Video

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782
Advertisement

समाज

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के रिकार्ड 313 नये संक्रमित मिले हैं। यह संख्या अब तक की एक दिन में सर्वाधिक है। इससे पहले यहां 307 नये संक्रमित मिले थे। वहीं, भोपाल में कोरोना से दो लोगों की मौत हुई है। यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 15,706 और मृतकों की संख्या 366 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, राजधानी में बुधवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 313 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 15,706 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से दो लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 366 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 13,021 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन बड़ी संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 2007 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   बुधवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें मुख्यमंत्री के पूर्व प्रोग्राम ऑफीसर रहे राजेंद्र कानूनगो सहित परिवार में चार लोग, सीआरपीएफ बंगरसिया के 15 जवान, मिलिट्री कैम्प में तीन, ईएमई सेंटर और 23वीं बटालियन में दो-दो जवान, जेपी अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ, कस्तूरबा हॉस्पिटल, चिरायु अस्पताल के एक-एक डॉक्टर, सेंट्रल जेल और जिला कारागार के एक-एक कैदी भी शामिल हैं। इसके अलावा कटारा हिल्स, अरेरा कॉलोनी सहित अन्य पॉश क्षेत्रों में भी लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। 

Kolar News

Kolar News 23 September 2020

भोपाल। मानसून विदा होने से पहले एक बार फिर मप्र पर मेहरबान हो गया है। प्रदेश भर में झमाझम बारिश हो रही है। वहीं राजधानी भोपाल में मंगलवार को रातभर हुई बारिश के बाद बुधवार सुबह से भी हल्की फुहारें गिर रही हैं, जिससे लोगों को उमस और गर्मी से राहत मिली है। मौसम विभाग के अनुसार कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी छत्तीसगढ़ और उसके आसपास बना है। जो मंगलवार रात को मप्र में पहुंच गया है। मानसून द्रोणिका (ट्रफ) भी सागर से होकर गुजर रही है। इन दो सिस्टम के असर से कई जिलों में बरसात हो रही है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार को राजधानी सहित पूरे प्रदेश में अच्छी बरसात होने के आसार हैं। उन्होंने बताया कि मानसून द्रोणिका बीकानेर, भीलवाड़ा, सागर से कम दबाव के क्षेत्र से होकर बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है। छत्तीसगढ़ में मौजूद सिस्टम भी पूर्वी मप्र की तरफ बढ़ रहा है। इस वजह से बुधवार को जबलपुर, सागर, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, भोपाल संभाग में अच्छी बारिश होने के आसार हैं। इस दौरान कहीं-कहीं भारी वर्षा भी हो सकती है। रुक-रुककर बौछारें पडऩे का सिलसिला गुरुवार को भी जारी रह सकता है।   छिंदवाड़ा में गरज चमक के साथ बारिश होगीछिंदवाड़ा जिले में बारिश का दौर एक बार फिर शुरू हो गया है। मौसम विभाग ने आगामी चार दिनों तक लगातार बारिश होने का अनुमान जताया है। विभाग द्वारा जारी मौसम पूर्वानुमान के अनुसार अधिकतम तापमान 28-31 डिग्री सेंटीग्रेट एवं न्यूनतम तापमान 22-24 डिग्री सेंटीग्रेट के मध्य और अधिकतम सापेक्षित आद्र्रता 82 से 96 प्रतिशत एवं न्यूनतम सापेक्षित आद्र्रता 64 से 78 प्रतिशत होने की संभावना है। आने वाले दिनों में हवा दक्षिण एवं दक्षिण पश्चिम दिशा में बहने एवं हवा 12-15 किमी प्रति घंटे की गति से चलने की संभावना है। विभाग के अनुसार 23 से 27 सितंबर तक अधिकांश क्षेत्रों में घने से मध्यम बादल रहने एवं 23-24 पृथक स्थानों पर गरज और बिजली के साथ हल्की वर्षा की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 23 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में लगातार हालात बिगड़ते जा रहे हैं। यहां कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के एक दिन में सर्वाधिक 446 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 20 हजार के पार पहुंच गई है, जबकि यहां अब तक कोरोना से 509 लोगों की मौत हो चुकी है। इंदौर में लगातार तीसरे दिन कोरोना के 400 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। इससे एक दिन पहले यहां सर्वाधिक 419 नये मरीज मिले थे।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 3642 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 446 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 20,383 हो गई है। वहीं, इंदौर में चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 509 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 16 हजार मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3800 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 22 September 2020

इंदौर। कोरोना संकटकाल में विदेशों में फंसे भारतीयों को अपने देश वापस लाने के लिए चलाए जा रहे वंदे भारत मिशन के अंतर्गत दुबई से एयर इंडिया की विशेष प्लाइट सोमवार सुबह इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर एयरपोर्ट पहुंची। इस फ्लाइट से दुबई में फंसे मध्यप्रदेश के 91 यात्री यहां पहुंचे, जिनमें इंदौर के 27 यात्री भी शामिल हैं। एयरपोर्ट पर चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा सभी यात्रियों की जांच की गई और इसके बाद उन्हें अपने गंतव्य की ओर रवाना किया। थर्मल स्क्रीनिंग व अन्य मेडिकल जांच के बाद सभी यात्रियों को 14 दिन घरेलू एकांतवास में रहने की हिदायत दी गई।   एयरपोर्ट प्रबंधन के अनुसार, वंदे भारत मिशन के तहत दुबई में फंसे मध्यप्रदेश के 91 लोगों को लेकर एयर इंडिया का विशेष विमान सोमवार अलसुबह चार बजे इंदौर एयरपोर्ट पहुंचा। इनमें 27 यात्री इंदौर और 64 राज्य के अन्य जिलों के शामिल हैं। इनमें 84 यात्री कोरोना जांच रिपोर्ट के साथ यहां पहुंचे थे। एयरपोर्ट पर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई और अन्य जांच के बाद उन्हें अपने घर रवाना कर दिया। वहीं, शेष सात यात्री बिना कोरोना जांच के आए थे। इन यात्रियों की एयरपोर्ट पर कोरोना जांच की गई और सभी की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें 14 दिन घरेलू एकांतवास में रहने की हिदायत देकर अपने घर भेज दिया गया।

Kolar News

Kolar News 21 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के एक दिन में सर्वाधिक 419 नये मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 19,937 और मृतकों की संख्या 505 हो गई है। इंदौर में एक दिन में दूसरी बार 400 से अधिक नये मरीज मिले हैं। इससे पहले यहां दो दिन पहले सर्वाधिक 408 नये संक्रमित मिले थे।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 2517 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 419 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 19,937 हो गई है। वहीं, इंदौर में छह लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 505 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 15,550 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3882 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 21 September 2020

अनूपपुर। शासकीय आदेश के तहत जिले के 198 शासकीय व निजी हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूलों में सोमवार, 21 सितम्बर से कक्षाएं आरम्भ हो जाएंगी। यह कक्षाएं 7 माह बाद संचालित होगी, जिसमें आंशिक रूप मे कक्षाओं का संचालन कराते हुए 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति तय की गई है। लेकिन जिले में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों और घातक महामारी के दौरान संचालित होने वाली कक्षाओं में शासन के जारी दिशा निर्देश और जिला शिक्षा कार्यालय विभाग द्वारा की गई तैयारियों को लेकर खुद शिक्षकों और अभिभावकों में संशय की स्थिति बनी हुई है।   जिले में संचालित होने वाली शासकीय 59 हाईस्कूल सहित 79 हायर सेकेंडरी स्कूल तथा निजी कक्षा 9 से 12वीं तक के 60 अन्य स्कूलों में कोरोना से लडऩे मात्र सेनेटाइजर की व्यवस्था रखी गई है। जबकि कुछ निजी स्कूलों में थर्मल स्क्रीनिंग और ऑक्सोमीटर जैसी सुविधा उपलब्ध है। शेष स्कूलों में बच्चों के तापमान और उसके ऑक्सीजन लेबल की माप के लिए कोई उपकरण नहीं है। जिसके कारण बाहर से आने वाले छात्रों की स्वास्थ्य सम्बंधित जांच की पूरी प्रक्रिया अपनाए बगैर कक्षाओं में उपस्थिति होगी। इससे संक्रमण के खतरे की आशंका बनी रहेगी। जबकि अभी तक आयोजित प्रदेश स्तरीय व बोर्ड की परीक्षाओं में प्रशासन ने प्रत्येक सेंटर पर कोरोना सुरक्षा उपायों के तहत छात्रों का प्रवेश कक्षाओं में कराया, लेकिन अब बच्चों की पढाई के लिए खोले गए स्कूल कक्षाओं में सुरक्षा की अनदेखी की जा रही है।    शासन के जारी निर्देशों में कहा गया है कि कक्षा-9 वीं से 12वीं तक के शासकीय एवं निजी स्कूल 21 सितम्बर से आंशिक रूप में नियमित क्लासेस के साथ नहीं लगेंगी। शिक्षक नियमित रूप से स्कूलों में उपलब्ध रहेंगे। छात्र-छात्राएं किसी विषय पर शिक्षक से मार्गदर्शन लेने के लिए पालकों की अनुमति से पूर्ण रूप से एहतियात बरतते हुए स्कूल में आ सकते हैं। कोविड संक्रमण से बचाव के लिए स्कूलों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर का सख्ती से पालन करना होगा।   क्या है कि स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर   कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) शासकीय एवं निजी, दोनों स्कूलों पर लागू होगा। इसमें शिक्षक एवं विद्यार्थी 6 फीट की दूरी, फेस-कवर या मास्क, बार-बार साबुन से हाथों को धोना, सेनेटाइज करना, स्कूल की ऐसी सतहों एवं उपकरणों का कक्षा प्रारंभ होने एवं समाप्ति के बाद एक प्रतिशत हाइपोक्लोराइड से डिसइन्फेक्शन (कीटाणु शोधन) करना, पानी एवं हाथ धोने के स्थानों एवं शौचालयों की सफाई, शौचालयों में साबुन एवं अन्य सामान्य क्षेत्रों में सेनेटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता, स्कूल के प्रवेश-स्थान पर हाथ की स्वच्छता के लिए सेनेटाइजर, डिस्पेंसर और थर्मल स्केनिंग की व्यवस्था होनी चाहिए। स्कूल में केवल कोरोना नेगेटिव व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति, आगंतुकों का प्रवेश प्रतिबंधित। साथ ही कंटेनमेंट जोन में स्कूल खोलने की अनुमति नहीं, और कंटेनमेंट जोन में निवासरत विद्यार्थियों, शिक्षकों और कर्मचारियों को स्कूल में आने की अनुमति भी नहीं होगी। छात्र, शिक्षक या कर्मचारी के बुखार, खांसी या श्वांस लेने में कठिनाई होने पर चिकित्सीय परामर्श लेना होगा। यदि व्यक्ति पॉजिटिव आता है, तो पूरे परिसर का कीटाणु-शोधन किया जाएगा   नहीं थर्मल स्क्रीनिंग, कक्षाओं का नही सेनेटाईजशन   21 से आरम्भ होने वाली कक्षाओं में स्कूलों के पास थर्मल स्क्रीनिंग मशीन के साथ अन्य जरूरत के संसाधन नहीं है। इसके अलावा सुबह 10.30 बजे से लगने वाली कक्षाओं में अभी तक स्कूल कक्षाएं सेनेटाइज नहीं हो सके हैं।   सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग अनूपपुर पीएन चतुर्वेदी का कहना है स्कूलों के सेनेटाइजेशन कराने के साथ अन्य सुरक्षा उपायों के तहत कक्षाओं के संचालन के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए सम्बंधित स्कूल अधिकारियों को भी सख्त हिदायत दी गई है। कल कक्षाओं के संचालन और बच्चों की उपस्थिति के बाद तय हो सकेगा कि आगामी दिनों हमें और कितनी तैयारी की आवश्यकता है।

Kolar News

Kolar News 20 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 272 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,874 और मृतकों की संख्या 358 हो गई है। इससे पहले यहां एक दिन में सर्वाधिक 307 नये मामले शनिवार को ही सामने आए थे।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में रविवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 272 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,874 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से चार लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 358 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 12,725 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1700 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 20 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के लिए साल 2020 का मॉनसून अब सामान्य के स्तर पर पहुँच चुका है। शुरुआती समय में मध्य प्रदेश के लोगों को मॉनसून ने कुछ तरसाया जरूर था लेकिन सीजन के मध्य आते-आते प्रदेश में बहुत व्यापक मॉनसून वर्षा दर्ज की गई। पश्चिमी मध्य प्रदेश में  सामान्य से 11 प्रतिशत अधिक वर्षा रिकॉर्ड की गई है। लेकिन पूर्वी भागों में अभी 4 प्रतिशत की कमी है। हालांकि अगले 1 सप्ताह के दौरान मॉनसून का सबसे ज़्यादा ज़ोर पूर्वी मध्य प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों पर रहेगा। जिससे इस कमी की भरपाई हो जाएगी और कुछ स्थानों पर बाढ़ जैसे हालात भी पैदा हो सकते हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने जानकारी देते हुए बताया कि अगले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के दक्षिण पश्चिमी जिलों में वर्षा होने की संभावना है। उसके बाद बारिश की गतिविधियां बढऩे के आसार हैं क्योंकि बंगाल की खाड़ी पर एक डिप्रेशन बनने वाला है। उम्मीद है कि 20 सितंबर को यह डिप्रेशन उत्तरी बंगाल की खाड़ी पर बनेगा और ओडिशा को पार करते हुए मध्य प्रदेश पर पहुंचेगा। इसके प्रभाव से धीरे-धीरे बारिश की गतिविधियों में वृद्धि देखने को मिलेगी। मध्य प्रदेश के पूर्वी तथा मध्य क्षेत्रों में कम से कम 25 सितंबर तक कई जगहों पर मध्यम से भारी मॉनसूनी वर्षा होती रहेगी। मौसम विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश के दक्षिण पश्चिमी भागों में बारिश की गतिविधियां 24 घंटों के बाद कम होने लगेंगी और अगले तीन-चार दिनों तक जहां पूर्वी तथा मध्य भागों में कई जगहों पर अच्छी वर्षा होती रहेगी वहीं पश्चिमी क्षेत्रों में गुना से लेकर इंदौर, उज्जैन, रतलाम, देवास, धार, मंदसौर तक मौसम मुख्यत: शुष्क रहने की संभावना है। बारिश के आगामी स्पैल के दौरान सबसे ज़्यादा प्रभावित होने वाले जिले होंगे पूर्वी मध्य प्रदेश के जबलपुर, मंडला, बालाघाट, कटनी, सागर, सतना, पन्ना, छतरपुर, खजुराहो और भोपाल। 

Kolar News

Kolar News 20 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस के नक्सल विरोधी अभियान के तहत बालाघाट पुलिस तथा हॉक फोर्स को आठ लाख रुपये के ईनामी नक्सली बादल को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है। पुलिस ने शुक्रवार को इसका खुलासा किया।   बालाघाट पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने बताया कि गुरुवार को मुखबिर से सूचना मिलने पर हॉक फोर्स एसओजी बिरसा को बांधाटोला (समनापुर) जंगल क्षेत्र में भेजा, जहां दो संदिग्ध व्यक्ति दिखाई देने पर उन्हें पकडऩे के लिए घेराव किया। पुलिस को देखते ही एक व्यक्ति ने पिस्टल निकाल कर पुलिस पर फायर किया और दोनों नक्सली तालाब में कूद गये। एसओजी बिरसा के पांच जवान अदम्य साहस का परिचय देते हुए तालाब में कूदे और एक नक्सली को गिरफ्त में ले लिया, जबकि दूसरा भागने में सफल रहा।   गिरफ्त में आए नक्सली की पहचान बादल इंचार्ज विस्तार प्लाटून दो, एरिया कमेटी मेम्बर के रूप में हुई है। बादल की गिरफ्तारी पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा तीन लाख तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पाँच लाख रुपये, इस प्रकार आठ लाख का ईनाम घोषित था।   गिरफ्तार नक्सली को वापस लाते समय इसे छुड़ाने तथा पुलिस पार्टी को जान से मारने के उद्देश्य से जंगल में मौजूद 20-25 नक्सलियों ने लगातार दो घंटे तक फायरिंग की। नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर 80-90 राउण्ड फायर किये। आत्मरक्षार्थ हॉक फोर्स ने भी जवाबी फायरिंग की और गिरफ्तार नक्सली को सही-सलामत लाने में सफल रहे। मुठभेड़ स्थल पर 6 टीमों द्वारा लगातार सर्चिंग की जा रही है।   गिरफ्तार नक्सली बादल पर बालाघाट, राजनांदगाँव तथा कबीरधाम जिले में 17 नक्सल अपराध दर्ज हैं। उसकी गिरफ्तारी में हॉक फोर्स एसओजी बिरसा, टीम के प्रभारी सहायक उप निरीक्षक विपिन खलको, प्रधान आरक्षक महेन्द्र सिंह, राजेश कोल, आरक्षक राजकुमार कोल तथा आरक्षक विवेक तोमर की साहसिक भूमिका रही। जंगल में मुठभेड़ के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्याम कुमार मरावी ने अपने हमराह बल के साथ कवर फायरिंग देने में उल्लेखनीय भूमिका निभाई।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

गुना।  अनलॉक-4 व्यवस्था के क्रम में त्यौहारों पर चले आ रहे कई प्रतिबंधों को हटा दिया गया है। जिसके तहत अब सार्वजनिक स्थानों पर दुर्गा झांकियां लगाई जा सकेंगी। लेकिन प्रतिमाओं की अधिकतम ऊंचाई 6 फीट निर्धारित की गई है। साथ ही पंडाल का साइज भी 10 बाई 10 अधिकतम रहेगा। जानकारी के मुताबिक 18 सितंबर को प्रदेश शासन द्वारा जिले के सभी कलेक्टर को आगामी त्यौहारों को लेकर गाइड लाइन जारी कर दी है। जिसके तहत सार्वजनिक स्थानों पर प्रतिमा एवं झांकियों की विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर स्थापना की जाएगी। आदेश के संबंध में सभी मूर्तिकारों को अवगत कराने के लिए कहा गया है। सामाजिक, सांस्कृतिक एवं अन्य कार्यक्रमों के आयोजनों में अधिकतम 100 व्यक्तियों को शामिल होने की अनुमति है। इसके लिए आयोजकों को जिला प्रशासन से पूर्वानुमति प्राप्त करना आवश्यक होगा। कोविड संक्रमण को देखते हुए धार्मिक व सामाजिक आयोजन के लिए चल समारोह निकालने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही गरबा के आयोजन भी नहीं हो सकेंगे।    मूर्ति विसर्जन के लिए 10 व्यक्ति निर्धारित मूर्ति विसर्जन के लिए 10 से अधिक व्यक्तियों के समूह को अनुमति नहीं है। इसके लिए भी प्रशासन से पूर्व अनुमति लेना होगा। विसर्जन स्थल पर भीड़ को कम करने उपयुक्त स्थान का चुनाव करना प्रशासन  की जिम्मेदारी रहेगी।   हर जगह सुरक्षा के इंतजाम जरूरी जारी गाइडलाइन के तहत सार्वजनिक स्थानों पर कोविड संक्रमण से बचाव के लिए झांकियों, पंडालों, विसर्जन के आयोजनों में श्रद्धालुओं के लिए फेस कवर, सोशल डिस्टेंसिंग एवं सेनेटाइजर का प्रयोग करना जरूरी है।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 291 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,630 और मृतकों की संख्या 349 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में शुक्रवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 291 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,630 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से पांच लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 349 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 12,354 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1900 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   शुक्रवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें सीएम हाउस से एक व्यक्ति, राजभवन से एक पुलिस जवान, विधानसभा से तीन लोग, 74 बंगलों से 4 लोग, एमएलए रेस्ट हाउस से एक व्यक्ति, गांधी मेडिकल कॉलेज से पांच लोग, एम्स से एक व्यक्ति, जेपी अस्पताल से एक व्यक्ति, हनुमानगंज थाने से एक जवान, आरपीएफ थाने से एक जवान, बागसेवनिया थाने से एक व्यक्ति, 23वीं बटालियन से एक जवान, पुलिस चौकी जगदीशपुर से एक व्यक्ति, न्यू मार्केट से 3 लोग, अरेरा कालोनी से 11 लोग और नई जेल से एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 18 September 2020

दतिया।  सूरज की किरण फूटने के साथ ही पितरों का तर्पण कर बिदाई देने के लिये नगर के करन सागर, सीता सागर, लाला के तालाब, उनाव बालाजी, भाण्डेर, पहूज नदी के शाहपुर स्थित सती घाट पर लोगों का पहुंचना प्रारंभ हुआ। सर्व पितृ अमावस्या पर गुरूवार सुबह से ही जलाशयों में पहुंचकर पुरखों का तर्पण करते हुये। विधि विधान के साथ पिण्डदान किया गया। पुरखों को तर्पण के साथ ही उन्हें विदाई दी गई, और गुरूवार को घरों में सर्व पितृ अमावस्या पर श्राद्ध आयोजित  हुए। भाण्डेर नगर पंचायत पूर्व अध्यक्ष वृजकिशोर, बल्ले रावत ने पहूज नदी के सती घाट पर श्रृद्धालुओं को धूप से बचने के लिए टेन्ट और पानी की व्यवस्था की।    भागवताचार्य कृष्णकांत शास्त्री ने बताया कि पितृ पक्ष में पितरों को प्रसंन्नता एवं पूर्व की पीढिय़ों का आशीर्वाद पाने के लिए उनका अर्चन, पूजन, दर्पण अवश्य करें इससे आपको पूर्वजों का आर्शीवाद परिवार में सुख समृद्धि, धन, कीर्ति गोत्र में वृद्वि होती है। पितरों के आशीर्वाद से  कुछ भी असम्भव नहीं है। जहां पितरों की पूजा होती है वहाँ देवताओं का बास है। माता-पिता की सेवा करने वाले पुत्र पर भगवान विष्णु की अपार कृपा सदा बनी रहती है। पुत्रों के लिए माता-पिता से बढकर दूसरा कोई तीर्थ नहीं।    उन्होंने बताया कि यदि किसी कारण श्राद्धों में पितरों का श्राद्ध छूट गया हो तो अमावस्या के दिन सर्वप्रथम छूटे श्राद्ध के निमित विधि पूर्वक श्राद्ध कर्म करना चाहिए और उसके बाद पितृ विर्सजन तर्पण करके भोजन ग्रहण करना चाहिए। पितृ विर्सजन के समय भी श्राद्ध की तरह इस बात को विशेष सावधानी रखनी चाहिए की पकवान भोज्य पदार्थो के साफ पत्तलों में ही परोसना चाहिए। इसके बाद तर्पण करना चाहिए। फिर देवताओं, गौमाता, स्वान, कौआ, चीटियों के निमित पंच वैश्यवलि निकालनी चाहिए। इसके बाद पुरखों को स्मरण करना चाहिए।

Kolar News

Kolar News 17 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के रिकॉर्ड 381 नये मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 18,321 और मृतकों की संख्या 479 हो गई है। इंदौर में लगातार आठवीं बार एक दिन में कोरोना के 300 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। इससे पहले यहां एक दिन में सर्वाधिक 393 नये सामने सामने आए थे।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 3004 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 393 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 18,321 हो गई है। वहीं, इंदौर में छह लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 479 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 13,130 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 4712 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 17 September 2020

भोपाल। आई.टी.आई. प्रवेश में तृतीय चयन सूची 18 सितम्बर को जारी होगी। इसमें प्रवेश प्रक्रिया 19 सितम्बर से प्रारंभ होकर 22 सितम्बर तक पूर्ण कर ली जायेगी।    जनसम्पर्क अधिकारी बिन्दु सुनील ने बुधवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि डीएसटी के तहत प्रवेश के लिए मेरिट सूची के आवेदकों का साक्षात्कार, चयन तथा प्रवेश की कार्यवाही 20 से 22 सितम्बर के मध्य की जायेगी। पोर्टल पर 24 सितम्बर को संस्थावार, श्रेणीवार रिक्त सीटों की जानकारी प्रदर्शित की जायेगी। रजिस्ट्रेशन एवं च्वाइस फिलिंग के लिए पोर्टल 25 सितम्बर को पुन: ओपन किया जाएगा।   जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2020 में आई.टी.आई. में अब तक कुल 11 हजार 390 बच्चों को प्रवेश दिया गया है। इसके तहत क्रॉस ट्रेनिंग स्किल में 11 हजार 68, इंडिस्ट्रीयल मेजमेंट समिति-201 तथा डयूल सिस्टम ऑफ ट्रेनिंग में 121 बच्चों को प्रवेश मिला है।

Kolar News

Kolar News 16 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 245 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,147 और मृतकों की संख्या 339 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में बुधवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 245 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,147 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से पांच लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 339 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 11,812 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2200 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   बुधवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें सीआरपीएफ अस्पताल बंगरसिया से 17 लोग भी शामिल हैं। इसके अलावा, राजभवन से एक पुलिस जवान, आईटीबीपी कान्हा सैय्या से तीन जवान, ईएमई सेंटर से एक व्यक्ति, नेहरू नगर पुलिस लाइंस से एक व्यक्ति, पुलिस कण्ट्रोल रूम से एक व्यक्ति, हनुमानगंज थाने से दो जवान, पुलिस लाइंस जहांगीराबाद से दो लोग, आरके अस्पताल से एक व्यक्ति, गांधी मेडिकल कॉलेज से पांच लोग, साकेत नगर से एक ही परिवार के तीन लोग, इब्राहिमगंज से एक व्यक्ति, रेलवे कॉलोनी हबीबगंज से एक व्यक्ति, रेलवे कोच फैक्ट्री से एक व्यक्ति, आइसर एकांतवास केन्द्र से एक व्यक्ति, लखेरापुरा से एक ही परिवार के 3 सदस्य, पीएनबी कालोनी ईदगाह हिल्स से 3 लोग, 74 बंगलो से एक व्यक्ति, डिप्टी सेक्रेटरी ऑफिस के एक व्यक्ति, एमएलए रेस्ट हाउस से एक व्यक्ति, एसबीआई बैंक से एक व्यक्ति और अरेरा कॉलोनी से चार लोग संक्रमित पाए गए हैं।

Kolar News

Kolar News 16 September 2020

भोपाल। बीते 24 घंटों में प्रदेश में वन्य जीवों से संबंधित दो बड़ी घटनाएं हुई हैं। प्रदेश के पूर्वी अंचल में स्थित उमरिया जिले में जंगली हाथियों ने फसलों को नुकसान पहुंचाया है। वहीं, पश्चिमी मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में तीन वर्षीय बच्ची पर जंगली जानवर द्वारा हमला किए जाने की खबर है।    प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार रात से उमरिया जिले में जंगली हाथी उत्पात मचा रहे हैं। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के धमोखर रेंज के ग्राम बरतराई में हाथियों के झुंड ने कई एकड़ जमीन पर लगी धान की फसल को नष्ट कर दिया है। बताया जाता है कि बीती रात यहां लगभग 20 जंगली हाथियों का एक झुंड पहुंच गया था। खेतों में घुसे हाथियों ने कई एकड़ जमीन पर लगी धान की फसल को अपने पैरों से कुचलकर नष्ट कर दिया। ग्रामीणों की सूचना पर वन अमला बरतराई पहुंचा है और हाथियों को वापस जंगल में खदेड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं।   तीन वर्षीय बच्ची को ले गया जंगली जानवरी प्रदेश के बड़वानी जिले के खेतिया वन क्षेत्र के ग्राम करणपुरा में बुधवार सुबह एक जंगली जानवर द्वारा बच्ची पर हमला किए जाने की खबर है। जंगली जानवर अपने घर के बाहर बैठी 3 साल की बच्ची को उठाकर गन्ने की खेत में ले गया। सौभाग्य से यह घटना बच्ची के पिता ने देख ली। बच्ची का पिता जब जानवर के पीछे दौड़ा, तो वह बच्ची को छोड़कर भाग गया। जानवर के हमले से घायल बच्ची को अस्पताल लाया गया है, जहां उसका उपचार किया जा रहा है। वहीं, सूचना मिलने के बाद गांव में पहुंचे वन विभाग के अधिकारी जंगली जानवर की पहचान करने में जुटे हैं।

Kolar News

Kolar News 16 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के तीन जिलों में कोरोना के 697 नये मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 91,427 हो गई है और प्रदेश में कोरोना से अब तक 1797 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राज्य में अब तक 67,711 मरीज कोरोना को मात देकर घर पहुंच गए हैं। वहीं बड़ी संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढ़कर 22 हजार के पार पहुंच गए हैं।   इंदौर की प्रभारी सीएमएचओ डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात जारी 2959 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 386 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि चार लोगों की कोरोना से मौत की पुष्टि हुई है। अब इंदौर में संक्रमितों की कुल संख्या 17,547 और मृतकों की संख्या 467 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में मंगलवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 280 नये मरीज मिले हैं और दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके अलावा उज्जैन में कोरोना के 31 नये मामले सामने आए हैं।   इन 697 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल 91,427 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 17,547, भोपाल 13,711, ग्वालियर, 7825, जबलपुर 6441, मुरैना 2284, उज्जैन 2310, खरगौन 2441, बड़वानी 1466, नीमच 1550, सागर 1620, शिवपुरी 1669, खंडवा 1209, रतलाम 1523, मंदसौर 1178, धार 1451, विदिशा 1271, राजगढ़ 1047, देवास 976, भिण्ड 716, रीवा 1161, बुरहानपुर 618, रायसेन 991, सीहोर 1108, छतरपुर 867, दमोह 1103, नरसिंहपुर 1246, होशंगाबाद 932, बैतूल 1171, दतिया 985, शाजापुर 675, टीकमगढ़ 589, श्योपुर 675, कटनी 698, सतना 909, छिंदवाड़ा 743, झाबुआ 1027, अलीराजपुर 851, सिंगरौली 484, हरदा 648, सीधी 530, शहडोल 978, बालाघाट 561, पन्ना 382, गुना 477, आगरमालवा 308, अशोकनगर, 325, सिवनी 440, अनूपपुर 563, निवाड़ी 254, उमरिया 225, डिंडौरी 272 और मंडला 387 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई छह मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1797 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 467, भोपाल 331, उज्जैन 83, बुरहानपुर 25, खंडवा 26, जबलपुर 113, खरगौन 34, ग्वालियर 86, धार 20, मंदसौर 14, नीमच 27, सागर 74, देवास 18, रायसेन 19, होशंगाबाद 23, सतना 23, आगरमालवा 06, झाबुआ 10, अशोकनगर 12, शाजापुर 08, दतिया 10, छिंदवाड़ा 14, सीहोर 23, उमरिया 03, रतलाम 30, बड़वानी 16. मुरैना 19, राजगढ़ 15, श्योपुर 04, टीमकगढ़ 18, रीवा 18, गुना 12, हरदा 14, कटनी 11, सीधी 02, शिवपुरी 15, अलीराजपुर 09, भिंड 05, बैतूल 25, नरसिंहपुर 07, सिवनी 07, सिंगरौली 07, छतरपुर 20, विदिशा 27, दमोह 20, बालाघाट 01, अनूपपुर 06, शहडोल 12, निवाड़ी 01,मंडला 05 और पन्ना का एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 15 September 2020

  भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम हर दिन अपना रंग बदल रहा है। सितंबर के शुरुआती दिनों में बारिश थम गई थी। साथ ही तेज धूप भी निकलने लगी थी। इससे लोग उमस और गर्मी से परेशान थे। अब एक बार फिर से मौसम विभाग ने बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में हाल के दिनों में जो सिस्टम बना है, उसका असर पूरे प्रदेश पर रहेगा, लेकिन मध्य प्रदेश के 7 जिलों में 15 और 16 सितंबर को मूसलाधार बारिश के आसार हैं। हालांकि पिछले कुछ दिनों से धूप की वजह से तापमान में इजाफा हुआ है।   7 जिलों में भारी बारिश की चेतावनीराजधानी भोपाल में मंगलवार सुबह से हल्के बादल छाए हुए है। सोमवार देर शाम को हुई बारिश के बाद मौसम में ठंडक है। हालांकि मौसम विभाग ने 7 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी जारी की है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि इंदौर, धार, बुरहानपुर, खंडवा खरगोन, बैतूल, हरदा जिलो में भारी बारिश होने के आसार हैं। इसके अलावा राजधानी भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, जबलपुर और सागर संभाग के जिलों में और रीवा सतना, रतलाम, उज्जैन, देवास, शाजापुर, आगर जिलो में गरज चमक के साथ बौछारें पडऩे की संभावना हैं।   15 और 16 सितंबर को फिर बदलेगा मौसम का रंगमानसून की विदाई से पहले ही लोग उमस और गर्मी से बेहाल है। लोगों को बढ़ते तापमान से राहत की उम्मीद है। मौसम विभाग का कहना है कि 15और 16 सितंबर को प्रदेश भर में एक बार फिर से बारिश का दौर शुरू होगा। बारिश के बाद भी लोगों को उमस से राहत की उम्मीद नहीं है।  

Kolar News

Kolar News 15 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 210 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 13,641 और मृतकों की संख्या 329 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में सोमवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 210 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 13,641 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से पांच लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 329 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 11,333 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2100 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   सोमवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें जिला जेल जहांगीराबाद से 5 कैदी, सेंट्रल जेल से एक कैदी, छोला थाने से एक जवान, पुलिस एकेडमी से एक व्यक्ति, जीएमसी से 2 लोग, एम्स से एक व्यक्ति, ऋषि ईस्ट सिटी बरखेड़ा से एक ही परिवार के 6 लोग, एमआईजी सेक्टर अयोध्या नगर से एक ही परिवार के 4 लोग, राग वैद्य कालोनी कोलार से 4 लोग, एसएसबी अकादमी चन्दूखेड़ी से 4 लोग, चोपराकला गांव से 3 लोग, अशोका गार्डन से एक ही परिवार के 4 लोग, ईस्ट रेलवे कॉलोनी से 2 लोग, एलबीएस अस्पताल ओल्ड सिटी से एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 14 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा का तीन दिवसीय सत्र आगामी 21 सितम्बर से शुरू होगा, जो कि 23 सितम्बर तक चलेगा। इस तीन दिवसीय सत्र के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से विधानसभा के आसपास के क्षेत्रों में धारा 144 लागू रहेगी। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट अविनाश लवानिया ने सोमवार को दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिया है। यह आदेश 21 सितम्बर से 23 सितम्बर तक विभिन्न क्षेत्रों में लागू रहेगा।   कलेक्टर द्वारा जारी आदेश 21 सितम्बर से 23 सितम्बर तक प्रात: 6:00 से रात 12:00 बजे 74 बंगले के ऊपर वाली सडक़ से होते हुए रोशनपुरा चौराहा में लागू रहेगा। नवीन विधायक विश्रामगृह के सामने वाला मार्ग पुराना, पुलिस अधीक्षक कार्यालय से सब्बन  चौराहा, ओमनगर और वल्लभ नगर का समस्त झुग्गी क्षेत्र धारा 144 के तहत जारी आदेश का प्रभाव क्षेत्र माना जायेगा। आदेश डयूटी पर कार्यरत कर्मचारियों-अधिकारियों पर लागू नहीं होगा। शवयात्रा या बारात भी इस आदेश से मुक्त रहेंगे। आदेश में स्पष्ट किया गया है कि भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोरोना के संबंध में जारी आदेशों-निर्देशों, शारीरिक दूरी की गाइडलाइन एवं कार्यस्थल के एसओपी का पालन करना अनिवार्य होगा तथा जोखिम क्षेत्रों से किसी भी स्टाफ की कार्यस्थल पर उपस्थिति प्रतिबंधित रहेगी।    जारी आदेश के मुताबिक उल्लेखित क्षेत्र में पांच या उससे अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे। कोई व्यक्ति किसी जुलूस- प्रदर्शन का न तो निर्देशन करेगा और न उसमें भाग लेगा तथा न ही कोई सभा आयोजित की जायेगी। आदेश में यह साफ कर दिया गया है कि सत्र के दौरान कोई भी व्यक्ति चाकू या अन्य धारदार हथियार लेकर नहीं चलेगा। कोई भी व्यक्ति ऐसा कोई कार्य नहीं करेगा, जिससे उद्योग और सार्वजनिक या निजी सेवाओं पर विपरीत असर पड़ता हो। प्रभावित क्षेत्र में पुतला दहन या किसी तरह के आंदोलन की सख्त मनाही की गई है।

Kolar News

Kolar News 14 September 2020

नरसिंहपुर। जिले में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप और बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को देखते हुए कलेक्टर वेदप्रकाश ने सीएमएचओ डॉ. एमयू खान को हटा दिया है। उनके स्थान पर डॉ. पीसी आनंद को अस्थाई रूप से प्रभार दिया गया है।    नरसिंहपुर जिले में कोरोना विस्फोट की स्थिति बनती जा रही है। दो दिन पहले जिले में एक साथ 178 कोरोना पॉजीटिव पाए गए थे। बदहाल होती स्वास्थ्य सेवाओं और कोविड 19 के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर कलेक्टर वेदप्रकाश ने जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एमयू खान को पद से हटा दिया है। इनके स्थान पर जिला अस्पताल के अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ पीसी आनंद को अस्थाई रूप में सीएमएचओ का प्रभार दिया गया है। विदित हो कि डॉ. खान की कार्यप्रणाली को लेकर चिकित्सकों में पहले ही रोष था। वहीं, रविवार को जिले की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर युवक कांग्रेस ने पुतला भी फूंका था।   गाडरवारा में व्यापारियों ने लगाया सात दिन का लॉकडाउननरसिंहपुर जिले कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए गाडरवारा व्यापारी संघ ने 7 दिवसीय लॉकडाउन घोषित किया है। इसके फलस्वरूप सोमवार सुबह से समूचे बाजार में सन्नाटा रहा। किसी भी व्यापारी ने अपनी दुकानें नहीं खोलीं। झंडा चौक स्थित शहर के मुख्य बाजार में आम लोगों की चहलकदमी भी बेहद कम रही। वहीं जिलेभर में सराफा व्यापार पूरी तरह से ठप है। सराफा व्यापारी भी 7 से 10 दिन तक दुकानें बंद करने का एलान कर चुके हैं। अकेले जिला मुख्यालय की बात करें तो यहां की छोटी- बड़ी 180 सराफा दुकानों में तालाबंदी है। नगर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू गुप्ता के अनुसार रोजाना व्यापारियों को करीब 1 करोड़ के टर्नओवर का नुकसान झेलना पड़ रहा है, लेकिन जनस्वास्थ्य और संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए व्यापारी सब कुछ सहने तैयार हैं।

Kolar News

Kolar News 14 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 234 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 13,421 और मृतकों की संख्या 324 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में रविवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 234 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 13,421 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से तीन लोगों की मौत की पुष्टि भी हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 324 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 11,087 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या दो हजार के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   रविवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें सीआरपीएफ अस्पताल बंगरसिया से 10 लोग, एम्स से एक व्यक्ति, जीएमसी से एक व्यक्ति, हमीदिया से एक व्यक्ति, जेपी अस्पताल से एक व्यक्ति, ईएमई सेंटर से 14 लोग, कोतवाली रोड स्थित इलाहाबाद बैंक से 6 लोग, पदारिया जाट गांव से 5 लोग, जखाडिय़ा खुर्द गांव से 3 लोग, न्यू सेंट्रल जेल से एक कैदी, जिला जेल जहांगीराबाद से एक कैदी, जहांगीराबाद से 2 लोग, जेके कैप्मस से 3 लोग, चार इमली से 3 लोग संक्रमित पाए गए हैं।

Kolar News

Kolar News 13 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 26 केन्द्रों पर रविवार को दोपहर दो बजे से राष्ट्रीय पात्रता और प्रवेश परीक्षा (नीट) शुरू हुई। परीक्षा केन्द्रों पर कोरोना के चलते सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये गए और सभी सुरक्षित उपायों के साथ विद्यार्थियों को केन्द्रों पर प्रवेश दिया गया। हालांकि, परीक्षा शुरू होने से तीन घंटे पहले ही विद्यार्थियों को परीक्षा केन्द्र बुला लिया गया था, जिससे उन्हें और उनके परिजनों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। छात्रों के सेंटर में प्रवेश के बाद परिजन फुटपाथ पर बैठकर और सोकर समय बिताते नजर आए, क्योंकि कोरोना के कारण उन्हें कैम्पस में प्रवेश नहीं दिया गया।   भोपाल में नीट परीक्षा के लिए 26 सेंटर बनाए गए हैं, जहां करीब 10 हजार विद्यार्थी इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। इनमें भोपाल के करीब 8 हजार विद्यार्थी व अन्य जिलों के 2000 विद्यार्थी शामिल हैं। बाहर के जिलों में सतना, होशंगाबाद, हरदा, दमोह, टीकमगढ़, रायसेन, अशोकनगर, सिंगरौली, रीवा, सीधी, छतरपुर, विदिशा, बालाघाट, राजगढ़, गुना, सीहोर, शाजापुर और आगर मालवा से नीट की परीक्षा देने के लिए 2000 से अधिक विद्यार्थी भोपाल पहुंचे हैं। नीट की परीक्षा देने के लिए भोपाल में प्रशासन ने उनके नि:शुल्क परिवहन की व्यवस्था की।    परीक्षा दोपहर 2 बजे शुरू हुई। इसके लिए छात्रों को समय से तीन घंटे पहले यानी 11.20 बजे तक केन्द्रों पर  पर रिपोर्ट करना अनिवार्य किया गया। छात्रों को उनके प्रवेश कार्ड पर रिपोर्टिंग टाइम दिया गया था। वहीं, भूखे-प्यासे परिजन फुटपाथ पर बैठकर इंतजार करते रहे। परीक्षा केन्द्रों पर 11 बजे से जांच के बाद परीक्षार्थियों को प्रवेश देना शुरू हो गया था। प्रवेश के दौरान लाइन में लगे कुछ विद्यार्थियों का धूप में खड़े होने से सिर का तापमान बढ़ गया, जिसके चलते उन्हें कुछ देर छाया में खड़ा करने के बाद वापस तापमान देखा गया और फिर प्रवेश दिया गया। कोरोना वायरस के चलते हर एक परीक्षार्थी का तापमान चेक कर उसे सेंटर में प्रवेश दिया गया। इसके साथ ही शारीरिक दूरी का भी ध्यान रखा गया। सभी परीक्षार्थी मास्क लगाने के साथ सैनिटाइजर और पानी की बॉटल लेकर आए।   छात्रों को परीक्षा केंद्र तक बसों से पहुंचाने की सुविधा सरकार द्वारा कर दी गई थी, लेकिन केन्द्रों के बाहर किसी तरह की व्यवस्था नहीं होने से परिजनों को परेशानी हुई। राजगढ़ से आए अपनी बेटी को नीट की परीक्षा दिलाए आए मांगीलाल ने बताया कि बस की सुविधा तो सरकार ने दी, लेकिन सेंटर में पेपर के तीन घंटे पहले बुलाना कष्टकारी है। बेटी को पेपर देने के लिए 3 घंटे अंदर इंतजार करना पड़ा। हमें यहां फुटपाथ पर 6 घंटे तक रहना पड़ रहा है।

Kolar News

Kolar News 13 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में सितंबर के महीने में मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है। दिन भर तीखी धूप के बाद शाम होते तक बादल गरज बरस रहे हैं। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि प्रदेश भर में 2 दिनों तक भारी बारिश होने के आसार हैं। खासकर राज्य के 9 जिलों में मूसलाधार बारिश हो सकती है। इसको लेकर अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। इसके अलावा 16 सितम्बर के बाद एक बार फिर से प्रदेश में बारिश का दौर शुरू होने के आसार हैं। भोपाल मौसम केन्द्र के मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, जो कि आंध्र प्रदेश, विदर्भ महाराष्ट्र की तरफ बढ़ रहा है। इस सिस्टम के सक्रिय होने से प्रदेश भर में भारी बारिश होने के आसार हैं। प्रदेश भर के 9 जिलों में भारी बारिश हो सकती है। कुछ जिलों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ेंगी। इसके बाद 15 और 16 सितंबर को प्रदेश भर में बारिश का एक और दौर शुरू होगा। प्रदेश भर में फिलहाल मानसून की विदाई में अभी वक्त है। सितंबर के आखिरी हफ्ते या फिर अक्टूबर के पहले हफ्ते में मानसून की विदाई हो सकती है। इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनीमौसम विभाग ने प्रदेश भर के 9 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। रविवार और सोमवार को सिवनी, मंडला, बालाघाट, बैतूल, हरदा, खरगोन खंडवा, अलीराजपुर जिलों में गरज चमक के साथ भारी बारिश होने के आसार हैं। वहीं पर भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, शहडोल जबलपुर संभागों के जिलों में और दमोह जिलों में चमक के साथ बौछारें पडऩे के आसार हैं। ग्वालियर में तापमान पहुँचा 37 डिग्री के पारसुबह से ही चिलचिलाती धूप के चलते प्रदेश के कई शहरों में तापमान में इजाफा हो रहा है। ग्वालियर में तापमान 37 डिग्री के पार पहुंच गया तो वहीं नौगांव, खजुराहो, रीवा में 36 डिग्री तापमान रिकॉर्ड हुआ। गुना में 35.8 डिग्री तापमान दर्ज हुआ. शाजापुर, श्योपुर, शिवपुरी में तापमान 35.4डिग्री के पार तापमान रिकॉर्ड हुआ।

Kolar News

Kolar News 13 September 2020

उज्जैन। केंद्र सरकार द्वारा जारी एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर) के आधार पर राज्य सरकार ने भी कक्षा 9 से 12 तक को 21 सितम्बर से शर्तों के आधार पर खोलने की अनुमति दे दी है। एसओपी के तहत चूंकि घण्टी धातु की है और इस पर कोरोना वायरस का संक्रमण अधिक दिनों तक रहता है, ऐसे में घण्टी नहीं बजाई जाएगी। घण्टी का स्थान इलेक्ट्रानिक डिवाइस/सायरन का उपयोग करना होगा। कक्षा में विद्यार्थियों की डेस्क के बीच कम से कम 6 फिट की दूरी रखना होगी। सामाजिक दूरी भी इतनी ही रखना होगी।   केंद्र की एसओपी का हिंदी अनुवाद करके राज्य सरकार द्वारा भेजी गई एसओपी को जिला शिक्षा विभाग ने भी जारी कर दिया है। एसओपी में दी गई शर्तों का अनिवार्य रूप से शासकीय एवं निजी विद्यालयों को पालन करना होगा। यहां तक कि यदि शिक्षक किसी विद्यार्थी की पाठ्य आधारित समस्या का निदान करता है तो उसे मॉस्क के साथ फेस शिल्ड लगाना होगी। मॉस्क, फेस शिल्ड, विजर्स, हैण्ड सेनेटाईजर स्कूल प्रबंधन उपलब्ध करवाएगा।   स्कूल प्रबंधनों को जारी महत्वपूर्ण निर्देश * स्कूल में प्रवेश करते समय स्टॉफ और विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी तथा हैण्ड सेनेटाईजर लगाना होगा। * ऑक्सीमीटर की व्यवस्था रखना होगी,ताकि आवश्यकता होने पर स्टॉफ या विद्यार्थियों के ऑक्सीजन लेवल को जांचा जा सके। * स्कूलों में प्रवेश एवं निकासी अलग-अलग मार्गो से रखना होगी। * पार्किंग में भी सामाजिक दूरी का पालन कर,वाहन पार्क करवाना होंगे। * आगंतुकों का प्रवेश सख्ती से प्रतिबंधित रहेगा। * असेंबली,खेल एवं सामुहिक गतिविधियां प्रतिबंधित रहेगी। * स्कूल के अंदर या परिसर में कतार बनवाई जाती है तो प्रत्येक विद्यार्थी के बीच 6 फिट की दूरी रखना होगी। * स्टॉफ की उपस्थिति बायोमेट्रिक नहीं रहेगी। पेन का भी आदान-प्रदान नहीं होगा। न तो स्टॉफ करेगा और न ही कक्षा में विद्यार्थी। * अधिक आयुवाले और गर्भवति महिला शिक्षिकाओं/कर्मचारियों को विद्यार्थियों के सीधे सम्पर्क में न आने दें,यह व्यवस्था करना होगी। * शौचालयों/वॉश बेसिन पर हाथ धोने के लिए साबुन रखना होगा। * स्कूल खोलने से पूर्व कक्षाएं,गलियारे,प्रसाधन आदि सेनेटाईज करना होंगे। * स्टॉफ(शिक्षक और कार्यालय कर्मचारी)को 50 प्रतिशत आधार पर रोटेशन पर बुलवाया जाएगा। * शिक्षण सामग्री,कम्प्यूटर आदि हर कक्षा के बाद सेनेटाईज करना होगी। * फर्श की भी रोजाना सफाई करना होगी। इसके लिए हायपो का उपयोग करना होगा। * बसों का संचालन किया जाता है तो उसमें पर्याप्त दूरी पर विद्यार्थी को बैठाना होगा तथा प्रतिदिन उसे लाने-ले जाने से पूर्व सेनेटाईज करना होगा। * बीमार होने पर शिक्षक/छात्र को विद्यालय आने की अनुमति नहीं रहेगी।   यहां अभी भी बना हुआ है असमंजस   * सामान्यतया एक कक्षा में 30 से 50 विद्यार्थी बैठते थे। अब 6 फिट की दूरी पर डेस्क लगाने पर अधिकतम 15 से 20 विद्यार्थी बैठ पाएंगे। अर्थात् एक कक्षा के विद्यार्थियों को दो पारियों में बांटकर एक दिन छोड़कर बुलाना होगा। ऐसी स्थिति में कम कक्ष वाले वे स्कूल जहां संख्या अधिक है, क्या करेंगे?

Kolar News

Kolar News 12 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। अब राज्य के तीन जिलों में कोरोना के 643 नये मामले सामने आए हैं, जबकि नौ लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 84 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 1700 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राज्य में अब तक 62,936 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर जा चुके हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 19 हजार के पार पहुंच गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात जारी 2838 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 341 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां संक्रमितों की कुल संख्या 16,431 और मृतकों की संख्या 451 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में शनिवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 265 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके अलावा उज्जैन में कोरोना के 37 नये मरीज मिले हैं।   इन 643 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 84,262 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 16,431, भोपाल 12,946, ग्वालियर, 7277, जबलपुर 5853, मुरैना 2227, उज्जैन 2183, खरगौन 2188, बड़वानी 1367, नीमच 1435, सागर 1469, शिवपुरी 1507, खंडवा 1139, रतलाम 1414, मंदसौर 1102, धार 1270, विदिशा 1199, राजगढ़ 997, देवास 898, भिण्ड 693, रीवा 1043, बुरहानपुर 608, रायसेन 913, सीहोर 994, छतरपुर 796, दमोह 960, होशंगाबाद 823, बैतूल 1014, दतिया 909, शाजापुर 606, टीकमगढ़ 535, श्योपुर 649, कटनी 593, सतना 797, छिंदवाड़ा 649, झाबुआ 906, अलीराजपुर 822, सिंगरौली 466, हरदा 584, नरसिंहपुर 888, सीधी 483, शहडोल 800, बालाघाट 508, पन्ना 331, गुना 438, आगरमालवा 285, अशोकनगर, 310, सिवनी 376, अनूपपुर 515, निवाड़ी 246, उमरिया 202, डिंडौरी 249 और मंडला 360 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई नौ मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1700 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 451, भोपाल 321, उज्जैन 83, बुरहानपुर 25, खंडवा 26, जबलपुर 106, खरगौन 33, ग्वालियर 79, धार 18, मंदसौर 14, नीमच 19, सागर 69, देवास 17, रायसेन 17, होशंगाबाद 23, सतना 21, आगरमालवा 06, झाबुआ 08, अशोकनगर 12, शाजापुर 08, दतिया 10, छिंदवाड़ा 12, सीहोर 22, उमरिया 02, रतलाम 28, बड़वानी 16. मुरैना 15, राजगढ़ 15, श्योपुर 04, टीमकगढ़ 15, रीवा 15, गुना 10, हरदा 13, कटनी 11, सीधी 02, शिवपुरी 14, अलीराजपुर 08, भिंड 05, बैतूल 20, नरसिंहपुर 06, सिवनी 07, सिंगरौली 07, छतरपुर 19, विदिशा 25, दमोह 20, बालाघाट 01, अनूपपुर 05, शहडोल 09, निवाड़ी 01,मंडला 05 और पन्ना का एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 12 September 2020

मंदसौर। कोरोना के मरीज पूरे देश में लगातार बढ़ रहे हे। मंदसौर जिले में भी प्रतिदिन कोरोना पाॅजिटिव मरीज सामने आ रहे है। अभी तक शासन और प्रशासन लोगों से काम होने पर ही घर से बाहर निकलने की गुहार करता आया है। लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों ने भी अब लोगों को घरों में ही कैद रहने को मजबूर कर दिया है। अभी न तो कोई लाॅकडाउन है और न हीं कोई घर से बाहर निकलने पर पुलिस की सख्ती लेकिन फिर भी शहर के बाजार सूनसान पड़े है। कई व्यापारिक संगठनों ने अपने व्यापार कर समय भी निर्धारित कर दिया है। लोगों को यह समझ में आ गई है कि अब यदि कोरोना को रोकना है तो हमें ही सावधान ओर जागरूक होना पड़ेगा।    उल्लेखनीय है कि मंदसौर जिले में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों का आंकड़ा 1250 को पार गया है। वहीं एक्टिव केस भी 400 से अधिक है। ऐसे में अब कोरोना का रोकने का एक ही तरीका सबको समझ आ रहा है वहीं जागरूकता और सावधानी। शुक्रवार को नगर के धानमंडी, सदर बाजार जैसे व्यवस्तम मार्ग भी सूनसान पडें रहे।  इक्का-दुक्का दुकानों पर किराने का सामान लेते हुए लोग नजर आ रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 11 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में बरसात एक एक और दौर शुरू हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी उत्तर प्रदेश से विदर्भ तक बनी द्रोणिका (ट्रफ), बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात और अरब सागर से मिल रही नमी के कारण प्रदेश में गरज-चमक के साथ तेज बौछारें पडऩे का सिलसिला शुरू हो गया है। राजधानी में गुरुवार को दिन भर तीखी उमस के बाद शाम को झमाझम बरसात हुई। मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि उप्र से विदर्भ तक बने ट्रफ के कारण अरब सागर से बड़े पैमाने पर नमी आ रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 13 सितंबर से बरसात की गतिविधियों में और तेजी आएगी।   राजधानी भोपाल में शुक्रवार सुबह से धूप निकली हुई है। बीच-बीच में धूप निकलने से दिन का अधिकतम तापमान बढ़ रहा है। इससे दोपहर के बाद गरज-चमक के साथ बरसात हो रही है। यह सिलसिला अभी जारी रहेगा। 13 सितंबर को बंगाल की खाड़ी से कम दबाव के क्षेत्र के आगे बढऩे की संभावना है। इसके बाद प्रदेश के कई स्थानों पर झमाझम बरसात का दौर शुरू होने के आसार हैं।   मध्य प्रदेश में इस सप्ताह विभिन्न क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना है। 10 सितंबर को दक्षिणी और दक्षिण पूर्वी मध्य प्रदेश में विभिन्न जिलों में बारिश के आसार हैं। भोपाल में भी बारिश हो सकती है। जबकि इस दौरान उत्तरी क्षेत्रों में मौसम शुष्क बना रहेगा। 11 और 12 सितंबर बारिश का दायरा और सीमित हो जाएगा। इन दो दिनों में केवल दक्षिणी जिलों में वर्षा की गतिविधियां देखने को मिलेंगी। बाकी हिस्सों पर मौसम शुष्क हो जाएगा। जबकि 13 सितंबर से बारिश बढऩे की उम्मीद है, जब दक्षिण के साथ-साथ उत्तर-पूर्वी जिलों में भी बारिश होगी।   वर्तमान मौसमी परिदृश्य के अनुसार हमारा अनुमान है कि 14, 15 और 16 सितंबर को मध्य प्रदेश के मध्य भागों से लेकर पश्चिमी जिलों तक काफी अच्छी बारिश दर्ज की जाएगी। इस दौरान भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, देवास, धार, मंदसौर, ग्वालियर, गुना समेत इस क्षेत्र के विभिन्न जिलों में व्यापक वर्षा होगी।

Kolar News

Kolar News 11 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमित मरीजों के साथ-साथ इस महामारी से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ती जा रही है। अब यहां कोरोना के रिकॉर्ड 326 नये मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 16 हजार के पार पहुंच गई है, जबकि यहां कोरोना से अब तक 444 लोगों की मौत हो चुकी है। इंदौर में लगातार दूसरी बार एक दिन में 300 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। इससे पहले यहां 312 नये सामने सामने आए थे। अब यहां बार एक दिन में 300 से अधिक नये संक्रमित मिले हैं। इसके बाद जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 15,764 और मृतकों की संख्या 438 हो गई है।    इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 2762 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 326 व्यक्ति  पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन 326 नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 16,090 हो गई है। वहीं, इंदौर में छह लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों संख्या 444 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 11,091 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 4400 हो गई है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 11 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई इलाकों में आज फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। राजधानी भोपाल समेत इंदौर, देवास, दमोह और सिवनी सहित आस-पास के इलाकों में बारिश हुई। मौसम विभाग नागपुर की वेबसाइट पर जारी रिपोर्ट के अनुसार आज भोपाल, जबलपुर, होशंगाबाद संभाग के जिलों और दमोह, सागर, सतना, रीवा, देवास, उज्जैन, रतलाम, खरगोन, खंडवा, बुरहानुपर, आलीराजपुर और बड़वानी में गरज चमक के साथ तेज बारिश हो सकती है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक ममता यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि मध्य प्रदेश के आसमान पर छाए हुए मानसून के बादल आगे बढ़ गए और धूप खिल गई लेकिन बंगाल की खाड़ी में आंध्र प्रदेश के किनारे चक्रवाती हवाओं ने बादलों के एक दल को मध्य प्रदेश की तरफ रवाना कर दिया है।  मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि गुरुवार या फिर शुक्रवार को मध्य प्रदेश के 21 जिलों में बारिश होगी। दमोह में एक सप्ताह बाद बारिश शुरूदमोह में बीते 1 सप्ताह से मौसम सामान्य बना हुआ था और धूप के कारण लोगों को उमस का सामना करना पड़ रहा था, लेकिन गुरुवार दोपहर अचानक ही मौसम में परिवर्तन हुआ और आसमान में बादल छा गए। कुछ देर बाद तेज बारिश शुरू हो गई। अभी लगातार बारिश जारी है। सिवनी जिले में रिमझिम बारिश का दौर जारीसिवनी जिले में रुक-रुक कर हो बारिश का दौर जारी है। अतिवृष्टि व बाढ़ से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। लगातार हो रही बारिश से फसलों को नुकसान होने की संभावना जताई जा रही है। गुरुवार दोपहर करीब 1 घंटे बारिश हुई है। मध्य प्रदेश के इन जिलों में होगी बारिशअगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश में बालाघाट, सिवनी, छिंदवाड़ा, बैतूल, होशंगाबाद, रायसेन, नरसिंहपुर, जबलपुर, डिंडोरी, अनूपपुर, उमरिया, कटनी, शहडोल, दमोह और सागर तक वर्षा होने की संभावना है। इंदौर, धार, झाबुआ, अलीराजपुर, उज्जैन और रतलाम में छिटपुट बारिश हो सकती है। रीवा, छतरपुर, ग्वालियर, गुना, भिंड, मुरैना सहित बाकी जिलों में मौसम शुष्क रहेगा। 

Kolar News

Kolar News 10 September 2020

  उज्जैन। भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। अब यहां कोरोना के 49 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 2081 हो गई है। वहीं, उज्जैन में अब तक कोरोना से 82 लोगों की मौत हो चुकी है।   उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा जारी हैल्थ बुलेटिन में बताया गया है कि बुधवार देर रात प्राप्त 855 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 49 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें 47 मरीज उज्जैन के रहने वाले हैं, जबकि एक-एक मरीज तराना और महिदपुर तहसील के हैं। इन नये मामलों के साथ अब जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 2081 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि यहां अब तक 1630 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 383 है, जिनका उपचार जारी है।  

Kolar News

Kolar News 10 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। अब यहां चार जिलों में कोरोना के 634 नये मामले सामने आए हैं जबकि नौ लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 78 हजार के करीब पहुंच गई है। प्रदेश में कोरोना से अब तक 1618 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि राज्य में अब तक 58,509 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं लेकिन लगातार बड़ी संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढ़कर 17 हजार के पार पहुंच गए हैं।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात जारी 2550 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 287 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां संक्रमितों की कुल संख्या 15,452 और मृतकों की संख्या 432 हो गई है। भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार राजधानी में बुधवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 262 नये संक्रमित मिले हैं जबकि चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके अलावा सागर में 51 और उज्जैन में कोरोना के 34 नये मामले सामने आए हैं।   इन 634 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 77,957 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 15,452, भोपाल 12,288, ग्वालियर, 6701, जबलपुर 5329, मुरैना 2199, उज्जैन 2046, खरगौन 1985, बड़वानी 1315, नीमच 1380, सागर 1356, शिवपुरी 1347, खंडवा 1068, रतलाम 1289, मंदसौर 1000, धार 1153, विदिशा 1114, राजगढ़ 952, देवास 833, भिण्ड 664, रीवा 952, बुरहानपुर 583, रायसेन 827, सीहोर 879, छतरपुर 741, दमोह 839, होशंगाबाद 706, बैतूल 868, दतिया 856, शाजापुर 531, टीकमगढ़ 506, श्योपुर 602, कटनी 560, सतना 691, छिंदवाड़ा 569, झाबुआ 831, अलीराजपुर 754, सिंगरौली 437, हरदा 528, नरसिंहपुर 648, सीधी 377, शहडोल 752, बालाघाट 416, पन्ना 315, गुना 411, आगरमालवा 249, अशोकनगर, 288, सिवनी 326, अनूपपुर 507, निवाड़ी 228, उमरिया 177, डिंडौरी 205 और मंडला 325 मरीज शामिल हैं।   इंदौर-भोपाल में हुई मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1618 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 432, भोपाल 314, उज्जैन 81, बुरहानपुर 25, खंडवा 25, जबलपुर 100, खरगौन 30, ग्वालियर 72, धार 17, मंदसौर 13, नीमच 19, सागर 64, देवास 17, रायसेन 17, होशंगाबाद 22, सतना 20, आगरमालवा 06, झाबुआ 08, अशोकनगर 11, शाजापुर 08, दतिया 10, छिंदवाड़ा 11, सीहोर 21, उमरिया 02, रतलाम 25, बड़वानी 16. मुरैना 15, राजगढ़ 15, श्योपुर 04, टीमकगढ़ 14, रीवा 15, गुना 10, हरदा 11, कटनी 11, सीधी 02, शिवपुरी 08, अलीराजपुर 08, भिंड 04, बैतूल 18, नरसिंहपुर 04, सिवनी 07, सिंगरौली 07, छतरपुर 19, विदिशा 23, दमोह 19, बालाघाट 01, अनूपपुर 05, शहडोल 07, निवाड़ी 01 और मंडला के तीन व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 9 September 2020

रतलाम। बिलपांक थाना क्षेत्र के भेरूपाड़ा में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म कर हत्या के मामले में गिरफ्तार तीन आरोपियों में से दो आरोपी सोमवार शाम को थाने से फरार हो गए थे। इनमें से एक आरोपी को मंगलवार सुबह 10 बजे के आसपास बिलपांक के निकट धराड़ जाने वाले कच्चे रास्ते से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी जंगल में छिपा हुआ था।   पुलिस सूत्रों के अनुसार एक अन्य आरोपी दीपला जो थाने के पीछे के क्षेत्र से भागा था, उसकी तलाश की जा रही है। गठित पुलिस टीमों को इधर-उधर आरोपी की गिरफ्तारी के लिए भेजा है। गिरफ्तार रवि निनामा पुलिस थाने की सामने की ओर भागकर धराड़ के जंगलों की ओर गया था, जहां उसे आज पकड़ा गया। ज्ञातव्य है कि 5 सितंबर शनिवार शाम 7 बजे भेरूपाड़ा गांव में 12 वर्षीय लड़की जो घर से किराने का सामान खरीदने के लिए  निकली थी, उसका सड़क से अपहरण करके जंगल में गैंगरेप किया गया और पानी में डुबो-डुबो कर हत्या कर दी। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था, जिसमें सोमवार रात दो आरोपी पुलिस कस्टडी से भागने में सफल हो गए। उनमें से एक आरोपी रवि निनामा को पुलिस ने मंगलवार को  सुबह धरदबोचा। तीनों आरोपी गुर्जरखेड़ा के निवासी हैं जो बिलपांक थाना क्षेत्र का ही गांव हैै। तीनों आरोपी आपस में चचैरे भाई है, जिनकी आयु 21 से 23 वर्ष के बीच है। पुुलिस अधीक्षक ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 10 -10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।   

Kolar News

Kolar News 8 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में फिलहाल कोई मानसूनी सिस्टम सक्रिय ना होने से बारिश पर ब्रेक लग गया है। लोग गर्मी और तीखी धूप से परेशान हैं। लगातार बढ़ रहे तापमान ने लोगों को परेशान कर दिया है। राजधानी भोपाल में मंगलवार सुबह से तेज धूप निकली हुई है, जिससे गर्मी और उमस का एहसास हो रहा है। अगस्त में लगातार बारिश के बाद अब सितंबर के महीने में लगातार बढ़ रही धूप से लोग परेशान हैं। धूप के चलते तापमान में लगातार इजाफा हो रहा है। 11 जिलों में तापमान 35 डिग्री के पार रिकॉर्ड हुआ है। जबकि बीते अगस्त महीने के अंतिम सप्ताह में लगातार बारिश से प्रदेश के 19 से ज्यादा जिलों में बाढ़ आ गई थी। 10 सितंबर को एक और सिस्टम बनने के संकेतवरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि 10 सितंबर को बंगाल की खाड़ी में एक निम्न दबाव का क्षेत्र बन सकता है। जिससे मानसून की गतिविधियां मध्यप्रदेश में बढ़ सकती हैं। सप्ताह के अंत में या अगले सप्ताह की शुरुआत में पश्चिमी राजस्थान से मानसून की वापसी शुरू हो सकती है। यानि मध्य प्रदेश में कहीं-कहीं हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। 20 सितंबर को होनी है मानसून की विदाईमध्य प्रदेश में मानसून की विदाई 20 सितंबर को होनी है पश्चिमी राजस्थान में मानसून की विदाई के संकेत मिलने लगे हैं। उनके पक्ष में राजस्थान से अगले हफ्ते से हो सकती है। राजस्थान में मानसून की विदाई की दो से तीन हफ्ते बाद प्रदेश से मानसून की विदाई शुरू होती है।

Kolar News

Kolar News 8 September 2020

गुना। जेईई मैंस की 7 सितंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा देने जिले से 44 विद्यार्थी बीती रात 5 वाहनों से रवाना हुए हैं। कलेक्टर कुमार पुरूषोत्तम ने बताया कि गुना से भोपाल के लिए 11 छात्र, 9 अभिभावक, 2 गाइड सहित कुल 22, गुना से इंदौर के लिए 21 छात्र, 17 अभिभावक, 2 गाइड सहित कुल 40, गुना से ग्वालियर के लिए 7 छात्र, 6 अभिभावक, 2 गाइड सहित कुल 15, गुना से उज्जैन के लिए 2 छात्र, 2 अभिभावक, एक गाइड सहित कुल 5 तथा गुना से कोटा के लिए 3 छात्र, 2 अभिभावक एवं एक गाइड सहित कुल 6 लोग रवाना हुए हैं।   जेईई मेन्स 2020 एवं नीट 2020 की परीक्षाओं में जिले से शामिल होने वाले छात्रों के लिए प्रदेश सरकार के निर्णय अनुसार नि:शुल्क परिवहन व्यवस्था के लिए कलेक्टर पुरूषोत्तम द्वारा जिला स्तरीय समिति का गठन किया गया है। गठित समिति में अपर कलेक्टर नोडल अधिकारी उमेश प्रकाश शुक्ला, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत गुना निलेश परीख, अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी रवि वरेलिया तथा जिला शिक्षा अधिकारी जिला गुना की तैनाती की गयी है। उक्त व्यवस्था के लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम जिला शिक्षा केन्द्र कार्यालय गुना दूरभाष क्रमांक 07542-259090 बनाया गया है।

Kolar News

Kolar News 7 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। अब यहां कोरोना के 234 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 12 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, राजधानी में अब तक कोरोना से 308 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में सोमवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 234 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 12,055 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से दो लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 308 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 9763 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1700 के करीब हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 7 September 2020

इंदौर। मप्र के हाईप्रोफाइल हनीट्रैप मामले की हाईकोर्ट की निगरानी में जांच विशेष जांच दल (एसआटी) द्वारा की जाएगी। मप्र हाईकोर्ट ने मामले की जांच सीबीआई को सौंपने से इनकार कर दिया है। मप्र हाईकोर्ट की इंदौर बैंच द्वारा शनिवार को मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर लगाई गई जनहित याचिकाओं की सुनवाई के बाद यह फैसला सुनाया है।   दरअसल, मध्यप्रदेश में पिछले साल हाईप्रोफाइल लोगों को हनीट्रैप में फंसाकर उनसे करोड़ों रुपये वसूलने के मामले में पांच महिलाओं को गिरफ्तार किया गया था। यह मामला देशभर में सुर्खियों में छा गया था। तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था, लेकिन उसमें बार-बार किये गये बदलाव के चलते हाईकोर्ट में मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर सात अलग-अलग चायिकाएं दायर की गई थीं। याचिकाओं में कहा गया था कि एसआईटी सरकार के निर्देश पर कार्य कर रही है, इसलिए इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाए।    मप्र हाईकोर्ट की इंदौर बैंच में गत 18 अगस्त को सभी सातों याचिकाओं पर सुनवाई हुई थी। इस दौरान सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। शनिवार को अदालत ने मामले में अपना 27 पेज का फैसला सुनाया और सभी याचिकाओं का निराकरण करते हुए स्पष्ट कर दिया कि हनीट्रैप मामले की जांच सीबीआई को नहीं सौंपी जाएगी। अदालत ने माना कि याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट के समक्ष ऐसा कोई तथ्य नहीं रखा, जिसके आधार पर कहा जा सके कि इस मामले में जांच सही तरीके से नहीं हुई है। एसआइटी ने कोर्ट की निगरानी में जांच की है और समय-समय पर प्रोग्रेस रिपोर्ट भी पेश की है। ऐसी स्थिति में ऐसा कोई तथ्य कोर्ट के समक्ष नहीं है, जिसे आधार बनाकर जांच सीबीआई को सौंपी जाए। अदालत ने यह भी कहा कि मामले की जांच हाईकोर्ट की निगरानी में एसआईटी करेगी।

Kolar News

Kolar News 5 September 2020

भिंड। जिले के मेहगांव थाना क्षेत्र अंर्तगत  टीडीएस स्कूल में शनिवार सुबह बम मिलने की खबर पर पुलिस बल मौके पर पहुंचा, लेकिन जांच में यह सूचना अफवाह निकली। इसका खुलासा पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह ने स्वयं किया है। स्कूल में बम मिलने की खबर से क्षेत्र में दशहत का माहौल देखने को मिला।   दरअसल, कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू प्रतिबंध के चलते फिलहाल प्रदेश के सभी स्कूल बंद हैं, लेकिन स्कूल का स्टाफ नियमित स्कूल पहुंच रहा है। शनिवार सुबह टीडीएस स्कूल में स्टाफ ने एक बंद कमरे में बम रखा हुआ देखा और पुलिस को सूचना दी। एसडीओपी राजेश राठौर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरू की। बम के साथ एक चिट्ठी भी मिली है, जिसमें लिखा है-भदौरिया जी नमस्कार, बचा लो अपने और बाकी सब स्कूल को, मैंने तुम्हारे स्कूल में ही नहीं, मेहगांव के सभी बड़े स्कूलों में बम रख दिया है। सात स्कूल ब्लास्ट होंगे, बचा लो, कौन बचाएगा। मेंहगांव में कई जगह बम फटेंगे, लोग मरेंगे, मजा आएगा। .. नमस्ते, खुदा हाफिज।    एसडीओपी राठौर ने तत्काल बम डिस्पोजल दस्ते को बुलाया। ग्वालियर और मुरैना से बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंचा और मामले की जांच शुरू की। सूचना मिलने पर एसपी मनोज सिंह भी मौके पर पहुंच गए। एसपी मनोज सिंह ने बताया कि यह किसी की शरारत है। बम की अफवाह फैलाई गई थी। स्कूल में बम जैसी वस्तु मिली थी, उसके अंदर से मिट्टी निकली है। उसके साथ जो चिट्ठी मिली है, उसकी जांच की जा रही है। 

Kolar News

Kolar News 5 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के रिकॉर्ड 284 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 14,315 और मृतकों की संख्या 415 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 3115 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 284 व्यक्ति  पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि 2822 रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन 284 नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 14,315 हो गई है। वहीं, इंदौर में चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 415 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 9896 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार बड़ी संख्या में नये मरीज मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। अब यहां सक्रिय मरीज 4004 हो गए हैं, जिनका उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 5 September 2020

भोपाल। रेल मंत्रालय द्वारा जबलपुर-इंदौर-जबलपुर के बीच शनिवार, 05 सितम्बर से अगली सूचना तक प्रतिदिन स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया है।    भोपाल रेल मंडल के जनसम्पर्क अधिकारी आईए सिद्दीकी ने शुक्रवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि गाड़ी संख्या 02292 जबलपुर-इंदौर सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस शनिवार, 05 सितम्बर से अगली सूचना तक प्रतिदिन जबलपुर से रात्रि 11.50 बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 9.55 बजे इंदौर स्टेशन पहुंचेगी। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 02291 इंदौर-जबलपुर सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस रविवार, 06 सितम्बर से अगली सूचना तक प्रतिदिन इंदौर स्टेशन से रात 7.30 बजे रवाना होकर अगले दिन सुबह 5.35 बजे जबलपुर स्टेशन पहुंचेगी।   यह ट्रेन रास्ते में मदनमहल, नरसिंहपुर, गाडरवारा, पिपरिया, इटारसी, होशंगाबाद, भोपाल, संत हिरदाराम नगर, शुजालपुर, मक्सी और देवास स्टेशनों पर हाल्ट लेते हुए चलेगी। इस ट्रेन में 01 प्रथम वातानुकूलित श्रेणी, 02 द्वितीय वातानुकूलित श्रेणी, 04 तृतीय वातानुकूलित श्रेणी, 11 शयनयान श्रेणी, 04 सामान्य श्रेणी एवं 02 एसएलआरडी सहित कुल 24 कोच रहेंगे। 

Kolar News

Kolar News 4 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 182 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 11,447 हो और मृतकों की संख्या 299 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी में शुक्रवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 182 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें गांधी मेडिकल कॉलेज की डीन सहित दो अन्‍य डॉक्‍टर भी शामिल हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 11,447 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 299 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि भोपाल में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। यहां अब तक 9316 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1700 के करीब हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   नये मामलों में पुलिस लाइंस जहांगीराबाद से एक जवान, पुलिस लाइंस भौंरी से दो लोग, ओल्ड पुलिस लाइंस कंट्रोल रूम से एक व्यक्ति, भारत टाकीज सरदार पटेल कालोनी से एक ही परिवार के 3 सदस्य, ईएमई सेंटर से 3 लोग, एसबीआई एमपीनगर ब्रांच से एक व्यक्ति, कोटक महिंद्रा बैंक ब्रांच एमपीनगर से दो व्यक्ति, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया अरेरा हिल्स ब्रांच से 2 लोग, 7वीं बटालियन नर्मदा भवन से 1 व्यक्ति, बंगाली कालोनी पंचशील नगर एक ही परिवार के 3 सदस्य, पार्क व्यू कोलार से 4 लोग, एमपीनगर से एक ही परिवार के तीन लोग, मालवीय नगर से तीन लोग संक्रमित निकले हैं।

Kolar News

Kolar News 4 September 2020

भोपाल। प्रदेश और आसपास तीन मानसूनी सिस्टम सक्रिय होने से एक बार फिर बरसात का दौर शुरू हो गया है। शुक्रवार को इन सिस्टम के प्रभाव से राजधानी सहित पूरे प्रदेश में बरसात होने की संभावना है। इस दौरान ग्वालियर, सागर, रीवा संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा होने के भी आसार हैं। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को ग्वालियर, सागर, रीवा संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। वर्तमान में उत्तर-पश्चिमी मप्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। मानसून द्रोणिका (ट्रफ) शिवपुरी, सीधी से होकर गुजर रही है। उत्तरी छत्तीसगढ़ पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन तीन सिस्टम के प्रभाव से बरसात का दौर शुरू हो गया है। उत्तर-पश्चिमी मप्र पर बना सिस्टम दक्षिण-पश्चिम उप्र की तरफ खिसक रहा है।

Kolar News

Kolar News 4 September 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमित मरीजों के साथ ही इस महामारी की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 259 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 13,752 हो गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 406 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 2997 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 259 व्यक्ति  पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन 259 नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 13,752 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 406 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 9497 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3849 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 3 September 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल के चार केन्द्रों समेत प्रदेश के 11 जिलों में बनाए गए कुल 26 परीक्षा केन्द्रों पर मंगलवार को संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई मेन्स) शुरू हुई। प्रदेश में 47 हजार 493 परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। परीक्षा केंद्रों पर पहली बार छात्रों को दो गज दूरी के नियमों का पालन कराते हुए प्रवेश दिया गया। इस दौरान कोविड-19 से बचाव के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया गया। छात्रों ने हैंड सैनिटाइज किया। फिर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई।   मंगलवार को सुबह पहली पारी में भोपाल के चार परीक्षा केन्द्रों पर करीब आठ विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए। यह परीक्षा आगामी छह सितम्बर तक ऑनलाइन होगी। कोविड-19 के चलते इस बार परीक्षा दो शिफ्टों में 6 दिन तक होगी। राजधानी में परीक्षा के लिए चार सेंटर बनाए गए हैं। हर शिफ्ट में 240 स्टूडेंट्स ही परीक्षा दे सकते हैं। भोपाल से इस बार करीब 7 हजार छात्र शामिल हो रहे हैं। इनमें से करीब 2500 छात्र आसपास के शहरों के हैं। प्रशासन ने परीक्षा केंद्रों पर आसपास के जिलों से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए सात स्थानों पर परिवहन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।    भोपाल समेत प्रदेश के 11 जिलों में कुल 26 परीक्षा केन्द्रों पर यह परीक्षा हो रही है। मंगलवार को सुबह पहली पारी की परीक्षा संपन्न हो चुकी है, जबकि दूसरी पारी की परीक्षा दोपहर तीन बजे से छह बजे की बीच होगी। इस परीक्षा में प्रदेश के 47 हजार 493 छात्र शामिल होंगे। इनमें भोपाल के सात हजार और इंदौर के आठ हजार छात्र शामिल हैं। आगामी छह सितम्बर तक आयोजित इस परीक्षा के माध्यम से देश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में विद्यार्थियों को रैंक के आधार पर प्रवेश का मौका मिलेगा।    भोपाल में चार परीक्षा केन्द्र ट्रिनिटी कॉलेज के दो कैंपस, सैम कॉलेज, आईईएस कॉलेज में बनाए गए हैं। इसके अलावा उज्जैन, सतना, सागर, रीवा, जबलपुर, इंदौर, ग्वालियर, छिंदवाड़ा, भोपाल, बैतूल और बालाघाट में कुल छह परीक्षा केन्द्रों में यह परीक्षा आयोजित की जा रही है।

Kolar News

Kolar News 1 September 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। अब राज्य के दो जिलों में कोरोना के 457 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 10 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1400 के पार पहुंच गई है। यहां अब तक 1404 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 64,422 हो गई है। हालांकि, राज्य में अब तक 48,657 मरीज स्वस्थ  होकर अपने घर पहुंच चुके हैं, लेकिन लगातार बढ़ी संख्या में नये मामले सामने से सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 14 हजार के पार पहुंच गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात जारी 3018 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 258 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं, जबकि पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां संक्रमितों की कुल संख्या 13,250 और मृतकों की संख्या 398 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में मंगलवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 199 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है।   इन 457 नये मामले से साथ राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 64,422 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 13,250, भोपाल 10,695, ग्वालियर, 5305, जबलपुर 4105, मुरैना 2079, उज्जैन 1775, खरगौन 1573, बड़वानी 1139, नीमच 1215, सागर 1135, खंडवा 938, रतलाम 997, मंदसौर 800, धार 889,  विदिशा 906, राजगढ़ 841, देवास 718, भिण्ड 619, रीवा 727, बुरहानपुर 562, रायसेन 667, सीहोर 657, शिवपुरी 944, छतरपुर 597, दमोह 627, होशंगाबाद 546, बैतूल 686, दतिया 678, शाजापुर 464, टीकमगढ़ 425, श्योपुर 506, कटनी 481, सतना 532, छिंदवाड़ा 458, झाबुआ 644, अलीराजपुर 586, सिंगरौली 363, हरदा 426, नरसिंहपुर 404, सीधी 315, शहडोल 565, बालाघाट 288, पन्ना 265, गुना 336, आगरमालवा 208, अशोकनगर, 205, सिवनी 246, अनूपपुर 409, निवाड़ी 174, उमरिया 128, डिंडौरी 145 और मंडला 181 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई 10 मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1404 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 398, भोपाल 290, उज्जैन 80, बुरहानपुर 25, खंडवा 22, जबलपुर 80, खरगौन 28, ग्वालियर 48, धार 16, मंदसौर 12, नीमच 15, सागर 53, देवास 16, रायसेन 13, होशंगाबाद 20, सतना 15, आगरमालवा 05, झाबुआ 07, अशोकनगर 08, शाजापुर 07, दतिया 07, छिंदवाड़ा 05, सीहोर 20, उमरिया 02, रतलाम 19, बड़वानी 15. मुरैना 14, राजगढ़ 13, श्योपुर 03, टीमकगढ़ 11, रीवा 13, गुना 08, हरदा 09, कटनी 10, सीधी 02, शिवपुरी 07, अलीराजपुर 04, भिंड 04, बैतूल 14, नरसिंहपुर 03, सिवनी 05, सिंगरौली 07, छतरपुर 14, विदिशा 16, दमोह 14, बालाघाट 01, अनूपपुर 01, शहडोल 04 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 1 September 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों हुई भारी बारिश और उससे बने बाढ़ के हालातों के बाद अब राहत भरी खबर है। मध्यप्रदेश के आसमान पर आफत की बारिश कर रहे बंगाल की खाड़ी के बादल चले गए हैं। खाली बादलों के कुछ दल आसमान पर दिखाई दे रहे हैं जो आने वाले 24 घंटों में मध्य प्रदेश के 6 संभागों के कुछ इलाकों में बरस कर गायब हो जाएंगे। मौसम विभाग के अनुसार इंदौर, उज्जैन, भोपाल, होशंगाबाद, चंबल और ग्वालियर संभाग के कुछ जिलों में हल्की बारिश होगी। मध्य प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में धूप खिल गई है और अगले 24 घंटे तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले हफ्ते लगातार हुई भीषण बारिश से मध्य प्रदेश हलाकान है। भारी बारिश के बाद हर तरफ नदी-नाले उफान पर हैं, लेकिन इस बीच, मौसम विभाग ने चार दिनों के अंतराल के बाद सोमवार को अगले 24 घंटों के पूर्वानुमान के साथ कोई ‘अलर्ट’ जारी नहीं किया। मौसम पूर्वानुमान में कहा गया है कि भोपाल, इंदौर सहित पांच संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। इसी प्रकार जबलपुर सहित चार संभागों के जिलों में अलग अलग स्थानों पर भी इसी प्रकार की गतिविधियाँ हो सकती हैं। यह पूर्वानुमान मंगलवार शाम तक के लिए है।   सबसे ज़्यादा देवास में और सबसे कम छतरपुर जिले में बारिश  मध्यप्रदेश में सावन भले ही सूखा बीता हो। लेकिन जून और अब अगस्त में कुल मिलाकर अब तक सामान्य वर्षा की तुलना में 13 प्रतिशत ज़्यादा बारिश हो चुकी है। इस साल मानसून सीजन में बारिश प्रदेश में सबसे ज़्यादा देवास में और सबसे कम छतरपुर जिले में बारिश हुई है। सबसे अधिक बारिश देवास जिले में दर्ज की गयी। यहां सामान्य बारिश 740.6 मिमी है। इसके मुकाबले 1109.4 मिमी बारिश यहां हो चुकी है। पूर्वी मध्यप्रदेश में छतरपुर में सबसे कम बारिश 611.3 मिमी हुई है, जबकि यहां सामान्य वर्षा 736.7 मिमी होती है।

Kolar News

Kolar News 1 September 2020

श्योपुर। मंदसौर में गत दो दिन से हो रही बारिश के चलते सोमवार को गांधीसागर के डेम खोले गए हैं। इसके अलावा कोटा बेराज से भी पानी छोड़ा गया है, जिसके चम्बल नदी में बाढ़ आ गई है। श्योपुर जिले में भी चम्बल और पार्वती नदी उफान पर चल रही हैं। कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव एवं पुलिस अधीक्षक सम्पत उपाध्याय ने संयुक्त रूप से सोमवार को चंबल एवं पार्वती नदी में कोटा बैराज से छोड़े पानी की स्थिति का जायजा लिया।    उन्होंने सामरसा-पाली, चंबल पुल, श्योपुर तहसील के बाढ़ प्रभावित गांव अडवाड-सूडी तथा पार्वती नदी के जलालपुरा-खातौली पहुंचकर निरीक्षण किया और ग्रामीणों से बातचीत कर उन्हें बाढ़ में सतर्क रहने की हिदायत दी। इस दौरान एसडीएम रूपेश उपाध्याय, होमगार्ड के कमांडेन्ट कुलदीप मलिक, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन सुभाष गुप्ता, तहसीलदार राघवेन्द्र कुशवाह एवं अन्य विभागीय अधिकारी, पत्रकार और सरपंच तथा ग्रामीण उपस्थित थे।   कलेक्टर श्रीवास्तव एवं पुलिस अधीक्षक उपाध्याय ने मप्र के सामरसा एवं राजस्थान के पाली के बीच बने चंबल नदी के पुल पर विभागीय अधिकारियों से कोटा बैराज राजस्थान से चंबल नदी में चल रहे पानी की जानकारी ली। कार्यपालन यंत्री सुभाष गुप्ता ने बताया कि गांधी सागर से कोटा बैराज में साढे 03 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। यह पानी चंबल नदी में प्रवाहित हो रहा है। विगत वर्ष में चंबल नदी में बाढ़ आ गई थी। उस समय 07 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा था। जिससे सामरसा गांव एवं चंबल नदी क्षेत्र के तटीय गांव में पानी भर गया था।   कलेक्टर ने होमगार्ड के कमांडेन्ट कुलदीप मलिक से कहा कि चंबल नदी में और पानी के आने से बाढ़ की स्थिति निर्मित हो सकती है। इसलिए दातंरदा में होमगार्ड के 17 जवानों का दल बोट सहित दांतरदा के पंचायत भवन में आज से ही तैनात किया जाए। उन्होंने ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव से चर्चा करते हुए कहा कि होमगार्ड के दल को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। होमगार्ड की एक-एक टीम सूडी एवं साड में तैनात की जाए। इसके अलावा दो टीम हेडक्वाटर श्योपुर पर तैयार रखी जाए।   कलेक्टर एवं एसपी ने ग्राम पंचायत अडवाड के ग्राम सूडी के समीप पहुंचकर सूडी में रह रहे परिवारो की जानकारी ली। एसडीएम रूपेश उपाध्याय ने बताया कि सूडी गांव बाढ की स्थिति में चारो तरफ से घिर जाता है। गावं में 75 परिवार रहते थे। उनको बाढ की स्थिति से अलर्ट कर दिया गया है। साथ ही बोट सहित होमगार्ड की टीम अडवाड में तैनात की गई है। गावं में मेडीकल टीम से सर्वे कराया कोई भी व्यक्ति बीमार नही है।   कलेक्टर ने गर्भवती महिलाओं की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि गर्भवती महिला कोई नहीं है। महिला बाल विकास की टीम ने सर्वे किया है। होमगार्ड के कमांडेन्ट मलिक ने बताया कि सूडी के लिए एक नाव फायवर की रखी गई है। होमगार्ड की टीम तैनात है। पुलिस अधीक्षक सम्पत उपाध्याय ने ग्राम सूडी के भ्रमण के दौरान अवगत कराया कि सूडी में रह रहे परिवार नाव से आ-जा सकते हैं। होमगार्ड का कैम्प भी उनकी सहायता के लिए लगाया गया है।   कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने मप्र के पार्वती नदी बार्डर के ग्राम जलालपुरा में पार्वती नदी के जल स्तर का जायजा लिया। इस दौरान कार्यपालन यंत्री सुभाष गुप्ता ने बताया कि जलालपुरा-खातौली के बीच पार्वती नदी के पुल पर 15 फीट उपर पानी चल रहा है। कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिये कि तैनात की गई टीम और मैदानी अमला पानी की स्थिति पर निरंतर निगरानी रखे। साथ ही समय-समय पर वरिष्ठ अधिकारियों को पानी के बढने की सूचना दी जाए।   चंबल प्रोग्रेस-वे के निकलने के बारे में की चर्चा   कलेक्टर श्रीवास्तव एवं पुलिस अधीक्षक उपाध्याय ने पार्वती नदी के बार्डर मप्र के ग्राम जलालपुरा चौकी से लगी नदी देखी। साथ ही उपस्थित अधिकारियो से चंबल प्रोग्रेस-वे  निकलने के बारे में चर्चा की। तब एसडीएम उपाध्याय ने बताया कि जलालपुरा होते हुए सामरसा तक चंबल प्रोग्रेस-वे निकाला जा रहा है। इस वे में जाने वाली भूमि के बदले अच्छी भूमि देने की कार्यवाही जारी है। साथ ही श्योपुर तहसील के क्षेत्र में सहमति पत्र किसानो से भरवाये जा रहे है।   मास्क पहनने के बारे में ग्रामीणो से की रूबरू चर्चा   कलेक्टर ने जलालपुरा में पार्वती नदी के पानी की स्थिति की जानकारी लेने के बाद उपस्थित ग्रामीणो से कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर ग्रामीणों से रूबरू चर्चा कर मास्क पहनने के फायदे बताये। साथ ही ग्राम पंचायत के माध्यम से ऐसे ग्रामवासी जिनके पास मास्क नहीं है। उनको मास्क उपलब्ध कराने के निर्देश ग्राम पंचायत के सचिव को दिये।

Kolar News

Kolar News 31 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पड़ौसी जिले विदिशा में पिछले तीन दिनों से हो रही लगातार बारिश से बेतवा नदी उफान पर है और पूरे जिले में बाढ़ के हालात बने हुए हैं। बेतवा में आई बाढ़ से जहां भोपाल-विदिशा मार्ग बंद हो गया है, वहीं ग्राम रंगई के पास भोपाल-विदिसा मार्ग पर स्थित बाढ़ वाले गणेशजी भी डूब गए हैं। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक दिन पहले ही भगवान गणेश जी पूजा कर बाढ़ उतारने की प्रार्थना की थी।    हालांकि, राजधानी भोपाल समेत आसपास के जिलों में सोमवार को मौसम साफ है और धूप भी खिली हुई है, लेकिन पिछले तीन दिनों में हुई लगातार बारिश से नदियों के सभी बांध लबालब भरे हुए हैं और उनके गेट खोलकर पानी की निकासी की जा रही है। इसी के चलते बेतवा नदी खतरे के निशान से एक फीट ऊपर बह रही है। बेतवा नदी के लगातार बढ़ते जलस्तर के कारण रंगई के पास भोपाल विदिशा मार्ग पर पानी आ गया, जिससे भोपाल जाने वाला रास्ता बंद हो गया है। खतरे को देखते हुए प्रशासन राहत एवं बचाव कार्य में जुटा है। विदिशा में बेतवा के उफान पर आने से मुक्तिधाम परिसर में पानी भर गया है। श्मशान जाने वाला रास्ता भी बंद हो गया है। वहीं, रंगाई स्थित गणेश मंदिर भी बेतवा में आई बाढ़ की वजह से डूब गया है।    बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वे के दौरान विदिशा पहुंचे थे तथा वहां 'बाढ़ वाले गणेश मंदिर' पहुंचकर पत्नी साधना सिंह सहित विघ्न विनाशक मंगलकारी श्री गणेशजी की पूजा-अर्चना की थी। उन्होंने गणेशजी से प्रार्थना की थी कि प्रदेश में बाढ़ जल्दी उतरे तथा हर व्यक्ति सुरक्षित रहे। श्री गणेश बाढ़ सहित प्रदेश पर आए हर संकट को दूर करें तथा सभी का मंगल करें। मुख्यमंत्री की वापसी के बाद से ही बेतवा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। सोमवार सुबह बेतवा का जलस्तर खतरे के निशान से एक फीट ऊपर पहुंच गया। फिलहाल, राहत एवं बचाव कार्य जारी है और बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर लगाए गए राहत शिविरों में पहुंचाया जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 31 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 229 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 10,725 और मृतकों की संख्या 285 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी भोपाल में सोमवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 229 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 10,725 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 285 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि राजधानी में अब तक 8640 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1500 के करीब हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 31 August 2020

सीहोर/भोपाल। जिले के नर्मदा तट पर स्थित हिस्से में बाढ़ का प्रकोप ज्यादा रहा है। कई गांवों में पानी घुस गया है, वहीं नर्मदा के सहायक नदी-नाले भी उफान पर हैं। इसी बीच रविवार सुबह बाढ़ से घिरे जिले के सोमलवाड़ा गांव से 58 ग्रामीणों को हैलीकॉप्टर की मदद से रेस्क्यू किया गया।     जिले में भारी बारिश के चलते हालात बिगड़ गए हैं। कई गांवों में लोग अब भी बाढ़ग्रस्त इलाकों में फंसे हुए हैं, वहीं सीहोर जिले के निचले हिस्सों में फंसे लोगों को सेना द्वारा रेस्क्यू किया जा रहा है। अब तक सोमलवाड़ा गांव से दो बार में 58 लोगों को एयरलिफ्ट किया जा चुका है। सीहोर कलेक्टर के मुताबिक सोमलवाड़ा गांव में फंसे हुए 58 लोगों को दो खेप में रेस्क्यू किया गया है। इनमें बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे सभी शामिल थे। रेस्क्यू के बाद हेलीकॉप्टर को शाहगंज के मंडी प्रांगण में उतारा गया था। फिलहाल सभी लोग सुरक्षित हैं।

Kolar News

Kolar News 30 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 198 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 10,505 और मृतकों की संख्या 280 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी जानकारी के मुताबिक, राजधानी भोपाल में रविवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 198 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 10,505 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 280 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि राजधानी में अब तक 8489 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार बड़ी संख्या में नये संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या बढक़र 1500 के पार पहुंच गई है।    रविवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें रिलायंस स्मार्ट आसिमा मॉल से 8 लोग, द्वारका नगर से 8 लोग, इंदिरा कालोनी ऐशबाग से 10 लोग, अंकुर कॉलोनी शिवाजी नगर से 4 लोग, एकांतवास केन्द्र नबीबाग से 4 लोग, अरेरा कालोनी से 5 लोग, रवेरा टाउन से 3 लोग, जीआरपी थाना हबीबगंज से 2 लोग, पिपलानी थाने से 2 लोग, चूना भट्टी थाना से 1 व्यक्ति, पीएचक्यू से 1 व्यक्ति, पुलिस रेडियो कॉलोनी से 2 लोग, 25वीं बटालियन से 1 व्यक्ति, आईटीबीपी कान्हा सैय्या से 2 लोग, इएमई सेंटर से 4 जवान, जीएमसी से 3 लोग, जेपी हास्पिटल से 1 व्यक्ति, चार इमली से 2 लोग, अमन आनंद कालोनी बिसनखेड़ी से 2 लोग, सुरेंद्र रेसीडेंसी से एक ही परिवार के तीन लोग, कामखेड़ा विलेज ईंटखेड़ी से 2 लोग शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News 30 August 2020

छिंदवाड़ा।मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में लगातार बारिश के कारण माचागोरा बांध के 7 गेट खोले गए। गेट खुलने के कारण पेंच नदी उफान पर आ गई। नदी की बाढ़ में फंसे एक युवक को हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू करके निकाला गया।   पेंच नदी में आई बाढ़ के कारण घोघरा के पास मछुआरा फंस गया। बाढ़ से बचने के लिए युवक पेड़ पर चढ़ गया। बाढ़ में फंसे युवक को रेस्क्यू करने के लिए शुक्रवार को प्रयास किए गए लेकिन सफलता नहीं मिल पाई। प्रशासन ने एनडीआरएफ की टीम नागपुर से बुलाई थी। देर शाम होने के कारण नागपुर से हेलीकॉप्टर छिंदवाड़ा नहीं आ पाया। शनिवार को एनडीआरएफ के हेलीकॉप्टर ने नदी में फंसे युवक का रेस्क्यू कर बाहर निकाला। बेलखेड़ा गांव का युवक मधु कहार अपने मित्रों के साथ शुक्रवार को मछली पकड़ने के लिए घोघरा पेंच नदी गया था।वह जलप्रपात के पास ही मछली पकड़ रहा था। इस दौरान माचागोरा बांध के गेट लगातार खुलने से नदी का जलस्तर बढ़ गया और वह नदी में फंस गया था।

Kolar News

Kolar News 29 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। अब यहां पांच जिलों में कोरोना के 647 नये मामले सामने आए हैं, जबकि सात लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 60 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 1330 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राज्य में अब तक 45,396 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार नये मामले सामने आने से सक्रिय मरीजों की संख्या 13 हजार के करीब पहुंच गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात जारी 2836 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 226 नये पॉजिटिव मिले हैं, जबकि पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां संक्रमितों की कुल संख्या 12,455 और मृतकों की संख्या 384 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में शनिवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 190 नये मामले सामने आए हैं और दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके अलावा ग्वालियर में 172, शिवपुरी में 47 और उज्जैन में 22 नये संक्रमित मिले हैं।   इन 467 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 60,090 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 12,455, भोपाल 10,146, ग्वालियर, 4899, जबलपुर 3706, मुरैना 2039, उज्जैन 1695, खरगौन 1459, बड़वानी 1091, नीमच 1161, सागर 1092, खंडवा 895, रतलाम 920, मंदसौर 755, धार 835,  विदिशा 800, राजगढ़ 784, देवास 667, भिण्ड 588, रीवा 660, बुरहानपुर 552, रायसेन 633, सीहोर 617, शिवपुरी 831, छतरपुर 561, दमोह 591, होशंगाबाद 520, बैतूल 617, दतिया 606, शाजापुर 440, टीकमगढ़ 400, श्योपुर 470, कटनी 452, सतना 478, छिंदवाड़ा 439, झाबुआ 572, अलीराजपुर 493, सिंगरौली 338, हरदा 408, नरसिंहपुर 362, सीधी 283, शहडोल 468, बालाघाट 273, पन्ना 245, गुना 279, आगरमालवा 186, अशोकनगर, 182, सिवनी 231, अनूपपुर 355, निवाड़ी 161, उमरिया 116, डिंडौरी 129 और मंडला 158 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई सात मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1330 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 384, भोपाल 272, उज्जैन 79, बुरहानपुर 25, खंडवा 21, जबलपुर 74, खरगौन 26, ग्वालियर 42, धार 15, मंदसौर 12, नीमच 13, सागर 49, देवास 15, रायसेन 13, होशंगाबाद 18, सतना 14, आगरमालवा 05, झाबुआ 06, अशोकनगर 05, शाजापुर 07, दतिया 06, छिंदवाड़ा 05, सीहोर 19, उमरिया 02, रतलाम 19, बड़वानी 15. मुरैना 14, राजगढ़ 13, श्योपुर 03, टीमकगढ़ 10, रीवा 13, गुना 08, हरदा 09, कटनी 09, सीधी 02, शिवपुरी 06, अलीराजपुर 04, भिंड 04, बैतूल 12, नरसिंहपुर 03, सिवनी 05, सिंगरौली 07, छतरपुर 13, विदिशा 15, दमोह 12, बालाघाट 01, अनूपपुर 01, शहडोल 04 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 29 August 2020

भोपाल/होशंगाबाद। मध्यप्रदेश में राजधानी भोपाल समेत सभी जिलों में शुक्रवार को रात से शुरू हुआ तेज बारिश का सिलसिला लगातार जारी है। इससे राज्य में बाढ़ के हालात बन गए हैं। नदी-नाले उफान पर चल रहे हैं और सभी बांधों के गेट खोलने से नदियों का जलस्तर बढऩे से उनका पानी गांवों में घुस गया है। नर्मदा नदी भी होशंगाबाद में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। होशंगाबाद नगर में पानी भर गया। बाढ़ के हालात देखते हुए जिला प्रशासन को सेना बुलानी पड़ी। बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।   होशंगाबाद कमिश्नर रजनीश श्रीवास्तव ने बताया कि शहर में शनिवार सुबह 9 बजे तक नर्मदा का जलस्तर 973 फीट तक पहुंच गया है। जो खतरे के निशान से 6 फीट ऊपर चल रहा है। शहर के निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति है। कई मोहल्लों में पानी भर गया है। यहां फिलहाल एनडीआरएफ की टीम राहत एवं बचाव कार्य में जुटी है। बाढ़ को देखते हुए सेना को भी बुलाया गया है।     जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को सुबह से हो रही तेज बारिश के चलते दिन में नर्मदा के ऊपरी तीनों बांधों तवा डेम, बरगी डेम और बारना डेम के गेट खोल दिये गये थे। इसके बाद रात में जोरदार बारिश हुई और शनिवार को सुबह भी तेज पानी बरस रहा है। इसके चलते नर्मदा में बाढ़ आ गई। नर्मदा-तवा के संगम स्थल बांद्राभान के पास के घानाबड़ गांव में बाढ़-बारिश का पानी भरा गया है। यहां तीन लोग एक खेत में फंस गए हैं। होमगार्ड का दल मौके पर पहुंच गया है। पर्यटन कोरीघाट जलमग्न हो गया है।   जिला होमगार्ड कमांडेंट आरकेएस चौहान ने बताया कि तटीय गांव बालाभेंट में बाढ़ का पानी भरा रहा है। वहां गोताखोर के दल को बोट के साथ पहुंचाया गया है। घानाबड़ में कुछ लोग बाढ़ से बचने के लिए पुल के ऊपर जाकर बैठ गए हैं। बचाव दल को पहुंचाया गया है। बांद्राभान में दिवस बसेरा में शिफ्ट किया जा रहा है।   नरसिंहपुर जिले में भी भारी बारिश के चलते निचले इलाकों में पानी भर गया। वही आसपास के सभी छोटे नदी नाले उफान पर हैं। बरगी के गेट खुलने से नर्मदा नदी में उफान होने से गोटेगांव से जबलपुर सडक मार्ग पर झांसीघाट का पुल डूब गया है जिससे आवागमन बंद है। नरसिंहपुर से छिंदवाडा सडक मार्ग पर पुलिस क्षतिग्रस्त हो जाने से भी आवागमन बंद है। शनिवार सुबह आठ बजे तक जिले में औसत बारिश पौने छह इंच हुई है। रात भर बारिश होने के कारण निचले इलाकों में पानी भर जाने से लोगों को सुरक्षित इलाके में पहुंचाने का कार्य चल रहा है।   राजधानी भोपाल में शुक्रवार को देर रात शुरू हुआ तेज बारिश का सिलसिला शनिवार को भी जारी है। इसके अलावा राज्य के अन्य हिस्सों में जोरदार बारिश हो रही है, जिससे नदी-नालों का पानी अपनी सीमाओं को तोडक़र खेतों और गांव तक पहुंच गया है। प्रदेश के कई इलाकों में बाढ़ के हालात बने हुए हैं। हालांकि, जिला प्रशासन की टीमें, एनडीआरएफ और होमगार्ड के साथ मिलकर राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हुई हैं।

Kolar News

Kolar News 29 August 2020

भोपाल। प्रदेश की पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने गुरुवार को राजधानी भोपाल स्थित होटल मैनेजमेंट संस्थान (नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एण्ड केटरिंग टेक्नालॉजी) का निरीक्षण किया। उन्होंने मैनेजमेंट को अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्र-छात्राओं का प्रवेश सुनिश्चित करने के लिये कोष बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इससे धनाभाव के कारण छात्र-छात्राएँ शिक्षा से वंचित नहीं होंगे।   संस्थान के प्राचार्य आनंद कुमार सिंह ने बताया कि भोपाल का यह संस्थान देश में पहली बार 29 अगस्त को राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनएटी) के तहत ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आयोजित करने जा रहा है। संस्थान के छात्रों का प्लेसमेंट प्रतिशत 200 से 300 प्रतिशत है। संस्थान के 950 विद्यार्थियों की ऑनलाइन क्लासेस जारी हैं। अब तक 52 वेबिनार भी हो चुके हैं। इस अवसर पर मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के संचालक डॉ. मनोज सिंह, मध्यप्रदेश इंस्टीट्यूट ऑफ हॉस्पिटेलिटी, ट्रेवल एण्ड टूरिज्म स्टडीज के संचालक डॉ. पी.के. सिन्हा और संस्थान के प्रोफेसर्स भी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 27 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 153 नये मामले सामने आए हैं, जबकि एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 10 हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से अब तक 267 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, राजधानी में गुरुवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 153 नये पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 9978 हो गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 267 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि संक्रमित मरीज लगातार कोरोना को मात दे रहे हैं। अब तक यहां 8115 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1500 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 27 August 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल में पिछले दो दिनों से निकल रही धूप के बाद गुरुवार सुबह से मौसम बदला हुआ है। आसमान में घने काले बादल छाने के साथ मौसम में ठंडक घुली हुई है। मौसम विभाग ने गुरुवार को मध्य प्रदेश के 6 जिलो में भारी बारिश होने का अलर्ट जारी किया है। राज्य के अधिकांश हिस्सों में भारी बारिश होगी। उमरिया, कटनी, जबलपुर, पन्ना, दमोह, सागर जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में गरज-चमक के साथ अति भारी बारिश होने का साथ बिजली गिरने की संभावना है।   मध्य प्रदेश के 10 जिलों में मेघ गर्जना के साथ मूसलाधार बारिश का अनुमानवरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि रीवा संभाग के जिलों के साथ-साथ 10 अन्य जिलों में गरज-चमक के साथ तेज बारिश होने का अनुमान जताया गया है। साथ ही बिजली गिरने की भी चेतावनी दी गई है। अनुपपुर, डिंडोरी, शहडोल, सिवनी,नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, मंडला, बालाघाट, छतरपुर, टीकमगढ़ में भी भारी वर्षा तथा गरज चमक के साथ बिजली चमकने और गिरने की संभावना है। इन जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।   वज्रपात की संभावनामौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात यानी बादलों से उत्पन्न होने वाली बिजली गिरने की संभावना व्यक्त की है। वज्रपात पूरे जिले में एक या दो स्थान पर होगा परंतु जिले के सभी नागरिकों को सावधान रहना चाहिए क्योंकि मौसम विभाग की ओर से यह नहीं बताया जा सकता की वज्रपात की सही लोकेशन क्या होगी।

Kolar News

Kolar News 27 August 2020

उज्जैन। नई शिक्षा नीति के तहत अब शासकीय स्कूलों के साथ-साथ अशासकीय स्कूलों के शिक्षकों को भी अपना पंजीयन प्रदेश के स्कूली शिक्षा विभाग द्वारा जारी एप पर करवाना होगा। एमएएसएचआइएम नामक एप डाउन लोड करने पर संबंधित अशासकीय स्कूल के शिक्षक का भी पंजीयन हो जाएगा। इसके बाद वे उनके द्वारा छात्रो को पढ़ाए जानेवाले लेसन के ऑडियो-वीडियो भी इस एप पर अपलोड कर सकेंगे। ऐसा कोविड-19 के कारण नहीं बल्कि नई शिक्षा नीति के तहत हो रहा है।   प्रदेश के स्कूली शिक्षा विभाग से जारी निर्देशों के अनुसार वे समस्त शिक्षक जो हाई स्कूल-हायर सेकंडरी स्कूल में अध्यापन कार्य करा रहे हैं ,चाहे  शासकीय स्कूलों के हों या अशासकीय स्कूलों के, उन सभी को 'एमएएसएचआइएम ऐप' प्ले स्टोर में जाकर डाउनलोड करना है। ऐसा करने पर उनका पंजीयन हो जाएगा।  इसके बाद वे अपने द्वारा पढ़ाए जानेवाले लेसन के ऑडियो-वीडियो को अपलोड कर सकेंगे। प्रत्येक कालांश 30 से 40 मिनिट का होगा।   अनुत्तीर्ण छात्र का नामांकन निरस्त कर देगा बोर्ड माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा नई शिक्षा नीति के तहत जो निर्देश जारी हुए हैं, उसके तहत शासकीय के साथ अशासकीय स्कूलों के शिक्षकों को भी वर्तमान शिक्षा सत्र 2020-21 में समस्त पाठ लेसन को पढ़ाने के बाद ही छात्रों का आंतरिक मूल्यांकन किया जाएगा। छात्र के द्वारा स्कूल में अपना एसेसमेंट जमा करने के बाद ही, शिक्षक के द्वारा उसका मूल्यांकन किया जाएगा ओर अंक दिए जाएंगे। ये अंक शिक्षक के द्वारा उक्त एप के माध्यम से छात्र के नाम के आगे लिखकर प्रेषित करना होगा ।    शिक्षक यदि मूल्यांकन में गलती करता है तो उसको बोर्ड से बाहर कर दिया जाएगा। इधर मूल्यांकन के बाद छात्र को उसकी उत्तर पुस्तिका वापस कर दी जाएगी। छात्र को  यह अनिवार्यता हरेगी कि वह संबंधित मूल्यांकन होनेवाले पाठ लेसन में  85 प्रतिशत अंक लाए। यदि छात्र मूल्यांकन में अनुत्तीर्ण हो जाता है तो उसे एक सप्ताह का समय दिया जाएगा। तब भी यदि वह अपना आंतरिक मूल्यांकन होने पर अनुत्तीर्ण होता है तो उसका नामांकन बोर्ड के द्वारा निरस्त कर दिया जाएगा। ऐसे में संबंधित छात्र आगे पढ़ाई नहीं कर सकेगा।   शिक्षकों के लिए यह रहेगी अनिवार्यता शिक्षकों को हर पाठ का संपूर्ण अध्ययन करने के बाद ही प्रश्न पत्र तैयार करना होगा। प्रश्न पत्र तैयार करने पर यह पता चल सकेगा कि शिक्षक ने कितनी तैयारी की और छात्र ने कितना अध्ययन किया। इसलिए प्रश्न पत्र बनाने की तकनीक में बदलाव किया गया है। अब कक्षा 9 से 12 तक का प्रश्न पत्र तीन भाग में तैयार होगा। 100 अंकों के इस प्रश्न पत्र में 30 अंक वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे। ये प्रश्न अभ्यास के अलावा पाठ के अंदर से भी हो सकते हैं। इसीप्रकार 3-3 अंकों के 10 प्रश्न होंगे,जोकि अभ्यास में से होंगे। शेष 40 अंकों के 10 प्रश्न 4-4 अंकों के होंगे,जिन्हे पाठ के अंदर से पूछना होगा। ताकि शिक्षक का अध्यापन और छात्र की तैयारी सामने आ सके।   प्रश्न पत्र प्रश्न पत्र ए/बी/सी भाग में तैयार करना है।   यह है बोर्ड की बदली नीति माध्यमिक शिक्षार मण्डल ने अपनी संपूर्ण प्रक्रिया बदल दी है। शिक्षक को पहले पढऩा होगा, फिर छात्र को पढ़ाना होगा। छात्रों को भी पूरा पाठ पहले पढऩा होगा, ताकि 85 प्रतिशत अंक लाकर वह उत्तीर्ण हो और आगे बढ़े। यही कारण है कि अशासकीय स्कूलों के शिक्षकों को भी इस प्रक्रिया से जोड़ा जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

भोपाल। करीब 10 महीनों के अंतराल के बाद भोपाल में पुलिसकर्मियों को फिर वीकली ऑफ मिलने लगा है। पुलिसकर्मियों के लिए वीकली ऑफ की व्यवस्था कमलनाथ सकरार ने शुरू की थी, लेकिन कुछ महीने चलने के बाद ही यह बंद हो गई थी। 10 महीने बाद भोपाल जिले में फिर से यह व्यवस्था शुरू की गई है और भोपाल ऐसा करने वाला प्रदेश का पहला जिला बन गया है।   भोपाल पुलिस में शुरू किए गए वीकली ऑफ का फायदा कांस्टेबल से लेकर सीएसपी स्तर तक के अधिकारियों को हो रहा है। वर्तमान में पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ रात्रि गश्त के अगले दिन दिया जा  रहा है। हालांकि इसकी वजह से स्टाफ की कमी का सामना भी करना पड़ रहा है, लेकिन पुलिस अधिकारियों का कहना है कि सप्ताह में एक दिन वीकली ऑफ देने से पुलिस अपने परिवार के साथ समय बिता सकते हैं,  इससे उनकी कार्य करने की क्षमता भी बनी रहती है। एडिशनल एसपी संजय साहू का कहना है कि कोरोना के दौरान पुलिस अधिकारी कर्मचारियों ने 16 से 24 घंटे तक ड्यूटी की है। इस दौरान उन्हें किसी प्रकार की छुट्टी नहीं दी गई। उनके अवकाश निरस्त कर दिए गए थे,  साथ ही उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने की परमिशन भी नहीं दी गई थी। ऐसे में भोपाल में पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ देने का फैसला लिया गया है। इस फैसले के तहत अब मैदानी पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ दिया जा रहा है। एडीशनल एसपी साहू ने बताया कि वर्तमान में जिस दिन अधिकारी या कांस्टेबल की रात्रि गश्त होती है, उसके अगले दिन उसे वीकली ऑफ दिया जाता है, ताकि वह आराम कर सके और परिवार के साथ समय बिता सके।

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

राजगढ़। जम्मू कश्मीर के बारामूला में आतंकी हमले में शहीद हुए मप्र के राजगढ़ जिले के रहने वाले जवान मनीष विश्वकर्मा कारपेंटर का पार्थिव शरीर बुधवार को उनके गृहनगर खुजनेर पहुंचा। यहां उनके अंतिम दर्शन करने के लिए पूरा शहर ही उमड पड़ा। चारों तरफ लोगों की भीड़ जमा हो गई और सभी ने नम आंखों से शहीद के अंतिम दर्शन किये। लोग देशभक्ति के नारे लगा रहे थे। देशभक्त नारों से नगर गूंज उठा। लोगों ने पार्थिव शरीर के स्वागत में आतिशबाजी भी की।   बता दें कि राजगढ़ जिले के खुजनेर के शहीद मनीष उरी में तैनात थे। दो दिन पहले बारामूला में हुई आंतकियों से मुठभेड़ में मनीष शहीद हो गए थे। उनका पार्थिव शरीर बुधवार सुबह सेना के विशेष विमान से राजधानी भोपाल पहुंचा। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ईमई सेंटर हॉस्पिटल परिसर में शहीद मनीष विश्वकर्मा के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री शिवराज ने इस दौरान शहीद के परिवार को एक करोड़ की सम्मान निधि और परिवार के एक सदस्य को उनकी सहमति पर शासकीय सेवा में नियुक्ति का ऐलान किया। इसके बाद सेना के वाहन के शहीद का पार्थिव शरीर उनके गृहनगर खुजनेर के लिए रवाना हुआ।   खुजनेर पहुंचते ही शहीद के अंतिम दर्शन करने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। देशभक्ति नारे से पूरा नगर गूंज उठा। हर व्यक्ति मनीष विश्वकर्मा के बलिदान को याद कर रहा है। यहां परिवार और खुजनेर के लोगों के दर्शन के बाद उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।   गौरतलब है कि राजगढ़ जिले के खुजनेर नगर के निवासी मनीष विश्वकर्मा कारपेंटर 11 महर रेजीमेंट में जीडी के पद पर तैनात थे।  एक जनवरी 1998 को जन्मे मनीष 18 साल की उम्र में ही सेना में भर्ती हो गए थे। मनीष का पूरा परिवार ही देश सेवा के लिए जाना जाता है। मनीष के बड़े भाई हरीश विश्वकर्मा भी 2014 से सेना में ही राजस्थान के गंगानगर में तैनात होकर देश की सेवा कर रहे हैं। मनीष की शादी 10 माह पहले ही हुई थी और शादी के तुरंत बाद ही वे ड्यूटी पर चले गए थे। दिसंबर 2019 में ही मनीष परिवार से मिलने आए थे और यही उनकी अंतिम मुलाकात थी। चार दिन पहले ही उन्होंने फोन पर अपने परिवार से बात की थी। दो दिन पहले आतंकी हमले में मनीष शहीद हो गए।

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां अब कोरोना के 187 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। अब यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 11,860 और मृतकों की संख्या 371 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 1628 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 187 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इन 187 नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 11,860 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 371 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 8200 से अधिक मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3199 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है। इंदौर में अब तक दो लाख 493 संदिग्धों के सैम्पल की जांच हो चुकी है।

Kolar News

Kolar News 26 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के रिकार्ड 1374 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 19 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 55,695 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 1263 लोगों की मौत हो चुकी है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंगलवार देर शाम जारी कोरोना से सम्बंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। मप्र में पहली बार एक दिन में 1300 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। इससे पहले सोमवार को यहां एक दिन में सर्वाधिक 1292 नये संक्रमित मिले थे।  बुलेटिन के अनुसार, मंगलवार को प्रदेशभर में 22,854 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1374 पॉजिटिव और 21,475 रिपोर्ट निगेटिव आई हैं, जबकि 212 सेम्पल रिजेक्ट हुए। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 54,421 से बढ़कर 55,695 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 11,673, भोपाल 9541, ग्वालियर, 4348, जबलपुर 3339, मुरैना 1997, उज्जैन 1603, खरगौन 1341, बड़वानी 1061, नीमच 1111, सागर 1015, खंडवा 864, रतलाम 843, मंदसौर 714, धार 740,  विदिशा 735, राजगढ़ 746, देवास 621, भिण्ड 566, रीवा 643, बुरहानपुर 547, रायसेन 609, सीहोर 592, शिवपुरी 658, छतरपुर 537, दमोह 549, होशंगाबाद 483, बैतूल 578, दतिया 550, शाजापुर 421, टीकमगढ़ 380, श्योपुर 434, कटनी 417, सतना 433, छिंदवाड़ा 399, झाबुआ 519, अलीराजपुर 416, सिंगरौली 321, हरदा 388, नरसिंहपुर 332, सीधी 265, शहडोल 380, बालाघाट 249, पन्ना 228, गुना 244, आगरमालवा 174, अशोकनगर, 164, सिवनी 205, अनूपपुर 306, निवाड़ी 148, उमरिया 100, डिंडौरी 126 और मंडला 142 मरीज शामिल हैं। राज्य में मंगलवार को कोरोना से 19 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर के चार और भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, बड़वानी, सागर, सीहोर, छतरपुर, होशंगाबाद, श्योपुर, कटनी, छिंदवाड़ा, हरदा, गुना और अशोकनगर के एक-एक मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1246 से बढ़कर 1263 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 368, भोपाल 264, उज्जैन 78, बुरहानपुर 25, खंडवा 21, जबलपुर 67, खरगौन 25, ग्वालियर 36, धार 15, मंदसौर 12, नीमच 13, सागर 46, देवास 15, रायसेन 13, होशंगाबाद 16, सतना 13, आगरमालवा 05, झाबुआ 06, अशोकनगर 05, शाजापुर 06, दतिया 06, छिंदवाड़ा 04, सीहोर 18, उमरिया 02, रतलाम 18, बड़वानी 14. मुरैना 12, राजगढ़ 13, श्योपुर 03, टीमकगढ़ 10, रीवा 12, गुना 08, हरदा 08, कटनी 08, सीधी 02, शिवपुरी 06, अलीराजपुर 03, भिंड 04, बैतूल 11, नरसिंहपुर 02, सिवनी 04, सिंगरौली 07, छतरपुर 12, विदिशा 13, दमोह 10, बालाघाट 01, अनूपपुर 01, शहडोल 02 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।बुलेटिन में राहत की खबर यह बताई गई है कि राज्य में अब तक 42,247 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके हैं और वे स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर जा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 12,185 हैं।

Kolar News

Kolar News 25 August 2020

अनूपपुर। नर्मदा उद्गम नगरी अमरकंटक से प्रवाहित होने वाली नर्मदा की जलधारा को सरोवर के रूप में स्थापित करने दशकों पूर्व बनाया गया पुष्पकर डैम सुधार कार्य के दौरान सोमवार को क्षतिग्रस्त होकर टूट गया था, जिससे पुष्पकर डैम का पानी तेजी के साथ आसपास की मिट्टी का कटाव करते हुए तेजी से बह रही है। लगभग 10 फीट मोटी पानी से लबालब भरा डैम का पानी लगातार बांध पर अपना दवाब बना रहा है, जिससे आसपास के हिस्से को भी नुकसान होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। पुष्पकर डैम से किलोमीटर दूर पर बना माधव डैम भी पानी के तेजी से बहाव में अब फूटने के कगार पर पहुंच गया है। डैम के उपरी हिस्से के मिट्टी बंधान वाले क्षेत्र से पानी तेजी से निकासी निकल रही है। जिसमें आशंका है कि जल्द ही पानी मिट्टी के चट्टान सहित नदी में समा जाएगी।   बताया जाता है कि पुष्पकर डैम लगभग 25-30 वर्ष पुराना है, जिसे नर्मदा कुंड से निकलने वाली जलधारा को रोकने तथा नगर की जलापूर्ति सहित नमर्दा उद्गम कुंड के जलस्तर को बरकरार रखने बनाया गया था। लेकिन दो-तीन साल पूर्व ही डैम के अनेक हिस्से क्षतिग्रस्त नजर आने लगे थे। जिसे देखते हुए 2019 में जिला प्रशासन ने डब्ल्यूआरडी को सुधार कराने के निर्देश दिए थे। इसमें प्रशासन ने पुष्पकर डैम तथा उससे जुड़ी अन्य डैम के भी सुधार के लिए कहा था। जिसमें लगभग 32 लाख की लागत से सुधार कार्य कराए जा रहे थे। ठेकेदार द्वारा मई माह से सुधार कार्य आरम्भ कराया गया था। लेकिन अभी पुष्पकर डैम का सुधार कार्य पूरा भी नहीं हो पाया कि पानी से लबालब भरा डैम का किनारा अचानक टूटकर बह गया।  पानी के तेजी से बहाव के कारण पुष्पकर डैम से नीचे बने लक्ष्मी, कपिल सरोवर सहित माधव डैम पर पानी का दवाब बढ़ गया है। जिसमें माधव डैम का उपरी हिस्सा क्षतिग्रस्त होकर फूटने की कगार पर पहुंच गया है।   विदित हो कि पिछले वर्ष ही पुष्पकर डैम का एक हिस्सा पानी के दवाब में क्षतिग्रस्त होकर बह गया था, विभागीय अधिकारियों द्वारा सुधार कार्य कराया गया था। लेकिन विभागीय मुस्तैदी में जल्द ही सुधार कार्य होने से नगर में गर्मी के दिनों में जलापूर्ति सामान्य बनी रही। नगरवासियों का कहना है कि अगर यह पानी बह गया तो आगामी गर्मी के दिनों में नगर में पानी की समस्या उत्पन्न हो जाएगी। साथ ही नर्मदा कुंड का जलस्तर भी कम पडने के साथ सूख जाएगा।   सीएमओ नगरपालिका अमरकंटक पवन साहू का कहना है कि डब्ल्यूआरडीसी द्वारा सुधार कार्य कराया जा रहा है, जल्द ही उसकी मरम्मती कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

Kolar News

Kolar News 25 August 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले सप्ताह हुई मूसलाधार बारिश से साल भर का कोटा पूरा हो गया। हालांकि दो दिनों से मौसम साफ है। आसमान में बादल छाए हुए हैं, लेकिन बरस नहीं रहे हैं। राजधानी भोपाल में मंगलवार सुबह से आसमान में बादलों के बीच सूरज की लुका छिपी जारी है। मौसम विभाग की माने तो बंगाल की खाड़ी से नए बादलों का एक समूह मध्यप्रदेश की तरफ बढ़ रहा है। उम्मीद है कि यह मंगलवार को मध्यप्रदेश में प्रवेश करेगा और बुधवार को एक बार फिर प्रदेश बारिश से तरबतर होगा।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बना है। इसके प्रभाव से मंगलवार से प्रदेश में बरसात का नया दौर शुरू होने के आसार हैं। इसके प्रभाव से बुधवार-गुरुवार से प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में अच्छी बरसात होने की उम्मीद है।   पूरा मध्य प्रदेश लबालब लेकिन 3 जिलों अभी भी वर्षा की कमी गौरतलब है कि प्रदेश में अब तक सीजन की कुल 710.8 मिमी. (28 इंच) बरसात हो चुकी है। जो सामान्य (687.9 मिमी.) से तीन फीसद अधिक है। तीन जिलों में सामान्य से कम प्रदेश में मात्र तीन जिलों-मंदसौर, टीकमगढ़ और छतरपुर में ही अभी तक सामान्य से कम बरसात हुई है।

Kolar News

Kolar News 25 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के रिकार्ड 1292 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 17 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 54,421 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 1246 लोगों की मौत हो चुकी है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा सोमवार देर शाम जारी कोरोना से सम्बंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। मप्र में लगातार तीसरे दिन 1200 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। इससे पहले रविवार को यहां एक दिन में सर्वाधिक 1263 नये संक्रमित मिले थे।  बुलेटिन के अनुसार, सोमवार को प्रदेशभर में 22,425 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1292 पॉजिटिव और 21,133 रिपोर्ट निगेटिव आई हैं, जबकि 98 सेम्पल रिजेक्ट हुए। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 53,129 से बढ़कर 54,421 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 11,408, भोपाल 9413, ग्वालियर, 4205, जबलपुर 3199, मुरैना 1980, उज्जैन 1587, खरगौन 1319, बड़वानी 1047, नीमच 1069, सागर 996, खंडवा 857, रतलाम 820, मंदसौर 692, धार 716,  विदिशा 716, राजगढ़ 735, देवास 609, भिण्ड 557, रीवा 631, बुरहानपुर 543, रायसेन 602, सीहोर 576, शिवपुरी 620, छतरपुर 537, दमोह 538, होशंगाबाद 470, बैतूल 567, दतिया 515, शाजापुर 418, टीकमगढ़ 376, श्योपुर 426, कटनी 403, सतना 414, छिंदवाड़ा 381, झाबुआ 479, अलीराजपुर 414, सिंगरौली 310, हरदा 379, नरसिंहपुर 321, सीधी 253, शहडोल 347, बालाघाट 237, पन्ना 221, गुना 239, आगरमालवा 172, अशोकनगर, 159, सिवनी 195, अनूपपुर 281, निवाड़ी 127, उमरिया 100, डिंडौरी 115 और मंडला 130 मरीज शामिल हैं। बुलेटिन में बताया गया है कि राज्य में सोमवार को कोरोना से 17 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर के चार और भोपाल, ग्वालियर, मुरैना, उज्जैन, रतलाम, राजगढ़, रायसेन, बैतूल, भिंड, दमोह, दतिया, हरदा और अनूपपुर के एक-एक मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1229 से बढ़कर 1246 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 364, भोपाल 263, उज्जैन 77, बुरहानपुर 25, खंडवा 21, जबलपुर 66, खरगौन 25, ग्वालियर 35, धार 15, मंदसौर 12, नीमच 13, सागर 45, देवास 15, रायसेन 13, होशंगाबाद 15, सतना 13, आगरमालवा 05, झाबुआ 06, अशोकनगर 04, शाजापुर 06, दतिया 06, छिंदवाड़ा 03, सीहोर 17, उमरिया 02, रतलाम 18, बड़वानी 13. मुरैना 12, राजगढ़ 13, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 10, रीवा 12, गुना 07, हरदा 07, कटनी 07, सीधी 02, शिवपुरी 06, अलीराजपुर 03, भिंड 04, बैतूल 11, नरसिंहपुर 02, सिवनी 04, सिंगरौली 07, छतरपुर 11, विदिशा 13, दमोह 10, बालाघाट 01, अनूपपुर 01, शहडोल 02 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।बुलेटिन में राहत की खबर यह बताई गई है कि राज्य में अब तक 41,231 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके हैं और वे स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर जा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 11,944 हैं।

Kolar News

Kolar News 24 August 2020

भोपाल। प्रदेश के अधिकांश इलाकों में झमाझम बारिश के बाद कम दबाव का क्षेत्र अब राजस्थान के मध्य में पहुंच गया है। इससे प्रदेश में बौछारें पडऩे का सिलसिला थम-सा गया है। सोमवार को सुबह से राजधानी भोपाल में कभी धूप, कभी छांव हो रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक सोमवार को बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। इसके प्रभाव से मंगलवार से प्रदेश में बरसात का नया दौर शुरू होने के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि कम दबाव का क्षेत्र वर्तमान में मध्य राजस्थान पहुंच गया है। मानसून द्रोणिका (ट्रफ) भी जैसलमेर से कम दबाव के क्षेत्र से झांसी होकर बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है। मप्र में कोई मानसूनी सिस्टम नहीं रहने से रविवार को बरसात का सिलसिला काफी कम हो गया। हालांकि, अभी भी राजस्थान से लगे जिलों में कहीं-कहीं अच्छी बरसात होने की संभावना है। बंगाल की खाड़ी में सोमवार को बनने वाले कम दबाव के क्षेत्र से मंगलवार को पूर्वी मप्र में कुछ बरसात हो सकती है। बुधवार-गुरुवार से प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में अच्छी बरसात होने की उम्मीद है।   मप्र के छह जिलों में रेड अलर्टवहीं मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के छह जिलों होशंगाबाद, जबलपुर,बेतुल, नरसिंहपुर, सिवनी और हरदा जिले के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

Kolar News

Kolar News 24 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां न केवल संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, बल्कि इस महामारी की चपेट में आकर मरने की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। इंदौर में अब कोरोना के 247 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 11408 तथा मृतकों की संख्या 364 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 2591 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की, जिनमें 247 नये संक्रमित मिले हैं, जबकि शेष रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसके बाद इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 11 हजार 408 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 364 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ भी हो रहे हैं। जिले में अब तक 7874 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3170 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 24 August 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल समेत पूर्व मध्यप्रदेश के 21 जिलों में शुक्रवार को देर रात से लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है, जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। शनिवार को भी सुबह से शाम तक जोरदार बारिश हुई, जिसे नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। कई जगह बाध पूरे भर गए हैं, जिसके चलते उनके गेट खोलने पड़े हैं। वहीं, भोपाल में लगातार हो रही तेज बारिश से शहर पानी-पानी  हो गया। शनिवार को भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट रनवे के सेंट्रल लाइन पर पानी भर गया, जिससे बेंगलुरू, हैदराबाद और दिल्ली से भोपाल आने वाली सभी पांच फ्लाइटों को रद्द करना पड़ा। वहीं मुंबई से आने वाली एक फ्लाइट को नागपुर डायवर्ट किया गया। भारी बारिश के कारण भोपाल कोई भी फ्लाइट लैंड नहीं हुई।   राजधानी में शुक्रवार शाम सात बजे से तेज बारिश का सिलसिला शुरू हुआ और रुक-रुककर रातभर बारिश होती रही। शनिवार सुबह से यहां लगातार पानी बरस रहा है, जिसके चलते शहर में कई जगह जलभराव की स्थिति बनी। राजा भोज एयरपोर्ट के रनवे की सेंट्रल लाइन पर करीब दो फीट पानी भर गया। जिसे निकालने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ने मशीनें लगानी पड़ी। इस वहज से सुबह सबसे पहले मुंबई से आने वाली इंडिगो की फ्लाइट को नागपुर के लिए डायवर्ट कर दिया गया और बाद में दिल्ली-भोपाल-दिल्ली की दो, हैदराबाद-भोपाल-हैदराबाद, बेंगलुरू-भोपाल-बेंगलुरू की इंडिगो फ्लाइट्स को रद्द कर दिया गया। एयरपोर्ट के अधिकारियों का कहना है कि रनवे पर पानी भर जाने से आज आने वाली फ्लाइट्स कैंसिल करनी पड़ी हैं।   इधर, इंदौर, उज्जैन, रतलाम समेत पूर्वी मध्यप्रदेश के 21 जिलों में गुरुवार शाम से शुरू हुई बारिश शनिवार को भी जारी रही, जिसके चलते जनजीवन बुरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। भोपाल में 24 घटों में करीब 10 इंच बारिश हुई। यहां बड़ा तालाब पूरा भर गया और भदभदा डेम के गेट खोले पड़े। इंदौर में बीते तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश के साथ ही 39 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। इंदौर में इस दौरान 10 इंच से कुछ ज्यादा बारिश हो चुकी है। इंदौर में बारिश का आंकड़ा अब औसत के करीब जा पहुंचा है। इंदौर में कई निचली बस्तियों में पानी भर चुका है। यशवंत सागर डेम पूरा भर चुका है, इसलिए इसके सभी गेट भी खोल दिए गए हैं।    मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट   मौसम विभाग ने आगामी दो से तीन दिनों तक लगातार बारिश होने से संभावना जताई है। ऐसे में मौसम विभाग ने करीब 21 जिलों के लिए रेड, औरेंज और यलो अलर्ट भी जारी किया है। विभाग के मुताबिक 24 और 25 अगस्त के बारिश थम सकती है। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार हो रही बारिश के चलते बने हालात पर लगातार नजर रख रहे हैं और प्रदेश में सभी बांधों को नजर रखने के लिए अधिकारियों को अलर्ट जारी किया है।   प्रदेश में लगातार हो रही बारिश ने लोगों की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। थाने से लेकर घरों और मंदिरों में पानी घुस गया है। भोपाल के निशातपुरा, शाहजहांनाबाद और कोहेफिजा में सडक़ों पर पानी भर गया है। जबकि निशातपुरा में स्थित साद नगर में लोग रातभर सो नहीं पाए हैं। उनके घरों में घुटनों तक पानी भरा है। ऐसा ही हाल नए शहर के साकेतनगर, शक्ति अलकापुरी, बावडिय़ा कला में नजर आ रहा है। रास्ते पूरी तरह से बंद हो गए हैं। वहीं, इंदौर में भी शहर और आस-पास के इलाकों में देर रात तीन बज से भारी बारिश हो रही है। इंदौर के करीब हातोद और यशवंत सागर के पास के गावों में पानी भर गया है। तालाब और खेत भी पानी से भर गए हैं। हालत यह है कि गांव में गाड़यिां बारिश के पानी में डूब गई हैं। भारी बारिश में शहर के पश्चिमी क्षेत्र में स्थित भूतेश्वर महादेव के मंदिर में भी पानी भर गया और भगवान भोलेनाथ जलमग्न हो गए। इसी तरह अन्य शहरों और गांवों के हालात हैं।

Kolar News

Kolar News 22 August 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल में लगातार 24 घंटे से हो रही बारिश ने शहर को लबालब कर दिया है। निचले इलाकों में पानी भर गया है और आपात स्थिति से निपटने के लिए एसडीआरएफ को अलर्ट किया गया है। तेज बारिश के कारण शहर का बड़ा तालाब भी लबालब हो गया है और शनिवार सुबह भदभदा डेम के चार गेट खोल दिए गए हैं। वहीं, कलियासोत डेम के गेट खुलने से पहले ही कलियासोत नदी में पानी आ गया है और नदी बहने लगी है।    राजधानी भोपाल में 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। 24 घंटे में शहर में करीब 225 मिमी बारिश रिकॉर्ड हो चुकी है। बारिश के कारण बड़े तालाब का जलस्तर 1665.80 फीट पर आ गया है, जो फुल टैंक लेवल 1666.80 फीट से एक फुट कम है। जलग्रहण क्षेत्र से लगातार पानी की आवक को देखते हुए शनिवार को भदभदा डैम के चार गेट खोल दिए गए हैं। शनिवार को सुबह एक गेट, फिर दो और 11.30 बजे चार गेट खोलने पड़े। जिला प्रशासन ने बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है और निचले इलाकों में अमले की तैनाती के लिए निर्देश भी दिए हैं।

Kolar News

Kolar News 22 August 2020

  इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां अब कोरोना के 181 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 10,967 और मृतकों की संख्या 356 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बाताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 1867 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 181 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। इसके बाद इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 10 हजार 967 हो गई है। वहीं, इंदौर में तीन लोगों की कोरोना से मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 356 हो गई है। हालांकि, इंदौर में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ भी हो रहे हैं। यहां अब तक करीब साढ़े सात हजार मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3087 है, जिनका उपचार जारी है।  

Kolar News

Kolar News 22 August 2020

भोपाल। सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने बताया कि नशामुक्त भारत अभियान के तहत प्रदेश के 15 जिलों में 15 अगस्त से छ: माही क्रियान्वयन शुरू किया गया है। अभियान में देशभर के 272 जिलों का चयन किया गया है, जिनमें प्रदेश के भोपाल, छिंदवाड़ा, दतिया, ग्वालियर, होशंगाबाद, इंदौर, जबलपुर, मंदसौर, नरसिंहपुर, नीमच, रतलाम, रीवा, सागर, सतना और उज्जैन जिले शामिल हैं। जिलों का चिन्हांकन नशीले पदार्थ और शराब से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों के विरुद्ध किये गये राष्ट्रीय सर्वेक्षण के आधार पर किया गया है।   अभियान के तहत संबंधित जिलों में कलेक्टर की अध्यक्षता में समितियाँ गठित की गई हैं, जिनमें पुलिस, विधि, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, सामाजिक न्याय आदि विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों और सेवानिवृत्त प्रशासनिक अधिकारियों को शामिल किया गया है। नशे के आदी हो चुके लोगों को नशामुक्त करने के साथ अभियान का सर्वोच्च उद्देश्य भावी पीढ़ी को नशे की गिरफ्त में आने से बचाना है।   जिला-स्तर पर गठित समितियाँ नशामुक्त अभियान के क्रियान्वयन, विद्यार्थी, शिक्षक और अभिभावकों के मध्य जन-जागरूकता कार्यक्रम, कॉलेजों में स्टुडेंट क्लब का गठन, चिन्हित नशा पीड़ित लोगों को पुनर्वास केन्द्रों और अस्पतालों में काउंसिलिंग एवं उपचार के लिये ले जाना, जिलों में दी जा रही काउंसिलिंग और उपचार सुविधाओं की सतत निगरानी, शैक्षणिक संस्थाओं के 100 मीटर के दायरे में सिगरेट की बिक्री न हो, सुनिश्चित करना, ड्रग्स की उपलब्धता और विक्रय की जानकारी मिलते ही इसके विरुद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करवाना, संबंधित लोगों को प्रशिक्षण दिलाना, अभियान में जन-सहयोग बढ़ाना, सोशल मीडिया के माध्यम से नशे के विरुद्ध जागरूकता बढ़ाना आदि शामिल हैं। समिति समय-समय पर प्रमुख सचिव, सामाजिक न्याय की अध्यक्षता में गठित राज्य-स्तरीय समिति को फीडबैक भी देगी।   केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा कराये गये राष्ट्रीय सर्वेक्षण के अनुसार भारत में लगभग 16 करोड़ लोग शराब, 3.1 करोड़ भांग, 2.26 करोड़ अन्य नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं। अभियान में शामिल जिलों में राजस्थान और उत्तर प्रदेश के 33-33, पंजाब के 18, मध्यप्रदेश के 15, झारखण्ड के 12, दिल्ली के 11 क्षेत्र, उड़ीसा, हरियाणा, जम्मू-काश्मीर के 10-10, मणिपुर और आसाम के 9-9, अरुणाचल प्रदेश, बिहार और गुजरात के 8-8, कर्नाटक और केरल के 6-6, आंध्रप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, मेघालय, महाराष्ट्र और मिजोरम के 4-4, नागालैण्ड और छत्तीसगढ़ के 3-3 जिले, दमन और दीव और केन्द्रशासित प्रदेश चण्डीगढ़ हैं।

Kolar News

Kolar News 21 August 2020

भोपाल। बंगाल की खाड़ी में बना गहरा कम दबाव का क्षेत्र गुरुवार को छत्तीसगढ़ के नजदीक पहुंच गया है। मानसून द्रोणिका (ट्रफ) जबलपुर से होकर गुजर रही है। इन दो सिस्टम के कारण प्रदेश के कई स्थानों पर भारी बारिश होने के आसार हैं। राजधानी भोपाल में गुरुवार देर रात जोरदार बारिश हुई। यहां करीब दो घंटे में दो इंच वर्षा दर्ज की गई। पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के पश्चिमी मप्र में मानसून सक्रिय तथा पूर्वी मप्र में मानसून सामान्य रहा। भोपाल के अलावा इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद, चंबल और ग्वालियर संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर तथा शेष संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर वर्षा दर्ज की गई।   शुक्रवार सुबह से भी राजधानी भोपाल में रुक रुक कर तेज बौछारें गिर रही हैं। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 48 घंटे के दौरान भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर, उज्जैन, सागर, इंदौर संभाग में कहीं-कहीं अतिवृष्टि भी हो सकती है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि दो सिस्टम सक्रिय होने के कारण प्रदेश में भारी बारिश होने के आसार बन रहे हैं। गुरुवार रात से ही प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बौछारें पडऩी शुरू हो गई हैं। शुक्रवार को जबलपुर, भोपाल, होशंगाबाद में और शनिवार को सागर, उज्जैन व इंदौर में तेज बारिश होने की संभावना है। कहीं-कहीं भारी बारिश भी हो सकती है।   इन जिलों में हो सकती है भारी बारिशमौसम विभाग ने रीवा, अनूपपुर, कटनी, छिंदवाड़ा, दमोह, सागर, छतरपुर, सीहोर, राजगढ़, बुरहानपुर, खंडवा, बड़वानी जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है। यहां शुक्रवार को भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं होशंागाबाद संभाग तथा डिंडौरी, जबलपुर, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, विदिशा, रायसेन जिलों में आरेंज अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में अति भारी बारिश हो सकती है। रीवा, शहडोल, सागर, जबलपुर, भोपाल, उज्जैन, इंदौर, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल संभागों में गरज चमक के साथ बौछारें गिरने की संभावना है। 

Kolar News

Kolar News 21 August 2020

ग्वालियर। कोरोना वायरस के कारण इस बार सार्वजनिक रूप से गणेश उत्सव का आयोजन नहीं होगा। पंडाल नहीं सजाए जा रहे हैं। लेकिन घरों में गौरी पुत्र गणेश की भक्ति तथा आराधना श्रद्धालुओं द्वारा की जायेगी। इस बार गणेश चतुर्थी शनिवार, 22 अगस्त को है। इस दिन घर-घर में गणेश की प्रतिमाओं की स्थापना की जा जाएगी और लोग इस बार घरों में रहकर ही 10 दिवसीय गणेशोत्सव मनाएंगे।    सनातन धर्म में भगवान गणेश को विनायक, गणपति, विघ्नहर्ता कहा जाता है। धार्मिक मान्यता है कि किसी भी शुभ काम को करने से पहले गणेश भगवान की पूजा की जाती है। भादों शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी मनाई जाती है। श्रद्धालु अपने घर में भगवान गणेश की प्रतिमा विराजमान करते हैं। लेकिन कोरोना वायरस के कारण हर साल की तरह सार्वजनिक उत्सव नहीं होंगे। घरों में भक्त अपने प्रिय भगवान की सेवा पूजा करेंगे।    29 अगस्त को निगम वाहन में होगा विसर्जन   ग्वालियर में गणेशोत्सव 29 अगस्त तक मनाया जाएगा और इसी दिन नगर निगम के वाहनों में गणेश प्रतिमाओं का सम्मान पूर्वक विसर्जन किया जाएगा। जानकारी अनुसार निगम के कई वाहन गणेश प्रतिमा विसर्जन करने के लिये शहर के गली-मोहल्ले और कॉलोनियों से विसर्जन स्थल तक ले जाकर सम्मान पूर्वक विसर्जन करायेंगे।   घरों में ही रहकर मनाएं पर्व                      जिला प्रशासन ने 22 अगस्त से 29 अगस्त तक गणेश उत्सव, 29 अगस्त को डोलग्यारस और 30 अगस्त को मोहर्रम त्यौहार घरों में ही रहकर मनाने का अपील की है। इस दौरान किसी भी प्रकार की झांकी, ताजियों के जुलूस नहीं निकालें जाएंगे, जहां तक हो गणेश प्रतिमा और ताजियों का रूप छोटा ही रहे। शासन की गाइडलाइन के अनुसार गणेश उत्सव की प्रतिमायें नहीं लगाई जायेंगी, किसी भी प्रकार की झांकी खुले में सार्वजनिक स्थानों पर नहीं लगाने की अपील की गई है।

Kolar News

Kolar News 21 August 2020

उज्जैन। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव राजेश राजोरा ने बुधवार को एक आदेश जारी किया। सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखते हुए उक्त आदेश में कहा गया कि प्रदेश में पूर्ण क्षमता के साथ यात्री बसों के संचालन की अनुमति दी जाती है। इधर प्रदेशभर सहित उज्जैन संभाग की 3000 बसें गुरूवार को खड़ी रही। ऑपरेटर्स का कहना था कि पहले हमारी मांगे पूरी करो,फिर चलाएंगे बस। जानकारी के अनुसार गुरूवार को अनेक लोग इस आशा के साथ नानाखेड़ा बस स्टेण्ड सहित विभिन्न स्टैडों पर पहुंचे कि बस चालू हो गई है, अत: गंतव्य तक जाएं, लेकिन बस स्टैण्डों पर पहुंचकर वे निराश हुए। बसों के चक्के थमे थे और मौके पर खड़े लोगों द्वारा कहा गया कि अभी बसवालों की हड़ताल है। मांगे पूरी होने तक बसें नहीं चलेगी। लोग पुन: अपने घरों को रवाना हो गए। यह हाल है अभी बुधवार तक राज्य शासन के प्रतिबंध के कारण प्रदेशभर में अंतर जिला बसें बंद थी, चूंकि प्रायवेट बसों का ही संचालन प्रदेश में हो रहा है,ऐसे में कल शाम को राज्य शासन द्वारा आदेश जारी किए जाने के बाद भी बस ऑपरेटर्स ने बसों का संचालन गुरूवार से प्रारंभ नहीं किया। लोग दो पहिया एव चार पहिया वाहनों से शहर के समीपस्थ जिलों में आते-जाते रहे। इनका कहना था कि सरकार ने यदि आदेश जारी किए हैं,तो बसें भी चलवाना चाहिए। पहले सरकार ने प्रतिबंध लगा रखा था और अब बस ऑपरेटर्स ने अपनी मांगों के कारण चक्के जाम कर दिए हैं। आम आदमी को दोनों तरफ से परेशानी झेलना पड़ रही है।   यह कहना है बस ऑपरेटर्स का बस ऑनर एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि शुक्ला के अनुसार संभाग में 3000 गाडिय़ां है जो अंतर जिला चलती है। बसों का संचालन इसलिए प्रारंभ नहीं किया, क्योंकि सरकार हमारी मांगों का निराकरण नहीं कर रही है। हमारी मांग है कि अप्रेल माह से अभी तक का टैक्स माफ किया जाए। इसी प्रकार यात्री किराया बढ़ाया जाए। उदाहरण दिया कि डीजल के प्रति लीटर भाव 15 रू. से अधिक बढ़ गए हैं। ऐसे में उज्जैन से इंदौर के बीच का किराया 54 रू. पुराता नहीं है। किराया 80 से 90 रू. प्रति सवारी किया जाए। चूंकि बसें खड़ी है,ऐसे में इसका ऋण/टेक्स/मैंटेनेंस आदि भी उन्हे ही भरना है। केवल 54 रू. प्रति सवारी के हिसाब से घाटा नहीं उठाया जा सकता। सरकार यदि टेक्स माफ भी कर देती है तो भी किराया तो बढ़ाना ही होगा।    शासन को सूचित कर दिया : आरटीओ शासन के आदेश के बाद भी बसों का चक्‍काजाम होने पर आरटीओ संतोष मालवीय ने कहा कि शासन को सूचित कर दिया है कि उज्जैन जिले में बसों का संचालन नहीं हुआ है। फिर जैसा आदेश शासन का आएगा,वह करेंगे।  वहीं संभागायुक्त आनंद शर्मा ने कहाकि आगे की क्या नीति रहेगी, यह शासन स्तर पर तय होगी। हम शासन द्वारा दिए गए आदेश पर अमल करवाएंगे।

Kolar News

Kolar News 20 August 2020

ग्वालियर। जून और जुलाई के बाद अगस्त के भी 20 दिन गुजर गए, लेकिन ग्वालियर में लगातार झमाझम और भारी बारिश की स्थिति नहीं बनी। हालांकि पिछले करीब दस दिनों से आए दिन मध्यम गति से बारिश अवश्य हो रही है। इसके चलते जहां गर्मी अभी तक शांत नहीं हुई है वहीं बारिश का आंकड़ा भी औसत को नहीं छू पाया है, लेकिन मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले तीन से चार दिनों तक ग्वालियर और चम्बल अंचल के अधिकांश इलाकों में भारी बारिश हो सकती है।   ग्वालियर में बुधवार शाम को लगभग आधा घंटे तक हुई तेज बारिश के बाद गुरुवार को भी बारिश का क्रम जारी रहा। सुबह करीब 10 से दोपहर 12 बजे तक रिमझिम अंदाज में बारिश होती रही। इस दौरान शहर में लगभग तीन मिली मीटर बारिश दर्ज की गई, जबकि पिछले 24 घंटे में 27.0 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई है। इस प्रकार एक जून से अब तक शहर में कुल 425.0 मिली मीटर बारिश हो चुकी है, जो औसत से काफी कम है। सेवानिवृत्त मुख्य मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बन गया है, जो अगले 24 घंटे में सक्रिय होकर मध्यप्रदेश की ओर आएगा। यह सिस्टम ग्वालियर-चम्बल के पास से होकर गुजरेगा। इसके प्रभाव से पूरे अंचल में अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। श्री दुबे के अनुसार 21 अगस्त की शाम से बारिश का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। इसके बाद 22, 23 व 24 अगस्त को अंचल के अधिकांश भागों में भारी बारिश हो सकती है, जिससे औसत बारिश का कोटा पूरा होने की उम्मीद है।    सामान्य से नीचे उतरा तापमान: गुरुवार को दिन भर बादल छाए रहे। इस दौरान सुबह दस बजे से करीब दो घंटे तक रिमझिम बारिश होती रही। इसके चलते पिछले दिन की तुलना में अधिकतम तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 31.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 1.2 डिग्री सेल्सियस कम है। न्यूनतम तापमान भी 0.4 डिग्री सेल्सियस आंशिक गिरावट के साथ 26.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 0.9 डिग्री सेल्सियस अधिक है। आज हवाएं उत्तर पश्चिमी चलीं, जिनकी गति चार किलो मीटर प्रति घंटा थी। आज सुबह हवा में नमी 90 प्रतिशत दर्ज की गई, जो सामान्य से आठ प्रतिशत अधिक है, जबकि शाम को हवा में नमी 84 प्रतिशत दर्ज की गई। यह भी सामान्य से आठ प्रतिशत अधिक है।

Kolar News

Kolar News 20 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां कोरोना के 189 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत भी हुई है। इसके बार जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 10,559 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 2900 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 189 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इन 189 नये मरीजों के बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 10,559 हो गई है। वहीं, इंदौर में तीन लोगों की कोरोना से मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 349 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ भी हो रहे हैं। यहां अब तक 7140 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 3070 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 20 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां अब कोरोना के 199 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद राजधानी में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 8885 हो गई है। वहीं, भोपाल में अब तक कोरोना से 250 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, राजधानी में बुधवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 199 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद राजधानी में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 8885 और मृतकों की संख्या 250 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि अब तक यहां 7059 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1500 के करीब  है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।    बता दें कि राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए गत दिनों 10 दिन का लॉकडाउन लगाया था। इस दौरान पूरा शहर 10 दिन बंद रहा। इसके बावजूद यहां कोरोना की रफ्तार कम नहीं हुई। हालांकि, नये मरीजों की संख्या दो दिन तक 100 से नीचे पहुंची, लेकिन उसके बाद फिर कोरोना से रफ्तार पकड़ी और नये मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मंगलवार को यहां 129 नये मरीज मिले थे और अब यह आंकड़ा 200 के करीब पहुंच गया है।   बुधवार को जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें एमपीईबी कॉल सेंटर ऑफिस गोविंदपुरा से 7 लोग, पुलिस लाइंस गोविंदपुरा से 4 लोग, आईटीबीपी कान्हा सैय्या से 5 लोग, मैनिट हॉस्टल टीटीनगर से 8 छात्र, एम्स से दो लोग, शाहजहांनाबाद पुलिस स्टेशन से एक जवान, पुलिस कंट्रोल रूम से 2 लोग, एमपीईबी ऑफिस से 4 लोग, बिजली कालोनी ऑफिस से तीन लोग, सीआरपीएफ बंगरसिया से 8 जवान, ईएमई सेंटर से तीन लोग, 25वीं बटालियन से एक जवान, जेपी हॉस्पिटल से एक व्यक्ति और अरेरा कालोनी से एक ही परिवार के तीन लोग शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News 19 August 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश मॉनसून में सुधार देखने को मिल रहा है। पूरी जुलाई सूखा निकालने के बाद अगस्त में प्रदेश बारिश से तरबतर हो गया है। मध्य प्रदेश पर बहुत दिनों के बाद मॉनसून की मेहरबानी देखने को मिल रही है। हालांकि पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी हिस्सों पर अभी भी मॉनसून कमजोर है जिससे बारिश की गतिविधियां यहाँ ना के बराबर हो रही हैं, लेकिन इंतज़ार जल्द खत्म होगा और अच्छी बारिश दक्षिण-पश्चिमी इलाकों में भी देखने को मिलेगी। अगले एक सप्ताह के दौरान जबलपुर, इंदौर, उज्जैन, भोपाल, सागर, सतना, पन्ना समेत कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग ने दी है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि पूर्वी और उत्तर-पूर्वी मध्य प्रदेश में बीते कुछ दिनों से रुक-रुक कर बारिश की गतिविधियां देखने को मिल रही हैं। 18 अगस्त को भी मध्य प्रदेश के पूर्वी तथा मध्य भागों में अधिकांश जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी। साथ ही कुछ स्थानों पर भारी मॉनसून वर्षा होने की भी संभावना है। इस दौरान जबलपुर, मंडला, बालाघाट, कटनी, सागर, सतना, पन्ना, खजुराहो, रीवा, छतरपुर समेत भोपाल तक अगले दो-तीन दिनों के दौरान काफी अच्छी वर्षा हो सकती है। लेकिन अगले दो दिनों के दौरान दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश में धार, देवास, मंदसौर, इंदौर, रतलाम, उज्जैन और आसपास के भागों में बहुत भारी बारिश नहीं होगी। 19 अगस्त से दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश में मॉनसून की हलचल बढ़ जाएगी और अगले कुछ दिनों के लिए अच्छी बारिश का दौर शुरू हो जाएगा। वर्तमान मौसमी स्थितियों को देखते हुए अनुमान है कि दक्षिण पश्चिमी मध्य प्रदेश में 19 और 20 अगस्त को कई स्थानों पर मध्यम से भारी मॉनसून वर्षा दर्ज की जाएगी। कुछ इलाकों में बारिश 100 या 200 मिलीमीटर से भी ज्यादा हो सकती है, जिसके चलते निचले इलाकों में जलभराव हो सकता है कुछ स्थानों पर बाढ़ का संकट भी पैदा हो सकता है।   मौसम विभाग के मुताबिक 19 अगस्त को पूर्वी और मध्य भागों में बारिश की गतिविधियों में कमी आ जाएगी। हालांकि यह कमी अधिक दिनों तक नहीं रहेगी। 20 अगस्त से एक नया पश्चिमी विक्षोभ मध्य प्रदेश के करीब पहुंचेगा जिसके चलते 20-21 अगस्त से पूर्वी मध्य प्रदेश के भागों में भी बारिश का एक नया दौर शुरू होगा। धीरे-धीरे बारिश मध्य भागों से आगे बढ़ते हुए पश्चिमी भागों तक पहुंचेगी। कुल मिलकर कहा जा सकता है कि मध्य प्रदेश पर अच्छी बारिश का दौर शुरू हो चुका है और अगले एक सप्ताह तक रुक-रुक कर अच्छी बारिश राज्य के विभिन्न भागों में देखने को मिलती रहेगी। अब तक पूर्वी मध्य प्रदेश में सामान्य से 9प्रतिशत कम जबकि पूर्वी मध्य प्रदेश में सामान्य से 8प्रतिशत कम वर्षा रिकॉर्ड की गई है। आगामी दिनों में अच्छी बारिश की संभावना से उम्मीद है कि यह कमी पूरी हो जाएगी।

Kolar News

Kolar News 18 August 2020

धार। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष प्राचीन धार्मिक परंपरा अनुसार आज (सोमवार को) भगवान धारनाथ का छबीना निकाला जाएगा। कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुए विगत एक माह से छबीना नहीं निकाले जाने का निर्णय प्रशासन द्वारा क्राइसिस मैनेजमेंट की मीटिंग के दौरान लिया जाता रहा, किंतु धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक संगठनों के द्वारा परंपरा अनुसार छबीना निकाले जाने हेतु ज्ञापन दिया गए और सड़कों पर उतरने का की बात भी कही गई।   दरअसल, रविवार देर शाम प्रदेश सरकार की विशेष अनुमति के तहत एक सुसज्जित शासकीय वाहन में भगवान धारेश्वर महादेव का छबीना परंपरागत मार्ग से निकाले जाने की जानकारी धार कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि धर्मस्थान रक्षक मण्डल धारेश्वर महादेव छबीना शाम 4:30 बजे धारेश्वर मंदिर प्रांगण से निकाला जाएगा। इसके पूर्व भगवान धारेश्वर के पूजन पश्चात परंपरा अनुसार गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। दोपहर 2:00 पश्चात शहर में लॉकडाउन घोषित किया गया है। जिसके तहत सभी धर्म प्रेमी जनता अपने-अपने घरों से ही दर्शन लाभ ले सकते हैं।    धर्म स्थान रक्षक मंडल के अध्यक्ष डॉ शरद विजय वर्गीय व महामंत्री ज्ञानेंद्र त्रिपाठी ने शासन के इस निर्णय का स्वागत करते हुए कोरोना महामारी दृष्टिगत रखते हुए शहरवासियों से अपील की है जब बाबा धार नाथ का छबीना शहर के प्रमुख मार्गों से प्रशासनिक व्यवस्था के तहत निकले उस दौरान सभी अपने- अपने घरों से ही भगवान धारेश्वर महादेव का दर्शन लाभ ले। छबीना के नजदीक पूजा अर्चना हेतु न पहुंचे। सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखें। 

Kolar News

Kolar News 17 August 2020

भोपाल/शहडोल। मध्यप्रदेश के कई जिलों में बीती रात जोरदार बारिश हुई। राजधानी भोपाल के साथ ही पूर्वी मध्यप्रदेश के जबलपुर, शहडोल संभाग में रविवार रात 11 बजे के बाद गरज-चमक के साथ तेज बारिश शुरू हो गई, जो कि सोमवार अलसुबह तक जारी रही। इससे जबलपुर शहर समेत कई गांवों में जलभराव हो गया। शहडोल जिले में हुई झमाझम बारिश के चलते बाणसागर डेम ओवरफ्लो हो गया, जिसके चलते सोमवार सुबह 7 बजे डेम के छह गेट आधा-आधा मीटर खोल दिए गए।   राजधानी भोपाल में भी रविवार देर रात जोरदार बारिश हुई, जिससे पूरा शहर तर-बतर हो गया। इसके बार रिमझिम बारिश का सिलसिला सोमवार सुबह तक जारी रहा। वहीं, जबलपुर में देर रात कई तेज बारिश से कई इलाकों में जलभराव हो गया। यहां तक की निचले इलाकों में लोगों के घरों में घुटने तक पानी भर गया। हालांकि, सोमवार सुबह बारिश थम गई, लेकिन आसमान में बादल छाए हुए हैं और रुक-रुककर रिमझिम फुहारों का दौर लगातार जारी है। इधर मौसम विभाग ने जबलपुर में भारी बारिश के अलर्ट जारी किया है। वहीं मंडला, बालाघाट, डिंडौरी में अति भारी बारिश व छिंदवाड़ा में भारी बारिश की संभावना जताई है।   शहडोल जिले में बीती रात झमाझम बारिश के चलते बाणसागर बांध लबालब भर गया है। सोमवार सुबह 7 बजे बाणसागर बांध के छह गेट आधा-आधा मीटर खोल दिए गए। बता दें कि बाणसागर डेम की जलभराव क्षमता 341.64 मीटर है। डेल के ओवरफ्लो होने से यह गेट खोले गए हैं।

Kolar News

Kolar News 17 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब इंदौर में कोरोना के रिकार्ड 245 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 10 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 344 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 3359 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिनमें 245 रिपोर्ट पॉजिटिव और 3089 रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 9804 से बढक़र 10,049 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 344 हो गई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि अब तक इंदौर में 6618 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3300 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 17 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां लगातार अधिक संख्या में नये संक्रमित मिलने से सक्रिय मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब इंदौर में कोरोना के 176 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां सक्रिय मरीजों की संख्या तीन हजार के पार पहुंच गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार को देर रात 3096 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 176 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव प्राप्त हुई हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 9590 हो गई है। वहीं, इंदौर में पालदा क्षेत्र के 45 वर्षीय व्यक्ति की मौत की भी पुष्टि हुई है। इसके बाद इंदौर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 342 हो गई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि अब तक इंदौर में 6246 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 3001 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है। इंदौर में पहली बार सक्रिय मरीज तीन हजार के पार पहुंचे हैं। इसकी वजह यह है कि यहां प्रतिदिन अधिक संख्या में नये मरीज मिल रहे हैं, जबकि उसकी तुलना में कम मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 15 August 2020

भोपाल। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मध्यप्रदेश की विभिन्न जेलों में हत्या जैसे जघन्य मामलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 244 कैदियों को उनके अच्छे व्यवहार के कारण शनिवार को रिहा कर दिया गया। इनमें एक महिला और 243 पुरुष कैदी शामिल हैं।    प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर रिहा हुए सभी कैदी अब तक 14 वर्ष से लेकर 20 वर्ष तक का कारावास भुगत चुके हैं। उन्होंने जेल में रहते हुए टेलरिंग, कारपेंटरी, लोहारी, भवन-निर्माण की कारीगरी आदि का प्रशिक्षण प्राप्त किया है। बंदियों को बेहतर आचरण और कार्य-व्यवहार को देखते हुए राज्य सरकार ने उन्हें रिहा करने का निर्णय लिया और स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर उन्हें जेल से रिहा कर दिया है। मंत्री मिश्रा ने अपेक्षा करते हुए कहा है कि रिहा होने के बाद वे अपने परिवार एवं समाज में पुर्नस्थापित होकर समाज एवं प्रदेश के विकास में सहभागी बनेंगे।   मंत्री डॉ. मिश्रा ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व पर केन्द्रीय जेल ग्वालियर से 40, उज्जैन से 36, सतना से 30, भोपाल से 28, इंदौर से 27, जबलपुर और सागर से 18-18, रीवा से 14, बड़वानी से 11, होशंगाबाद से 7, नरसिंहपुर से 10, खुली जेल भोपाल से 2 और खुली जेल होशंगाबाद से एक, जिला जेल छतरपुर और बैतूल से एक-एक कैदी को रिहा किया गया है।

Kolar News

Kolar News 15 August 2020

सिवनी। जिले के बंडोल थाना अंतर्गत ग्राम भोगाखेडा में जैन वेयर हाउस के समीप शनिवार दोपहर लगभग 1.00 बजे एक कार अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में कार में सवार दो व्यक्तियों की मौत हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल हो गया।   बंडोल थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर ने शनिवार की शाम को जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार दोपहर लगभग 01 बजे खंडवा से जबलपुर की ओर जा रही कार क्रमांक एम.पी.09 6839 ग्राम भोगाखेंडा के पास जैन वेयर हाउस के समीप वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई। दुर्घटना इतनी भीषण थी कि कार में सवार जयंत पिता चंदूलाल कानूनगो (35), इंदर पिता मेहताब (40) दोनों निवासी खंडवा की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। वहीं एक अन्य कार सवार इरशाद पिता इब्राहिम निवासी खंडवा गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

Kolar News

Kolar News 15 August 2020

  इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां अब कोरोना के 157 नये मामले सामने आए हैं, जबकि एक व्यक्ति की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 9414 और मृतकों की संख्या 341 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 3413 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 157 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इन 157 नये मामलों के साथ अब जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 9414 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 341 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में अब तक 6191 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीज करीब 2500 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   

Kolar News

Kolar News 14 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में इस सााल कोरोना संकट के चलते स्वतंत्रता दिवस राज्य शासन द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार मनाया जाएगा। मुख्य कार्यक्रम राजधानी भोपाल में होगा, जिसकी तैयारियां पूरी हो गई हैं। भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्टेडियम (लाल परेड ग्राउंड) में 15 अगस्त को आयोजित होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह की गुरुवार को फुल ड्रेस परेड और फाइनल रिहर्सल हुई। इस मौके पर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।   प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस की सभी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं। इसी क्रम में भोपाल के लाल परेड मैदान पर गुरुवार सुबह फुल ड्रेस रिहर्सल हुई। इस दौरान पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, विशेष पुलिस महानिदेशक एसएएफ विजय यादव एवं संभागीय कमिश्नर कवीन्द्र कियावत सहित अन्य अधिकारियों ने स्वतंत्रता दिवस समारोह की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। फुल ड्रेस परेड के फाइनल अभ्यास के दौरान 7वीं बटालियन के प्रधान आरक्षक रामचन्द्र सिंह कुशवाहा ने प्रतीक स्वरूप मुख्य अतिथि की भूमिका निभाई और ध्वजारोहण राष्ट्रीय धुन एवं परेड द्वारा सलामी के बाद परेड का निरीक्षण कर संदेश का वाचन किया। उसके बाद परेड का विसर्जन कर कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।   गौरतलब है कि राज्य शासन द्वारा इस बार कोरोना संकट के चलते सीमित रूप से स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए गाइडलाइन जारी है। सभी जिला मुख्यालयों पर सीमित संख्या में अधिकारियों की मौजूदगी में ध्वजारोहण होगा और परेड की सलामी ली जाएगी। अन्य कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किये जाएंगे। राज्य-स्तर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रात: 9 बजे के पूर्व शहीद स्मारक में पुष्प अर्पित करेंगे। उसके बाद मुख्यमंत्री प्रात: 9 बजे मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में ध्वजारोहण करेंगे एवं प्रदेश की जनता को संबोधित करेंगे। उनके संबोधन का प्रदेश के सभी जिलों में लाइव प्रसारण होगा। मुख्य कार्यक्रम में प्रदेश के सभी मंत्री उपस्थित रहेंगे।   जिला-स्तर पर कलेक्टर कार्यालय में कलेक्टर द्वारा ध्वजारोहण किया जायेगा। सलामी के बाद राष्ट्रगान का गायन होगा। कलेक्टर कार्यालयों में मुख्यमंत्री का संबोधन सुनने के इंतजाम किये जाएंगे। इसके अलावा जिला पंचायत एवं जनपद कार्यालयों में अध्यक्ष, प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जायेगा तथा कार्यक्रम में राष्ट्रीय गान गाया जायेगा।  इसी प्रकार, नगर निगम और पंचायतों में सीमित संख्या में लोगों की उपस्थिति में ध्वजारोहण किया जाएगा। सभी कार्यालयों में ध्वजारोहण और राष्ट्रगान का कार्यक्रम प्रात: 8.45 बजे तक अनिवार्य रूप से पूर्ण किया जाएगा, ताकि ताकि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश की जनता के नाम संबोधन को सुना और देखा जा सके।

Kolar News

Kolar News 13 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। यहां शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। गुरुवार को यहां कोरोना के 90 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 8137 हो गई है। वहीं, भोपाल में अब तक कोरोना से 232 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, राजधानी में गुरुवार सुबह 1800 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें कोरोना के 90 नये मामले सामने आए हैं। सभी नये मरीजों को कोविड केयर सेन्टर में भर्ती कर उपचार शुरू कर दिया गया है। अब जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 8137 हो गई है, जबकि यहां अब तक कोरोना से 232 लोगों की मौत हुई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि भोपाल में अब तक 6150 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं।    बता दें कि भोपाल में पिछले करीब एक महीने से सौ से दो सौ के बीच मरीज मिल रहे थे, लेकिन अब दो दिन से यह संख्या सौ से नीचे पहुंच गई है। बुधवार को यहां 86 नये संक्रमित मिले थे। यह संख्या 28 दिन बाद सौ से नीचे पहुंची थी। लगातार दूसरे दिन भी संख्या सौ से कम है। गुरुवार को यहां 90 नये मामले सामने आए हैं। 

Kolar News

Kolar News 13 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश का आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां लगातार डेढ़ से अधिक कोरोना के नये मिल रहे है, जिससे यहां रिकवरी रेट घटता जा रहा और संक्रमित मरीजों की संख्या के साथ ही सक्रिय मरीज भी तेजी से बढ़ रहे हैं। अब यहां फिर कोरोना के 169 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या नौ हजार के पार पहुंच गई है। वहीं सक्रिय मरीज भी ढाई हजार से अधिक हो गए हैं।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 2658 सैंपलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 169 नये संक्रमित मिले हैं, जबकि 2449 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 9069 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से एक मौत की भी पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 337 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि अब तक इंदौर में 6076 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2656 है। इनमें से दो हजार से अधिक लोगों का अस्पतालों में उपचार जारी है, जबकि पांच सौ लोग घरेलू एकांतवास में उपचार करा रहे हैं।   बता दें कि इंदौर में पिछले 15 दिनों से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। यहां एक सप्ताह में एक हजार नये संक्रमित मिले हैं। शहर में पिछले एक सप्ताह से लगातार नए मरीजों की संख्या 150 के ऊपर रही है। इससे यहां रिकवरी रेट लगातार घट रहा है और पाजिटिव दर में इजाफा हो रहा है। 

Kolar News

Kolar News 12 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में मानसून फिलहाल मेहरबान है। बुधवार को दिनभर आसमान में बादल छाये रहे और रुक-रुककर रिमझिम बारिश भी हुई, लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर-पश्चिम मप्र पर बना कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ गया है। साथ ही उत्तर-पूर्व राजस्थान की तरफ खिसक गया है, लेकिन प्रदेश में सक्रिय दो सिस्टम के कारण तीन दिन तक अच्छी बरसात के आसार हैं।   मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक राजस्थान पर पहुंचे सिस्टम से नमी मिल रही है। मानसून ट्रफ ग्वालियर, सीधी से होकर गुजर रही है। उत्तरप्रदेश से उत्तरी मप्र से होकर एक द्रोणिका (ट्रफ) छत्तीसगढ़ तक बना हुआ है। इसके अतिरिक्त दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी हवाएं तेज रफ्तार से चल रही हैं। इस वजह से बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से बड़े पैमाने पर नमी आने का सिलसिला जारी है। इस वजह से अभी तीन दिन तक प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर अच्छी बरसात का सिलसिला बना रहने की संभावना है।   गुरुवार को बनेगा एक और सिस्टम वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बुधवार को जानकारी देते हुए बताया कि 13 अगस्त को बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। इसके अलावा 16 अगस्त के आस-पास भी एक और शक्तिशाली कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिले हैं। इस वजह से अगस्त माह में पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश होने की उम्मीद बढ़ गई है। गुरुवार, 13 अगस्त को बंगाल की खाड़ी में नया निम्न दाब का क्षेत्र विकसित हो रहा है। इस सिस्टम का मार्ग उत्तर की ओर से है। मानसून ट्रफ लाइन भी ग्वालियर-चंबल संभाग में बारिश के लिए सहायक बनी हुई है। इससे 13 से फिर से भारी बारिश के आसार बनेंगे। बंगाल की खाड़ी में मजबूत निम्न दाब के क्षेत्र विकसित नहीं हो रहे हैं। वे आधे रास्ते में कमजोर पड़ रहे हैं। हालांकि यह मानसून ट्रफ लाइन के साथ मर्ज होकर बारिश कराएंगे। ग्वालियर में 15 अगस्त तक मध्यम से भारी बारिश का दौर जारी रहेगा।

Kolar News

Kolar News 12 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में बुधवार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्साह के साथ मनाई जा रही है। सुबह से ही लोग पूजा-पाठ में जुटे हुए हैं, लेकिन कोरोना के चलते मंदिर सूने पड़े हुए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते लोग कृष्ण जन्मोत्सव अपने-अपने घरों में मना रहे हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है, जब मंदिरों में लोगों की भीड़ नहीं उमड़ी। वहीं, रात में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव भी मंदिरों में सीमित संख्या में लोगों की उपस्थिति में मनाया जाएगा। अधिकांश मंदिरों में कृष्ण जन्मोत्सव का सोशल मीडिया पर लाइव प्रसारण होगा और श्रद्धालु घर पर ही रहकर भगवान के ऑनलाइन दर्शन करेंगे।   राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के सभी बड़े शहरों में जन्माष्टमी की पूर्व संध्या पर बाजारों में भीड़ दिखाई दी। लोगों ने भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमाएं, मोरपंख व बांसुरी, मुकुट, वस्त्रों व पूजन सामग्री की खरीदी की। वहीं, बुधवार को सुबह अपने-अपने घरों में लोगों ने शासन की गाइडलाइन के नियमों का पालन करते हुए भगवान का पूजन-अर्चन किया। श्रद्धालुओं ने इस कोरोना के चलते मंदिरों से दूरी बनाई, जिसके चलते मंदिर सूने पड़े रहे। केवल पुजारियों और मंदिर के कर्मचारियों ने ही सुबह भगवान की पूजा-आरती की। वहीं, रात में भी मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव सामाजिक दूरी का पालन करते हुए मनाया जाएगा। सीमित संख्या में पुजारी व पंडित ही भगवान का अभिषेक और पूजन करेंगे। रात 12 बजे जन्मोत्सव आरती होगी। इसके साथ जयकारों व बधाई गीत गूंजने लगेंगे और माखन-मिश्री व पंजीरी का प्रसाद वितरित किया जाएगा।

Kolar News

Kolar News 12 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। यहां अब पांच जिलों में कोरोना के 324 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 40 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 1018 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राज्य में अब तक 29,674 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 9300 के करीब हैं। यहां रिकवरी रेट 72 फीसदी के करीब है।   इंदौर सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने मंगलवार को बताया कि एमजीएमजी मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात जारी 2859 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 176 नये पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इंदौर में तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 8900 और मृतकों की संख्या 336 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार राजधानी में मंगलवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 107 नये संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा देवास में 19, शहडोल में 13 और उज्जैन में 12 नये मामले सामने आए हैं।   इन 324 नये मामलों के साथ राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 40,215 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 8900, भोपाल 7877, ग्वालियर, 2975, मुरैना 1807, जबलपुर 1885, उज्जैन 1341, खरगौन 934, नीमच 846, सागर 788, बड़वानी 902, खंडवा 712, बुरहानपुर 498, भिण्ड 507, देवास 502, रतलाम 556, मंदसौर 508, धार 503, छतरपुर 399, रायसेन 422, रीवा 435, टीकमगढ़ 339, राजगढ़ 426, विदिशा 403, शाजापुर 313, शिवपुरी 379, सीहोर 376, श्योपुर 290, बैतूल 303, दतिया 302, होशंगाबाद 297, हरदा 229, दमोह 340, सतना 267, छिंदवाड़ा 233, अलीराजपुर 212, नरसिंहपुर 240, कटनी 248, झाबुआ 217, बालाघाट 166, पन्ना 149, सिंगरौली 188, आगरमालवा 106, अशोकनगर, 119, सीधी 135, शहडोल 134, गुना 100, अनूपपुर 85, निवाड़ी 66, उमरिया 56, सिवनी 72, डिंडौरी 58 और मंडला 73 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर में हुई तीन मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1018 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 336, भोपाल 220, उज्जैन 75, बुरहानपुर 25, खंडवा 20, जबलपुर 34, खरगौन 18, ग्वालियर 17, धार 10, मंदसौर 11, नीमच 09, सागर 37, देवास 13, रायसेन 09, होशंगाबाद 09, सतना 12, आगरमालवा 04, झाबुआ 04, अशोकनगर 03, शाजापुर 06, दतिया 04, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 13, उमरिया 02, रतलाम 14, बड़वानी 09. मुरैना 11, राजगढ़ 11, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 09, रीवा 08, गुना 04, हरदा 06, कटनी 06, सीधी 01, शिवपुरी 03, अलीराजपुर 02, भिंड 02, बैतूल 05, नरसिंहपुर 02, सिवनी 02, सिंगरौली 04, छतरपुर 09, विदिशा 06, दमोह 05 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 11 August 2020

भोपाल। लंबे समय से झमाझम बारिश का इंतजार कर रहे राजधानी के लोगों का इंतजार आखिरकार समाप्त हो गया। मंगलवार तडक़े सुबह से भोपाल में रिमझिम बारिश शुरू हो गई जो कि दिन बढऩे के साथ ही तेज होती गई। झमाझम बारिश से पूरा शहर तरबतर हो गया और मौसम में ठंडक घुलने से माहौल खुशनुमा हो गया। वहीं मौसम विभाग ने मंगलवार को मध्य प्रदेश के 18 जिलों जबलपुर, नरसिंहपुर, मंदसौर, नीमच, गुना, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, दमोह, सागर, छतरपुर, रायसेन, सीहोर, राजगढ, होशंगाबाद, आगर, अशोकनगर और टीकमगढ़ में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।   विभाग की माने तो मध्यप्रदेश में अगले 48 घंटे तक कहीं-कहीं लगातार और कहीं-कहीं रुक-रुककर तेज बारिश होगी। उत्तर पूर्व से उत्तर पश्चिम में लो प्रेशर एरिया बनने से यह स्थित बनी है। ऐसे में पश्चिम मध्यप्रदेश में अधिक बारिश होगी। इंदौर से लेकर भोपाल और ग्वालियर तक पानी गिरेगा। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि बंगाल की खाड़ी पर बना कम दबाव का क्षेत्र आगे बढक़र ओडिशा के उत्तरी इलाके में सक्रिय हो गया है। इसके अतिरिक्त मानसून द्रोणिका (ट्रफ) भी पूर्वी मध्य प्रदेश के नजदीक से होकर गुजर रही है। इस वजह से प्रदेश में बारिश होने का सिलसिला शुरू हो गया है। दक्षिण-पूर्वी उप्र पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। दक्षिण-पूर्वी राजस्थान से उत्तरी मप्र से होकर ओडिशा पर बने कम दबाव के क्षेत्र तक भी एक ट्रफ बना हुआ है। इस वजह से प्रदेश में अच्छी बरसात होने की संभावना बढ़ गई है। इसके अलावा 13 अगस्त के आसपास बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिले हैं। इससे बारिश का सिलसिला आगे भी बना रहने की उम्मीद की जा रही है।

Kolar News

Kolar News 11 August 2020

भोपाल/ग्वालियर। नंद के लाल भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मंदिरों में 12 अगस्त को रात 12 बजे मनाया जाएगा, जिसकी तैयारियां मंदिरों में शुरू हो गई हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते भक्तों का प्रवेश प्रतिबंध रहेगा। कान्हा के लिए बाजार भी सजकर तैयार हो गए हैं और कई तरह की पोशाकें, मोर पंख, बांसुरी बिक रही हैं, लेकिन बाजारों से ग्राहक नदारद हैं, जिससे दुकानदारों में मायूसी छाई हुई है।   राजधानी भोपाल समेत प्रदेशभर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव बुधवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। कोरोना के चलते राज्य शासन द्वारा दिशा-निर्देश दिये गये हैं कि मंदिरों में आयोजित कार्यक्रमों में पांच लोगों से अधिक शामिल नहीं होंगे और सभी अपने-अपने घरों में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए यह पर्व मनाएं। इसी को देखते हुए श्रद्धालु कान्हा का जन्मोत्सव मनाने की तैयारियों में जुटे हैं। राजधानी भोपाल समेत प्रदेशभर में बुधवार सुबह से ही तेज बारिश हो रही है, जिसके चलते लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। इधर बाजार भी कृष्ण जन्मोत्सव के चलते सजे हुए हैं, लेकिन दुकानों तक ग्राहक नहीं पहुंच पा रहे हैं।   जन्माष्टमी पर हर वर्ष पोशाकों की सबसे ज्यादा बिक्री होती है तो वहीं कान्हा के लिए पालना, बांसुरी, मुकुट की मांग रहती है और इसके लिए व्यापारी पहले से ही खरीदारी कर दुकान सजाकर बैठ रहे हैं, लेकिन कोरोना के चलते शहरभर में होने वाले आयोजनों पर पाबंदी लगी हुई है और स्कूलों में ताले लटके हैं, जिससे प्रतियोगिताएं आयोजित नहीं होंगी। संक्रमण के दौरान लॉकडाउन रहने के कारण भी शहरवासी आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं इसलिए कान्हा का जन्मदिन सादगीपूर्ण तरीके से मनाने की तैयारी कर रहे हैं।   जन्माष्टमी पर्व की पूर्व संध्या पर पर सजा भगवान लक्ष्मीनारायण का फूल बंगला   वहीं, ग्वालियर के जनकगंज स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर पर जन्माष्टमी पर्व की पूर्व संध्या पर  लक्ष्मीनारायण भगवान का फूलों से श्रंगार का फूल बंगला सजाया गया। साथ ही भगवान को मोगरे के फूलों से बने विशेष वस्त्रों से श्रंगार किया गया।    मंदिर के पुजारी संजय लभाटे ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी जन्माष्टमी पर्व बडे धूमधाम से मनाया जाएगा, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सीमित संख्या में प्रवेश दिया जाएगा। श्रद्धालु भगवान के प्राकटोत्सव के दर्शन लक्ष्मीनारायण मंदिर के फेसबुक पेज पर जाकर कर सकेंगे। 

Kolar News

Kolar News 11 August 2020

इंदौर/भोपाल। परिवहन विभाग की चौकियों पर भ्रष्टाचार, प्रदेश में डीजल पर लग रहे सबसे ज्यादा वैट समेत अन्य मांगों को लेकर ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल सोमवार सुबह से शुरू हो गई। इसके साथ ही मप्र के सात लाख ट्रक और अन्य वाणिज्यिक माल परिवहन वाहनों के पहिए सोमवार से अगले तीन दिनों के लिए थम गए। ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने अन्य प्रदेशों से आने वाले वाहनों को भी प्रदेश में नहीं आने देने की बात कही है।    ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस वेस्ट जोन के उपाध्यक्ष विजय कालरा ने कहा कि मप्र में रजिस्टर्ड सात लाख ट्रक व अन्य वाणिज्यिक वाहन तीन दिन तक नहीं चलेंगे। साथ ही मप्र से हर दिन गुजरने वाले 33 हजार वाहन भी  नहीं गुजरेंगे। इंदौर ट्रक ऑपरेटर और ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन अध्यक्ष सीएल मुकाती ने कहा कि हम अपनी चार सूत्रीय मांगों को लेकर परिवहन मंत्री से मिले थे लेकिन उनका रवैया सकारात्मक नहीं लगा। इसी कारण हमने मध्यप्रदेश में 10 से 12 अगस्त तक परिवहन व्यवस्था को पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया है। हमारी मांग है कि कोरोनाकाल का परिवहन और गुड्स टैक्स माफ किया जाए। पिछले एक साल में जो वैट वृद्धि और अन्य टैक्स बढ़ाए हैं, उन्हें वापस लिया जाए। ड्राइवरों को कोरोना योद्धा मानते हुए उन्हें बीमा की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। मप्र के चेक पोस्ट पर अवैध वसूली बंद की जाए।   प्रतिदिन 450 करोड़ के नुकसान का दावा ट्रासपोर्टर्स की इस हड़ताल का असर प्रदेश की जनता पर पड़ेगा। अभी व्यापार 25 से 30 फीसदी ही चल रहा है। 70 से 75 फीसदी व्यापार तो बंद ही है। ऐसे में अनुमान है कि हड़ताल के दिनों में सरकार को प्रतिदिन 450 करोड़ के राजस्व का नुकसान होगा। यदि 100 फीसदी व्यापार शुरू होता तो सरकार को 2000 करोड़ का नुकसान प्रतिदिन होता। बंद को ड्राइवर, ट्रांसपोर्टर, डीजल-पेट्रोल के टैंकर, बस और टैक्सी एसोसिएशन के साथ ही अहिल्या चैंबर ऑफ कॉमर्स ने भी एक दिन का समर्थन दिया है।   मांगें नहीं मानी तो तीन दिन बाद देशव्यापी चक्काजामट्रासपोर्ट एसोसिएशन का कहना है कि यह सांकेतिक हड़ताल अभी तीन दिन की है और केवल प्रदेशव्यापी है। यदि हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो फिर देशव्यापी चक्काजाम किया जाएगा। हड़ताल के दौरान वाहनों को कतार से सीमाओं पर खड़ा करेंगे। 11 अगस्त को चौकियों पर दोपहर दो बजे विरोध में हॉर्न बजाएंगे।

Kolar News

Kolar News 10 August 2020

उज्जैन। उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकाल की श्रावण-भादौ मास में निकलने वाली सवारियों के क्रम में छठवीं सवारी सोमवार को शाम धूमधाम से निकलेगी। बाबा महाकाल नगर भ्रमण कर भक्तों को दर्शन देंगे। सवारी महाकाल मन्दिर से परिवर्तित मार्ग से निकाली जायेगी। वहीं, सोमवार से प्रदेश के बाहर के श्रद्धालु भी भगवान महाकाल के दर्शन कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें ऑनलाइन बुकिंग करानी होगी।    सोमवार को सुबह भस्मारती के बाद भगवान महाकाल का विशेष श्रृंगार कर पूजन-अर्चन किया गया। इस दौरान सीमित संख्या में श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश दिया गया। महाकाल मंदिर समिति के प्रशासन सुजान सिंह रावत ने बताया कि बाबा महाकाल की सवारी सोमवार शाम को चार बजे परिवर्तित मार्ग से निकाली जाएगी। सवारी महाकाल मन्दिर से बड़ा गणेश मन्दिर होते हुए हरसिद्धि मन्दिर चौराहा पहुंचेगी। यहां से झालरिया मठ और बालमुकुंद आश्रम होते हुए सवारी रामघाट पर पहुंचेगी। रामघाट पर पूजन-अर्चन के पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्धि की पाल होते हुए हरसिद्धि मन्दिर मार्ग, बड़ा गणेश मन्दिर के सामने से होती हुई पुन: महाकालेश्वर मन्दिर पहुंचेगी। सवारी का लाईव प्रसारण विभिन्न चैनलों द्वारा किया जायेगा।    कलेक्टर एवं महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष आशीष सिंह ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वे सवारी देखने के लिये घरों से बाहरन निकलें। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए सभी श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि वे घरों में ही रहकर भगवान महाकाल की सवारी का लाईव दर्शन का लाभ लें।   बता दें कि कोरोना संकट के चलते प्रदेश के बाहर के श्रद्धालुओं का भगवान महाकाल के मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया था, लेकिन अब बाबा महाकाल के दर्शन प्रदेश के बाहर के श्रद्धालु भी कर सकेंगे, लेकिन इसके लिए उन्हें दर्शन पर पहले ऑनलाइन बुकिंग करानी होगी। सोमवार से यह व्यवस्था शुरू हो गई है। दरअसल, रविवार को हुई जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया है। इस दौरान समिति ने महाकालेश्वर मंदिर में प्रदेश के बाहर के श्रद्धालुओं को भी दर्शन अनुमति दी, लेकिन उन्हें दर्शन एप पर ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा।

Kolar News

Kolar News 10 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। अब यहां कोरोना के 208 नये मामले सामने आए हैं। यह एक दिन में अब तक सबसे बड़ा आंकड़ा है। यहां एक दिन में दो सौ से अधिक नये मामले पहली बार सामने आए हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 8724 हो गई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि इंदौर में पिछले 24 घंटे में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है।    इंदौर की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 2498 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 208 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। इन 208 नये मामलों के साथ इंदौर में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 8724 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से अब तक 333 लोगों की मौत हुई है। हालांकि, यहां अब तक 5961 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2430 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 10 August 2020

इंदौर। राज्य शासन के निर्देशों के परिपालन में केन्द्रीय जेल इंदौर में विचाराधीन एवं सजायाप्ता बंदियों से परिजन एवं उनके अभिभाषक ई-मुलाकात कर सकेंगे। इसके तहत परिजन एवं अभिभाषक स्मार्ट फोन/डेस्कटॉप/टेबलेट आदि से बातचीत कर सकेंगे। इसके लिए ई-आवेदन प्रस्तुत करना होगा। केन्द्रीय जेल अधीक्षक राकेश कुमार भांगरे ने रविवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि जेलों पर जिन बंदियों को इनकमिंग दूरभाष की पात्रता है, उन समस्त बंदियों को ई-मुलाकात की पात्रता होगी। ई-मुलाकात की अवधि 10 मिनिट की होगी। यह सुविधा पात्र बंदियों को माह में एक बार होगी। जो आवेदन मान्य किये जाएंगे उन आवेदकों को ई-मुलाकात की दिनांक एवं समय प्रदान किया जाएगा। ई-मुलाकात आवंटित कार्य दिवस में प्रातः 09 बजे से दोपहर 01 बजे तक कराई जाएगी।उन्होंने बताया कि बंदीगणों के परिजन अपने घर से ही स्मार्ट फोन/डेस्कटॉप/टैबलेट के माध्यम से अथवा किसी एमपी नलाईन सेंटर से ई-मुलाकात का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। बंदियों के परिजन एवं अभिभाषकों के लिए ई-मुलाकात करने के लिए आवेदन पत्र प्रस्तुत करने की प्रक्रिया एवं नियम निम्नानुसार है। आवेदकों को पोर्टल eprisons.nic.in गूगल पर सर्च करना होगा। इसके बाद उन्हें न्यू विजिट रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद ई-मुलाकात पर क्लिक कर मुलाकाती और बंदी की जानकारी भरना होगी। इसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। उन्हें मोबाईल/ई-मेल पर ओ.टी.पी. प्राप्त होगा। इसे अगली स्क्रीन पर दर्ज करना होगा। रजिस्ट्रेशन और मुलाकात संबधी जानकारी स्क्रीन पर प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था कोरोना महामारी के संक्रमण के मद्देनजर प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा दिये गये निर्देशों के परिपालन में शुरु की गई है। इस संबंध में जेल मुख्यालय भोपाल से भी आदेश प्राप्त हो गये हैं।

Kolar News

Kolar News 10 August 2020

उज्जैन। भगवान श्री महाकालेश्वर की छठी सवारी सोमवार, 10 अगस्त को शाम 4 बजे महाकाल मन्दिर से परिवर्तित मार्ग से निकाली जायेगी। परिवर्तित मार्ग अनुसार भगवान महाकालेश्वर की सवारी महाकाल मन्दिर से बड़ा गणेश मन्दिर होते हुए हरसिद्धि मन्दिर चौराहा पहुंचेगी। यहां से झालरिया मठ और बालमुकुंद आश्रम होते हुए सवारी रामघाट पर पहुंचेगी। रामघाट पर पूजन-अर्चन के पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्धि की पाल होते हुए हरसिद्धि मन्दिर मार्ग, बड़ा गणेश मन्दिर के सामने से होती हुई पुन: महाकालेश्वर मन्दिर पहुंचेगी। सवारी का लाईव प्रसारण विभिन्न चैनलों द्वारा किया जायेगा।    कलेक्टर एवं अध्यक्ष श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति आशीष सिंह ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वे सवारी देखने के लिये घरों से बाहर न निकलें। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए सभी श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि वे घरों में ही रहकर भगवान महाकाल की सवारी का लाईव दर्शन का लाभ लें। श्री महाकालेश्वर भगवान की श्रावण-भादौ मास में निकलने वाली सवारियों के क्रम में अन्तिम व शाही सवारी सोमवार 17 अगस्त को निकाली जायेगी।

Kolar News

Kolar News 9 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। यहां अब तीन जिलों में कोरोना के 416 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 38 हजार 573 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 982 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, यहां 28,353 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय प्रकरण 8827 हैं।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात जारी 2770 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में कोरोना के 173 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 8516 और मृतकों की संख्या 333 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में रविवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 101 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं, भोपाल में कोरोना से दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके अलावा ग्वालियर में कोरोना के 142 नये मामले सामने आए हैं।   इन 416 नये मामलों के साथ राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 38,157 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 8516, भोपाल 7640, ग्वालियर, 2951, मुरैना 1750, जबलपुर 1765, उज्जैन 1283, खरगौन 900, नीमच 826, सागर 764, बड़वानी 876, खंडवा 698, बुरहानपुर 493, भिण्ड 499, देवास 468, रतलाम 528, मंदसौर 484, धार 489, छतरपुर 388, रायसेन 414, रीवा 427, टीकमगढ़ 331, राजगढ़ 411, विदिशा 380, शाजापुर 308, शिवपुरी 363, सीहोर 347, श्योपुर 261, बैतूल 293, दतिया 250, होशंगाबाद 292, हरदा 226, दमोह 285, सतना 238, छिंदवाड़ा 213, अलीराजपुर 196, नरसिंहपुर 233, कटनी 221, झाबुआ 205, बालाघाट 161, पन्ना 127, सिंगरौली 180, आगरमालवा 101, अशोकनगर, 110, सीधी 125, शहडोल 96, गुना 92, अनूपपुर 83, निवाड़ी 65, उमरिया 47, सिवनी 68, डिंडौरी 56 और मंडला के 50 मरीज शामिल हैं।    वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई पांच मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 982 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 333, भोपाल 213, उज्जैन 75, बुरहानपुर 25, खंडवा 20, जबलपुर 34, खरगौन 18, ग्वालियर 15, धार 10, मंदसौर 11, नीमच 09, सागर 36, देवास 12, रायसेन 09, होशंगाबाद 09, सतना 10, आगरमालवा 04, झाबुआ 04, अशोकनगर 03, शाजापुर 05, दतिया 04, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 13, उमरिया 02, रतलाम 13, बड़वानी 09. मुरैना 09, राजगढ़ 11, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 09, रीवा 08, गुना 04, हरदा 06, कटनी 05, सीधी 01, शिवपुरी 03, अलीराजपुर 01, भिंड 02, बैतूल 03, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01, सिंगरौली 02, छतरपुर 09, विदिशा 03, दमोह 04 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।

Kolar News

Kolar News 9 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां अब कोरोना के 152 नए मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 7691 हो गई है। वहीं, राजधानी में कोरोना से अब तक 211 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल के सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में राजधानी में 152 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 7691 हो गई है। वहीं, कोरोना से भोपाल में तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 211 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि अब तक भोपाल में 5402 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या दो हजार के करीब हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 8 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ( माशिमं ) द्वारा आयोजित हायर सेकंडरी (कक्षा 12वीं बोर्ड) की सर्टिफिकेट परीक्षा में कोरोना संकट के कारण कई छात्र-छात्राएं शामिल नहीं हो पाए थे, उनके लिए मंडल द्वारा विशेष परीक्षा आयोजित की जा रही है। यह परीक्षा 17 अगस्त से शुरू होगी। मंडल द्वारा इस विशेष परीक्षा का संशोधित टाइम टेबल घोषित कर दिया है।   मंडल के अनुसार, कोरोना संक्रमण के चलते परीक्षा केंद्रों पर पर्याप्त सुरक्षा उपाय के तहत विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्रों पर एक घंटे पहले पहुंचाना होना अनिवार्य है। परीक्षा कक्ष में जाने से पूर्व सभी विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। परीक्षाएं 17 अगस्त से 21 अगस्त तक सुबह 11:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक आयोजित होंगी। मंडल द्वारा शुक्रवार को देर शाम विषय वार समय सारणी जारी कर दी है।   परीक्षा कार्यक्रम मंडल की वेबसाइट  www.mpbse.nic.in पर भी उपलब्ध है। ये परीक्षाएं एक पाली में सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक तक होंगी। छात्रों को सुबह 10 बजे तक उपस्थित होना अनिवार्य है। 10.45 बजे के बाद किसी को भी केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

Kolar News

Kolar News 8 August 2020

भोपाल। अगस्त का महीना मानसून को लेकर अच्छी खबर लेकर आया है। जुलाई में सूखे से परेशान मप्र के किसान और आम जन को अगस्त में राहत मिल गई है। यहां अब जोरदार बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र बुधवार को गहरे कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होकर ओडिशा तट पर पहुंच गया है। मानसून द्रोणिका भी ग्वालियर से होकर गुजर रही है। दक्षिणी गुजरात पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त दक्षिणी गुजरात पर बने चक्रवात से बंगाल की खाड़ी तक एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) बनी हुई है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला के मुताबिक इन चार सिस्टम के कारण प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बरसात हो रही है। गुरुवार को पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश होने की संभावना है। शुक्रवार को पश्चिमी मप्र में कहीं-कहीं भारी बरसात हो सकती है। ओडिशा तट पर मौजूद सिस्टम के गुरुवार को छत्तीसगढ़ के आस-पास आने की संभावना है। इसके अलावा दक्षिण गुजरात पर बने सिस्टम की वजह से अरब सागर से काफी नमी मिल रही है। इस वजह से गुरुवार-शुक्रवार को राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में अच्छी बारिश की संभावना है।   इसके अलावा 9 अगस्त को बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिले हैं। उसके आगे बढऩे पर प्रदेश में बारिश का सिलसिला लगातार बना रहने के पूरे आसार हैं। गौरतलब है कि इस वर्ष जुलाई माह में मानसून के रूठ जाने से अपेक्षाकृत कम बरसात हुई। इससे किसान चिंतित हो गए थे,लेकिन अगस्त में मानसून के सक्रिय होने से फसलों को जीवनदान मिल गया है।

Kolar News

Kolar News 6 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर जारी है। यहां बुधवार को 162 नये मामले सामने आए थे, जबकि एक ही दिन में 11 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी। अब यहां फिर 142 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद राजधानी में संक्रमित मरीजों की संख्या 7400 हो गई है। वहीं, भोपाल में कोरोना से अब तक 208 लोगों की मौत हो चुकी है।   भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 142 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 7400 हो गई है। इसमें रामेश्वरम एक्सटेंशन बागमुगालिया से एक ही परिवार के तीन लोग, बागमुगालिया से ही दो अन्य लोग, ईदगाह हिल्स में एक ही परिवार के चार लोग, हमीदिया के डीन ऑफिस में कार्यरत 29 वर्षीय युवा, अवधपुरी संयुक्त विहार में रहने वाले एक सात साल के बच्चे समेत एक ही परिवार के तीन लोग, तुलसी नगर में एक ही परिवार के चार लोग, सिस्टर केयर अस्पताल के आईसीयू में भर्ती एक 42 वर्षीय महिला की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है।   बता दें कि बुधवार को भोपाल में चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया था। यहां एक ही दिन में 11 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी। यह प्रदेश के किसी भी शहर में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा था। इनमें हमीदिया अस्पताल में छह, एम्स और चिरायु में दो-दो था बंसल अस्पताल में एक मरीज की मौत हुई थी। गुरुवार को यहां फिर कोरोना के 142 नये मरीज मिल गए हैं। इन नये मामलों के साथ अब भोपाल में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 7400 हो गई है। वहीं, यहां अब तक 208 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि अब तक भोपाल में 4760 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 2400 के करीब हैं, जिनका उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 6 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहत थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब राजधानी भोपाल में भी कोरोना से एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। शहर के शाहजहांनाबाद थाने में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक 49 वर्षीय अंसार अहमद की चिरायु अस्पताल में उपचार के दौरान बुधवार को मौत हो गई। वे कोरोना संक्रमित होने के बाद 24 जुलाई को चिरायु अस्पताल में भर्ती हुई थे। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) विवेक जौहरी ने इसकी पुष्टि करते हुए स्वर्गीय अंसार अहमद को श्रद्धा-सुमन अर्पित किये हैं।    डीजीपी जौहरी ने बुधवार को ट्वीट किया है कि भोपाल के शाहजहांनाबाद थाने में सहायक उप निरीक्षक अंसार अहमद का कर्तव्यरत रहते हुए कोरोना संक्रमण  के कारण आज दु:खद निधन हो गया है। पुलिस विभाग में इनकी 25 वर्ष की उत्कृष्ट सेवा रही है। मध्य प्रदेश  पुलिस परिवार की ओर से मैं  श्री अंसार अहमद को नमन एवं श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं।    बता दें कि सहायक उपनिरीक्षक अंसार अहमद पुलिस विभाग की 25 साल से सेवा कर रहे थे। परिवार में पत्नी नाज और चार बच्चे हैं। दो बेटे अदनान, अनस और दो बेटियां आफरीन, जैनब हैं। परिवार धर्मेश नगर, अशोका गार्डन में रहता है। मूल रूप से अशोक नगर के रहने वाले हैं। ड्यूटी के बेहद पाबंद अंसार अहमद तीन महीने से घर में अलग कमरे में रहते थे और ड्यूटी से आने के बाद अपने कमरे को रोजाना धोते थे, परिवार और बच्चों से दूर से मिलते। उसी कमरे में खाना खाते और ड्यूटी चले जाते थे। गत 24 जुलाई को कोरोना संक्रमित होने के बाद वे चिरायु अस्पताल में भर्ती हुए थे, जहां बुधवार को उनकी मौत हो गई।   अंसार के बड़े भाई निसार अहमद ने बताया कि अंसार की मौत की खबर सुबह चिरायु अस्पताल के डॉक्टरों से मिली। उन्होंने बताया कि आपके भाई का सुबह 6.30 बजे निधन हो गया है। हम उन्हें बचा नहीं सके। कोरोना संक्रमण की वजह से उनके फेफड़े 95 फीसदी डैमेज हो गए थे। अंसार तीन दिन से वेंटिलेटर पर थे। मेरा भाई ड्यूटी का बेहद पाबंद था, जब भी उसे कहो छुट्टी ले लो तो मना कर देता। कहने लगता- भाई अगर हम ड्यूटी नहीं करेंगे तो फिर आम लोग कैसे सुरक्षित रहेंगे। भोपाल में कोरोना से यह दूसरे पुलिस अधिकारी की मौत हुई है। इससे पहले 18 जुलाई को डीएसपी प्रेम प्रकाश गौतम की भी कोरोना से मौत हो गई थी। बात दें कि इससे पहले इंदौर और उज्जैन में एक-एक पुलिस अधिकारियों की मौत हो चुकी है।

Kolar News

Kolar News 5 August 2020

भोपाल। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सर्विस परीक्षा-2019 का फाइनल रिजल्ट मंगलवार को घोषित कर दिया है। इस परीक्षा में देशभर से 829 उम्मीदवारों का चयन किया गया है, जिनमें 304 उम्मीदवार सामान्य वर्ग, 78 आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग, 251 अन्य पिछड़ा वर्ग, 129 अनुसूचित जाति और 67 अनुसूचित जनजाति वर्ग के हैं। इस परीक्षा में इंदौर के प्रदीप सिंह ने देश में 26वीं रैंक हासिल की और मध्यप्रदेश के टॉपर बने।   दरअसल, संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस (मुख्य) परीक्षा-2019 का आयोजन सितम्बर-2019 में किया था। इसके बाद इसी साल फरवरी से अगस्त के बीच में पर्सनालिटी टेस्ट, इंटरव्यू आयोजित किये गए। यूपीएससी ने मंगलवार को इसका फाइनल रिजल्ट घोषित किया। इसमें इंदौर के प्रदीप सिंह ने 26वीं रैंक प्राप्त की। वे मध्यप्रदेश में पहले स्थान पर रहे। वहीं, मंदसौर जिले के गरोढ नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष राजेश चौधरी के पुत्र अभिनव चौधरी ने भी यूपीएससी की परीक्षा में देश में 238वीं रैंक हासिल की है।

Kolar News

Kolar News 4 August 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। अब यहां कोरोना के 89 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 7735 हो गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 320 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने मंगलवार को बताया कि एमजीएमजी मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 1973 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 89 पॉजिटिव और शेष निगेटिव प्राप्त हुई हैं। इन 89 नये संक्रमितों के साथ अब जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 7735 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 320 हो गई है।   हालांकि, इंदौर में अब तक 5662 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1753 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 4 August 2020

भोपाल। राजधानी भोपाल में मंगवलावर सुबह जोरदार बारिश हुई। सुबह करीब 6.30 बजे से बारिश शुरू हुई। राजधानी में तेज बारिश होने से लोगों को गर्मी से राहत मिली। बीते कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण गर्मी और उमंग बढ़ गई थी। सुबह से हो रही बारिश के कारण लोग मॉर्निंग वॉक पर भी नहीं निकल पाए। बारिश के साथ-साथ तेज हवाएं भी राजधानी भोपाल में चल रही हैं।   इससे पहले मौसम विभाग ने मंगलवार को बारिश का अलर्ट जारी किया था। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक शैलेंद्र नायक के मुताबिक मानसून 4 अगस्त के बाद से तीन चार दिनों तक सक्रिय रहेगा। इस दौरान 12 अगस्त तक मध्य प्रदेश में सामान्य या सामान्य से अधिक वर्षा की संभावना है। एक कम दबाव क्षेत्र 04 अगस्त 2020 तक बंगाल की उत्तरी खाड़ी में बनने की संभावना है। नतीजतन, मानसून गर्त जो वर्तमान में सामान्य स्थिति में है, अगले 3-4 दिनों के दौरान सक्रिय होने की संभावना है। निचले स्तर दक्षिण-पश्चिम / पश्चिमी हवाओं ने अरब सागर के ऊपर बंगाल की खाड़ी और अंडमान सागर के दक्षिणी भागों में मजबूत जुई हुईं है। बंगाल की खाड़ी में मंगलवार को एक कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। मानसून ट्रफ भी अपनी सामान्य स्थित से मध्य भारत के नीचे की तरफ आ गई है। इसके अतिरिक्त एक शियर जोन (पूर्वी-पश्चिमी हवाओं का टकराव) महाराष्ट्र पर बन गया है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक इन तीन सिस्टम के कारण मंगलवार से मध्य प्रदेश में अच्छी बरसात का दौर शुरू होने की संभावना है। बारिश का यह सिलसिला 3-4 दिन तक जारी रह सकता है।   इन जगहों पर जारी किया गया अलर्ट मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों के लिए सागर संभाग के जिलों में, उमरिया, कटनी, जबलपुर, मंडला, बैतूल, हरदा, खंडवा , खरगौन, धार, इंदौर , देवास, दतिया, मुरैना और भिण्ड जिलों में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही भोपाल, होशंगाबाद जगहों में गरज चमक के साथ बौछारे भी पड़ सकती हैं।

Kolar News

Kolar News 4 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां अब दो जिलों में कोरोना के 215 नये मामले सामने आए हैं, जबकि सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 33 हजार 750 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 893 लोगों की मौत हो चुकी है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात जारी 2029 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 91 नये संक्रमित मिले हैं। वहीं, दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमितों की कुल संख्या 7646 और मृतकों की संख्या 317 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में सोमवार को प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 124 नये मामले सामने आए हैं, जबकि पिछले 24 घंटों के दौरान यहां पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राजधानी में संक्रमितों की संख्या 6963 और मृतकों की संख्या 189 हो गई है।   इंदौर-भोपाल में मिले 125 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 33,750 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 7646, भोपाल 6963, ग्वालियर, 2431, मुरैना 1627, जबलपुर 1382, उज्जैन 1208, खरगौन 785, नीमच 757, सागर 686, बड़वानी 756, खंडवा 657, बुरहानपुर 484, भिण्ड 455, देवास 443, रतलाम 447, मंदसौर 429, धार 407, छतरपुर 352, रायसेन 359, रीवा 357, टीकमगढ़ 307, राजगढ़ 343, विदिशा 335, शाजापुर 296, शिवपुरी 315, सीहोर 295,  श्योपुर 247, बैतूल 250, दतिया 229, होशंगाबाद 233, हरदा 208, दमोह 209, सतना 188, छिंदवाड़ा 181, अलीराजपुर 171, नरसिंहपुर 179, कटनी 161, झाबुआ 144, बालाघाट 131, पन्ना 98, सिंगरौली 89, आगरमालवा 91, अशोकनगर, 90, सीधी 87, शहडोल 77, गुना 78, अनूपपुर 72, निवाड़ी 50, उमरिया 45, सिवनी 46, डिंडौरी 48 और मंडला 38 मरीज शामिल हैं।    वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई सात लोगों की मौत के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 893 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 317, भोपाल 189, उज्जैन 74, बुरहानपुर 25, खंडवा 19, जबलपुर 29, खरगौन 17, ग्वालियर 13, धार 10, मंदसौर 11, नीमच 09, सागर 32, देवास 10, रायसेन 07, होशंगाबाद 07, सतना 08, आगरमालवा 03, झाबुआ 03, अशोकनगर 03, शाजापुर 04, दतिया 04, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 10, उमरिया 02, रतलाम 10, बड़वानी 08. मुरैना 09, राजगढ़ 09, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 08, रीवा 03, गुना 04, हरदा 06, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 02, अलीराजपुर 01, भिंड 01, बैतूल 03, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01, सिंगरौली 02, छतरपुर 08, विदिशा 02, दमोह 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, राज्य में अब तक 23,550 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर जा चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज नौ हजार के करीब हैं।

Kolar News

Kolar News 3 August 2020

उज्जैन। मध्यप्रदेश में सोमवार को श्रावण पूर्णिमा पर रक्षाबंधन का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस दौरान परम्परा के अनुसार सबसे पहली राखी उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकाल को बांधी गई। इसके बाद प्रदेश में इस पर्व की शुरुआत हुई। रक्षाबंधन के अवसर पर बाबा महाकाल का विशेष श्रृंगार किया गया और उन्हें लड्डुओं का भोग लगाया। वहीं, शाम को भगवान महाकाल की श्रावण मास की पांचवीं सवारी निकाली जाएगी।   दरअसल, उज्जैन में सभी त्योहार सबसे पहले महाकाल मंदिर में मनाए जाने की परम्परा है। इसी परम्परा का निर्वहन करते हुए सोमवार को तडक़े सबसे पहले भगवान महाकाल का भस्मारती हुई और उसके बाद भगवान का विशेष श्रृंगार किया गया और उन्हें सबसे पहले राखी बांधी गई। इस दौरान मंदिर के शासकीय पुजारियों ने बाबा माहाकाल को 11 हजार लड्डुओं का भोग लगाया। कोरोना के चलते मंदिर में कम लोगों को प्रवेश दिया गया और अधिकांश श्रद्धालुओं ने भगवान महाकाल के ऑनलाइन दर्शन किये।   शाम चार बजे निकलेगी भगवान महाकाल की पांचवीं सवारी   वहीं, भगवान महाकालेश्वर की पांचवी और श्रावण की अंतिम सवारी सोमवार को रक्षाबन्धन के अवसर पर शाम 4 बजे महाकाल मन्दिर से परिवर्तित मार्ग से निकाली जायेगी। इस दौरान भगवान महाकाल पालकी में मनमहेश के रूप में तथा हाथी पर चंद्रमौलेश्वर के रूप में विराजित होकर भ्रमण पर निकलेंगे। इसके बाद 10 अगस्त को भादौ मास की पहली तथा 17 अगस्त को श्रावण-भादौ मास की शाही सवारी निकाली जाएगी।    परिवर्तित मार्ग अनुसार. भगवान महाकालेश्वर की सवारी महाकाल मन्दिर शाम चार बजे शुरू होकर बड़ा गणेश मन्दिर होते हुए हरसिद्धि मन्दिर चौराहा पहुंचेगी। यहां से झालरिया मठ और बालमुकुंद आश्रम होते हुए सवारी रामघाट पर पहुंचेगी। रामघाट पर पूजन-अर्चन के पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्धि की पाल होते हुए हरसिद्धि मन्दिर मार्ग, बड़ा गणेश मन्दिर के सामने से होती हुई पुन: महाकालेश्वर मन्दिर पहुंचेगी। सवारी का लाईव प्रसारण विभिन्न चैनलों द्वारा किया जायेगा।    कलेक्टर एवं  महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष आशीष सिंह ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वे सवारी देखने के लिये घरों से बाहर न निकलें। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए सभी श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि वे घरों में ही रहकर भगवान महाकाल की सवारी का दर्शन लाभ लें।

Kolar News

Kolar News 3 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में जुलाई में हुए शादी समारोह में तमाम प्रतिबंधों के बावजूद 250 लोग शामिल हुए थे और उनमें से अब तक 48 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। यह खुलासा शादी समारोह में शामिल होने वाले लोगों के लगातार संक्रमित मिलने के बाद हुआ है। इसके बाद प्रशासन पर भी सवाल उठने लगे हैं।   दरअसल, मध्यप्रदेश में जुलाई माह में कोरोना के चलते प्रतिबंधात्मक आदेश लागू किये गये थे, जिसके मुताबिक, शादी व अन्य कार्यक्रमों में 20 से अधिक लोगों के शामिल होने पर प्रतिबंध था। इसके बावजूद शहर में जुलाई में हुई लालघाटी क्षेत्र के दो धनाढ्य परिवारों के बेटे-बेटी की शादी में सारे नियमों को तोड़ दिया गया था। शादी एक मंदिर में हुई थी तथा उसका रिसेप्शन एमपी नगर और श्यामला हिल्स स्थित दो अलग अलग होटलों में दिया गया था, जिनमें 250 लोग शामिल हुए थे। बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन को भी इसकी जानकारी थी, लेकिन इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब जब शादी में शामिल होने वाले लोग संक्रमित मिल रहे हैं तो मामला मीडिया को सुर्खियों में छा गया। बताया जा रहा है कि शादी समारोह में शामिल होने वाले 48 लोग अब तक संक्रमित पाये गए हैं। ये सभी लोग लालघाटी क्षेत्र की कालोनियों जैन नगर, ग्रीन वुड्स, आदित्य एवेंन्यू, जानकी नगर, सरस्वती नगर जवाहर चौक आदि के रहने वाले हैं। इन क्षेत्रों को जोखिम क्षेत्र घोषित कर दिया गया है और कलेक्टर अविनाश लवानिया और डीआईजी इरशाद अली ने शुक्रवार को इस क्षेत्र का निरीक्षण कर यहां के लोगों की आवाजाही पूरी तरह बंद कर दी। साथ ही क्षेत्र के सभी लोगों की जांच के आदेश दिये गये हैं। स्वास्थ्य विभाग का अमला इस क्षेत्र में फिलहाल सेम्पलिंग करने में जुटा हुआ है।

Kolar News

Kolar News 1 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में पूरी जुलाई बारिश ने लोगों को तरसा दिया है। अगस्त का महीने शुरु हो चुका है लेकिन बादल दूर-दूर तक नजऱ नहीं आ रहे। ऐसा लग रहा है मानों मौसम रुठ सा गया है। बता दें कि राजधानी में बीते दो दिनों में बारिश तो हुई लेकिन लेकिन महज 0.10 इंच, जो सूखी धरती को ठीक से गीला भी नहीं कर पायी। पूरा प्रदेश गर्मी और उमस से परेशान है।   मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में फिलहाल कोई भी ऐसा सिस्टम नहीं बन रहा है जिससे कि प्रदेश में बारिश हो। वहीं बीते कई दिनों से कम दबाव का क्षेत्र भी नहीं बना है। यही वजह है कि अब तक तेज बारिश होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। अब आने वाले एक-दो दिन में बौछारें पडऩे की संभावना है। तापमान की बात करें तो भोपाल में मौसम का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रहा और हवाओं कि गति 09 किमी प्रति घंटा तथा आद्र्रता 61 प्रतिशत रही। ठीक इसी प्रकार ग्वालियर में आज मौसम का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस और हवाओं कि गति 09 किमी प्रति घंटा तथा आद्र्रता 68 प्रतिशत रही।

Kolar News

Kolar News 1 August 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है। शनिवार को लॉकडाउन का आठवां दिन है और यहां बीते आठ दिन से बाजार पूरी तरह से बंद हैं। सड़कों पर जगह-जगह पुलिस बल तैनात है और बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई भी की जा रही है। इसके बावजूद यहां कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को भोपाल में कोरोना के 166 नये मामले सामने आए थे और सात लोगों की मौत हुई थी। इसके बाद लगातार दूसरे दिन यहां 168 नये मामले सामने आए हैं। भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी में शनिवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 168 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6647 हो गई है। वहीं, भोपाल में अब तक कोरोना से 176 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि अब तक यहां 3963 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2508 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।बता दें कि भोपाल में पिछले 10 दिन से लगातार डेढ़ सौ से अधिक संक्रमित मिल रहे हैं। यहां एक दिन का सर्वाधिक 246 नये मरीज मिलने का रिकॉर्ड है। अधिक संख्या में नये मामले आने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यहां 10 दिन का लॉकडाउन लगाया है जो आगामी तीन अगस्त तक जारी रहेगा। इसके बाद भी यहां संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी नहीं आ रही है।

Kolar News

Kolar News 1 August 2020

ग्वालियर। ग्वालियर शहर  में एक बार फिर से एन्टी माफिया मुहिम शुरू होने वाली है। इसके लिए पुलिस ने जिला प्रशासन के निर्देश पर शहर के टॉप 20 माफिया की लिस्ट बनाकर तैयार कर ली गई है। इसे राज्य शासन को भेजकर कार्यवाही कभी भी शुरू की जा सकाती है। इसकी पुष्टि स्वयं पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने की है।दरअसल, राज्य सरकार ने एन्टी माफिया मुहिम फिर से शुरू करने के निदेश  सभी जिला प्रशासन को दिए हैं। इसके बाद से पुलिस ने एक बार उन माफिया की लिस्ट बनाना शुरू कर दी है, जो जमीन अतिक्रमण, वन और रेत माफिया के रूप में काम कर रहे हैं। इस तरह के टॉप 20 लोगों की लिस्ट बनाने के बाद इनके खिलाफ कार्यवाही शुरू की जाएगी।जिला प्रशासन ने माफिया के खिलाफ पिछले महीनों में कड़ी कार्यवाही की थी, मगर यह कुछ दिन तक चलने के बाद थम गई थी। अब राज्य सरकार एक बार माफिया मुहिम शुरू करने जा रही है, जिसमें अवैध कब्जे वालों, वन भूमि और कब्जे रेत का अवैध कारोबार के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की तैयारी शुरू कर दी है।। पुलिस अधिक्षक अमित सांघी का कहना है कि शासन के निर्देश पर टॉप 20 की लिस्टिंग शुरू कर दी है। जैसे-जैसे शासन से निर्देश मिलेंगे, वैसे-वैसे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Kolar News

Kolar News 31 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 दिन का टोटल लॉकडाउन किया गया है। शुक्रवार को इस लॉकडाउन का सातवां दिन है और आगामी चार अगस्त तक भोपाल पूरी तरह बंद रहेगा, इसके बावजूद यहां लगातार बड़ी संख्या में संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। बीते बुधवार को यहां रिकार्ड 246 नये मामले सामने आने के बाद गुरुवार को भी 218 नये संक्रमित मिले थे। अब यहां फिर कोरोना के 166 नये मामले सामने आए हैं। लगातार अधिक संख्या में संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है और अब यह संख्या 2500 पहुंच गई है।भोपाल सीएमएचओ कार्यालय द्वारा जानकारी दी गई है कि शुक्रवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 166 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद अब राजधानी में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6490 हो गई है। इनमें से अब तक यहां 169 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, भोपाल में अब तक 3900 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में संक्रमित मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। अब यहां सक्रिय प्रकरण 2500 हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 31 July 2020

उज्जैन। कलेक्टर आशीष सिंह ने गुरुवार को किसान उत्पादक संगठनों का गठन और संवर्धन योजना के अंतर्गत जिला स्तरीय निगरानी समिति की बैठक लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कम से कम 10-12 कृषक उत्पादक संगठनों को तैयार किया जाए और कृषि विभाग से जुड़े संबंधित विभाग उन संगठनों को पर्याप्त सुविधा मुहैया करवाए। कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि तराना तहसील के ग्राम ढाबलाहर्दू में इस संबंध में एफपीओ अच्छा कार्य कर रहे हैं। इन्हीं का अनुसरण कर अन्य कृषक उत्पादक संगठन तैयार करें और उनकी मदद की जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि 15 दिन में एक बार कृषक उत्पादक संगठन के साथ बैठक आयोजित की जाये। कृषि विभाग से जुड़े समस्त विभाग जैसे पशुपालन, उद्यानिकी, सहकारिता, मत्स्य विभाग आदि मिलकर कृषक संगठनों को तैयार कर उन्हें समुचित व्यवस्थाएं उपलब्ध कराने का कार्य करें, ताकि कृषक संगठन आर्थिक रूप से मजबूत हो सकें।बैठक में कृषि उप संचालक सीएल केवड़ा ने केन्द्रपोषित योजना के अन्तर्गत किसान उत्पादक संगठनों का गठन और संवर्धन के मार्गदर्शी सिद्धान्तों को पॉवर पाइन्ट प्रजेंटेशन के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत कृषक उत्पादक संगठनों को पर्याप्त बाजार एवं ऋण लिंकेज की सुविधा प्रदान की जायेगी। आर्थिक रूप से कृषक उत्पादक संगठनों को विकसित करने हेतु पर्याप्त सहायता प्रदान करते हुए जिले में कृषक उत्पादक संगठन का निर्माण किया जायेगा। कलेक्टर आशीष सिंह ने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिये कि वे जिले में लगभग 12 संगठन तैयार कर उन्हें समुचित सहायता उपलब्ध करवाया जाना सुनिश्चित करें। बैठक में बताया गया कि कृषि की उत्पादकता में वृद्धि करना और उत्पादन की प्रोसेसिंग पर बेहतर मार्केटिंग कर लाभ प्राप्त करना ही उक्त योजना का मुख्य उद्देश्य है। संगठन के गठन और उनके संवर्धन के लिये रणनीति तैयार कर एफपीओ का गठन किया जायेगा। संगठन तैयार करने के बाद उनकी सक्रियता और आर्थिक रूप से अनुकूल बनाने का कार्य किया जायेगा। सरकार ने योजना के अन्तर्गत कृषक उत्पादक संगठन के निर्माण एवं संवर्धन हेतु बजट का प्रावधान किया गया है। योजना के अन्तर्गत मेंचिंग इक्विटी ग्रांट सपोर्ट का भी प्रावधान किया गया है, जो कि दो हजार रुपये प्रति किसान सदस्य को देना होंगे।बैठक में बताया गया कि योजना के अंतर्गत कृषक उत्पादक संगठन को वित्तीय सहायता अधिकतम 18 लाख रुपये प्रति कृषक उत्पादक संगठन को होगी। नये कृषक उत्पादक संगठनों को उनके बनने की तिथि से पांच वर्ष तक हैंडहोल्डिंग सपोर्ट प्रदान किया जाएगा। नये संगठन को अधिनियम-9ए अथवा राज्य सहकारी समिति अधिनियम के अन्तर्गत पंजीकृत किया जायेगा। संगठन में कम से 300 सदस्य के साथ कृषक उत्पादक संगठन बनाया जायेगा। संगठन को आर्थिक स्थिरता और लाभप्रदता के लिये सक्षम बनाने का प्रयास किया जायेगा। जिला स्तरीय निगरानी समिति में अध्यक्ष कलेक्टर, सदस्य जिला पंचायत सीईओ, कृषि विभाग के उप संचालक, सहकारिता एवं पंजीयक विभाग के उपायुक्त, आत्मा के परियोजना संचालक, मंडी सचिव, जिला अग्रणी बैंक, मत्स्य, जिला कृषि विज्ञान केन्द्र के कार्यक्रम समन्वयक, कृषक उत्पादक संगठन के प्रतिनिधि सदस्य हैं और सदस्य सचिव जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड रहेंगे।

Kolar News

Kolar News 30 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं रहे है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। बुधवार को भोपाल रिकॉर्ड 246 संक्रमित मिले थे। यह एक दिन में अब तक सबसे अधिक संख्या थी। अब यहां फिर 218 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद भोपाल में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6326 हो गई है। वहीं, भोपाल में अब तक कोरोना से 164 लोगों की मौत हो चुकी है।बता दें कि कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए भोपाल में 10 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है। गुरुवार को लॉकडाउन का छठवां दिन है और पूरे शहर में बाजार पूरी तरह बंद हैं। सडक़ों पर जगह-जगह पुलिस बल तैनात किया गया है और बेवजह घूमने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसके बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रही है। भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में राजधानी में 218 नये संक्रमित मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6326 हो गई है। वहीं, भोपाल में अब तक कोरोना से 164 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राहत की खबर यह बतायी गई है कि अब तक भोपाल में 3800 मरीज कोरोना को मात चुके हैं और वे पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन लगातार अधिक संख्या में संक्रमित मरीज मिलने से यहां सक्रिय मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब यहां सक्रिय मरीज 2362 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है। बता दें कि 15 दिन पहले यहां सक्रिय मरीजों की संख्या एक हजार से भी कम थी। इन 15 दिनों में यहां यह संख्या बढक़र दो गुनी से भी अधिक हो गई है।

Kolar News

Kolar News 30 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए जिला प्रशासन ने अब निजी अस्पतालों को भी कोरोना के उपचार की अनुमति प्रदान कर दी है। जिला प्रशासन द्वारा भोपाल में आरकेडीएफ मेडिकल कालेज आस्पताल और बंसल अस्पताल में कोविड 19 के मरीजों के इलाज की अनुमति दी गई है। आईसीएमआर की गाइड लाइन के अनुसार इन दोनों अस्पतालों में अब कोरोना संक्रमित व्यक्ति स्वयं के खर्च पर अपना इलाज करा सकते हैं।कलेक्टर अविनाश लवानिया ने गुरुवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य विभाग की अनुमति पर इन दोनों अस्पतालों में कोविड 19 के मरीजों के इलाज किये जा सकेंगे। आरकेडीएफ मेडिकल कालेज में 225 और बंसल हॉस्पिटल में 50 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व रखे गए हैं। इन दोनों जगहों पर ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और आइसीयू की सुविधा भी उपलब्ध है। दोनों अस्पतालों के संचालकों को गाइडलाइन के अनुसार इलाज करने के निर्देश दिए गए हैं। कोविड 19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए मरीजों का इलाज करेंगे। कोई भी पॉजिटिव मरीज अपने निजी व्यय पर इलाज करा सकता है।

Kolar News

Kolar News 30 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां के तीन जिलों में 422 नये मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 29 हजार 639 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 836 लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार अधिक संख्या में नये मरीज मिलने से प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां सक्रिय मरीज आठ हजार के पार पहुंच गए हैं।इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पूर्णिमा गाडरिया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात जारी की गई 1155 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 74 नये संक्रमित मिले हैं। इनमें प्रदेश सरकार के मंत्री तुलसीराम सिलावट और उनकी पत्नी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। वहीं कोरोना से दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां संक्रमित मरीज 7132 और मृतकों की संख्या 308 हो गई है।   भोपाल सीएमएचओ डॉ प्रभाकर तिवारी के अनुसार, बुधवार को सुबह प्राप्त रिपोर्ट में राजधानी में रिकॉॅर्ड 246 नये पॉजिटिव मिले हैं, जबकि चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके अलावा बड़वानी में पहली बार 102 नये संक्रमित मिले हैं।इन 422 नये मामलों के साथ राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 29,639 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 7132, भोपाल 5919, उज्जैन 1141, मुरैना 1531, ग्वालियर 2088, नीमच 646, जबलपुर 1056, सागर 634, बुरहानपुर 467, खंडवा 592, खरगौन 666, भिण्ड 433, देवास 418, धार 361, रतलाम 377, मंदसौर 391, बड़वानी 536, रायसेन 299, राजगढ़ 238, श्योपुर 224, बैतूल 211, शाजापुर 278, छिंदवाड़ा 127, रीवा 242, टीकमगढ़ 300, छतरपुर 303, विदिशा 276, पन्ना 89, दमोह 156, शिवपुरी 273, अशोकनगर 81, दतिया 205, हरदा 188, सतना 125, होशंगाबाद 159, बालाघाट 110, नरसिंहपुर 145, डिंडौरी 36, अनूपपुर 69, कटनी 121, गुना 65, शहडोल 72, सीहोर 226, झाबुआ 121, सीधी 80, सिंगरौली 84, आगरमालवा 80, सिवनी 40. निवाड़ी 38, उमरिया 40, अलीराजपुर 129 और मंडला 21 मरीज शामिल हैं।वहीं, छह लोगों की मौत के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 836 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 308, भोपाल 164, उज्जैन 73, बुरहानपुर 23, खंडवा 19, जबलपुर 26, खरगौन 17, ग्वालियर 11, धार 10, मंदसौर 11, नीमच 09, सागर 32, देवास 10, रायसेन 07, होशंगाबाद 05, सतना 07, आगरमालवा 03, झाबुआ 03, अशोकनगर 02, शाजापुर 04, दतिया 03, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 07, उमरिया 01, रतलाम 08, बड़वानी 07. मुरैना 09, राजगढ़ 09, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 08, रीवा 03, गुना 04, हरदा 06, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 02, अलीराजपुर 01, भिंड 01, बैतूल 03, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01, सिंगरौली 02, छतरपुर 06, विदिशा 01, दमोह 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। इधर, राज्य में अब तक 20,343 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय प्रकरण 8400 के करीब हैं।

Kolar News

Kolar News 29 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लम्बे समय के बाद बादल बरसे। यहां बुधवार को सुबह से रिमझिम बारिश शुरू हुई और दोपहर तक जारी रही। इससे लोगों की भीषण गर्मी और उमस से राहत मिल गई है। वहीं, मौसम विभाग के अनुसार मानसून ट्रफ लाइन के उत्तरी क्षेत्र और हिमालय की ओर अग्रसर हो रहा है। इसके प्रभाव से फिलहाल हल्की बारिश होती रहेगी। बता दें कि मध्यप्रदेश में जून में मानसून ने तय समय से दस्तक दे दी थी और शुरुआत में झमाझम बारिश हुई, लेकिन जुलाई में मानसून रुठ गया और पूरा महीना ही सूखा निकल गया। हालांकि, कहीं-कहीं छिटपुट बारिश होती रही, लेकिन तेज धूप से गर्मी और उमस ने लोगों को बेहार कर दिया था। लम्बे समय के बाद बुधवार को सुबह आसमान में बादल छाए और रिमझिम बारिश शुरू हो गई, जो कि दोपहर तक जारी रही। इससे फिजां में ठंडक घुल गई और लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली है। अभी भी आसमान में बादल छाए हुए हैं। इधर, मौसम विभाग का कहना है कि ट्रफ लाइन प्रदेश से होकर गुजर रही है। साथ ही बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों ब्रांच में मानसून सिस्टम सक्रिय है। इससे राजधानी भोपाल समेत प्रदेशभर में मध्यम दर्जे की बारिश होती रहेगी। भोपाल मौसम केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक यूके सरवटे ने बताया कि पश्चिमी अरब सागर और दक्षिणी गुजरात के ऊपर चक्रवाती घेरा बना हुआ है। बंगाल की खाड़ी में मानसून सिस्टम कई दिन पूर्व से सक्रिय हो चुका है। इस कारण अगले 24 घंटे हल्की बारिश और और उसके बाद मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना है।

Kolar News

Kolar News 29 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 दिन का लॉकडाउन किया गया है। मंगलवार को इस लॉकडाउन का चौथा दिन है। यहां चार दिनों से बाजार पूरी तरह बंद हैं। चौराहों पर पुलिस बल तैनात है और बेवजह घूमने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसके बावजूद यहां कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को भी यहां 199 नये संक्रमित मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 5872 हो गई है। वहीं, सक्रिय मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ते हुए 2100 के पार पहुंच गई है। भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, राजधानी में मंगलवार को सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना 199 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 5872 हो गई है। वहीं, कोरोना से एक व्यक्ति की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 160 हो गई है। हालांकि, भोपाल में अब तक 3610 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 2102 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है। बता दें कि 15 दिन पहले प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या आठ सौ के आसपास थी, लेकिन इसके बाद लगातार भोपाल में सौ से दो सौ के बीच मरीज मिल रहे हैं, जबकि स्वस्थ होने वालों की संख्या 50-60 के करीब है। इसीलिए यहां सक्रिय मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है और 15 दिन में यह संख्या ढाई गुना से अधिक हो गई है। मंगलवार को मिले नये मरीजों में कोरोना का उपचार कर रहे चिरायु अस्पताल के डायरेक्टर अजय गोयनका के परिवार के तीन सदस्य भी शामिल हैं। इसके अलावा, अरेरा कालोनी के चार, चार इमली से दो, बैंक ऑफ इंडिया कालोनी से एक, पुरुषोत्तम नगर से एक ही परिवार के तीन, कैलाश नगर से चार, फतेह अली कॉम्प्लेक्स के तीन, जेपी नगर के दो, पुलिस कंट्रोल रूम से 1 जवान, अयोध्या नगर थाने से 1 जवान, सूबेदार कालोनी से 5 लोग, सहयाद्रि परिसर से तीन, गांधी मेडिकल कॉलेज से दो, साईं नगर से तीन, बैरागढ़ क्षेत्र से सात, चुना भट्टी से एक ही परिवार के छह सदस्य, इब्राहिम पूरा क्षेत्र से तीन और दुर्गा चौक तलैया से एक ही परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

Kolar News

Kolar News 28 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है। यहां अब कोरोना के 127 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या सात हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 304 लोगों की मौत हो चुकी है। रोजाना बढ़ी संख्या में संक्रमित मिलने से इंदौर में सक्रिय मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है।इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूर्णिमा गाडरिया ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 1445 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की। इनमें 127 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष 1301 रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई हैं। इन 127 नये मामलों के साथ अब जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6985 हो गई है। वहीं, राहत की बात है कि सोमवार को इंदौर में किसी की भी कोरोना से मौत नहीं हुई है जबकि इंदौर में अब तक 4699 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1982 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है। उल्लेखनीय है कि 15 दिन पहले यहां सक्रिय मरीजों की कुल संख्या एक हजार से नीचे थे, जो अब दोगुनी होकर दो हजार के करीब पहुंच गई है।

Kolar News

Kolar News 27 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में फिलहाल बारिश के लिए लोगों को अभी इंतजार करना होगा। वर्तमान में कोई मानसूनी सिस्टम सक्रिय नहीं होने की वजह से 4-5 दिन अच्छी बरसात की संभावना नहीं है। हालांकि वातावरण में मौजूद नमी के कारण तापमान बढऩे पर स्थानीय स्तर पर छिटपुट बौछारें पड़ती रहेंगी। अगले 24 घंटों में मौसम विभाग ने होशंगाबाद, शहडोल, जबलपुर संभागोंं में तथा इंदौर, धार, खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर जिलों मेें वर्षा व गरज चमक के साथ बौछारे गिरने की संभावना जताई है।  वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को मानसून द्रोणिका हिमालय की तराई से वापस खिसककर मध्य प्रदेश में आ गई थी, लेकिन रविवार को वह फिर हिमालय की तराई की तरफ खिसक गई है। प्रदेश और आसपास कोई मानसूनी सिस्टम नहीं है। इस वजह से अभी 4-5 दिन तक अच्छी बरसात के आसार नहीं हैं। हालांकि आंध्र तट पर 31 जुलाई को एक ऊपरी हवा का चक्रवात बनने के संकेत मिले हैं। इस सिस्टम के कम दबाव का क्षेत्र बनकर आगे बढऩे पर अगस्त की शुरुआत में अच्छी बरसात की उम्मीद की जा रही है। वर्तमान में एक द्रोणिका अरब सागर से गुजरात होकर राजस्थान तक जा रही है। इस वजह से प्रदेश में कुछ नमी आ रही है। तापमान में इजाफा होने पर कहीं-कहीं स्थानीय स्तर पर बौछारें पड़ जाती हैं।वहीं पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के उज्जैन संभाग में अधिकांश स्थानों पर, इंदौर संभाग के अनेक स्थानों पर, सागर, होशंगाबाद और ग्वालियर संभागों में कही कही वर्षा हुई तथा शेष संभागों में मौसम मुख्यत: शुष्क रहा।  

Kolar News

Kolar News 27 July 2020

उज्जैन। उज्जैन स्थित विश्व प्रसद्धि ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर का श्रावण के चौथे सोमवार को विशेष श्रृंगार किया। इस दौरान केवल सीमित संख्या में श्रद्धालुओं ने भगवान के दर्शन किये। वहीं, बाबा महाकाल की चौथी सवारी आज (सोमवार) शाम 4 बजे महाकाल मन्दिर से परिवर्तित मार्ग से निकाली जायेगी। कलेक्टर एवं महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष आशीष सिंह ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वे सवारी देखने के लिये घरों से बाहर न निकलें। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए सभी श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि वे घरों में ही रहकर भगवान महाकाल की सवारी का दर्शन लाभ लें।रविवार को पूरा शहर लॉकडाउन रहने के कारण लोग अपने घरों में रहे, लेकिन सोमवार को सुबह बाजार खुलने पर चहल-पहल देखी गई। सुबह भगवान महाकाल के दर्शन करने भी काफी लोग पहुंचे। हालांकि, कोरोना के चलते मंदिर में सीमित श्रद्धालुओं को ही प्रवेश दिया गया। सुबह साढ़े पांच बजे भगवान महाकाल की भस्मारती हुई। इसके बाद भगवान महाकाल का विशेष श्रृंगार किया गया। वहीं, शाम को चार बजे महाकाल मंदिर से भगवान महाकाल की चौथी सवारी निकाली जाएगी। इस दौरान राजाधिराज महाकाल चांदी की पालकी में मनमहेश और हाथी पर चंद्रमौलेश्वर रूप में सवार होकर नगर भ्रमण के लिए निकलेंगे। महाकाल मंदिर समिति के सहायक प्रशासक मूलचंद जूनवाल ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते भीड़ नियंत्रण के लिए सवारी में अन्य मुखारविंद को शामिल नहीं किया जाएगा। इस बार भी महाकाल की सवारी परिवर्तित मार्ग से निकाली जाएगी। परिवर्तित मार्ग अनुसार भगवान महाकालेश्वर की सवारी महाकाल मन्दिर से बड़ा गणेश मन्दिर होते हुए हरसिद्धि मन्दिर चौराहा पहुंचेगी। यहां से झालरिया मठ और बालमुकुंद आश्रम होते हुए सवारी रामघाट पर पहुंचेगी। रामघाट पर पूजन-अर्चन के पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्धि की पाल होते हुए हरसिद्धि मन्दिर मार्ग, बड़ा गणेश मन्दिर के सामने से होती हुई पुन: महाकालेश्वर मन्दिर पहुंचेगी। सवारी का लाईव प्रसारण विभिन्न चैनलों द्वारा किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने दी श्रावण की शुभकामनाएंइधर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को सोशल मीडिया के माध्यम से प्रदेशवासियों को श्रावण की शुभकामनाएं दी हैं।  उन्होंने एक श्योक ट्वीट किया है कि -‘ मंदारपुष्प बहुपुष्प सुपूजिताय तस्मे म काराय नम: शिवाय:॥ श्री नीलकंठाय वृषभद्धजाय तस्मै शि काराय नम: शिवाय:॥’ मुख्यमंत्री ने आगे लिखा है कि ‘मंगलदायी श्रावण मास के चतुर्थ सोमवार की हार्दिक बधाई! देवों के देव महादेव की असीम कृपा से आपका घर धन-धान्य, वैभव, खुशहाली से सदैव भरा रहे, यही प्रार्थना!’

Kolar News

Kolar News 27 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। राजधानी भोपाल में 10 दिन और राज्य से अन्य सभी जिलों में दो दिन का लॉकडाउन करने के बाद भी यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब प्रदेश के दो जिलों में कोरोना के 374 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 26 हजार 584 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 793 लोगों की मौत हो चुकी है। इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात जारी की गई 1587 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 153 नये संक्रमित मिले हैं, जबकि एक व्यक्ति की कोरोना से मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 6709 और मृतकों की संख्या 303 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, शनिवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में राजधानी में कोरोना 221 नये मामले सामने आए हैं, जबकि एक व्यक्ति की मौत हुई है। नये संक्रमितों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ चिरायु अस्पताल के डायरेक्टर अजय गोयनका के चार परिजनों और दो आरएएफ के जवानों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है।इंदौर-भोपाल में आए 374 नये मामलों के साथ राज्य में अब संक्रमितों की कुल संख्या 26,584 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 6709, भोपाल 5330, उज्जैन 1080, मुरैना 1459, ग्वालियर 1921, नीमच 586, जबलपुर 822, सागर 590, बुरहानपुर 453, खंडवा 553, खरगौन 595, भिण्ड 425, देवास 405, धार 338, रतलाम 344, मंदसौर 340, बड़वानी 321, रायसेन 248, राजगढ़ 207, श्योपुर 208, बैतूल 184, शाजापुर 241, छिंदवाड़ा 104, रीवा 184, टीकमगढ़ 275, छतरपुर 210, विदिशा 236, पन्ना 84, दमोह 115, शिवपुरी 258, अशोकनगर 79, दतिया 171, हरदा 160, सतना 101, होशंगाबाद 132, बालाघाट 97, नरसिंहपुर 124, डिंडौरी 32, अनूपपुर 67, कटनी 73, गुना 60, शहडोल 54, सीहोर 127, झाबुआ 115, सीधी 63, सिंगरौली 69, आगरमालवा 68, सिवनी 30. निवाड़ी 28, उमरिया 35, अलीराजपुर 96 और मंडला 20 मरीज शामिल हैं।वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई दो मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 793 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 303, भोपाल 151, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 19, जबलपुर 23, खरगौन 17, ग्वालियर 10, धार 09, मंदसौर 10, नीमच 09, सागर 31, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 05, सतना 07, आगरमालवा 03, झाबुआ 03, अशोकनगर 01, शाजापुर 04, दतिया 02, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 06, उमरिया 01, रतलाम 07, बड़वानी 06. मुरैना 09, राजगढ़ 09, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 07, रीवा 01, गुना 04, हरदा 06, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 02, अलीराजपुर 01, भिंड 01, बैतूल 02, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01, सिंगरौली 01, छतरपुर 02, विदिशा 01, दमोह 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, राज्य में अब तक 17,866 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर जा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 7750 के करीब हैं।

Kolar News

Kolar News 25 July 2020

उज्जैन। उज्जैन में नागपंचमी के अवसर पर विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर में द्वितीय तल पर स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट शुक्रवार मध्यरात्रि को खोले गए और महानिर्वाणी अखाड़े के महंत विनीत गिरी महाराज के सान्निध्य में भगवान नागचंद्रेश्वर की पूजा-अर्चना की गई। पहली बार मंदिर में श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया गया है। लोगों को भगवान नागचंद्रेश्वर के अपने घरों में ही ऑनलाइन दर्शन कराये जा रहे हैं।बता दें कि महाकालेश्वर मंदिर के द्वितीय तल पर श्री नागचन्द्रेश्वर मंदिर के पट साल में एक बार चौबीस घंटे सिर्फ नागपंचमी के दिन ही खुलते हैं। हिंदू धर्म में सदियों से नागों की पूजा करने की परंपरा रही है। हिंदू परंपरा में नागों को भगवान का आभूषण भी माना गया है, लेकिन 300 साल में पहली बार यहां श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। कोरोना के चलते श्रद्धालुओं की सुरक्षा, शासकीय अनुदेशों के अनुपालन, भौतिक दूरी बनाये रखने व अन्य एसओपी को दृष्टिगत रखते हुए आम लोगों को अपने घरों से ही विभिन्न प्रसार मध्यमों लोकल केबल, फेसबुक पेज, मंदिर की वेबसाईट, ट्विटर व विभिन्न चैनलों के माध्यम से भगवान नागचन्द्रेश्वर के दर्शन कराए जा रहे हैं। गौरतलब है कि नागचन्द्रेश्वर मंदिर में 11वीं शताब्दी की एक अद्भुत प्रतिमा स्थापित है, प्रतिमा में फन फैलाए नाग देवता के आसन पर भगवान शिव -पार्वती बैठे हैं। बताया जाता है कि पूरी दुनिया में यह एकमात्र ऐसा मंदिर है, जिसमें विष्णु भगवान की जगह भगवान श्री भोलेनाथ सर्प शय्या पर विराजित हैं। साथ में दोनों के वाहन नंदी एवं सिंह भी विराजित हैं। शिवशंभु के गले और भुजाओं में भुजंग लिपटे हुए हैं। कहते हैं कि यह प्रतिमा नेपाल से यहां लाई गई थी। उज्जैन के अलावा दुनिया में कहीं भी ऐसी प्रतिमा नहीं है। नागपंचमी के अवसर पर मंदिर के पट शुक्रवार की रात्रि 12 बजे पट खुले और इसके बाद विशेष पूजा-अर्चना हुई।नागपंचमी पर्व पर भगवान नागचन्द्रेश्वर की प्रथम पूजा पंचायती महानिर्वाणी अखाडे के महंत विनीत गिरी एवं कलेक्टर व महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति अध्यक्ष आशीष सिंह द्वारा संपन्न कराई और अभिषेख भी किया गया। ज्योतिर्विद पं. आनंदशंकर व्यास ने बताया कि करीब 300 साल पहले सिंधिया राजवंश ने महाकाल मंदिर का जीर्णोद्धार कराया था। इसके बाद से ही मंदिर में उत्सव आदि परंपराओं की शुरुआत मानी जाती है। भगवान महाकाल की विभिन्न सवारी और नागपंचमी पर नागचंद्रेश्वर मंदिर में साल में एक बार भक्तों के प्रवेश की परंपरा भी इन्हीं में से एक है, लेकिन इस बार कोरोना के कारण यहां भक्तों को प्रवेश नहीं दिया गया है।

Kolar News

Kolar News 25 July 2020

उज्जैन। श्रावण मास की शुक्ल पक्ष पंचमी शनिवार, 25 जुलाई को नागपंचमी पर्व मनाया जायेगा। उज्जैन स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मन्दिर के पट 24 जुलाई की रात्रि 12 बजे खोले जायेंगे। श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति की गत बैठक में लिये गये निर्णय अनुसार महाकालेश्वर मन्दिर के तृतीय तल पर स्थित श्री नागचंद्रेश्वर महादेव मन्दिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। मंदिर  परिसर  में  एलईडी  भी   नहीं लगाए  जाएंगे।      उज्जैन कलेक्टर एवं  महाकालेश्वर  मंदिर  प्रबंध  समिति  अध्यक्ष   आशीष  सिंह ने  बताया कि  श्री नागचंद्रेश्वर भगवान के दर्शन के लिये  इंटरनेट पर  दर्शन की व्यवस्था रहेगी। इसके  लिए  www.mahakaleshwar.nic.in  पर जाकर अथवा महाकालेश्वर मन्दिर के फेसबुक पेज पर लाईव दर्शन किये जा सकेंगे। लाईव दर्शन की सुविधा से लोग  घर  बैठे  भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन  कर  सकेंगे। उन्होंने  बताया  कि  परम्परा का निर्वहन करने के लिये श्री नागचंद्रेश्वर भगवान की परम्परागत पूजन-आरती यथावत रहेगी ।

Kolar News

Kolar News 24 July 2020

बैतूल। सावन माह के दूसरे पखवाड़े में जिले में हल्की बारिश का दौर जारी है, लेकिन गुरुवार शाम को बैतूल विकासखंड के सेहरा, अमदर, गोराखार, बघोली, चारबन, सेलगांव सहित दर्जनभर में हुई तूफानी बारिश ने जमकर तबाही मचाई। तेज हवाओं के साथ हुई मूसलाधार बारिश से सैकड़ों एकड़ में खड़ी मक्का एवं सोयाबीन की फसल को जबरदस्त नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है। क्षेत्र के किसानों ने कृषि एवं राजस्व अधिकारियों से तूफानी बारिश से फसलों को हुए नुकसान का सर्वे कर मुआवजा दिलवाने की मांग की है।तेज हवाओं के साथ लगभग डेढ़ घंटे हुई मूसलाधार बारिशजिला मुख्यालय बैतूल सहित आसपास के इलाकों में गुरुवार शाम को अचानक आसमान पर बादल छा गये थे तथा बादलों की गडग़ड़ाहट होने लगी। इस दौरान जिला मुख्यालय पर तो बारिश नहीं हुई, लेकिन बैतूल विकासखंड के सेहरा, अमदर, गोराखार, बघोली, चारबन एवं सेलगांव सहित आसपास के ग्रामों में करीब डेढ़ घंटे तक तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हुई। इन ग्रामों में हुई तूफानी बारिश ने खेतों में लहलहाती फसलों पर कहर बरपाया। तेज हवाओं के साथ हुई मूसलाधार बारिश से मक्का एवं सोयाबीन की फसल खेतों में आड़ी हो गई। जिसके पुन: खड़े होने की उम्मीद कम ही नजर आ रही है।बघोली ग्राम के उन्नत कृषक रमेश गायकवाड़ ने बताया कि तेज हवाओं एवं बारिश से आठ एकड़ में लगी मक्का की फसल आड़ी हो गई है। तेज हवाओं एवं बारिश से बैतूल विकासखंड के पटवारी हल्का नंबर 56, 64 एवं 71 में सैकड़ों एकड़ मक्का एवं सोयाबीन फसल को जबरदस्त नुकसान पहुंचा है। कृषक रमेश के मुताबिक मक्का की फसल के खेत में गिर जाने से अब वह खेत में खड़ी नहीं हो पाएगी। जिससे सेहरा, अमदर, गोराखार, बघोली, चारबन एवं सेलगांव के किसानों को जबरदस्त नुकसान होगा।फसल बीमा को लेकर संशयतूफानी बारिश से सेहरा, अमदर, गोराखार, बघोली, चारबन, सेलगांव सहित दर्जनभर ग्रामों में सैकड़ों एकड़ में खड़ी मक्का, सोयाबीन की फसलें बर्बाद होने से किसानों को करोड़ों के नुकसान का अनुमान है। प्रभावित किसानों की मानें तो जो फसल बर्बाद हुई है उसमें लाखों रुपये की लागत लगा चुके हैं। इधर प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत ऋणी-अऋणी किसानों की फसलों का बीमा नहीं होने से बारिश से बर्बाद हुई फसलों का फसल बीमा नहीं मिलने से भी किसान खासे परेशान नजर आ रहे है। क्योंकि खरीफ सीजन में फसल बीमा करने की प्रक्रिया अभी चल रही है। 31 जुलाई बीमांकन की अंतिम तिथि है। फसल बीमा नहीं होने से बीमा राशि से वंचित हो गये। किसानों को अब मुआवजे की आस है। प्रभावित किसानों ने कलेक्टर से तूफानी बारिश से बर्बाद हुई फसल का तत्काल सर्वे करवाकर मुआवजे का भुगतान करने की मांग की है।सर्वे कर नुकसान का आंकलन करेंगे- डीडीएकृषि उपसंचालक भगत ने बताया कि बैतूल विकासखंड के आधा दर्जन ग्रामों में तेज हवाओं एवं बारिश से फसलों को नुकसान होने की जानकारी एसएडीओ बैतूल से मिली है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को कृषि विभाग की टीम प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेगी। डीडीए के मुताबिक राजस्व एवं कृषि विभाग की संयुक्त टीम द्वारा प्रभावित क्षेत्रों में सर्वे कर नुकसान का आंकलन किया जायेगा। मुआवजा भुगतान की कार्यवाही राजस्व विभाग द्वारा की जायेगी। फसल बीमा के सवाल पर डीडीए का कहना था कि जिन किसानों का फसल बीमा हो गया होगा उन्हें बारिश से फसलों को हुए नुकसान की बीमा राशि का भुगतान बीमा कंपनी करेगी। परंतु जिन किसानों का फसल बीमा नहीं हुआ है उन्हें फसल बीमा की राशि नहीं मिलेगी।

Kolar News

Kolar News 24 July 2020

भोपाल। भोपाल में शुक्रवार रात 8 बजे से दस दिन का लॉकडाउन शुरू हो रहा है। भोपाल कमिश्नर कवींद्र कियावत ने शुक्रवार को संपन्न संभागीय अधिकारियों को बैठक में लॉकडाउन की तैयारियों के संबंध में विस्तार से समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस 10 दिन के लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए सब मिलकर प्रयास करें। लॉकडाउन को सफल बनाकर ही कोरोना की संक्रमण चैन को तोड़ सकेंगे। यह गली- मोहल्लों, कॉलोनियों और बसहटों में प्रभावी रूप से लागू रहेगा। बैठक में एडीजी उपेंद्र जैन और कलेक्टर अविनाश लवानिया भी उपस्थित थे। बैठक में कमिश्नर कियावत ने कहा कि हमें हर हाल में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करना है। सभी विभाग मिलकर इस चुनौती को पूरा करे। इस कार्य में नगर रक्षा समितियों का सहयोग भी लिया जाए। भोपाल दुग्ध संघ और नगर निगम के वाहनों से कोरोना से बचाव का संदेश दिया जाए। नगर निगम जरूरतमंदो को भोजन और संक्रमित क्षेत्र में सैनिटाइजेशन, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जिम्मेदारी देखेगा। लोक निर्माण विभाग संक्रमित क्षेत्र की बैरिकेडिंग करेगा। वन विभाग भी लॉकडाउन के दौरान अपनी चेक पोस्ट पर निरंतर चैकिंग करेगा और आइसोलेटेड क्षेत्रों में भ्रमण कर लोगों की मौजूदगी पर नियंत्रण करेगा। महिला बाल विकास और स्वास्थ्य विभाग द्वारा घर- घर जाकर सर्वे किया जाएगा।  किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण मिले तो तुरंत टेस्ट कराया जाए। कलेक्टर लवानिया ने कहा कि क्षेत्र में अधिक से अधिक सक्रिय और उपस्थित रहकर सभी अधिकारी लॉकडाउन को प्रभावी बनाए। जहां भी लोग इकट्ठे दिखें, उन्हें  रोके- टोके और वापस घर भेजे। बैठक में संभागीय अधिकारियों को निरंतर क्षेत्र में रहकर मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई। बैठक में डीआईजी इरशाद वली, नगर निगम आयुक्त केवीएस चौधरी कोलसानी और सभी विभागों के संभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News 24 July 2020

उज्जैन। उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर की तीसरे तल पर स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट साल में एक बार नागपंचमी पर 24 घंटे के लिए खुलते हैं, लेकिन इस बार नागपंचमी पर श्रद्धालु मंदिर में पहुंचकर भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन नहीं कर पाएंगे। मंदिर प्रशासन ने नागपंचमी पर मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया है। नागपंचमी पर भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन की आनलाइन व्यवस्था की गई है। महाकालेश्वर मंदिर प्रबंधन समिति के प्रशासक एवं अपर कलेक्टर एसएस रावत ने गुरुवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इस साल नागपंचमी पर्व 25 जुलाई को मनाया जायेगा। महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति की गत बैठक में लिये गये निर्णय अनुसार महाकाल मन्दिर के तृतीय तल पर स्थित  नागचंद्रेश्वर महादेव मन्दिर में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। नागचंद्रेश्वर भगवान के दर्शन के लिये ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था रहेगी। परम्परा का निर्वहन करने के लिये नागचंद्रेश्वर भगवान की परम्परागत पूजन-आरती यथावत रहेगी। गौरतलब है कि नागपंचमी पर नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट 24 घंटे के लिए खुलते थे और इस दौरान हर साल लाखों श्रद्धालु भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन करते थे। नागपंचमी के अवसर पर अलसुबह से देर रात यहां दर्शन की व्यवस्था रहती थी, लेकिन कोरोना के चलते इस बार मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा व्यवस्था में परिवर्तन करते हुए मंदिर में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित किया है।

Kolar News

Kolar News 23 July 2020

होशंगाबाद। लोक निर्माण विभाग प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई ने गुरुवार को होशंगाबाद प्रवास के दौरान कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्ताओं की समीक्षा की और शनिवार-रविवार को सम्पूर्ण लॉकडाउन रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण पर प्रभावी रोक हेतु जिले में आ रहे कोरोना संक्रमित मरीजो की शीघ्र कान्टेक्ट ट्रेसिंग कर संपर्क में आए समस्त फस्र्ट कान्टेक्ट की सेम्पलिंग कर उन्हें संस्थागत एकांतवास किया जाए, ताकि प्राथमिक स्तर पर नियंत्रण किया जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना नियंत्रण हेतु जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में अन्य जिलों से आए श्रमिकों एवं यात्रियो की अनिवार्य रूप से स्क्रीनिंग कर आवश्यक कार्यवाही करे। उन्होंने जिले में संचालित सभी 13 फीवर क्लीनिक केन्द्रो को प्रभावी बनाने के निर्देश दिये, फीवर क्लीनिक के माध्यम से एसएआरआई / आईएलआई के मरीजो की अधिक से अधिक टेधस्टग किया जाना सुनिश्चित कराएं। बैठक में विधायकों से कोरोना संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु महत्वपूर्ण सुझाव दिये गये एवं चर्चा की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रत्येक शनिवार एवं रविवार को जिले में पूर्णत: लॉकडाउन रहेगा। आवश्यक गतिविधियों को छोडक़र शेष कारणो हेतु व्यक्तियो का आवागमन रात्रि 8 बजे से प्रात: 5 बजे तक पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।प्रमुख सचिव मंडलोई ने कहा कि जिले में की गई होम क्वारेन्टाइन व्यवस्थाओ की समीक्षा की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि घरेलू एकांतवास किये गये व्यक्तियों के घरो में कोरोना संक्रमण रोकथाम हेतु पर्याप्त स्थान न होने की दशा में उन्हें अनिवार्य रूप से संस्थागत क्वारेनटाइन किया जाए। कन्टेनमेंट जोन में आवागमन पूर्णत: प्रतिबंधित रहे, कंटेनमेंट प्लान का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि जिले में चिन्हित सभी कन्टेनमेंट जोन में आवश्यक वस्तुओ एवं सामग्री की निर्बाध आपूर्ति सुनश्चित की जाए। जोखिम क्षेत्रों में सब्जियाँ, दवाईयाँ, दूध आदि आवश्यक सामग्रियों हेतु विक्रेता को चिन्हित कर समय निर्धारित कर आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। प्रमुख सचिव ने आगामी धार्मिक पर्वो / त्यौहारो पर कोरोना नियंत्रण हेतु की गई व्यवस्थाओ का गंभीरता से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आमजन शासन / प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करें। आदेशो ंका उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध उचित वैधानिक कार्यवाही की जाए।

Kolar News

Kolar News 23 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां बुधवार को रिकार्ड 215 नये संक्रमित मिलने के बाद गुुरुवार को सुबह फिर 190 नये मामले सामने आए हैं। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की देखते हुए बुधवार देर शाम मंत्रालय में हुई कोरोना समीक्षा बैठक में भोपाल में 24 जुलाई को रात आठ बजे से तीन अगस्त को रात आठ बजे तक 10 दिन का लॉकडाउन लगाने के निर्देश दिये। इसके बाद गुरुवार को सुबह से ही दुकानों पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। भोपालवासी 10 दिन के लॉकडाउन की तैयारियों में जुटे गए हैं और जरूरी सामान की खरीदारी करने बाजार में निकल पड़े हैं।भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, भोपाल में बुधवार को 215 नये संक्रमित मिले थे। यह एक दिन में अब तक की सबसे बड़ी संख्या थी। इसके बाद गुरुवार को सुबह प्राप्त रिपोर्ट में फिर 190 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें हिनोतिया आरएएफ कैंपस और आरएफ कैंपस से मिले 3-3 मरीज, सीआरपीएफ से भी 2 जवान और पीएचक्यू में सीआईडी मुख्यालय से एक महिला कर्मी, ईएमई सेंटर से 4, शिवाजी नगर निवासी एक डॉक्टर, इसी इलाके में एक परिवार के पांच सदस्य और नवीन नगर में एक परिवार के 4 सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा कटारा हिल्स, तुलसी नगर, एमपीएससी फाइनेंस, ईदगाह हिल्स, अरेरा कॉलोनी, बरखेड़ा पठानी, रिवेरा टाउन, अशोका गार्डन, समेत कई क्षेत्रों से कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं।इधर, राज्य सरकार ने राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए 24 जुलाई रात आठ बजे से 10 दिन के लिए फिर लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार सुबह ट्वीट कर कहा है कि भोपाल में कोरोना संक्रमण की स्थिति और नागरिकों के हित को देखते हुए 24 जुलाई से 10 दिन का लॉकडाउन करने का फैसला किया गया है। लॉकडाउन के दौरान दवाई, फल, सब्जी और दूध सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने भोपालवासियों से से नियमों के पालन के साथ कोरोना को लेकर सावधानी बरतने का अनुरोध किया।भोपाल में 10 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद गुरुवार सुबह से शॉपिंग मॉल और किराना दुकानों पर जरूरी सामान लेने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। यहां किराना दुकानों और शापिंग मॉल्स में सुबह सात बजे से ही लोगों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं। वहीं, लॉकडाउन की घोषणा से व्यापारी आक्रोषित हैं। इस बार लंबे लॉकडाउन के कारण व्यापारियों को अक्षय तृतीया एवं मांगलिक सीजन की ग्राहकी से हाथ धोना पड़ा था, जिससे उन्हें लाखों का नुकसान हुआ। अब रक्षाबंधन की तैयारियों में जुटे व्यापारियों ने अपनी दुकानों में सामान भर लिया था, लेकिन फिर 10 दिन के लॉकडाउन से यह सीजन भी खाली निकलने वाला है।भोपाल के थोक वस्त्र व्यवसाय संघ के अध्यक्ष कन्हैया इसरानी का कहना है कि इस बार मांगलिक सीजन में बाजार बंद होने से थोक एवं फुटकर व्यापारियों को लाखों रुपये का नुकसान उठाना पड़ा। अब रक्षाबंधन एवं सावन माह में फिर से लॉकडाउन लगाया जा रहा है। इससे छोटे व्यापारी भूखे मरने की कगार पर पहुंच जाएंगे। सरकार को टोटल लॉकडाउन के बचाय कुछ घंटे बाजार खुला रखने की अनुमति देनी चाहिए। वहीं, रेडीमेड व्यापारी ईश्वर संभानी का कहना है कि लम्बे लॉकडाउन के बाद कुछ दिनों से दुकानों पर ग्राहक आने शुरू हुए थे, लेकिन फिर से लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है। इससे रक्षाबंधन पर भी ग्राहकी नहीं हो पाएगी। हम घर का खर्च कैसे चलाएंगे। सरकार को छोटे व्यवसायिकों के बारे में विचार करना चाहिए।

Kolar News

Kolar News 23 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां लगातार एक सप्ताह में सौ से अधिक संक्रमित मिलने के चलते जिला प्रशासन द्वारा शहर के आधे बाजारों को पांच दिन के लिए टोटल लॉकडाउन कर दिया है। इस संबंध में मंगलवार को देर रात आदेश जारी किया और बुधवार से यह टोटल लॉकडाउन शुरू हो गया, जो आगामी 26 जुलाई तक रहेगा। इसके साथ ही रात में कर्फ्यू की अवधि भी बढ़ी दी गई है। अब रात 10 बजे की बजाए बाजार रात आठ बजे के बाद ही शहर में कर्फ्यू शुरू हो जाएगा, जो कि सुबह पांच बजे तक रहेगा।पुराने शहर के बाजारों को बंद करने के लिए एसडीएम जमील खान और बैरसिया क्षेत्र के बाजारों को बंद रखने के आदेश बैरसिया एसडीएम राजीव नंदन श्रीवास्तव ने जारी किये हैं। जारी आदेश के मुताबिक, दंड प्रक्रिया 1973 की धारा 144 (1)  के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए जनमानस की सुरक्षा तथा स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए पुराने शहर में पांच दिन का टोटल लॉकडाउन और अनुभाग बैरसिया के अंतर्गत साप्ताहिक बाजार लगाने को प्रतिबंधित कर दिया है। पुराने भोपाल में लखेरापुरा, जुमेराती, न्यू इतवारा रोड, सराफा, चौक, काजीपुरा, कुम्हारपुरा, खजांची गली, लोहा बाजार, नूर महल रोड, इब्राहिमपुरा, चौक जैन मंदिर, गुर्जर पुरा, सिलावटपुरा, सिंधी मार्केट, लोहा बाजार, आजाद मार्केट, मारवाड़ी रोड समेत आसपास के बाजार पांच दिन के लिए लॉकडाउन कर दिये गये हैं। बुधवार सुबह से बाजार पूरी तरह बंद है और सडक़ों पर सन्नाटा छाया हुआ है। यह लॉकडाउन आगामी 26 जुलाई तक रहेगा। इसी तरह बैरसिया क्षेत्र में गुरुवार को लगने वाला साप्ताहिक बाजार सहित, ग्राम ललरिया का रविवार का साप्ताहिक बाजार , थाना नजीराबाद अंतर्गत ग्राम नजीराबाद (शुक्रवार),  रूनाहा (सोमवार), सूरजपुरा (रविवार), मजीदगढ़ (मंगलवार) तथा थाना गुनगा अंतर्गत ग्राम गुनगा (शुक्रवार), कलारा (बुधवार), धमरा (रविवार), रतुआ रतनपुर (सोमवार) को साप्ताहिक बाजार आगामी आदेश तक बंद किये गए हैं।हालांकि, टोटल लॉकडाउन लगाने से व्यापारियों में आक्रोश भी देखने को मिल रहा है। उनका कहना है कि कोरोना के मरीज पूरे शहर में मिल रहे हैं। ऐसे में आधे बाजारों को बंद करने का क्या औचित्य है। पांच दिन के लॉकडाउन में थोक किराना बाजार भी बंद रहेगा। इससे शहर व आसपास किराना सामान की सप्लाई व्यवस्था गड़बड़ा सकती है। इधर, कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट अविनाश लवानिया ने भोपाल जिले की परिस्थिति को देखते हुए पूर्व में जारी आदेश में आंशिक संशोधन करते हुए दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए संपूर्ण भोपाल जिले की समस्त राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक रात्रि कालीन कफ्र्यू रात्रि 8:00 बजे से रात 5:00 बजे तक पूर्व अनुसार शर्तों के अधीन जारी किया गया है। इससे पूर्व जारी आदेश में रात्रिकालीन कफ्र्यू रात्रि 10:00 से प्रात: 5:00 बजे तक नियत किया गया था।

Kolar News

Kolar News 22 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। यहां अब तीन जिलों में कोरोना के 294 नये मामले सामने आए हैं, जबकि एक व्यक्ति की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 24 हजार 389 हो गई है। प्रदेश में अब तक कोरोना से 757 लोगों की मौत हो चुकी है।एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात जारी की गई 1813 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 114 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6339 हो गई है। इंदौर में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 300 हो गई है। भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि बुधवार को सुबह प्राप्त रिपोर्ट में राजधानी के 154 नये संक्रमितों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा उज्जैन में कोरोना के 27 नये मामले सामने आए हैं। इन 294 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 24,389 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 6339, भोपाल 4665, उज्जैन 1024, मुरैना 1394, ग्वालियर 1755, नीमच 550, जबलपुर 840, सागर 558, बुरहानपुर 450, खंडवा 537, खरगौन 536, भिण्ड 422, देवास 382, धार 311, रतलाम 314, मंदसौर 311, बड़वानी 274, रायसेन 217, राजगढ़ 182, श्योपुर 168, बैतूल 171, शाजापुर 233, छिंदवाड़ा 95, रीवा 152, टीकमगढ़ 244, छतरपुर 133, विदिशा 174, पन्ना 79, दमोह 85, शिवपुरी 247, अशोकनगर 78, दतिया 156, हरदा 153, सतना 75, होशंगाबाद 112, बालाघाट 74, नरसिंहपुर 102, डिंडौरी 32, अनूपपुर 52, कटनी 58, गुना 59, शहडोल 51, सीहोर 113, झाबुआ 86, सीधी 56, सिंगरौली 56, आगरमालवा 58, सिवनी 25. निवाड़ी 25, उमरिया 32, अलीराजपुर 76 और मंडला 18 मरीज शामिल हैं।इंदौर में हुई एक मौत के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 757 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 300, भोपाल 142, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 19, जबलपुर 20, खरगौन 16, ग्वालियर 09, धार 09, मंदसौर 09, नीमच 08, सागर 26, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 05, सतना 03, आगरमालवा 03, झाबुआ 03, अशोकनगर 01, शाजापुर 04, दतिया 02, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 05, उमरिया 01, रतलाम 07, बड़वानी 04 मुरैना 08, राजगढ़ 08, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 07, रीवा 01, गुना 04, हरदा 05, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 02, अलीराजपुर 01, भिंड 01, बैतूल 01, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01, सिंगरौली 01, छतरपुर 01, विदिशा 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि राज्य में अब तक 16,257 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 7376 हैं।

Kolar News

Kolar News 22 July 2020

भोपाल। भोपाल की राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। सोमवार की रात भोपाल में 149 नये मामले सामने आए थे। इसके बाद मंगलवार को सुबह फिर 95 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद राजधानी में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4607 हो गई है। वहीं, यहां अब तक कोरोना से 140 लोगों की मौत हो चुकी है।भोपाल सीएमएचओ कार्यालय द्वारा बताया गया है कि सोमवार को देर रात 914 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई थी, जिसमें 149 नये संक्रमित मरीज मिले थे। वहीं, मंगलवार सुबह फिर 95 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। अब राजधानी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 4607 हो गई है। इनमें से अब तक 140 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, अब तक भोपाल में 3136 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1300 के करीब है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 21 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में मानसून के रूठने से अचानक बारिश का दौर थम गया है। हालांकि, कुछ जिलों में हल्की बारिश हो रही है, लेकिन प्रदेश के 13 जिलों में एक सप्ताह से अधिक समय से लोग पानी बरसने का इंतजार कर रहे हैं और यहां फिलहाल सूखे की स्थिति बनती नजर आ रही है। इन जिलों में सोयाबीन सहित अन्य खरीफ फसलें मुरझाने लगी हैं। इससे किसानों की चिंताएं बढ़ गई हैं। मध्यप्रदेश में इस साल समय से पहले ही मानसून ने दस्तक दे दी थी और जून के महीने में रिकार्ड बारिश हुई, लेकिन सावन का महीना सूखा निकलते जा रहे है। अमूमन बरसात के सीजन में प्रदेश में जुलाई और अगस्त माह में सर्वाधिक वर्षा होती है। इस वर्ष जुलाई का एक पखवाड़ा बीत चुका है, लेकिन अपेक्षाकृत बारिश नहीं हुई है। हालात यह है कि 13 जिलों में संकट के बादल मंडरा रहे हैं। वहां अभी तक सामान्य से कम बरसात हुई है। इससे किसान काफी चिंतित होने लगे हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में कोई प्रभावी सिस्टम नहीं होने से वर्तमान में अच्छी बरसात की उम्मीद कम ही है। मौसम विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने रविवार को बताया कि वर्तमान में मानसून द्रोणिका मुरैना से होकर गुजर रही है। सौराष्ट्र-कच्छ पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस सिस्टम से होकर उत्तरी राजस्थान तक एक द्रोणिका लाइन बनी हुई है। साथ ही मध्य प्रदेश के पास ही पूर्वी-पश्चिमी हवाओं का टकराव भी है। इस वजह से कुछ नमी तो आ रही है, लेकिन लगातार बरसात होने की उम्मीद नहीं है। उन्होंने बताया कि इस बार बरसात के सीजन में अभी तक अरब सागर या बंगाल की खाड़ी में कोई भी कम दबाव का क्षेत्र नहीं बना है। इस वजह से अभी तक लगातार बरसात की स्थिति नहीं बनी है। 24 जुलाई के बाद कम दबावका क्षेत्र बना तो अच्छी वर्षा मौसम विभाग के अनुसार 24 जुलाई के आसपास बंगाल की खाड़ी में एक ऊपरी हवा का चक्रवात बनने के संकेत मिले हैं। यदि चक्रवात कम दबाव के क्षेत्र में सक्रिय होकर आगे बढ़ता है, तो प्रदेश में अच्छी बारिश की उम्मीद की जा सकती है। इन जिलों में कम वर्षाबालाघाट, छतरपुर, दमोह, जबलपुर, कटनी, सागर, टीकमगढ़, आलीराजपुर, भिंड, ग्वालियर, मंदसौर, श्योपुर, शिवपुरी में सामान्य से कम बरसात हुई है। इससे खरीफ की फसल पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। यहां के किसान बारिश की लम्बी खेंच के चलते काफी चिंतित हैं।

Kolar News

Kolar News 19 July 2020

उज्जैन। बाबा महाकाल की इस श्रावण-भादौ मास की तीसरी सवारी सोमवार, 20 जुलाई को पूर्व की दो सवारियों की भांति परिवर्तित मार्ग से निकाली जाएगी। महाकाल मंदिर परिसर से अपरांह 4 बजे सवारी निकलेगी और वर्तमान छोटे मार्ग से होकर रामघाट पहुंचेगी। यहां पूजन,अभिषेक पश्चात सवारी पुन: मंदिर पहुंचेगी। कोरोना महामारी के कारण इस बार भी सवारी मार्ग पर आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।   मध्यप्रदेश से बाहर के श्रद्धालुओं के महाकाल दर्शन पर लगी रोक   महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति ने निर्णय लिया है कि कोरोना महामारी के चलते महाकालेश्वर मंदिर में मध्यप्रदेश के बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को दर्शन नहीं करवाए जाएंगे। वे सीधे ऑनलाइन दर्शन कर लें। जो श्रद्धालु किसी अन्य काम से मध्यप्रदेश में या उज्जैन आते हैं और मंदिर  पहुंचते है तो भी उन्हे दर्शन नहीं करवाए जाएंगे। यह जानकारी प्रशासक सुजानसिंह रावत ने दी।

Kolar News

Kolar News 19 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां लगातार चौथे दिन कोरोना से सौ से अधिक मरीज मिले हैं। अब यहां कोरोना के 129 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या जहां छह हजार के पार पहुंच गई है, तो वहीं सक्रिय मरीजों की संख्या में भी तेजी से इजाफा हुआ है। इंदौर में चार लोगों की मौत के बाद यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या भी 292 हो गई है। इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कालेज द्वारा शनिवार देर रात 1957 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 129 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष 1814 रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। इन 129 नये मामलों के साथ अब इंदौर में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 6035 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब इंदौर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 292 हो गई है। हालांकि, अब तक इंदौर में 4238 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1505 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।उल्लेखनीय है कि इससे पहले गुरुवार को यहां 129, शुक्रवार को 136 और शनिवार को 145 नये संक्रमित मिले थे। अब लगातार चौथे दिन यहां सौ से अधिक नये मरीज मिले हैं। इससे यहां सक्रिय मरीजों की संख्या में भी तेजी से बढ़ी है। एक सप्ताह पहले यहां करीब आठ सौ सक्रिय मरीज थे, जो अब बढक़र 1505 हो गए हैं।

Kolar News

Kolar News 19 July 2020

इंदौर। कोरोना संक्रमण के मददेनजर जिला प्रशासन द्वारा इंदौर जिले के सभी पर्यटन स्थलों पर पर्यटको का जाना पूर्णत: प्रतिबंधित किया है। पर्यटन स्थलों पर घूमते हुये पाये जाने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी मनीष सिंह द्वारा जारी किए गए आदेश का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। साथ ही इंदौर में रविवार के दिन पूर्णत: लॉकडाउन रहेगा।कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी मनीष सिंह ने एसडीएम और जिले के सभी एसडीओपी की जिम्मेदारी तय करते हुये निर्देश दिए है कि इस आदेश का सख्ती से पालन कराया जाए। प्रतिबंध के बावजूद कोई भी पर्यटन स्थल पर घूमने आये तो उनके विरुद्ध 107/116/151 के तहत गिरफ्तारी की जाए। सभी पिकनिक स्पॉट पर पर्यटकों का जाना आगामी आदेश तक प्रतिबंधित रहेगा। आदेश में कहा गया है कि पातालपानी, चोरल, सीतलामाता फाल, जानापाव, कालाकुण्ड, कजलीगढ़, यशवंत सागर तालाब, तिंछाफाल, मानपुर तालाब, सिरपुर तालाब, बिलावली तालाब, पिपलियापाला तालाब, बनेडिय़ा तालाब, गुलावट आदि पर्यटन स्थलों पर प्रतिबंध रहेगा।इसके अलावा इंदौर में प्रत्येक रविवार को पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान अत्यावश्यक सेवाओं में आने वाली गतिविधियों को छूट रहेगी। जारी आदेशानुसार रविवार की प्रात: 5 बजे से 24 घंटे हेतु सम्पूर्ण शहर में लॉकडाउन रहेगा। अर्थात बाजार, कार्यालय, अनाज सब्जी-फल मंडी किराना आदि सभी दुकानें 24 घंटे के लिए बंद रहेंगे। सभी रहवासी घरों में ही रहेंगे तथा मॉर्निंग वाक, वाहनों का सडक़ों पर चलना आदि सभी प्रतिबंधित रहेगा।लॉकडाउन संबंधी आदेशानुसार अत्यावश्यक सेवाएँ जैसे दवाई की दुकान, अस्पताल, दवाई की मैन्युफैक्चररिंग इकाइयां आदि यथावत जारी रहेगी। इन सेवाओं से संबंधित व्यक्तियों को इन संस्थानों में कार्यरत होने का पहचान-पत्र रखना अनिवार्य होगा तथा पुलिस द्वारा जाँच किए जाने पर एवं संतोषजनक नहीं पाए जाने पर इस आदेश के उल्लंघन स्वरूप भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 तथा दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 107, 116, 151 के तहत् पुलिस ऐसे व्यक्तियों को गिरफ्तार कर सकेगी।

Kolar News

Kolar News 17 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। अब यहां दो जिलों भोपाल और इंदौर में 244 नये मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 20 हजार 622 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 695 लोगों की मौत हो चुकी है। दरअसल, प्रदेश में बीते एक सप्ताह से अधिक संक्रमित मिलने से प्रदेश में रिकवरी रेट तेजी से गिर रहा है, जबकि सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ रही है। एक सप्ताह पहले तक प्रदेश का रिकवरी रेट 76.9 फीसदी था, जो अब घटकर 70 फीसदी से नीचे पहुंच गया है। वहीं, सक्रिय मरीजों की संख्या तीन हजार से बढक़र साढ़े पांच हजार के पार हो गई है।इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 2787 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 129 नये संक्रमित मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 5761 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 284 हो गई है। इसी तरह भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के मुताबिक, शुक्रवार सुबह आई रिपोर्ट में कोरोना के 115 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद भोपाल में संक्रमितों की कुल संख्या 4091 और मृतकों की संख्या 129 हो गई है।इंदौर और भोपाल में मिले 244 नये मामलों के साथ राज्य में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 20,622 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 5761, भोपाल 4091, उज्जैन 927, मुरैना 1187, ग्वालियर 1365, नीमच 512, जबलपुर 693, सागर 480, बुरहानपुर 435, खंडवा 473, खरगौन 435, भिण्ड 385, देवास 300, धार 236, रतलाम 248, मंदसौर 247, बड़वानी 222, रायसेन 131, राजगढ़ 153, श्योपुर 131, बैतूल 137, शाजापुर 201, छिंदवाड़ा 84, रीवा 113, टीकमगढ़ 178, छतरपुर 87, विदिशा 120, पन्ना 60, दमोह 70, शिवपुरी 193, अशोकनगर 71, दतिया 112, हरदा 104, सतना 60, होशंगाबाद 68, बालाघाट 57, नरसिंहपुर 43, डिंडौरी 31, अनूपपुर 35, कटनी 43, गुना 48, शहडोल 46, सीहोर 72, झाबुआ 60, सीधी 44, सिंगरौली 39, आगरमालवा 42, सिवनी 22. निवाड़ी 23, उमरिया 30, अलीराजपुर 35 और मंडला 10 मरीज शामिल हैं।वहीं, इंदौर-भोपाल में हुई छह लोगों की मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 695 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 284, भोपाल 129, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 16, खरगौन 15, ग्वालियर 06, धार 08, मंदसौर 09, नीमच 08, सागर 22, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 04, सतना 03, आगरमालवा 02, झाबुआ 02, अशोकनगर 01, शाजापुर 04, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 03, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 05, राजगढ़ 07, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 05, रीवा 01, गुना 02, हरदा 04, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 02, अलीराजपुर 01, भिंड 01, बैतूल 01, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01, सिंगरौली 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, राज्य में अब तक 14,127 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर जा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 5806 हैं।

Kolar News

Kolar News 17 July 2020

ग्वालियर। शहर में बढ़ती कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए शहर में सात दिनों का लॉकडाउन लगाया है। लॉकडाउन के बाद शहर से बाहर जाने के लिए ई-पास व्यवस्था दोबारा शुरू की गई है। ई-पास के लिए बीते पन्द्रह घंटों में जिला प्रशासन ने 25 लोगों को वाट्सअप पर ही आवेदन कर ई-पास जारी किया। फिलहाल प्रशासन द्वारा ऑफलाइन पास ही जारी किए जा रहे हैं।ई-पास प्रभारी डिप्टी कलेक्टर संजीव खेमरिया ने शुक्रवार को हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते शहर में एक बार फिर सात दिन की अवधि के लिए लॉकाडाउन लगाया गया है। लॉकडाउन के दौरान शहर से बाहर आवाजाही भी प्रतिबंधित की गई है। वहीं लॉकडाउन के दौरान ऐसे लोग जिन्हें इलाज व किसी की मृत्यु व अस्थि विसर्जन के लिए जाने वाले लोगों को जिला प्रशासन द्वारा ऑफलाइन ई-पास की सुविधा उपलब्ध कराई है। ई- पास के लिए प्रशासन द्वारा दिए गए वाट्सअप नंबर पर बाहर जाने के लिए संबंधित दस्तावेज संलग्न कर आवेदन करना होगा। आवेदन की जांच के आधे घंटे बाद ई-पास जारी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में ई-पास के आवेदनों की संख्या बढ़ेगी तो ऑनलाइन पोर्टल से पास जारी किए जाएंगे।

Kolar News

Kolar News 17 July 2020

सिवनी। मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के नौकरशाह कोरोना वायरस को लेकर सतर्क हो गये हैं। कार्यालय में आने वाले हर व्यक्ति से पूछताछ करके ही कार्यालय के अंदर प्रवेश दिया जा रहा है तथा इसके लिए स्क्रीनिंग मशीन, सेनेटाइजर के साथ कार्यालय के भृत्य को जिम्मेदारी भी सौंप दी है। वहीं कार्यालय का मुख्य गेट भी लगा दिया है।    जिले में कोरोना पॉजीटिव मरीजों का जब आंकड़ा 21 पर पहुंचा, तब जिले के सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों ने कोरोना को लेकर दहशत महसूस की। इसके बाद निर्देश दिये गए कि कार्यालय के गेट बंद करें और कार्यालय में आने वाले हर व्यक्ति से पूछताछ करें कि वह कहां रहता है। अगर वह नगर के संक्रमित क्षेत्रों से है तो उसे न आने दिया जाए और वह अगर अन्य क्षेत्रों से है तो पहले काम पूछे किस कारण आया है जब आवश्यक हो तब उसे पहले सेनेटाइज किया जाए उसके चेहरे पर मास्क लगा हो तब ही उसे कार्यालय के अंदर प्रवेश करने दिया जाये अन्यथा कार्यालय के बाहर रहने के साथ उसे घर जाने की सलाह दी जाए।   कर्मचारियों के अनुसार जिले के आठ विकासखंडों लखनादौन, घंसौर, छपारा, कहानी, केवलारी, सिवनी, बरघाट, कुरई में से  बरघाट, कुरई और केवलारी अभी बचा हुआ है, बाकी विकासखंडों में कहीं न कहीं संक्रमण आ जरूर गया है। वहीं जिला मुख्यालय सिवनी के हडडी गोदाम क्षेत्र में एक 68 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव की मौत नागपुर में हुई है। उसके संक्रमण से उसका पुत्र व पोता भी संक्रमित हुआ है। इसके बाद अब भैरोंगंज में भी एक 39 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव आ गया है। इसके बाद यहां भी सतर्कता बढ़ा दी गई है।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

ग्वालियर। ग्वालियर में कोरोना संक्रमितों की संख्या में एकदम से जम्प आने के बाद प्रशासन ने ग्वालियर के शहरी क्षेत्र को सात दिनों के लिए टोटल लॉकडाउन कर दिया है। मंगलवार को आदेश जारी किया और बुधवार से यह आदेश शहर में लागू हो गया है। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि बंद यानी ग्वालियर शहर टोटल बंद रहेगा। इसमें कहीं किसी भी तरह की कोई रियायत नहीं दी जाएगी और जो भी इस बंद के आदेश को तोड़ते हुए सडक़ों पर पाया जाएगा, उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। उन्होंने साफ किया कि ग्वालियर शहर में टोटल लॉकडाउन रहेगा। सिर्फ जरूरत का सामान खरीदने के लिए तय अवधि में छूट रहेगी। इसमें दूध-दवा की सेवाएं शामिल हैं। इसके अलावा किसी भी बाजार को खुलने की इजाजत नहीं रहेगी।दरअसल, कुछ दिनों पहले तक ग्वालियर में सब कुछ काबू में था तो बाजार भी धड़ल्ले से खुल रहे थे। लोग तफरीह भी खूब कर रहे थे, लेकिन पिछले दो- तीन दिनों में जिले में जो कोरोना ब्लास्ट हुआ है उसने प्रशासन को सोचने को मजबूर कर दिया है कि तमाम प्रयासों और कोशिशों के बाद आखिर चूक कहां पर हो रही है। पिछले तीन दिनों से ग्वालियर में डेढ़ से अधिक नये मरीज मिल हैं। मंगलवार को यह आंकड़ा 190 पर पहुंच गया था। इसके बाद शाम को शहर को टोटल लॉकडाउन करने का आदेश हुआ और मंगलवार को शाम सात बजे के बाद पूरे शहर को बंद कर दिया।बुधवार को सुबह से शहर के सभी बाजार बंद हैं और सडक़ों पर सन्नाटा छाया हुआ है। कलेक्टर ने बताया कि टोटल लॉकडाउन के दौरान बुधवार से शराब की दुकानों के भी शटर नहीं उठेंगे। शराब की दुकानों को भी मुकम्मल बंद के दायरे रखा गया है और जब तक ग्वालियर में बंद रहेगा, शराब की दुकानें भी बंद रहेंगी।वहीं, पुलिस कप्तान नवनीत भसीन ने कहा कि आदेश के पालन के लिए पुलिस ने सुबह से ही होमवर्क कर लिया है। हर थाना क्षेत्र में छह बजे से पुलिस की मोबाइल घूम रही है। दुकानों को बंद कराया जा रहा है और लोगों से कहा जा रहा है कि वे अपने घरों से न निकलें। पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात की गई है और जो बेवजह घूम रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना की ग्रोथ रेट देश में सबसे कम होने के बाद भी यहां नये मामलों में कमी नहीं आ रही है। मंगलवार को रिकार्ड 798 नये संक्रमित मिलने के बाद फिर यहां चार जिलों में 144 नये मामले सामने आए हैं और पांच लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 19 हजार 149 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 678 लोगों की मौत हो चुकी है।इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात जारी 3158 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 93 नये संक्रमित मिले हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 5496 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से पांच लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 278 हो गई है। इसके अलावा बुधवार सुबह शाजापुर में 31, नीमच में आठ और उज्जैन में 12 लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई हैं।इन 144 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 19,005 से बढक़र 19,149 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 5496, भोपाल 3693, उज्जैन 921, मुरैना 1074, ग्वालियर 1206, नीमच 507, जबलपुर 606, सागर 463, बुरहानपुर 432, खंडवा 429, खरगौन 409, भिण्ड 366, देवास 269, धार 210, रतलाम 233, मंदसौर 211, बड़वानी 204, रायसेन 117, राजगढ़ 148, श्योपुर 114, बैतूल 130, शाजापुर 173, छिंदवाड़ा 79, रीवा 86, टीकमगढ़ 147, छतरपुर 73, विदिशा 105, पन्ना 58, दमोह 68, शिवपुरी 177, अशोकनगर 65, दतिया 74, हरदा 91, सतना 54, होशंगाबाद 59, बालाघाट 55, नरसिंहपुर 41, डिंडौरी 31, अनूपपुर 32, कटनी 43, गुना 34, शहडोल 35, सीहोर 58, झाबुआ 52, सीधी 42, सिंगरौली 37, आगरमालवा 35, सिवनी 22. निवाड़ी 19, उमरिया 27, अलीराजपुर 32 और मंडला 07 मरीज शामिल हैं।वहीं, इंदौर में हुई पांच मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 678 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 278, भोपाल 123, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 16, खरगौन 15, ग्वालियर 05, धार 08, मंदसौर 09, नीमच 08, सागर 22, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 04, सतना 02, आगरमालवा 02, झाबुआ 02, अशोकनगर 01, शाजापुर 04, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 02, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 05, राजगढ़ 07, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 05, रीवा 01, गुना 02, हरदा 04, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 01, अलीराजपुर 01, भिंड 01, बैतूल 01, नरसिंहपुर 01, सिवनी 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, राज्य में अब तक 13,575 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके हैं और स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 4901 हैं।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

मालवा-निमाड़। मध्य प्रदेश में मालवा-निमाड़ क्षेत्र में एक बार फिर तेज बारिश का दौर शुरू हो गया है। बुधवार सुबह से बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन और आसपास के इलाकों में भारी बारिश हो रही है। इससे नदी-नालों में उफान आ गया है। ताप्ती नदी में भी बाढ़ आ गई है। बुरहानपुर में ताप्ती के निलचे घाट और हाथी पत्थर जलमग्न हो गए हैं। बारिश से अंचल में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों के घरों में पानी भर गया है। उधर बहुत दिनों बाद हुई बारिश से किसानों के चेहरे पर रौनक लौट आई है।   बुरहानपुर के नेपानगर, खकनार, धाबा, दोईफोडिय़ा, धूलकोट, असीरगढ़, निंबोला, शाहपुर में तेज बारिश से जगह-जगह जलजमाव हुआ। खेतों में पानी भर गया। बड़वानी के सेंधवा में रिमझिम फहारों का दौर जारी है, वहीं खरगोन में भी तेज बारिश हो रही है। यहां मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी दी थी।   जबलपुर संभाग में भारी बारिश की चेतावनी वहीं शहर में अच्छी बारिश की आस लगाए बैठे लोगों को दो से तीन दिन का और इंतजार करना पड़ सकता है। फिलहाल जबलपुर में बूंदाबांदी और मध्यम वर्षा ही होने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटे में जबलपुर संभाग के जिलों में गरज-चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

Kolar News

Kolar News 15 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में मानसून ने 9 दिन के ब्रेक के बाद फिर से वापसी हो गई है। मौसम विभाग के मुताबिक एक बार फिर मानसून सक्रिय होने से अगले दो से तीन दिन में मध्य प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है। विभाग ने प्रदेश के चार जिलों के लिए अलर्ट भी जारी किया है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक जबलपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी में भारी बारिश के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में उत्तर-पूर्वी मप्र. से मराठवाड़ा तक एक द्रोणिका लाइन(ट्रफ) बनी हुई है। इससे अरब सागर से नमी आ रही है। वही पश्चिम बंगाल के आसपास एक ऊपरी हवा का चक्रवात बन गया है। इसके प्रभाव से प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में तेजी आएगी। विशेषकर उत्तरी मध्य प्रदेश में कहीं-कहीं अच्छी बरसात की भी संभावना है।   मौसम विभाग का कहना है पिछले साल 9 से 19 जुलाई तक बारिश नहीं हुई थी, बीते साल जुलाई के महीने में बारिश में लंबा ब्रेक हुआ था. इस बार भी जुलाई के शुरुआती दो हफ़्तों में ऐसा ही हुआ। मौसम विभाग का कहना है कि अब 3 से 4 दिनों तक लगातार बारिश होने के आसार हैं। मौसम विभाग का कहना है लोकल थंडरस्टॉर्म के कारण बारिश की झड़ी लगी है। इसी कारण राजधानी भोपाल के ज्यादातर हिस्से तरबतर हुए। मौसम विभाग का अनुमान है कि प्रदेश भर में आने वाले 2 से 3 दिनों में तेज बारिश होने के आसार हैं। गरज चमक के साथ भारी बारिश की संभावना है। उसने 4 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट किया जारी है। जबलपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी में भारी बारिश के आसार हैं।

Kolar News

Kolar News 14 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां लगातार संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अब यहां 97 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद भोपाल में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 3789 हो गई है।भोपाल सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना के 97 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 3789 हो गई है, जबकि कोरोना से अब तक भोपाल में 121 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, राहत की बात यह है कि अब तक राजधानी में 2723 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 943 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।बता दें कि भोपाल में बीते एक सप्ताह में संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। इससे पहले शुक्रवार को यहां 86 और शनिवार को 90 नये संक्रमित मिले थे, जबकि रविवार को नये मरीजों का आंकड़ा सौ के पार पहुंच गया था। यहां रविवार को 102 और सोमवार को कोरोना के 83 नये मामले सामने आए थे। मंगलवार को फिर भोपाल में 97 नये मरीज मिले हैं। इस प्रकार बीते पांच दिनों में यहां 458 नये संक्रमित मिल चुके हैं।

Kolar News

Kolar News 14 July 2020

इंदौर/भोपाल। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा सोमवार को 12वीं बोर्ड की परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया। बारहवीं की टॉपर लिस्ट में भोपाल रीजन भी 90.95 फीसदी परिणाम के साथ नौवें नम्बर पर रहा। इंदौर की दिल्ली पब्लिक स्कूल की कामर्स संकाय की छात्रा शुभ्रा ज्योत्सना सिंह 99.2 प्रतिशत अंक हासिल कर शहर की टॉपर बनी हैं। बता दें कि शुभ्रा ज्योत्सना सिंह के पिता तारकेश्वर नाथ सिंह कॉरपोरेट प्रोफेशनल है, जबकि मा डॉ. शारदा सिंह निर्भय सिंह पटेल कॉलेज में गेस्ट फैकल्टी हैं। पिता तारकेश्वर नाथ सिंह के मुताबिक वो जज बनना चाहती है। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी को हमेशा स्कूल में 95 प्रतिशत से ज्यादा अंक आए हैं। वहीं, इंदौर में माणिकबाग स्थित चोइथराम स्कूल की छात्रा रक्षिता जंजीरे (कॉमर्स गणित संकाय) को 97.6 प्रतिशत अंक हासिल किया है। रक्षिता के पिता विनोद सायबर कैफे और एमपी ऑनलाइन का संचालन करते हैं। रक्षिता एमबीए कर मैनेजमेंट फील्ड में अपना करियर बनाना चाहती हैं। इसी स्कूल के चिरायु सूद (विज्ञान-फिजिकल एजुकेशन संकाय) को 97 प्रतिशत अंक मिले हैं। इनके पिता का ऑटोमोबाइल का बिजनेस है। चिरायु इंजीनियरिंग करना चाहते हैं।100 प्रतिशत रहा शहडोल सेंट्रल स्कूल का परिणामवहीं, खबर मिली है कि शहडोल में केंद्रीय विद्यालय के 62 बच्चों में से सभी 62 पास हो गए हैं। यहां का परिणाम शत-प्रतिशत रहा। वहीं, महर्षि स्कूल के 94 विद्यार्थियों में से सभी पास हो गए हैं। इसी स्कूल के शुभम पाठक शहर के टॉपर रहे हैं। उन्होंने 96 फीसदी अंक हासिल किये हैं।

Kolar News

Kolar News 13 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना की ग्रोथ रेट देश में सबसे कम और संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट 76 फीसदी से अधिक होने के बाद भी यहां नये मामलों में कमी नहीं आ रही है। अब राज्य के तीन जिलों में 286 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 17 हजार 918 हो गई है। वहीं, राज्य में अब तक कोरोना से 657 लोगों की मौत हो चुकी है।इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात जारी 1946 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट में 92 नये पॉजिटिव मिले हैं, जबकि चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 5352 और कोरोना से मरने वालों की संख्या 269 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि भोपाल में सोमवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 83 नये संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा ग्वालियर में पहली बार 111 नये पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं।इन तीन जिलों में कुल 286 नये मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 17,918 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 5352, भोपाल 3585, उज्जैन 887, मुरैना 945, ग्वालियर 1117, नीमच 496, जबलपुर 542, सागर 446, बुरहानपुर 428, खंडवा 402, खरगौन 375, भिण्ड 341, देवास 258, धार 196, रतलाम 222, मंदसौर 186, बड़वानी 187, रायसेन 117, राजगढ़ 121, श्योपुर 102, बैतूल 104, शाजापुर 108, छिंदवाड़ा 75, रीवा 85, टीकमगढ़ 112, छतरपुर 69, विदिशा 92, पन्ना 58, दमोह 57, शिवपुरी 148, अशोकनगर 63, दतिया 63, हरदा 76, सतना 49, होशंगाबाद 52, बालाघाट 51, नरसिंहपुर 36, डिंडौरी 31, अनूपपुर 31, कटनी 30, गुना 32, शहडोल 30, सीहोर 47, झाबुआ 45, सीधी 31, सिंगरौली 31, आगरमालवा 27, सिवनी 20. निवाड़ी 12, उमरिया 25, अलीराजपुर 16 और मंडला 07 मरीज शामिल हैं।वहीं, इंदौर में हुई चार लोगों की मौत के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 657 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 269, भोपाल 121, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 14, खरगौन 15, ग्वालियर 03, धार 08, मंदसौर 09, नीमच 08, सागर 22, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 04, सतना 02, आगरमालवा 02, झाबुआ 01, अशोकनगर 01, शाजापुर 03, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 02, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 05, राजगढ़ 07, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 05, रीवा 01, गुना 02, हरदा 04, कटनी 03, सीधी 01, शिवपुरी 01, अलीराजपुर 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, राज्य में अब तक 12,876 मरीज कोरोना से जंग जीतकर अपने घर पहुंच चुके हैं। प्रदेश में अब सक्रिय मरीज 4389 हैं।

Kolar News

Kolar News 13 July 2020

भोपाल। कोरोना संक्रमण काल में लोग जहां अपनी परेशानियों से जूझ रहे हैं, ऐसे समय में आसमान में एक सप्ताह में तीन खगोलीय घटनाएं हो जा रही हैं। अगले सात दिनों में सौर परिवार के दो विशालकाय ग्रहों बृहस्पति, शनि और परित्याग किए गए छुद्रग्रह प्लूटो से पृथ्वी का सामना होने जा रहा है। वहीं, मंगलवार, 14 जुलाई को सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति (जुपिटर) पृथ्वी के ठीक सामने होगा। यानी, इस दिन पृथ्वी बृहस्पति और सूर्य के ठीक बीच में आ जाएगी। यह जानकारी भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड विजेता विज्ञान प्रचारक सारिका घारू ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में दी।उन्होंने बताया कि आगामी सात दिनों में आकाश में तीन खगौलीय घटनाएं होने वाली हैं। इनमें मंगलवार, 14 जुलाई को बृहस्पति पृथ्वी के ठीक सामने आ जाएगा, जबकि 16 जुलाई को छुद्रग्रह प्लूटो और 20 जुलाई को रिंग वाला सेटर्न पृथ्वी की ठीक सीध में होगा। सारिका ने बताया कि पृथ्वी के इन ग्रहों और सूर्य के बीच में आकर एक सीध में आने की खगोलीय घटना अपोजीशन कहलाती है। उन्होंने बताया कि पृथ्वी द्वारा 365 दिन में सूर्य की परिक्रमा करने से साल में सभी बाहरी ग्रह कभी न कभी सीध में आते ही हैं, लेकिन सात दिन के अंदर दो विशालग्रहों एवं एक छुद्रग्रह का सीध में आना दुर्लभ घटना है।विज्ञान प्रसारक सारिका ने बताया कि जुपिटर एट अपोजिशन की घटना मंगलवार को दिन में एक बजकर 16 मिनट पर बृहस्पति, पृथ्वी और सूर्य तीनों एक सीध में होंगे, जिसमें पृथ्वी दोनों के बीच में होगी। इस घटना में शाम को जब पश्चिम में सूर्य अस्त हो रहा होगा तो उसी समय 7 बजकर 43 मिनट पर पूर्व में जुपिटर (बृहस्पति) उदित होता दिखाई देगा। वहीं, मध्यरात्रि में 12 बजकर 28 मिनट पर यह साल में आपके सबसे पास होगा। फिर अगले दिन सुबह 5 बजकर 9 मिनट पर यह दिखना बंद होते हुये अस्त हो जाएगा।उन्होंने बताया कि इसी तरह 16 जुलाई को सौरमंडल से परित्याग किया गया छुद्रग्रह प्लूटो, पृथ्वी और सूर्य सुबह 7 बजकर 47 मिनट पर एक सीध में होंगे। वहीं, एक सप्ताह के अंदर ही 20-21 जुलाई की मध्यरात्रि को 3 बजकर 44 मिनट पर रिंग वाला सबसे अधिक चर्चित ग्रह शनि और पृथ्वी एक सीध में आ जायेगी। सारिका ने बताया कि इतनी कम अवधि में पृथ्वी के इन दो बड़े ग्रहों के सीध में आने की घटना इसके पहले सन 2000 में हुई थी, जब पृथ्वी 19 नवम्बर को सेटर्न एवं 28 नवम्बर को जुपिटर की सीध में आई थी और तब भी यह घटनाएं नौ दिन के अंतर हुई थी।

Kolar News

Kolar News 13 July 2020

मंदसौर। संभावना जताई ता रही है कि प्रदेश की 24 विधानसभा सीटों पर सितम्बर माह में उपचुनाव हो सकते हैं। मंदसौर में भी सुवासरा विधानसभा में उपचुनाव होना है। ऐसे में अब प्रशासनिक तैयारियां प्रारंभ हो चुकी है। शनिवार को सुवासरा विधानसभा की तैयारियों को लेकर ईवीएम को तैयार करने की शुरूआत हुई। नये कलेक्ट्रेट ऑफिस के सामने ईवीएम स्टोर पर ईवीएम रूम प्रभारी अनिल भट्ट द्वारा सभी एवीएम मशीनों को चेक करवाया गया। प्रभारी भट्ट ने बताया कि उपचुनाव को लेकर ईवीएम मशीनों को चेक किया जा रहा है। इसमें ठीेक से नहीं चलने वाली मशीनों को रिप्लेस करवाया जायेगा।

Kolar News

Kolar News 11 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में रविवार को एक दिन का कम्प्लीट लॉकडाउन रहेगा। इस संबंध में जिला मजिस्ट्रेट अविनाश लवानिया द्वारा शनिवार को 144 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमाओं में एक दिन के लिए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिये हैं। जारी आदेश के मुताबिक, रविवार को जिले में सम्पूर्ण लॉक डाउन किया गया है। यह आदेश जुलाई माह के प्रति रविवार को लागू रहेंगे।आदेश में कहा गया है कि तत्काल प्रभाव से रविवार को प्रात: 5:00 बजे से रात्रि 10:00 बजे तक कफ्र्यू लगाया गया है। इस दिन कोई भी संस्थान, दुकान और अन्य सेवा प्रदाता संस्थान नहीं खुल सकेंगे। कोई भी व्यक्ति सडक़ पर नहीं निकल सकेगा। होम डिलेवरी, पार्सल सेवाएं भी पूरी तरह बन्द रहेंगी। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने आदेश का सख्ती से पालन कराने के लिए सभी एसडीएम, तहसीलदार और पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।उन्होंने कहा है कि कोई भी व्यक्ति अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकलेगा। यह आदेश सांची पार्लर, मेडिकल स्टोर, हॉस्पिटल, इमरजेंसी सेवाओं एवं संबंधित परिवहन एवं इंडस्ट्री के संचालन संबंधित गतिविधियां राष्ट्रीय राजमार्ग एवं स्टेट हाईवे में व्यक्ति एवं वस्तु का आवागमन,परिवहन, लोडिंग- अनलोडिंग कार्य, व्यक्तियों के एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड से अपने गंतव्य स्थल तक आवागमन पर लागू नहीं होगा। इसके अतिरिक्त अन्य सब संस्थान दुकान, निजी कार्यालय, आदि बंद रहेंगे।पूर्व में जारी आदेश अनुसार रात्रि 10:00 बजे से प्रात: 5:00 बजे तक कफ्र्यू शर्तों के अधीन पूर्ववत जारी रहेगा। यह आदेश शव यात्रा पर प्रभावी से नहीं होगा। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Kolar News

Kolar News 11 July 2020

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। अब जिले में कोरोना के 89 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 5176 हो गई है। वहीं इंदौर में अब तक कोरोना से 261 लोगों की मौत हो चुकी है।इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार को देर रात 1759 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 89 पॉजिटिव और शेष रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई हैं। इन 89 नये मामलों के साथ अब इंदौर में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 5176 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 261 हो गई है।    हालांकि राहत की खबर यह है कि अब तक इंदौर में 3956 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 959 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 11 July 2020

भोपाल। मानसून द्रोणिका के हिमालय की तराई की तरफ खिसक जाने और किसी मानसूनी सिस्टम के सक्रिय नहीं होने से प्रदेश में बारिश का दौर थम गया है। पिछले तीन दिनों से राजधानी भोपाल में तेज धूप निकल रही है। जिससे गर्मी और उमस बढ़ गई है। वहीं डिंडौरी क्षेत्र में जोरदार बारिश हुई।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में वातावरण में काफी नमी मौजूद है। इस वजह से तापमान बढऩे पर शाम के वक्त कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। इसी क्रम में गुरुवार को सीधी में 17, गुना और उमरिया में 9, मलाजखंड में 6, ग्वालियर में 2.7, जबलपुर में 2.2 और नौगांव में 0.2 मिमी. बरसात हुई।   मप्र और उसके आसपास कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहींवर्तमान में मप्र और उसके आसपास कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहीं है। इसके अतिरिक्त मानसून द्रोणिका भी हिमालय की तराई की तरफ खिसकने लगी है। इस वजह से प्रदेश में मानसून की बारिश फिलहाल थम गई है, लेकिन वातावरण में वर्तमान में नमी मौजूद है।   कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैंइससे दिन में तापमान बढऩे के कारण शाम के वक्त कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। 13-14 जुलाई के आसपास बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इस सिस्टम के आगे बढऩे पर 15 जुलाई के बाद मानसून के एक बार सक्रिय होने के आसार हैं।

Kolar News

Kolar News 10 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना की ग्रोथ रेट देश में सबसे कम और संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट 76 फीसदी है। इसके बावजूद यहां नये मामलों में कमी नहीं आ रही है। अब यहां चार जिलों में कोरोना के 124 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 16 हजार 465 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 637 लोगों की मौत हो चुकी है। इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुरुवार देर रात 1461 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिसमें 44 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 5087 पहुंच गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। मृतकों में 59 वर्षीय और 60 वर्षीय दो पुरुषों के साथ एक 63 वर्षीय महिला भी शामिल है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 258 हो गई है। वहीं, भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, शुक्रवार सुबह भोपाल में 710 रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिसमें 66 नये मरीज मिले हैं। इसके अलावा उज्जैन में चार और शिवपुरी में 10 नये मामले सामने आए हैं।इन 124 नये मामलों के साथ राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 16,465 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 5087, भोपाल 3344, उज्जैन 876, मुरैना 841, ग्वालियर 770, नीमच 484, जबलपुर 477, सागर 430, बुरहानपुर 420, खंडवा 371, खरगौन 336, भिण्ड 316, देवास 244, धार 189, रतलाम 199, मंदसौर 159, बड़वानी 153, रायसेन 113, राजगढ़ 112, श्योपुर 96, बैतूल 91, शाजापुर 83, छिंदवाड़ा 70, रीवा 70, टीकमगढ़ 97, छतरपुर 61, विदिशा 73, पन्ना 57, दमोह 54, शिवपुरी 113, अशोकनगर 55, दतिया 53, हरदा 60, सतना 48, होशंगाबाद 45, बालाघाट 46, नरसिंहपुर 35, डिंडौरी 31, अनूपपुर 29, कटनी 27, गुना 28, शहडोल 24, सीहोर 37, झाबुआ 29, सीधी 28, सिंगरौली 27, आगरमालवा 21, सिवनी 18. निवाड़ी 11, उमरिया 11, अलीराजपुर 10 और मंडला 06 मरीज शामिल हैं।वहीं, इंदौर में हुई तीन मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 637 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 258, भोपाल 115, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 14, खरगौन 15, ग्वालियर 03, धार 08, मंदसौर 09, नीमच 08, सागर 22, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 04, सतना 02, आगरमालवा 02, झाबुआ 01, अशोकनगर 01, शाजापुर 03, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 02, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 05, राजगढ़ 06, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 04, रीवा 01, गुना 02, हरदा 03, कटनी 03, सीधी 01, अलीराजपुर 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, राज्य में अब तक 12,232 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 3599 हैं।

Kolar News

Kolar News 10 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना की ग्रोथ रेट देश में सबसे कम और संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट 76 फीसदी से अधिक होने के बावजूद यहां नये मामलों में कमी नहीं आ रही है। अब यहां पांच जिलों में कोरोना के 178 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 16 हजार 214 हो गई है। वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 632 लोगों की मौत हो चुकी है। इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार को देर रात 1392 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 45 नये पॉजिटिव मिले हैं, जबकि तीन लोगों की कोरोना से मौत की भी पुष्टि हुई है। इसके बाद इंदौर में संक्रमितों की संख्या 5045 और कोरोना से मरने वालों की संख्या 255 हो गई है। भोपाल सीएमएचओ कार्यालय द्वारा बताया गया है कि गुरुवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में कोरोना से 59 नये मामले सामने आए हैं। इसके अलावा ग्वालियर में 59, मुरैना में आठ और सागर में सात नये संक्रमित मिले हैं। इन 178 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 16,214 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 5045, भोपाल 3284, उज्जैन 871, मुरैना 841, ग्वालियर 771, नीमच 470, जबलपुर 462, सागर 430, बुरहानपुर 416, खंडवा 367, खरगौन 333, भिण्ड 313, देवास 242, धार 189, रतलाम 195, मंदसौर 145, बड़वानी 153, रायसेन 113, राजगढ़ 106, श्योपुर 93, बैतूल 87, शाजापुर 75, छिंदवाड़ा 69, रीवा 68, टीकमगढ़ 80, छतरपुर 60, विदिशा 68, पन्ना 57, दमोह 53, शिवपुरी 98, अशोकनगर 55, दतिया 53, हरदा 58, सतना 46, होशंगाबाद 44, बालाघाट 42, नरसिंहपुर 35, डिंडौरी 31, अनूपपुर 29, कटनी 27, गुना 28, शहडोल 24, सीहोर 35, झाबुआ 28, सीधी 27, सिंगरौली 27, आगरमालवा 19, सिवनी 17. निवाड़ी 11, उमरिया 11, अलीराजपुर 09 और मंडला 06 मरीज शामिल हैं।इंदौर में हुई तीन मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 632 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 255, भोपाल 115, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 14, खरगौन 15, ग्वालियर 03, धार 08, मंदसौर 09, नीमच 08, सागर 22, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 04, सतना 02, आगरमालवा 02, झाबुआ 01, अशोकनगर 01, शाजापुर 03, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 02, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 05, राजगढ़ 06, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 04, रीवा 01, गुना 02, हरदा 03, कटनी 03, सीधी 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, यहां अब तक 11,987 मरीज कोरोना से जंग जीतकर अपने घर जा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 3598 हैं।

Kolar News

Kolar News 9 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार द्वारा राज्य प्रशासनिक सेवा के 21 अधिकारियों को क्रमोन्नति प्रदान की गई है। इनमें नौ अधिकारियों को वरिष्ठ श्रेणी वेतनमान से प्रवर श्रेणी वेतनमान ग्रेड पे पर क्रमोन्नति दी गई है, जबकि 12 अधिकारियों को कनिष्ठ श्रेणी वेतनमान से वरिष्ठ श्रेणी वेतनमान ग्रेड पे पर क्रमोन्नत किया गया है। इस संबंध में राज्य शासन ने बुधवार देर रात आदेश जारी किये।सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी आदेश के मुताबिक,  उज्जैन के भू-अभिलेख उपायुक्त रामप्रसाद गेहलोत (सेवानिवृत्त), बुरहानपुर की संयुक्त कलेक्टर शैली कनाश, दमोह के सेवानिवृत्त संयुक्त कलेक्टर नारायण सिंह, सिवनी के संयुक्त कलेक्टर जयप्रकाश सैयाम और राजगढ़ के संयुक्त कलेक्टर रामाधार सिंह अग्निवंशी को एक जनवरी 2020 से, खरगौन के संयुक्त कलेक्टर भुरला सिंह सोलंकी, बड़वानी की संयुक्त कलेक्टर शालिनी श्रीवास्तव और मुख्यमंत्री कार्यालय के अवर सचिव महिप किशोर तेजस्वी को एक जून 2020 तथा आगर मालवा के संयुक्त कलेक्टर महेन्द्र सिंह कवचे को एक जुलाई 2020 से वरिष्ठ श्रेणी वेतनमान से प्रवर श्रेणी वेतनमान में क्रमोन्नति दी गई है। इनका ग्रेड पे वरिष्ठ श्रेणी वेतनमान 15600-39100+6600 से प्रवर श्रेणी वेतनमान 15600-39100+7600 रुपये किया गया है।इसी प्रकार, नरसिंहपुर के डिप्टी कलेक्टर रामस्वरूप राजपूत, उज्जैन के डिप्टी कलेक्टर पुरुषोत्तम कुमार और मंडला के डिप्टी कलेक्टर वीरेन्द्र कुमार कर्ण को 30 दिसम्बर 2019 से, जबकि खंडवा के डिप्टी कलेक्टर अशोक कुमार जाधव, ग्वालियर के भू-अभिलेख उपायुक्त ब्रह्मभास्कर अग्निहोत्री, मप्र भवन नई दिल्ली की उप आवासीय आयुक्त स्वाति जैन, मुख्यमंत्री कार्यालय के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी भूपेन्द्र सिंह परस्ते, मंदसौर की डिप्टी कलेक्टर गरिमा रावत, जबलपुर के डिप्टी कलेक्टर मोह. शाहिद खान, बालाघाट के डिप्टी कलेक्टर प्रमोद सेन गुप्ता, कृषि मंत्री के विशेष सहायक दयाकिशन शर्मा और ग्वालियर की डिप्टी कलेक्टर पुष्पा पुसाम को एक जनवरी 2020 से क्रमोन्नत किया गया है। इन सभी का पे ग्रेड कनिष्ठ श्रेणी वेतनमान 15600-39100+5400 से वरिष्ठ श्रेणी वेतनमान 15600-39100+6600 रुपये किया गया है।

Kolar News

Kolar News 9 July 2020

मुरैना। जिले में 115 मरीजों को कोरोना संक्रमित पाया गया है। यह संख्या अभी तक की सर्वाधिक संख्या हे। नए संक्रमितों में कैलारस के डाक्टर सहित उनके परिवार के 10 सदस्य भी शामिल हैं।  कोरोना का प्रभाव जिले के दो पुलिस थानों में भी हुआ है। वहीं जौरा का भी एक परिवार पूरी तरह संक्रमित हो गया है। इन सभी मरीजों को जिले के चिकित्सालयों में दाखिल कराया गया है।    देर रात भारतीय रक्षा अनुसंधान केन्द्र ग्वालियर एवं ग्वालियर मेडिकल कॉलेज की दोनों लैब से 648 सेम्पल की रिपोर्ट आईं हैं। जिनमें दो की जांच रिपोर्ट रिजेक्ट हो गई है। यह रिपोर्ट तीन दिन में भेजे गये जांच सेम्पल की हैं। जिले के लिये राहत की खबर यह है कि दोनों रिपोर्टों मेें से 528 की रिपोर्ट निगेटिव निकली है। वहीं 41 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद घर भेज दिया गया है। अभी तक 332 मरीज स्वस्थ हेाकर घर पहुंच गये हैं। इन्हें 10 दिवस तक एकांतवास में रहने की चेतावनी दी गई है। वहीं उपचार लेने के साथ मास्क लगाने व सोशल डिस्टेंस का पालन करने की सलाह दी गई है। जिले के चिकित्सालयों में 496 कोरोना संक्रमित मरीज इलाजरत दाखिल हैं। वर्तमान में मुरैना जिला में कुल मरीजों की संख्या 833 हो गई है। जिले के सबलगढ़ तथा स्टेशन रोड़ थाना में भी कोरोना ने प्रवेश किया है। सबलगढ़ थाना की महिला थानेदार, आरक्षक तथा स्टेशन रोड थाने का आरक्षक भी संक्रमित हुआ है । इन थाना परिसरों सहित सभी कोरोना संक्रमित मरीजों के गली मोहल्लों को सेनेटाइज किया जा रहा है। वहीं जिले में नये कन्टोनमेंट क्षेत्र बनाये गये हैं। मुरैना में 295 कन्टोनमेंट क्षेत्र में से मरीजों के स्वस्थ होने के बाद निर्धारित अवधि पश्चात 49 क्षेत्रों को प्रतिबंध से मुक्त कर दिया है। अब जिले में 246 कन्टोनमेंट क्षेत्र बने हुये हैं। संभावित लक्षण वाले 171421 लोगों की थर्मल स्केनिंग कर 100631 को होमकोरेनटाइन किया गया था। जिसमें से 96226 लोगों ने अपनी अवधि पूर्ण कर ली है। मुरैना जिले में 8146 लोगों के सेम्पल लिये गये थे। जिसमें से 6700 की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

Kolar News

Kolar News 8 July 2020

भोपाल। भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बुधवार को वीडियो संदेश के माध्यम से शहर वासियों से अपील की है कि हमें अपने महत्व को समझना जरूरी है कि किसी भी व्यक्ति को कोरोना से संबंधी लक्षण नजर आते हैं, तो वह तत्काल संज्ञान में लाकर इसकी सूचना स्वास्थ्य और जिला प्रशासन को दें। उन्‍होंने कहा कि हर व्यक्ति को इस संक्रमण से बचाना हम सभी का कर्तव्य भी है। उन्होंने सभी से अनुरोध किया है कि लक्षण दिखने पर तत्काल उसकी जांच कराने अपने नजदीकी फीवर क्लीनिक पर जाएं और अपनी स्क्रीनिंग कराएं। स्क्रीनिंग के दौरान चिकित्सक द्वारा सैंपल लेने की आवश्यकता है तो अपनी सैंपलिंग भी कराएं।    कलेक्‍टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण के संबंध में कोई भी लक्षण अथवा सिम्टम्स नजर आने पर शीघ्र ही जांच कराने से जल्द ही हम इस संक्रमण पर जीत पाने में सफल होंगे। उन्‍होंने कहा कि कोरोना संक्रमण में अर्ली डिटेक्शन से समय पर संज्ञान लेना आवश्यक है। विगत कुछ समय से देखा जा रहा है कि संक्रमण का सही समय पर संज्ञान में आने से स्थिति को बिगड़ने पर उसे तत्काल ठीक कर व्यक्ति को बचाया जा सका है।    गौरतलब है कि कोरोना के विरुद्ध प्रदेश सरकार द्वारा किल कोरोना का महा सर्वे अभियान 1 से 15 जुलाई तक चलाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य व्यक्ति में कोरोना संक्रमण है तो उसे हम अर्ली डिटेक्शन से पहचान कर उसे स्वास्थ्य लाभ दे सकें। संक्रमण को रोकने और उस पर प्रभावी कार्यवाही करने भोपाल शहर में सबसे पहले इस सर्वे को प्रारंभ किया गया है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान कर उसकी जांच, स्क्रीनिंग और सेम्पलिंग की जाये। शहर में लगातार चलाये जा रहे अभियान में अब तक भोपाल में लगभग साढ़े नौ लाख से अधिक लोगों का सर्वे किया गया हैं, जिससे पिछले कुछ दिनों में कोरोना के कई मामले निकलकर सामने आए हैं। जिससे सभी लोगों को इलाज दिया गया है। इससे शहर का रिकवरी रेट बेहतर स्वास्थ्य प्रबंधन और व्यवस्थाओं से बढ़ रहा है।    कलेक्टर ने शहर के सभी नागरिकों से अपील में कहा है कि वे आगे आकर फीवर क्लीनिक पर अपनी जांच कराये और चलाये जा रहे सर्वे में सहयोग करें। सर्वे दलों को जानकारी उपलब्ध करायें। शासन-प्रशासन द्वारा कांटेक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमण को सर्वप्रथम डिटेक्ट करने का प्रयास किया जा रहा है। जिला प्रशासन का  एक ही उद्देश्य है कि इस बीमारी को शहर में आगे बढ़ने से रोकें। इसमें सभी के सहयोग की अपेक्षा है।

Kolar News

Kolar News 8 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां अब कोरोना के 44 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बार इंदौर में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या पांच हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं, कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा भी ढाई सौ के पार पहुंचकर 252 हो गया है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार को देर रात 1545 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी गई, जिनमें 44 पॉजिटिव और शेष रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। इन 44 नये मामले सामने आने के बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 4988 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 252 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर लौट रहे हैं। यहां अब तक 3871 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। यहां अब सक्रिय मरीजों की संख्या 875 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।   शहर में खुली पान की दुकानें लॉकडाउन के बाद से बंद पान की दुकानें बुधवार से खुल गईं। कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा मंगलवार को जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार, बुधवार को सुबह 10 बजे से जोखिम क्षेत्रों के बाहर की सभी पान की दुकानें खोल दी गई हैं। यह दुकानें रात 8 बजे तक खुली रहेंगी। इस दौरान गाइडलाइन के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। पान दुकान पर केवल टेक अवे की सुविधा रहेगी, यानी ग्राहक पान या दूसरी सामग्री पैक करवाकर ले जा सकेगा। दुकान पर खड़े होकर कोई पान नहीं खा सकेगा, न सिगरेट पी सकेगा। रविवार को ये सभी दुकानें बंद रहेंगी।

Kolar News

Kolar News 8 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां कोरोना के संक्रमित मरीज और मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इंदौर में एक बार फिर कोरोना के 78 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4954 हो गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 249 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार को देर रात 1682 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिसमें 78 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4954 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 249 हो गई है। हालांकि, उन्होंने राहत की खबर यह बताई है कि इंदौर में अब तक 3838 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की सख्या 867 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 7 July 2020

भोपाल। भोपाल शहर की हरियाली बढ़ाने, ग्लोबल वार्मिंग और प्रदूषण कम करने की पहल पर हरा भोपाल-शीतल भोपाल अभियान के तहत सोमवार से शिक्षा विभाग द्वारा हरित पखवाड़े का प्रारंभ किया गया। संयुक्त संचालक आरएस तोमर ने सोमवार को ग्राम कुराना एवं दामखेड़ा में पौधरोपण कर इसकी शुरुआत की। इसके तहत 20 जुलाई तक पूरे भोपाल में 30 हजार पौधे लगाए जाने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें स्कूली बच्चों और बालकों को उनके घर के आस-पास ही पौधारोपण करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना और संयुक्त संचालक राजेश बाथम उपस्थित थे।    संयुक्त संचालक तोमर ने बताया कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी "हरा भोपाल-शीतल भोपाल"  के अंतर्गत हरित पखवाड़ा 6 जुलाई से 20 जुलाई 2020 तक मनाया जा रहा है। इसके तहत  बैरागढ़ ,पुराना भोपाल शहर, मध्य  भोपाल, बीएचईएल, अयोध्या बायपास और बैरसिया क्षेत्र के आसपास पौधारोपण किया जाएगा। इसके साथ ही  हरित पखवाड़े के अन्तर्गत पौधरोपण कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को ऑनलाईन जागरूक किया जाएगा कि वे अपने घरों में एवं आसपास पौधारोपण करें।  प्राचार्य, पालक-शिक्षक संघ के सदस्य एवं क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों को भी आमंत्रित कर विद्यालय परिसर और सार्वजनिक स्थानों पर पौधारोपण किया जाएगा।

Kolar News

Kolar News 6 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना की ग्रोथ रेट देश में सबसे कम और संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट 76 फीसदी से अधिक है। इसके बावजूद यहां नये मामलों में कमी नहीं आ रही है। अब यहां पांच जिलों में कोरोना के 136 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 15 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, राज्य में कोरोना से अब तक 610 लोगों की मौत हो चुकी है।    इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल द्वारा रविवार देर रात 1404 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिसमें 43 नये पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4876 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 246 हो गई है। इसके अलावा ग्वालियर में 55, मुरैना में 28, सागर में सात और उज्जैन में तीन नये संक्रमित मिले हैं।   इन 136 नये मामलों के साथ राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 15,066 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 4876, भोपाल 3045, उज्जैन 869, मुरैना 682, ग्वालियर 583, नीमच 454, जबलपुर 437, सागर 422, बुरहानपुर 405, खंडवा 335, खरगौन 313, भिण्ड 287, देवास 238, धार 181, रतलाम 175, मंदसौर 131, बड़वानी 130,  रायसेन 112, राजगढ़ 104, श्योपुर 85, बैतूल 80, शाजापुर 69, छिंदवाड़ा 66, रीवा 66, टीकमगढ़ 63, छतरपुर 59, विदिशा 58, पन्ना 55, दमोह 52, शिवपुरी 52, अशोकनगर 50, दतिया 47, हरदा 43, सतना 43, होशंगाबाद 42, बालाघाट 39, नरसिंहपुर 32, डिंडौरी 31, अनूपपुर 29, कटनी 26, गुना 24, शहडोल 24, सीहोर 22, झाबुआ 21, सीधी 21, सिंगरौली 20, आगरमालवा 17, सिवनी 15. निवाड़ी 11, उमरिया 11, अलीराजपुर 08 और मंडला 06 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर में हुई दो मौतों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 610 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 246, भोपाल 109, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 14, खरगौन 15, ग्वालियर 03, धार 08, मंदसौर 09, नीमच 07, सागर 22, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 03, सतना 02, आगरमालवा 01, झाबुआ 01, अशोकनगर 01, शाजापुर 03, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 02, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 05, राजगढ़ 06, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 01, रीवा 01, गुना 01, हरदा 03, कटनी 03, सीधी 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है। हालांकि, अब तक राज्य में 11,411 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके हैं और स्वस्थ होने के बाद अपने घर पहुंच गए हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 3047 हैं।

Kolar News

Kolar News 6 July 2020

भोपाल। श्रावस मास के पहले दिन सोमवार को शिवालयों में विशेष पूजा अर्चना की जा रही है। बड़ी संख्या में भक्त मंदिरों में पहुंच रहे हैं और अपने अराध्य के दर्शन कर रहे हैं। उज्जैन स्थित बाबा महाकालेश्वर मंदिर में भी सावन सोमवार के पहले दिन विशेष पूजा अर्चना की गई। इसके अलावा  ओंकोरेश्वर, मंदसौर के पशुपतिनाथ और भोजपुर के शिव मंदिर में की विशेष सजावट और पूजा हुई। महाकालेश्वर मंदिर में भस्मारती के बाद भोलेनाथ को साफा पहनाकर विशेष श्रृंगार किया गया। पूरा मंदिर परिसर बाबा के जयकारों ने गुंजायमान हो गया।   उज्जैन में श्रावण के पहले सोमवार को श्रद्धालु बाबा महाकाल के दर्शन करने मंदिर पहुंचे। मंदिर समिति ने सामान्य कतार में दर्शन के लिए 7.5 हजार श्रद्धालुओं को ऑनलाइन प्री-परमिशन दी है। कोरोना वायरस की वजह से मंदिरों में भक्तों को शारीरिक दूरी का ध्यान रख दर्शन करने के व्यवस्था है। महाकाल मंदिर में सुबह 5.30 बजे से दर्शन शुरू हुए। दर्शन चार पारियों में रात 9 बजे तक होंगे। दर्शन के लिए शंखद्वार गेट से प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं शाम 4 बजे महाकालेश्वर की श्रावण की पहली सवारी मंदिर परिसर से निकलेगी। सवारी में पुलिस बैंड, घुड़सवार सेना, सशस्त्र बल, चोबदार, पालकी के साथ पुजारी शामिल होंगे। श्रावण में भगवान महाकाल की 5 और भादौ में 2 कुल 7 सवारियां निकलेंगी। आखिरी सवारी प्रमुख होगी।    ओंकारेश्वर व ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग की निकलेंगी सवारियांश्रावण सोमवार पर आज शाम भगवान ओंकारेश्वर और ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग की सवारी भी निकलेंगी। यहां भी कोरोना संक्रमण के कारण सवारी में श्रद्धालु शामिल नहीं हो सकेंगे। लेकिन सवारी परंपरा के अनुसार ही निकलेगी, जिसमें मंदिर के पुजारी और कर्मचारी शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए शामिल होंगे। नर्मदा घाट पर आरती के बाद भगवान नौका विहार भी करेंगे।   पशुपतिनाथ मंदिर में प्रशासन चाक- चौबंदमंदसौर में अष्टमुखी पशुपतिनाथ के दरबार में मंदिर प्रशासन ने चाक चौबंद व्यवस्ता की है। श्रावस सोमवार पर यहां दर्शन करने आने वाले भक्तों को किसी भी तरह मंदिर परिसर में भीड़ जमा नही हो सकेगी। साथ ही श्रद्धालु की चेकिंग कड़ाई से की जा रही है। ताकि कोई पॉजीटिव मरीज अंदर प्रवेश न कर सके। यही नहीं मंदिर परिसर में सावन मास में होने वाले अनुष्ठान नही हो रहे हैं। साथ ही लोगों से सोशल डिस्टेंड का ध्यान रखने को कहा जा रहा है।

Kolar News

Kolar News 6 July 2020

बालाघाट। मध्यप्रदेश में जहां कोरोना संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे हैं तो वहीं नये मरीज भी लगातार सामने आ रहे हैं। इसी क्रम में रविवार को बालाघाट जिले में तीन नये संक्रमित पाये गए हैं, जबकि नीमच जिले में चार संक्रमित मरीजों ने कोरोना को मात दी और उन्हें पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद अपने घर रवाना किया गया।   बालाघाट के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय ने बताया कि आईसीएमआर जबलपुर से प्राप्त रिपोर्ट में जिले में तीन लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें एक युवती लांजी तहसील के ग्राम बिंझलगांव की है और दो मरीज बालाघाट तहसील के ग्राम अमेड़ा-भरवेली के हैं। ग्राम बिंझलगांव की युवती की ट्रेवल्स हिस्ट्री का पता लगाया जा रहा है, जबकि अमेड़ा के दोनों मरीज हैदराबाद से आए हैं। यह तीनों मरीज गोंगलई के क्वेरंटाईन सेंटर में रखे गए थे। कोरोना पॉजिटिव आने के बाद इन मरीजों को उपचार के लिए डेडीकेटेड कोबिड हेल्थ सेंटर गायखुरी बालाघाट में शिफ्ट कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बालाघाट जिले में अब तक कुल 39 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। इनमें से 20 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं और 19 मरीजों का उपचार जारी है।   इधर, नीमच के जिला चिकित्सालय स्थित डीसीएचसी ट्रामा सेंटर से रविवार को कोरोना के चार संक्रमित मरीजों को पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद डस्चार्ज किया गया। स्वस्थ होकर अपने घर जाने वालों में 2 नीमच और 2 जावद के निवासी हैं। जिले में अब तक कुल 434 लोग स्वस्थ होकर जा चुके हैं। जिले में अब सक्रिय प्रकरण मात्र 17 है, जिनका उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 5 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में गुरु-भक्ति का पर्व गुरु पूर्णिमा रविवार को श्रद्धा-भक्ति के साथ मनाया गया। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार शहर में कोई खास कार्यक्रम नहीं हुआ, लेकिन दूरस्थ अंचलों के शिष्यों को गुरु पादुका पूजन कार्यक्रम का ऑनलाइन प्रसारण उपलब्ध कराया गया। वहीं, कुछ स्थानों पर सीमित शिष्यों की मौजूदगी में दो गज दूरी का पालन करते हुए कार्यक्रम हुए, जिनमें शिष्यों ने अपने गुरुओं का आशीर्वाद लिया। वहीं सर्व समाज ने पौधारोपण कर प्रकृति संरक्षण का संदेश दिया।    भोपाल के लालघाटी स्थित गुफा मंदिर में इस बार सीमित भक्तों की मौजूदगी में गुरु पादुका पूजन का कार्यक्रम हुआ, जहां शिष्यों को गुरु दीक्षा मंत्र लिखकर दिए गए। वहीं, प्रसिद्ध कथावाचक सुधांशु महाराज का शिष्ट मंडल की ओर से गुरु बख्श की तलैया स्थित श्रीराम मंदिर में गुरु पूर्णिमा का आयोजन किया गया। सुधांशु महाराज के ऑनलाइन प्रवचन सुनने की व्यवस्था की गई। इसी तरह टीटी नगर जवाहर चौक स्थित झरनेश्वर मंदिर में गुरु पूर्णिमा के उपलक्ष्य में पादुका पूजन, श्रीविद्या की विशेष पूजा का कार्यक्रम हुआ, जिसमें जगद्गुरु शंकराचार्य स्वरुपानंद सरस्वती महाराज के ऑनलाइन प्रवचन हुए।   इसी प्रकार नेहरू नगर स्थित करुणाधाम मंदिर में देश के अन्य राज्यों व दुबई, बहरीन, कनाडा आदि देशों के शिष्यों के लिए ऑनलाइन पूजा का ऑनलाइन प्रसारण किया गया। पटेल नगर स्थित श्री दादाजी धाम में स्थापित सभी भगवानों का अभिषेक-पूजन कर गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया। कार्यक्रम में सीमित संख्या में ही लोग शामिल हुए। वहीं, एमपी नगर स्थित गायत्री शक्तिपीठ में गुरु पूर्णिमा का संक्षिप्त कार्यक्रम हुआ, जिसमें शक्तिपीठ से जुड़े भक्तों को कहा गया है कि वे अपने-अपने घर पर ही गुरुपूर्णिमा मनाएं।   राजधानी भोपाल समेत पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए गुरु पूर्णिमा पर्व सावधानी से मनाया गया। बहुत कम संख्या में लोग अपने गुरु के दर्शन के लिए पहुंचे और अधिकांश गुरुओं ने मोबाइल पर वीडियो कॉलिंग के जरिए अपने शिष्यों को आशीर्वाद दिया। खरगोन के समीपस्थ ग्राम बेडिय़ाव में संतश्री पूर्णानंद बाबा की तपोभूमि इंद्र टेकड़ी पर गुरु पूर्णिमा पर विशेष आरती हुई। कसरावद के पास नर्मदा तट स्थित ग्राम भट्यान में संत सियाराम बाबा के दर्शन के लिए भक्त पहुंचे। दोनों स्थानों पर सीमित संख्या में ही श्रद्धालुओं को पूजन की अनुमति दी गई है।   इसी तरह शहडोल जिले के ऐतिहासिक मोहन राम मंदिर में चित्रकूट धाम से आए जगतगुरु प्रपन्नाचार्य जी महाराज की उपस्थिति गुरु पूर्णिमा का उत्सव मनाया गया। उनके शिष्यों ने शारीरिक दूरी का पालन करते हुए यहां पूजन कर उनका आशीर्वाद लिया। इसी तरह प्रदेश में सभी जगह गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया गया।

Kolar News

Kolar News 5 July 2020

भोपाल। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के अवसर पर रविवार को पूरा देश गुरु पूर्णिमा का पर्व मना रहा है। वहीं, सोमवार, छह जुलाई से श्रावण मास प्रारंभ हो जाएगा। इस बार के श्रावण मास में पांच सोमवार पर्व भी आएंगे, साथ ही आगामी 20 जुलाई (सोमवार) को श्रावण मास में सोमवती अमावस्या पर्व भी रहेगा। मध्यप्रदेश में भी गुरु पूर्णिमा पर्व के साथ ही श्रद्धालुओं ने श्रावण की तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए इस बार कांवड़ यात्रा पर प्रतिबंध रहेगा, लेकिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिरों में पूजा-अर्चना करने पहुंचेंगे।   श्रावण में हर साल प्रदेश के दोनों प्रमुख ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर और ओंकारेश्वर के दर्शन करने के लिए लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने यहां प्री-बुकिंग की व्यवस्था की है, इसलिए अभी यहां दोनों ही ज्योतिर्लिंग मंदिरों में सीमित संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने पहुंच रहे हैं, लेकिन श्रावण मास के सोमवार पर्व एवं सोमवती अमावस पर्व पर भारी संख्या में दर्शनार्थियों के आने की संभावना है।   पिछले 16 जून से ओंकारेश्वर एवं ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर विशेष सावधानियों के साथ श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खोला गया है। ओंकारेश्वर मंदिर में एक दिन में एक हजार यात्रियों के लिए दर्शन की वर्तमान में व्यवस्था है, जबकि ममलेश्वर मंदिर में संख्या निश्चित नहीं की गई है। वहीं, उज्जैन में भगवान महाकाल के दर्शन के लिए अभी रोजाना 2800 लोगों को मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। दोनों की ज्योतिर्लिंग मंदिरों में प्री-बुकिंग के आधार पर श्रद्धालु दर्शन कर रहे हैं। श्रावण में भी इसी तरह की व्यवस्था रहेगी। श्रावण मास के सोमवार पर्व पर भगवान महाकाल की सवारी भी निकलेगी। इसमें भी श्रद्धालुओं की संख्या सीमित रहेगी और इस बार सवारी मार्ग में भी परिवर्तन किया गया है।   सोमवार, छह जुलाई सोमवार से श्रावण मास प्रारंभ हो रहा है। अगला सोमवार पर्व 13 जुलाई को और फिर एक सप्ताह बाद आगामी 20 जुलाई सोमवार को श्रावण मास की सोमवती अमावस्या आ रही है। इस दौरान भारी संख्या में श्रद्धालु ओंकारेश्वर स्थित नर्मदा और उज्जैन स्थित क्षिप्रा में स्नान करने के लिए आते हैं और ज्योर्लिंग भगवान ओंकारेश्वर और महाकाल के दर्शन करते हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इस बार की स्थिति अलग होगी।

Kolar News

Kolar News 5 July 2020

भोपाल। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के अवसर पर रविवार, पांच जुलाई को जब पूरा देश गुरुपूर्णिमा का पर्व मना रहा होगा, तब आकाश में खगोलीय घटना होने जा रही है। इस दिन चंद्रग्रहण लगेगा। गुरुपूर्णिमा पर भारत में सुबह जब सूर्य के आगमन के साथ ही आकाश में चंद्रमा अस्त हो चुका होगा, तब यह खगोलीय घटना होगी। उस समय उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका में शाम हो रही होगी और वहां चंद्रमा उदित हो रहा होगा। यानी भारत में चंद्रग्रहण सुबह लगेगा, लेकिन यहां दिन होने के कारण हम चंद्रग्रहण को यहां देख नहीं पाएंगे।  भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने शनिवार को हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में उक्त जानकारी देते हुए बताया कि गुरुपूर्णिमा के अवसर पर भारत में जब सुबह होगी, तब अमेरिका में शाम को चंद्रमा उपछाया ग्रहण से ग्रसित हो रहा होगा। वहीं देर रात होते-होते पश्चिमी अफ्रीका में यह ग्रहण दिखने लगेगा। उन्होंने चंद्रग्रहण की पूरी अवधि में भारत में दिन चल रहा होगा। इसलिये इस ग्रहण को उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका तथा पश्चिमी अफ्रीका में तो देखा जा सकेगा, लेकिन भारत में यह खगोलीय घटना दिन में होने के कारण यह ग्रहण को देखा नहीं जा सकेगा।   उन्होंने बताया कि इस साल पहला चंद्रग्रहण पांच जून को पड़ा था। इसके बाद विश्व योग दिवस के अवसर पर 21 जून के सूर्यग्रहण के बाद एक माह की अवधि में पृथ्वी पर दिखने वाला यह तीसरा ग्रहण होगा। सारिका ने बताया कि अगला चंद्रग्रहण इस साल 30 नवम्बर को होगा, लेकिन इसे मध्यप्रदेश के केवल कुछ पूर्वी जिलों रीवा-अनूपपुर में कुछ मिनट के लिये ही देखा जा सकेगा। मध्यप्रदेश सहित भारत में चंद्रगहण देखने के लिये 26 मई 2021 का इंतजार करना होगा।   गुरुपूर्णिमा पर पडऩे वाले चंद्रगहण का मध्यप्रदेश में समय  ग्रहण का आरंभ - प्रात: 8.38 बजे अधिकतम ग्रहण-  प्रात: 9.59 बजे ग्रहण समाप्ति -   प्रात: 11.21 बजे कुल ग्रहण अवधि:  2 घंटे 43 मिनट 24 सेकंड

Kolar News

Kolar News 4 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां अब कोरोना के 34 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 4810 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से अब तक 241 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 1447 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 34 पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इन नये 34 मामलों के साथ इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या 4810 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 241 हो गई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो रहे हैं। अब तक यहां 3727 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर लौट चुके हैं। अभी जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 842 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 4 July 2020

भोपाल। प्रदेश में पथ व्यवसाइयों के कल्याण और उनको आजीविका चलाने के उचित अवसर देने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश पथ विक्रेता योजना-2020 प्रारंभ की गयी है। पथ विक्रेताओं का सर्वेक्षण हर 3 वर्ष में कम से कम एक बार किया जायेगा। पथ व्यवसायी को पोर्टल के माध्यम से पहचान-पत्र और विक्रय प्रमाण-पत्र मिलेगा। नगरीय क्षेत्र के भीतर आवेदक को केवल एक विक्रय स्थल की अनुमति मिलेगी।   विक्रय प्रमाण-पत्र 5 वर्ष के लिये वैध होगा। इसका अगले 3 वर्ष के लिये नवीनीकरण किया जा सकेगा। विक्रय प्रमाण-पत्र रद्द करने का कोई आदेश बगैर सुनवाई के नहीं दिया जायेगा। पथ विक्रेता यह सुनिश्चित करेगा कि उसके विक्रय क्षेत्र के निकट अवैध पार्किंग नहीं की जाये। विक्रय शुल्क में प्रति वर्ष न्यूनतम 5 प्रतिशत की वृद्धि की जायेगी।विक्रय क्षेत्र में उपलब्ध स्थान से विक्रेताओं की संख्या अधिक होने पर, विक्रेताओं को अलग-अलग पाली में विक्रय के लिये समय आवंटित किया जायेगा। निषेध क्षेत्र सचिवालय, कलेक्ट्रेट, जिला पंचायत, नगर निगम, नगरपालिका, नगर परिषद, केंटोनमेंट बोर्ड के कार्यालय, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और राज्य पुरातात्विक स्थलों के 200 मीटर के क्षेत्र में क्रय-विक्रय नहीं किया जा सकेगा। क्रॉसिंग के पास 50 मीटर तक भी क्रय-विक्रय प्रतिबंधित रहेगा। फुटपाथ का उपयोग पथ विक्रय के लिये नहीं किया जा सकेगा। नगर विक्रय समिति का सामाजिक अंकेक्षण भी करवाया जायेगा। इससे संबंधित मामलों के समन्वय के लिये राज्य स्तर पर एक नोडल ऑफिसर नियुक्त किया जायेगा। 4 प्रकार के बाजार योजना में 4 प्रकार के बाजार निर्धारित किये गये हैं। उत्सव बाजार- ऐसा बाजार, जहाँ विक्रेता और क्रेता परम्परागत रूप से त्यौहारों के दौरान उत्पादों या सेवाओं के क्रय-विक्रय के लिये इकट्ठे होते हैं। विरासत बाजार- ऐसा बाजार, जहाँ क्रेता और विक्रेता पारम्परिक रूप से उत्पादों और सेवाओं के लिये एकत्रित होते हैं और जो 50 वर्ष से भी अधिक समय से एक ही स्थान पर लग रहा हो। प्राकृतिक बाजार- नगर विक्रय समिति की अनुशंसा पर शुरू किया गया ऐसा बाजार, जहाँ क्रेता-विक्रेता परम्परागत रूप से एकत्रित होते हैं। रात्रि बाजार- ऐसा बाजार, जहाँ क्रेता-विक्रेता रात में उत्पादों और सेवाओं के क्रय-विक्रय के लिये एकत्रित होते हैं।    

Kolar News

Kolar News 2 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां फिर कोरोना से चार लोगों की मौत हो गई, जबकि 19 नये संक्रमित मरीज मिले हैं। इसके बाद यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 4753 हो गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 236 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात 1259 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की, जिनमें 19 पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। अब जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 4753 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में 65 वर्षीय और 68 वर्षीय दो महिलाओं के साथ 65 वर्षीय दो पुरुष शामिल हैं। इसके बाद यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 236 हो गई है।   हालांकि, राहत की खबर यह बताई गई है कि इंदौर में अब तक 3576 संक्रमित कोरोना को मात दे चुके हैं और वे पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 941 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है। बताया गया है कि यहां संक्रमित मरीज लगातार स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे हैं, लेकिन जितने मरीज ठीक हो रहे हैं, उतने ही नये मरीज भी मिल रहे हैं। इसीलिए सक्रिय मरीजों की संख्या स्थिर बनी हुई है।

Kolar News

Kolar News 2 July 2020

भोपाल। वातावरण में बड़े पैमाने पर नमी मौजूद रहने से मध्य प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर बौछारें पडऩे का सिलसिला जारी है। हालांकि मानसून द्रोणिका सक्रिय होकर मप्र से गुजर रही है। अन्य दो ट्रफ भी मप्र से होकर जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त गुजरात पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके चलते शुक्रवार से प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में तेजी आने की उम्मीद है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला के मुताबिक इन सिस्टम के असर से शुक्रवार से प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में तेजी आने की संभावना है। राजस्थान से उत्तरी मप्र होकर एक ट्रफ उड़ीसा तक बना हुआ है। मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि मानसून द्रोणिका लाइन (ट्रफ) दतिया से होकर गुजर रही है। इसी तरह राजस्थान से उत्तरी मप्र होकर एक ट्रफ उड़ीसा तक बना हुआ है। पूर्व उप्र से पूर्वी मप्र होकर एक ट्रफ विदर्भ तक बना हुआ है। एक ऊपरी हवा का चक्रवात दक्षिण गुजरात पर बना हुआ है।   अच्छी बरसात होने की संभावना बन रही मौसम विज्ञानियों का कहना है कि इन मानसूनी सिस्टम के कारण प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में तेजी आने के आसार बन रहे हैं। शुक्रवार से प्रदेश में अच्छी बरसात होने की संभावना बन रही है। उधर, बुधवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक खजुराहो में 18.4, उज्जैन में 12, जबलपुर में 2 मिमी बरसात हुई।

Kolar News

Kolar News 2 July 2020

भोपाल। आगामी पांच जुलाई को ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की अमावस्या के अवसर पर जब पूरा देश गुरुपूर्णिमा का पर्व मना रहा होगा, तब आकाश में खगोलीय घटना होने जा रही है। इस दिन चंद्रग्रहण लगेगा। गुरुपूर्णिमा पर भारत में सुबह जब सूर्य के आगमन के साथ ही आकाश में चंद्रमा अस्त हो चुका होगा, तब यह खगोलीय घटना होगी। उस समय उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका में शाम हो रही होगी और वहां चंद्रमा उदित हो रहा होगा। यानी भारत में चंद्रग्रहण सुबह लगेगा, लेकिन यहां दिन होने के कारण हम चंद्रग्रहण को यहां देख नहीं पाएंगे। यह जानकारी भोपाल की राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बुधवार को दी।   उन्होंने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में बताया कि गुरुपूर्णिमा पर भारत में सुबह होगी, तब अमेरिका में शाम को चंद्रमा उपछाया ग्रहण से ग्रसित हो रहा होगा। वहीं देर रात होते-होते पश्चिमी अफ्रीका में यह ग्रहण दिखने लगेगा। उन्होंने चंद्रग्रहण की पूरी अवधि में भारत में दिन चल रहा होगा। इसलिये इस ग्रहण को उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका तथा पश्चिमी अफ्रीका में तो देखा जा सकेगा, लेकिन भारत में यह खगोलीय घटना दिन में होने के कारण यह ग्रहण को देखा नहीं जा सकेगा।   उन्होंने बताया कि इस साल पहला चंद्रग्रहण पांच जून को पड़ा था। इसके बाद विश्व योग दिवस के अवसर पर 21 जून के सूर्यग्रहण के बाद एक माह की अवधि में पृथ्वी पर दिखने वाला यह तीसरा ग्रहण होगा। सारिका ने बताया कि अगला चंद्रग्रहण इस साल 30 नवम्बर को होगा, लेकिन इसे मध्यप्रदेश के केवल कुछ पूर्वी जिलों रीवा-अनूपपुर में कुछ मिनट के लिये ही देखा जा सकेगा। मध्यप्रदेश सहित भारत में चंद्रगहण देखने के लिये 26 मई 2021 का इंतजार करना होगा।   गुरुपूर्णिमा पर पडऩे वाले चंद्रगहण का मध्यप्रदेश में समय  ग्रहण का आरंभ - प्रात: 8.38 बजे अधिकतम ग्रहण-  प्रात: 9.59 बजे ग्रहण समाप्ति -   प्रात: 11.21 बजे कुल ग्रहण अवधि:  2 घंटे 43 मिनट 24 सेकंड

Kolar News

Kolar News 1 July 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना की ग्रोथ रेट देश में सबसे कम और संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट 76 फीसदी से अधिक है। इसके बाद भी यहां नये मामलों में कमी नहीं आ रही है। बुधवार को चार जिलों में 105 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 13,698 हो गई है। जबकि प्रदेश में कोरोना से अब तक 576 लोगों की मौत हो चुकी है।    इंदौर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 1531 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई, जिनमें 25 पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4734 हो गई है। वहीं, इंदौर में कोरोना से तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। मृतकों में एक 62 वर्षीय महिला के साथ ही एक 27 वर्षीय युवक और 78 वर्षीय बुजुर्ग शामिल हैं। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 232 हो गई है। वहीं, मुरैना के सीएमएचओ डॉ. आरसी बांदिल ने बताया कि जिले में करोना के 46 नये मामले सामने आए हैं, जबकि एक व्यवसायी युवक की मृत्यु हुई है। इसके अलावा भिण्ड में 22 और सागर में 12 नये पॉजिटिव मिले हैं।   इन 105 नये मामलों के साथ अब राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 13,698 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 4734, भोपाल 2789, उज्जैन 859, खंडवा 315, बुरहानपुर 398, जबलपुर 401, खरगौन 289, धार 179, ग्वालियर 368, नीमच 443, मंदसौर 115, सागर 377, मुरैना 454, देवास 220, रायसेन 110, भिंड 245, बड़वानी 114, होशंगाबाद 41, रतलाम 157, रीवा 58, विदिशा 45, बैतूल 57, सतना 34, छतरपुर 56, डिंडौरी 30, दमोह 40, आगरमालवा 16, झाबुआ 16, अशोकनगर 44, शाजापुर 62, सीधी 20, सिंगरौली 16, दतिया 25, शहडोल 22, बालाघाट 26, श्योपुर 76, शिवपुरी 36, टीकमगढ़ 42, छिंदवाड़ा 59, नरिसंहपुर 31, सीहोर 15, उमरिया 10, पन्ना 34, अलीराजपुर 04, अनूपपुर 29, हरदा 30, राजगढ़ 94, गुना 15, मंडला 06, सिवनी 14. निवाड़ी 09 और कटनी 19 मरीज शामिल हैं।   वहीं, इंदौर में तीन और मुरैना में हुई एक मौत के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 576 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 232, भोपाल 97, उज्जैन 71, बुरहानपुर 23, खंडवा 17, जबलपुर 14, खरगौन 15, ग्वालियर 03, धार 06, मंदसौर 09, नीमच 07, सागर 21, देवास 10, रायसेन 05, होशंगाबाद 03, सतना 02, आगरमालवा 01, झाबुआ 01, अशोकनगर 01, शाजापुर 03, दतिया 01, छिंदवाड़ा 02, सीहोर 02, उमरिया 01, रतलाम 06, बड़वानी 03 मुरैना 04, राजगढ़ 06, श्योपुर 02, टीमकगढ़ 01, रीवा 01, गुना 01, हरदा 01, कटनी 02, सीधी 01 और मंडला का एक व्यक्ति शामिल है।   स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 10,395 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके हैं और वे स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर लौट आए हैं। अब प्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 2731 हैं।

Kolar News

Kolar News 1 July 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा उन 77 नगरीय निकायों की प्रारूप मतदाता सूची पर दावे-आपत्तियाँ लेने की कार्यवाही स्थगित कर दी गयी है, जिनके वार्डों के विस्तार को राज्य शासन द्वारा निरस्त कर दिया गया है।    राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव दुर्ग विजय सिंह ने बुधवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इन 77 नगरीय निकायों के लिए आयोग द्वारा अलग से कार्यक्रम जारी किया जायेगा। शेष नगरीय निकायों में मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्य यथावत जारी रहेगा।

Kolar News

Kolar News 1 July 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। यहां जितने मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे हैं, उतने ही रोजाना नये मरीज सामने आ रहे हैं। अब यहां 45 नये मामले सामने आए हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या चार हजार सात सौ के पार पहुंच गई है। वहीं, इंदौर में अब तक कोरोना से 229 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 1512 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की, जिनमें 45 पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 4709 हो गई है। वहीं, यहां तीन लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। मृतकों में एक 70 वर्षीय महिला के साथ 51 वर्षीय और 58 वर्षीय दो पुरुष शामिल हैं। अब इंदौर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 229 हो गई है। हालांकि, राहत की खबर यह है कि इंदौर में अब तक 3452 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1028 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 30 June 2020

इंदौर। कोरोना संकट के बीच विदेशों में फंसे देश के नागरिकों को वापस लाने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा वंदे भारत मिशन शुरू किया गया है। इस योजना के तहत यूक्रेन के कीव बोर्सपिल अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से एयर इंडिया की एक फ्लाइट 144 यात्रियों को लेकर मंगलवार सुबह इंदौर पहुंची। इनमें इंदौर से भी 29 यात्री शामिल हैं।   जानकारी के मुताबिक वंदे भारत मिशन के तहत यूक्रेन से कीव बोर्सपिल से रवाना हुई एयर इंडिया की यह फ्लाइट दिल्ली होते हुए मंगलवार सुबह 5.20 बजे इंदौर के देवी अहिल्याबाई होल्कर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंची। इस फ्लाइट में विदेशों में फंसे 144 यात्री यहां आए हैं, जिनमें 29 इंदौर के हैं, जबकि अन्य यात्री प्रदेश के अन्य जिलों सहित छत्तीसगढ़, गुजरात और महाराष्ट्र राज्यों के बताये गए हैं। एयरपोर्ट पर उनकी स्वास्थ्य जांच और स्क्रीनिंग की गई और फिर उनमें से बाहर के सभी यात्रियों को उनके गृह जिलों के लिए रवाना किया गया। बताया गया है कि इंदौर के 29 यात्रियों को एक निजी होटल में बनाए गए संस्थागत एकांतवास केन्द्र में रखा गया है, जहां उन्हें 14 दिन चिकित्सकों की निगरानी में रखा जाएगा।

Kolar News

Kolar News 30 June 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के दौरान लागू लॉकडाउन के चलते 22 मार्च के बाद से ही बसों का संचालन बंद हैं। एक जून से अनलॉक के बावजूद कोरोना संक्रमण को फैलाव को देखते हुए बसों का संचालन नहीं किया गया है। हालांकि, राज्य शासन ने बसों के संचालन की अनुमति दे दी है। इसके बावजूद अब तक बसें नहीं चल रही हैं, क्योंकि बस संचालक अपनी मांगों पर अड़े हैं और अब तक चालक-परिचालक संघ ने हड़ताल पर जाने की घोषणा भी कर दी है।    कोरोना संक्रमण के चलते तीन महीने से बसों का संचालन बंद है, लेकिन सरकार से अनुमति मिलने के बाद एक जुलाई से बसें शुरू होने की उम्मीद थी, लेकिन अब चालक-परिचालक संघ ने अपनी मांगों को लेकर प्रदेशभर में हड़ताल करने की घोषणा की है। प्रदेशभर के चालक-परिचालक एक जुलाई से हड़ताल पर जाने वाले हैं। उनका कहना है कि अगर सात जुलाई तक मांगों का निराकरण नहीं होने पर आगे अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू होगी।   संगठन के मिलिंद चौधरी ने मंगलवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना संकट के चलते चालक, परिचालकों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा है। पूर्व में भी प्रशासन को आर्थिक सहायता के लिए अवगत कराया गया। संघ ने मांग की है कि बसों के चालक और परिचालकों को तीन माह का वेतन 7500 रुपये प्रतिमाह की दर से मुख्यमंत्री राहत कोष, श्रम विभाग मंत्रालय, परिवाहन मंत्रालय से दिलाया जाए। केंद्र सरकार से जारी सहायता राशि भी चालक और परिचालकों को मिले। गरीबी रेखा, संबल योजना, बीमारी सहायता योजना में पंजीयन कराया जाए और 17 फरवरी 2014 को मुख्यमंत्री द्वारा महापंचायत में की गई चालक, परिचालक आयोग के गठन एवं 10 करोड़ रुपये वार्षिक फंड देने की घोषणा पर अमल किया जाए। इन्हीं मांगों को लेकर प्रदेशभर में चालक, परिचालक यूनियन 1 से 7 जुलाई तक हड़ताल कर आंदोलन कर रहे हैं।

Kolar News

Kolar News 30 June 2020

मुरैना। मुरैना जिला मुख्यालय सहित सभी नगरों के बाजार रविवार को पूर्णत: बंद रहेंगे। उल्लंघन करने वालों पर नगरीय निकाय द्वारा जिला प्रशासन व पुलिस के सहयोग से कानूनी व जुर्माने की कार्यवाही की जावेगी। वहीं बाजारों को तीन दिवस से लेकर 14 दिवस तक बंद रखने के आये सुझावों पर प्रशासन व पुलिस के अधिकारी व्यवसायिक संगठनों के साथ सोमवार रात को निर्णय करेंगे।   मुरैना जिले में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के उपाय खोजने हेतु आज आपदा प्रबंधन गुट की बैठक चम्बल संभाग आयुक्त कार्यालय में आयोजित हुई। इसमें प्रशासन, पुलिस, जनप्रतिनिधि, व्यवसायिक संगठन, पत्रकार, अधिकारीगण सहित एक सैकड़ा से अधिक लोग शामिल हुये। आयुक्त चम्बल संभाग मुरैना रविन्द्र कुमार मिश्रा ने बताया कि जिला चिकित्सालय प्रबंधन को निर्देशित किया है कि आईसोलेशन वार्ड की व्यवस्थाओं में व्यापक सुधार किये जावे। वहीं इन वार्डों में इलाजरत सभी मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिये योग व मनोरंजन की व्यवस्थायें उपलब्ध कराईं जाये। सभी ने यह तय किया है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वाली तथा मास्क का उपयोग न करने वाले लोगों पर जुर्माने की कार्यवाही निरंतर की जावे। वहीं इसके लिये जागरूकता अभियान भी चलाया जावे।

Kolar News

Kolar News 29 June 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश के लोगों के लिए राहत भरी खबर है। प्रदेश में आज से अच्छी बारिश की शुरूआत हो सकती है, जिससे लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिलेगी। राजधानी भोपाल में पिछले दो दिनों से बारिश पर विराम लगा हुआ है। रविवार को पूरे दिन कड़ी धूप निकलने के बाद शाम को बादल छाए लेकिन बारिश नहीं हुई। वहीं सोमवार सुबह से भी मौसम साफ है। हालांकि प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे को सिलसिला जारी है। वहीं मौसम विभाग ने प्रदेश के कुछ इलाकों में तेज बारिश की संभावना जताई है।    वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में उत्तर-पूर्वी मप्र. से मराठवाड़ा तक एक द्रोणिका लाइन(ट्रफ) बनी हुई है। इससे अरब सागर से नमी आ रही है। उधर प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर रुक-रुक कर बौछारें पडऩे के कारण वातावरण में भी काफी नमी बरकरार है। इस वजह से तापमान बढ़ते ही शाम के वक्त बारिश होने लगती है। पश्चिम बंगाल के आसपास एक ऊपरी हवा का चक्रवात बन गया है। इसके प्रभाव से सोमवार से प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में तेजी आएगी। विशेषकर उत्तरी मध्य प्रदेश में कहीं-कहीं अच्छी बरसात की भी संभावना है।   इन जिलों में तेज बारिश की चेतावनीमध्य प्रदेश के रीवा, सतना, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, पन्ना और बैतूल में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं भोपाल, होशंगाबाद, रीवा, सागर, ग्वालियर और चंबल संभागों के जिलों में और इंदौर व धार जिले में गरज-चमक के साथ बारिश और बिजली चमकने की चेतावनी भी जारी की गई है। वहीं भोपाल शहर में लगातार चौथे दिन रविवार को भी शाम को कुछ देर के लिए झमाझम बरसात हुई। करीब एक घंटे में 1 सेमी.बारिश रिकार्ड की गई। जून में अभी तक सीजन की 40 सेमी. बरसात हो चुकी है। जो कि सामान्य(लगभग 15 सेमी.) के मुकाबले 25 सेमी. अधिक है। मौसम विज्ञानियों ने सोमवार से प्रदेश के कुछ स्थानों पर बरसात की गतिविधियों में तेजी आने की संभावना जताई है।   मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक रविवार को अधिकतम तापमान 33.9 डिग्री दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 24 डिग्री दर्ज हुआ। शहर में सुबह से ही आसमान पर आंशिक बादल मौजूद थे। दोपहर में धूप निकलने से वातावरण में उमस बढ़ गई थी। उधर शाम ढलते ही तेज हवा के साथ बादल घिर आए और शहर के अलग-अलग स्थानों पर तेज बौछारें पड़ीं। इससे वातावरण में ठंडक घुल गई।

Kolar News

Kolar News 29 June 2020

अनूपपुर। मुख्यमंत्री की नराजगी का असर सप्ताहिक होने वाली समय सीमा की समीक्षा बैठक में सोमवार को दिखा जहां कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने कड़े शब्दो में अधिकारियो को वनाधिकार दावों को निरस्त करने से पूर्व एक बार पुन: विचार करने, निरस्त का कारण स्पष्ट होना एवं भौतिक सत्यापन अवश्य होने की बात पर जोर दिया। उन्होने राजस्व,ग्रामीण विकास एवं वन विभाग के अधिकारियों के संयुक्त दल को प्रकरणो का संयुक्त भ्रमण कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। दल में राजस्व से एसडीएम, तहसीलदार अथवा नायब तहसीलदार, वन विभाग से एसडीओ, रेंजर एवं ग्रामीण विकास विभाग से सीईओ जनपद शामिल होंगे। जिसमे कोई भी पात्र वनाधिकार पट्टे से वंचित नही होना चाहिए। चिन्हित विषयों, सीएम हेल्पलाइन प्रकरण, लोक सेवा गारंटी अधिनियम में अधिसूचित सेवाओं के प्रदाय की स्थिति की समीक्षा के दौरान सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिंद नागदेवे सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी शामिल रहे। मनरेगा के तहत सतत रूप से कार्य चालू रख अधिक से अधिक लोगों को नियोजित करने, मानसून को दृष्टिगत रखते हुए फलोद्यान के कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश दिये। सीईओ जिला पंचायत ने बताया कि वर्तमान में लगभग 45 हजार लोगों को मनरेगा के तहत प्रतिदिन कार्य उपलब्ध हो रहा है। समीक्षा के दौरान प्रवासी श्रमिकों की स्किल मैपिंग की यह बात सामने आई कि अब तक पंजीकृत 3644 श्रमिकों में से सिर्फ 20 प्रतिशत की स्किल मैपिंग का कार्य पूर्ण पर नराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर ने सम्बंधित अधिकारियों को उक्त कार्यवाही प्राथमिकता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही श्रम, उद्योग विभाग एवं निर्माण एजेंसी के अधिकारियों को सम्बंधित पंजीकृत नियोक्ताओं को स्थानीय प्रवासी श्रमिकों को नियोजित किए जाने हेतु प्रेरित करने, सम्बंधित नियोक्ताओं/ रोजगार प्रदाताओं/ ठेकेदारों को अपेक्षित कौशल वाले प्रवासी श्रमिकों से सम्पर्क करने गौशाला निर्माण कार्यों की अद्यतन स्थिति की समीक्षा के दौरान प्रगति संतोषजनक न पाए जाने पर सम्बंधित अधिकारियों फटकार लगाते हुए शीघ्रता से कार्य पूर्ण करने,खाद/उर्वरक की उपलब्धता पर स्टाक की पर्याप्त उपलब्धता नियमित रूप से बनाकर निगरानी रखें। बैठक में सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों की समीक्षा में स्वास्थ्य एवं जनजातीय विकास विभाग के अधिकारियों को लम्बित प्रकरणो की बढ़ती संख्या को चिन्हित करते हुए विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। ऊर्जा, ग्रामीण विकास एवं राजस्व विभाग की निराकरण की स्थिति संतोषजनक नही पाए जाने पर अधिकारियो को फटकार लगाते हुए 1 सप्ताह के अंदर स्थितियों में सुधार लाने के निर्देश दिये। उन्होने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि 100 दिवस से अधिक समय से लम्बित शिकायतों का शत प्रतिशत निराकरण करने हेतु कार्ययोजना बना कार्यवाही सुनिश्चित करें। बिना विचारण प्रकरण का अग्रेषण एवं स्पष्ट उत्तर न पाए जाने पर सम्बंधित विभागीय अधिकारी जिम्मेवार होंगे।

Kolar News

Kolar News 29 June 2020

मंदसौर। चातुर्मास के चार माहों को धार्मिक आयोजनों के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इन्हें चार माहों पर कई बड़े धार्मिक परंपरागत आयोजन होते हैं। मानसूनी महीने होने और हिन्दू रिती रिवाज के अनुसार इन चार माहों में कोई मांगलिक आयोजन भी नहीं होते हैं। इसलिए आमजन धार्मिक आयोजनों में सम्मिलित होते हैं। पूरे वर्ष में सबसे ज्यादा धार्मिक आयोजन इन्ही चार माहों में होते है। लेकिन इस बार चातुर्मास के धार्मिक आयोजनों पर कोरेाना का असर है।  बड़े धार्मिक आयोजन इस बार नहीं होगे।    जैन समाज के साधु साध्वियों द्वारा चातुर्मास के दौरान अनेक धार्मिक गतिविधियां संचालित कि जाती है। जिसमें बड़े संख्या में धर्मालुजन आते है लेकिन इस बार कोरेाना से बचाव के नियमों के तहत कोई बड़े आयोजन नहीं हो पायेंगा। चातुर्मास का पहला माह सावन माह को भगवान शिव की आराधना का महीना कहा जाता है। मंदसौर में विश्व प्रसिद्ध भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव का मंदिर होने के कारण यहां पर सावन माह महत्व बढ़ जाता है। लेकिन इस सावन माह पर भी कोरोना की कुदृष्टि है। राज्य शासन के आदेश के अनुसार इस बार कावड यात्राएं नहीं निकल पायेंगी। कावड़ यात्राओं के न निकलने से सावन माह का आधा महत्व तो खत्म ही हो जायेगा। शिव मंदिरों में भी भक्तों के आने पर विशेष नियम बनाए जा रहे है। कुल मिलाकर इस बार धार्मिक आयोजनों पर भी कोरोना का भयंकर असर रहेगा।    शाही सवारी पर भी संदेह के बादल   प्रतिवर्ष सावन के अंतिम सोमवार को मंदसोर में भगवान श्री पशुपनिताथ महादेव की शाही सवारी निकलती है। जिसमें समूचे से लगभग एक लाख से अधिक लोग सम्मिलित होते है। ऐसे में इस बार शाही सवारी पर भी कोरोना के कारण संदेह के बादल रहेगे या हो सकता है इस बार शाही सवारी का स्वरूप छोटा कर दिया जायें।    सावधानी रखना भी जरूरी  मंदसौर में कोरोना के मामले लगातार बढ रहे हैं। इस सप्ताह में कुल 10 नये कोरोना के मामले सामने आ चुके है। ऐसे में कोरोना अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ हे, इसलिए सावधानी रखना बेहद जरूरी है। 

Kolar News

Kolar News 27 June 2020

भोपाल। प्रदेश में आयुष विभाग द्वारा जनसाधारण को कोरोना संक्रमण से बचाव और इलाज के लिये बड़े पैमाने पर आयुर्वेदिक, होम्योपैथी और यूनानी पद्धति का प्रयोग किया जा रहा है। इसके तहत आयुष विभाग के 1847 दलों द्वारा गत मार्च से विभिन्न पद्धतियों की दवा और खासतौर पर आयुर्वेदिक काढ़े का डोर-टू-डोर वितरण किया जा रहा है।   जनसंपर्क अधिकारी बबीता मिश्रा ने शनिवार को जानकारी देते हुए बताया कि इन दलों में सम्मिलित आयुष चिकित्सक, पैरामेडिक तथा आयुष चिकित्सक छात्रों द्वारा अब तक प्रदेश के एक करोड़ 29 लाख परिवारों के 3 करोड़ 14 लाख से अधिक लाभार्थियों को आयुष रोग प्रतिरोधक औषधियों का वितरण किया गया है। इनमें एक करोड़ 29 लाख शहरी क्षेत्र के और एक करोड़ 85 लाख ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थी शामिल हैं। चिकित्सा पैथियों के मान से 48 लाख परिवारों को आयुर्वेदिक दवा, 77 लाख परिवारों को होम्योपैथी दवा और 4 लाख परिवारों को यूनानी दवा दी गई। इस प्रकार कुल एक करोड़ 44 लाख आयुर्वेदिक दवा, एक करोड़ 54 लाख होम्योपैथी दवा तथा 16 लाख 60 हजार नागरिकों को यूनानी दवा वितरित की जा चुकी है।   यही नहीं आयुष मंत्रालय, भारत सरकार की एडवाइजरी के मुताबिक आयुष विभाग, मध्यप्रदेश ने आयुर्वेदिक काढ़ा, सनशवनी वटी तथा अणु तेल का वितरण भी 23 मार्च से किया जा रहा है। गौरतलब है क‍ि मुख्यमंत्री चौहान द्वारा 27 अप्रैल से इसे जीवन अमृत योजना के अंतर्गत लिया गया। इसमें प्रदेश के एक करोड़ नागरिकों को त्रिकटू काढ़ा (चूर्ण) नि:शुल्क वितरित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। योजना के तहत 24 जून तक एक करोड़ 44 लाख 10 हजार व्यक्तियों को त्रिकटू काढ़े का वितरण किया जा चुका है। इसमें 27 अप्रैल के बाद लाभान्वित 72 लाख 61 हजार व्यक्ति भी सम्मिलित हैं। काढ़े की मॉनीटरिंग के लिए इसे सार्थक एप से भी जोड़ा गया है।

Kolar News

Kolar News 27 June 2020

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। अब यहां 32 नये मामले सामने आए हैं, जबकि चार लोगों की कोरोना से मौत हुई है। इसके बाद जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 4575 हो गई है। वहीं, अब तक इंदौर में कोरोना से 218 लोगों की मौत हो चुकी है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार को देर रात 1248 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की, जिनमें 32 रिपोर्ट पॉजिटिव और शेष निगेटिव आई हैं। इन नये मामलों के साथ अब जिले में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4574 हो गई है। वहीं, इंदौर में चार लोगों की मौत की भी पुष्टि हुई है। मृतकों में 70 वर्षीय और 80 वर्षीय दो बुजुर्ग महिलाओं के साथ 62 वर्षीय तथा 71 वर्षीय दो पुरुष भी शामिल हैं। अब इंदौर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 218 हो गई है।    सीएमएओ के अनुसार, अब तक इंदौर में 3397 संक्रमित मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 960 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 27 June 2020

हरदा। कोरोना वायरस संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिला प्रशासन खंडवा द्वारा आगामी 10 जुलाई तक श्री दादाजी धूनीवाले मंदिर को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। जिला कलेक्टर अनुराग वर्मा ने हरदा जिले में निवासरत श्री दादाजी धूनीवाले के अनुयायियों से अपील की है कि वे गुरु पूर्णिमा का पर्व अपने निवास स्थान पर ही मनाए तथा 10 जुलाई तक दर्शन के लिए खंडवा न जाए।    उल्लेखनीय है कि प्रतिवर्ष गुरू पूर्णिमा के अवसर पर लाखों श्रद्धालुगण दर्शन के लिए श्री दादाजी धूनीवाले धाम खंडवा पहुंचते है। इतनी अधिक संख्या में श्रद्धालुओं के एकत्रित होने पर संक्रमण फैलने की आशंका को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर खंडवा अनय द्विवेदी के नेतृत्व में जिला प्रशासन द्वारा मंदिर बन्द रखने का निर्णय लिया गया है।

Kolar News

Kolar News 25 June 2020

इंदौर। एयर इंडिया द्वारा वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों को फंसे देशवासियों को भारत लाया जा रहा है, लेकिन दुबई और खाड़ी देशों में फंसे लोगों को एयर इंडिया की उड़ान नहीं मिली तो वे खुद एयर अरेबिया का चार्टर विमान कर भारत लौट आए। शारजाह से एक चार्टर विमान गुरुवार को इंदौर एयरपोर्ट पहुंचा, जिसमें 168 यात्री यहां आए हैं। इनमें 140 इंदौर के रहने वाले हैं, जबकि शेष 28 महाराष्ट्र, गुजरात और अन्य राज्यों के हैं।   बताया गया है कि ये सभी यात्री दुबई और खाड़ी देशों में फंसे हुए थे और तीन महीने से अपने वतन लौटने का इंतजार कर रहे थे। एयर इंडिया द्वारा वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा रहा है, लेकिन इन लोगों को फ्लाइट नहीं मिल रही थी। इसीलिए उन्होंने एयर अरेबिया की चार्टर विमान सेवा ली और सीधे शारजाह से इंदौर पहुंचे। गुरुवार सुबह 6.00 बजे शारजाह से यह विशेष एयर अरेबिया का विमान 168 भारतीयों को लेकर रवाना हुआ और 11.00 इंदौर एयरपोर्ट पर उतरा। कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए प्रशासन द्वारा इंदौर आए सभी यात्रियों को 24 घंटे के लिए एकांतवास केन्द्र में आइसोलेट करने का फैसला लिया गया। शहर के धार रोड के सिंहासा स्थित जगतगुरू दत्तात्रेय कॉलेज ऑफ फार्मेसी में तैयार किये गए विशेष वार्ड व आईसीयू वार्ड में भेज दिया गया है, जहां उन्हें सात दिन तक चिकित्सकों की निगरानी में रहना पड़ेगा।

Kolar News

Kolar News 25 June 2020

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां अब 22 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 2665 हो गई है। हालांकि, भोपाल में 22 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर भी लौट गए हैं। अब तक यहां 1900 से अधिक मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं।   भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, राजधानी में गुरुवार सुबह प्राप्त रिपोर्ट में 32 नये कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या बढक़र 2665 हो गई है। वहीं, गुरुवार को यहां विभिन्न अस्पतालों में उपचाररत 22 व्यक्तियों को डिस्चार्ज कर अपने घर भेजा गया है। राजधानी अब तक कोरोना से 90 लोगों की मौत हो चुकी है। अब यहां सक्रिय मरीज 488 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों में उपचार जारी है।     इंदौर जिले में मिले कोरोना के 46 नए मरीज जिले में कोरोना का कहर जारी है। मंगलवार को बाम्बे हॉस्पिटल के एक डॉक्टर और उसके परिजनों के पॉजीटिव पाए जाने के बाद बुधवार को भी जिले में कोरोना के 46 नए मरीज मिले हैं । वहीं, कोरोना संक्रमण के चलते जिले में बुधवार को चार और मौतें हुईं। इन्हें मिलाकर कोरोना के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 211 पर पहुंच गई है।   मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया द्वारा जारी किए गए बुलेटिन के अनुसार जिले में बुधवार को 46 नए कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। जिले से जांच के लिए कुल 1493 सैंपल भेजे गए थे, जिनमें से बुधवार शाम को 46 रोगियों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई। वहीं, बुधवार को विभिन्न अस्पतालों में उपचार करा रहे 54 मरीजों को स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इस तरह जिले में अब एक्टिव केस की संख्या 952 हो गई है, जिनका उपचार किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इंदौर जिले में अब तक 4507 कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं, जिनमें से 3344 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

Kolar News

Kolar News 25 June 2020

धार। भगवान कृष्ण द्वारा रुक्मिणी का हरण करने वाला स्थल प्रदेश के धार जिले का अमझेरा स्थित अमका झमका परिसर है । बारिश के दिनों में हरियाली से आच्छादित यह मंदिर परिसर एक अनोखे रूप में होता है, लेकिन गर्मी के दिनों में यहां सब कुछ वीरान नजर आने लगता है। इस बार जिला प्रशासन के सहयोग से जिला पंचायत ने पूरे मंदिर परिसर को एक नया रूप देने का प्रयास किया है, जिससे आने वाली नवरात्रि में यहां की छटा कुछ अलग ही रहेगी।    बुधवार को कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने अमका झमका मंदिर परिसर का निरीक्षण किया और यहां की महत्ता को समझा। जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए किए जा रहे काम को देखकर कलेक्टर प्रसन्न नजर आए और उन्होंने कहा, सब कुछ ठीक चल रहा है। अमका झमका मंदिर परिसर में राजराजेश्‍वर मंदिर के पास 250 पौधे लगाए जा चुके हैं, वहीं पूरे परिसर में 625 पौधे लगाने की तैयारी की जा रही है। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर के साथ जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी संतोष वर्मा की मौजूद रहे।   यह है परंपरा प्राचीन रुक्मिणी हरण स्थल मां अमका झमका तीर्थ पर वर्षों से चली आ रही परिपाटी वाली परंपरा का निर्वहन जारी है। हर वर्ष यहां अमझेरा के विभिन्न पंडित परिवार के समाजजन अपनी सेवा में मंदिर की चाबी एक दूसरे को सौंपते हैं। यह कार्य हर शारदीय नवरात्रि के एक दिन पूर्व अमावस्या को किया जाता है। पुजारी आने वाले पंडित को विधिवत चाबी सौंपता है। जिस पंडित का सेवा का वर्ष रहता है वह अमावस्या की रात विधिवत माताजी के पट खोलता है। इसी परंपरा में शनिचर अमावस्या की रात में वर्तमान पंडित पर्व ने अभिजीत पंडित को चाबी सौंपता है, जो रात में 12 बजे मंदिर के पट खोलते हैं। यह अनूठी परंपरा वर्षों से चली आ रही है। इसमें एक बड़ी बात यह भी देखने में मिली है कि यदि पंडित परिवार अमझेरा छोड़कर कहीं बाहर बसते हैं तो उनके परिजन सेवा देते है। यानी एक परिवार के सभी भाई मिलकर सेवा देते है। यहां अष्टमी को माता अंबिका, नवमी को माता चामुंडा व झमका माता का विशेष यज्ञ होकर पूर्णाहुति दी जाती है. नवदुर्गा में विशेष अनुष्ठान पाठ किए जाते है।   पंवार वंश की कुलदेवी है रतलाम, झाबुआ, मुंबई, भोपाल आदि शहरों व प्रांतों से अष्टमी व नवमी को कुलदेवी पूजने बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते है।  माता चामुंडा पंवार वंश की कुलदेवी है। इसलिए महाराष्ट्र के बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां दोनों नवरात्रि में यहां आते है।

Kolar News

Kolar News 24 June 2020

भोपाल। मध्य प्रदेश को मानसून के बादलों ने तरबतर करना शुरू कर दिया है। राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में बारिश का सिलसिला तेज हो गया है। बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में मानसूनी हलचल बढऩे के साथ ही पिछले छह