विशेष

हरिद्वार। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड सरकार के कांवड़ यात्रा मार्ग पर पड़ने वाले होटल, ढाबों एवं दुकानों पर उसके मालिकों के नाम लिखने के आदेश का योगगुरु स्वामी रामदेव ने समर्थन किया है। स्वामी रामदेव ने कहा कि जब स्वामी रामदेव को अपना नाम छुपाने की कोई जरूरत नहीं है, अपना परिचय देने में कोई दिक्कत नहीं है तो फिर रहमान को अपना परिचय बताने में क्यों दिक्कत है। अपने नाम पर तो सबको गौरव होता है।   स्वामी रामदेव ने कहा कि अपने कार्यों को शुद्धता और प्रमाणिकता से करने की आवश्यकता है। कार्यों में अगर शुद्धता और प्रमाणिकता है तो हमारा नाम चाहे हिंदू है चाहे मुसलमान है, चाहे हम किसी वर्ग के हैं हम सब भारतीय हैं, हम सबको भारतीय होने पर और हमें अपने नाम, धर्म और जाति पर गर्व होना चाहिए। उन्होंने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड सरकार के कांवड़ यात्रा मार्ग में दुकान और ढाबों के मालिकों की नेम प्लेट लगाने के निर्णय का स्वागत किया।   कांवड़ मेले को लेकर उन्होंने कहा कि कांवड़ के यात्री शिवत्व धारण कर ऐसा आचरण करें कि सबको लगे कि यह कांवड़ियां नहीं अपितु साक्षात शिव-पार्वती का साक्षात विग्रह जा रहा है। दिल्ली में केदारनाथ मंदिर की प्रतिकृति बनाने को लेकर विवाद पर उन्होंने कहा कि जो हमारे देव स्थान या बड़े तीर्थ हैं, उनका कोई विकल्प नहीं हो सकता। जो भगवान के द्वारा बनाए गए धाम हैं, उन्हें कोई इन्सान नहीं बना सकता। धामी सरकार ने जो चारों धामों को पेटेंट करने का निर्णय लिया है, वह प्रशंसनीय है।    

Kolar News

Kolar News 21 July 2024

कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने रविवार को धर्मतला में शहीद दिवस समारोह में भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने रुख को साफ करते हुए भाजपा पर तीखा हमला किया। ममता ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए दावा किया कि केंद्र में अधिक दिनों तक एनडीए की सरकार नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि बंगाल ही इसका रास्ता दिखाएगा।   ममता बनर्जी ने अपनी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को साफ संदेश दिया कि वे किसी भी प्रकार की अनियमितता बर्दाश्त नहीं करेंगी। उन्होंने कहा कि अगर कोई गलती करेगा, तो उसे नहीं छोड़ा जाएगा। हम गिरफ्तार करेंगे। आप गलत काम न करें और न ही गलत सहें। महिलाओं का सम्मान करें। उन्होंने यह भी जोर दिया कि पार्टी में किसी के खिलाफ शिकायत मिलने पर उचित कार्रवाई की जाएगी। ममता ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा कि वे लोभ न करें और जो कुछ उनके पास है, उसी से संतुष्ट रहें। उन्होंने कहा, \"मैं चाहती हूं कि आप गरीब रहें। इसका मतलब है, जो आपके पास है, उससे संतुष्ट रहें। हमें लालच नहीं करना चाहिए।\"   ममता ने भाजपा पर आरोप लगाया कि वे उनके काम में बाधा डालने के लिए अदालत का सहारा लेते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा आंदोलन में कुछ नहीं कर सकती। मेरे पास 10 लाख सरकारी नौकरियां हैं, लेकिन जब भी मैं कुछ करने जाती हूं, वे अदालत में चले जाते हैं। कभी कहते हैं 26 हजार की नौकरी खा रहे हैं, कभी 42 हजार की। ममता बनर्जी ने कहा कि हम बंगाल की पहचान को बचाएंगे। बंगाल ही देश की पहचान को बचाएगा। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके शासन में गरीबी दर आठ फीसदी तक घट गई है। उन्होंने कहा कि हमारे शासन में, 57.6 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा से नीचे थे, जो अब 40 फीसदी तक हो गया है।   ममता ने गर्व से कहा कि उनकी पार्टी ने लोकसभा में 38 फीसदी चुने हुए प्रतिनिधियों को भेजा है। उन्होंने इसे पार्टी की सफलता बताया और कहा कि ये प्रतिनिधि उनकी पार्टी की ताकत हैं। ममता ने एजेंसियों के दबाव के बावजूद जनता के समर्थन का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि चुनाव में एकतरफा एजेंसियों के दुरुपयोग के बावजूद, लोग हमारे साथ खड़े रहे और हमें जीत दिलाई। ममता ने अपने संबोधन की शुरुआत समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव को धन्यवाद देते हुए की। उन्होंने कहा कि अखिलेश को धन्यवाद, जो वे बंगाल आए। दिल्ली की सरकार ज्यादा दिन नहीं टिकेगी। उत्तर प्रदेश में अखिलेश ने खेल दिखाया है। भाजपा को हटाया जाना चाहिए।   धर्मतला में ममता के पहुंचने पर भारी उत्साह देखा गया। उनके साथ अखिलेश यादव भी थे, जिनका स्वागत जोश से किया गया। सभा स्थल पर भारी भीड़ उमड़ी थी और ममता ने बारिश के बावजूद अपने संबोधन को जारी रखा। उन्होंने इसे ईश्वर का आशीर्वाद बताया और कहा कि 21 जुलाई को थोड़ी बारिश तो होगी ही। यह शहीदों के आंसू हैं। इस जल से डरें नहीं। ममता बनर्जी का यह संबोधन कई मायनों में महत्वपूर्ण था, जिसमें उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ा रुख, भाजपा पर प्रहार और अपनी पार्टी की नीतियों को स्पष्ट रूप से प्रस्तुत किया।  

Kolar News

Kolar News 21 July 2024

समाज

भोपाल। मध्‍यप्रदेश में बारिश का स्ट्रॉन्ग सिस्टम एक्टिव है। इस वजह से प्रदेश के कई हिस्‍सों में बारिश का दौर जारी है। रविवार को भी भोपाल और नर्मदापुरम में सुबह से कभी तेज कभी धीमी बारिश हो रही है। अगले 3 दिन पूरे प्रदेश में तेज बारिश का अलर्ट है। इंदौर समेत कुल 31 जिलों में आज तेज पानी गिरने की संभावना है। विदिशा, रायसेन, सीहोर, नर्मदापुरम, बैतूल, बुरहानपुर, खंडवा, देवास, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट और पांढुर्णा जिलों में 24 घंटे के अंदर 4.5 से 8 इंच तक बारिश हो सकती है।   मौसम विभाग भोपाल के सीनियर वैज्ञानिक डॉ. वेदप्रकाश सिंह ने बताया कि सौराष्ट्र गुजरात के आसपास साइक्लोनिक सर्कुलेशन एक्टिव है। वहीं, बंगाल की खाड़ी के आसपास लो प्रेशर एरिया है। मानसून ट्रफ प्रदेश के श्योपुर, दमोह, मंडला की तरफ से गुजर रही है। दूसरी ओर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर की खाड़ी से नमी भी आ रही है। इस कारण बारिश की स्ट्रॉन्ग एक्टिविटी रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार अगले 2 दिन पूरे प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने के आसार ज्यादा है। इसलिए लोगों को बचाव की समझाइश दी गई है।   इससे पहले प्रदेश में शनिवार को भी तेज बारिश का दौर जारी रहा। भोपाल, बैतूल, नर्मदापुरम, रायसेन, छिंदवाड़ा, जबलपुर, खजुराहो, मंडला, नरसिंहपुर, नौगांव, सागर, सिवनी और बालाघाट जिलों में पानी गिरा। रायसेन में सबसे ज्यादा 56 मिमी, यानी दो इंच से अधिक बारिश हो गई। सिवनी में डेढ़ इंच और मलाजखंड में सवा इंच बारिश दर्ज की गई। खजुराहो में पौन इंच के करीब पानी गिरा।        प्रदेश में अब तक 11.6 इंच बारिश हो गई है, जो कोटे की कुल बारिश की 35 प्रतिशत है। तेज बारिश की वजह से डैम, तालाबों में भी पानी बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे के दौरान सीहोर के कोलार डैम, शहडोल के बाणसागर, खंडवा के इंदिरा सागर, नर्मदापुरम के तवा डैम, भोपाल के कलियासोत डैम, राजगढ़ के मोहनपुरा और कुंडालिया डैम में भी पानी बढ़ा है। भोपाल की लाइफ लाइन बड़ा तालाब में भी आधा पानी की बढ़ोतरी हुई है।  

Kolar News

Kolar News 21 July 2024

उज्जैन। भगवान श्री महाकाल की सवारियों के संबंध में उज्जैन कलेक्टर नीरज कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने शनिवार को प्रशासनिक संकुल भवन में मीडिया से चर्चा की। प्रशासक श्री महाकालेश्वर मंदिर  मृणाल मीना ने पावरप्वाइंट प्रेजेंटेशन  से व्यवस्थाओं के संबंध विस्तृत जानकारी दी।          कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि निर्धारित रेट लिस्ट से अधिक पैसा लेने वाले होटलों को सील किया जाएगा। साथ ही उनके पंजीयन निरस्त करने की कार्रवाई भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशानुरूप  बाबा महाकाल की सवारी में जनजातीय कलाकारों का दल भी सहभागिता करेगा। दो चलित रथ के माध्यम से बाबा महाकाल की सवारी का लाइव प्रसारण किया जाएगा। इस चलित रथ की विशेषता यह है कि इसमें लाइव बॉक्स रहेगा, जिससे लाइव प्रसारण निर्बाध रूप से होगा।  श्रावण मास की सवारियों के दृष्टिगत नगर निगम सिमा में शासकीय और अशासकीय विद्यालयों में अध्यनरत कक्षा 1 से कक्षा 12वीं तक के सभी विद्यार्थियों का सोमवार को अवकाश रहेगा।         पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने बताया कि बाबा महाकाल की सवारियों के सुव्यवस्थित आयोजन के लिए 2000 से अधिक का पुलिस बल और वॉलिंटियर्स तैनात रहेंगे। सवारी मार्ग पर पड़ने वाली विभिन्न गलियों का वेरिफिकेशन किया जा चुका है। रविवार सुबह से भौतिक सत्यापन की कार्रवाई भी की जाएगी। पांच ड्रोन के माध्यम से संपूर्ण सवारी मार्ग की निगरानी होगी। श्रद्धालुओं के सुगम दर्शन और यातायात प्रबंधन के लिए डबल लेयर बैरिकेडिंग की गई है। इसी के साथ कम समय में यातायात सुचारु करने के लिए बफर जोन भी बनाया गया है।    कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए संदिग्ध लोगों की जांच कर बाउंड ओवर  और प्रतिबंधात्मक कार्रवाई भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि पार्किंग व्यवस्था में प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे जो यह सुनिश्चित करेंगे कि श्रद्धालुओं से निर्धारित शुल्क से अधिक न लिया जाए। अल्कोहल टेस्ट डिवाइस के माध्यम से वाहन चालकों की चेकिंग की जाएगी  नियमों के उल्लंघन पर ई रिक्शा वाहनों पर भी कार्रवाई होगी।   

Kolar News

Kolar News 20 July 2024

राजनीति

पीसीसी चीफ जीतू पटवारी ने भिंड कलेक्टर की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रशासन को खुली छूट दे दी है कि आप सिर्फ दमनकारी रवैये के साथ काम करें।बीजेपी पूरे प्रदेश में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर दमन कर रही है।  पीसीसी चीफ जीतू पटवारी ने प्रदेश सरकार पर गंभीर आराेप लगाए है। उन्हाेंने कहा कि पर्ची वाले सीएम के राज में प्रदेश में दो अलग-अलग विचारों के कानून चल रहे है। दबंगों के लिए अलग और दलित, अल्पसंख्यक के लिए अलग। प्रदेश सरकार पर दोयम दर्जे की कार्यप्रणाली का आराेप लगाते हुए पटवारी ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं, दलित, अल्पसंख्यक परिवार पर कार्रवाई की जा रही है जबकि माफिया, गुंडों को खुली छूट दी गई है। लहार में तीन कांग्रेस कार्यकर्ताओं के घर तोड़े गए। पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह पर दबाव बनाया जा रहा है।जीतू ने कहा कि कांग्रेस कानून का उल्लंघन करने वाले प्रशासनिक अधिकारियों आैर कर्मचारियों के खिलाफ मोर्चा खाेलकर निर्दोष व्यक्तियों के पक्ष में आवाज उठायेगी।

Kolar News

Kolar News 21 July 2024

इंदौर। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि भारतीय संस्कृति में गुरुजनों का स्थान सर्वोच्च है। गुरु शिक्षा के साथ ही ज्ञान का प्रसार भी करते हैं। वे अपने शिष्यों को अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। गुरुजनों का सम्मान भारतीय परंपरा और संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि गुरुजनों के सम्मान के लिए अब प्रदेश के हर स्कूल और कॉलेजों में गुरु पूर्णिमा का महापर्व हर वर्ष मनाया जाएगा। विद्यार्थियों को गुरुओं की महत्ता बताई जाएगी। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि वे इस आयोजन से जुड़े और गुरुओं के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करें।   मुख्यमंत्री डॉ. यादव रविवार को इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में आयोजित गुरु पूर्णिमा के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, महापौर पुष्यमित्र भार्गव, विधायक उषा ठाकुर, मालिनी गौड़, मधु वर्मा तथा गोलू शुक्ला, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा के.सी. गुप्ता, संभागायुक्त दीपक ‍सिंह, पुलिस कमिश्नर राकेश गुप्ता, कलेक्टर आशीष सिंह, गौरव रणदिवे, देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलगुरु रेणु जैन, महर्षि पाणिनी संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय के पूर्व कुलगुरु मिथिला प्रसाद त्रिपाठी भी मौजूद थे।    मुख्यमंत्री ने महाभारत के अनेक प्रसंगों का उल्लेख करते हुए गुरु शिष्य परम्पराओं का महत्व बताया। उन्होंने कहा कि गुरु शिक्षा के साथ ही ज्ञान भी देते हैं। वे अन्याय एवं अधर्म से लड़ना सिखातें हैं। जीवन जीने की कला बताते हैं। गुरू शिक्षा और ज्ञान का दान करते हैं। इस कार्य में वे अपने कष्टों को भी बाधा नहीं बनने देते हैं। गुरु का साथ मिलते ही शिष्य के जीवन में सकारात्मक बदलाव आता है और वह सफतलता की ऊंचाईयों को प्राप्त करने लगता है।   उन्होंने कहा कि गुरु परम्परा समुचित मानवता को धन्य करने की परम्परा है। उन्होंने आचार्य सांदीपनि का उल्लेख विशेष रूप से करते हुए कहा कि गुरुजन राष्ट्रवादी सोच का प्रवाह अपने शिष्यों में करते हैं। आचार्य सांदीपनि इसका बेहतर उदाहरण है। आचार्य सांदीपनि ने अपने ज्ञान से राष्ट्र निर्माण और अपने राष्ट्र के प्रति समर्पण का भाव सिखाया है। गुरुओं का महत्व सबके के सामने आना चाहिए इसके लिये हमने अब प्रदेश में हर वर्ष स्कूल और कॉलेजों में गुरु पूर्णिमा का महापर्व पूर्ण आस्था और श्रद्धा के साथ मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि भारत देश को अपने ज्ञान के आधार पर ही विश्व गुरु का दर्जा मिला है।   कार्यक्रम में महर्षि पाणिनी संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय के पूर्व कुलगुरु मिथिला प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि गुरुओं का जीवन में अक्षुण्ण महत्व है। गुरु अंतस के अंधकार को भी मिटाता है। गुरु अपना सब कुछ शिष्य को दे देता है। गुरु शिष्य में प्रतिबिंबित होते हैं। गुरु ज्ञान के साथ ही संस्कार एवं जीवन मूल्य भी सिखाते हैं। गुरुओं के महत्व को बताने के लिये राज्य शासन द्वारा हर वर्ष गुरु पूर्णिमा का महापर्व मनाये जाने का  निर्णय सराहनीय है।    भारतीय परंपरा में गुरु शिष्य संबंधों की महत्ता पर अपर मुख्य सचिव केसी गुप्ता ने अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के प्रारंभ में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलगुरु प्रो. रेणु जैन ने स्वागत भाषण दिया। कार्यक्रम में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय सहित अन्य विश्वविद्यालयों के पूर्व कुलगुरूओं एवं शिक्षक गणों का सम्मान भी किया गया। साथ ही गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को भी सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने भारतीय गणित पर लिखित पुस्तकों का विमोचन भी किया। कार्यक्रम में उन्होंने मोढ़ी लिपि को देवनागरी लिपि में परिवर्तित करने का सॉफ्टवेयर तैयार करने वाली बालिका अंशिका जैन का भी सम्मान किया।   मुख्यमंत्री गुरुजनों के बीच पहुंचे और पुष्प वर्षा कर सम्मान किया   मुख्यमंत्री डॉ. यादव गुरु पूर्णिमा के अवसर पर देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में मंच से उतरकर गुरुजनों के बीच पहुंचे। उन्होंने सभागृह में मौजूद पूर्व कुलगुरूओं एवं शिक्षक गणों  का पुष्प वर्षा कर सम्मान किया।    मुख्यमंत्री का इंदौर एयरपोर्ट पर स्वागत कर अगवानी की   इससे पहले गुरु पूर्णिमा के अवसर पर देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. यादव का इंदौर एयरपोर्ट पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, महापौर पुष्यमित्र भार्गव, विधायकगण मालिनी गौड़, महेन्‍द्र हार्डिया, मधु वर्मा, गोलू शुक्ला, संभागायुक्त दीपक सिंह, पुलिस कमिश्नर राकेश गुप्ता, कलेक्टर आशीष सिंह, नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा, गौरव रणदिवे सहित गणमान्यजन ने स्वागत कर अगवानी की।  

Kolar News

Kolar News 21 July 2024

अपराध

दतिया। मध्य प्रदेश के दतिया जिले में शुक्रवार को एक युवक ने कुल्हाड़ी से हमला कर अपनी पत्नी और उसके प्रेमी की हत्या कर दी। वारदात के बाद वह खून से सनी कुल्हाड़ी लेकर थाने पहुंच गया। पुलिस ने पूछा तो उसने कहा कि पत्नी और उसके प्रेमी की हत्या करके आया हूं। शव उसके घर के आंगन में पड़े हैं। आरोपित के मुंह से कबूलनामा सुन थाने में मौजूद पुलिसकर्मी सन्न रह गए।   पुलिस ने उसे तत्काल थाने पर बैठा लिया और एक टीम मौके पर रवाना की। वहां खून से सनी महिला और उसके 20 साल के प्रेमी का शव पड़ा मिला। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है।    घटना दतिया के सिविल लाइन थाना क्षेत्र अंतर्गत खाती बाबा कालोनी दम्मू के बाग के पास की है। आरोपित 30 वर्षीय रवि पुत्र गोपाल वंशकार पेशे से ड्राइवर है, जो पिछले आठ नौ साल से इस कालोनी में निवासरत था। आरोपित रवि का आरोप है कि उसकी पत्नी पूजा वंशकार का डबरा निवासी और दूर के रिश्तेदार रवि (20) पुत्र विनोद से प्रेम प्रसंग चल रहा था। आरोपी रवि ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार दोपहर मैं घर पर ही था। करीब दो बजे पत्नी का प्रेमी रवि घर के आसपास घूमता नजर आया। रवि को देखते ही पत्नी ने मुझसे कहा कि बाजार से सब्जी लेकर आ जाओ।    आरोपित ने बताया कि पत्नी के कहने पर मैं बाजार के लिए तो निकला, लेकिन पत्नी पर मुझे पहले से शक था। घर से निकलकर मैं कुछ दूर गया और थोड़ी देर रास्ते में खड़ा रहा, इसके बाद वापस घर लौट आया। जैसा मुझे शक था, वैसा ही हुआ। घर पहुंचा तो गेट बाहर से बंद था। मैंने जोर से दरवाजा खटखटाया तो रवि ने गेट खोला। उसे देखकर मेरा गुस्सा भड़क गया। घर के अंदर गया तो पत्नी सही स्थिति में नहीं थी। मैंने किसी से कुछ नहीं कहा और बगल में रखी कुल्हाड़ी उठाकर रवि पर हमला कर दिया। यह देखकर पत्नी पूजा उसे बचाने दौड़ी तो उस पर भी वार किया। कुल्हाड़ी उसके सिर पर लगी। इससे दोनों की मौत हो गई।   दोनों की हत्या के बाद आरोपित रवि ने थाने पहुंचकर खुद जघन्य हत्याकांड की जानकारी दी। घटना के बाद मौके पर एसपी वीरेंद्र मिश्रा, एसडीओपी प्रियंका मिश्रा, टीआई सिविल लाइन सुनील बनोरिया सहित फोरेंसिक एक्सपर्ट आदि पहुंचे। इस दौरान बारिश के कारण लहुलुहान शव से घटना स्थल पूरी तरह लाल हो गया था।   पुलिस की पड़ताल में पता चला कि 22 जून को पूजा घर से कहीं चली गई थी। पति की शिकायत पर पुलिस ने उसे दो दिन बाद 24 जून को दिल्ली से खोजा था। पूजा को पुलिस ने पति रवि के सुपुर्द कर दिया था। जिसके बाद रवि उसे अपने साथ घर ले आया था। इतना सब होने के बाद भी पति रवि ने पूजा से किसी भी प्रकार से विवाद नहीं किया था।   पड़ताल में सामने आया कि डबरा का रहने वाला प्रेमी रवि वंशकार पूजा का दूर का रिश्तेदार था। दोनों एक-दूसरे को अच्छे से जानते थे। पिछले छह महीने से रवि का पूजा के घर आना-जाना बढ़ गया था।    दतिया एसपी वीरेंद्र मिश्रा ने बताया कि आरोपी रवि डबरा के छपरा गांव का रहने वाला है। करीब 10 साल पहले वह दतिया आकर रहने लगा था। वह ड्राइवर है। पिछले 8 साल से इस मोहल्ले में अपने मकान में रह रहा था। उसके तीन बच्चे हैं। वारदात के समय बच्चे स्कूल गए हुए थे। पूजा और रवि की हत्या करने के बाद आरोपी रवि बाइक से सीधे थाने पहुंचा और वारदात कबूली। जिस कुल्हाड़ी से उसने वार किया था, वह भी साथ लेकर आया था। बच्चों को उनकी नानी के हवाले कर दिया गया है।  

Kolar News

Kolar News 20 July 2024

भिंड। जिले के बरासों क्षेत्र में शुक्रवार को मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। सोने की मोहरें और जमीन बंटवारे को लेकर छोटी बहू ने अपनी 95 वर्षीय सास पर लाठी से हमला कर दिया। जिस समय बहू सास को लाठी से मार रही थी, तब बुजुर्ग मां का बेटा चारपाई के पास बैठा यह सब नजारा देखता रहा। इसके बाद बेटा अपने भतीजे के साथ मां को इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आया, जहां इलाज के दौरान बुजुर्ग महिला की मौत हो गई।    घटना शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे की है। जानकारी के अनुसार, 95 वर्षीय सुखदेवी बघेल पत्नी रामनाथ बघेल निवासी खैरोली थाना बरासों के दो बेटे हैं। बड़ा बेटा कल्याण बघेल और छोटा बेटा कालीचरण बघेल। सुखदेवी पिछले 30-35 साल से बड़े बेटे कल्याण बघेल के साथ रह रही थी। शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे सुखदेवी अपनी चारपाई पर लेटी हुई थी। इसी दौरान छोटे बेटे कालीचरण बघेल की पत्नी लीला बघेल ने सोने की मोहरें और जमीन बंटवारे को लेकर अपनी सास से विवाद किया और लाठी से सास पर हमला कर दिया। इस दौरान कालीचरण अपनी मां के पास चारपाई पर बैठा रहा। मारपीट के बाद कालीचरण अपनी मां को भतीजे बृजेश के साथ इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आया। यहां इलाज के दौरान बुजुर्ग महिला की मौत हो गई।   इस दौरान घर में किसी ने मारपीट का मोबाइल से वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। पुलिस ने नाती बृजेश पुत्र कल्याण बघेल की रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।   बरासों था प्रभारी कौशलेन्द्र सिंह गुर्जर ने बताया कि जमीन और सोने की मोहरों के बंटवारे को लेकर घर में विवाद हुआ था। इस पर छोटी बहू ने लाठी से हमला कर दिया, जिससे बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है।  

Kolar News

Kolar News 20 July 2024
Video
Advertisement

x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 Kolar News.