Video

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782

समाज

मंदसौर। गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी बाद क्यू ट्रैक से होकर रतलाम-चित्तौड़गढ़ सेक्शन में ट्रेन बिजली के इंजन से दौड़ने लगेगी। कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) के निरीक्षण में मिली 11 खामियों को ठीक करने के बाद रेलवे ने तैयारी पूरी कर ली है।   यात्रियों की सुरक्षा के लिए पहले कुछ दिन गुड्स ट्रेन चलाने के बाद रेलवे यात्री ट्रेन चलाएगा। रफ्तार बढ़ने के साथ सफर का समय घटेगा। रेलवे रतलाम-कोटा हल्दीघाटी पैसेंजर सहित डेमू ट्रेन शुरू करने में आसानी होगी। अभी इस सेक्शन में डीजल इंजन से पांच जोड़ी नियमित और साप्ताहिक गाड़ियां चल रही हैं। धौंसवास से चित्तौड़गढ़ तक की सिंगल लाइन को सीआरएस की मंजूरी पहले ही मिल गई थी, क्यू ट्रैक और निंबाहेड़ा-शंभुपुरा की दूसरी लाइन के इलेक्ट्रिफिकेशन अधूरा होने से ट्रेन बिजली इंजन से नहीं चल पा रही थी।   रेल विद्युतीकरण (आरई) डिपोर्टमेंट द्वारा दोनों काम पूरा करने के बाद 28 दिसंबर को सीआरएस आरके शर्मा ने निरीक्षण करके ऑब्जर्वेशन रिपोर्ट में 11 कमियां बताई थीं। इन्हें ठीक करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया था। एक पखवाड़े तक लगातार काम करके आरई और रेलवे ने ट्रैक के इलेक्ट्रिफिकेशन को ओके कर लिया है। इससे अब जल्द यात्रियों को भी राहत मिलेगी।

Kolar News

Kolar News 23 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 36 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 43 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंचे हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 57,265 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से अब तक 924 लोगों की मौत हो चुकी है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 4233 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 36 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 57,265 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 924 है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 55,143 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1198 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। इंदौर में कोरोना का रिकवरी रेट 96 फीसदी पहुंच रहा है।   गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और करीब दो महीने बाद यहां नये प्रकरणों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है। अब लगातार 13वें दिन यहां 100 से कम नये संक्रमित मिले हैं। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 23 January 2021

भोपाल। मध्यप्रदेश में राज्य शासन ने खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए पूर्व में गठित समिति को अधिक्रमित करते हुए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय सलाहकार समिति का गठन किया है। अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति में उपाध्यक्ष बनाये गये हैं।   जनसम्पर्क अधिकारी राजेश दाहिमा ने शुक्रवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि खाद्य सुरक्षा आयुक्त को इस समिति का सदस्य सचिव बनाया गया है। अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, किसान कल्याण तथा कृषि, अपर मुख्य सचिव-प्रमुख सचिव खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता सरंक्षण, अपर मुख्य सचिव-प्रमुख सचिव उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण, अपर मुख्य सचिव-प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा, अपर मुख्य सचिव-प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास, अपर मुख्य सचिव-प्रमुख सचिव जनसम्पर्क, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (प्रवर्तन शाखा), विभागाध्यक्ष, खाद्य विज्ञान एवं तकनीकी जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर, अध्यक्ष इंडियन डायटिक्स एसोसिएशन इंदौर, संचालक भारतीय उद्योग परिसंघ भोपाल, अध्यक्ष राज्य होटल एवं रेस्टोरेंट ऐसोसिऐशन ऑफ इंडिया, प्रदेश अध्यक्ष अखिल भारतीय उपभोक्ता उत्थान संगठन, अध्यक्ष मध्यप्रदेश राज्य उपभोक्ता संघ मर्यादित तथा प्रभारी राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला इस समिति के सदस्य होंगे।

Kolar News

Kolar News 22 January 2021

देवास। मध्यप्रदेश के देवास जिले में जहां कोरोना के लगातार नये मामले सामने आ रहे हैं तो वहीं पुराने मरीज स्वस्थ भी हो रहे हैं और अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर भी पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में जिले में अब कोरोना के 08 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 12 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंचे हैं।   देवास के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि जिले में गुरुवार को 671 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें आठ नये लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि 663 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्होंने बताया कि जिले में 12 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए और उन्हें गुरुवार को अस्पताल से डिस्चार्ज कर अपने घर रवाना किया गया। इस प्रकार जिले में अब तक कुल 2909 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें से अभी तक कुल 2832 मरीज संक्रमण मुक्त होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज 50 है, जिनका उपचार चल रहा है। वहीं, जिले में अभी तक 27 लोगों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। जिले में अब तक का कोविड-19 रिकवरी रेट 97.35 प्रतिशत तथा मोर्टीलिटी (मृत्युदर) 0.93 प्रतिशत है।

Kolar News

Kolar News 21 January 2021

इंदौर। गरीबों के मुंह से निवाला छीनने वाला राशन माफिया भरत दवे की नजर जमीन कब्जाने पर भी थी। का एक और कारनामा जांच में उजागर हुआ है। उसने मोती तबेला स्थित श्री अंगद हनुमान मंदिर की जमीन पर कब्जा करके अपना ऑफिस बना लिया था। बुधवार को पुलिस और प्रशासन की मौजूदगी में नगरनिगम की टीम ने भरत दवे के इस अवैध कब्जे को हटा दिया और जमीन मंदिर प्रबंधन को सौंप दी।   राशन घोटाले के खुलासे के बाद जांच में मंदिर की जमीन कब्जाने की बात सामने आने पर बुधवार दोपहर प्रशासन ने पुलिस और निगम के साथ मिलकर भरत दवे के ऑफिस पर बुलडोजर चला दिया। टीम ने ऑफिस को धराशायी करने के पहले लैपटॉप, कम्प्यूटर सहित सारा माल जब्त कर लिया। उधर, भरत, श्याम दवे और प्रमोद दहीगुडे पर रासुका की कार्रवाई की गई है। प्रभारी फूड कंट्रोलर आरसी मीणा पर 10 थानों में केस दर्ज कराया गया है। मामले की जांच एसआईटी को सौंप दी गई है।बुधवार को जब टीम भरत दवे के ऑफिस को हटाने पहुंची तो दवे से जुड़े कुछ लोग वकील को लेकर पहुंचे गए। यहां पर दवे के समर्थकों ने कार्रवाई का विरोध करते हुए जमकर हंगामा किया। इसके बाद निगम अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह ने मोर्चा संभाला और उसे मौके से हटाया। इसके बाद पुलिस उसे दूर तक छोड़कर आई।

Kolar News

Kolar News 20 January 2021

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम लगातार अपना मिजाज बदल रहा है। कभी आसमान में बादल, कभी बारिश तो कभी तेज ठिठुरन भरी सर्दी। अब अधिकांश स्थानों पर सुबह और रात को ठंड महसूस की जा रही है लेकिन दोपहर में तेज़ धूप निकल रही है।   मौसम विभाग के अनुसार दो दिनों बाद एकबार फिर राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम का मिजाज बिगड़ने के आसार हैं। इसकी वजह यह है कि 22 जनवरी को उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में एक और पश्चिमी विक्षोभ दखल दे सकता है। इससे बादल छाने लगेंगे और न्यूनतम तापमान में फिर बढ़ोतरी होने के आसार हैं। इससे रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है, लेकिन दिन का तापमान कम होने लगा है।   राजधानी भोपाल में दिन के समय तेज धूप निकलने से तापमान में बढ़ोत्तरी हुई है और तेज गर्मी का एहसास हो रहा है। ग्वालियर, दतिया, भिंड, शिवपुरी में ठंड अपने तेवर दिखा रही है। वहीं, इंदौर में रात के तापमान में वृद्धि हुई है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश से उत्तरी मध्य प्रदेश होकर कोंकण, गोवा तक एक ट्रफ (द्रोणिका लाइन) बना हुआ है। समुद्री क्षेत्र से आ रही दक्षिणी-पश्चिमी हवा 12 किलोमीटर की गति से चल रही है। इस सिस्टम के प्रभाव से वातावरण में नमी आने का सिलसिला शुरू हो गया है। इस वजह से राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बादल छाने लगे हैं। बादल छाने के कारण अधिकतम तापमान में गिरावट होने लगी है, जबकि न्यूनतम तापमान बढ़ने लगे हैं।   साहा ने बताया कि हवा का रुख उत्तर-पश्चिमी बना हुआ है। हवा की रफ्तार लगभग 12 किलोमीटर प्रति घंटा बनी हुई है। इस वजह से शाम ढलने के बाद वातावरण में सिहरन बरकरार है। 22 जनवरी को पश्चिमी विक्षोभ के दाखिल होने के बाद फिर मौसम का मिजाज बदलने लगेगा। इस सिस्टम के असर से हवाओं का रुख बदलने से मध्य प्रदेश में भी वातावरण में नमी बढ़ेगी और बादल छाने लगेंगे। इस दौरान कहीं-कहीं बूंदाबांदी भी हो सकती है। इसके बाद 26 से 31 जनवरी के बीच एकबार फिर शीतलहर का दौर लौट सकता है।

Kolar News

Kolar News 20 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 38 नये मामले सामने आए हैं, जबकि एक मरीज की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 57,135 और मृतकों की संख्या 921 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात तीन हजार से अधिक सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 38 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 57,135 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 921 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 55,021 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1193 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। इंदौर में कोरोना का रिकवरी रेट 96 फीसदी पहुंच रहा है।   गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और करीब दो महीने बाद यहां नये प्रकरणों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है। अब लगातार दसवें दिन यहां 100 से कम नये संक्रमित मिले हैं। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 20 January 2021

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में शनिवार को कोरोना वैक्सीन का महाअभियान राजधानी भोपाल स्थित गांधी मेडीकल कालेज से प्रारंभ हुआ। पहला टीका वार्ड ब्वॉय संजय यादव को लगा। मुख्यमंत्री चौहान ने यादव सहित वैक्सीनेशन में शामिल भोपाल के शासकीय और निजी चिकित्सकों सहित स्वास्थ्य कर्मियों को धन्यवाद दिया।    वार्ड बाय यादव ने बनाया विक्ट्री साइन राज्य स्तरीय वैक्सीनेशन शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री की उपस्थिति में टीका लगने से उत्साहित वार्ड बाय संजय यादव ने विक्ट्री साइन बनाकर कोरोना से निर्णायक जंग जीतने के संदेश दिया। यादव ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री चौहान को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा कि अब वे सुरक्षित होने का अहसास कर रहे हैं लेकिन पूर्ण रूप से तब सुरक्षित होऊंगा जब 28 दिन बाद दूसरा डोज लगेगा और उसके 14 दिन बाद जब एंटी बाडी विकसित होगी।    डॉ. गोयनका ने कहा- दुनिया फिर जोश में होगी चिरायु मडीकल कालेज के संचालक डॉ. अजय गोयनका को भी आज कोरोना से जंग के लिए वैक्सीन लगी। उन्होंने कहा कि दावे से कहता हूँ कि यह वैक्सीन दुनिया में सर्वाधिक विश्वसनीय और असरकारी है। उन्होंने कहा कि इन स्वदेशी वैक्सीन से अब देश में उत्साह के नए रंग होंगे और देश कोरोना से जंग जीतकर फिर से पटरी पर दौड़ेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त किया।   बिल्कुल सुरक्षित है वैक्सीन – डॉ. पाल भोपाल के हमीदिया अस्पताल के विभागाध्यक्ष कम्युनिटी एवं फैमिली मेडिसन विभाग के डॉ. डी.के.पॉल को हमीदिया अस्पताल में शनिवार को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीनेशन के बाद डॉ. पॉल ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि मुझे अभी आधा घंटे पहले वैक्सीन लगाई गई है। मैं बहुत बेहतर फील कर रहा हूँ  किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं है। वैसे 60 वर्ष के ऊपर की उम्र का हूँ। वैक्सीन को लेकर कहना चाहूंगा कि इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। मैने इसको लगवाया एवं मुझे किसी भी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट जैसे चक्कर आदि की कोई परेशानी नहीं हुई है, मैं बिल्कुल नार्मल फील कर रहा हूँ। मैं सब लोगों को यही संदेश देना चाहूँगा कि जब आपका वैक्सीनेशन के लिए नम्बर आए तो बिना किसी संदेह के वैक्सीन लगवाएं और इससे शरीर के अंदर प्रतिरोधक क्षमता पैदा होगी और यह लोगों का कोरोना से बचाव करेगा।   मैसेज आया और मैं वैक्सीनेशन के लिए आ गया - डॉ. शर्मा नर्मदा अस्पताल एवं ट्रामा सेंटर के संचालक डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि कोरोना की वजह से लाकडाउन, आर्थिक स्थिति, व्यवसाय  किसी भी तरीके से देखा जाए तो वर्ष 2020 में हमारा अनुभव बहुत ही खराब रहा है। इसलिए वैज्ञानिकों ने दिन-रात एक कर यह वैक्सीन तैयार की है और अभी एक साल भी नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि शुक्रवार शाम को उन्हें मैसेज आया था कि उन्हें 16 जनवरी को वैक्सीन लगना है तो वह यहां आए, उसके बाद उनकी आईडी चेक हुई और उसके बाद उन्हें वैक्सीन लगाई गई, इसके बाद ऑब्जरवेशन रूम में बैठे और अब भी वह एकदम बेहतर फील कर रहे हैं।   पूरी तरह सुरक्षित है वैक्सीन – सीएमएचओ डॉ. तिवारी सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने स्वास्थ्य अपर सचिव मोहम्मद सुलेमान की उपस्थिति में कोरोना की वैक्सीन लगवाई। वैक्‍सीनेशन की पूरी प्रक्रिया के बाद तिवारी ने कहा कि मुझे गर्व है कि इस महाअभियान के प्रथम दिन मुख्यमंत्री जी की उपस्थिति में मुझे वैक्सीनेशन किया गया है। उन्होंने बताया कि अभी मैं बेहतर स्थिति में हूँ और मैं शहर में बनाए गए 12 वैक्सीन सेंटरों का निरीक्षण करूंगा। उन्होंने कहा कि मेरा शहरवासियों को यही संदेश है कि यह वैक्सीनेशन पूर्णत: सुरक्षित है। इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा। इस वैक्सीन से लोगों को डरने की आवश्यकता नहीं है।

Kolar News

Kolar News 16 January 2021

भोपाल। हवाओं का रुख बदलने से वातावरण में अरब सागर से कुछ नमी मिलने से मप्र के मौसम में परिवर्तन देखने को मिल रहा है। राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर दिन के तापमान में अधिक और रात के तापमान में मामूली बढ़ोतरी होने लगी है। मौसम विभाग के अनुसार दो दिन बाद न्यूनतम तापमान में तेजी से वृद्धि होने की संभावना है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि तेलंगाना और उसके आसपास एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। इस वजह से हवा का रुख बार-बार बदलने लगा है। शुक्रवार को सुबह के समय कुछ समय के लिए हवा का रुख उत्तर-पूर्वी से बदलकर दक्षिण-पूर्वी हो गया था। इससे अरब सागर से कुछ नमी मिलने लगी थी। इससे अधिकतम तापमान में इजाफा हुआ। हालांकि शाम के समय हवा का रुख फिर उत्तर-पूर्वी और उत्तरी हो गया था। इससे वातावरण में फिर सिहरन बढ़ गई है। अभी दो दिन तक न्यूनतम तापमान धीरे-धीरे बढ़ेगा, लेकिन दो दिन बाद रात का तापमान तेजी से बढ़ने की संभावना है।  मौसम विभाग के मुताबिक इस सप्ताह मध्य प्रदेश के लगभग सभी भागों में मौसम साफ और शुष्क बना रहेगा यानि बारिश की संभावना बिल्कुल भी नहीं है। परंतु तापमान सामान्य से नीचे ही बना रहेगा तथा अधिकांश जिलों में कड़ाके की सर्दी जारी रहेगी। दिन के समय धूप निकलेगी तथा दिन आरामदायक ही बना रहेगा। ग्वालियर संभाग में कुछ स्थानों पर मध्यम से घना कोहरा भी छाया रह सकता है।   मप्र में बारिश का आंकड़ा सामान्य से ऊपर मौसम विभाग के अनुसार इस साल जनवरी महीने में मध्य प्रदेश के पश्चिमी जिलों में कई दिन रुक-रुक कर हुई बारिश के परिणाम स्वरूप पश्चिमी मध्य प्रदेश में बारिश का आंकड़ा सामान्य से 44 प्रतिशत ऊपर है। जबकि दूसरी तरफ पूर्व मध्य प्रदेश लगभग शुष्क बना रहा। इसलिए यहां बारिश सामान्य से 93 प्रतिशत कम के स्तर पर है।

Kolar News

Kolar News 16 January 2021

इंदौर। देश-प्रदेश के अन्य शहरों के साथ-साथ शनिवार को कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित रहे मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड-19 का टीका लगाए जाने के चरणबद्ध अभियान की शुरुआत हो गई। एमवाय अस्पताल में आया आशा पवार को तो अरबिंदो अस्पताल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी सीमा डागर को कोरोना का पहला टीका लगाया गया। पांच टीकाकरण केंद्रों पर सुबह 9 बजे से टीका लगने की प्रक्रिया शुरू हुई। सबसे पहले टोकन बांटे गए। वहीं, मंत्री तुलसी सिलावट ने एमवाय अस्पताल पहुंचकर टीका लगवाने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों से बात की। रोजाना 100-100 स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाया जाएगा।    इंदौर में क्षेत्रीय वैक्सीन भंडारण केंद्र से वैक्सीन लेकर सुबह दो कर्मचारी पुलिस सुरक्षा में सुबह 8 बजे सभी 5 सेंटरों के लिए रवाना हुए। इनके पास दो बॉक्स थे, इसमें से एक बॉक्स में वैक्सीन के 100 डोज जबकि दूसरे बॉक्स में आइस पैक थे। सुबह 8 बजकर 28 मिनट पर एमवाय अस्पताल के फोकल पाइंट तक सुरक्षित तरीके से वैक्सीन को पहुंचाया गया। इसके पहले पूरे एरिए को सैनिटाइज करवाया गया। अस्पताल के डीन खुद सुबह से मौके पर पहुंच गए और तैयारियों का जायजा लिया। मंत्री तुलसी सिलावट भी एमवाय अस्पताल पहुंचे। देशभर में हो रहे टीकाकरण का लाइव टेलीकास्ट एमवाय अस्पताल में हो रहा है। जहां पर टीकाकरण हो रहा है, उस पूरे एरिए को सजाया गया है।

Kolar News

Kolar News 16 January 2021

भोपाल। मकर संक्रांति पर्व के बाद अब प्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। सूर्य के उत्तरायण होने और आसमान साफ बना रहने से राजधानी भोपाल समेत अधिकतर इलाकों में अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक पूर्वी हवाओं का दखल बढ़ने से अब तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। दो दिनों बाद धूप में तेजी आएगी। साथ ही रात के तापमान में बढ़ोतरी होने से गुलाबी ठंड बरकरार रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में तेलंगाना पर एक प्रति-चक्रवात बन गया है। इस सिस्टम के प्रभाव से हवा का रुख उत्तरी से उत्तर-पूर्वी हो गया है। उत्तर भारत में अभी भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है, लेकिन वर्तमान में मध्य प्रदेश में बीच-बीच में उत्तरी के बजाय पूर्वी हवाएं चलने लगती हैं। आसमान साफ रहने और वातावरण में नमी नहीं रहने के कारण सूर्य की किरणें सीधी जमीन पर आ रही हैं। इस वजह से दिन के तापमान में तेजी से बढ़ने लगा है। अभी शनिवार तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहेगा। इसके बाद न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी।   इधर गुरुवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।

Kolar News

Kolar News 15 January 2021

उज्जैन। उज्जैन जिले में कोरोना वैक्सीनेशन फेज-1 का कार्य 16 जनवरी से पांच केन्द्रों पर प्रारम्भ होगा। फेज-1 में प्रथम भाग में हैल्थ केयर वर्कर्स को टीका लगाया जायेगा। इसमें शासकीय एवं निजी चिकित्साकर्मी व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शामिल हैं। जिले में इनकी कुल संख्या 12 हजार 411 चिन्हित की गई है। फेज-1 के द्वितीय भाग में फ्रंटलाइन वर्कर तथा तृतीय भाग में 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति अथवा 50 वर्ष से पहले के ऐसे लोग जो गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं, का टीकाकरण होगा। तीनों भाग मिलाकर उज्जैन जिले में लगभग तीन से चार लाख लोगों का फेज-1 में टीकाकरण किया जायेगा।   टीकाकरण की तैयारियों को लेकर कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देश पर गुरुवार को वैक्सीनेशन टीम का प्रशिक्षण आयोजित किया गया। इसमें मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.महावीर खंडेलवाल, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.केसी परमार, विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ.सुधीर सोनी एवं विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।   बैठक में डब्ल्यूएचओ के डॉ. सुधीर सोनी ने कोरोना टीकाकरण को लेकर विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में टीकाकरण के लिये दो कंपनियों के टीके तैयार हैं। इनमें से कोई एक उज्जैन जिले में आयेगा। एक टीका सीरम इंस्टिट्यूट द्वारा बनाया गया है तथा दूसरा भारत बायोटेक कंपनी द्वारा बनाया गया है। टीका व्यक्ति को दो बार लगेगा, पहली बार लगने के चार सप्ताह बाद दूसरी बार लगाना होगा। इसके लिये टीकाकरण टीम का गठन किया जायेगा। इसमें एक सुरक्षाकर्मी की ड्यूटी लगाई जायेगी। समस्त कार्यवाही को कोविड पोर्टल के माध्यम से रजिस्टर किया जायेगा। टीकाकरण की माइक्रो प्लानिंग भी कोविड एप के माध्यम से होगी। वेक्सीनेशन के लिये प्रत्येक सेन्टर पर तीन कक्ष होना आवश्यक है। इसमें प्रथम कक्ष वेटिंग रूम, द्वितीय कक्ष में वेक्सीनेशन का कार्य एवं तृतीय में रेस्ट रूम बनाया जायेगा। टीकाकरण के लिये वेक्सीन की कोल्डचेन 2 से 8 डिग्री के मध्य मेंटेन करना होगा। उन्होंने कहा कि टीका लगने के बाद किसी भी तरह के साइड इफेक्ट नहीं होंगे।

Kolar News

Kolar News 14 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में रीयल एस्टेट और अनाज कारोबारी जेआरजी ग्रुप पर टैक्स चोरी की आशंका में आयकर विभाग द्वारा की गई छापामार कार्रवाई में 50 करोड़ रुपये से अधिक के बेनामी लेन-देन का खुलासा हुआ है। मंगलवार सुबह शुरू हुई कार्रवाई बुधवार देर रात चली, जिसमें 50 से अधिक बैंक खातों के साथ ही 40 करोड़ की सांवेर में 70 फीसदी नकद भुगतान में खरीदी जमीन के दस्तावेज बरामद हुए हैं। जेआरजी ग्रुप और उससे जुड़े पार्टनरों के यहां से एक दर्जन लॉकर के साथ कई डायरियां और अन्य दस्तावेज, लैपटॉप, पेन ड्राइव जब्त की गई है।   आयकर की इंवेस्टीगेशन विंग द्वारा शहर के जेआरजी रियलिटी और उससे जुड़ी तीन कंपनियों के खिलाफ मंगलवार सुबह छापा मार कार्रवाई शुरू की थी। इनमें जेआरजी ग्रुप के संचालक और भागीदार, घनश्याम गोयल, तिलक गोयल, रोशन पोरवाल, अनिल धाकड़, आरएनटी मार्ग की मिलिंद मेनोर बिल्डिंग में ग्रुप के कार्पोरेट दफ्तर, डकाच्या में विकसित लॉजिस्टिक पार्क, टेलीफोन नगर, साकेत नगर, मल्हारगंज, पालदा व अन्य क्षेत्रों में समूह में भागीदारों के दफ्तरों और घरों सहित 15 ठिकानों पर अलग-अलग टीमों द्वारा बुधवार देर रात तक कार्रवाई जारी रही। बताया गया है कि आयकर विभाग को जमीनी कारोबार के साथ-साथ अनाज, दलहन के सौदों के जरिए भी काली कमाई की जानकारी हाथ लगी है।   इस कार्रवाई के दौरान आयकर विभाग को कुल एक करोड़ 10 लाख रुपये नकद के साथ 50 करोड़ रुपये के बेनामी लेन-देन का हिसाब मिला है। नकदी को विभाग द्वारा जब्त कर लिया गया है। टीम को 50 से अधिक बैंक खातों और 12 लॉकरों से नकद राशि बरामद हुई। दिल्ली की फर्मों और कंपनियों से लेन-देन के दस्तावेज भी बरामद हुए हैं। आयकर अधिकारियों ने अलग-अलग ठिकानों से मिली ज्वैलरी भी बरामद की है। गुरुवार को सभी दस्तावेजों का मूल्यांकन किया जा रहा है। अनुमान है कि बेनामी लेन-देन का आंकड़ा 70 करोड़ के आसपास पहुंच सकता है।

Kolar News

Kolar News 14 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है, लेकिन मृतकों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। यहां बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 54 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 56,844 और मृतकों की संख्या 914 हो गई है। दीपावली के बाद (60 दिन बाद) यहां लगातार चौथे दिन नये संक्रमितों की संख्या 100 से नीचे आई है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 3484 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 54 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 56,844 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की कोई मौत की पुष्टि हुई है। यहां अब कोरोना से मरने वालों की संख्या 914 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 53,966 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1964 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और करीब दो महीने बाद यहां नये प्रकरणों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है। अब लगातार चौथे दिन यहां 100 से कम नये संक्रमित मिले हैं। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 14 January 2021

भोपाल। कोरोना वैक्सीन की पहली खेप बुधवार सुबह मुंबई से भोपाल पहुंच चुकी है। इंडिगो की फ्लाइट 6 इ 661 से मुंबई से शेड्यूल फ्लाइट से वैक्सीन भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट पहुंची है। विमान के एयरपोर्ट पहुंचने से पहले ही स्वास्थ्य विभाग की इंसुलेटेड वैन एयरपोर्ट पहुंच गई थी। अलग-अलग बाक्सों में 94 हजार टीके भोपाल पहुंचे है। यहां से इंसुलेटेड वैन से वैक्सीन को कमला पार्क स्थित वैक्सीन सेंटर पर इसे रखा गया है।   भोपाल एयरपोर्ट से कोरोना वैक्सीन लेकर गाड़ी रवाना हो चुकी है। यहां से वैक्सीन को सभी जिलों में भेजा जाएगा। वहां सभी अधिकारी की देखरेख में ट्रांसपोर्टेशन का काम होगा। सभी जिले के लिए पदाधिकारी को नियुक्त कर इन्हें जिम्मेदारी सौंपी जा चुकी है। भोपाल जिले के विभिन्न प्रखंड व अस्पताल में वैक्सीन भेजकर 16 जनवरी से टीकाकरण महाअभियान चलाया जाएगा। बताते चले कि वैक्सीन को एयरपोर्ट से रिसीव करने के लिए 8 बजे से ही वहां गाड़ी लगाई जा चुकी थी। कई बड़े अधिकारी खुद भी एयरपोर्ट पर मौजूद थे।   लोगों तक वैक्सीन देने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से पूरी तैयारी कर ली गई है। भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट से इंसुलेटेड वैन के जरिए यह वैक्सीन स्टेट वैक्सीन सेंटर तक पहुंचाई गई है। अधिकारियों का कहना है कि इंसुलेटेड वैन में 7 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान को बनाए रखते हुए वैक्सीन को वैक्सीन सेंटर तक लाया गया है। अब 16 जनवरी को देशभर में इस महाटीका अभियान की शुरुआत होगी। लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा। 

Kolar News

Kolar News 13 January 2021

जबलपुर। भू माफियाओं के खिलाफ प्रदेश में चल रहे अभियान के तहत बुधवार को जबलपुर के थाना हनुमानताल अंतर्गत आजाद नगर मोहरिया गली नं. 6 में कुख्यात सटोरिया बाबू सलाम के खिलाफ प्रशासन ने कार्यवाही की। प्रशासन ने नगर निगम की टीम के साथ मिलकर बाबू सलाम द्वारा 2000 वर्ग फुट भूमि पर लगभग 1 करोड़ की लागत से नगर निगम की बिना अनुमति के अवैध निर्मित दो मंजिला मकान को जमींदोज किया गया। बाबू सलाम के विरूद्ध विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, मारपीट, सट्टा एवं जुआ के 34 अपराध थाना हुनमानताल में दर्ज हैं। आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने हेतु बाबू सलाम का जिला बदर भी किया जा चुका है।   बुधवार को कलेक्टर जबलपुर कर्मवीर शर्मा और पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा के मार्गदर्शन में थाना हनुमानताल अंतर्गत आजाद नगर मोहरिया गली नं. 6 में कुख्यात कुख्यात सटोरिया बाबू सलाम पिता कल्लू शाह (उम्र 52 वर्ष) के द्वारा 2000 वर्ग फुट भूमि पर लगभग 1 करोड़ की लागत से नगर निगम की बिना अनुमति के अवैधानिक तरीके से दो मंजिला मकान का निर्माण किया गया था, को जमींदोज किया गया। विवाद होने की आशंका को ध्यान मे रखते हुये कार्यवाही के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार, एसडीएम आधारताल ऋषभ जैन, नगर पुलिस अधीक्षक आधारताल अशोक तिवारी, नगर पुलिस अधीक्षक रॉझी मोह. इसरार मंसूरी, नगर पुलिस अधीक्षक केंट भावना मरावी, तहसीलदार राजेश सिंह समेत गोहलपुर थाना बल, कोडरेड प्रभारी अपनी 4 टीमों के साथ, रक्षित निरीक्षक सौरभ तिवारी अतिरिक्त बल के साथ व नगर निगम के अतिक्रमण दस्ता प्रभारी सागर बोरकर अतिक्रमण अमला के साथ मौजूद थे।   गौरतलब है कि मध्य प्रदेश सरकार द्वारा भू-मफिया राशन की काला बाजारी, मिलावटखोरों, भू-माफियाओं/चिटफंड कंपनी के कारोबारियों एवं सूदखोरों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश प्रशासन व पुलिस विभाग को दिये गये हैं, दिये गए निर्देशों के तहत पुलिस एवं प्रशासन तथा नगर निगम की संयुक्त टीम के द्वारा इस प्रकार के माफियाओं की लिस्ट एवं उनके द्वारा किये गये अवैध निर्माण एवं कब्जे की जानकारी तैयार की गई है तथा उनके विरूद्व कार्यवाही की योजना तैयार कर लगातार कार्यवाही की जा रही है।

Kolar News

Kolar News 13 January 2021

भोपाल। मध्य प्रदेश में बारिश का सिलसिला खत्म होने के बाद अब कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हवाओं का रुख उत्तरी होते ही मध्यप्रदेश में न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट का सिलसिला शुरू हो गया है। विशेष तौर से उत्तर भारत से लगे ग्वालियर और चंबल संभागों में शीतलहर का प्रकोप देखा जा रहा है। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों के लिए प्रदेश में शीतलहर का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि राज्य के 5 जिलों में शीतलहर का असर दिखेगा।    वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि प्रदेश में दक्षिण पश्चिम हवा का दौर जारी है, जबकि अरब सागर से आ रही नमी के कारण कोहरे का लगातार असर देखा जा रहा है। ठंड के तेवर अभी और तीखे होने के असार हैं। मौसम विभाग ने कहा है कि 14 और 15 जनवरी को तापमान में और कमी देखी जाएगी।   मौसम विभाग ने आगे आने वाले दिनों में और अधिक कोहरे की संभावना जताई है, जबकि तापमान में दो से तीन डिग्री का भी अनुमान लगाया है। इस कारण इन जिलों में ठिठुरन और बढ़ जाएगी। इस दौरान ग्वालियर, चंबल, सागर, रीवा संभाग के जिलों में कहीं-कहीं पाला पड़ने की भी आशंका है। प्रदेश में सबसे ठंडा ग्वालियर, दतिया और नौगांव रहा। यहां का तापमान 4 डिग्री से नीचे चले गया। मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी कर कहा है कि यहां कोहरा छाया रहेगा।   इन जिलों में चलेगी शीतलहरमौसम विभाग के मुताबिक ग्वालियर, दतिया, भिंड, मुरैना और छतरपुर जिलों में शीतलहर चलेगी।   यहां होगा घना कोहरामौसम विभाग द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में बताया गया है कि भोपाल, इंदौर, शाजापुर, ग्वालियर, दतिया में घना कोहरा रहेगा।

Kolar News

Kolar News 13 January 2021

रतलाम। स्वामी विवेकानंद का जन्मदिवस मंगलवार को युवा दिवस के रुप में मनाया गया। प्रात: 9 बजे से 9.45 बजेे केे मध्य आनलाइन सूर्य नमस्कार कार्यक्रम विद्यार्थी ,शिक्षक, जनसामान्य तथा गणमान्य नागरिकों ने अपने-अपने घरों में किया।   युवा दिवस के अवसर पर सूर्य नमस्कार कार्यक्रम कोविड-19 केे कारण इस वर्ष शालाओं में आयोजित नहीं हुए। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इस अवसर पर रेेडियों के माध्यम से संदेश प्रसारित किया,जिसमें योग केे महत्व और स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व पर उन्होंने प्रकाश डाला।      उत्कृष्ट विद्यालय में सूर्य नमस्कार संपन्न   उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रतलाम में प्राचार्य  सुभाष कुमावत के नेतृत्व में स्वामी विवेकानंद जयंती को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रुप में मनाया गया।  इस अवसर पर कुमावत ने संदेश दिया कि मन मस्तिष्क के संतुलन, शांति एवं सौहार्द हेतु तथा स्वस्थ जीवन यापन के लिए योग को अपनाकर हम मानव मन को तैयार कर सकते हैं। इस कार्यक्रम में प्राचार्य सुभाष कुमावत, डॉ. पूर्णिमा शर्मा, गिरीश सारस्वत, सुनील कदम, हरीश रत्नावत, स्नेहलता भदौरिया, रीना कोठारी, आर. सी. पांचाल, मनोज मूणत माया मौर्य, शरद शर्मा, डी. सी. पाटीदार, मुन्नेश बघेल आई. एस. राठौर, सुरेश राठौर सहित विद्यालय स्टाफ ने कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए सामूहिक योगाभ्यास किया।

Kolar News

Kolar News 12 January 2021

मुरैना। मुरैना जिले के बागचीनी थाना क्षेत्र के ग्राम छेरा मानपुर, पहावली और बिलिय्यां पूरा में जहरीली शराब पीने से मंगलवार दोपहर तक मरने वालों की संख्या बढक़र 12 हो गई है। प्रशासन ने इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में प्रभारी जिला आबकारी अधिकारी जाविद अहमद और बागचीनी के थाना प्रभारी अविनाश राठौर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इधर, मृतकों के परिजनों ने शवों को सडक़ पर शव रखकर प्रदर्शन किया। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुर्भाग्यपूर्ण और दुखदायी बताते हुए मामले की जांच के निर्देश दिये हैं।   मुरैना एसडीओपी सुजीत भदौरिया ने बताया कि जिले के दो थाना क्षेत्रों में अब तक जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 12 हो गई है। अभी कुछ लोगों की तबियत खराब है और उनका उपचार जारी है। ग्रामीणों ने बताया कि इन लोगों ने ओपी केमिकल से बनी हुई शराब पी थी। फिलहाल मामले की जांच जारी है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रथम दृष्टया सुपरविजन में लापरवाही करने पर जिला आबकारी अधिकारी जाविद अहमद और बागचीनी थाना प्रभारी अइवनाश राठौर को सस्पेंड किया गया है।   उन्होंने बताया क‍ि मृतकों में रामकुमार पुत्र छोटेलाल, धर्मेन्द्र सिंह पुत्र रामजीलाल, दिलीप शाक्य पुत्र रामचंद्र शाक्य, जितेन्द्र पुत्र पातीराम जाटव, सरनाम पुत्र अमर सिंह किरार, केदार पुत्र हुकुम सिंह जाटव, मुकेश पुत्र साहब सिंह किरार सभी निवासी ग्राम मानपुर छैरा, बंटी पुत्र पंजाब सिंह गुर्जर, जितेन्द्र पुत्र पंजाब सिंह गुर्जर, रामनिवास पुत्र सिद्धार्थ गुर्जर तीनों निवासी ग्राम पावली के अलावा दो मृतक सुमावली क्षेत्र के रहने वाले हैं। सुमावली थाना प्रभारी रवि गुर्जर ने बताया कि सभी लोग एक पार्टी में गए थे, यहां पर शराब के साथ चिकन भी परोसा गया था। जिसके बाद सभी की हालत गंभीर हो गई।   गौरतलब है कि मुरैना के बीहड़ में कच्ची व जहरीली शराब का कारोबार बेखौफ चलता है। गत 12 दिसम्बर को नूराबाद पुलिस ने बीहड़ में कच्ची शराब की भट्टी पकड़ी थी। नदी किनारे बीहड़ों में भट्टी जल रही थी जिस पर एक ड्रम में शराब बन रही थी। यह शराब भट्टी पर गुड़, पीओ और अन्य सामग्री से बनायी जाती थी। पानी की मोटर से नदी किनारे के भरकों (पानी के छोटे गड्ढों) से पानी खींचा जाता था जिसे ड्रमों में भरकर उससे कच्ची शराब तैयार होती थी। यह शराब बाइकों से आसपास के गांवों में खपाई जाती थी।   बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है, जब मध्य प्रदेश में जहरीली शराब पीने से इतने लोगों की मौत हुई है। इससे पहले उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 16 लोगों की मौत हो गई थी। उससे पहले लॉकडाउन के दौरान रतलाम जिले में अवैध जहरीली शराब पीने से 8 लोगों की मौत हुई थी।     मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से मामले में कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है, दो अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। जांच के बाकी तथ्य जैसे ही आएंगे, जो भी दोषी होंगे, वो छोड़े नहीं जायेंगे। हम कठोर कार्रवाई करेंगे। वाणिज्य कर मंत्री जगदीश देवड़ा ने पूरे मामले को लेकर अधिकारियों से जानकारी ली है। इस मामले में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि थानेदार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मौके पर वरिष्ठ अधिकारी पहुंच गए हैं और अलग से एक जांच दल भी जा रहा है। कोई भी दोषी होगा कितना भी बड़ा हो बख्शा नहीं जाएगा।

Kolar News

Kolar News 12 January 2021

भोपाल। मध्यप्रदेश में मौसम का मिजाज पल पल में बदल रहा है। पिछले सप्ताह हुई बारिश के बाद अब बादलों के छंटने का दौर शुरु हो गया है। वहीं कई जगहों पर कोहरा घना हो रहा है। मंगलवार को राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर सुबह घना कोहरा छाया रहा। भोपाल में सुबह के समय दृश्यता 200 मीटर दर्ज की गई। यहां पर साढ़े चार घंटे विजिबिलिटी 1000 मीटर से कम रही। बादल छंटने के कारण प्रदेश के 22 जिलों में रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। प्रदेश में 13 स्थानों पर न्यूनतम तापमान चार से दस डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज हुआ।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहीं है। साथ ही हवाओं का रुख भी उत्तरी हो गया है। उत्तर भारत कड़ाके की ठंड की चपेट में हैं। वहां से लगभग 12 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल रही सर्द हवाओं के कारण मध्य प्रदेश में भी ठंड ने रुख बदल लिया है। इससे न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज होने लगेगी। 14 जनवरी के बाद से कड़ाके की ठंड पडऩे के आसार भी है। मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक आगामी दो दिन में रात और दिन के पारे में हल्की गिरावट दर्ज की जाएगी। प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस दतिया में रिकॉर्ड किया गया। राजधानी भोपाल में पिछले चौबीस घंटे के दौरान न्यूनतम तापमान में 4.1 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक उत्तरी मध्यप्रदेश में कहीं-कहीं शीतलहर चलने की संभावना है। कुछ स्थानों पर पाला पडऩे की भी आशंका है।   बुधवार को यहां शीतलहर चलने की संभावनाउत्तर भारत से लगातार आ रही सर्द हवाओं के कारण वातावरण में ठंड बढ़ गई है। बुधवार को उत्तरी मध्यप्रदेश के ग्वालियर, चंबल, सागर संभाग में शीतलहर चलने की भी संभावना है। इस दौरान कहीं-कहीं पाला पडऩे की भी आशंका है।

Kolar News

Kolar News 12 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 89 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 56,629 हो गई है। राहत की बात यह है कि जिले में 24 घंटों के दौरान कोई मौत दर्ज नहीं हुई है। यहां मृतकों की संख्या 910 है। दीपावली के बाद पहली बार यहां नये मामलों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 3343 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 89 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 56,629 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना कोई मौत नहीं हुई है। यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 910 पर स्थिर है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 53,468 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2250 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और करीब दो महीने बाद यहां नये प्रकरणों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 11 January 2021

भोपाल। प्रतिवर्ष की भांति इस साल भी स्वामी विवेकानंद जी का जन्मदिवस 12 जनवरी को "युवा दिवस" के रूप में मनाया जाएगा। इस अवसर पर सूर्य नमस्कार का आयोजन किया जाएगा, लेकिन इस बार कोरोना के चलते यह सामूहिक कार्यक्रम नहीं होगा। सभी लोग अपने-अपने घरों से ऑनलाइन कार्यक्रम के माध्यम से सूर्य नमस्कार में शामिल होंगे।   लोक शिक्षण आयुक्त एवं विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी ने शनिवार को इस संबंध में सभी समस्त कलेक्टर, डाईट प्राचार्य, जिला शिक्षा अधिकारी और डीपीसी को पत्र जारी किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चल रहे कोविड-19 को देखते हुए इस वर्ष शालाओं में सामुहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा। विद्यार्थी, शिक्षक, जन सामान्य तथा गणमान्य नागरिक अपने-अपने घरों में ऑनलाइन रेडियों प्रसारण के माध्यम से सूर्य नमस्कार करेंगे।    उन्होंने कहा कि ऑनलाइन सूर्य नमस्कार कार्यक्रम प्रात: 9 बजे से 9.45 बजे के मध्य किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का संबोधन रेडियो के माध्यम से प्रसारित किया जाएगा। यह कार्यक्रम पूर्व वर्ष की भांति पूरे प्रदेश में रेडियो के माध्यम से एक संकेत पर संपन्न होगा। सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम का विवरण कक्षा 6वीं की सहायक वाचन में भी दिया गया है। सूर्य नमस्कार के दौरान विद्यार्थियों द्वारा इसका उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में किसी भी संस्था अथवा विद्यार्थी का भाग लेना पूर्णत: स्वैच्छिक होगा।

Kolar News

Kolar News 9 January 2021

भोपाल। भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) द्वारा महिला श्रमिक कल्याण ठेका सहकारिता संस्था से जुड़ी महिलाकर्मियों का नौकरी से निकाल दिया। अब नौकरी से निकाली गई महिलाकर्मियों ने भेल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शनिवार को सुबह दूसरे दिन भी महिलाएं भेल कारखाने के फाउंड्री गेट-5 पर पहुंच गई और नौकरी से निकाले जाने का विरोध करते हुए भेल प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इससे पहले शुक्रवार को भी दोपहर में महिलाओं ने यहां प्रदर्शन किया था। प्रदर्शनकारी महिलाओं का कहना है कि जब तक हमें फिर से नौकरी पर नहीं लिया जाएगा, तब तक वे भेल कारखाने के सामने बैठे रहेंगे।    गौरतलब है कि करीब 30 साल से संस्था से जुडक़र भेल के अलग-अलग विभागों में 104 महिलाएं काम कर रही हैं। गत 31 दिसम्बर को वर्क ऑर्डर का नवीनीकरण नहीं करते हुए भेल प्रबंधन ने उन्हें नौकरी पर रखने से मना कर दिया था। इसके बाद सालों से काम कर रही महिलाओं ने भेल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए धरना-प्रदर्शन शुरू किया है। शुक्रवार को दोपहर 12 बजे सभी महिलाएं भेज कारखाने के सामने एकत्रित हुई और जोरदार प्रदर्शन किया। इसके बाद शनिवार को भी उनका प्रदर्शन जारी है। सुबह से महिलाएं भेल कारखाने के सामने बैठी हैं और प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी कर रही हैं।   प्रदर्शनकारी महिलाओं का कहना है कि पहले भेल प्रबंधन ने बहाना बनाया कि नए नियम बने हैं, इसलिए नौकरी पर नहीं रख सकते। संस्था की प्रशासक लता गिल के अनुसार, महिला कर्मियों को नौकरी से निकालने के भेल प्रबंधन लगातार बहाने करता रहा। पहले भेल प्रबंधन ने कोरोना का बहाना कर हर महिला कर्मचारियों के मासिक वेतन से 1600 रुपये कम करने की बात कही। प्रबंधन की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से वेतन में कटौती की सहमति दे दी, लेकिन प्रबंधन ने सभी महिला कर्मचारियों को ड्यूटी आने का मना कर दिया। उनसे बार-बार अलग-अलग दस्तावेज मांगें गए और जब सभी कागजात उपलब्ध करा दिए तो भी उन्हें पर नहीं लिया जा रहा है। इसलिए हमें प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।    इस संबंध में भेल के जनसम्पर्क अधिकारी राघवेंद्र शुक्ल का कहना है कि जब तक भेल कॉर्पोरेट से सोसायटी की महिलाओं को नौकरी पर फिर से वापस लेने पर अनुमति नहीं मिलेगी, तब तक उन्हें नौकरी पर नहीं रख सकते हैं।

Kolar News

Kolar News 9 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है, लेकिन मृतकों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 140 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 56,394 और मृतकों की संख्या 906 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 4403 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 140 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 56,394 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 906 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 53,067 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2421 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और 300 से नीचे आ गई। यहां 44 दिन के बाद कोरोना के नये मरीजों की संख्या 200 से नीचे पहुंची और अब लगातार आठवें दिन यहां 200 से कम नये संक्रमित मिले हैं। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 9 January 2021

देवास। मध्यप्रदेश के देवास जिले में जहां कोरोना के लगातार नये मामले सामने आ रहे हैं तो वहीं पुराने मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में जिले में अब कोरोना से 06 नये मरीज सामने आए हैं, जबकि 17 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंचे हैं।   देवास के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि जिले में शुक्रवार को 417 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें छह नये लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि 411 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, 17 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं और उन्हें शुक्रवार को अस्पताल से डिस्चार्ज कर अपने घर रवाना किया गया।    उन्होंने बताया कि जिले में अब तक कुल 2812 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें से अभी तक 2751 मरीज संक्रमण मुक्त होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज 35 है, जिनका उपचार चल रहा है। वहीं, जिले में अभी तक कोरोना से 26 लोगों की मृत्यु हुई है। जिले में अब तक का कोविड-19 रिकवरी रेट 97.83 प्रतिशत तथा मोर्टीलिटी (मृत्युदर) 0.92 प्रतिशत है।

Kolar News

Kolar News 8 January 2021

भोपाल। नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा की तुअर दाल और करेली के मशहूर गुड़ की बांडिंग और बिक्री के लिए आज (शुक्रवार) से भोपाल और इंदौर में तीन दिवसीय मेले का आयोजन किया जा रहा है। यह मेला आगामी 10 जनवरी तक चलेगा। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की एक जिला एक उत्पाद योजना की अवधारणा को क्रियान्वित करने के उद्देश्य से प्रदेश में गाडरवारा तुअर दाल एवं करेली गुड़ का चयन किया गया है। सभी जानते हैं कि नरसिंहपुर जिले की गाडरवारा तुअर दाल अपने विशेष स्वाद के लिए जानी जाती है और इसकी अपनी पहचान है। इसी तरह करेली गुड़ की भी विशिष्ट पहचान है, जिसने देश- विदेश में प्रसिद्धि हासिल की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि वे अपने जिले के प्रमुख उत्पादों की ब्रांडिंग करें। इसी सिलसिले में किसानों द्वारा बनाये जाने वाले सामान्य एवं जैविक गुड़ और गाडरवारा तुअर दाल के उत्पाद के प्रमोशन के लिए जैविक गुड़ एवं तुअर दाल मेले का आयोजन किया जा रहा है। यह मेला भोपाल में आज से शुरू होकर आगामी 10 जनवरी तक डीबी माल के पीछे एवं बोर्ड ऑफिस के पास भोपाल हॉट में लगेगा, जबकि इंदौर में यह तीन दिवसीय मेला हाट बाजार साउथ तुकोगंज में लगाया जा रहा है।गुड़ मेले में पारम्परिक पद्धति से बनाया गया शुद्ध और स्वास्थ्यवर्धक, स्वाद में बेमिसाल विश्व प्रसिद्ध करेली गुड़ उपलब्ध रहेगा। साथ ही बेमिसाल स्वाद वाली गाडरवारा तुअर दाल भी मिलेगी। करेली गुड़ अदरक, इलायची, आंवला जैसे लाजवाब फ्लैवर्स में भी उपलब्ध कराया जायेगा। गुड़ मेला का आयोजन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग और नरसिंहपुर जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 8 January 2021

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज लगातार बदल रहा है। राजधानी भोपाल में पिछले दो दिन धूप निकलने के बाद शुक्रवार को एकबार फिर आसमान में बादलों का डेरा जम गया है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ की दस्तक के कारण राजधानी सहित प्रदेश के कुछ स्थानों पर बादल छाने लगेंगे। इस दौरान कहीं-कहीं बारिश भी होगी। इसके अलावा शनिवार को कई स्थानों पर बरसात होगी। सोमवार से एकबार फिर मौसम साफ होने लगेगा। इसके बाद वातावरण में ठंड बढ़ने के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि आज एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में पहुंचेगा। इसके असर से उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के साथ कहीं-कहीं बारिश भी होगी। इस सिस्टम के असर से और हवाओं का रुख दक्षिणी बना रहने से वातावरण में एक बार फिर से नमी बढ़ने लगेगी। इससे शुक्रवार से फिर बादल छाने लगेंगे और होशंगाबाद, जबलपुर, भोपाल, संभाग में कहीं-कहीं बारिश हो सकती है। शनिवार को भी निमाड़, मालवा क्षेत्र के अलावा भोपाल, होशंगाबाद और जबलपुर संभाग के जिलों में बौछारें पड़ने की संभावना है। रविवार से बारिश की गतिविधियों में कमी आने लगेगी। सोमवार से मौसम साफ होने लगेगा। बादल छंटने से न्यूनतम तापमान में गिरावट होने लगेगी। साथ ही हवा का रुख उत्तरी होने से सर्द हवाओं के कारण ठंड का दौर शुरू हो जाएगा।   गौरतलब है कि इस वर्ष जनवरी की शुरुआत से ही मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। इस वजह से बादल छाने के साथ बारिश भी हुई, लेकिन बादल बने रहने के कारण न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक बने रहे। इससे जनवरी माह में अभी तक अपेक्षाकृत ठंड नहीं पड़ी है।   इन जिलों में बारिश की संभावनाएक नया पश्चिमी विक्षोम उत्तर भारत में पहुंचेगा। इसके प्रभाव से आठ जनवरी से फिर बादल छाने लगेंगे और होशंगाबाद, जबलपुर, भोपाल संभाग में कहीं-कहीं बारिश होगी। नौ जनवरी को भी मालवा निमाड़ क्षेत्र के अलावा भोपाल, होशंगाबाद और जबलपुर संभाग के जिलों में बौछारें पड़ने की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 8 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है, लेकिन मृतकों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 191 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 55,916 और मृतकों की संख्या 895 हो गई है। यहां 44 दिन के बाद लगातार पांचवें दिन कोरोना के नये मरीजों की संख्या 200 से कम आई है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 4865 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 191 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 55,916 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 895 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 52,497 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2524 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और 300 से नीचे आ गई। यहां 44 दिन के बाद कोरोना के नये मरीजों की संख्या 200 से नीचे पहुंची और अब लगातार पांचवें दिन यहां 200 से कम नये संक्रमित मिले हैं। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 6 January 2021

सतना। सतना जिले के बकिया गांव में बुधवार सुबह कुछ कौवे मृत पाए गए। इससे गांव में दहशत फैल गई है। स्थानीय लोगों के अनुसार गांव में कई कौएं मृत अवस्था में पड़े हुए देखे गए, जिसकी सूचना पशुपालन विभाग को दी गई, जिसके बाद अधिकारियों द्वारा इसकी जांच की जा रही है कि इनकी मौत कैसे हुई।    प्रदेश में पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है। ऐसे में बकिया गांव में जब बुधवार सुबह मृत कौवे देखे गए, गांव में दहशत फैल गई। वहीं,  सतना जिले के रामनगर के अमिलिया गांव से भी कौओं के मरने की खबर है। यहां पर कौवे पीएस सिंह नामक व्यक्ति के घर पर मृत मिले हैं। इसकी सूचना पशु चिकित्सा विभाग को दी गई है जिसके बाद जांच की जा रही है। इसके अलावा सतना रेलवे स्टेशन के बाहर स्थित होटल महामाया के नीचे बुधवार सुबह हजारों की संख्या में मधुमक्खियां मृत अवस्था में मिली। जैसे ही मृत मधुमक्खी लोगों ने देखी तो स्थानीय दुकानदारों में दहशत का माहौल बन गया है। इन मधुमक्खियों ने होटल की खिड़की में छत्ता बनाया था। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में बर्ड फ्लू से सैकड़ों पक्षियों की अब तक हो मौत चुकी है। रतलाम में चिकन दुकानें और पोल्ट्री फार्म 15 दिनों के लिए बंद करा दिए गए हैं।

Kolar News

Kolar News 6 January 2021

देवास। मध्यप्रदेश के देवास जिले में जहां लगातार कोरोना के नये मामले सामने आ रहे हैं तो वहीं पुराने मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में जिले में अब कोरोना के 07 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंचे हैं।   देवास के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि सोमवार को जिले में 376 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें सात नये लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि 369 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, जिले में पांच कोरोना के मरीज संक्रमण मुक्त हुए हैं और उन्हें सोमवार को अस्पताल से डिस्चार्ज कर अपने घर रवाना किया गया। इस तरह जिले में अब तक कुल 2792 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें से अभी तक 2710 मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज 56 है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, जिले में अब तक कोरोना से 26 लोगों की मृत्यु हुई है। जिले में अब तक का कोविड-19 रिकवरी रेट 97.06 प्रतिशत तथा मोर्टीलिटी (मृत्युदर) 0.93 प्रतिशत है।

Kolar News

Kolar News 4 January 2021

भोपाल। पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल के निर्देश पर प्रदेश में हो रही कौओं की मृत्यु पर प्रभावी नियंत्रण लगाने के लिये अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रदेश के सभी जिलों को सतर्क रहने तथा किसी भी प्रकार की परिस्थिति में कौओं और पक्षियों की मृत्यु की सूचना पर तत्काल रोग नियंत्रण के लिये भारत सरकार द्वारा जारी निर्देशों के तहत कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं।    प्रदेश में 23 दिसम्बर से 3 जनवरी, 2021 तक इंदौर में 142, मंदसौर में 100, आगर-मालवा में 112, खरगोन जिले में 13, सीहोर में 9 कौओं की मृत्यु हुई है। मृत कौओं के सैम्पल भोपाल स्थित स्टेट डी.आई. लैब तत्काल भेजे जा रहे हैं। इंदौर में कंट्रोल-रूम की स्थापना कर रेपिड रिस्पांस टीम द्वारा कार्यवाही की जा रही है।   पोल्ट्री और प्रवासी पक्षियों की विशेष निगरानी जिलों में पदस्थ पशुपालन विभाग के अधिकारियों से कहा गया है कि कौओं की मृत्यु की सूचना प्राप्त होते ही जिला कलेक्टर के मार्गदर्शन में स्थानीय प्रशासन और अन्य विभागों के समन्वय से तत्काल नियंत्रण एवं शमन की कार्यवाही कर रिपोर्ट संचालनालय भेजें। तत्काल संबंधित स्थल का भ्रमण कर आसपास के क्षेत्रों में भी रोग उदभेद नियंत्रण एवं शमन की कार्यवाही सुनिश्चित करें। पोल्ट्री एवं पोल्ट्री उत्पाद बाजार, फार्म, जलाशयों एवं प्रवासी पक्षियों पर विशेष निगरानी रखते हुए प्रवासी पक्षियों के नमूने एकत्र कर भोपाल लैब को भेजें।   रोग नियंत्रण कार्य में लगे हुए अमले को स्वास्थ्य विभाग द्वारा पीपीई किट, एंटी वायरल ड्रग, मृत पक्षियों, संक्रमित सामग्री एवं आहार का डिस्पोजल और डिसइन्फेक्शन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।   बर्ड फ्लू के लक्षण, पक्षियों पर नजर रखें पशुपालन मंत्री पटेल ने कहा कि कौओं में पाया जाने वाला वायरस H5N8 अभी तक मुर्गियों में नहीं मिला है। मुर्गियों में पाया जाने वाला वायरस सामान्यत: H5N1 होता है। पटेल ने लोगों से अपील की है कि पक्षियों पर नजर रखें। यदि पक्षियों की आँख, गर्दन और सिर के आसपास सूजन है, आँखों से रिसाव हो रहा है, कलगी और टांगों में नीलापन आ रहा है, अचानक कमजोरी, पंख गिरना, पक्षियों की फुर्ती, आहार और अंडे देने में कमी दिखाई देने के साथ असामान्य मृत्यु दर बढ़े, तो सतर्क हो जायें। इसे कदापि छुपाएँ नहीं, वरना यह परिवार के स्वास्थ्य के लिये नुकसानदायक हो सकता है। पक्षियों की मृत्यु की सूचना तत्काल स्थानीय पशु चिकित्सा संस्था या पशु चिकित्सा अधिकारी को दें।   बर्ड फ्लू सर्विलांस का काम जारी पटेल ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में बर्ड फ्लू सर्विलांस का काम जारी है। प्रदेश के कुक्कुट फार्म, कुक्कुट बाजार, जलाशयों आदि की सतत निगरानी की जा रही है। कौओं और पक्षियों के नमूने एकत्र कर स्टेट डी.आई. लैब, भोपाल के माध्यम से भारतीय उच्च सुरक्षा, पशु रोग अनुसंधान प्रयोगशाला (NIHSAD) भोपाल को नियमित भेजे जा रहे हैं। जिलों में जिला प्रशासन, पशुपालन, वन, स्वास्थ्य विभाग आदि के समन्वय से रोग नियंत्रण कार्यवाही जारी है।

Kolar News

Kolar News 4 January 2021

भोपाल। मध्य प्रदेश में नए साल की शुरुआत के साथ शुरू हुआ बौछारों का सिलसिला अब भी जारी है। राजधानी भोपाल में सोमवार सुबह भी आसमान में घने बादल छाए हुए हैं और शहर के कुछ इलाकों में बारिश हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार से बादल धीरे-धीरे छंटने लगेंगे। साथ ही न्यूनतम तापमान में कुछ गिरावट होने लगेगी।   वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि दो दिन से अरब सागर से गुजरात होकर राजस्थान तक बना ट्रफ अब पंजाब की तरफ खिसक गया है। इस वजह से सोमवार से मौसम कुछ साफ होने लगेगा। राजधानी में बादल छंटने लगेंगे। हालांकि राजस्थान पर बने ऊपरी हवा का चक्रवात और दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर बना प्रेरित चक्रवात अभी भी कायम है। इस सिस्टम के कारण हवा का रुख दक्षिणी बना रहने से वातावरण में नमी आने का सिलसिला जारी है। इस वजह से अभी भी प्रदेश में उत्तर-पश्चिम क्षेत्रों में बादल बने हुए हैं। इस वजह से ग्वालियर, चंबल, भोपाल, इंदौर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बौछारें पड़ने की संभावना बनी हुई है। इस दौरान ओला वृष्टि की संभावना नहीं है। बादल के छंटते ही न्यूनतम तापमान में गिरावट होने लगेगी। अधिकतम तापमान अभी दो दिन तक इसी तरह बने रहने के आसार हैं।   वहीं रविवार शाम को भानपुरा क्षेत्र के कैलाशपुर, पिपल्दा, सुजानपुरा, कंवला, काग्ल्याखेड़ी, केथुली सहित एक दर्जन से अधिक गांवों में ओलावृष्टि हुई है। इसके अलावा पिपलियामंडी, बालागुड़ा में तेज बारिश हुई। इधर, लगातार दूसरे दिन नीमच, रामपुरा सहित अन्य नगरों में रविवार शाम को भी बारिश हुई।

Kolar News

Kolar News 4 January 2021

भोपाल। मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों में कोरोना के 724 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 14 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या दो लाख 44 हजार 026 और मृतकों की संख्या 3641 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा रविवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर-155, भोपाल-127, जबलपुर-33, ग्वालियर-32, रतलाम-23, उज्जैन-22, शिवपुरी-22 के अलावा अन्य जिलों में 20 से कम मरीज मिले हैं।बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 26,185 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 724 पॉजिटिव और 25,461 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 137 सेम्पल रिजेक्ट हो गए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 2.7 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 2,43,302 से बढ़कर 2,44,026 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 55,475, भोपाल-39,728, ग्वालियर, 15,995, जबलपुर 15,595, खरगौन 5133, सागर 5074, उज्जैन 4704, रतलाम-4456, रीवा-3885, धार-3885, होशंगाबाद 3628, शिवपुरी-3534, विदिशा-3520, नरसिंहपुर 3431, मुरैना 3205, बैतूल 3252, सतना-3311, बालाघाट-3040, शहडोल 2927, नीमच 2950, देवास-2785, छिंदवाड़ा 2689, बड़वानी 2756, सीहोर-2687, दमोह-2657, मंदसौर 2709, रायसेन-2373, झाबुआ 2400, राजगढ़-2295, खंडवा 2249, कटनी 2161, अनूपपुर 2024, हरदा 2041, छतरपुर 2040, सीधी 1949, सिंगरौली 1873, दतिया 1834, शाजापुर 1713, सिवनी 1494, भिण्ड 1468, गुना-1465, श्योपुर 1414, टीकमगढ़ 1265, अलीराजपुर 1258, उमरिया 1245, मंडला-1199, अशोकनगर-1100, पन्ना 1061, डिंडौरी 952, बुरहानपुर 846, आगरमालवा 636 और निवाड़ी 660 मरीज शामिल हैं। राज्य में आज कोरोना से 14 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर के चार, भोपाल के दो और ग्वालियर, खरगौन, धार, रीवा, नरसिंहपुर, सतना, बैतूल व दमोह के एक-एक मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 3627 से बढ़कर 3641 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 884, भोपाल 583, ग्वालियर-205, जबलपुर-242, खरगौन-94, सागर-148, उज्जैन 102, रतलाम-78, धार-58, रीवा-34, होशंगाबाद-60, शिवपुरी-29, विदिशा-63, नरसिंहपुर-29, सतना-42, मुरैना-27, बैतूल-71, बालाघाट-14, शहडोल-30, नीमच-37, देवास-26, बड़वानी-25, छिंदवाड़ा-42, सीहोर-48, दमोह-77, मंदसौर-33, झाबुआ-27, रायसेन-45, राजगढ़-59, खंडवा-63, कटनी-17, हरदा-35, छतरपुर-32, अनूपपुर-14, सीधी-13, सिंगरौली-26, दतिया-20, शाजापुर-22, सिवनी-10, भिण्ड-10, गुना-26, श्योपुर-14, टीकमगढ़-27, अलीराजपुर-13, उमरिया-16, मंडला-10, अशोकनगर-17, पन्ना-04, डिंडौरी-01, बुरहानपुर-27, निवाड़ी-02 और आगरमालवा-10 व्यक्ति शामिल है।बुलेटिन में राहत की खबर यह है कि राज्य में अब तक 2,31,533 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 947 मरीज रविवार को स्वस्थ हुए। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 8,852 हैं।

Kolar News

Kolar News 3 January 2021

मंदसौर। जिले में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अधिकारी-कर्मचारी भी कोरोना से सुरक्षित नहीं हैं। जिले के सुवासरा सुवासरा थाना प्रभारी आर सी गौड़ का रविवार को कोरोना के चलते निधन हो गया।   जानकारी के अनुसार सुवासरा थाना प्रभारी आरसी गौड़ विगत दिनों कोरोना संक्रिमत पाये गए। इसके बाद उन्हें उपचार के लिए इंदौर के अरविन्दो अस्पताल में 26 दिसम्बर को भर्ती करवाया गया था, जहां उनकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा था। आज सुबह उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई और उन्होने अंतिम सांस ली। 

Kolar News

Kolar News 3 January 2021

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है, लेकिन यहां मृतकों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 155 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 55,475 और मृतकों की संख्या 884 हो गई है। यहां 44 दिन के बाद लगातार दूसरे दिन कोरोना के नये मरीजों की संख्या 200 से कम आई है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 3675 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 155 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 55,475 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 884 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 51,865 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2726 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और अब यह 300 से नीचे आ गई। यहां 44 दिन के बाद कोरोना के नये मरीजों की संख्या 200 से नीचे पहुंची और एक दिन पहले यहां 183 नये संक्रमित मिले। अब लगातार दूसरे दिन नये मरीजों की संख्या में कमी आई है। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 3 January 2021

नीमच। जिले में कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने वाले व्यक्तियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। शनिवार को जिले में 10 कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक 2669 कोरोना संक्रमित मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं।   प्राप्‍त जानकारी के अनुसार जिले में कोरोना के 119 एक्टिव केस हैं, जिनका उपचार जारी है। साथ ही बिना लक्षण वालों को होम आइसोलेशन भी किया गया है। जिले में 67 हजार से अधिक लोगों के सेम्‍पल लिए जा चुके हैं। कोरोना संक्रमण से निपटने के चार प्रमुख स्तंभ आईडेंटिफिकेशन, आइसोलेशन, टेस्टिंग एवं ट्रीटमेंट पर जिला प्रशासन द्वारा विशेष फोकस किया गया है। नये कोरोना संक्रमित मरीजों को शीघ्र कांटेक्ट ट्रेसिंग कर, उन्हें  संस्थागत क्वारेंटाइन किया जा रहा है। सर्दी, खांसी, बुखार व कोरोना संदिग्ध मरीजों की प्राथमिक स्टेज में ही पहचान की जा रही है तथा उन्हें आइसोलेट कर नियमानुसार टेस्टिंग व ट्रीटमेंट का कार्य गंभीरता से किया जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 2 January 2021

भोपाल। मध्य प्रदेश में नए साल का स्वागत कड़कड़ाती ठंड के साथ हुआ। प्रदेश में इस सप्ताह कुछ इलाकों में बारिश होने की संभावना है। हालांकि हवाओं का रुख मध्य प्रदेश में पहले से ही बदला हुआ है, जिसके चलते प्रदेश के शहरों पर शीतलहर का प्रकोप अब कम हो गया है और इस सप्ताह 1 जनवरी से लेकर 7 जनवरी के बीच लगभग सभी शहरों में तापमान सामान्य के आसपास या सामान्य से ऊपर बना रहेगा और सर्दी के प्रकोप से राहत बनी रहेगी।   राजधानी भोपाल में शनिवार सुबह से आसमान में हल्के बादल छाए हुए हैं, जिससे ठंड से थोड़ी राहत मिली है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि बारिश की गतिविधियां उत्तर पश्चिमी भागों में संभावित हैं। खासतौर पर गुना, ग्वालियर, भिंड, मुरैना, शिवपुरी, अशोक नगर, राजगढ़, आगर मालवा, नीमच, मंदसौर में कुछ स्थानों पर गरज के साथ हल्की बारिश 3 और 4 जनवरी को देखने को मिल सकती है। बारिश के साथ इन भागों में ओलावृष्टि की भी आशंका रहेगी। 5 जनवरी से फिर समूचे राज्य में मौसम शुष्क हो जाएगा। जबकि भोपाल, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, होशंगाबाद, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, मंडला, डिंडोरी, सागर, सतना, पन्ना, रीवा, सिंगरौली, छतरपुर, टीकमगढ़, बेतूल, समेत ज्यादातर जगहों पर मौसम पूरे सप्ताह साफ और शुष्क बना रहेगा।   वहीं साल के पहले दिन नरसिंपुर, खजुराहो, टीकमगढ़, धार, ग्वालियर और दतिया में शीतल दिन रहा। जबलपुर नौगांव, ग्वालियर, उज्जैन और शाजापुर में कोहरा रहा। प्रदेश में सबसे कम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस दतिया और ग्वालियर में दर्ज किया गया।

Kolar News

Kolar News 2 January 2021

उज्जैन। उज्जैन जिले में आजीविका मिशन के तहत कालियादेह में बनाये गये स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा कॉटन पर भैरवगढ़ की छपाई से तैयार किये गये सलवार सूट, पिलो कवर, लुंगी, बेडशीट आदि अमेजन पर बिकने लग गये हैं। इस प्रोडक्ट का कोड अमेजन द्वारा ASIN:B08RMRTR69 और प्रोडक्ट का पार्ट नम्बर UJJAIN AAJEEVIKA रखा गया है। अब अमेजन पर जाकर भैरवगढ़ के प्रोडक्ट खरीदे जा सकते हैं।    जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अंकित अस्थाना ने शुक्रवार को इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि आजीविका मिशन के तहत भैरवगढ़ प्रिंट को लेकर कालियादेह ग्राम में बनाया गया महिलाओं का स्वसहायता समूह अच्छा काम कर रहा है। इस समूह के द्वारा भैरवगढ़ प्रिंट की युनिक बंधेज, बटिक एवं ब्लॉक प्रिंटिंग की जा रही है। स्वसहायता समूह के बनाये कुछ प्रोडक्ट अमेजन पर लाँच किये गये हैं। अमेजन की बिक्री के आधार पर स्वसहायता समूह का उत्पाद और बढ़ाया जायेगा।   स्वसहायता समूह की अध्यक्ष नसीमबी बताती हैं कि वे गुजरात एवं सूरत तथा दक्षिण से रॉ मटेरियल का कपड़ा और रंग खरीदती हैं। स्वसहायता समूह का टर्नओवर 90 हजार से एक लाख रुपये प्रतिवर्ष का है। समूह की महिला सदस्यों ने जानकारी दी कि प्रिंटिंग का यह कार्य पुश्तैनी है।

Kolar News

Kolar News 1 January 2021

भोपाल। शुक्रवार को नववर्ष 2021 की शुरुआत हो गई। नये साल का जश्न मनाने के लिए सूर्य भी निरंतर पृथ्वी के पास आ रहा है। शनिवार दो जनवरी को सूर्य इस नये साल में पृथ्वी के सबसे नजदीक आ जाएगा। इस दौरान पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी घटकर 147,093,163 किलोमीटर रह जाएगी। इसके बाद यह दूरी बढ़ने लगेगी और छह जुलाई को दोनों के बीच की दूरी 152,100,527 किलोमीटर हो जाएगी। साल की सूरज और पृथ्वी के बीच की यह सर्वाधिक दूरी होगी।   भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने शुक्रवार को हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि पृथ्वी अंडाकार पथ पर सूर्य की परिक्रमा करती है, जिससे साल में एक बार यह दूरी सबसे कम, जबकि साल में एक बार यह सबसे अधिक होती है। शनिवार, 02 जनवरी को पृथ्वी, सूर्य के सबसे नजदीक रहेगी। इस दौरान सूर्य और पृथ्वी के बीच फासला घटकर साल का सबसे कम होगा। दोनों के बीच की दूरी 147,093,163 किमी रहेगी, जबकि छह जुलाई को इनके बीच की दूरी बढ़कर सर्वाधिक 152,100,527 किमी हो जाएगी। सारिका ने बताया कि पृथ्वी की कक्षा की विलक्षणता के कारण किसी निश्चित दिनांक एवं समय पर यह पास नहीं आते, बल्कि इनके बीच की दूरी का यह क्रम हर साल थोड़ा बदल जाता है। वर्ष-1246 में 21 दिसम्बर को जब उत्तरभाग में साल का सबसे छोटा दिन होता है, तब पृथ्वी और सूरज इतने पास आए थे। इस साल यह घटना शनिवार को घटने जा रही है। नये साल में पास आये सूरज के बाबजूद पृथ्वी के झुकाव के कारण उत्तरी भाग में पड़ रही ठंड का आनंद ले सकते हैं और पास आये सूरज की गुनगुनी धूप में कोविड गाइड लाइन के साथ नये साल के पहले वीकेंड का लुत्फ उठा सकते हैं।

Kolar News

Kolar News 1 January 2021

भोपाल। शुक्रवार को नववर्ष 2021 की शुरुआत हो गई। नये साल का जश्न मनाने के लिए सूर्य भी निरंतर पृथ्वी के पास आ रहा है। शनिवार दो जनवरी को सूर्य इस नये साल में पृथ्वी के सबसे नजदीक आ जाएगा। इस दौरान पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी घटकर 147,093,163 किलोमीटर रह जाएगी। इसके बाद यह दूरी बढ़ने लगेगी और छह जुलाई को दोनों के बीच की दूरी 152,100,527 किलोमीटर हो जाएगी। साल की सूरज और पृथ्वी के बीच की यह सर्वाधिक दूरी होगी।   भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने शुक्रवार को हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि पृथ्वी अंडाकार पथ पर सूर्य की परिक्रमा करती है, जिससे साल में एक बार यह दूरी सबसे कम, जबकि साल में एक बार यह सबसे अधिक होती है। शनिवार, 02 जनवरी को पृथ्वी, सूर्य के सबसे नजदीक रहेगी। इस दौरान सूर्य और पृथ्वी के बीच फासला घटकर साल का सबसे कम होगा। दोनों के बीच की दूरी 147,093,163 किमी रहेगी, जबकि छह जुलाई को इनके बीच की दूरी बढ़कर सर्वाधिक 152,100,527 किमी हो जाएगी। सारिका ने बताया कि पृथ्वी की कक्षा की विलक्षणता के कारण किसी निश्चित दिनांक एवं समय पर यह पास नहीं आते, बल्कि इनके बीच की दूरी का यह क्रम हर साल थोड़ा बदल जाता है। वर्ष-1246 में 21 दिसम्बर को जब उत्तरभाग में साल का सबसे छोटा दिन होता है, तब पृथ्वी और सूरज इतने पास आए थे। इस साल यह घटना शनिवार को घटने जा रही है। नये साल में पास आये सूरज के बाबजूद पृथ्वी के झुकाव के कारण उत्तरी भाग में पड़ रही ठंड का आनंद ले सकते हैं और पास आये सूरज की गुनगुनी धूप में कोविड गाइड लाइन के साथ नये साल के पहले वीकेंड का लुत्फ उठा सकते हैं।

Kolar News

Kolar News 1 January 2021

नीमच। जिले में कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने वाले व्यक्तियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। गुरूवार को जिले में 8 कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक 2656 कोरोना संक्रमित मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं।    जानकारी के अनुसार जिले में कोरोना के 116 एक्टिव केस हैं। जिनका उपचार जारी है और बिना लक्षण वालों को होम आइसोलेशन भी किया गया है। वहीं, जिले में 66 हजार 600 से अधिक लोगों के सेम्‍पल लिए जा चुके हैं। कोरोना संक्रमण से निपटने के चार प्रमुख स्तंभ आईडेंटिफिकेशन,आइसोलेशन, टेस्टिंग एवं ट्रीटमेंट पर जिला प्रशासन द्वारा विशेष फोकस किया गया है। नये कोरोना संक्रमित मरीजों को शीघ्र कांटेक्ट ट्रेसिंग कर, उन्हें संस्थागत क्वारेंटाइन किया जा रहा है। सर्दी, खांसी, बुखार  व कोरोना  संदिग्ध  मरीजों की प्राथमिक स्टेज में ही पहचान की जा रही है तथा उन्हें आइसोलेट कर नियमानुसार टेस्टिंग व ट्रीटमेंट का कार्य गंभीरता से किया जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 31 December 2020

भोपाल। नए साल के स्वागत के लिए प्रदेश पूरी तरह से तैयार है। एक ओर जहां कई लोग देर रात पार्टी कर अंग्रेजी नव वर्ष का स्वागत करेंगे तो वहीं एक तबका ऐसा भी होता है जो नए साल की शुरूआत भगवान का आर्शीवाद लेकर और परिवार के साथ पर्यटन स्थलों पर पहुंचकर करते हैं। यही वजह है कि नववर्ष के आगमन पर प्रदेश भर के मंदिरों और पर्यटन स्थलों ने स्वयं को सजाधजाकर तैयार कर लिया है।   कोरोना संक्रमण के चलते इस बार नए साल पर पार्टी और हुड़दंग करने वालों पर सरकार ने सख्ती बरतने की पूरी तैयारी कर ली है। लेकिन मंदिर और पर्यटन स्थल पूरी तरह से तैयार है। नए साल के स्वागत के लिए राजधानी के बिरला मंदिर, भोजपुर मंदिर और कालीघाट मंदिर पहुंचने वाले लोगों के लिए पूरी व्यवस्था कर ली गई है। वहीं बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में भी नए साल पर बड़ी संख्या में भक्त राजाधिराज महाकाल के दर्शन करने पहुंचेंगे। इस वर्ष 35 हजार से अधिक भक्त भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे, वहीं ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर में भी दर्शन की विशेष व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा इंदौर के खजराना गणेश मंदिर में 31 दिसंबर और एक जनवरी को वन-वे दर्शन व्यवस्था रहेगी। प्रवेश काली मंदिर की तरफ से होगा जबकि निकासी गणेशपुरी मार्ग से रहेगी। मंदिर में 31 दिसंबर की रात 12 बजे महाआरती होगी। शहर के रणजीत हनुमान मंदिर में एक जनवरी को नए साल पर मंदिर परिसर में स्थित सभी देवी देवताओं को नूतन वस्त्र पहनाए जाएंगे। दर्शन व्यवस्था सुचारू रखने के लिए बेरिकेट्स लगाए गए हैं इसके अलावा अतिरिक्त गार्डों की नियुक्ति की जाएगी।   पर्यटन नगरी में भी बढ़ी चहल पहलप्रदेश की पर्यटन नगरियों में भी चहल पहल बढ़ गई है। नए साल का स्वागत करने के लिए लोग पहले से ही पचमड़ी, मांडू, खजुराहो और हनुमंतिया जैसे  पर्यटन स्थलों पर पहुंच गए है। यहां लोगों की अच्छी खासी भीड़ जमा हो गई है। धार जिले की पर्यटन नगरी मांडू में विशेष तैयारियों में कैंप फायर और साउंड डीजे का आयोजन की व्यवस्था की गई है। पचमड़ी में भी पर्यटकोंं का जमावड़ा लग गया है। खंडवा जिले में हनुवंतिया में बड़े स्तर पर कोई कार्यक्रम नहीं है। 31 दिसंबर की रात टेंट सिटी में म्यूजिक नाइट व डिनर पार्टी इन हाउस पर्यटकों के लिए है,जबकि कला का केंद्र कहे जाने वाले खजुराहो में भी सभी पर्यटन स्‍थल नए साल के स्‍वागत में सजधज कर तैयार हो गए हैं। लंबे समय से आस लगाए व्‍यापारियों को उम्‍मीद है कि नए साल में उनकी अच्‍छी कमाई हो सकती है। यहां के सभी होटल पहले से ही बुक हो चुके हैं। खजुराहो की कला देखने देश-विदेश के पर्यटक पहुंच चुके हैं। 

Kolar News

Kolar News 31 December 2020

भोपाल। पहाड़ों में बर्फबारी के चलते पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। जिसका असर मप्र में भी देखने को मिल रहा है। नए साल का स्वागत कड़ाके की ठंड के साथ होगा। वहीं, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र पर बने चक्रवात के कारण हवाओं का रुख बदलने लगा है। इस वजह से पश्चिमी मध्य प्रदेश में बादल छाने लगे हैं। जिसके चलते न्यूनतम तापमान में तो बढ़ोतरी हुई, लेकिन दिन के तापमान में गिरावट हुई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक दो दिन बाद एकबार फिर मौसम का मिजाज बिगड़ सकता है। दो जनवरी से बादल छाने लगेंगे। साथ ही गरज-चमक के साथ प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। इस दौरान कहीं-कहीं ओले भी गिर सकते हैं।   पूरे प्रदेश में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। बुधवार से राजधानी भोपाल के आसमान में आंशिक बादल छाए हुए हैं। गुुरुवार की सुबह भी ठिठुरन के साथ हुई। यहां मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में सुबह-सुबह खेतों में फसलों पर बर्फ ही बर्फ जमी हुई दिखाई दे रही है। मंदसौर में पाला पड़ रहा है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी जीडी मिश्रा ने बताया कि वर्तमान में एक प्रेरित चक्रवात छत्तसीगढ़ और उसके आसपास बना हुआ है। इसके अतिरिक्त उत्तरी-मध्य महाराष्ट्र पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन दो सिस्टम के कारण हवा का रुख बदलने लगा है।   पश्चिमी मप्र में पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी हवा चलने से नमी आने लगी है। इस वजह से न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। उधर बादल और कुहासा बना रहने के कारण दिन के तापमान में गिरावट हुई। इससे दिन में ठिठुरन महसूस हो रही है। छत्तीसगढ़ पर बने सिस्टम के कारण अपेक्षाकृत नमी नहीं मिल पाने के कारण फिलहाल बरसात की संभावना नहीं है, लेकिन दो दिन बाद प्रदेश में पूर्वी और पश्चिमी हवाओं का सम्मिलन होने की संभावना है। इस सिस्टम के कारण मौसम का मिजाज एकबार फिर बिगड़ने लगेगा। इसके असर से ग्वालियर, चंबल, सागर, भोपाल और उज्जैन संभाग में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ रुक-रुक बरसात होने का दौर शुरू हो सकता है। इस दौरान कहीं-कहीं ओले भी गिर सकते हैं। मौसम का इस तरह का मिजाज दो-तीन दिनों तक बना रह सकता है।   इधर बुधवार को भोपाल, इंदौर, धार, उज्जैन, राजगढ़, खजुराहो, सागर, दमोह, गुना, नौगांव, खंडवा, रतलाम, शाजापुर शीतल दिन दर्ज किया गया। इनमें से भोपाल, इंदौर, धार, उज्जैन, राजगढ़ में तीव्र शीतल दिन रहा। उधर धार, ग्वालियर, दतिया में शीतलहर चली।

Kolar News

Kolar News 31 December 2020

भोपाल। भोपाल रेल मंडल के मंडीदीप-बरखेड़ा रेलखंड में तीसरी रेल लाइन का ट्रायल बुधवार सुबह करीब 10 बजे शुरू हो गया। यह ट्रायल रेल संरक्षा आयुक्त की उपस्थिति में किया जा रहा है। गौरतलब है कि मंगलवार को भोपाल मंडल के ही गुना-पीलीघटा रेलखंड में दूसरी रेल लाइन का ट्रायल किया गया था, जो सफल रहा था।    रेल मंडल भोपाल में मंडीदीप से बरखेड़ा के बीच तीसरी रेल लाइन पर आज सुबह 10 बजे ट्रेन गुजारने का ट्रायल शुरू हुआ। यह रेलखंड 30 किलोमीटर लंबा है। इस पर तीसरी रेल लाइन बनकर तैयार है। इसके लिए मुंबई से रेल संरक्षा आयुक्त ए.के. जैन भी भोपाल आए हुए हैं। संभावना है कि ट्रायल के बाद शाम तक ट्रेनों को तीसरी लाइन पर चलाने की अनुमति मिल जाएगी। डीआरएम उदय बोरवणकर ने कहा कि रेलवे तेजी से रेल लाइनों के दोहरीकरण व तीसरी रेल लाइन का काम कर रहा है। मंडीदीप-बरखेड़ा रेलखंड पर अगर यह ट्रायल सफल रहता है, तो रेलवे हबीबगंज से बरखेड़ा तक 41.42 कि.मी. लंबी तीसरी रेल लाइन पर रेल यातायात शुरू कर देगा। ट्रायल के लिए बड़ी संख्या में रेल कर्मचारी मौजूद हैं और रेल संरक्षा आयुक्त के साथ मंडल के सभी वरिष्ठ अधिकारी ट्रायल की निगरानी कर रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 30 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में एक सप्ताह से लगातार कमी देखने को मिल रही है, लेकिन यहां मृतकों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 223 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की कोरोना से मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 54,684 और मृतकों की संख्या 871 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 4511 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 223 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 54,684 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 871 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 50,858 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2955 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और अब यह 300 से नीचे आ गई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 30 December 2020

उज्जैन। नए साल पर भगवान महाकाल के दर्शन करने आने वाले भक्तों को दूर से ही दर्शन करना पड़ेगा। मंदिर प्रबंध समिति ने 30 दिसंबर से 02 जनवरी तक महाकाल मंदिर के नंदी हॉल और गर्भगृह में श्रद्धालुओं को प्रवेश पर रोक लगा दी है। नए साल पर श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। इसके अलावा वीआईपी दर्शन के लिए आने वाले प्रमुख व्यक्तियों को जिला प्रोटोकॉल से दर्शन की अनुमति लेना अनिवार्य किया गया है।   नए साल पर बढ़ी संख्या में देश-विदेश से श्रद्धालु बाबा महाकाल का आशीर्वाद लेने मंदिर पहुंचते हैं। लेकिन इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते दर्शन नियमों और गाइडलाइन में परिवर्तन किया गया है। पिछले वर्ष यहां साल के अखिरी दिन और नववर्ष पर 50 हजार से अधिक भक्त दर्शन करते आए थे।   इस वर्ष भी भीड़ और महामारी को देखते हुए मंदिर समिति प्रबंधन ने 30 दिसंबर से 2 जनवरी तक महाकाल मंदिर के नंदी हॉल और गर्भगृह में श्रद्धालुओं को प्रवेश पर रोक लगा दी है। इस दौरान नंदी हॉल के पीछे बैरिकेडिंग से चलायमान दर्शन व्यवस्था रहेगी, वीवीआईपी श्रद्धालु भी गणेश मंडप के प्रथम बैरिकेड्स से भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे। हालांकि बाबा महाकाल के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा का ध्यान रखते हुए मंदिर में भगवान के दर्शन करने का समय 45 मिनट बढ़ाया गया है।   कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए समिति के सदस्यों ने निर्णय लिया है कि अब रात नौ बजे के बजाय रात पौने दस बजे तक महाकाल के दर्शन होंगे। इसके अलावा भस्मारती के साथ ही शयन आरती दर्शन पर अब भी रोक बरकरार रखी गई है। किसी भी श्रद्धालु को इन दो आरतीयों के दर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। अधिकारियों ने प्रोटोकॉल व्यवस्था को भी यथावत रखा है।

Kolar News

Kolar News 30 December 2020

देवास। मध्यप्रदेश के देवास जिले में जहां लगातार कोरोना के नये मामले सामने आ रहे हैं तो वहीं पुराने मरीज स्वस्थ हो रहे हैं और अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में अब जिले में कोरोना के 10 नये मरीज सामने आए हैं, जबकि 09 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंचे हैं।   देवास के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि सोमवार को जिले में 405 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 10 नये लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि 395 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, 09 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर अपने घर पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि जिले में अब तक कुल 2725 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें से अभी तक 2627 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज 72 है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, जिले में अभी तक कोरोना से 26 लोगों की मृत्यु हुई है। जिले में अब तक का कोविड-19 रिकवरी रेट 96.40 प्रतिशत तथा मोर्टीलिटी (मृत्युदर) 0.95 प्रतिशत है।

Kolar News

Kolar News 28 December 2020

सागर। सतना और अनूपपुर जिले में पिछले दिनों नायब तहसीलदार पर हुए हमले के विरोध में सोमवार को जिले भर के राजस्व अधिकारी हड़ताल पर रहे। इसके कारण जिले भर के राजस्व न्यायालयों में करीब 5 हजार मामलों की सुनवाई नहीं हो सकी।    सोमवार दोपहर डेढ़ बजे उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर दीपक सिंह को ज्ञापन सौपकर सुरक्षा की मांग की है। ज्ञापन में बताया गया कि सतना जिले में उचेहरा के नायब तहसीदार शैलेंद्र बिहारी शर्मा पर हमला करने वाले आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए।    अनूपपुर के अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार व कर्मचारियों के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले अभिभाषक रामेश गुप्ता पर मामला दर्ज कर बार काउंसिल जबलपुर से उनका रजिस्ट्रेशन निरस्त किया जाए। घटना के कई दिन बीत जाने के बाद भी शासन, प्रशासन द्वारा आरोपियों पर अब तक कोई संतोष जनक कार्रवाई नहीं की गई है। जिसके विरोध में प्रदेश भर के तहसीलदार और नायब तहसीलदारों ने सोमवार से काम के बहिष्कार का निर्णय लिया है।    राजस्व न्यायालयों में नहीं हुआ काम:- जिले के करीब 30 राजस्व न्यायालय में हड़ताल के कारण काम नहीं हुआ। अचानक हड़ताल के कारण पेशी पर आए पक्षकारों को अगली पेशी लेकर वापस लौटना पड़ा। अकेले सोमवार को ही जिले भर के राजस्व न्यायालयों में करीब 5 हजार मामलों की तारीख लगी हुई थी, जिसे आगे बढ़ा दिया गया, हालांकि केसली तहसील से जिला मुख्यालय में किसान स्वनिधि योजना के काम के लिए आए एक दिव्यांग युवक का काम केसली तहसीलदार ने मौके पर किया।   शस्त्र लाइसेंस तक नहीं देता शासन:- नायब तहसीदार अजेंद्र नाथ प्रजापति ने हिस से चर्चा करते हुए बताया कि शासन द्वारा माफियाओं के खिलाफ हो रही कार्रवाई में सबसे पहले तहसीदार और नायब तहसीलदार को आगे किया जाता है, लेकिन उनकी सुरक्षा की कोई भी चिंता शासन को नहीं है। सुरक्षा के लिए शस्त्र लाइसेंस मांगों तो प्रशासन जांच बैठा देता है। बगैर सुरक्षा के तहसीलदार, नायब तहसीलदार आखिर कैसे काम कर सकता है।

Kolar News

Kolar News 28 December 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश मेें एकबार फिर जबरदस्त ठंड शुरू होने वाली हे। वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में सक्रिय है। उसके प्रभाव से जम्मू-कश्मीर सहित उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में जबरदस्त बर्फबारी हो रही है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। इस वजह से मध्य प्रदेश में वर्तमान में हवा का रुख दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है। सोमवार को पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद मंगलवार से हवा का रुख उत्तरी होने लगेगा। इससे न्यूनतम तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होने लगेगा।   राजधानी भोपाल में अभी दिन और रात के तापमान में गिरावट नहीं हो रही है। ठंड से मामूली राहत के बाद अब एकबार फिर शीतलहर शुरू होने वाली है। ठंड का यह दौर नए साल के शुरुआती सप्ताह तक बना रहेगा। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और उससे लगे जम्मू-कश्मीर पर बना हुआ है। उसके प्रभाव से जबर्दस्त बर्फबारी हो रही है, लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के असर से राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया है। इस वजह से हवा का रुख उत्तरी, उत्तर-पूर्वी से बदलकर रविवार को दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी हो गया है। इसके चलते मप्र में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट नहीं हो रही है। पश्चिमी विक्षोभ के सोमवार को उत्तर भारत से आगे बढ़ने की संभावना है।   मौसम विभाग के अनुसार इससे राजस्थान पर बना प्रेरित चक्रवात भी समाप्त हो जाएगा। इससे हवा का रुख बदलकर फिर उत्तरी होने लगेगा। इससे उत्तर भारत की तरफ से आने वाली सर्द हवाओं के कारण दिन और रात के तापमान में तेजी से गिरावट होने लगेगी। मंगलवार को ग्वालियर, चंबल और सागर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं शीतलहर भी चल सकती है। ठंड के तीखे तेवर तीन जनवरी तक बने रहने की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 28 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में एक सप्ताह से लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 286 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो मरीजों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,910 और मृतकों की संख्या 859 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 4351 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 286 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,910 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 859 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 49,651 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3400 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और अब यह 300 से नीचे आ गई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 27 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में एक सप्ताह से लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 286 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो मरीजों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,910 और मृतकों की संख्या 859 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 4351 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 286 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,910 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 859 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 49,651 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3400 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और अब यह 300 से नीचे आ गई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।

Kolar News

Kolar News 27 December 2020

मंदसौर। कक्षा एक से 8वीं तक के स्कूल भले की 31 मार्च तक के लिए बंद हों लेकिन स्कूलों में दर्ज बच्चों का वार्षिक मूल्यांकन जरूर होगा। इसके लिए छात्रों को घर पर ही वर्कशीट दी जाएगी। 20 से 30 जनवरी 2021 के बीच पहले अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन होगा। इसके बाद फरवरी व मार्च में वार्षिक मूल्यांकन। स्कूल अपने यहां दर्ज बच्चों के घरों तक वर्कशीट पहुंचाएंगे। बच्चों को 10 से 15 दिन वर्कशीट को पूरा करने का समय मिलेगा। बच्चे इसे पूरा करने में अपने परिजन की सहायता ले सकेंगे। इसके बाद अर्धवार्षिक व वार्षिक मूल्यांकन के नंबरों के आधार पर बच्चों का वार्षिक मूल्यांकन कर उन्हें अगली कक्षाओं में पदोन्नत किया जाएगा।   राज्य शिक्षा केंद्र के आयुक्त लोकेशकुमार जाटव द्वारा जारी कैलेंडर के अनुसार, कक्षा 1 व 2वीं के छात्रों को स्कूल द्वारा उपलब्ध कराई गई अभ्यास पुस्तिका के अंत में संलग्न रहने वाली वर्कशीट को भरना होगा। पहले बच्चों का अर्धवार्षिक मूल्यांकन किया जाएगा। बच्चों से 20 से 30 जनवरी के बीच वर्कशीट भरवाई जाएगी। इसके बाद वार्षिक मूल्यांकन के लिए 15 से 28 फरवरी तक तथा 10 से 20 मार्च के बीच दूसरी वर्कशीट भरवाई जाएगी। अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन की वर्कशीट 20 अंकों की होगी। जबकि वार्षिक मूल्यांकन की शीट 50 अंक प्रति विषय के हिसाब से रहेगी।   ऐसे होगी परीक्षा और मूल्यांकन पहली-दूसरी के बच्चों को शालाओं से अभ्यास पुस्तिका दी जाएगी। इसके आखिरी में वर्कशीट होगी। इसमें हिंदी, अंग्रेजी, गणित विषय के प्रश्न होंगे। तीसरी से आठवीं के बच्चों की वर्कशीट में कौशल आधारित प्रश्न व प्रोजेक्ट होंगे। शीट में ही प्रश्नों के साथ उत्तर व प्रोजेक्ट वर्क के लिए जगह रहेगी। तीसरी से आठवीं तक की वर्कशीट में 60 प्रतिशत लिखित और 40 प्रतिशत नंबर प्रोजेक्ट के आधार पर दिए जाएंगे। प्रोजेक्ट घर में उपलब्ध रोजमर्रा की सामग्री के आधार पर घर के सदस्यों से पूछकर तैयार किए जा सकेंगे। छात्रों से मॉडल नहीं बनवाएं जाएंगे। -विद्यार्थियों को अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन 20 से 30 जनवरी के बीच व वार्षिक मूल्यांकन 15 से 20 फरवरी, 10 से 20 मार्च के बीच किया जाएगा। परीक्षा परिणाम अर्द्धवार्षिक एवं वार्षिक में प्राप्त अंकों के आधार पर होगा। हमारा घर-हमारा विद्यालय के तहत शिक्षक छात्रों के सह-शैक्षिक एवं व्यक्तिगत सामाजिक गुणों का मूल्यांकन कर ग्रेड तय करेंगे।

Kolar News

Kolar News 26 December 2020

इंदौर। ब्रिटेन समेत यूनाइटेड किंगडम (यूके) के देशों से हवाई यात्रा कर इंदौर पहुंचने वाले 121 लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा अभी तक चिन्हित कर लिया गया और उनके कोरोना जांच के लिए सेम्पल लिये गये हैं। इनमें से बीती रात 30 रोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिनमें से एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। फिलहाल, उसका उपचार जारी है और अन्य लोगों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा निगरानी की जा रही है।    सीएमएचओ कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, इंदौर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट प्रबंधन से यूके के देशों से आने वाले यात्रियों की सूची मांगी गई थी। बीते 22 और 23 दिसम्बर को आप्रवासन (इमिग्रेशन) विभाग द्वारा दो सूचियां स्वास्थ्य विभाग को सौंपी गई, जिनमें 121 यात्रियों को चिन्हित कर लिया गया। सभी के सेम्पल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया है और अब तक 30 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिनमें से एक 29 वर्षीय युवक संक्रमित पाया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने अन्य लोगों की रिपोर्ट भी जल्द मिलने की संभावना जताई है। सभी चिन्हित लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है और चिकित्सा विभाग उनकी निगरानी कर रहा है।

Kolar News

Kolar News 26 December 2020

इंदौर। ब्रिटेन समेत यूनाइटेड किंगडम (यूके) के देशों से हवाई यात्रा कर इंदौर पहुंचने वाले 121 लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा अभी तक चिन्हित कर लिया गया और उनके कोरोना जांच के लिए सेम्पल लिये गये हैं। इनमें से बीती रात 30 रोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिनमें से एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। फिलहाल, उसका उपचार जारी है और अन्य लोगों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा निगरानी की जा रही है।    सीएमएचओ कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, इंदौर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट प्रबंधन से यूके के देशों से आने वाले यात्रियों की सूची मांगी गई थी। बीते 22 और 23 दिसम्बर को आप्रवासन (इमिग्रेशन) विभाग द्वारा दो सूचियां स्वास्थ्य विभाग को सौंपी गई, जिनमें 121 यात्रियों को चिन्हित कर लिया गया। सभी के सेम्पल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया है और अब तक 30 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिनमें से एक 29 वर्षीय युवक संक्रमित पाया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने अन्य लोगों की रिपोर्ट भी जल्द मिलने की संभावना जताई है। सभी चिन्हित लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है और चिकित्सा विभाग उनकी निगरानी कर रहा है।

Kolar News

Kolar News 26 December 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड से फिलहाल प्रदेशवासियों को राहत है। राजधानी भोपाल में दिन के समय गुनगुनी लगने वाली धूप हल्की तीखी लग रही है, वहीं शाम के समय ठंड का एहसास हो रहा है, लेकिन हाड़कपाने वाली ठंड से राहत है। मौसम विभाग के अनुसार दो-तीन दिन की मामूली राहत के बाद प्रदेश में ठंड फिर बढ़ने लगेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले सप्ताह मध्य प्रदेश के कई इलाकों में न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहा जिसके चलते शीतलहर का प्रकोप देखने को मिला और पूर्वी भागों में घना कोहरा भी छाया रहा। वहीं अब दो-तीन दिन की मामूली राहत के बाद एक बार फिर प्रदेश में उत्तर भारत में बर्फबारी अब असर दिखाएगी। भोपाल में रात में तापमान 1 से 2 डिग्री तक नीचे आ सकता है, वहीं शहडोल संभाग के छतरपुर, रीवा, पन्ना जिलों में शीतलहर चलने के आसार हैं। सीधी और नरसिंहपुर जिले में कोल्ड-डे हो सकता है। इन जगहों के लिए ठंड का येलो अलर्ट भी जारी किया गया है।   मौसम विभाग के साप्ताहिक मौसम अनुमान के मुताबिक इस सप्ताह मध्य प्रदेश में सभी जगहों पर मौसम मुख्यत: साफ और शुष्क रहेगा। बारिश की संभावना जबलपुर, मंडला, कटनी, बालाघाट, भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रतलाम ग्वालियर, गुना, सागर, सतना, पन्ना समेत राज्य के किसी भी जिले में नहीं है। उत्तरी हिस्सों में 25 से 27 दिसम्बर के बीच हवा की दिशा पश्चिमी रहेगी जिससे इन भागों में न्यूनतम और अधिकतम तापमान सामान्य से नीच रहेंगे और अच्छी सर्दी जारी रहेगी। 28 से पूरे राज्य में हवा की दिशा फिर से बदल जाएगी और तापमान में गिरावट का क्रम रुक जाएगा।

Kolar News

Kolar News 26 December 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में दिसंबर का महिना खूब ठिठुरा रहा है। राजधानी भोपाल मेें सर्दी से हल्की राहत मिली है। मौसम विभाग के अनुसार फिलहाल तापमान में गिरावट जारी रहेगी। साथ ही शीतलहर चलने की भी संभावना है। ऐसे में हाड़ कंपा देने वाली सर्दी से फिलहाल राहत की संभावना नहीं दिखाई दे रही है। वहीं साल खत्म होने से पहले एक बार फिर प्रदेश को भीगा कर जाने की तैयारी में है।    मौसम विभाग के अनुसार एक बार फिर मौसम का मिजाज बिगडऩे के आसार दिख रहे हैं। इसका कारण उत्तर भारत में पश्चिम विमोक्ष का सक्रिय होना है। एक और पश्चिमी विक्षोभ के 26 दिसंबर को उत्तर भारत में दाखिल होने की संभावना है। उसके प्रभाव से उत्तर भारत के पहाड़ों पर जबरदस्त बर्फबारी होने की संभावना है। इस सिस्टम के असर से हवा का रुख बदलेगा। इससे मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में बरसात होने की भी संभावना भी है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत और आसपास सक्रिय है। उसके प्रभाव से हवा का रुख उत्तरी और उत्तर-पूर्वी हो रहा है। इस वजह से दिन और रात के तापमान में इजाफा हो रहा है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के 26 दिसंबर को उत्तर भारत पहुंचने की संभावना है। इससे उत्तर भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी होने लगेगी। साथ ही सिस्टम के प्रभाव से प्रति चक्रवात अथवा प्रेरित चक्रवात बन सकता है। इससे हवा का रुख बदलकर दक्षिण-पूर्वी भी हो सकता है। नमी आने के कारण बादल छाने लगेंगे। इस दौरान मध्य प्रदेश में भी बरसात होने की संभावना है। इस सिस्टम के 28 दिसंबर को आगे बढऩे के साथ ही हवा का रुख उत्तरी होने लगेगा। इसके बाद 29 दिसंबर से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट होने लगेगी। इससे ठंड बढऩे लगेगी। 31 दिसबंर तक प्रदेश में कई स्थानों पर शीतलहर भी चल सकती है। इसके अलावा पाला पडऩे की भी आशंका बढ़ जाएगी।

Kolar News

Kolar News 24 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 351 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,011 और मृतकों की संख्या 851 हो गई है। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात करीब साढ़ चार हजार सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 351 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,011 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 851 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 48,235 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3925 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। 

Kolar News

Kolar News 24 December 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग ने स्कूलों का शिक्षण सत्र 2020-21 के लिए घोषित 26 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक का शीतकालीन अवकाश निरस्त कर दिया है। इस संबंध में बुधवार शाम को आदेश जारी कर दिये गये हैं।जनसम्पर्क अधिकारी अनुराग उइके ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा यह निर्णय बोर्ड एवं स्थानीय परीक्षा की तैयारी के लिए विद्यार्थियों का शिक्षकों से सीधे संवाद के लिए पर्याप्त समय उपलब्ध कराने के लिए लिया गया है। कोविड-19 संक्रमण के कारण मार्च 2020 से नियमित कक्षाओं का संचालन नहीं हो रहा था।

Kolar News

Kolar News 23 December 2020

उज्जैन। महाकाल मंदिर के विस्तारीकरण के लिए चल रही खुदाई में मिले पुरातन अवशेषों की जांच के लिए बुधवार को केंद्रीय दल पहुंचा। दल के सदस्यों ने इस अवशेषों का अवलोकन किया। उन्होंने इन अवशेषों के एक हजार साल पुराने मंदिर के अवशेष होने की संभावना जताई है।   केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल के निर्देश पर बुधवार को पुरातत्व विभाग की केंद्रीय टीम के सदस्य महाकाल मंदिर के नीचे मिले पुरावशेषों के अवलोकन के लिए पहुंचे। इस दल में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण मंडल भोपाल के अधीक्षण पुरात्तवविद डॉ. पीयूष भट्ट व खजुराहो पुरातत्व संग्रहालय के प्रभारी केके वर्मा शामिल थे। प्रारंभिक निरीक्षण के बाद टीम के सदस्यों ने बताया कि प्राचीन अवशेष की बनावट और नक्काशी दसवीं और ग्यारहवीं शताब्दी के मंदिरों की तरह है। उम्मीद जताई जा रही है कि खुदाई से उज्जैन और महाकाल से जुड़ा नया इतिहास पता चलेगा। अभी विशेषज्ञों की टीम मंदिर परिसर में हर चीज का बारीकी से जायजा ले रही है। कोशिश की जा रही है कि किसी भी पुरातात्विक महत्व की धरोहर को नुकसान न पहुंचे। डॉ. भट्‌ट ने बताया, फिलहाल नहीं कह सकते कि यह प्राचीन दीवार और मंदिर का विस्तार कहां तक है।   हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे

Kolar News

Kolar News 23 December 2020

ग्वालियर। पिछले कई दिनों से ग्‍वालियर अंचल में चल रही शीतलहर से लोगों को आराम मिला है। जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो होने के बाद मौसम में फिर परिवर्तन दिखाई देने लगा है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण शहर में सुबह हल्के बादल छाए रहे हैं, लेकिन इन बादलो के कारण लोगों को सर्दी से राहत नहीं मिली, हालांकि धूप निकलने के बाद दिन में ठंड से कुछ राहत जरूर मिली।    शहर में शीत लहर चलने से दो दिनों तक रात को हाड़ कंपाने वाली ठंड का सामना करना पड़ा था। रात में ठंड की चुभन काफी अधिक बढ़ गई थी। ठंड के कारण लोगों का बुरा हाल था, रात आठ बजे ही सडक़ें सूनसान हो रही थी। जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हुए है, जिससे अब लोगों को ठंड से राहत मिली है। क्योंकि इससे पिछले दो दिन में मौसम का मिजाज फिर बदल गया है। धीरे-धीरे मौसम में बदलाव आ रहा है। अब राजस्थान में चक्रवातीय घेरा विकसित होगा।  इस चक्रवातीय घेरे की जह से अंचल में बादल छा जाएंगे।    बादलों की वजह से रात के तापमान में बढ़ोतरी होगी, जबकि दिन के तापमान में गिरावट आएगी। पश्चिमी विक्षोभ के गुजर जाने के बाद हवा में नमी बढ़ जाएगी। यह नमी कोहरे में बदलेगी। अब 26 दिसंबर के बाद कोहरे के साथ कड़ाके की ठंड दस्तक देगी। इस बार कंपाने वाली ठंड ज्यादा समय तक रहेगी। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में मौसम में बदलाव के आसार जताए हैं। दिन का तापमान स्थिर रहने के आसार है। जबकि न्यूनतम तापमान 7 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 23 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 347 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 52,296 और मृतकों की संख्या 844 हो गई है। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात करीब साढ़ चार हजार सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 347 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,296 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 844 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 47,359 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4093 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। 

Kolar News

Kolar News 22 December 2020

सीहोर। जिले के आष्टा थाना क्षेत्र के ग्राम आनंदीपुरा में रविवार शाम को एक ही परिवार को चार लोगों ने जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने तत्काल उन्हें अस्पताल पहुंचाया, जहां से गंभीर हालत में भोपाल रैफर कर दिया गया। ग्रामीणों की सूचना पर आष्टा पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की।   आष्टा थाना पुलिस के अनुसार, ग्राम आनंदीपुरा निवासी 38 वर्षीय अकेसिंह ने अपनी पत्नी हेम कुंवर और जुड़वा बच्चों अजय और विजय के साथ रविवार शाम को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। चारों को ग्रामीणों की मदद से आष्टा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में सीहोर के जिला अस्पताल रैफर कर दिया। देर रात उनकी हालत बिगडऩे पर चारों को भोपाल रैफर कर दिया गया। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है। अभी यह पता नहीं चल पाया है कि परिवार ने यह कदम क्यों उठाया। जानकारी मिली है कि परिवार पर कर्ज था, जिसके चलते अकेसिंह परेशान रहता था। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच जारी है। जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

Kolar News

Kolar News 21 December 2020

राजगढ़। भोपाल लोकायुक्त टीम ने सोमवार को मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ब्यावरा के राजगढ़ बाइपास चौराहा स्थित कार्यालय पर कार्रवाई करते हुए एजीएम रितेश श्रीवास्तव को ठेकेदार से दस हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया है।    जानकारी के अनुसार ओटीवाय योजना के तहत खेतों पर लगाए जाने वाले ट्रांसफार्मर की पैडिंग फाइलों को एप्रूव करने के लिए ठेकेदार सुरेन्द्र गुर्जर से 25 हजार की राशि रिश्वत के रुप में देना तय हुई थी, जिस पर ठेकेदार द्वारा 18 दिसम्बर को पहली किश्त के रुप में एजीएम रितेश श्रीवास्तव को 15 हजार की राशि दी गई। मामले में 17 दिसम्बर को ठेकेदार सुरेन्द्र गुर्जर ने एसपी लोकायुक्त भोपाल से मामले में शिकायत की। ठेकेदार द्वारा दूसरी किश्त के रुप में दस हजार देने के दौरान लोकायुक्त की टीम ने एजीएम रितेश श्रीवास्तव को रंगेहाथ पकड़ा। कार्रवाई के दौरान लोकायुक्त निरीक्षक व्हीके.सिंह, मुकेश तिवारी, डाॅ सलिल शर्मा सहित अन्य मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News 21 December 2020

भोपाल। राज्य के कई जिलों में शीतलहर का कहर देखने को मिल रहा है। रीवा, उमरिया, जबलपुर जिलों में खासतौर पर शीतलहर चल रही है। जिसके लिए मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है।   मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 24 घंटे में शहडोल संभाग के जिलों और रीवा, पन्ना, छतरपुर में शीतलहर चलेगी। वहीं सीधी और नरसिंहपुर जिले में ठण्ड बरकरार रहेगी। यहां भी येलो अलर्ट जारी किया गया है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख पर एक पश्चिमी विक्षोभ ऊपरी हवा के चक्रवात के रूप में है। उसके प्रभाव से हवा का रुख उत्तर-पूर्वी हो रहा है। इससे ऊंचाई पर बादल आने का सिलसिला शुरू हो गया है। इससे दिन के तापमान पर विशेष असर नहीं होगा, लेकिन रात के तापमान में सोमवार से कुछ बढ़ोतरी होने लगेगी। इससे ठंड से मामूली राहत मिलने की उम्मीद है। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के साथ ही तापमान में फिर गिरावट का दौर शुरू हो जाएगा।   22 दिसंबर से मिल सकती है ठण्ड से राहतमौसम विभाग के अनुसार कड़ाके की सर्दी से लोगों को राहत मिल सकती है। एक पश्चिमी विक्षोभ रविवार को उत्तर भारत में दाखिल हो सकता है। उसके प्रभाव से विदर्भ में एक प्रति-चक्रवात बनने के संकेत मिले हैं। इस सिस्टम के कारण 22 दिसंबर से हवाओं का रुख बदलने के संकेत हैं। हवा का रुख पूर्वी और उत्तर-पूर्वी होने लगेगा। इसके बाद न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे इजाफा होने लगेगा। इससे ठंड से कुछ राहत मिलने लगेगी।

Kolar News

Kolar News 21 December 2020

सिवनी। जिले के दक्षिण सामान्य वनमंडल के परिक्षेत्र पिंडरई बुट्टे में शुक्रवार दोपहर को एक नर बाघ का शव मिला था। इस प्रकरण में वन विभाग ने 22 वर्षीय युवक को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 02 बंडल जीआई तार बरामद किया है।    मुख्य वनसंरक्षक वन वृत सिवनी आरएस कोरी ने शनिवार को हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि दक्षिण सामान्य वनमंडल सिवनी के अंतर्गत वन परिक्षेत्र खवासा (सा.) की बीट पिंडरई बुट्टे के वन कक्ष क्रमांक पी. एफ. 257 में शुक्रवार को एक नर बाघ का शव बरामद हुआ था। उसके सभी अंग मौजूद थे लेकिन बाघ के मुंह के पास विद्युत करंट के कारण घाव पाया गया। अपराधी की खोज के लिए पेंच राष्ट्रीय उद्यान सिवनी के डॉग स्क्वाइड की सहायता ली गई। डॉग ने घटना स्थल से लगभग 1.5 कि.मी. दूरी पर खेत में बनी झोपड़ी से 02 बंडल जीआईतार को खोज निकाला।   बताया गया कि जांच के दौरान डाॅग स्क्वाइड व वन विभाग की टीम को खेत की सीमा पर लकड़ी के खूंटे एवं जीआई तार लगा पाया। खेत की झोपड़ी में मिथलेश (22)पुत्र देवराम भलावी, निवासी सावरीरीठ, तहसील कुरई, जिला सिवनी को गिरफ्तार कर पूछताछ की, जिसमें उसने फसल सुरक्षा के लिए तार लगाने की बात स्वीकार की। जिस पर वन विभाग ने मिथलेश को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है। वन विभाग द्वारा वन अपराध प्रकरण क्रमांक 47073/04 पंजीबद्ध कर  विवेचना में लिया है। 

Kolar News

Kolar News 19 December 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में ठंड ने जोर पकड़ लिया है। पिछले सप्ताह हुई बारिश के बाद अब मौसम पूरी तरह से शुष्क हो गया है। आसमान साफ होने से सर्दी का प्रकोप बढ़ गया है। ग्वालियर और चंबल संभाग शीतलहर की चपेट में आ गए हैं। राजधानी भोपाल में भी ठंडी हवा चलने से ठिठुरन का अहसास हो रहा है।    मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत के पहाड़ बर्फबारी से पट गए हैं। वहां से मैदानी इलाकों की तरफ आ रही बर्फीली हवाओं से मध्य प्रदेश ठिठुरने लगा है। न्यूनतम तापमान तीन डिग्री पर आ चुका है। अभी ठंड के तीखे तेवरों से राहत की उम्मीद भी नहीं दिख रही है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि मध्य प्रदेश में भी न्यूनतम तापमान में गिरावट शुरू हो गई है। न्यूनतम तथा अधिकतम तापमान दो से 5 डिग्री तक गिर चुका है। प्रदेश के 6 शहरों में शुक्रवार को पारा 5-6 डिग्री के आसपास और 23 शहरों में 10 डिग्री या उससे कम रहा। शुक्रवार को प्रदेश में सबसे सर्द रात दूसरे दिन भी दतिया की रही। दतिया का न्यूनतम तापमान 3.1 डिग्री रहा। ग्वालियर का पारा 4.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। अधिकांश जिलों में तापमान सामान्य से नीचे बने हुए हैं तथा एक-दो स्थानों पर शीतलहर का प्रकोप भी शुरू हो गया है। दतिया, ग्वालियर, गुना, सागर और नौगांव शीतलहर की चपेट में आ गए है। भिंड, शिवपुरी, भोपाल, उज्जैन, शाजापुर, राजगढ़, रतलाम, धार, खजुराहो, रीवा में शुक्रवार को कोल्ड डे रहा। आगामी 2 दिनों के दौरान तापमान में कुछ और कमी आने की संभावना है, जिससे सर्दी काफी ज्यादा बढ़ जाएगी। हालांकि 20 दिसम्बर को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत पहुंचने की संभावना है, लेकिन यह सिस्टम कमजोर है। इस वजह से इसका मौजूदा मौसम के मिजाज पर विशेष प्रभाव पड़ने के आसार कम ही हैं।   इन शहरों में आज भी कोल्ड डे के आसारग्वालियर, दतिया, भिंड, शिवपुरी, मुरैना, भोपाल, सागर, रीवा, सतना, पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर, रायसेन, राजगढ़, रतलाम, धार,शाजापुर जिलों में शनिवार को कहीं शीतलहर या कहीं कोल्ड डे रह सकता है।

Kolar News

Kolar News 19 December 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल के राष्ट्रीय उद्यान-जू वन विहार में गुरुवार की देर रात एक नर बाघ कान्हा टाईगर रिजर्व मण्डला से लाया गया है। पेंच टाईगर रिजर्व सिवनी में बाघों की आपसी लड़ाई में यह नर बाघ घायल हो गया था। इसे रेस्क्यू कर उपचार के लिए कान्हा टाईगर रिजर्व मण्डला भेजा गया था। इसकी उम्र तकरीबन 3 साल 6 माह है।    जनसम्पर्क अधिकारी ऋषभ जैन ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि इस नर बाघ के केनाइन क्षतिग्रस्त होने से वन विहार के रेस्क्यू सेंटर में रखे जाने के लिए भेजा गया है। बाघ का स्वभाव काफी आक्रामक है तथा वर्तमान में इसे वन विहार के रेस्क्यू सेंटर में क्वारेंटाइन किया गया है। वन विहार संचालक ने इस बाघ को 'पंचम' नाम दिया है। यह बाघ अभी नये परिवेश में ढलने का प्रयास कर रहा है। इस बाघ के आने के साथ ही वन विहार में अब बाघों की संख्या 15 हो गई है।

Kolar News

Kolar News 18 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 431 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 50,763 और मृतकों की संख्या 829 हो गई है। इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 5471 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 431 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 50,763 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 829 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 45,647 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4287 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 18 December 2020

मुरैना। जिलाधीश अनुराग वर्मा ने कहा कि जिले में 75 प्रतिशत पटवारियों के पद भरे हुये हैं, बहुत कम ऐसे लोग हैं, जिन पर एक से अधिक हल्के हैं। फिर भी पटवारी सीएम एवं पीएम योजना में रूचि नहीं ले रहे हैं। अम्बाह में यह कार्य अभी 78 प्रतिशत हुआ है। यह स्थिति ठीक नहीं है। इस पर जिलाधीश ने तीन पटवारियों को तत्काल निलंबित करने तथा 80 प्रतिशत से नीचे फीडिंग कार्य करने वाले पटवारियों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये।   उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि एक सप्ताह के अंदर ये पटवारी अपना कार्य शतप्रतिशत कर देते है तो इनको निलंबन से बहाल कर दिया जायेगा और नहीं करते है तो सेवा से बाहर कर दिया जायेगा। यह निर्देश उन्होंने अम्बाह जनपद मुख्यालय पर बुधवार को दिये। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर संजीव जैन, एसडीएम अम्बाह राजीव समाधिया आदि उपस्थित थे।   जिलाधीश अनुराग वर्मा ने समीक्षा में पाया कि हल्का गंूज में कालीचरण, अहरौली में सोनू गुप्ता तथा किर्रायच में पूरन सखवार पटवारी ने कार्य संतोषजनक नहीं किया है, जबकि शासन की मंशा है कि इस कार्य को 31 दिसम्बर  तक शतप्रतिशत पूर्ण करना है और लोंगो को योजनाओं से लाभान्वित करना है। किन्तु इनके द्वारा कोई कार्य में रूचि नहीं ली। इन तीनों पटवारियों को निलंबित करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही अन्य पटवारियों को भी निर्देश दिये कि जिनकी 80 प्रतिशत से फीडिंग कम है उन पटवारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करें।   जिलाधीश ने कहा कि शासकीय भूमि को आवासीय घोषित करने के लिये अभियान चलाया जा रहा है, इस अभियान में मुरैना जिले को पायलेट प्रोजेक्ट योजना में शामिल किया है। इसमें 31 दिसम्बर तक पटवारियों को अपने-अपने हल्के में पहुंचकर उन शासकीय भूमि को आवासीय भूमि घोषित करने के लिये उसे चिन्हित करना या मकान बने हुये है तो उस सीमा तक चिन्हित कर नामांकित करना और चारों ओर से कलई कर चिन्हित करना। जनवरी में शासन स्तर से ड्रोन से सर्वे होगा। उसके माध्यम से 100 मीटर की ऊंचाई से फोटो क्लिक करके नक्शा तैयार होकर जिले को प्राप्त होंगे। उसके आधार पर कोई त्रुटि होगी तो उसे सुधारने का कार्य पटवारियों का होगा। उन्होंने कहा कि पटवारी अपनी ईमेज सुधारे मुख्यमंत्री द्वारा यह घोषणा क्यों करनी पड़ी, क्योंकि सोमवार और गुरूवार पटवारी अपने हल्के पर मिलें। जिससे लोंगो को सुगमता से लाभ मिल सके।

Kolar News

Kolar News 16 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 398 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 49,916 और मृतकों की संख्या 822 हो गई है। यहां नये मामलों की संख्या 24 दिन के बाद 400 से नीचे आई है। इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 5633 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 398 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 49,916 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 822 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 44,632 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4462 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 16 December 2020

भोपाल। राज्य में तापमान लगातार गिरता जा रहा है। कई जिलों में जहां हल्की बारिश की संभावना है, वहीं कई जगहों पर कोहरा असर दिखाएगा। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले कुछ दिनों तक मौसम इसी तरह ठंडा बना रहेगा।    मंगलवार सुबह से राजधानी भोपाल में बादल छाए हैं और कोहरा बना हुआ है। ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर एवं शहडोल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों और इंदौर, उज्जैन एवं सागर संभागों के कुछ जिलों में बारिश दर्ज की गई। शेष संभागों के जिलों में मौसम शुष्क रहा। न्यूनतम तापमान में सभी संभागों के जिलों में कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुआ।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि अरब सागर से आ रही नमी वाली हवाओं के कारण बारिश की स्थिति बनी हुई है। सोमवार को हवा उत्तरी हो गई है। इसके चलते ठंडी हवाएं प्रदेश में आना शुरू हो गई हैं। 16 दिसंबर के बाद ठिठुरन वाली ठंड शुरू हो जाएगी। बारिश का सिलसिला मंगलवार को लगभग खत्म हो जाएगा। मौसम विभाग के अनुसार आगामी दो दिन में न्यूनतम तापमान में कमी आने की संभावना है। भोपाल में मंगलवार को हल्के बादल छाए रहेंगे। शहर के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश होगी और कोहरा भी छाया रहेगा। इस दौरान छह किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ठंडी हवाएं चलेंगी। अधिकतम तापमान 19 तो न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।    इन जिलों में बारिश की संभावनामौसम विभाग के अनुसार रीवा, शहडोल, जबलपुर, सागर, होशंगाबाद व भोपाल संभाग के जिलों में तथा बुरहानपुर, खंडवा, उज्जैन, देवास, शाजापुर, आगर, गुना जिले में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है। वहीं ग्वालियर, रायसेन, राजगढ़, भोपाल, शाजापुर, देवास व छतरपुर जिले में हल्का कोहरा छाया रहेगा।

Kolar News

Kolar News 15 December 2020

भोपाल। इंडिगो एयरलाइन की दिल्ली से भोपाल आने वाली उड़ान मंगलवार सुबह अचानक निरस्त कर दी गई। यह उड़ान सुबह 9:35 बजे भोपाल पहुंचती है तथा सुबह 10:05 बजे वापस दिल्ली रवाना होती है। अचानक उड़ान रद्द होने से यात्रियों को परेशान होना पड़ा।   मंगलवार सुबह जब भोपाल से दिल्ली जाने वाले यात्री राजा भोज एयरपोर्ट पर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि दिल्ली से आने वाली उड़ान तकनीकी कारणों से भोपाल नहीं आई है। अमूमन सुबह की उड़ान पहले दिल्ली से आती है तथा बाद में उसी विमान को वापस दिल्ली रवाना किया जाता है। भोपाल से दिल्ली जाने वाले यात्रियों को कहा गया कि वह दो घंटे इंतजार करें। जो यात्री एयरपोर्ट नहीं पहुंचे थे, उन्हें सूचना देकर कहा गया कि वह घर से रवाना नहीं हों। यात्रियों को जानकारी दी गई है कि दिल्ली जाने वाली उड़ान दोपहर 12:30 बजे रवाना होगी। इंडिगो के स्थानीय कार्यालय के अनुसार यात्रियों को उड़ान देर से जाने की सूचना दी जा चुकी है। तकनीकी कारणों से उड़ान में देरी हो रही है।   इससे पहले सोमवार को भी इंडिगो की मुंबई उड़ान को विमान के कांच में दरार आने के कारण देरी से रवाना हुई थी। खराबी तत्काल ठीक नहीं हो पाई थी,  इस कारण यात्रियों को करीब साढे तीन घंटे इंतजार करने के बाद वैकल्पिक उड़ान से रवाना होना पड़ा था। खराब हुआ विमान अभी तक राजा भोज एयरपोर्ट पर ही खड़ा है। इंजीनियरों ने इसे ठीक करने का प्रयास किया, लेकिन सुधार नहीं हो पाया। बताया जा रहा है कि इसमें लगने वाला एक उपकरण आज दिल्ली या मुंबई से भोपाल आएगा। उसकी फिटिंग होने के बाद इसे दिल्ली रवाना किया जा सकता है।

Kolar News

Kolar News 15 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 419 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 49,518 और मृतकों की संख्या 818 हो गई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 4772 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 419 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 49,518 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 818 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 44,261 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4439 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार 17 दिन पांच सौ से अधिक नये संक्रमित मिलने के बाद यह संख्या 500 से नीचे पहुंची। अब लगातार सातवें दिन यहां पांच सौ से कम नये मरीज सामने आए हैं। 

Kolar News

Kolar News 15 December 2020

देवास। मध्यप्रदेश के देवास जिले में जहां कोरोना के लगातार नये मामले सामने आ रहे हैं तो वहीं पुराने मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे हैं। इसी क्रम में जिले में अब कोरोना के 11 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 09 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंचे हैं।   देवास के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि सोमवार को जिले में 360 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 11 नये लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि 349 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, सोमवार को 09 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंचे हैं। सभी मरीजों ने जिला प्रशासन, अस्पताल के सभी चिकित्सक, कर्मचारी विशेष रूप से कोरोना वार्ड के ड्यूटी डॉक्टर नर्सिंग स्टाफ को धन्यवाद दिया। चिकित्सकों द्वारा मरीजों से सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने और सभी परिचितों को कोविड-19 जैसे लक्षण दिखाई देने या बीमार होने पर तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करने की सलाह दी।   सीएमएचओ डॉ. शर्मा ने बताया कि जिले में में अब तक कुल 2560 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें से अभी तक 2423 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज 111 है, जिनका उपचार चल रहा है। वहीं, जिले में अब तक कोरोना से 25 लोगों की मृत्यु हुई है। जिले में अब तक का कोविड-19 रिकवरी रेट 94.65 प्रतिशत है तथा मोर्टीलिटी (मृत्युदर) 1.02 प्रतिशत है।

Kolar News

Kolar News 14 December 2020

भोपाल। देशभर में आज अगहन मास की अमावस्या का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस दौरान साल का अंतिम सूर्यग्रहण भी पडऩे जा रहा है। भारत में जब सूर्य अस्त हो रहा होगा, तब दक्षिण अमेरिका, दक्षिण पश्चिम अफ्रीका, अटलांटिक, हिन्द और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में पूर्ण सूर्यग्रहण (टोटल सोलर इकलिप्स) देखा जा सकेगा। भारत में सूर्य अस्त होने के बाद यह खगोलीय घटना घटेगी, इसलिए इसे यहां नहीं देखा जा सकेगा। देश में अगला पूर्ण सूर्यग्रहण देखने के लिए 2022 तक इंतजार करना पड़ेगा।   भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि देश में शाम को सूर्यास्त हो जाने के बाद 7 बजकर 03 मिनट की स्थिति में पूर्ण सूर्यग्रहण आरंभ होगा, जो कि 9 बजकर 43 मिनट पर अधिकतम होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट पर समाप्त हो जाएगा। रात होने के कारण यह ग्रहण भारत में तो नहीं दिखेगा, लेकिन चिली और अर्जेन्टीना में ठीक से देखा जा सकेगा।    उन्होंने बताया कि पृथ्वी के सूर्य की परिक्रमा लगाने के कारण इस ग्रहण के अगले ही दिन सूर्य धनु राशि तारामंडल के सामने आता दिखेगा। सूर्य जब किसी राशि तारामंडल में प्रवेश करता है तो उसे सक्रांति कहा जाता है। सारिका ने बताया कि इसके पहले भारत में साल के सबसे लंबे दिन 21 जून को सूर्यग्रहण दिखा था। मध्यप्रदेश में अब आंशिक सूर्यग्रहण 25 अक्टूबर 2022 की शाम को सूरज डूबने के पहले दिखेगा। अगर आप 2021 में सूर्यग्रहण देखना चाहते हैं तो 10 जून 2021 को होने जा रहे वलयाकार सूर्यग्रहण (एन्यूलर सोलर इकलिप्स) के लिये कनाडा-ग्रीनलैंड की सैर करनी होगी या फिर 04 दिसम्बर 2021 को आस्ट्रेलिया के शहरों में आंशिक ग्रहण (पार्शियल सोलर इकलिप्स) देखा जा सकेगा।   क्या होता है सूर्यग्रहण-   सारिका ने बताया कि जब सूर्य और पृथ्वी के बीच से होकर परिक्रमा करता हुआ चंद्रमा निकलता है तो वह सूरज की कुछ या पूर्ण रोशनी को किसी एक भू-भाग पर आने से रोक लेता है। इस दौरान पृथ्वी के उस भाग पर रहने वाले लोगों को कुछ समय तक सूर्य या तो पूरी तरह नहीं दिखाई देता अथवा आंशिक दिखाई देता है। इस खगोलीय घटना को ही सूयग्रहण कहते हैं। आज का यह ग्रहण पूर्ण सूर्यग्रहण होगा।

Kolar News

Kolar News 14 December 2020

भोपाल। पिछले चार दिनों से हो रही मावठा की बारिश के बाद अब मप्र में ठंड जोरों पर है। राजधानी भोपाल पूरी तरह से कोहरे के आगोश में है। ठिठूरन भरी ठंड ने लोगों को कंपकपाने पर मजबूर कर दिया है और गर्म चाय की चुस्की ठंड में लोगों को बड़ा सहारा दे रही है। सोमवार को भी सुबह के समय कोहरा छाया हुआ हैं। सुबह 9 बजे भोपाल में झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक वातावरण में नमी कुछ कम होना शुरू होगी। इससे दिन के तापमान में कुछ बढ़ोतरी होने लगेगी। साथ ही रात के तापमान में गिरावट होगी। दो दिन बाद प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर कड़ाके की ठंड शुरू होने की संभावना है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि अरब सागर से लगातार मिल रही नमी के कारण मध्य प्रदेश में कई स्थानों पर बरसात का सिलसिला रुक-रुककर जारी है। आज भी कई जगह बूंदाबांदी के आसार हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक लगातार बादल बने रहने से दिन का तापमान अनेक स्थानों में सामान्य से नीचे दर्ज किया जा रहा है। इससे दिन में ठंडक महसूस हो रही है। सोमवार से पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बढऩे पर वातावरण में नमी कम होने लगेगी। साथ ही हवा का रुख भी बदलकर उत्तरी होने की संभावना है। इससे राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कुछ स्थानों पर रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होने के आसार हैं।   मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में अरब सागर में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम से दक्षिण-पश्चिमी मप्र तक एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) बनी हुई है। उत्तर-पश्चिमी राजस्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात मौजूद है। इसके अतिरिक्त एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और उसके आसपास बना हुआ है। इन तीन सिस्टम के कारण प्रदेश में बड़े पैमाने पर नमी आ रही है। इस वजह से कई स्थानों पर हल्की बारिश हो रही है। दिन के तापमान में लगातार गिरावट बनी रहने के कारण अब तेज बौछारें पडऩे की उम्मीद कम है। सोमवार को सुबह के समय उज्जैन संभाग के जिलों के अलावा अशोकनगर, ग्वालियर, गुना, छतरपुर, रायसेन, विदिशा, भोपाल, राजगढ़, जबलपुर, होशंगाबाद और सीहोर जिले में घना कोहरा छाने की संभावना है।   बर्फबारी जारी, पड़ेगी कड़ाके की ठंडउत्तर भारत में अभी एक पश्चिमी विक्षोभ मौजूद है। उसके प्रभाव से बर्फबारी जारी है। इससे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दो दिन बाद हवा का रुख उत्तरी होने की संभावना है। सर्द हवाओं के कारण पूरे प्रदेश में कड़ाके की ठंड का दौर शुरू होने की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 14 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 427 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 48,697 और मृतकों की संख्या 811 हो गई है। इंदौर में लगातार पांचवें दिन कोरोना के नये मरीजों की संख्या 500 के नीचे आई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 4663 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 427 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 48,697 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 811 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 43,294 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4592 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार 17 दिन पांच सौ से अधिक नये संक्रमित मिलने के बाद यह संख्या 500 से नीचे पहुंची। अब लगातार पांचवें दिन यहां पांच सौ से कम नये मरीज सामने आए हैं।

Kolar News

Kolar News 13 December 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में शुक्रवार को मौसम पूरी तरह पलट गया और गत दिवस देर रात तक हुई बूंदाबांदी से राजधानी भोपाल सहित कई जिलों में मौसम ठंडा हो गया। भोपाल में शनिवार सुबह फिर बूंदाबांदी शुरू हो गई। यहां बीती देर रात तक 5 मिमी बारिश हुई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, यही इस सीजन का पहला मावठा है। भोपाल के साथ-साथ उज्जैन में 9, रतलाम और धार में 7 मिमी बारिश हुई। गुना, सागर, नौगांव, खजुराहो में फुहारें पड़ी।   मौसम विभाग के मुताबिक, भोपाल में दिन का तापमान 8.5 डिग्री गिरकर 21.5 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह सामान्य से 5 डिग्री कम था. पिछले दिन के मुकाबले तापमान में 8.5 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। शनिवार को भी भोपाल समेत कई जिलों में बारिश होने की संभावना है। भोपाल में बारिश के कारण नमी 96 फीसदी हो गई थी, जो सुबह तक 82 फीसदी थी। विजिबिलिटी 1200 मीटर थी जो शाम तक 1500 थी। शुक्रवार को दिन और रात के तापमान में सिर्फ 3.80 का अंतर ही रह गया था। दिन का तापमान 21.8 और रात का 18.0 दर्ज किया गया। सुबह से जो बूंदाबांदी का सिलसिला शुरू हुआ तो वो देर रात तक चलता रहा।   इस वजह से हो रही बारिशवरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा के ऊपर चक्रवातीय परिसंचरण समुद्र तल से 1 किमी से ज्यादा की ऊंचाई तक सक्रिय है। पश्चिमी विक्षोभ मध्य और ऊपरी क्षोभ मंडल की पछुआ पवनों के बीच एक टर्फ के रूप में 62 डिग्री पूर्व देशांतर के सहारे 25 डिग्री उत्तर अक्षांश के उत्तर में समुद्र तल से 3.1 किमी व 5.8 किमी की ऊंचाई के मध्य सक्रिय है। वहीं दक्षिण-पूर्वी अरब सागर में निम्न दाब क्षेत्र अवस्थित है। इसी कारण प्रदेश में बारिश हो रही है।   इन जगहों पर हो सकती है बारिशमौसम विभाग के भोपाल केंद्र की चेतावनी के अनुसार आगामी दिनों में भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा,सिहोर, धार, इंदौर, अलीराजपुर,बडबानी, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, झाबुआ, देवास, आगर-मालवा, मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर, उज्जैन, अशोकनगर, गुना, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योंपुर कला, उमरिया, अनूपपुर, शहडोल, डिंडौरी, कटनी, छिंदवाडा, जबलपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, सागर, छतरपुर, सागर, दमोह, बैतूल, हरदा, होशंगाबाद आदि जिलों में कहीं-कहीं कुछ स्थानों पर तेज हवा एवं गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की सम्भावना है।

Kolar News

Kolar News 12 December 2020

खण्डवा। जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल हनुवंतिया में प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी जल महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। यह महोत्सव आगामी 15 दिसम्बर से 15 जनवरी 2021 के बीच तक आयोजित होगा। जल महोत्सव का शुभारंभ आगामी 15 दिसम्बर को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वर्चुअल रूप से भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित कार्यक्रम में अपरान्ह 3 बजे करेंगे। इस कार्यक्रम के प्रसारण की भी व्यवस्था की जायेगी। खंडवा कलेक्टर अनय द्विवेदी ने बताया कि हर साल हनुवंतिया में इस बार हनुवंतिया में जल महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। आयोजन की तैयारियों को लेकर आज (शनिवार को) दोपहर 12 बजे से हनुवंतियां में अधिकारियों की बैठक होगी, जिसमें तैयारियों की समीक्षा की जाएगी। उन्होंने बैठक में सभी संबंधित अधिकारियों को बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए है। यह बैठक टूरिस्ट कॉम्पलेक्स हनुवंतिया में होगी।

Kolar News

Kolar News 12 December 2020

मंदसौर । कलेक्टर मनोज पुष्प ने कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी रविंद्र सिंह राठौर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलम्बन अवधि में उनका मुख्यालय भानपुरा रहेगा तथा उन्हें जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।   जिला प्रशासन द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पिछले दिनों खाद्य विभाग और राजस्व विभाग ने नाहरगढ़ में एक निजी गोदाम से 198 क्विंटल चावल जब्त किए। गोदाम सील कर गोदाम मालिक के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। उक्त घटनाक्रम में कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी राठौर के द्वारा घोर लापरवाही बरती गई। जिस वजह से उक्त घटनाक्रम निर्मित हुआ। अतः घटनाक्रम के लिए राठौर को दोषी मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

Kolar News

Kolar News 11 December 2020

मंदसौर । कलेक्टर मनोज पुष्प ने कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी रविंद्र सिंह राठौर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलम्बन अवधि में उनका मुख्यालय भानपुरा रहेगा तथा उन्हें जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।   जिला प्रशासन द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पिछले दिनों खाद्य विभाग और राजस्व विभाग ने नाहरगढ़ में एक निजी गोदाम से 198 क्विंटल चावल जब्त किए। गोदाम सील कर गोदाम मालिक के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। उक्त घटनाक्रम में कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी राठौर के द्वारा घोर लापरवाही बरती गई। जिस वजह से उक्त घटनाक्रम निर्मित हुआ। अतः घटनाक्रम के लिए राठौर को दोषी मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

Kolar News

Kolar News 11 December 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज पूरी तरह से बदल गया है। शुक्रवार सुबह से बारिश की बौछारें गिर रही हैं और आसमान में घने बादल छाए हुए हैं। बारिश से ठिठुरन बढ़ गई है। मौसम विभाग के अनुसार गरज-चमक के साथ बारिश का सिलसिला तीन-चार दिनों तक चलने की संभावना है। बारिश के दौरान कुछ स्थानों पर ओले भी गिर सकते हैं।   राजधानी भोपाल में शुक्रवार सुबह जब लोगों की नींद खुली तो मौसम पूरी तरह से बदला हुआ था। बारिश से सर्दी का एहसास हो रहा था। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने जानकारी देते हुए बताया कि अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में ऊपरी हवा के चक्रवात बनने के बाद अरब सागर में बना सिस्टम कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होने से प्रदेश में नमी बढ़ने के बाद बादल छाए हैं। शुक्रवार से राजधानी सहित प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला शुरू हो जाएगा। शनिवार से बारिश की गतिविधियां पूर्वी मध्य प्रदेश में शुरू होंगी। बादल बने रहने से रात के तापमान में सामान्य से पांच-छह डिग्री तक की बढ़ोतरी होने के आसार हैं।    उत्तर भारत में जारी है बारिश, बर्फबारीवर्तमान में पाकिस्तान के पास ट्रफ की शक्ल में मौजूद एक पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत के पहाड़ों पर बरसात के साथ बर्फबारी हो रही है। इस सिस्टम के कारण मप्र पर बने एक प्रति चक्रवात के कारण हवा का रुख उत्तरी नहीं हो पा रहा है। इस वजह से प्रदेश में दिन-रात के तापमान में गिरावट नहीं हो रही है। 11 दिसंबर को एक अधिक तीव्रता का पश्चिमी विक्षोभ भी उत्तर भारत में दाखिल होने जा रहा है। इस सिस्टम से बर्फबारी में और इजाफा होगा, लेकिन हवा का रुख 17-18 दिसंबर के आसपास ही उत्तरी होने की संभावना है। इसलिए मध्यप्रदेश में फिलहाल अपेक्षाकृत ठंड नहीं पड़ने की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 11 December 2020

भोपाल। अगहन मास की अमावस्या के अवसर पर अगले सोमवार यानी 14 दिसम्बर को साल का अंतिम सूर्यग्रहण पड़ेगा। भारत में जब सूर्य अस्त हो रहा होगा, तब दक्षिण अमेरिका, दक्षिण पश्चिम अफ्रीका, अटलांटिक, हिन्द और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में पूर्ण सूर्यग्रहण (टोटल सोलर इकलिप्स) देखा जा सकेगा। यह इस साल का अंतिम सूर्यग्रहण होगा। भारत में सूर्य अस्त होने के बाद यह खगोलीय घटना घटेगी, इसलिए इसे यहां नहीं देखा जा सकेगा।   भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने गुरुवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि मध्यप्रदेश में शाम लगभग 05 बजकर 36 मिनट पर सूर्यास्त हो जाने के बाद 7 बजकर 03 मिनट की स्थिति में पूर्ण सूर्यग्रहण आरंभ होगा, जो कि 9 बजकर 43 मिनट पर अधिकतम होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट पर समाप्त हो जाएगा। रात होने के कारण यह ग्रहण भारत में तो नहीं दिखेगा, लेकिन चिली और अर्जेन्टीना में ठीक से देखा जा सकेगा।    उन्होंने बताया कि पृथ्वी के सूर्य की परिक्रमा लगाने के कारण इस ग्रहण के अगले ही दिन सूर्य धनु राशि तारामंडल के सामने आता दिखेगा। सूर्य जब किसी राशि तारामंडल में प्रवेश करता है तो उसे सक्रांति कहा जाता है। सारिका ने बताया कि इसके पहले भारत में साल के सबसे लंबे दिन 21 जून को सूर्यग्रहण दिखा था। मध्यप्रदेश में अब आंशिक सूर्यग्रहण 25 अक्टूबर 2022 की शाम को सूरज डूबने के पहले दिखेगा। अगर आप 2021 में सूर्यग्रहण देखना चाहते हैं तो 10 जून 2021 को होने जा रहे वलयाकार सूर्यग्रहण (एन्यूलर सोलर इकलिप्स) के लिये कनाडा-ग्रीनलैंड की सैर करनी होगी या फिर 04 दिसम्बर 2021 को आस्ट्रेलिया के शहरों में आंशिक ग्रहण (पार्शियल सोलर इकलिप्स) देखा जा सकेगा।   क्या होता है सूर्यग्रहण-   सारिका ने बताया कि जब सूर्य और पृथ्वी के बीच से होकर परिक्रमा करता हुआ चंद्रमा निकलता है तो वह सूरज की कुछ या पूर्ण रोशनी को किसी एक भू-भाग पर आने से रोक लेता है। इस दौरान पृथ्वी के उस भाग पर रहने वाले लोगों को कुछ समय तक सूर्य या तो पूरी तरह नहीं दिखाई देता अथवा आंशिक दिखाई देता है। इस खगोलीय घटना को ही सूयग्रहण कहते हैं। आगामी 14 दिसम्बर का यह ग्रहण पूर्ण सूर्यग्रहण होगा।    

Kolar News

Kolar News 10 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 456 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 47,427 और मृतकों का संख्या 799 हो गई है। इंदौर में 17 दिन के बाद लगातार दूसरे दिन कोरोना के नये मरीजों की संख्या 500 के नीचे आई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 5166 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 456 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 47,427 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 799 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 41,453 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 5175 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार 17 दिन पांच सौ से अधिक नये संक्रमित मिलने के बाद एक दिन पहले यह संख्या 500 से नीचे पहुंची। अब लगातार दूसरे दिन यहां पांच सौ से कम नये मरीज सामने आए हैं।

Kolar News

Kolar News 10 December 2020

भोपाल। पाकिस्तान के पास बने ट्रफ के कारण उत्तर भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी के साथ ही बरसात भी हो रही है। उधर राजस्थान पर एक चक्रवात और विदर्भ के पास प्रति चक्रवात बनने के कारण हवाओं का रख बार-बार बदल रहा है। इससे मध्य प्रदेश में दिन-रात के तापमान में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 12-13 दिसंबर को राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात की संभावना बन रही है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के रूप में सक्रिय है। इस सिस्टम को अरब सागर से काफी नमी मिल रही है। इससे उत्तर भारत के पहाड़ों पर बरसात जारी है। वहां बर्फबारी भी होगी।   दो सिस्टम सक्रिय, बदल रहा हवा का रुखवर्तमान में उत्तर-पश्चिम राजस्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त विदर्भ पर एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। इन दो सिस्टम के कारण हवा का रख बार-बार बदल रहा है। इससे दिन और रात के तापमान में उतार-चढ़ाव हो रहा है।   छाएंगे बादल 11 दिसंबर कोएक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। उसके प्रभाव से राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बनने के संकेत मिल रहे हैं। इससे मध्य प्रदेश में 11 दिसंबर से बादल छाने लगेंगे। 12-13 दिसंबर को राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बारिश होने के भी आसार हैं। वहीं, देश की राजधानी दिल्ली-एनसीआर में दिन के दौरान आसमान साफ और तेज धूप बनी रहती है। वहीं, सुबह और शाम में ठंड बढ़ जाती है।   जबलपुर में फिर बदल सकता है मौसमशहर का मौसम एक बार फिर बदल सकता है। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है जिसके बाद अगले 3 से 4 दिनों में शहर के आसमान में भी बादल और हल्की बारिश आने की संभावना है। उसके बाद ही ठंड जोर पकड़ेगी। फिलहाल न्यूनतम पारा 10 डिग्री के ऊपर ही दर्ज हो रहा है इसलिए ठंड का असर नहीं हो रहा। उधर दिन में धूप चुभ रही है। मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले 3 से 4 दिन में जिले में भी कहीं-कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। इसके बाद ही ठंड जोर पकड़ेगी। मौसम विभाग संभावना व्यक्त कर चुका है कि दक्षिण पूर्वी अरब सागर, लक्ष्यदीप-मालदीव के हिस्से में पश्चिमी विक्षोभ का चक्रवात बनने लगा है जिसका असर मध्यप्रदेश तक पहुंचने में दो से तीन दिनों का समय लग सकता है।

Kolar News

Kolar News 9 December 2020

भोपाल। पाकिस्तान के पास बने ट्रफ के कारण उत्तर भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी के साथ ही बरसात भी हो रही है। उधर राजस्थान पर एक चक्रवात और विदर्भ के पास प्रति चक्रवात बनने के कारण हवाओं का रख बार-बार बदल रहा है। इससे मध्य प्रदेश में दिन-रात के तापमान में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 12-13 दिसंबर को राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात की संभावना बन रही है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के रूप में सक्रिय है। इस सिस्टम को अरब सागर से काफी नमी मिल रही है। इससे उत्तर भारत के पहाड़ों पर बरसात जारी है। वहां बर्फबारी भी होगी।   दो सिस्टम सक्रिय, बदल रहा हवा का रुखवर्तमान में उत्तर-पश्चिम राजस्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त विदर्भ पर एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। इन दो सिस्टम के कारण हवा का रख बार-बार बदल रहा है। इससे दिन और रात के तापमान में उतार-चढ़ाव हो रहा है।   छाएंगे बादल 11 दिसंबर कोएक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। उसके प्रभाव से राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बनने के संकेत मिल रहे हैं। इससे मध्य प्रदेश में 11 दिसंबर से बादल छाने लगेंगे। 12-13 दिसंबर को राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बारिश होने के भी आसार हैं। वहीं, देश की राजधानी दिल्ली-एनसीआर में दिन के दौरान आसमान साफ और तेज धूप बनी रहती है। वहीं, सुबह और शाम में ठंड बढ़ जाती है।   जबलपुर में फिर बदल सकता है मौसमशहर का मौसम एक बार फिर बदल सकता है। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है जिसके बाद अगले 3 से 4 दिनों में शहर के आसमान में भी बादल और हल्की बारिश आने की संभावना है। उसके बाद ही ठंड जोर पकड़ेगी। फिलहाल न्यूनतम पारा 10 डिग्री के ऊपर ही दर्ज हो रहा है इसलिए ठंड का असर नहीं हो रहा। उधर दिन में धूप चुभ रही है। मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले 3 से 4 दिन में जिले में भी कहीं-कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। इसके बाद ही ठंड जोर पकड़ेगी। मौसम विभाग संभावना व्यक्त कर चुका है कि दक्षिण पूर्वी अरब सागर, लक्ष्यदीप-मालदीव के हिस्से में पश्चिमी विक्षोभ का चक्रवात बनने लगा है जिसका असर मध्यप्रदेश तक पहुंचने में दो से तीन दिनों का समय लग सकता है।

Kolar News

Kolar News 9 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 516 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 46,476 और मृतकों का संख्या 792 हो गई है। इंदौर में लगातार 17वें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 5349 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 516 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 46,476 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से पांच मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 792 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 40,539 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 5145 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    इंदौर हाईकोर्ट के कर्मचारियों ने मांगा सामूहिक अवकाश   इधर, मप्र उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ के 60 से अधिक न्यायिक कर्मचारी बीते 10 दिन में कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से तीन की मौत भी हो चुकी है। इसीलिए यहां के शेष कर्मचारी भयभीत है। उन्होंने प्रिंसिपल रजिस्ट्रार को पत्र लिख 15 दिन का सामूहिक अवकाश देने की मांग की है। कर्मचारियों ने लिखा है कि तीन न्यायिक कर्मचारी अब तक कोरोना के चलते जान गंवा चुके हैं। दिसंबर में कई लोग संक्रमित हो गए। ऐसी स्थिति में जरूरी है कि न्यायिक कर्मचारी कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए खुद को क्वारंटाइन कर लें। उन्हें 8 से 22 दिसंबर तक सामूहिक अवकाश पर जाने की अनुमति प्रदान की जाए।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 8 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 516 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 46,476 और मृतकों का संख्या 792 हो गई है। इंदौर में लगातार 17वें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 5349 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 516 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 46,476 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से पांच मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 792 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 40,539 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 5145 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    इंदौर हाईकोर्ट के कर्मचारियों ने मांगा सामूहिक अवकाश   इधर, मप्र उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ के 60 से अधिक न्यायिक कर्मचारी बीते 10 दिन में कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से तीन की मौत भी हो चुकी है। इसीलिए यहां के शेष कर्मचारी भयभीत है। उन्होंने प्रिंसिपल रजिस्ट्रार को पत्र लिख 15 दिन का सामूहिक अवकाश देने की मांग की है। कर्मचारियों ने लिखा है कि तीन न्यायिक कर्मचारी अब तक कोरोना के चलते जान गंवा चुके हैं। दिसंबर में कई लोग संक्रमित हो गए। ऐसी स्थिति में जरूरी है कि न्यायिक कर्मचारी कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए खुद को क्वारंटाइन कर लें। उन्हें 8 से 22 दिसंबर तक सामूहिक अवकाश पर जाने की अनुमति प्रदान की जाए।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 8 December 2020

इंदौर। माफिया और गुंडों के खिलाफ नगरनिगम, पुलिस और प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई सोमवार को भी जारी रही। सुबह से शुरू की गई कार्रवाई के दौरान नगरनिगम के रिमूवल दस्ते पर भूमाफिया छब्बू और गुंडे मनोहर वर्मा के अवैध कब्जों को ढहा दिया। इस दौरान भारी पुलिस बल तैनात रहा।    गुंडा विरोधी अभियान के तहत सोमवार सुबह दो स्थानों पर कार्रवाई की गई। एलआईजी लिंक रोड पर निगम की टीम ने छब्बू के अवैध निर्माण को हटाया। वहीं, रावजी बाजार में मनोहर वर्मा के अवैध निर्माण को ढहाया गया। वर्मा भाजपा नेता गोपी कृष्ण नेमा के घर पर हुए हमले का भी आरोपी है। वर्मा पर सूदखोरी सहित कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। निगम उपायुक्त देवेंद सिंह ने बताया कि भूमाफिया छब्बू के एलआईजी लिंक रोड वाले मकान को ध्वस्त किया गया है। छब्बू के मकान में जेसीबी ने जैसे ही पंजा मारा अगला हिस्सा टूटकर जमीन पर आ गया। कुछ देर की कार्रवाई में पूरा मकान जमींदोज हो गया।   वहीं, नगर निगम की उपायुक्त लता अग्रवाल ने बताया कि रावजी बाजार थाना क्षेत्र के लिस्टेड बदमाश मनोहर वर्मा के मकान पर सोमवार सुबह कार्रवाई की गई है। मकान को पहले खाली कराया गया, जिसके बाद उसे तोड़ा गया। गुंडे मनोहर वर्मा ने रावजी बाजार में 1800 फीट साइज में तीन मंजिला मकान खड़ा कर लिया था, जो अवैध रूप से बनाया गया था। जेसीबी ने इसे तोड़ने के लिए करीब एक घंटे का समय लिया। मकान बड़ा होने और पड़ोस में मकान होने से इसे बहुत ही एहतियात के साथ गिराया गया। टीआई सविता चौधरी ने बताया कि मनोहर वर्मा के खिलाफ 302, 307 सहित 7 अपराध दर्ज हैं। हाल ही में इसने भाजपा नेता नेमा के घर पर हमला किया था।

Kolar News

Kolar News 7 December 2020

इंदौर। इंदौर शहर में सर्व सिद्धियों के दाता काल भैरव की साधना का पर्व भैरव अष्टमी सोमवार को श्रद्धापूर्वक मनाया जा रहा है। इस अवसर पर मंदिरों में विशेष साज-सज्जा की गई है, वहीं मनोकामनापूर्ति के लिए सुबह से मंदिरों में भक्तों की भीड़ लगी हुई है। लोग भगवान काल भैरव के पूजन-अर्चन में जुटे हुए हैं।   शहर के रामबाग मुक्तिधाम स्थित सिद्ध काल भैरव बाबा मंदिर में भगवान काल भैरव का ड्रायफ्रूट से विशेष श्रृंगार किया गया है। पुजारी दिलीप माने ने बताया कि भैरव अष्टमी पर्व पर सुबह भगवान की विशेष आरती की गई। वहीं, शाम को छह बजे 56 भोग लगाने के बाद सात बजे से भजन संध्या का आयोजन होगा। रात को 108 दीपों से आरती की जाएगी। इसके अलावा अहिल्या आश्रम रोड स्थित मंसापूर्ण भैरव मंदिर पर सुबह सात बजे दूध व जल से अभिषेक के बाद आरती हुई। पुजारी ऋषिराज सिंह भदौरिया ने बताया कि भक्तों को बूंदी का प्रसाद वितरण किया जा रहा है। शाम को 56 भोग लगाकर सात बजे आरती की जाएगी।   इसी तरह पंढरीनाथ स्थित प्राचीन काल भैरव बाबा मंदिर पर सोमवार सुबह भगवान को चोला चढ़ाया गया। इसके बाद आरती और विशेष पूजन कर भगवान का अभिषेक हुआ और हवन किया गया। शाम को भगवान को 56 भोग लगाकर पैकेट में प्रसादी वितरण की जाएगी। एरोड्रम रोड स्थित श्री विद्याधाम स्थित भैरवनाथ मंदिर पर आचार्य पं. राजेश शर्मा के निर्देश में बटुक भैरव का 21 विद्वानों द्वारा शाम 5.30 बजे षोडषोपचार पूजन किया जाएगा। पुष्प बंगला सजाकर छप्पन भोग समर्पित करने के बाद आरती की जाएगी।

Kolar News

Kolar News 7 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 533 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 45,451 और मृतकों का संख्या 782 हो गई है। इंदौर में लगातार 15वें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 5632 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 533 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 45,451 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 782 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 39,671 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 4992 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 6 December 2020

भोपाल। पश्चिमी विक्षोभ के कारण प्रदेश में मौसम का उतार चढ़ाव जारी है। दिन जहां गर्म रहते हैं, तो रात में ठंड बढ़ रही है। बीते 24 घंटों में प्रदेश का हिल स्टेशन पचमढ़ी सबसे ठंडा रहा। यहां न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।    मध्यप्रदेश के पचमढ़ी में गुरुवार-शुक्रवार की रात सबसे सर्द रही। यहां न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इधर, भोपाल समेत पूरे प्रदेश में दिन अपेक्षाकृत गर्म और रातें सर्द होने लगी हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी दो से तीन दिन तक इसी तरह उतार चढ़ाव चलता रहेगा।  हालांकि अभी ज्यादा ठंडी की उम्मीद नहीं है, लेकिन रात को एक से दो डिग्री तापमान कम-ज्यादा होता रहेगा।   प्रदेश भर में दिन और रात के तापमान में काफी अंतर बना हुआ है। दिन का अधिकतम तापमान सभी शहरों में औसतन 28 डिग्री से लेकर 30 डिग्री बीच है, जबकि रात को यह 8 डिग्री से लेकर 12 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है। बीते 24 घंटों में भोपाल में रात का पारा 11.5 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि ग्वालियर में सबसे कम 9.6 डिग्री तक आ गया। हालांकि इंदौर में रात का तापमान चारों शहरों की तुलना में सबसे ज्यादा रहा। यहां न्यूनतम तापमान 12.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

Kolar News

Kolar News 4 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 526 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 44,372 और मृतकों का संख्या 776 हो गई है। इंदौर में लगातार 13वें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 4743 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 560 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि 4166 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 44,371 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से पांच मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 776 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 38,816 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 4780 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई। लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 4 December 2020

भोपाल। सूरज के ढलते ही रिंग वाला सुंदर ग्रह सेटर्न (शनि) और सबसे विशाल ग्रह जुपिटर (गुरु-बृहस्पति) को जोड़ी बनाते इस समय पश्चिमी आकाश में देखा जा सकता है। दोनों ग्रह मिलन को आतुर है। आने वाली हर शाम को यह नजदीकियां बढ़ती नजर आएंगी। आगामी 21 दिसम्बर को जबकि इस कोरोना साल की सबसे लंबी रात होगी तब ये दोनों ग्रह 0.1 डिग्री की दूरी पर दिखते हुये एक दूसरे में मिलते से दिखेंगे। यानी साल की सबसे लम्बी रात को आसमान में गुरु-शनि का मिलन होगा। यह सबसे बड़ी खगोलीय घटना 400 साल बाद देखने का मौका मिलेगा।   भोपाल की नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने गुरुवार को हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में इसकी जानकारी देते हुए बताया कि दो बड़े ग्रहों के पास दिखने की यह खगोलीय घटना ग्रेट कंजक्शन कहलाती है। पूर्णिमा का चंद्रमा जितना बड़ा दिखता है, उसके पांचवें भाग के बराबर इन दोनों ग्रहों के बीच की दूरी रह जाएगी। सारिका ने बताया कि गैलीलियों द्वारा उसका पहला टेलिस्कोप बनाये जाने के 14 साल बाद 1623 में यह दोनों ग्रह इतनी नजदीक आये थे, उसके बाद इतना नजदीकी कंजक्शन अब 21 दिसम्बर 2020 को दिखने जा रहा है। आने वाले समय में इतनी नजदीकियां 15 मार्च 2080 को होने वाले कंजक्शन में देखी जा सकेंगी।   सारिका ने बताया कि वैसे तो गुरु और शनि का यह मिलन हर 20 साल बाद होता है, लेकिन इतनी नजदीकियां बहुत कम होती है। पिछला कंजक्शन वर्ष 2000 में हुआ था, लेकिन वे दोनों सूर्य के पास थे, इसलिये इन्हें देखना मुश्किल था।   क्यों होता है ग्रेट कंजक्शन    सारिका ने बताया कि सौर मंडल का पांचवां ग्रह जुपिटर और छटवा ग्रह सेटर्न निरंतर सूर्य की परिक्रमा करते रहते हैं। जुपिटर की एक परिक्रमा लगभग लगभग 11.86 साल में हो पाती है तो सेटर्न को लगभग 29.5 साल लग जाते हैं। परिक्रमा समय के इस अंतर के कारण लगभग हर 19.6 साल में ये दोनों ग्रह आकाश में साथ दिखने लगते हैं, जिसे ग्रेट कंजक्शन कहा जाता है।   कैसे पहचानें-   सारिका ने जानकारी दी कि सूरज के ढलने पर दक्षिण की ओर चेहरा करके खड़े होकर अपनी नजर पश्चिमी आकाश की तरफ करेंगे तो दोनों ग्रह एक दूसरे से जोड़ी बनाते नजर आएंगे। इनमें से बड़ा चमकदार जुपिटर है तो उसके साथ का ग्रह थोड़ा कम चमकदार शनि ग्रह है। लगभग 8 बजे ये जोड़ी अस्त हो जायेगी। इसलिये देर न करें और हर शाम इनके मिलन के गवाह बनें।   उन्होंने बताया कि पिछला कंजक्शन 31 मई 2000 को हुआ था, लेकिन सूर्य के नजदीक होने के कारण इसे ठीक से देखा न सका। अब अगले कंजक्शन 5 नवम्बर 2040, उसके बाद 10 अप्रैल 2060 और 15 मार्च 2080 होंगे। इनमें 2080 वाला कंजक्शन 21 दिसम्बर 2020 को होने वाले कंजक्शन के समान होगा।

Kolar News

Kolar News 3 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 560 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 43,846 और मृतकों का संख्या 771 हो गई है। इंदौर में लगातार बारहवें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। यहां एक दिन पहले ही एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिले थे।    इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 4822 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 560 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 43,846 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 771 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 38,437 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 4638 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई है। अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 3 December 2020

भोपाल। पश्चिमी विक्षोभ के पूर्व की तरफ बढ़ जाने के कारण हवाओं का रुख एक बार फिर उत्तरी, उत्तर-पश्चिमी हो गया है। इससे उत्तर भारत से आने वाली सर्द हवाओं से राजधानी सहित प्रदेश में एक बार फिर सिहरन बढ़ गई है। मंगलवार को प्रदेश में सबसे कम आठ डिग्री तापमान उमरिया और नौगांव में दर्ज किया गया। राजधानी भोपाल में न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ, जो सामान्य से एक डिग्री कम रहा।    मौसम विज्ञानियों के मुताबिक पांच दिसंबर तक न्यूनतम तापमान सामान्य से कम बने रहने की संभावना है। इसके बाद एक बार फिर तापमान में बढ़ोतरी होने के आसार हैं। मौसम के मिजाज में एक बार फिर बदलाव देखने का मिल रहा है। शाम ढलने के बाद वातावरण में सिहरन बढऩे लगती है।    वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में एक गहरा कम दबाव का क्षेत्र मौजूद है। इसके बुधवार को चक्रवाती तूफान में परिवर्तित होकर श्रीलंका के तट से टकराने की संभावना है। यह सिस्टम काफी दूर है। इस वजह से इसकी वजह से मध्यप्रदेश के मौसम के प्रभावित होने के आसार कम हैं, लेकिन एक पश्चिमी विक्षोभ के चार दिसंबर को उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। उसके प्रभाव से हवा का रुख फिर बदलेगा। इससे पांच दिसंबर के बाद राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी।   ग्वालियर में ठंड से राहत नहींवहीं ग्वालियर में न्यूनतम तापमान में 1 डिग्री सेल्सियस का उछाल आ गया, लेकिन इस उछाल से कंपाने वाली ठंड से राहत नहीं दी। सुबह साढे आठ बजे तक कंपाने वाली ठंड का अहसास होता रहा है। जब थोड़ी धूप तेज हुई, तब जाकर ठंड से राहत मिली। न्यूनतम तापमान सामान्य से 0.2 डिसे कम रहा। मौसम विभाग ने अधिकतम तापमान स्थिर रहने के आसार जताए हैं।   क्यों गिरने लगा तापमानमौसम विभाग के अनुसार पिछले दिनों हरियाणा और उससे लगे पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बन गया था। इसके अतिरिक्त एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत की तरफ बढ़ रहा था। इस वजह से हवा का रुख पूर्वी होने लगा था। इससे दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगी थी। हाल ही में पश्चिमी विक्षोभ आगे बढक़र काफी ऊंचाई से उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ आगे बढ़ गया। काफी कम तीव्रता वाले पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ते ही हरियाणा पर बना सिस्टम भी समाप्त हो गया है। इससे हवाओं का रुख एक बार फिर उत्तरी, उत्तर-पश्चिमी होने लगा है। उत्तर भारत की तरफ से आ रही सर्द हवाओं के कारण तापमान में गिरावट होने लगी है। इससे ठंड का असर बढऩे लगा है।  

Kolar News

Kolar News 2 December 2020

इंदौर। गुंडों और माफियाओं के खिलाफ प्रशासन, नगरनिगम और पुलिस का संयुक्त अभियान बुधवार को भी जारी है। इस अभियान के दौरान नगरनिगम की रिमूवल गैंग ने बुधवार सुबह भूमाफिया बब्बू और छब्बू के आलीशान मकान को ढहा दिया। खजराना थाना क्षेत्र में बब्बू ने तीन मंजिला और छब्बू ने अवैध रूप से दो मंजिला मकान बना लिया था।   नगरनिगम के अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह ने बताया कि खजराना थाना क्षेत्र में पहले भी चार गुंडों के मकानों को ध्वस्त किया जा चुका है। बुधवार को भू-माफिया बब्बू और छब्बू के मकानों को गिराया गया है। मकान को पहले खाली करवाया गया है। इसके बाद जेसीबी और पोकलेन की मदद से करीब तीन घंटे में दोनों ही मकानों को ध्वस्त कर दिया गया। इन दोनों भूमाफियाओं ने अवैध रूप से आलीशान मकान खड़ा कर लिया था। सिंह के अनुसार पुलिस से जो भी लिस्ट मिली है, उसी आधार पर भूमाफियाओं और गुंडों के मकानों को तोड़ा जा रहा है। टीम ने जब सामान निकालना शुरू किया तो भूमाफिया के घर से महंगी झूमर, रॉयल सोफे सहित कई कीमती चीजें मिलीं।

Kolar News

Kolar News 2 December 2020

भोपाल। रेल प्रशासन ने 01 दिसम्बर से भोपाल-दुगे सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन और भोपाल-प्रतापगढ़ स्पेशल ट्रेन के समय में परिवर्तन किया है। अब अमरकंटक सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन शाम 4.00 बजे रवाना होगी, वहीं भोपाल प्रतापगढ़ स्पेशल ट्रेन शाम 7.15 बजे भोपाल स्टेशन से रवाना होगी।    रेलवे ने भोपाल-दुर्ग अमरकंटक स्पेशल एक्सप्रेस और भोपाल-प्रतापगढ़ स्पेशल एक्सप्रेस के समय में मंगलवार से कुछ बदलाव किया है। भोपाल-दुर्ग अमरकंटक सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस(02854) दोपहर 3:40 के बजाय शाम 4 बजे भोपाल स्टेशन से चलेगी। यह ट्रेन शाम 4:10 बजे हबीबगंज पहुंचेगी। साथ ही भोपाल-प्रतापगढ़ स्पेशल एक्सप्रेस (02183) अब मंगलवार, शुक्रवार व रविवार को भोपाल स्टेशन से शाम 7:15 बजे रवाना होगी। अगले दिन सुबह 9 बजे प्रतापगढ़ पहुंचेगी। (02184) प्रतापगढ़-भोपाल एक्सप्रेस हर बुधवार व शनिवार, सोमवार को प्रतापगढ़ से शाम 7:10 बजे चलेगी।   मंगलवार से ही भोपाल शहर को दो और ट्रेनें मिलने जा रही हैं। गाड़ी संख्या 02174 जबलपुर - हजरत निजामुद्दीन सुपरफास्ट एक्सप्रेस स्पेशल एवं गाड़ी संख्या 01271 इटारसी-भोपाल एक्सप्रेस स्पेशल वाया कटनी-बीना का परिचालन भी 01 दिसम्बर से ही शुरू किया जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 1 December 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 266 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 32 हजार के पार पहुंच गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय द्वारा मंगलवार को दी गई जानकारी के अनुसार, राजधानी में बीते 24 घंटों में प्राप्त जांच रिपोर्ट में 266 नये व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद भोपाल में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 31,974 से बढक़र 32,240 हो गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से अब तक 518 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, यहां संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 29 हजार मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 2722 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। भोपाल में 60 फीसदी मरीज घरेलू एकांतवास में उपचार करा रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 1 December 2020

भोपाल। हरियाणा और उससे लगे पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके प्रभाव से हवाओं का रुख एकबार फिर बदलने लगा है। इससे दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है। इसके अतिरिक्त बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। इसके शक्तिशाली होकर चक्रवाती तूफान में बदलकर दो-तीन दिसंबर को तमिलनाडु के तट से टकराने की संभावना है। इसके अतिरिक्त तीन दिसंबर को एक पश्चिमी विक्षोभ के भी उत्तर भारत में पहुंचने के आसार हैं। इन तीन सिस्टम के कारण मौसम का मिजाज और बदलेगा। इससे अभी चार दिनों तक कड़ाके की ठंड से राहत की उम्मीद है।   राजधानी भोपाल में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी हुई है। सोमवार की रात पिछले दिनों की अपेक्षा गर्म रही और मंगलवार सुबह भी सर्दी का एहसास कम हुआ। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि तीन दिन पहले हवा का रुख उत्तरी, उत्तर-पूर्वी होने से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर दिन और रात के तापमान में गिरावट होने लगी थी। हरियाणा पर बने सिस्टम के कारण मौसम में बदलाव होने लगा है। हवा का रुख कभी पूर्वी तो कभी उत्तर-पश्चिमी हो रहा है। इससे तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगी है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम के सोमवार को गहरा अवदाब के क्षेत्र में परिवर्तित हो सकता है। इसके बाद इस सिस्टम के चक्रवाती तूफान में बदलकर दो-तीन दिसंबर को तमिलनाडु के तट से टकराने की संभावना है।   मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ ईरान पर है। उसकी तीन दिसंबर को उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्र में पहुंचने के आसार हैं। इसके प्रभाव से उत्तर भारत में बर्फबारी के साथ बारिश भी होगी, लेकिन हवा का रुख उत्तरी नहीं होने से मप्र में ठंड का असर नहीं होगा। पांच दिसंबर तक पश्चिमी विक्षोभ आगे बढ़ जाएगा। तूफान का असर भी समाप्त हो जाएगा। इससे एकबार फिर हवा का रुख बदलकर उत्तरी हो जाएगा। इससे मप्र में सर्द हवाओं के कारण फिर दिन और रात के तापमान में गिरावट दर्ज होने लगेगी और कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो जाएगा।

Kolar News

Kolar News 1 December 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां दीपावली के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 523 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 42,149 और मृतकों का संख्या 760 हो गई है। इंदौर में लगातार नौवें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 4625 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 523 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 42,149 हो गई है।    वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 760 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 36,745 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 4644 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा दो सौ के पार पहुंचा और दीपावली के बाद यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई है। अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 30 November 2020

इंदौर। प्रदेशभर में आज (सोमवार को) कार्तिक पूर्णिमा का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। श्रद्धालु सुबह से नर्मदा-शिप्रा समेत अन्य नदियों में स्नान कर दान-पुण्य का लाभ उठा रहे हैं। इंदौर में इस अवसर पर शाम को गोधूलि बेला में पितृ पर्वत पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा दीपदान किया जाएगा। गोधूलि बेला मेंं 16 लाख दीप प्रज्ज्वलित किये जाएंगे।   भाजपा के नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा दीपदान के कार्य महापर्व के रूप में मनाया जाएगा। प्रत्येक वार्ड में बूथ समिति तक सभी कार्यकर्ता, प्रत्येक घर व परिवार में इस आयोजन में उपस्थित होने के लिये निमंत्रण देकर सभी से पितृ पर्वत पर आने का आग्रह किया गया है। इस दौरान भगवान राम के धाम अयोध्या से आई जौत से 16 लाख दीप प्रज्ज्वलित कर दीपदान किया जाएगा।   कामाख्या पीठ के महामंडलेश्वर मधुसूदन शास्त्री महाराज ने बताया कि भारतीय संस्कृति में दीपदान का बड़ा महत्व है। भारतीय संस्कृति विश्व की महान संस्कृति मानी गई है। किसी भी शुभ कार्य को सम्पन्न कराने में अग्नि का पहला स्थान होता है। हम सब प्रकृति पूज्य है। हमें जो भी मिला है वह सब प्रकृति से ही मिला है, प्रकृति ही ईश्वर है। आदिकाल से कार्तिक पूर्णिमा के दिन हम नदियों, तालाबों, सागर में दीपदान करते हैं। जिस तरह 16 पितृ माने गये हैं, 16 श्रृंगार होते हैं, इसी को ध्यान में रखते हुए हम इस दिन राष्ट्र की शांति, विश्व की शांति और कोरोना महामारी से विश्व को शीघ्र ही मुक्ति मिले, इसलिये एक साथ पितृ पर्वत पर 16 लाख दीप प्रज्ज्वलित कर प्रकृति व ईश्वर के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धा प्रकट करेंगे।

Kolar News

Kolar News 30 November 2020

इंदौर। गुंडों और माफियाओं के खिलाफ नगरनिगम, प्रशासन और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई शुक्रवार को भी जारी रही। शुक्रवार को शहर की तीन कॉलोनियों में स्थित गुंडों रिंकू चौधरी, सत्यनारायण एवं कालू के अवैध निर्माणों को ढहाया गया। पुलिस की सुरक्षा में नगरनिगम की रिमूवल गैंग ने यह कार्रवाई की।    नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस का एंटी माफिया अभियान शुक्रवार को भी चला। सुबह निगम की टीम दल-बल के साथ महावर नगर, बापू नगर और महादेव नगर पहुंची तथा तीन गुंडों के अवैध निर्माणों को गिराया। इस दौरान परिजनों ने विरोध भी किया। निगम की टीम सबसे पहले महावरनगर पहुंची। यहां बदमाश रिंकू उर्फ रूपेश चौधरी के दो मंजिला अवैध मकान को जमींदोज किया। दूसरी टीम गुंडे सत्यनारायण पिता जगदीश के महावरनगर स्थिति दो मंजिला मकान को ढहाने पहुंची। गुंडे ने पार्क में अवैध रूप से मकान खड़ा कर लिया था। यहां पर टीम ने पहले मकान से सामान को बाहर निकाला। जिसके बाद बुलडोजर से निर्माण को ध्वस्त किया गया। तीसरी टीम बापूनगर वीर सावरकर नगर वार्ड में कार्रवाई करने पहुंची। टीम ने गुंडे कालू के 30 फीट में बने अवैध निर्माण को जेसीबी की मदद से जमींदोज कर दिया।

Kolar News

Kolar News 27 November 2020

भोपाल। निवार तूफान के कमजोर हो जाने के बाद सर्द हवाओं ने जोर पकड़ लिया है। इसके चलते राजधानी भोपाल समेत पूरे मध्यप्रदेश में लोगों को सर्दी का एहसास हो रहा है। हालांकि तापमान में ज्यादा गिरावट दर्ज नहीं की, लेकिन 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से चली ठंडी हवाओं के कारण लोगों को गुरुवार शाम से शुक्रवार सुबह तक ठंड महसूस हुई। प्रदेश में पचमढ़ी और नौगांव सबसे ठंडे रहे। यहां रात का न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। जबकि भोपाल में रात के पारे में एक डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। यहां न्यूनतम तापमान 12.8 डिग्री सेल्सियस तक आ गया।    मौसम विभाग के अनुसार अगले चौबीस घंटों में तापमान में कुछ और गिरावट हो सकती है।  लेकिन ठंड सर्द हवाओं के तेज गति के चलने के कारण रहेगी,  तापमान में ज्यादा अंतर नहीं होगा। विभाग का कहना है कि अब बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। उससे मौसम में फिर बदलाव आएगा। बादल छाने के कारण दिसंबर के पहले सप्ताह में लोगों को ठंड से राहत रहेगी और मौसम भी सामान्य ही रहेगा।   बीते 24 घंटों में पचमढ़ी और नौगांव में न्यूनतम तापमान सबसे कम 9 डिग्री सेल्सियस तक आ गया। खजुराहो में 10 डिग्री सेल्सियस और रायसेन में 10.5 डिग्री सेल्सियस सबसे कम तापमान दर्ज किया गया। इसके अलावा सभी जगह 11 डिग्री से ज्यादा ही न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। सबसे ज्यादा छिंदवाड़ा में 16.5 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान रहा। सिर्फ ठंडी हवाओं के तेज गति से चलने के कारण लोगों को ठंडी महसूस हुई। हालांकि एक-दो दिन इसी तरह तापमान रहेगा। निवार के असर के पूरी तरह खत्म होने के बाद मौसम में फिर बदलाव आएगा।

Kolar News

Kolar News 27 November 2020

ग्वालियर। शहर के जीवाजीगंज मार्ग हनुमान चौराहे के पास स्थित भगवान कार्तिकेय के मंदिर के पट रविवार, 29 नवम्बर को कार्तिक पूर्णिमा के दिन रात 12 बजे खोले जाएंगे। सबसे पहले भगवान कार्तिकेय को स्नान कराकर उनका श्रृंगार व आरती की जाएगी। उसके पश्चात 30 नवबर सोमवार सुबह 4 बजे श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जाएंगे।    बता दें कि भगवान कार्तिकेय का यह मंदिर 450 साल पुराना है। पुजारी परिवार के मुताबिक, साधू संतों के द्वारा प्रतिमा की स्थापना की गई थी। यहां कार्तिकेय भगवान की छह मुख वाली पत्थर की प्रतिमा है, इसमें वह अपनी प्रिय सवारी मोर पर सवार हैं।

Kolar News

Kolar News 27 November 2020

अनूपपुर। थाना जैतहरी अंतर्गत ग्राम धनगवां में युवक ने पारिवारिक विवाद के कारण बीती रात करीब 1.30 से 2 बजेे के बीच अपन सगे भाई-भाभी और दो बच्चों को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया और उसके बाद खुद भी फांसी के फंदे पर झूलकर खुदकुशी कर ली। पुलिस की ओर से घटना के संदर्भ में बताया गया कि आरोपी मृतक दीपक विश्वकर्मा का अपने भाई से विवाद था, आए दिन इस झगड़े से वह मानसिक रूप से काफी परेशान था। बुधवार-गुरूवार की बीती रात जब भाई- भाभी,भतीजी और भतीजा सब सो रहे थे उसी दौरान उसने सब को आग के हवाले कर दिया। मृतकों में 35 वर्षीय भाई ओंकार विश्वकर्मा, भाभी कस्तूरिया विश्वकर्मा तथा 17 बर्षीय भतीजी की मौके में मृत्यु हो गई, जबकि 05 साल का भतीजा जिसे गंभीर हालत में अनूपपुर फिर शहडोल रेफर कर दिया गया है।

Kolar News

Kolar News 26 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां एक सप्ताह से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 572 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 39,962 और मृतकों का संख्या 746 हो गई है। इंदौर में लगातार पांचवें दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 4954 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 572 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 39,962 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 746 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 35,324 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 3896 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा पहले दो सौ के पार हुआ और अब यह संख्या पांच सौ के पार पहुंच गई है। अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडक़म्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है। 

Kolar News

Kolar News 26 November 2020

अशोकनगर। कोविड-19 के चलते स्थगित चल रही ट्रेन ग्वालियर-भोपाल इंटरसिटी एक्सप्रेस आगामी 26 नवम्बर से स्पेशल ट्रेन के रूप में शुरू होगी। अशोकनगर स्टेशन रेल प्रबंधक बीएल मीणा ने मंगलवार को हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि इंटरसिटी ट्रेन अब कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए स्पेशल ट्रेन के रूप में 26 नवम्बर से शुरू होगी।    बताया गया कि अब स्पेशल इंटरसिटी ट्रेन में सभी आरक्षित चेयरकार कोच उपलब्ध रहेंगे, सामान्य दर्जे के कोच उपलब्ध नहीं होंगे। वहीं बताया गया कि यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेन में एक एसी चेयरकार कोच की सुविधा भी प्रदान की गई है।

Kolar News

Kolar News 24 November 2020

भोपाल। नशामुक्त भारत अभियान 15 अगस्त से 31 मार्च 2021 के मध्य देश के 15 जिलों में चलाया जा रहा है। सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन विभाग के प्रमुख सचिव प्रतीक हजेला ने मंगलवार को इस अभियान के लिये गठित राज्य स्तरीय समिति की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि इस अभियान में विभिन्न विभागों के साथ समन्वय कर उनके द्वारा नामांकित दो-दो सदस्यों को ट्रेनिंग के लिए ट्रेंड किया जाएगा।   प्रमुख सचिव ने बताया कि प्रारंभ में यह अभियान प्रदेश के भोपाल, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, ग्वालियर, सागर, होशंगाबाद, छिंदवाडा, नीमच, दतिया, रीवा, मंदसौर, रतलाम, नरसिंहपुर, सतना में चलाया जा रहा है। इस अभियान का प्रारंभिक उद्देश्य ऐसे व्यक्ति जो नशा नहीं करते और भविष्य में भी नशे से कैसे दूर रहें, के बारे में उन्हें जागरूक किया जाना है। इस योजना के तहत विभिन्न विभागों में नामांकित दो व्यक्तियों को जिला ट्रेनर्स के रूप में ट्रेंड किया जाएगा।   उच्च शिक्षा विभाग हजेला ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग के दो व्यक्तियों को उपरोक्त 15 जिलों में दो-दो ट्रेनर्स के रूप में ट्रेनिंग दी जायेगी। कोरोना के कारण ये ट्रेनर्स वेबिनार के माध्यम से बतायेंगे कि नशे से आगे भी कैसे बचा जाए एवं उनसे होने वाली बुराईयों से अवगत करायेंगे।   महिला बाल विकास विभाग नशामुक्त अभियान में महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखकर महिला बाल विकास विभाग के अन्तर्गत महिला वकर्स को ट्रेंड किया जायेगा। इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग से आशा केडर के सदस्यों को ट्रेनिंग दिये जाने पर भी चर्चा की गई।   बैठक में रेनू तिवारी, आयुक्त सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन एवं पुलिस, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, महिला एवं बाल विकास, नारकोटिक्स, उच्चशिक्षा विभाग के समिति के सदस्य प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Kolar News

Kolar News 24 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 565 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 38,812 और मृतकों का संख्या 738 हो गई है। इंदौर में लगातार तीसरे दिन कोरोना के 500 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। इससे पहले गत दिवस यहां एक दिन में सर्वाधिक 586 नये संक्रमित मिले थे, जबकि उससे एक दिन पहले यह संख्या 546 थी।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 5611 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 565 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 38,812 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 738 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 34,725 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 3349 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    गौरतलब है कि नवम्बर के पहले सप्ताह में इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या 100 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही यह आंकड़ा पहले दो सौ के पार हुआ और फिर यहां संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ते हुए यह आंकड़ा तेजी से बढ़ते हुए पांच सौ के पार पहुंच गया। इतनी अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हडकम्प का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं लोगों में फिर कोरोना की दहशत फैल गई है।

Kolar News

Kolar News 24 November 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में बीते पांच दिनों से कोरोना के नये मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यहां पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1701 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 10 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या एक लाख 94 हजार 745 और मृतकों की संख्या 3172 हो गई है।  यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा सोमवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर-586, भोपाल-349, ग्वालियर-108, जबलपुर-47, रतलाम-65, उज्जैन-39, धार-24, सागर-44, खरगौन-28, विदिशा-37, रीवा-34, शिवपुरी-23, सीधी-29, देवास-28 के अलावा अन्य जिलों में 20 से कम मरीज मिले हैं।बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 29,926 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1701 पॉजिटिव और 28,225 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 213 सेम्पल रिजक्ट हुए। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1,93,044 से बढ़कर 1,94,745 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 38,247, भोपाल 29,701, ग्वालियर, 14,022, जबलपुर 13,789, खरगौन 4209, सागर 4183, उज्जैन 3871, रतलाम-3223, धार-3178, होशंगाबाद 3170, नरसिंहपुर 3156,शिवपुरी-3139, रीवा-3095, मुरैना 3008, बैतूल 2820, शहडोल 2734, सतना-2664, विदिशा-2569, नीमच 2574, बालाघाट-2500, छिंदवाड़ा 2420, दमोह-2317, सीहोर-2291, बड़वानी 2286, मंदसौर 2258, देवास 2156, रायसेन-2018, खंडवा 1945, राजगढ़-1955, कटनी 1882, झाबुआ 1875, अनूपपुर 1859, छतरपुर 1746, हरदा 1788, सीधी 1662, सिंगरौली 1608, दतिया 1578, शाजापुर 1460,  सिवनी 1315, भिण्ड 1314, श्योपुर 1197, गुना-1124, टीकमगढ़ 1102, अलीराजपुर 1088, उमरिया 1081, मंडला-1065, पन्ना 880, डिंडौरी 856, अशोकनगर 869, बुरहानपुर 798, आगरमालवा 536 और निवाड़ी 514 मरीज शामिल हैं। राज्य में आज कोरोना से 10 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर के तीन, ग्वालियर के दो और भोपाल, खरगौन, सागर, दमोह व हरदा के एक-एक मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 3162 से बढ़कर 3172 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 735, भोपाल 506, उज्जैन 99, बुरहानपुर 26, खंडवा 54, जबलपुर 218, खरगौन 73, ग्वालियर 176, धार 52, मंदसौर 25, नीमच 35, सागर 134, देवास 24, रायसेन 37, होशंगाबाद 55, सतना 39, आगरमालवा 10, झाबुआ 20, अशोकनगर 16, शाजापुर 22, दतिया 19, छिंदवाड़ा 38, सीहोर 48, उमरिया 15, रतलाम 64, बड़वानी 21, मुरैना 26, राजगढ़ 57, श्योपुर 10, टीमकगढ़ 26, रीवा 31, गुना 17, हरदा 28, कटनी 16, सीधी 10, शिवपुरी 26, अलीराजपुर 13, भिंड 08, बैतूल 64, नरसिंहपुर 27, सिवनी 10, सिंगरौली 24, छतरपुर 30, विदिशा 52, दमोह 70, बालाघाट 11, अनूपपुर 14, शहडोल 28, निवाड़ी 01,मंडला 09, डिंडौरी 01 और पन्ना के तीन व्यक्ति हैं। बुलेटिन में राहत की खबर यह है कि राज्य में अब तक 1,79,237 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 1120 मरीज सोमवार को स्वस्थ हुए। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 12,336 हैं।

Kolar News

Kolar News 23 November 2020

उज्जैन। भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन में प्रशासन की सख्ती के बावजूद कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। बीते 24 घंटों में जिले में कोरोना के 39 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4070 हो गई है।    उज्जैन सीएमएचओ कार्यालय द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, जिले में बीते 24 घंटों के दौरान 1061 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 39 नये लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। नये मरीजों में 26 उज्जैन शहर, नागदा कस्बे के 12 और घटिया तहसील का एक व्यक्ति शामिल है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 4070 हो गई है। हालांकि, जिले में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर पहुंच रहे हैं। जिले में अब तक 3755 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज 217 है, जिनका उपचार चल रहा है। वहीं, जिले में अब तक कोरोना से 98 लोगों की मौत हो चुकी है।

Kolar News

Kolar News 23 November 2020

ग्वालियर। कोविड संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के पांच शहरों के साथ ही ग्वालियर में भी रात दस से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। रविवार को पौने दस बजे ही पुलिस चौराहों पर पहुंच गई और दुकानें बंद कराने के साथ ही लोगों को खदेड़ दिया, जिससे दस बजे शहर की सड़कें खाली हो गईं। रात में कई स्थानों पर लगने वाले चाय के ठेले भी पुलिस ने बंद करा दिए। चाय के ठेले बंद होने से रात में ड्यूटी करने वाले चाय तक के लिए तरस गए। शहर के कुछ हिस्सों में पुलिस की गैर-मौजदूगी के चलते देर रात तक लोगों की चहल-पहल बनी रही।शनिवार की रात से शहर में रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू हुआ है। पहली रात पुलिस ने कड़ाई शुरू कर दी थी और रविवार को भी पुलिस को बाजार बंद कराने पड़े। रात 10 बजने से पहले ही शहर के सभी थानों की पुलिस सड़कों पर निकल आई और जो भी सड़क पर दिखा, उसे खदेड़ दिया। जो प्रेम से समझा उसे प्रेम से समझाया और जिसने ऐंठ दिखाई उसे उसी तरीके से बताया गया। रात दस बजे तक पुलिस ने सभी बाजार बंद कराकर लोगों को उनके घरों के लिए रवाना कर दिया। रात में नर्सिंग होम में काम करने वाले तथा यहां पर भर्ती मरीजों के परिजन तथा अन्य घूमने-फिरने वाले चाय के शौकीन लोग चाय की चुस्की के लिए भटकते देखे गए, लेकिन पहले से तैयारी किए बैठी पुलिस ने महाराज बाड़ा, दाल बाजार, रेलवे स्टेशन व बस स्टैण्ड पर एक भी चाय के ठेले को लगने ही नहीं दिया। देर रात जो भी वाहन सड़क पर मिला, पुलिसकर्मियों ने उनको रुकवाया और पूछताछ के बाद सख्त हिदायत दी। बगैर कारण जो लोग मिले, उन्होंने माफी मांगी और जो काम से निकले थे उन्हें पुलिस ने जाने दिया।

Kolar News

Kolar News 23 November 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश और आसपास बने वेदर सिस्टम के कारण पिछले दो दिनों से कई स्थानों पर बारिश हो रही थी। गुरुवार को भी दमोह में सात और सतना में तीन मिमी. बरसात दर्ज हुई। प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर अभी भी आंशिक बादल बने हुए हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक वेदर सिस्टम अब कमजोर पड़ गए हैं। साथ ही हवा का रुख भी अब कुछ बदलने लगा है। इससे अब रात के तापमान में 22 नवम्बर तक धीरे-धीरे गिरावट होगी। 22 नवम्बर के बाद एक बार फिर मौसम के मिजाज में बदलाव होगा। इसके बाद फिर प्रदेश में कुछ स्थानों पर बरसात होने की संभावना है।   राजधानी भोपाल में शुक्रवार शाम से ठंड का अहसास हो रहा है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर पर बना हुआ है। साथ ही बुधवार से एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) दक्षिण-पूर्वी मप्र से सिक्किम तक बनी हुई है। पश्चिमी मप्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन तीन सिस्टम के कारण हवाओं का रुख पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी बना हुआ था। हवा के साथ नमी आने के कारण बादल छाए हुए थे और राजधानी सहित कई क्षेत्रों में बारिश भी हुई थी। बादलों के कारण दिन के तापमान में तो कमी आने लगी थी, लेकिन रात के तापमान बढ़े हुए थे। गुरुवार को पश्चिमी मप्र पर बना सिस्टम और प्रदेश से सिक्किम तक बना सिस्टम कमजोर पड़ गए हैं। इससे हवाओं का रुख भी गुरुवार शाम से पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी होने लगा है। उधर जम्मू-कश्मीर पर बने पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी हो रही है।   मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढऩे के साथ ही प्रदेश में उत्तरी हवाओं का दखल बढऩे की संभावना है। इससे सर्द हवाओं के कारण राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान में गिरावट होने लगेगी। रात के पारे के लुढक़ने का सिलसिला 22 नवंबर तक जारी रहने के आसार हैं। इसके बाद एक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में दस्तक देने जा रहा है। उसके असर से एक बार फिर हवाओं का रुख बदलेगा। नमी आने के कारण प्रदेश में फिर बरसात होने की संभावना बनेगी।

Kolar News

Kolar News 20 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों और मृतकों की संख्या फिर बढऩे लगी है। नवम्बर के पहले सप्ताह में यहां 100 से कम नये मरीज मिल रहे थे, लेकिन दूसरे सप्ताह से यह आंकड़ा लगातार बढ़ते हुए अब तीन सौ के पार पहुंच गया है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 313 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 36,623 और मृतकों का संख्या 726 हो गई है।     इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 3391 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 313 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 36,623 हो गई है।    वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 726 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 33,573 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 2324 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 20 November 2020

भोपाल/इंदौर। मध्यप्रदेश में भी चार दिवसीय छठ महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाये '' जैसे पारम्परिक छठ महापर्व के लोकगीतों के बीच शुक्रवार को प्रदेश के अधिकांश शहर के विभिन्न छठ घाटों पर बिहार एवं पूर्वांचल के हजारों लोगों ने भगवान भास्कर के डूबते स्वरूप को अर्घ्य देकर घर परिवार, समाज एवं देश के सुख समृद्धि एवं शान्ति तथा कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए कामनाएं की। छठी मैया के मन को झंकृत कर देने वाली लोक गीतों के बीच सभी घाटों का नजारा भक्तिमय हो गया। इन घाटों पर ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे मालवांचल में सम्पूर्ण बिहार एवं पूर्वांचल उतर आया हो।    शुक्रवार को दोपहर पश्चात छठ घाटों पर छठ उपासकों छोटे छोटे समूहों में आना शुरू हो गया और शाम 4 बजते बजते छठ व्रती महिलाएं-पुरुष मुंह पर मास्क लगाए प्रसाद से भरे बांस की टोकरियां लेकर इन घाटों पर पहुंच चुके थे। छठी मैया के मनभावन लोक गीतों से सम्पूर्ण वातावरण में भक्ति एवं आस्था के रंग में लोग रचे नजर आ रहे थे और एक दूसरे को छठ महापर्व की शुभकामनाएं दे रहे थे। यह पहला अवसर था जब श्रद्धालु मुंह पर मास्क लगाकर घाट पर पहुंचे थे और सभी ने एक-दूसरे से दूरी बनाकर सूर्यदेव को अर्घ्य दिया।   पूर्वोत्तर सांस्कृति संस्थान के प्रदेश महासचिव केके झा ने बताया कि जैसे ही भगवान् भास्कर अस्ताचल में सामने लगे, जल कुंड में खरी व्रतधारी महिलाओं एवं पुरुषों ने प्रसाद से भरी टोकरियों को अपने हाथों में लेकर सूर्यदेव को अर्घ्य देना प्रारम्भ किया। डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के पश्चात व्रतियों ने अपने परिवार,  सम्बन्धियों के साथ प्रसाद लेकर पुन: अपने  घरों को प्रस्थान किया। कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण बहुत सारे श्रद्धालुओं ने अपने अपने घरों पर कृत्रिम जलकुण्डों पर अस्ताचलगामी सूर्यदेव को अर्घ्य दिया तथा प्रदेश, देश को कोरोना महामारी के प्रकोप से मुक्ति की कामनाएं की। भोपाल, इंदौर समेत प्रदेश के सभी बड़ों शहरो में यह आयोजन हुआ।   शनिवार को उदयीमान सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा   सूर्य उपासना का यह पर्व शनिवार, 21 नवम्बर को सुबह उगते सूर्य को अघ्र्य देने के पश्चात समाप्त होगा।

Kolar News

Kolar News 20 November 2020

भोपाल/इंदौर। मध्यप्रदेश में भी चार दिवसीय छठ महापर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस पर्व के दूसरे दिन गुरुवार को छठ व्रतियों के घरों में खरना का आयोजन हुआ। दिनभर व्रत रखने के पश्चात व्रतियों ने शाम को गंगाजल मिश्रित जल से स्नान करने के पश्चात भगवान सूर्य का ध्यान कर छठ मईया का पूर्ण विधि विधान से पूजा किया। उसके बाद मिटटी के बने चूल्हे पर पूर्ण स्वछता एवं पवित्रता के साथ अरवा चावल, दूध व गुड़ की खीर और  गेहूं की रोटी का प्रसाद बनाकर कर भगवान सूर्य और छठ मईया को समर्पित करने के पश्चात, उसे ग्रहण किया। इसके साथ ही व्रतियों का 36 घंटे का न निर्जला उपवास शुरू हो गया।   छठ महापर्व के तीसरे दिन शुक्रवार को प्रदेश के सभी शहर एवं इसके आसपास क्षेत्रों में बसे पूर्वांचल के हजारों छठ व्रतधारी कोरोना काल में सामाजिक दूरी एवं कोरोना से बचने के सभी सावधानियों का निर्वहन करते हुए प्राकृतिक जलाशयों, कृत्रिम जलकुण्डों में खड़े  होकर गोधूलि बेला में अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देंगे। कोरोना को देखते हुए समाज के बहुसंख्यक लोगों ने बड़े छठ पूजा आयोजन समितियों के आवाहन इस वर्ष सार्वजनिक जलाशयों की अपेक्षा अपने-अपने घर के छतों एवं प्रांगणों में कृत्रिम जलकुण्डों का निर्माण किया है, जिसमें सूर्यदेव को अघ्र्य दिया जाएगा और अपनी संतानों, परिवारों के अच्छे स्वास्थ्य, उनके दीर्घायु एवं सुख समृद्धि की कामना की जाएगी।   पूर्वोत्तर सांस्कृतिक संस्थान के महासचिव केके झा ने बताया कि गुरुवार को सुबह से ही समस्त पूर्वांचल परिवारों में, खासकर छठ व्रतियों के घरों में उत्सव एवं उल्लास का माहौल था। जहां परिवार की महिलाएं अपने अपने घरों की साफ-सफाई कर खरना का प्रसाद बनाने में व्यस्त थीं, वही दूसरी तरफ घर के पुरुष छठ पूजा एवं पूजा में उपयोग होने वाले फलों की खरीदारियों में व्यस्त रहे। प्रसाद के रूप में महिलाओं ने  गुर एवं गेहूं, घी मिश्रित ठेकुआ के अलावा चावल के भुसवा, इत्यादि का प्रसाद मिट्टी के बने चूल्हे पर बनाया।   उन्होंने बताया कि गुरुवार को दिनभर व्रत रखने के पश्चात व्रतियों ने शाम को गंगाजल मिश्रित जल से स्नान करने के पश्चात भगवान सूर्य का ध्यान कर छठ मईया का पूर्ण विधि विधान से पूजा किया। उसके बाद मिटटी के बने चूल्हे पर पूर्ण स्वछता एवं पवित्रता के साथ अरवा चावल, दूध व गुड़ की खीर और  गेहूं की रोटी का प्रसाद बनाकर कर भगवान सूर्य और छठ मईया को समर्पित करने के पश्चात उसे ग्रहण किया। इसके साथ ही व्रतियों का 36 घंटे का न निर्जला उपवास शुरू हो गया। व्रती अपने निर्जला उपवास का पारण शनिवार, 21 नवम्बर को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के पश्चात करेंगे। इससे पहले शुक्रवार को व्रती महिलाएं अस्ताचलगांमी सूर्य को अर्घ्य देकर विधि-विधान से पूजन अर्चन करेंगी।    संसथान के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर जगदीश सिंह, महासचिव केके  झा, सचिव अजय कुमार झा ने कहा कि छठ महापर्व अब मात्र सिर्फ बिहार एवं उत्तर प्रदेश का पर्व नहीं है। इस पर्व ने राष्ट्रिय स्वरुप ले लिया है। बिहार एवं उत्तर प्रदेश ही नहीं, मध्यप्रदेश के साथ भारत के अन्य क्षेत्रों के लोग भी बढ़-चढ़ कर इस महापर्व में भाग लेकर सूर्यदेव की उपासना करते हैं। उन्होंने कहा कि देश के कई प्रदेशों की तरह मध्य प्रदेश सरकार भी प्रदेश में बहुत बड़ी संख्या में पूर्वांचल के लोगों की धार्मिक भावना एवं आस्था को ध्यान में रखते हुए छठ पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करे।

Kolar News

Kolar News 19 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों और मृतकों की संख्या फिर बढऩे लगी है। नवम्बर के पहले सप्ताह में यहां 100 से कम नये मरीज मिल रहे थे, लेकिन दूसरे सप्ताह में यह आंकड़ा सौ के पार और अब 250 के पार पहुंच गया है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 255 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 36,310 और मृतकों का संख्या 722 हो गई है।     इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 2792 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 255 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 36,310 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 722 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 33,425 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2163 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 19 November 2020

भोपाल/ग्वालियर। मध्यप्रदेश में सूर्य उपासना का महापर्व छठ धूमधाम से मनाया जा रहा है। बुधवार को नहाय खाय और सूर्य पूजा के साथ इसकी शुरुआत हुई। चार दिवसीय महापर्व के लिए श्रद्धालुओं में अल सुबह से ही खासा उत्साह देखा जा रहा है। राजधानी भोपाल के शनि मंदिर प्रांगण कमला पार्क पर दोपहर बुधवार दोपहर 12 बजे से 19 नवम्बर गुरुवार तक खरना, 20 नवम्बर शुक्रवार को डूबते हुए सूर्य को पूजा अर्चना के उपरांत कमर भर पानी में खड़े होकर डूबते हुए सूर्य देव को ठेकुआ पकवान एवं ऋतु फल बांस के सूपा में सजा कर अक्षत दीप धूप जल से सामूहिक रूप से अध्र्य अर्पित करेंगे।  इस बार छठ महापर्व पर कई शुभ संयोग बन रहे हैं।   बालाजी धाम काली माता मंदिर के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित सतीश सोनी ने बताया कि सूर्य देव की बहन छठ पर्व इस बार छठ महापर्व पर ग्रह गोचरओं का शुभ संयोग बन रहा है। आगामी 20 नवम्बर की  शाम सूर्य को अध्यर्य सर्वार्थ सिद्धि योग और 21 नवम्बर को उदीयमान सूर्य को अध्र्य सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ-साथ ही पुष्कर योग में दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि छठ पूजा चार दिवसीय व्रत के दौरान संतान की दीर्घायु के लिए व्रत करने वाले को लगातार 36 घंटे व्रत रखना होता है। इस योग में पूजा से परिवार में सुख समृद्धि के साथ धन की वृद्धि होगी साथ ही इस व्रत को करने से रोग शोक पीड़ा आदि से मुक्ति भी मिलती है।   ज्योतिषाचार्य सोनी ने बताया कि देव गुरु बृहस्पति 20 नवंबर को दोपहर 1:30 पर अपनी राशि से निकलकर मकर राशि में चले जाएंगे, मकर राशि में पहले से ही शनि मौजूद है, जो 6 अप्रैल 2021 तक गुरु और शनि मकर राशि में ही रहेंगे। शनि का अपनी ही राशि में होना और उसके साथ गुरु का होना नीच भंग राजयोग बना रहा है। बृहस्पति नीच राशि में आने के बाद अनिष्ट फल तो नहीं देगा, लेकिन उसके शुभ प्रभाव में कमी जरूर होगी। ग्रहों की यह युक्ति बड़े बदलाव के संकेत दे रही है। लंबे समय से जो लोग प्रमोशन के इंतजार में थे, उनका स्थान परिवर्तन मिलने के संकेत मिल सकते हैं। देश की अर्थव्यवस्था पर भी इसका असर देखने को मिलेगा, साथ ही शिक्षा क्षेत्र में कई तब्दीलियां होंगी। राजनीति से जुड़े लोगों का जनता सहयोग करती दिखेगी।

Kolar News

Kolar News 18 November 2020

ग्वालियर। सर्दी के मौसम में कोविड-19 संक्रमित मरीजों में सबसे सामान्य लक्षण निमोनिया का दिख रहा है। निमोनिया होने पर समय पर इलाज नहीं लेने के कारण मरीज के निमोनिया से दोनों ही फेफड़ों में श्वसन की थैली में तरल पदार्थ या ड्रॉपलेट की नमी भरने की वजह से सूजन आ रही है, जिसके कारण ऐसे मरीजों को सांस लेने में गंभीर परेशानी आ रही है। इसी कारण कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है।   जेएएच के मेडिसन विभाग के प्रो. डॉ. अजय पाल ने बुधवार को बातचीत में बताया कि पांच साल की उम्र के बच्चों से लेकर बुजुर्गों को कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने का कारण मुख्यत: निमोनिया का समय पर पता नहीं चलना सामने आ रहा है। जिसकी वजह से ही निमोनिया से पीडि़त होने वाले मरीजों को कोविड संक्रमित सबसे अधिक अटैक कर अपना शिकार बना रहा है। निमोनिया का प्रभाव शरीर में बढ़ते ही मरीज के फेफड़े सबसे अधिक संक्रमित होने के मामले अभी तक इलाज के दौरान सामने आ रहे हैं।    कोविड एक्सपर्ट चिकित्सकों के अनुसार नए कोरोना वायरस सार्स-सीओवी-2 से होने वाले इंफेक्शन कोविड-19 की शुरुआत तब होती है, जब श्वसन बूंदों में मौजूद वायरस हमारे शरीर में मौजूद ऊपरी श्वसन पथ में प्रवेश करता है। जैसे-जैसे वायरस की संख्या बढऩे लगती है, इंफेक्शन फेफड़ों में मौजूद हवा की छोटी-छोटी थैलियों और आसपास के पाट्र्स को नुकसान पहुंचाता है। इस दौरान आपका इम्यून सिस्टम जैसे ही वायरस से लडऩा शुरु करता है, फेफड़ों में तरल पदार्थ और मृत कोशिकाओं की संख्या बढऩे लगती है। इससे मरीज को सांस लेने में सबसे अधिक परेशानी होने के साथ मरीज का स्वास्थ्य तेजी से बिगडऩे लगता है। 

Kolar News

Kolar News 18 November 2020

जबलपुर। शहर में मौसम का मिजाज एक बार फिर बदलने लगा है। उत्तरी पाकिस्तान के ऊपर बने कम दबाब के क्षेत्र के कारण अगले कुछ दिनों में जबलपुर में भी बादल छाए रहेंगे। अगले दो- चार दिनों में हल्की बूंदाबांदी की भी संभावना है। दक्षिण-पश्चिम से आ रही हवाओं के कारण दिन और रात में उसस भरी गर्मी महसूस की जा रही थी, हालांकि पहाड़ों में हुई बर्फबारी से हवाओं का रुख उत्तर- पूर्वी हो गया है। जिसके कारण मंगलवार को हल्की ठंड महसूस की गई।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि अक्टूबर के शुरूआती दौर में दिन गर्म और रातें ठंडी होने लगती हैं। नवंबर में ठंड का असर तेज हो जाता है। खास तौर से दीपावली के बाद। लेकिन दक्षिण-पश्चिम हवाएं चलने से दिन और रात का तापमान बढ़ गया है। पिछले पांच दिनों से पारा स्थिर है।   जबलपुर सहित पूर्वी मप्र में रहेगा बादलों का डेरामौसम विभाग के मुताबिक अभी उत्तर पूर्वी हवाएं चल रही है लेकिन एक दो दिन में पाकिस्तान के ऊपर बने कम दबाब के क्षेत्र के असर से जबलपुर सहित पूर्वी मध्यप्रदेश में बादल छाए रहेंगे। कहीं कहीं हल्की बूंदाबांदी भी हो सकती है।   नही बढ़ेगी ठंड मौसम विभाग की माने तो अभी ठंड नही बढ़ेगी। बादलों की आवाजाही के कारण दिन और रात का तापमान स्थिर रहेगा। पिछले पांच दिनों से अधिकतम तापमान जहां 30- 31 डिग्री के बीच बना हुआ है, वहीं न्यूनतम तापमान 17- 18 डिग्री सेल्सियस के बीच स्थिर है। मंगलवार को भी अधिकतम तापमान 31.8 न्यूनतम तापमान 17.8 डिग्री सेल्सियस रहा। जो सामान्य से चार डिग्री अधिक रहा।

Kolar News

Kolar News 18 November 2020

ग्वालियर। रेल प्रशासन महिला यात्रियों को कई प्रकार की सुविधा उपलब्ध करा रहा है। इसी क्रम में अब प्लेटफार्म और वेटिंग रूम में ट्रेन का इंतजार करने वाली महिला यात्रियों को बैठने के लिए लगी कुर्सियां आरक्षित करेगा। इन कुर्सियों पर सिर्फ महिला बैठ सकेंगी। इसकी शुरुआत जल्द ग्वालियर स्टेशन पर शुरू होने वाली है।   उत्तर मध्य रेलवे झांसी मंडल के जनसम्पर्क अधिकारी मनोज कुमार सिंह ने मंगलवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि कोविड काल के चलते ट्रेन के प्लेटफार्म पर पहुंचने से कुछ ही देर पहले ही मुसाफिरों को एंट्री दी जा रही है। हालांकि, रेलवे जल्द ही अन्य ट्रेनों का परिचालन शुरू करने जा रहा है, जिससे ग्वालियर आने व जाने वाली ट्रेनों की संख्या भी आने वाले दिनों में बढ़ेगी। ऐसे में ट्रेनों का इंतजार करने वाली महिला यात्रियों को प्लेटफार्म पर लगी कुर्सियों पर बैठने की जगह मिल सके, इसके लिए अब प्लेटफार्म पर कुछ सीटें महिला यात्रियों के लिए आरक्षित रहेंगी। जिससे ट्रेन के लेट होने की दशा में इन महिला यात्रियों को खड़े होकर ट्रेनों का इंतजार नहीं करना पड़ेगा।   वेटिंग रुम में भी लागू होगी व्यवस्था   उन्होंने बताया कि प्लेटफार्म नम्बर एक व चार पर स्थित वेटिंग हॉल में लगी कुर्सियों में से एक कतार सिर्फ महिलाओं के बैठने के लिए जल्द ही खोले जाने के बाद रिजर्व रहेगी। साथ ही झांसी रेल मण्डल अन्य सुविधाओं का जल्द ही विस्तार कर स्टेशन पर पहुंचने वाली महिला यात्रियों को उपलब्ध कराएगा।

Kolar News

Kolar News 17 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों और मृतकों की संख्या फिर बढऩे लगी है। नवम्बर के पहले सप्ताह में यहां 100 से कम नये मरीज मिल रहे थे, लेकिन दूसरे सप्ताह में यह आंकड़ा फिर सौ के पार पहुंच गया है। बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 178 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 35,861 है और मृतकों का संख्या 716 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 1999 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 178 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 35,861 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 716 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 33,202 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1945 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 17 November 2020

भोपाल। पश्चिमी विक्षोभ के जम्मू-कश्मीर पहुंचने और झारखंड में प्रति चक्रवात के सक्रिय रहने से हवाओं का रुख पूर्वी, दक्षिण-पूर्वी बना हुआ है। उत्तर भारत में बर्फबारी का असर मप्र में दिखाई पड़ रहा है। यहां भोपाल समेत प्रदेश के 32 से ज्यादा जिलों में रात का तापमान सामान्य से 2 से 5.8 डिग्री तक ज्यादा बढ़ गया है। पिछले कुछ दिनों से रात में पड़ रही तेज ठंड गायब है। सोमवार को सुबह से तीखी धूम खिली हुई है और सर्दी का अहसास कम हो रहा है।    उधर दीपावली के उपलक्ष्य में राजधानी सहित पूरे प्रदेश में जोरदार आतिशबाजी हुई। इस वजह से भी शनिवार के मुकाबले रविवार को न्यूनतम तापमान में इजाफा हुआ है। वातावरण में नमी बढऩे के कारण कई स्थानों पर आंशिक बादल बने हुए हैं। मौसम विभाग के मुताबिक 17 नवम्बर के बाद न्यूनतम तापमान में गिरावट होने लगेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि हवा का रुख पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी बना हुआ है। इससे अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से लगातार नमी आ रही है। इससे बादल छाने लगे हैं और न्यूनतम तापमान बढ़ रहा है। दीपावली पर्व होने की वजह से शाम से लेकर देर रात तक शहर में रुक-रुककर आतिशबाजी होती रही। इससे वातावरण में नमी और धुएं के कारण धुंध सी छा गई। इससे न्यूनतम तापमान में 0.5 डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई।   दो दिन बाद ठंड बढऩे के आसारपश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर में है। इस वजह से उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी और बरसात शुरू हो गई है, लेकिन हवा का रुख उत्तरी नहीं होने से प्रदेश में दिन और रात के तापमान बढ़े हुए हैं। इसके अतिरिक्त एक प्रति चक्रवात झारखंड और उसके आसपास बना हुआ है। इससे भी हवा का रुख बदला हुआ है। 17 नवंबर को पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढऩे से हवा का रुख बदलकर उत्तरी होने की संभावना है। इसके बाद राजधानी सहित पूरे प्रदेश में सर्द हवाओं के कारण दिन और रात के तापमान में गिरावट दर्ज होने लगेगी।

Kolar News

Kolar News 16 November 2020

ग्वालियर। जिस पश्चिमी विक्षोभ की वजह से कुछ दिन पहले समूचा ग्वालियर अंचल ठिठुरने लगा था, अब उसी की वजह से ठंड से राहत मिली है। शुक्रवार को सुबह अन्य दिनों की अपेक्ष कम ठंड रही। सुबह 8:30 बजे हल्के बादल भी छा गए। हवा में नमी 85 फीसदी पर पहुंच गई। सुबह 8:30 बजे तक तापमान 17.4 डिग्री पर पहुंच गया, जिससे लोगों को ठंड से राहत रही। न्यूनतम तापमान सामान्य से 0.7 डिसे कम रहा और हवा में नमी की मात्रा सामान्य से 20 फीसदी अधिक रही। मौसम विभाग के अनुसार दिन के तापमान में भी इजाफा हो सकता है। क्योंकि उत्तर की हवा थम गई है।    जम्मू कश्मीर से 14 नवम्बर को पश्चिमी विक्षोभ गुजरने वाला है। इसके असर से मैदानी इलाके का मौसम प्रभावित होगा। राजस्थान सहित ग्वालियर-चंबल संभाग के मौसम को ज्यादा प्रभावित करेगा। 15 नवम्बर को बादल छाने के साथ-साथ गरज-चमक के साथ बारिश के आसार बन रहे हैं। बारिश व बादलों की वजह से ठंड में गिरावट आएगी। और न्यूनतम तापमान बढ़ेगा। इस वजह से दीपावली पर ठंड से राहत रहने वाली है। जैसे ही पश्चिमी विक्षोभ गुजर जाएगा, वैसे ही तापमान में तेजी से गिरावट आएगी और कोहरे के साथ ठंड बढ़ेगी। रात के साथ-साथ दिन के तापमान में तेजी से गिरावट आएगी। दिन में गर्म कपड़े पहनने की जरूरत पड़ने लगेगी।

Kolar News

Kolar News 13 November 2020

नागदा /उज्जैन। पंजाब में किसान आंदोलन के कारण  रेलमार्ग पर असर पड़ा है। कुछ रेलगाडिय़ों का मार्ग बदला गया है तो कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने शुक्रवार को प्रेस बयान जारी किया है। जिसके अनुसार प्रभावित ट्रेनों का विवरण इस प्रकार है-   1. आज 13 नवंबर 2020 को छुटने वाली ट्रेन नंबर 02919 डॉ. अंबेडकर नगर-श्री माता वेष्णोदेवी कटरा स्पेशल ट्रेन को रद्द किया गया। 2 . 15 नवंबर 2020 को छुटने वाली ट्रेन 02920 श्री माता वेष्णोदेवी कटरा-डॉ. अंबेडकर नगर स्पेशल ट्रेन को भी रद किया गया।             शार्ट-टर्मिनेटेड/ शार्ट ओरिजनेटेड ट्रेनों का विवरण 1.  12 नवंबर 2020 को छुटने वाली ट्रेन नंबर 02903 मुंबईसेट्रल- अमृतसर स्पेशल ट्रेन को अंबाला कैट में शार्ट टर्मिनेट किया जाएगा तथा यह अंबाला कैट और अमृतसर के बीच आंशिक रूप से रद्द रहेगी। 2.  इसी प्रकार से 14 नवंबर को छुटने वाली ट्रेन नंबर 02904 अमृतसर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन अंबाला कैट से शुरू होगी तथा अमृतसर और अंबाला कैंट के बीच आंशिक रूप से रद्द रहेगी। 3  टे्रन नंबर 02925 जोकि 12 नवंबर को छुटती है अमृतसर और अंबाला कैट के बीच आंशिक रूप से रद रहेगी। 4. तिथि 14 नवंबर को छुटने वाली ट्रेन नंबर 02926 अमृतसर-ब्रांदा टर्मिनस स्पेशल ट्रेन , अंबाला कैट से शुरू होगी तथा अमृतसर और अंबाला कैट के बीच आंशिक रूप से रद रहेगी। 5.  इसी प्रकार 13 नवंबर 2020 को छुटने वाली ट्रेन नबंर 00901 बांद्रा टर्मिनेस- जम्मुतवी पार्सल स्पेशल ट्रेन अंबाला कैंट में शार्ट टर्मिनेट की जाएगी तथा अंबाला कैंट और जम्मु तवी के बीच आंशिक रूप से रद् रहेगी। 6. दिनांक 15 नवंबर 2020 को छुटने वाली ट्रेन नंबर 0092 जम्मूतवी-बांद्रा टर्मिनेस पार्सल स्पेशल ट्रेन अंबाला कैंट से शुरू होगी तथा जम्मू तवी और अंबाला कैंट के बीच आंशिक रूप से निरस्त रहेगी।

Kolar News

Kolar News 13 November 2020

भोपाल। मप्र में उपचुनाव संपन्न होने के बाद अधिकारियों के तबादलों का दौर फिर शुरू हो गया है। एक दिन पहले ही भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के चार अधिकारियों का तबादला हुआ था। अब राज्य शासन ने भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के चार अधिकारियों के तबादला करते हुए उनकी नयी पदस्थापना की है। इस संबंध में गुरुवार देर रात आदेश जारी किये गये हैं। इनमें दो जिलों के एसपी बदले गए है। गृह विभाग द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, अशोकनगर जिले के पुलिस अधीक्षक तरुण नायक को पुलिस मुख्यालय भोपाल में सहायक पुलिस महानिरीक्षक बनाया गया है, जबकि भोपाल पुलिस मुख्यालय में सहायक पुलिस महानिरीक्षक रघुवंश कुमार सिंह को अशोकनगर पुलिस अधीक्षक का दायित्व सौंपा गया है। इसी प्रकार दतिया जिले के पुलिस अधीक्षक गुरुकरण सिंह को भोपाल सायबर सेल में पुलिस अधीक्षक नियुक्त किया गया है और उनकी जगह भोपाल पुलिस मुख्यालय में सहायक पुलिस मुहानिरीक्षक अमन सिंह राठौड़ को दतिया पुलिस अधीक्षक पदस्थ किया गया है।

Kolar News

Kolar News 13 November 2020

अनूपपुर। वायु प्रदूषण व राष्ट्रीय हरित अभिकरण (एन.जी.टी.) नई दिल्ली के आदेश के पालन में सम्पूर्ण अनूपपुर जिले में ग्रीन पटाखों के अतिरिक्त अन्य पटाखों का विक्रय एवं उपयोग प्रतिबंधित किया है। साथ ही पटाखे फोड़े के लिए दो घंटे निधारित किया गया हैं।   अपर कलेक्टर सरोधन सिंह ने गुरुवार को जारी आदेश में कहा कि वायु प्रदूषण व राष्ट्रीय हरित अभिकरण (एन.जी.टी.) नई दिल्ली के आदेश के पालन में सम्पूर्ण जिले में ग्रीन पटाखों के अतिरिक्त अन्य पटाखों का विक्रय एवं उपयोग प्रतिबंधित किया है। साथ ही दीवाली त्यौहार एवं गुरूपर्व में रात्रि 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक तथा छठ पर्व को प्रात: 6 बजे से 8 बजे तक ग्रीन पटाखे फोड़े जाने की अनुमति होगी।

Kolar News

Kolar News 12 November 2020

भोपाल।  मध्य प्रदेश में ठंड ने दस्तक दे दी है। समूचे प्रदेश में न्यूनतम और अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है, जिससे प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में ठंड बढ़ गई है। इस बीच राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कुछ स्थानों पर आसमान में हल्के बादल छा गए हैं। मौसम विभाग कहना है कि शुक्रवार से मौसम के मिजाज में परिवर्तन होगा। उत्तर भारत के पहाड़ों पर जबरदस्त बर्फबारी और बारिश होगी।   राजधानी भोपाल में गुरुवार सुबह से हल्के बादल छाए हुए है। आसमना में बादल और धूप की लुकाछिपी चल रही है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि हवाओं का रुख बदलने से राजधानी सहित प्रदेश के कुछ स्थानों पर बादल छाने लगेंगे। शुक्रवार को उत्तर भारत में एक पश्चिमी विक्षोभ के पहुंचने पर शुक्रवार-शनिवार को रात के तापमान में एक-दो डिग्री तक की बढ़ोतरी होने की संभावना जताई है। साथ ही रविवार-सोमवार को ग्वालियर-चंबल संभाग में बरसात भी हो सकती है। पश्चिमी विक्षोभ के गुजर जाने के बाद ठंड के तेवर फिर तीखे होंगे।   मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में हवा का पैटर्न उत्तरी बना हुआ है। उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। वहां से आ रही सर्द हवाओं से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में दिन और रात के तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। एक शक्तिशाली पश्चिमी विक्षोभ शुक्रवार शाम को उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों (जम्मू-कश्मीर)में दाखिल होगा। इस सिस्टम की तीव्रता अधिक होने से जम्मू-कश्मीर सहित पूरे उत्तर भारत में 13 से 15 नवंबर तक जबरदस्त बर्फबारी होने की संभावना है। इस दौरान हवा का रुख बदलने (पूर्वी होने) से वातावरण में नमी आएगी। इससे कहीं-कहीं बादल छाएंगे। ग्वालियर-चंबल संभाग में कहीं-कहीं बरसात होने की भी संभावना है।   17 नवंबर को इस सिस्टम के आगे बढऩे के आसार हैं। इसके बाद हवाओं का रुख बदलकर फिर उत्तरी हो जाएगा। इससे पूरे प्रदेश में ठंड यू-टर्न लेगी और दिन-रात के तापमान में तेजी से गिरावट होने लगेगी। इस दौरान प्रदेश के अधिकांश इलाके शीतलहर की चपेट में भी आ सकते हैं।

Kolar News

Kolar News 12 November 2020

पन्ना। हीरा उत्पादन के लिए मशहूर मध्यप्रदेश के पन्ना जिले की धरती आज भी बहुमूल्य हीरे उगल रही है। यहां मेहनतकश मजदूरों को आए दिन कीमती हीरे मिल रहे हैं। लॉकडाउन में काम धंधा ठप होने के कारण कई लोगों ने यहां खदानों में काम किया और उन्हें बहुमूल्य हीरे मिले, जिन्हें उन्होंने पन्ना कलेक्ट्रेट कार्यालय स्थित हीरा दफ्तर में जमा कराया है। ऐसे ही जिले की उथली खदानों से प्राप्त कुल 183 नग हीरो की नीलामी हीरा कार्यालय संयुक्त कलेक्ट्रेट भवन पन्ना में आगामी 03 दिसम्बर से शुरू की जाएगी।कलेक्टर संजय कुमार मिश्र ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि जिले में बीते कुछ दिनों में कुल 183 हीरे मिले हैं। उथली खदानों से मिले इन हीरो की नीलामी 03 दिसम्बर से प्रारंभ होकर कुल हीरो की नीलामी पूर्ण होने तक शासकीय अवकाश को छोडकर चालू रहेगी। प्रतिदिन सुबह 9 बजे से लेकर 11 बजे तक हीरो का निरीक्षण किया जाएगा। इसके बाद उनकी बोली की जाएगी। इनमें उज्जवल, मैले एवं औद्योगिक किस्म के लगभग 183 हीरे हैं, जिनका कुल वजन लगभग 251.83 कैरेट और अनुमानित राशि लगभग 2 करोड़ 04 लाख 92 हजार 928 रुपये है।उन्होंने बताया कि इच्छुक बोलीदार 5 हजार रुपये की अमानत राशि जमा करके बोली में भाग ले सकते हैं। उच्चतम बोली वाले बोलीदार को अंतिम निर्णय के तुरन्त बाद नीलामी राशि का 20 प्रतिशत तत्काल जमा करना होगा। शेष राशि 30 दिन में जमा करना अनिवार्य होगी।कलेक्टर मिश्र ने बताया कि पन्ना शहर सतना (पश्चिम मध्य रेल) से 72 कि.मी. तथा हरपालपुर से 124 कि.मी. एवं छतरपुर से 72 कि.मी. पर स्थित है। इन सभी स्थानों से पन्ना के लिए नियमित एवं अच्छी बसें चलती हैं। पन्ना खजुराहो से 48 कि.मी. पर स्थित है। खजुराहो हवाई जहाज की नियमित उड़ानों से जुड़ा हुआ है। हीरा नीलामी नियमों के संबंध में विस्तृत जानकारी हीरा अधिकारी, हीरा कार्यालय पन्ना दूरभाष क्रमांक 07732-252017 पर प्राप्त कर सकते हैं।

Kolar News

Kolar News 11 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में फिर कोरोना के नये मरीजों और मृतकों की संख्या बढऩे लगी है। पिछले एक सप्ताह तक यहां 100 से कम नये मरीज मिलने के बाद यह आंकड़ा फिर सौ के पार पहुंच गया है। एक दिन पहले 108 नये संक्रमित मिलने के बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 117 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 34,842 और मृतकों की संख्या 699 हो गई है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 2024 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 117 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 34,842 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 699 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 32,434 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1707 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। 

Kolar News

Kolar News 10 November 2020

उज्जैन, 09 नवम्बर (हि.स.)। जिल के इंगोरिया थाना क्षेत्र के ग्राम लखेसरा बीती रात पारिवारिक विवाद में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू की। पुलिस आरोपित की तलाश में जुटी है।   इंगोरिया थाना प्रभारी अशोक शर्मा ने बताया कि ग्राम लखेसरा निवासी रितेश नायक ने रविवार रात 11.30 बजे अपनी पत्नी ममता नायक की कुल्हाड़ी से गर्दन पर हमला कर हत्या कर दी। बताया गया है कि दोनों के बीच विवाद हुआ था। आवाज सुनकर रितेश की मां लीलाबाई ने पति-पत्नी के कमरे में पहुंची, जहां उसने बहू की लाश लहूलुहान हालत में जमीन पर पड़ी देखी। बेटा मां को धक्का देकर भाग गया। परिजनों ने तत्काल घटना की जानकारी पुलिस की दी। पुलिस ने लीला बाई की शिकायत पर मामला दर्ज कर रितेश की तलाश शुरू की है। अभी उसका पता नहीं चल पाया है। एक टीम उसकी तलाश में रवाना की गई है।    थाना प्रभारी के अनुसार सुबह विवेचना के लिए घटना स्थल पर एफएसएल अधिकारी अरविंद नायक पहुंचे और मृतिका का पोस्टमार्टम बडऩगर अस्पताल में कराया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि रितेश ग्राम लखेसरा का रहने वाला था और विगत 10 वर्षों से अपने ससुराल देपालपुर स्थित ग्राम कुनगारा में रह रहा था। वह पत्नी ममता और अपनी मासूम बेटी के साथ मां से मिलने के लिए ग्राम लखेसरा आया था। रितेश मजदूरी करता है। पति-पत्नी के बीच विवाद होने के बाद हत्या का घटनाक्रम होना सामने आया है। फिलहाल हत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई है। आरोपित की गिरफ्तारी के बाद ही सही वजह सामने आ पाएगी। 

Kolar News

Kolar News 9 November 2020

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शासकीय सेवकों और उनके परिवार के आश्रित सदस्यों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। इसके तहत राज्य के अन्दर शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों एवं उनके परिवार के आश्रित सदस्य मान्यता प्राप्त 93 निजी चिकित्सालयों में जांच एवं उपचार करवा सकेंगे। मुख्यमंत्री ने सोमवार को मीडिया को जारी अपने बयान में यह जानकारी देते हुए कहा है कि शासकीय सेवकों को पूर्व में निजी चिकित्सालयों में उपचार करवाने पर चिकित्सा प्रतिपूर्ति नहीं हो पाती थी। अब शासकीय अधिकारी-कर्मचारी विभिन्न बीमारियों का उपचार शासन द्वारा चिन्हित निजी चिकित्सालयों में करवा कर चिकित्सा प्रतिपूर्ति भी प्राप्त कर सकेंगे।   मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन निजी चिकित्सालयों को शासकीय कर्मचारियों एवं उनके आश्रितों के उपचार के लिए चिन्हित किया गया है, उनमें गंभीर बीमारियों में किडनी ट्रांसप्लान्ट, होमो डायलेसिस, केंसर रोग, हिप,-नी-एल्बो सोल्डर आंशिक रिप्लेसमेंट, मेमोग्राफी, एम.आर.आई. सिटी स्केन, कोकालियर इम्पप्लान्ट हृदय रोग, हेड इन्जयूरी, न्यूरो सर्जरी, स्पाईनल सर्जरी है। जैसी अन्य बीमारियाँ का उपचार और जाँच करवाई जा सकेंगी। जाँच एवं उपचार के पश्चात शासकीय कर्मी अपने विभाग में चिकित्सा प्रतिपूर्ति भी ले सकेगा।   कर्मचारियों को त्यौहार अग्रिम और एरियर्स भुगतान   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश के शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों के हित में दीपावली पर्व के पूर्व एरियर्स और त्यौहार अग्रिम उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। शासन द्वारा सातवें वेतन की तीसरी किश्त का 25 प्रतिशत और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को 10 हजार रुपये त्यौहार अग्रिम देने के आदेश जारी कर दिये गये हैं। विभिन्न विभागों के अधिकारियो-कर्मचारियों को यह राशि दीपावली के पहले मिल जायेगी। राज्य सरकार ने कर्मचारियों के हित में यह भी निर्णय लिया है कि त्यौहार अग्रिम के देयक कोषालय में ऑफ लाइन लगेंगे, जिससे समय पर कर्मचारियों को त्यौहार अग्रिम मिल जाए। सातवें वेतनमान के एरियर्स की राशि भुगतान की प्रक्रिया भी प्रारंभ हो गई है। इस प्रकार दीपावली के पूर्व 775 करोड़ रुपये अधिकारी-कर्मचारियों को मिलेंगे। इसके अतिरिक्त निगम मंडल के कर्मचारियों को भी त्यौहार अग्रिम और एरियर्स के भुगतान के लिये 150 करोड़ की अतिरिक्त व्यवस्था की गई है।   आपदा कोविड-19 की जांच एवं उपचार में भी सुविधा   म.प्र.शासन के शासकीय सेवक एवं उनके परिवार के आश्रित सदस्य जो आपदा कोविड-19 से संक्रमित होते है। उनके इलाज के लिए मध्य प्रदेश के समस्त जिलों के अशासकीय निजी चिकित्सालय ( नर्सिग होम एक्ट के तहत पंजीकृत निजी चिकित्सालय ) को भी स्वीकृति दी गई है। इन अस्पतालों में उपचार के बाद चिकित्सा व्यय की प्रतिपूर्ति होगी। शासकीय सेवक कोविड-19 इलाज के चिकित्सा देयक अपने विभाग के माध्यम से जिले के सिविल सर्जन-सह-मुख्य अस्पताल अधीक्षक मध्यप्रदेश के प्रतिहस्ताक्षर कराने के उपरांत शासकीय सेवक के संबंधित विभाग द्वारा ऐसे चिकित्सा देयकों में नियमानुसार भुगतान की कार्यवाही किये जाने के आदेश भी पूर्व में जारी किये जा चुके हैं।

Kolar News

Kolar News 9 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में फिर कोरोना के नये मरीजों और मृतकों की संख्या बढऩे लगी है। पिछले एक सप्ताह तक यहां 100 से कम नये मरीज मिल रहे थे, लेकिन बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 108 नये मरीज सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 34,725 और मृतकों की संख्या 697 हो गई है।   बता दें कि सितम्बर और अक्टूबर के शुरुआती दिनों में कोरोना के 400 से अधिक नये मरीज मिल रहे थे, लेकिन अक्टूबर के अंत में यह संख्या लगातार घटते हुए नवम्बर के पहले सप्ताह में 100 से नीचे पहुंच गई थी। यहां लगातार नौ दिनों तक 100 से कम नये मरीज मिले, लेकिन अब यह संख्या फिर 100 के पार पहुंच गई है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 2480 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 108 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 34,725 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से तीन मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 697 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 32,325 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1703 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 9 November 2020

इंदौर। जिले में कोरोना के संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक जरूर लगा है, लेकिन अभी भी नए संक्रमितों के मिलने का सिलसिला जारी है। बीते 24 घंटों में जिले में कोरोना के 74 नए संक्रमित मरीज मिले हैं।   जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की ओर से गुरुवार रात को जारी आकड़ों के अनुसार 3220 सैंपल की जांच में 74 नए संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा दो संक्रमितों की मौत हुई है। इन्हें मिलाकर जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 687 हो गई है।   दमोह में मिले 11 नए मरीजप्रदेश के दमोह जिले में बीते 24 घंटों में कोरोना के 11 नए संक्रमित मरीज मिलने के बाद संक्रमित मरीजों की संख्या 2217 हो गई है। इन 11 मरीजों में आठ पुरुष और तीन महिलाएं शामिल हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संगीता त्रिवेदी की ओर से गुरुवार  रात को जारी बुलेटिन में बताया गया है कि जिले में 11 नए मरीज मिले हैं, जबकि अभी तक 101 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। जिले में अभी तक 1887 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। वर्तमान में एक्टिव प्रकरणों की संख्या 225 है, जिनका इलाज चल रहा है।

Kolar News

Kolar News 6 November 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल के न्यू मार्केट इलाके में मालवीय नगर और टीटी नगर स्थित एक निजी विज्ञापन कंपनी के दफ्तर पर शुक्रवार को आयकर विभाग ने छापेमारी की है। फिलहाल कार्रवाई जारी है और आयकर विभाग की टीम दस्तावेज खंगाल रही है। छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित कम्पनी के कार्यालय में भी इसी तरह की कार्रवाई किये जाने की जानकारी मिली है।   जानकारी के मुताबिक आयकर विभाग की टीम शुक्रवार सुबह पुलिस बल के साथ भोपाल के न्यू मार्केट स्थित विज्ञापन कंपनी व्यापक इंटरप्राइजेस के दफ्तर पहुंची और छापामार कार्रवाई शुरू की। यह कंपनी कांग्रेस के करीबी मुकेश श्रीवास्तव की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि इस विज्ञापन कंपनी को प्रदेश की पूर्ववर्ती कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के दौरान करोड़ों रुपये के विज्ञापन का ठेका मिला था। कंपनी ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के एक करीबी के साथ पूरे मप्र में विज्ञापनों का बड़ा काम किया था। इसी सिलसिले में आयकर विभाग को टैक्स चोरी की शिकायतें मिली थी। इसके बाद यह कार्रवाई शुरू की गई। छापे की यह कार्रवाई आयकर विभाग के भोपाल कार्यालय द्वारा की जा रही है। जानकारी मिली है कि भोपाल के अलावा यह कार्रवाई छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी की गई है।

Kolar News

Kolar News 6 November 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा की 28 सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव के लिए मंगलवार को सुबह सात बजे से 9 हजार 361 मतदान केन्द्रों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान जारी है। मतदान को लेकर मतदाताओं में उत्साह देखने को मिल रहा है और पोलिंग बूथों पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं। दोपहर तीन बजे तक यहां 56.79 फीसदी मतदान हो चुका है।   निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ। शुरुआत में मतदान की गति धीमी थी, लेकिन 10 बजे के बाद इसमें गति आई है। बड़ी संख्या में मतदाता पोलिंग बूथों पर पहुंचकर वोटिंग कर रहे हैं। प्रदेश के 19 जिलों के इन 28 विधानसभा क्षेत्रों में दोपहर तीन बजे तक औसत 56.79 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है। इनमें आगरमालवा-70.14, अनूपुपुर-54.79, अशोकनगर-60.62, भिण्ड-47.67, बुरहानपुर-62.67, छतरपुर-60.64, दतिया-60.57, धार-72.36, देवास-63.64, गुना-68.84, ग्वालियर-40.44, इंदौर-63.74, खंडवा-56.65, मंदसौर-70.97, मुरैना-47.69, रायसेन-60.08, राजगढ़-72.14, सागर-62.22 और शिवपुरी-63.96 फीसदी मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर चुके हैं।

Kolar News

Kolar News 3 November 2020

अनूपपुर। मत की गोपनीयता भंग करना लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 94 के तहत अपराध है। विधानसभा उप निर्वाचन में सोशल मीडिया पर मत की गोपनीयता भंग करने पर सुभाष मिश्रा एवं राहुल दुबे पर रिटर्निंग अधिकारी द्वारा एफआईआर पंजीबद्ध करने की कार्यवाही की जा रही है।   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्पष्ट किया है कि मतदान की गोपनीयता भंग करना गम्भीर अपराध है ऐसा करने वालों पर कठोर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। उल्लेखनीय है कि मतदान केंद्रों में मोबाइल फोन का प्रयोग वर्जित है।   ज्ञात हो कि सुभाष मिश्रा एवं राहुल दुबे ने वोट डालने के दौरान ईवीईएम की फोटो लेकर सोशल मिडिया में वायरल किया जिस पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नेमतदान की गोपनीयता भंग करना गम्भीर अपराध बताते हुए कार्यवाई की बात कहीं हैं।   वहीं मतदान करने के लिए लोगों में लोंगो में उत्साह देखने को मिल रहा हैं। दोपहर 12 बजे मतदान 32.20 प्रतिशत एवं 1 बजे 40.38 पहुंच गया। जिसमे कुल मतदाता 170392 में 68803 मतदाताओं ने अपने मतों का प्रयोग किया वहीं पुरुष 83064 एवं महिला 32202 हैं।

Kolar News

Kolar News 3 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। सितम्बर और अक्टूबर के शुरुआती दिनों में यह संख्या 400 के पार पहुंच रही थी, वह अब 100 से नीचे आ गई है। यहां लगातार चौथे दिन कोरोना के 100 से कम नये मरीज मिले हैं। यहां इससे पहले तीन दिन में 89, 77 और 76 नये संक्रमित मिलने के बाद अब बीते 24 घंटों में कोरोना के 61 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 34,256 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 3065 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 61 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 34,256 हो गई है। वहीं, इंदौर में लगातार तीसरे दिन बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है। यहां कोरोना से मृतकों की संख्या 682 पर स्थिर है। वहीं, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 31,343 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2231 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 3 November 2020

बड़वानी। मध्यप्रदेश का 65वां स्थापना दिवस रविवार को धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर प्रात: 6 बजे बड़वानी नगर के विजय स्तंभ से अंजड़ तक साइकिल रैली निकाली गई। फिट बड़वानी के तहत कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा के नेतृत्व में निकाली गई इस साईकिल रैली में अधिकारियों, कर्मचारियों, डाक्टरों, इंजीनियरों, आमजनों ने भाग लेकर सवा दो घंटे में 31 किलोमीटर की दूरी तय की। इस रैली को लाठी दिखाकर वयोवृद्ध गांधी विचारक 87 वर्षीय नानक गांधी ने रवाना किया।   6 बजे रवाना होकर 8.15 बजे वापस आ गई रैली   फिट बड़वानी के तहत निकाली गई इस साइकिल रैली के लिए निर्धारित समय से पूर्व ही लोग अपनी साइकिल के साथ विजय स्तंभ पर पहुंच गए थे। जहां से इस रैली को मॉर्निंग वॉक पर निकले वयोवृद्ध गांधी विचारक 87 वर्षीय नानक गांधी ने अपनी लाठी दिखा कर रवाना किया। कलेक्टर की अगुवाई में प्रारंभ हुई यह साइकिल रैली, ग्राम करी, बजटटा, बोरलाय होते हुए अंजड़ पहुंची और वहां से रिटर्न  होकर  8.15 बजे पुन: विजय स्तंभ पर पहुंचकर समाप्त हुई।   बोरलाय के वासियों ने तालियां बजाकर किया उत्साहवर्धन   साइकिल रैली के ग्राम बोरलाय पहुंचने पर वहां के निवासियों ने सडक़ के किनारे खड़े होकर तालियां बजाकर रैली में भाग ले रहे लोगों का उत्साह वर्धन किया।   अपनी सामथ्र्य अनुसार लोग जुड़ते रहे और वापस होते रहे   विजय स्तंभ से प्रारंभ हुई इस रैली में भाग लेने वाले कई लोग अपनी सामथ्र्य अनुसार जुड़ते रहे और वापस होते रहे। रैली के प्रारंभ होने से अंत तक साथ रहे लोगों में मुख्यत: कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा, जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज सिंह, एसडीएम घनश्याम धनगर, एसडीएम अभय सिंह ओहरिया, नगर पालिका सीएमओ कुशल सिंह डोडवे, उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ एलएस बघेल, तहसीलदार अंजड़ बीआर वाखला, डॉ हेमंत बार्चे, डॉक्टर प्रकाश बर्फा, अशोक राठौड़, कमलेश मुकाती, रंजीत कुमावत, रजनीश पाटीदार, प्रवीण पांडे, अर्णव पांडे, सुनील शर्मा, जगदीश नरगावे, संतोष  देशमुख, अंश भाटिया सम्मिलित है।   होते रहेंगे इस प्रकार के आयोजन   कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने रैली के समापन अवसर पर प्रतिभागियों का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि फिट बड़वानी के तहत इस प्रकार की गतिविधियां सतत प्रारंभ रखी जाएंगी, जिससे फिट मध्यप्रदेश अभियान में बड़वानी के रहवासी भी अपना योगदान दे सके।

Kolar News

Kolar News 1 November 2020

इंदौर। जिले के उज्जैनी-उमरिया गांव के आसपास तेंदुए द्वारा लगातार जानवरों का शिकार किया जा रहा था, जिसके चलते ग्रामीण दशहत में थे। इसी को देखते हुए वन विभाग द्वारा शनिवार को यहां पिंजरा लगाया गया था। इस पिंजरे में रविवार सुबह एक तेंदुआ कैद हुआ है। वन अमले ने उसे रेस्क्यू कर इंदौर के चिडिय़ाघर पहुंचाया, जहां उसका इलाज किया जा रहा है।   जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात तेंदुए ने उमरिया गांव निवासी भोलेसिंह की बकरी का शिकार कर दिया था। रविवार सुबह ग्रामीणों की इसकी जानकारी लगी तो गांव में दशहत फैल गई। ग्रामीणों ने तत्काल इंदौर रेंजर और रेस्क्यू टीम को सूचना दी। टीम ने शनिवार को जंगल का निरीक्षण किया, जिसमें वयस्क मादा तेंदुए के अलावा दो अन्य तेंदुओं के पैरों के निशान मिले। इसके बाद तेदुओं को पकडऩे के लिए वन विभाग की टीम ने उज्जैनी-उमरिया गांव के बीच एक पिंजरा लगाया था, जिसमें एक बकरी के बच्चे को बांधकर कैमरा लगाया गया था।   इंदौर के डिप्टी रेंजर टीआर हटीला ने बताया कि रविवार सुबह 5 बजे तेंदुए का एक साल का मादा शावक पिंजरे में कैद हुआ है। तेंदुए का रेस्क्यू कर इलाज के लिए चिडिय़ाघर लाया गया है। यहां उसके स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि अभी क्षेत्र में दो तेंदुए और हैं और उनके पकडऩे के लिए विभाग दो अलग-अलग स्थानों पर पिंजरे लगाए हैं। उन्होंने उम्मीद जताई है कि दोनों तेंदुए जल्द ही पकड़ में आ जाएंगे।

Kolar News

Kolar News 1 November 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। सितम्बर और अक्टूबर के शुरुआती दिनों में यह संख्या 400 के पार पहुंच रही थी, वह अब 100 से नीचे आ गई है। यहां लगातार दूसरे दिन कोरोना के 100 से कम नये मरीज मिले हैं। एक दिन पहले यहां 89 नये संक्रमित मिले थे, अब पिछले 24 घंटों में यहां कोरोना के 77 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 34,199 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 3230 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 77 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 34,199 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है। यहां कोरोना से मृतकों की संख्या 682 है। वहीं, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 30,871 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2566 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। इंदौर में कोरोना का रिकवरी रेट 90 फीसदी है।

Kolar News

Kolar News 1 November 2020

भोपाल। रेल प्रशासन द्वारा अतिरिक्त यात्री यातायात क्लियर करने के उद्देश्य से रविवार, 01 नवम्बर से भोपाल-जोधपुर-भोपाल स्पेशल एक्सप्रेस प्रारम्भ की जा रही है। यह ट्रेन दोनों दिशाओं में नियमित गाड़ी संख्या 14813/14814 जोधपुर-भोपाल-जोधपुर एक्सप्रेस की समयसारणी अनुसार आगामी सूचना पर प्रतिदिन चेलगी, लेकिन 20 छोटे स्टेशनों पर यह नहीं रुकेगी, क्योंकि रेलवे ने इन स्टेशनों के हाल्ट समाप्त किये गये हैं।   भोपाल रेल मंडल के जनसम्पर्क अधिकारी आईए सिद्दीकी ने शनिवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि गाड़ी संख्या 04813 जोधपुर-भोपाल स्पेशल एक्सप्रेस रविवार, एक नवम्बर से अगली सूचना तक प्रतिदिन जोधपुर स्टेशन से सुबह 8.50 बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 09.10 बजे भोपाल स्टेशन पहुंचेगी। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 04814 भोपाल- जोधपुर स्पेशल एक्सप्रेस आगामी दो नवम्बर से अगली सूचना तक प्रतिदिन भोपाल स्टेशन से शाम 5.25 बजे रवाना होकर अगले दिन शाम 6.45 बजे जोधपुर स्टेशन पहुंचेगी।   यह ट्रेन रास्ते में दोनों दिशाओं में नियमित गाड़ी संख्या 14813/14814 जोधपुर-भोपाल-जोधपुर एक्सप्रेस की समय सारणी अनुसार भोपाल मंडल के रुठियाई, गुना, अशोकनगर, मुंगावली, बीना, मंडीबामोरा, गंजबासौदा, गुलाबगंज एवं विदिशा स्टेशनों पर रुकेगी। इस ट्रेन के सलामतपुर, सांची, कल्हार, बरेठ, पबई, कंजिया, शाडोरागांव, पिपरईगांव, गुनेरूबामोरी, ओर, पगारा, महूगड़ा, सालपुरा, अटरू, अंता, केशोराय पाटन, कापरेन, आमली एवं रवांजना डूंगर स्टेशन पर हाल्ट समाप्त किया गया है। इस स्पेशल ट्रेन में 01 वातानुकूलित तृतीय श्रेणी, 06 शयनयान श्रेणी, 04 सामान्य श्रेणी एवं 02 एसएलआर/डी सहित कुल 13 डिब्बे रहेंगे। 

Kolar News

Kolar News 31 October 2020

पन्ना। देश में हीरा उत्पादन के लिए मशहूर पन्ना की धरती अब भी हीरे उगल रही है और मजदूरों की किस्मत चमका रही है। यहां आए दिन खदानों में काम करने वाले मजदूरों को खुदाई के दौरान हीरे मिलते हैं और वे रातों-रात लखपति करोड़पति बन जाते हैं। इसी क्रम में गुरुवार को फिर एक मजदूर को 7.2 कैरेट का हीरा मिला है। जेम क्वालिटी के इस हीरे की कीमत 30 से 35 लाख रुपये बताई जा रही है।    जानकारी के मुताबिक, जिले के ग्राम बिलखुरा निवासी बलवीर सिंह यादव ने लीज पर एक उथली खदान ली थी, जहां गुरुवार को खुदाई के दौरान उसे एक हीरा मिला। बलवीर ने अपनी पत्नी के साथ कलेक्ट्रेट स्थित हीरा कार्यालय पहुंचकर वह हीरा जमाया कराया है। बताया जा रहा है कि बलवीर को जो हीरा मिला है, वह जेम क्वालिटी का 7.2 कैरेट वजनी है। उसकी कीमत 30 से 35 लाख रुपये के बीच आंकी गई है। हीरा कार्यालय के अधिकारी अनुपम सिंह ने बताया कि जमा हुआ हीरा 7.2 कैरेट वजन का उज्जल किस्म का है। आगामी दिनों में नीलामी में इस हीरे को रखा जाएगा और इससे प्राप्त राशि रायल्टी काटकर मजदूर बलवीर सिंह को सौंप दी जाएगी।

Kolar News

Kolar News 29 October 2020

उज्जैन। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष शरद पूर्णिमा शुक्रवार, 30 अक्टूबर को मनाई जायेगी। शरद पूर्णिमा हिन्दू पंचांग के अनुसार हर वर्ष अश्विनी मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को मनायी जाती है। शरद पूर्णिमा का धार्मिक और सामाजिक के साथ-साथ आयुर्वेदिक महत्व भी है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार इस दिन चन्द्रमा सोलह कलाओं से पूर्ण होता है। इस कारण यह तिथि विशेष महत्व रखती है। यह जानकारी उज्जैन के शासकीय धन्वंतरि आयुर्वेद महाविद्यालय के डॉ. जितेन्द्र कुमार जैन और डॉ. प्रकाश जोशी ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में दी।   उन्होंने बताया कि आयुर्वेद के अनुसार ऋतु विभाजन के क्रम में विसर्गकाल का विभाजन वर्षा, शरद और हेमन्त ऋतु में होता है। विसर्गकाल में सूर्य दक्षिणायन में गति करता है तथा चन्द्रमा पूर्ण बल वाला होता है। समस्त भूमण्डल पर चन्द्रमा अपनी किरणों को फैलाकर विश्व का निरन्तर पोषण करता है, इसीलिये विसर्गकाल को सौम्य कहा जाता है।   आयुर्वेद के मत अनुसार वर्षा ऋतु में पित्त का संचय होता है तथा शरद ऋतु में पित्त का प्रकोप होता है। प्राचीनकाल से ही पूर्णिमा का लोगों के जीवन में काफी महत्व रहा है, क्योंकि दूसरी रात्रियों के मुकाबले इस दिन चन्द्रमा ज्यादा चांदनी बिखेरता है। आयुर्वेद के आचार्य चरक ने शरद ऋतुचर्या के क्रम में स्पष्ट किया है कि शरद ऋतु में उत्पन्न फूलों की माला, स्वच्छ वस्त्र और प्रदोष (रात्रि के प्रथम प्रहर) काल में चन्द्रमा की किरणों का सेवन हितकर होता है।   श्वांस रोग और शरद पूर्णिमा   आयुर्वेद के आचार्यों ने श्वांस रोग को पित्त स्थान से उत्पन्न व्याधि माना है। श्वांस रोग में शरद पूर्णिमा पर खीर खाने की परम्परा है। खीर दूध में चावल से बनाई जाती है। आचार्य चरक ने क्षीर को जीवनीय बताया है। दुग्धरस में मधुर शीतल गुण स्निग्ध गुरू मन्द प्रसन्न गुणों से युक्त होता है। चावल शीतल मधुर स्निग्ध त्रिदोषशामक होता है। दूध और चावल से बनी हुई खीर मधुर रस वाली होती है, जो पित्त का शमन करती है। शरद पूर्णिमा की चांदनी में रखी हुई खीर में चन्द्रमा की सौम्य किरणों के प्रभाव से शीतल गुण की वृद्धि होती है। आचार्य चरक ने लोकपुरूष साम्य सिद्धान्त के सन्दर्भ में वर्णन किया है कि लोकगत भाव सौमपुरूष गत भाव प्रसाद गुण की वृद्धि करता है। श्वांस रोगियों को विशेषत: आयुर्वेदिक औषधियों से सिद्ध खीर का सेवन करना चाहिये।

Kolar News

Kolar News 29 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। सितम्बर और अक्टूबर के शुरुआती दिनों में यह संख्या 400 के पार पहुंच रही थी, वह अब 150 से नीचे आ गई है। यहां बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 126 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 33,845 हो गई है। राहत की खबर यह है कि इंदौर में लगातार तीसरे दिन कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई। यहां कोरोना से अब तक 469 लोगों की मौत हुई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 4854 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 126 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 33,845 हो गई है, जबकि तीन दिन से मृतकों की संख्या 679 पर स्थिर बनी हुई है। हालांकि, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 29,988 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3178 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। इंदौर में कोरोना का रिकवरी रेट 88.4 है।   प्रभारी सीएमएचओ के मुताबिक, शहर में 24 मार्च को कोरोना से पहली मौत हुई थी, उसके बाद से इन सात महीनों में रोजाना 2 से लेकर 7 मौतें तक दर्ज हुईं, लेकिन कोरोना का असर कम हो रहा है और नये मरीजों की संख्या घटने का साथ मृतकों की संख्या शून्य पर आ गई है। यहां तीन दिन से एक भी मरीज की कोरोना से मौत नहीं हुई है। इंदौर का कोरोना से मृत्यु की दर 2.02 फीसदी है।   

Kolar News

Kolar News 29 October 2020

उज्जैन। मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में बुधवार दोपहर एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां मक्सी रोड पर एक तेज रफ्तार डंपर ने बाईक सवार परिवार को टक्कर मारी दी। इस ह्दयविदारक हादसे में बाइक सवार तीन बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पति- पत्नी गंभीर रुप से घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान महिला ने भी दम तोड़ दिया। वहीं पति की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू की।   जानकारी अनुसार वर्माजी का कुंआ क्षेत्र निवासी अवतार सिंह पुत्र तूफानसिंह अपनी पत्नी पूनमबाई के साथ शहर के खरीदारी करने के लिए गोपालपुरा इलाके की ओर आ रहा था। उसके साथ बाइक पर तीन बच्चे मेघा (7 वर्ष), शानवी (4 वर्ष) और एक दो महीने का बालक भी था। इस दौरान बुधवार दोपहर करीब 2 बजे पवासा थाना क्षेत्र अंतर्गत पांड्या खेड़ी चौराहे के पास एक तेज रफ्तार डंपर ने इनकी बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी भीषण थी कि बाइक पर सवार बच्चे और पति- पत्नी उछलकर सडक़ पर जा गिरे। जिसके चलते डंपर के टायरों के नीचे आकर 2 बच्चों की जान चली गई। हादसे के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। वहीं घटना के बाद चालक डंपर मौके पर छोडक़र फरार हो गया। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक घायलों को रहवासियों ने ऑटो में बिठाकर सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। यहां इलाज के दौरान मां ने भी दम तोड़ दिया। पिता की हालत गंभीर है।   धड़ से अलग हुआ बच्चों का सिर प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दुर्घटना इतनी दर्दनाक थी कि एक बच्चे का शरीर डंपर के टायरों के बीच बुरी तरह से फंस गया था। जबकि एक बच्चे का सिर धड़ से अलग हो गया। पुलिस ने मौके से डंपर जब्त कर फरार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। घायल अवतार की मां ने बताया कि परिवार के सभी लोग खरीदारी करने इंदौर जा रहे थे। बेटा, बहू और बच्चे आगे बाईक पर थे जबकि घर के बाकि लोग दूसरी बाईक से पीछे आ रहे थे। तभी रास्ते में यह हादसा हो गया।

Kolar News

Kolar News 28 October 2020

दमोह/नीमच। कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के बावजूद नए संक्रमितों का मिलना जारी है। बीते 24 घंटों में प्रदेश के दमोह जिले में 15 नए कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। वहीं, नीमच जिले में 08 नए संक्रमित मिले हैं।    दमोह में 9 पुरुष, 6 महिलाएं पॉजीटिवमध्यप्रदेश के दमोह जिले में बीते 24 घंटों में 15 नए कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिसके बाद संक्रमित मरीजों की संख्या 2156 हो गई है। इन संक्रमित 15 मरीजो में 9 पुरुष व 6 महिलाएं शामिल हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संगीता त्रिवेदी द्वारा मंगलवार रात्रि में जारी किए गए बुलेटिन में बताया कि जिले में 15 नए मरीज मिले हैं, जबकि अभी तक 96 मरीजों की मौत हो चुकी है। अभी तक 1844 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। जिले में अब 216 एक्टिव मरीज है। संक्रमितों में जिला अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ ममता तिमोरी एवं उनके एक लिपिक भी शामिल हैं।   नीमच जिले में 2255 हुई संक्रमितों की संख्या प्रदेश के नीमच जिले में बीते 24 घंटों में आठ और कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार मंगलवार देर रात आई जांच रिपोर्ट में 8 और व्यक्तियों को पॉजीटिव पाया गया है। नए संक्रमितों में से दो जावद, एक मनासा और पांच खोर के निवासी हैं। इन्हें मिला कर नीमच जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2255 हो गई है। जिले में अभी तक कोरोना से 37 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है।

Kolar News

Kolar News 28 October 2020

ग्वालियर। एक महिला के साथ उसकी ननद के पति ने बंधक बनाकर दुष्कर्म किया है। साथ ही 3 लाख रुपये कीमत के जेवर छीन लिए। घटना कुछ दिन पुरानी है, लेकिन महिला ने मंगलवार रात अपने पति के साथ थाने पहुंचकर ननद के पति के खिलाफ मामला दर्ज कराया।    शहर के पुरानी छावनी निवासी 25 वर्षीय महिला ने शिकायत की है कि कुछ दिन पूर्व उसकी ननद का पति सीताराम उसे मायके छोड़ने के लिए लेकर गया था, लेकिन वो उसे राजकोट ले गया। यहां पर उसने एक कमरे में बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। विरोध करने पर वह मारपीट भी करता था। किसी तरह वह उसके चंगुल से भाग निकली और फोन कर पति को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही पति वहां पर पहुंचा और उसे लेकर वापस आ गया। बदनामी के डर से पीड़िता व उसके पति ने पुलिस में शिकायत नहीं की। आरोपित मंगलवार को महिला को अकेला देख उसके घर में घुस आया और जबरन उसे अपने साथ ले जाने लगा। पीड़िता ने विरोध किया तो आरोपित ने उसे व उसके बेटे को जान से मारने की धमकी दी। महिला ने अपने पति को पूरी बात बताई, जिसके बाद पति-पत्नी पुरानी छावनी थाना पहुंचे। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Kolar News

Kolar News 28 October 2020

भोपाल। पश्चिम मध्य रेलवे के भोपाल मंडल पर 27 अक्टूबर से आगामी दो नवम्बर सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाया जा रहा है। इस वर्ष "सतर्क भारत, समृद्ध भारत" विषय पर मनाये जा रहे सतर्कता जागरूकता सप्ताह का शुभारंभ मंगलवार को सत्यनिष्ठा की शपथ लेकर किया गया।    मण्डल कार्यालय के प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में मण्डल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर के साथ उपस्थित सभी अधिकारियों और कर्मचारियों नें सत्यनिष्ठा की शपथ लेते हुए कहा कि-"हम भारत के लोक सेवक, सत्यनिष्ठा से प्रतिज्ञा करते हैं कि हम अपने कार्य कलापों के प्रत्येक क्षेत्र में ईमानदारी और पारदर्शिता बनाये रखने के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहेंगे। हम यह भी प्रतिज्ञा करते हैं कि हम जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में भ्रष्टाचार उन्मूलन करने के लिए निर्बाध रूप से कार्य करेंगे। हम अपने संगठन के विकास और प्रतिष्ठा के प्रति सचेत रहते हुए कार्य करेंगे। हम अपने सामूहिक प्रयासों द्वारा अपने संगठनों को गौरवशाली बनाएंगे तथा अपने देशवासियों को सिद्धान्तों पर आधारित सेवा प्रदान करेंगे। हम अपने कर्तव्य का पालन पूर्ण ईमानदारी से करेंगे और भय अथवा पक्षपात के बिना कार्य करेंगे।"   इस अवसर पर अपर मण्डल रेल प्रबंधक द्वय, सभी शाखा अधिकारियों सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। शपथ के दौरान अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा  कोविड-19 से बचाव संबंधी सभी दिशा निर्देशों का पालन किया गया। इस दौरान भोपाल मण्डल के सभी स्टेशनों, डिपों कार्यालयों में नामित अधिकारियों, स्टेशन, डिपो प्रभारियों द्वारा सतर्कता जागरूकता की शपथ दिलाई गई।

Kolar News

Kolar News 27 October 2020

सिवनी। जिले में मंगलवार को तड़के लगभग 4.10 बजे 3.3 रिक्टर के भूकंप झटके महसूस किये गए। अगले 24 घंटे में भूकंप के सौम्य झटके आने की संभावना है। इस बात की पुष्टि कलेक्टर सिवनी डाॅ.राहुल हरिदास फांटिग ने की है।    ज्ञात हो कि जिले में 03 माह से चल रहे कंपन का सिलसिला बारिश रुकने के बाद भी नहीं थमा है। मंगलवार अल सुबह रिक्टर स्केल पर 3.3 तीव्रता का भूकंप का झटका जिलेवासियों ने महसूस किया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अलसुबह तीन से चार बार लोगों ने जोरदार झटकों को महसूस किया, जिससे लोग घरों से निकलकर सड़क पर आ गए और इन झटकों के बाद नाराज लोगों ने डूंडासिवनी थाने के सामने एकत्रित होकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया। हालांकि इस भूकंप से जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है।   कलेक्टर ने मंगलवार सुबह जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र के इंचार्ज राडार एवं सिसमोलाजी वेद प्रकाश सिंह ने दूरभाष पर बताया कि करीब 04.10 बजे सिवनी में 21.92 उत्तरी अक्षांश 79.50 पूर्वी देशांतर के निकट 3.3 रिक्टर तीव्रता का भूकंप दर्ज हुआ है जिसका एपीसेंटर 15 किलोमीटर गहराई में स्थित है तथा भूकंप के झटके रिकॉर्ड होने के अगले 24 घंटे में सौम्य झटका आने की संभावना है। बताया गया कि जिला प्रशासन भारतीय मौसम विज्ञान के वरिष्ठ वैज्ञानिकों के सतत संपर्क में हैं एवं नागरिकों की जान माल की सुरक्षा हेतु मौसम विज्ञान विभाग द्वारा बताए गए समस्त सतर्कता बरतने के प्रयास लगातार किए जा रहे हैं।   जिला प्रशासन द्वारा पुलिस, होमगार्ड्स, एसडीआरएफ, स्वास्थ्य एवं स्थानीय प्रशासन  के अधिकारी कर्मचारियों को समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए अलर्ट पर रहने हेतु निर्देशित किया गया है। तथा जिला प्रशासन नागरिकों से अपील करता है कि सतर्कता बरतते हुए सुरक्षित रहने का प्रयास करें, खास तौर पर कच्चे मकानों में रहने वाले लोग विशेष सतर्कता बरतें।   आये दिन सोशल मीडिया में जिलेवासी कर रहे कंपन के झटकों का जिक्र    जिले के विभिन्न क्षेत्रों में कंपन के झटके महसूस होने का सिलसिला तीन माह से चल रहा है। लोगों का कहना है कि लगातार महसूस किए जा रहे झटकों से घर व भवन को नुकसान होने की संभावना बनी हुई है। कई लोगों का दावा है कि झटकों से घर के ऊपरी हिस्से की दीवारों में गहरी दरारें आ रही हैं। हालाकि अब तक झटकों से कोई बड़े नुकसान की बात सामने नहीं आई है।    जिले में हो रही भु-गर्भीय हलचल के बारे में विभाग ने सौंपी जांच रिपोर्ट    भू-गर्भीय हलचल को लेकर सिवनी कलेक्टर डॉ.राहुल हरिदास फटिंग द्वारा भारतीय भू वैज्ञानिक-सर्वेक्षण विभाग जबलपुर को लिखे गए पत्र के परिपालन में सर्वेक्षण विभाग के जियोफिजिसिस्ट एम.एस. पठान एवं असिस्टेंट जियोलॉजिस्ट सुजीत कुमार द्वारा विगत 7 सितंबर को सिवनी पहुँचकर सर्वेक्षण किया था। इस सर्वेक्षण की प्रतिवेदित रिपोर्ट 27 सितम्बर को प्राप्त हुई जिसके अनुसार सिवनी जिले के सेंट्रल इंडियन टेक्टोनिक जोन में स्थित होने का लेख करते हुए प्रथम दृष्टया, लगातार झटकों को भूकंप के झुंड के रूप में वर्गीकृत किया है। यह निम्न परिमाण के झटके हैं, जो भारी वर्षा के बाद छोटे क्षेत्र में कुछ मामलों में महीनों तक चलते हैं। मानसून के कारण पानी की मेज में बदलाव के कारण इस तरह के झटको की संभावना होती है।   वर्षा जल के अंदरूनी चट्टानों में रिसने से अंदर का दबाव बढ़ जाने के कारण भी इस तरह के क्वेक या स्वार्म्स की संभावना बनती हैं। रिपोर्ट में भू गर्भीय घटनाओं के विस्फोट की ध्वनि के साथ होने को स्रोत क्षेत्र के बहुत उथला होने की संभावना व्यक्त की गई है। बारिश के बाद तीन-से-चार महीनों में यह जल-भूकंपीय घटनाये स्वतः समाप्त हो जाती हैं। यह छोटे झटके लोगों एवं सम्पति के लिए नुकसानदेह नही होते हैं।

Kolar News

Kolar News 27 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। सितम्बर और अक्टूबर के शुरुआती दो सप्ताह में यहां 400 से अधिक नये संक्रमित मिल रहे थे, लेकिन अब यह संख्या 150 से भी नीचे पहुंच गई है। इंदौर में अब बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 112 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों कुल संख्या बढक़र 33,571 हो गई है। इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड का है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 2243 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 112 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 33,571 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में एक भी मरीज की कोरोना से मौत नहीं हुई है। यहां कोरोना से अब तक 679 लोगों की मौत हुई है। वहीं, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 29,616 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3276 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 27 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 191 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 23,490 और मृतकों की संख्या 467 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय द्वारा जानकारी दी गई कि राजधानी में शुक्रवार देर रात प्राप्त 2200 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 191 नये व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 23,490 हो गई है। वहीं, बीते 24 घंटों में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 467 हो गई है। हालांकि, भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 21,271 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1800 है, जिनका उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 24 October 2020

भोपाल। कोरोना की परवाह न करते हुए महाअष्टमी पर्व पर देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। उज्जैन में कलेक्टर आशीष सिंह ने 24 खंभा माता को मदिरा चढ़ाकर नगर पूजा की शुरुआत की, तो मैहर और सलकनपुर के देवी मंदिरों में सुबह से भक्तों का तांता लगा हुआ है। सलकनपुर में सुबह से करीब 30 हजार श्रद्धालु बिजासन माता के दर्शन कर चुके हैं।उज्जैन में विगत 500 वर्षों से चल रही परंपरा का निर्वाह करते हुए कलेक्टर आशीष सिंह ने महाअष्टमी पर शनिवार को सुबह 8.30 बजे चौबीस खंभा माता मंदिर में देवी को मदिरा चढ़ाकर नगर पूजा की शुरूआत की। इस अवसर पर प्रशासन के कर्मचारी, कोटवार तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। कलेक्टर ने महालया एवं महामाया मंदिरों में पूजा करके नगर पूजा यात्रा की शुरुआत की। यह यात्रा 27 किलोमीटर की होगी। शहर के विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना करते हुए यात्रा करीब 12 घंटों का सफर तय करके महाकाल मंदिर पहुंचेगी, जहां भगवान महाकाल को शिखर ध्वज चढ़ाकर यात्रा का समापन होगा। इस यात्रा की खास बात यह है कि यात्रा के दौरान मदिरा की धार लगातार बहती रहेगी। इसके लिए एक मटके में मदिरा भरकर उसमें छेद कर दिया जाता है और रास्ते भर मदिरा बहती रहती है।मां शारदा का हुआ विशेष श्रृंगारमहाअष्टमी पर्व पर देश के 51 शक्तिपीठों में से एक प्रसिद्ध मैहर वाली मां शारदा का दरबार रूप से सजाया गया है। मां शारदा का विशेष श्रृंगार हुआ और आरती की गई। शासन से दिशा-निर्देश मिलने के बाद इस बार मां शारदा के धाम मैहर में खास इंतजाम किए गए हैं। हाथ सैनिटाइज करने और मास्क लगाने के बाद ही श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश दिया गया। हजारों भक्तों के आने की उम्मीद के चलते पुलिस और प्रशासन ने पहले से ही तैयारियां कर रखी थी। सीढिय़ों के रास्ते पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे।सलकनपुर में लगा भक्तों का तांताराजधानी भोपाल के समीप स्थित सीहोर जिले के सलकनपुर धाम में देवी बिजासन के दर्शन के लिए शनिवार तड़के 3 बजे से ही भक्तों भीड़ शुरू हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह 9 बजे तक करीब 30 हजार श्रद्धालु माता बिजासन के दर्शन कर चुके थे। मंदिर तक पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं ने रोपवे, सड़क मार्ग और सीढ़ियों का सहारा लिया।

Kolar News

Kolar News 24 October 2020

भोपाल। विधानसभा उप निर्वाचन 2020 में 18 से 19 आयु वर्ग के नये 1 लाख 51 हजार 681 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। मुरैना जिले की जौरा विधानसभा क्षेत्र में 7 हजार 884, सुमावली विधानसभा क्षेत्र में कुल 5 हजार 452, मुरैना विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 864, दिमनी विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 216 और अम्‍बाह विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 310 नये मतदाता हैं। यह जानकारी गुरुवार को अपर मुख्‍य निर्वाचन पदाधिकारी अरूण कुमार तोमर ने दी।   उन्‍होंने बताया कि भिण्‍ड जिले की मेहगांव विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 375, गोहद विधानसभा क्षेत्र में 3 हजार 521, ग्‍वालियर जिले की ग्‍वालियर विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 673, ग्‍वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 438, डबरा विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 745 और दतिया जिले की भांडेर विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 796 नये मतदाता हैं।   शिवपुरी जिले की करेरा विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 969, पोहरी विधानसभा क्षेत्र में 3 हजार 756, गुना जिले की बमोरी विधानसभा क्षेत्र में 6 हजार 195, अशोक नगर जिले की अशोक नगर विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 585, मुंगावली विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 969, सागर जिले की सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 715, छतरपुर जिले की मलहरा विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 699 और अनूपपुर जिले की अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र में 3 हजार 720 नये मतदाता हैं।   रायसेन जिले की सॉची विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 408, राजगढ़ जिले की ब्‍यावरा विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 829, आगर मालवा जिले की आगर विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 704, देवास जिले की हाटपिपल्‍या विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 41 मतदाता, खण्‍डवा जिले की मांधाता विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 541 और बुरहानपुर जिले की नेपानगर विधानसभा क्षेत्र में 4 हजार 775 नये मतदाता हैं।   धार जिले की बदनावर विधानसभा क्षेत्र में 5 हजार 895, इंदौर जिले की सांवेर विधानसभा क्षेत्र में 6 हजार 500 और मंदसौर जिले की सुवासरा विधानसभा क्षेत्र में 7 हजार 565 नये मतदाता है।

Kolar News

Kolar News 22 October 2020

भोपाल। केन्द्र सरकार के अनलॉक-5 के निर्णय एवं विभिन्न विभागों द्वारा लगातार किए जा रहे अनुरोध के परिप्रेक्ष्य में कार्यालयों में कार्यक्षमता बढ़ाने की दृष्टि से अब अधिकारियों के ही समान सभी कर्मचारियों की भी सभी कार्यालयों में उपस्थिति शत-प्रतिशत रहेगी। राज्य शासन द्वारा गुरुवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।   आदेश के अनुसार कार्यालयों में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा निर्धारित शर्तों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं। प्रत्येक कर्मचारी को स्वयं एवं अन्य की सुरक्षा के के लिए मास्क का उपयोग करना होगा। प्रत्येक कर्मचारी के लिए अनिवार्य होगा कि वह कार्यलयीन अवधि में मास्क से मुंह एवं नाक ढंककर रखें तथा बात करते समय मास्क को नीचे न करें। कार्यालयों में सामाजिक दूरी का पालन करें। सम्पर्क में आने वाली सतहें, दरवाजों के हैंडल, हैंण्डरेल, शौचालय इत्यादि को नियमित रूप से सैनेटाइज किया जाए।    आदेश में कहा गया है कि अभिवादन के लिए आपस में हाथ न मिलाएं तथा एक साथ बैठकर चाय एवं भोजन इत्यादि न करें। नियमित रूप से साबुन-पानी तथा एल्कोहल युक्त हैण्ड सैनेटाइजर का उपयोग करें। कोविड-19 संबंधी कोई भी लक्षण जैसे सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार सांस लेने में तकलीफ आदि के लक्षण हों तो तत्काल फीवर क्लीनिक में परीक्षण करायें तथा संबंधित कार्यालय प्रमुख को सूचित करें।

Kolar News

Kolar News 22 October 2020

भोपाल/ इंदौर। मध्य प्रदेश से मानसून की विदाई पूरी तरह से हो चुकी है। अब मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। पिछले कुछ दिनों से दिन के समय महसूस हो रही उमस और गर्मी से भी राहत मिली है। मौसम विभाग की माने तो अगले दो से तीन दिन में रात के तापमान में गिरावट आना शुरू होगी और दशहरे के आसपास रात का तापमान 20 डिग्री के नीचे आने की संभावना है और दिन का तापमान 30 से 33 डिग्री के आसपास बना रहेगा। जल्द की सुबह के समय शहरवासियों को गुलाबी ठंड का अहसास होगा।   भोपाल स्थित मौसम केंद्र के मुताबिक इस बार इंदौर सहित प्रदेशभर में नवंबर में हल्की सर्दियों से ठंड की शुरुआत होगी। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने गुरुवार को जानकारी देते हुए बताया कि प्रशांत महासागर में समुद्र की सतह का तापमान सामान्य से कम होने के कारण ला नीना की संभावना बनी हुई। अभी दुर्बल ला नीना की परिस्थितियां बनी हुई। इसके कारण दिसंबर में रात का तापमान सामन्य से कम रहेगा और उस समय ठंड का असर ज्यादा रहेगा। दिसंबर माह में ही शीत लहर व शीतल दिन की स्थिति बनने की संभावना है।    मौसम विज्ञानी के मुताबिक जलवायु परिवर्तन के कारण के ठंड के मौसम में आने वाले प्रति माह पश्चिमी विक्षोभ की संख्या में इजाफा हुआ है। इस बार बंगाल की खाड़ी के सामान्य से ज्यादा सक्रिय होने से पूर्वी व पश्चिमी हवाओं संयोजन (कंफ्लूएंस) जैसी परिस्थितयां भी बनेगी जिसके कारण दिसंबर माह में हल्की से मध्यम वर्षा व गरज चमक के साथ व्रजपात व ओलावृष्ठि भी देखने को मिलेगी।   इसके साथ ही सर्दियों में हर माह आने वाले पश्चिमी विक्षोभ के सामान्य से ज्यादा संख्या में आने के कारण दिन के समय ज्यादा समय तक बादल छाए रह सकते है। जिससे शीतल दिन की स्थिति निर्मित होगी। दिसंबर माह में न्यूनतम सामान्य से पांच से छह डिग्री नीचे तक जा सकते हैं। दिसम्बर के आखिरी सप्ताह में शीतल दिन की स्थिति में मिल सकते हैं। पिछले वर्ष 22 दिसम्बर के बाद इंदौर में शीतल दिन बनी थी।

Kolar News

Kolar News 22 October 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग यूजी प्रथम वर्ष का पाठ्यक्रम अपग्रेड करने की तैयारी मेें है। माना जा रहा है कि इसी सत्र से इसे लागू किया जा सकता है। फिलहाल इसकी प्रक्रिया जारी है, जिसके पूरा होते ही समन्वय समिति अपग्रेड सिलेबस पर मंजूरी देगी और छात्र नए पाठ्यक्रम के साथ पढ़ाई शुरू कर देंगे।    बीए, बीकॉम और बीएससी पाठ्यक्रम के छात्रों को इस शैक्षणिक सत्र से नया सिलेबस पढऩे के लिए मिलेगा। अतिरिक्त संचालक डॉ. सुरेश सिलावट ने बताया कि प्रत्येक तीन से पांच साल के भीतर सिलेबस अपग्रेड होता है। इसी प्रक्रिया के तहत यूजी फस्र्ट ईयर का सिलेबस 25 फीसदी अपग्रेड किया जा रहा है। इस संबंध में जुलाई में समीक्षा की गई, जिसमें विशेषज्ञों ने सिलेबस में बदलाव का सुझाव दिया था। जिसके बाद कॉमर्स, साइंस और आट्र्स विषय में नए-नए टॉपिक जोड़े गए है। छात्रों को अब कॉमर्स में जीएसटी और टैक्स, साइंस में नई रिसर्च-आविष्कार समेत अन्य विषय पढऩे को मिलेंगे। सिलेबस अपग्रेड करने के लिए बरकतउल्ला विवि, भोज विश्वविद्यालय और अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। तीनों विश्वविद्यालय को 30 सितंबर तक रिपोर्ट देना थी। ताकि 5 अक्टूबर को सिलेबस पर चर्चा हो सके। सिलेबस बनाने वाली समिति ने प्रारूप बनाकर उच्च शिक्षा विभाग को दे दिया है, जो समन्वय समिति को भेजा गया है।   अगले सत्र से जारी हो नया सिलेबस  वहीं कालेजों में पढ़ाने वाले शिक्षकों का सुझाव अलग है। वे चाहते हैं कि अपग्रेड सिलेबस अगले सत्र से लागू हो। शिक्षकों का कहना है कि इस वर्ष जिन विद्यार्थियों ने यूजी प्रथम वर्ष में प्रवेश लिया है, उनकी अक्टूबर माह से ऑनलाइन कक्षा शुरू हो चुकी है। शिक्षकों का कहना है कि अभी तक विभाग ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि सिलेबस में किन टॉपिक्स को बदला है। ऐसे में शक्षकों और छात्रों दोनों को समस्या होगी। बेहतर होगा कि अगले सत्र से नया सिलेबस रखा जाएगा।

Kolar News

Kolar News 21 October 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 260 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 32,290 और मृतकों की संख्या 664 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 2467 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 260 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 32,290 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 664 हो गई है। हालांकि, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 28,134 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3500 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 21 October 2020

भोपाल। रेल प्रशासन द्वारा त्यौहारी सीजन में अतिरिक्त यात्री यातायात को क्लियर करने के लिए पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया है। भोपाल मंडल द्वारा हबीबगंज-पटना-हबीबगंज, हबीबगंज-अगरतला-हबीबगंज, हबीबगंज-रीवा-हबीबगंज, जबलपुर-पुणे-जबलपुर के बीच पूजा स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। यह जानकारी भोपाल मंडल के जनसम्पर्क अधिकारी आईए सिद्दीकी ने मंगलवार को मीडिया को दी।   उन्होंने बताया कि गाड़ी संख्या 02145 हबीबगंज-पटना सुपरफास्ट पूजा स्पेशल एक्सप्रेस आगामी 11, 13, 15, 17, 19, 21 एवं 23 नवंबर को हबीबगंज स्टेशन से शाम 4.25 बजे रवाना होकर होशंगाबाद, इटारसी होते हुए अगले दिन सुबह 10.45 बजे पटना स्टेशन पहुंचेगी। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 02146 पटना- हबीबगंज सुपरफास्ट पूजा स्पेशल एक्सप्रेस 12, 14, 16, 18, 20, 22 एवं 24 नवम्बर को पटना स्टेशन से दोपहर 12.30 बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 07.30 बजे हबीबगंज स्टेशन पहुंचेगी। यह ट्रेन दोनों दिशाओं में होशंगाबाद, इटारसी, पिपरिया, जबलपुर, कटनी, सतना, मानिकपुर, प्रयागराज छिवकी, मिर्जापुर, पण्डित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन, बक्सर एवं आरा स्टेशनों पर रुकेगी। इस गाड़ी में 01 वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी, 04 वातानुकूलित तृतीय श्रेणी, 11 शयनयान श्रेणी, 04 सामान्य श्रेणी एवं 02 एसएलआर/डी सहित कुल 22 डिब्बे रहेंगे।   वहीं, गाड़ी संख्या 01665 हबीबगंज-अगरतला पूजा स्पेशल एक्सप्रेस आगामी 28 अक्टूबर से 25 नवम्बर तक 5 ट्रिप में चलाएगी जाएगी। यह प्रति बुधवार को हबीबगंज स्टेशन से शाम पांच बजे रवाना होकर तीसरे दिन शुक्रवार को रात 9.23  बजे अगरतला स्टेशन पहुंचेगी। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 01666 अगरतला- हबीबगंज पूजा स्पेशल एक्सप्रेस आगामी 31 अक्टूबर से 28 नवम्बर तक (05 ट्रिप) प्रति शनिवार को अगरतला स्टेशन से दोपहर दो बजे रवाना होकर तीसरे दिन सोमवार को शाम 5.10 बजे हबीबगंज स्टेशन पहुंचेगी। यह ट्रेन  दोनों दिशाओं में होशंगाबाद, इटारसी, पिपरिया, गाडरवारा, नरसिंहपुर, जबलपुर, कटनी, मैहर, सतना, मानिकपुर, इलाहाबाद छिवकी, मिर्जापुर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन, बक्सर, आरा दानापुर, पाटलिपुत्र, हाजीपुर जंक्शन, बरौनी, बेंगू सराय, खगडिय़ा जंक्शन, नौगछिया, कटिहार जंक्शन, किशनगंज, न्यू जलपाईगुड़ी, न्यू कूच बिहार, न्यू बोंगईगांव, रंगिया जंक्शन, गोहाटी, चापरमुख जंक्शन, न्यू हाफलांग, बदरपुर जंक्शन, न्यू करीम गंज, धर्मानगर, कुमारघाट, अम्बासा, एवं तेलियामुरा स्टेशनों पर रुकेगी। इस गाड़ी में 01 वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी, 04 वातानुकूलित तृतीय श्रेणी, 11 शयनयान श्रेणी, 04 सामान्य श्रेणी, एवं 02 एसएलआर/डी सहित कुल 22 डिब्बे रहेंगे।   उन्होंने बताया कि गाड़ी संख्या 02139 हबीबगंज-रीवा सुपरफास्ट पूजा स्पेशल एक्सप्रेस आगामी 10 नवम्बर एवं 17 नवम्बर को हबीबगंज स्टेशन से सुबह 07.30 बजे रवाना होकर इसी दिन शाम 5.00 बजे रीवा स्टेशन पहुंचेगी, जबकि गाड़ी संख्या 02140 रीवा-हबीबगंज सुपरफास्ट पूजा स्पेशल एक्सप्रेस 10 एवं 17 नवम्बर को रीवा से शाम सात बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 4.30 बजे हबीबगंज स्टेशन पहुंचेगी। यह ट्रेन दोनों दिशाओं में भोपाल, विदिशा, बीना, सागर, दमोह, कटनी, मैहर एवं सतना स्टेशनों पर रुकेगी। इस गाड़ी में 01 वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी, 04 वातानुकूलित तृतीय श्रेणी, 11 शयनयान श्रेणी, 04 सामान्य श्रेणी एवं 02 एसएलआर/डी सहित कुल 22 डिब्बे रहेंगे।   इसी प्रकार गाड़ी संख्या 02132 जबलपुर-पुणे सुपरफास्ट पूजा स्पेशल एक्सप्रेस आगामी 26 अक्टूबर से 30 नवम्बर तक प्रति सोमवार को जबलपुर स्टेशन से शाम 5.20 बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 11.05 बजे पुणे स्टेशन पहुंचेगी, जबकि गाड़ी संख्या 02131 पुणे-जबलपुर सुपरफास्ट पूजा स्पेशल एक्सप्रेस आगामी 27 अक्टूबर से 01 दिसम्बर तक प्रति मंगलवार को पुणे स्टेशन से दोपह 3.15 बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 07.35 बजे जबलपुर स्टेशन पहुंचेगी। यह ट्रेन दोनों  दिशाओं में मदनमहल, नरसिंहपुर, पिपरिया, इटारसी, हरदा, खण्डवा, भुसावल, मनमाड़, कोपरगाँव एवं अहमदनगर स्टेशनों पर रुकेगी। इस गाड़ी में 01 वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी, 05 वातानुकूलित तृतीय श्रेणी, 09 शयनयान श्रेणी एवं 02 एसएलआर/डी सहित कुल 17 डिब्बे रहेंगे।

Kolar News

Kolar News 20 October 2020

भोपाल। भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने आज डीआईजी इरशाद वली व निगम आयुक्त केवीएस चौधरी के साथ श्री दुर्गा उत्सव के तहत मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए विशेष व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने के दृष्टिगत प्रेमपुरा, रानी कमलापति और खटलापुरा विसर्जन घाटों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने प्रत्येक विसर्जन घाट पर सर्वसुविधायुक्त कंट्रोल रूम स्थापित करने, गोताखोर, नाव, रस्से, इमरजेंसी लाइट्र्स, हाइड्र्रोलिक प्लेटफार्म, लाइफ  जेकेट्स आदि सहित सभी आवश्यक व्यवस्थाएं चाक-चाबंद रखने तथा कोविड-19 संबंधी गाइड लाइन का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।   कलेक्टर लवानिया ने विसर्जन घाटों एवं पहुंच मार्गों की बेहतर साफ-सफाई रखने, पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था रखने और सुरक्षात्मक प्रबंध सहित सभी व्यवस्थाएं बेहतर ढंग से सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। इस दौरान एडीएम दिलीप यादव, अपर आयुक्त पवन सिंह सहित जिला प्रशासन, नगर निगम एवं पुलिस के अधिकारी मौजूद थे।   कलेक्टर अविनाश लवानिया ने डीआईजी इरशाद वली व निगम आयुक्त केवीएस चौधरी के साथ विसर्जन स्थलों का निरीक्षण किया और माँ दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन की व्यवस्थाओं और विसर्जन स्थल पर उपलब्ध कराए जाने वाले संसाधनों की जानकारी ली। कलेक्टर को बताया गया कि माँ दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन धार्मिक परम्परा अनुसार सुरक्षात्मक रूप से कराए जाने के दृष्टिगत प्रेमपुरा विसर्जन स्थल पर 02 हाईड्रालिक प्लेटफार्म स्थापित किए गए हैं और 03 क्रेन की व्यवस्था भी पर्याप्त दूरी पर की जाएगी। प्रेमुपरा, रानी कमलापति और खटलापुरा विसर्जन स्थलों सहित बैरागढ़ एवं हताइखेडा विसर्जन स्थलों पर क्रेन, बैरीकेट्स की व्यवस्था, पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था के लिए फॉयर फाइटर, गोताखोर नाव, माइक, टेन्ट आदि की व्यवस्था की जाएगी तथा एक कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किए जायेंगे, जिसमें जिला प्रशासन, पुलिस एवं नगर निगम के अधिकारी एवं कर्मचारी उपलब्ध रहेंगे।    कलेक्टर लवानिया ने सभी विसर्जन स्थलां पर माँ दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए व्यापक स्तर पर सभी व्यवस्थाएं बेहतर ढंग से समय सीमा में करने के निर्देश दिए। उन्होंने रानी कमलापति विसर्जन स्थल का भी निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी ली। यहां उन्होंने प्लेटफार्म का भी जायजा लिया और रानी कमलापति विसर्जन स्थल में विसर्जन के लिए यातायात का सुगम बनाने हेतु वर्किंग शेड एवं टॉयलेट को स्थानांतरित करने तथा मुख्य मार्ग से विसर्जन स्थल तक सुगम यातायात हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

Kolar News

Kolar News 20 October 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में बीते 24 घंटे में कोरोना के 226 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 32 हजार के पार और मृतकों की संख्या 662 हो चुकी है। हालांकि, यहां पांच दिन पहले तक 400 से अधिक नये मामले सामने आ रहे थे और अब इसमें कमी आई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है। इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 1797 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 226 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 32,030 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 662 हो गई है। इधर, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 27,826 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3542 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 20 October 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के मामलों में कमी आ रही है। बीते 24 घंटे में यहां कोरोना के 181 नये मामले सामने आए हैं और दो लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या 31,804 हो गई है और इस महामारी से करने वालों की संख्या 659 हो चुकी है। उल्लेखनीय है कि इंदौर में चार दिन पहले तक कोरोना के 400 से अधिक नये मामले सामने आ रहे थे। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है। अब यह संख्या घटकर 200 के नीचे पहुंच गई है।इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 2060 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 181 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 31,804 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 659 हो गई है। इधर, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 27,555 मरीज कोरोना को मात देकर घर लौट आए हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 3590 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार चल रहा है।

Kolar News

Kolar News 19 October 2020

ग्वालियर। वैसे तो सुबह की सैर हर मौसम में सेहत के लिए फायदेमंद है, लेकिन सर्दी के दिनों में यह न केवल आपके शरीर मे गर्माहट देती है, बल्कि मौसम की स्वास्थ्य समस्याओं से भी बचाये रखने में मददगार साबित होती है। जिसे देखते हुए स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोग सर्दी के मौसम की शुरुआत होने के पर सुबह की सैर (मॉर्निंग वॉक) को नियमित रूप से अपना लेते हैं। जिससे गुलाबी सर्दी की आहट के साथ मॉर्निंग वॉक पर जाने वालों की संख्या में इजाफा हो जाता है। नगर में पिछले कुछ दिनों से मौसम में घुली ठंडक को देखते हुए पार्क, स्टेडियम और विभिन्न मार्गों पर घूमने वालों की भीड़ उमड़ रही है। सोमवार सुबह भी बड़ी संख्या में लोग नगर के पार्कों और सडक़ों किनारे घूमते नजर आए।   हालांकि, दिन में तेज गर्मी और उमस से लोग परेशान रहते हैं, लेकिन सुबह मौसम में ठंडक घुलने लगी है। सुबह का मौसम गुलाबी सर्दी का अहसास करा रहा है। घुली ठंडक से खुशनुमा हुए माहौल को देखते हुए नगर के बच्चे, बुजुर्ग, युवा नौजवान एवं महिलाएं काफी संख्या में सुबह 5 बजे से ही सैर पर निकल रहे हैं। पिछले दिनों की अपेक्षा सुबह घूमने वालों की संख्या कई गुना तक बढ़ गई है। नगर के निर्माणाधीन पटीयावाले पार्क, पार्वती नदी किनारे स्थित पार्क के रूप मे विकसित मुक्तिधाम, पंडित दीनदयाल स्टेडियम एवं डबरा, भितरवार, करैरा और नरबर-भितरवार मार्ग पर इन दिनों मॉर्निंग वॉक एवं सुबह की सैर करने वाले काफी संख्या में दिखाई दे रहे हैं।   वहीं नियमित रूप से सुबह की सैर, मॉर्निंग वॉक पर जा रहे बुजर्ग डॉ. एमएल जैन, डॉ. राधेलाल अग्रवाल, बलवंत सिंह रावत, युवा व्यवसायी देवेन्द्र अग्रवाल, भागवताचार्य पं राघवेंद्र पाराशर, डॉ सुनील श्रीवास्तव, डॉ. वर्षा श्रीवास्तव, एडव्होकेट हरीश अग्रवाल, अनिल रावत बताते हैं कि पिछले दिनों की अपेक्षा सुबह घूमने वालों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। गुलाबी सर्दी की आहट के साथ ही नगर के लोग काफी संख्या में सुबह के सैर पर निकल रहे हैं।   चिकित्सक बोले-सर्दी में सुबह का घूमना काफी लाभदायक, लेकिन सावधानी भी बरतें    स्थानीय चिकित्सक सुनील श्रीवास्तव बताते हैं कि वैसे तो सुबह की सैर हर मौसम में लाभदायक रहती है। कई बीमारियों से बचाव में लाभप्रद सुबह की सैर का सर्दी के मौसम में इसका खास महत्व है। वही उन्होंने बताया कि मॉर्निंग वॉक पर जाने वाले लोगों को सर्दी के मौसम में कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए जैसे शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने के लिए पानी की आवश्यकता रहती है इसलिये सैर पर जाने से पहले और बाद में पर्याप्त मात्रा में पानी अवश्य पिये।   बीमारी से पीडि़त चिकित्सक की सलाह जरूर लें    इस संबंध में पूछने पर विशेषज्ञ डॉ. वर्षा श्रीवास्तव बताती हैं कि हृदय रोग, रक्तचाप, या कोई अन्य गंभीर बीमारी से पीडि़त व्यक्ति सर्दी के मौसम में सुबह की सैर पर जाने से पूर्व चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। उन्होंने बताया कि सैर करते समय प्रारंभ और अंत में हमेशा गति धीमी रखें। भ्रमण के पश्चात संतुलित आहार का भी विशेष ख्याल रखें।

Kolar News

Kolar News 19 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के तीन अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। इस संबंध में गृह विभाग द्वारा रविवार को आदेश जारी किया गया। यह तबादले उज्जैन में जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले को लेकर मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद किये गये हैं। शहडोल एसपी सत्येन्द्र शुक्ला को उज्जैन एसपी नियुक्त किया गया है।   बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को अपने निवास पर हुई उच्च अधिकारियों की बैठक में जहरीली शराब कांड को लेकर उज्जैन एसपी को हटाने के निर्देश दिये थे। इसके बाद गृह विभाग आदेश जारी कर तीन आईपीएस अधिकारियों के तबादले कर दिये गये। जारी आदेश के मुताबिक, उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह को हटाकर उन्हें भोपाल पुलिस मुख्यालय में सहायक पुलिस महानिरीक्षक पदस्थ किया गया है, जबकि उनकी जगह शहडोल एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ला को उज्जैन पुलिस अधीक्षक का दायित्व सौंपा गया है। इसी तरह इंदौर पीटीसी के पुलिस अधीक्षक अवधेक कुमार गोस्वामी को शहडोल एसपी नियुक्त किया गया है।

Kolar News

Kolar News 18 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में बीते तीन दिनों से कोरोना के नये मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। तीन दिन पहले यहां 400 से अधिक नये मरीज मिल रहे थे, लेकिन अब यहां कोरोना के 215 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 31,623 और मृतकों की संख्या 657 हो गई है। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 2328 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 215 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 31,623 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 657 हो गई है। इधर, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 27,277 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3689 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 18 October 2020

उज्जैन। जहरीली शराब से 14 लोगों की मौत के बाद मुख्यमंत्री के आदेश पर गठित एसआईटी ने मामले की जांच शुरू कर दी गई है। शुक्रवार सुबह एसआईटी के सदस्य पुराने नगर निगम दफ्तर यानी रीगल टॉकीज की छत पर पहुंची, जहां आरोपित शराब बनाते थे। टीम ने वहां तैनात कर्मचारियों से भी पूछताछ की। पुलिस ने इस मामले में अब तक 71 लोगों को हिरासत में लिया है।    उज्जैन में जहरीली शराब से 36 घंटे में 14 लोगों की मौत मामले में एसआईटी ने जांच शुरू कर दी है। शुक्रवार सुबह टीम सबसे पहले निगम के पुराने दफ्तर यानी रीगल टॉकीज भवन पहुुंची। आरोपित बंद पड़े भवन की पॉर्किंग और छत पर झिंझर शराब बनाकर सप्लाई करते थे। यहां पर मौजूद कर्मचारी से पूछा कि इतने समय से यह बस चल रहा था, तुम्हें पता था या नहीं।   जहरीली शराब मामले की जांच जांच करने देर रात गृह विभाग के सचिव राजेश राजौरा, एडीजी एसके झा और रतलाम डीआईजी सुशांत सक्सेना उज्जैन पहुंचे। उधर, देर रात कलेक्टर ने जहरीली शराब बनाने वालों पर रासुका भी लगा दी। एसआईटी दो दिन बाद अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। शुक्रवार सुबह पुराने नगर निगम दफ्तर के बाद एसआईटी के सदस्य खाराकुआं थाने पहुंचे। इसके बाद टीम कहारवाड़ी भी पहुंची, जहां से शराब बनाकर पूरे शहर में सप्लाई की जा रही थी।   अब तक 71 हुए गिरफ्तार एसपी मनोज कुमार सिंह के अनुसार कुछ मामलों में यह साफ हुआ है कि लोगों की मौत जहरीली शराब पीने की वजह से हुई। पुलिस ने देर रात तक दबिश देकर मामले में शराब बनाकर बेचने वाले यूनुस सहित 71 लोगों को गिरफ्तार किया। यूनुस को राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया है। जबकि नगर निगम के अस्थाई कर्मचारी सिकंदर और गब्बर की तलाश जारी है। गिरफ्त में आए 49 आरोपी जहरीली शराब बनाने के काम में लगे हुए थे। पुलिस ने देर रात रीगल टॉकीज की छत से भी शराब बनाने का सामान जब्त किया।

Kolar News

Kolar News 16 October 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में मानसून अभी पूरी तरह से विदा नहीं हुआ है। पिछले कुछ दिनों के दौरान मध्य प्रदेश के पूर्वी जिलों में हल्की वर्षा रुक-रुक कर होती रही है। लेकिन पश्चिमी भागों में अब तक मौसम मुख्यत: शुष्क ही रहा है। इस सप्ताह मध्य प्रदेश के लगभग सभी जिलों में वर्षा का अनुमान है। अति कम दबाव का क्षेत्र वर्तमान में दक्षिण मध्य महाराष्ट्र पर बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इसके प्रभाव से महाराष्ट्र के कुछ क्षेत्रों में अच्छी बरसात हो रही है। शुक्रवार को जबलपुर, होशंगाबाद, भोपाल, इंदौर संभाग में कहीं-कहीं बरसात होने की उम्मीद है।    वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि महाराष्ट्र पर बने सिस्टम के शुक्रवार को उत्तर-पश्चिम दिशा में अरब सागर की तरफ बढऩे की संभावना है। साथ ही उसके अवदाब में बदलने के भी आसार हैं। इस वजह से दक्षिणी मप्र के जिलों में शुक्रवार और शनिवार को भी बरसात होने के आसार हैं। अगले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के दक्षिणी, दक्षिण-पूर्वी और दक्षिण-पश्चिमी जिलों में वर्षा की गतिविधियां बढ़ सकती है। उज्जैन, रतलाम, इंदौर, खंडवा, खरगोन, भोपाल, बैतूल, होशंगाबाद, शिवपुरी, देवास, मांडला तथा जबलपुर आदि जिलों में वर्षा होने की संभावना है।   मौसम विभाग के अनुसार 18 तथा 19 अक्टूबर को पश्चिमी जिलों में वर्षा की गतिविधियां बढ़ सकती हैं। इस दौरान उत्तरी भागों में भी बारिश की गतिविधियां हमें देखने को मिल सकती हैं। 20 और 21 अक्टूबर को वर्षा में कमी आएगी परंतु दक्षिणी जिलों में छिटपुट वर्षा जारी रहेगी। 21 तथा 22 अक्टूबर को पूर्वी जिलों में वर्षा की गतिविधियां एक बार फिर बढ़ेगी उसका कारण बंगाल की खाड़ी में आंध्रप्रदेश के तटों के आसपास बनने वाला एक नया निम्न दबाव का क्षेत्र होगा।

Kolar News

Kolar News 16 October 2020

भोपाल। विधानसभा उप निर्वाचन 2020 की घोषणा के साथ ही प्रदेश के 19 जिलों के 28 विधानसभा क्षेत्रों में निर्वाचन व्‍यय निगरानी के लिये गठित 149 फ्लाइंग स्‍क्‍वाड टीम, 173 स्‍टेटिक सर्विलास टीम, एवं 80 वीडियो सर्विलांस टीम क्रियाशील हैं। इसके साथ ही निर्वाचन व्‍यय निगरानी के अन्‍य दल जिसमें 47 वीडियो व्‍यूविंग टीम, 39 लेखा दल एवं 30 सहायक व्‍यय प्रेक्षक क्रियाशील हैं।संयुक्‍त मुख्‍य निर्वाचन पदाधिकारी मोहित बुंदस ने गुरुवार को बताया कि अभी तक 11 करोड़ रुपये से अधिक की शराब, नशीले पदार्थ, वाहन एवं नगदी जब्त की गई है। आबकारी विभाग द्वारा 2 लाख 84 हजार 687 लीटर शराब (अनुमानित मूल्‍य 1 करोड 89 लाख रुपये) तथा पुलिस द्वारा 61 हजार 517.6 लीटर शराब (अनुमानित मूल्‍य 2 करोड़ 38 लाख रुपयेः जब्त की गई है। इस प्रकार अभी तक कुल 3 लाख 46 हजार 204.6 लीटर शराब जब्त की गई है। पुलिस एवं नारकोटिक्‍स विभाग द्वारा 1 करोड़ रुपये से अधिक मूल्‍य की 806.476 कि.ग्रा ड्रग्‍स जब्त की गई। वाहन एवं अन्‍य सामग्री भी जब्त की गई है, जिसका अनुमानित मूल्‍य 3.74 करोड़ रुपये है। साथ ही 1.94 करोड़ रुपये की नगदी जब्त की गई।उन्होंने बताया कि मुरैना, ग्‍वालियर, ग्‍वालियर पूर्व, डबरा, करैरा, अनूपपुर एवं सांवेर सहित कुल 7 विधानसभा क्षेत्र निर्वाचन व्‍यय संवेदनशील चिन्हित किये गये है। हवाला एवं अवैध धन पर निवार्चन व्‍यय निगरानी की टीमों द्वारा कड़ी नजर रखी जा रही है।

Kolar News

Kolar News 15 October 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे में 372 नये मामले सामने आए हैं और तीन लोगों की कोरोना से मौत हो गई है। इसके साथ ही मरीजों की संख्या 30,754 और मरने वालों का आंकड़ा 649 पहुंच गया है। इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 2818 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 372 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं। नए मामलों के साथ जिले में अब कोरोना मरीजों की कुल संख्या 30,754 हो गई है। वहीं इंदौर में तीन लोगों की मौत होने की भी पुष्टि हुई है। इसके साथ ही यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 649 हो गई है। हालांकि, राहतभरी खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 26,373 मरीज कोरोना को मात देकर घर लौट आए हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या अब 3500 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार चल रहा है।

Kolar News

Kolar News 15 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1046 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 15 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या एक लाख 55 हजार 276 और मृतकों की संख्या 2686 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर-152, भोपाल-191, जबलपुर-70, ग्वालियर-50 के अलावा अन्य जिलों में 50 से कम मरीज मिले हैं।बुलेटिन के अनुसार, बुधवार को प्रदेशभर में 27,485 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1046 पॉजिटिव और 26,439 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 228 सेम्पल रिजेक्ट हुए। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1,55,276 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 30,382, भोपाल 21,533, ग्वालियर, 11,676, जबलपुर 11,863, खरगौन 3648, उज्जैन 3291, मुरैना 2699, सागर 2972, शिवपुरी 2615, नरसिंहपुर 2899, धार 2541, नीमच 2266, रतलाम 2240, बड़वानी 2023, बैतूल 2204, विदिशा 1934, रीवा 2179, शहडोल 2453, दमोह 1941, मंदसौर 1898, खंडवा 1690, सीहोर 1976, होशंगाबाद 2595, सतना 1953, राजगढ़ 1497, झाबुआ 1615, देवास 1744, दतिया 1313, रायसेन 1583, छतरपुर 1424, कटनी 1667, छिंदवाड़ा 2123, अलीराजपुर 1029, अनूपपुर 1399, भिण्ड 1074, शाजापुर 1072, श्योपुर 958, बालाघाट 1693, हरदा 1188, टीकमगढ़ 932, बुरहानपुर 767, सिवनी 1143, सिंगरौली 1167, गुना 847, सीधी 1105, पन्ना 770, मंडला 923, अशोकनगर, 541, डिंडौरी 609, उमरिया 816, आगरमालवा 430 और निवाड़ी 376 मरीज शामिल हैं। राज्य में बुधवार को कोरोना से 15 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर-भोपाल के तीन-तीन, जबलपुर के दो और धार, रतलाम, सतना, दमोह, खंडवा, सिंगरौली व आगरमालवा के एक-एक मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2671 से बढ़कर 2668 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 646, भोपाल 433, उज्जैन 97, बुरहानपुर 25, खंडवा 43, जबलपुर 186, खरगौन 55, ग्वालियर 147, धार 37  मंदसौर 19, नीमच 34, सागर 116, देवास 23, रायसेन 30, होशंगाबाद 44, सतना 35, आगरमालवा 09, झाबुआ 14, अशोकनगर 14, शाजापुर 17, दतिया 19, छिंदवाड़ा 33, सीहोर 44, उमरिया 11, रतलाम 49, बड़वानी 21, मुरैना 24, राजगढ़ 29, श्योपुर 06, टीमकगढ़ 26, रीवा 29, गुना 15, हरदा 18, कटनी 15, सीधी 09, शिवपुरी 24, अलीराजपुर 13, भिंड 07, बैतूल 50, नरसिंहपुर 22, सिवनी 08, सिंगरौली 22, छतरपुर 28, विदिशा 38, दमोह 46, बालाघाट 08, अनूपपुर 11, शहडोल 25, निवाड़ी 01,मंडला 09 और पन्ना के तीन व्यक्ति शामिल हैं।बुलेटिन में राहत की खबर यह है कि राज्य में अब तक 1,38,158 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। इनमें 1260 मरीज बुधवार को स्वस्थ हुए हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 14,432 हैं।

Kolar News

Kolar News 14 October 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज एक बार फिर बदलने वाला है। पिछले दो दिनों से हल्की गर्मी और उमस का एहसास हो होने के बाद राजधानी भोपाल में बुधवार सुबह आसमान में हल्के बादल छाए हुए है। इसके अलावा प्रदेश के कुछ हिस्सों में बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम के कारण दक्षिणी मप्र में भी बरसात का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी क्रम में बुधवार से शुक्रवार तक भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, जबलपुर संभाग में रुक-रुककर बारिश होने की संभावना है। इस दौरान कहीं-कहीं तेज बौछारें भी पड़ सकती हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि बंगाल की खाड़ी में बना गहरा अवदाब का क्षेत्र तेलंगाना के खम्मम के पास पहुंचकर अवदाब में तब्दील हो गया है। इस सिस्टम के बुधवार को गहरा कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित होकर पश्चिम, उत्तर-पश्चिम की दिशा में आगे बढऩे की संभावना है। इससे दो-तीन दिन तक दक्षिणी मप्र में बरसात होगी।   इन संभागों में बारिश की संभावनामौसम विभाग ने बताया कि विशेषकर भोपाल, इंदौर, जबलपुर, होशंगाबाद संभाग में कई स्थानों पर बुधवार से लेकर शुक्रवार तक बारिश होने की संभावना है। इसी क्रम में मंगलवार को भोपाल में बादल छाए रहे। गरज-चमक की स्थिति भी बनी। इंदौर में मंगलवार को सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक 18 मिमी. बरसात हुई।

Kolar News

Kolar News 14 October 2020

वालियर।जयारोग्य अस्पताल में उपचार के लिए आया कैदी जेल प्रहरी को चकमा देकर भाग गया। कैदी के भागने का पता चलने पर उसकी खोजबीन की गई। जेल स्टाफ और कम्पू थाना पुलिस कैदी की तलाश में जुट गई। पुलिस ने आरोपी को भागने से पहले ही बस से दबोच लिया।  श्योपुर थाना मानपुर स्थित ग्राम खेढ़ली इक्षना निवासी राजेन्द्र पुत्र रामप्रसाद वैरवा 25 वर्ष हत्या के प्रयास में केन्द्रीय जेल ग्वालियर में सजा काट रहा है। कैदी को जयारोग्य न्यूरोलॉजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मंगलवार की सुबह राजेन्द्र को अस्पताल से छुटट्ी होने वाली थी। सुबह के समय जेल प्रहरी कैदी का डिस्चार्ज का फार्म बनवाने गया था। जबकि एक जेल प्रहरी कैदी की सुरक्षा में तैनात था। राजेन्द्र लघुशंका का बहना बनाकर बाथरुम में चला गया। कैदी ने बाथरूम में लगी रोशनदान से कांच हटाए और वहां से निकलकर भाग गया।  आधा घंटा बीत जाने के बाद भी कैदी बाहर नहीं निकला तो जेलप्रहरी उसे देखने गया। जेल प्रहरी ने बाथरूम के दरवाजे को खोला तो उसके होश उड़ गए। कैदी बाथरूम से लापता हो गया था। कैदी के फरार होने की सूचना जेल प्रबंधन और कम्पू थाना पुलिस को दी गई। कैदी अस्पताल से निकलकर झांसी रोड थाना के पास बस स्टेण्ड पहुंच गया और बस में छिप कर बैठ गया। पुलिस कैदी को तलाशती हुई बस स्टेण्ड पर पहुंच गई और बसों में झांककर कैदी को तलाश रही थी। गुना जाने वाली बस में राजेन्द्र छिपा हुआ मिल गया। पुलिस ने राजेन्द्र को पकड़ लिया और कम्पू थाने ले गए। जेल प्रहरी करण जादौन की शिकायत पर कैदी के खिलाफ धारा 224 के तहत प्रकरण पंजीबद्व किया गया।

Kolar News

Kolar News 13 October 2020

भोपाल। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर राज्‍य शासन द्वारा मंगलवार को दतिया कलेक्‍टर संजय कुमार का तबादला कर दिया है। उन्‍हें मंत्रालय में उप सचिव का दायित्‍व दिया है। जबकि उनकी जगह औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग के उप सचिव बी. विजय दत्ता को दतिया कलेक्‍टर नियुक्‍त किया गया है। यह जानकारी जनसंपर्क अधिकारी राजेश पाण्डेय ने मीडिया को दी।    गौरतलब है कि उप निवार्चन आयुक्त सुदीप जैन ने सोमवार को दतिया कलेक्टर से ग्वालियर में मतदाता सूची में नए लोगों के नाम जुड़वाने की तारीख के बारे में पूछा था। वह यह नहीं बता पाए थे। दतिया कलेक्‍टर को तबादले का कारण यही बताया जा रहा है कि वे चुनाव आयोग के सामने ठीक से प्रेजेंटेशन नहीं कर पाए थे। इसके साथ ही पूर्व में कांग्रेस ने भी कमलनाथ के खिलाफ हुई एफआईआर को लेकर आपत्ति जताई थी और कलेक्‍टर के तबादले की मांग की थी।

Kolar News

Kolar News 13 October 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज बदल गया है। बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान के असर के चलते मध्य प्रदेश में मानसून एक बार फिर एक्टिव हो गया है। जिसके चलते शहडोल, मंडला और होशंगाबाद संभाग के कई जिलों में मूसलाधार बारिश हो सकती है। इसको लेकर मौसम विज्ञान विभाग ने इन जिलों में अगले 24 घंटो के दौरान अलर्ट जारी किया है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक उदय सरवटे ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि बंगाल की खाड़ी में बन रहा चक्रवात अगर ज्यादा देर रुका तो भोपाल, नरसिंहपुर, जबलपुर और छिंदवाड़ा में भी बारिश होगी। इस दौरान प्रदेश में तेज हवा भी चल सकती है। साथ ही गरज-चमक के साथ बिजली भी गिर सकती है। इससे पहले 8 अक्टूबर को भी प्रदेश के मंडला और डिंडोरी में बारिश हुई थी। जिसके चलते नर्मदा का जलस्तर भी बढ़ा था। साथ ही बारिश के चलते मौसम भी आर्द्र बना हुआ था, जिससे मौसम ठंडा हो गया था। 8 अक्टूबर को प्रदेश में बंगाल की खाड़ी में बने ऊपरी हवा के चक्रवात के असर के चलते बारिश हुई थी। एक के बाद एक सिस्टम बनने से मानसून के अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में विदा होने की संभावना बढ़ गई है।   बंगाल की खाड़ी में एक अवदाब का क्षेत्र बन रहा है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक यह सिस्टम सोमवार को उत्तरी आंध्रा तट पहुंचकर गहरा अवदाब में तब्दील होने की उम्मीद है। इस वजह से सोमवार से ही प्रदेश के दक्षिणी और कुछ पूर्वी क्षेत्रों में बारिश का दौर शुरू हो सकता है। मौसम विभाग के अनुसार इस सिस्टम के प्रभाव से जबलपुर, शहडोल, होशंगाबाद, इंदौर संभाग के जिलों में बरसात शुरू होने की उम्मीद है। राजधानी में भी दोपहर बाद बादल छाने के साथ हल्की बौछारें पडऩे की उम्मीद है। इस सिस्टम के प्रभाव से दो-तीन दिन तक अलग-अलग स्थानों पर रुक-रुककर बौछारें पड़ सकती हैं। इसके बाद 14 अक्टूबर को बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। उसका असर प्रदेश के कुछ हिस्सों में 17 अक्टूबर को दिखने लगेगा। एक के बाद एक सिस्टम बनने से मानसून के अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में विदा होने की संभावना बढ़ गई है।

Kolar News

Kolar News 12 October 2020

जबलपुर। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। यहां एक और पुलिस अधिकारी की इस महामारी की चपेट में आने से मौत हो गई। जबलपुर जिले के सिहोरा में खितौला थाना प्रभारी 58 वर्षीय गोपाल सिंह जगेत को कोरोना संक्रमित होने के बाद जबलपुर के सिटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां शनिवार तडक़े 4.30 बजे उनका निधन हो गया।   जानकारी के मुताबिक, खितौला थाना प्रभारी निरीक्षक गोपाल सिंह जगेत ने तबियत खराब होने के बाद गत दिनों अपनी कोरोना जांच कराई थी, जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें गत 18 सितम्बर को जबलपुर के सिटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। शनिवार अलसुबह करीब 4.30 बजे अचानक उनकी तबियत ज्यादा बिगड़ गई और उनका निधन हो गया। सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अस्पताल पहुंचे और उनके अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू की। बता दें क‍ि स्‍व. जगेत रायसेन ज‍िले के ग्राम टेकापार कलां के मूल न‍िवासी थे और उनका पूरा परिवार वर्तमान में वि‍द‍िशा ज‍िला मुख्‍यालय स्थित इंद्रप्रस्‍थ कॉलोनी में रहता है।        अस्पताल परिसर में वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में दिवंगत गोपाल सिंह जगेत को पुलिसकर्मियों द्वारा सलामी देते हुए श्रद्धांजिल अर्पित की और उसके बाद उनके पार्थिव शरीर को विदिशा भेजा गया, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। जबलपुर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शिवेश सिंह बंघेल एवं रक्षित निरीक्षक सौरभ तिवारी भी उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए परिवार के साथ विदिशा रवाना हुए हैं। दिवंगत पुलिस अधिकारी गोपाल सिंह जगेत के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है।

Kolar News

Kolar News 10 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 439 नये मामले सामने आए हैं, जबकि सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 28,638 और मृतकों की संख्या 628 हो गई है। इंदौर में लगातार 21वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 2279 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 439 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 28,638 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से सात लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 628 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 24,024 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3986 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 10 October 2020

भोपाल। मानसून की विदाई से पहले मध्य प्रदेश में एक बार फिर बारिश की संभावना बन गई है। गुरुवार को कुछ जिलों में तेज बारिश भी हुई है। वहीं शुक्रवार को भी मंडला जिले में सुबह से ही बारिश हो रही है। जिले में लगातार बारिश हो रही है। वहीं, डिंडोरी में नर्मदा का जलस्तर बढ़ गया है। शुक्रवार को अंडमान के तट पर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। जिससे राज्य के पश्चिमी क्षेत्रों में भी बरसात होने की संभावना है।   राजधानी भोपाल में भी लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को मौसम बदला रहा और आसमान में बादल छाए रहे हैं। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक ममता यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि बंगाल की खाड़ी में इस समय चक्रवात सक्रिय हो रहा है। अगले 24 घंटों में इसका असर नजऱ आना शुरू हो जाएगा। ऊपरी हवा के चक्रवात के असर से पूर्वी मध्य प्रदेश में बारिश हो रही है। वहीं अंडमान के तट पर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है, जिससे राज्य के पश्चिमी क्षेत्रों में भी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार भोपाल, होशंगाबाद संभाग के कुछ क्षेत्रों में भी बारिश का सिलसिला शुरू हो सकता है। वहीं शेष स्थानों पर गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी होने के आसार हैं।   मौसम केंद्र भोपाल का पूर्वानुनमान है कि शहडोल संभाग के जिलों में तथा सिवनी, मंडला, बालाघाट, जिलों में कुछ स्थानों पर और होशंगाबाद सभाग के जिलों में तथा कटनी जबलपुर नरसिंहपुर जिले में बारिश या गरज चमक के साथ बौछारे गिर सकती हैं।

Kolar News

Kolar News 9 October 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। बीते 24 घंटे में कोरोना के 441 नए मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत हो गई। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 28,199 और मृतकों की संख्या 621 हो गई है।   इंदौर में लगातार 20वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नए संक्रमित मिले हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नए संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है। इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 3112 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 441 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 28,199 हो गई है। इंदौर में कोरोना से छह लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। इसके साथ ही यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 621 हो गई है।   हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 23,428 मरीज कोरोना को मात देकर घर लौट आए हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 4150 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों एवं घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 9 October 2020

रतलाम। भारतीय मजदूर संघ के विभाग प्रमुख तथा मध्य प्रदेश बिजली कर्मचारी महासंघ के संगठन प्रमुख चंद्रशेखर शर्मा ने गुरुवार को बताया कि संघ के प्रदेश महामंत्री केपी सिंह  व बिजली कर्मचारी महासंघ के प्रांतीय महामंत्री किशोरी लाल रैकवार के नेतृत्व में मध्य प्रदेश बिजली कर्मचारियों की ज्वलंत समस्याओं के निराकरण हेतु महासंघ के प्रतिनिधि मंडल ने भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ज्ञापन प्रदान करते हुए विस्तृत चर्चा की।    ज्ञापन में मांग की गई कि मध्य प्रदेश के विद्युत उद्योग में निजीकरण पर तत्काल रोक लगाई जावे एवं प्रदेश सरकार केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा जारी स्टैंडर्ड बिडींग डाक्यूमेंट्स को स्वीकार ना करें ताकि निजी करण मध्य प्रदेश में लागू ना हो, संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जाए, आउट सोर्स श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करें एवं नियमित करने की नीति बनावे, वार्षिक वेतन वृद्धि पर लगाई गई रोक तत्काल हटाई जाए, केंद्र सरकार के समान महंगाई भत्ता दिया जावे एवं महंगाई भत्ते पर लगी रोक तत्काल हटाई जाए आदि मांगों को लेकर चर्चा हुई।महासंघ की सभी मांगों के शीघ्र निराकरण का आश्वासन  मुख्यमंत्री  द्वारा दिया गया। ज्ञापन के समय बड़ी संख्या में संपूर्ण मध्यप्रदेश से आए महासंघ के प्रतिनिधि मौजूद थे। 

Kolar News

Kolar News 8 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। गुरुवार को यहां कोरोना के 469 नये मामले सामने आए हैं, जबकि सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 27,758 और मृतकों की संख्या 615 हो गई है। इंदौर में लगातार 19वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 2255 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 469 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 27,758 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से सात लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 615 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 22,742 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4401 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 8 October 2020

ग्वालियर। मध्यप्रदेश में मानसून की विदाई के साथ ही मौसम में ठंडक घुलने लगी है। न्यूनतम तापमान में गिरावट आने से रातें सर्द होने लगी हैं और सुबह भी हल्की ठंड का अहसास हो रहा है। बुधवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकलने वाले लोग गर्म कपड़ों में नजर आए। बीते सात दिन में न्यूनताम पारा पूरे सात डिग्री कम हो गया है, वहीं अब अधिकतम पारे की रफ्तार पर भी बे्रक लगने लगे हैं। तीन रोज पहले तक 37 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा अधिकतम पारा अब 35 डिग्री पर आ गया है।    मौसम के जानकारों की मानें तो पूर्वी राजस्थान से आने वाली तेज ठंडी हवा जल्दी ही मौसम का मिजाज ठंडा कर देंगी। इसका अहसास बुधवार को ठंडी सुबह ने करा दिया। शीतल हवा के साथ सुबह का आलम टोटल बदला दिखा, फिजा में समाई ठंडक ने हल्की सी सिहरन भी पैदा की।    परेशान करने लगी थी गर्मी   पहले मई और जून में तेज गर्मी झेली, फिर मानसून में जोरदार बरसात भी हुई, लेकिन बीच-बीच में सूर्य ने तीखे तेवर दिखाए और चटक धूप के साथ उमस ने बेचैन किया। अब जब गुलाबी सर्दी का मौसम आया तो इस पर भी गर्मी भारी पडऩे लगी थी। अक्टूबर में भी पारा 37 डिग्री सेल्सियस के पार दौड़ लगा रहा था, लेकिन बीते 48 घंटे में मौसम ने भले ही हल्की करवट ली और लोगों ने राहत महसूस की। सुबह और रात का पारा तेजी से गिरा है। जहां 29 सितम्बर को न्यूनतम पारा 37 पार था, वहीं इसमें ढाई डिग्री तक की गिरावट दर्ज हुई है, वहीं न्यूनतम पारा 25 डिग्री सेल्सियस था वह बीती रात लुढक़कर 18 डिग्री सेल्सियस तक आ गया है। इसी का परिणाम रहा कि सुबह ठंड ने अपनी आमद का अहसास करा दिया। हालंाकि असली रंग इसे अगले माह नवम्बर में दिखाना था, लेकिन जिस तरह से राजस्थानी हवा ने शहर में प्रवेश किया है, वह समय पूर्व कंपकंपी पैदा कर सकती है।

Kolar News

Kolar News 7 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 292 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 19,223 और मृतकों की संख्या 415 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में बुधवार को प्राप्त रिपोर्ट में 292 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 19,223 हो गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 415 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 16,543 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2200 के करीब है, जिनका उपचार जारी है। भोपाल का रिकवरी रेट प्रदेश में सबसे अधिक 86.7 है।   बुधवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, सीएम हाउस से एक व्यक्ति, भोपाल मेमोरियल अस्पताल से एक व्यक्ति, एम्स से चार लोग, गांधी मेडिकल कालेज से एक व्यक्ति, जवाहरलाल नेहरू केंसर अस्पताल से दो लोग, मिसरोद थाने से एक व्यक्ति, छोला मंदिर थाना से एक व्यक्ति,  पुलिस लाइंस नेहरू नगर में 5 लोग, चार इमली में 4 लोग, एलआईजी कोटरा में 5 लोग शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News 7 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 425 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 26,807 हो गई है। वहीं, मृतकों की संख्या 600 के पार पहुंच गई है। इंदौर में लगातार 17वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 3187 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 425 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 26,807 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 597 से बढक़र 602 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 21,607 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4598 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 6 October 2020

दतिया। मध्यप्रदेश की 28 रिक्त विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की तारीख घोषित हो चुकी हैं। इनमें दतिया जिले की भांडेर सीट भी शामिल हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार ने सोमवार को बताया कि भाण्डेर विधानसभा क्षेत्र (अ.जा.) में 260 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। इन मतदान केन्द्रों पर 1 लाख 74 हजार 601 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।   उन्होंने बताया कि कुल मतादाताओं में 93 हजार 501 पुरुष एवं 81 हजार 94 महिला और 6 अन्य शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र के तहत् 221 सेवा मतदाता है। 1334 दिव्यांग मतदाता और 1 हजार 968 ऐसे मतदाता हैं, जिनकी आयु 80 वर्ष से अधिक है। उन्होंने बताया कि यूपी की बार्डर से लगे हुए 49 मतदान केन्द्र हैं। 79 क्रिटीकल एवं 15 वल्नरेवल मतदान केन्द्र हैं। उन्होंने बताया कि मतदाताओं को मतदान हेतु मतदाता पर्ची के साथ आयोग द्वारा निर्धारित पहचान का एक दस्तावेज भी प्रस्तुत करना होगा।

Kolar News

Kolar News 5 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 454 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 26,382 और मृतकों की संख्या भी 597 हो गई है। इंदौर में लगातार 16वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। यहां एक दिन में सर्वाधिक 495 नये संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 3105 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 454 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 26,382 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 597 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 21,346 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4400 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 5 October 2020

भोपाल। बिजली वितरण कंपनी के निजीकरण को लेकर प्रदेश के सभी पांच कर्मचारी संगठन अब आर-पार की लड़ाई के मूड में आ गए हैं। इसके लिए उन्होंने संयुक्त मोर्चा बनाने के बाद सरकार को चेतावनी दे दी है कि वह पांच अक्टूबर तक सांकेतिक रूप से हड़ताल करेंगे और इसके बाद भी उनकी मांग नहीं मानी गई तो वह काम बंद कर अनिश्चितकालीन हड़ताल कर सकते हैं, प्रदेशभर में अंधेरा पसर सकता है।   उन्होंने साफ कहा है कि पांच अक्टूबर तक वह काली पट्टी बांधकर काम करेंगे, इसके बाद काम बंद हड़ताल जैसा कठोर निर्णय लेने पर विवश हो जाएंगे। उन्होंने साफ कहा है कि अब निजीकरण की तलवार लटके रहने तक चुप नहीं रहेंगे, बल्कि आर-पार की लड़ाई होगी।    भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष मधुकर सांवले, महामंत्री केपी सिंह, पॉवर इंजीनियर्स एवं इम्प्लाइज एसोसिएशन, बिजली कर्मचारी महासंघ, संविदा, आउटसोर्स कर्मचारी महासंघ, बिजली कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री किशोरीलाल रायकवार, कुलदीप सिंह गुर्जर, महासचिव अजय कुमार मिश्रा, क्षेत्रीय सचिव भोपाल अमरनाथ सदाफल, रमेश नागर ने कहा है कि अब सर्वसम्मति से यह निर्णय हो गया है कि प्रदेश में आंदोलन के लिए बिजली कर्मचारी महासंघ एवं संविदा, आउटसोर्स कर्मचारी महासंघ का एक संयुक्त मंच का निर्माण कर आंदोलन को आगे बढ़ाया जाएगा, इसके लिए मप्र विद्युत अधिकारी, कर्मचारी संयुक्त मंच का गठन किया गया, जिसकी कमान केपी सिंह संभालेंगे।

Kolar News

Kolar News 3 October 2020

भोपाल। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2020 रविवार, 04 अक्टूबर को आयोजित की जा रही है। मप्र की राजधानी भोपाल में यह परीक्षा 59 केन्द्रों पर आयोजित की जा रही है, जिसमें 22 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। कोरोना के चलते परीक्षा केन्द्रों पर व्यापक व्यवस्थाएं की गई हैं।    भोपाल कमिश्नर कवीन्द्र कियावत ने शनिवार को इसकी जानकारी देते हुए यूपीएससी परीक्षा में तैनात सभी सुपरवाईजर्स को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को भोपाल में परीक्षा के लिए 59 केन्द्र बनाए गए हैं। इस परीक्षा में 22 हजार 372 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को ई-प्रवेश पत्र में आवंटित केंद्र पर परीक्षा आरम्भ होने के एक घंटा पूर्व पहुंचने के निर्देश दिये गये हैं। परीक्षा केंद्रो पर परीक्षार्थियों का प्रवेश, परीक्षा आरंभ होने के 10 मिनट पूर्व बंद हो जाएंगे। परीक्षार्थियों को ई- प्रवेश पत्र के साथ स्वयं का एक फोटो और पहचान पत्र लाना अनिवार्य है। परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थी केन्द्र अध्यक्ष, परीक्षक और सुपरवाईजर मोबाइल फोन, स्मार्ट वॉच, पेजर आदि के अलावा पानी की बोतल भी नहीं ले जा सकेंगे। कोविड के दृष्टिगत परीक्षार्थी अनिवार्य रूप से मॉस्क लगाएंगे और 50 मिली की पारदर्शी बोतल वाले सैनिटाइजर ले जा सकेंगे। कोविड-19 को देखते हुए 2 मीटर की दूरी पर परीक्षार्थियों को कक्ष में बैठने की व्यवस्था होगी।   बस स्टॉप-रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर सुविधा केंद्र बनाए गए   कमिश्नर कियावत ने बताया कि परीक्षा के लिए आयोग के निर्देशानुसार कोविड संक्रमण से बचाव के सभी इंतजाम किए गए हैं। प्रदेश व अन्य शहरों से भोपाल आने वाले परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए नादरा, हलालपुरा और आईएसबीटी बस अड्डा, भोपाल और हबीबगंज रेलवे स्टेशन तथा भोपाल एयरपोर्ट पर विशेष सहायता केंद्र बनाए गये हैं। इन सहायता केंन्द्रों से परीक्षार्थी, परीक्षा केंद्रों के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

Kolar News

Kolar News 3 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 245 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 18,424 और मृतकों की संख्या 403 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में शनिवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 245 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 18,424 हो गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 403 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 15,538 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2400 के करीब है, जिनका उपचार जारी है।    शनिवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें भाजपा कार्यालय से संबंधित एक व्यक्ति, एम्स से 4 लोग, गांधी मेडिकल कॉलेज से एक व्यक्ति, टीबी अस्पताल से एक व्यक्ति, जवाहरलाल नेहरू केंसर अस्पताल में दो लोग, सीएसपी ऑफिस टीटीनगर से दो लोग, रोहतास नगर खजूरी कला से 4 लोग, आराधना नगर से एक ही परिवार के तीन लोग, चिनार फाच्र्यून कॉलोनी से एक ही परिवार के 4 सदस्य, अरेरा कालोनी में एक ही परिवार के 3 लोग शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News 3 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 245 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 18,424 और मृतकों की संख्या 403 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में शनिवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 245 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 18,424 हो गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 403 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 15,538 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2400 के करीब है, जिनका उपचार जारी है।    शनिवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें भाजपा कार्यालय से संबंधित एक व्यक्ति, एम्स से 4 लोग, गांधी मेडिकल कॉलेज से एक व्यक्ति, टीबी अस्पताल से एक व्यक्ति, जवाहरलाल नेहरू केंसर अस्पताल में दो लोग, सीएसपी ऑफिस टीटीनगर से दो लोग, रोहतास नगर खजूरी कला से 4 लोग, आराधना नगर से एक ही परिवार के तीन लोग, चिनार फाच्र्यून कॉलोनी से एक ही परिवार के 4 सदस्य, अरेरा कालोनी में एक ही परिवार के 3 लोग शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News 3 October 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 322 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 18 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, राजधानी में अब तक कोरोना से 403 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में शुक्रवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 322 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 18,245 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 15,270 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2400 के करीब है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, राजधानी भोपाल में कोरोना से अब तक 403 लोगों की मौत हुई है।

Kolar News

Kolar News 2 October 2020

ग्वालियर। दीपों का त्योहार दीपावली पर फुटकर (खेरची) पटाखा बाजार मेला ग्राउंड में सजेगा या नहीं, इसे लेकर असमंजस बना हुआ है और पटाखा कारोबारी दुकानें लगाने के लिए जिला प्रशासन के चक्कर काट रहे हैं। छोटे व्यवसायियों द्वारा लगाया जाने वाला पटाखा बाजार कोविड-19 के चलते इस वर्ष खटाई में नजर आ रहा है, लेकिन थोक कारोबारियों ने अपना कारोबार शुरू कर दिया है। पटाखा कारोबारी दुकानें खोलकर बैठे हैं, लेकिन ग्राहकों की कमी के चलते यह भी मायूस नजर आ रहे हैं और इन्हें उम्मीद है कि नवदुर्गा के बाद बाजारों में उफान आ सकता है।   दरअसल, ग्वालियर व्यापार मेला ग्राउंड में दीपावली के लिए पटाखे की दुकान लगाई जाती हैं और इसकी प्रक्रिया तीन माह पहले से शुरू हो जाती है, जिससे त्योहारी सीजन में यह दुकानदार अपना कारोबार दुकानें लगाकर कर सकें, लेकिन इस बार प्रशासन द्वारा कोविड-19 के चलते अब तक खेरिज पटाखा बाजार के लिए कोई प्रक्रिया शुरू नहीं की है और न ही लाइसेंस के लिए तिथि निर्धारित की है, इसे लेकर खेरची पटाखा कारोबारी प्रशासनिक अधिकारियों से अपनी नाराजगी भी जता चुके हैं।    इधर, चुनाव के नजदीक आते ही प्रशासनिक अधिकारी चुनावी कार्य में व्यस्त हो गए हैं, जिससे इस वर्ष मेले में लगने वाला पटाखा बाजार को लेकर अब तक कोई निर्णय नहीं हो पाया है, लेकिन गिरवाई पर थोक कारोबारियों ने अपना कारोबार शुरू कर दिया है। इंदौर, उत्तरप्रदेश सहित कई जिलों से पटाखा मंगाकर दुकानें सजा ली हैं, लेकिन खेरची कारोबार नहीं होने के कारण इनको भी अभी ग्राहकों का इंतजार करना पड़ रहा है।   दीपावली से पहले मनेगी दीपावली   दीपों का त्योहार 14 नवम्बर को है, लेकिन उससे पहले जमकर आतिशबाजी होने की उम्मीद है, क्योंकि विधानसभा उपचुनाव का बिगुल बज चुका है, जिससे 3 नवम्बर को मतदान होंगे और 10 नवम्बर को परिणाम घोषित होगा, जिससे विजेता अपनी दीपावली जमकर मनाएंगे और आतिशबाजी भी होगी। पटाखा खेरची बाजार के अध्यक्ष हरीश दीवान ने बताया कि बाजार के लिए अब तक कोई प्रतिक्रिया शुरू नहीं हुई है, जिससे कई परिवार असमंजस में है कि वह माल भरें या नहीं, मेले में लगभग 228 दुकानें लगाई जाती हैं, लेकिन इस बार प्रशासन ने अब तक कोई पहल नहीं की है इसके लिए ज्ञापन भी दिया जा चुका है।

Kolar News

Kolar News 2 October 2020

रतलाम। ग्वालियर-रतलाम स्पेशल एक्सप्रेस 01125-01126 ट्रेन शुक्रवार, 02 अक्टूबर से ग्वालियर तथा रतलाम के बीच चलेगी।   गाड़ी संख्या 01125 सोमवार-बुधवार-गुरूवार और रविवार को रतलाम से ग्वालियर के लिए चलेगी, जबकि 01126 सोमवार-मंगलवार-गुरुवार और शुक्रवार को ग्वालियर से रतलाम के लिए चलेगी।  शुक्रवार दो अक्टूबर को ग्वालियर से शाम 7.30 बजे चलकर 9.36 बजे शिवपुरी, रात 12.45 बजे गुना, 1.25 बजे रूठियाई, 2.43 बजे ब्यावरा, 5 बजे मक्सी, 5.40 बजे उज्जैन, 6.39 बजे देवास, 7.55 बजे इंदौर, 9.9 बजे फतेहाबाई तथा प्रात: 10.45 पर रतलाम पहुंचेगी।    रतलाम से 4 अक्टूबर को शाम 5.10 बजे यह ट्रेन ग्वालियर के लिए प्रस्थान करेगी। 6.23 पर फतेहाबाद, रात 7.35 बजे इंदौर, 8.41 बजे देवास, 9.45 बजे उज्जैन, 11.15 बजे मक्सी, 12.48 बजे ब्यावरा, रात 3 बजे गुना, रात 4.48 बजे शिवपुरी तथा प्रात: 7.45 बजे ग्वालियर पहुंचेगी।  680.13 कि.मी. लम्बा यह फासला 15 घंटे 15 मिनट में यह ट्रेन पूरा करेगी। 

Kolar News

Kolar News 1 October 2020

ग्वालियर/ भोपाल। मध्यप्रदेश में मानसूनी सीजन समाप्त हो गया है और धीरे-धीरे मानसून की विदाई शुरू हो गई है। मानसून वापसी की औपचारिक घोषणा होना शेष है। वहीं मानसून की विदाई के साथ ही अब सर्द दिनों की दस्तक शुरू हो गई है। रात के तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। मौसम विभाग के अनुसार, अक्टूबर में रात के तापमान में गिरावट शुरू हो जाएगी। न्यूनतम तापमान 15 से 17 डिसे के बीच रहने के आसार हैं। इससे गुलाबी ठंड का अहसास होगा।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने गुरुवार को जानकारी देते हुए बताया कि ग्वालियर अंचल में मानसून काफी कमजोर रहा है। प्रदेश में सबसे कम बारिश ग्वालियर व भिंड में दर्ज हुई है। अब आसमान पूरी तरह से साफ हो गया और मौसम में बदलाव भी देखने को मिला। न्यूनतम तापमान में दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई, जिसकी वजह से सुबह हल्की ठंड का अहसास हुआ। अधिकतम तापमान 37.1 डिसे रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से 2.6 डिसे अधिक रहा। दोपहर में गर्मी का अहसास हुआ।   नवंबर में होगी ठंड की शुरूआतमौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार ठंड की शुरुआत 15 नवंबर के बीच होगी और दिसंबर के मध्य या तीसरे हफ्ते में कोल्ड डे (शीतल दिन) की शुरुआत हो जाएगी। चौथे सप्ताह में शीत लहर चलना शुरू हो जाएगी, लेकिन रिकार्ड तोड़ ठंड का सामना नहीं होगा। सामान्य ठंड ही रहेगी। पिछले साल दिसंबर में ठंड ने रिकार्ड तोड़ दिया था।   जनवरी में आएंगे पश्चिमी विक्षोभ, कराएंगे मावठ की बारिशपिछले साल नवंबर से पश्चिमी विक्षोभ की शुरुआत हो गई थी। मई के मध्य तक पश्चिमी विक्षोभों ने बारिश कराई थी। इस बार पश्चिमी विक्षोभ जनवरी में आने के आसार हैं। जनवरी में मावठे की बारिश कराएंगे। पश्चिमी विक्षोभ की वजह से हवा में नमी की मात्रा बढ़ेगी, जिसकी वजह से घना कोहरा दस्तक देगा। पश्चिमी विक्षोभ की वजह से मार्च तक बारिश होने के आसार रहेंगे।   मानसून की विदाई के वक्त आते हैं यह बदलाव- न्यूनतम तापमान में गिरावट आती है। इस गिरावट से रात में गुलाबी ठंड की शुरुआत होती है। तापमान में गिरावट शुरू हो गई है।- हल्की ओस भी गिरने लगी है। सुबह ठंडक का अहसास होता है।- हवा का रुख उत्तर पश्चमी होने लगा है। हवा में नमी की मात्रा भी घट रही है।- अक्टूबर मौसम में पूरी तरह से बदलाव आ जाएगा और कूलर बंद हो जाएंगे।

Kolar News

Kolar News 1 October 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 469 नये मामले सामने आए हैं, जबकि सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 24,475 मृतकों की संख्या भी 572 हो गई है। इंदौर में लगातार 12वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। इससे पहले यहां एक दिन में सर्वाधिक 482 नये संक्रमित एक दिन पहले ही मिले थे।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 3125 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 469 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 24,475 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से सात लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 572 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 19,370 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4533 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 1 October 2020

रतलाम। बच्चों के अधिगम सुधार तथा शिक्षकों की व्यक्तिगत योग्यता विस्तार व सुरक्षित, स्वस्थ स्कूल वातावरण निर्माण के लिए 1 अक्टूबर से 30 दिसंबर तक 18 सत्रों में शिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान तथा प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के माध्यम से किया जाना है। इन प्रशिक्षणों को सभी शिक्षकों, जनशिक्षक, अकादमिक समन्वयक, विकासखंड स्रोत केन्द्र समन्वयक तथा जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के अकादमिक सदस्यों को निर्धारित समयावधि में पूर्ण करना होगा।इसके लिए राज्य शिक्षा केन्द्र ने निर्देश जारी कर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, जिला शिक्षा केन्द्र तथा तकनीकी स्टाफ की जिम्मेदारी तय कर दी है। यह प्रशिक्षण सभी के लिए अनिवार्य होगा। इस प्रशिक्षण को पूर्ण करने वाले शिक्षकों को 1 हजार रूपए प्रदान किए जाने का भी प्रावधान है।   जिला शिक्षा एवं पिपलौदा प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य डॉ.नरेन्द्र गुप्ता ने बताया कि शिक्षण अधिगम संसाधनों की पहुंच बच्चों तक बनाने तथा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ बच्चों की शैक्षिक जरूरतों को पूर्ण करने के उद्देश्य से एनसीईआरटी दीक्षा एप्प के माध्यम से निष्ठा प्रशिक्षण प्रारंभ करने जा रही है। 1 अक्टूबर से प्रारंभ होने वाले इस प्रशिक्षण में 3 पाठ्यक्रम 15 दिन की अवधि के लिए होंगे। पहला चरण 1 से 15 अक्टूबर तक चलेगा। इसमें समावेशी शिक्षा, शिक्षक की व्यक्तिगत योग्यता का विकास और सुरक्षित स्वस्थ शाला वातावरण बनाने के साथ स्कूलों में स्वास्थ्य कल्याण के बारे में चर्चा की जाएगी।    दूसरे चरण में सीखनेकी प्रक्रिया में लिंगानुपात को एकीकृत करना, टीचिंग लर्निंग में आई सी टी का उपयोग व कला आधारित गतिविधियों को शामिल किया गया है। नवंबर माह में होने वाले पहले चरण में शाला आधारित मूल्यांकन, पर्यावरणीय अध्ययन का शैक्षिक महत्व व गणित के शिक्षा शास्त्र की चर्चा की जाएगी। चौथे चरण में सामाजिक विज्ञान के विज्ञान, भाषाओं के शिक्षाशास्त्र व विज्ञान अध्यापन की जानकारी प्रदान  की जाएगी। पांचवे चरण में स्कूल में नेतृत्व की अवधारणा,स्कूली शिक्षा में शैक्षिक पहल तथा प्री स्कूल शिक्षा के बारे में समझाया जाएगा। अंतिम चरण में व्यावसायिक शिक्षा, कोविड 19 के परिदृश्य में स्कूली शिक्षा में चुनौतियों तथा उनके समाधान व बाल अधिकार, यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम 2012 की जानकारी प्रदान की जाएगी।   जिला शिक्षा केन्द्र के अकादमिक समन्वयक चेतराम टांक ने बताया कि इसके लिए राज्य स्तर से लिंक प्राप्त होगी जो 15 दिन के लिए खुली रहेगी। इस निर्धारित समयावधि में शिक्षकों को प्रशिक्षण पूर्ण करना अनिवार्य होगा। इसके लिए प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। शिक्षकों को दीक्षा एप्प में अपने युनिक आईडी व एम शिक्षा मित्र के पासवर्ड से लॉग इन किया जाएगा। इसके अनुभवों को शैक्षिक संवाद में साझा करना होगा। इसके लिए ऑनलाइन टेस्ट होगा तथा 60 प्रतिशत अंक लाने वालों को ही प्रमाण-पत्र प्रदान  किया जाएगा। इस प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों के डाटा पैक,स्टेशनरी व पेन ड्राइव के लिए 1 हजार रूपए प्रमाण पत्र के बाद प्रदान किए जाएंगे।

Kolar News

Kolar News 30 September 2020

सागर। सभी सेक्टर अधिकारी मतदान केन्द्रों का नियमित रूप से निरीक्षण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। साथ ही मतदान केन्द्रों पर एएमएफ अर्थात एश्योर्ड मिनिमम फेसिलिटी जैसे पेयजल, महिला एवं पुरुष शौचालय, बिजली आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करें। यह निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक सिंह ने मंगलवार को राहतगढ़ जनपद सभाकक्ष में सुरखी उप निर्वाचन संबंधी बैठक में दिए।   उन्होंने सभी अधिकारियों को आदर्श आचरण संहिता का अक्षरश: पालन करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चुनाव की तिथि घोषित होने के पश्चात निर्वाचन कार्य में नियुक्त समस्त अधिकारी भारत निर्वाचन आयोग के अधीन आते हैं। अत: सभी का कर्तव्य है कि वे इस संबंध में जारी दिशा निर्देशों का पालन करना सुनिश्चित करें।   कलेक्टर दीपक सिंह ने बताया कि आचरण संहिता लागू होते ही धारा-144 के अंतर्गत विभिन्न प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गये हैं, जिनमें अस्त्र-शस्त्र को लेकर चलना प्रतिबंधित रहेगा। साथ ही सभा आदि का रिटर्निंग ऑफिसर से पूर्व अनुमति लेने के पश्चात ही नियमानुसार आयोजन किया जा सकेगा। कोलाहल नियंत्रण अधिनियम भी पूर्ण प्रभाव से लागू होगा, जिसके अंतर्गत रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक लाउडस्पीकर आदि का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा। डोर टू डोर कैंपेन के लिए पाँच से अधिक व्यक्ति नहीं जा सकेंगे। साथ ही नामांकन के लिए वन प्लस टू अर्थात प्रत्याशी तथा दो व्यक्ति ही साथ जा सकेंगे।   उन्होंने कहा कि चुनावी प्रक्रिया में कोविड प्रोटोकॉल का भी पूरा ध्यान रखा जाए। मतदान केंद्रों के लिए पर्याप्त सैनेटाईजेशन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। साथ ही मतदान केंद्रों पर वोट डालने आने वाले मतदाताओं की थर्मल स्कैनिंग भी की जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत आने वाली आशा कार्यकर्ता तथा एएनएम की प्रत्येक मतदान केन्द्र पर ड्यूटी लगायी गई है।उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार पोस्टल बैलेट का उपयोग 80 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग, दिव्यांग तथा कोविड-19 पॉजिटिव तथा क्वारंटाइन, संदिग्ध व्यक्तियों द्वारा किया जा सकेगा।   बैठक में पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह ने कहा कि चुनाव के दौरान सभी को सजग, सचेत रहने की आवश्यकता है। उन्होंने सम्पत्ति विरूपण से संबंधित कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने बताया कि निरीक्षण के दौरान अधिकारी जनता से भी फीडबैक लें, जिसके आधार पर कमियों को दूर किया जा सके। इस अवसर पर राहतगढ़ एसडीएम एवं रिटर्निंग ऑफिसर रमेश पांडे, एसडीएम संतोष चंदेल, समस्त सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 30 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के रिकॉर्ड 482 नये मामले सामने आए हैं, जबकि सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 24 हजार के पार पहुंच गई है, जबकि मृतकों की संख्या भी 565 हो गई है। इंदौर में लगातार 11वें दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। इससे पहले यहां एक दिन में सर्वाधिक 478 नये संक्रमित मिले थे।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 3347 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 482 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 24,006 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से सात लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 565 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 18,844 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 4500 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 30 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के एक दिन में सर्वाधिक 329 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 17,459 और मृतकों की संख्या 388 हो गई है। भोपाल में 300 से अधिक नये संक्रमित चौथी बार मिले हैं। इनमें एक दिन में सर्वाधिक 313 का पुराना रिकॉर्ड था।    भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में मंगलवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 329 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 17,459 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 388 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 14,705 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2100 के करीब है, जिनका उपचार जारी है।   मंगलवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें जहाँगीराबाद क्षेत्र से तीन लोग, पुलिस अकादमी ऑफिस जहाँगीराबाद से दो व्यक्ति, टीटीनगर थाने से एक जवान, खजूरी थाने से एक व्यक्ति, पिपलानी थाने से एक जवान, एम्स से एक व्यक्ति, एमपीईबी कालोनी से 4 लोग, सीआरपीएफ बंगरसिया से 6 लोग, ईएमई सेंटर से एक व्यक्ति, प्रोफेसर कालोनी से 2 लोग, अरेरा कालोनी से एक ही परिवार के 3 लोग, आकृति इको सिटी से 3 लोग, शिवाजी नगर से एक ही परिवार के 3 लोग, एसबीआई हेड ब्रांच से 2 लोग, शाहपुरा से 4 लोग, नयापुरा से 4 लोग, कस्तूरबा नगर से एक ही परिवार के 4 लोग, सुनहरीबाग टीटीनगर से 4 लोग, विष्णु हाइट्स से 5 लोग, बस स्टेशन बैरागढ़ से एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 29 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा की 28 रिक्त सीटों पर होने वाले उपचुनावों की तैयारियों की बीच अधिकारियों के तबादलों का दौर निरंतर जारी है। इसी क्रम में राज्य शासन द्वारा अब राज्य पुलिस सेवा के 18 अधिकारियों का तबादला किया गया। इनमें चार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) और 14 उप पुलिस अधीक्षक (डीएसपी) स्तर के अधिकारी शामिल हैं। इस संबंध में सोमवार देर रात गृह विभाग द्वारा आदेश जारी किये गये।   जारी आदेश के मुताबिक, मंदसौर एएसपी सुनील कुमार शिवहरे को भोपाल मुख्यालय में सहायक पुलिस महानिरीक्षक (सतर्कता) बनाया गया है, जबकि सहायक पुलिस महानिरीक्षक (पुलिस सुधार) डॉ. अमित कुमार वर्मा को मंदसौर एएसपी पदस्थ किया गया है। इसी तरह भोपाल पुलिस मुख्यालय में एएसपी प्रदीप पटेल को अशोकनगर एएसपी और अशोकनगर एएसपी हेमलता कुरील को भोपाल पुलिस मुख्यालय में सहायक पुलिस महानिरीक्षक नियुक्त किया गया है।   वहीं, डीएसपी स्तर के जिन अधिकारियों का तबादला हुआ है, उनमें परमाल सिंह मेहरा-गोहद जिला भिंड से मंदसौर, नरेन्द्र सोलंकी-मंदसौर से गोहद जिला भिण्ड, विनोद कुमार बघेल-इंदौर पीटीएस से इंदौर 15वीं वाहिनी विसबल, राजेन्द्र सिंह रघुवंशी- चाचौड़ा जिला गुना से मुरैना, सुधीर सिंह कुशवाहा-मुरैना से शिवपुरी, सुनील कुमार बरकड़े-जबलपुर से बेगमगंज जिला रायसेन, लोकेन्द्र सिंह ठाकुर- भोपाल हॉकफोर्स से छतरपुर, अर्जुनलाल उईके-नरसिंहपुर शहर से नरसिंहपुर अजाक, भीकाराम सोलंकी-सैलाना जिला रतलाम से अजाक रतलाम, रश्मि गुप्ता-रायसेन से भोपाल सायबर सेल, सुरभि मीना -पन्ना से भोपाल, बलराम सिंह परिहार-निवाड़ी से अजयगढ़ जिला पन्ना, मानसिंह ठाकुर-मंडलेश्वर जिला खरगौन से बड़वाह जिला खरगौन, राधेश्याम सोलंकी-अजयगढ़ जिला पन्ना से धार विसबल, अदिति भावसार-भोपाल से रायसेन, उपेन्द्र दीक्षित-महिदपुर जिला उज्जैन से बरौनी जिला दतिया, ओपी त्रिपाठी-बेगमगंज जिला रायसेन से भोपाल मुख्यालय और धमेन्द्र सिंह