Video

Advertisement


मंत्री सारंग ने गैस पीड़ित कल्याणी महिलाओं के खातों में ट्रांसफर की 5 माह की पेंशन
bhopal,Minister Sarang, transferred 5 months pension ,victims Kalyani women

भोपाल। प्रदेश के भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने गुरुवार को राजधानी भोपाल स्थित गैस राहत संचालनालय में गैस त्रासदी में दिवंगत व्यक्तियों की कल्याणी महिलाओं को पेंशन राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की। संचालनालय में आयोजित कार्यक्रम में अप्रैल-2021 से पाँच माह की पेंशन प्रतिमाह 1000 रुपये के हिसाब से अंतरित की गई।

मंत्री सारंग ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणानुरूप गैस पीड़ित कल्याणी बहनों के लिये पेंशन योजना पुन: शुरू की गई है। यह पेंशन सामाजिक सुरक्षा पेंशन की 600 रुपये की राशि के अतिरिक्त होंगी। उन्होंने कहा कि कल्याणी बहनों को 1600 रुपये की राशि ताजिंदगी मिलती रहेगी।मंत्री सारंग ने बताया कि गैस राहत के 6 अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। साथ ही कोरोना में उचित इलाज मिल सके इसके लिये हमीदिया अस्पताल में भी गैस प्रभावितों के लिये नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि संवेदनशील सरकार ने कई आपत्तियों के बाद भी पुन: पेंशन योजना को शुरू किया। उन्होंने बताया कि सरकार ने विधवा कालोनी का नाम बदलकर जीवन-ज्योति किया। कॉलोनी में स्टेडियम बनाया जा रहा है। नर्मदा जल, सड़क आदि की व्यवस्था की गई है।मंत्री सारंग ने गैस राहत अस्पताल के लिए 3 एम्बुलेंस को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान प्रतीक-स्वरूप चेक का वितरण भी किया। कार्यक्रम के बाद कल्याणी महिलाओं को भोजन वितरित किया और स्वयं उन्हें मिठाई भी खिलाई।अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। गैस राहत संचालक बंसत कुर्रे और सचिव के.के. दुबे सहित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी गैस राहत डॉ. रविशंकर वर्मा भी मौजूद थे।उल्लेखनीय है कि वर्ष 2010 में भारत शासन ने भोपाल गैस त्रासदी में दिवगंत हुए व्यक्तियों की 5 हजार कल्याणियों को 5 वर्ष के लिए 1000 रुपये प्रतिमाह सामाजिक पुनर्वास मद में पेंशन की कार्य योजना स्वीकृत की गयी थी। इस कार्ययोजना में 30 करोड़ रुपये का प्रावधान था। इसमें केन्द्र शासन का 75 प्रतिशत तथा राज्य शासन का 25 प्रतिशत अंशदान था। यह पेंशन योजना मई, 2011 से प्रारम्भ की गई है। योजना अंतर्गत बैंक ऑफ इंडिया में गैस पीड़ित मृतकों की कुल 2544 एवं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में कुल 2452 इस प्रकार कुल 4996 अकांउट खोले गये थे। स्वीकृत योजना अनुसार संबंधित कल्याणियों को केवल 5 वर्ष के लिए पेंशन का भुगतान होना था। राज्य शासन ने 6 जनवरी 2018 को निर्णय लिया गया था कि जिन कल्याणियों को पेंशन भुगतान के 5 वर्ष पूर्ण हो गए हैं, उन्हें 2 वर्ष अतिरिक्त पेंशन का भुगतान किया जाए। अगस्त-2021 में 7 वर्ष पूर्ण होने पर 4474 कल्याणी महिलाओं के अकाउंट बंद कर दिये गये इन 7 वर्षो में पेंशन राशि की व्यवस्था पूर्व में स्वीकृत राशि में मूल राशि 3 हजार करोड़ रूपये एवं ब्याज में उपलब्ध राशि 13,30,25,948 रुपये से की गई। इस प्रकार 7 वर्ष तक मूल राशि एवं ब्याज सहित कुल राशि 43,30,25,948 रुपये में से पेंशन का भुगतान किया गया। वर्तमान में राशि 4,04,08,475 रुपये शेष है।4500 गैस पीडित कल्याणियों के आधार पर प्रतिमाह 1000 रुपये की दर से पेंशन प्रदान करने के लिए कुल राशि 5 करोड़ 40 लाख रुपये का बजट प्रावधान वित्तीय वर्ष 2021-22 में किया गया।पात्र पंजीकृत 5000 कल्याणियों में 3699 की पेंशन 7 वर्ष पूर्ण होने के बाद बंद हो गई है तथा 288 की मृत्यु हो गई है। वर्तमान में 154 कल्याणीयों को जिनकी 7 वर्ष पूर्ण नहीं हुए है उनको 1000 रुपये प्रतिमाह के आधार पर पेंशन का भुगतान किया जा रहा है। अब 4558 कल्याणियों के खाते में 1000 रुपये प्रतिमाह पेंशन का भुगतान माह अप्रैल-2021 से किया जा रहा है।

Kolar News 9 September 2021

Comments

Be First To Comment....

Page Views

  • Last day : 8796
  • Last 7 days : 47106
  • Last 30 days : 63782
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2021 Kolar News.