Video
Advertisement

विशेष

भोपाल। भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पहले देश में चारों तरफ निराशा का माहौल था। फिर 2014 में मोदी आपके बीच उम्मीद लेकर आया। 2019 में दोबारा आया तो विश्वास लेकर आया और आज 2024 में मोदी आपके पास गारंटी लेकर आया है। मोदी की गारंटी यानी गारंटी पूरी होने की गारंटी। मोदी की गारंटी है कि गरीब, किसान, युवा और माताएं-बहनें हर लाभार्थी को शत- प्रतिशत सुविधाएं मिलेगी। उन्होंने कहा कि जिनके पास गारंटी देने के लिए कुछ नहीं है, उनकी गारंटी मोदी ने ली है। प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार को दमोह के इमलाई में भाजपा उम्मीदवार राहुल लोधी के समर्थन में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह चुनाव केवल सांसद को चुनने का चुनाव नहीं बल्कि देश के भविष्य को सुनिश्चित करने का चुनाव है। यह चुनाव आने वाले पांच साल में भारत को दुनिया की बड़ी शक्ति बनाने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि परिवारवादी और भ्रष्टाचारी नेताओं को मोदी की गारंटी बेचैन कर रही है। वे कहते हैं कि तीसरी बार भाजपा सरकार बनी तो आग लग जाएगी। इंडी गठबंधन के लोग मोदी को आए दिन धमकियां दे रहे हैं लेकिन मोदी इनकी धमकियों से न पहले डरा है और न कभी डर सकता है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया के कई देशों की स्थिति बहुत खराब है। कई देश दिवालिया हो रहे हैं। हमारा एक पड़ोसी जो आतंक का सप्लायर था वो अब आटे की सप्लाई के लिए तरस रहा है। ऐसे हालात में हमारा भारत दुनिया में सबसे तेजी से विकसित हो रहा है। आज देश में वो भाजपा सरकार है जो न किसी से दबती है और न ही किसी के सामने झुकती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब दुनिया में युद्ध का माहौल हो। घटनाएं घट रही हो तो भारत में युद्धस्तर पर काम करने वाली सरकार बहुत जरूरी है। ये काम पूर्ण बहुमत वाली भाजपा सरकार ही कर सकती है। स्थिर सरकार कैसे देश और देशवासियों के हित में काम करती है, ये हमने बीते वर्षों में देखा है। हमारा सिद्धांत है, राष्ट्र प्रथम। भारत को सस्ता तेल मिले इसलिए हमने देशहित में फैसला लिया। किसानों को पर्याप्त खाद मिले इसलिए देशहित में फैसला लिया। बुंदेलखंड में पानी की समस्या का समाधान करने के लिए मोदी पूरी ईमानदारी से जुटा है। 45 हजार करोड़ से ज्यादा खर्च कर केन-बेतवा लिंक परियोजना को पूरा कर रहे हैं। हर घर जल अभियान के तहत पानी पहुंचा रहे हैं। मुद्रा योजना के तहत ऐसे युवाओं को लाखों करोड़ रुपये का ऋण उपलब्ध कराया है। अब भाजपा ने अपने घोषणापत्र में घोषणा की है कि मुद्रा योजना में मदद को बढ़ा कर अब 20 लाख रुपये तक किया जाएगा। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी विशेष विमान से दोपहर एक बजकर 15 मिनट पर खजुराहो एयरपोर्ट पहुंचे और यहां से हेलीकॉप्टर द्वारा दमोह पहुंच कर जनसभा को संबोधित किया।

Kolar News

Kolar News

बिष्णुपुर। मणिपुर के बिष्णुपुर जिलांतर्गत मैरांग में एक मतदान केंद्र पर दो समूहों के बीच गोलीबारी हुई। इस घटना में करीब एक घंटे तक मतदान प्रक्रिया बाधित रही। गोलीबारी की घटना से मतदाताओं में दहशत फैल गयी। हालांकि, प्रशासन और सुरक्षा बलों के सख्त रुख के कारण स्थिति नियंत्रण में है।   यह घटना शुक्रवार सुबह मणिपुर संसदीय क्षेत्र के बिष्णुपुर जिले के मैरांग विधानसभा क्षेत्र के थमनपोकपी में हुई। नागरिक सुबह से ही थमनपोकपी में मतदान केंद्र पर कतार में लगकर उत्साहपूर्वक अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे थे लेकिन अचानक दोनों प्रतिद्वंद्वी गुटों के बीच गोलीबारी शुरू हो गयी। हालांकि, इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ लेकिन मतदान का इंतजार कर रहे घबराए मतदाता इधर-उधर भागने लगे। संबंधित मतदान केंद्रों और उसके आसपास पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। मामला शांत होने पर करीब एक घंटे बाद दोबारा मतदान प्रक्रिया शुरू हुई।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने आम चुनावों के दौरान देश में अबतक 4650 करोड़ रुपये की जब्ती की है। यह 75 साल के चुनावी इतिहास में अबतक की सबसे बड़ी जब्ती है। आयोग का कहना है कि आगे भी ऐसी ही तेज गति से कार्रवाई जारी रहेगी। चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार अबतक 395.39 करोड़ रुपये नकद, 489.31 करोड़ रुपये की शराब, 2068.85 करोड़ रुपये की ड्रग्स, 562.10 करोड़ रुपये का सोना, 1142.49 करोड़ की मुफ्त सामग्री जब्त की है। पिछले आम चुनाव के मुकाबले इस बार ड्रग्स और मुफ्त सामग्री में अधिक जब्ती हुई है। आयोग की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार 18वीं लोकसभा के चुनाव के लिए शुक्रवार को पहले चरण का मतदान शुरू होने से पहले ही प्रवर्तन एजेंसियों ने धनबल के खिलाफ ईसीआई की दृढ़ लड़ाई में 4650 करोड़ रुपये से अधिक की रिकॉर्ड जब्ती की है। पूरे 2019 के चुनावों के दौरान 3475 करोड़ रुपये की जब्ती की गई थी। 45 प्रतिशत जब्ती ड्रग्स और नशीले पदार्थों की है, जिन पर आयोग का विशेष ध्यान है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज केरल में एक चुनावी रैली में कांग्रेस और राहुल गांधी पर परोक्ष रूप से हमला बोला। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में अपने पारिवारिक गढ़ को बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहे एक प्रमुख कांग्रेस नेता ने केरल में शरण ली है।   त्रिशूर के अलाथुर शहर में इस चुनावी रैली में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिये बिना प्रधानमंत्री ने तंज कसते हुए कहा, “कांग्रेस के एक बड़े नेता, जिनको यूपी में अपनी खानदानी सीट पर इज्जत बचाना मुश्किल हो गया है, उन्होंने केरल में ठिकाना लिया है।” कांग्रेस पर हमला तेज करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि चुनाव जीतने के लिए यहां कांग्रेस ने उस संगठन की राजनीतिक शाखा से गुप्त समझौता किया है, जिसको देश में बैन किया गया है। केरल के लोगों के प्रति अपनी वास्तविक चिंता जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “केरल के लोगों को एलडीएफ-यूडीएफ दोनों से सावधान रहना होगा।" प्रधानमंत्री ने विपक्ष की कड़वी सच्चाई को भी उजागर किया और कहा, “केरल में भले ही कांग्रेस पार्टी लेफ्ट के लोगों को आतंकवादी कहती है लेकिन दिल्ली में ये लोग एक साथ बैठकर चुनावी गठबंधन करते हैं। कभी कांग्रेस के भाई-भतीजावाद के आलोचक रहे वामपंथी अब इस मामले पर उनकी सलाह चाहते हैं। आईएनडीआई गठबंधन के तहत एकजुट होकर वे भ्रष्टाचार पर मोदी की कार्रवाई से डरते हैं। उनका साझा लक्ष्य मोदी हैं लेकिन निश्चिंत रहें, भाजपा और एनडीए के लिए हर वोट गरीबों के कल्याण के लिए बोलेगा।”' भाजपा के हाल ही में जारी चुनावी घोषणा पत्र पर भरोसा जताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र देश के विकास का संकल्प पत्र है। घोषणापत्र के हर पन्ने पर मोदी की गारंटी है। मोदी ने यह भी कहा कि मोदी की गारंटी का मतलब है कि 70 साल से अधिक उम्र के सभी वरिष्ठ नागरिकों को आयुष्मान योजना के तहत मुफ्त चिकित्सा उपचार मिलेगा। पीएम आवास योजना के तहत गरीबों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाए जाएंगे, मोदी की गारंटी का मतलब है कि केरल के हर जन औषधि केंद्र पर लोगों को 80 प्रतिशत छूट पर सस्ती दवाएं मिलती रहेंगी और मोदी की गारंटी यानी हमारे युवाओं को अब मुद्रा योजना के तहत 10 लाख की जगह 20 लाख रुपये का सहयोग मिलेगा। विपक्ष के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व में हमारा देश तेजी से प्रगति कर रहा है। हालांकि, केरल में एलडीएफ-यूडीएफ राज्य को पीछे की ओर खींच रहा है। केरल के विकास के लिए एनडीए के प्रयासों के बावजूद राज्य सरकार प्रगति में बाधा डालती है और राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का विरोध करती है। जहां लेफ्ट का शासन हो जाता है, वहां कुछ भी बाकी नहीं रहता और कुछ भी सही नहीं होता। हमने इसे बंगाल और त्रिपुरा में देखा है और दुख की बात है कि केरल भी इसका अपवाद नहीं है।” प्रधानमंत्री ने कहा कि अफसोस की बात है कि केरल जो कभी अपनी शांति के लिए जाना जाता था, अब बड़े पैमाने पर हिंसा और अराजकता से जूझ रहा है। राजनीतिक हत्याएं खुलेआम होती हैं और कॉलेज परिसर असामाजिक तत्वों को आश्रय देते हैं। सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने वालों को सरकारी संरक्षण मिलता है, जिससे हमारे बच्चों की सुरक्षा को भी ख़तरा होता है। मौजूदा शासन पर तीखा कटाक्ष करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “तीन साल तक, सीपीएम मुख्यमंत्री ने सहकारी घोटाले के पीड़ितों के लिए न्याय का झूठा वादा किया। यह आपके सेवक मोदी थे, जिनके नेतृत्व में जांच शुरू की गई, जिससे दोषियों की 90 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई। पीड़ितों को धनराशि की वापसी सुनिश्चित करने के लिए कानूनी सलाह मांगी गई है। भाजपा सरकार पहले ही देशभर में घोटाला पीड़ितों को 17,000 करोड़ रुपये वापस कर चुकी है। निश्चिंत रहें, इस भ्रष्ट योजना में खोए गए धन को वापस पाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।”

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट ने दिल्ली आबकारी घोटाला मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की न्यायिक हिरासत 23 अप्रैल तक बढ़ा दी है। स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने ये आदेश दिया। आज केजरीवाल की न्यायिक हिरासत खत्म हो रही थी जिसके बाद उन्हें वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया। उल्लेखनीय है कि कोर्ट ने केजरीवाल को 1 अप्रैल को आज तक की न्यायिक हिरासत में भेजा था। 28 मार्च को कोर्ट ने केजरीवाल को 1 अप्रैल तक की ईडी हिरासत में भेजा था। 28 मार्च को पेशी के दौरान केजरीवाल ने कहा था कि ये राजनीतिक साजिश है, जनता इसका जवाब देगी। केजरीवाल ने खुद कोर्ट में अपनी बात रखते हुए कहा था कि असली घोटाला तो ईडी की जांच के बाद शुरू हुआ। ईडी का मकसद आम आदमी पार्टी को खत्म करना है। केजरीवाल ने कहा था कि ईडी का मकसद स्मोक क्रिएट करना था कि आम आदमी पार्टी भ्रष्टाचारी है। केजरीवाल ने कहा था कि ईडी का दूसरा मकसद उगाही करना है। केजरीवाल ने कहा था कि इस मामले में शरद रेड्डी ने गिरफ्तारी के बाद भाजपा को 55 करोड़ रुपये दिये। भाजपा को इलेक्टोरल बांड के रूप में पैसा देने के बाद शरद रेड्डी को जमानत मिल गई। उल्लेखनीय है कि 21 मार्च को दिल्ली हाई कोर्ट से अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तारी से संरक्षण नहीं मिलने के बाद ईडी ने 21 मार्च देर शाम अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था। 27 मार्च को हाई कोर्ट ने केजरीवाल को कोई भी राहत देने से इनकार कर दिया था। हाई कोर्ट ने 28 मार्च को केजरीवाल को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी थी।

Kolar News

Kolar News

भोपाल/होशंगाबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां एक बार फिर कांग्रेस पर करारा हमला किया। उन्होंने बाबा साहेब को अपमानित करने और अपने हिसाब से इतिहास को तोड़ने-मरोड़ने के साथ खुद का महिमामंडित कराने का आरोप कांग्रेस पर लगाया। प्रधानमंत्री मोदी रविवार को मध्य प्रदेश के दौरे पर हैं। उन्होंने होशंगाबाद लोकसभा क्षेत्र के पिपरिया में भाजपा उम्मीदवार दर्शन सिंह चौधरी के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज संविधान निर्माता बाबा साहब आंबेडकर की जयंती है। कांग्रेस ने बाबा साहब को हमेशा अपमानित किया। कांग्रेस ने अपने हिसाब से इतिहास को तोड़ा-मरोड़ा और खुद का ही महिमामंडन कराया। कांग्रेस की मानें तो तब लोकतंत्र सही चल रहा था। अब जब गरीबों का भला होने लगा तो कांग्रेस अफवाह फैलाने में लगी कि मोदी आया है, लोकतंत्र को खतरा है।   तीसरी बार सेवा करने का मौका मांग रहा मोदी प्रधानमंत्री मोदी ने कि आज देश के इतिहास का बहुत बड़ा दिन है। आज संविधान निर्माता बाबासाहेब अंबेडकर की जयंती है। उनकी जन्मस्थली महू यहां से ज्यादा दूर नहीं है। महू में उनका घर हो या देश-विदेश में वे जहां भी रहे, उन स्थानों को पंचतीर्थ के रूप में विकसित करने का सौभाग्य भाजपा सरकार को मिला है। जो सम्मान कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कभी नहीं दिया, वो सम्मान करने का सौभाग्य हमें मिला है। कांग्रेस जैसी पार्टियों ने हमेशा बाबासाहेब को अपमानित करने का काम किया है। बाबासाहेब ने जो संविधान बनाया है, उसके कारण ही आज गरीब मां का बेटा मोदी तीसरी बार आपसे सेवा करने का मौका मांग रहा है।   कांग्रेस का शाही परिवार दे रहा धमकी प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब तो कांग्रेस का शाही परिवार धमकी दे रहा है कि मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री बना तो देश में आग लग जाएगी। बस देश को डराओ, घबराओ, आग फैलाओ। आज देश में आग नहीं लगी। यह जलन उनके दिल और दिमाग में ऐसे भरी पड़ी है कि वह उनको अंदर से जलाती जा रही है। मोदी ने कहा कि इतनी धूप में लोगों की बड़ी संख्या में आशीर्वाद देने आए हैं। मुझे बताया गया था कि शनिवार को यहां तेज बारिश हुई थी, पता नहीं कार्यक्रम हो पाएगा या नहीं लेकिन आपके प्यार ने इसे सफल बना दिया।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने रविवार को संकल्प पत्र नाम से पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संकल्प पत्र का लोकार्पण किया।   प्रधानमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता मोदी ने संकल्प पत्र को 140 करोड़ देशवासियों की आकांक्षाओं को पूरा करने का मिशन बताया। उन्होंने कहा कि संकल्प पत्र युवा, नारी, गरीब और किसान को सशक्त करने की हमारी सोच से प्रेरित है। भाजपा लोगों को सम्मान के साथ गुणवत्तापूर्ण जीवन और नए अवसर देना चाहती है। उन्होंने एकसाथ राज्यों एवं केन्द्र में चुनाव और समान नागरिक संहिता पर जोर देते हुए अपने अगले कार्यकाल में भ्रष्टाचारियों पर सख्त कार्रवाई की गारंटी दी। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्रियों, पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं और मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने विकसित भारत के संकल्प को दोहराया। संकल्प पत्र में उल्लेखित गारंटियों को जिक्र करते हुए उन्होंने देश के समाजिक, डिजिटल और भौतिक ढांचागत सुविधाओं को विस्तार देने की अपनी सरकार की नीति को जारी रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार आने पर राष्ट्रीय सहकारिता नीति लाई जाएगी, श्री अन्न पर बल दिया जाएगा, पश्चिमी भारत के बाद पूर्वी, उत्तरी और दक्षिणी भारत में बुलेट ट्रेन लाई जाएगी, वंदे भारत का मेट्रो, स्लीपर और चेयरकार तीन रूपों में विस्तार किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने वर्तमान में जारी सरकार की योजनाओं को आगे भी जारी रखने और विस्तार देने की गारंटी दी। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ 70 वर्ष के अधिक आयु के बुजुर्गों को दिया जाएगा। योजना के तहत 5 लाख तक का मुफ्त इलाज कराया जा सकता है। तीन करोड़ नए घर बनाए जाएंगे। लोगों के घरों तक सस्ती पाइप के माध्यम से गैस पहुंचाई जाएगी। मुद्रा ऋण को दोगुना यानी 20 लाख किया जाएगा। तीन करोड़ लखपति दीदी बनाई जाएंगी। महिला खिलाड़ियों को प्रोत्साहन, जनजातीय गौरव दिवस, एकलव्य स्कूल, तमिल भाषा को बढ़ावा दिया जाएगा। लोगों को 80 प्रतिशत कम कीमतों पर जन औषधि केन्द्रों के माध्यम से सस्ती दवाएं मिलती रहेंगी और गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत गरीब परिवारों को मुफ्त राशन दिया जाना जारी रहेगा। लोकसभा चुनाव-2024 के संकल्प पत्र के विमोचन के दौरान प्रधानमंत्री ने युवा, महिला, किसान और गरीब चार वर्गों से एक-एक व्यक्ति को ये संकल्प पत्र सौंपा। भारतीय जनता पार्टी के घोषणा पत्र में दाल, खाद्य, तेल और सब्जियों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनने और स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार को जारी रखने की बात कही गई है। मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए गुणवत्तापूर्ण एवं सुविधा युक्त जीवन के अवसर प्रदान करने की दिशा में प्रतिबद्धता दिखाई गई है। रियल एस्टेट से जुड़े सुधार लाकर सस्ते आवास उपलब्ध कराए जाने की भी बात कही गई है। कामकाजी महिलाओं के लिए औद्योगिक एवं व्यावसायिक क्षेत्र में हॉस्टल का निर्माण किया जाएगा जिसमें शिशु ग्रह जैसी बुनियादी सुविधाएं होंगी। ट्रक चालकों के आराम और अन्य जरूरतों को ध्यान में रखते हुए हाइवे पर आरामगृह बनाए जाएंगे। एक विशेष अभियान चलाकर सर्वाइकल कैंसर को दूर किया जाएगा। नारी शक्ति बंधन अधिनियम को व्यवस्थित रूप से लागू कर लोकसभा राज्य विधानसभा में महिलाओं का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया जाएगा। संकल्प पत्र समिति के अध्यक्ष एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कहा कि 2014 या फिर 2019 में मोदीजी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने हर संकल्प पूरा किया है। 2019 के संकल्प पत्र में हमने आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर भारत की एक संकल्पना के साथ-साथ 2047 के भारत की रूपरेखा भी रखी थी। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में पिछले 5 सालों में हमने संकल्पित भारत सशक्त भारत के संकल्प को पूरा करने की दिशा में सफलतापूर्वक कार्य किया है। अब हम 140 करोड़ नागरिकों के सामने नया संकल्प पत्र प्रस्तुत करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि संकल्प पत्र तैयार करने के लिए तीन माध्यम से सुझाव प्राप्त हुए हैं। बड़ी संख्या में ऑनलाइन इनपुट्स आए हैं चार लाख सुझाव नमो ऐप के माध्यम से भी आए हैं करीब 10 लाख सुझाव वीडियो के माध्यम से आए हैं। कुल मिलाकर 15 लाख सुझाव समिति के पास आए जिनमें से कुछ मुख्य विषय ढूंढे गए और उन पर कार्य किया गया। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हर बार चुनाव के समय पर भारतीय जनता पार्टी अपनी वैचारिक यात्रा आगे बढ़ती है। एकात्मानवाद से अंत्योदय तक और प्रधानमंत्री के सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास को जोड़ते हुए भाजपा ने अपनी नीतियां आगे बढ़ाई हैं। पिछले 10 वर्षों में प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सरकार ने गांव, गरीब और समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के लिए काम किया है। जनसंघ के समय से ही भाजपा ने डॉ अंबेडकर के पथ पर चलते हुए सामाजिक न्याय को सुनिश्चित करने के लिए दिशा में कार्य किया है। उन्होंने कहा कि 10 साल भारतीय जनता पार्टी का शासन इस बात का प्रमाण है कि मोदी की गारंटी यानी गारंटी पूरी होने की गारंटी है।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी पर पश्चिम बंगाल के साथ भेदभावपूर्ण व्यवहार का आरोप लगाया है। शनिवार को उन्होंने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट एक्स पर एक वीडियो शेयर किया है, जो उनके चुनाव प्रचार का हिस्सा है। इसमें वह संबोधन कर रही हैं और लोग खूब तालियां बजा रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने लिखा है कि बंगाल के प्रति भाजपा का भेदभावपूर्ण व्यवहार लोकतंत्र और सहकारी संघवाद का अपमान है। यह मेरा दृढ़ संकल्प है कि जब तक तृणमूल कांग्रेस खड़ी है, जब तक मैं सांस ले रही हूं, मैं अपने लोगों को पीड़ित नहीं होने दूंगी, भले ही इसके लिए जेल जाना पड़े।   पहले चरण में लोकसभा की तीन सीटों पर अपनी पार्टी के लिए वोट देने की अपील करते हुए ममता बनर्जी ने लिखा कि 19 अप्रैल को, तृणमूल के लिए अपना वोट डालें और सुनिश्चित करें कि हमारे उम्मीदवार प्रो. निर्मल चंद्र रॉय, जगदीश चंद्र बसुनिया और प्रकाश चिक बड़ाईक इतने बड़े अंतर से जीतें कि भाजपा के प्रवासी पक्षी बंगाल में फिर से पैर रखने की हिम्मत करने से पहले दो बार सोचें!"

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव आम्बेडकर की रविवार को 133वीं जयंती है। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पहले से ही एक माहौल बना दिया है। शुक्रवार को बाडमेर की सभा में प्रधानमंत्री मोदी ने डॉ. आम्बेडकर को भारत रत्न न देने के लिए सीधे तौर पर कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस हमेशा से दलित और पिछड़ा विरोधी रही है और इसीलिए उसने डॉ. आम्बेडकर को सदैव अपमानित किया और उन्हें उचित सम्मान नहीं दिया। भाजपा के वरिष्ठतम नेता और प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘जब भी चुनाव आता है - संविधान के नाम पर झूठ बोलना इंडी गठबंधन के सभी घटक दलों के लिए फैशन बन गया है। कांग्रेस ने बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर को जानबूझ कर चुनाव हरवाया, उन्हें भारतरत्न नहीं मिलने दिया। कांग्रेस ने देश में आपातकाल लगाकर संविधान को खत्म करने की कोशिश की आज वे लोग मोदी को गाली देने के लिए संविधान के नाम पर झूठ का सहारा ले रही है। यह मोदी ही है जिसने पहली बार देश में संविधान दिवस मानना शुरू किया, बाबा साहेब से जुड़े पंचतीर्थों का विकास किया है। इसलिए बाबासाहेब और संविधान का अपमान करने वाली कांग्रेस और उनके इंडी गठबंधन से सावधान रहने की जरूरत है। कांग्रेस को सजा देने का समय आ गया है।’ प्रधानमंत्री मोदी देश की सुरक्षा के मुद्दे पर भी लगातार कांग्रेस पर हमलावर हैं। वे कहते हैं कि कांग्रेस के लोग देश के सीमावर्ती गांवों को देश के आखिरी गांव कहते थे, हम उन्हें पहला गांव मानते हैं। देश की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण इन गांवों को कांग्रेस ने जानबूझकर विकास से वंचित रखते थे और कहते थे कि अगर इन क्षेत्रों का विकास होगा तो देश पर दुश्मन के हमले की आशंका बढ़ जाएगी। कांग्रेस को अपने इस तर्क पर शर्म आनी चाहिए। किस दुश्मन के कलेजे में इतनी हिम्मत है कि वो बाड़मेर की सीमा में घुसकर कब्जा करने की सोच सके? हमारे लिए देश की सीमाएं यहां खत्म नहीं होती हैं, हमारे लिए देश यहां से शुरू होता है। प्रधानमंत्री मोदी चिंता जताते हुए कहा कि इंडी गठबंधन में शामिल एक और दल ने देश के खिलाफ बहुत खतरनाक ऐलान किया है। उन्होंने अपने घोषणापत्र में लिखा है कि हम भारत के परमाणु हथियार नष्ट कर देंगे। भारत जैसा देश जिसके दोनों तरफ पड़ोसियों के पास परमाणु हथियार हो, क्या उस देश में परमाणु हथियार समाप्त करना सही है? किस दबाव में कांग्रेस का यह इंडी गठबंधन भारत के परमाणु हथियार को समाप्त करना चाहते हैं? एक तरफ मोदी भारत को शक्तिशाली राष्ट्र बनाने में जुटा है लेकिन वहीं इंडी गठबंधन वाले भारत को कमजोर देश बनाने का ऐलान कर रहे हैं।   प्रधानमंत्री मोदी कांग्रेस की विभाजनकारी नीतियों पर लगातार हमला कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस भारत माता के लिए हम अपने जीवन न्यौछावर कर देते हैं, ये कांग्रेस उसे सिर्फ एक जमीन का टुकड़ा मानती है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजस्थान की वीर भूमि में आकर धारा 370 हटने और कश्मीर राजस्थान के रिश्ते पर प्रश्न खड़े करते हैं। ये राजस्थान की राष्ट्रभक्ति पर प्रश्नचिह्न खड़े करने की हिम्मत करते हैं। जिस राजस्थान के वीरों ने सीमा पर कश्मीर के लिए सीने पर गोलियां खाईं, ये लोग उस राजस्थान से पूछते हैं कि राजस्थान का कश्मीर से क्या वास्ता। बाड़मेर के सपूत श्री भीखाराम मुंड ने कारगिल युद्ध में अपनी जीवन बलिदान दे दिया था और कांग्रेस कहती है कि राजस्थान का कश्मीर से क्या वास्ता। जिस राजस्थान के घर-घर में कश्मीर में जन्में बाबोसा रामदेव की पूजा होती है, ये कांग्रेस उस राजस्थान से पूछती है कि कश्मीर का राजस्थान से क्या वास्ता। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह कांग्रेस की सोच है कि वह भारत को टुकड़े टुकड़े में बांटकर देखती है और हम उसमें एक समग्र भारत माता का रुप देखते हैं।

Kolar News

Kolar News

देहरादून। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि मोदी कहते हैं सब भ्रष्ट हैं, केवल वही पाक हैं। 'अपने मुंह मियां मिट्ठू बनना' मुहावरे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मोदी खुद की तारीफ खुद करते हैं कि मैं ही एक ईमानदार हूं पूरे देश में, बाकी सब चोर हैं। दो मुख्यमंत्रियाें को जेल में डाल दिया। बाकी जितने मुख्यमंत्री उनके नहीं हैं, उन पर केस दर्ज करा दिए। मेरे भाई का घर ले लिया। तमाम केस दर्ज करा दिए। कहीं सूरत, बिहार तो कहीं और, ताकि वो दौड़ते रहें एक से दूसरी कचहरी में। कांग्रेस के पक्ष में जनसमर्थन मांगने उत्तराखंड के दौरे पर आईं पार्टी की महासचिव प्रियंका ने रामनगर में शनिवार को आयोजित जनसभा में भाजपा पर जमकर बरसीं और उस पर सारी एजेंसियों के इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भाजपा एजेंसियों के जरिए दबाव डालकर नेताओं को पार्टी में शामिल कर रही है। यही नहीं, भाजपा दबाव डालकर सरकार तोड़ने का भी काम कर रही है। हिमाचल प्रदेश की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार तोड़ने का, लोगों को भ्रष्ट बोलने का, एजेंसियां भेजने का काम कर रही है। वह इस काम में इतने व्यस्त हैं कि ये रोजगार भूल गए हैं, महंगाई के बारे में भूल गए हैं। प्रियंका ने अडानी-अंबानी समेत अन्य उद्योगपतियों को भाजपा का खास बताया। कितनी बार मोदी सरकार? मैं यहां आ रही थी तो मैंने सोचा मैं भी सुनूं मोदी जी क्या कह रहे हैं तो भाषण ढूंढा उनका इंटरनेट पर, खोला और सुनने लगी। पांच मिनट भाषण सुना तो मैंने सोचा मुझसे गलती हो गई क्या ? ये तो पिछले चुनाव का भाषण दे रहे हैं, कहीं पिछले चुनाव का उत्तराखंड का कोई भाषण खोल दिया क्या ? लेकिन वो तो अभी दो दिन पहले ऋषिकेश का भाषण था। बात वो वही कह रहे थे, जो पांच वर्ष पहले कह रहे थे। जो बातें कह रहे थे उनको सुनकर मुझे ताज्जुक हुआ। सबसे पहले तो उन्होंने कहा कि बार-बार मोदी सरकार। अब मन में ये बात है कि कितनी बार मोदी सरकार। अब ये बार-बार मोदी सरकार नहीं चलेगी। इस बार जनता की सरकार बननी चाहिए। मोदी के भाषण को बताया कर्मकांड, प्रियंका बोलीं- ये हमारी देशभक्ति को नहीं समझ सकते- कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने उत्तराखंड में मोदी के भाषण को कर्मकांड बताया। उन्होंने कहा कि मंच पर मोदी ऐसे-ऐसे शब्द बोलते हैं देवभूमि-धर्म, लेकिन सच्चाई बहुत दूर है इससे। सच्चाई यह है कि हिन्दू धर्म में आस्था का प्रमाण त्याग होता है। प्रियंका ने कहा कि मैंने त्याग देखा है। मैं 19 साल की उम्र में अपने पिता की टुकड़ों में हुई लाश अपनी मां के सामने रखी देखी। मैं शहादत को समझती हूं, त्याग को समझती हूं। कितनी भी गालियां दें ये मेरे परिवार को। उस शहीद पिता का ये अपमान करें, ये हमारी संघर्ष, श्रद्धा और देशभक्ति कभी नहीं समझ सकते। कितना दोष देते रहेंगे कांग्रेस को ? प्रियंका ने कहा कि मोदी उत्तराखंड में पर्यटन की बात करते हैं, तमाम योजना गिनाते हैं, लेकिन सच्चाई कुछ और है। बेरोजगारी, महंगाई ही नहीं पेपर भी लीक हो जाता है। 20-20 लाख की नौकरियां बिक जाती हैं। 10 वर्षों से किसका राज है, कितना दोष देते रहेंगे कांग्रेस को। जबकि 10 वर्षों से भाजपा की ही सत्ता है। चंद्रयान पर बोलीं प्रियंका- पं. नेहरू ने 1950 के बाद नहीं लगाया होता रिसर्च तो... प्रियंका ने कहा कि मोदी कहते हैं, 75 वर्षों में कुछ नहीं हुआ। अगर कुछ नहीं हुआ होता तो ये यहां उत्तराखंड का इतना हुनर कहां से आया। आईआईटी, आईआईएम कहां से आए। एम्स कहां से आए। ये जो चंद्रयान चंद्रमा पर जाता है, इसका सारा रिसर्च। ये सब अगर पं. नेहरू ने 1950 के बाद नहीं लगाया होता तो यह हो सकता था, ये मुमकिन होता आज ? कांग्रेस महासचिव बोलीं- जागरूकता पर आक्रमण, हर तरफ मोदी की प्रशंसा, सब बिक चुके हैं कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने कहा कि सबसे बड़ा आक्रमण देश में जागरूकता पर किया जा रहा है। लाेगों तक जानकारी पहुंच ही नहीं रही है। लोग टीवी पर एक ही चीज देखते हैं, मीडिया में एक ही चीज देखते हैं, फोन खोलते हैं तो एक ही चीज देखते हैं और वह मोदी की प्रशंसा है। प्रियंका ने कहा कि पूरी मीडिया और जो भी आपको दिख रहा है, जो भी आप सुन रहे हैं, सारा बिका हुआ है। सच्चाई आपको दिख नहीं रही है। मंच पर प्रियंका ने कहा कि जाग जाओ, आपके भविष्य का सवाल है। केवल पांच किलो राशन काफी नहीं है। इससे भविष्य पूरा नहीं होने वाला है। कांग्रेस सरकार बनी हो रद्द कर देंगे अग्निवीर योजना- प्रियंका ने कहा कि कांग्रेस की सरकार आई तो अग्निवीर योजना रद्द कर दी जाएगी। पेपर लीक के लिए सख्त कानून लाया जाएगा। जॉब कैलेंडर लगाया जाएगा, जिसमें नियुक्ति, परीक्षा, रिजल्ट का दिन पहले से तय होगा। उस जॉब कैलेंडर से इधर-उधर जिसने किया उसके विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई होगी। 30 लाख खाली पद पड़े हैं केंद्र सरकार में, जो भरे नहीं गए हैं। कांग्रेस सरकार बनते ही ये पद भरे जाएंगे। रोजगार, बिजनेस के लिए पांच हजार करोड़ का एक फंड होगा।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट के मास्टरमाइंड दो आरोपितों को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के पास से गिरफ्तार किया है। दोनो की पहचान अब्दुल मथिन और मुसाविर हुसैन साजिब के रूप में हुई है। इनपर कुख्यात आतंकवादी संगठन आईएसआईएस से जुड़े होने का भी आरोप है।   एनआईए की ओर से शुक्रवार को बताया गया कि दोनों आरोपित अब्दुल मथिन और मुसाविर हुसैन साजिब मूल रूप से कर्नाटक के रहने वाले हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए पश्चिम बंगाल पुलिस के साथ तेलंगाना, कर्नाटक और केरल पुलिस की भी मदद ली गई है। एनआईए का कहना है कि दोनों आईएसआईएस के सक्रिय सदस्य रहे हैं और सुरक्षा एजेंसियों को चकमा देने के लिए कोलकाता के पास छिपे थे। इसमें से मुसाविर हुसैन साजिब बेंगलुरु ब्लास्ट मामले में आईडी ट्रांसप्लांट करने में शामिल रहा है और अब्दुल मथिन ने ब्लास्ट की पूरी योजना बनाई। वारदात को अंजाम देकर दोनों भाग कर बंगाल आ गए थे। इनसे पूछताछ हो रही है।

Kolar News

Kolar News

उधमपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को उधमपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बहुत जल्द जम्मू-कश्मीर में भी विधानसभा चुनाव होंगे और जम्मू-कश्मीर को वापस राज्य का दर्जा मिलेगा। अब तक जो हुआ वह केवल ट्रेलर था, मुझे तो नए जम्मू कश्मीर की नई और शानदार तस्वीर बनाने में जुट जाना है। मोदी विकसित भारत के लिए जम्मू-कश्मीर के निर्माण की गारंटी दे रहा है लेकिन कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी, जम्मू-कश्मीर को फिर उन पुराने दिनों की तरफ ले जाना चाहती हैं।   प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सत्ता के लिए पूर्व सरकारों ने जम्मू-कश्मीर में 370 की दीवार बनाई थी। यहां के नेताओं ने लोगों में खौफ भर दिया था लेकिन मोदी ने अनुच्छेद 370 की दीवार को ध्वस्त कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह लोग कहते थे कि 370 हटी तो आग लग जाएगी, जम्मू कश्मीर हमें छोड़कर चला जाएगा लेकिन जम्मू-कश्मीर की जनता ने इन्हें आईना दिखाते हुए इनको इनकी असलियत बता दी। यही लोग अब जम्मू-कश्मीर के बाहर देश के लोगों के बीच भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं।     उन्होंने कहा कि मैंने आपसे कहा था कि आप मुझ पर भरोसा कीजिए, मैं 60 वर्षों की समस्या का समाधान करके दिखाऊंगा। तब मैंने यहां माताओं-बहनों के सम्मान की गारंटी दी थी, गरीब को दो वक्त के खाने की चिंता न करनी पड़े, इसकी गारंटी दी थी। आज जम्मू-कश्मीर के लाखों परिवारों के पास अगले पांच साल तक मुफ्त राशन की गारंटी है।     प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं भारत के किसी भी राजनीतिक दल, विशेषकर कांग्रेस को चुनौती देता हूं कि वे घोषणा करें कि वे अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे, यह देश उनकी ओर देखेगा भी नहीं। उन्होंने कहा कि इन परिवारवादी पार्टियों ने जम्मू कश्मीर का जितना नुकसान किया, उतना नुकसान किसी ने नहीं किया।   जम्मू-कश्मीर अब पर्यटन के साथ स्टार्टअप के लिए जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस विकास और विरासत विरोधी है। कांग्रेस और उनका गठबंधन राम मंदिर का विरोध करता रहा, तुष्टिकरण की राजनीति कर एक बड़े वर्ग को चिढ़ाता रहा। वर्षों तक लोगों ने अपनी ही आस्था के लिए क्या-क्या नहीं झेला। कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के नेता बड़े-बड़े बंगलों में रहते थे लेकिन जब रामलला का टेंट बदलने की बात आती थी, तो लोग मुंह फेर लेते थे, अदालतों की धमकियां देते थे। बारिश में रामलला का टेंट टपकता रहता था और रामलला के भक्त टेंट बदलवाने के लिए अदालतों के चक्कर काटते रहते थे। राम मंदिर चुनावी मुद्दा न था, न होगा, ये मुद्दा तो भाजपा के जन्म से पहले का है।   उन्होंने कहा कि जम्मू हो या कश्मीर अब यहां रिकॉर्ड संख्या में पर्यटक और श्रद्धालु आने लगे हैं। ये सपना यहां की अनेक पीढ़ियों ने देखा है और मैं आपको गारंटी देता हूं कि आपका सपना, मोदी का संकल्प है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 10 साल के अंदर-अंदर जम्मू कश्मीर पूरी तरह बदल चुका है। सड़क, बिजली, पानी, यात्रा, प्रवास ये सब तो है ही लेकिन सबसे बड़ी बात है कि जम्मू कश्मीर का मन बदला है। जनता निराशा से आशा की ओर बढ़ी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को उधमपुर-कठुआ-डोडा के भाजपा प्रत्याशी डाॅ. जितेंद्र सिंह के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे थे। उनका स्वागत भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैणा ने डोगरी पगड़ी व मंच पर मौजूद महिलाओं ने चुनरी पहनाकर किया।  

Kolar News

Kolar News

सीधी। मैं पहले भी मध्यप्रदेश और सीधी आ चुका हूं। उस समय यह दिखाई दे रहा था कि एमपी के मन में मोदी है और मोदी के मन में एमपी है। यही बात मुझे आज भी दिखाई दे रही है। मोदी ने पिछले 10 सालों में राजनीति की परिभाषा बदल डाली है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सीधी में पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी के समर्थन में सभा को संबोधित करते हुए कही। जेपी नड्डा आज प्रदेश के सीधी और छिंदवाड़ा के दौरे पर हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा शुक्रवार सुबह 11:40 बजे हेलिकॉप्टर से सीधी पहुंचे। यहां से सड़क मार्ग से सभास्थल तक गए। भाजपा अध्यक्ष आज दोपहर 2 बजे छिंदवाड़ा के दशहरा मैदान में भी सभा करेंगे। छिंदवाड़ा में कांग्रेस के नकुलनाथ और भाजपा के विवेक बंटी साहू चुनाव मैदान में आमने-सामने हैं, जबकि सीधी में पार्टी ने डॉ. राजेश मिश्रा को लोकसभा प्रत्याशी बनाया है।     सभा को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि मोदी जी ने पिछले 10 सालों में राजनीति के मायने बदल दिए हैं। अब वोट बैंक और लोगों को गुमराह करने की राजनीति देश में नहीं चलेगी। लोगों को बांटने की राजनीति नहीं चलेगी। अब सिर्फ विकास की राजनीति होगी। अपना काम बताओ क्या काम किया है। पहले लोगों को बांटकर राजनीति की जाती थी। नदी के इस पार और उस पार के लोगों को बांटकर राजनीति की जाती थी।   उन्होंने कहा कि देश में 10 साल पहले गणेशजी की प्रतिमा भी चाइना से आती थी। ये जो गणेशजी आप दिवाली पर लाकर पूजा करते हैं, वो अब भारत में बनते हैं। आज भारत खिलौनों के एक्सपोर्ट में ढाई गुना वृद्धि कर गया है। भारत 11वें नंबर से 5वें नंबर की अर्थव्यवस्था बन गया। पहले आपके पास मेड इन चाइना मोबाइल होता था। अब मेड इन इंडिया है। हमारा ऑटोमोबाइल और पेट्रो केमिकल का एक्सपोर्ट बढ़ गया। मोदी जी ने हर दृष्टि से विकास को आगे बढ़ाया है।

Kolar News

Kolar News

पुलवामा। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के फ्रैसीपोरा क्षेत्र में गुरुवार सुबह सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया। पुलिस के मुताबिक इलाके में कुछ आतंकियों की मौजूदगी के बारे में इनपुट मिला था। इसके आधार पर सेना और पुलिस की संयुक्त टीम ने संदिग्ध स्थान की ओर तलाशी अभियान तेज किया तो छिपे हुए आतंकियों ने तलाशी दल पर गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया है। क्षेत्र में तलाशी अभियान जारी है।

Kolar News

Kolar News

देहरादून। भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योग भूमि ऋषिकेश से कांग्रेस पर निशाना साधा और जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस विकास और विरासत दोनों की विरोधी है। कोई यह नहीं भूल सकता कि कांग्रेस ने प्रभु श्रीराम के अस्तित्व पर सवाल उठाए। ये कांग्रेस ही है जिसने पहले राम मंदिर का विराेध किया, उसने जितने अड़ंगे डाल सकते थे डाले। अदालत में भी रुकावटें डालने की कोशिश की, लेकिन राम मंदिर बनाने वालों ने कांग्रेस के सारे गुनाह माफ करके उनके घर जाकर उनको निमंत्रण दिया परंतु कांग्रेस ने उसका भी बहिष्कार कर दिया। ऋषिकेश के आईडीपीएल हॉकी मैदान में गुरुवार को आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब तो कांग्रेस ने प्रण लिया है और सार्वजनिक रूप से घोषणा की है कि हिन्दू धर्म में जो शक्ति है, उसका विनाश करेंगे। ये कांग्रेस शक्ति स्वरूपा, मां धारी देवी, मां चंद्र बदरी, मां जालपा देवी की शक्ति को खत्म करना चाहती है। उत्तराखंड की आस्था को तबाह करने की जो साजिशें चल रही हैं, उसमें कांग्रेस की ये बातें आग में घी का काम करेंगी। उत्तराखंड की संस्कृति की रक्षा करना हम सभी का दायित्व है। ये वही कांग्रेस है जो कहती रही है कि हर की पौड़ी मां गंगा नदी के किनारे नहीं है। ये कहते हैं, वह एक नहर के किनारे बसी है। अब ये गंगा जी के अस्तित्व पर सवाल उठा रहे हैं। इन्हें उत्तराखंड के लोग सबक सिखाकर रहेंगे। ब्रह्म कमल से जुड़ी है उत्तराखंड की पहचान, पंच कमल खिलाने का आह्वान- मोदी ने कहा कि उत्तराखंड की पहचान ब्रह्म कमल से जुड़ी हुई है। ये धरती ब्रह्म कमल की धरती है और इसलिए इस बार भी यहां पूरी शान से पंच कमल खिलने चाहिए। उन्होंने कहा कि विकसित भारत का संकल्प, पल-पल देश के नाम, 24x7 दिन काम, ये मोदी की गारंटी है। 19 अप्रैल को टिहरी गढ़वाल से माला राज्यलक्ष्मी शाह, गढ़वाल से अनिल बलूनी और हरिद्वार से त्रिवेंद्र को विजयी बनाना है, लेकिन मेरी अपेक्षा ज्यादा है। आपको पुराने सारे रिकार्ड तोड़ने हैं। पोलिंग बूथ को जीतना है। उन्होंने जितोगे कहकर जवाब मांगा तो जनता से हां की आवाज आई। आज युद्ध क्षेत्र में भी सुरक्षा की गारंटी बन जाता है भारत का तिरंगा- भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब-जब देश में कमजोर और अस्थिर सरकार रही है, तब-तब दुश्मनों ने फायदा उठाया है और भारत में आतंकवाद ने पैर पसारे। आज भारत में मोदी की मजबूत सरकार है, इसलिए आतंकवादियों को घर में घुसकर मारा जाता है। भारत का तिरंगा युद्ध क्षेत्र में भी सुरक्षा की गारंटी बन जाता है। यह भाजपा की मजबूत सरकार ही है, जिसने सात दशक बाद जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म करने का साहस किया। तीन तलाक के विरुद्ध कानून बनाया। महिलाओं को लोकसभा-विधानसभा में आरक्षण दिया। सामान्य वर्ग के गरीबों को भी 10 प्रतिशत आरक्षण दिया। कांग्रेस राज में कभी लागू नहीं होता वन रैंक-वन पेंशन- कांग्रेस की सरकार होती तो वन रैंक-वन पेंशन कभी लागू नहीं होता। मोदी ने वन रैंक-वन पेंशन लागू करके पूर्व सैनिकों को एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा उनके खातों में पहुंचा दिए हैं। उत्तराखंड में भी साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये से ज्यादा सैनिक परिवारों को मिले हैं। आत्मनिर्भर-सशक्त-आधुनिक भारत की ओर अग्रसर है देश- मोदी ने कहा कि कांग्रेस के समय में तो जवानों के पास बुलेट प्रूफ जैकेट तक की कमी थी। दुश्मन की गोली से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने भारत में बनी बुलेट प्रूफ जैकेट अपने सैनिकों को दी, उनके जीवन की रक्षा की। आज आधुनिक राइफल से लेकर लड़ाकू विमान और विमान वाहन पोत तक देश में ही बन रहे हैं। आज देश की सीमा पर आधुनिक सड़कें बन रही हैं, आधुनिक सुरंगें बन रहीं हैं।

Kolar News

Kolar News

रायपुर। छत्तीसगढ़ में दो दिवसीय दौरे के पहले दिन बुधवार को गृह सचिव अजय कुमार भल्ला और इंटेलिजेंस ब्यूरो के डायरेक्टर तपन कुमार डेका पहुंचे। इन्होंने नवा रायपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में बैठक ली।आधिकारिक सूत्रों के अनुसार बैठक दो राउंड में करीब 6 घंटे से ज्यादा देर शाम तक चली।आज गुरुवार को नक्सल विरोधी मूवमेंट को लेकर बैठक होगी। बैठक में दस राज्यों के चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी और सीआरपीएफ जैसी केंद्रीय एजेंसियों के प्रमुख भी ऑनलाइन शामिल हुए।   बैठक में शांतिपूर्ण लोकसभा चुनाव और नक्सल इलाकों में रणनीति को लेकर चर्चा की गई है। इंटेलिजेंस ब्यूरो के इनपुट के आधार पर नक्सल प्रभावित इलाकों में कश्मीर की तरह टारगेट बेस्ड ऑपरेशन लॉन्च करने की प्रक्रिया और लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण कराने रणनीति बनाई गई। बैठक में राज्यों के बीच कानून और सुरक्षा को लेकर आपसी समन्वय पर भी बात हुई। इस बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य के कई बड़े अफसर भी शामिल हुए। इनमें मुख्य सचिव अमिताभ जैन, डीजीपी अशोक जुनेजा, सीआरपीएफ और अन्य केंद्रीय एजेंसियों के अफसर शामिल हुए। बीते दिनों बीजापुर में नक्सलियों के खिलाफ फोर्स को मिली बड़ी सफलता को लेकर चर्चा की गई। फोर्स की जरूरतों के अनुसार संसाधन मुहैया कराने पर चर्चा भी की गई है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के कथित शराब घोटाला केस में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा गिरफ्तार किए गए आम आदमी पार्टी संस्थापक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। उन्होंने गिरफ्तारी को चुनौती दी है।   इससे पहले केजरीवाल दिल्ली हाई कोर्ट में गुहार लगा चुके हैं। 09 अप्रैल को हाई कोर्ट जस्टिस स्वर्णकांता शर्मा की अध्यक्षता वाली बेंच ने याचिका खारिज करने का आदेश दिया था। हाई कोर्ट ने कहा था कि यह याचिका जमानत याचिका नहीं है बल्कि इसमें गिरफ्तारी को चुनौती दी गई है।   हाई कोर्ट ने कहा था कि जब भी किसी आरोपित को सरकारी गवाह बनाया जाता है तो वे न्यायिक अधिकारी का काम होता है न कि जांच एजेंसी ईडी का। किसने किस पार्टी को चुनाव लड़ने के लिए पैसा दिया ये कोर्ट को तय नहीं करना है। इलेक्टोरल बॉन्ड के रूप में किसने किस पार्टी को पैसा दिया ये कोर्ट को विचार नहीं करना है। केजरीवाल चाहें तो गवाहों का क्रास-एग्जामिनेशन कर सकते हैं। ये ट्रायल का मामला है और ये हाई कोर्ट का मामला नहीं है। हाई कोर्ट ने कहा था कि जांच एजेंसी किसी की भी जांच कर सकती है। कोर्ट ने अमानतुल्लाह खान के फैसले का उदाहरण देते हुए कहा कि पब्लिक फिगर को भी बख्शा नहीं जाना चाहिए।   हाई कोर्ट ने कहा था कि मार्च से ही केजरीवाल समन को नजरअंदाज कर रहे हैं। ऐसे में ये नहीं कहा जा सकता है कि गिरफ्तारी चुनाव को ध्यान में रखकर की गई है। कोर्ट कानून से बंधे हैं न कि राजनीति से। जज संविधान से बंधे होते हैं। न्यायपालिका का काम कानून की व्याख्या करना है और इसमें वो किसी का पक्ष नहीं लेती है, वो राजनीतिक में नहीं पड़ती है। राजनीतिक हस्तियों के मामलों में कोर्ट को केवल कानून को देखना है और उसके लिए राजनीति जरूरी नहीं है।   हाई कोर्ट की चिंता संवैधानिक नैतिकता है राजनीतिक नैतिकता से नहीं। इस मामले में भी कोर्ट ने कानूनी तथ्यों पर ही विचार किया। हाईकोर्ट ने कहा था कि 2020 में गोवा विधानसभा के चुनाव में हवाला डीलर के बयान बताते हैं कि उस चुनाव में पैसे का इस्तेमाल हुआ। कोर्ट ने एनडी गुप्ता के बयान का जिक्र किया। उल्लेखनीय है कि केजरीवाल फिलहाल 15 अप्रैल तक की न्यायिक हिरासत में हैं।  

Kolar News

Kolar News

सहारनपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्ष को जनता की नहीं अपने परिवार की चिंता है। हम जो कहते हैं वह करते हैं। राजनीति के प्रति व राजनेताओं के प्रति विश्वास का संकट था। नेताओं की कथनी व करनी में अंतर था। इस संकट को दूर करने का काम भाजपा ने किया। हमारी पार्टी जो कहेगी वह करेगी। राजनाथ सिंह ने बुधवार को सहारनपुर के भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी ने जनता के लिए जो काम किया वह आज तक किसी ने नहीं किया। केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं देश की जनता यह भलीभांति जानती है कि नरेन्द्र मोदी अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निर्वहन कर रहे हैं। अनुच्छेद 370 को समाप्त करने का काम हुआ है। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर बन रहा है। उन्होंने कहा कि राजनीति देश बनाने के लिए की जानी चाहिए। यही काम भाजपा कर रही है। आज अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत कोई बात कहता है तो दुनिया कान खोलकर सुनती है। अब कमजोर भारत नहीं रहा। आज मजबूत भारत है। हम केवल हथियार बना ही नहीं रहे हैं बल्कि दूसरे देशों को रक्षा उत्पादों का निर्यात भी कर रहे हैं। हमारा रक्षा निर्यात जो 2014 में बमुश्किल 600 करोड़ था, आज वह 21 हजार करोड़ पहुंच गया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में देश में बड़े परिवर्तन हुए हैं। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध चल रहा था। भारत के बहुत से बच्चे यूक्रेन में रहकर पढ़ाई कर रहे थे। हमारे प्रधानमंत्री ने रूस व यूक्रेन के राष्ट्रपति से बात की और भारत के बच्चों को बाहर निकालने के लिए दोनों देशों के बीच युद्ध रोका गया। उन्होंने कहा कि हमारे देश के वैज्ञानिकों ने करिश्माई काम किया है। धरती पर ही नहीं चन्द्रमा पर भी लैंड करने पर हमारे वैज्ञानिकों ने सफलता पाई है। रक्षामंत्री ने कहा कि स्वागत व अभिनन्दन भारत की परम्परा है लेकिन यह एकतरफा नहीं होना चाहिए। उत्तर प्रदेश के लोगों के साथ हमारा विशेष रिश्ता है लेकिन जितना समय देना चाहिए प्रदेश को वह मैं नहीं दे पा रहा हूं। जब भी मुझे उत्तर प्रदेश में आने का अवसर मिलता है तो मुझे आत्मिक सुख मिलता है।

Kolar News

Kolar News

रायपुर। दुर्ग जिले के कुम्हारी थाना अंतर्गत रायपुर-दुर्ग मार्ग पर मंगलवार की रात एक निजी कंपनी के कर्मचारियों की बस के खाई में गिरने से 13 लोगों की मौत पर राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन ने दुख जताया है। जिला प्रशासन ने घटना के कारणों की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।कंपनी प्रबंधन ने मृतकों के आश्रित परिजनों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा और एक परिजन को नौकरी देने की घोषणा की है। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में बस के दुर्घटना पर राज्यपाल हरिचंदन ने एक्स पर लिखा कि कुम्हारी थाना अंतर्गत रायपुर-दुर्ग मार्ग पर कल निजी कंपनी के कर्मचारियों से भरी बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से 13 लोगों की मौत का समाचार अत्यंत पीड़ाजनक है। महाप्रभु श्रीजगन्नाथ दिवंगत आत्माओं को सद्गति और शोक-संतप्त परिवार को इस दुख की घड़ी में धैर्य प्रदान करें। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना। दरअसल, मंगलवार की रात जिले के कुम्हारी थाना अंतर्गत रायपुर-दुर्ग मार्ग पर कुम्हारी स्थित केडिया डिस्टिलर्स के कर्मचारियों को लेकर जा रही बस 40 फीट गहरी मुरुम के खदान में गिर गई थी। इस दुर्घटना में 13 लोगों की मौत हो गई है जबकि 15 लोग घायल हुए हैंं। घायलों में कई की हालत गंभीर बनी हुई है। इसी फैक्टरी प्रबंधन ने दुर्घटना में मारे गए लोगों के आश्रितों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा और हर मृतक के परिवार के एक सदस्य को कंपनी में नौकरी देने की भी बात कही है। जिला प्रशासन की ओर से अंतिम संस्कार के लिए 25 हजार दिए गए हैं। कंपनी प्रबंधन ने हादसे में 13 लोगों की मौत होने की पुष्टि है। कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी ने कुम्हारी बस हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश देते हुए कहा कि जो भी जिम्मेदार लोग दोषी पाए जाएंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी। पूरी जांच के बाद समिति अपनी रिपोर्ट सौंपेगी । घटना के बाद जिस तरह घायलों और कुम्हारी के लोगों के बयान सामने आए हैं, जिनके अनुसार बस की फिटनेस, खदान को खुला छोड़े जाने, खराब सड़क और कंपनी की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम न होने की बातें सामने आ रही हैं। जिला प्रशासन ने परिजनों को विश्वास दिलाया है कि हादसे की निष्पक्ष जांच होगी। इस हादसे की जांच के लिए स्थानीय कार्यपालिका मजिस्ट्रेट छत्तीसगढ़ डिस्टीलिरीज कंपनी पहुंच गए हैं और उन्होंने अपनी जांच शुरू कर दी है। इंटर स्टेट डिपार्टमेंट लीड एजेंसी रोड सेफ्टी छग के चेयरमैन एआईजी ट्रैफिक संजय शर्मा और उनकी टीम भी मौके पर पहुंच की हादसे की जांच शुरू कर दी है। यह टीम बस की स्थिति लापरवाही, मानवीय त्रुटि समेत कई बिंदुओं पर जांच करेगी।   इस दुर्घटना में अभी तक जिन मृतकों की शिनाख्त की गई है, उनमें कौशल्या निषाद, राजू ठाकुर, त्रिभुवन पांडेय, मनोज ध्रुव, मिकू भाई पटेल, कृष्णा, राम बिहारी यादव, कमलेश देशलहरे, परमानंद तिवारी, पुष्पा देवी पटेल, शांति बाई देवांगन और अमित सिन्हा शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News

रायपुर/बस्तर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को छत्तीसगढ़ में चुनावी शंखनाद करते हुए कहा कि भ्रष्टाचारियों पर हर हाल में कड़ी कार्रवाई होगी, यह मोदी की गारंटी है। मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ ने मोदी की गारंटी पर मुहर लगाई जिसकी बदौलत आज पूरा देश मोदी की गारंटी पर विश्वास कर रहा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को छत्तीसगढ़ दौरे पर जगदलपुर पहुंचे। यहां से वे हेलिकॉप्टर के जरिए आमाबाल गांव पहुंच कर भाजपा की विजय संकल्प शंखनाद रैली को संबोधित किया। रैली में पांच विधानसभा क्षेत्र के हजारों ग्रामीण पीएम मोदी को सुनने के लिए पहुंचे। मोदी ने मंच से बलिराम कश्यप को याद करते हुए कहा कि यहां का कोई क्षेत्र ऐसा नहीं, जहां मैं और बलिराम जी ने दौरा नहीं किया। जो पुरुषार्थ हमने किया, उसका ही आज परिणाम है। आदिवासी कल्याण के लिए बलिराम जी के साथ हमेशा बहुत कुछ करने के लिए प्रयास करते रहते थे, कोई कमी नहीं रहने देते थे। मोदी ने विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक गरीब की चिंता दूर नहीं होगी, मोदी चैन से नहीं बैठेगा। कच्ची छत के नीचे का दुख और राशन नहीं होने की चिंता मुझे पता है। देश में 25 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर निकले हैं। मोदी ने कहा बस्तर से आयुष्मान आरोग्य मंदिर योजना की शुरुआत हुई। जिससे देशभर के गरीबों को फायदा हो रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा की पहली प्राथमिकता गरीब लोगों की चिंता है। 11 हजार से ज्यादा जन औषधि केंद्र खोले। उन पर 80 प्रतिशत छूट के साथ दवाएं मिलती हैं। इससे गरीबों को 30 हजार करोड़ रुपये की बचत हुई है। उन्होंने कहा, पिछले दस साल में देश कहां से कहां पहुंचा देश ने कितनी प्रगति की है। बस्तर के लोगों ने मोदी की गारंटी पर मोहर लगाई है। आज उसी विश्वास पर पूरा देश कह रहा है फिर एक बार मोदी सरकार। मोदी आराम करने के लिए नहीं काम करने के लिए पैदा हुआ। यह 24 बाय 7 और 2047 के लिए है। मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला करते हुए कहा कि 4 लाख करोड़ के वैक्सीन भारत में मुफ्त लगे। कांग्रेस की अमीरों की सरकार के समय देश में बीमारी का टीका आने में दशकों लग जाते थे लेकिन मोदी ने गरीबों को मुफ्त वैक्सीन भी दी, मुफ्त राशन भी दिया। जबकि दूसरे देशों में हजारों रुपये में वैक्सीन लग रहे थे। तब भारत के लोगों को मुफ्त वैक्सीन लगवाई गई। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में दिल्ली से एक रुपए निकलता था और सिर्फ 15 पैसा गांव तक पहुंचता था। यह मैं नहीं कह रहा हूं, कांग्रेस के ही प्रधानमंत्री ने कहा था। कौन-सा पंजा था जो 85 पैसा मार लेता था। मोदी ने कांग्रेस की लूट की व्यवस्था बंद कर दी है। लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लगने के बाद यह पीएम मोदी का पहला दौरा है। बस्तर में विजय संकल्प रैली में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय भी शामिल हुए।

Kolar News

Kolar News

सिवनी/मंडला। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को मध्य प्रदेश के दौरान सिवनी जिले के धनौरा में मंडला संसदीय क्षेत्र से पार्टी के लोकसभा उम्मीदवार ओमकार सिंह मरकाम के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने आदिवासी और वनवासी में अंतर बताते हुए भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने आदिवासियों को इस देश और इस जमीन के पहले मालिक मालिक बताते हुए कांग्रेस की केन्द्र में सरकार बनने पर युवाओं को 30 लाख सरकारी नौकरी देने और एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों की स्कॉलरशिप दोगुनी करने का वादा किया।     कांग्रेस नेता राहुल गांधी दोपहर दो बजे धनौरा पहुंचे। यहां उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आप सब यहां दूर-दूर से मेरी बात सुनने आए हैं। यहां आदिवासी वर्ग के काफी सारे लोग मौजूद हैं। कांग्रेस पार्टी आपको आदिवासी कहती है। दूसरी ओर भाजपा, प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह आपको वनवासी कहते हैं। इन शब्दों के पीछे दो अलग-अलग विचारधारा है। आदिवासी शब्द का मतलब, वो लोग जो इस देश के इस जमीन के पहले मालिक थे। उन्होंने कहा कि अगर आप पहले मालिक थे, तो जमीन, जल, जंगल, देश के धन पर आपका हक बनता है।     उन्होंने कहा कि वनवासी का मतलब वो लोग जो जंगलों में रहते हैं, वनवासी शब्द के पीछे एक विचारधारा है। सबसे पहले आपका जो इतिहास है, आपकी भाषाएं हैं, आपके जीने का जो तरीका है, उसको ये शब्द मिटाने की कोशिश करता है। दूसरी ओर जब हम आपको वनवासी कहते हैं तो उसके अंदर ये छिपा हुआ है कि वनवासियों को ना जमीन का ना जल और ना ही जंगल का अधिकार मिलना चाहिए। क्योंकि वनवासी का मतलब आप जंगल में रहते हो, जंगल में आपको कैसे अधिकार मिलेगा।     राहुल गांधी ने केन्द्र सरकार सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि युवाओं का हक मारा जा रहा है। युवाओं को न रोजगार मिलता है और न ही उचित शिक्षा। कहते हैं बैंक लोन लो और रोजगार करो। उन्होंने शिक्षा के निजीकरण, जीएसटी और उद्योगपतियों के प्रति उदारीकरण की नीति पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार सारे संस्थान अंबानी और अदाणी जैसे चंद उद्योगपतियों को सौंपती जा रही है। उनके लाखों करोड़ के लोन माफ कर दिए, लेकिन किसानों और छोटे व्यापारियों को कोई राहत नहीं दी हम चाहते हैं, उनके कर्ज माफ हों तो आम लोगों को भी राहत मिलनी चाहिए।     उन्होंने जनसभा में ऐलान करते हुए कहा कि संविदा नियुक्ति बंद कर परमानेंट नौकरी दी जाएंगी। कांग्रेस की सरकार बनने के एक साल में आदिवासियों को पूरा हक दिया जाएगा। एससी, एसटी और ओबीसी के छात्रों की स्कॉलरशिप दोगुनी करेंगे। उन्होंने कहा कि देश में आदिवासियों की आठ फीसदी आबादी है, लेकिन जब आप हिंदुस्तान की सबसे बड़ी कंपनियों, मीडिया, कॉर्पोरेट कंपनियों के मालिकों की लिस्ट में देखेंगे तो वहां आपको एक आदिवासी नहीं मिलेगा। हिंदुस्तान को सिर्फ 90 अफसर चलाते हैं, जिनमें सिर्फ एक अफसर आदिवासी है। ये देश में आपकी भागीदारी है। उन्होंने आदिवासी समुदाय के लिए बड़ी घोषणा करते हुए छठी अनसूची लागू करने और आदिवासी कल्याण का बजट दोगुना करने का भी वादा किया है। उन्होंने कहा कि छठी अनुसूची लागू होने के बाद आदिवासी अपने यहां के निर्णय खुद लेंगे। उन्हें कोई दिल्ली-भोपाल से नहीं चलाएगा। आदिवासी जहां पर 50 फीसदी से अधिक हैं, वहां यह प्रावधान लागू किए जाएंगे।     जनसभा में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी संबोधित किया। इस मौके पर पार्टी के सैकड़ों पदाधिकारी मौजूद रहे। राहुल गांधी शाम को शहडोल में कांग्रेस प्रत्याशी फुंदेलाल मार्को के समर्थन में जनसभा को संबोधित करेंगे।

Kolar News

Kolar News

  लगेगी शांडिल्य गुरु की प्रतिमा      कोलार रोड के दूसरे छोर भदभदा चौराहे पर उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने  ब्रह्मलीन बालगोविंद शांडिल्य गुरुजी की प्रतिमा स्थापना तथा चौराहे के सौंदर्यीकरण का भूमि-पूजन किया। सौंदर्यीकरण के लिये 8 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं।   श्री गुप्ता ने कहा कि सरकार शहर के विकास के लिये सतत प्रयत्नशील है। उन्होंने शासन की विभिन्न जन-कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। श्री गुप्ता ने कहा कि नागरिक शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिये आगे आयें। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि घर-घर जाकर नागरिकों को शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिये प्रेरित करें। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे। उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा कोटरा में सड़क भूमि-पूजन उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने आई-5 शासकीय आवास कोटरा के पास सड़क निर्माण का भूमि-पूजन किया। सड़क की लागत 20 लाख है। श्री गुप्ता ने सड़क का कार्य गुणवत्तापूर्ण करवाने के निर्देश दिये। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

      मध्यप्रदेश के प्राचीन मंदिरों में भगवान के दर्शन के लिए पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को अब प्रदेश के पुरावैभव, कला और संस्कृति की झलक भी वहां देखने को मिलेगी। इसके लिए राज्य सरकार मंदिरों में संग्रहालयों का निर्माण कराएगी। इस योजना को संस्कृति, धर्मस्व और पुरातत्व विभाग मिलकर अंजाम देंगे। मध्यप्रदेश में इस समय कई प्रसिद्ध मंदिर है जहां हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है। लेकिन इन मंदिरों में फिलहाल प्रदेश की कला-संस्कृति, इतिहास  और पुरावैभव की झलक दिखाने वाले संग्रहालय नहीं है। राज्य सरकार का सोचना है कि जो श्रद्धालु प्रदेश के प्राचीन मंदिरों में पहुंच रहे है वहां उन्हें भगवान के दर्शन के साथ-साथ प्रदेश के पुरावैभव और कला तथा संस्कृति से भी अवगत कराया जाए। इसके लिए इन मंदिरों के ट्रस्टों के पास मौजूद अपार धनराशि का उपयोग किया जाएगा। इन मंदिरों में सबसे पहले बनेंगे संग्रहालय- मध्यप्रदेश में उज्जैन में महाकाल मंदिर, खजराना मंदिर, सतना के मैहर मंदिर, पशुपतिनाथ मंदिर सहित कई ऐसे प्रमुख मंदिर है जहां मंदिरों की देखरेख और संरक्षण के लिए बनाए गए ट्रस्टों के पास श्रद्धालुओं के दान से मिली अपार धन संपदा स्थित है। इन्हीं मंदिरों में सबसे पहले संग्रहालय बनाने की शुरुआत की जाएगी।  इन मंदिरों के समीप काफी जमीन और भवन स्थित है। शिव मंदिरों में सभी बारह ज्योर्तिलिंगों के बारे में पूरी जानकारी एकत्रित कर प्रदर्शित की जाएगी। इसी तरह गणेश मंदिरों में गणेशजी के सभी स्वरुपों उनके इतिहास और महत्व को प्रदर्शित किया जाएगा। भोपाल के समीप स्थित भोजपुर मंदिर में दो सौ मीटर के दायरे के बाहर संग्रहालय बनाने का प्रस्ताव है। यहां भोजपुर के विशालकाय शिवलिंग और मंदिर के निर्माण की एतिहासिक प्रामाणिक  जानकारी प्रदर्शित की जाएगी। यह मंदिर कब बना, इस तरह के मंदिर और कहां-कहां बनाए जाने थे। यह अधूरा क्यों रह गया। मंदिर के आसपास मिलने वाले शिवलिंग और अन्य पुराधरोहरों को भी यहां संग्रहित किया जाएगा। भोपाल में भी मुस्लिम धर्मावलंबियों से जुड़ी जानकारी, मध्यप्रदेश के प्राचीन नवाबों से जुड़े इतिहास की प्रामाणिक जानकारी गौहर महल या अन्य स्थानों पर प्रदर्शित की जाएगी। मिडटाउन में दुनिया की सबसे बड़ी सेंट पीटर चर्च में संग्रहालय भी है। वेटिकन सिटी में भी म्युजियम है वहां कई तरह के चित्र प्रदर्शित किए गए है। इन चित्रों में इन देशों की कला और संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। जापान में म्युजियम आॅफ पैरासाइड है। भारत के कई राज्यों में भी मंदिर, मस्जिद और चर्च के साथ संग्रहालय लगे हुए है। मध्यप्रदेश में फिलहाल मंदिर, मस्जिद और गिरिजाघरों में संग्रहालय नहीं है। प्रमुख सचिव संस्कृति मनोज श्रीवास्तव ने कहा प्रदेश के मंदिरों पर अब संग्रहालय बनाने की राज्य सरकार की योजना है। इसके जरिए प्रदेश के नागरिकों को धार्मिक आस्था के केन्द्रों पर पहुंचने पर वहां संग्रहालयों में प्रदेश के इतिहास, कला और संस्कृति के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

  कोलार अवैध कब्जों का अड्डा बना    कोलार में राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों और तहसीलदारों की शह पर बेशकीमती जमीन पर जहां-तहां झुग्गियों का निर्माण करने के अलावा दीवारें तानकर अतिक्रमण किया जा रहा है। इन अतिक्रामकों को रोकने के बजाय अफसर उन्हें प्रश्रय दे रहे हैं। कोलार का दशहरा मैदान इसका ताजा उदाहरण है, जहां पिछले माह लगी आग में 50 झुग्गियां खाक हो गईं थी अब वहां 100 से ज्यादा झुग्गियां और मकान बन गए हैं।   लगातार अतिक्रमण बढ़ने की शिकायतों को लेकर एक सप्ताह पहले एडीएम रत्नाकर झा ने सभी एसडीएम को निर्देश दिए थे कि वे सरकारी जमीनों से अतिक्रमण हटाएं। साथ ही सूची तैयार करें, ताकि सरकारी जमीनों पर जमा अतिक्रमणों को हटाया जा सके। हुजूर एसडीएम और स्थानीय प्रशासन की लापरवाही से फिर कोलार दशहरा मैदान की सरकारी जमीन पर दर्जनों झुग्गियां तन गर्इं।  प्रशासन के सामने यहां पर झुग्गियां बनती गई, लेकिन उन्हें रोकने की हिम्मत किसी ने नहीं की।   डेढ़ साल पहले निगम चुनाव के पूर्व मुख्यमंत्री ने हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा के कहने पर कोलार दशहरा मैदान में स्टेडियम बनाने के निर्देश दिए थे। इसके बाद कलेक्टर निशांत वरवड़े ने यहां पर दौरा कर एसडीएम माया अवस्थी को झुग्गियां शिफ्ट करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद अब तक यहां पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।   कोलार दशहरा मैदान के किनारे बनी अवैध झुग्गियां में तीन साल से एक ही स्थान पर आग लग रही है। यहां 40-50 झुग्गियों में आग लगती है और इसके बाद नई 100 झुग्गियां बन जाती हैं। तीन साल में इस स्थान पर 300 से अधिक झुग्गियां अवैध बन गई। लेकिन प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया।     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

  पत्र  में प्रज्ञा ने कैंसर की बीमारी का हवाला भी दिया      मालेगांव बम ब्लास्ट में क्लीन चिट मिलने के बाद साध्वी प्रज्ञा सिंह ने अपने तेवर दिखाए हैं। सिंहस्थ में जाने की जिद पर अड़ीं साध्वी ने पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल में आमरण अनशन शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा है कि यदि सरकार ने उन्हें परमिशन नहीं दी, तो वे 21 मई को जल समाधि ले लेंगी। कैंसर से पीड़ित प्रज्ञा ने दवाइयां खाने से भी इनकार कर दिया है। प्रज्ञा ने राज्य सरकार को लिखे पत्र  में कहा कि वे कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रही हैं। हो सकता है कि अगला कुंभ न देख पाएं।इस मसले  पर बोलने से प्रदेश के गृह मंत्री बाबूलाल गौर ने इस मामले पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है।  साध्वी प्रज्ञा को क्लीन चिट मिलने के बाद से माना जा रहा है कि उन्हें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का सॉफ्ट कॉर्नर उनके प्रति बढ़ा है। उनके अनशन के मामले में प्रदेश के गृह मंत्री बाबूलाल गौर से जब पूछा गया कि सरकार क्या करेगी, तो विवादों से बचने के लिए उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया । गौरतलब है कि साध्वी लगभग सात सालों से जेल में बंद थीं, लेकिन कैंसर के इलाज के लिए कोर्ट ने उन्हें अस्पताल में रहने की परमिशन दी है। प्रज्ञा ने रविवार को लेटर लिखकर शिवराज सरकार से उज्जैन में चल रहे सिंहस्थ में शामिल होने की परमिशन मांगी थी।उन्होंने यह भी लिखा था कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो वे आमरण अनशन करेंगी। प्रज्ञा ने लिखा, 'वो कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रही हैं और शायद अगला कुंभ न देख पाएं। इसलिए उनकी अंतिम इच्छा है कि वे उज्जैन कुंभ में जाएं।' प्रज्ञा ने राज्य सरकार समेत राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को भी लेटर की कॉपी भेजी है। लेटर के मुताबिक, प्रज्ञा ने सोमवार सुबह 9 बजे तक का समय दिया था। मांग पूरी नहीं होने के कारण वे अपने कुछ सपोर्टर्स के साथ अस्पताल परिसर में ही आमरण अनशन पर बैठ गई हैं। प्रज्ञा ने लेटर में लिखा कि मैं अन्न जल त्याग दूंगी। अगर मुझे कुछ होता है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी मध्य प्रदेश सरकार की होगी। उन्होंने अपनी सिक्युरिटी को लेकर भी चिंता जाहिर की है। उन्होंने लिखा कि मेरे साथ पहले एसएएफ के जवान रहते थे। उनके हटाए जाने से मेरी जान को खतरा हो सकता है। प्रज्ञा ने जेड प्लस सुरक्षा की मांग की और सवाल पूछा कि जब देवास जिला कोर्ट ने उज्जैन जाने की अनुमति दे दी है, तो फिर सिक्युरिटी का हवाला देकर सरकार कोर्ट की अवमानना क्यों कर रही है? प्रज्ञा की चिट्ठी उनके सबसे विश्वसनीय भगवान झा लेकर पहुंचे थे। जेल सुपरिंटेंडेंट ने भगवान झा को भरोसा दिया के वह मामले को सीनियर अफसरों तक पहुंचा देंगे। भगवान झा ने कहा, 'सरकार के पास पुलिस की कोई कमी नहीं है। इसलिए साध्वी की सिंहस्थ यात्रा सुनिश्चित करा दी जाए, नहीं तो गंभीर परिणाम होंगे।'     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

  हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने किया 2.16 करोड़ की सड़क निर्माण का भूमि पूजन ।कोलार मुख्य मार्ग के समानांतर इस मार्ग से 2 लाख नागरिक होंगे सीधे लाभान्वित ।कोलार वासियो को विभिन्न मार्गो के माध्यम से नये भोपाल , होशंगाबाद रोड , जाने में होगी सहूलियत ।कोलार में बढ़ते ट्रैफिक पर नियंत्रण में हुज़ूर विधायक की कारगर पहल सफल ।हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा के अथक प्रयासों से कोलारवासियो को ट्रैफिक जाम से आये दिन होने वाली दिक्कतों से निज़ात मिलने जा रही है । बैरागढ़ चीचली से मंदाकनी मैदान (कोलार मुख्य मार्ग) तक  बायपास रोड का निर्माण कराया जा रहा है । आज हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने रानी अवंतीबाई मार्ग से मंदाकनी मैदान को जोड़ने वाली सड़क निर्माण कार्य का भूमि पूजन भूमिका रेसीडेंसी पर किया । 2 करोड़ 16 लाख की लागत से बनने वाली 4200 मीटर इस सड़क की चौड़ाई 7.5 मीटर रहेगी, इस सड़क का निर्माण राजधानी परियोजना प्रशासन द्वारा किया जायेगा । श्री शर्मा ने बताया की कोलार मुख्य मार्ग पर आये दिन लगने वाले ट्रैफिक जाम से छुटकारा पाने के लिये इस बाय पास रोड का निर्माण कराया जा रहा है , उन्होंने बताया की बैरागढ़ चीचली से रानी अवंती बाई मार्ग का निर्माण पूर्व में कराया जा चूका है । यह रोड  लोक निर्माण विभाग द्वारा बनायीं गयी है  गौरतलब है की उक्त सड़क का भूमि पूजन विधायक शर्मा द्वारा विधायक बनने के तत्काल बाद किया गया था । बैरागढ़ चीचली से रानी अवंती बाई मार्ग तक इस सड़क की दूरी कुल 2 किलोमीटर है ।बैरागढ़ चीचली से मंदाकनी मैदान पर कोलार मुख्य मार्ग पर जोड़ने वाले इस बायपास की कुल दूरी 6 किलोमीटर है । श्री शर्मा ने बताया की बहुत जल्द ही जे के अस्पताल के सामने इस मार्ग के जंक्शन पर एक पुल का निर्माण भी कराया जायेगा जो की सीधा शाहपुरा, भरत नगर , हबीबगंज , चुनाभट्टी , अथवा नये भोपाल को जोड़ेगा । श्री शर्मा ने बताया की इस मार्ग के निर्माण के पश्च्यात कोलार के किसी भी नागरिक को ट्रैफिक जाम या आपातकालीन स्थिति में परेशान नहीं होना पड़ेगा । श्री शर्मा ने बताया की इस मार्ग से कोलार सहित आसपास के लगभग 2 लाख नागरिक इससे सीधे लाभान्वित होंगे ।  श्री शर्मा ने बताया की इस मार्ग के निर्माण से पूर्व  उनके द्वारा स्थानीय जनप्रतिनिधियो अधिकारियो एवं स्थानीय नागरिको के साथ दौरा किया गया । फलस्वरूप कोलार को ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिये इस बायपास के निर्माण का निर्णय लिया गया । श्री शर्मा ने बताया की घनी आबादी वाले कोलार में नागरिको की सुविधा के मद्देनज़र इस मार्ग का  अलग अलग भागो में निर्माण कराया गया है , जिससे नागरिको को इसका लाभ पहुँच सके !  श्री शर्मा ने स्थानीय नागरिको को संबोधित करते हुए कहा की कोलार के समग्र विकास में निरंतर आपके द्वारा मिल रहे इसी प्रकार के सहयोग की आवश्यकता है आप सब के सहयोग से हम ग्रीन कोलार क्लीन कोलार का निर्माण करेंगे । कार्यक्रम के दौरान श्री शर्मा का स्थानीय नागरिको द्वारा बड़ी फूलो की माला पहनाकर सड़क निर्माण के लिए अभिन्दन किया गया !  मार्ग से लाभान्वित क्षेत्र  एक नज़र में -: बैरागढ़ चीचली , दौलतपुर ,धोली खदान, प्रियंका नगर ,हिनोतिया गांव ,मानसरोवर डेंटल कॉलेज, सुहागपुर ,पिपलिया, गुराडी , सेमरी ,अमरावत कलां ,सोहागपुर ,बांसखेड़ी झुग्गी बस्ती ,सन खेड़ी झुग्गी बस्ती, आकाश नगर , गिरधर परिसर ,सैफरॉन सिटी ,कृष्णा होम्स ,गिरधर गार्डन ,शिवालय परिसर ,सर्वजन सोसाइटी ,डी के 5 ,जे के अस्पताल , सागर प्रीमियम टॉवर, भूमिका रेसीडेंसी ,वेस्टर्न कौर्ट एवं मंदाकनी सोसायटी आदि इस मार्ग पर अन्य रहवासियो  को इस बाय पास का  सीधा लाभ पहुंचेगा ।होशंगाबाद रोड से जुड़ेगा यह मार्ग यह मार्ग चार बत्ती चौराहे से कालीबाड़ी पुल से होते हुए बाबड़िया रेल्वे फाटक से होशंगाबाद रोड से सीधा जुड़ेगा ।दानिश कुंज से कलियासोत नदी पर सलैया पुल के माध्यम से मिसरोद (होशंगाबाद रोड) से सीधा जुड़ेगा ।कार्यक्रम में विशेष रूप से स्थानीय पार्षद एवं एम आई सी सदस्य भूपेंद्र माली ,पार्षद पवन बोराना, मंडल उपाध्यक्ष श्याम मीना, बी एस वाजपेयी , महेश तिवारी , इक़बाल खान , अमित शुक्ल, दीपक माथुर , अरुण तिवारी , डी ले पालीवाल , एस एस सेंगर ,शोभा सिकरवार , श्रीमती गीता मिश्रा,गणेश तिवारी,राजेश सेंगर , राज शर्मा , प्रदीप पाटीदार ,आकाश श्रीवास्तव,सहित बड़ी संख्या में माताये बहने कॉलोनी वासी उपस्थित रहे ।  

Kolar News

Kolar News

कोलार के वार्ड 82 में आने वाले दानिशकुंज कॉलोनी में नगर निगम द्वारा काम नहीं कराने के बाद भी पार्षद द्वारा निर्माण को लेकर बोर्ड लगाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। गलत जानकारी को लेकर आज दोपहर कांग्रेस पार्षदों, स्थानीय नेताओं और रहवासियों का एक प्रतिनिधिमंडल नगर निगम आयुक्त छवि भारद्वाज से मिला। इन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा पार्षद जानबूझकर श्रेय की राजनीति कर रहे हैं। जबकि, जनता गर्मी में पानी के लिए हाहाकार मचा रही है, फिर भी उन्हें पानी नहीं दिया जा रहा है। पार्षदों ने यह की मांग : कांग्रेस पार्षद संतोष जितेंद्र कंसाना, मोनू सक्सेना, मनजीत मारण, अमित शर्मा, राहुल सिंह राठौर, अखिलेश जैन सहित रहवासियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने आयुक्त भारद्वाज से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपा। इसके अनुसार तत्काल गलत जानकारी देने वाले भाजपा पार्षद भूपेंद्र माली के बोर्ड को नगर निगम प्रशासन हटाए। साथ ही इस मामले में जांच कराएं कि कहीं दानिशकुंज में कराए गए डामर के भुगतान की फर्जी फाइल तो निगम के कार्यालय नहीं पहुंच गई। यदि प्रशासन बोर्ड नहीं लगाएगी, तो कांग्रेसी भी हर वार्ड में ऐसे बोर्ड लगाएगी। दानिशकुंज कॉलोनी में करीब एक करोड़ राशि से डामर कराया गया है। इस पर स्थानीय पार्षद ने खुद डामर कराने के बोर्ड पूरी कॉलोनी में लगा दिए। वहीं, दानिशकुंज सोसायटी ने भी एक विज्ञापन जारी करके कहा कि वह निर्माण उसने कराया है। कुछ लोगों के यहां निर्माण नहीं कराया गया है, वो लोग जल्द ही बकाया राशि जमा कर दें, ताकि बचे हुए स्थानों पर भी डामरीकरण कराया जा सके।

Kolar News

Kolar News

मध्यप्रदेश सरकार का जुमला ''क्षिप्रा के तट पर अमृत का मेला '' भी सिर्फ जुमला बन कर रह गया । सरकारी कारिंदे कई बार गलतियां करते हैं इस बार भी जुमला गढ़ने में गड़बड़ हो गई ।क्योंकि जब पानी के लिए क्षिप्रा से नर्मदा को जोड़ा गया तो क्षिप्रा का अस्तित्व ख़त्म हो गया और वह नर्मदा में तब्दील हो गई । ठीक वैसे ही जैसे गंगा से मिलकर सब कुछ गंगा हो जाता है । लेकिन मध्यप्रदेश के सरकारी अफसर तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को गुमराह करने में लगे थे सो नर्मदा और क्षिप्रा में हुए झोलझाल को दबा दिया गया । साधुओं ,संत महात्माओं और शिवराज सिंह के आकर्षक विज्ञापनों की चकाचौंध में सिंहस्थ को आस्था का केंद्र बनाए जाने की बजाए बाजार में तब्दील करने की कोशिश अफसरों ने की । लेकिन हुअत वही जो राम रची राख । पहले दिन से ही सिंहस्थ पर मुख्यमंत्री की अफसरी भारी पड़ गयी और उज्जैन उन नज़रों से वंचित रह गया जो उसे बारह बारस बाद यहाँ देखने थे । कड़वा सत्य पहले दिन कुम्भ की जो छटा होती है ,वह इस बार नदारत रही । सरकारी कारिंदों ने कुम्भ के पहले दिन लोगों की संख्या को लेकर कुतर्क किये। कहा गया पचास लाख लोग आये हैं। लेकिन संख्या बमुश्किल पांच लाख के आसपास रही । जिन लोगों ने पिछले उज्जैन कुम्भ को देखा था उनका कहना था इस बार श्रद्धालु कम और सरकारी इंतजाम अली ज्यादा हैं । जिस कारण यह मेला श्रद्धा का केंद्र होने की बजाये बड़े बाजार में तब्दील सा हो गया । महंत चतुरानंद ने तो यह तक कहा कि सरकार ने धर्म के मामले में जो अति उत्साह दिखाकर सरकारीकरण कर दिया है । वह न तो उज्जैन के लिए न ही सिंहस्थ के लिए हितकर है । स्वामी पुष्करनंद का कहना है धर्म अपना काम अपने आप करता है वह किसी का मोहताज नहीं है खासकर सरकार का तो कतई नहीं है । सरकार ने जहाँ जहाँ टांग अड़ाई वहां वहां बंटाधार ही होता है। कुम्भ के पहले दिन पहले शाही स्नान का दिन इतना सामान्य रहा कि उज्जैन वाले सरकारी इंतजामात को कोस्ते नजर आये। श्रद्धालु कम और पुलिस और शासकीय कर्मचारी इस सिंहस्थ की शोभा बढ़ाते नजर आये। नर्मदा के टत पर अमृत का मेला ऋषि अजयदास की माने तो सरकार ने क्षिप्रा को ख़त्म कर दिया है। जैसे ही नर्मदा जल से क्षिप्रा को भरा गया क्षिप्रा का अस्तित्व ही ख़त्म हो गया। अब इसका प्रचार ''क्षिप्रा के तट पर अमृत का मेला '' नहीं ''नर्मदा के तट पर अमृत का मेला होना चाहिए। ऋषि अजय दास कहते हैं संत समुदाय ने इस बार खासकर नागा साधुओं ने काफी सयंम से काम लिया नहीं तो सरकार की इस गलती के लिए उसे लेने के देने पड़ जाते। सिंहस्थ का आकर्षण साधू सन्यासी होते हैं अगर नर्मदा के मसले पर वे बेरुखी अख्तियार कर लेते तो सिंहस्थ प्रारम्भ ही नहीं हो पाता। इस कारण वैसे भी उज्जैन सिंहस्थ कुछ नीरस सा है। बुद्धू बनाया बुद्धूबक्से ने मध्यप्रदेश के रीजनल चैनल के रिपोर्टर ऐसे भागा दौड़ी कर के रिपोर्ट दे रहे थे कि पांव रखने की जगह नहीं है। लेकिन हाल वहां आगे पाट पीछे सपाट वाला था। चंद सिक्कों में गिरवी रखे यह न्यूज़ चैनल आम लोगों को बुद्धू बनाने में लगे थे । जिन लोगों ने इनका झूठ देखा उसे लगा भोपाल से उज्जैन तक के सारे रास्ते श्रद्धालुओं से अटे पड़े हैं। मजे की बात यह है कि सिंहस्थ को लेकर जनसम्पर्क विभाग ने अँधा बांटे रेवड़ी की तर्ज पर विज्ञापन बांटे और समझ लिया कि कुम्भ सफल हो गया। सरकार के पिट्ठू न्यूज़ चैनल को जनसम्पर्क विभाग के भूतल पर बैठने वाले एक अधिकारी कमांड दे रहे थे की अब तक 10 लाख लोग पहुंचे हैं और अब 30 लाख पहुँच गए हैं यह चलाएं। एक चैनल प्रमुख ने यह सब रिकॉर्ड कर लिया है। जाहिर है झूठ के हाथ पैर नहीं होते। अभी तो सिंहस्थ शुरू हुआ है और घपलों घोटालों की बू आने लगी है। सामाजिक कार्यकर्ता सक्रीय हो गए हैं। धीरे धीरे rti के जरिये दूध का दूध और पानी का पानी होगा कि कितने कितने का घपला किस किस ने किया है। सरकारी कारिंदों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को गुमराह कर के 500 करोड़ के ऊपर की राशि सिर्फ प्रचार-प्रसार में खर्च कर दी,140 करोड़ के टूटे-फूटे शौचालय बनवा दिए। सरकारी माल का दुरूपयोग कैसे किया जाता है उज्जैन सिंहस्थ इसकी भी मिसाल बनेगा। चांडाल योग चांडाल योग और कुम्भ की जब बात होती तो यह नोट खाऊ अफसर कह देते कि कहे का चांडाल योग , क्या बिगाड़ लेगा ... हमारा कुछ बिगड़ा क्या ? जितने मालखाने वाले हैं उनके लिए चांडाल योग और सिंहस्थ लाभ का सौदा रहा है ,लेकिन महाकाल इनकी ऐसी कुगत करेंगे कि इनकी शक्लें इतिहास के चांडालों में दर्ज हो जाएंगी ।वैसे भी इस बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के सिपहसलारों ने सिंहस्थ का सरकारीकरण कर उसका सत्यानाश कर दिया हैं ऐसे में भाड़े का मीडिया है जिसे सिर्फ हरा ही हरा दिख रहा है ,ऐसा लगता है मीडिया कि जवाबदेही जनता के प्रति न होके भ्रस्ट सिस्टम के प्रति हो । मुख़्यमंत्री शिवराज सिंह ने जब सिंहस्थ शुरू होने से पहले मीडिया को चाय पर बुलाया तो एक पत्रकार ने कहा साब माल [विज्ञापन ] दे कर गले तक तर कर दिया है। जाहिर है जो गले तक तर हैं वह पत्रकारिता क्या करेंगे और सच क्या लिखेंगे और क्या सच दिखाएंगे। फिलहाल चांडाल योग का असर अभी ब्रम्हांड पर है। उज्जैन , सिंहस्थ और इसके इंतजाम अली इससे बचे रहें हम सिर्फ इसकी प्रार्थना कर सकते हैं। [दखल से साभार ]

Kolar News

Kolar News

भोपाल। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राजनीतिक विश्लेषकों का मानना था कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में विरोधी लहर के कारण भाजपा विफल रहेगी, लेकिन जनता का कहना था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा प्रचंड बहुमत से जीत हासिल करेगी। भाजपा का मानना है कि ‘एक देश, एक चुनाव’ होना चाहिए, जिससे तहत लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा का चुनाव भी होना चाहिए, जिसका नतीजा यह होगा कि जनता का पैसा और बहुमूल्य समय दोनों व्यर्थ नहीं होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द की अध्यक्षता में ‘एक देश, एक चुनाव’ के लिए समिति का गठन किया। यदि एक देश, एक चुनाव लागू होगा तो भारत और भी मजबूत बनेगा। लोगों की आशा और उमंग देखकर यह लगता है कि जनता ने भी ‘एक देश, एक चुनाव’ के लिए मन बना लिया है। रक्षा मंत्री सिंह शनिवार को सिंगरौली और सीधी में पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी राजेश मिश्रा के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। किया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत जनता के आशीर्वाद और नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा के प्रभावी कार्यों का परिणाम है।     उन्होंने कहा कि 2003 से पहले मध्यप्रदेश बीमारू राज्य के तौर पर जाना जाता था, मगर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बीमारू से विकसित राज्य बनाया। देश के विकास के लिए मध्यप्रदेश भी अहम भूमिका निभा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी जनता से जो भी बोलते हैं वह करके दिखाते हैं। भारतीय जनसंघ के समय से लेकर भाजपा के सभी घोषणापत्र की घोषणाओं को मोदी सरकार ने पूर्ण किया है। 1984 में भाजपा का नारा था कि रामलला आएंगे मंदिर अयोध्या में बनाएंगे और यह कुशल कार्य भी मुमकिन हो गया। प्रभु श्रीराम अपने कुटिया से उठकर अपने महल में विराजमान हो गए हैं और अब रामराज्य का भी आरम्भ हो चुका है। नरेन्द्र मोदी ने जम्मू कश्मीर को अनुच्छेद 370 की बेड़ियों से भी मुक्त कर दिया।     राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी जनता को गुमराह और नफरत फैलाने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस कहती है नागरिकता (संशोधन) अधिनियम मुसलमानों के खिलाफ है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार जाति, पंथ और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करती, बल्कि भाजपा इंसाफ और इंसानियत की राजनीति करती है। नागरिकता (संशोधन) अधिनियम से भारत का कोई भी मुसलमान भारत के बाहर नहीं जाएगा, जो भारत का नागरिक है, वह नागरिक रहेगा।     उन्होंने कहा कि जनता ने कांग्रेस को सबक सिखाया है, कांग्रेस पार्टी ने लम्बे समय तक देश पर हुकूमत की, मगर जनता की सेवा नहीं की। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार ने जनता की सेवा करने का काम किया है। देश में लगभग सभी को कच्चे मकान से मुक्त करके पक्के मकान प्रदान किए जा रहें हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने दृढ़ निश्चय किया कि सभी घर में नल से जल पहुंचना चाहिए और यह कार्य भी प्रगति पर है।   राजनाथ सिंह ने कहा कि वह भी एक किसान परिवार से हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के लिए सेवाभाव से जो कार्य किए हैं, वह अब तक की कोई भी पिछली सरकार ने नहीं किया। मोदी सरकार सवा लाख करोड़ रुपये खर्च करके किसानों के अनाज भन्डारण की व्यवस्था की कर रही है, जिससे किसानों को अपना अनाज लंबे समय तक भंडारण करने में सहायता मिली है। आज मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के माध्यम से 20 लाख जनता को मालिकाना हक दिया गया है, यह दर्शाता है भाजपा जमीनी स्तर से कार्य कर रही है। गरीबों को हर मुसीबत से बचाना मोदी की गारंटी है, जिससे भारत आज तेजी से आगे बढ़ रहा है।     उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक भ्रष्ट पार्टी है, मगर 10 साल से सत्ता में रहने के बाद भी प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा पर एक भी आरोप नहीं लगा है। कांग्रेस नेताओं को सत्ता में रहते हुए जेल की हवा खानी पड़ी थी। प्रधानमंत्री एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक संस्था होती है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी चाहते थे कि जो पैसा गरीबों का है वो उनकी जेब तक पहुंचे। लेकिन उनकी खुद की पार्टी के लोग वह पैसा गरीबों तक पहुंचने नहीं देते थे। इसको चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जनाधार व्यवस्था शुरू करके जनता के लिए जितना भी पैसा आवंटित किया उतना पूरा पैसा जनता को प्राप्त होता है। मोदी ने अपने कार्यकाल में जनता का एक भी रूपया भ्रष्टाचार की भेंट नहीं चढ़ने दिया।     उन्होंने कहा कि केवल भाषण देकर भ्रष्टाचार समाप्त नहीं किया जा सकता,इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करना पड़ता है, जो भाजपा ने स्वीकार किया है। देश की सुरक्षा को लेकर उन्होंने जनता को आश्वस्त किया कि आपके देश की सीमाएं पूरे तरीके से सुरक्षित हैं। उन्होंने 2008 मुंबई हमले में कांग्रेस के तत्कालीन गृहमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आतंकी देश में आकर हमला कर दिए थे और उस समय कांग्रेस के तत्कालीन गृहमंत्री का बयान था कि ऐसा आतंकवादी हमला होता रहता है, यह देश की सुरक्षा के लिए कांग्रेस की नीति को दर्शाता है। अंत में राजनाथ सिंह ने कमल का बटन दबाकर भाजपा प्रत्याशी राजेश मिश्रा को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की।  

Kolar News

Kolar News

पटना/नवादा। लोकसभा चुनाव के माहौल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को बिहार के नवादा पहुंचे। यहां जनता को संबोधित करते प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मोदी मौज करने के लिए नहीं पैदा हुआ है। मोदी मेहनत करने के लिए ही जन्मा है, और वह भी 140 करोड़ देश वासियों के लिए। अब तक बहुत हुआ और बहुत किया है। देश और बिहार को नई ऊंचाई पर ले जाना है। वरिष्ठ भाजपा नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को नवादा के कुंती नगर में भाजपा उम्मीदवार विवेक ठाकुर के पक्ष में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान मोदी ने आईएनडीआईए गठबंधन पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बिहार में आईएनडीआईए गठबंधन एक उम्मीदवार खड़ा करता है, तो दूसरा नेता कहता है कि वो असली नेता है। यहां तो घमासान मचा है। आईएनडीआईए गठबंधन मतलब भ्रष्टाचारियों का ठिकाना। मोदी ने कहा कि कांग्रेस के लोग दक्षिण भारत अलग करने की बात कहते हैं। कांग्रेस के घोषणा पत्र में मुस्लिम लीग के विचार हैं। ये घोषणा पत्र नहीं तुष्टिकरण का पत्र है। भ्रष्टाचारियों को छुड़ाने के लिए इंडी गठबंधन बना है। हम कहते हैं भ्रष्टाचार हटाओ, वो कहते हैं भ्रष्टाचारियों को बचाओ। कांग्रेस-राजद एक भी वोट पाने के हकदार नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राम मंदिर सरकारी तिजोरी से नहीं बना, बल्कि लोगों के चंदे से बना है। किसी ने 5, किसी ने 10 रुपये दिए। विपक्ष ने कहा कि मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा में नहीं जाएंगे। क्या ये शोभा देता है। और जब उनकी पार्टी के कुछ लोग राम मंदिर आ गए, तो पार्टी से 6 साल के लिए निकाल दिया। ये पाप करने वालों को भूलना मत। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बिहार के लोगों को लंबे समय तक जंगलराज में जीवन गुजारना पड़ा। बिहार में एक वह भी समय था कि हर मां अपनी बेटियों के घर से बाहर निकलने पर डरती थीं। लोग शाम के बाद घर से बाहर नहीं निकलते थे। नीतीश कुमार और सुशील मोदी के प्रयासों से बिहार उन परिस्थितियों से बाहर निकला है। अब हर बहन के पास मोदी की गारंटी भी है। अब मोदी की गारंटी है कि गांव की तीन करोड़ बहनों को लखपति दीदी बनाएंगे। उन्होंने कहा कि मोदी देश से गरीबी खत्म करने के मिशन में जुटा है। मैं भी आपकी तरह ही गरीबी को जी कर यहां आया हूं। मैं कभी भूल नहीं सकता कि 2014 के पहले देश की क्या स्थिति थी, करोड़ों देशवासियों के पास न घर था, न शौचालय था और न पीने के लिए स्वच्छ पानी। अस्पताल में इलाज के लिए गरीबों को दर-दर भटकना पड़ता था। गरीबी का बेटा मोदी गरीब का सेवक है। मैं जब तक गरीबी दूर नहीं कर लूंगा तब तक चैन से नहीं बैठूंगा। बीते दस वर्षों में जो काम हुआ वह आजादी के छह दशकों में भी नहीं हुआ था। जब नीयत सही होती है और हौसले बुलंद होते हैं तो नतीजे भी मिलते ही हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि साथियों मैंने लाल किले से कहा था कि यही समय है और सही समय है। हमलोग मिलकर काम करें तो भारत विकसित हो सकता है। अपनी गरीबी दूर कर सकता है। हमें इस मौके को गंवाना नहीं है। इसलिए 2024 का लोकसभा चुनाव काफी अहम हो गया है। बीते 10 साल में बिहार के लोगों ने देशहित में लिए गए अनेक बड़े निर्णय देखे हैं। आज बिहार में आधुनिक एक्सप्रेस वे बन रहे हैं। रेलवे का आधुनिकीकरण हो रहा है। वंदे भारत जैसी ट्रेनें बढ़ रही हैं। आज पूरी दुनिया में भारत का डंका बज रहा है। यह सब आपके वोट के कारण हो रहा है। पूरे बिहार में एनडीए का परचम लहराने जा रहा है मोदी ने कहा कि मैं नवादा के लोगों को नमन करता हूं। मैं सभी महान विभूतियों को नमन करता हूं। नवादा ने हमेशा भाजपा को, एनडीए को अपना भरपूर प्यार और आशीर्वाद दिया है। मैं देख रहा हूं कि आपका प्यार बता रहा है कि नवादा के साथ-साथ पूरे बिहार में एनडीए का परचम लहराने जा रहा है। पिछले 10 साल में जो काम हुए हैं, आज उसकी झलक दिख रही है। आज पूरा देश कह रहा है कि फिर एक बार एनडीए सरकार।

Kolar News

Kolar News

सहारनपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां कहा है कि शक्ति उपासना हमारी स्वाभाविक आध्यात्मिक यात्रा का हिस्सा है, मगर इंडी एलायंस के लोग खुलेआम चुनौती दे रहे हैं कि उनकी लड़ाई शक्ति के खिलाफ है। उन्हें शायद नहीं पता कि जिन लोगों ने शक्ति को नष्ट करने प्रयास किया है, उनका क्या हाल हुआ है वो इतिहास और पुराणों में अंकित है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सोच पर मुस्लिम लीग और वामपंथी हावी हो चुके हैं। भारत की आजादी की लड़ाई लड़ने वाली कांग्रेस दशकों पहले ही खत्म हो चुकी है। प्रधानमंत्री मोदी शनिवार को सहारनपुर में विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने सहारनपुर से बीजेपी उम्मीदवार राघव लखन पाल और कैराना से उम्मीदवार प्रदीप चौधरी के लिए जनता से रिकॉर्डतोड़ वोटों से जीत दिलाने की अपील की। भाजपा राजनीति नहीं राष्ट्रनीति पर चलती है प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज भाजपा का स्थापना दिवस है। बहुत कम दशकों में ही भाजपा के साथ रिकॉर्ड संख्या में देशवासी जुड़े हैं। भाजपा ने लोगों का भरोसा जीता है। इसका सबसे बड़ा कारण है कि भाजपा राजनीति नहीं राष्ट्रनीति पर चलती है। हमारे लिए देश और देशहित से बड़ा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि गरीब कल्याण हमारे लिए चुनावी घोषणा नहीं बल्कि मिशन है। जबकि, कांग्रेस जितने साल सत्ता में रही उसने कमीशन खाने को प्राथमिकता दी। इंडी एलांएंस कमीशन के लिए है और एनडीए व मोदी सरकार मिशन के लिए है। लाभार्थियों को उसका हक मिलना ही सच्चा सेक्युलरिज्म मोदी ने बताया कि अयोध्या में रामलला का भव्य मंदिर चुनावी घोषणा नहीं बल्कि हमारा मिशन था। इस वर्ष रामनवमी में हमारे प्रभु श्रीराम टेंट में नहीं, बल्कि भव्य मंदिर में दर्शन देंगे। ये हमारी पीढ़ी के लिए कितने बड़ा गौरव है। जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाना हमारा मिशन रहा है। ये मिशन भी पूरा हो चुका है। कश्मीर में पत्थरबाजों ने जो पत्थर फेंके थे वो सारे पत्थर जुटाकर मोदी उन्हीं से विकसित जम्मू कश्मीर का निर्माण कर रहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार बिना भेदभाव के काम करती है। हमारी सोच यही है कि सरकार की योजनाएं हर वर्ग, हर जाति, हर व्यक्ति तक पहुंचे। लाभार्थियों को उसका हक मिलना ही सच्चा सेक्युलरिज्म और सामाजिक न्याय है। मुस्लिम बेटियां मोदी को आशीर्वाद देती रहेंगी प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन तलाक की कुप्रथा का अंत करके करोड़ों मुस्लिम बहनों के हित में काम किया गया। उन्होंने कहा कि कोई भी मुस्लिम महिला किसी की बेटी और किसी की बहन होती है। जब मां बाप बेटी को ब्याह करके भेजते हैं तो भी मन में चिंता रहती थी कि कहीं दामाद तीन तलाक बोलकर वापस न भेज दे। इसलिए तीन तलाक के कानून की परंपरा को खत्म करके सिर्फ मुस्लिम महिला ही नहीं बल्कि पूरे मुस्लिम परिवार को बचाने का काम किया है। ये एक काम इतना बड़ा किया गया है कि आने वाली कई सदियों तक मुस्लिम बेटियां मोदी को आशीर्वाद देती रहेंगी। योगी जी ने सुरक्षा के साथ साथ निवेश के लिए भी माहौल बनाया प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे योगी जी कानून व्यवस्था के विषय में रत्ती भर भी छूट नहीं देने वाले। भाजपा ने अपराधियों दंगाइयों को काबू किया है। सुरक्षा के साथ साथ निवेश के लिए भी माहौल बनाया है। ये क्षेत्र अपने कृषि उत्पादों के लिए भी जाना जाता है। हमारी सरकार 10 साल से किसान भाइयों के लिए काम कर रही है। किसान की छोटी-छोटी जरूरत को लेकर हमारी सरकार संवेदनशील है। देश में छोटे किसानों को पीएम किसान निधि के जरिए मदद की जा रही है। अकेले सहारनपुर में तीन लाख किसानों के खाते में 860 करोड़ रुपये सीधे भेजे जा चुके हैं। इंडी गठबंधन अस्थिरता और अनिश्चितता का दूसरा नाम प्रधानमंत्री ने कहा कि हम भारत को विकसित राष्ट्र बनाना चाहते हैं मगर विरोधी सत्ता पाने के लिए तड़प रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये देश का पहला चुनाव है जहां विपक्ष जीत का दावा नहीं कर रहा। बल्कि विपक्ष सिर्फ इसलिए चुनाव लड़ रहा है कि भाजपा की सीटें 370 से कम और एनडीए की 400 से कम की जा सके। सपा को तो यहां हर घंटे अपने उम्मीदवार बदलने पड़ रहे हैं और कांग्रेस को तो उम्मीदवार ही नहीं मिल रहे हैं। जिन सीटों को कांग्रेस अपना गढ़ मानती थी वहां भी उम्मीदवार उतारने की हिम्मत नहीं हो रही। हालत ये है कि जिसे उन्होंने टिकट दिया उसने दूसरे दिन अपना इस्तीफा दे दिया। इंडी गठबंधन अस्थिरता और अनिश्चितता का दूसरा नाम बन चुका है। इसलिए देश उनकी एक भी बात को गंभीरता से नहीं ले रहा है। यूपी के लोग बहुत जानकार और समझदार हैं। यहां दो लड़कों की जो फिल्म पिछली बार फ्लॉप हो चुकी है उसे इन लोगों ने फिर से रिलीज किया है। पीएम ने कहा कि काठ की हांडी को इंडी गठबंधन वाले कितनी बार चढ़ाएंगे।   कांग्रेस आज के भारत की आशाओं और आकांक्षाओं से पूरी तरह से कट चुकी है प्रधानमंत्री ने कहा कि कभी जिस कांग्रेस ने आजादी की लड़ाई लड़ी थी और देश के दिग्गज नेता कांग्रेस के साथ जुड़े थे, मगर आज देश एक स्वर से कह रहा है कि आजादी की लड़ाई लड़ने वाली वो कांग्रेस दशकों पहले ही समाप्त हो चुकी है। अब जो कांग्रेस बची है उसके पास न देशहित के लिए नीतियां हैं, न राष्ट्र निर्माण का विजन। कांग्रेस ने जिस तरह का घोषणा पत्र जारी किया है उससे साबित हो गया है कि आज की कांग्रेस आज के भारत की आशाओं और आकांक्षाओं से पूरी तरह से कट चुकी है। उसके घोषणा पत्र में वही सोच झलक रही है, जो सोच आजादी के वक्त मुस्लिम लीग में थी। कांग्रेस के घोषणा पत्र में पूरी तरह मुस्लिम लीग की छाप है। इस घोषणापत्र में जो कुछ हिस्सा बचा रह गया उसमें वामपंथी पूरी तरह हावी हो चुके हैं। कुल मिलकार कांग्रेस इसमें दूर-दूर तक नहीं दिखाई पड़ रही। ऐसी कांग्रेस 21वीं सदी में भारत को आगे नहीं बढ़ा सकती। आपका सपना ही मोदी का संकल्प है प्रधानमंत्री ने कहा कि आपने मेरा काम देखा है, जोकि हर पल देश के नाम है। ये 24X7 फॉर 2047 है। आपका सपना ही मोदी का संकल्प है। उन्होंने कहा कि जनता के बेहतर भविष्य के लिए ही भ्रष्टाचार पर आज कड़ा प्रहार किया जा रहा है। ये भ्रष्टाचारी गरीब के सपनों को तोड़ते हैं, आपको लूटते हैं, आपके अधिकारों को लूटते हैं। आपको आगे बढ़ने से रोकते हैं। आपका बेटा या बेटी नौकरी के लिए योग्य है, मगर किसी और को नौकरी दे दी जाए तो आपके बेटे बेटी का भविष्य का क्या होगा। आपके बेटे बेटी के भविष्य को बचाने के लिए मोदी इतनी गालियां खा रहा है। ये भ्रष्टाचारी एकजुट होकर मोदी को धमकी दे रहे हैं। मगर हमारा मिशन साफ है, भ्रष्टाचार हटाओ, उनका कमिशन साफ है 'भ्रष्टाचारी बचाओ'। लेकिन, ये मोदी है जो पीछे हटने वाला नहीं है। भ्रष्टाचार पर तेज कार्रवाई जारी रहेगी ये मोदी की गारंटी है।   अभी तो बस ये ट्रेलर है, अभी बहुत कुछ करना है प्रधानमंत्री ने कहा कि 10 साल में जो हुआ है, उसकी सराहना आज बच्चा बच्चा कर रहा है। मगर मोदी के मन में जो सपना है उस हिसाब से ये काम अभी ट्रेलर है। अभी बहुत कुछ करना है और देश को अभी बहुत आगे लेकर जाना है। वो दिन दूर नहीं जब भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति बन जाएगा। ऐसे विराट संकल्पों के लिए मोदी को आशीर्वाद चाहिए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह, योगी सरकार के मंत्री योगेंद्र उपाध्याय, ब्रजेश सिंह, जसवंत सैनी, सहारनपुर से भाजपा प्रत्याशी राघव लखन पाल शर्मा, सांसद व कैराना से भाजपा प्रत्याशी प्रदीप चौधरी आदि मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। पूर्वी मेदिनीपुर के भूपतिनगर में हुए विस्फोट की जांच के सिलसिले में पहुंची एनआईए की टीम पर शनिवार को उपद्रवियों ने घेर कर हमला कर दिया। एनआईए अधिकारियों की कार पर पथराव किया गया जिसमें दो अधिकारियों को चोटें आई हैं। इससे पहले 5 जनवरी को उत्तर 24 परगना के संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां के घर की तलाशी के दौरान ईडी की टीम पर तृणमूल नेता के समर्थकों ने हमला कर दिया था।   दिसंबर 2022 को भूपतिनगर थाने के भगवानपुर 2 ब्लॉक के अर्जुन नगर ग्राम पंचायत के नैराबिला गांव में रात करीब 11 बजे भीषण बम विस्फोट हुआ था। घटना में तृणमूल बूथ अध्यक्ष राजकुमार मन्ना, उनके भाई देवकुमार मन्ना और विश्वजीत गायेन की मौत हो गयी। सूचना मिलने पर पुलिस इलाके में गई। पुलिस ने अपनी पहल पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। बाद में कोर्ट के आदेश पर एनआईए ने घटना की जांच अपने हाथ में ले ली। सूत्रों के मुताबिक, एनआईए ने विस्फोट के सिलसिले में भूपतिनगर के रहने वाले बलाई मैती और मनोब्रत जाना नाम के दो लोगों को तलब किया लेकिन वे उपस्थित नहीं हुए। एनआईए ने दोनों के घरों पर छापेमारी की थी। जैसे ही पूछताछ के लिए ले जाए जाने के लिए दोनों को कार में बिठाया गया, उसके समर्थक तृणमूल कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय एजेंसी के वाहन को घेर लिया। सूत्रों का दावा है कि वे बलाई और मनोब्रत को कार से उतारने की मांग कर रहे थे। इस दौरान उपद्रवियों ने गाड़ी के शीशे तोड़ दिए। दो अधिकारियों को चोटें आई हैं। हमले के बाद एनआईए टीम थाने पहुंची। बताया जा रहा है कि एनआईए की ओर से लिखित शिकायत की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

Kolar News

Kolar News

जयपुर। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष एवं राज्यसभा सदस्य सोनिया गांधी ने शनिवार को कहा कि देश से ऊपर कोई नहीं होता, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी खुद को महान मानते हैं। यह देश चंद लोगों की जागीर नहीं है। हमारे पूर्वजों ने इसे खून से सींचा है। ये देश हमारे बच्चों का आंगन है। सोनिया गांधी जयपुर के विद्याधरनगर स्टेडियम में आयोजित कांग्रेस के घोषणा पत्र 'न्याय पत्र' को जारी करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि हमारे महान पूर्वजों ने अपने संघर्ष के बल-बूते देश की स्वाधीनता के सूर्य को खोजा और पाया था। इतने सालों बाद महान ज्योति मद्धम पड़ गई है। हमारा संकल्प होना चाहिए कि हम इसके खिलाफ लड़ेंगे और न्याय की रोशनी खोजेंगे। हमारा देश पिछले 10 सालों से ऐसी सरकार के हाथ में जिसने बेरोजगारी, आर्थिक संकट को बढ़ावा देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। मोदी सरकार ने जो-जो किया है वो हमारे सामने है। इसलिए यह समय हताशा से भरा हुआ है, लेकिन जान लीजिए हताशा के साथ उम्मीद का भी जन्म होता है। मुझे पूरा यकीन है कांग्रेस के हमारे साथी न्याय के दीपक को सीने की आग से जलाएंगे और हजारों आंधियों से संभाल आगे बढ़ेंगे। जनसभा को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी संबोधित किया। खड़गे ने कहा कि मोदी हमेशा लोगों को भ्रमित करते हैं। आपने देश के लिए कुछ नहीं किया, फिर भी कहते रहते हैं कांग्रेस वालों ने कुछ नहीं किया, 70 सालों में कुछ नहीं किया। हम तो 55 साल का हिसाब दे रहे हैं। राजस्थान-जयपुर में या उसका हिसाब दे रहे हैं। आप दो न हिसाब, तुमने क्या किया। तुम में बोलने की ताकत नहीं है। बात उठी तो कांग्रेस को गालियां देना, बात करें तो गांधी परिवार को गालियां देना। राजस्थान में हुए विकास कार्यों का जिक्र करते हुए खड़गे ने कहा कि एयरपोर्ट, आईआईटी और एम्स कांग्रेस लाई और मोदी जी कहते हैं देश का विकास हो रहा है। मैं देश के विकास के लिए काम कर रहा हूं। इस बार नया सॉन्ग और ड्रामा लाए हैं। मोदी की गारंटी.. वे पार्टी और भाजपा का नाम नहीं लेते। मोदी है तो मुमकिन है...मोदी है तो गारंटी है। ये हर जगह कह रहे हैं..मेरी गारंटी, ये हमारा शब्द है, जो मोदी ने चुरा लिया। उन्होंने कहा कि ये आदमी सब जगह कहता है मैंने ये किया, मैंने वो किया। मोदी के इंफ्रास्ट्रक्चर के कामों पर तंज कसते हुए खड़गे ने कहा कि आजकल रेलवे लाइन को लेकर चर्चा में हैं। ये लाइन तो ब्रिटिश के जमाने से लेकर पंडित नेहरू के जमाने से है। मोदी अब क्या कर रहे हैं। मोदी उन लाइन पर एक-एक ट्रेन को छोड़कर हरी झंडी दिखा रहे हैं। ये इंफ्रास्ट्रक्चर तो हमने तैयार किया है और उसका क्रेडिट भी आपने लिया। स्टेशन पर जाकर हरी झंडी दिखाते हैं। बगैर काम का क्रेडिट लेना मोदी का काम है। खड़गे ने कहा कि हम कभी झूठ बोलने वालों में नहीं है। जैसा मोदी झूठ बोलते हैं। हर जगह कुछ न कुछ नया झूठ बोलकर आते हैं। उन्होंने कितनी गारंटी हमसे पहले दी हैं। पहली गारंटी में युवाओं को कहा कि मैं हर साल दो-दो करोड़ नौकरियां दूंगा। 10 साल में 20 करोड़ नौकरी देनी थी, क्या 20 करोड़ नौकरियां देश के युवाओं को मिला है। मोदी पीएम है वो ऐसा झूठ कैसे बोल सकते हैं, आप लोग झूठ बोल रहे हो। जनसभा में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कांग्रेस के न्याय पत्र की प्रमुख बातों की चर्चा करते हुए कहा कि भाजपा के नेता और मोदी जी खोखले संसार और दुनिया में रह रहे हैं। गाजे बाजे में, शोहरत में, आपको केवल अच्छा-अच्छा दिखता है, बड़ी-बड़ी इवेंटबाजी दिखती है। ये सब सच्चाई छिपाने के लिए हैं। दो सीएम जेल में हैं। कहते हैं कि भ्रष्टाचार पर वार है, लेकिन सब भ्रष्टाचारियों को अपनी पार्टी में शामिल कर रहे हैं। सारी पार्टियों को, भ्रष्टाचारियों को न्योता देकर अपने साथ ले रहे हैं और उन पर कोई सवाल नहीं उठाता। हम न्याय की गारंटी दे रहे हैं, लोकतंत्र की रक्षा करेंगे। हमारे पूर्वजों ने लोकतंत्र को बचाया है, नेताओं ने जान दी। इस चुनाव को आप अपने मुद्दों पर लड़वाएं, जो आपका अनुभव है वो ही सत्य है। प्रियंका गांधी ने कहा कि असलियत को पहचानने का समय आ गया है। आपको ये ही सुनने को मिलता है कि अबकी बार 400 पार। मोदी कहां भ्रमण कर रहे हैं। कभी हवाई जहाज, कभी समुंदर में पानी के नीचे...ये ही दिख रहा है। आपको जहां-जहां तकलीफ हुई वहां कोई मदद के लिए नहीं आया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि पीएम कल शेखावाटी में आए, जो किसानों और शहीदों का जिला है। वहां पर आकर युवाओं को रोजगार देने की बात नहीं कर रहे हैं। सेना में अस्थाई करने, किसान के एमएसपी की बात नहीं कर रहे हैं। केवल 370 की बात कर रहे हैं। क्या पीएम ने कर्जमाफी और एमएसपी का वादा नहीं किया था। इंस्पेक्टर के बेटे के मामले में डोटासरा ने कहा कि मुख्यमंत्री जी से मंच से पूछना चाहता हूं आपके सीएमओ में तैनात सीआई के बेटे ने हत्या कर दी और आपने मामला तक दर्ज नहीं किया। जनसभा को पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमारी कई योजनाओं को संकल्प पत्र में जगह मिली है। इससे पहले जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में हो रही इस सभा में खड़गे सहित पार्टी के प्रमुख नेताओं ने फिर से चुनावी घोषणा पत्र लॉन्च किया।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ ली। वह राजस्थान से राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुई हैं। राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने उन्हें शपथ दिलाई। राज्यसभा सदस्य के तौर पर सोनिया के अपनी नई पारी शुरू करने पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी। खड़गे ने एक्स पर लिखा, "प्रतिकूल परिस्थितियों और उथल-पुथल के मद्देनजर उनका साहसी लचीलापन और गरिमामय अनुग्रह हमारी संसदीय रणनीति का मार्गदर्शन करता रहेगा। उन्होंने लोकसभा में सेवा करते हुए 25 वर्ष पूरे कर लिए हैं और अब मैं और मेरे साथी सदस्य उच्चसदन में उनकी उपस्थिति का इंतजार कर रहे हैं। मैं उनके सफल कार्यकाल की कामना करता हूं।" सोनिया गांधी के शपथ के मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और रॉबर्ट वाड्रा भी मौजूद रहे। राज्यसभा सदस्य के तौर पर 77 वर्षीय सोनिया गांधी का यह पहला कार्यकाल है। सोनिया रायबरेली लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रही थीं। वह अब लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। वर्ष 1999 में कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने के बाद वह पहली बार लोकसभा सदस्य चुनी गई थीं। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बाद सोनिया गांधी राज्यसभा में प्रवेश करने वाली गांधी परिवार की दूसरी सदस्य हैं। इंदिरा गांधी अगस्त 1964 से फरवरी 1967 तक राज्यसभा की सदस्य थीं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि घमंडिया गठबंधन वाले बिहार को लालटेन युग में रखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि राजद-कांग्रेस के शासन मॉडल के कारण बिहार में जंगल राज और नक्सलवाद चरम पर रहा है, जिससे दशकों तक राज्य का विकास रुका रहा। लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार के जमुई में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “जमुई का मूड बिहार में एनडीए के पक्ष में सभी 40 सीटों के साथ अब की बार 400 पार को प्रतिबिंबित करता है।” उन्होंने बिहार के कल्याण और इसके विकास के लिए समर्पित स्वर्गीय राम विलास पासवान के योगदान के प्रति अपनी श्रद्धांजलि व्यक्त की। रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान को अपना छोटा भाई बताते हुए मोदी ने कहा, “मुझे संतोष है कि रामविलास के विचार को मेरे छोटे भाई चिराग पासवान पूरी गंभीरता से आगे बढ़ा रहे हैं।”   बिहार के लोगों को होने वाले घोर अभाव पर बोलते हुए, मोदी ने कहा कि बिहार की 5-6 से अधिक पीढ़ियों को इंडी गठबंधन के तहत घोर अभाव और अविकसितता का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि इंडी गठबंधन ने कभी भी बिहार के लोगों की क्षमता और प्रतिभा को सशक्त नहीं बनाया। मोदी ने कहा कि पिछले दस वर्षों में, बिहार ने सभी स्तरों पर सुधार देखा है और इसे जारी रखने के लिए, बिहार के लोगों को अपने समृद्ध भविष्य को ध्यान में रखते हुए 2024 के लोकसभा चुनाव में हमें वोट देना चाहिए। उन्होंने कहा, “आपको विकसित बिहार और विकसित भारत के लिए एन.डी.ए. को वोट देना चाहिए।”   बिहार और भारत दोनों की भविष्य की संभावनाओं के बारे में विस्तार से बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले 10 साल में जो हुआ वो तो ट्रेलर है, अभी तो बहुत कुछ करना है। अभी तो हमें देश को, बिहार को बहुत आगे लेकर जाना है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर परोक्ष हमला करते हुए मोदी ने कहा कि जो लोग पहले एक-दूसरे पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे थे, वे अब मोदी के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं। उन्होंने कहा, “आज देश के सारे भ्रष्टाचारी, जो हमेशा एक दूसरे से लड़ते थे, अब मिलकर मोदी के खिलाफ हो गए हैं। मैं कहता हूं- भ्रष्टाचार हटाओ, वो कहते हैं- भ्रष्टाचारी बचाओ।”   प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोग राम मंदिर के विरोध के पीछे राजद-कांग्रेस के इरादों को कभी नहीं भूलेंगे। उन्होंने कहा कि यही कांग्रेस-राजद बिहार के आदिवासियों और दलितों सहित वंचितों के अधिकारों के खिलाफ है। मोदी ने कहा कि एन.डी.ए. बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध है और विश्वास व्यक्त किया कि आगामी लोकसभा चुनाव में बिहार सर्वसम्मति से भाजपा को वोट देगा।

Kolar News

Kolar News

ताइपे। ताइवान में आज (बुधवार) सुबह आए शक्तिशाली भूकंप के झटकों का असर अब धीरे-धीरे सामने आने लगा है। ताइवान न्यूज के अनुसार, देश के पूर्वी तट पर 7 दशमलव 2 तीव्रता के भूकंप के बाद ताइवान हाई स्पीड रेल नेटवर्क ने अपनी सेवाएं निलंबित कर दीं।   ताइवान हाई स्पीड रेल नेटवर्क ने कहा है कि सुबह लगभग 8ः30 बजे भूकंप के झटकों का प्रभाव पूरे नेटवर्क (नांगंग-जुयिंग लाइन) पर पड़ा। ताइवान हाई स्पीड रेल नेटवर्क ने यात्रियों से असुविधा के लिए माफी मांगी है। ताइवान न्यूज के अनुसार, नेटवर्क ने लाइनों, स्टेशनों और अन्य सुविधाओं का निरीक्षण करने के लिए आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र स्थापित किया है।     द न्यूयॉर्क टाइम्स ने अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के हवाले से कहा है कि भूकंप का केंद्र ताइवान के हुलिएन शहर से लगभग 18 किलोमीटर (11 मील) दक्षिण में स्थित है। हुआलिएन में कई इमारतें आंशिक रूप से ढह गई हैं और खतरनाक कोण पर झुकी हुई दिखाई दे रही हैं। अखबार ने वीडियो जारी कर पूरे मंजर को दिखाने का प्रयास किया है।     भूकंप विज्ञान अधिकारियों ने कहा कि यह 25 वर्षों में ताइवान का सबसे शक्तिशाली भूकंप है। ताइवान और के पड़ोसी देशों में सुनामी की चेतावनी जारी कर दी गई। इस भूकंप का असर जापान पर भी देखा गया है। जापान ने भी सुनामी की चेतावनी जारी की है। संयुक्त राज्य भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के अनुसार, भूकंप ताइवान के पूर्वी तट पर हुलिएन काउंटी के जल क्षेत्र में केंद्रित था। ताइवान के केंद्रीय मौसम प्रशासन ने भी तेज झटका दर्ज किया है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी की ओर से किए गए दावे के बाद तिहाड़ जेल प्रशासन ने कहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सभी स्वास्थ्य मानक दुरुस्त हैं। उनका वजन भी 65 किलोग्राम बरकरार है। आतिशी ने दावा किया था कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को जब से गिरफ्तार किया गया है तब से उनका स्वास्थ्य और वजन लगातार गिर रहा है। उनका वजन 4.5 किलोग्राम गिर चुका है। भारतीय जनता पार्टी मुख्यमंत्री केजरीवाल को जेल में रखकर उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। जेल प्रशासन ने इस दावे का पूरी तरह से खंडन किया है। उन्होंने कहा कि जेल में आने के वक्त उनके सभी स्वास्थ्य मानक जांचे गए थे। उन्हें घर का बना हुआ खाना दिया जा रहा है। उनके स्वास्थ्य मानक ठीक हैं। उनका वजन भी 65 किलोग्राम पर लगातार बना हुआ है। आतिशी का कहना था कि अगर अरविंद केजरीवाल को कुछ हुआ तो पूरा देश ही नहीं भगवान भी उन्हें माफ नहीं करेगा। जेल प्रशासन का कहना है कि केजरीवाल का शुगर लेवल कम था। उनके शुगर लेवल में उतार-चढ़ाव होने के कारण वह तिहाड़ जेल के डॉक्टरों की निगरानी में थे।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी पदाधिकारियों से आग्रह किया कि वे रणनीति बनाने और बूथ जीतने के लिए अनुभवी कार्यकर्ताओं से सलाह लें। साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं से सोशल मीडिया पर सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने और महिलाओं के व्हाट्सएप ग्रुप बनाने पर भी जोर दिया।   प्रधानमंत्री ने बुधवार को नमो ऐप के माध्यम से उत्तर प्रदेश के भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत की। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत के कारण लोकसभा-विधानसभा के हर चुनाव में नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। मोदी ने कहा कि कार्यकर्ताओं का ये जोश देखकर मुझे तो प्रसन्नता होती है, लेकिन बाकी पार्टियों के नेता तो आपका ये जोश देखकर पहले ही ठंडे पड़ जाते हैं।   उन्होंने कहा कि आप सभी वोटरों के सीधे संपर्क में होते हैं, उनके लिए आप ही भाजपा का चेहरा होते हैं। जब आप उनसे मिलते हैं तो वो आप में भी मोदी को ही देखते हैं। आप उन्हें जो भी बता रहे होते हैं तो उन्हें लगता है ये मोदी बता रहा है। आप उन्हें जो भी गारंटी देते हैं तो आप पर भरोसा करते हैं कि ये मोदी के साथी हैं, तो गांरटी में ताकत है। इसलिए आप मतदाताओं की नजरों में बहुत बड़े व्यक्ति होते हैं।   प्रधानमंत्री ने परिवारवाद की राजनीति की निंदा करते हुए कहा कि चाचा-भतीजा परिवार से उप्र का मोह बहुत पहले ही भंग हो चुका है। इस चुनाव में परिवारवाद के खिलाफ हम लड़ाई लड़ रहे हैं। परिवारवादी राजनीति के खिलाफ हम लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं।   राज्य के साथ उत्तर प्रदेश के निवासियों के भावनात्मक जुड़ाव पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के लोग किसी स्वार्थ की वजह से नहीं, बल्कि भावनात्मक रूप से जुड़ते हैं और हमेशा उस भावना से बंधे रहते हैं।   प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं से चुनाव अभियान के दौरान संवेदनशीलता और विनम्रता के साथ आचरण करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि एक कार्यकर्ता के रूप में आप सभी का प्रयास होना चाहिए कि आपके काम या व्यवहार से किसी को ठेस न पहुंचे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से मतदाताओं को केंद्र सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी देने को कहा। बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं से अपने स्वास्थ्य को प्राथमिकता देने का भी आग्रह किया।  

Kolar News

Kolar News

जयपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में देश की सियासत दो खेमों में बंटी नजर आ रही है। एक तरफ राष्ट्र प्रथम का संकल्प लेकर चलने वाली भाजपा है, तो दूसरी तरफ देश को लूटने के मौके तलाशने वाली कांग्रेस है। आज एक तरफ देश को परिवार मानने वाली भाजपा है, तो दूसरी तरफ अपने परिवार को देश से बड़ा मानने वाली कांग्रेस है। एक तरफ दुनिया में भारत का गौरव बढ़ाने वाली भाजपा है, तो दूसरी ओर विदेश में जाकर भारत को कोसने वाली कांग्रेस है। ऐसी देश विरोधी परिवारवादी ताकतों के खिलाफ राजस्थान हमेशा ढाल बनकर खड़ा रहा है। भाजपा का मतलब है विकास, समाधान, कांग्रेस का मतलब है देश की हर बीमारी की जड़। प्रधानमंत्री मोदी मंगलवार को राजस्थान के कोटपुतली में जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट के प्रत्याशी राव राजेन्द्र सिंह के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह पहला ऐसा चुनाव है, जिसमें कांग्रेस के बड़े नेता खुद के चुनाव जीतने की बात नहीं कर रहे हैं, लेकिन वो देश को धमकी दे रहे हैं कि अगर भाजपा जीती तो देश में आग लग जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वे 10 साल से कांग्रेस की लगाई हुई आग को बुझा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने इस क्षेत्र से सटी सीकर और अलवर लोकसभा क्षेत्रों को भी साधा। उन्होंने कहा कि बहुत कुछ हुआ होगा, लेकिन दस साल में जो हुआ, वो सिर्फ ट्रेलर है। भाजपा सरकार का तीसरा कार्यकाल ऐतिहासिक निर्णयों वाला होने वाला है। कांग्रेस ने देश को डराकर रखा कि राम मंदिर का नाम लिया तो देश जल जाएगा, आग लग जाएगी। भव्य राम मंदिर बना। दीपक जले और कहीं आग भी नहीं लगी। मोदी ने कहा कि राजस्थान ने 2014 में भाजपा को 25 की 25 सीटें दी थीं। 2019 में भी एनडीए को सारी सीटें दी थीं। अब 2024 में भी राजस्थान 25 की 25 सीटें देने का फैसला कर चुका है। मोदी ने कहा कि इन लोगों ने डरा कर रखा कि राम मंदिर का नाम भी लोगे तो देश जल जाएगा। आग लग जाएगी। भव्य राम मंदिर बना। दीपक जले, लेकिन आग नहीं लगी। दस साल में जो हुआ, वो ट्रेलर है। अभी बहुत कुछ बाकी है। भाजपा सरकार का तीसरा कार्यकाल ऐतिहासिक निर्णय वाला होने वाला है। लाेग कहते हैं कि मोदीजी अब बहुत हो गया, अब आराम करो, लेकिन मोदी मौज करने के लिए पैदा नहीं हुआ। मोदी मेहनत करने के लिए पैदा हुआ है। मोदी ने कहा कि भारत की सफलता के बीच मैंने कभी यह दावा नहीं किया कि दस साल में हमने सब कुछ पूरा कर दिया लेकिन यह भी सत्य है कि जो काम आजादी के बाद पांच-छह दशकों में नहीं हो पाए, वह काम हमने करके दिखाए हैं। देश को जिस गति की जरूरत थी, हमने उस गति से काम किया है। कांग्रेस ने केवल गरीबी हटाओ का नारा दिया, भाजपा ने 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाल कर दिखा दिया है। उन्होंने ऐसा डराकर रखा कि अनुच्छेद 370 काे कोई छुएगा तो भयंकर करंट लग जाएगा। उन्हें पता नहीं है कि यह मोदी है। मोदी ने कहा कि मैं उनके भ्रष्टाचार पर सवाल उठाता हूं, इसलिए मैं उनके निशाने पर हूं। वे मुझे गालियां देते हैं और कह देते हैं कि मोदी का कोई परिवार नहीं है, इसलिए भ्रष्टाचार की जरूरत नहीं है। उनका परिवार है तो क्या भ्रष्टाचार करने का लाइसेंस मिल जाता है क्या? मेरा परिवार देश की जनता है। उन्होंने कहा कि ये पहला ऐसा चुनाव है, जिसमें परिवारवादी पार्टियां अपने परिवार को बचाने के लिए रैली पर रैली करती जा रही हैं। ये पहला ऐसा चुनाव है, जिसमें सारे भ्रष्टाचारी मिलकर भ्रष्टाचार पर कार्रवाई रोकने के लिए रैली कर रहे हैं। मैं कहता हूं भ्रष्टाचार हटाओ, वो कहते हैं भ्रष्टाचारी बचाओ। आज कांग्रेस के लोगों ने अपने खतरनाक इरादे जताने शुरू कर दिए हैं, इसलिए देश को बचाने के लिए ये चुनाव बेहद अहम है। आज देश में भाजपा की मजबूत और निर्णायक सरकार की जरूरत और बढ़ गई है। मैं परिवारवादी पार्टियां और उनके भ्रष्टाचार पर सवाल उठाता हूं, इसलिए मैं उनके निशाने पर हूं, मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या मुझे ऐसे सवाल उठाने चाहिए या नहीं। कांग्रेस कहती है कि मोदी का कोई परिवार नहीं है, इसलिए उसे भ्रष्टाचार करने की जरूरत नहीं है, तो क्या जिसके पास परिवार है, उसे भ्रष्टाचार करने का लाइसेंस मिल जाता है। मेरे लिए तो जनता ही मेरा परिवार है। भाजपा के वरिष्ठ नेता मोदी ने कहा कि देश में गरीबी कांग्रेस की वजह से है। कांग्रेस की वजह से रक्षा सामग्री के लिए दूसरे देशों की ओर देखना होता था। कांग्रेस ने कभी सेना को आत्मनिर्भर नहीं होने दिया। कभी भारत की पहचान दुनिया के सबसे बड़े हथियार आयात करने वाले देश की थी। अब निर्यात में छवि बन रही है। देश में पहली बार हुआ है कि 21 हजार करोड़ से ज्यादा का हथियार निर्यात किया गया है। आज भारत 80 से ज्यादा देशों को हथियार निर्यात करता है। पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ईआरसीपी परियोजना को कांग्रेस ने दशकों से लटकाए रखा। हमने यमुना के पानी के मामले को भी हल किया। इन परियोजनाओं से इलाके के किसान को काफी फायदा होगा। हम ईमानदारी से आपके लिए प्रयास करते हैं। नीयत सही तो नतीजे सही।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एलोपैथ को लेकर भ्रामक विज्ञापन मामले में पतंजलि आयुर्वेद के एमडी आचार्य बालकृष्ण और बाबा रामदेव के माफीनामा को अस्वीकार कर दिया है। जस्टिस हीमा कोहली की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि आपकी ओर से आश्वासन दिया गया और उसके बाद उल्लंघन किया गया। यह देश की सबसे बड़ी अदालत की तौहीन है और अब आप माफी मांग रहे हैं। यह हमें स्वीकार नहीं है। आप बेहतर हलफनामा दाखिल करें। मामले की अगली सुनवाई 10 अप्रैल को होगी। सुनवाई के दौरान आज बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण कोर्ट में पेश हुए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अदालत के आदेशों को हल्के में नहीं लिया जा सकता। जस्टिस हिमा कोहली ने कहा कि न केवल सुप्रीम कोर्ट बल्कि देश की किसी भी अदालत के आदेशों का उल्लंघन नहीं होना चाहिए। बाबा रामदेव की तरफ से कहा गया कि वो कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगने को तैयार हैं। उसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव और बालकृष्ण को एक और मौका दिया। कोर्ट ने बेहतर हलफनामा दायर करने को कहा है। कोर्ट ने कहा कि राज्य लाइसेंसिंग अथॉरिटी ने भी अपनी जिम्मेदारी ठीक ढंग से नहीं निभाई। अगली सुनवाई पर भी बाबा रामदेव और बालकृष्ण को कोर्ट में पेश होना होगा। आज सुनवाई के दौरान कोर्ट ने योग के क्षेत्र में बाबा रामदेव के काम की सराहना की। जस्टिस अमानुल्लाह ने कहा कि बाबा रामदेव ने शानदार काम किया है और उन्हें योग को बढ़ावा देने का काम करते रहना चाहिए। आचार्य बालकृष्ण ने 21 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर बिना शर्त माफी मांगी थी। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में आचार्य बालकृष्ण ने विज्ञापन पर खेद प्रकट करते हुए कहा था कि विज्ञापन में जो अपमानजनक वाक्य हैं, उन पर हमें खेद है। आचार्य बालकृष्ण ने पतंजलि के फॉर्मूलेशन के चमत्कारी क्षमताओं के बारे में दिए गए उन भ्रामक दावों पर बिना शर्त माफी मांगी थी जो आधुनिक चिकित्सा पर संदेह पैदा करते हैं। आचार्य बालकृष्ण ने खेद प्रकट करते हुए कहा था कि उन विज्ञापनों में केवल सामान्य बयान ही शामिल किए गए थे और अनजाने में आपत्तिजनक वाक्य भी शामिल हो गए। पतंजलि आयुर्वेद की ओर से बालकृष्ण ने 21 नवंबर, 2023 को दिए गए आदेश में दर्ज किए गए बयान के उल्लंघन के लिए कोर्ट में माफीनामा दाखिल करते हुए कहा था कि उनकी तरफ से भविष्य में भी ऐसे विज्ञापन नहीं जारी किये जायेंगे। दरअसल, पहले की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस का जवाब नहीं देने पर आचार्य बालकृष्ण को आज यानी 2 अप्रैल को अदालत में व्यक्तिगत रूप से पेश होने का निर्देश दिया था। साथ ही कोर्ट ने बाबा रामदेव को भी कारण बताओ नोटिस जारी कर पेश होने को कहा था।

Kolar News

Kolar News

बालाघाट। मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में पुलिस मुठभेड़ में दो इनामी नक्सली मारे गए हैं, जबकि अन्य कुछ नक्सली घायल हुए हैं। वहीं कुछ भागने में कामयाब रहे। पुलिस ने मौके से हथियार बरामद किए हैं। मुठभेड़ बालाघाट के लांजी थाने में आनेवाले पितकोना केरेझरी के जंगल में हॉकफोर्स और मलाजखंड दलम के नक्सलियों के बीच हुई। पुलिस नो बताया है कि 29 लाख की इनामी महिला नक्सली डीवीसीएम सजन्ति उर्फ क्रांति मारी गई है, जोकि डिस्ट्रिक्ट कमांडेट थी। इसके साथ ही एक 14 लाख का इनामी नक्सली रघु उर्फ शेरसिंह भी मारा गया है। । रघु पर तीन राज्यों की पुलिस ने इनाम घोषित कर रखा था। पुलिस ने मौके से एके-47 और 12 बोर की बंदूक बरामद की है। एसपी समीर सौरभ ने बताया कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा पर केराझरी जंगल में पुलिस और नक्सलियों के बीच सोमवार रात मुठभेड़ हुई थी, जिसमें दो नक्सली मारे गए । ये दोनों नक्सली मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कई वारदात में शामिल रहे हैं। सर्च ऑपरेशन अभी भी चलाया जा रहा है। नक्सलियों के पास से रोजमर्रा का जरूरत का सामान बरामद किया है, साथ ही हथियार मिले हैं। उल्लेखनीय है कि मुठभेड़ के बाद पुलिस के जारी सर्च ऑपरेशन के दौरान मंगलवार सुबह इन दो नक्सलियों के शव मिले हैं। कुछ नक्सली घायल भी हैं। अभी सर्चिंग चल रही है। पुलिस को इस बात का इनपुट मिला है कि कम से कम पांच नक्सली इस मुठभेड़ में मारे गए हैं । एसपी सहित सभी अधिकारी अभी भी घटनास्थल पर हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारत का रक्षा निर्यात वित्तीय वर्ष 2023-24 में 21,083 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया है, जो पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में 32.5 फीसदी की बढ़ोतरी है। भारतीय रक्षा निर्यात बढ़ने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि निजी क्षेत्र और डीपीएसयू सहित हमारे रक्षा उद्योगों ने हाल के वर्षों में सराहनीय प्रदर्शन दर्ज किया है। रक्षा मंत्रालय ने भारत के रक्षा विनिर्माण और निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कई पहल की हैं। उन्होंने रक्षा निर्यात में नया मील का पत्थर पार करने पर सभी हितधारकों को बधाई दी है।     सरकार की नीतिगत पहलों और रक्षा उद्योग के सहयोग से भारत ने वित्त वर्ष 2022-23 में रक्षा निर्यात में अहम उपलब्धि हासिल की थी। पिछले वित्त वर्ष में भारत का रक्षा निर्यात लगभग 16 हजार करोड़ रुपये के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा था, जो वित्त वर्ष 2021-22 की तुलना में लगभग 3,000 करोड़ रुपये ज्यादा है। भारत का रक्षा निर्यात 2016-17 के बाद से 10 गुना से ज्यादा बढ़ा है। भारत फिलहाल 85 से ज्यादा देशों को हथियार प्रणालियों का निर्यात कर रहा है। अब पिछले साल के मुकाबले रक्षा निर्यात ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में 32.5 फीसदी की छलांग लगाई है। इस वर्ष रक्षा निर्यात 21,083 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया है। भारतीय उद्योग ने वर्तमान में रक्षा उत्पादों का निर्यात करने वाली 100 कंपनियों के साथ डिजाइन और विकास की अपनी क्षमता दुनिया को दिखाई है। पिछले पांच साल के दौरान इस क्षेत्र में हुए सुधारों के अच्छे नतीजे मिल रहे हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रिकॉर्ड रक्षा निर्यात को देश की एक उल्लेखनीय उपलब्धि बताया। उन्होंने ट्वीट किया, ''स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार 21000 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गया है। प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व के तहत रक्षा मंत्रालय ने भारत के रक्षा विनिर्माण और निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कई पहल की हैं।'' आठ सालों में भारत का रक्षा निर्यात 2016-17----01,521 2017-18----04,682 2018-19----10,745 2019-20----09,115 2020-21----08,434 2021-22----12,814 2022-23----15,920 2023-24----21,083

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट की स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने दिल्ली आबकारी घोटाला मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 15 अप्रैल तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आज सुनवाई के दौरान ईडी की ओर से पेश एएसजी एसवी राजू ने कहा कि केजरीवाल जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। वे फोन का पासवर्ड नहीं बता रहे हैं।   राजू ने कहा कि केजरीवाल जांच को दिग्भ्रमित करना चाहते हैं। पूछताछ के दौरान केजरीवाल ने कहा कि विजय नायर हमको रिपोर्ट नहीं करते थे, आतिशी को करते थे। तब कोर्ट ने पूछा कि इन दलीलों के आधार पर आप हिरासत की मांग कैसे कर सकते हैं। तब राजू ने कहा कि हम बाद में हिरासत की मांग कर सकते हैं। पेशी के दौरान केजरीवाल की ओर से पेश वकील रमेश गुप्ता ने न्यायिक हिरासत के दौरान भागवत गीता, रामायण और हाऊ प्राइम मिनिस्टर्स डिसाइड नामक पुस्तक पढ़ने की अनुमति देने की मांग की। उन्होंने मांग की कि न्यायिक हिरासत के दौरान केजरीवाल को विशेष भोजन और जेल में कुर्सी और मेज उपलब्ध कराई जाए। सुनवाई के दौरान केजरीवाल के कोर्ट पहुंचने से पहले उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल पहुंच गई थीं। कोर्ट में केजरीवाल से सौरभ भारद्वाज और आतिशी ने भी मुलाकात की। सुनवाई के दौरान कई आप विधायक भी कोर्ट में मौजूद थे। आज केजरीवाल की ईडी हिरासत खत्म हो रही थी, जिसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने 28 मार्च को केजरीवाल को आज तक की ईडी हिरासत में भेजा था। 28 मार्च को सुनवाई के दौरान ईडी की ओर से पेश एएसजी एसवी राजू ने कहा था कि केजरीवाल जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और वे सीधे-सीधे जवाब नहीं दे रहे हैं। पेशी के दौरान केजरीवाल ने कहा था कि ये राजनीतिक साजिश है, जनता इसका जवाब देगी। सुनवाई के दौरान अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल और उनका बेटा भी कोर्ट रूम में मौजूद था। सुनवाई के दौरान केजरीवाल ने खुद कोर्ट में अपनी बात रखते हुए कहा था कि असली घोटाला तो ईडी की जांच के बाद शुरू हुआ। ईडी के दो मकसद थे। एक आम आदमी पार्टी को खत्म करना। केजरीवाल ने कहा था कि ईडी का मकसद एक स्मोक क्रिएट करना था कि आप पार्टी भ्रष्टाचारी है। केजरीवाल ने कहा था कि ईडी का दूसरा मकसद उगाही करना है। केजरीवाल ने कहा था कि इस मामले में शरद रेड्डी ने गिरफ्तारी के बाद भाजपा को 55 करोड़ रुपये दिए। भाजपा को इलेक्टोरल बांड के रूप में पैसा देने के बाद शरद रेड्डी को जमानत मिल गई। दिल्ली हाई कोर्ट से 21 मार्च को अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तारी से संरक्षण नहीं मिलने के बाद ईडी ने 21 मार्च को ही देर शाम को अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था। 27 मार्च को हाईकोर्ट ने केजरीवाल को कोई भी राहत देने से इनकार कर दिया था। हाईकोर्ट ने 28 मार्च को केजरीवाल को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी थी।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी में व्यास जी के तहखाने में पूजा अर्चना पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। हालांकि चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच ने दोनों पक्षों को कहा है कि वो यथास्थिति बनाये रखें ताकि दोनों पक्ष अपनी पूजा अर्चना और नमाज को अंजाम दे सकें। कोर्ट ने तहखाने में पूजा के खिलाफ मस्जिद पक्ष की याचिका पर ट्रायल कोर्ट के याचिकाकर्ता शैलेंद्र व्यास को नोटिस जारी किया है। मामले की अगली सुनवाई जुलाई के तीसरे सप्ताह में होगी।   मस्जिद कमेटी की ओर से वकील हुजैफा अहमदी ने व्यास जी तहखाने में पूजा की इजाजत दिए जाने के फैसले पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि निचली अदालत ने एक हफ्ते में पूजा शुरू कराने का आदेश दिया था जबकि प्रशासन ने रात को ही पूजा के लिए तहखाने को खुलवा दिया। अहमदी ने कहा कि 31 जनवरी को कोर्ट के आदेश के बाद रात में बैरिकेट काटी गई और सुबह 4 बजे से पूजा शुरू की गई। आदेश में सिविल प्रोसिजर को फॉलो नहीं किया गया। अहमदी ने कहा कि हिन्दू पक्ष के मुताबिक 1993 में तहखाने में राज्य सरकार द्वारा ताला लगाया गया था। अहमदी ने कहा कि 1993 से 2023 तक कोई पूजा नहीं हुई और 2023 में दावा किया गया। कोर्ट ने उस दावे पर आदेश कर दिया और पूजा स्थल कानून को ध्यान में रखते हुए यह दिया गया। चीफ जस्टिस ने कहा कि जिलाधिकारी का कहना है कि दूसरा ताला राज्य का है। अहमदी ने कहा कि यह सही है, क्योंकि 1993 तक उनका कब्ज़ा था। तब चीफ जस्टिस ने कहा कि आप दोनों के विवाद में कब्जा हिन्दू पक्ष के पास था। इसमें 1993 में राज्य ने हस्तक्षेप किया था। क्या दूसरा ताला कलेक्टर ने खुलवाया। पहला ताला व्यास परिवार के पास था। अहमदी ने कहा कि ऐसा नहीं है। उन्होंने बैरिकेड्स हटाने के लिए लोहे के कटर खरीदे और रात में बैरिकेड्स हटा कर सुबह 4 बजे पूजा शुरू कर दी जबकि तहखाने में हो रही पूजा से पहले कोई कब्जा नहीं है। इसकी वजह से चीजें खराब हो जाएंगी। अहमदी ने कहा कि तहखाना दक्षिण में हैं और मस्जिद जाने का रास्ता उत्तर में है। तब चीफ जस्टिस ने कहा कि मेरा विचार है कि नमाज पढ़ने जाने के और पूजा पर जाने के रास्ते अलग अलग हैं। ऐसे में हमारा मानना है की दोनों पूजा पद्धति में कोई बाधा नहीं होगी। ऐसे मे यथास्थिति को बरकरार रखते हैं। चीफ जस्टिस ने कहा कि हमें पूरी तरह से इस पर स्पष्टता चाहिए कि तहखाने और मस्जिद में प्रवेश का आने जाने का रास्ता कहां से है। अहमदी ने कहा कि जब 30 साल बीते चुके थे तो आखिर इतनी जल्दबाजी क्या थी। हमारी मांग है कि इस मामले में अदालत को पूजा के आदेश पर दिए गए फैसले पर रोक लगानी चाहिए। इस मामले मे कई अलग अलग अर्जियां है। एक अर्जी मे नमाज पढ़ने पर रोक लगाने की मांग भी की गई है। सुनवाई के दौरान हिंदू पक्ष की तरफ से श्याम दीवान ने चीफ जस्टिस के तहखाने और मस्जिद के रास्तों के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि उत्तर की तरफ से मस्जिद में जाने का रास्ता है जबकि दक्षिण की तरफ से व्यास जी के तहखाने में जाने का रास्ता है। इस मामले में अदालत को नोटिस नही जारी करना चाहिए। यह नोटिस जारी करने का मामला नहीं है। वकील हुजैफा अहमदी ने कहा कि लगातार हम मस्जिद का हिस्सा खो रहे हैं। मस्जिद की जगह पर अतिक्रमण किया जा रहा है। जैसा कि सुप्रीम कोर्ट ने ही वजूखाना क्षेत्र को संरक्षित किया है। वैसे ही इसे भी किया जाए। अहमदी ने कहा कि जैसा सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस की कोर्ट के आगे जाकर नीचे कैंटीन है। अब यह कहा जाए कि वह सुप्रीम कोर्ट का हिस्सा नहीं, वैसा ही इस मामले में भी हुआ है।

Kolar News

Kolar News

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार की शुरुआत मेरठ से की। प्रधानमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते हुए चुनाव का एजेंडा तो सेट किया ही, भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्ष पर भी तीखा हमला बोला। पांच साल पहले इसी शहर से प्रधानमंत्री मोदी ने 2019 के चुनाव का शंखनाद किया था। मेरठ की क्रांतिधरा से अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने किसानों, गरीबों, महिलाओं, सैनिकों, युवाओं सबका जिक्र किया। वहीं अपनी सरकार की दस साल की उपलब्ध्यिों का लेखा-जोखा भी रखा। प्रधानमंत्री ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण, तीन तलाक पर कानून, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने, नारी शक्ति वंदन अधिनियम और सैनिकों को वन रैंक वन पेंशन योजना का विशेष तौर पर उल्लेख किया। यानी मोदी ने चुनाव का एजेंडा सेट कर दिया। उन्होंने विपक्षी दलों के भ्रष्टाचार पर जोरदार हमला मेरठ की जमीन से बोलकर यह साफ कर दिया है, चुनाव में भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा रहेगा और वह इस मुद्दे पर विपक्ष को घेरते रहेंगे। प्रधानमंत्री ने विपक्ष के भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार करते हुए कहा, मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई कर रहा हूं तो इससे कुछ लोग बौखला गए हैं। वे अपना आपा खो बैठे हैं। मेरे प्यारे देशवासियों मैं कहता हूं कि मोदी की गारंटी कहती है कि मोदी का मंत्र है भ्रष्टाचार हटाओ, वे कहते हैं भ्रष्टाचारी बचाओ। ये चुनाव दो खेमों की लड़ाई है। इस चुनाव में दो खेमा मैदान में है। एक वे जो भ्रष्टाचारी को बचाना चाहते हैं और एक एनडीए जो भ्रष्टाचार को खत्म करना चाहता है। ये खत्म होना चाहिए या नहीं। उन्होंने कहा, इंडी गठबंधन बना लिया है, इनको लगता है मोदी इनसे डर जाएगा, लेकिन मेरा भारत मेरा परिवार है। बड़े भ्रष्टाचारी सालाखों के पीछे हैं। सुप्रीम कोर्ट तक जमानत नहीं मिल रही है और इसीलिए कई बड़े भ्रष्टारियों को कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। बिस्तर, दीवारों और वाशिंग मशीन से नोटों के ढेर निकल रहे हैं। ईडी ने जो संपत्ति जब्त की है, अगर वह रिकॉर्ड मिलता है कि वे पैसे आपके हैं तो आपको दिलाकर ये मोदी दम लेगा। भ्रष्टाचारी कान खोलकर सुन लें, ये मोदी पर चाहे जितने हमले करें, मोदी है झुकने वाला नहीं हैं। भ्रष्टाचारी चाहे कितना भी बड़ा हो, ऐक्शन होगा, जरूर होगा। जिसने देश लूटा है, उसे लौटाना ही होगा। अपने संबोधन के अंत में प्रधानमंत्री मोदी ने उपस्थित जनसमूह से अपील की कि 19 एवं 26 अप्रैल को गर्मी चाहे कितनी भी हो, आपको वोट डालने जरूर निकला होगा। मोदी ने कहा कि आप सब मेरे साथ बोलिए विकसित भारत के लिए 400 पार। युवाओं के अवसर के लिए 400 पार। नारी सशक्तीकरण के लिए 400 पार। भ्रष्टाचारियों के जेल भेजने के लिए 400 पार। ये मेरा पर्सनल काम है, चुनाव वाला नहीं है। आप घर-घर जाना कहना कि तुम्हारे मोदी मेरठ आए थे और आपको प्रणाम भेजा है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने रविवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को उनके आवास पर जाकर भारत रत्न से सम्मानित किया। इस अवसर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी उपस्थित रहे। राष्ट्रपति कार्यालय से सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी गई। इसके अनुसार राष्ट्रपति ने लालकृष्ण आडवाणी को उनके आवास पर जाकर भारत रत्न प्रदान किया। इस अवसर पर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह और आडवाणी के परिवार के सदस्य उपस्थित थे। एक दिन पहले यानी शनिवार को राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति भवन में दो पूर्व प्रधानमंत्रियों चौधरी चरण सिंह एवं पीवी नरसिम्हा राव और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर एवं वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया। इन विभूतियों के स्वजनों ने राष्ट्रपति से भारत रत्न सम्मान प्राप्त किया। आडवाणी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और नानाजी देशमुख के बाद ये सम्मान पाने वाले भाजपा एवं संघ परिवार से जुड़े तीसरे व्यक्ति हैं। आडवाणी ने सात दशक से अधिक समय तक अटूट समर्पण और असाधारण कौशल के साथ देश की सेवा की है। वर्ष 1927 में कराची में जन्मे आडवाणी 1947 में विभाजन की पृष्ठभूमि में भारत चले आए। सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के अपने दृष्टिकोण के साथ उन्होंने पूरे देश में दशकों तक कड़ी मेहनत की और सामाजिक-राजनीतिक परिदृश्य में परिवर्तन किया। एक सांसद के रूप में संवाद पर उनकी आस्था ने संसदीय परंपराओं को समृद्ध किया। गृह मंत्री तथा उप प्रधानमंत्री के रूप में उन्होंने सदैव राष्ट्र हित को सर्वोपरि रखा, जिससे उन्हें दलगत सीमाओं से परे जा कर लोगों ने सम्मान और प्रशंसा प्रदान की। भारत के सांस्कृतिक पुनरुत्थान के लिए उनके लंबे और अथक संघर्ष की परिणति 2024 में अयोध्या में श्रीराम मंदिर के पुनर्निर्माण के रूप में हुई। वे स्वतंत्रता के बाद के उन गिने-चुने राजनीतिक नेताओं में हैं जो राष्ट्रीय प्राथमिकताओं को नया स्वरूप देने और देश को विकास-पथ पर आगे ले जाने में सफल रहे। उनकी उपलब्धियां भारत की सहज प्रतिभा और समावेशी परंपराओं को सर्वोत्तम अभिव्यक्ति प्रदान करती हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारत की ओर से कच्चतीवु द्वीप श्रीलंका को दिए जाने का मुद्दे ने लोकसभा चुनाव खासकर तमिलनाडु की राजनीति को गरमा दिया है। रामेश्वरम और श्रीलंका के बीच मौजूद इस द्वीप को इंदिरा गांधी सरकार ने श्रीलंका को दे दिया था। एक आरटीआई में इसकी जानकारी सामने आने के बाद मुद्दा फिर से सुर्खियों में है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस संबंध में एक समाचार साझा कर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस भरोसे के लायक नहीं है। प्रधानमंत्री ने एक समाचार साझा करते हुए सोशल मीडिया पर कहा कि यह बात आंखें खोलने वाली और चौंका देने वाली है। नए तथ्यों से पता चलता है कि कैसे कांग्रेस ने लापरवाही करते हुए कच्चतीवु को छोड़ दिया। इससे हर भारतीय नाराज है और लोगों के मन में यह बात बैठ गई है कि हम कांग्रेस पर कभी भरोसा नहीं कर सकते! भारत की एकता, अखंडता और हितों को कमजोर करना 75 वर्षों से कांग्रेस का काम करने का तरीका रहा है। विदेश मंत्री ने भी प्रधानमंत्री के बाद इस पर अपने विचार रखे। उनका कहना है कि यह महत्वपूर्ण है कि लोग हमारे अतीत के बारे में पूरी सच्चाई जानें। तथ्यों पर आधारित इस लेख का सरोकार प्रत्येक नागरिक से होना चाहिए। उल्लेखनीय है कि कच्चदीवु रामेश्वरम से 20 किमी की दूरी पर स्थित एक निर्जन द्वीप है, जहां केवल एक चर्च मौजूद है। द्वीप 1974 तक भारत के पास था। इसके बाद इसे श्रीलंका को दे दिया गया। एक अंग्रेजी समाचार पत्र में इससे जुड़ी कहानी को विस्तार से साझा किया गया है जिसपर प्रधानमंत्री ने आज टिप्पणी की।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को केरल के भाजपा कार्यकर्ताओं से लोकसभा चुनावों में अपने-अपने बूथ पर जीत सुनिश्चित करने का आग्रह किया।   भाजपा नेता मोदी ने नमो ऐप के जरिए केरल के भाजपा कार्यकर्ताओं से बातचीत करते हुए उन्हें केरल में मतदाताओं का दिल जीतने का मंत्र दिया। उन्होंने कार्यकर्ताओं को सलाह दी कि वे केरल में गरीबों के लिए केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई विभिन्न योजनाओं के बारे में घर-घर जाकर जानकारी दें। इसके लिए उन्होंने डेटा और आंकड़े प्रस्तुत करने के साथ ही पात्र लाभार्थियों की सूची बनाने की सलाह दी। प्रधानमंत्री ने कहा, “आम लोगों का दिल जीतने की कोशिश करें। जब आप एक बूथ जीतते हैं, तो आप एक संसद सीट जीतते हैं जो हमें अपने देश को 'विकसित भारत' बनाने के सपने को साकार करने में मदद करेगी।”   उन्होंने केरल के सभी भाजपा कार्यकर्ताओं से बूथ स्तर पर एनडीए के सदस्यों के साथ समन्वय और एक टीम बनाने की अपील की। प्रधानमंत्री ने इसके लिए बूथ स्तर पर सभी कार्यकर्ताओं को टिफिन मीटिंग करने की सलाह दी। मोदी ने कहा, “इस बैठक के दौरान सभी कार्यकर्ता अपना टिफिन ला सकते हैं और एक साथ खाना खा सकते हैं। इसके अलावा, आपको क्षेत्र में परिवारों से मिलने के बारे में भी चर्चा करनी चाहिए और योजना बनानी चाहिए।”   प्रधानमंत्री ने इसके साथ पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे केरल की राजनीतिक हकीकत से लोगों को अवगत कराएं। उन्हें यह समझाने की जरूरत है कि एलडीएफ और यूडीएफ, जिन्हें अक्सर विरोधी दलों के रूप में देखा जाता है, वास्तव में उनका एजेंडा समान है। दोनों पार्टियां राष्ट्रीय स्तर पर मोदी सरकार को हराने की दिशा में काम कर रही हैं। प्रधानमंत्री ने विपक्षी आईएनडीआईए गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि इंडी गठबंधन एक-दूसरे की भ्रष्ट गतिविधियों को छुपाने के लिए बनाया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि दिल्ली के राजनीतिक विशेषज्ञ अक्सर मोदी की चुनावी जीत का श्रेय उनके नेतृत्व को देते हैं। हालांकि, वे यह समझने में असफल रहे कि मोदी अपनी सफलता का श्रेय आप जैसे अनगिनत कार्यकर्ताओं को देते हैं जो उनकी राजनीतिक शक्ति के पीछे असली प्रेरक शक्ति हैं। यह बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं का अटूट समर्पण और कड़ी मेहनत है, जो मोदी की जीत सुनिश्चित करती है। इसलिए, यह आपके अथक प्रयासों का ही परिणाम है कि मोदी आज जहां हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शनिवार को दो पूर्व प्रधानमंत्रियों पी वी नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह, बिहार के मुख्यमंत्री रहे कर्पूरी ठाकुर और कृषि वैज्ञानिक डॉ. एम.एस. स्वामीनाथन को आज मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया।   राष्ट्रपति भवन के दरबार हाल में आयोजित अलंकरण समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री पी. वी. नरसिम्हा राव (मरणोपरांत) की ओर से उनके पुत्र पी. वी. प्रभारक राव ने भारत रत्न प्राप्त किया। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह (मरणोपरांत) की ओर से उनके पौत्र जयंत चौधरी ने भारत रत्न ग्रहण किया।   कृषि वैज्ञानिक डॉ. एम.एस. स्वामीनाथन (मरणोपरांत) की ओर से उनकी पुत्री डॉ. नित्या राव ने भारत रत्न प्राप्त किया। बिहार के दो बार मुख्यमंत्री रहे कर्पूरी ठाकुर (मरणोपरांत) की ओर से उनके पुत्र रामनाथ ठाकुर ने भारत रत्न प्राप्त किया। इस मौके पर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए अपने मैनिफेस्टो कमेटी की घोषणा कर दी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को 27 सदस्यों वाली इस कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है। शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मैनिफेस्टो कमेटी के सदस्यों की घोषणा की। कमेटी में केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को संयोजक और केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल को सह -संयोजक बनाया गया है। कमेटी में अर्जुन मुंडा, भूपेन्द्र यादव, अर्जुन राम मेघवाल, किरेन रिजिजू, अश्विनी वैष्णव, धर्मेन्द्र प्रधान, स्मृति ईरानी, सुशील मोदी, विनोद तावड़े और अनिल एंटोनी शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तमाम राजनीतिक विश्लेषकों के हवाले से दावा किया कि भाजपा तमिलनाडु में बाजी पलटने वाली है। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में सत्ताधारी पार्टी के खिलाफ गुस्सा चुनाव के दौरान निकलेगा। प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को नमो ऐप के माध्यम से तमिलनाडु के भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में नौ पार्टियां एनडीए गठबंधन का हिस्सा हैं। ये 'नौ रत्न' एक साथ आए हैं और इनमें बहुत बड़ी ताकत है। उन्होंने उम्मीद जताई कि एनडीए के सभी सदस्य हर बूथ पर मिलकर काम करेंगे। मोदी ने कहा कि भाजपा आज महिला नेतृत्व वाले विकास के मॉडल पर काम कर रही है। हमारी प्रतिबद्धता भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने की है और महिलाएं इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु की सत्तारूढ़ डीएमके और उसके सहयोगियों पर भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था, नशा और परिवारवाद को लेकर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि इनके सत्ता में आने के बाद से राज्य में शासन की हालत खराब है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसे सभी मुद्दों को बूथ के हर परिवार तक पहुंचाने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि डीएमके जैसे राजनीतिक दल मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से डरते हैं और इसलिए वे इन योजनाओं का लाभ लोगों तक नहीं पहुंचने देते हैं। इसके अलावा वे मोदी सरकार की सभी योजनाओं पर अपनी योजनाओं के स्टीकर भी चिपकाते हैं, इसलिए भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं का कर्तव्य बनता है कि वे जनता को योजनाओं और उनके लाभों के बारे में जागरूक करें। इससे तमिलनाडु के लोगों में विश्वास पैदा होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताओं से जुड़ा कार्यक्रम उन्हें आनंद से भर देता है। उन्होंने स्वयं एक कार्यकर्ता के रूप में लंबे समय तक काम किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा की तमिलनाडु टीम के सभी सदस्य लंबे समय से शानदार काम कर रहे हैं। 'मेरा बूथ, सबसे मजबूत' का ये प्रोग्राम एक-दूसरे से कनेक्ट करने का और एक-दूसरे से सीखने का कार्यक्रम है।

Kolar News

Kolar News

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन शहर की कुंदा नदी के तट स्थित बड़घाटेश्वर मंदिर क्षेत्र में पेड़ों पर एक दुर्लभ प्रजाति का सफेद कौआ देखा गया। यहां आसपास के लोगों के लिए यह कौआ कौतुहल का विषय बना हुआ है। लोगों का कहना है कि पिछले चार दिनों से सफेद कौआ दिखाई दे रहा है। कई लोगों ने उसके फोटो लिए और वीडियो भी बनाए। भारी संख्या में लोग कौए को देखने आ रहे हैं। इस संबंध में पीजी कॉलेज की प्राणी शास्त्र की प्रोफेसर शैली जोशी का कहना है कि भारत के अधिकांश क्षेत्रों में काले कौए ही पाए जाते हैं। केरल के कुछ क्षेत्र में सफेद कौए मिलते हैं। सफेद कौआ अधिकांश उत्तरी अमेरिका, यूरोप व एशिया महाद्वीप में पाए जाते हैं। उन्होंने बताया कि जिस तरह साइबेरियन पक्षी भारत में आते हैं, उसी तरह सफेद कौआ भी यहां पहुंचा है। सफेद कौआ सामान्य तापमान 20 से 30 डिग्री के बीच ही रह सकता है। ज्यादा गर्मी सहन नहीं कर पाएगा। गर्मी में ज्यादा रहा तो उसकी मौत हो सकती है। प्रोफेसर शैल जोशी ने बताया कि करीब छह महीने पहले उमरिया जिले में भी सफेद कौआ दिखाई दिया था। इसके बाद दो माह पहले बड़वाह क्षेत्र में सफेद कौआ दिखाई दिया था। संभवत: यही वह कौआ है जो उमरिया से बड़वाह और अब खरगोन आ पहुंचा है। उन्होंने बताया कि सफेद कौआ को 30 डिग्री तापमान में रख कर बचाया जा सकता है।

Kolar News

Kolar News

पटना। बिहार में महागठबंधन में सीटों का बंटवारा हो गया है। राजद सुप्रीमो लालू यादव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश सिंह ने बस्ती में शुक्रवार को सीटों के बंटवारे की घोषणा की। इसके मुताबिक राजद 26, कांग्रेस 09, सीपीआईएमएल 03, सीपीआई एक और सीपीआई (एम) एक सीट पर चुनाव लड़ेगी।   राष्ट्रीय जनता दल के खाते में जो सीटें आई है, उनमें अररिया, बांका,बक्सर, गया, गोपालगंज, हाजीपुर, जहानाबाद, जमुई, झंझारपुर, मधेपुरा, महाराजगंज, नवादा, पाटलिपुत्र, उजियारपुर, सारण, पूर्णिया, शिवहर, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, सिवान, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, मुंगेर, वाल्मीकिनगर और औरंगाबाद लोकसभा सीट है।   कांग्रेस जिन नौ सीटों पर लोकसभा का चुनाव लड़ेगी उनमें कटिहार, किशनगंज, पटना साहिब, सासाराम, भागलपुर, बेतिया, मुजफ्फरपुर, सुपौल और समस्तीपुर लोकसभा सीट हैं। सीपीआईएमएल जिन तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी उनमें काराकाट, आरा, नालंदा संसदीय सीट है जबकि सीपीआई बेगूसराय और सीपीआई (एम) खगड़िया से चुनाव लड़ेगी।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा “कांग्रेस ने वादा किया है कि हमारी सरकार अग्निवीर योजना को बंद करेगी।” गुरुवार को सोशल मीडिया एक्स पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने यह प्रतिक्रिया दी।   मल्लिकार्जुन खड़गे ने यह भी कहा “देश के रक्षा मंत्री ने (बशर्ते) कहा है कि वो अग्निवीर योजना में सुधार व बदलाव करने के लिए तैयार है। इससे पता चलता है कि मोदी सरकार द्वारा लाखों देशभक्त युवाओं पर थोपी अग्निवीर योजना अब काम नहीं कर रही है।” उन्होंने आगे कहा कि “पहले तो मोदी सरकार ने हमारे लाखों युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ किया, अब चुनाव के चलते अग्निवीर योजना में ख़ामियों को मानने की बात की है। उन्हें हमारे देशभक्त युवाओं से पहले माफ़ी मांगनी चाहिए।”

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। वकीलों के चीफ जस्टिस को लिखे गये पत्र पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि दूसरों को डराना-धमकाना कांग्रेस की पुरानी संस्कृति है।   सुप्रीम कोर्ट से कार्रवाई करने का आग्रह करने वाले 600 वकीलों द्वारा प्रस्तुत पत्र पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, “दूसरों को डराना-धमकाना कांग्रेस की पुरानी संस्कृति है। 5 दशक पहले ही उन्होंने "प्रतिबद्ध न्यायपालिका" का आह्वान किया था - वे बेशर्मी से अपने स्वार्थों के लिए दूसरों से प्रतिबद्धता चाहते हैं लेकिन राष्ट्र के प्रति किसी भी प्रतिबद्धता से बचते हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि 140 करोड़ भारतीय उन्हें अस्वीकार कर रहे हैं।” उल्लेखनीय है कि वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे, बार काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन मनन मिश्रा और सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आदिश अग्रवाल सहित छह सौ वकीलों ने चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ को पत्र लिखकर शिकायत की है कि न्यायपालिका को बदनाम करने का राजनीतिक एजेंडा चलाया जा रहा है।   पत्र में गहरी चिंता व्यक्त करते हुए हस्ताक्षरकर्ताओं ने दावा किया कि राजनीतिक मामलों में न्यायपालिका पर दबाव बनाने, न्यायिक प्रक्रिया को प्रभावित करने और अदालत के आदेशों को गलत ठहराने के बेतुके तर्क दिए जा रहे हैं। इसके लिए बाकायदा एजेंडा चलाया जा रहा है। पत्र में कहा गया है कि यह लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिए खतरा है।   उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि 'व्यक्तिगत और राजनीतिक कारणों से अदालतों को कमजोर करने और उनमें हेरफेर करने' का प्रयास किया जा रहा है और उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय से कार्रवाई करने का अनुरोध किया है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद उन्हें मुख्यमंत्री के पद से हटाने की मांग खारिज कर दी है। कार्यकारी चीफ जस्टिस मनमोहन की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि ये कोर्ट का काम नहीं, ये कार्यपालिका का काम है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि ऐसा कोई कानून बताइए, जिसमें मुख्यमंत्री को पद से हटाने का प्रावधान हो। कोर्ट ने कहा कि अगर कोई संवैधानिक विफलता है तो राष्ट्रपति या उप-राज्यपाल फैसला करेंगे। इस मामले में न्यायिक हस्तक्षेप की कोई गुंजाइश नहीं है। कोर्ट ने कहा कि हमने आज ही अखबारों में पढ़ा है कि उप-राज्यपाल इस मामले की पड़ताल कर रहे हैं। उसके बाद ये राष्ट्रपति के पास जाएगा। हर काम के लिए अलग-अगल विंग है। कोर्ट ने कहा कि हम ये समझते हैं कि कुछ व्यावहारिक परेशानियां हैं। हम इस पर आदेश क्यों जारी करें। हम राष्ट्रपति या उप-राज्यपाल को निर्देश नहीं दे सकते हैं। कार्यपालिका राष्ट्रपति शासन लगाती है। ये हमें बताने की जरूरत नहीं है। हम इसमें हस्तक्षेप नहीं कर सकते हैं। हम राजनीति में नहीं जा सकते। राजनीतिक दल इसे देखें। वे जनता के बीच जा सकते हैं, हम नहीं। उसके बाद कोर्ट ने याचिका खारिज करने का आदेश दिया। यह याचिका सुरजीत सिंह यादव ने दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि अरविंद केजरीवाल आर्थिक भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किए गए हैं। उन्हें सार्वजनिक पद पर नहीं रखा जाना चाहिए। याचिका में कहा गया था कि केजरीवाल गोपनीयता की शपथ लेते हुए मुख्यमंत्री बने हैं। अगर वे जेल से शासन चलाते हैं और अगर कोई फाइल उनके पास जाती है तो वो कई जेल अधिकारियों से होकर गुजरेगी जो उनकी गोपनीयता की शपथ का उल्लंघन होगा। याचिका में कहा गया था कि केजरीवाल ने संवैधानिक नैतिकता का उल्लंघन किया है और उन्हें खुद ही इस्तीफा देना चाहिए। याचिका में कहा गया था कि केजरीवाल का पद पर बने रहना न केवल कानून के शासन में बाधा होगी बल्कि ये दिल्ली में पूरे तरीके से संवैधानिक मशीनरी के खत्म होने जैसा होगा। केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद वे लोकसेवक के रूप में अपनी जिम्मेदारी का वहन नहीं कर सकते हैं इसलिए उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटा देना चाहिए।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि गुजरात का गरबा जीवन, संस्कृति और भक्ति का उत्सव है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि गरबा की वैश्विक लोकप्रियता बढ़ रही है।   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर गरबा का आनंद ले रहे लोगों की कुछ तस्वीरें और यूनेस्को प्रमाणपत्र की एक प्रति साझा करते हुए लिखा कि गरबा जीवन, संस्कृति और भक्ति का उत्सव है। यह लोगों को एक साथ भी लाता है। यह जानकर खुशी हो रही है कि गरबा की वैश्विक लोकप्रियता बढ़ रही है।   उन्होंने आगे कहा कि कुछ समय पहले गरबा को यूनेस्को की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत सूची में जगह मिली थी। मुझे खुशी है कि शिलालेख प्रमाणपत्र कुछ दिन पहले पेरिस में प्रस्तुत किया गया था। पेरिस में एक यादगार गरबा नाइट का भी आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में भारतीय समुदाय शामिल हुआ। उल्लेखनीय है कि पिछले साल दिसंबर माह में गुजरात के पारंपरिक नृत्य गरबा को यूनेस्को की अमूर्त विरासत सूची में शामिल किया गया था।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। महाराष्ट्र कैडर के अधिकारी सदानंद वसंत दाते राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के नए प्रमुख हाेंगे। पीयूष आनंद को राष्ट्रीय आपदा बल का (एनडीआरएफ) महानिदेशक और राजीव कुमार शर्मा को पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो (बीपीआरडी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है।   सदानंद वसंत दाते और राजीव कुमार शर्मा भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 1990 बैच से हैं जबकि आनंद 1991 बैच के हैं। तीनों अधिकारी 31 मार्च को तीन मौजूदा प्रमुखों की सेवानिवृत्ति पर कार्यभार संभालेंगे।         सूचना मंत्रालय द्वारा बुधवार को जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने मंगलवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो (बीपीआरडी) के लिए नए प्रमुखों की नियुक्ति को मंजूरी दी।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि उनके पति कल अदालत में खुलासा करेंगे कि कथित शराब घोटाले का पैसा कहां है। सुनीता केजरीवाल ने बुधवार को यहां एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दावा किया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा की गई कई छापेमारी में कोई पैसा नहीं मिला। उन्होंने कहा, “ईडी ने दिल्ली के कई मंत्रियों के ठिकानों पर छापेमारी की है लेकिन उन्हें एक भी पैसा नहीं मिला। पैसा कहां है? अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि वह 28 मार्च को अदालत में इसके बारे में खुलासा करेंगे।” उन्होंने कहा कि वह कल जेल में अरविंद केजरीवाल से मिली थीं। उन्हें मधुमेह है। हालांकि उन्हें दृढ़ संकल्प के कारण चिंता की कोई बात नहीं है। जेल से सरकारी आदेश जारी करने पर केंद्र की आपत्ति का जिक्र करते हुए पत्नी सुनीता ने कहा कि दो दिन पहले, मेरे पति ने हिरासत में रहते हुए जल मंत्री आतिशी को पानी और सीवर से संबंधित मुद्दों को हल करने का निर्देश दिया था। उन्होंने क्या गलत किया, जो केंद्र ने इसके लिए भी अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मामला दायर किया है। क्या वे दिल्ली को खत्म करना चाहते हैं।   उल्लेखनीय है कि ईडी ने 21 मार्च को दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामले में आम आदमी पार्टी सुप्रीमो और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हिरासत में लिया था। केजरीवाल 28 मार्च तक ईडी की हिरासत में हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को संदेशखाली मुद्दा उठाने वाली भाजपा की बशीरहाट उम्मीदवार रेखा पात्रा से बात की और उन्हें ‘शक्ति स्वरूपा’ बताया। वह संदेशखाली में हुए घटनाक्रम की पीड़िता भी हैं। सोशल मीडिया पर आई बातचीत की ऑडियो में प्रधानमंत्री मोदी ने बशीरहाट से उम्मीदवार रेखा पात्रा के अभियान और भाजपा के समर्थन के बारे में पूछताछ की। पात्रा ने संदेशखाली महिलाओं की पीड़ा पर प्रकाश डाला। उन्होंने वहां की परिस्थिति से प्रधानमंत्री को अवगत कराया और यह भी बताया कि वे क्या करना चाहती है। प्रधानमंत्री ने इस बात को लेकर उनकी प्रशंसा की कि वे विरोधी तृणमूल कार्यकर्ताओं के साथ भी हुए अन्याय के लिए काम करना चाहती हैं। बातचीत के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता नरेन्द्र मोदी ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर पिछले कई सालों से वोट नहीं कर पाने वाले लोग इस बार वोट कर पायें, यह सुनिश्चित किया जाए। नरेन्द्र मोदी ने कहा कि स्थानीय जनता बंगाल में तृणमूल कांग्रेस से परेशान है। उन्हें आशा है कि वहां की महिलाएं भाजपा को बेहतर भविष्य के लिए वोट करेंगी। उल्लेखनीय है कि रेखा पात्रा तृणमूल कांग्रेस के निलंबित नेता शेख शाहजहां के खिलाफ इलाके में महिलाओं के विरोध प्रदर्शन का चेहरा रही हैं। स्थानीय दबंग नेता और उनके गुर्गों पर संदेशखाली में स्थानीय लोगों की भूमि अवैध रूप से कब्जाने और आदिवासी महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न का आरोप है । शाहजहां अभी जेल में है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में मंगलवार को प्रधानमंत्री आवास का घेराव करने जा रहे आम आदमी पार्टी (आप) के कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। दिल्ली पुलिस ने पहले ही चेतावनी दी थी कि किसी को भी प्रदर्शन की इजाजत नहीं है। ना ही किसी भी तरह का मार्च करने दिया जाएगा। फिलहाल पटेल चौक पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दिल्ली यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शन की वजह से नई दिल्ली और मध्य दिल्ली के इलाकों में आवाजाही प्रभावित हो सकती है। दिल्ली पुलिस के अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। हमने क्षेत्र में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई स्तर की सुरक्षा व्यवस्था की है।   पुलिस ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास के आसपास (दंड प्रक्रिया संहिता की) धारा 144 पहले से लागू है और किसी को भी प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ मंगलवार को प्रधानमंत्री आवास का घेराव करने की योजना का ऐलान किया था।   ईडी ने आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन से संबंधित मामले में 21 मार्च को केजरीवाल को गिरफ्तार किया था। वह गुरुवार तक एजेंसी की हिरासत में हैं। केंद्रीय एजेंसी ने आप के राष्ट्रीय संयोजक पर शराब व्यापारियों को लाभ देने के बदले में उनसे रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है।   दिल्ली पुलिस द्वारा आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को लगातार चेतावनी दी जा रही है कि धारा 144 लागू है। पंजाब के शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस समेत आप के कई नेताओं को भी दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया है।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। कलकत्ता हाई कोर्ट के न्यायाधीश पद से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल और तमलुक लोकसभा सीट से उम्मीदवार जस्टिस अभिजीत गांगुली के बयान पर हंगामा बरपा है। एक चैनल से बातचीत में महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे को लेकर की गई उनकी टिप्पणी की कांग्रेस ने आलोचना की है। गांधी और गोडसे में से किसी एक को चुने जाने संबंधी सवाल पर जस्टिस गांगुली ने कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या निश्चित तौर पर स्वीकार्य नहीं है लेकिन, एक कानूनी पेशेवर के तौर पर मैं यही कहूंगा कि किसी भी पक्ष के दूसरे पहलू को भी देखा जाना चाहिए। गोडसे ने गांधी को क्यों मारा, इस बारे में पढ़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मैं गांधी और गोडसे में से किसी एक का चयन तब तक नहीं कर सकता जब तक दूसरे पक्ष को समझ ना लूं। उन्होंने इशारे-इशारे में गांधी की हत्या के पीछे साजिश का जिक्र करते हुए कहा कि ऐतिहासिक घटनाओं के सभी पहलुओं को जांचने की आवश्यकता है। इसे लेकर कांग्रेस ने सवाल खड़ा किया है। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव जयराम रमेश ने मामले में सीधे तौर पर प्रधानमंत्री मोदी से हस्तक्षेप करने की मांग की है और जस्टिस गांगुली की उम्मीदवारी खत्म करने की मांग की है।

Kolar News

Kolar News

भोपाल। उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर में सोमवार सुबह भस्म आरती के दौरान होली का उत्सव मनाते समय गर्भगृह में आग लग गई। इसकी चपेट में आने से पुजारी, पंडे और सेवकों सहित कुल 14 लोग झुलस गए। घायलों में नौ को इंदौर रेफर किया गया है। पांच को उज्जैन के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से तीन को छुट्टी दे दी गई और दो का उपचार जारी है। उज्जैन कलेक्टर ने घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दिए हैं।     इधर, घटना की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव भोपाल स्थित अपने निवास पर आयोजित होली मिलन समारोह स्थगित कर इंदौर पहुंचे। उन्होंने यहां अरबिंदो अस्पताल में भर्ती घायलों से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना। उन्होंने सत्यनारायण सोनी नामक गंभीर घायल के बेहतर उपचार के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने घायलों के उपचार के लिए एक - एक लाख की सहायता देने की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इलाज का पूरा खर्च राज्य सरकार उठाएगी।     मुख्यमंत्री ने इंदौर में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि घटना दुखद है। यहां अस्पताल में ही प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति का फोन आया है। मैंने बताया कि सभी की हालत लगभग ठीक है। चिकित्सकों ने विपरीत हालात में बेहतर उपचार किया। परमात्मा ने बड़ी घटना होने से बचा लिया। मंत्री कैलाश विजयवर्गीय भी इनके उपचार का ध्यान रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना में कोई षड्यंत्र तो नहीं है, इसकी भी जांच की जाएगी।     गुलाल उड़ाने के दौरान भभकी आग बताया जा रहा है कि भस्म आरती के दौरान होली के अवसर पर गर्भगृह और उसके बाहर गुलाल उड़ाया जा रहा था। इस दौरान पुजारी कपूर से महाकाल की आरती भी कर रहे थे। इधर गर्भगृह की दीवार को गुलाल से बचाने के लिए फ्लैक्स, कपड़े भी लगाए गए थे। कपूर आरती के दौरान गुलाल में केमिकल होने के कारण आग भभकी और ऊपर लगे फ्लैक्स को अपनी चपेट में ले लिया। बताया जाता है कि इसका जलता हुआ हिस्सा नीचे आ गिरा। अग्निशमन यंत्रों से आग पर काबू पाया गया।     घटना में सत्यनारायण (79) , चिंतामन (65) , रमेश (60) , मनोज (43) , महेश (27) , अंश (13) , शिवम (21) , संजय (50) गणेश, विकास (35) , आनंद (23) , सोनू (54) , राजकुमार (50) , कमल जोशी (44) और मंगल बिंजवा (36) घायल हुए हैं। सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से नौ लोगों को इंदौर रेफर किया गया। भस्म आरती दर्शन के लिए नंदीहाल, गणेश और कार्तिकेय मंडपम् में दो हजार से अधिक श्रद्धालु मौजूद थे। आग लगने पर अफरा-तफरी की स्थिति बनी। कर्मचारियों ने स्थिति पर काबू पाया अन्यथा बड़ा हादसा भी हो सकता था।     जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. पीएन वर्मा के अनुसार नौ घायलों को इंदौर भेजा गया। यहां दो लोग भर्ती हैं। तीन को छुट्टी दे दी गई है। इंदौर रेफर किए गए लोग करीब 20 से 30 प्रतिशत झुलस गए हैं। कोई गंभीर नहीं है।     उज्जैन कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने घटना के मजिस्ट्रीयल जांच के निर्देश दिए हैं। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मृणाल मीना और अपर कलेक्टर उज्जैन अनुकूल जैन द्वारा संपूर्ण घटना की जांच की जाएगी। कलेक्टर ने तीन दिन में जांच समिति को रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने अस्पताल में जाकर घायलों की कुशलक्षेम जानी।     कांग्रेस नेता और लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी महेश परमार ने कलेक्टर नीरज सिंह और मंदिर प्रशासक संदीप सोनी को हटाने की मांग की है। कांग्रेस कार्यकर्ता अस्पताल पहुंचे। नेताओं ने कहा कि सीएम के उज्जैन आगमन पर उनका घेराव किया जाएगा।     उल्लेखनीय है कि आज मुख्यमंत्री मोहन यादव का जन्मदिन है। फिलहाल उनके सभी कार्यक्रम निरस्त कर दिए गए हैं। भोपाल में सीएम हाउस में होने वाला होली मिलन समारोह भी स्थगित कर दिया गया है।

Kolar News

Kolar News

जम्मू। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सेना प्रमुख मनोज पांडे के साथ रविवार को लद्दाख के लेह में जवानों के साथ होली मनाने के लिए पहुंचे। लेह हवाई अड्डे पर रक्षा मंत्री का लद्दाख के उपराज्यपाल बीडी मिश्रा, प्रशासन व सेना के उच्च अधिकारियों ने स्वागत किया। रक्षा मंत्री ने लेह में हॉल ऑफ फेम पर देश की रक्षा के लिए अपना सर्वाेच्च बलिदान देने वाले जवानों को याद करते हुए पुष्पांजलि भी अर्पित की। इस दौरान राजनाथ ने जवानों के साथ होली मनाई। उन्हें गुलाल लगाते हुए मिठाई भी खिलाई।   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रविवार को विश्व के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन में जवानों के साथ होली मनाने के लिए पहुंचाने वाले थे लेकिन मौसम में हुए बदलाव के कारण उन्हें सियाचिन दौरे को रद्द करना पड़ा और उन्होंने लेह में जवानों के साथ होली मनाई।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। विपक्षी दलों के गठबंधन आईएनडीआईए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ अगले रविवार (31 मार्च) को रामलीला मैदान में महारैली आयोजित करेगा। आम आदमी पार्टी और दिल्ली कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने गठबंधन के अन्य घटकदलों के नेताओं के साथ रविवार को दिल्ली में पत्रकार वार्ता के दौरान इसकी घोषणा की। आम आदमी पार्टी के नेता एवं दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार जांच एजेंसी का इस्तेमाल विपक्षी नेताओं को डराने के लिए कर रही है। उन पर फर्जी मामले बनाकर उन्हें फंसा रही है। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और राजद नेता तेजस्वी यादव को भी केंद्र की एजेंसियां परेशान कर रही हैं। राय ने कहा कि हम इस संबंध में संबंधित विभागों से अनुमति मांग रहे हैं। अगर हमें रैली की अनुमति नहीं दी गई तो यह लोकतंत्र के लिए खतरे की घंटी होगा। उन्होंने दावा किया कि इस रैली में पूरी दिल्ली इकट्ठी होगी। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष को कमजोर करने की कोशिश हो रही है। एक मुख्यमंत्री को पहली बार गिरफ्तार किया गया है। कांग्रेस के खाते सील किए गए हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को आबकारी नीति घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार रात को गिरफ्तार किया था। उसके बाद से ही विपक्षी नेता एकजुट होकर सरकार को इस मुद्दे पर घर रहे हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के सबसे बड़े विधानसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के विधायक गुलाब सिंह के गांव घुम्मनहेड़ा में उनके ठिकानों पर आयकर विभाग और ई़डी ने छापेमारी की है। परिवार के किसी भी व्यक्ति को घर और आवास पर अंदर से बाहर और बाहर से अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है। आज दाेपहर बाद नोटों की गिनती करने की मशीन लेकर एक व्यक्ति विधायक के आवास व कार्यालय परिसर में दाखिल हुआ। सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग ने ही यह मशीन मंगवाई है। विधायक गुलाब सिंह के आवास और कार्यालय पर आयकर विभाग की छापेमारी की भनक लोगों को सुबह लगी जबकि शुक्रवार की रात करीब दस बजे आयकर विभाग की टीम ने डेरा डाल दिया था। यहां पर आयकर विभाग की टीम के साथ बड़ी संख्या में पुलिस और अर्द्धसैनिक बल तैनात हैं। आयकर की छापेमारी के दौरान ही प्रवर्तन निदेशालय की टीम भी सुबह सुबह छापेमारी करने पहुंच गई। शाम को चार बजे तक आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय की टीम के अधिकारी और कर्मचारी पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के साथ मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। कांग्रेस को हिमाचल प्रदेश में बड़ा झटका लगा है। राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के कारण अयोग्य ठहराए गए छह पूर्व विधायक भाजपा में शामिल हो गए हैं। उनके साथ-साथ तीन निर्दलीय विधायक भी भाजपा में शामिल हुए हैं। शनिवार को यहां भाजपा मुख्यालय में हिमाचल प्रदेश के तीन निर्दलीय विधायक- आशीष शर्मा, केएल ठाकुर और होशियार सिंह हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राजीव बिंदल और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए। इसके साथ कांग्रेस के बागी विधायक भी भाजपा में शामिल हुए, जिनमें धर्मशाला से विधायक सुधीर शर्मा, सुजानपुर से राजेंद्र राणा, कुटलैहड़ से देवेंद्र भुट्टो, गगरेट से चैतन्य शर्मा, लाहौल स्पीति से रवि ठाकुर और बड़सर से विधायक इंद्र दत्त लखनपाल हैं। इस मौके पर भाजपा में शामिल होने के बाद हिमाचल प्रदेश के बागी विधायक इंद्रदत्त लखनपाल ने कहा कि कांग्रेस की कार्यक्षमता खत्म हो गई है। न तो हाईकमान का कोई प्रभाव है और न ही पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए कोई सम्मान बचा है। इसलिए कांग्रेस के नेता वहां परेशान हैं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली आबकारी घोटाला मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी हिरासत और गिरफ्तारी को चुनौती देते हुए दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। केजरीवाल ने हाई कोर्ट के कार्यवाहक चीफ जस्टिस मनमोहन से कल यानी 24 मार्च को सुनवाई करने की मांग की है। याचिका में 22 मार्च के राऊज एवेन्यू कोर्ट की ओर से केजरीवाल को 28 मार्च तक की ईडी हिरासत में भेजने के आदेश को चुनौती गई है। केजरीवाल ने कहा है कि वे वर्तमान सरकार के मुखर आलोचक रहे हैं इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है। 21 मार्च को दिल्ली हाई कोर्ट से गिरफ्तारी से संरक्षण नहीं मिलने के बाद ईडी ने 21 मार्च को देर शाम केजरीवाल को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था। ईडी के मुताबिक केजरीवाल शराब नीति घोटाले के मुख्य साजिशकर्ता हैं। उसे केजरीवाल के घर छापेमारी में कई अहम दस्तावेज मिले हैं। इन दस्तावेजों से पता चला है कि केजरीवाल दरअसल ईडी अधिकारियों की जासूसी कर रहे थे। ईडी के मुताबिक विजय नायर केजरीवाल के पास एक घर में रह रहे थे। वह दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत को दिए गए घर में रह रहे थे। उन्होंने साउथ ग्रुप और आम आदमी पार्टी के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभाई। केजरीवाल ने साउथ ग्रुप से रिश्वत की मांग की। इस बात की पुष्टि बयानों से होती है। केजरीवाल ने के. कविता से मुलाकात की थी। ईडी के मुताबिक आबकारी नीति को आम आदमी पार्टी के गोवा चुनाव में फंडिंग के लिए बदला गया।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुक्रवार को भूटान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ द ड्रुक ग्यालपो’ से सम्मानित हुए। उन्होंने सम्मान के प्रति आभार प्रगट करते हुए इसे 140 करोड़ भारतीयों को समर्पित किया। दो दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार को भूटान पहुंचे प्रधानमंत्री ने सम्मान के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा, “ये सम्मान मेरी व्यक्तिगत उपलब्धि नहीं है, ये भारत और 140 करोड़ भारतीयों का सम्मान है। भूटान की इस महान भूमि पर मैं सभी भारतवासियों की ओर से ये सम्मान नम्रता से स्वीकार करता हूं। इस सम्मान के लिए आप सभी का हृदय से कोटि-कोटि धन्यवाद करता हूं।” प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत-भूटान की साझेदारी केवल जमीन और पानी तक ही सीमित नहीं रही है। भूटान अब अपने अंतरिक्ष अभियानों में भारत का भागीदार है। भूटान के वैज्ञानिकों ने इसरो के साथ मिलकर सैटेलाइट लॉन्च किया है। उन्होंने कहा कि भारत और भूटान के युवाओं की आकांक्षाएं एक जैसी हैं। भारत ने 2047 तक एक विकसित राष्ट्र बनने का निर्णय लिया है। भूटान ने 2034 तक ‘उच्च आय’ देश बनने का फैसला किया है। भूटान को उसके लक्ष्यों को पाने में सहयोग का आश्वासन देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ‘बीबी’ - ब्रांड भूटान और भूटान बिलीव के लिए आपके साथ खड़ा है। आने वाले 5 साल हमारे संबंधों को एक नई ऊर्जा देंगे। हम कनेक्टिविटी, बुनियादी ढांचे, व्यापार और ऊर्जा क्षेत्रों में रास्ते बनाने के लिए काम करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार को दो दिवसीय राजकीय यात्रा पर भूटान की राजधानी थिंफू पहुंचे। प्रधानमंत्री का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया गया। प्रधानमंत्री ने भूटान नरेश जिम्मे खेसर नामग्याल वांगचुक से मुलाकात की।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट की स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने दिल्ली आबकारी घोटाला मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 10 दिनों की ईडी हिरासत में भेज दिया है। ईडी ने केजरीवाल को दस दिनों के लिए हिरासत में भेजने की मांग की थी। ईडी की ओर से पेश एएसजी एसवी राजू ने कहा कि अरविंद केजरीवाल शराब नीति घोटाले के मुख्य साजिशकर्ता हैं। ईडी को केजरीवाल के घर पर छापेमारी में कई अहम दस्तावेज मिले हैं। इन दस्तावेज से पता चला है कि केजरीवाल ईडी अधिकारियों की जासूसी कर रहे थे। राजू ने कहा कि विजय नायर केजरीवाल के पास दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत को दिए गए घर में रह रहे थे। नायर ने साउथ ग्रुप और आम आदमी पार्टी के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभाई। अरविंद केजरीवाल ने साउथ ग्रुप से रिश्वत मांगी थी। इस बात की पुष्टि बयानों से होती है। केजरीवाल ने के. कविता से भी मुलाकात की थी। राजू ने कहा कि अरविंद केजरीवाल आम आदमी पार्टी की प्रमुख गतिविधियों को संचालित करते हैं। वे पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक हैं। उन्होंने कहा कि आबकारी नीति को आम आदमी पार्टी के गोवा चुनाव में फंडिंग के लिए बदला गया। राजू ने कहा कि पैसे के लेन-देन की पूरी पड़ताल के लिए अरविंद केजरीवाल को दूसरे आरोपितों के सामने बैठाकर पूछताछ करनी है। उन्होंने कहा कि आबकारी घोटाला मामले में इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों को मिटाया गया है। कई फोन नष्ट किए गए या फॉर्मेट किए गए ताकि जांच में परेशानी हो। राजू ने कहा कि अरविंद केजरीवाल समन के पहले गिरफ्तार नहीं किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कब किसको गिरफ्तार करना है, ये जांच अधिकारी के दायरे में आता है। ऐसा कुछ भी नहीं है कि अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी मनी लांड्रिंग एक्ट की धारा 19 के प्रावधानों का उल्लंघन करके की गई है। केजरीवाल की ओर से पेश वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि हिरासत स्वत: नहीं होती। हिरासत के लिए मनी लांड्रिंग एक्ट की धारा 19 को संतुष्ट करना होता है। सिंघवी ने कहा कि हिरासत में लेने के लिए जरूरत बतानी होती है। उन्होंने कहा कि ईडी को गिरफ्तार करने का अधिकार है लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि उसे पूछताछ के लिए भी गिरफ्तारी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हिरासत में लेने की पूरी अर्जी में कुछ पैरा को छोड़कर गिरफ्तार करने की वजह को ही कॉपी-पेस्ट किया गया है। दरअसल, 21 मार्च को दिल्ली हाई कोर्ट से अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तारी से संरक्षण नहीं मिलने के बाद ईडी ने 21 मार्च को ही देर शाम अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने शुक्रवार की सुबह तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। अन्ना हजारे इन दिनों अहमद नगर (महाराष्ट्र) में हैं। उन्होंने आज मीडिया से बातचीत में कहा कि अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी अपने कर्मों की वजह हुई है।       प्रवर्तन निदेशालय ( ईडी) द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने पर सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे का कहना है, "मैं इस बात से बहुत परेशान हूं कि अरविंद केजरीवाल, जो मेरे साथ काम करते थे, शराब के खिलाफ आवाज उठाते थे, अब शराब नीतियां बना रहे हैं। अपने ही कर्मों की वजह से उनकी गिरफ्तारी इसलिए हुई है।" उल्लेखनीय है कि अन्ना हजारे एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने ग्रामीण विकास को बढ़ावा देने, सरकारी पारदर्शिता बढ़ाने और सार्वजनिक जीवन में भ्रष्टाचार की जांच करने और दंडित करने के लिए आंदोलनों का नेतृत्व किया। जमीनी स्तर के आंदोलनों को संगठित करने और प्रोत्साहित करने के अलावा अन्ना हजारे ने अपने उद्देश्यों को आगे बढ़ाने के लिए अक्सर भूख हड़तालें कीं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने इलेक्टोरल बांड पर एसबीआई से प्राप्त पूरी जानकारी को गुरुवार को अपनी वेबसाइट पर अपलोड किया है। एसबीआई ने इलेक्टोरल बांड से जुड़ी विस्तृत जानकारी को आज ही आयोग के साथ साझा किया। चुनाव आयोग की ओर से अपलोड की गई दो फाइलों में इलेक्ट्रोरल बांड और उसे पार्टी तथा दानकर्ता के बीच जोड़ने वाले कोड की जानकारी है। पहली फाइन में राजनीतिक दल और दूसरी फाइल में दानकर्ता की जानकारी है। आयोग के अनुसार सर्वोच्च न्यायालय के 15 फरवरी, 11 मार्च और 18 मार्च के आदेश (2017 के डब्ल्यूपीसी नंबर 880 के मामले में) में निहित निर्देशों के अनुपालन में भारतीय स्टेट बैंक ने इलेक्टोरल बांड संबंधित डेटा प्रदान किया है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरुवार को मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास पर पहुंची है।   आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ईडी की टीम का केजरीवाल के आवास पर तलाशी अभियान चल रहा है। ईडी की छह सदस्यीय टीम ने पहले उनके स्टाफ को सूचित किया कि उनके पास उत्पाद शुल्क नीति मामले में मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ सर्च वारंट है। खबर लिखे जाने तक ईडी टीम का तलाशी अभियान जारी है। विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है।   केजरीवाल सरकार के कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ईडी की टीम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने के लिए पहुंची है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले ईडी ने दिल्ली आबकारी नीति घोटाला मामले में केजरीवाल को 9वां समन भेजकर आज पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन केजरीवाल ईडी के समक्ष पेश होने से पहले दिल्ली हाई कोर्ट चले गए थे। हाई कोर्ट ने केजरीवाल को इस मामले में ईडी को उनसे पूछताछ और गिरफ्तार करने पर कोई भी रोक लगाने से इनकार किया था।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया कि वह ‘विकसित भारत’ के संदेशों को वाट्सऐप पर साझा करना तुरंत बंद करे।   चुनाव आयोग ने गुरुवार को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव को आदर्श आचार संहिता के दौरान वाट्सऐप पर ‘विकसित भारत’ के संदेशों की डिलीवरी तुरंत रोकने के लिए पत्र लिखा है। आयोग ने मंत्रालय से इस मामले पर तत्काल अनुपालन रिपोर्ट भी मांगी है। पत्र में कहा गया है कि आयोग को विभिन्न क्षेत्रों से शिकायतें मिली हैं कि आम चुनाव 2024 की घोषणा और आदर्श आचार संहिता के लागू होने के बावजूद नागरिकों के फोन पर अभी भी ऐसे संदेश भेजे जा रहे हैं। इसलिए आपको यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया जाता है कि चुनाव आचार संहिता के दौरान वाट्सऐप संदेशों की आगे कोई डिलीवरी न हो। इस संबंध में अनुपालन रिपोर्ट तुरंत भेजी जाए। उल्लेखनीय है कि मंत्रालय ने इससे पहले आयोग को सूचित किया था कि ये संदेश आदर्श आचार संहिता लागू होने से पहले भेजे गए थे, लेकिन सिस्टम आर्किटेक्चर और नेटवर्क सीमाओं के कारण यह संभव है कि कुछ संदेशों की डिलीवरी में देरी हुई हो।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि भारत आज अगर ग्लोबल स्टार्टअप स्पेस के लिए नई उम्मीद, नई ताकत बनकर उभरा है, तो इसके पीछे एक सोचा समझा विजन रहा है। प्रधानमंत्री ने यह बात बुधवार को स्टार्टअप महाकुंभ में कही। इसका आयोजन राष्ट्रीय राजधानी के प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में किया गया है।   उन्होंने कहा कि भारत ने सही समय पर सही निर्णय लिए हैं। सही समय पर स्टार्टअप को लेकर काम शुरू किया। स्टार्टअप लॉन्च तो बहुत लोग करते हैं, राजनीति में तो ये बहुत ज्यादा होता है और बार-बार लॉन्च करना पड़ता है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आप में और उनमें फर्क ये है कि आप लोग प्रयोगशील होते हैं, एक अगर लॉन्च नहीं हुआ तो तुरंत दूसरे पर चले जाते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज जब देश 2047 के विकसित भारत के रोडमैप पर काम कर रहा है, ऐसे समय में मुझे लगता है कि इस स्टार्टअप महाकुंभ का बहुत महत्व है। बीते दशकों में हमने देखा है कि भारत ने कैसे आईटी और सॉफ्टवेयर सेक्टर में अपनी छाप छोड़ी है। अब हम भारत में इनोवेशन और स्टार्टअप कल्चर का ट्रेंड लगातार बढ़ता हुआ देख रहे हैं।

Kolar News

Kolar News

जोधपुर। अपने ही आश्रम की नाबालिग छात्रा से यौन उत्पीड़न के आरोप में जोधपुर की सेंट्रल जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे आसाराम को राजस्थान हाई कोर्ट से एक और झटका लगा है। उसने महाराष्ट्र के पुणे में आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज कराने की अनुमति के लिए याचिका दायर की थी, जिसे राजस्थान हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया है। इस संबंध में महाराष्ट्र पुलिस ने सुरक्षा का हवाला देकर आसाराम को इलाज के लिए मंजूरी नहीं देने की बात कही थी। इस पर हाई कोर्ट ने कानून-व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई और यह भी कहा है कि पुणे से अच्छा इलाज आसाराम को जोधपुर के ही एम्स में मिल सकता है। दरअसल, आसाराम हाई कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक उपचार के लिए कई याचिका लगा चुके हैं लेकिन अभी तक उन्हें कहीं से भी अंतरिम राहत नहीं मिल पाई है। जस्टिस दिनेश मेहता व जस्टिस विनीत कुमार माथुर की खंडपीठ में आसाराम के उपचार के लिए दायर याचिका पर सुनवाई हुई। पिछली सुनवाई के दौरान आसाराम ने पुलिस कस्टडी में माधवबाग मल्टी डिसिप्लिनरी कार्डियाक केयर क्लीनिक खोपोली महाराष्ट्र में उपचार की प्रार्थना की थी। इस पर महाराष्ट्र पुलिस व जोधपुर पुलिस कमिश्नर से सुरक्षा को लेकर रिपोर्ट मांगी गई थी। महाराष्ट्र पुलिस कमिश्नर ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए महाराष्ट्र में उपचार की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। महाराष्ट्र पुलिस की रिपोर्ट को बुधवार को सुनवाई के दौरान अतिरिक्त महाधिवक्ता अनिल जोशी ने कोर्ट में पेश किया। इस पर कोर्ट ने रिपोर्ट को देखते हुए आसाराम के महाराष्ट्र में उपचार करवाने की प्रार्थना को खारिज कर दिया। इस दौरान आसाराम के अधिवक्ताओं की ओर से कहा गया कि आसाराम आयुर्वेदिक पद्धति से उपचार करवाना चाहते हैं। कोर्ट ने इस पर जोधपुर के आयुर्वेदिक अस्पताल करवड़ में उपचार कराने पर विचार करने के साथ ही वहा से तत्काल रिपोर्ट मंगवाई है। ऐसे में अब रिपोर्ट आने पर हाई कोर्ट में याचिका पर 22 मार्च को सुनवाई होगी लेकिन आसाराम की महाराष्ट्र जाने की उम्मीद पर फिलहाल पानी फिर गया है।   जोधपुर में करवाना होगा उपचार! महाराष्ट्र में आयुर्वेदिक उपचार की अनुमति नहीं मिलने के बाद संभावित है कि आसाराम अब जोधपुर में ही रहकर स्थानीय करवड़ में स्थित आयुर्वेदिक उपचार कराएंगे। हालांकि इसके लिए भी हाई कोर्ट से अनुमति लेनी ज़रूरी होगी। फिलहाल इस मामले पर सुनवाई जारी रहेगी। कोर्ट ने करवड़ स्थित आयुर्वेद हॉस्पिटल से आसाराम के उपचार के संबंध में जानकारी मांगी है।

Kolar News

Kolar News

पटना । राज्य की जन अधिकार पार्टी (जाप) का कांग्रेस में विलय हो गया है। जाप सुप्रीमो पप्पू यादव दिल्ली में बेटे सार्थक रंजन के साथ कांग्रेस में शामिल हो गये। इसके साथ इसकी संभावना तेज हो गयी है कि अब पप्पू यादव कांग्रेस की टिकट पर पूर्णिया से चुनाव लड़ेंगे। बीते मंगलवार को पप्पू यादव ने राबड़ी देवी के घर पर लालू और तेजस्वी यादव से मुलाकात की थी, जिसके बाद से ही उनकी पार्टी के विलय की चर्चा तेज हो गई थी। कांग्रेस में जाप के विलय के बाद पप्पू यादव ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को धन्यवाद देते हुए कांग्रेस के प्रति आभार जताया है। पप्पू यादव ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व के अलावा और कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा हुआ था। इसलिए हमने आज कांग्रेस का दामन थाम लिया। पप्पू यादव की पत्नी रंजीत रंजन कांग्रेस की राज्यसभा सदस्य हैं और अब पप्पू यादव और उनके बेटे ने भी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। ऐसे में अब पप्पू यादव को कांग्रेस बिहार में लोकसभा चुनाव का उम्मीदवार बना सकती है। पप्पू यादव लंबे समय से कोसी और सीमांचल क्षेत्र में सक्रिय हैं। वे महागठंबधन में रहकर पूर्णिया सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ना चाहते हैं। हालांकि, अभी तक महागठबंधन में कैंडिडेट और सीट को लेकर कोई बात नहीं बन पाई है। इसी सिलसिले में वे लगातार लालू एवं तेजस्वी यादव के संपर्क में थे। ऐसे में इस बात की चर्चा तेज हो गयी है कि पप्पू यादव को कांग्रेस के टिकट पर पूर्णिया से लोकसभा का चुनाव लड़ाया जा सकता है।

Kolar News

Kolar News

सेलम/नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि तमिलनाडु ने भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन को वोट देने का मन बना लिया है।   लोकसभा चुनाव के लिए तमिलनाडु के सेलम में भाजपा की एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अब तमिलनाडु ये तय कर चुका है कि 19 अप्रैल को एक-एक वोट भाजपा-एनडीए को जाएगा। अब तमिलनाडु ये तय कर चुका है कि अबकी बार 400 पार। तमिलनाडु में भाजपा को जो जन समर्थन मिल रहा है, उसे पूरे भारत में देखा और चर्चा की जा रही है। उन्होंने कहा, “'कल मैं कोयंबटूर में रोड शो के दौरान लोगों के बीच था और एनडीए और मोदी को जो समर्थन और आशीर्वाद मिला है, उससे डीएमके की नींद उड़ गई है।”   इस बीच, प्रधानमंत्री मोदी भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्वर्गीय के.एन. लक्ष्मणन को याद करके भावुक हो गए और राज्य में भाजपा के विस्तार में उनके योगदान को याद किया। उन्होंने कहा कि वह आपातकाल के दौरान संघर्ष में भी शामिल थे। उन्होंने तमिलनाडु में कई स्कूल भी खोले।   तमिलनाडु में डॉ. एस रामदास के नेतृत्व वाली पट्टाली मक्कल काची (पीएमके) के साथ सीट शेयरिंग समझौते पर मोदी ने कहा कि पीएमके के साथ सीट बंटवारे के समझौते के बाद एनडीए को नई ऊर्जा मिली है। उल्लेखनीय है कि भाजपा ने लोकसभा चुनावों के लिए पीएमके को 10 सीटें दी हैं।   मोदी ने कहा कि डीएमके और कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। डीएमके और कांग्रेस का मतलब बड़ा भ्रष्टाचार और एक परिवार का शासन है। उन्होंने कहा कि जब देश को कांग्रेस से मुक्ति मिली तो देश 5जी तकनीक तक पहुंच गया। लेकिन तमिलनाडु में डीएमके अपना खुद का 5जी अर्थात तमिलनाडु पर नियंत्रण रखने वाली एक परिवार की पांचवीं पीढ़ी चला रही है। उन्होंने कहा कि डीएमके ने दिवंगत जयललिता के साथ कैसा व्यवहार किया, यह सर्वविदित है। यह द्रमुक का असली चेहरा है।   प्रधानमंत्री ने इंडी गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि मुंबई बैठक में इंडी गठबंधन ने 'शक्ति' को नष्ट करने की घोषणा करके अपने गलत इरादे जाहिर कर दिए है। उन्होंने कहा कि मरियम्मन यहां की शक्ति है। तमिलनाडु में कांची कामाक्षी 'शक्ति' है, मदुरै में मीनाक्षी 'शक्ति' है। मोदी ने कहा कि हिंदू धर्म में, शक्ति का अर्थ मातृ शक्ति, नारी शक्ति है। कांग्रेस और द्रमुक वाले भारतीय गठबंधन का कहना है कि वे इसे नष्ट कर देंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि इंडी गठबंधन के लोग बार-बार जानबूझकर हिंदू धर्म का अपमान करते हैं। हिंदू धर्म के खिलाफ इनका हर बयान बहुत सोचा समझा हुआ होता है। उन्होंने कहा कि डीएमके और कांग्रेस का इंडी गठबंधन किसी अन्य धर्म का अपमान नहीं बनाता लेकिन हिंदू धर्म को गाली देने में ये एक सेकेंड नहीं लगाते।   प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार तमिलनाडु के विकास और समृद्धि को सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है। निःशुल्क चिकित्सा उपचार से लेकर घरों में नल के पानी के कनेक्शन प्रदान करने तक निःशुल्क राशन सुविधाओं से लेकर मुद्रा योजना के माध्यम से तमिलनाडु की महिलाओं को लाभान्वित करने तक, हमने सर्वोत्तम देना, सर्वोत्तम सेवा देना सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि भारत में स्थापित किये जा रहे रक्षा गलियारों में से एक तमिलनाडु में है। भाजपा सरकार देशभर में 7 मेगा टेक्सटाइल पार्क स्थापित कर रही है। विशेष रूप से, उनमें से एक तमिलनाडु में मौजूद है।   उन्होंने कहा कि मोदी, देश की नारीशक्ति की हर परेशानी के आगे ढाल बनकर खड़ा है। महिलाओं को धुआं मुक्त जीवन देने के लिए हमने उज्ज्वला एलपीजी गैस कनेक्शन दिए, हमने फ्री मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए आयुष्मान योजना शुरू की। इन सभी योजनाओं के केंद्र में नारीशक्ति ही है।

Kolar News

Kolar News

सेलम/नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि तमिलनाडु ने भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन को वोट देने का मन बना लिया है।   लोकसभा चुनाव के लिए तमिलनाडु के सेलम में भाजपा की एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अब तमिलनाडु ये तय कर चुका है कि 19 अप्रैल को एक-एक वोट भाजपा-एनडीए को जाएगा। अब तमिलनाडु ये तय कर चुका है कि अबकी बार 400 पार। तमिलनाडु में भाजपा को जो जन समर्थन मिल रहा है, उसे पूरे भारत में देखा और चर्चा की जा रही है। उन्होंने कहा, “'कल मैं कोयंबटूर में रोड शो के दौरान लोगों के बीच था और एनडीए और मोदी को जो समर्थन और आशीर्वाद मिला है, उससे डीएमके की नींद उड़ गई है।”   इस बीच, प्रधानमंत्री मोदी भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्वर्गीय के.एन. लक्ष्मणन को याद करके भावुक हो गए और राज्य में भाजपा के विस्तार में उनके योगदान को याद किया। उन्होंने कहा कि वह आपातकाल के दौरान संघर्ष में भी शामिल थे। उन्होंने तमिलनाडु में कई स्कूल भी खोले।   तमिलनाडु में डॉ. एस रामदास के नेतृत्व वाली पट्टाली मक्कल काची (पीएमके) के साथ सीट शेयरिंग समझौते पर मोदी ने कहा कि पीएमके के साथ सीट बंटवारे के समझौते के बाद एनडीए को नई ऊर्जा मिली है। उल्लेखनीय है कि भाजपा ने लोकसभा चुनावों के लिए पीएमके को 10 सीटें दी हैं।   मोदी ने कहा कि डीएमके और कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। डीएमके और कांग्रेस का मतलब बड़ा भ्रष्टाचार और एक परिवार का शासन है। उन्होंने कहा कि जब देश को कांग्रेस से मुक्ति मिली तो देश 5जी तकनीक तक पहुंच गया। लेकिन तमिलनाडु में डीएमके अपना खुद का 5जी अर्थात तमिलनाडु पर नियंत्रण रखने वाली एक परिवार की पांचवीं पीढ़ी चला रही है। उन्होंने कहा कि डीएमके ने दिवंगत जयललिता के साथ कैसा व्यवहार किया, यह सर्वविदित है। यह द्रमुक का असली चेहरा है।   प्रधानमंत्री ने इंडी गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि मुंबई बैठक में इंडी गठबंधन ने 'शक्ति' को नष्ट करने की घोषणा करके अपने गलत इरादे जाहिर कर दिए है। उन्होंने कहा कि मरियम्मन यहां की शक्ति है। तमिलनाडु में कांची कामाक्षी 'शक्ति' है, मदुरै में मीनाक्षी 'शक्ति' है। मोदी ने कहा कि हिंदू धर्म में, शक्ति का अर्थ मातृ शक्ति, नारी शक्ति है। कांग्रेस और द्रमुक वाले भारतीय गठबंधन का कहना है कि वे इसे नष्ट कर देंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि इंडी गठबंधन के लोग बार-बार जानबूझकर हिंदू धर्म का अपमान करते हैं। हिंदू धर्म के खिलाफ इनका हर बयान बहुत सोचा समझा हुआ होता है। उन्होंने कहा कि डीएमके और कांग्रेस का इंडी गठबंधन किसी अन्य धर्म का अपमान नहीं बनाता लेकिन हिंदू धर्म को गाली देने में ये एक सेकेंड नहीं लगाते।   प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार तमिलनाडु के विकास और समृद्धि को सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है। निःशुल्क चिकित्सा उपचार से लेकर घरों में नल के पानी के कनेक्शन प्रदान करने तक निःशुल्क राशन सुविधाओं से लेकर मुद्रा योजना के माध्यम से तमिलनाडु की महिलाओं को लाभान्वित करने तक, हमने सर्वोत्तम देना, सर्वोत्तम सेवा देना सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि भारत में स्थापित किये जा रहे रक्षा गलियारों में से एक तमिलनाडु में है। भाजपा सरकार देशभर में 7 मेगा टेक्सटाइल पार्क स्थापित कर रही है। विशेष रूप से, उनमें से एक तमिलनाडु में मौजूद है।   उन्होंने कहा कि मोदी, देश की नारीशक्ति की हर परेशानी के आगे ढाल बनकर खड़ा है। महिलाओं को धुआं मुक्त जीवन देने के लिए हमने उज्ज्वला एलपीजी गैस कनेक्शन दिए, हमने फ्री मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए आयुष्मान योजना शुरू की। इन सभी योजनाओं के केंद्र में नारीशक्ति ही है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। पतंजलि की दवा के भ्रामक प्रचार मामले में बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण मुश्किल में पड़ गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण अगली सुनवाई पर कोर्ट के सामने पेश हों। कोर्ट की अवमानना मामले में नोटिस का जवाब नहीं देने पर नाराज कोर्ट ने दोनों को व्यक्तिगत पेशी का आदेश दिया है। जस्टिस हीमा कोहली की अध्यक्षता वाली बेंच ने ये आदेश दिया। 27 फरवरी को कोर्ट ने अवमानना का नोटिस जारी कर तीन हफ्ते में जवाब मांगा था। कोर्ट ने कहा था कि इन तीन हफ्ते में पतंजलि अपनी दवाइयों का विज्ञापन नहीं करेगी। कोर्ट ने केंद्र सरकार को इस बात का हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया था कि उसने पतंजलि के भ्रामक विज्ञापन के खिलाफ क्या कार्रवाई की। सुनवाई के दौरान इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ओर से पेश वकील पीएस पटवालिया ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले आदेश में कहा था कि भ्रामक विज्ञापन हटाए लेकिन पतंजलि की ओर से आचार्य बालकृष्ण ने अगले ही दिन प्रेस कांफ्रेंस किया। पटवालिया ने कहा था कि पतंजलि अपना व्यापारिक प्रोपेगंडा करे लेकिन इस तरह के भ्रामक विज्ञापन न दे। पटवालिया ने एक विज्ञापन पढ़ते हुए कहा कि योगा की मदद से हमने शुगर और अस्थमा को पूरी तरह ठीक किया। सुनवाई के दौरान जस्टिस हीमा कोहली ने कहा था कि क्या आयुष मंत्रालय और एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड काउंसिल ऑफ इंडिया के बीच करार हुआ था, तब पटवालिया ने हामी भरी। जस्टिस कोहली ने आयुष मंत्रालय का पक्ष पूछा। तब आयुष मंत्रायल की ओर से एएसजी केएम नटराज ने कहा था कि ड्रग्स एंड मैजिक रिमेडीज एक्ट की धारा 8 के तहत हम कार्रवाई करते हैं लेकिन हम उसे लागू नहीं करा सकते। नटराज ने कहा था कि अगर कोई उल्लंघन हुआ है तो पतंजलि को उसका जवाब देना होगा। तब जस्टिस कोहली ने पूछा था कि आपने उन्हें क्या सलाह दी। आप राज्य सरकारों को कैसे सूचना देते हैं। जस्टिस अमानुल्लाह ने पूछा था कि आपने विज्ञापनों को देखकर क्या किया जिसमें सीधे-सीधे कानून का उल्लंघन दिख रहा है। पूरे देश को घुमाया जा रहा है। जब कानून कह रहा है कि ये उल्लंघन है तब भी आपने दो साल तक इंतजार किया। जस्टिस कोहली ने कहा था कि विज्ञापन में पूरे तरीके से ठीक होने की बात कहना भ्रामक है। याचिका इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने दायर की है। याचिका में बाबा रामदेव के कोरोना वैक्सीन और एलोपैथिक दवाइयों को लेकर दिए गए बयान पर नियंत्रण लगाने का दिशा-निर्देश जारी करने की मांग की गई है। आईएमए ने याचिका में कहा है कि आयुष कंपनियां भी अपने बयानों से आम जनता को भ्रमित कर रही हैं। वे कहती हैं कि डॉक्टर एलोपैथिक दवाइयां लेते हैं लेकिन उन्हें भी कोरोना ने अपना शिकार बनाया। आईएमए ने कहा कि इस तरह की भ्रामक बयानबाजी पर रोक लगाने की जरूरत है। आईएमए ने अपनी याचिका में केंद्र सरकार, एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया (एएससीआई), सेंट्रल कंज्युमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी (सीसीपीए) और पतंजलि आयुर्वेद के अलावा केंद्र सरकार और केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार मंत्रालय को ऐसे विज्ञापनों और बयानों पर रोक लगाने का दिशा-निर्देश जारी करने की मांग की गई है। उल्लेखनीय है कि बाबा रामदेव के एलोपैथिक पर दिए गए बयानों के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में भी याचिका दायर की गई है। हाई कोर्ट सुनवाई के दौरान बाबा रामदेव के बयानों पर आपत्ति जता चुका है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के अमल पर फिलहाल रोक नहीं लगेगी। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच ने 9 अप्रैल को अगली सुनवाई करने का आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि दोनों पक्ष 5-5 पन्ने का लिखित संक्षिप्त नोट जमा करवाएं। केंद्र सरकार 8 अप्रैल तक जवाब दे। सुनवाई के दौरान इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि अगर इस दौरान किसी को नागरिकता मिले तो हमें सुप्रीम कोर्ट में दोबारा आने की अनुमति मिले। तब चीफ जस्टिस ने कहा कि ठीक है। सुनवाई के दौरान कुछ याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश वकील इंदिरा जय सिंह ने इस पर रोक लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि इस मामले को बड़ी बेंच के सामने भेजा जाए। कोर्ट ने पूछा कि 238 याचिकाओं में से कितने मामले में हमने नोटिस जारी किया है। चीफ जस्टिस ने कहा कि जिन याचिकाओं पर नोटिस जारी नहीं हुआ है उन पर नोटिस जारी करेंगे। याचिकाकर्ता ने कहा कि ऐसे में नोटिफिकेशन के लागू होने पर रोक लगाई जानी चाहिए। इस पर केंद्र के नोटिफिकेशन पर रोक की मांग वाली याचिका पर जवाब देने का समय मांगा है, ऐसे में उन्हें समय देना चाहिए। चीफ जस्टिस ने कहा कि इस मामले से जुड़े असम से संबंधित मामले की सुनवाई हम अलग से कर सकते हैं। 16 मार्च को एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने नागरिकता संशोधन कानून के नोटिफिकेशन पर रोक लगाने की मांग करते हुए याचिका दायर की। 15 मार्च को इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) की ओर से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष मेंशन करते हुए कहा था कि यह मामला कोर्ट में है और सरकार ने इसे लागू कर दिया। उसके बाद कोर्ट ने इस याचिका पर 19 मार्च को सुनवाई का आदेश दिया। आईयूएमएल के अलावा एक याचिका डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया ने दायर की है। याचिका में नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने से रोकने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि धर्म के आधार पर अप्रवासियों को नागरिकता देने का कानून धर्मनिरपेक्षता के मौलिक सिद्धांत का उल्लंघन है। नागरिकता संशोधन कानून के जरिये पहली बार देश में धर्म के आधार पर अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के अवैध अप्रवासियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है। धर्म के आधार पर नागरिकता देना संविधान के अनुच्छेद 14 एवं 21 का उल्लंघन है। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने 11 मार्च को नागरिकता संशोधन कानून का नोटिफिकेशन जारी कर दिया। इसी नोटिफिकेशन को आईयूएमएल ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

Kolar News

Kolar News

जगतियाल/नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को तेलंगाना के जगतियाल में पार्टी की जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव की घोषणा के साथ दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का उत्सव प्रारंभ हो चुका है। 13 मई को तेलंगाना के लोग नया इतिहास रचने वाले हैं। तेलंगाना में होने वाला मतदान 'विकसित भारत' के लिए होगा और जब भारत विकसित होगा तो तेलंगाना भी विकसित होगा। इधर, तेलंगाना में भाजपा के लिए समर्थन लगातार बढ़ रहा है। जगतियाल में आज की रैली में भारी भीड़ इसका प्रमाण है।   उन्होंने कहा कि आज पूरे देश में 4 जून को 400 पार की गूंज है। तेलंगाना भी अबकी बार 400 पार कह रहा है। मोदी ने आह्वान करते हुए कहा कि विकसित भारत के लिए 400 पार। विकसित तेलंगाना के लिए 400 पार। भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए 400 पार।   इंडी गठबंधन के घोषणा पत्र में ‘शक्ति’ को लेकर टिप्पणी पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “इंडी गठबंधन के नेताओं ने शिवाजी पार्क से कहा कि इंडी अलायंस की लड़ाई शक्ति के साथ है। इंडी गठबंधन का घोषणापत्र शक्ति को लक्षित करता है, जो हर मां, बेटी और बहन का प्रतिनिधित्व करता है। मैं उन्हें शक्ति के रूप में सम्मान देता हूं और भारत माता की पूजा करता हूं। शक्ति को खत्म करने का उनका उद्देश्य एक चुनौती है जिसे मैं स्वीकार करता हूं। मैं आगे की लड़ाई के लिए तैयार हूं। इस पृथ्वी पर कोई भी शक्ति को नष्ट करने की बात कैसे कर सकता है जब हर कोई इसकी पूजा करता है?”   उन्होंने कहा कि एक ओर शक्ति के विनाश की बात करने वाले लोग हैं, दूसरी ओर शक्ति की पूजा करने वाले लोग हैं। मुकाबला 4 जून को हो जाएगा कि कौन शक्ति का विनाश कर सकता है और कौन शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त कर सकता है।     अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, “तेलंगाना गठन के पहले 10 वर्षों में, बीआरएस ने राज्य को जमकर लूटा। अब, कांग्रेस ने तेलंगाना को अपने एटीएम राज्य में बदल दिया है। तेलंगाना से लूटा गया पैसा दिल्ली पहुंचता है और वंशवादी परिवारों की तिजोरी में समा जाता है। फिर, इस पैसे का इस्तेमाल देश के भीतर झूठ और विभाजन की साजिशों को वित्तपोषित करने के लिए किया जाता है। उन्होंने कहा कि परिवार वादियों का पूरा इतिहास उठाकर देख लीजिये, देश में जितने भी बड़े घोटाले हुए हैं, उनके पीछे कोई न कोई परिवार वादी पार्टी ही मिलेगी।   प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “चाहे बीआरएस और कांग्रेस एक-दूसरे के लिए कितनी भी कवर फायर कर लें, इनकी एक-एक लूट का हिसाब होकर रहेगा। मोदी तेलंगाना के लोगों को लूटने वालों को छोड़ेगा नहीं। ये मोदी की गारंटी है।”   केंद्र के विकासात्मक प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारा दृष्टिकोण तेलंगाना के विकास के माध्यम से विकसित भारत का निर्माण करना है। पिछले 10 वर्षों की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि यह है कि हमने 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला है। हमने यह सुनिश्चित किया है कि हर योजना का लाभ ईमानदारी से लोगों तक पहुंचे। हमने देशभर में गरीब परिवारों के लिए 4 करोड़ से ज्यादा पीएम आवास बनाए हैं। हमने 12 करोड़ से अधिक घरों तक पाइपलाइन के माध्यम से नल के पानी की पहुंच प्रदान की है।   प्रधानमंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला कि तेलंगाना 2 जून को अपनी 10वीं वर्षगांठ मनाएगा। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि 4 जून के नतीजों के बाद बनी सरकार देश के भविष्य और तेलंगाना के अगले दशक दोनों को आकार देगी। इसलिए, अगले 5 साल तेलंगाना के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं।

Kolar News

Kolar News

हैदराबाद। तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सौंदर्यराजन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। तेलंगाना राजभवन के आधिकारिक बयान के अनुसार, तमिलिसाई सौंदर्यराजन ने तेलंगाना के राज्यपाल पद के साथ-साथ पुडुचेरी की उपराज्यपाल पद से भी इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को भेज दिया है। इसकी पुष्टि की गई कि राष्ट्रपति ने इस्तीफे को मंजूरी दे दी है। इस बीच तेलंगाना सरकार की ओर से मुख्य सचिव के शांता कुमारी हैदराबाद में राज्यपाल से मिलीं और उन्हें शुभकामनाएं दीं। साल 2019 में तमिलिसाई की तेलंगाना राज्यपाल के रूप में नियुक्ति हुई थी।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने इलेक्टोरल बांड मामले पर सुनवाई करते हुए स्टेट बैंक को आदेश दिया कि वह खरीदे गए और कैश कराए गए बांड नंबरों का पूरा ब्यौरा चुनाव आयोग को दे और चुनाव आयोग उसे प्रकाशित करे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि स्टेट बैंक के चेयरमैन 21 मार्च शाम 5 बजे तक इस आदेश के पालन की जानकारी देते हुए हलफनामा दाखिल करें।   कोर्ट ने कहा कि हमारे आदेश से ये स्पष्ट था कि स्टेट बैंक को सारी जानकारी उपलब्ध करानी थी। बांड नंबर भी उसमें शामिल था। कोर्ट ने स्टेट बैंक के चेयरमैन से कहा कि भविष्य में किसी विवाद की गुंजाइश को खत्म करने के लिए वो 21 मार्च 5 बजे तक कोर्ट में हलफनामा दायर कर साफ करें कि उनके पास उपलब्ध सारी जानकारी चुनाव आयोग को दे दी गई है। निर्वाचन आयोग स्टेट बैंक से जानकारी मिलते ही उसे तुरंत अपनी वेबसाइट पर डालेगा। उल्लेखनीय है कि 16 मार्च को सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री ने इलेक्टोरल बांड मामले में सीलबंद डाटा निर्वाचन आयोग को सौंप दिया था। इस डाटा में 2019 और नवंबर 2023 में दिए गए इलेक्टोरल बांड का डाटा है। सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय बेंच ने सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री को निर्देश दिया था कि वो 2019 और नवंबर 2023 के डाटा की कॉपी कर उसकी मूल प्रति निर्वाचन आयोग को सौंप दे।   15 मार्च को कोर्ट ने निर्वाचन आयोग की अर्जी पर सुनवाई करते हुए सवाल उठाया था कि स्टेट बैंक ने जो आंकड़े निर्वाचन आयोग को दिए हैं, उसमें बांड नंबर का उल्लेख नहीं किया गया है जबकि इसका साफ आदेश था। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान बेंच ने स्टेट बैंक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। सुप्रीम कोर्ट ने स्टेट बैंक को आदेश दिया था कि वो खरीदे गए बांड का डाटा और जमा करने वाले राजनीतिक दलों की तारीख, यूनिक न्यूमेरिक नंबर और धनराशि का ब्योरा दे। बांड नंबर जारी होने के बाद अब यह पता चल सकेगा कि किसने और किस पार्टी को कितना चंदा मिला। दरअसल, निर्वाचन आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि कोर्ट के 12 अप्रैल 2019 और 2 नवंबर 2023 के अंतरिम आदेश के मुताबिक कुछ आंकड़े सील कवर में सुप्रीम कोर्ट को सौंपे गए थे। 11 मार्च के आदेश में कोर्ट ने कहा था कि निर्वाचन आयोग उन आंकड़ों को संभाल कर रखेगा लेकिन वो आंकड़े कोर्ट में जमा हैं। ऐसे में या तो कोर्ट अपने 11 मार्च के आदेश में बदलाव करे या कोर्ट में जमा सील बंद लिफाफे को वापस चुनाव आयोग को लौटा दे। उल्लेखनीय है कि 14 मार्च को निर्वाचन आयोग ने स्टेट बैंक की ओर से दी गई इलेक्टोरल बांड की सूचना को अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने 11 मार्च को इलेक्टोरल बांड की जानकारी 30 जून तक बढ़ाने की स्टेट बैंक की याचिका को खारिज कर दिया था और स्टेट बैंक को 12 मार्च तक जानकारी देने का निर्देश दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचन आयोग को निर्देश दिया था कि ये सूचना 15 मार्च तक अपनी वेबसाइट पर अपलोड करे।

Kolar News

Kolar News

चंडीगढ़। पंजाब के होशियारपुर जिले के मुकेरियां कस्बे में रविवार को पुलिस की सीआईए टीम की बदमाशों के साथ हुई मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी बलिदान हो गया। अधिकारियों के मुताबिक सीआईए टीम के अमृतपाल सिंह की मुठभेड़ के दौरान छाती में गोली लगने से मौत हो गई। उन्होंने बताया कि सीआईए टीम को सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति गांव मनसूरपुर में ठहरा हुआ है जिनका नाम राणा मनसूरपुर है और उसके पास हथियार है। इसी सूचना के चलते सीआईए टीम ने गांव में छापेमारी की। दोनों तरफ से हुई फायरिंग में सीआईए के अमृतपाल सिंह को गाेली लग गई। उनको तुरंत नज़दीकी प्राइवेट अस्पताल में दाखिल करवाया गया, जहां डाक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया।

Kolar News

Kolar News

मुंबई। कांग्रेस नेता राहुल गांधी रविवार को मुंबई में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आवास मणि भवन से अगस्त क्रांति मैदान तक न्याय संकल्प पदयात्रा में शामिल हुए। इस मौके पर उनकी बहन एवं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी भी पदयात्रा में शामिल हुए।   आज शाम को राहुल गांधी दादर स्थित शिवाजी पार्क मैदान पर आम सभा को संबोधित करेंगे। इसमें तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, राजद नेता तेजस्वी यादव और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के भी हिस्सा लेने के आसार हैं। राहुल गांधी ने मुंबई के डॉ. बीआर अंबेडकर स्मारक चैत्यभूमि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर और संविधान की प्रस्तावना पढ़ कर मुंबई में अपनी 63 दिवसीय भारत जोड़ो न्याय यात्रा का समापन किया। यह यात्रा 14 जनवरी को मणिपुर से शुरू हुई थी। शनिवार को धारावी क्षेत्र में एक सार्वजनिक बैठक में राहुल गांधी ने जातिगत जनगणना के कांग्रेस के वादे को दोहराते हुए कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में लौटती है तो गरीब महिलाओं को उनके बैंक खातों में हर साल एक लाख रुपये मिलेंगे। राहुल गांधी ने कहा कि धारावी आपकी है और आपकी ही रहनी चाहिए। आपके कौशल का सम्मान किया जाना चाहिए और इस जगह को देश का विनिर्माण केंद्र बनना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि देश की संपत्ति कुछ कॉरपोरेट्स को दी जा रही है। धारावी वास्तविक अर्थों में 'मेक इन इंडिया' है और इसे भारत का विनिर्माण केंद्र बनाया जाना चाहिए।

Kolar News

Kolar News

अहमदाबाद। गुजरात यूनिवर्सिटी में शनिवार देर रात विद्यार्थियों के साथ मारपीट मामले की जांच के लिए पुलिस आयुक्त जी एस मलिक ने 5 पुलिस उपाधीक्षक और 4 क्राइम ब्रांच के पुलिस अधिकारियों की टीम बनाई है। मामले में अब तक एक आरोपित की पहचान कर ली गई है। घटना गुजरात यूनिवर्सिटी में शनिवार देर रात हुई थी। मारपीट में एक अफगानी छात्र घायल हुआ है। जानकारी के अनुसार शनिवार देर रात गुजरात यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे अफगानिस्तान विद्यार्थी समेत अन्य विद्यार्थियों पर बाहर से आए 20 से 25 लोगों ने हमला कर दिया। हॉस्टल के अंदर जाकर विद्यार्थियों के साथ मारपीट की गई। जानकारी के अनुसार यह सभी छात्र रमजान को लेकर हॉस्टल के बाहर नमाज पढ़ रहे थे, इसी विवाद में इनके साथ मारपीट गई। हमला करने वालों ने बाइक समेत अन्य सामानों पर भी डंडे बरसाए। बाद में यूनिवर्सिटी पुलिस ने मौके पर आकर सभी को खदेड़ दिया। घटना की जानकारी मिलने पर गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी और पुलिस आयुक्त जी एस मलिक ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है। घटना का वीडियो भी वायरल हुआ है। वहीं घायल छात्र को देखने शहर पुलिस आयुक्त समेत विधायक कौशिक जैन, कुलपति नीरज गुप्ता आदि एसपीवी हॉस्पिटल पहुंचे हैं। 9 वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मामले की करेंगे जांच : आयुक्त घटना को लेकर पुलिस आयुक्त जी एस मलिक ने कहा कि शनिवार देर रात 20 से 25 लोगों का टोला गुजरात यूनिवर्सिटी के हॉस्टल के ए ब्लॉक में पहुंचा था। रमजान का महीना होने के कारण कई विद्यार्थी यहां नमाज पढ़ रहे थे। नमाज पढ़ने के स्थल को लेकर विवाद हुआ, नोंक झोंक के बाद हाथापाई और बाद में तोड़फोड़ की गई। घटना को लेकर देर रात ही गुजरात यूनिवर्सिटी थाने में 20 से 25 लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। 5 डीसीपी और 4 क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम बनाई गई है, जो घटना की जांच करेगी। हमला करने वाले एक व्यक्ति की पहचान की गई है। जल्द ही आरोपितों को पकड़ लिया जाएगा। यह था घटनाक्रम रात 10.30 बजे गुजरात यूनिवर्सिटी के हॉस्टल के ए ब्लॉक में 20 से 25 लोगों की भीड़ घुस गई और छात्रों के साथ मारपीट करने लगी। घटना की शिकायत पुलिस कंट्रोल रूम में रात 10.51 बजे की गई। इसके बाद 10.56 बजे पुलिस यूनिवर्सिटी पहुंच गई। 11.26 बजे यूनिवर्सिटी थाने के पीआई भी घटनास्थल पर पहुंच गए। घटना की गंभीरता को देखते हुए गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने रविवार सुबह 10 बजे बैठक की। आईबी के प्रमुख आर बी ब्रह्मभट्ट भी सर्किट हाउस पहुंचे। बाद में डीजीपी विकास सहाय और गृह राज्य मंत्री भी सर्किट हाउस पहुंचे। सुबह 11 बजे तक पुलिस और जांच एजेंसियों के आला अधिकारी के साथ गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने बैठक कर कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया। वहीं घटना को लेकर रविवार सुबह एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अपने एक्स अकाउंट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह को टैग करके पूछा, क्या वे कड़ा संदेश भेजने के लिए हस्तक्षेप करेंगे?

Kolar News

Kolar News

मुंबई। समाज सेवक अन्ना हजारे ने शिखर बैंक घोटाले में महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार को मुंबई पुलिस की ओर से क्लीन चिट दिए जाने का विरोध किया है। अन्ना हजारे की ओर से वकील सतीश तलेकर ने कोर्ट में क्लीन चिट का विरोध किया। कोर्ट ने मामले की सुनवाई 20 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया है। शिखर बैंक घोटाला मामले की क्लोजर रिपोर्ट का विरोध अन्ना हजारे के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री बसंत दादा पाटिल की पत्नी शालिनी ताई पाटिल और माणिकराव जाधव ने भी किया है।   महाराष्ट्र पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने 25 हजार करोड़ रुपये के शिखर बैंक घोटाले के मद्देनजर एक अतिरिक्त क्लोजर रिपोर्ट स्पेशल कोर्ट में पेश की है। इस मामले की सुनवाई स्पेशल कोर्ट के जज राहुल रोकड़े के समक्ष हो रही है। पिछली सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के वकीलों ने पुलिस की क्लोजर रिपोर्ट का कड़ा विरोध किया था और मामले में हस्तक्षेप की इजाजत मांगी थी। तदनुसार कोर्ट ने ईडी को अपनी स्थिति स्पष्ट करने का अवसर दिया था। हालांकि आज ईडी के वकील क्लोजर रिपोर्ट के खिलाफ बहस करने कोर्ट नहीं पहुंचे, लेकिन आज वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे, शालिनी पाटिल और माणिकराव जाधव ने क्लोजर रिपोर्ट के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया। तीनों की ओर से वरिष्ठ वकील सतीश तलेकर स्पेशल कोर्ट में पेश हुए और कहा कि कोर्ट को मूल शिकायतकर्ता सुरेंद्र अरोड़ा के साथ हमारी भी बात सुननी चाहिए। इसके बाद कोर्ट ने तीनों की दलीलें सुनने के लिए मामले की सुनवाई 20 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दी।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने शनिवार को लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों की घोषणा कर दी है। इस बार चुनाव 19 अप्रैल से 1 जून के बीच सात चरणों में होंगे और 4 जून को वोटों की गिनती होगी।   मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 18वीं लोकसभा के गठन के लिए चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही देश में आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है।   मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2024 में 96.8 करोड़ मतदाता होंगे जबकि 2019 में 90 करोड़ मतदाता थे। इनमें से 49.7 करोड़ पुरुष और 47.1 करोड़ महिलाएं हैं। इस बार 1.8 करोड़ पहली बार के नए मतदाता हैं जोकि 18 से 19 वर्ष के हैं। उन्होंने कहा कि हम 1.5 करोड़ मतदान अधिकारियों और 10.5 लाख मतदान केंद्रों के साथ लोकतंत्र का जश्न मनाने के लिए तैयार हैं। चुनाव में 55 लाख से अधिक ईवीएम का उपयोग किया जाएगा। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को प्रचार के दौरान मर्यादा बनाए रखने और दुर्व्यवहार तथा व्यक्तिगत हमलों से बचने की सलाह दी है। राजीव कुमार ने कहा कि चुनावी प्रक्रिया में बाहुबल के अलोकतांत्रिक प्रभाव को रोकने के लिए कई उपाय किये हैं। सभी उम्मीदवारों को समान अवसर सुनिश्चित करने के लिए डीएम और एसपी को सख्त निर्देश दिए गए हैं। सीएपीएफ को पर्याप्त रूप से तैनात किया जाएगा और प्रत्येक जिले में एकीकृत नियंत्रण कक्षों द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी। निगरानी सुनिश्चित करने के लिए चेक पोस्ट और ड्रोन का इस्तेमाल होगा।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों की घोषणा पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भाजपा-एनडीए चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि हम सुशासन और जनसेवा के अपने ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर जनता-जनार्दन के बीच जाएंगे।   प्रधानमंत्री ने सोशल मीडिया प्लटेफार्म एक्स के माध्यम से कहा कि लोकतंत्र के सबसे बड़े महापर्व का शुभारंभ हो गया है। चुनाव आयोग ने 2024 के लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है। भाजपा-एनडीए इन चुनावों में उतरने के लिए पूरी तरह से तैयार है। सुशासन और जनसेवा के अपने ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर हम जनता-जनार्दन के बीच जाएंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि 140 करोड़ परिवारजनों और 96 करोड़ से अधिक मतदाताओं का भरपूर स्नेह और आशीर्वाद हमें लगातार तीसरी बार मिलेगा।   उन्होंने कहा कि मैं यह साफ तौर पर देख रहा हूं कि आने वाले 5 वर्ष हमारे उस सामूहिक संकल्प का कालखंड होगा, जिसमें हम भारत की अगले एक हजार वर्ष की विकास यात्रा का रोडमैप तैयार करेंगे। ये समय भारत के सर्वांगीण विकास, समावेशी समृद्धि और वैश्विक नेतृत्व का साक्षी बनेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे मेरे देशवासियों के, विशेष रूप से गरीब, किसान, युवा और नारीशक्ति के आशीर्वाद से असीम शक्ति मिलती है। जब मेरे देशवासी ये कहते हैं, “मैं हूं मोदी का परिवार” तो इससे मुझे विकसित भारत के निर्माण के लिए और अधिक मेहनत करने का उत्साह मिलता है। हम विकसित भारत के लिए सामूहिक प्रयास करेंगे और ये लक्ष्य हासिल करके रहेंगे। यही समय है, सही समय है।

Kolar News

Kolar News

कन्याकुमारी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को यहां कहा कि डीएमके तमिलनाडु के भविष्य की ही दुश्मन नहीं है, वह तमिलनाडु के अतीत और विरासत की भी दुश्मन है। उन्होंने कहा, "मैं अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले यहां आया था। मैंने यहां के प्राचीन तीर्थों के दर्शन किए थे, लेकिन डीएमके ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह को देखने तक पर रोक लगाने का प्रयास किया। सुप्रीम कोर्ट को तमिलनाडु सरकार को कड़ी फटकार लगानी पड़ी थी।" प्रधानमंत्री ने भाजपा की विशाल जनसभा में कहा, "जब दिल्ली में संसद की नई इमारत बनी तो तमिल संस्कृति के प्रतीक, इस धरती के आशीर्वाद स्वरूप पवित्र सेंगोल को हमने नए भवन में स्थापित किया, लेकिन इन लोगों ने इसका भी बॉयकॉट किया, उन्हें सेंगोल की स्थापना पसंद नहीं आई। डीएमके और कांग्रेस तब भी चुप बैठी रही, जब जल्लीकट्टू पर पाबंदी लगी थी। ये लोग तमिल संस्कृति को नष्ट करना चाहते हैं। ये हमारी सरकार है। एनडीए की सरकार है। हमारी सरकार ने जल्लीकट्टू को पूरे उत्साह के साथ मनाए जाने का रास्ता साफ किया। जल्लीकट्टू तमिलनाडु का गौरव है।"   उन्होंने कहा कि सरकार तमिलनाडु के बंदरगाह बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए काम कर रही है। मैंने हाल ही में थूथुकुडी में चिदंबरनार बंदरगाह का उद्घाटन किया है। सरकार मछुआरों के कल्याण के लिए भी काम कर रही है। उन्हें आधुनिक मछली पकड़ने वाली नौकाओं के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने से लेकर किसान क्रेडिट कार्ड योजना के दायरे में लाया गया है।   प्रधानमंत्री ने कहा कि कन्याकुमारी ने हमेशा भाजपा को भरपूर प्यार दिया है। इसलिए यहां का सत्तारूढ़ डीएमके-कांग्रेस गठबंधन कन्याकुमारी के लोगों को सजा देने का कोई मौका नहीं छोड़ता। 20 साल पहले अटल जी ने नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर की नींव रखी थी। इस कॉरिडोर के कन्याकुमारी-नारिक्कुलम ब्रिज का काम इन लोगों ने वर्षों तक लटका कर रखा। 2014 में जब भाजपा सरकार आई तब उसे पूरा किया गया।   उन्होंने कहा कि डीएमके और कांग्रेस का इंडी गठबंधन कभी भी तमिलनाडु को विकसित नहीं बना सकता। इन लोगों का इतिहास घोटालों का है। इनकी राजनीति का आधार लोगों को लूटने के लिए सत्ता में आना है। इंडी गठबंधन को लोग तमिलनाडु के लोगों के जीवन से खिलवाड़ के भी गुनहगार हैं। श्रीलंका में हमारे मछुआरे भाइयों को फांसी की सजा सुनाई गई, ये मोदी चुप नहीं बैठा। हर रास्ते का इस्तेमाल किया और हर प्रकार का दबाव बनाया और उन सभी मछुआरों को श्रीलंका से फांसी के फंदे से उतारकर वापस लाया गया।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। चुनाव आयोग कल (शनिवार) यहां देश में होने वाले आम चुनाव की घोषणा करेगा। आयोग इसके साथ ही राज्य विधानसभाओं के चुनाव कार्यक्रम की भी घोषणा करेगा। इसके साथ ही देशभर में आचार संहिता लागू हो जाएगी।   आयोग ने इस संबंध में प्रेसवार्ता आयोजित की है। कल दोपहर विज्ञान सभा में आयोग चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर सकता है। इसके अलावा आयोग आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम के कार्यक्रम की भी घोषणा करेगा। इस बात की भी संभावना जताई जा रही है कि आयोग जम्मू-कश्मीर में भी चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर सकता है। उल्लेखनीय है कि वर्तमान लोकसभा का कार्यकाल 16 जून को समाप्त हो रहा है। वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव की घोषणा 10 मार्च को की गई थी और 11 अप्रैल से 19 मई के बीच सात चरणों में मतदान हुआ था। आज सुबह नवनियुक्त चुनाव आयुक्त सुखबीर सिंह संधु और ज्ञानेश कुमार ने पदभार संभाल लिया ।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता वाली समिति ने कल दोनों के नामों को मंजूरी प्रदान की थी। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने निर्वाचन सदन में नवनियुक्त चुनाव आयुक्तों का स्वागत किया। उन्होंने इस ऐतिहासिक क्षण में उनके शामिल होने के महत्व को रेखांकित किया जब टीम ईसीआई दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में 2024 के आम चुनाव कराने के लिए पूरी तरह तैयार है। तीन सदस्यीय चुनाव आयोग अब पूर्ण हो गया है। इससे पहले आयोग के दो पद रिक्त थे। चुनाव आयुक्त अनूप चन्द्र पांडे का पिछले महीने कार्यकाल समाप्त हो गया था और अरुण गोयल ने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। गिरने से गंभीर रूप से घायल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हालत स्थिर है। उनके माथे पर कट लगने से काफी रक्तस्राव हुआ है। गुरुवार रात एसएसकेएम अस्पताल में उनका इलाज हुआ। इसके बाद वह घर लौट आईं। आज वह फिर अस्पताल जाएंगी, जहां चिकित्सक दोबारा देखेंगे। उन्हें कैसे चोट लगी, इस बारे में आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं बताया जा रहा है।   एसएसकेएम के निदेशक मनिमॉय बनर्जी का कहना है कि मुख्यमंत्री के माथे पर तीन और नाक पर एक टांका लगा है। पीछे से धक्का लगने के कारण गिरीं मुख्यमंत्री को शाम करीब साढ़े सात बजे अस्पताल लाया गया। उनके मस्तिष्क में चोट आई है। माथे पर गहरा घाव है। घाव से काफी खून भी निकला है। उन्होंने बताया कि न्यूरोसर्जरी विभाग, मेडिसिन और कार्डियोलॉजी विभाग के प्रमुख ने मुख्यमंत्री को देखा है। घाव पर ड्रेसिंग की गई है। ईसीजी, सीटी स्कैन समेत कई शारीरिक परीक्षण किए गए हैं। उन्हें रातभर अस्पताल में रुकने की सलाह दी गई लेकिन वह घर वापस जाना चाहती थीं।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को डिजिटल कंटेंट तैयार करने वालों से एक साथ मिलकर एक ‘क्रिएट ऑन इंडिया मूवमेंट’ की शुरुआत करने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने उनसे इसके माध्यम से भारत से जुड़ी कहानियों, संस्कृति और भारत की परंपरा तथा विरासत को पूरी दुनिया से साझा करने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री मोदी ने आज नई दिल्ली के भारत मंडपम में पहले राष्ट्रीय रचनाकार पुरस्कार प्रदान किए। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया। मोदी ने यूट्यूब व अन्य माध्यमों से डिजिटल जानकारी और सामग्री देने वालों से युवाओं को ड्रग्स के प्रति जागरूक करने और इसके सेवन से होने वाले नुकसान समझाने की भी अपील की। साथ ही उन्होंने महिला दिवस पर नारी शक्ति को उनके कंटेंट का हिस्सा बनाने की भी अपील की। प्रधानमंत्री ने इन पुरस्कारों को आगे भी जारी रखने का आश्वासन दिया और कहा कि अगली शिवरात्रि पर भी ऐसा कार्यक्रम करेंगे। उन्होंने कहा कि शिव भाषा, कला और क्रिएटिविटी के जनक माने गए हैं। उन्होंने देशवासियों को महाशिवरात्रि की बहुत बहुत शुभकामनाएं दीं। नए युग के साथ कदम से कदम मिलाने की आवश्यकता पर बल देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कंटेंट क्रिएटर्स के चलते ही सरकार को इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि नीतिगत निर्णय या अभियान का समाज पर कितना व्यापक प्रभाव हो सकता है। इसका अहसास आप सभी को देखकर हो सकता है। पिछले 10 वर्षों में, मजबूत होती डेटा क्रांति और सस्ते मोबाइल फोन ने कंटेंट क्रिएटर्स के लिए एक नई दुनिया बनाई है। पुरस्कारों के विषय में प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में ये पुरस्कार बहुत महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध होने वाले हैं। ये पुरस्कार इस नये युग को ऊर्जा दे रहे हैं। कंटेंट क्रिएटर्स के लिए एक बड़ी प्रेरणा बनेंगे। उन्होंने कहा, “आज भारत मंडपम में देश अपने उस दायित्व को पूरा कर रहा है। नेशनल क्रिएटर्स अवॉर्ड का आयोजन नए दौर को समय से पहले पहचान देने का आयोजन है। जब सामग्री और रचनात्मकता सहयोग करते हैं तो जुड़ाव बढ़ता है। जब सामग्री डिजिटल के साथ जुड़ती है तो परिवर्तन आता है। जब सामग्री उद्देश्य के साथ मिलती है तो प्रभाव देखा जा सकता है।” पहले 'नेशनल क्रिएटर्स अवॉर्ड' में प्रधान मंत्री ने कहा, "आपका कंटेंट आज पूरे भारत में जबरदस्त प्रभाव पैदा कर रहा है। एक तरह से आप इंटरनेट के एमवीपी हैं। जब मैं आपको एमवीपी कहता हूं, तो इसका मतलब है कि आप इंटरनेट के सबसे मूल्यवान व्यक्ति एमवीपी बन गए हैं।" प्रधानमंत्री ने इस मौके पर पहले राष्ट्रीय क्रिएटर्स पुरस्कार में गेमिंग श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ क्रिएटर का पुरस्कार निश्चय को, सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य और फिटनेस क्रिएटर पुरस्कार अंकित बैयानपुरिया को, डिसरप्टर ऑफ द ईयर पुरस्कार रणवीर अल्लाहबादिया (बीयरबाइसेप्स) को, सांस्कृतिक राजदूत का पुरस्कार मैथिली ठाकुर को और आरजे रौनक (बउआ) को सबसे रचनात्मक रचनाकार-पुरुष पुरस्कार प्रदान किया। अमन गुप्ता को वर्ष के सेलिब्रिटी निर्माता का पुरस्कार प्रदान किया। पहले राष्ट्रीय रचनाकार पुरस्कार में प्रधान मंत्री मोदी ने भारत मंडपम में कामिया जानी को पसंदीदा यात्रा निर्माता पुरस्कार प्रदान किया। कीर्तिका गोविंदासामी को सर्वश्रेष्ठ कहानीकार का पुरस्कार प्रदान किया।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आधी आबादी को बड़ा तोहफा दिया है। इसकी खुशी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने एक्स हैंडल पर साझा की है।   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक्स हैंडल पर शुक्रवार को लिखा, ''महिला दिवस के अवसर पर आज हमने एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 100 रुपये की छूट का बड़ा फैसला किया है। इससे नारी शक्ति का जीवन आसान होने के साथ ही करोड़ों परिवारों का आर्थिक बोझ भी कम होगा। यह कदम पर्यावरण संरक्षण में भी मददगार बनेगा। इससे पूरे परिवार का स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा।''

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने गुरुवार को अपने कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (डीए) और पेंशनभोगियों के महंगाई राहत (डीआर) में एक जनवरी से चार प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। अब यह मूल वेतन का 50 प्रतिशत हो गया है।     प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की। बैठक के बाद केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इससे 49.18 लाख कर्मचारियों और 67.95 लाख पेंशनभोगियों को फायदा मिलेगा। इससे सरकारी खजाने पर प्रति वर्ष 12,868.72 करोड़ रुपये का भार पड़ेगा।

Kolar News

Kolar News

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू कश्मीर के श्रीनगर से पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन और प्रसाद योजना के अंतर्गत नौ परियोजनाओं का वर्चुअल लोकार्पण किया। इसमें मध्यप्रदेश में 118 करोड़ 72 लाख की कुल लागत की स्वदेश दर्शन 2.0 में ग्वालियर और चित्रकूट एवं प्रसाद योजना में अमरकंटक और पीतांबरा पीठ मंदिर दतिया का विकास कार्य शामिल है। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव कार्यक्रम में चित्रकूट से शामिल हुए। उन्होंने चित्रकूट के समन्वित विकास और उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश के नगरीय निकाय, ग्राम पंचायत क्षेत्र में समन्वय स्थापित कर चित्रकूट के समग्र विकास के लिए चित्रकूट विकास प्राधिकरण के गठन की घोषणा की।     प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि स्वदेश दर्शन के तहत आज छह परियोजनाएं देश को समर्पित की गई। इसके साथ ही स्वदेश दर्शन 2.0 का शुभारंभ और जम्मू कश्मीर सहित देश के अन्य स्थलों की 30 परियोजनाओं की शुरुआत की गई है। इसी तरह प्रसाद योजना में तीन परियोजनाओं का लोकार्पण हुआ है। सरकार ने 40 से ज्यादा स्थलों की पहचान की है, जिन्हें अगले दो वर्षों में पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।   उन्होंने कहा कि जन भागीदारी से पर्यटन स्थलों का चयन और विकास किया जाएगा। इसके लिए "देखो अपना देश-पीपुल्स चॉइस अभियान" लॉन्च किया गया है। पीपुल्स चॉइस में अग्रणी सूची में आने वाले स्थलों का पर्यटन स्थलों के रूप में विकास किया जाएगा।     प्रधानमंत्री ने प्रवासी भारतीयों से आग्रह करते हुए कहा कि आप सभी का दायित्व है कि विदेश में रहने वाले कम से कम 5 परिवारों को भारत आने के लिए आमंत्रित करें। इसके लिए "चलो इंडिया अभियान" शुरू हो रहा है। इस अभियान में वेबसाइट से प्रवासी भारतीयों और अन्य नागरिकों को भारत आने के लिए प्रेरित किया जाएगा।     उन्होंने देश में भ्रमण करने वाले पर्यटकों से आग्रह किया कि अपनी यात्रा के बजट में से कम से कम 5 प्रतिशत राशि से स्थानीय बाजार से वस्तुएं खरीदे। आपके इस योगदान से उस क्षेत्र में पर्यटन उद्योगों का विकास होगा। साथ ही रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

Kolar News

Kolar News

भोपाल। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि सरकार की मोनोपोली की वजह से छोटे व्यापार बंद हो गए हैं। नोटबंदी, जीएसटी की वजह से भी आपका नुकसान हुआ है एवं अरबपतियों का फायदा हुआ है। इस सब को बदलना है। इसका तरीका है जाति आधारित जनगणना। अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ों का धन पर एवं संस्थानों पर कितना प्रतिनिधित्व है, इसकी जानकारी हासिल करना। हरित क्रांति, श्वेत क्रांति जितना बड़ा कदम है, जाति आधारित जनगणना और सरकार में आते ही हम इसे कराएंगे। राहुल गांधी बुधवार को मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान विभिन्न जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेरे पास एक वीडियो आया, जिसमें एक आदिवासी समाज के व्यक्ति पर एक नेता पेशाब कर रहा था। क्या यही सम्मान है भाजपा का आदिवासियों के प्रति। इस मानसिकता के लोग आदिवासियों को आदिवासी के बजाय वनवासी कहते हैं, क्योंकि वे यदि आदिवासी कहेंगे तो उन्हें मानना पड़ेगा कि आदिवासी इस देश के असली मालिक हैं और भाजपा यह मानना नहीं चाहती। देशभर में आज आदिवासियों की आबादी आठ प्रतिशत है एवं मध्य प्रदेश में 22 से 24 प्रतिशत, लेकिन हिंदुस्तान की सबसे बड़ी कंपनी के 200 मालिकों में एक भी नाम आदिवासी का नहीं, मीडिया मालिकों में एक भी नाम आदिवासी का नहीं। इतना ही नहीं 90 आईएएस अधिकारियों में केवल एक आदिवासी। प्राइवेट यूनिवर्सिटी प्राइवेट हॉस्पिटल इन सबमें इनका कोई मालिक नहीं, वही स्थिति दलितों के साथ है, यही स्थिति पिछड़ों के साथ एवं सामान्य वर्ग के गरीबों के साथ भी है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश को आवश्यकता है कि सभी एक साथ आए और इस बात का संकल्प लें कि हमारे जल, जंगल और जमीन का कब्जा हम नहीं होने देंगे एवं हम हमारी जमीन नहीं बेचने देंगे। भाजपा सरकार ने तीन लाख से अधिक वन अधिकार पट्टे खारिज किए। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता दलितों के घर में खाना खाने की नौटंकी करते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि जब तक दलित आदिवासी वर्ग की स्थिति बेहतर नहीं हो सकती, इसलिए जाति जनगणना आवश्यक है। इससे सबको मालूम होगा कि किस जाति के पास कितना प्रतिनिधित्व है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने महंगाई, बेरोजगारी एवं अन्य बातों पर झूठ बोला, ऐसा लगता है कि अब वे झूठों के सरदार बन गए हैं। अभी सुप्रीम कोर्ट ने इलेक्टरल बान्ड्स पर बैंक से कहा है कि नाम सार्वजनिक करें, परंतु बैंक ने कहा कि जून के बाद खुलासा होगा, ये है मोदी सरकार। राहुल गांधी ने जो गारंटी दी है उसमें से सभी पांच गारंटी हमने कर्नाटक में लागू की है एवं 6 गारंटी हमने तेलंगाना में लागू की हैं, केंद्र में भी सरकार बनने पर एसपी अन्य गारंटी लागू की जाएंगी। सभाओं को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी, मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार और युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में कांग्रेस महासचिव द्वय केसी वेणुगोपाल और जयराम रमेश, मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, कांग्रेस सचिव संजय दत्त, कुलदीप इंदौरा, सीपी मित्तल, यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास, पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया, अरुण यादव, पूर्व मंत्रीगण, विधायकगण, पूर्व विधायकगण, प्रदेश एवं जिला कांग्रेस पदाधिकारी, कांग्रेसजन मौजूद रहे। राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का बुधवार को मध्य प्रदेश में पांचवां दिन था। सुबह उज्जैन के इंगोरिया से शुरू हुई न्याय यात्रा के देर शाम रतलाम जिले के सैलाना पहुंची, जहां रात्रि विश्राम होगा। राहुल गांधी ने न्याय यात्रा के दौरान बड़नगर, बदनरावर, सैलाना और रतलाम में आयोजित सभाओं में कांग्रेसजनों को संबोधित किया। सैलाना में रात्रि विश्राम के बाद न्याय यात्रा गुरुवार को राजस्थान में प्रवेश करेगी।

Kolar News

Kolar News

रायबरेली। प्रियंका गांधी को लेकर रायबरेली में पोस्टर व होर्डिंग्स लगाने की होड़ मची हुई है। कुछ दिनों से पूरे शहर भर में इस तरह के पोस्टर लगाए जा रहे हैं, जिसमें प्रियंका गांधी से यहां चुनाव लड़ने का आग्रह किया जा रहा है। अब 'रायबरेली पुकारती प्रियंका गांधी' लिखी यह होर्डिंग्स शहर भर में लगाई गई है। प्रियंका गांधी वाड्रा के समर्थकों ने जो पोस्टर व होर्डिंग्स लगाए गए हैं, उनमें लिखा है- 'कांग्रेस के विकास कार्यों को आगे बढ़ाएं, रायबरेली पुकारती है, प्रियंका गांधी जी आइए'। इन पोस्टरों में प्रियंका गांधी के साथ-साथ सोनिया गांधी, पूर्व पीएम इंदिरा गांधी, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद की तस्वीरें हैं। उल्लेखनीय है कि इस सीट पर गांधी परिवार का कब्जा रहा है। इस सीट का प्रतिनिधित्व पहले पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी करती थीं। जिसके बाद बीस साल तक सोनिया गांधी इस सीट का प्रतिनिधित्व करती रहीं। लेकिन अब वह राज्यसभा सदस्य बन गई हैं। ऐसे में अब कांग्रेस पार्टी यहां से सोनिया गांधी की जगह प्रियंका गांधी को कमान सौंपना चाहती है। रायबरेली सीट पर कांग्रेस ने 2014 और 2019 में मोदी-बीजेपी की लहर के बाद भी जीत हासिल की। 2019 में बीजेपी ने इस सीट पर दिनेश प्रताप सिंह को मैदान में उतारा था। तब सोनिया गांधी ने उन्हें करीब 1 लाख 67 हजार वोटों से हराया था।

Kolar News

Kolar News

जौनपुर। एमपी-एमएलए कोर्ट ने बुधवार को पूर्व बाहुबली सांसद धनंजय सिंह और उनके साथी संतोष विक्रम सिंह को सात-सात साल की सजा सुनाई है। साथ ही दोनों को 75-75 हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। लाइन बाजार थाना में 10 मई 2020 को नमामि गंगे परियोजना के तहत जनपद में चल रहे कार्य के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के अपहरण व रंगदारी के मामले में पूर्व सांसद धनंजय सिंह व संतोष विक्रम को लेकर अपर सत्र न्यायाधीश शरद त्रिपाठी ने मंगलवार को दोषी करार देते हुए फैसला सुरक्षित कर लिया था। बुधवार को न्यायाधीश ने गवाहों और तमाम साक्ष्यों के आधार पर पूर्व सांसद धनंजय सिंह को सात की सजा सुनाई है। इसके अलावा पूर्व सांसद के साथी संतोष विक्रम सिंह को भी सात वर्ष की सजा और 75 हजार जुर्माना लगा है। इस मामले में जानकारी देते हुए शासकीय अधिवक्ता सतीश कुमार पांडेय ने बताया कि तीन अलग-अलग धाराओं में अलग-अलग सजा सुनाई गयी है। एक मामले में पांच वर्ष तथा दो अन्य मामलों में एक- एक वर्ष की सजा सुनाई है। सजा सुनाये जाने के बाद पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया। इस मामले में धनंजय सिंह ने पत्रकारों से कहा है कि उन्हें एमपी-एमएलए कोर्ट से सजा हुई है। अब हम हाइकोर्ट में अपील करेंगे और उन्हें जरूर न्याय मिलेगा। न्यायालय पर भरोसा है। धनंजय सिंह के अधिवक्ता राहुल तिवारी ने कहा कि नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल द्वारा उनके मुवक्किल के ऊपर रंगदारी अपहरण जैसे मामले में केस दर्ज कराया था। हालांकि बाद में सारे गवाह और खुद वादी भी इससे मुकर गया था। इस मामले में बुधवार को पूर्व सांसद को सात वर्ष का कारावास एवं 75 हजार जुर्माने की सजा हुई है। 10 दिनों के अंदर उच्च न्यायालय में अपील करेंगे।

Kolar News

Kolar News

बेतिया/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को बिहार के बेतिया में विपक्षी इंडी गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि भ्रष्टाचारियों से भरे इंडी गठबंधन का सबसे बड़ा मुद्दा मोदी का परिवार नहीं होना है। उन्होंने कहा कि आज भारत रत्न कर्पूरी ठाकुर होते तो परिवारवाद के कट्टर समर्थक उनसे भी यही सवाल पूछते, जो मुझसे पूछ रहे हैं। वीपी सिंह, राममनोहर लोहिया, बीआर आंबेडकर से भी यही पूछते। इन्होंने भी परिवारवाद को बढ़ावा नहीं दिया।     प्रधानमंत्री बिहार के बेतिया में 12,800 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं की सौगात देने के बाद ‘विकसित भारत - विकसित बिहार’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। विपक्षी इंडी गठबंधन पर कटाक्ष करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि एक तरफ नया भारत बन रहा है, वहीं दूसरी तरफ राजद, कांग्रेस और इनका इंडी गठबंधन अभी भी 20वीं सदी की दुनिया में जी रहा है। एनडीए की सरकार कह रही है कि हम हर घर को सूर्यघर बनाना चाहते हैं। इंडी गठबंधन अभी भी लालटेन की लौ के ही भरोसे है। उन्होंने कहा कि जब तक बिहार में लालटेन का राज रहा, तब तक सिर्फ एक ही परिवार की गरीबी मिटी, एक ही परिवार समृद्ध हुआ। प्रधानमंत्री ने कहा, “आज जब मोदी ये सच्चाई बताता है, तो ये मोदी को गाली देते हैं। भ्रष्टाचारियों से भरे इंडी गठबंधन का सबसे बड़ा मुद्दा है कि मोदी का परिवार नहीं है।” मोदी ने कहा कि ये लोग कहते हैं कि उनके परिवारों को लूटने का लाइसेंस मिलना चाहिए। आज भारत रत्न कर्पूरी ठाकुर होते तो उनसे भी यही सवाल पूछते जो मुझसे पूछ रहे हैं। परिवारवाद के कट्टर समर्थक आज वीपी सिंह, राममनोहर लोहिया, बीआर आंबेडकर से भी यही पूछते। इन्होंने भी परिवारवाद को बढ़ावा नहीं दिया।   उन्होंने कहा कि बेतिया में मां सीता और लवकुश की अनुभूति है। इंडी गठबंधन के लोग जिस तरह राम और राम मंदिर के खिलाफ बातें बोल रहे हैं वो बिहार के लोग देख रहे हैं। यही परिवारवादी हैं, जिन्होंने दशकों तक रामलला को टेंट में रखा और राम मंदिर न बने, इसकी जी तोड़ कोशिश की। आज भारत अपनी विरासत और अपनी संस्कृति का सम्मान कर रहा है तो इन लोगों को इसमें भी परेशानी हो रही है।   प्रधानमंत्री ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पर परोक्ष हमला बोलते हुए कहा कि जो लोग बिहार में जंगल राज लाए, उन्होंने अपने परिवार की चिंता की। उन्होंने कहा, “आजादी के बाद के दशकों में बिहार की एक बहुत बड़ी चुनौती रही है, यहां से युवाओं का पलायन। जब बिहार में जंगलराज आया तो ये पलायन और ज्यादा बढ़ गया। जंगलराज लाने वाले लोगों ने सिर्फ अपने परिवार की चिंता की। बिहार के लाखों बच्चों का भविष्य दांव पर लगा दिया।” उन्होंने कहा कि बिहार के नौजवान दूसरे राज्यों के दूसरे शहरों में रोजी रोटी के लिए जाते रहे और यहां एक ही परिवार फलता फूलता रहा। किस तरह एक-एक नौकरी के बदले जमीनों पर कब्जा किया गया? मोदी ने कहा कि बिहार में जंगलराज लाने वाला परिवार यहां के युवाओं का सबसे बड़ा गुनाहगार है। जंगलराज के जिम्मेदार परिवार ने बिहार के लाखों नौजवानों से उनका भाग्य छीन लिया।   प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एनडीए ने बिहार को जंगल राज और नौकरी के बदले लोगों की जमीन छीनने के दोषियों से बचाया है। उन्होंने कहा, “एनडीए की डबल इंजन सरकार का प्रयास है कि बिहार के युवा को यहीं बिहार में रोजगार मिले। आज जिन हजारों करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है, उसके मूल में भी यही भावना है।”   प्रधानमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में बिहार अपने पुराने गौरव को हासिल करने की राह पर तेजी से अग्रसर है। उन्होंने कहा कि विकसित भारत के लिए बिहार का विकसित होना भी उतना ही जरूरी है। बिहार में विकास का डबल इंजन लगने के बाद विकसित बिहार से जुड़े हुए कार्यों में और भी तेजी आ गई है। आज भी करीब 13 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का उपहार बिहार को मिला है।  

Kolar News

Kolar News

भोपाल। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान केन्द्र सरकार पर अनेक मुद्दों को लेकर हमला बोला। उन्होंने शाजापुर में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए ने कहा कि जब हमारी सरकार थी और डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे तो हमने मनरेगा दिया। मनरेगा में एक साल में 65000 करोड़ रुपये देने होते हैं। इससे कई सारे मजदूरों की स्थिति सुधरी, मनरेगा की सफलता के बाद हमारे पास किसान आए और उन्होंने मदद का आग्रह किया तो हमने किसानों का कर्ज माफ कर दिया, 70 हजार करोड़ रुपये उसका खर्च आया। वहीं नरेन्द्र मोदी ने 16 लाख करोड़ रुपये उद्योगपतियों का माफ कर दिया, इसका अर्थ यह हुआ कि उन्होंने 24 साल का मनरेगा का बजट 22 उद्योगपतियों को दे दिया। आज 22 लोग हैं, जिनके पास देश का 50 प्रतिशत धन है। मोदी जी ने 16 लाख करोड रुपये व्यापारियों के माफ कर दिए हैं, लेकिन किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया।   राहुल गांधी ने कहा कि 50 प्रतिशत पिछड़े, 15 प्रतिशत दलित एवं 8 प्रतिशत आदिवासी, अल्पसंख्यक एवं सामान्य गरीब मिलाकर 90 प्रतिशत होते हैं, उनकी भागीदारी नगण्य है। किसी बड़ी कंपनी की लिस्ट निकालो जितनी बड़ी कंपनियों की लिस्ट में उनके मालिकों में एक नाम भी इस 90 प्रतिशत वर्ग के लोगों का नहीं है, उनके सीनियर मैनेजमेंट में भी एक नाम नहीं, मीडिया के मालिकों में भी इस 90 प्रतिशत वर्ग का एक भी नाम नहीं, ब्यूरोक्रेसी में देखें तो 90 लोग जो कि आईएएस अधिकारी हैं, उसमें से केवल तीन ओबीसी, एक आदिवासी एवं तीन दलित हैं। जब बजट आता है तो 100 में से छह रुपये का केवल ये लोग फैसला करते हैं।   उन्होंने कहा कि जीएसटी 90 प्रतिशत लोग देते हैं, लेकिन जेब 20 अमीर उद्योगपतियों की भरती है, इन समस्याओं से निजात पाने का तरीका है, जाति आधारित जनगणना। अग्नि वीर योजना की बजह से आज गरीब के पास सरकारी सेवा में जाने का रास्ता बंद है, पीएसयू कांग्रेस लायी, बीएसएनएल, हिंदुस्तान पेपर यह सब कांग्रेस ने बनाया, मोदी जी ये सब उद्योगपतियों को दे रहे हैं।   राहुल गांधी ने कहा की जिस तरह हाथ टूट जाए तो उसका एक्स-रे किया जाता है उसी तरीके से जाति आधारित जनगणना समाज का एक्स-रे है, हमने जब इस क्रांतिकारी राजनीतिक कदम की बात की तो मोदी जी ने कहा कि वे सिर्फ चार जातियां जानते हैं, मैं आपसे कहना चाहता हूं कि वे सिर्फ 20-22 उद्योगपतियों की मदद करना चाहते हैं आपकी नहीं।   उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोगों को धर्म, जाति और प्रदेश की राजनीति में बांट दिया है। कांग्रेस पार्टी यह सुनिश्चित कर रही है कि सब लोग एक साथ आए। भाजपा की विचारधारा नफरत की विचारधारा है और हमारी विचारधारा नफरत के खिलाफ मोहब्बत की दुकान की विचारधारा है। उन्होंने आगे कहा कि इस यात्रा में हमने एक और शब्द जोड़ दिया है और वह शब्द है ‘‘न्याय“ क्योंकि हमारी यात्रा का मकसद हर वर्ग को ‘न्याय’ दिलाने का है। इसलिए हम भारत जोड़ो न्याय यात्रा निकाल रहे हैं। राहुल गांधी ने पचोर, सारंगपुर, शाजापुर टंकी चौराहा से एचपी पेट्रोल पंप तक रोड शो किया।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित संदेशखाली हिंसा मामले में कलकत्ता हाई कोर्ट ने महत्वपूर्ण आदेश दिया है। मुख्य न्यायाधीश टीएस शिवगणनम ने ईडी अधिकारियों पर हमला मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी है। उन्होंने आदेश दिया है कि मामले की जांच सीबीआई करेगी और आज मंगलवार शाम तक शेख शाहजहां को सीबीआई के हवाले करने को कहा है। सारे दस्तावेज भी सीबीआई के हवाले करने का निर्देश हाई कोर्ट ने दिया है। बनगांव और नजात थाने में दर्ज तीन प्राथमिकी की जांच सीबीआई करेगी जो पूरी तरह से ईडी अधिकारियों पर हमला मामले से संबंधित है। दरअसल, पांच जनवरी को राशन वितरण भ्रष्टाचार के मामले में ईडी की टीम शेख शाहजहां के घर छापेमारी करने पहुंची थी, जहां एकत्रित हुए हजारों लोगों ने केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों पर हमला कर दिया था।केंद्रीय एजेंसी ने इस मामले में शाहजहां को मुख्य आरोपित बनाकर दावा किया था कि उसी के कहने पर लोगों ने हमले किए थे। उसके बाद से शाहजहां फरार हो गया था। आखिरकार 55 दिनों बाद पश्चिम बंगाल पुलिस ने कलकत्ता हाई कोर्ट के सख्त रुख अख्तियार करने के बाद उसे गिरफ्तार किया था। मुख्य न्यायाधीश की पीठ में याचिका लगाकर ईडी ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी, जिस पर सुनवाई सोमवार को पूरी हो गई थी लेकिन आज फैसला आया है।

Kolar News

Kolar News

संगारेड्डी/नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को भ्रष्टाचार को लेकर बीआरएस और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बीआरएस और कांग्रेस के बीच गुप्त समझौते का आरोप लगाते हुए कहा कि दोनों के बीच घोटाला बंधन बहुत मजबूत है। ये दोनों तेलंगाना की लूट में एक-दूसरे को कवर फायर दे रहे हैं। तेलंगाना के संगारेड्डी में भाजपा की जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बीआरएस हो या कांग्रेस दोनों एक जैसी ही पार्टियां हैं। बीआरएस और कांग्रेस में गठबंधन है या नहीं ये तो तेलंगाना के लोग बताएंगे, लेकिन दुनिया को ये पता है कि बीआरएस और कांग्रेस के बीच घोटाला बंधन बहुत मजबूत है। घोटाला बंधन यानी तेलंगाना की लूट में दोनों एक दूसरे को कवर फायर देते हैं। प्रधानमंत्री ने दोहराया कि तेलंगाना में बीआरएस सरकार में भ्रष्टाचार से परेशान होकर आपने कांग्रेस को मौका दिया है। यह समझना जरूरी है कि चाहे बीआरएस हो या कांग्रेस, दोनों दलों में समानताएं हैं। हालांकि बीआरएस और कांग्रेस के बीच औपचारिक गठबंधन नहीं हो सकता है, लेकिन भ्रष्टाचार में उनका सहयोग निर्विवाद रूप से मजबूत है। मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने तेलंगाना को अपने नए एटीएम में बदल दिया है। फिर भी, मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि एक-दूसरे को कवर फायर देने की यह रणनीति लंबे समय तक नहीं चलेगी। मोदी सरकार में हम सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक दोनों को अंजाम देते हैं। मैं इसके लिए आपका अटूट समर्थन चाहता हूं। तेलंगाना को भी घोषणा करनी चाहिए- अबकी बार, 400 पार। विपक्ष की आलोचना करते हुए मोदी ने कहा, “उन्होंने विदेशी बैंकों में अपना काला धन छिपाने के लिए विदेशी खाते खोलने का सहारा लिया। मैंने लाखों गरीब भाइयों और बहनों के लिए जन धन खाते खोले। ये परिवारवादी अपने परिवारों के लिए शानदार हवेली और महल बनाने में लगे रहे। उनके विपरीत, मैंने कभी निजी आवास नहीं बनाया है; इसके बजाय, मेरा ध्यान हमारे देश के गरीब नागरिकों के लिए सुरक्षित घर बनाने पर है।” इंडी गठबंधन पर कड़ा प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ये लोग दावा करते हैं कि मोदी का कोई परिवार नहीं है। वो कहते हैं परिवार प्रथम। मोदी कहता है राष्ट्र प्रथम। उनके लिए उनका परिवार ही सबकुछ है। मेरे लिए देश का हर परिवार सबकुछ है। इन्होंने अपने परिवार के हितों के लिए देशहित को बलि चढ़ा दिया। मोदी ने देशहित के लिए खुद को खपा दिया है। सरकारों में रहने वाले परिवारवादियों ने महंगे उपहार स्वीकार किए, उपहारों के माध्यम से अपने काले धन को सफेद किया, लेकिन मोदी ने कभी कोई उपहार नहीं रखा; उन्हें नीलाम कर आय को मां गंगा की सेवा में लगा देता है। उपहारों की नीलामी के माध्यम से, राष्ट्र की सेवा में लगभग 150 करोड़ रुपये का योगदान दिया है।   किसानों के कल्याण की बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि तेलंगाना में किसानों के लिए भी भाजपा सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाए हैं। बीते वर्षों में हमारी सरकार ने डेढ़ लाख करोड़ से ज्यादा का चावल और कपास खरीदा है। तेलंगाना में 40 लाख से अधिक किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के तहत प्रति वर्ष 6,000 रुपये की सहायता मिल रही है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू यादव के 'परिवारवाद' वाले तंज के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और स्मृति ईरानी सहित कई पार्टी नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी के साथ एकजुटता दिखाते हुए सोशल मीडिया एक्स मंच पर अपना बायो बदल लिया। अमित शाह ने अपने एक्स मंच में अपने नाम के साथ मोदी का परिवार जोड़ दिया। इसी तरह भाजपा अध्यक्ष ने भी अपने सोशल मीडिया मंच पर अपने नाम के साथ मोदी का परिवार जोड़ कर प्रधानमंत्री मोदी के बयान के साथ एकजुटता दिखाई है। केन्द्रीय मंत्रियों के साथ भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र सचदेवा सहित कई नेताओं ने अपने बायो में मोदी का परिवार जोड़ दिया। उन्होंने एक्स पर कहा कि पूरे विश्व में भारत का नाम ऊंचा करने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अकेले नहीं हैं, पूरा देश उनका परिवार है और हमें उन पर गर्व है। मैं हूं मोदी जी का परिवार। उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद ने कहा था कि प्रधानमंत्री का अपना परिवार नहीं है तो हम क्या कर सकते हैं, वे सच्चे हिन्दू भी नहीं है। इस तंज पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पलटवार करते हुए पूरे देश को अपना परिवार बताया।

Kolar News

Kolar News

आदिलाबाद/नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को देश में परिवारवादी पार्टियों पर हमला करते हुए कहा कि उनके चेहरे अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन झूठ और लूट उनका सामान्य चरित्र होता है।   तेलंगाना के आदिलाबाद में एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मेरा भारत मेरा परिवार है। 140 करोड़ देशवासी मेरा परिवार हैं। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अध्यक्ष लालू यादव के 'मोदी का कोई परिवार नहीं' वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार, परिवारवाद और तुष्टिकरण में आकंठ डूबे इंडी गठबंधन के नेता बौखलाते जा रहे हैं। अब इन्होंने 2024 के चुनाव का अपना असली घोषणापत्र निकाला है। मैं इनके परिवारवाद पर सवाल उठाता हूं तो इन लोगों ने अब बोलना शुरू कर दिया है कि मोदी का कोई परिवार नहीं है।   उन्होंने कहा कि मेरा जीवन खुली किताब जैसा है। एक सपना लेकर मैंने बचपन में घर छोड़ा था, और जब मैंने अपना घर छोड़ा तब एक सपना लेकर के चला था कि मैं देशवासियों के जिऊंगा। इसलिए मैं कहता हूं कि 140 करोड़ देशवासी यही मेरा परिवार है। ये नौजवान यही मेरा परिवार है। आज देश की करोड़ों बेटियां, माताएं, बहनें यही मेरा परिवार है। आज देश का हर गरीब ये मेरा परिवार है। देश के कोटि-कोटि बच्चे बुजुर्ग ये मोदी का परिवार है। जिसका कोई नहीं है वे भी मोदी के हैं और मोदी उनका है। मेरा भारत मेरा परिवार है।   इंडी गठबंधन के नेतृत्व वाली विपक्ष की राजनीति पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “आई.एन.डी.आई. गठबंधन और बी.आर.एस. के वादे भ्रष्टाचार, वंशवादी राजनीति और तुष्टिकरण की प्रतिध्वनि हैं।” उन्होंने कहा कि परिवारवादी पार्टियों के चेहरे अलग हो सकते हैं लेकिन उनका चरित्र एक ही होता है झूठ और लूट। उन्होंने कहा कि कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना बी.आर.एस. सरकार द्वारा किया गया एक बड़ा घोटाला है। मोदी ने आगे कटाक्ष करते हुए कहा कि तेलंगाना में जैसे टीआरएस के बीआरएस बनने से कुछ नहीं बदला था, वैसै ही बीआरएस की जगह कांग्रेस आने से कुछ नहीं बदला है। लेकिन उनका भ्रष्टाचार और वंशवादी राजनीति को बढ़ावा देने वाला स्वभाव अपरिवर्तित है।   तेलंगाना राज्य की समृद्ध विरासत और ऐतिहासिक विरासत के बारे में बात करते हुए, मोदी ने कहा कि तेलंगाना बहादुर रामजी गोंड और कोमाराम भीम की भूमि है। हमारी सरकार का लक्ष्य हैदराबाद में एक संग्रहालय के माध्यम से रामजी गोंड का सम्मान करना है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनजातियों के सशक्तिकरण को हमेशा प्राथमिकता दी है। केंद्र की एनडीए सरकार ने द्रौपदी मुर्मू को भारत का राष्ट्रपति बनने में मदद की।   जनजातीय लोगों को सशक्त बनाने के लिए, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमने हमेशा आदिवासी संस्कृति और विरासतों का सम्मान किया है, जिससे बिरसा मुंडा के सम्मान में जनजातीय गौरव दिवस मनाने की सुविधा मिली है। उन्होंने कहा कि पीएम जनमन जनजातीय कल्याण के लिए 24,000 करोड़ रुपये खर्च करने में सक्षम होगा, जिससे चेंचू, कोलम और कोंडा रेड्डी जैसी विभिन्न जनजातियों को लाभ होगा।   तेलंगाना में किसान कल्याण की संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा करते हुए मोदी ने कहा कि तेलंगाना के लोगों के सपने उनकी दृष्टि और मोदी की गारंटी के स्तंभ हैं। उन्होंने कहा कि मोदी की गारंटी ने तेलंगाना में किसानों के लिए 'हल्दी बोर्ड' बनाने में सक्षम बनाया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कपास किसानों के लिए रिकॉर्ड एमएसपी की सुविधा प्रदान की है, साथ ही तेलंगाना में सात मेगा टेक्सटाइल पार्क स्थापित कर किसानों को सशक्त बनाया है।   मोदी ने कहा कि तेलंगाना ने राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और विकसित भारत को साकार करने में उसकी बड़ी भूमिका है। उन्होंने तेलंगाना के लोगों को धन्यवाद दिया और आगामी लोकसभा चुनाव में उनसे भाजपा के लिए निरंतर समर्थन मांगा।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली 7 जजों की संविधान बेंच ने एकमत फैसले में कहा है कि अगर सांसद या विधायक रिश्वत लेकर सदन में मतदान या भाषण देते हैं तो वे मुकदमे की कार्रवाई से नहीं बच सकते हैं। आज 7 जजों की संविधान बेंच ने 1998 के नरसिम्हा राव के फैसले को पलटते हुए कहा कि अगर विधायक रिश्वत लेकर राज्यसभा में वोट देते हैं तो उन पर प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत मुकदमा चल सकता है।   सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर 5 अक्टूबर, 2023 को फैसला सुरक्षित रख लिया था। दरअसल, सीता सोरेन 2012 में झारखंड विधानसभा में विधायक थीं। उस समय राज्यसभा चुनाव में मतदान के लिए उन पर एक राज्यसभा उम्मीदवार से उसके पक्ष में वोट डालने के लिए रिश्वत लेने का आरोप लगाया गया था लेकिन इसके बजाय उसने अपना वोट किसी अन्य उम्मीदवार के पक्ष में वोट डाल दिया। सीता सोरेन के ससुर और झामुमो नेता शिबू सोरेन को 1998 की संविधान पीठ के फैसले से बचा लिया गया था। उस समय सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में पैसे लेकर राव सरकार के पक्ष में मतदान करने वाले सांसदों को अभियोजन से छूट दी थी। हालांकि, झामुमो सांसदों को रिश्वत देने वाले अभियोजन से नहीं बचे थे।

Kolar News

Kolar News

पटना । राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक डॉ. मोहन राव भागवत ने रविवार को कहा कि अनुकूल परिस्थितियों में विश्राम करने वाला हार जाता है जबकि अपनी गति बढ़ाकर कार्य करने वाले को विजयश्री मिलती है। उन्होंने कहा कि खरगोश और कछुआ की कहानी का सारांश यही है। आज देश में अनुकूल माहौल है। हमारा लक्ष्य अभी दूर है। यह समय अपनी गति बढ़ाकर जीत प्राप्त करने का है। पटना के राजेंद्र नगर स्थित शाखा मैदान में प्रातः काल आयोजित गणवेशधारी स्वयंसेवकों के एकत्रीकरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सरसंघचालक ने कहा कि संघ के स्वयंसेवक गमले के पुष्प नहीं, बल्कि वन के फूल हैं जो अपने पोषण की व्यवस्था स्वयं करता है। हम लोगों को समाज ने सम्मान दिया है। स्वयंसेवकों को नहीं भूलना चाहिए कि हमारी दशा बदली है लेकिन दिशा नहीं। हमें विनम्रता और शील नहीं छोड़ना चाहिए। हम लोग बलशाली हो सकते हैं लेकिन उन्मुक्त नहीं।   भागवत ने स्वयंसेवकों से आग्रह किया कि वे अपने लिए चार काम सुनिश्चित करें। पहला कार्य शाखा की नित्य साधना। दूसरा कार्य शाखा से प्राप्त शिक्षा के आधार पर आचरण रखना। तीसरा कार्य जैसा समाज चाहिए उस अनुरूप अनुशासन के साथ प्रामाणिकता से आचरण और चौथा कार्य भोग नहीं, बल्कि त्याग का सिद्धांत व्यवहार में उतरना।   शताब्दी वर्ष का उल्लेख करते हुए सरसंघचालक ने कहा कि शताब्दी वर्ष के अवसर पर पांच करणीय कार्य निश्चित किए गए हैं। पहला कार्य सामाजिक समरसता, दूसरा कार्य कुटुंब प्रबोधन, तीसरा स्वदेशी, चौथा पर्यावरण के प्रति संवेदनशीलता और पांचवां कार्य नागरिक कर्तव्य बोध का जागरण है। कार्यक्रम में मंच पर दक्षिण बिहार प्रांत के संघचालक राजकुमार सिन्हा और महानगर के संघचालक डॉ. राजीव कुमार सिंह भी उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News

लखनऊ। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने रविवार को यादव महाकुंभ में समाजवादी पार्टी और उसके मुखिया अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला। उन्होंने अखिलेश का जिक्र किए बिना कहा कि यादव समाज किसी एक परिवार का ठेकेदार नहीं है। उत्तर प्रदेश में चार-चार बार मुख्यमंत्री का पद जिनके घर में था उनसे पूछना चाहिए था कि उन्होंने यादव समाज के लिए क्या किया।   डॉ. यादव ने लखनऊ जिले के गुड़ौरा में आयोजित यादव महाकुंभ में कहा, मैं एक किसान परिवार का बेटा अभाव एवं कठिनाइयों में पला-बढ़ा हूं। मेरे पिता राजनीति में भी नहीं हैं। मुख्यमंत्री नहीं थे। इन व्यवस्थाओं को वह जानते भी नहीं हैं लेकिन भाजपा ने हमें आगे बढ़ाने का काम किया। यादव महाकुंभ के दौरान सामने से कुछ लोगों ने पोस्टर लहराते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में यादवों के साथ अत्याचार हो रहा है। इस पर मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि यह जाकर उनसे बताओ जिनके घर में चार-चार बार मुख्यमंत्री का पद रहा।   डॉ. यादव ने कहा कि भगवान कृष्ण की जहां बात होगी और वहां उल्टा- पुल्टा नहीं होगा तो मजा नहीं होगा। यह हमारे वंश में तो सामान्य बात है। कुश्ती नहीं हुई तो काहे का यादव। लाठी में दम नहीं तो काहे का यादव। उन्होंने कहा कि यादव समाज कालियानाग की चुनौती से डरता नहीं है बल्कि कालियानाग को वश में करके नृत्य करते हुए समाज में शांति का संदेश देता है। उन्होंंने कहा कि सबका साथ सबका विकास मोदी की गारंटी है।   यादव महाकुंभ को उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर यादव महाकुंभ के आयोजक मनीष यादव ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. यादव का स्वागत किया।

Kolar News

Kolar News

पटना । राजधानी पटना के गांधी मैदान में महागठबंधन की जन विश्वास रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने दावा किया कि देश से भाजपा को हटाकर आईएनडीआईए की सरकार बनाएंगे।   राहुल गांधी ने कहा कि देश में जब भी बदलाव आता है तो बिहार से तूफान शुरू होता है और यहां से तूफान देश के दूसरे राज्यों तक जाता है। बिहार देश की राजनीति का सेंटर है और बदलाव की शुरुआत बिहार से ही होती है। आज देश में विचारधारा की लड़ाई चल रही है।     कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि देश के नागरिकों के दिल में नफरत नहीं, बल्कि मोहब्बत और एक-दूसरे का आदर है। ऐसे में बड़ा सवाल है कि इस देश में नफरत क्यों फैल रही है। नफरत का सबसे बड़ा कारण देश में अन्याय है। युवाओं के खिलाफ अन्याय, किसानों के खिलाफ अन्याय, सामाजिक और आर्थिक अन्याय। चालीस साल से सबसे अधिक बेरोजगारी हिंदुस्तान में है।     राहुल गांधी ने कहा कि पब्लिक सेक्टर में पहले गरीबों को रास्ता मिलता था। सरकार में रोजगार और नौकरी मिल जाती थी। जैसे बिहार में तेजस्वी और छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार ने किया लेकिन केंद्र ने ये सभी रास्ते बंद कर दिए।

Kolar News

Kolar News

भोपाल। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा निकाली जा रही भारत जोड़ो न्याय यात्रा आज शनिवार को राजस्थान के धौलपुर से होते हुए मध्यप्रदेश में प्रवेश हुई। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीतू पटवारी द्वारा मुरैना में न्याय यात्रा का स्वागत एवं अगवानी की गई। सेवादल की उपस्थिति में विधिवत रूप से न्याय यात्रा ध्वज को सलामी देकर राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोंविद डोटासरा ने मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जीतू पटवारी को ध्वज सौंपा। राहुल गांधी ने अपने संबोधन में आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा और आरएसएस लगातार हिंसा और डर का माहौल इस देश में बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने लोगों को धर्म, जाति और प्रदेश की राजनीति में बांट दिया है। कांग्रेस पार्टी यह सुनिश्चित कर रही है कि सब लोग एक साथ आए। भाजपा की विचारधारा नफरत की विचारधारा है और हमारी विचारधारा नफरत के खिलाफ मोहब्बत की दुकान की विचारधारा है। पिछली यात्रा कई प्रदेशों में नहीं पहुंच पाई थी और लोगों ने आग्रह किया था कि उनके प्रदेशों से भी यात्रा निकलनी चाहिए इसलिए दूसरी बार यह यात्रा की जा रही है। लेकिन मध्य प्रदेश जो कि देश का दिल है यहां से दोनों ही यात्राएं निकली हैं। हमारी यात्रा न्याय दिलाने के लिए है राहुल गांधी ने आगे कहा कि इस यात्रा में हमने एक और शब्द जोड़ दिया है और वह शब्द है ‘‘न्याय“। क्योंकि युवाओं का बेरोजगार रहना उसने साथ अन्याय है, किसान को सही दाम न मिलना उसके साथ अन्याय है, अलग-अलग तरीकों के अन्याय देश में हो रहे हैं इसलिए हमारी यात्रा का दृष्टिकोण हर वर्ग को ‘न्याय’ दिलाने का है। आज 4 दशकों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है, यहां तक की पाकिस्तान और बांग्लादेश से दोगुनी बेरोजगारी हमारे देश में है। नोटबंदी और जीएसटी की वजह से छोटे व्यापारियों के धंधे बंद होने की कगार पर आ गए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि अब मैं आपसे सामाजिक न्याय की बात करना चाहता हूं। 50 प्रतिशत पिछड़े, 15 प्रतिशत दलित एवं 8 प्रतिशत आदिवासी मिलकर के 73 प्रतिशत होते हैं, लेकिन उनकी भागीदारी नगण्य है। सामाजिक न्याय का पहला कदम है जाति आधारित जनगणना राहुल गांधी ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य के पैमानों में भी आपकी कोई प्रतिनिधित्व नहीं है। परंतु जब मनरेगा की लिस्ट निकालो, मजदूरों की लिस्ट निकालो, कॉन्ट्रैक्ट लेबर की लिस्ट निकालो या सफाई कर्मी की लिस्ट निकालो तो इस वर्ग के लोग बहुत मिल जाते हैं, यह व्यवस्था भाजपा की सरकार ने बना दी है। इन समस्याओं से निजात पाने का तरीका है सामाजिक न्याय इसका पहला कदम है जाति आधारित जनगणना। कांग्रेस पार्टी इस जनगणना का वादा करती है। इसके दो भाग होंगे पहले भाग में दलित, आदिवासी एवं पिछड़ों की आबादी का आंकड़ा निकल जाएगा तथा दूसरे भाग में इन वर्गों के बीच धन का बंटवारा कैसा है यह पता किया जाएगा ताकि उनके साथ न्याय हो सके।   इतिहास में पहली बार निकल रही ऐसी ऐतिहासिक यात्रा मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने मध्यप्रदेश में न्याय यात्रा के प्रवेश करने पर राहुल गांधी और लाखों कांग्रेसजनों का स्वागत करते हुए कहा कि राहुल गांधी आम आदमी एवं बेरोजगारों के हक की बात करते हुए आर्थिक, सामाजिक एवं राजनीतिक न्याय के लिए यह यात्रा निकाल रहे हैं। संभवत 200 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक प्रेम के संदेश को लेकर किसी ने ऐसी ऐतिहासिक यात्रा निकाली। भारत जोड़ो न्याय यात्रा एक अच्छा संदेश देगी पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि राहुल गांधी द्वारा निकाली जा रही भारत जोड़ो न्याय यात्रा प्रदेश ही नहीं देश में एक अच्छा संदेश देगी। युवाओं, किसानों, महिलाओं और सभी वर्ग के हकों और अधिकारों की लड़ाई के लिए यह यात्रा निकाली जा रही है। यात्रा में प्रदेश भर के कांग्रेसजन पूरे उत्साह के साथ शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज देश का संविधान और लोकतंत्र खतरे में है, उसे बचाने के लिए यह न्याय यात्रा निकाली जा रही है।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल दौरे के दूसरे दिन शनिवार को नदिया जिले के कृष्णानगर में रोड शो और जनसभा की। इस दौरान प्रधानमंत्री ने एक बार फिर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला। मोदी ने कहा, "तृणमूल ने मां माटी और मानुष का नारा लगाकर इसका अपमान किया। संदेशखाली की बहनें इंसाफ की गुहार लगाती रहीं लेकिन तृणमूल सरकार ने उनकी एक नहीं सुनी। बंगाल में पुलिस नहीं बल्कि अपराधी तय करते हैं कि उन्हें कब गिरफ्तार होना है और कब सरेंडर करना है। बंगाल की नारी शक्ति जब दुर्गा का रूप लेकर खड़ी हो गईं तब सरकार को उनके सामने झुकना पड़ा।" प्रधानमंत्री ने कहा, "तृणमूल को बंगाल की जनता ने बार-बार जनादेश दिया गया लेकिन वो अत्याचार का पर्याय बन गई है। वो विकास को नहीं परिवारवाद और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती है। तृणमूल बंगाल के लोगों को गरीब बनाए रखना चाहती है ताकि उनकी राजनीति और खेल चलता रहे। मोदी ने पश्चिम बंगाल को पहला एम्स देने की गांरटी दी थी और मोदी की गारंटी का मतलब गारंटी की भी गारंटी। नादिया जिले में कुछ दिनों पहले ही एम्स का लोकार्पण किया है। पश्चिम बंगाल सरकार को एम्स बनने से परेशानी है। तृणमूल सरकार तो केंद्र की योजनाओं को लागू नहीं होने देती है। बंगाल में सुधार के लिए केंद्र सरकार निरंतर काम कर रही है।"   मुख्यमंत्री बनर्जी पर हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ''तृणमूल ने बंगाल को इस तरह से बदनाम किया है कि वो हर स्कीम को स्कैम में बदल देती है। केंद्रीय योजनाओं का नाम बदलकर बंगाल में चलाने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ये लोग केंद्र सरकार की योजनाओं पर अपना स्टीकर लगाते हैं। ये लोग गरीबों की योजनाओं को भी नहीं छोड़ते। पश्चिम बंगाल में बदलाव की शुरुआत आप लोगों को इसी लोकसभा चुनाव से करनी होगी।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के आरामबाग में बड़ी जनसभा को संबोधित किया। यहां संदेशखाली हिंसा मामले को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ विपक्षी दलों के इंडी गठबंधन पर भी तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि संदेशखाली के मुख्य आरोपित तृणमूल नेता (शेख शाहजहां) को बचाने के लिए ममता बनर्जी और पश्चिम बंगाल सरकार ने पूरी ताकत लगा दी। महिलाएं चीख-चीखकर कहती रहीं कि उनके साथ अत्याचार हुआ है लेकिन शर्मनाक बात ये है कि इंडी गठबंधन के नेता गांधीजी के तीन बंदरों की तरह आंख, कान और मुंह बंद किए रहे।       मोदी ने कहा कि संदेशखाली की घटना शर्म की बात है। लगभग दो महीने तक मुख्य आरोपित गिरफ्तार नहीं किया गया। संदेशखाली की बहनों के साथ तृणमूल ने जो किया, उसे देखकर पूरा देश गुस्से में है। जब संदेशखाली की बहनों ने अपनी आवाज बुलंद की, ममता दीदी से मदद मांगी तो बदले में बंगाल सरकार ने तृणमूल नेता को बचाने के लिए पूरी शक्ति लगा दी। लेकिन भाजपा के दबाव में आखिरकार कल बंगाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।   उन्होंने कहा कि मां, माटी, मानुष का ढोल पीटने वाली तृणमूल ने संदेशखाली में बहनों के साथ जो किया है, वो देखकर पूरा देश दुखी है, आक्रोशित है।       जो लूटा है वह लौटाना पड़ेगा   पीएम नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में केंद्रीय योजनाओं में भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। उन्होंने शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार समेत अन्य केंद्रीय फंड में अनियमितता का दावा करते हुए कहा कि वे बंगाल के लोगों से वादा करते हैं कि लूटने वालों को लौटाना ही होगा, ये मोदी छोड़ने वाला नहीं है। मोदी इनकी गालियों और हमले से डरने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि जिसने गरीब को लूटा है, उसे लौटाना ही पड़ेगा।         7200 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में हुगली जिले के आरामबाग क्षेत्र में 7200 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। प्रधानमंत्री ने रेल, बंदरगाह, तेल पाइपलाइन, एलपीजी आपूर्ति और अपशिष्ट जल शोधन जैसे क्षेत्रों से संबंधित कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी और राष्ट्र को समर्पित किया।     इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमारा प्रयास है कि पश्चिम बंगाल में रेलवे का आधुनिकीकरण उसी रफ्तार से हो, जैसे देश के दूसरे हिस्सों में हो रहा है। इक्कीसवीं सदी का भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है, हम सबने मिलकर 2047 तक विकसित देश बनाने का लक्ष्य रखा है। देश के गरीब, किसान, महिला और युवा, प्राथमिकता हैं। पीएम ने कहा कि हमने निरंतर गरीब कल्याण से जुड़े कदम उठाए हैं, जिसका परिणाम आज दुनिया देख रही है। पिछले 10 वर्षो में देश के 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले हैं। ये दिखाता है कि हमारी सरकार की दिशा, नीतियां, निर्णय सही हैं और उसका मूल कारण निर्णय सही है।

Kolar News

Kolar News

चंडीगढ़। हरियाणा की सीमा पर आंदोलन कर रहे पंजाब के किसानों ने तीन मार्च तक दिल्ली कूच को टाल दिया है। अब किसान शुभकरण के लिए 3 मार्च को अंतिम अरदास होने के बाद ही इस बारे में कोई फैसला लिया जाएगा। किसान नेता सरवन पंधेर और जगजीत डल्लेवाल ने शुक्रवार को कहा कि शुभकरण की आध्यात्मिक शांति के लिए 3 मार्च को अंतिम अरदास की जाएगी, जिसके बाद ही अब आगे बढ़ने का फैसला लिया जाएगा। शुभकरण का 29 फरवरी को ही अंतिम संस्कार किया गया है। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा की 6 सदस्यीय ‎कोआर्डिनेशन कमेटी ने दिल्ली कूच ‎कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (गैर‎राजनीतिक) और किसान मजदूर ‎मोर्चा से तालमेल करना शुरू कर दिया‎ है। किसान नेताओं के अनुसार बहुत जल्द आंदोलन को बड़े स्तर पर उठाया जाएगा।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की बैठक गुरुवार देररात शुरू होकर तड़के साढ़े तीन बजे तक चली। सूत्रों के मुताबिक सीट बंटवारे का फॉर्मूला तय करने के साथ पहली सूची के उम्मीदवारों के नाम पर भी चर्चा हुई। माना जा रहा है कि भाजपा अपनी पहली सूची दो -तीन दिन में जारी कर सकती है। भाजपा मुख्यालय में करीब छह घंटे से अधिक समय तक चली इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीयमंत्री अमित शाह और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष, तरुण चुघ, जी किशन रेड्डी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव, राजस्थान की उपमुख्यमंत्री दीया कुमारी, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आदि ने हिस्सा लिया। लोकसभा चुनाव के लिए नड्डा कई दौर की बैठकें राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पहले ही कर चुके हैं। इस बैठक में उम्मीदवारों के नाम तय होने थे। माना जा रहा है कि केन्द्रीय मंत्री जो पहले राज्यसभा से सदस्य थे उन्हें लोकसभा चुनाव मैदान में उतारा जाएगा। इनमें से भूपेन्द्र यादव, मनसुख मांडविया, धर्मेन्द्र प्रधान शामिल हैं। इसके साथ कमजोर और हारी हुई सीटों पर भी उम्मीदवारों की नामों का घोषणा जल्द ही की जा सकती है।

Kolar News

Kolar News

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज चारों तरफ एक ही बात सुनाई देती है- अबकी बार 400 पार। पहली बार ऐसा हुआ है जब जनता ने खुद अपनी प्रिय सरकार की वापसी के लिए ऐसा नारा बुलंद कर दिया है। ये नारा भाजपा ने नहीं, बल्कि देश की जनता-जनार्दन का दिया हुआ है। मोदी की गारंटी पर देश का इतना विश्वास भाव-विभोर करने वाला है। हमारे लिए सरकार बनाना अंतिम लक्ष्य नहीं है। हमारे लिए सरकार बनाना देश निर्माण का माध्यम है। हम तीसरी बार में देश को तीसरी बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए चुनाव में उतर रहे हैं।     प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार शाम को कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 'विकसित भारत विकसित मध्य प्रदेश' कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में राज्यपाल मंगुभाई पटेल, मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव समेत मंत्रीगण एवं अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। राज्यपाल पटेल एवं मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में रिमोट का बटन दबाकर उज्जैन में स्थापित विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का लोकार्पण और 17,000 करोड़ रुपये से से अधिक की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इनमें सिंचाई, बिजली, सड़क, रेल, कोयला, उद्योग से जुड़े प्रोजेक्ट शामिल हैं। उन्होंने उज्जैन में स्थापित विश्व की पहली वैदिक घड़ी का उद्घाटन और प्रदेश के सभी जिलों में साइबर तहसील परियोजना की भी शुरुआत की।     प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत डिंडौरी सड़क हादसे पर संवेदनाएं व्यक्त करते हुए की। उन्होंने कहा कि मैं डिंडोरी सड़क हादसे पर अपना दुख व्यक्त करता हूं। इस हादसे में जिन लोगों ने अपने परिजनों को खोया है, मेरी संवेदनाएं उनके साथ हैं, जो लोग घायल हैं, उनके उपचार की हर व्यवस्था सरकार कर रही है। दुख की इस घड़ी में मैं मध्य प्रदेश के लोगों के साथ हूं।     उन्होंने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के कार्यक्रम में 200 से ज्यादा स्थानों पर 20 लाख से ज्यादा लोग जुड़े हों, यह सामान्य नहीं है। मुझे दिख रहा है कि लोगों में कितना जोश, उमंग है। कल से ही मप्र में नौ दिन का विक्रमोत्सव शुरू होने वाला है। ये हमारी गौरवशाली विरासत और वर्तमान के विकास का उत्सव है। हमारी सरकार विरासत और विकास को कैसे एक साथ लेकर चलती है, इसका प्रमाण उज्जैन में लगी वैदिक घड़ी भी है। यह भारत को विकसित बनाएगा।     उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश आत्मनिर्भर भारत, मेक इन इंडिया का मजबूत स्तंभ बनेगा। मुरैना के सीतापुर में मेगा लेजर एंड फुटवेयर क्लस्टर, इंदौर में रेडिमेड गारमेंट इंडस्ट्री के लिए पार्क, मंदसौर में इंडस्ट्रियल पार्क का विस्तार, धार में इंडस्ट्रियल पार्क का निर्माण इसी दिशा में उठाए जा रहे कदम है। कांग्रेस की सरकारों ने मैन्युफैक्चरिंग की हमारी पारंपरिक ताकत को भी बर्बाद कर दिया था। खिलौना बनाने की हमारी बड़ी परंपरा रही है। स्थिति यह थी कि कुछ साल पहले तक हमारे बाजार और घर विदेशी खिलौनों से भरे पड़े थे। हमने देश के खिलौने बनाने वाले पारंपरिक परिवारों को विश्वकर्मा परिवार के तौर पर मान्यता दी। बुधनी के खिलौना बनाने वालों के लिए अनेक अवसर मिलने वाले हैं। इससे खिलौना निर्माण को बल मिलेगा। जिन्हें कोई नहीं पूछता, उन्हें मोदी पूछता है।     मोदी ने कहा कि गांव वालों को जमीन से जुड़े छोटे-छोटे तहसीलों के चक्कर काटने पड़ते थे। अब हमारी डबल इंजन सरकार ने पीएम स्वामित्व योजना के जरिये स्थायी समाधान निकाल रही है। मध्य प्रदेश तो इस योजना के तहत शत-प्रतिशत गांवों का ड्रोन से सर्वे किया जा चुका है। 20 लाख से अधिक स्वामित्व कार्ड दिए जा चुके हैं। गांव के घरों के कानूनी दस्तावेज मिल रहे हैं, इससे गरीब कई तरह के विवादों से बचेगा। गरीब को हर मुसीबत से बचाना ही तो मोदी की गारंटी है। मध्य प्रदेश के सभी 55 जिलों में साइबर तहसील योजना का विस्तार किया जा रहा है। नामांतरण, रजिस्ट्री से जुड़ी समस्याओं का समाधान डिजिटल माध्यम से हो जाएगा। इससे ग्रामीण परिवारों का समय और पैसा बचेगा।     उन्होंने कहा कि 2014 से पहले के 10 वर्षों में देश के करीब 40 लाख हेक्टेयर भूमि को सूक्ष्म सिंचाई के दायरे में लाया गया था, लेकिन बीते 10 वर्षों में इसका दोगुना करीब 90 लाख हेक्टेयर खेती को सूक्ष्म खेती से जोड़ा गया है। बीते 10 वर्षों में पूरे विश्व में भारत की साख बहुत अधिक बढ़ी है। आज दुनिया के देश भारत के साथ दोस्ती करना पसंद करते हैं। कोई भी भारतीय आज विदेश जाता है, तो उसको बहुत सम्मान मिलता है। भारत की इस बढ़ी हुई साख का सीधा लाभ निवेश में होता है, पर्यटन में होता है। आज अधिक से अधिक लोग भारत आना चाहते हैं और आएंगे तो एमपी आना ही है, क्योंकि एमपी अजब है गजब है। ओंकारेश्वर और ममलेश्वर में श्रद्धालुओं की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है। ओंकारेश्वर में विकसित किए जा रहे एकात्म धाम की वजह से यह संख्या और बढ़ेगी। 2028 में उज्जैन में सिंहस्थ होने वाला है। इच्छापुर से इंदौर तक फोन लेन बनने से श्रद्धालुओं को सुविधा होगी। रेल परियोजनाओं से भी मध्य प्रदेश की कनेक्टिविटी सशक्त होगी।     उन्होंने कहा कि छोटे किसानों की एक और बड़ी परेशानी गोदाम की कमी की रही है। इसके कारण छोटे किसानों को औने-पौने दाम पर अपनी उपज मजबूरी में बेचनी पड़ती थी। हम भंडारण से जुड़ी दुनिया की सबसे बड़ी योजना पर काम कर रहे हैं। आने वाले वर्षों में देश में हजारों की संख्या में बड़े गोदाम बनाए जाएंगे। 700 लाख मीट्रिक टन अनाज के भंडारण की व्यवस्था देश में बनेगी। इस पर सरकार सवा लाख करोड़ रुपये से अधिक खर्च करने जा रही है। हमारी सरकार गांव को आत्मनिर्भर बनाने पर बल दे रही है। इसके लिए सहकारिता का विस्तार किया जा रहा है। अभी तक हम दूध और गन्ने के क्षेत्र में सहकारिता के लाभ देख रहे हैं। भाजपा सरकार अनाज, फल-सब्जी, मछली समेत हर सेक्टर में सहकारिता पर बल दे रही है। इसके लिए लाखों गांवों में सहकारी संस्थाओं का गठन किया जा रहा है। कोशिश यह है कि खेती, पशुपालन, मधुमक्खी पालन, मुर्गीपालन, मछलीपालन, हर प्रकार से गांव की आय बढ़े।  

Kolar News

Kolar News

डिंडौरी। मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले में गुरुवार तड़के एक भीषण सड़क हादसा हो गया। यहां बिछिया पुलिस चौकी क्षेत्र अंतर्गत बड़झर घाट पर एक तेज रफ्तार पिकअप वाहन अनियंत्रित होकर 20 फीट नीचे जा गिरा। इस हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई, जबकि 20 लोग घायल हो गए। घायलों को शहपुरा के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों में छह पुरुष और आठ महिलाएं शामिल हैं। हादसे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव समेत अन्य नेताओं दुख व्यक्त किया है। पुलिस के अनुसार ग्राम अमहाई देवरी के रहने वाले लोग गोद भराई के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए मसूरघुघरी थाना इलाके के निवास क्षेत्र में गए थे। वहां वापस लौटते समय गुरुवार तड़के तीन से चार बजे के बीच शहपुरा थाना और बिछिया पुलिस चौकी क्षेत्र अंर्तगत बड़झर घाट पर पिकअप वाहन अनियंत्रित होकर 20 फीट नीचे खेत में पलट गया। वाहन में 45 लोग सवार थे। इनमें से 14 लोगों की मौत हो गई, जबकि 21 लोग घायल हो गए। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को शाहपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया, जहां कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है। हादसे के बाद मौके पर पहुंचे डिंडौरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने 14 लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जगन्नाथ मरकाम ने बताया कि मृतकों की पहचान मदन सिंह (45 वर्ष) पुत्र बाबूलाल आर्मो निवासी अमहाई देवरी, प्रीतम (16 वर्ष) पुत्र गोविंद बरकड़े निवासी पोंडी माल, पुन्नू लाल (55) पुत्र राम लाल अमहाई देवरी, भद्दी बाई (35 वर्ष) पत्नी विश्राम सजानिया जिला उमरिया, सेम बाई (40) पत्नी रमेश निवासी अमहाई देवरी, लाल सिंह (55) पुत्र भानु निवासी अमहाई देवरी, मुलिया बाई (60) पत्नी ढोली निवासी अमहाई देवरी, तितरी बाई (50 वर्ष) पत्नी कृपाल निवासी धमनी जिला उमरिया, सावित्री बाई (55 वर्ष) पत्नी नानसाय पोंडी जिला उमरिया, सरजू (45 वर्ष) पुत्र धनुआ निवासी अमहाई देवरी, रागी बाई (35 वर्ष ) पत्नी चंदू, बसंती (30 वर्ष) रामवती (30 वर्ष) और किरपाल (45 वर्ष) पुत्र सुकाली निवासी अमहाई देवरी के रूप में हुई है। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने डिंडोरी में हुई वाहन दुर्घटना में 14 व्यक्तियों के असामयिक निधन पर गहन शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति व परिजनों को इस वज्रपात को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा कि दुर्घटना में मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये और घायलों को एक-एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने जिला प्रशासन को घायलों के समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा है कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री संपतिया उइके को घायलों के उपचार और सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के लिए डिंडोरी भेजा गया है। घटना की उच्चस्तरीय जांच की जाकर समुचित कार्रवाई की जाएगी। केन्द्र सरकार की ओर से भी सहायता की घोषणा प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स के माध्यम से हादसे पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने पोस्ट किया है कि मप्र के डिंडोरी में हुए हादसे में प्रत्येक मृतक के परिजनों को पीएमएनआरएफ से दो लाख रुपये दिए जाएंगे। इसके साथ ही घायलों 50,000 रुपये दिए जाएंगे। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने एक्स पर लिखा कि मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले में हुई सड़क दुर्घटना में अनेक लोगों के हताहत होने का समाचार अत्यंत पीड़ादायक है। मैं शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करती हूं। मेरी प्रार्थना है कि इस हादसे में घायल हुए सभी लोग शीघ्र स्वस्थ हों। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने भी हादसे में लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया है। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मध्य प्रदेश के डिंडौरी में हुआ सड़क हादसा दु:खद है। हादसे में असमय जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। ईश्वर उन्हें दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें। स्थानीय प्रशासन द्वारा हताहतों को हर संभव मदद पहुंचाई जा रही है। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। मंत्री संपतिया उइके मौके पर पहुंची   मुख्यमंत्री डॉ. यादव के निर्देश पर मंत्री संपतिया उइके मौके पर पहुंची। उन्होंने मीडिया से कहा कि मैं यहां सरकार के प्रतिनिधि के रूप में हूं। यह एक बड़ा हादसा है। दुख की इस घड़ी में हम शोक संतप्त परिवारों के साथ खड़े हैं। डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने बताया कि सड़क दुर्घटना में मृतकों के परिजनों एवं घायलों के लिए रेडक्रॉस से तत्काल राहत राशि प्रदान की गई है। मृतकों के परिजनों को तत्काल 20-20 हजार रुपये, घायलों को 5-5 हजार रुपये की राहत राशि दी गई है। मृतकों की अंत्येष्टि के लिए पीड़ित परिवार को सहायता राशि 5-5 हजार रुपये एवं घायलों को संबल योजना के अंतर्गत सहायता राशि उपलब्ध कराई जाएगी। वाहन चालक गिरफ्तार   पुलिस के अनुसार पिकअप के चालक अजमेर टेकाम निवासी करोंदी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पिकअप वाहन अनफिट होने का पता भी चला है। पता चला है कि पिकअप वाहन का बीमा अगस्त, 2021 में और वाहन की फिटनेस सितंबर, 2022 में समाप्त हो चुकी थी। यह भी जानकारी मिली है कि वाहन केवल माल ढोने के लिए था।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। कलकत्ता हाई कोर्ट की फटकार के बाद पश्चिम बंगाल पुलिस की नींद टूटी। पुलिस ने पचपन दिन की खींचतान के बाद संदेशखाली के मुख्य आरोपित और तृणमूल नेता शेख शाहजहां को गिरफ्तार कर लिया। उसे गत रात मिनाखां इलाके से दबोचा गया। दक्षिण बंगाल एडीजीपी सुप्रतिम सरकार ने शेख शाहजहां की गिरफ्तारी पर कहा, "इस मामले में शिकायत धारा 354 से संबंधित नहीं थी। 7, 8 और 9 फरवरी के बाद कई मामले सामने आए हैं, लेकिन 8 और 9 फरवरी के बाद से दर्ज हुए सभी मामले उन घटनाओं से संबंधित हैं जो दो या तीन साल पहले हुई थीं। उनकी जांच करने, सुबूत इकट्ठा करने, सुबूत जांचने में समय लगता है, खासकर उन मामलों के संदर्भ में जो दो साल पहले घटित हुए हों।" उल्लेखनीय है कि कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार को टिप्पणी की थी कि जिस नेता के खिलाफ 42 प्राथमिकी हैं उसे आज तक गिरफ्तार नहीं किया गया। पुलिस अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकती। सोमवार को भी हाई कोर्ट ने ऐसी ही टिप्पणी की थी। इसके बाद तृणमूल नेता कुणाल घोष ने कहा था कि शाहजहां को एक हफ्ते के भीतर गिरफ्तार कर लिया जाएगा। गौरतलब है कि जनवरी महीने की पांच तारीख को संदेशखाली में छापा मारने गई गई ईडी की टीम पर हजारों लोगों ने हमला किया था। इस दौरान शाहजहां भूमिगत हो गया था। इसके बाद पीड़ित महिलाओं ने दावा किया कि सालों साल शेख शाहजहां और उसके लोगों ने उनका शारीरिक शोषण किया है। उनकी भूमि जबरदस्ती छीन ली गई है। यह खुलासा होने के बाद राज्यपाल डॉ. सीवी आनंद बोस, केंद्रीय महिला आयोग, मानवाधिकार आयोग, अनुसूचित जनजाति आयोग समेत दिल्ली से फैक्ट फाइंडिंग टीम के सदस्य संदेशखाली पहुंचे। तब परत-दर-परत और खुलासे हुए और संदेशखाली सुर्खियों में आया। शाहजहां को गिरफ्तार नहीं करने की वजह से बंगाल पुलिस की खूब किरकिरी हुई।

Kolar News

Kolar News

शिमला। हिमाचल प्रदेश में चल रही सियासी खींचतान में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी को बड़ी राहत मिली है। गुटबाज़ी व अंतर्कलह से जूझ रही कांग्रेस की सुक्खू सरकार से फिलहाल राजनीतिक संकट टल गया है। वहीं सुक्खू नेतृत्व की कांग्रेस सरकार ने सदन में बजट पारित करने में सफलता हासिल कर ली है। इसके साथ ही सदन की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई। इससे सुक्खू सरकार गिराने के विपक्षी दल के मंसूबों पर पानी फिर गया। राज्यसभा चुनाव में छह कांग्रेस विधायकों की क्रॉस वोटिंग और सरकार में मंत्री विक्रमादित्य सिंह के मंत्री पद से इस्तीफे के बाद राज्य की राजनीति गरमा गई। दरअसल आधा दर्जन विधायकों के बागी होने से कांग्रेस सरकार के समक्ष वित्तीय वर्ष 2024-25 के बजट को सदन से पारित करवाना चुनौती बन गया था।   विधानसभा का बजट सत्र अभूतपूर्व हंगामा और सियासत का गवाह बना। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर समेत विपक्ष के 15 विधायकों के निष्कासन के बाद सुक्खू सरकार ने पूर्व निर्धारित समय से एक दिन पहले ही वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए पेश किए गए सामान्य बजट को पारित करवा दिया और उसके बाद सदन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया।   लोक निर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह का त्यागपत्र   हिमाचल प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया । इसके बाद विधानसभा परिसर में पत्रकार वार्ता में विक्रमादित्य सिंह ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू पर अनदेखी के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में पद पर बने रहना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि शिमला के रिज मैदान पर पिता की प्रतिमा के लिए सरकार ने दो गज जमीन नहीं दी। विक्रमादित्य सिंह बोले कि दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि मुझे प्रताड़ित किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि प्रियंका वाड्रा से बात हुई है और जनता की भावनाओं से अवगत करवा दिया है। बता दें कि विक्रमादित्य सिंह हिमाचल में कांग्रेस के स्तंभ और छह बार मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह के पुत्र हैं। विक्रमादित्य सिंह ने मंगलवार को राज्यसभा चुनाव के दौरान क्रास वोटिंग कर कांग्रेस उम्मीदवार अभिषेक मनु सिंघवी को हराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।   स्पीकर ने भाजपा के 15 विधायकों को किया निष्कासित हिमाचल प्रदेश की सुखविंदर सिंह सरकार पर छाए संकट के बीच भाजपा के 15 सदस्यों को सदन में हंगामा करने पर पूरे सत्र के लिए निष्कासित कर दिया गया। इन विधायकों पर विधानसभा अध्यक्ष के चैंबर में जबरन घुसने, उनके साथ दुर्व्यवहार व गाली-गलौच करने का भी आरोप लगाया गया। बुधवार को विधानसभा की कार्यवाही आरंभ होते ही संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने नियम 319 के तहत भाजपा के 15 सदस्यों को सदन से बजट सत्र के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव रखा। जिन सदस्यों को निलंबित करने का प्रस्ताव किया उनमें नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर, भाजपा विधायक विपिन सिंह परमार, रणधीर शर्मा, लोकेंद्र कुमार, विनोद कुमार, हंस राज, डॉ. जनक राज, बलवीर वर्मा, त्रिलोक जम्वाल, सुरेंद्र शौरी, दीप राज, पूर्ण चंद, इंद्र सिंह गांधी, दलीप ठाकुर और रणवीर सिंह निक्का शामिल हैं।   हर्षवर्धन चौहान ने प्रस्ताव पेश करते हुए कहा कि भाजपा के विधायकों ने बीते रोज सदन में बेवजह हंगामा किया और सदन की बैठक स्थगित होने के बाद ये सभी विधायक जबरन विधानसभा अध्यक्ष के कक्ष के पास पहुंचे और जबरन अंदर घुसे। इन सदस्यों ने विधानसभा अध्यक्ष के साथ दुर्व्यवहार किया तथा गाली-गलौच की। यही नहीं, रात 8.30 बजे ये भाजपा विधायक फिर से अध्यक्ष के चैंबर में आए और उनके काम में बाधा पहुंचाई। प्रस्ताव में कहा गया कि इन हालात में सदन को व्यवस्थित रूप से चलाना संभव नहीं है। इसलिए इन सदस्यों को विधानसभा के नियम 319 के तहत सदन से निलंबित किया जाए।   संसदीय कार्य मंत्री के प्रस्ताव के बाद विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने भाजपा के इन सभी 15 सदस्यों को बजट सत्र के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव सदन में रखा, जिसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। उन्होंने भाजपा के निलंबित सदस्यों से सदन से बाहर चले जाने का आग्रह किया और ऐसा न करने पर उन्हें मार्शलों के माध्यम से जबरन बाहर ले जाने के आदेश दिए। इसका विपक्षी सदस्यों ने जोरदार विरोध किया और सदन में भारी हंगामे की स्थिति पैदा हो गई तथा दोनों ओर से विधायक अपने-अपने स्थान पर खड़े होकर नारे लगाने लगे। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष के आदेशों का विरोध करते हुए पूरा विपक्ष सदन के बीचोंबीच पहुंच गया नारेबाजी तथा हंगामा करता रहा। विधानसभा अध्यक्ष के आदेशों और मार्शलों के आने के बावजूद विपक्षी सदस्य अपने स्थान पर बैठे रहे और हंगामा बढ़ता गया। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी। इसी दौरान कुछ विपक्षी सदस्यों ने विधानसभा वैल के बीच मौजूद विधानसभा रिपोर्टरों, विधानसभा सचिव और विधानसभा अध्यक्ष के आसन पर मौजूद कागजों को भी इधर-उधर फेंक दिया।   सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बावजूद पूरा विपक्षी दल सदन में ही डटा रहा और मार्शलों के साथ एक बजे तक उलझता रहा। विधानसभा की कार्यवाही फिर से आरंभ न होने के चलते दोपहर के बाद नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर के नेतृत्व में पूरा विपक्ष सदन से उठकर बाहर चला गया।   भोजनावकाश के बाद सदन की कार्यवाही आरंभ होते ही भाजपा विधायक सतपाल सिंह सत्ती ने प्वाइंट ऑफ आर्डर के माध्यम से भाजपा विधायकों के निलंबन का मामला उठाया और इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। सत्ती ने कहा कि भाजपा सदस्यों का बजट सत्र से निलंबन गलत है। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद यह साफ हो गया है कि कांग्रेस सरकार अल्पमत में है। इसलिए बीते रोज भाजपा ने कटौती प्रस्तावों पर मत विभाजन की मांग की थी। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के छह और तीन निर्दलीय सदस्यों ने भाजपा उम्मीदवार का समर्थन किया है। ऐसे में सरकार के पास अब बहुमत नहीं रह गया है।   सतपाल सत्ती ने कहा कि सदन में बहुमत की स्थिति साफ होने के बावजूद सरकार ने बजट पास करवाने के लिए भाजपा सदस्यों का निलंबन किया है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की हत्या है और भाजपा के शेष सदस्यों ने इस निलंबन के विरोध में सदन में नहीं बैठने और वाकआउट का फैसला किया है।   इसी दौरान संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने भाजपा सदस्यों के निलंबन को सही करार देते हुए कहा कि इन सदस्यों ने आज सदन में न केवल विधानसभा स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार किया, बल्कि अध्यक्ष के आसन पर जाकर कागज भी फैंके। उन्होंने इस घटना को शर्मनाक करार दिया और इसकी निंदा की तथा ऐसा करने वाले सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इसी मुद्दे पर राजस्व मंत्री जगत सिंह नेगी ने कहा कि भाजपा आए दिन लोकतंत्र को कमजोर करने का प्रयास कर रही है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि भाजपा सदस्यों ने जिस तरह से आज सदन में हंगामा किया और बीते रोज भी राज्यसभा चुनाव में विघन डालने का प्रयास किया, वह निंदनीय है। उन्होंने कहा कि निलंबन के बावजूद भाजपा सदस्य सदन से बाहर नहीं गए और विधानसभा नियमों की अवहेलना की। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा ने जिन छह कांग्रेस सदस्यों से क्रॉस वोटिंग करवाई है, वह बिना प्रलोभन के नहीं हो सकती। नेगी ने कहा कि भाजपा ने विधायकों की खरीद करके लोकतंत्र को खत्म करने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा की यह हरकत उसकी सत्ता से बाहर रहने की तड़प को दर्शाती है। उन्होंने निलंबन के फैसले को सही करार दिया और कहा कि जिन अधिकारियों ने आदेशों के बावजूद भाजपा के निलंबित सदस्यों को सदन से बाहर नहीं किया, उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। सदन में विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने माना कि निलंबन के बाद भाजपा सदस्यों को सदन से बाहर ले जाने के आदेशों की उल्लंघना हुई है और इसके लिए वह नियमों के तहत कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि निलंबन के बाद भाजपा सदस्यों का सदन में रहना गलत है। उन्होंने कहा कि निलंबन और सदन के स्थगित होने के बाद नियमों के तहत ऐसे सदस्य सदन में नहीं रह सकते। विधानसभा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि बीते रोज भाजपा के विधायकों ने जबरन उनके कक्ष में घुसने की कोशिश की तथा तोड़फोड़ भी की तथा उन पर हमला करने का भी प्रयास किया। उन्होंने कहा कि इस तरह का व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण है। जयराम को सत्ता की भूख लग गई : सुक्खू मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने सदन में हुए हंगामे की निंदा करते हुए कहा कि नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर को सत्ता की भूख लग गई है। इसी के चलते वह सदन के हर नियम को तोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सदन की गरिमा बनी रहनी चाहिए और गुंडागर्दी नहीं चलने दी जाएगी तथा आज के घटनाक्रम के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि विपक्ष कर्मचारियों और अधिकारियों को भी डरा-धमका रहा है और बीते रोज भी कांग्रेस विधायकों को प्रदेश से बाहर ले जाने में सीआरपीएफ का सहारा लिया गया। विपक्ष और बागी विधायकों की गैर मौजूदगी में पारित हुआ बजट हिमाचल प्रदेश विधानसभा ने विपक्षी दल भाजपा सहित कांग्रेस के छह और तीन निर्दलीय विधायकों की गैरमौजूदगी में राज्य का वर्ष 2024-25 का 62,421.73 करोड़ रुपए का बजट पारित कर दिया। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बुधवार को हिमाचल प्रदेश विनियोग विधेयक 2024 सदन में पेश किया, जिसे सदन ने ध्वनिमत से पारित कर दिया। मुख्यमंत्री ने विधानसभा में 17 फरवरी को अगले वित्त वर्ष का बजट पेश किया था। बजट में विकास कार्यों के लिए 28 फीसदी राशि का प्रावधान किया गया है, जबकि कर्मचारियों और पेंशनरों के वेतन, भत्तों और पेंशन पर कुल बजट की 42 फीसदी राशि खर्च होगी। 11 फीसदी बजट प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए कर्जों के ब्याज की अदायगी पर खर्च होंगे, जबकि 9 फीसदी बजट कर्जे वापस लेने पर खर्च होगा। बजट का 10 फीसदी हिस्सा स्वायत संस्थानों के लिए अनुदान पर खर्च होगा। वर्ष 2024-25 के बजट में मुख्यमंत्री ने सात नई योजनाओं का ऐलान किया है। बजट में लोकसभा चुनावों को भी ध्यान में रखा गया है और किसानों-बागवानों, महिलाओं, युवाओं, कर्मचारियों और पिछड़े वर्गों को लुभाने का प्रयास किया गया है। बजट में किसी प्रकार के नए कर का कोई प्रावधान नहीं किया गया है। जबकि दूध को पहली बार एमएसपी के दायरे में लाया गया है और ऐसा करने वाला हिमाचल देश का पहला राज्य बन गया है। बजट में जहां खिलाड़ियों की पुरस्कार राशि को बढ़ाया गया है, वहीं पुलिस की डाइट मनी भी 220 रुपए के बढ़ाकर 1000 रुपए की गई है। कर्मचारियों के लिए बजट में पहली अप्रैल से 4 फीसदी डीए और सेवाकाल के दौरान दो बार एलटीसी की सुविधा देने का भी प्रावधान किया गया है।   एक दिन पहले स्थगित हुआ विधानसभा का बजट सत्र हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र निर्धारित अवधि से एक दिन पहले ही समाप्त हो गया। राज्यसभा चुनाव में सत्ताधारी कांग्रेस की हार के बाद पैदा हुए राजनीतिक संकट के बीच सरकार ने एक दिन पहले ही सदन में वित्त विधेयक पेश कर राज्य के अगले वित्त वर्ष के बजट को पास कर दिया। विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि सदन के पास सत्र के लिए कोई कार्य शेष नहीं रह गया है। ऐसे में विधानसभा को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया जाता है। संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने व्हिप का उल्लंघन करने पर विधानसभा अध्यक्ष से कांग्रेस के छह विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। भोजनावकाश के बाद हर्षवर्धन चौहान ने यह मामला उठाते हुए कहा कि बीते रोज कटौती प्रस्तावों के दौरान हाजिर रहने के लिए कांग्रेस ने अपने विधायकों को व्हिप जारी किया था, लेकिन पार्टी के छह विधायक सदन से गैर हाजिर रहे। उन्होंने कहा कि पार्टी व्हिप का उल्लंघन करना दलबदल विरोधी कानून के दायरे में आता है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से इनके खिलाफ इस कानून के तहत कार्रवाई का आग्रह किया। विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि यह मामला उनके ध्यान में है और वे इसका संज्ञान लेंगे । जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्रवाई को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के आगामी लोकसभा चुनाव में रिकॉर्ड सीटों के साथ जीत का दावा करते हुए कहा कि हम इस बार 400 सीटें पार करेंगे। उन्होंने कहा कि अगले पांच साल और भी तेजी से विकास के होंगे। प्रधानमंत्री ने बुधवार को महाराष्ट्र के यवतमाल में 4900 करोड़ रुपये से अधिक की रेल, सड़क और सिंचाई से संबंधित कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और लोकार्पण किया। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान पीएम किसान और अन्य योजनाओं के तहत लाभ भी जारी किए। प्रधानमंत्री ने पूरे महाराष्ट्र में 1 करोड़ आयुष्मान कार्डों के वितरण की भी शुरुआत की और ओबीसी श्रेणी के लाभार्थियों के लिए मोदी आवास घरकुल योजना शुरू की। उन्होंने दो ट्रेन सेवाओं को भी हरी झंडी दिखाई। प्रधानमंत्री ने यवतमाल शहर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का भी उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए छत्रपति शिवाजी की भूमि को नमन किया और धरती पुत्र बाबा साहेब अंबेडकर को भी श्रद्धांजलि दी। उन्होंने 10 साल पहले महाराष्ट्र के यवतमाल में अपने चाय पर चर्चा कार्यक्रम को याद किया। उन्होंने कहा कि मैं 10 साल पहले जब ‘चाय पर चर्चा’ करने यवतमाल आया था, तो आपने बहुत आशीर्वाद दिया और देश की जनता ने एनडीए को 300 (सीटें) पार पहुंचा दिया। फिर मैं 2019 में फरवरी के महीने में ही यवतमाल आया था। तब भी आपने हम पर खूब प्रेम बरसाया। देश ने भी तब एनडीए को 350 (सीटें) पार करा दिया। आज जब 2024 (लोकसभा) के चुनाव से पहले मैं विकास के उत्सव में शामिल होने आया हूं, तब पूरे देश में एक ही आवाज गूंज रही है। अबकी बार 400 पार। उन्होंने कहा कि हम राष्ट्र के निर्माण और देशवासियों का जीवन बदलने के लिए एक मिशन लेकर निकले हुए लोग हैं। इसलिए बीते 10 वर्ष में जो कुछ किया, वो आने वाले 25 वर्ष की नींव है। मैंने भारत के कोने-कोने को विकसित बनाने का संकल्प लिया है। इस संकल्प की सिद्धि के लिए शरीर का कण-कण, जीवन का क्षण-क्षण समर्पित है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को विकसित बनाने के लिए चार सबसे बड़ी प्राथमिकता गरीब, किसान, नौजवान और नारीशक्ति हैं। ये चारों सशक्त हो गए, तो हर समाज, हर वर्ग, देश का हर परिवार सशक्त हो जाएगा।   विपक्ष पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आप याद कीजिए, ये जो इंडी गठबंधन है, इसकी जब केंद्र में सरकार थी, तब क्या स्थिति थी? तब तो कृषि मंत्री भी यहीं महाराष्ट्र से ही थे। उस समय दिल्ली से विदर्भ के किसानों के नाम पर पैकेज घोषित होता था और उसे बीच में ही लूट लिया जाता था। गांव, गरीब, किसान, आदिवासी को कुछ नहीं मिलता था। आज देखिए, मैंने एक बटन दबाया और देखते ही देखते, पीएम किसान सम्मान निधि के 21 हजार करोड़ रुपये देश के करोड़ों किसानों के खाते में पहुंच गए। यही तो मोदी की गारंटी है। उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार थी, तब दिल्ली से 1 रुपया निकलता था, 15 पैसा पहुंचता था। अगर कांग्रेस की सरकार होती, तो आज जो आपको 21 हजार करोड़ रुपये मिले हैं, उसमें से 18 हजार करोड़ रुपये बीच में ही लूट लिये जाते। अब भाजपा सरकार में गरीब का पूरा पैसा, गरीब को मिल रहा है।   प्रधानमंत्री ने कहा कि विकसित भारत के लिए गांव की अर्थव्यवस्था का सशक्त होना बहुत जरूरी है। इसलिए बीते 10 वर्षों में हमारा निरंतर प्रयास रहा है कि गांव में रहने वाले हर परिवार की परेशानियों को दूर करें, उन्हें आर्थिक संबल दें। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से लेकर 2014 तक देश के गांव में 100 में से लगभग 15 परिवार ही ऐसे थे जिनके घर पाइप से पानी आता था। इनमें से अधिकतर गरीब, दलित, पिछड़े और आदिवासी ही थे। ये हमारी माताओं-बहनों के लिए बहुत बड़ा संकट था। इस स्थिति से माताओं-बहनों को बाहर निकालने के लिए ही लाल किले से मोदी ने हर घर जल की गारंटी दी थी। 4-5 साल के भीतर ही आज हर 100 में से 75 ग्रामीण परिवारों तक पाइप से पानी पहुंच चुका है।   उन्होंने कहा कि जिनको कभी किसी ने नहीं पूछा, उनको मोदी ने पूछा है, उनको पूजा है। विश्वकर्मा साथियों के लिए, बलुतेदार समुदायों के कारीगरों के लिए, कभी कोई बड़ी योजना नहीं बनी। मोदी ने पहली बार 13 हजार करोड़ रुपये की पीएम विश्वकर्मा योजना शुरू की है।   प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के समय में आदिवासी समाज को हमेशा सबसे पीछे रखा गया, उन्हें सुविधाएं नहीं दीं लेकिन मोदी ने जनजातीय समाज में भी सबसे पिछड़ी जनजातियों तक की चिंता की है। पहली बार उनके विकास के लिए 23 हजार करोड़ रुपये की पीएम-जनमन योजना शुरू हो चुकी है। ये योजना महाराष्ट्र के कातकरी, कोलाम और माडिया जैसे अनेक जनजातीय समुदायों को बेहतर जीवन देगी।

Kolar News

Kolar News

जामताड़ा । राज्य के जामताड़ा जिले के जामताड़ा-करमाटांड़ के कलझारिया के पास बुधवार देर शाम ट्रेन की चपेट में आने से 12 लोगों की मौत हो गई। बताया जाता है कि अंग एक्सप्रेस में आग लगने की सूचना पर यात्री ट्रेन से कूद गये। इसी बीच सामने से आ रही झाझा-आसनसोल ट्रेन यात्रियों के ऊपर से गुजर गई। इस हादसे में अबतक कुल 12 लोगों की मौत हुई है जबकि कुछ लोग घायल हैं।     जानकारी के मुताबिक, घटनास्थल पर रेलवे प्रशासन, रेल पुलिस और स्थानीय प्रशासन पहुंच चुका है। घायलों को अस्पताल पहुंचाने की तैयारी चल रही है। अंग एक्सप्रेस में आग लगने की सूचना पर ट्रेन को रोक दी गई। इस बीच आग लगने की सूचना से डरे-सहमे यात्री ट्रेन से कूद गये। इस दौरान सामने से आ रही झाझा-आसनसोल ट्रेन यात्रियों के ऊपर से गुजर गई।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के मिशन गगनयान के पहले क्रू मिशन के लिए मंगलवार को नामित किये गए चार अंतरिक्ष यात्री भारतीय वायु सेना के लड़ाकू वायु योद्धा हैं। ऐतिहासिक मिशन के लिए प्रशिक्षण ले रहे इन वायु योद्धाओं ने वायु सेना के लिए कई अहम मिशन में योगदान दिया है। इनकी योग्यता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इन सभी के पास 2 से 3 हजार घंटे वायु सेना के फाइटर जेट उड़ाने का अनुभव है। मिशन गगनयान के लिए वायु सेना के ग्रुप कैप्टन प्रशांत बालकृष्णन नायर, ग्रुप कैप्टन अजीत कृष्णन, ग्रुप कैप्टन अंगद प्रताप और विंग कमांडर शुभांशु शुक्ला का चयन किया गया है। इन चारों से आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) से मुलाक़ात करके उन्हें सम्मानित भी किया। वायुसेना के 25 पायलट्स में से चार फाइटर पायलट्स को पिछले साल 'मिशन गगनयान' के लिए चुना गया था। इन्हें एक साल का अंतरिक्ष यात्री प्रशिक्षण लेने के लिए रूस भेजा गया था, जहां इन्हें ट्रेनिंग देने के लिए इसरो ने रूसी संगठन ग्लेवकोस्मोस के साथ अनुबंध किया था। रूस से प्रशिक्षण लेकर लौटे ग्रुप कैप्टन प्रशांत बालकृष्णन नायर, अंगद प्रताप, अजीत कृष्णन और विंग कमांडर शुभांशु शुक्ला इस समय ऐतिहासिक मिशन के लिए बेंगलुरु में प्रशिक्षण ले रहे हैं। रूस में चारों अंतरिक्ष यात्रियों को सामान्य प्रशिक्षण दिए गए हैं लेकिन अब इन्हें गगनयान-विशिष्ट प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिनमें चिकित्सा प्रशिक्षण, मनोवैज्ञानिक प्रशिक्षण, उन्नत प्रशिक्षण और उड़ान सिमुलेशन प्रशिक्षण शामिल हैं। चिकित्सा प्रशिक्षण 'मिशन गगनयान' की लॉन्चिंग के समय तक चलेगा। अंतरिक्ष यात्रियों को दिया जाने वाला मनोवैज्ञानिक प्रशिक्षण शून्य-गुरुत्वाकर्षण वातावरण, कार्य थकान, तनाव प्रबंधन करने में मदद करेगा। इससे उन्हें अंतरिक्ष में जाने और सुरक्षित रूप से वापस आने में मदद मिलेगी। ग्रुप कैप्टन प्रशांत बालकृष्णन नायर गगनयान हिस्से के रूप में कम-पृथ्वी की कक्षा में उड़ान भरने वाले चार नामित अंतरिक्ष यात्रियों में से एक ग्रुप कैप्टन प्रशांत बालकृष्णन नायर सेवानिवृत्त इंजीनियर के पुत्र हैं। वह पलक्कड़ के नेम्मारा गांव के रहने वाले और एनडीए के पूर्व छात्र हैं। उन्हें वायु सेना अकादमी में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया था। उन्हें 19 दिसंबर, 1998 को भारतीय वायु सेना की फाइटर स्ट्रीम में कमीशन दिया गया था। वह एक कैट ए उड़ान प्रशिक्षक और एक परीक्षण पायलट हैं, जिनके पास लगभग 3,000 घंटे की उड़ान का अनुभव है। उन्होंने कई प्रकार के विमान उड़ाए हैं, जिनमें सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29, हॉक, डोर्नियर, एएन-32 आदि हैं। उन्होंने लड़ाकू विमान सुखोई-30 स्क्वाड्रन की कमान संभाली है। ग्रुप कैप्टन अंगद प्रताप प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) में 17 जुलाई, 1982 को जन्मे ग्रुप कैप्टन अंगद प्रताप राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र हैं। वह 18 दिसंबर, 2004 को भारतीय वायु सेना की लड़ाकू स्ट्रीम में नियुक्त हुए थे। वह एक उड़ान प्रशिक्षक और एक परीक्षण पायलट है। उनके पास लगभग 2,000 घंटे की उड़ान का अनुभव है। उन्होंने कई प्रकार के विमान उड़ाए हैं, जिनमें सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29, जगुआर, हॉक, डॉर्नियर, एएन-32 आदि शामिल हैं। ग्रुप कैप्टन अजीत कृष्णन तमिलनाडु के चेन्नई में 19 अप्रैल, 1982 को पैदा हुए ग्रुप कैप्टन अजीत कृष्णन राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र हैं। उन्हें वायु सेना अकादमी में राष्ट्रपति के स्वर्ण पदक और स्वॉर्ड ऑफ ऑनर दिया जा चुका है। उन्हें 21 जून, 2003 को भारतीय वायु सेना की फाइटर स्ट्रीम में कमीशन दिया गया था। वह एक उड़ान प्रशिक्षक और परीक्षण पायलट हैं। उनके पास लगभग 2,900 घंटे की उड़ान का अनुभव है। उन्होंने कई प्रकार के विमान उड़ाए हैं, जिनमें सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29, जगुआर, हॉक, डोर्नियर, एएन-32 आदि शामिल हैं। वह डीएसएससी, वेलिंगटन के पूर्व छात्र भी हैं। विंग कमांडर शुभांशु शुक्ला उत्तर प्रदेश के लखनऊ में 10 अक्टूबर, 1985 को पैदा हुए विंग कमांडर शुभांशु शुक्ला भी राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र हैं। उन्हें 17 जून, 2006 को भारतीय वायु सेना की लड़ाकू स्ट्रीम में नियुक्त किया गया था। वह लगभग 2,000 घंटे की उड़ान के अनुभव के साथ लड़ाकू परीक्षण पायलट हैं। उन्होंने कई प्रकार के विमान उड़ाए हैं, जिनमें सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29, जगुआर, हॉक, डोर्नियर, एएन-32 आदि शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News

बीजापुर। जिले के थाना जांगला क्षेत्रान्तर्गत बड़े तुंगाली-छोटेतुंगाली के जंगल में प्रतिबंधित नक्सली संगठन पश्चिम बस्तर डिविजन के कंपनी नम्बर 02 के प्लाटून कमाण्डर प्रशांत, माटवाड़ा एलओएस कमाण्डर अनिल पूनेम, भैरमगढ़ एरिया जनताना सरकार अध्यक्ष एसीएम राजेश एवं भैरमगढ़ एरिया कमेटी के 40-50 नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना पर डीआरजी, बस्तर फाइटर, केरिपु की संयुक्त बल अभियान पर निकली थी। इस दौरान मंगलवार को हुई मुठभेड़ में चार नक्सली मारे गये हैं। मुठभेड़ के बाद सर्चिंग में मौके से चारों नक्सलियों के शव के साथ मौके से 315 देशी कटटा, चार जिंदा कारतुस, बीजीएल लांचर, एक भरमार बंदूक, तीन टिफिन बम, कार्डेक्स वायर, दस जिलेटिन स्टीक, सेफ्टी फ्यूज-15 मीटर,दो वाकी टॉकी वायरलेस सेट मय बैटरी, तीर-धनुष, कुल्हाडी, चाकू, मेडिकल बॉक्स, डिजिटल मल्टी मीटर, नक्सली वर्दी, पिटठू एवं अन्य नक्सल सामग्री बरामद किया गया है। मारे गये नक्सलियों के शव की शिनाख्तगी की कार्यवाही जारी है। बीजापुर एसपी जितेंद्र यादव ने मुठभेड़ की पुष्टि की है।

Kolar News

Kolar News

मदुरै/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऑटोमोबाइल उद्योग को अर्थव्यवस्था का एक पावरहाउस बताया और विश्वास व्यक्त किया कि ऑटोमोबाइल उद्योग के साथ-साथ विकसित भारत के विकास को आवश्यक प्रोत्साहन मिलेगा। प्रधानमंत्री मंगलवार को तमिलनाडु के मदुरै में 'क्रिएटिंग द फ्यूचर-डिजिटल मोबिलिटी फॉर ऑटोमोटिव एमएसएमई उद्यमियों' कार्यक्रम में ऑटोमोटिव क्षेत्र में काम करने वाले हजारों सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) उद्यमियों को संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने गांधीग्राम में प्रशिक्षित महिला उद्यमियों और स्कूली बच्चों से भी बातचीत की।   प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रौद्योगिकी और नवाचार क्षेत्र के दिग्गजों के बीच उपस्थित होना एक सुखद अनुभव है। उन्होंने कहा कि यह भावना भविष्य को गढ़ने वाली प्रयोगशाला में जाने के समान है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब प्रौद्योगिकी की बात आती है, खासकर ऑटोमोटिव क्षेत्र में, तो तमिलनाडु ने वैश्विक मंच पर अपनी योग्यता साबित की है। उन्होंने कार्यक्रम की थीम 'भविष्य का निर्माण-ऑटोमोटिव एमएसएमई उद्यमियों के लिए डिजिटल गतिशीलता' पर प्रसन्नता व्यक्त की और सभी एमएसएमई और आकांक्षी युवाओं को एक मंच पर लाने के लिए टीवीएस कंपनी को बधाई दी।   प्रधानमंत्री ने एमएसएमई को औपचारिक बनाने की दिशा में एमएसएमई की परिभाषा में संशोधन जैसे कदमों की ओर भी इशारा किया, जिससे एमएसएमई के आकार में वृद्धि का रास्ता साफ हो गया है। मोदी ने कहा कि भारत सरकार आज हर उद्योग के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। उन्होंने कहा कि पहले छोटी-छोटी बातों के लिए भी सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे, चाहे वह उद्योग हो या व्यक्ति, लेकिन आज की सरकार हर क्षेत्र की समस्याओं से निपट रही है। उन्होंने पिछले कुछ वर्षों में 40,000 से अधिक अनुपालनों को समाप्त करने और व्यवसाय-संबंधी कई छोटी गलतियों को अपराधमुक्त करने का उल्लेख किया।   प्रधानमंत्री ने कहा कि चाहे नई लॉजिस्टिक्स नीति हो या जीएसटी, इन सभी ने ऑटोमोबाइल क्षेत्र के लघु उद्योगों को मदद की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने पीएम गतिशक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान बनाकर भारत में बुनियादी ढांचे के विकास को एक दिशा दी है, जिसके तहत डेढ़ हजार से अधिक परतों में डेटा को संसाधित करके बहु-शक्ति को बड़ी शक्ति देकर भविष्य का बुनियादी ढांचा तैयार किया जा रहा है।   प्रधानमंत्री ने उद्यमियों से इलेक्ट्रिक वाहन की बढ़ती मांग के अनुरूप अपनी क्षमता बढ़ाने का अनुरोध किया। मोदी ने रूफटॉप सोलर के लिए हाल ही में लॉन्च की गई पीएम सूर्यघर योजना का उल्लेख किया जो लाभार्थियों को मुफ्त बिजली और अतिरिक्त आय प्रदान करेगी। एक करोड़ घरों के शुरुआती लक्ष्य के साथ, प्रधानमंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहन को घरों में अधिक सुलभ चार्जिंग स्टेशन मिलेंगे।   प्रधानमंत्री ने सरकार की स्क्रैपिंग नीति की चर्चा करते हुए सभी पुराने वाहनों को नए आधुनिक वाहनों से बदलने की इच्छा व्यक्त की और हितधारकों से अधिकतम लाभ उठाने का आग्रह किया। उन्होंने जहाज निर्माण के नवोन्मेषी और नियोजित तरीकों और इसके हिस्सों के पुनर्चक्रण के लिए बाजार के साथ आगे आने के बारे में भी बात की। प्रधानमंत्री ने ट्रक ड्राइवरों के सामने आने वाली चुनौतियों पर भी प्रकाश डाला और हाईवे पर ड्राइवरों की सुविधाओं के लिए 1,000 विश्राम केंद्र बनाने का जिक्र किया।   उन्होंने कहा कि आज देश के एमएसएमई के भविष्य को देश के भविष्य के तौर पर देख रहा है। पैसे से लेकर प्रतिभा तक एमएसएमई के संसाधनों में वृद्धि के लिए चौतरफा काम हो रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब देश में नई प्रौद्योगिकियां आएंगी तो इससे भारत में वैश्विक निवेश आएगा। ये एमएसएमई के लिए एक बहुत बड़ा अवसर है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को वादा किया है कि सरकार में आने पर सेना में भर्ती से जुड़ी अग्निपथ योजना को खत्म कर पुरानी भर्ती प्रक्रिया लागू की जाएगी। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को पत्र लिखकर योजना को लेकर अपनी चिंताएं जाहिर की थी। कांग्रेस नेता सचिन पायलट और रणदीप हुड्डा ने पार्टी मुख्यालय में इस संबंध में पत्रकार वार्ता में कहा कि कांग्रेस पार्टी देश की सेना में अपना भविष्य देखने वाले युवाओं के साथ खड़ी है। सचिन पायलट ने कहा कि अग्निपथ योजना का कांग्रेस पार्टी ने शुरुआत से ही विरोध किया है। ये सेना के साथ खिलवाड़ है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार 14 जून को अग्निपथ योजना लाई थी। सरकार का यह निर्णय एकतरफा था। इसका उद्देश्य सेना की औसत आयु को कम और सेना का आधुनिकीकरण करना बताया गया था। असल में मोदी सरकार ने इस योजना को पैसा बचाने के लिए शुरू किया। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार रक्षा निर्यात से बहुत पैसा कमा रही है। अगर रक्षा क्षेत्र सक्षम है तो सरकार को हमारे सैनिकों के जीवन, उनके पेंशन और परिवार की सुख-सुविधाओं के लिए काम करना चाहिए। कांग्रेस नेता दीपेन्द्र हु्ड्डा ने कहा कि देश में कोविड के दौरान और उससे पहले सेना की कई भर्तियां पूरी हो चुकी थीं। केवल जॉइनिंग बाकी थी। इससे पहले ही सरकार अग्निपथ योजना ले आई। सरकार ने चयनित नौजवानों को जॉइनिंग नहीं दी। इन नौजवानों ने राहुल गांधी से मिलकर अपना दर्द साझा किया था। राहुल गांधी इनकी आवाज लगातार उठा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर इन चयनित नौजवानों को जॉइनिंग देने की मांग की है। कांग्रेस इन नौजवानों के साथ है। इनकी जॉइनिंग होने तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी। हुड्डा ने पूछा कि सरकार किसके कहने पर अग्निपथ योजना लेकर आई है। उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना की मांग न सेना ने रखी थी और न ही भर्ती होने वाले नौजवानों ने रखी थी। पूर्व सेना अध्यक्ष एमएम नरवणे भी कह चुके हैं कि ‘सरकार का अग्निपथ योजना लाने का फैसला चौंकाने वाला था।’

Kolar News

Kolar News

चेन्नई। तमिल मनीला कांग्रेस ने भाजपा नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल होने और इस गठबंधन के तहत लोकसभा चुनाव में उतरने का फैसला किया है। पार्टी अध्यक्ष जीके वासन ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अपने साइकिल चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ेगी न कि भाजपा के कमल चिह्न पर। यह पूछे जाने पर कि तमिल मनीला कांग्रेस कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी, उन्होंने कहा कि यह निर्णय गठबंधन में शामिल होने के बाद किया जाएगा। वासन ने कहा कि भाजपा के तमिलनाडु प्रभारी अरविंद मेनन ने रविवार को उनसे मुलाकात की थी और उसके बाद उनकी पार्टी ने यह निर्णय लिया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के अन्नामलाई ने सोमवार को वासन से उनके कार्यालय में मुलाकात की और उन्हें 27 फरवरी को तिरुपुर में अपनी पदयात्रा समापन समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। वासन ने कहा कि वे समारोह में जरूर शामिल होंगे। इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मौजूद रहेंगे।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 41 हजार करोड़ रुपये से अधिक की लगभग 2 हजार रेलवे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का शिलान्यास, उद्घाटन और लोकार्पण किया। लीकेज और घोटालों को रोकने को अपनी सरकार की उपलब्धि के तौर पर गिनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बजटीय आवंटन अधिक होने पर भी लीकेज से विकास बाधित होता है। 2014 से पहले की तुलना में नई रेलवे लाइनें बिछाने की गति दोगुनी हो गई है। युवाओं को आधुनिक परियोजनाओं का शीर्ष लाभार्थी मानते हुए उन्होंने कहा कि इससे उनके लिए रोजगार के नये अवसर उपलब्ध होंगे। ‘विकसित भारत’ युवा आकांक्षाओं का भारत है। वे युवाओं से कहना चाहते हैं, “उनकी आकांक्षाएं ही मेरा संकल्प हैं! मेरे संकल्प के साथ आपके सपने और कड़ी मेहनत ही 'विकसित भारत' की गारंटी है।” आधुनिक ढांचागत सुविधाओं को निवेश के लिए जरूरी बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले 5 वर्षों में हजारों स्टेशनों के आधुनिक होने पर भारतीय रेल की क्षमता बढ़ेगी और निवेश की एक बहुत बड़ी क्रांति आएगी। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम को नये भारत की कार्यशैली का प्रतीक बताया और कहा कि अब भारत अभूतपूर्व स्तर पर अभूतपूर्व गति से काम कर रहा है। छोटी-छोटी आकांक्षाओं से अलग होकर आज का भारत बड़े सपने देखने और उन सपनों को जल्द से जल्द साकार करने की ओर बढ़ चुका है। अपनी सरकार की वापसी पर विश्वास जताते हुए प्रधानमंत्री ने अगले कार्यकाल में विकास की गति को और अधिक विस्तार और गति देने का वादा किया। उन्होंने कहा कि इस सरकार के तीसरे टर्म की शुरुआत जून महीने से होने वाली है लेकिन अभी से जिस स्तर और गति से काम होना शुरू हो गया है, वो सबको हैरत में डालने वाला है। प्रधानमंत्री ने आज 27 राज्यों के करीब 300 से अधिक जिलों में 550 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों के कायाकल्प का शिलान्यास किया। इसमें 1,500 से ज्यादा रोड, ओवरब्रिज, अंडरपास जैसी परियोजनाएं भी शामिल हैं। 40 हजार करोड़ की परियोजनाएं एक साथ जमीन पर उतर रही हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में रेलवे में अभूतपूर्व कार्य हुआ है। कभी कल्पना में जिन बातों को सोचा जाता था, आज वे हकीकत बन रही हैं। एक दशक पहले तक अमृत भारत जैसी आधुनिक ट्रेन की कल्पना बहुत मुश्किल थी। एक दशक पहले तक नमो भारत जैसी शानदार रेल सेवा के बारे में किसी ने कभी सोचा नहीं था। बीते 10 वर्षों में नई रेलवे लाइन बिछाने की गति दोगुनी हो गई है। जम्मू-कश्मीर से लेकर पूर्वोत्तर तक भारतीय रेल पहुंच रही है।

Kolar News

Kolar News

खजुराहो। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बीते दस साल में नरेन्द्र मोदी ने देश में ढेरों बदलाव किए हैं। ये दस साल भारत के विकास, भारत के 60 करोड़ गरीबों के कल्याण, देश को आतंकवाद से मुक्त कराने के, महिला शक्ति को संसद और विधानसभा में 33 फीसदी आरक्षण देकर सम्मान देने के हैं। इन्हीं दस सालों में भारत ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर कदम रखा और शिवशक्ति पाइंट पर तिरंगा फहराया। लेकिन आने वाला चुनाव भारत को महान बनाने का चुनाव है। भारत को महाशक्ति बनाने का चुनाव है। आने वाला चुनाव भारत को दुनिया में तीसरे नंबर का अर्थतंत्र बनाने का चुनाव है। मैं आज एक बार फिर मध्यप्रदेश की जनता के सामने झोली लेकर आया हूं और अपील करता हूं, आप इस बार 29 सीटों के कमल मोदी की झोली में डाल दीजिए, हम मध्यप्रदेश और भारत को पूर्ण विकसित बनाएंगे।   केन्द्रीय गृह मंत्री शाह रविवार को खजुराहो में आयोजित बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बूथ समिति कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज में यहां 23 हजार बूथ कार्यकर्ताओं से बातचीत करने के लिए आया हूं। यह विजय का संकल्प लेने का सम्मेलन है, मोदी के नेतृत्व में 400 से ज्यादा सीटें लेकर सरकार बनाने का संकल्प लेने का सम्मेलन है।   अपने बूथ पर कमल खिलाने का संकल्प लें उन्होंने कहा कि अन्य पार्टियां कई कारणों से चुनाव जीत सकती हैं, लेकिन भाजपा अपने बूथ के कार्यकर्ताओं के दम पर ही चुनाव जीतती है। विधानसभा चुनाव में मिली जीत भी आपके परिश्रम,पसीने और पुरुषार्थ से मिली है। इस बार मोदी ने 400 पार का लक्ष्य दिया है और यह लक्ष्य बूथ के कार्यकर्ताओं के बिना हासिल नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश राजमाता विजयाराजे सिंधिया की भूमि है, कुशाभाऊ ठाकरे की भूमि है, कमल की भूमि है। बूथ के कार्यकर्ता हर लाभार्थी से, हर युवा से, हर माता बहन, हर किसान से संपर्क करें और हर बूथ पर नरेंद्र मोदी बनकर खड़े रहें। हर कार्यकर्ता चट्टान की तरह अपने बूथ पर खड़े रहकर कमल खिलाने का संकल्प लें। भाजपा की सरकार ने पूरा किया हर वादा केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि बीते 10 सालों में हमारी सरकार ने हर वादा पूरा किया है। 2019 में राहुल बाबा ताना मारते थे- मंदिर वहीं बनाएंगे पर तारीख नहीं बताएंगे। 22 जनवरी 2024 को रामलला 500 सालों के बाद भव्य मंदिर में विराजमान हो गए हैं। जिस राम मंदिर के मुद्दे को कांग्रेस ने सालों तक अटकाकर, भटकाकर और लटकाकर रखा, उसका मोदी ने भूमिपूजन किया और प्राण प्रतिष्ठा कर करोड़ों रामभक्तों की इच्छा को पूरा किया।   उन्होंने कहा कि हमने कहा था कि अनुच्छेद 370 को हटाकर रहेंगे, इस देश के अंदर दो निशान, दो विधान, दो प्रधान नहीं रह सकते। हमारा नारा था ’जहां हुए बलिदान मुखर्जी वह कश्मीर हमारा है’। मोदी के नेतृत्व में 5 अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया और आज कश्मीर भारत का मुकुटमणि बनकर हमारे सामने है। हमने सेना के रिटायर्ड जवानों को ’वन रैंक, वन पेंशन’ का वादा किया था और मोदी ने ये वादा भी पूरा कर दिया। हमने वादा किया था कि तीन तलाक को समाप्त कर देंगे, मोदी ने मुस्लिम माता-बहनों के कल्याण के लिए ट्रिपल तलाक की प्रथा को भी समाप्त कर दिया। हमने वादा किया था कि विधानसभा और लोकसभा में 33 प्रतिशत आरक्षण माता-बहनों को देंगे, हमारी सरकार ने ये वादा भी पूरा कर दिया। मोदी के शासन में नई संसद बनी, कर्तव्य पथ बना, महाकाल महालोक बना, केदारनाथ धाम, बद्रीनाथ धाम और सोमनाथ का मंदिर बना। काशी विश्वनाथ का गलियारा बना और राम मंदिर पर भी ध्वजा फहरा दी गई।   मोदी सरकार ने बदला गरीबों का जीवन शाह ने कहा कि हमने कहा था कि हम गरीबों के कल्याण के लिए काम करेंगे। जब मोदी जी प्रधानमंत्री बने तब उन्होंने कहा था कि भाजपा की सरकार गरीबों, दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों को समर्पित रहेगी। हमने 80 करोड़ से ज्यादा गरीबों को प्रतिमाह, प्रति व्यक्ति 5 किलो मुफ्त अनाज देने का काम किया। 12 करोड़ से ज्यादा शौचालय बनाकर माता और बहनों को सम्मान करने का काम किया। चार करोड़ लोगों को घर दिया, 10 करोड़ माताओं को गैस का सिलेंडर दिया, 14 करोड़ परिवारों को नल से जल और 11 करोड़ किसानों को 6 हजार रूपए प्रति वर्ष देने का काम किया। हमारी सरकार 60 करोड़ लोगों को पांच लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की सुविधा दे रही है। कांग्रेस करती है देश और सनातन का अपमान उन्होंने कहा कि सोनिया-मनमोहन की सरकार के 10 सालों में आए दिन पाकिस्तान से आलिया, मालिया, जमालिया आते थे और हमला करके भाग जाते थे। उन्हें याद नहीं रहा कि अब मोदी की सरकार है। जब उन्होंने उरी और पुलवामा में हमला किया, तो मोदी जी की सरकार ने 10 दिनों में सर्जिकल और एयर स्ट्राइक करके आतंकवादियों को उनके घर में घुसकर मारने का काम किया। कांग्रेस ने हमेशा सनातन धर्म का अपमान किया। उनके साथी सनातन धर्म को गालियां देते हैं। कांग्रेस ने राजा भोज के नाम पर मेट्रो का विरोध किया, रविदास मंदिर का विरोध किया, मां नर्मदा के जयकारे का विरोध किया और भारतीय संस्कृति को हमेशा अपमानित करने का काम किया। लेकिन मोदी भारत तो छोड़िए, यूएई में भी भव्य मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा करके आए हैं।   कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक-दूसरे के पर्याय शाह ने कहा कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार पर्यायवाची शब्द हैं। कांग्रेस का मतलब भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचार का मतलब है कांग्रेस पार्टी। कांग्रेस ने अपने शासन के 10 सालों में 12 लाख करोड़ के घपले-घोटाले किये। कोल घोटाला, कॉमनवेल्थ घोटाला, टूजी, आईमेक्स मीडिया, एयरसेल मैक्सिस, जम्मू क्रिकेट एसोसिएशन, एम्ब्रेयर एयर और अगस्ता वेस्टलैंड जैसे कई घोटाले किए। अब मोदी सरकार के 10 साल पूरे होने जा रहे हैं, लेकिन हमारे विरोधी भी मोदी पर एक कानी-पाई का आरोप नहीं लगा सके हैं। मोदी ने पारदर्शी शासन देने का काम किया है। सम्मेलन को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी संबोधित किया।

Kolar News

Kolar News

ओखा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार सुबह ओखा और बेट द्वारका को जोड़ने वाले सुदर्शन सेतु का लोकार्पण किया। सुबह बेट द्वारका मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना करने के बाद सुबह 8.25 बजे सुदर्शन सेतु का लोकार्पण किया। प्रधानमंत्री यहां से द्वारका तक रोड शो करने के बाद द्वारका में जगत मंदिर पहुंचेंगे। यहां द्वारकाधीश का दर्शन करने के बाद दिन के 12.30 बजे सभा को संबोधित करेंगे। इसी स्थल से प्रधानमंत्री देवभूमि द्वारका, जामनगर और पोरबंदर जिले के 4 हजार करोड़ रुपये से अधिक के 11 विकास प्रकल्पों का लोकार्पण और भूमिपूजन करेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस ओखा-बेट द्वारका ब्रिज के लिए 7 अक्टूबर 2017 को भूमिपूजन किया था, रविवार को उस सुदर्शन सेतु का लोकार्पण किया। ब्रिज से उन्होंने समुद्र का नजारा देखा और नावों पर सवार लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। करीब 978.93 करोड़ की लागत से 2320 मीटर लंबे ब्रिज के बनने से ओखा और बेट द्वारका जाने का मार्ग सरल हो जाएगा। अभी तक श्रद्धालु द्वारकाधीश के निवास स्थान बेट द्वारका जाने के लिए नाव का सहारा लेते हैं। इस ब्रिज पर सरपट गाड़ियों के दौड़ने से जहां लोगों का समय बचेगा वहीं, समुद्र के खतरों से भी लोगों का बचाव होगा। बोट के जरिए लोगों को ओखा से बेट द्वारका जाने के लिए 30 से 40 मिनट का समय लगता था, जो अब 5 से 10 मिनट हो जाएगा। फोर लेन यह ब्रिज 900 मीटर लाँग सेंट्रल केबल मॉडयूल आधारित है। द्वारका में करेंगे सभा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 फरवरी को द्वारका में आम सभा को संबोधित करेंगे। यहां से वे जामनगर, देवभूमि द्वारका तथा पोरबंदर जिलों में 4153 करोड़ रुपये मूल्य की 11 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे। इन तीनों जिलों को शामिल कर लेने वाले विकास कार्यों में सड़क एवं भवन, शहरी विकास, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालय, रेलवे तथा ऊर्जा एवं पेट्रो रसायन विभाग की 11 परियोजनाएं शामिल हैं।

Kolar News

Kolar News

  लगेगी शांडिल्य गुरु की प्रतिमा      कोलार रोड के दूसरे छोर भदभदा चौराहे पर उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने  ब्रह्मलीन बालगोविंद शांडिल्य गुरुजी की प्रतिमा स्थापना तथा चौराहे के सौंदर्यीकरण का भूमि-पूजन किया। सौंदर्यीकरण के लिये 8 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं।   श्री गुप्ता ने कहा कि सरकार शहर के विकास के लिये सतत प्रयत्नशील है। उन्होंने शासन की विभिन्न जन-कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। श्री गुप्ता ने कहा कि नागरिक शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिये आगे आयें। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि घर-घर जाकर नागरिकों को शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिये प्रेरित करें। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे। उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा कोटरा में सड़क भूमि-पूजन उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने आई-5 शासकीय आवास कोटरा के पास सड़क निर्माण का भूमि-पूजन किया। सड़क की लागत 20 लाख है। श्री गुप्ता ने सड़क का कार्य गुणवत्तापूर्ण करवाने के निर्देश दिये। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

      मध्यप्रदेश के प्राचीन मंदिरों में भगवान के दर्शन के लिए पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को अब प्रदेश के पुरावैभव, कला और संस्कृति की झलक भी वहां देखने को मिलेगी। इसके लिए राज्य सरकार मंदिरों में संग्रहालयों का निर्माण कराएगी। इस योजना को संस्कृति, धर्मस्व और पुरातत्व विभाग मिलकर अंजाम देंगे। मध्यप्रदेश में इस समय कई प्रसिद्ध मंदिर है जहां हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है। लेकिन इन मंदिरों में फिलहाल प्रदेश की कला-संस्कृति, इतिहास  और पुरावैभव की झलक दिखाने वाले संग्रहालय नहीं है। राज्य सरकार का सोचना है कि जो श्रद्धालु प्रदेश के प्राचीन मंदिरों में पहुंच रहे है वहां उन्हें भगवान के दर्शन के साथ-साथ प्रदेश के पुरावैभव और कला तथा संस्कृति से भी अवगत कराया जाए। इसके लिए इन मंदिरों के ट्रस्टों के पास मौजूद अपार धनराशि का उपयोग किया जाएगा। इन मंदिरों में सबसे पहले बनेंगे संग्रहालय- मध्यप्रदेश में उज्जैन में महाकाल मंदिर, खजराना मंदिर, सतना के मैहर मंदिर, पशुपतिनाथ मंदिर सहित कई ऐसे प्रमुख मंदिर है जहां मंदिरों की देखरेख और संरक्षण के लिए बनाए गए ट्रस्टों के पास श्रद्धालुओं के दान से मिली अपार धन संपदा स्थित है। इन्हीं मंदिरों में सबसे पहले संग्रहालय बनाने की शुरुआत की जाएगी।  इन मंदिरों के समीप काफी जमीन और भवन स्थित है। शिव मंदिरों में सभी बारह ज्योर्तिलिंगों के बारे में पूरी जानकारी एकत्रित कर प्रदर्शित की जाएगी। इसी तरह गणेश मंदिरों में गणेशजी के सभी स्वरुपों उनके इतिहास और महत्व को प्रदर्शित किया जाएगा। भोपाल के समीप स्थित भोजपुर मंदिर में दो सौ मीटर के दायरे के बाहर संग्रहालय बनाने का प्रस्ताव है। यहां भोजपुर के विशालकाय शिवलिंग और मंदिर के निर्माण की एतिहासिक प्रामाणिक  जानकारी प्रदर्शित की जाएगी। यह मंदिर कब बना, इस तरह के मंदिर और कहां-कहां बनाए जाने थे। यह अधूरा क्यों रह गया। मंदिर के आसपास मिलने वाले शिवलिंग और अन्य पुराधरोहरों को भी यहां संग्रहित किया जाएगा। भोपाल में भी मुस्लिम धर्मावलंबियों से जुड़ी जानकारी, मध्यप्रदेश के प्राचीन नवाबों से जुड़े इतिहास की प्रामाणिक जानकारी गौहर महल या अन्य स्थानों पर प्रदर्शित की जाएगी। मिडटाउन में दुनिया की सबसे बड़ी सेंट पीटर चर्च में संग्रहालय भी है। वेटिकन सिटी में भी म्युजियम है वहां कई तरह के चित्र प्रदर्शित किए गए है। इन चित्रों में इन देशों की कला और संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। जापान में म्युजियम आॅफ पैरासाइड है। भारत के कई राज्यों में भी मंदिर, मस्जिद और चर्च के साथ संग्रहालय लगे हुए है। मध्यप्रदेश में फिलहाल मंदिर, मस्जिद और गिरिजाघरों में संग्रहालय नहीं है। प्रमुख सचिव संस्कृति मनोज श्रीवास्तव ने कहा प्रदेश के मंदिरों पर अब संग्रहालय बनाने की राज्य सरकार की योजना है। इसके जरिए प्रदेश के नागरिकों को धार्मिक आस्था के केन्द्रों पर पहुंचने पर वहां संग्रहालयों में प्रदेश के इतिहास, कला और संस्कृति के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

  कोलार अवैध कब्जों का अड्डा बना    कोलार में राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों और तहसीलदारों की शह पर बेशकीमती जमीन पर जहां-तहां झुग्गियों का निर्माण करने के अलावा दीवारें तानकर अतिक्रमण किया जा रहा है। इन अतिक्रामकों को रोकने के बजाय अफसर उन्हें प्रश्रय दे रहे हैं। कोलार का दशहरा मैदान इसका ताजा उदाहरण है, जहां पिछले माह लगी आग में 50 झुग्गियां खाक हो गईं थी अब वहां 100 से ज्यादा झुग्गियां और मकान बन गए हैं।   लगातार अतिक्रमण बढ़ने की शिकायतों को लेकर एक सप्ताह पहले एडीएम रत्नाकर झा ने सभी एसडीएम को निर्देश दिए थे कि वे सरकारी जमीनों से अतिक्रमण हटाएं। साथ ही सूची तैयार करें, ताकि सरकारी जमीनों पर जमा अतिक्रमणों को हटाया जा सके। हुजूर एसडीएम और स्थानीय प्रशासन की लापरवाही से फिर कोलार दशहरा मैदान की सरकारी जमीन पर दर्जनों झुग्गियां तन गर्इं।  प्रशासन के सामने यहां पर झुग्गियां बनती गई, लेकिन उन्हें रोकने की हिम्मत किसी ने नहीं की।   डेढ़ साल पहले निगम चुनाव के पूर्व मुख्यमंत्री ने हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा के कहने पर कोलार दशहरा मैदान में स्टेडियम बनाने के निर्देश दिए थे। इसके बाद कलेक्टर निशांत वरवड़े ने यहां पर दौरा कर एसडीएम माया अवस्थी को झुग्गियां शिफ्ट करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद अब तक यहां पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।   कोलार दशहरा मैदान के किनारे बनी अवैध झुग्गियां में तीन साल से एक ही स्थान पर आग लग रही है। यहां 40-50 झुग्गियों में आग लगती है और इसके बाद नई 100 झुग्गियां बन जाती हैं। तीन साल में इस स्थान पर 300 से अधिक झुग्गियां अवैध बन गई। लेकिन प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया।     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

  पत्र  में प्रज्ञा ने कैंसर की बीमारी का हवाला भी दिया      मालेगांव बम ब्लास्ट में क्लीन चिट मिलने के बाद साध्वी प्रज्ञा सिंह ने अपने तेवर दिखाए हैं। सिंहस्थ में जाने की जिद पर अड़ीं साध्वी ने पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल में आमरण अनशन शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा है कि यदि सरकार ने उन्हें परमिशन नहीं दी, तो वे 21 मई को जल समाधि ले लेंगी। कैंसर से पीड़ित प्रज्ञा ने दवाइयां खाने से भी इनकार कर दिया है। प्रज्ञा ने राज्य सरकार को लिखे पत्र  में कहा कि वे कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रही हैं। हो सकता है कि अगला कुंभ न देख पाएं।इस मसले  पर बोलने से प्रदेश के गृह मंत्री बाबूलाल गौर ने इस मामले पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है।  साध्वी प्रज्ञा को क्लीन चिट मिलने के बाद से माना जा रहा है कि उन्हें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का सॉफ्ट कॉर्नर उनके प्रति बढ़ा है। उनके अनशन के मामले में प्रदेश के गृह मंत्री बाबूलाल गौर से जब पूछा गया कि सरकार क्या करेगी, तो विवादों से बचने के लिए उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया । गौरतलब है कि साध्वी लगभग सात सालों से जेल में बंद थीं, लेकिन कैंसर के इलाज के लिए कोर्ट ने उन्हें अस्पताल में रहने की परमिशन दी है। प्रज्ञा ने रविवार को लेटर लिखकर शिवराज सरकार से उज्जैन में चल रहे सिंहस्थ में शामिल होने की परमिशन मांगी थी।उन्होंने यह भी लिखा था कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो वे आमरण अनशन करेंगी। प्रज्ञा ने लिखा, 'वो कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रही हैं और शायद अगला कुंभ न देख पाएं। इसलिए उनकी अंतिम इच्छा है कि वे उज्जैन कुंभ में जाएं।' प्रज्ञा ने राज्य सरकार समेत राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को भी लेटर की कॉपी भेजी है। लेटर के मुताबिक, प्रज्ञा ने सोमवार सुबह 9 बजे तक का समय दिया था। मांग पूरी नहीं होने के कारण वे अपने कुछ सपोर्टर्स के साथ अस्पताल परिसर में ही आमरण अनशन पर बैठ गई हैं। प्रज्ञा ने लेटर में लिखा कि मैं अन्न जल त्याग दूंगी। अगर मुझे कुछ होता है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी मध्य प्रदेश सरकार की होगी। उन्होंने अपनी सिक्युरिटी को लेकर भी चिंता जाहिर की है। उन्होंने लिखा कि मेरे साथ पहले एसएएफ के जवान रहते थे। उनके हटाए जाने से मेरी जान को खतरा हो सकता है। प्रज्ञा ने जेड प्लस सुरक्षा की मांग की और सवाल पूछा कि जब देवास जिला कोर्ट ने उज्जैन जाने की अनुमति दे दी है, तो फिर सिक्युरिटी का हवाला देकर सरकार कोर्ट की अवमानना क्यों कर रही है? प्रज्ञा की चिट्ठी उनके सबसे विश्वसनीय भगवान झा लेकर पहुंचे थे। जेल सुपरिंटेंडेंट ने भगवान झा को भरोसा दिया के वह मामले को सीनियर अफसरों तक पहुंचा देंगे। भगवान झा ने कहा, 'सरकार के पास पुलिस की कोई कमी नहीं है। इसलिए साध्वी की सिंहस्थ यात्रा सुनिश्चित करा दी जाए, नहीं तो गंभीर परिणाम होंगे।'     Attachments area          

Kolar News

Kolar News

  हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने किया 2.16 करोड़ की सड़क निर्माण का भूमि पूजन ।कोलार मुख्य मार्ग के समानांतर इस मार्ग से 2 लाख नागरिक होंगे सीधे लाभान्वित ।कोलार वासियो को विभिन्न मार्गो के माध्यम से नये भोपाल , होशंगाबाद रोड , जाने में होगी सहूलियत ।कोलार में बढ़ते ट्रैफिक पर नियंत्रण में हुज़ूर विधायक की कारगर पहल सफल ।हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा के अथक प्रयासों से कोलारवासियो को ट्रैफिक जाम से आये दिन होने वाली दिक्कतों से निज़ात मिलने जा रही है । बैरागढ़ चीचली से मंदाकनी मैदान (कोलार मुख्य मार्ग) तक  बायपास रोड का निर्माण कराया जा रहा है । आज हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने रानी अवंतीबाई मार्ग से मंदाकनी मैदान को जोड़ने वाली सड़क निर्माण कार्य का भूमि पूजन भूमिका रेसीडेंसी पर किया । 2 करोड़ 16 लाख की लागत से बनने वाली 4200 मीटर इस सड़क की चौड़ाई 7.5 मीटर रहेगी, इस सड़क का निर्माण राजधानी परियोजना प्रशासन द्वारा किया जायेगा । श्री शर्मा ने बताया की कोलार मुख्य मार्ग पर आये दिन लगने वाले ट्रैफिक जाम से छुटकारा पाने के लिये इस बाय पास रोड का निर्माण कराया जा रहा है , उन्होंने बताया की बैरागढ़ चीचली से रानी अवंती बाई मार्ग का निर्माण पूर्व में कराया जा चूका है । यह रोड  लोक निर्माण विभाग द्वारा बनायीं गयी है  गौरतलब है की उक्त सड़क का भूमि पूजन विधायक शर्मा द्वारा विधायक बनने के तत्काल बाद किया गया था । बैरागढ़ चीचली से रानी अवंती बाई मार्ग तक इस सड़क की दूरी कुल 2 किलोमीटर है ।बैरागढ़ चीचली से मंदाकनी मैदान पर कोलार मुख्य मार्ग पर जोड़ने वाले इस बायपास की कुल दूरी 6 किलोमीटर है । श्री शर्मा ने बताया की बहुत जल्द ही जे के अस्पताल के सामने इस मार्ग के जंक्शन पर एक पुल का निर्माण भी कराया जायेगा जो की सीधा शाहपुरा, भरत नगर , हबीबगंज , चुनाभट्टी , अथवा नये भोपाल को जोड़ेगा । श्री शर्मा ने बताया की इस मार्ग के निर्माण के पश्च्यात कोलार के किसी भी नागरिक को ट्रैफिक जाम या आपातकालीन स्थिति में परेशान नहीं होना पड़ेगा । श्री शर्मा ने बताया की इस मार्ग से कोलार सहित आसपास के लगभग 2 लाख नागरिक इससे सीधे लाभान्वित होंगे ।  श्री शर्मा ने बताया की इस मार्ग के निर्माण से पूर्व  उनके द्वारा स्थानीय जनप्रतिनिधियो अधिकारियो एवं स्थानीय नागरिको के साथ दौरा किया गया । फलस्वरूप कोलार को ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिये इस बायपास के निर्माण का निर्णय लिया गया । श्री शर्मा ने बताया की घनी आबादी वाले कोलार में नागरिको की सुविधा के मद्देनज़र इस मार्ग का  अलग अलग भागो में निर्माण कराया गया है , जिससे नागरिको को इसका लाभ पहुँच सके !  श्री शर्मा ने स्थानीय नागरिको को संबोधित करते हुए कहा की कोलार के समग्र विकास में निरंतर आपके द्वारा मिल रहे इसी प्रकार के सहयोग की आवश्यकता है आप सब के सहयोग से हम ग्रीन कोलार क्लीन कोलार का निर्माण करेंगे । कार्यक्रम के दौरान श्री शर्मा का स्थानीय नागरिको द्वारा बड़ी फूलो की माला पहनाकर सड़क निर्माण के लिए अभिन्दन किया गया !  मार्ग से लाभान्वित क्षेत्र  एक नज़र में -: बैरागढ़ चीचली , दौलतपुर ,धोली खदान, प्रियंका नगर ,हिनोतिया गांव ,मानसरोवर डेंटल कॉलेज, सुहागपुर ,पिपलिया, गुराडी , सेमरी ,अमरावत कलां ,सोहागपुर ,बांसखेड़ी झुग्गी बस्ती ,सन खेड़ी झुग्गी बस्ती, आकाश नगर , गिरधर परिसर ,सैफरॉन सिटी ,कृष्णा होम्स ,गिरधर गार्डन ,शिवालय परिसर ,सर्वजन सोसाइटी ,डी के 5 ,जे के अस्पताल , सागर प्रीमियम टॉवर, भूमिका रेसीडेंसी ,वेस्टर्न कौर्ट एवं मंदाकनी सोसायटी आदि इस मार्ग पर अन्य रहवासियो  को इस बाय पास का  सीधा लाभ पहुंचेगा ।होशंगाबाद रोड से जुड़ेगा यह मार्ग यह मार्ग चार बत्ती चौराहे से कालीबाड़ी पुल से होते हुए बाबड़िया रेल्वे फाटक से होशंगाबाद रोड से सीधा जुड़ेगा ।दानिश कुंज से कलियासोत नदी पर सलैया पुल के माध्यम से मिसरोद (होशंगाबाद रोड) से सीधा जुड़ेगा ।कार्यक्रम में विशेष रूप से स्थानीय पार्षद एवं एम आई सी सदस्य भूपेंद्र माली ,पार्षद पवन बोराना, मंडल उपाध्यक्ष श्याम मीना, बी एस वाजपेयी , महेश तिवारी , इक़बाल खान , अमित शुक्ल, दीपक माथुर , अरुण तिवारी , डी ले पालीवाल , एस एस सेंगर ,शोभा सिकरवार , श्रीमती गीता मिश्रा,गणेश तिवारी,राजेश सेंगर , राज शर्मा , प्रदीप पाटीदार ,आकाश श्रीवास्तव,सहित बड़ी संख्या में माताये बहने कॉलोनी वासी उपस्थित रहे ।  

Kolar News

Kolar News

कोलार के वार्ड 82 में आने वाले दानिशकुंज कॉलोनी में नगर निगम द्वारा काम नहीं कराने के बाद भी पार्षद द्वारा निर्माण को लेकर बोर्ड लगाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। गलत जानकारी को लेकर आज दोपहर कांग्रेस पार्षदों, स्थानीय नेताओं और रहवासियों का एक प्रतिनिधिमंडल नगर निगम आयुक्त छवि भारद्वाज से मिला। इन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा पार्षद जानबूझकर श्रेय की राजनीति कर रहे हैं। जबकि, जनता गर्मी में पानी के लिए हाहाकार मचा रही है, फिर भी उन्हें पानी नहीं दिया जा रहा है। पार्षदों ने यह की मांग : कांग्रेस पार्षद संतोष जितेंद्र कंसाना, मोनू सक्सेना, मनजीत मारण, अमित शर्मा, राहुल सिंह राठौर, अखिलेश जैन सहित रहवासियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने आयुक्त भारद्वाज से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपा। इसके अनुसार तत्काल गलत जानकारी देने वाले भाजपा पार्षद भूपेंद्र माली के बोर्ड को नगर निगम प्रशासन हटाए। साथ ही इस मामले में जांच कराएं कि कहीं दानिशकुंज में कराए गए डामर के भुगतान की फर्जी फाइल तो निगम के कार्यालय नहीं पहुंच गई। यदि प्रशासन बोर्ड नहीं लगाएगी, तो कांग्रेसी भी हर वार्ड में ऐसे बोर्ड लगाएगी। दानिशकुंज कॉलोनी में करीब एक करोड़ राशि से डामर कराया गया है। इस पर स्थानीय पार्षद ने खुद डामर कराने के बोर्ड पूरी कॉलोनी में लगा दिए। वहीं, दानिशकुंज सोसायटी ने भी एक विज्ञापन जारी करके कहा कि वह निर्माण उसने कराया है। कुछ लोगों के यहां निर्माण नहीं कराया गया है, वो लोग जल्द ही बकाया राशि जमा कर दें, ताकि बचे हुए स्थानों पर भी डामरीकरण कराया जा सके।

Kolar News

Kolar News

मध्यप्रदेश सरकार का जुमला ''क्षिप्रा के तट पर अमृत का मेला '' भी सिर्फ जुमला बन कर रह गया । सरकारी कारिंदे कई बार गलतियां करते हैं इस बार भी जुमला गढ़ने में गड़बड़ हो गई ।क्योंकि जब पानी के लिए क्षिप्रा से नर्मदा को जोड़ा गया तो क्षिप्रा का अस्तित्व ख़त्म हो गया और वह नर्मदा में तब्दील हो गई । ठीक वैसे ही जैसे गंगा से मिलकर सब कुछ गंगा हो जाता है । लेकिन मध्यप्रदेश के सरकारी अफसर तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को गुमराह करने में लगे थे सो नर्मदा और क्षिप्रा में हुए झोलझाल को दबा दिया गया । साधुओं ,संत महात्माओं और शिवराज सिंह के आकर्षक विज्ञापनों की चकाचौंध में सिंहस्थ को आस्था का केंद्र बनाए जाने की बजाए बाजार में तब्दील करने की कोशिश अफसरों ने की । लेकिन हुअत वही जो राम रची राख । पहले दिन से ही सिंहस्थ पर मुख्यमंत्री की अफसरी भारी पड़ गयी और उज्जैन उन नज़रों से वंचित रह गया जो उसे बारह बारस बाद यहाँ देखने थे । कड़वा सत्य पहले दिन कुम्भ की जो छटा होती है ,वह इस बार नदारत रही । सरकारी कारिंदों ने कुम्भ के पहले दिन लोगों की संख्या को लेकर कुतर्क किये। कहा गया पचास लाख लोग आये हैं। लेकिन संख्या बमुश्किल पांच लाख के आसपास रही । जिन लोगों ने पिछले उज्जैन कुम्भ को देखा था उनका कहना था इस बार श्रद्धालु कम और सरकारी इंतजाम अली ज्यादा हैं । जिस कारण यह मेला श्रद्धा का केंद्र होने की बजाये बड़े बाजार में तब्दील सा हो गया । महंत चतुरानंद ने तो यह तक कहा कि सरकार ने धर्म के मामले में जो अति उत्साह दिखाकर सरकारीकरण कर दिया है । वह न तो उज्जैन के लिए न ही सिंहस्थ के लिए हितकर है । स्वामी पुष्करनंद का कहना है धर्म अपना काम अपने आप करता है वह किसी का मोहताज नहीं है खासकर सरकार का तो कतई नहीं है । सरकार ने जहाँ जहाँ टांग अड़ाई वहां वहां बंटाधार ही होता है। कुम्भ के पहले दिन पहले शाही स्नान का दिन इतना सामान्य रहा कि उज्जैन वाले सरकारी इंतजामात को कोस्ते नजर आये। श्रद्धालु कम और पुलिस और शासकीय कर्मचारी इस सिंहस्थ की शोभा बढ़ाते नजर आये। नर्मदा के टत पर अमृत का मेला ऋषि अजयदास की माने तो सरकार ने क्षिप्रा को ख़त्म कर दिया है। जैसे ही नर्मदा जल से क्षिप्रा को भरा गया क्षिप्रा का अस्तित्व ही ख़त्म हो गया। अब इसका प्रचार ''क्षिप्रा के तट पर अमृत का मेला '' नहीं ''नर्मदा के तट पर अमृत का मेला होना चाहिए। ऋषि अजय दास कहते हैं संत समुदाय ने इस बार खासकर नागा साधुओं ने काफी सयंम से काम लिया नहीं तो सरकार की इस गलती के लिए उसे लेने के देने पड़ जाते। सिंहस्थ का आकर्षण साधू सन्यासी होते हैं अगर नर्मदा के मसले पर वे बेरुखी अख्तियार कर लेते तो सिंहस्थ प्रारम्भ ही नहीं हो पाता। इस कारण वैसे भी उज्जैन सिंहस्थ कुछ नीरस सा है। बुद्धू बनाया बुद्धूबक्से ने मध्यप्रदेश के रीजनल चैनल के रिपोर्टर ऐसे भागा दौड़ी कर के रिपोर्ट दे रहे थे कि पांव रखने की जगह नहीं है। लेकिन हाल वहां आगे पाट पीछे सपाट वाला था। चंद सिक्कों में गिरवी रखे यह न्यूज़ चैनल आम लोगों को बुद्धू बनाने में लगे थे । जिन लोगों ने इनका झूठ देखा उसे लगा भोपाल से उज्जैन तक के सारे रास्ते श्रद्धालुओं से अटे पड़े हैं। मजे की बात यह है कि सिंहस्थ को लेकर जनसम्पर्क विभाग ने अँधा बांटे रेवड़ी की तर्ज पर विज्ञापन बांटे और समझ लिया कि कुम्भ सफल हो गया। सरकार के पिट्ठू न्यूज़ चैनल को जनसम्पर्क विभाग के भूतल पर बैठने वाले एक अधिकारी कमांड दे रहे थे की अब तक 10 लाख लोग पहुंचे हैं और अब 30 लाख पहुँच गए हैं यह चलाएं। एक चैनल प्रमुख ने यह सब रिकॉर्ड कर लिया है। जाहिर है झूठ के हाथ पैर नहीं होते। अभी तो सिंहस्थ शुरू हुआ है और घपलों घोटालों की बू आने लगी है। सामाजिक कार्यकर्ता सक्रीय हो गए हैं। धीरे धीरे rti के जरिये दूध का दूध और पानी का पानी होगा कि कितने कितने का घपला किस किस ने किया है। सरकारी कारिंदों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को गुमराह कर के 500 करोड़ के ऊपर की राशि सिर्फ प्रचार-प्रसार में खर्च कर दी,140 करोड़ के टूटे-फूटे शौचालय बनवा दिए। सरकारी माल का दुरूपयोग कैसे किया जाता है उज्जैन सिंहस्थ इसकी भी मिसाल बनेगा। चांडाल योग चांडाल योग और कुम्भ की जब बात होती तो यह नोट खाऊ अफसर कह देते कि कहे का चांडाल योग , क्या बिगाड़ लेगा ... हमारा कुछ बिगड़ा क्या ? जितने मालखाने वाले हैं उनके लिए चांडाल योग और सिंहस्थ लाभ का सौदा रहा है ,लेकिन महाकाल इनकी ऐसी कुगत करेंगे कि इनकी शक्लें इतिहास के चांडालों में दर्ज हो जाएंगी ।वैसे भी इस बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के सिपहसलारों ने सिंहस्थ का सरकारीकरण कर उसका सत्यानाश कर दिया हैं ऐसे में भाड़े का मीडिया है जिसे सिर्फ हरा ही हरा दिख रहा है ,ऐसा लगता है मीडिया कि जवाबदेही जनता के प्रति न होके भ्रस्ट सिस्टम के प्रति हो । मुख़्यमंत्री शिवराज सिंह ने जब सिंहस्थ शुरू होने से पहले मीडिया को चाय पर बुलाया तो एक पत्रकार ने कहा साब माल [विज्ञापन ] दे कर गले तक तर कर दिया है। जाहिर है जो गले तक तर हैं वह पत्रकारिता क्या करेंगे और सच क्या लिखेंगे और क्या सच दिखाएंगे। फिलहाल चांडाल योग का असर अभी ब्रम्हांड पर है। उज्जैन , सिंहस्थ और इसके इंतजाम अली इससे बचे रहें हम सिर्फ इसकी प्रार्थना कर सकते हैं। [दखल से साभार ]

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में कहा कि आज नारी हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। 8 मार्च को महिला दिवस के संदर्भ में उन्होंने कार्यक्रम में कुछ सशक्त महिलाओं से बातचीत की। प्रधानमंत्री ने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के 110वें एपीसोड में कहा कि महिला दिवस देश की विकास यात्रा में नारी शक्ति के योगदान को नमन करने का अवसर है। उन्होंने कहा कि महिलाओं ने अपनी नेतृत्व क्षमता का प्रदर्शन प्राकृतिक खेती, जल संरक्षण और स्वच्छता के क्षेत्र में भी दिया है।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सरकारें बार-बार बनाईं लेकिन भविष्य का भारत बनाना भूल गई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण से आगे नहीं सोच सकती। प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘विकसित भारत विकसित छत्तीसगढ़’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।   प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान 34,400 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन, लोकार्पण और शिलान्यास किया। ये परियोजनाएं सड़क, रेलवे, कोयला, बिजली और सौर ऊर्जा सहित कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों को पूरा करती हैं।   प्रधानमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के पास परिश्रमी किसान, प्रतिभाशाली नौजवान और प्राकृति का खजाना है, वह सब कुछ है जो विकसित होने के लिए जरूरी है। उन्होंने राज्य में प्रगति की कमी के लिए पिछली सरकारों की अदूरदर्शी और स्वार्थी परिवारवादी राजनीति की आलोचना की। मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने सरकारें बार-बार बनाईं लेकिन भविष्य का भारत बनाना भूल गईं। क्योंकि उनके मन में सरकार बनाना ही था, देश को आगे बढ़ाना उनका एजेंडा ही नहीं था। आज भी कांग्रेस की दशा और दिशा यही है। कांग्रेस परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण से आगे सोच ही नहीं पाती है।   प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी के लिए आप उनका परिवार हैं और आपके सपने उनके संकल्प हैं। इसीलिए मैं आज विकसित भारत और विकसित छत्तीसगढ़ की बात कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि 140 करोड़ भारतीयों में से प्रत्येक को इस सेवक ने अपनी प्रतिबद्धता और कड़ी मेहनत की गारंटी दी है। उन्होंने गरीबों के लिए मुफ्त राशन, मुफ्त इलाज, सस्ती दवाएं, आवास, पाइप से पानी, गैस कनेक्शन और शौचालय का जिक्र किया।   प्रधानमंत्री ने आज एनटीपीसी के सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट को राष्ट्र को समर्पित करने और 1600 मेगावाट क्षमता वाले स्टेज-2 के शिलान्यास का जिक्र करते हुए कहा कि अब नागरिकों को कम खर्च पर बिजली उपलब्ध करायी जाएगी। प्रधानमंत्री ने पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार उपभोक्ताओं के बिजली बिल को शून्य करने का प्रयास कर रही है, जिसमें वर्तमान में देश भर में 1 करोड़ घर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सरकार छत पर सौर पैनल स्थापित करने के लिए सीधे बैंक खातों में वित्तीय सहायता प्रदान करेगी, जहां 300 यूनिट बिजली मुफ्त की जाएगी और उत्पादित अतिरिक्त बिजली सरकार द्वारा वापस खरीदी जाएगी, जिससे नागरिकों को हजारों रुपये की अतिरिक्त आय होगी।   प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसे कार्यों से विकसित छत्तीसगढ़ का निर्माण होगा और अगले 5 वर्षों में जब भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में उभरेगा, तो छत्तीसगढ़ भी विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि यह एक बड़ा अवसर है, खासकर पहली बार मतदाताओं और स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले युवाओं के लिए। विकसित छत्तीसगढ़ उनके सपनों को पूरा करेगा।  

Kolar News

Kolar News

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सूबे में 17 व 18 फरवरी को आयोजित पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा-2023 को निरस्त कर दिया गया है। अगले 6 माह के भीतर पूरी शुचिता के साथ दोबारा परीक्षा आयोजित की जाएगी। इस आशय के आदेश गृह विभाग ने शनिवार को जारी कर दिए हैं। इससे पहले उक्त परीक्षा के संबंध में जारी एसटीएफ की जांच और अब तक की कार्यवाही की समीक्षा करते हुए शनिवार को मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं की मेहनत से खिलवाड़ और परीक्षा की शुचिता से समझौता स्वीकार नहीं किया जा सकता। ऐसे अराजक तत्वों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होनी तय है। गृह विभाग की ओर से जारी आदेश के मुताबिक दिनांक 17 व 18 फरवरी, 2024 को सम्पन्न हुई पुलिस भर्ती परीक्षा के संबंध में प्राप्त तथ्यों एवं सूचनाओं के परीक्षण के आधार पर शासन द्वारा सम्यक विचारोपरान्त शुचिता एवं पारदर्शिता के उच्चतम मानकों के दृष्टिगत इस परीक्षा को निरस्त करने का निर्णय लिया गया है। शासन ने भर्ती बोर्ड को यह निर्देश दिए हैं कि जिस भी स्तर पर लापरवाही बरती गई है उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराकर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। शासन ने प्रकरण की जांच एसटीएफ से कराये जाने का निर्णय लिया है। दोषी पाए जाने वाले व्यक्तियों अथवा संस्थाओं के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही किये जाने के भी निर्देश दिए गए हैं। शासन ने छह माह के अन्दर पूर्ण शुचिता के साथ पुनः परीक्षा आयोजित करने तथा उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की सेवा से अभ्यर्थियों को निःशुल्क सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं।   आरओ/एआरओ परीक्षा की शिकायतों की होगी जांच, शासन ने मांगे साक्ष्य: मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा बीती 11 फरवरी को आयोजित की गई समीक्षा अधिकारी/ सहायक समीक्षा अधिकारी (प्रारम्भिक) परीक्षा - 2023 से जुड़ी शिकायतों की भी जांच कराने का निर्णय लिया है। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक ने आदेश भी जारी कर दिया है। इसके मुताबिक बीती 11 फरवरी को आयोजित की गई समीक्षा अधिकारी/ सहायक समीक्षा अधिकारी (प्रारम्भिक) परीक्षा - 2023 के संबंध में शासन को संज्ञान में लाए गए तथ्यों एवं शिकायतों के दृष्टिगत परीक्षा की शुचिता व पारदर्शिता के उद्देश्य में यह निर्णय लिया गया है कि परीक्षा के संबंध में प्राप्त शिकायतों का शासन स्तर पर परीक्षण किया जाए। आदेश में कहा गया है कि इस परीक्षा के संबंध में किसी भी प्रकार की शिकायत अथवा इसकी शुचिता को प्रभावित करने वाले तथ्यों को संज्ञान में लाना चाहें तो वह अपना नाम तथा पूरा पता तथा साक्ष्यों सहित कार्मिक तथा नियुक्ति विभाग के ई-मेल आई.डी. - secyappoint@nic.in पर 27 फरवरी तक उपलब्ध करा सकते हैं।

Kolar News

Kolar News

कोलकाता। उत्तर 24 परगना के संदेशखाली में पुलिस की लाख सतर्कता के बावजूद हालात सामान्य होने का नाम नहीं ले रहे हैं। शनिवार को एक बार फिर धारा 144 लागू होने और बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती के बावजूद स्थानीय महिलाएं सड़कों पर उतर आईं और विरोध प्रदर्शन किया। संदेशखाली के माझेरपाड़ा इलाके में लाठी-डंडे और झाड़ू लेकर सैकड़ों महिलाएं उतर गई और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इन महिलाओं ने जल्द से जल्द शेख शाहजहां को गिरफ्तार करने की मांग की और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये। सूचना मिलने के बाद अतिरिक्त संख्या में पुलिस की टीम मौके पर पहुंची लेकिन विरोध प्रदर्शन जारी रहा। खास बात यह है कि शनिवार को इलाके में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम और माकपा नेता मीनाक्षी मुखर्जी ने इलाके में जाकर लोगों से बात की। इसके अलावा दक्षिण बंगाल के एडीजी सुप्रतिम सरकार ने भी दलबल के साथ इलाके में मार्च किया और लोगों से बात कर कानून हाथ में नहीं लेने की अपील की।

Kolar News

Kolar News

सीतापुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा शुक्रवार को नैमिषारण्य पहुंचे। उन्होंने माँ ललिता दरबार में माथा टेका और चक्रतीर्थ का पूजन किया। ललिता मंदिर के प्रधान पुजारी गोपाल शास्त्री ने सीएम भजन लाल शर्मा को वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच पूजन कराया। शहर के एन के पैलेस में लोकसभा कलस्टर प्रवास बैठक में मौजूद पांच लोकसभा क्षेत्रों के संयोजकों, संगठन पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ करीब तीन घंटे तक बैठक की।   बैठक में उन्होंने कार्यकर्ताओं को चुनावी जीत के मंत्र दिए। उन्होंने बूथ को मजबूत करने एवं प्रत्येक कार्यकर्ता को काम में लगाने की बात कही, चुनावी जीत का मंत्र देते हुए उन्होंने कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं की चर्चा जनता के बीच जाकर सभी को करनी है।   भजनलाल शर्मा ने कहा कि आज भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है। पूर्वजों के संघर्ष की बदौलत आजादी मिली और आजादी के बाद जनसंघ से शुरू होकर भाजपा बनी जिसमें श्यामा प्रसाद मुखर्जी एवं दीनदयाल का बलिदान हुआ, सब कुछ हुआ पर विचारों से हम लोग नहीं डिगे, हमारा विचार ठीक था, काम ठीक था, कार्यकर्ताओं की मेहनत व परिश्रम के बल पर ही आज विश्व की बड़ी पार्टी बनी है । भाजपा का कार्यकर्ता दिन-रात मेहनत करता है। जनता के बीच जाता है वहीं अन्य दलों की लोगों की संवेदनाएं मर गई हैं।   उन्होंने कहा कि 2014 से पहले देश की जनता का विश्वास नेताओं तथा राजनीति से उठ चुका था मोदी जी के नेतृत्व में जनकल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत हुई और हम निरंतर 2014 से सभी चुनाव जीत रहे हैं । बैठक में उपस्थित कार्यकर्ताओं को उन्होंने जीत के टिप्स देते हुए कहा कि प्रत्येक बूथ की रचना ऐसी हो कि वहां पर भाजपा मतदाता के अलावा कोई दूसरे दल का न दिखे।   वहीं शाम को खैराबाद में प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि नैमिष तपोभूमि सनातन धर्म की आध्यात्मिक विरासत का परम पुनीत धाम है। राजस्थान के लोगों में नैमिषारण्य के प्रति गहरी आस्था है। प्रति वर्ष बड़ी संख्या में राजस्थान राज्य से श्रद्धालु नैमिष तीर्थ आते हैं। सीएम भजन लाल शर्मा ने कहा कि हमारी इच्छा है कि नैमिषारण्य में राजस्थान का अधिकारिक भवन बनाये ताकि इस तीर्थ में आने वाले हमारे प्रांत के लोगों को तीर्थ का सानिध्य भी प्राप्त हो। इस मौके पर राष्टीय उपाध्यक्ष रेखा वर्मा, एमएलसी व भाजपा के प्रदेश महामंत्री अनूप गुप्ता, गोविन्द नारायण शुक्ला, सहकारिता मंत्री जेपीएस राठौर, सीतापुर जिलाध्यक्ष राजेश शुक्ला, सांसद राजेश वर्मा, हरदोई सांसद जयप्रकाश, मिश्रिख सांसद अशोक रावत व पूर्व एमलसी भरत त्रिपाठी सहित अपेक्षित पदाधिकारी मौजूद रहे।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार को केन्द्र सरकार पर भारतीय जनता पार्टी को फंड दिलाने के लिए निजी कंपनियों को जांच एजेंसियों के जरिये धमकाने का आरोप लगाया है।   पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने यहां पत्रकार वार्ता कर कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 और 2022-23 के बीच भाजपा को कुल लगभग 335 करोड़ रुपये का दान देने वाली कम से कम 30 कंपनियों को उसी अवधि के दौरान केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई का सामना करना पड़ा था। इस संबंध में कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र भी लिखा है। रमेश ने कहा कि केन्द्र सरकार को व्हाइट पेपर लाकर जवाब देना चाहिए। साथ ही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में मामले की जांच कराए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि न्यूज रिपोर्ट के दावे की प्रामाणिकता चुनाव आयोग के कई दान संबंधित दस्तावेजों और अन्य पुख्ता सबूतों पर आधारित है। यह संस्थागत स्वतंत्रता, स्वायत्तता और केंद्रीय एजेंसियों की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाता है।

Kolar News

Kolar News

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को संत रविदास की जन्मस्थली सीर गोवर्धन में कहा कि भाजपा सरकार संत रविदास के संकल्पों को पूरा कर रही है। गरीब, वंचित, पिछड़े और दलित के लिए सरकार की नीयत साफ है। प्रधानमंत्री ने कहा, "मैं संत रविदास के संकल्पों को आगे बढ़ा रहा हूं। मुझे उन्होंने ही सेवा का अवसर दिया है।" प्रधानमंत्री ने संत रविदास की 647वीं जयंती पर सीरगोवर्धन में उनकी 25 फीट उंची कांस्य प्रतिमा का अनावरण किया। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि यह हमारा इतिहास रहा है कि जब भी देश को जरूरत हुई है, कोई न कोई संत, ऋषि, महान विभूति भारत में जन्म लेते हैं। संत रविदास तो उस भक्ति आंदोलन के महान संत थे, जिन्होंने कमजोर और विभाजित हो चुके भारत को नई ऊर्जा दी थी। प्रधानमंत्री ने कहा कि संत रविदास ने समाज को आजादी का महत्व भी बताया था और सामाजिक विभाजन को भी पाटने का काम किया। ऊंच-नीच, छुआछूत, भेदभाव समेत सभी सामाजिक बुराइयों के खिलाफ उन्होंने आवाज उठाई। संत रविदास कहते हैं, 'जात पात के फेर मंहि, उरझि रहइ सब लोग। मानुषता कूं खात हइ, रैदास जात कर रोग।' यानी ज्यादातर लोग जातपात के फेर में उलझे और उलझाते रहते हैं। यह रोग मानवता का नुकसान करता है। संतों की वाणी हमें रास्ता भी दिखाती है और सावधान भी करती है। इस दौरान प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आज देश के हर दलित, पिछड़े को एक और बात ध्यान रखनी है। हमारे देश में जाति के नाम पर उकसाने और उन्हें लड़ाने में भरोसा रखने वाले इंडी गठबंधन के लोग दलित, वंचित के हित की योजनाओं का बड़ा विरोध करते हैं। जाति की भलाई के नाम पर ये लोग सिर्फ अपने परिवार के स्वार्थ की राजनीति करते हैं। परिवारवादी पार्टियां अपने परिवार के बाहर किसी दलित और आदिवासी को आगे नहीं बढ़ने देना चाहतीं। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में पहली आदिवासी महिला को राष्ट्रपति बनने का किन-किन लोगों ने विरोध किया था, ये हर कोई जानता है। ये सब वही परिवारवादी पार्टियां हैं, जिन्हें चुनाव के वक्त दलित की याद आने लगती है। हमें इनसे सावधान रहना होगा। उन्होंने कहा कि सांसद होने के नाते, वाराणसी का जनप्रतिनिधि होने के नाते मेरी विशेष जिम्मेदारी भी बनती है कि मैं बनारस में आप सबका स्वागत करूं, आप सबकी सुविधाओं का खास खयाल भी रखूं। मुझे खुशी है कि संत रविदास जयंती पर मुझे इन दायित्वों को पूरा करने का अवसर मिला है। आज मुझे संत रविदास की नई प्रतिमा के लोकार्पण का भी सौभाग्य मिला है। संत रविदास म्यूजियम की आधारशिला भी आज रखी है। मैं आप सभी को इन विकास कार्यों की बहुत-बहुत बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि आज वाराणसी से हजारों करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास होने जा रहा है जिससे जनता को लाभ मिलेगा। इस योजना में रविदास मंदिर के लिए भी कार्य होगा। सड़कों से लेकर भजन-कीर्तन के लिए भी सुविधाएं दी जाएंगी। ताकि भक्तों को आध्यात्मिक लाभ मिले साथ ही उनकी कई परेशानियों से छुटकारा मिल सके। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब मैं राजनीति में नहीं था तब भी संत रविदास की शिक्षाओं से मार्गदर्शन प्राप्त करता था। मेरे मन में भावना थी कि उनकी सेवा का अवसर मिले। आज काशी ही नहीं पूरे देश में उनकी शिक्षाओं का प्रसार किया जा रहा है। हाल ही में मध्य प्रदेश के सतना में संत रविदास स्मारक कला केंद्र के शिलान्यास का सौभाग्य मिला। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज काशी की धरती पर संत गुरु रविदास की 647वीं जयंती के कार्यक्रम के आयोजन पर प्रधानमंत्री का आगमन हुआ है। मैं इस अवसर पर उनका स्वागत करता हूं। अभी प्रधानमंत्री ने संत रविदास की प्रतिमा का अनावरण किया है। मैं संत रविदास के सभी भक्तों और अनुयायियों को इस अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। सीर गोवर्धन में तीसरी बार पहुंचे प्रधानमंत्री का रविदास मंदिर के जनरल सेक्रेटरी सतपाल बिरदी ने गुरु दरबार की तरफ से सरोपा और स्मृति चिह्न भेंट कर स्वागत किया। कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह, अखिल भारतीय रविदास धर्म संगठन के उपाध्यक्ष नवदीप दास, पूर्व सांसद विजय सांपला, एसएस ढिल्लो, सतपाल, प्रदीप दास आदि उपस्थित रहे।

Kolar News

Kolar News

मेहसाणा/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मौजूदा कालखंड को भारत की विकास यात्रा के लिए अहम बताते हुए कहा कि ये ऐसा समय है, जब देव काज (भगवान का काम) और देश काज (देश का काम) दोनों ही बहुत तेज गति से हो रहे हैं। प्रधानमंत्री गुरुवार को गुजरात के मेहसाणा में वलीनाथ धाम मंदिर का उद्घाटन करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे।   प्रधानमंत्री ने गुजरात के मेहसाणा में 13,500 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया और आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि इन रेल, सड़क, बंदरगाह, परिवहन, जल, सुरक्षा, शहरी विकास और पर्यटन परियोजनाओं से जीवन में आसानी बढ़ेगी और क्षेत्र के युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।   सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने ठीक एक महीने पहले 22 जनवरी को याद किया, जब उन्हें अयोध्या में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह करने का अवसर मिला था। प्रधानमंत्री ने अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आज जब भव्य राम मंदिर बन गया है तो नकारात्मकता में जीने वाले लोग नफरत का रास्ता छोड़ने को तैयार नहीं हैं।   प्रधानमंत्री ने मंदिरों को ज्ञान और विज्ञान का केंद्र बताया और कहा कि हमारे यहां मंदिर सिर्फ देवालय या पूजा पाठ करने की जगह नहीं बल्कि ये हमारी हजारों वर्ष पुरानी संस्कृति और परंपरा के प्रतीक हैं। हमारे यहां मंदिर देश और समाज को अज्ञान से ज्ञान की तरफ ले जाने के माध्यम रहे हैं। उन्होंने कहा, “भारत की विकास यात्रा में ये एक अद्भुत कालखंड है। ये एक ऐसा समय है, जब देवकाज हो या फिर देश काज, दोनों तेज गति से हो रहे हैं। देवसेवा भी हो रही है और देशसेवा भी हो रही है।”   प्रधानमंत्री ने कहा कि ये मंदिर एक पूजा स्थल से बढ़कर हमारी सदियों पुरानी सभ्यता के प्रतीक भी हैं। प्रधानमंत्री ने समाज में ज्ञान फैलाने में मंदिरों की भूमिका पर प्रकाश डाला। प्रधानमंत्री ने ज्ञान फैलाने की परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए स्थानीय धार्मिक अखाड़ों की सराहना की और कहा कि पुस्तक परब के आयोजन और स्कूल और छात्रावास के निर्माण से लोगों में जागरूकता और शिक्षा बढ़ी है।   उन्होंने कहा कि आज देश सबका साथ, सबका विकास के मंत्र पर चल रहा है। ये भावना हमारे देश में कैसे रची-बसी है, इसके दर्शन भी हमें वालीनाथ धाम में होते हैं। मोदी ने कहा कि कहा कि सैंकड़ों वर्ष पुराना ये मंदिर आज 21वीं सदी की भव्यता और पुरातन दिव्यता के साथ तैयार हुआ है। ये मंदिर सैंकड़ों शिल्पकारों, श्रमजीवियों के वर्षों के अथक परिश्रम का भी परिणाम है।   प्रधानमंत्री ने पिछले दो दशकों में गुजरात में बुनियादी ढांचे के विकास के अलावा विरासत स्थलों के विकास की दिशा में सरकार के प्रयासों पर प्रकाश डाला। प्रधानमंत्री ने विकास और विरासत के बीच टकराव की स्थिति पैदा करने के लिए कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, “पिछले 20 वर्षों में हमने गुजरात में विकास के साथ-साथ विरासत से जुड़े स्थानों की भव्यता के लिए भी काम किया है। दुर्भाग्य से आजाद भारत में लंबे समय तक विकास और विरासत के बीच टकराव पैदा किया गया। इसके लिए अगर कोई दोषी है तो वही कांग्रेस है, जिन्होंने दशकों तक देश पर शासन किया।”   उन्होंने कहा कि ये वही लोग हैं, जिन्होंने सोमनाथ जैसे पावन स्थल को भी विवाद का कारण बनाया। ये वही लोग हैं, जिन्होंने पावागढ़ में धर्मध्वजा फहराने की इच्छा तक नहीं दिखाई। ये वही लोग हैं, जिन्होंने दशकों तक मोढ़ेरा के सूर्य मंदिर को भी वोटबैंक की राजनीति से जोड़कर देखा। ये वही लोग हैं, जिन्होंने भगवान राम के अस्तित्व पर भी सवाल उठाए, उनके मंदिर निर्माण को लेकर रोड़े अटकाए। आज जब जन्मभूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण हो चुका है, जब पूरा देश इससे खुश है तो भी नकारात्मकता को जीने वाले लोग नफरत का रास्ता छोड़ नहीं रहे हैं।   प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी की गारंटी का लक्ष्य, समाज के अंतिम पायदान पर खड़े देशवासी का भी जीवन बदलना है। इसलिए एक तरफ देश में देवालय भी बन रहे हैं और करोड़ों गरीबों के पक्के घर भी बन रहे हैं। प्रधानमंत्री ने वालीनाथ धाम में निहित सबका साथ, सबका विकास की भावना के बारे में बात की और कहा कि इस भावना के अनुरूप सरकार हर वर्ग के जीवन को बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, “मोदी की गारंटी का लक्ष्य समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के जीवन में बदलाव लाना है।” उन्होंने हाल ही में 1.25 लाख घरों के समर्पण और शिलान्यास को याद करते हुए करोड़ों गरीबों के लिए पक्के घरों के निर्माण के साथ नए मंदिरों के निर्माण की तुलना की। उन्होंने 80 करोड़ नागरिकों के लिए मुफ्त राशन को 'भगवान का प्रसाद' और 10 करोड़ नए परिवारों के लिए पाइप से पानी को 'अमृत' बताया।

Kolar News

Kolar News

मुंबई। मराठा समुदाय को ओबीसी कोटे से आरक्षण देने की मांग को लेकर अड़े मराठा नेता मनोज जारांगे ने एक बार फिर 24 से रास्ता रोको आंदोलन शुरू करने का एलान कर दिया है। मराठा नेता मनोज जारांगे ने जालना में बुधवार को पत्रकारों से कहा कि जब तक मराठा समुदाय को ओबीसी कोटे से आरक्षण नहीं मिल जाता, तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा। जारांगे ने मराठा समाज से 24 फरवरी से महाराष्ट्र में रास्ता रोको आंदोलन करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन शांतिपूर्वक और छात्रों की परीक्षाओं को ध्यान रखते हुए करना है। साथ ही जारांगे ने कहा कि जब तक ओबीसी कोटे से मराठा समाज को आरक्षण नहीं मिल जाता, तब तक सरकार को चुनाव की घोषणा नहीं करना चाहिए। पाटिल ने पत्रकारों को बताया कि राज्य सरकार ने मराठा समाज के लिए दस फीसदी आरक्षण देने के लिए जो विधेयक पारित किया है, वह सिर्फ चुनावी घोषणा मात्र है। इसी तरह का विधेयक सरकार दो बार बनाकर लागू कर चुकी है और यह कोर्ट में नहीं टिका है। इसी वजह से वह ओबीसी कोटे से मराठा आरक्षण की मांग कर रहे हैं। उन्हें सरकार पर विश्वास था कि विशेष अधिवेशन में निजामकालीन दस्तावेज के आधार पर मराठा समाज को कुनबी जाति का प्रमाणपत्र दिए जाने के लिए विधेयक पारित किया जाएगा लेकिन राज्य सरकार ने कुछ अलग ही किया है, इसलिए वे आंदोलन करने के लिए बाध्य हो गए हैं।

Kolar News

Kolar News

विशाखापत्तनम। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बहुपक्षीय नौसैन्य अभ्यास 'मिलन-2024' का विशाखापत्तनम में औपचारिक उद्घाटन किया। उन्होंने इस अभ्यास में शामिल हो रहे 50 मित्र देशों को हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा के लिहाज से महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि हमें समुद्र में लोकतांत्रिक और नियम-आधारित विश्व व्यवस्था के अनुरूप सकारात्मक शांति की अपेक्षा करनी चाहिए, जहां व्यक्तिगत देश साझा शांति और समृद्धि प्राप्त करने के लिए एक-दूसरे के साथ सक्रिय रूप से सहयोग करते हैं। शांति की यह अवधारणा प्रत्यक्ष सैन्य संघर्ष से अलग है, क्योंकि इसमें सुरक्षा, न्याय और सहयोग की व्यापक धारणाएं शामिल हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारा ऐतिहासिक अनुभव हमें बताता है कि सशस्त्र बल भी शांति बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसे निवारण, संघर्ष निवारण एवं शांति-रक्षण जैसी अवधारणाओं और प्रथाओं में और विशेष रूप से आपदाओं के दौरान विभिन्न मानवीय सहायता प्रयासों में भी देखा जाता है। रक्षामंत्री ने इस अवसर पर 'मिलन गांव' का भी उद्घाटन किया। 'मिलन गांव' में दो दर्जन से अधिक स्टाल लगाए गए हैं। इस अवसर पर नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि भारतीय नौसेना को इस 'मिलन' के दौरान अपने दोस्तों और भागीदारों के साथ सार्थक बातचीत, रचनात्मक जुड़ाव और सकारात्मक परिणामों की उम्मीद है। इसलिए हमारे प्रतिभागियों को सर्वव्यापी अनुभव प्रदान करने के लिए इस बहुपक्षीय नौसैन्य अभ्यास को सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है। कल शुरू हुए हार्बर चरण में विषय वस्तु विशेषज्ञ आदान-प्रदान और टेबल टॉप अभ्यासों के माध्यम से व्यावहारिक चर्चाएं देखी गईं। उन्होंने कहा कि अगले दो दिनों में होने वाला अंतरराष्ट्रीय समुद्री सेमिनार वरिष्ठ कमांडरों को महत्वपूर्ण समुद्री चुनौतियों और अवसरों पर विचारों का आदान-प्रदान करने के लिए एक मंच प्रदान करेगा। हमारे युवा अधिकारी यहां प्रशिक्षण सिमुलेटरों पर अपने नौकायन, पनडुब्बी बचाव और क्षति नियंत्रण कौशल को निखार रहे हैं। इस मौके पर जीवंत स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र और एमएसएमई की ओर से भारत के आशाजनक स्वदेशी उद्योग की एक झलक प्रदान करने के लिए एक मिलन तकनीकी प्रदर्शनी या एमटीईएक्स का भी आयोजन किया गया है।

Kolar News

Kolar News

मुंबई। कल्याण रेलवे स्टेशन के एक नंबर प्लेटफॉर्म पर एक लावारिस बॉक्स में 54 डेटोनेटर नामक विस्फोटक मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया। विस्फोटक की सूचना मिलते ही तत्काल पुलिस, डॉग स्कॉड और बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच गया है और छानबीन जारी है।   पुलिस के अनुसार कल्याण रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर एस्केलेटर के बगल में लावारिस दो बॉक्स की सूचना बुधवार को अपरान्ह करीब चार बजे रेलवे पुलिस को मिली। इसके बाद तत्काल पुलिस की टीम, डॉग स्कॉड और बम निरोधक दस्ते की टीम मौके पर पहुंची। डॉग स्कॉड ने सूंघकर बाक्स में विस्फोटक होने का संकेत दिया। इसके बाद इस बॉक्स की छानबीन बम निरोधक दस्ते ने की और बॉक्स में 54 डेटोनेटर पाए गए जिससे स्टेशन इलाके में हड़कंप मच गया। कल्याण रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की भारी आवाजाही रहती है। व्यस्त समय में यह घटना सामने आते ही स्टेशन क्षेत्र में हड़कंप मच गया। फिलहाल रेलवे पुलिस, बम स्क्वॉड, कल्याण डीसीपी घटना की जांच कर रहे हैं। इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि कल्याण रेलवे स्टेशन पर विस्फोटक कौन लाया, कब लाया, रेलवे स्टेशन पर क्यों रखा। पुलिस ने स्थानीय नागरिकों को पैनिक न होने की अपील की है।

Kolar News

Kolar News

मुंबई। महाराष्ट्र में मराठा समाज को शिक्षा और नौकरी में 10 फीसदी आरक्षण दिए जाने का विधेयक विधानमंडल के दोनों सदनों में एकमत से मंजूर किया गया है। यह प्रस्ताव विधानमंडल के विशेष अधिवेशन में दोनों सदनों विधानसभा और विधान परिषद् में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने पेश किया था। दोनों सदनों में इस विधेयक को एकमत से सभी सदस्यों ने मंजूरी दी और यह विधेयक एकमत से पारित हो गया। इससे सूबे में मराठा समाज को शिक्षा और नौकरी में 10 फीसदी आरक्षण का रास्ता साफ हो गया है।   मराठा समाज को आरक्षण देने के लिए राज्य सरकार ने मंगलवार को राज्य विधानमंडल का विशेष सत्र बुलाया था। इसी सत्र में मराठा आरक्षण विधेयक मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने पेश किया था, जिसमें मराठा समुदाय के लिए शिक्षा और नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है। विधानमंडल के दोनों सदनों की मंजूरी मिलने के बाद इस विधेयक को राज्यपाल के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा जाएगा। राज्यपाल के हस्ताक्षर के बाद यह विधेयक कानून बन जाएगा।   मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि हमने पिछली गलतियों को दूर करके आरक्षण देने का फैसला किया है और निश्चित रूप से मराठा आरक्षण कानून के दायरे में रखा गया है। चाहे ओबीसी हों या कोई अन्य समुदाय, हमने शिक्षा और रोजगार देने का फैसला किया है। किसी के आरक्षण से छेड़छाड़ किए बिना मराठा समुदाय को आरक्षण दिया गया है। छत्रपति शिवाजी महाराज के आशीर्वाद से आज पूरे मराठा समुदाय के लिए इच्छापूर्ति का ऐतिहासिक दिन है। मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि इससे पहले राज्य सरकार ने मराठा समाज को कुनबी जाति का प्रमाणपत्र उनके सगे संबंधियों को देने की अधिसूचना जारी की थी, लेकिन उस अधिसूचना पर छह लाख आपत्तियां आई हैं। उन सभी का अध्ययन करने के बाद सरकार कोई निर्णय ले सकती है। इसलिए सभी समुदाय के लोगों को सरकार पर विश्वास रखना चाहिए और आपसी भाईचारा बनाए रखना चाहिए।  

Kolar News

Kolar News

अयोध्या। उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपनी कैबिनेट के सहयोगियों के साथ मंगलवार को श्री राम जन्मभूमि मन्दिर में रामलला के दर्शन किए। सभी लोग इस दौरान बेहद उत्साहित और भक्ति भाव में डूबे हुए नजर आए।   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ मंत्रिमंडल के सतपाल महाराज, प्रेमचंद अग्रवाल, सुबोध उनियाल, डॉ धन सिंह रावत, श्रीमती रेखा आर्य एवं राज्यसभा सांसद नरेश बंसल अयोध्या में महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री धामी और उनके सहयोगियों का भव्य स्वागत हुआ। इस दौरान पूरा परिसर जय श्रीराम के नारों से गूंज उठा। यहां से वह राम जन्मभूमि के लिए रवाना हुए। मुख्यमंत्री एवं उनके सहयोगी अयोध्या धाम में प्रभु राम को नमन कर पूजा अर्चना की। दर्शन करने के बाद मुख्यमंत्री धामी भावुक हो गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री रामलला के दर्शन से रोम-रोम भक्तिमय और मन प्रफुल्लित है। उन्होंने कहा कि रामलला को कई वर्षों तक टेंट में रहना पड़ा। आज भव्य मंदिर में रामलाला के दर्शन किए। मैं भाव विह्वल हूं और प्रभु श्रीराम के चरणों में समर्पित हूं।   धामी ने कहा कि प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या में उत्तराखंड वासियों के लिए उत्तराखंड सरकार राज्य अतिथि गृह बनाने की तैयारी कर चुकी है। 4700 वर्ग मीटर में बनने वाले इस राज्य अतिथि गृह को बनाने के लिए हमारी सरकार ने भूमि की खरीद को लेकर 32 करोड़ रुपये की धनराशि स्वीकृत की है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से भगवान श्री राम के दर्शन करने के लिए अयोध्या पहुंचने वाले श्रीराम भक्तों को इस राज्य अतिथि गृह में सुविधा मुहैया करवाई जाएगी।

Kolar News

Kolar News

जम्मू/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि हमने विकसित जम्मू-कश्मीर का संकल्प लिया है। विकसित भारत का मतलब विकसित जम्मू-कश्मीर है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर को परिवार संचालित पार्टियों का शिकार बताते हुए कहा कि सरकार अब किसी परिवार की नहीं, बल्कि जम्मू-कश्मीर की सेवा कर रही है। प्रधानमंत्री जम्मू में 32,000 करोड़ रुपये की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे।   प्रधानमंत्री ने डोगरी में अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए वादा किया कि कोई भी पात्र नागरिक लाभ से नहीं चूकेगा। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में परियोजनाएं क्षेत्र के समग्र विकास को बढ़ावा देंगी। जनसभा में मोदी ने पिछले 10 वर्षों में जम्मू-कश्मीर सहित पूरे भारत में हुए विकास कार्यों का लेखा-जोखा रखा। परिवारवाद की राजनीति को लेकर कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने दशकों तक झूठ बोला है। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत भी की।   प्रधानमंत्री ने कहा कि अब हमने विकसित जम्मू-कश्मीर का संकल्प लिया है। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि हम विकसित जम्मू-कश्मीर बनाकर रहेंगे। उन्होंने कहा, “आपके सपने पिछले 70 साल से अधूरे हैं। हालांकि आपके सपने आने वाले कुछ ही वर्षों में मोदी पूरे करके देगा।” प्रधानमंत्री ने उस समय को याद किया जब जम्मू-कश्मीर से सिर्फ बम, अपहरण और अलगाव की निराशाजनक खबरें ही आती थीं। उन्होंने कहा कि आज जम्मू-कश्मीर विकसित होने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है।   आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा की जीत का दावा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैंने सभी को बता दिया है कि भाजपा को 370 सीटें और एनडीए को 400 से ज्यादा सीटें मिलेंगी। मोदी ने कहा कि मैंने इस जगह पर 2014 में जो वादा किया था उसे पूरा किया। आज हमारे पास जम्मू में आईआईटी और आईआईएम हैं। यही कारण है कि लोग कहते हैं कि मोदी की गारंटी का मतलब गारंटी पूरी करने की गारंटी है।   प्रधानमंत्री ने पूर्व सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि जो सरकार अपने परिवारों के बारे में चिंतित है वह राज्य के युवाओं के बारे में नहीं सोचती। प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर दशकों तक परिवारवाद की राजनीति का शिकार रहा है। उन्होंने कहा कि परिवारवाद की राजनीति का सबसे ज्यादा नुकसान युवाओं को हुआ है। ऐसी परिवारवादी सरकारें युवाओं के लिए योजनाएं बनाने पर भी प्राथमिकता नहीं देती। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि जम्मू-कश्मीर को इस परिवार राजनीति से मुक्ति मिल रही है।   उन्होंने कहा कि आज हम एक नया जम्मू-कश्मीर बनते हुए देख रहे हैं। प्रदेश के विकास में सबसे बड़ी दीवार अनुच्छेद-370 की थी, इस दीवार को भाजपा सरकार ने हटा दिया है। अब जम्मू कश्मीर संतुलित विकास की ओर बढ़ रहा है।   प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में रिकॉर्ड संख्या में स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय स्थापित हुए अकेले जम्मू-कश्मीर में 50 नए डिग्री कॉलेज स्थापित किए गए। मोदी ने कहा कि धारा 370 जम्मू-कश्मीर के विकास में मुख्य बाधा थी, भाजपा सरकार ने इसे हटा दिया।   उन्होंने कहा कि जब मैं लखपति दीदी की बात करता हूं, तो दिल्ली के एसी कमरों में बैठकर जो दुनियाभर की गंध उछालते रहते हैं, उनके गले से उतरता ही नहीं हैं कि कोई गांव में लखपति दीदी बन सकता है। सायना जी आपने ये करके दिखाया है, अब उन्हें समझ आएगा कि ये हो सकता है।

Kolar News

Kolar News

संभल। श्री कल्कि धाम के शिलान्यास के लिए संभल पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत अब पराभव से विजय की ओर प्रस्थान करने वाला राष्ट्र बन गया है। हम पर सैकड़ों वर्षों से आक्रमण हुए। कोई और देश होता तो नष्ट हो गया होता। हम फिर भी डटे हैं। सदियों के बलिदान अब फलीभूत हो रहे हैं। जैसे लंबे समय से पड़ा बीज वर्षा काल में अंकुरित होता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे प्रमोद कृष्णम् यहां मंदिर बना रहे हैं, वैसे ही ईश्वर ने मुझे राष्ट्र रूपी मंदिर के निर्माण का जिम्मा सौंपा है। उसको भव्यता दे रहा हूं। भारत पहली बार उस मुकाम पर है कि अब वह अनुसरण नहीं दुनिया भर में उदाहरण पेश कर रहा है। हम इनोवेशन और आईटी सेक्टर में संभावना के तौर पर देखे जा रहे हैं। हम दुनिया में पांचवी अर्थव्यवस्था हैं। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाले पहले देश हैं। वंदे भारत, नमो भारत ट्रेनों का संचालन किया गया है। जल्द ही बुलेट ट्रेन चलने जा रही है। अब देश का हर व्यक्ति गौरव गौरवान्वित महसूस करता है। अब हमारी शक्ति अनंत और संभावनाएं अपार हैं। कालचक्र बदल गया है, नए युग की शुरुआत हो चुकी है मोदी ने कहा कि श्री कल्कि धाम मंदिर परिसर 5 एकड़ में बनकर तैयार होगा। इसका निर्माण कार्य पूरा होने में 5 साल लगेंगे। इस मंदिर का निर्माण भी बंसी पहाड़पुर के गुलाबी पत्थरों से होगा। सोमनाथ मंदिर और अयोध्या का राम मंदिर भी बंसी पहाड़पुर के पत्थरों से ही बना है। मंदिर के शिखर की ऊंचाई 108 फीट होगी। इसमें स्टील या लोहे का इस्तेमाल नहीं होगा। श्री कल्कि धाम मंदिर में 10 गर्भगृह होंगे, जिनमें भगवान विष्णु के 10 अवतारों के विग्रह स्थापित किए जाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि कालचक्र बदल चुका है अब नए युग की शुरुआत हो चुकी है।   मोदी बोले, मां के लिए प्रमोद कृष्णम ने खपा दिया अपना पूरा जीवन प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों प्रमोद कृष्णम जब निमंत्रण देने आए थे। उसके आधार पर कह रहा हूं, आज जितना आनंद उन्हें हो रहा है, उससे ज्यादा सुख उनकी मां की आत्मा को मिल रहा होगा। मां के वचन के लिए बेटा कैसे जीवन खपा सकते हैं। ये प्रमोद जी ने बता दिया है। मेरे पास देने के लिए कुछ नहीं है, मैं सिर्फ भावना व्यक्त कर सकता हूं। अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर के साक्षी बने अब कल्कि धाम में मोदी ने इस अवसर पर विपक्ष पर इशारों ही इशारों में हमला बोला। उन्होंने चंदे पर चुटकी लेत हुए कहा है कि आज जमाना ऐसा बदल गया है कि सुदामा अगर पोटली में चावल देते, वीडियो निकल जाती तो सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल दायर हो जाती है कि भगवान कृष्ण भ्रष्टाचार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रामलला के विराजमान होने का अलौलिक अनुभव है। अभी भी क्षण भावुक कर जाता है। इसी बीच देश से सैकड़ों किमी दूर अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर के वे साक्षी बने हैं। कल्पना से परे काम भी हकीकत बन रहे हैं। काशी का कायाकल्प और इसी दौर में महाकाल के महालोक की महिमा हम सबने देखी है। आज एक ओर तीर्थों का विकास हो रहा है, तो शहरों में इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हो रहा है। मंदिर बन रहे हैं, तो कॉलेज भी बन रहे हैं विदेशी निवेश भी आ रहा है। ये परिवर्तन प्रमाण है, समय का चक्र घूम चुका है.   कल्कि धाम देशभर के श्रद्धालुओं की आस्था का प्रतीक प्रधानमंत्री ने कहा कि कल्कि धाम में आज कई संत, धर्मगुरु और अन्य जाने-माने लोग शामिल हुए हैं। वहीं, उज्जैन के बाबा महाकाल मंदिर से जुड़े महात्मा वैदिक मंत्र के बीच पूजन का कार्यक्रम संपन्न कराया है। उन्होंने कहा कि यहां 10 गर्भगृह होंगे, भगवान के दसों रूपों को रखा जाएगा। यहां ईश्वरीय अवतार को अलग-अलग तरह से प्रस्तुत किया जाएगा। ये ईश्वर की कृपा है कि भगवान ने मुझे इस काम का माध्यम बनाया है। उत्तर प्रदेश के संभल में कल्कि धाम देशभर के श्रद्धालुओं की आस्था का प्रतीक है। इसका निर्माण कल्कि धाम निर्माण ट्रस्ट द्वारा किया जा रहा है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जगतगुरु अवधेशानंद गिरि, कैलाशानंद गिरी समेत देशभर से आए कई संत महात्मा उपस्थित थे।

Kolar News

Kolar News

चंडीगढ़। पंजाब के आंदोलनकारी किसान संगठनों तथा केंद्र सरकार के बीच एमएसपी के मुद्दे पर खींचतान अभी भी जारी है। चंडीगढ़ में रविवार रात दो बजे तक इस पर बैठक में माथपच्ची हुई। इस दौरान केंद्र सरकार ने किसानों को तीन फसलों पर एमएसपी पर खरीदने का प्रस्ताव दिया। संगठनों ने कहा है कि वह इस प्रस्ताव पर दो दिन तक विचार करके सरकार को अपना फैसला बता देंगे।   किसान संगठनों ने साफ कर दिया है कि सरकार के प्रस्ताव पर अगर सहमति नहीं बनती है तो 21 फरवरी को दिल्ली कूच किया जाएगा। बैठक में सरकार की तरफ से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, अर्जुन मुंडा, नित्यानंद रॉय, किसानों की तरफ से स्वर्ण सिंह पंधेर, जगजीत सिंह डल्लेवाल और पंजाब सरकार की तरफ से मुख्यमंत्री भगवंत मान व कृषि मंत्री जगजीत सिंह खुड्डियां शामिल हुए।   करीब सात घंटे चली बैठक के बाद केंद्रीयमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि चर्चा सकारात्मक रही। हमने किसानों को दाल, कपास और मक्का पर पांच साल के लिए एमएसपी पर खरीदने का प्रस्ताव दिया है। इस पर किसानों ने कहा कि वह सोमवार को इस पर चर्चा करके बताएंगे।   बैठक के बाद पंजाब किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव सरवण सिंह पंधेर ने कहा कि सरकार ने जो प्रस्ताव दिया है उस पर चर्चा की जाएगी। इस पर सोमवार शाम तक या मंगलवार तक फैसला लिया जाएगा। मंत्रियों ने आश्वासन दिया है कि अन्य मांगों पर भी बातचीत करके हल निकाला जाएगा। सभी मांगों पर सरकार से चर्चा नहीं हो पाई है। हम दो दिन सरकार के प्रस्ताव पर विचार करेंगे। विशेषज्ञों से राय लेंगे।

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी के कांग्रेस छोड़ने की अटकलों के बीच केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने दावा किया कि कि अगले 10 दिनों में कांग्रेस एवं अन्य विपक्षी दलों के 70 से अधिक बड़े नेता भाजपा में शामिल हो सकते हैं।   भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन के बाद अनुराग ठाकुर ने रविवार को मीडिया से कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी नीतियों से प्रभावित हो कर विपक्षी दलों के 70 से अधिक नेता 20 से 29 फरवरी के बीच भाजपा में शामिल हो सकते हैं।   उल्लेखनीय है कि कमलनाथ, नकुलनाथ, मनीष तिवारी के भाजपा में शामिल होने की अटकलें हैं। इससे पहले महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने भाजपा का दामन थाम लिया। उनके साथ कुछ विधायक भी पाला बदल चुके हैं।  

Kolar News

Kolar News

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन के अंतिम दिन रविवार को अयोध्या में बने भव्य राम मंदिर को लेकर प्रस्ताव पारित किया गया। इसमें कहा गया कि राम मंदिर अगले 1,000 वर्षों के लिए भारत में ‘रामराज्य’ की स्थापना का संकेत है। इससे पहले जय श्री राम के नारे के बीच राम मंदिर के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अभिनंदन किया गया। राष्ट्रीय अधिवेशन में राम मंदिर पर प्रस्ताव पेश करते हुए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार रामराज्य की स्थापना की ओर अग्रसर है। प्रधानमंत्री मोदी आध्यात्मिक और सांस्कृतिक चेतना को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं। प्रस्ताव में कहा गया है कि प्राचीन पवित्र नगरी अयोध्या में उनकी जन्मस्थली पर भगवान राम के भव्य और दिव्य मंदिर का निर्माण देश के लिए एक ऐतिहासिक और गौरवशाली उपलब्धि है। यह एक नए 'कालचक्र' की शुरुआत के साथ अगले एक हजार वर्षों के लिए भारत में 'रामराज्य' की स्थापना का सूत्रपात है। राम मंदिर भारत की दृष्टि, दर्शन, पथ का प्रतीक है। श्रीराम मंदिर सचमुच राष्ट्रीय चेतना का मंदिर बन गया है। संस्कृति के प्रति जागरूक इस देश के प्र