विशेष

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इंदौर में विकसित होने वाले फर्नीचर और खिलौना क्लस्टर में राज्य शासन हरसंभव सहयोग प्रदान करेगी। क्लस्टर में स्थापित इकाइयों से प्रदेश में रोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी। यह आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए आवश्यक है। इंदौर में फर्नीचर और खिलौना क्लस्टर विकसित करना, उद्योगपतियों की सराहनीय पहल है। मुख्यमंत्री चौहान सोमवार को मंत्रालय में इंदौर फर्नीचर क्लस्टर तथा खिलौना क्लस्टर के संबंध में भेंट करने आए उद्योगपतियों से चर्चा कर रहे थे। इस अवसर पर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, आयुक्त उद्योग एवं सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विवेक पोरवाल उपस्थित थे।इंदौर फर्नीचर क्लस्टरइंदौर के बेटमा में 154 हेक्टेयर क्षेत्रफल में 600 करोड़ रुपये की लागत से फर्नीचर क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। क्लस्टर में 171 निवेशकों द्वारा अपनी इकाइयाँ स्थापित की जाएंगी। इससे लगभग 5200 लोगों को रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने क्लस्टर के लिए नामांतरण के आधार पर अलॉटमेंट, क्लस्टर को तीन फेज में विकास की अनुमति और विद्युत सब स्टेशन, एक एम.एल.डी. पानी तथा 45 मीटर सड़क बनाकर देने की प्रतिनिधियों की माँग पर सहमति प्रदान की।इंदौर खिलौना क्लस्टरइंदौर में राऊ रंगवासा स्थित औद्योगिक क्षेत्र में बनने वाले खिलौना क्लस्टर में 70 करोड़ रुपये के निवेश की 20 इकाइयाँ स्थापित करने की योजना है। इससे लगभग 4 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। प्रथम वर्ष का अनुमानित उत्पादन लगभग 250 करोड़ रुपये का है। प्रतिनिधि मंडल ने क्लस्टर के लिए शासन द्वारा क्षेत्र को विकसित कर विभागीय दर पर सदस्यों को सीधे आवंटित करने संबंधी माँग रखी। मुख्यमंत्री चौहान ने इसकी सहमति देते हुए भवन निर्माण के लिए दो एफएआर की स्वीकृति भी प्रदान की।

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

  भोपाल। मध्यप्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस को झूठ बोलने वाली पार्टी करार देते हुए कहा कि किसान, बेरोजगारों व महंगाई को लेकर हल्ला मचाने वाली कांग्रेस को तो इन मुद्दों पर बोलने का हक ही नही है क्योंकि वह तो चुनावी घोषणा पत्र में झूठ बोलकर पहले ही धोखेबाज़ी कर चुकी है। गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि सच मे अजब कांग्रेस के गजब खेल है। कभी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ किसानों की चिंता करते दिखते है तो कभी दिग्विजय सिंह बेरोजगारों को लेकर सरकार को कोसते दिखते है। आज सभी काँग्रेसी नेताओं को किसान, बेरोजगार ओर महंगाई की चिंता हो रही है लेकिन जब प्रदेश में कमलनाथ सरकार थी तब कांग्रेस सरकार ने क्या किया। कांग्रेस तो चुनाव में वचन देकर पलट गई। किसानों का 2 लाख तक का कर्जा माफ करने का वचन देने वालों ने एक भी किसान का कर्जा माफ नही किया। उन्होंने कहा कि कॉंग्रेस ने वादा किया था कि बेरोजगारों को 4 हज़ार रुपए हर महीने भत्ता देंगे। 15 महीने चली सरकार में एक भी बेरोजगार को भत्ता नही दिया। कायदे से हर बेरोजगार को 15 महीने में 60 हज़ार रुपए मिल जाना चाहिए थे।बेरोजगारो के नाम पर आज झूठे आंसू बहा रही इसी कांग्रेस ने लिखित में वादा कर बेरोजगारों के साथ छल किया। महंगाई को लेकर आज आंदोलन करने वाली कांग्रेस ने इस मुद्दे पर भी कांग्रेस ने जनता से झूठ बोला। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में पेट्रोल डीजल पर टैक्स कम करने का वादा किया था। लेकिन किया उसका उल्टा तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने घटाने की जगह वैट बढ़ा दिया। डॉ. मिश्रा ने कहा कि झूठे वादे कर सत्ता पाना और फिर भूल जाना कांग्रेस की पुरानी आदत है। जनता भी कांग्रेस की इस फितरत को अब अच्छे से समझ गयी है इसलिए वह कांग्रेस के बहकावे में नही आती है और आएगी भी नहीं चाहे काँग्रेसी कितने ही घडिय़ाली आँसू बहाते रहे।  

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

समाज

उज्जैन।मध्यप्रदेश पटवारी संघ के आह्वान पर प्रदेशभर के पटवारियों के साथ उज्जैन जिले के पटवारियों का विभिन्न मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन चल रहा हैं। इस क्रम में सामूहिक अवकाश पर चल रहे पटवारी मंगलवार को रैली निकालेंगे। मांगे पूरी करने के लिए 10 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी। मध्यप्रदेश पटवारी संघ, उज्जैन जिला इकाई के अध्यक्ष भगवान सिंह यादव ने बताया कि पटवारियों को अपनी अनेक मांगों के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। शासन के राजस्व विभाग सहित करीब 56 विभागों में अपनी सेवा देने वाले पटवारी कई सुविधाओं से मोहताज है। यादव ने बताया कि पटवारियों की 3 प्रमुख मांगे हैं - पटवारियों का ग्रेड पे 2800 करते हुए समय मान वेतनमान विसंगतियों को दूर किया जाए। मध्यप्रदेश के अनेक पटवारियों की पदस्थापना अपने गृह जिले से 800-800 किलोमीटर दूर हैं। पटवारियों को उनके गृह जिले या गृह जिले के आसपास के जिलों में पदस्थापना दी जाए। नवीन पटवारियों की सीपीसीटी नियम की अनिवार्यता समाप्त की जाए। यादव ने बताया कि पटवारियों की मांगों को लेकर चरण में आंदोलन जारी रहेगा। चरणबद्ध आंदोलन में पटवारियों ने अपने मोबाइल से सभी शासकीय ऐप अनस्टॉल किए । काली पट्टी और काला मास्क लगाकर कार्य किया। भू.अभिलेख विभाग को छोड़कर अन्य सभी कार्यों का बहिष्कार किया। इसके बाद 4 अगस्त तक सभी पटवारी सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं। 3 अगस्त को जिला स्तर पर पटवारियों की रैली का आयोजन होगा। 5 अगस्त को वेब पोर्टल, वेबजीआईएस सहित सभी ऑनलाइन कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। इसके बाद भी मांग पूरी नहीं होने पर 10 अगस्त से पटवारी अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे।

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

उज्जैन। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर में श्रावण मास के दूसरे सोमवार को श्रद्धालुओं की भारी उमड़ रही है। सुबह से ही श्रद्धालु बाबा महाकाल के दर्शन कर आशीर्वाद ले रहे हैं। वहीं, श्रावण मास के दूसरे सोमवार को शाम चार बजे भगवान महाकाल की दूसरी सवारी निकलेगी। बाबा महाकाल पालकी में विराजकर प्रजा का हाल जानने निकलेंगे। इस दौरान भगवान दो स्वरूप में श्रद्धालुओं को दर्शन देंगे। पालकी में चंद्रमौलेश्वर सवार होंगे, जबकि हाथी पर मनमहेश विराजित रहेंगे। सावन के दूसरे सोमवार को तड़के भगवान महाकाल की भस्म आरती हुई। इसके बाद मंदिर के पुजारियों ने बाबा महाकाल का भांग, चंदन, फल, वस्र आदि से अलौकिक श्रृंगार किया गया। सुबह सैकड़ों श्रद्धालुओं ने बाबा महाकाल के दर्शन किए और सुख-समृद्धि के साथ-साथ कोरोना के खात्मे का आशीर्वाद मांगा। इसके बाद लगातार श्रद्धालु भगवान महाकाल के दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं। लगातार हो रही बारिश के बाद भी सुबह 4.00 बजे से श्रद्धालुओं का तांता लगना शुरू हो गया था, जो देर रात तक जारी रहेगा। श्रावण मास में देशभर से हजारों भक्त भगवान महाकाल के दर्शन करने उज्जैन पहुंच रहे हैं। मंदिर प्रशासन भारी भीड़ के मद्देनजर लगातार व्यवस्थाओं में इजाफ कर रहा है। इसे व्यापक रूप दिया गया है। सोमवार को मंदिर के द्वार खुलते ही बाबा का धाम जयकारों से गूंज उठा। शाम को बाबा महाकाल मंदिर प्रांगण से पालकी में सवार होकर नगर भ्रमण पर निकलेंगे। दो रूपों में दर्शन देंगे महाकाल श्रावण मास के दूसरे सोमवार को शाम चार बजे भगवान महाकाल की दूसरी सवारी निकलेगी। शाम 4 बजे राजसी ठाठ बाट के साथ महाकाल का नगर भ्रमण शुरू होगा। अवंतिकानाथ चांदी की पालकी में चंद्रमौलेश्वर तथा मनमहेश रूप में हाथी पर सवार होकर भक्तों को दर्शन देंगे। निर्धारित मार्ग से होकर सवारी मोक्षदायिनी शिप्रा के रामघाट पहुंचेगी। रास्ते में हरसिद्धि मंदिर पर शिव शक्ति का मिलन कराया जाएगा। हालांकि कोरोना संक्रमण के चलते सवारी मार्ग पर भक्तों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। सवारी का ऑनलाइन प्रसारण मंदिर के पोर्टल पर, वेब साइट पर, एप पर होगा। इसे विश्व में घरों में बैठकर देखा जा सकता है। मंदिर के शासकीय पुजारी पं. घनश्याम शर्मा ने बताया कि बाबा महाकाल दूसरी सवारी में प्रजा को चंद्रमौलेश्वर स्वरूप में दर्शन देंगे। पालकी का पूजन अपराह्न 4 बजे कोटि तीर्थ के समीप सभामण्डप में होगा और बाबा महाकाल के मुघौटे को पालकी में विराजित किया जाएगा। इसके बाद पालकी को मंदिर के मुख्य द्वार पर लाया जाएगा। यहां बाबा महाकाल को सिंघिया रियासत के समय से चली आ रही परंपरान्तर्गत सशस्त्र सलामी दी जाएगी। पश्चात बाबा महाकाल पुलिस बैण्ड की सुमधुर धुन पर प्रजा का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलेंगे। प्रदेश सरकार ने कोविड प्रोटोकाल 10 अगस्त बढ़ा दिया है। ऐसे में कोविड-19 अनुकूल व्यवहार के चलते सवारी छोटे मार्ग से निकलेगी और सवारी मार्ग पर धारा-144 लागू रहेगी। आम जनता का प्रवेश सवारी मार्ग पर प्रतिबंधित रहेगा। सवारी मार्ग के दोनों ओर क्रास रोड पर बेरीकेड्स लगे रहेंगे। गत सवारी में जिस प्रकार से अव्यवस्था देखने में आई थी। उसे देखते हुए इस बार कलेक्टर आशीष सिंह ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि सवारी में केवल अनुमति प्राप्त पास धारक लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा। पण्डे, पुरोहितों की संख्या भी चिह्नित रहेगी।  

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

राजनीति

भोपाल। प्रदेश के परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत सोमवार को ग्वालियर स्थित भारतीय पर्यटन एवं यात्रा प्रबंधन संस्थाओं में आयोजित शुभारंभ कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि लर्निंग लायसेंस बनवाने की प्रक्रिया का सरलीकरण किया गया है। लोग अब घर बैठे ऑनलाइन लर्निंग लायसेंस बना सकेंगे। परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि ऑनलाइन लायसेंस बनने से जहाँ एक ओर आम जनता को परिवहन कार्यालय में लगने वाली लम्बी कतारों से मुक्ति मिलेगी वही एजेन्टों से छुटकारा भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश सरकार आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के लिये बहुत शिद्दत के साथ कार्य कर रही है। इसी अनुक्रम में परिवहन विभाग द्वारा ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस सुविधा प्रारंभ की गई। उन्होंने कहा कि इस सुविधा से हर साल लगभग 10 लाख युवा घर बैठे लर्निंग लायसेंस बनवा सकेंगे।परिवहन आयुक्त मुकेश जैन ने ऑनलाइन लर्निंग लायसेंस सुविधा को सुशासन की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम बताया। उन्होंने कहा कि अब लायसेंस प्रक्रिया को और अधिक सुगम, सरल एवं पारदर्शिता बनाया गया है।आधार कार्ड से बनवायें जा सकेंगे लायसेंस   अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना ने ऑनलाइन लर्निंग लायसेंस सुविधा के बारे में विस्तारपूवर्क जानकारी दी एवं लायसेंस बनवाने की प्रकिया को व्यवहारिक रूप से समझाया। उन्होंने बताया कि घर बैठे कोई भी व्यक्ति आधार कार्ड के जरिए 'सारथी' वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर डिजिटल रूप से निर्धारित शुल्क जमा करने के बाद लर्निंग लायसेंस बनवा सकेंगे। आधार कार्ड की जानकारी दर्ज करने पर आवेदन स्वत: ही आवेदक, अभिभावक का नाम, जन्मतिथि, पता आदि स्वत: ही दर्ज हो जाता है। आवेदक को फिजिकल फिटनेस संबंधी जानकारी भी ऑनलाइन दर्ज करना होती है। यदि आवेदक कोई शर्त पूरी नहीं करता है तो उसका आवेदन ही सबमिट नहीं होगा। आवेदन सबमिट होते ही आवेदन नम्बर आवेदक को मिल जाता है।महिलाओं के लिये पूर्णत: नि:शुल्क बनेगा लायसेंस   संयुक्त परिवहन आयुक्त अनूप सिंह की महिला आवेदकों के लिये यह सुविधा पूर्णत: नि:शुल्क की गयी है। उन्होंने कहा कि लर्निंग लायसेंस प्राप्त करने के पूर्व आवेदक को एक टेस्ट देना होगा, जिसमें सड़क सुरक्षा संबंधित से 20 प्रश्न पूछे जाएंगे। आवेदक को उत्तीर्ण होने के लिये 60 प्रतिशत जबाव सही देने होंगे। तदोपरांत ही आवेदक को लाईसेंस प्रदान किया जा सकेगा।नवीनीकरण एवं डुप्लीकेट लायसेंस भी ऑनलाइन   अपर परिवहन आयुक्त सक्सेना ने बताया कि लायसेंस नवीनीकरण, डुप्लीकेट प्रति तथा पता परिवर्तन की सुविधा भी आधार कार्ड के आधार पर अगले माह से ऑनलाइन शुरू की जायेगी। आवेदन सबमिट होने तथा डिजिटल फीस एवं पोस्टल चार्ज जमा कराने के बाद लायसेंस डाक के माध्यम से भेजा जाएगा।

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

भोपाल। आज श्रावण मास का द्वितीय सोमवार मनाया जा रहा है। श्रद्धालु सुबह से भगवान शिव के पूजन-अर्चन में जुटे हुए हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। साथ ही भगवान महादेव से सभी को आनंददायी जीवन प्रदान करने की कामना की है। मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है,-\"ॐ ह्रीं नम: शिवाय।\" पवित्र श्रावण मास के द्वितीय सोमवार की हार्दिक बधाई! देवाधिदेव महादेव से यही प्रार्थना कि अपनी कृपा की अनवरत वर्षा करते रहें, सबको सुखद, सफल और आनंददायी जीवन प्रदान करें। हर घर-आंगन में सुख, समृद्धि और खुशहाली रहे; हर चेहरे पर मुस्कान हो, शुभकामनाएं!उन्होंने आगे कहा है कि आज पवित्र श्रावण मास का द्वितीय सोमवार है। भगवान शंकर के इस प्रिय माह में हम सब भोले भंडारी की सादगी, सरलता और सहजता के गुणों से सीखें। हम सब प्रेम, क्षमा, दया और करुणा के पुण्य भाव को आत्मसात कर जगत के मंगल एवं कल्याण में योगदान का हर संभव प्रयास करें। यही भोलेनाथ की सच्ची सेवा और पूजा होगी।

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

अपराध

उज्जैन। जिले के खुडैल थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम खंडेल और पेडमी के पास सोमवार तड़के एक तेज रफ्तार अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में कार सवार एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दो अन्य लोग घायल हो गए। राहगीरों ने घायलों को कार से निकालकर अस्पताल पहुंचाया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमाटर्म के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू की। खुडैल थाना पुलिस के अनुसार, हादसा सोमवार तड़के करीब साढ़े तीन बजे ग्राम खंडेल और पेडमी के बीच हुआ। तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर कई पलटियां खा गई। थाना प्रभारी महेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया कि हादसे में तरुण (32) पुत्र बंधन निवासी आदर्श नगर देवास की मौत हो गई। मृतक तरुण तराना में पदस्थ नायब तहसीलदार सोनम भगत के पति हैं। वहीं, हादसे में दो लोग घायल हुए हैं, जिनका जिला अस्पताल में उपचार जारी है।

Kolar News

Kolar News 2 August 2021

मुरैना। जिले के सबलगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बत्तोखर में बीती देर रात तेज बारिश के साथ अचानक आकाशीय बिजली गिरने से एक मकान की छत भरभराकर गिर गई, जिससे अंदर सो रहे बुजुर्ग दम्पत्ति मलबे में दब गए। हादसे में पति की मौत हो गई, जबकि पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल महिला को इलाज के लिए सबलगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सबलगढ़ थाना पुलिस के अनुसार, ग्राम बत्तोखर निवासी बीरबल रावत और उनकी पत्नी रामरति रावत रविवार की रात खाने के बाद मकान के बाहर बने एक कमरे में सो रहे थे। रात करीब 12.30 बजे अचानक तेज बारिश शुरू हो गई। इसी दौरान मकान के बाहर बने कमरे पर आकाशीय बिजली गिरी, जिससे कमरे की छत भरभराकर अंदर सो रहे दम्पत्ति पर गिर गई और दोनों मलबे में दब गए। हादसे के बाद घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई और उन्होंने दोनों को मलबे से बाहर निकाला, लेकिन तब तक बीरबल रावत की मौत हो चुकी थी। वहीं, उनकी पत्नी रामरति रावत गंभीर रूप से घायल हो गई। ग्रामीणों ने घायल महिला को सबलगढ़ के अस्पताल पहुंचाया, जहां उनका उपचार जारी है। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू की। पुलिस ने मृतक का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश जताते हुए पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देने की मांग की है।

Kolar News

Kolar News 2 August 2021
Video

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782

x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2021 Kolar News.