कितने दबाव में यह सरकार और मंत्रिमंडल बना है यह स्पष्ट है। कुछ लोग चरित्र की बात कर रहे हैं, चरित्र देश की जनता मांग रही है कि हमने पांच साल दिए वोट दिया और ऐसा क्या हुआ जो आपने 15 महीनों में बेच दिया।    सिंधिया पर निशाना साधते हुए पटवारी ने कहा कि यहां टाइगर बनने का बहुत शौक है। जो खुद को टाइगर समझते है, तो कमलनाथ बब्बर शेर है,  जब चाहेंगे आपको पंजे में दबा देंगे। उन्होंने कहा कि जहां तक 24 सीटों पर चुनौती का सवाल है कांग्रेस का हर कार्यकर्ता इसे स्वीकार करता है। जिस दिन भाजपा 24 में से 4 सीट ले जाओंगे उस दिन मानेंगे कि लोकतंत्र के चरित्र का चीर हरण किया उसयके बाद क्या सबक मिला। पटवारी ने कहा कि मंत्रिमंडल जो बना उससे मप्र का भविष्य अंधकार है। दो महीने की सरकार को कांग्रेस उपचुनाव में दोबारा घर बैठा देगी। मंत्रीमंडल का जो भयावह चेहरा देखा, मैं उसकी निंदा करता हूं।

Kolar News

Kolar News 2 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल का आज विस्तार हो गया है। सीएम शिवराज और सिंधिया समर्थकों को मिलाकर कुल 28 मंत्रियों ने पद की शपथ ली। जिसमें 20 कैबिनेट स्तर के और 8 राज्य स्तर के मंत्री है। इसके अलावा पांच मंत्री पहले बनाए गए थे। कुल मिलाकर शिवराज कैबिनेट में अब मंत्रियों की संख्या 33 हो गई है। कैबिनेट में शामिल 33 मंत्रियों में से 14 सिंधिया समर्थक मंत्री वर्तमान में विधायक नहीं है। जिस पर कमलनाथ ने तंज कसा है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर मंत्रिमंडल विस्तार पर तंज कसते हुए कहा है कि लोकतंत्र के इतिहास में मध्यप्रदेश का मंत्रिमंडल ऐसा मंत्रिमंडल है, जिसमें कुल 33 मंत्रियो में से 14 वर्तमान में विधायक ही नहीं है। यह संवैधानिक व्यवस्थाओं के साथ बड़ा खिलवाड़ है। प्रदेश की जनता के साथ मज़ाक है। गौरतलब है कि सिंधिया समर्थक मंत्रियों ने पूर्व में अपनी विधायकी से इस्तीफा देकर कांग्रेस को छोडक़र भाजपा में शामिल हुए थे। विधायकों के इस्तीफा देने के बाद विधानसभा सीटें रिक्त हो गई है, जिन पर उपचुनाव होना है। अब भाजपा रिक्त सीटों पर इन मंत्रियों को टिकट देकर चुनाव लड़वाने की तैयारी में है।

Kolar News

Kolar News 2 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार लगातर टलता जा रहा है। हालांकि सीएम शिवराज ने गुरुवार को मंत्रिमंडल विस्तार होने की बात कही है, लेकिन विपक्ष कैबिनेट में हो रही देरी पर अब भाजपा की चुटकी ले रहा है। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बार बार कैबिनेट विस्तार टलने पर तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि तारीख और दिन से नहीं अब जब कैबिनेट विस्तार होगा हम तभी मानेंगे। पीसी शर्मा ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए भाजपा की चुटकी लेते हुए कहा कि हिन्दू धर्म का सर्वेसर्वा बताने वाले मंत्री पद के लिए लड़ाई झगड़ा बाद में कर लेते। लेकिन भाजपा के लोग कड़े दिन में मंन्त्री मंडल कर रहे हैं, जबकि आज से देव सो गए है। उन्होंंने कहा कि 100 दिन में प्रदेश भाजपा के राज में बर्बाद हुआ हैं। पीएम राशन बांटने की बात कर रहे हैं लेकिन जनता को राशन हकीकत में नही मिलता। पीसी शर्मा ने इस मुद्दे को विधानसभा में उठाने की बात भी की। साथ ही उन्होंने एक बार फिर विधानसभा उपचुनाव में सभी 24 सीटों पर कांग्रेस की जीत और भाजपा की हार का दावा किया है।   पहले चलाना था कील कोरोना अभियानवहीं प्रदेश सरकार द्वारा आज से शुरू किए गए कील कोरोना अभियान को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि कोरोना को लेकर सरकार नहीं है गंभीर। यह अभियान आज हो रहा हैं इसे पहले होना था और सरकार को टेस्टिंग ज़्यादा करना चाहिए।

Kolar News

Kolar News 1 July 2020