विशेष

दमोह। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने कहा है कि विभिन्न जनजातीय समुदायों ने हमारे स्वाधीनता संग्राम में गौरवशाली योगदान दिया है। हमारे वे जनजातीय शहीद केवल स्थानीय रूप से ही नहीं पूजे जाते हैं, बल्कि पूरे देश में उन्हें सम्मान के साथ याद किया जाता है। उन्होंने यह बातें रविवार को मप्र के दमोह जिले में ग्राम सिंग्रामपुर में आयोजित राज्यस्तरीय जनजातीय सम्मलेन को संबोधित करते हुए कही।   मध्यप्रदेश के दो दिवसीय प्रवास पर आए राष्ट्रपति कोविन्द ग्राम सिंग्रामपुर में राज्यस्तरीय जनजातीय सम्मेलन में शामिल हुए। यहां उन्होंने सिंगौरगढ़ किले के संरक्षण कार्यों का शिलान्यास किया। इससे पहले उन्होंने यहां रानी दुर्गावती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर परिसर में पौधरोपण भी किया। कार्यक्रम में जनजातीय समूह के विकास के लिए मध्यप्रदेश जनजातीय विभाग द्वारा तैयार किए गए आदिरंग पोर्टल का शुभारंभ किया गया।    राष्ट्रपति ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जनजातीय समुदायों में परंपरागत ज्ञान का अक्षय भंडार संचित है। मुझे बताया गया है कि मध्य प्रदेश में ‘विशेष पिछड़ी जनजाति समूह’ में शामिल बैगा समुदाय के लोग परंपरागत औषधियों एवं चिकित्सा के विषय में बहुत जानकारी रखते हैं। यदि आपको मानवता की जड़ों से जुड़ना है तो आपको जनजातीय समुदायों के जीवन-मूल्यों को अपनी जीवनशैली में लाने का प्रयास करना चाहिए।   उन्होंने कहा कि जनजातीय समुदायों में व्यक्ति के स्थान पर समूह को प्राथमिकता दी जाती है, प्रतिस्पर्धा की जगह सहयोग को प्रोत्साहित किया जाता है। उनकी जीवनशैली में प्रकृति को सर्वोच्च सम्मान दिया जाता है। आदिवासी जीवन संस्कृति में सहजता होती है तथा परिश्रम का सम्मान होता है। हम सबको अपने जनजातीय भाई-बहनों से बहुत कुछ सीखना चाहिए। जनजातीय समुदायों में एकता-मूलक समाज को बनाए रखने पर जोर दिया जाता है। उनमें स्त्रियों और पुरुषों के बीच भेदभाव नहीं किया जाता है। इसलिए जनजातीय आबादी में स्त्री-पुरुष अनुपात सामान्य आबादी से बेहतर है।   राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा कि मुझे यह जानकर प्रसन्नता हुई है कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के 6 नए मण्डलों का सृजन किया गया है। इन नए मण्डलों में जबलपुर मण्डल भी शामिल है जिसका आज ही शुभारंभ हुआ है। उन्होंने कहा कि हम सबको यह स्पष्ट रूप से समझ लेना चाहिए कि आदिवासी समुदाय का कल्याण तथा विकास पूरे देश के कल्याण और विकास से जुड़ा हुआ है। इसी सोच के साथ केंद्र एवं राज्य की सरकारों द्वारा जनजातियों के आर्थिक व सामाजिक विकास के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं।   उन्होंने कहा कि मैं रानी दुर्गावती को देवी कहता हूं। रानी दुर्गावती के अंतिम युद्ध का विवरण सभी के दिल को आंदोलित करता हैं। विभिन्न जनजातीय समुदायों ने हमारे स्वाधीनता संग्राम में गौरवशाली योगदान दिया है। हमारे वे जनजातीय शहीद, केवल स्थानीय रूप से ही नहीं पूजे जाते हैं बल्कि पूरे देश में उन्हें सम्मान के साथ याद किया जाता है। अंग्रेजी हुकूमत के दौर में, यदि हमारे आदिवासी भाई-बहनों ने अपनी वीरता और पराक्रम का प्रदर्शन न किया होता तो हमारी अमूल्य वन संपदा का और भी बड़े पैमाने पर दोहन हो चुका होता। इस प्रकार, हमारे आदिवासी भाई-बहन हमारे प्राकृतिक संसाधनों के प्रहरी और रक्षक रहे हैं।   राष्ट्रपति ने कहा कि मध्य प्रदेश में जन्मे, पूर्व प्रधानमंत्री, भारत-रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का मुझे आज विशेष रूप से स्मरण हो रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री के उनके कार्यकाल के दौरान ही केंद्र सरकार में एक अलग ‘जनजातीय कार्य मंत्रालय’ का गठन किया गया था। शिक्षा ही किसी भी व्यक्ति या समुदाय के विकास का सबसे प्रभावी माध्यम है। इसलिए जनजातीय समुदाय के शैक्षिक विकास के लिए प्रयास करना बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आज ‘मेड इन इंडिया’ के साथ-साथ ‘हैण्ड मेड इन इंडिया’ को प्रोत्साहित करने पर भी बल दिया जा रहा है। हस्तशिल्प के क्षेत्र में हमारे जनजातीय भाई-बहन अद्भुत कौशल के धनी हैं। हम सबको मिलकर यह प्रयास करना चाहिए कि हमारे जनजातीय भाई-बहनों को आधुनिक विकास में भागीदारी करने का लाभ मिले और साथ ही, उनकी जनजातीय पहचान एवं अस्मिता अपने सहज रूप में बनी रहे।   उन्होंने कहा कि ‘आदिवासी महिला सशक्तीकरण योजना’ अनुसूचित जनजाति की महिलाओं के आर्थिक विकास के लिए एक विशिष्ट योजना है। ‘राष्ट्रीय अनुसूचित जनजातीय वित्त और विकास निगम’ द्वारा इस योजना के तहत रियायती दर पर वित्तीय सहायता दी जाती है। मुझे यह जानकर प्रसन्नता हुई है कि मध्य प्रदेश में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों के निर्माण एवं संचालन पर विशेष बल दिया जा रहा है। जनजातीय छात्राओं में साक्षरता और शिक्षा के प्रसार के लिए मध्य प्रदेश में कन्या शिक्षा परिसरों के निर्माण को प्राथमिकता दी जा रही है।   कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश में जनजातीय वर्ग के सर्वांगीण विकास को रेखांकित करती गतिविधियों एवं विकास कार्यों की संक्षिप्त बानगी पुस्तिका का विमोचन किया। साथ ही इसकी पहली प्रति राष्ट्रपति कोविन्द को भेंट की। कार्यक्रम में सिंग्रामपुर की ऐतिहासिक विरासत को प्रदर्शित करती वीडियो फिल्म का प्रदर्शन हुआ। इसके साथ ही रानी दुर्गावती की वीरगाथा पर एकलव्य विद्यालय के छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी। जनजातीय कलाकारों द्वारा कला प्रशिक्षण वर्चुअल क्लास के पोर्टल का शुभारंभ राष्ट्रपति ने किया। इसके अलावा जनजातीय वर्ग के प्रतिभाशाली छात्रों को राष्ट्रपति ने शंकरशाह और रानी दुर्गावती पुरस्कार से पुरस्कृत किया।

Kolar News

Kolar News 7 March 2021

भोपाल। प्रतिदिन एक पौधा रोपने के अपने संकल्प के क्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को जबलपुर स्थित सर्किट हाउस में रुद्राक्ष का पौधा रोपा।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर पौधारोपण की जानकारी साझा करते हुए लिखा ‘आज जबलपुर स्थित सर्किट हाउस में रुद्राक्ष का पौधा लगाया है। भोलेनाथ के अश्रुओं से उत्पन्न रुद्राक्ष को धारण करने से मनुष्य के समस्त दु:ख एवं समस्याओं का निवारण स्वत: होने लगता है। इससे दीर्घायु प्राप्त होती है और नकारात्मकता से मुक्ति मिलती है।

Kolar News

Kolar News 7 March 2021

समाज

भोपाल। मप्र में पश्चिमी विक्षोभ के कारण हवाओं का रुख बार-बार बदल रहा है। इससे मध्य प्रदेश में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में उतार-चढ़ाव का सिलसिला जारी है। वहीं महाशिवरात्रि पर मप्र में मौसम का मिजाज एकबार फिर बिगड़ सकता है। मौसम विभाग के अनुसार 11 मार्च से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई स्थानों पर बादल छा सकते हैं। तेज हवा के साथ बूंदाबांदी के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान पर सक्रिय है। इस सिस्टम के प्रभाव से पाकिस्तान के मध्य में एक प्रेरित चक्रवात बन गया है। इससे हवा का रुख दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है। इससे तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है। इस सिस्टम के उत्तर भारत से आगे बढऩे पर एक बार फिर हवा का रुख उत्तरी होने लगेगा। इससे आठ मार्च से दस मार्च तक तीन दिन तापमान में गिरावट होने लगेगी। इसी क्रम में रविवार को न्यूनतम तापमान भी बढ़ेगा। उधर सोमवार से फिर दिन-रात के तापमान में कुछ कमी दर्ज होने लगेगी।   मौसम विभाग की मानें तो चक्रवातीय गतिविधि जम्मू-कश्मीर के ऊपर सक्रिय है। उत्तर में पछुवा हवा के बीच एक ट्रफ लाइन भी गुजर रही है। इसके साथ ही केरल के ऊपर अन्य चक्रवातीय गतिविधियां सक्रिय हैं। जिससे 9 मार्च को पश्चिमि विक्षोभ की वजह से फिर मौसम बदलेगा। वहीं 11-12 मार्च को भोपाल समेत कई जिलों में बादल छा सकते हैं। इस दौरान भोपाल समेत कहीं-कहीं बूंदाबांदी होने के आसार हैं।   जम्मू-कश्मीर में बने पश्चिमी विक्षोभ के असर के चलते मध्य प्रदेश के भोपाल समेत कुल 21 स्थानों के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है, जिसके चलते प्रदेश की फिजा में ठंडक घुलने के आसार बन रहे हैं। हालांकि पिछले 24 घंटे में धूल भरी हवाएं जरूर देखने को मिली हैं। अगले चौबीस घंटे में तापमान में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है।

Kolar News

Kolar News 7 March 2021

अनूपपुर। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को प्राप्त 67 रिपोर्ट में 1 व्यक्ति में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट प्राप्त होते ही स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देशों अनुसार संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर भेजने व होम आइसोलेशन हेतु निर्देशित करने,सम्बंधित कंटेनमेंट क्षेत्रों में स्क्रीनिंग एवं संक्रमितों के सम्पर्क में लेने की कार्यवाही की जा रही है।   उल्लेखनीय है कि अब तक प्राप्त कोरोना जाँच रिपोर्ट में जिले में 2065 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वर्तमान में सक्रिय 11 है। वहीं 4 स्वस्थ होने पर रवाना किया गया। अब तक 2040 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं तथा जिले के 14 की मृत्यु हो चुकी है।

Kolar News

Kolar News 5 March 2021

राजनीति

भोपाल। सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण और पशुपालन एवं डेयरी विकास मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जन्मदिन राजधानी भोपाल के शाहजहांनाबाद स्थित 'आसरा वृद्धाश्रम' में मनाया। उन्होंने बुजु़र्गों से वार्तालाप कर उनकी समस्याएं जानीं और विभागीय अधिकारियों को वृद्धाश्रम में सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्‍होंने बुजु़र्गों को फल भी वितरित किये।    इस दौरान पटेल ने कहा कि भारतीय संस्कृति में वृद्ध एवं गुरूजनों का आदर सम्मान कर आर्शीवाद लेने की अच्छी परम्परा है, जो कई अन्य संस्कृतियों में नहीं दिखती। पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान का पौध-रोपण का संकल्प हमारी आने वाली पीढ़ी को पर्यावरण के प्रदूषण से बचाएगा। कुछ वर्षों बाद यह संकल्प न केवल देश में बल्कि वैश्विक पर्यावरण के लिये सार्थक परिणाम देने लगेगा। पटेल ने वृद्ध आश्रम में पौध-रोपण किया। उन्‍होंने इसके पूर्व अपने शासकीय निवास पर भी आम का पौधा लगाया। 

Kolar News

Kolar News 5 March 2021

भोपाल। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज शुक्रवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी के जन्मदिवस के अवसर पर छिन्दवाड़ा होने के कारण उन्हें फ़ोन पर शुभकामनाएँ दी। उन्होंने उनके उत्तम स्वास्थ्य , यशस्वी जीवन व दीर्घायु होने की कामना की।   इसके अलावा कमलनाथ ने ट्वीट पर भी सीएम शिवराज को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए उनके दीर्घायु होने की कामना की है। कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा ‘प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ। आपके उत्तम स्वास्थ्य , दीर्घायु व यशस्वी जीवन की ईश्वर से कामना करता हूँ।

Kolar News

Kolar News 5 March 2021

अपराध

देवास। मध्य प्रदेश के देवास जिले में गुरुवार रात बाईक सवार दंपत्ति डंपर की चपेट में आ गए। इस हादसे में पति और पत्नी दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने शवों को बरामद किया और प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू की। घटना जिले के उज्जैन चौराहे की है। बाईक सवार दंपत्ति चौराहे पर सीधे डंपर से जा भिड़े। मालवाहक वाहन के नीचे आने से दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने दोनों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। यहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया है। लोगों का कहना है कि भारी वाहनों की लापरवाही के चलते हादसा हुआ है।

Kolar News

Kolar News 5 March 2021

भिंड। मध्य प्रदेश के भिंड जिले में नेशनल हाइवे 92 पर भीषण सडक़ हादसा हुआ है। यहां एक  अज्ञात वाहन ने ओमनी वैन को जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में एक महिला समेत चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 7 लोग गंभीर रुप से घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए ग्वालियर रेफर किया गया है। बताया जा रहा है कि हादसे के शिकार हुए सभी लोग महाराष्ट्र से नेपाल जा रहे थे, इसी दौरान गोहद थाना इलाके के ज्ञानेंद्रपुरा के पास ये हादसा हुआ है। पुलिस ने मामला दर्ज कर अज्ञात वाहन की तलाश शुरू कर दी है।   जानकारी अनुसार घटना ज्ञानेंद्रपुरा के गोहद थाना अंतर्गत नेशनल हाइवे 92 की है। उल्लास नगर महाराष्ट्र से 11 लोग ओमनी वैन क्रमांक एमएच 02 बीटी 8385 में सवार होकर सतुरी नेपाल अपने घर जा रहे थे। इसी दौरान शुक्रवार सुबह भिंड-ग्वालियर हाइवे ज्ञानेंद्रपुरा आसमानी मंदिर के पास किसी अज्ञात वाहन ने ओमनी वैन को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी भीषण थी कि ओवनी वैन बुरी तरह से क्षतिग्रस्त होकर चकनाचूर हो गई। हादसे में वैन में सवार एक महिला और तीन पुरुषों की मौके पर ही मौत हो गई है। राहगीरों ने तुरंत पुलिस को सूचित किया। घटना की सूचना मिलते ही भिंड पुलिस मौके पर पहुंच गई और गाड़ी में फंसे लोगों को स्थानीय लोगों की मदद से बाहर निकाला गया। हादसे में घायलों को गंभीर चोटें आई हैं, इसलिए ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल रैफर किया गया है।    घायलों में उदय (31 वर्ष), कृष्णा (28 वर्ष), सीता (22 वर्ष), विनोद (30 वर्ष), शेर बहादपुर (42 वर्ष), प्रकाश उम्र (21 वर्ष), किशन (28 वर्ष) शामिल हैं। पुलिस आसपास के लोगों से पूछताछ कर पता लगाने में जुटी है कि वैन को किस वाहन ने टक्कर मारी है। हालांकि अब तक वाहन का पता नहीं चल सका है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर अज्ञात वाहन की तलाश शुरू कर दी है।

Kolar News

Kolar News 5 March 2021
Video

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782

x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2021 Kolar News.