विशेष

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना का संकट अत्यंत विकट है, यह एक युद्ध है, जिसमें सबको सारे मतभेद भुलाकर एकजुट होकर लडऩा पड़ेगा। सरकार अपने स्तर पर पूरे प्रयास कर रही है, परन्तु जब तक समाज का पूरा सहयोग नहीं मिलेगा, हम कोरोना को शीघ्र नियंत्रित नहीं कर पाएंगे।   मुख्यमंत्री ने रविवार को प्रदेश की जनता से कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में सहायोग की अपील करते हुए कहा कि बीमारी के थोड़े भी लक्षण दिखने पर तुंरत जाँच करवायें तथा होम आइसोलेशन अथवा कोविड केयर सेंटर में रहकर इलाज लें। यहाँ सरकार द्वारा दवाओं, डॉक्टर का परामर्श आदि की पूरी व्यवस्था की गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए संक्रमण की चेन को तोडऩा बहुत आवश्यक है। उन्होंने जनता से अपील की कि आगामी 30 अप्रैल तक कोई भी अनावश्यक रूप से घर से बाहर न निकले। गाँव, मोहल्लों, कॉलोनियों, बिल्डिंग्स आदि में लोग जनता कफ्र्यू लगाएँ। इस दौरान आवश्यक वस्तुएँ दो-चार व्यक्ति जाकर ले आएँ। बाहर जाते समय मास्क अनिवार्य रूप से लगाएँ। सामाजिक दूरी रखें तथा अन्य कोरोना संबंधी सावधानियों का पालन करें।   सीएम ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि सभी के सहयोग से हम इस लड़ाई को जल्दी जीतेंगे। कोरोना शीघ्र हारेगा। उन्होंने कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में सभी धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक तथा अन्य संगठनों एवं जन-सामान्य से पूरा सहयोग करने की अपील की।होम आइसोलेशन में सभी सुविधाएँमुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन में सरकार द्वारा कोरोना के इलाज की सभी सुविधाएँ प्रदान की जा रही है। आवश्यकता होने पर अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था भी की जा रही है। जिन मरीजों के घर में जगह कम है, वे कोविड केयर सेंटर में रहें। वहाँ पर दवाई के अलावा भोजन, चाय-नाश्ता आदि की व्यवस्था भी की गई है। सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर चालू हो गए हैं।बिस्तरों की संख्या निरंतर बढ़ाई जा रही हैमुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सरकार अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या लगातार बढ़ा रही है। जहाँ एक अप्रैल को हमारे पास कुल 21 हजार 159 बिस्तर उपलब्ध थे, वहीं आज बिस्तरों की संख्या बढक़र 40 हजार 784 हो गई है। पिछले तीन दिनों में लगभग 3 हजार बेड्स बढ़े हैं।रेमडेसिविर इंजेक्शन आपूर्तिमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में 8 अप्रैल से अब तक सरकारी सप्लाई और निजी क्षेत्र की सप्लाई मिलाकर लगभग एक लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन आ चुके हैं। आज हैटरो कंपनी से 12 हजार इंजेक्शन की सरकारी सप्लाई प्राप्त हो रही है। मॉयलॉन कंपनी से 20 अप्रैल को 20 हजार इंजेक्शन प्राप्त होंगे।निरंतर बढ़ रही है ऑक्सीजन की आपूर्तिसीए शिवराज ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति निरंतर बढ़ाई जा रही है। प्रदेश में 8 अप्रैल को 130 एमटी ऑक्सीजन की आपूर्ति थी। वहीं 14 अप्रैल को यह बढक़र 280 एमटी, 16 अप्रैल को 350 एमटी तथा 17 अप्रैल को 390 एमटी हो गई। आगामी 30 अप्रैल तक प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति 700 एमटी हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने इसके लिए केन्द्र सरकार को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने बताया कि इसके अलावा जिलों में छोटे-छोटे ऑक्सीजन प्लांट प्रारंभ किए जा रहे हैं, तथा बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी भिजवाए जा रहे है।सरकारी भवनों में भी प्रारंभ किए जा सकेंगे निजी अस्पतालसीएम ने कहा कि कोरोना के इलाज में निजी अस्पतालों की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि यदि इस समय कोई निजी अस्पताल चालू करना चाहता है, तो उसे शासकीय भवन व अन्य सुविधाएँ प्रदान की जाएंगी। इन्दौर में राधा स्वामी सत्संग व्यास द्वारा एक बड़ा कोविड केयर सेंटर प्रारंभ किया गया है।कोरोना वॉलेंटियर्स बनेंमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना वॉलेंटियर्स कोरोना के नियंत्रण में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। सेवा का इच्छुक कोई भी व्यक्ति 181 पर कॉल कर कोरोना वॉलेंटियर्स बन सकता है। प्रदेश में अभी तक 97 हजार 500 कोरोना वॉलेंटियर्स पंजीकृत हुए हैं।

Kolar News

Kolar News 18 April 2021

भोपाल। मप्र में कोरोना संक्रमण अपना कहर बरपा रहा है। लगातर बढ़ते कोरोना के मामलों के चलते चिकित्सा व्यवस्था भी चरमराई हुई है। सरकार ऑक्सीजन और दवाओं की भरपूत पूर्ति का दावा कर रही है, लेकिन रोजाना प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से मौतों के मामले सामने आ रहे हैं। मप्र के शहडोल जिले में भी ऑक्सीजन की कमी के चलते 12 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। शहडोल मामले पर मप्र के पूर्व सीएम कमलनाथ ने दुख जताते हुए सरकार पर निशाना साधा है।   कमलनाथ ने शहडोल में हुई मौतों पर दुख जताते हुए कहा कि अब शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से मौतों की बेहद दुखद खबर? भोपाल, इंदौर, उज्जैन, सागर, जबलपुर, खंडवा, खरगोन में ऑक्सीजन की कमी से मौतें होने के बाद भी सरकार नहीं जागी? आखिर कब तक प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से यूँ ही मौतें होती रहेगी? कमलनाथ ने सरकार पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि शिवराज जी आप कब तक ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर झूठे आँकड़े परोसकर, झूठ बोलते रहेंगे, जनता रूपी भगवान रोज दम तोड़ रही है? प्रदेश भर की यही स्थिति, अधिकांश जगह ऑक्सीजन का भीषण संकट? रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी यही स्थिति, सिर्फ़ सरकार के बयानों में व आँकड़ो में ही ऑक्सीजन व रेमडेसिविर उपलब्ध, अस्पतालों से गायब?    कमलनाथ ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना संकट के हालातों पर चिंता जताते हुए कहा कि सरकार कागजी बैठकों से निकलकर मैदानी स्थिति सम्भाले, स्थिति बेहद विकट, प्रदेश वासियों को इस संकट से निकाले, ऑक्सिजन की आपूर्ति के युद्ध स्तर पर प्रयास करे, स्थितियाँ भयावह होती जा रही हैं।

Kolar News

Kolar News 18 April 2021

समाज

इंदौर। जिले में कोरोना की रफ्तार कायम है और संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसके चलते बीते तीन दिनों से संक्रमितों का आंकड़ा 1500 से ऊपर बना हुआ है।   गुरुवार देर रात जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार जिले में 1679 संक्रमित मिले। मेडिकल बुलेटिन के अनुसार पहली बार एकदिन में कोरोना संक्रमण से 10 मरीजों की मौत हुई है। पिछले पांच दिनों में शहर में 28 लोगों की मौत हो चुकी है।   हालांकि वास्तव में शहर में कोविड संक्रमण से इससे ज्यादा लोगों की मौत की बात कही जा रही है। इंदौर में पिछले चार दिन में 6535 संक्रमित मिल चुके हैं।   बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को शहर में 8942 नमूनों की जांच की गई,  जिनमें से 1679 को पॉजीटिव पाया गया। गुरुवार को संक्रमण दर 18.7 प्रतिशत रही। हालांकि राहत की बात यह है कि गुरुवार को अस्पताल से स्वस्थ होकर 1895 मरीज डिस्चार्ज हुए।   देर रात जारी मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक शहर में अबतक 10 लाख 27 हजार 621 सैम्पलों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 85 हजार 969 पॉजीटिव  मिले हैं। मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक गुरुवार को 10 मरीज की मौत हुई। इंदौर में इस बीमारी से मरने वालों का आंकड़ा 1033 पहुंच चुका है।

Kolar News

Kolar News 16 April 2021

इंदौर। छत्रीपुरा थाना के एसआई राजेंद्र मरमट की बुधवार सुबह अरबिंदो अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। एसआइ पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती थे और कोरोना से लड़ रहे थे। कोरोना की दूसरी लहर में पुलिस विभाग में यह तीसरी मौत है। एसआई की मौत से उनके सहकर्मियों में गुस्सा है और यह गुस्सा सोशल मीडिया पर फूट रहा है। इधर, एसआई राजेंद्र मरमट की पत्नी और बेटे भी संक्रमित हो चुके हैं और उनका भी इलाज चल रहा है।   टीआइ पवन सिंघल ने बताया कि एसआई मरमट को इलाज के दौरान छह रेमडेसिविर इंजेक्शन लग चुके थे और उनकी हालत में सुधार भी होने लगा था। लेकिन अचानक उन्हें सांस लेने में दिक्कत हुई और बुधवार सुबह डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद पुलिस विभाग में शोक की लहर दौड़ गई और इंटरनेट मीडिया पर प्रतिक्रियाएं आने लगीं। ज्यादातर सिपाही, एसआई और टीआई अफसरों को ही दोष दे रहे हैं।    उनका आरोप है कि पुलिसकर्मियों का न तो ठीक से इलाज हो रहा है न अफसर ध्यान दे रहे हैं। लगातार अभियान और आंकड़ों का दबाव बनाया गया और स्टाफ संक्रमित होता गया। इस दौर में इंदौर में ही करीब 200 पुलिसकर्मी और उनके परिजन संक्रमित हैं। पश्चिम और पूर्वी क्षेत्र में तीन सीएसपी संक्रमित है। एएसपी और सीएसपी स्तर के अफसरों के परिजन अस्पताल में भर्ती है। दो दिन के भीतर तीन टीआई संक्रमित हो चुके हैं। नाराज पुलिसकर्मियों का आरोप है कि पिछले वर्ष तो खबर मिलते ही अस्पताल में भर्ती करने से लेकर इलाज तक की व्यवस्था हो जाती थी, लेकिन इस बार कोई ध्यान नहीं दे रहा है।   इधर, एएसपी गुरुप्रसाद पाराशर ने इन आरोपों को गलत बताया है। उनका कहना है कि पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य की पूरी चिंता है। अफसर लगातार निगरानी कर रहे हैं। अभी तक ऐसा कोई केस नहीं आया है जिसमें किसी मुलजिम को पकड़ने के दौरान कोई पुलिसकर्मी संक्रमित हुआ हो।

Kolar News

Kolar News 14 April 2021

राजनीति

रतलाम। कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए आक्सीजन सिलेंडरों की कमी को देखते हुए विधायक चेतन्य काश्यप ने इसकी उपलब्धता के प्रयास किए।    उन्होंने कहा कि गाजियाबाद से 2200 सिलंडर की आपूर्ति 8-10 दिन के अंदर होने की संभावना है। शहर के महावीर आक्सीजन प्लांट से 1500 सिलेेंडर का टेंकर आ चुका हैै। निजी के साथ शासकीय किसी भी स्तर पर आक्सीजन की कमी ना हो इसके प्रयास लगातार जारी है।    शहर को मिले 13 टन और जल्द आने वाले 20 टन ऑक्सीजन में से शासकीय मेडिकल कालेज के लिए 1000 सिलेंडर अतिरिक्त भरकर रखे जायेंगे और  निजी अस्पतालों को भी ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी, ताकि कहीं भी ऑक्सीजन की कमी ना हो।   काश्यप ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए शुक्रवार रात ही निम्बाहेड़ा से 450 सिलेण्डर की व्यवस्था की गई थी। इसमें से 150 सिलेण्डर रतलाम पहुंच चुके है।

Kolar News

Kolar News 18 April 2021

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने जीवन रक्षक संजीवनी ऑक्सीजन की निरंतर कमी झेल रहे मुख्यमंत्री के सपनों के शहर इंदौर में कल रात को जामनगर से ऑक्सीजन भरकर इंदौर आ रहे टैंकर को धार रोड चौराहे पर रोक कर, भाजपा नेताओं ने जिस प्रकार फोटो बाजी -स्वागत -सत्कार, उसे गुब्बारे से सजाने, नारियल फोडऩे के इवेंट करने में जो समय व्यर्थ किया, उनका यह कृत्य बेहद ही शर्मनाक है और ऐसा कृत्य कर भाजपा नेताओं ने इंदौर को देश भर में शर्मशार भी किया है?   नरेन्द्र सलूजा ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा कि एक तरफ पूरे मध्यप्रदेश में अस्पतालों में ऑक्सीजन का भारी संकट व्याप्त है। प्रदेश के भोपाल, जबलपुर, सागर, खरगोन, उज्जैन, खंडवा, शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से कई मौत की खबरें सामने आ चुकी है और इंदौर के गुर्जर हॉस्पिटल में भी 5 लोगों की ऑक्सिजन की कमी से मौत की खबर भी पिछले दिनो ही सामने आई थी।    उन्होंने कहा कि वही इंदौर में तकरीबन सभी अस्पताल प्रतिदिन ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं और घंटो ऑक्सीजन का इंतजार करते रहते हैं। ऑक्सिजन की कमी के कारण वे अपने यहां मरीजों को भर्ती करने तक से मना कर रहे हैं। ऑक्सीजन पर टिके हुए मरीजों के लिए बगैर ऑक्सीजन के एक-एक मिनट गुजारना बेहद संकट की बात है और ऐसे में ऑक्सीजन का इंतजार कर रहे शहर के अस्पतालों के लिए आये ऑक्सीजन से भरे टैंकर को चौराहे पर रोक कर, उसके करीब 45 मिनट स्वागत-सत्कार-फोटो बाजी में व्यर्थ कर भाजपा नेताओं ने अपनी असंवेदनशीलता का परिचय दिया है?   श्री सलूजा ने आरोप लगाते हुए कहा कि आपदा के इस संकटकाल में भी भाजपा नेता अवसर ढूंढ रहे हैं, उन्हें जश्न, स्वागत, उत्सव व श्रेय लेने की पड़ी है। यदि वह इस ऑक्सीजन टैंकर का श्रेय ले रहे हैं तो उन्हें ऑक्सिजन की कमी से हो रही हुई मौतों की जवाबदारी भी लेना चाहिए, यश ले रहे है तो अपयश भी ले ? उन्हें उन परिवारों की सुध भी लेना चाहिए जिन्होंने ऑक्सीजन की कमी से अपनों को खोया है। वहीं, सलूजा का कहना है कि इस बात की जांच भी होना चाहिए कि जिस अवधि में भाजपा नेताओं ने ऑक्सीजन के टैंकर को चौराहे पर रोके रखा, उस अवधि में इंदौर में ऑक्सीजन की कमी से किसी मरीज की मौत तो नहीं हुई या कोई मरीज ऑक्सीजन के अभाव में अस्पताल में भर्ती होने के लिए तड़पता व भटकता तो नहीं रहा? उन्होंने कहा के संकट के इस दौर में ऑक्सीजन के टैंकर को मध्यप्रदेश सरकार ने एंबुलेंस का दर्जा देकर अत्यावश्यक सेवाओं में शामिल किया है, भाजपा नेताओं के इस गैर जिम्मेदाराना, असंवेदनशील रवैये के लिए उन पर आपराधिक प्रकरण दर्ज होना चाहिए व भाजपा नेताओं को शहर वासियों से इस अशोभनीय कृत्य के लिए तत्काल माफी भी मांगना चाहिए।  

Kolar News

Kolar News 18 April 2021

अपराध

बड़वानी। मजदूरों को ले जा रही एक पिकअप रविवार सुबह अनियंत्रित होकर कुएं में जा गिरी। हादसे में 2 मजदूरों की मौत हो गई, जबकि आधा दर्जन से अधिक घायल हैं। सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।   बड़वानी जिले की राजपुर तहसील के ग्राम इंदरपुर के समीप रविवार अलसुबह मजदूरों से भरी पिकअप कुएं में जा गिरी। दुर्घटना में दो मजदूरों की मौत हो गई, वहीं छह घायल हुए हैं। जानकारी अनुसार पिकअप में 25 से अधिक मजदूर सवार थे और ये सभी मजदूर महाराष्ट्र से लौट रहे थे। इसी दौरान ग्राम इंदरपुर के समीप वाहन अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे उतर गया और खेत में बने कच्चे कुएं में जा गिरा।   पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मृतकों में 50 वर्षीय हैडी बाई पति पाटला निवासी चौतरिया और 23 वर्षीय अशोक पुत्र नजरिया निवासी लफनगांव शामिल हैं। वहीं घायलों में हरिया पिता काटला, प्रवीण पिता पंछी लाल, घिसली पिता रामालाल, छिनी पिता पातलिया, मापा पिता पातलिया और बबलू पिता ढेबरु शामिल हैं। पिकअप वाहन को कुएं से निकालने व अन्य मजदूरों की खोजबीन जारी है। घायल मजदूरों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजपुर भेजा गया है।

Kolar News

Kolar News 18 April 2021

भोपाल/सीहोर। कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए 40 टन आक्सीजन लेकर दिल्ली से भोपाल आ रहा एक कंटेनर शनिवार अलसुबह श्यामपुर के पास पलट गया। हादसे में कंटेनर के ड्राइवर, क्लीनिक सुरक्षित रहे। पलटे हुए टैंकर को सीधा करने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि ऑक्सीजन जल्द से जल्द भोपाल पहुंचाई जा सके।   दिल्ली से आइनोक्स कंपनी का एक बड़ा एयर कैप्सूल कंटेनर आक्सीजन लेकर भोपाल आ रहा था। कंटेनर में करीब 40 टन ऑक्सीजन भरी है। शनिवार की सुबह करीब 4 से 5 बजे के बीच कंटेनर श्यामपुर में अल्फा कालेज के पास पलटी खा गया। बताया जा रहा है कि अंधेरा होने व सामने से दूसरे वाहन की चकाचौंध से कंटेनर डिवाडर के पर अनियंत्रति होकर पलट गया। पलटे हुए कंटेनर को सीधा करने के लिए श्यामपुर व कुरावर से दो क्रेन बुलाई गई हैं।  वहीं सूचना मिलते ही मौके पर कलेक्टर अजय गुप्ता, एसपी एसएस चौहान, एसडीओपी सीएम द्विवेदी, श्यामपुर थाना प्रभारी भंवरसिंह भूरिया, तहसीलदार अतुल शर्मा सहित बड़ी संख्या में राजस्व व पुलिस अमला मौके पर पहुंच गया है।  कंटेनर को दो क्रेनों की मदद से सीधा करने का प्रयास किया गया, लेकिन लोड अधिक होने से वह सीधा नहीं हो सका। इसके बाद एक क्रेन राजगढ़ से बुलाई गई है।  एसपी एसएस चौहान ने बताया कि मौके पर चार क्रेन कंटेनर को सीधा करने में लगी हैं, लेकिन रिसाव न हो इसलिए एहतियात बरती जा रही है। वहीं, भोपाल से दो बड़ी क्रेन और बुलाई जा रही हैं।

Kolar News

Kolar News 17 April 2021
Video

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782

x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2021 Kolar News.