Video

Advertisement


अग्निवीरों पर बयान देकर ट्रोल हुए कैलाश विजयवर्गीय

अग्निपथ योजना को लेकर देश भर में विरोध-प्रदर्शन जारी है। इन सब के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय विवादों में घिर गए हैं। सोशल मीडिया पर एक वीडियो उनका तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में वे कहते दिख रहे हैं कि अगर उनको बीजेपी ऑफिस में सिक्योरिटी रखना होगा तो वो अग्निवीरों का प्राथमिकता देंगे। दरअसल, इंदौर में वे अग्निपथ योजना को लेकर अपनी बात रख रहे थे और समझाने की कोशिश कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने यह बयान दे दिया। उन्होंने कहा कि जब कोई युवा सेना में अग्निपथ योजना के तहत प्रशिक्षण लेगा और चार साल की सेवा के बाद निकलेगा तो 11 लाख रुपये उसके हाथ में होंगे और वह अपनी छाती पर अग्निवीर का तमगा लगाकर घूमेगा। बीजेपी महासचिव ने आगे कहा कि मुझे अगर बीजेपी के इस कार्यालय में सुरक्षा रखनी है, तो मैं अग्निवीर को प्राथमिकता दूंगा। कैलाश के इस बयान के बाद लोग सोशल मीडिया पर ट्रोल करने लगे। कैलाश विजयवर्गीय के बयान देने के थोड़ी देर बात ही उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। लोग कॉमेंट करने लगे। उन्हें ट्रोल करने लगे। अपने बयान को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया के बाद विजयवर्गीय ने आरोप लगाया कि 'टूलकिट' गिरोह से जुड़े लोग उनके कथन को तोड़ मरोड़कर प्रस्तुत करके 'कर्मवीरों' के अपमान की कोशिश कर रहे हैं। अपने बयान पर बवाल मचने के बाद विजयवर्गीय ने ट्वीट कर सफाई दी कि अग्निपथ योजना से निकले अग्निवीर निश्चित तौर पर प्रशिक्षित एवं कर्तव्य के प्रति प्रतिबद्ध होंगे। सेना में सेवाकाल पूर्ण करने के बाद वे जिस भी क्षेत्र में जाएंगे, वहां उनकी उत्कृष्टता का उपयोग होगा। मेरा आशय स्पष्ट रूप से यही था। उन्होंने आगे कहा कि टूलकिट गिरोह से जुड़े लोग मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर प्रस्तुत करके कर्मवीरों का अपमान करने की कोशिश कर रहे हैं। यह देश के कर्मवीरों का अपमान होगा। राष्ट्रवीरों-धर्मवीरों के खिलाफ इस टूलकिट गिरोह के षड्यंत्रों को देश भली भांति जानता है।

Kolar News 20 June 2022

Comments

Be First To Comment....

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2022 Kolar News.